tag_img

International_relations


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं इस विषय में अधिक तो नहीं जानता की वर्तमान स्थिति पर विचार करते हो भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज भविष्य में होगी या नहीं लेकिन मेरा मेरी अपनी निजी राय है कि भारत और पाकिस्तान के बीच में क्...
जवाब पढ़िये
मैं इस विषय में अधिक तो नहीं जानता की वर्तमान स्थिति पर विचार करते हो भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज भविष्य में होगी या नहीं लेकिन मेरा मेरी अपनी निजी राय है कि भारत और पाकिस्तान के बीच में क्रिकेट सीरीज भविष्य में नहीं होनी चाहिए जिस प्रकार से सीजफायर का उल्लंघन पाकिस्तान लगातार कुछ वर्षों में करता रहा है पिछले कुछ महीनों में तो इसमें बहुत तेजी से वृद्धि हुई है पाकिस्तान ने दक्षिण कश्मीर में जिस प्रकार से चरमपंथी चरमपंथियों का सहयोग किया है आतंकवादियों की घुसपैठ भारत में पड़ी है उस प्रकार से मुझे नहीं लगता कि भारत और पाकिस्तान में क्रिकेट सीरीज ही नहीं किसी प्रकार के कूटनीतिक रिश्ते भी समाप्त हो जाने चाहिए और भारत का ही का संदेश एक पाकिस्तान को जाना चाहिए कि हर प्रकार के प्रतिबंध के बावजूद अगर आप सुरक्षित हैं तो वह हमारी दया दृष्टि पर है नहीं तो हम आपके देश को नेस्तनाबूद कर सकते थे लेकिन आज हमें नहीं किया है तुम मुझे लगता है कि भारत और पाकिस्तान के बीच किसी भी प्रकार के आम क्रिकेट सीरीज किसी प्रकार के अन्य खेल संबंध रखने चाहिए या नहीं रखे जाने क्यों ऐसा भी लगता है कि जिस प्रकार से पाकिस्तान के लोग भारत में आकर व्यापार करते हैं वह उनकी कलाकार व अन्य लोग यहां पर आकर पैसा कमाते हैं उन पर भी रोक लगाई जानी चाहिए या मेरी निजी राय है इससे अगर किसी को दुख पहुंचता है तो उसके लिए मैं क्षमा प्रार्थी हूं धन्यवादMain Is Vishay Mein Adhik To Nahi Jaanta Ki Vartaman Sthiti Par Vichar Karte Ho Bharat Aur Pakistan Ke Bich Cricket Series Bhavishya Mein Hogi Ya Nahi Lekin Mera Meri Apni Niji Raya Hai Ki Bharat Aur Pakistan Ke Bich Mein Cricket Series Bhavishya Mein Nahi Honi Chahiye Jis Prakar Se Ceasefire Ka Ullanghan Pakistan Lagatar Kuch Varshon Mein Karta Raha Hai Pichhle Kuch Mahinon Mein To Isme Bahut Teji Se Vriddhi Hui Hai Pakistan Ne Dakshin Kashmir Mein Jis Prakar Se Charamapanthi Charamapanthiyon Ka Sahyog Kiya Hai Aatankwadion Ki Ghuspaith Bharat Mein Padi Hai Us Prakar Se Mujhe Nahi Lagta Ki Bharat Aur Pakistan Mein Cricket Series Hi Nahi Kisi Prakar Ke Kutanitik Rishte Bhi Samapt Ho Jaane Chahiye Aur Bharat Ka Hi Ka Sandesh Ek Pakistan Ko Jana Chahiye Ki Har Prakar Ke Pratibandh Ke Bawajud Agar Aap Surakshit Hain To Wah Hamari Daya Drishti Par Hai Nahi To Hum Aapke Desh Ko Nestanabud Kar Sakte The Lekin Aaj Hume Nahi Kiya Hai Tum Mujhe Lagta Hai Ki Bharat Aur Pakistan Ke Bich Kisi Bhi Prakar Ke Aam Cricket Series Kisi Prakar Ke Anya Khel Sambandh Rakhne Chahiye Ya Nahi Rakhe Jaane Kyon Aisa Bhi Lagta Hai Ki Jis Prakar Se Pakistan Ke Log Bharat Mein Aakar Vyapar Karte Hain Wah Unki Kalakar V Anya Log Yahan Par Aakar Paisa Kamate Hain Un Par Bhi Rok Lagai Jani Chahiye Ya Meri Niji Raya Hai Isse Agar Kisi Ko Dukh Pahunchta Hai To Uske Liye Main Kshama Prarthi Hoon Dhanyavad
Likes  91  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत और पाकिस्तान के बीच की दुश्मनी कभी समाप्त नहीं होगी उसका सबसे बड़ा कारण यह है कि जिन लोगों ने भारत का बटवारा धर्म के आधार पर किया था वही मुगलिया संस्कृति वही मुगलिया शासन इस देश के अंदर में चाहते...
जवाब पढ़िये
भारत और पाकिस्तान के बीच की दुश्मनी कभी समाप्त नहीं होगी उसका सबसे बड़ा कारण यह है कि जिन लोगों ने भारत का बटवारा धर्म के आधार पर किया था वही मुगलिया संस्कृति वही मुगलिया शासन इस देश के अंदर में चाहते थे और वही आज पाकिस्तान के अंदर में धार्मिक देश बना कर के वहां शासन कर रहे हैं और जितने वहां हैं उससे कहीं ज्यादा भारत के अंदर में लोग हैं जो उस विचारधारा को के पोषक है और वाहक है तो दुश्मन तो बाहर भी है भारत के और दुश्मन अंदर भी है लेकिन भारत का मूल जनमानस जो हजार वर्षों से गुलामी की जंजीरों में जकड़ा रहा है जिसने अपनी तमाम पुरखों के बलिदान को सहते हुए संस्कृति को बचा कर के रखा है स्थानों को बचा कर के रखा है जो सत्य सनातन भारत की सभ्यता और संस्कृति है जो आदि जगद्गुरु शंकराचार्य चाणक्य स्वामी विवेकानंद जैसे लोगों के द्वारा महर्षि अरविंद जैसे लोगों के द्वारा बचा कर के रखी गई है उसका जो वाहक है वह ऐसा होने नहीं देगा इसके लिए कितनी और भी कुर्बानी क्यों न देनी पड़े हां एक सामंजस्य स्थापित जरूर हो सकता है दोनों देशों के बीच और दोनों देशों के बीच सामंजस्य एक सीमा तक वह भी एक तरफा नहीं सांस्कृतिक सामंजस्य स्थापित हो सकता है और वह भी एक सीमा तक हो सकता है वह वन साइडेड नहीं हो सकता है कि वहां के लोग आएं यहां का लाभ उठाएं और चले जाएं तो यह भारत और पाकिस्तान की मौजूदा स्थिति है और सामरिक दृष्टि से भारत कभी पाकिस्तान के ऊपर भरोसा नहीं कर सकता क्योंकि जब भारत पाकिस्तान की मैत्री के लिए जब जाती है तो वहां कारगिल वार शुरू हो जाता है हमेशा पीठ में छुरा भोंकने का काम पाकिस्तान ने किया है तो भारत इस चीज को कभी भूलेगा नहींBharat Aur Pakistan Ke Bich Ki Dushmani Kabhi Samapt Nahi Hogi Uska Sabse Bada Kaaran Yeh Hai Ki Jin Logon Ne Bharat Ka Batwara Dharm Ke Aadhar Par Kiya Tha Wahi Sanskriti Wahi Shasan Is Desh Ke Andar Mein Chahte The Aur Wahi Aaj Pakistan Ke Andar Mein Dharmik Desh Bana Kar Ke Wahan Shasan Kar Rahe Hain Aur Jitne Wahan Hain Usse Kahin Jyada Bharat Ke Andar Mein Log Hain Jo Us Vichardhara Ko Ke Poshak Hai Aur Vahak Hai To Dushman To Bahar Bhi Hai Bharat Ke Aur Dushman Andar Bhi Hai Lekin Bharat Ka Mul Janmanas Jo Hazar Varshon Se Gulami Ki Mein Raha Hai Jisne Apni Tamam Ke Balidaan Ko Huye Sanskriti Ko Bacha Kar Ke Rakha Hai Sthanon Ko Bacha Kar Ke Rakha Hai Jo Satya Sanatan Bharat Ki Sabhyata Aur Sanskriti Hai Jo Aadi Jagadguru Shankaracharya Chanakya Swami Vivekananda Jaise Logon Ke Dwara Maharshi Arvind Jaise Logon Ke Dwara Bacha Kar Ke Rakhi Gayi Hai Uska Jo Vahak Hai Wah Aisa Hone Nahi Dega Iske Liye Kitni Aur Bhi Kurbani Kyon N Deni Pade Haan Ek Samanjasya Sthapit Jarur Ho Sakta Hai Dono Deshon Ke Bich Aur Dono Deshon Ke Bich Samanjasya Ek Seema Tak Wah Bhi Ek Tarafa Nahi Sanskritik Samanjasya Sthapit Ho Sakta Hai Aur Wah Bhi Ek Seema Tak Ho Sakta Hai Wah Van Nahi Ho Sakta Hai Ki Wahan Ke Log Aaen Yahan Ka Labh Uthaen Aur Chale Jayen To Yeh Bharat Aur Pakistan Ki Maujuda Sthiti Hai Aur Samarik Drishti Se Bharat Kabhi Pakistan Ke Upar Bharosa Nahi Kar Sakta Kyonki Jab Bharat Pakistan Ki Maitri Ke Liye Jab Jati Hai To Wahan Kargil Var Shuru Ho Jata Hai Hamesha Peeth Mein Chura Ka Kaam Pakistan Ne Kiya Hai To Bharat Is Cheez Ko Kabhi Nahi
Likes  146  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान की तरफ से आए दिन सीजफायर का उल्लंघन होता रहता है और हम समाचारों में कई बार ऐसे समाचार सुनते हैं कि पाकिस्तान की सेना ने या फिर वहां से जो उनके पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवादी होते हैं जिन्हें प...
जवाब पढ़िये
पाकिस्तान की तरफ से आए दिन सीजफायर का उल्लंघन होता रहता है और हम समाचारों में कई बार ऐसे समाचार सुनते हैं कि पाकिस्तान की सेना ने या फिर वहां से जो उनके पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवादी होते हैं जिन्हें पाकिस्तान सपोर्ट करता है वह LOC के अंदर आ जाते हैं भारतीय सीमा में घुस जाते हैं तुम्हारे वहां पर काफी क्षति पहुंचाते हैं लोगों को हमारे सेना के जवानों को तू इस तरह का जो पाकिस्तान का रवैया है वह भारत की कमजोर विदेश नीति का एक नतीजा है क्योंकि भारत पाकिस्तान को लेकर इतना गंभीर नहीं है क्योंकि बहुत सालों से ऐसा चलता रहा है कि पाकिस्तान बार बार सीजफायर का उल्लंघन करता है लेकिन हमारी सरकार बस बयान बाजी करती है और बस बोलती है कि कठोर कदम हम उठाएंगे और मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा और इसके अलावा वह कुछ भी नहीं करती है चाहे सरकार किसी भी पार्टी की क्यों ना हो तू इस तरह की जॉब वारदात हो रहे हैं या फिर घटनाएं घट रही हैं जिसमें हमारे नागरिकों की जान जा रही है या फिर हमारे सैनिक शहीद हो जा रहे हैं तो इसके बारे में सर्च सरकार को गंभीर होने की आवश्यकता है और उन्हें जल्द से जल्द कुछ ठोस कदम उठाने चाहिए पाकिस्तान को लेकर कि पाकिस्तान ने हमारे से डरे कम से कम कि अगर हम ने फिर से सीजफायर का उल्लंघन किया तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं और इस से पाकिस्तान को भी नुकसान पहुंच सकता हैPakistan Ki Taraf Se Aaye Din Ceasefire Ka Ullanghan Hota Rehta Hai Aur Hum Samacharon Mein Kai Baar Aise Samachar Sunte Hain Ki Pakistan Ki Sena Ne Ya Phir Wahan Se Jo Unke Pakistan Prayojeet Aatankwadi Hote Hain Jinhen Pakistan Support Karta Hai Wah LOC Ke Andar Aa Jaate Hain Bhartiya Seema Mein Ghus Jaate Hain Tumhare Wahan Par Kafi Kshati Pahunchate Hain Logon Ko Hamare Sena Ke Jawano Ko Tu Is Tarah Ka Jo Pakistan Ka Ravaiya Hai Wah Bharat Ki Kamjor Videsh Niti Ka Ek Natija Hai Kyonki Bharat Pakistan Ko Lekar Itna Gambhir Nahi Hai Kyonki Bahut Salon Se Aisa Chalta Raha Hai Ki Pakistan Baar Baar Ceasefire Ka Ullanghan Karta Hai Lekin Hamari Sarkar Bus Bayan Busy Karti Hai Aur Bus Bolti Hai Ki Kathor Kadam Hum Uthayenge Aur Mooh Tod Jawab Diya Jayega Aur Iske Alava Wah Kuch Bhi Nahi Karti Hai Chahe Sarkar Kisi Bhi Party Ki Kyun Na Ho Tu Is Tarah Ki Job Vaardaat Ho Rahe Hain Ya Phir Ghatnaye Ghat Rahi Hain Jisme Hamare Naagrikon Ki Jaan Ja Rahi Hai Ya Phir Hamare Sainik Shahid Ho Ja Rahe Hain To Iske Baare Mein Search Sarkar Ko Gambhir Hone Ki Avashyakta Hai Aur Unhen Jald Se Jald Kuch Thos Kadam Uthane Chahiye Pakistan Ko Lekar Ki Pakistan Ne Hamare Se Dare Kum Se Kum Ki Agar Hum Ne Phir Se Ceasefire Ka Ullanghan Kiya To Iske Gambhir Parinam Ho Sakte Hain Aur Is Se Pakistan Ko Bhi Nuksan Pahunch Sakta Hai
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इन्हें बहुत ही चालाक देश है उसे जहां अपना मतलब दिखाई देगा वह उसी दिशा में और आगे बढ़ेगा नवाज शरीफ सरकार के जाने के बाद व उनके भाई के सत्ता संभालने के बाद से अमेरिका लगातार पाकिस्तान को एक के बाद एक चे...
जवाब पढ़िये
इन्हें बहुत ही चालाक देश है उसे जहां अपना मतलब दिखाई देगा वह उसी दिशा में और आगे बढ़ेगा नवाज शरीफ सरकार के जाने के बाद व उनके भाई के सत्ता संभालने के बाद से अमेरिका लगातार पाकिस्तान को एक के बाद एक चेतावनी दे रहा है और जिस प्रकार से हाल ही में कूटनीतिक रिश्ते में जो बदलाव है उसका सीधा असर पाकिस्तान पर पड़ेगा मुझे नहीं लगता कि चीन पर इसका विशेष प्रभाव पड़ेगा क्योंकि चीन के और अमेरिका के जो रिश्ते हैं वह राजनीतिक होने से कहीं ज्यादा व्यापारिक हैं और पाकिस्तान के पास व्यापार करने के लिए एक कुछ है नहीं जो अमेरिका को किसी प्रकार से प्रभावित कर सके चीन और अमेरिका के संबंधों में तो परिवर्तन ज्यादा नहीं होंगे लेकिन चीन और पाकिस्तान के रिश्ते में अधिक परिवर्तन होने की संभावनाएं है क्योंकि चीन किसी भी प्रकार से या नहीं जाएगा कि अमेरिका के साथ संबंध खराब किए गए पाकिस्तान जैसे देश की वजह से जिसके पास उनको देने के लिए जमीन के अलावा कुछ भी नहीं था वह जमीन पाकिस्तान पहले ही चीन को उधार पर्यंक लीज पर दे चुका है और बहुत बड़ा जमीन का टुकड़ा तो उसको php चुका है अमेरिका अफगानिस्तान में जितना प्रभाव चाहता था वह पाकिस्तान को प्रयोग करके वह ऑलरेडी पहले ही कर चुका है और आने वाले समय में उसे आप पाकिस्तान की कितनी जरूरत लगती नहीं है जिस प्रकार से वह उसे धमकियां दे रहा है वह चेतावनी दे रहा है तो मुझे लगता है कि इस समय अमेरिका और चीन अधिक नजदीक आएंगे भारत में तटस्थ रहेगा उसके ऊपर जो अधिक प्रभाव नहीं पड़ेगा और पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था और कूटनीतिक रिश्ते में आमूलचूल परिवर्तन आने वाले समय में ट्वीट के बाद से देखे जाएंगे यह टाइम आना चाह रहा है धन्यवादInhen Bahut Hi Chalak Desh Hai Use Jahan Apna Matlab Dikhai Dega Wah Ussi Disha Mein Aur Aage Badhega Nawaj Sharif Sarkar Ke Jaane Ke Baad V Unke Bhai Ke Satta Sambhalne Ke Baad Se America Lagatar Pakistan Ko Ek Ke Baad Ek Chetavani De Raha Hai Aur Jis Prakar Se Haal Hi Mein Kutanitik Rishte Mein Jo Badlav Hai Uska Sidhaa Asar Pakistan Par Padega Mujhe Nahi Lagta Ki Chin Par Iska Vishesh Prabhav Padega Kyonki Chin Ke Aur America Ke Jo Rishte Hain Wah Rajnitik Hone Se Kahin Jyada Vyaparik Hain Aur Pakistan Ke Paas Vyapar Karne Ke Liye Ek Kuch Hai Nahi Jo America Ko Kisi Prakar Se Prabhavit Kar Sake Chin Aur America Ke Sambandho Mein To Pariwartan Jyada Nahi Honge Lekin Chin Aur Pakistan Ke Rishte Mein Adhik Pariwartan Hone Ki Sambhavnaye Hai Kyonki Chin Kisi Bhi Prakar Se Ya Nahi Jayega Ki America Ke Saath Sambandh Kharab Kiye Gaye Pakistan Jaise Desh Ki Wajah Se Jiske Paas Unko Dene Ke Liye Jameen Ke Alava Kuch Bhi Nahi Tha Wah Jameen Pakistan Pehle Hi Chin Ko Udhar Paryank Liz Par De Chuka Hai Aur Bahut Bada Jameen Ka Tukada To Usko Php Chuka Hai America Afghanistan Mein Jitna Prabhav Chahta Tha Wah Pakistan Ko Prayog Karke Wah Already Pehle Hi Kar Chuka Hai Aur Aane Wale Samay Mein Use Aap Pakistan Ki Kitni Zaroorat Lagti Nahi Hai Jis Prakar Se Wah Use Dhamakiyan De Raha Hai Wah Chetavani De Raha Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Is Samay America Aur Chin Adhik Nazdeek Aayenge Bharat Mein Tatasth Rahega Uske Upar Jo Adhik Prabhav Nahi Padega Aur Pakistan Ki Arthavyavastha Aur Kutanitik Rishte Mein Amulchul Pariwartan Aane Wale Samay Mein Tweet Ke Baad Se Dekhe Jaenge Yeh Time Aana Chah Raha Hai Dhanyavad
Likes  10  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी वर्तमान स्थिति में भारत की जनसंख्या विश्व में दूसरे नंबर पर आती है और अगर इसी प्रकार भारत की जनसंख्या निरंतर बढ़ती गई तो वह दिन दूर नहीं कि जब भारत चीन की जनसंख्या को भी पीछे छोड़ देगा और विश्व मे...
जवाब पढ़िये
अभी वर्तमान स्थिति में भारत की जनसंख्या विश्व में दूसरे नंबर पर आती है और अगर इसी प्रकार भारत की जनसंख्या निरंतर बढ़ती गई तो वह दिन दूर नहीं कि जब भारत चीन की जनसंख्या को भी पीछे छोड़ देगा और विश्व में सबसे जनसंख्या सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बन जाएगा और अगर सबसे ज्यादा जनसंख्या भारत की हो जाती है तो बेरोजगारी की समस्या बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी जो अभी भी है क्योंकि भारत जैसे देश में इतनी ज्यादा आबादी के लिए रोजगार पैदा करना काफी मुश्किल होगा अनपढ़ लोगों की संख्या हर साल बढ़ती जा रही है इसलिए बेरोजगारी दर लगातार बढ़ती ही जा रही है और भविष्य में भी बढ़ेगी ही और बुनियादी ढांचे पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा जैसे कि हम देखेंगे कि परिवहन संचार आवास शिक्षा स्वास्थ्य सेवा आदि की कमी के तौर पर जनसंख्या अगर बढ़ रही है तो यह सारी चीजें सामने आती हैं बस्तियों भीड़ भरे घरों ट्रैफिक जाम यह सारी बहुत सारी समस्याएं हो सकती हैं और अगर जनसंख्या ज्यादा होगी तो संसाधनों का उपयोग भी बढ़ जाएगा भूमि क्षेत्र जल संसाधन और जंगल सभी का बहुत ज्यादा शोषण होने लगेगा और संसाधनों की कमी भी आ जाएगी उसके बाद और जो बढ़ती हुई आबादी है उसमें आय का वितरण भी बहुत और सामान हो जाएगा क्योंकि जो लोगों के पास ज्यादा पैसे हैं वह तो अमीर रहेंगे लेकिन गरीबी एक तरीके से बढ़ती जाएगी क्योंकि लोगों को रोजगार नहीं मिल पाएगा और वह कुछ भी ऐसा काम नहीं कर पाएंगे कि जिनसे उनकी जीविका अच्छे से चल पाए तो जनसंख्या बढ़ने के यह सारे दुष्प्रभाव हैं तो हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि भारत की जनसंख्या बढ़ने के बजाय थोड़ी घटे तो वह हमारे देश के लिए काफी अच्छा होगाAbhi Vartaman Sthiti Mein Bharat Ki Jansankhya Vishwa Mein Dusre Number Par Aati Hai Aur Agar Isi Prakar Bharat Ki Jansankhya Nirantar Badhti Gayi To Wah Din Dur Nahi Ki Jab Bharat Chin Ki Jansankhya Ko Bhi Piche Chod Dega Aur Vishwa Mein Sabse Jansankhya Sabse Jyada Jansankhya Wala Desh Ban Jayega Aur Agar Sabse Jyada Jansankhya Bharat Ki Ho Jati Hai To Berojgari Ki Samasya Bahut Jyada Badh Jayegi Jo Abhi Bhi Hai Kyonki Bharat Jaise Desh Mein Itni Jyada Aabadi Ke Liye Rojgar Paida Karna Kafi Mushkil Hoga Anapadh Logon Ki Sankhya Har Saal Badhti Ja Rahi Hai Isliye Berojgari Dar Lagatar Badhti Hi Ja Rahi Hai Aur Bhavishya Mein Bhi Badhegi Hi Aur Buniyaadi Dhanche Par Bhi Iska Bura Prabhav Padega Jaise Ki Hum Dekhenge Ki Parivahan Sanchar Aawas Shiksha Swasthya Seva Aadi Ki Kami Ke Taur Par Jansankhya Agar Badh Rahi Hai To Yeh Saree Cheezen Samane Aati Hain Bastiyon Bheed Bhare Gharon Traffic Jam Yeh Saree Bahut Saree Samasyaen Ho Sakti Hain Aur Agar Jansankhya Jyada Hogi To Sansadhanon Ka Upyog Bhi Badh Jayega Bhoomi Kshetra Jal Sansadhan Aur Jungle Sabhi Ka Bahut Jyada Shoshan Hone Lagega Aur Sansadhanon Ki Kami Bhi Aa Jayegi Uske Baad Aur Jo Badhti Hui Aabadi Hai Usamen Aay Ka Vitaran Bhi Bahut Aur Saamaan Ho Jayega Kyonki Jo Logon Ke Paas Jyada Paise Hain Wah To Amir Rahenge Lekin Garibi Ek Tarike Se Badhti Jayegi Kyonki Logon Ko Rojgar Nahi Mil Payega Aur Wah Kuch Bhi Aisa Kaam Nahi Kar Paenge Ki Jinse Unki Jeevika Acche Se Chal Paye To Jansankhya Badhne Ke Yeh Sare Dushprabhaav Hain To Hume Yeh Koshish Karni Chahiye Ki Bharat Ki Jansankhya Badhne Ke Bajay Thodi Ghate To Wah Hamare Desh Ke Liye Kafi Accha Hoga
Likes  17  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमेरिका और पाकिस्तान के बीच में जो शक्ति का जो फर्क है वह कम से कम सो गुने का है l अमेरिका जो है पाकिस्तान से कम से कम आप मान के चलो सो गुना शक्तिशाली है l जहां तक भारत और पाकिस्तान के रण कौशल का सवाल...
जवाब पढ़िये
अमेरिका और पाकिस्तान के बीच में जो शक्ति का जो फर्क है वह कम से कम सो गुने का है l अमेरिका जो है पाकिस्तान से कम से कम आप मान के चलो सो गुना शक्तिशाली है l जहां तक भारत और पाकिस्तान के रण कौशल का सवाल है, हमारे जो इक्विपमेंट्स का सवाल है वह मैं समझता हूं कि ऑलमोस्ट मैचिंग है या मान लिया हमने डेढ़-दोगुना ही उसे ज्यादा पावरफुल है l तो इस वजह से जो अमेरिका कर सकता है वह पाकिस्तान वह हम इंडिया नहीं कर सकता है l अगर अमेरिका चाहे तो पाकिस्तान को १ दिन के अंदर तबाह कर सकता और पाकिस्तान अमेरिका तक पहुंच भी नहीं सकता l जबकि अगर हम इंडिया जो है पाकिस्तान के साथ युद्ध करेगा तो हम पड़ोसी हैं और दोनों देशों का इतना ज्यादा नुकसान होगा कि मैं समझता हूं कि हम पिछले ३०-४० सालों में जो हमने प्रगति की है उस पर पानी पड़ जाएगा l तो यह बहुत ही मैं समझता हूं कि मूर्खता भरा कदम होगा अगर अमेरिका को कॉपी करने की कोशिश करेंगे lAmerica Aur Pakistan Ke Beech Mein Jo Shakti Ka Jo Fark Hai Wah Kum Se Kum So Gune Ka Hai L America Jo Hai Pakistan Se Kum Se Kum Aap Maan Ke Chalo So Guna Shaktishaali Hai L Jahan Tak Bharat Aur Pakistan Ke Rana Kaushal Ka Sawal Hai Hamare Jo Ikwipaments Ka Sawal Hai Wah Main Samajhata Hoon Ki Alamost Matching Hai Ya Maan Liya Humne Dedh Doguna Hi Use Jyada Powerful Hai L To Is Wajah Se Jo America Kar Sakta Hai Wah Pakistan Wah Hum India Nahi Kar Sakta Hai L Agar America Chahe To Pakistan Ko 1 Din Ke Andar Tabah Kar Sakta Aur Pakistan America Tak Pahunch Bhi Nahi Sakta L Jabki Agar Hum India Jo Hai Pakistan Ke Saath Yudh Karega To Hum Padoshi Hain Aur Dono Deshon Ka Itna Jyada Nuksan Hoga Ki Main Samajhata Hoon Ki Hum Pichle 30 40 Salon Mein Jo Humne Pragati Ki Hai Us Par Pani Padh Jayega L To Yeh Bahut Hi Main Samajhata Hoon Ki Murkhta Bhara Kadam Hoga Agar America Ko Copy Karne Ki Koshish Karenge L
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेपाल के लोगों को तो भारत में आने के लिए वीजा लेना ही नहीं पड़ता है क्योंकि भारत और नेपाल का आपस में एग्रीमेंट है कि आपस में हम एक दूसरे के देश में जा सकते हैं l अगर आपको नेपाल जाना है, आप नेपाल बॉर्ड...
जवाब पढ़िये
नेपाल के लोगों को तो भारत में आने के लिए वीजा लेना ही नहीं पड़ता है क्योंकि भारत और नेपाल का आपस में एग्रीमेंट है कि आपस में हम एक दूसरे के देश में जा सकते हैं l अगर आपको नेपाल जाना है, आप नेपाल बॉर्डर पर कहीं भी यूपी और उत्तराखंड से, पैदल पुल पार करते चले जाइए, आराम से जा सकते हैं l और नेपाल के तो कितने सारे लोग भारत में काम कर रहे हैं तो नेपाल के साथ हमारा वह रिश्ता है और वह बना रहेगा l उसके बहुत सारे फायदे हैं हमारे लिए l और वहां जहां तक पाते चीन की तो चीन के साथ तो हमारे वीजा में कोई लिनिंन्सी है नहीं l और ऐसा भी कुछ नहीं है कि चीन के लोग भारत में आने के लिए लाइन लगा के खड़े हैं और बहुत ज्यादा इंफिल्ट्रेशन हो रहा है चीन के लोगों का हमारे देश में l अगर यह बात शायद बांग्लादेशी लोगों के लिए कही जाती तो कुछ क्वेश्चन का मीनिंग बनता कि क्या बांग्लादेशियों के लिए वीजा के नियम सख्त करने चाहिए l लेकिन वहां भी नियम की बात नहीं है बांग्लादेशी लोग सिक्के को से चले आते हैं बॉर्डर से क्योंकि उनके देश में जो गरीब अभी है या जो अभी रोहिंग्यास की जो प्रॉब्लम हुई थी वहां से म्यांमार के लोग बांग्लादेश के रास्ते से हमारे देश में घुस आएं तो वह प्रॉब्लम भी वीजा के रूल की नहीं है बल्कि पोरस बॉर्डर की है l बॉर्डर पर हम कितनी बाउंड्री करें और कितने तार बाहर लगाएं कितनी फोर्स लगाएं उसकी भी बहुत ज्यादा कॉस्ट है l तो कहीं ना कही इसमें एक कंप्रोमाइज होता है कि सारे बॉर्डर को सील करना तो अमेरिका नहीं कर पा रहा है l अमेरिका मेक्सिको के बॉर्डर पर तार-बार लगाने की बात नए राष्ट्रपति ने अपने चुनाव में कही थी लेकिन वह भी प्रेक्टिकली पॉसिबल है नहीं क्योंकि उसकी जो कॉस्टिंग है वह इतनी ज्यादा है कि कई बार थोड़ा बहुत इंफिल्ट्रेशन सरकार बर्दाश्त कर लेती है l और इस तरीके से सारी इकॉनमी चल रही है l यूरोप आज माइग्रेशन की प्रॉब्लम से जूझ रहा है तो हमारे लिए अलग बात नहीं है आय थिंक एक ग्लोबल प्रॉब्लम है lNepal Ke Logon Ko To Bharat Mein Aane Ke Liye Visa Lena Hi Nahi Padata Hai Kyonki Bharat Aur Nepal Ka Aapas Mein Egriment Hai Ki Aapas Mein Hum Ek Dusre Ke Desh Mein Ja Sakte Hain L Agar Aapko Nepal Jana Hai Aap Nepal Border Par Kahin Bhi Up Aur Uttarakhand Se Paidal Pool Par Karte Chale Jaiye Aaram Se Ja Sakte Hain L Aur Nepal Ke To Kitne Sare Log Bharat Mein Kaam Kar Rahe Hain To Nepal Ke Saath Hamara Wah Rishta Hai Aur Wah Bana Rahega L Uske Bahut Sare Fayde Hain Hamare Liye L Aur Wahan Jahan Tak Paate Chin Ki To Chin Ke Saath To Hamare Visa Mein Koi Lininnsi Hai Nahi L Aur Aisa Bhi Kuch Nahi Hai Ki Chin Ke Log Bharat Mein Aane Ke Liye Line Laga Ke Khade Hain Aur Bahut Jyada Imfiltreshan Ho Raha Hai Chin Ke Logon Ka Hamare Desh Mein L Agar Yeh Baat Shayad Bangladeshi Logon Ke Liye Kahi Jati To Kuch Question Ka Meaning Banta Ki Kya Bangladeshiyon Ke Liye Visa Ke Niyam Sakht Karne Chahiye L Lekin Wahan Bhi Niyam Ki Baat Nahi Hai Bangladeshi Log Sikke Ko Se Chale Aate Hain Border Se Kyonki Unke Desh Mein Jo Garib Abhi Hai Ya Jo Abhi Rohingyas Ki Jo Problem Hui Thi Wahan Se Myanmar Ke Log Bangladesh Ke Raste Se Hamare Desh Mein Ghus Aaen To Wah Problem Bhi Visa Ke Rule Ki Nahi Hai Balki Porous Border Ki Hai L Border Par Hum Kitni Boundary Karen Aur Kitne Taar Bahar Lagaen Kitni Force Lagaen Uski Bhi Bahut Jyada Cost Hai L To Kahin Na Kahi Isme Ek Compromise Hota Hai Ki Sare Border Ko Seal Karna To America Nahi Kar Pa Raha Hai L America Mexico Ke Border Par Taar Baar Lagane Ki Baat Naye Rashtrapati Ne Apne Chunav Mein Kahi Thi Lekin Wah Bhi Prektikali Possible Hai Nahi Kyonki Uski Jo Costing Hai Wah Itni Jyada Hai Ki Kai Baar Thoda Bahut Imfiltreshan Sarkar Bardaasht Kar Leti Hai L Aur Is Tarike Se Saree Economy Chal Rahi Hai L Europe Aaj Migration Ki Problem Se Joojh Raha Hai To Hamare Liye Alag Baat Nahi Hai Aay Think Ek Global Problem Hai L
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चीन की अगर बात करें तो चीन एक बहुत ही महत्वकांक्षी राष्ट्र है उसकी महत्वकांक्षा इतनी दूर है इतनी विस्तृत है कि वह ना केवल भारतीय उपमहाद्वीप में बल्क दक्षिण चीन सागर में भी अपना प्रभाव लगातार बनाए रखता...
जवाब पढ़िये
चीन की अगर बात करें तो चीन एक बहुत ही महत्वकांक्षी राष्ट्र है उसकी महत्वकांक्षा इतनी दूर है इतनी विस्तृत है कि वह ना केवल भारतीय उपमहाद्वीप में बल्क दक्षिण चीन सागर में भी अपना प्रभाव लगातार बनाए रखता है श्रीनगर उत्तर में रसिया तो पश्चिम में वह जापान वर्ग उत्तर व दक्षिण कोरिया के सीमाओं में हस्तक्षेप करता रहता है वहीं पूर्व में वह भारत पाकिस्तान कजाकिस्तान मंगोलिया जैसे देशों पर लगातार अपना हस्तक्षेप करता रहता है उसकी यहां महत्वकांक्षा ही है कि वह अपना क्षेत्रफल बढ़ाना चाहता है क्योंकि अगर हम भूगोल के हिसाब से देखे हैं तो चीन के पास अधिकाधिक जो जमीन है वह खेती योग्य नहीं है तथा कुछ एक बहुत ही सीमित जोश का क्षेत्र है वह उपजाऊ है जिसमें वहां प्रोडक्टिव काम कर सकता है यानी कि कुछ ऐसा काम जिससे कि उसे कुछ लाभ हो तो बचा अधिक से अधिक क्षेत्रफल अपना बड़ा है तथा अपना सीमाओं को बढ़ाकर एक प्रकार से अपना वर्चस्व संपूर्ण एशिया में यूरोप तक कायम करने कि उसकी योजना है मुझे ऐसा लगता है कि वह तब तक ऐसा करता रहेगा जब तक कि उसकी महत्वाकांक्षाएं सिद्ध नहीं होती उसके वर्तमान चीनी सरकार का अहम योगदान है अगर हम इतिहास उठाकर देख कर तो विगत कई दशकों में कोई भी चीनी सरकार इतनी महत्वकांक्षी नहीं रही जितनी कि आज चीन आज की चीन की सरकार है और मुझे लगता है कि यह एक बहुत ही गलत परंतु साहसिक कदम है जो कि चीन उठा रहा है और भारत को इससे सावधान रहना चाहिए क्योंकि भारत को पता भी नहीं रहेगा और चीन उसके पता नहीं कितने वर्ग क्षेत्र किलोमीटर पर अपना प्रभाव अपना प्रभुत्व कायम कर लेगा तो इसमें भारत को बहुत ही सावधान रहने की आवश्यकता है धन्यवादChin Ki Agar Baat Karen To Chin Ek Bahut Hi Mahatvakanshi Rashtra Hai Uski Mahatwakanksha Itni Dur Hai Itni Vistrit Hai Ki Wah Na Kewal Bhartiya Upmahadweep Mein Bulk Dakshin Chin Sagar Mein Bhi Apna Prabhav Lagatar Banaye Rakhta Hai Srinagar Uttar Mein Rasiya To Paschim Mein Wah Japan Varg Uttar V Dakshin Korea Ke Seemaon Mein Hastakshep Karta Rehta Hai Wahin Purv Mein Wah Bharat Pakistan Kajakistan Mongolia Jaise Deshon Par Lagatar Apna Hastakshep Karta Rehta Hai Uski Yahan Mahatwakanksha Hi Hai Ki Wah Apna Kshetrafal Badhana Chahta Hai Kyonki Agar Hum Bhugol Ke Hisab Se Dekhe Hain To Chin Ke Paas Adhikadhik Jo Jameen Hai Wah Kheti Yogya Nahi Hai Tatha Kuch Ek Bahut Hi Simith Josh Ka Kshetra Hai Wah Upajau Hai Jisme Wahan Productive Kaam Kar Sakta Hai Yani Ki Kuch Aisa Kaam Jisse Ki Use Kuch Labh Ho To Bacha Adhik Se Adhik Kshetrafal Apna Bada Hai Tatha Apna Seemaon Ko Badhakar Ek Prakar Se Apna Verchasva Sampurna Asia Mein Europe Tak Kayam Karne Ki Uski Yojana Hai Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Wah Tab Tak Aisa Karta Rahega Jab Tak Ki Uski Mahatwakankshaen Siddh Nahi Hoti Uske Vartaman Chini Sarkar Ka Aham Yogdan Hai Agar Hum Itihas Uthaakar Dekh Kar To Vigat Kai Dashakon Mein Koi Bhi Chini Sarkar Itni Mahatvakanshi Nahi Rahi Jitni Ki Aaj Chin Aaj Ki Chin Ki Sarkar Hai Aur Mujhe Lagta Hai Ki Yeh Ek Bahut Hi Galat Parantu Sahasik Kadam Hai Jo Ki Chin Utha Raha Hai Aur Bharat Ko Isse Savdhan Rehna Chahiye Kyonki Bharat Ko Pata Bhi Nahi Rahega Aur Chin Uske Pata Nahi Kitne Varg Kshetra Kilometre Par Apna Prabhav Apna Parbhutwa Kayam Kar Lega To Isme Bharat Ko Bahut Hi Savdhan Rehne Ki Avashyakta Hai Dhanyavad
Likes  17  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सीरिया में मार्च 2010 में राष्ट्रपति बशर अल-असद के खिलाफ जनता ने बगावत कर के प्रदर्शन शुरू किए थे और कुछ ही समय में ही है प्रदर्शन सच में बदल गए तथा सीरिया में गृहयुद्ध चिड़िया सीरिया के राष्ट्रपति का...
जवाब पढ़िये
सीरिया में मार्च 2010 में राष्ट्रपति बशर अल-असद के खिलाफ जनता ने बगावत कर के प्रदर्शन शुरू किए थे और कुछ ही समय में ही है प्रदर्शन सच में बदल गए तथा सीरिया में गृहयुद्ध चिड़िया सीरिया के राष्ट्रपति का आरोप है कि पश्चिमी देशों ने विद्रोहियों को हथियार मुहैया कराए जबकि पश्चिमी देशों का आरोप है कि राष्ट्रपति असद को जो कि सत्ता पर काबिज है आम जनता को दबा रहे हैं और उनका दमन कर रहे हैं करीब 600 साल से चल रहे सीरिया गृहयुद्ध में अब तक 300000 लोगों ने लोगों ने अपनी जान गवा दी है सीरिया के लाभ को नागरिक अपना देश छोड़कर चले गए हैं विस्थापितों की बड़ी संख्या लेबनान यूरोप यूरोप पत्रक में शरण लेने की कोशिश कर रही है सीरियल के गृह युद्ध में अमेरिका रूस ईरान और सऊदी अरब का सीधा हस्तक्षेप रहा है इन देशों नेSyria Mein March 2010 Mein Rashtrapati Bashar Al Asad Ke Khilaf Janta Ne Bagavat Kar Ke Pradarshan Shuru Kiye The Aur Kuch Hi Samay Mein Hi Hai Pradarshan Sach Mein Badal Gaye Tatha Syria Mein Grhayuddh Chidiya Syria Ke Rashtrapati Ka Aarop Hai Ki Pashchimi Deshon Ne Vidrohiyon Ko Hathiyar Muhaiya Karae Jabki Pashchimi Deshon Ka Aarop Hai Ki Rashtrapati Asad Ko Jo Ki Satta Par Kabij Hai Aam Janta Ko Daba Rahe Hain Aur Unka Daman Kar Rahe Hain Karib 600 Saal Se Chal Rahe Syria Grhayuddh Mein Ab Tak 300000 Logon Ne Logon Ne Apni Jaan Gawa Di Hai Syria Ke Labh Ko Nagarik Apna Desh Chodkar Chale Gaye Hain Visthapiton Ki Badi Sankhya Lebanon Europe Europe Patrak Mein Sharan Lene Ki Koshish Kar Rahi Hai Serial Ke Grah Yudh Mein America Rus Iran Aur Saudi Arab Ka Sidhaa Hastakshep Raha Hai In Deshon Ne
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon
यदि जानवर स्वर्ण भंडार की नजर से देखा जाए तो मुझे लगता है कि अमेरिका विश्व का सबसे ताकतवर देश है परंतु बहुत से कूटनीतिक में राजनीतिक विशेषज्ञ हमारा कि जिस प्रकार से ग्लोबल वार्मिंग तथा अन्य पर्यावरण संबंधी समस्याएं अपने पैर पसार रही हैं आने वाले समय में सबसे शक्तिशाली देश का देश होगा किसके पास अधिक से अधिक जमीन होगी किसके पास अधिक से अधिक जगह होगी जिससे वह सारे देशों के ऊपर अपना प्रभुत्व स्थापित कर सके तो इस नजरिए से देखा जाएगा मुझे लगता है कि रूट 1 तरीके से अमेरिका से भी अधिक ताकतवर देश है साथ ही साथ नया मानता हूं कि विकासशील अर्थव्यवस्था आने वाले समय में सबसे ताकतवर विकासशील भारत अपने पैर पसार रहे अंतर्राष्ट्रीय मंच पर तो साथ में क्या किया इस तरह से एकत्रित कर रहे हैं सताने वाले समय में मन की शक्ति में भी विस्तार होना तय है मौजूदा अगर युग में देखा जाए मौजूदा समय में सबसे अधिक ताकतवर देश क्यों है पूरे विश्व में भारत अमेरिका है सच्चा साथी साथ में मानता हूं कि जापान तथा ऑस्ट्रेलिया भी धीरे-धीरे शक्ति संपन्न बनते जा रहे हैं ऑस्ट्रेलिया के पांच प्रकार के प्लूटोनियम व यूरेनियम के भंडार हैं वह भी एक ताकतवर देश हो सकता है आने वाले समय में साथ ही साथ मैं मानता हूं कि कनाडा में जिस प्रकार से हाल ही में प्राकृतिक तेल व गैस के भंडार मिले हैं तो मुझे अच्छा लगता है कि आने वाले समय में कैनेडा BF न्यू शक्तिशाली देशों की सूची में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकता है इसके साथ कुछ अन्य देश है जहां पर भ्रष्टाचार है तो सरकार कमजोर है परंतु वहां पर बहुत से तेल व गैस के भंडार हैं उसे जाने दो ओ बावरिया कलां पर राजनीतिक स्थिरता आ जाती है तो वह भी शक्तिशाली देश को सकते हैं धंयवादYadi Janwar Swarn Bhandar Ki Nazar Se Dekha Jaye To Mujhe Lagta Hai Ki America Vishwa Ka Sabse Takatwar Desh Hai Parantu Bahut Se Kutanitik Mein Rajnitik Visheshasgya Hamara Ki Jis Prakar Se Global Warming Tatha Anya Paryavaran Sambandhi Samasyaen Apne Pair Pasar Rahi Hain Aane Wale Samay Mein Sabse Shaktishaali Desh Ka Desh Hoga Kiske Paas Adhik Se Adhik Jameen Hogi Kiske Paas Adhik Se Adhik Jagah Hogi Jisse Wah Sare Deshon Ke Upar Apna Parbhutwa Sthapit Kar Sake To Is Nazariye Se Dekha Jayega Mujhe Lagta Hai Ki Root 1 Tarike Se America Se Bhi Adhik Takatwar Desh Hai Saath Hi Saath Naya Manata Hoon Ki Vikasshil Arthavyavastha Aane Wale Samay Mein Sabse Takatwar Vikasshil Bharat Apne Pair Pasar Rahe Antar Rashtriya Manch Par To Saath Mein Kya Kiya Is Tarah Se Ekatrit Kar Rahe Hain Satane Wale Samay Mein Man Ki Shakti Mein Bhi Vistar Hona Tay Hai Maujuda Agar Yug Mein Dekha Jaye Maujuda Samay Mein Sabse Adhik Takatwar Desh Kyun Hai Poore Vishwa Mein Bharat America Hai Saccha Sathi Saath Mein Manata Hoon Ki Japan Tatha Austrailia Bhi Dhire Dhire Shakti Sanpann Bante Ja Rahe Hain Austrailia Ke Paanch Prakar Ke Plutoniyam V Urenium Ke Bhandar Hain Wah Bhi Ek Takatwar Desh Ho Sakta Hai Aane Wale Samay Mein Saath Hi Saath Main Manata Hoon Ki Canada Mein Jis Prakar Se Haal Hi Mein Prakritik Tel V Gas Ke Bhandar Mile Hain To Mujhe Accha Lagta Hai Ki Aane Wale Samay Mein Canada BF New Shaktishaali Deshon Ki Suchi Mein Apni Upasthitee Darj Kra Sakta Hai Iske Saath Kuch Anya Desh Hai Jahan Par Bhrashtachar Hai To Sarkar Kamjor Hai Parantu Wahan Par Bahut Se Tel V Gas Ke Bhandar Hain Use Jaane Do O Bawaria Kalan Par Rajnitik Sthirta Aa Jati Hai To Wah Bhi Shaktishaali Desh Ko Sakte Hain Dhanyvad
Likes  20  Dislikes
WhatsApp_icon
अरुणाचल प्रदेश कोचीन दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताता है क्योंकि इसके पीछे कुछ ऐतिहासिक कारण है ना चल प्रदेश के जो मूल जनजातियां हैं वह अरुणाचल प्रदेश की नहीं होते अन्य पूर्वोत्तर राज्यों के पिता बर्मा होते हुए चीन होते हुए अन्य राज्य से है परंतु एक बहुत ही पुरानी बात है तिब्बत के गठन के बाद तिब्बत का क्षेत्र निर्धारित किया गया था अंतर्राष्ट्रीय मानकों के आधार पर उस हिसाब से देखा जाए तो अरुणाचल प्रदेश में है तिब्बत का हिस्सा नहीं माना जा सकता अगर है तो सिरसा से लेह लद्दाख किस प्रकार से तिब्बत का हिस्सा है जो कि मुझे नहीं लगता इस प्रकार कि जिस प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र निर्धारित होते हैं तथा अंतरराष्ट्रीय परिस्थितियों के आधार पर तिब्बत का हिस्सा ना लेह लद्दाख है ना ही अलग देशों से भारत का अभिन्न अंग है पता किस प्रकार के जो भी दावे चीन करता है मैं उसको सिरे से खारिज करता हूं देखिए इसके साथ-साथ मुझे ऐसा भी लगता है कि केवल फूल चाल की भाषा होने से अथवा समान जो की भौगोलिक आपके नियमितता है उसके आधार पर आप किसी देश को या किसी प्रांत को अपने देश का हिस्सा नहीं बता सकते ऐतिहासिक रूप से भी लिखा जाए तो इस प्रकार से अफगानिस्तान भारत में अनुवाद और बहुत बड़ा है तिब्बत का चित्र बताओ भारत के अंदर ही आता था परंतु उस समय की परिस्थितियां कुछ और थी परंतु आज की परिस्थितियां कुछ और है तो मुझे ऐसा लगता है कि इस प्रकार के दावे बिल्कुल गलत है तथा इसका में भरपूर खंडन करता हूं धन्यवादArunachal Pradesh Cochin Dakshini Tibet Ka Hissa Batata Hai Kyonki Iske Piche Kuch Aetihasik Kaaran Hai Na Chal Pradesh Ke Jo Mul Janajatiyan Hain Wah Arunachal Pradesh Ki Nahi Hote Anya Purvotar Rajyo Ke Pita Barma Hote Hue Chin Hote Hue Anya Rajya Se Hai Parantu Ek Bahut Hi Purani Baat Hai Tibet Ke Gathan Ke Baad Tibet Ka Kshetra Nirdharit Kiya Gaya Tha Antar Rashtriya Maankon Ke Aadhar Par Us Hisab Se Dekha Jaye To Arunachal Pradesh Mein Hai Tibet Ka Hissa Nahi Mana Ja Sakta Agar Hai To Sirsa Se Leh Laddakh Kis Prakar Se Tibet Ka Hissa Hai Jo Ki Mujhe Nahi Lagta Is Prakar Ki Jis Prakar Ke Antar Rashtriya Manchitra Nirdharit Hote Hain Tatha Antararashtriya Paristhitiyon Ke Aadhar Par Tibet Ka Hissa Na Leh Laddakh Hai Na Hi Alag Deshon Se Bharat Ka Abhinna Ang Hai Pata Kis Prakar Ke Jo Bhi Daave Chin Karta Hai Main Usko Sire Se Khareej Karta Hoon Dekhie Iske Saath Saath Mujhe Aisa Bhi Lagta Hai Ki Kewal Fool Chaal Ki Bhasha Hone Se Athwa Saman Jo Ki Bhaugolik Aapke Niyamitta Hai Uske Aadhar Par Aap Kisi Desh Ko Ya Kisi Prant Ko Apne Desh Ka Hissa Nahi Bata Sakte Aetihasik Roop Se Bhi Likha Jaye To Is Prakar Se Afghanistan Bharat Mein Anuvad Aur Bahut Bada Hai Tibet Ka Chitra Batao Bharat Ke Andar Hi Aata Tha Parantu Us Samay Ki Paristhiyaan Kuch Aur Thi Parantu Aaj Ki Paristhiyaan Kuch Aur Hai To Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Is Prakar Ke Daave Bilkul Galat Hai Tatha Iska Mein Bharpur Khandan Karta Hoon Dhanyavad
Likes  24  Dislikes
WhatsApp_icon
भारत के लिए सबसे बड़ा खतरा निसंदेह पाकिस्तान और चीन नहीं है यह बात सही है कि चीन के साथ में भी हमारे संबंध बहुत अच्छे नहीं और कई बार चीन के साथ में भी हमारी और तू तू मैं मैं हो जाती है या बॉर्डर डिस्प्यूट सो जाते हैं लेकिन मुझे इस बात की संभावना बहुत कम लगती है कि चीन जो है कभी भी भारत के लिए खतरा बनेगा उसका कारण देखिए यह जो है वह उसकी जो अर्थव्यवस्था है वह बहुत ज्यादा विदेशों के ऊपर निर्भर है और चीन जो है वह उसका जो है किसी भी तरीके से जो धर्म के हिसाब से किसी और चीज की वजह से कोई भारत से ही बहुत ज्यादा मतभेद नहीं है और व्यापार के हिसाब से भी जी नहीं चाहेगा कि भारत के साथ अच्छे संबंध बने रहें क्योंकि उसके साथ उसकी कौन विजय प्राप्त पर करती है उस के विपरीत है तो पाकिस्तान का सवाल है पाकिस्तान की कार्डियोलॉजी कॉल लैटर हमारे साथ लड़ रहा है और जिसमें धर्म का एक बहुत बड़ा मुद्दा है कश्मीर एक बहुत बड़ा मुद्दा है और मैं समझता हूं कि पाकिस्तान वह फायदा नुकसान के लिए नहीं बल्कि एक तरीके से है उसकी भावनात्मक कारणों से उसकी भारत की लड़ाई है और यह खत्म नहीं हो सकती इसलिए पाकिस्तान को अगर अपने को डिस्ट्रॉय करके भी भारत को डिस्टर्ब करना होगा तो शायद वह करेगा जो कि चीन ऐसी गलती कभी नहीं करेगा तो मुझे नहीं लगता कि चीन से ज्यादा बहुत खतरा है भारत को पाकिस्तान से ही सबसे ज्यादा खतरा हैBharat K Lie Sabse Bada Khatara Nisandeh Pakistan Aur China Nahin Hai Yeh Baat Sahi Hai Qi China K Sathe Mein Bhi Hamare Sambandh Bahut Achchhe Nahin Aur Kai Bar China K Sathe Mein Bhi Hamari Aur Tu Tu Main Main Ho Jaati Hai Ya Border Dispute So Jaate Hain Lekin Mujhe Is Baat Ki Sambhavana Bahut Come Lagati Hai Qi China Joe Hai Kabhi Bhi Bharat K Lie Khatara Banega Uska Karan Dekhiye Yeh Joe Hai Wah Uski Joe Arthavyavastha Hai Wah Bahut Jyada Videsho K Upar Nirbhar Hai Aur China Joe Hai Wah Uska Joe Hai Kisi Bhi Tarike Se Joe Dharm K Hisaab Se Kisi Aur Chij Ki Vajaha Se Koi Bharat Se Hea Bahut Jyada Mutbhed Nahin Hai Aur Vyapar K Hisaab Se Bhi G Nahin Chahega Qi Bharat K Sathe Achchhe Sambandh Bane Rhain Kyonki Uske Sathe Uski Kaun Vijay Prapt Per Karti Hai Oosh K Viprit Hai To Pakistan Ka Sawal Hai Pakistan Ki Cardiology Call Latare Hamare Sathe Lad Raha Hai Aur Jisamein Dharm Ka Ek Bahut Bada Mudda Hai Kashmir Ek Bahut Bada Mudda Hai Aur Main Samajhataa Hoon Qi Pakistan Wah Fayda Nuksaan K Lie Nahin Walkie Ek Tarike Se Hai Uski Bhaavnatmak Karanon Se Uski Bharat Ki Ladai Hai Aur Yeh Khatma Nahin Ho Sakti Eeslie Pakistan Co Agar Apne Co Destroy Karake Bhi Bharat Co Disturb Krna Hoga To Shayad Wah Karega Joe Qi China Aisi Galti Kabhi Nahin Karega To Mujhe Nahin Lagta Qi China Se Jyada Bahut Khatara Hai Bharat Co Pakistan Se Hea Sabse Jyada Khatara Hai
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये,कोई भी अगर वाहन चलता है और उसमें कोई भी अगर इंधन का इस्तेमाल होता है तो उसमें पोलूशन होना लाजमी है l उसके बाद में जहां तक सीएनजी का सवाल है तो सीएनजी के वाहन को जरूर चलने लेकिन मैं नहीं समझता क...
जवाब पढ़िये
देखिये,कोई भी अगर वाहन चलता है और उसमें कोई भी अगर इंधन का इस्तेमाल होता है तो उसमें पोलूशन होना लाजमी है l उसके बाद में जहां तक सीएनजी का सवाल है तो सीएनजी के वाहन को जरूर चलने लेकिन मैं नहीं समझता कि सीएनजी का इस्तेमाल ट्रकों को चलाने के लिए बाद में आप जो है उससे बसेस से चला सकते हैं या उसे ट्रेनस चला सकते हैं l तो इस तरीके की जो हम प्लांस हैं वो तेक्नोलोजिक्ली फिसिबल सफल होने चाहिए और उसके बाद ही में जो है वह आप सीएनजी से इन सब चीजों को चलाने का दावा कर सकते हैं l तो मुझे तो ऐसा लगता नहीं है कि ऐसी चीज जो है वह संभव है अभी कम से कम आज की जो है वह साइंटिफिक का जो नॉलेज है उसके हिसाब से तो मैं नहीं समझता कि यह कैसे संभव है और ना ही इतने क्वांटिटी में सीएनजी, एथेनॉल अवेलेबल है कि वह जो प्रजेंट फ्यूल है उसकी भरपाई कर सके lDekhiye Koi Bhi Agar Vaahan Chalta Hai Aur Usamen Koi Bhi Agar Indhan Ka Istemal Hota Hai To Usamen Pollution Hona Lajmi Hai L Uske Baad Mein Jahan Tak Cng Ka Sawal Hai To Cng Ke Vaahan Ko Jarur Chalne Lekin Main Nahi Samajhata Ki Cng Ka Istemal Truckon Ko Chalane Ke Liye Baad Mein Aap Jo Hai Usse Buses Se Chala Sakte Hain Ya Use Trenas Chala Sakte Hain L To Is Tarike Ki Jo Hum Plans Hain Vo Teknolojikli Fisibal Safal Hone Chahiye Aur Uske Baad Hi Mein Jo Hai Wah Aap Cng Se In Sab Chijon Ko Chalane Ka Daawa Kar Sakte Hain L To Mujhe To Aisa Lagta Nahi Hai Ki Aisi Cheez Jo Hai Wah Sambhav Hai Abhi Kum Se Kum Aaj Ki Jo Hai Wah Scientific Ka Jo Knowledge Hai Uske Hisab Se To Main Nahi Samajhata Ki Yeh Kaise Sambhav Hai Aur Na Hi Itne Quantity Mein Cng Ethenal Available Hai Ki Wah Jo Present Fuel Hai Uski Bharpai Kar Sake L
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भरवारी के बाद जो पहाड़ो में हुई है उसके बाद जो उत्तर भारत में कोलकाता एक पड़ेगा उसके लिए जो चीजें हैं यह स्वैटर पहना अपने आप को प्रोटेक्ट करके रखना उसके अलावा इस वक्त काम काम है वह आप करेंगे करेंगे इस...
जवाब पढ़िये
भरवारी के बाद जो पहाड़ो में हुई है उसके बाद जो उत्तर भारत में कोलकाता एक पड़ेगा उसके लिए जो चीजें हैं यह स्वैटर पहना अपने आप को प्रोटेक्ट करके रखना उसके अलावा इस वक्त काम काम है वह आप करेंगे करेंगे इसके अलावा आप को सिड्यूस कर सकते हैं वह अपने आप को कोर्ट से बचाने के लिए उसके रेट को कम कर सकते हैं आप अपने हाथों को बार बार धुले साबुन और पानी से बात करे अपने हाईस्कूल उसको अबाउट को बिना हाथ धोने धोने के स्टे अवे फ्रॉम द पीपल हुआ रितिक जो कि बीमार लोगों उनके थोड़ा डिस्टेंस मीटिंग करके रखें दूसरों को कैसे प्रयोग कर सकते हैं जैसे कि अगर आप की तबीयत खराब है आपको कॉल हुआ है तो आप घर में रहने थोड़े दिनों के लिए खुशी की बॉडी की कोशिश करना उसको उसके लिए खुद को वोट करें और भी बहुत सारे लोगों को क्यों होती हैBhurawari Ke Baad Jo Pahadon Mein Hui Hai Uske Baad Jo Uttar Bharat Mein Kolkata Ek Padega Uske Liye Jo Cheezen Hain Yeh Swaitar Pahana Apne Aap Ko Project Karke Rakhna Uske Alava Is Waqt Kaam Kaam Hai Wah Aap Karenge Karenge Iske Alava Aap Ko Seduce Kar Sakte Hain Wah Apne Aap Ko Court Se Bachane Ke Liye Uske Rate Ko Kum Kar Sakte Hain Aap Apne Hathon Ko Baar Baar Dhule Sabun Aur Pani Se Baat Kare Apne Highschool Usko About Ko Bina Hath Dhone Dhone Ke Stay Away From D Pipal Hua Hrithik Jo Ki Bimar Logon Unke Thoda Distance Meeting Karke Rakhen Dusron Ko Kaise Prayog Kar Sakte Hain Jaise Ki Agar Aap Ki Tabiyat Kharab Hai Aapko Call Hua Hai To Aap Ghar Mein Rehne Thode Dinon Ke Liye Khushi Ki Body Ki Koshish Karna Usko Uske Liye Khud Ko Vote Karen Aur Bhi Bahut Sare Logon Ko Kyun Hoti Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान परिप्रेक्ष्य में उत्तर कोरिया भारत के लिए किसी भी प्रकार से खतरा नहीं उत्पन्न करता है उत्तर कोरिया का साथ चीन वॉर दोस्त जैसे अति शक्तिशाली देश निभाते आए हैं तथा भारत का उस से दूर दूर तक कोई सं...
जवाब पढ़िये
वर्तमान परिप्रेक्ष्य में उत्तर कोरिया भारत के लिए किसी भी प्रकार से खतरा नहीं उत्पन्न करता है उत्तर कोरिया का साथ चीन वॉर दोस्त जैसे अति शक्तिशाली देश निभाते आए हैं तथा भारत का उस से दूर दूर तक कोई संबंध नहीं है मुझे लगता है उत्तर कोरिया वर्तमान परिस्थितियों में अथवा निकट भविष्य में भारत के लिए किसी भी प्रकार का सामरिक कूटनीतिक अर्थ व राजनीतिक खतरा उत्पन्न नहीं करने वाला है युद्ध की अवस्था में यदि भारत तक तटस्थ रहता है तो भी भारत के लिए कोई खतरा नहीं है परंतु यदि मित्र देशों का साथ निभाते हुए आप भारत जापान अर्थ व दक्षिण कोरिया अथवा अमेरिका का साथ निभाने का फैसला लेता है तो उस स्थिति में भारत के लिए जरूर कुछ हद तक हानिकारक हो सकता है जाता की अन्य देशों के साथ होता है युद्ध की परिस्थिति में सभी देशों को एक नुकसान उठाना ही पड़ता है उस अवस्था में अब रही बात व्यापारिक अथवा आर्थिक दृष्टि से तो मुझे नहीं लगता भारत के इस प्रकार के संबंध में आर्थिक अथवा व्यापारिक दृष्टि से उत्तर कोरिया के साथ रहे हैं या चल रहे हैं जिससे कि भारत को किसी प्रकार का कोई खतरा आया उठाना पड़े और रही बात राजनीतिक दृष्टि से तो भारत की जो आंतरिक राजनीति है उस पर उत्तर कोरिया का प्रभाव नगण्य है भारत के सभी राजनीतिक दल उत्तर कोरिया उसकी नीतियों की भरसक निंदा करते हैं तो मुझे नहीं लगता राजनीतिक दृष्टि से भी उत्तर कोरिया की परिस्थिति आता उत्तर कोरिया भारत के लिए किसी प्रकार का कोई खतरा उत्पन्न कर सकता है कुल मिलाकर के उत्तर कोरिया का भारत के सैन्य सामरिक कूटनीतिक अर्थ व्यवस्था व्यापारिक आर्थिक व राजनीतिक दृष्टि से किसी भी प्रकार का कोई हानि होने की संभावना निकट भविष्य में नहीं आ की जा सकती कुल मिलाकर के यह कहना बिल्कुल गलत होगा तो उत्तर कोरिया भारत के लिए कोई खतरा उत्पन्न कर सकता है धन्यवादVartaman Pariprekshya Mein Uttar Korea Bharat Ke Liye Kisi Bhi Prakar Se Khatra Nahi Utpann Karta Hai Uttar Korea Ka Saath Chin War Dost Jaise Ati Shaktishaali Desh Nibhate Aaye Hain Tatha Bharat Ka Us Se Dur Dur Tak Koi Sambandh Nahi Hai Mujhe Lagta Hai Uttar Korea Vartaman Paristhitiyon Mein Athwa Nikat Bhavishya Mein Bharat Ke Liye Kisi Bhi Prakar Ka Samarik Kutanitik Arth V Rajnitik Khatra Utpann Nahi Karne Wala Hai Yudh Ki Awastha Mein Yadi Bharat Tak Tatasth Rehta Hai To Bhi Bharat Ke Liye Koi Khatra Nahi Hai Parantu Yadi Mitra Deshon Ka Saath Nibhate Hue Aap Bharat Japan Arth V Dakshin Korea Athwa America Ka Saath Nibhane Ka Faisla Leta Hai To Us Sthiti Mein Bharat Ke Liye Jarur Kuch Had Tak Haanikarak Ho Sakta Hai Jata Ki Anya Deshon Ke Saath Hota Hai Yudh Ki Paristhiti Mein Sabhi Deshon Ko Ek Nuksan Uthaana Hi Padata Hai Us Awastha Mein Ab Rahi Baat Vyaparik Athwa Aarthik Drishti Se To Mujhe Nahi Lagta Bharat Ke Is Prakar Ke Sambandh Mein Aarthik Athwa Vyaparik Drishti Se Uttar Korea Ke Saath Rahe Hain Ya Chal Rahe Hain Jisse Ki Bharat Ko Kisi Prakar Ka Koi Khatra Aaya Uthaana Pade Aur Rahi Baat Rajnitik Drishti Se To Bharat Ki Jo Aantarik Rajneeti Hai Us Par Uttar Korea Ka Prabhav Naganya Hai Bharat Ke Sabhi Rajnitik Dal Uttar Korea Uski Nitiyon Ki Bharasak Ninda Karte Hain To Mujhe Nahi Lagta Rajnitik Drishti Se Bhi Uttar Korea Ki Paristhiti Aata Uttar Korea Bharat Ke Liye Kisi Prakar Ka Koi Khatra Utpann Kar Sakta Hai Kul Milakar Ke Uttar Korea Ka Bharat Ke Sainya Samarik Kutanitik Arth Vyavastha Vyaparik Aarthik V Rajnitik Drishti Se Kisi Bhi Prakar Ka Koi Hani Hone Ki Sambhavna Nikat Bhavishya Mein Nahi Aa Ki Ja Sakti Kul Milakar Ke Yeh Kehna Bilkul Galat Hoga To Uttar Korea Bharat Ke Liye Koi Khatra Utpann Kar Sakta Hai Dhanyavad
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फ्री नागिन को हमेशा भारत से दिक्कत है कभी सीमा को लेकर तो कभी किसी और चीज को लेकर और आपको तो पता ही है पहले भारत और चीन में युद्ध हो भी चुका है और चीन हमेशा से पाकिस्तान को सपोर्ट करता रहा है क्योंकि ...
जवाब पढ़िये
फ्री नागिन को हमेशा भारत से दिक्कत है कभी सीमा को लेकर तो कभी किसी और चीज को लेकर और आपको तो पता ही है पहले भारत और चीन में युद्ध हो भी चुका है और चीन हमेशा से पाकिस्तान को सपोर्ट करता रहा है क्योंकि पाकिस्तान और भारत की कभी छुट्टी नहीं अच्छे से और हमेशा लड़ाई रहती है और चीन इसीलिए पाकिस्तान को सपोर्ट करता है और जो जितना भी प्रकृति पर एक भाषण दिया और एक बयान दिया है कि अपने सैनिकों को सीमा पर नियंत्रण रखें यह सब तो मुझे नहीं लगता भारत को चीन की बात सुननी चाहिए और अपने जो सैनिक है जो जाबाज सैनिक है उनको कुछ इसके बारे में बोलना चाहिए तो क्योंकि चीन का कोई हक नहीं है यह स्टेटमेंट देने का और भारतीय सैनिकों पर कोई जवाब देने का या फिर कुछ जरुर कराने का है कुछ काम कराने काFree Nagin Ko Hamesha Bharat Se Dikkat Hai Kabhi Seema Ko Lekar To Kabhi Kisi Aur Cheez Ko Lekar Aur Aapko To Pata Hi Hai Pehle Bharat Aur Chin Mein Yudh Ho Bhi Chuka Hai Aur Chin Hamesha Se Pakistan Ko Support Karta Raha Hai Kyonki Pakistan Aur Bharat Ki Kabhi Chutti Nahi Acche Se Aur Hamesha Ladai Rehti Hai Aur Chin Isliye Pakistan Ko Support Karta Hai Aur Jo Jitna Bhi Prakriti Par Ek Bhashan Diya Aur Ek Bayan Diya Hai Ki Apne Sainikon Ko Seema Par Niyantran Rakhen Yeh Sab To Mujhe Nahi Lagta Bharat Ko Chin Ki Baat Sunnani Chahiye Aur Apne Jo Sainik Hai Jo Jabaz Sainik Hai Unko Kuch Iske Baare Mein Bolna Chahiye To Kyonki Chin Ka Koi Haq Nahi Hai Yeh Statement Dene Ka Aur Bhartiya Sainikon Par Koi Jawab Dene Ka Ya Phir Kuch Zaroor Karane Ka Hai Kuch Kaam Karane Ka
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात कहना सच नहीं होगा कि सभी देश पैसे के लिए भारत के खिलाफ खेलना चाहता है क्योंकि अगर हम देखें बाकी देशों में जैसे ऑस्ट्रेलिया है इंग्लैंड साउथ अफ्रीका खिलाड़ी ने खुद ही आकर बोला है कि हमें भारत मे...
जवाब पढ़िये
यह बात कहना सच नहीं होगा कि सभी देश पैसे के लिए भारत के खिलाफ खेलना चाहता है क्योंकि अगर हम देखें बाकी देशों में जैसे ऑस्ट्रेलिया है इंग्लैंड साउथ अफ्रीका खिलाड़ी ने खुद ही आकर बोला है कि हमें भारत में खेलना अच्छा लगता है और दिखाओ जागरण ICC का स्ट्रक्चर देखा जाए तो ICC के शिक्षक के मुताबिक तीन बोर्ड क्रिकेट बोर्ड है जो सबसे अमीर है उनके पास सबसे ज्यादा पैसे पहला भारत क्रिकेट बोर्ड जोगी बीसीसीआई दूसरा इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड और तीसरा ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड हेतु अगर हम साल के कैलेंडर में दिखे तो सबसे ज्यादा मैसेज चाहिए तीन टीमें खेली थी जिनके पास वह पैसा है इनके पास वह एवेन्यू जनरेट होती है उनके क्रिकेटिंग सिस्टम से क्रिकेटिंग फंड से जिसकी वजह से ऐसा है और अगर देखा जाए तो फिर भारत में सिर्फ यही देश खेलने के लिए नहीं आते हैं जबकि भारत भी बहुत सारे बाहर के टूर्स करता है जैसे उन्होंने अभी श्रीलंका का टूर किया था फिर उन्होंने वेस्टइंडीज का टूर किया था वह ऑस्ट्रेलिया का बिठूर करते आ रहा है और अभी नए साल में देखेंगे अल्ताफ बिठूर का रेलवे तू इससे यह बात गलत कहने होगी कि बाकी सारे देश से पैसे के लिए भारत के साथ खेलना चाहते हैं बल्कि उन्हें भारत में खेलना अच्छा लगता है और भारत जिस प्रकार सभी क्रिकेट टीम बन रही थी मजबूत बन रही है तो मेरे हिसाब से उन्हें भी उन्हें भी बाकी सारे देशों को लगता रहेगा कि हम भारत को हरा के एक स्टेटमेंट बना सकते हैं क्रिकेट की दुनिया मेंYeh Baat Kehna Sach Nahi Hoga Ki Sabhi Desh Paise Ke Liye Bharat Ke Khilaf Khelna Chahta Hai Kyonki Agar Hum Dekhen Baki Deshon Mein Jaise Austrailia Hai England South Africa Khiladi Ne Khud Hi Aakar Bola Hai Ki Hume Bharat Mein Khelna Accha Lagta Hai Aur Dikhaao Jagran ICC Ka Structure Dekha Jaye To ICC Ke Shikshak Ke Mutabik Teen Board Cricket Board Hai Jo Sabse Amir Hai Unke Paas Sabse Jyada Paise Pehla Bharat Cricket Board Jogi Bcci Doosra England Cricket Board Aur Teesra Austrailia Cricket Board Hetu Agar Hum Saal Ke Calendar Mein Dikhe To Sabse Jyada Massage Chahiye Teen Teamen Kheli Thi Jinke Paas Wah Paisa Hai Inke Paas Wah Aivanyoo Generate Hoti Hai Unke Cricketing System Se Cricketing Fund Se Jiski Wajah Se Aisa Hai Aur Agar Dekha Jaye To Phir Bharat Mein Sirf Yahi Desh Khelne Ke Liye Nahi Aate Hain Jabki Bharat Bhi Bahut Sare Bahar Ke Taurus Karta Hai Jaise Unhone Abhi Sri Lanka Ka Tour Kiya Tha Phir Unhone WestIndies Ka Tour Kiya Tha Wah Austrailia Ka Bithoor Karte Aa Raha Hai Aur Abhi Naye Saal Mein Dekhenge Altaf Bithoor Ka Railway Tu Isse Yeh Baat Galat Kehne Hogi Ki Baki Sare Desh Se Paise Ke Liye Bharat Ke Saath Khelna Chahte Hain Balki Unhen Bharat Mein Khelna Accha Lagta Hai Aur Bharat Jis Prakar Sabhi Cricket Team Ban Rahi Thi Mazboot Ban Rahi Hai To Mere Hisab Se Unhen Bhi Unhen Bhi Baki Sare Deshon Ko Lagta Rahega Ki Hum Bharat Ko Hara Ke Ek Statement Bana Sakte Hain Cricket Ki Duniya Mein
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे तू राजनीतिक बहस कांग्रेस के शासन काल में भारतीय जनता पार्टी की सरकार राजनीति में पक्ष और विपक्ष की पहली सरकार में आने के बाद में पौधों को वितरण करते हैं उन्हीं ग्रुपों पर सट्टा मटका...
जवाब पढ़िये
हमारे तू राजनीतिक बहस कांग्रेस के शासन काल में भारतीय जनता पार्टी की सरकार राजनीति में पक्ष और विपक्ष की पहली सरकार में आने के बाद में पौधों को वितरण करते हैं उन्हीं ग्रुपों पर सट्टा मटका
Likes  16  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट से बिल्कुल होनी चाहिए क्योंकि इससे जो है भारत और पाकिस्तान के बीच का जो रिश्ता है वह मैं संस्था कम हो जाता है क्योंकि जो लोग भारत के लोग भी उतने ही अपनी टीम को चाहते हैं ...
जवाब पढ़िये
भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट से बिल्कुल होनी चाहिए क्योंकि इससे जो है भारत और पाकिस्तान के बीच का जो रिश्ता है वह मैं संस्था कम हो जाता है क्योंकि जो लोग भारत के लोग भी उतने ही अपनी टीम को चाहते हैं अपने देश को चाहते हैं और पाकिस्तान के लोग भी उतने ही चाहते हैं अपने देश की अपनी टीम को एक जरिया है जिससे कि हम दोनों के रिश्ते की कड़वाहट को थोड़ा कम कर दोBharat Pakistan Ke Beech Cricket Se Bilkul Honi Chahiye Kyonki Isse Jo Hai Bharat Aur Pakistan Ke Beech Ka Jo Rishta Hai Wah Main Sanstha Kum Ho Jata Hai Kyonki Jo Log Bharat Ke Log Bhi Utne Hi Apni Team Ko Chahte Hain Apne Desh Ko Chahte Hain Aur Pakistan Ke Log Bhi Utne Hi Chahte Hain Apne Desh Ki Apni Team Ko Ek Jariya Hai Jisse Ki Hum Dono Ke Rishte Ki Kadawahat Ko Thoda Kum Kar Do
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं ऐसा करने में सही नहीं थे ट्रंप ने अपनी उत्तर कोरिया रणनीति के केंद्र में चीन को रखा है चीन उत्तर कोरिया के सबसे करीबी व्यापारिक सहयोगी है और इस वजह से उत्तर कोरिया की छोटी और गरीब अर्थव्यवस्थ...
जवाब पढ़िये
नहीं मैं ऐसा करने में सही नहीं थे ट्रंप ने अपनी उत्तर कोरिया रणनीति के केंद्र में चीन को रखा है चीन उत्तर कोरिया के सबसे करीबी व्यापारिक सहयोगी है और इस वजह से उत्तर कोरिया की छोटी और गरीब अर्थव्यवस्था पर भारी उत्तोलन है ट्रंप ने दर्द दिया है कि चीन को अपने परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों को रोकने के लिए उत्तर कोरिया पर दबाव डालने के लिए और कुछ करना चाहिए जब किसी ने ऐसा करने का वादा किया है और हाल के महीनों में संयुक्त राष्ट्रीय में प्योंगयांग के खिलाफ कठोर प्रतिबंधों को सहमति दी है नवीनतम रिपोर्ट याद दिलाती है कि जब उत्तर कोरिया के साथ कठोर होने की बात आती है तो बीजिंग नियमित रूप से अपने वादों को पूरा करने में विफल रहता है अनिल का कहना है कि ट्रंप प्रशासन चीनी व्यवसाय और व्यक्तियों पर संक्षिप्त लगा सकते हैं जो उत्तर कोरिया के साथ गैर कानूनी तौर पर व्यापार के लिए समय में है एक ऐसा कार्य जो बीजिंग का गुस्सा उनकी तरफ लाएगा मानना है कि चीन को यह भी आशंका है कि उत्तरी कोरिया के पतन से नतीजों का सामना करने और देश के परमाणु हथियारों को सुरक्षित करने के लिए अमेरिका क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति को नाटकीय ढंग से बढ़ा देगा चीन की सीमा पर अमेरिका सैन्य उपस्थित चीन के नेता देखना नहीं चाहते नतीजतन चीन उत्तर कोरिया के नेतृत्व को आगे बढ़ाने में मदद करता है क्योंकि एक स्थिर उत्तर कोरिया उनके लिए रणनीतिक बफर के रूप में काम करता है लेकिन यह उनके परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों को प्रोत्साहित करने की संभावना को बढ़ाता है जो दुनिया के बाकी देशों के लिए बहुत कठिन हो सकता हैNahi Main Aisa Karne Mein Sahi Nahi The Tramp Ne Apni Uttar Korea Rananiti Ke Kendra Mein Chin Ko Rakha Hai Chin Uttar Korea Ke Sabse Karibi Vyaparik Sahayogi Hai Aur Is Wajah Se Uttar Korea Ki Choti Aur Garib Arthavyavastha Par Bhari Uttolan Hai Tramp Ne Dard Diya Hai Ki Chin Ko Apne Parmanu Aur Ballistic Missile Karyakramo Ko Rokne Ke Liye Uttar Korea Par Dabaav Dalne Ke Liye Aur Kuch Karna Chahiye Jab Kisi Ne Aisa Karne Ka Vada Kiya Hai Aur Haal Ke Mahinon Mein Sanyukt Rashtriya Mein Pyongayang Ke Khilaf Kathor Pratibandho Ko Sehmati Di Hai Navintam Report Yaad Dilati Hai Ki Jab Uttar Korea Ke Saath Kathor Hone Ki Baat Aati Hai To Beijing Niyamit Roop Se Apne Vaado Ko Pura Karne Mein Vifal Rehta Hai Anil Ka Kehna Hai Ki Tramp Prashasan Chini Vyavasaya Aur Vyaktiyon Par Sanshipta Laga Sakte Hain Jo Uttar Korea Ke Saath Gair Kanooni Taur Par Vyapar Ke Liye Samay Mein Hai Ek Aisa Karya Jo Beijing Ka Gussa Unki Taraf Layega Manana Hai Ki Chin Ko Yeh Bhi Ashanka Hai Ki Uttari Korea Ke Patan Se Nateezon Ka Samana Karne Aur Desh Ke Parmanu Hathiyaron Ko Surakshit Karne Ke Liye America Kshetra Mein Apni Sainya Upasthitee Ko Natakiye Dhang Se Badha Dega Chin Ki Seema Par America Sainya Upasthit Chin Ke Neta Dekhna Nahi Chahte Natijatan Chin Uttar Korea Ke Netritva Ko Aage Badhane Mein Madad Karta Hai Kyonki Ek Sthir Uttar Korea Unke Liye Radnitik Buffer Ke Roop Mein Kaam Karta Hai Lekin Yeh Unke Parmanu Aur Ballistic Missile Karyakramo Ko Protsahit Karne Ki Sambhavna Ko Badhata Hai Jo Duniya Ke Baki Deshon Ke Liye Bahut Kathin Ho Sakta Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आर.एस.एस यानी कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, जो के लोगों के भले के लिए काम करता है | जब भी किसी को किसी तरह की आपत्ति होती है, किसी भी उस गरीब इंसान को या किसी भी आम आदमी को तो वह उस जगह पर पहुंच जाते है...
जवाब पढ़िये
आर.एस.एस यानी कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, जो के लोगों के भले के लिए काम करता है | जब भी किसी को किसी तरह की आपत्ति होती है, किसी भी उस गरीब इंसान को या किसी भी आम आदमी को तो वह उस जगह पर पहुंच जाते हैं | और कहीं पर अगर किसी तरह की नेचुरल कैलेमिटी याने की अर्थक्वेक, सुनामी या फिर कुछ ऐसा आता है तो वहां पर भी आर.एस.एस के लोग जाकर लोगों की सहायता करते हैं, अपना पूरा योगदान देते हैं, उनकी जिंदगी को वापस नॉर्मल बनाने के लिए | तो अगर वह लोग हमारे देश में लोगों की सहायता कर रहे हैं, तो मुझे नहीं लगता वह किसी भी तरह से हमारे देश के लिए खतरा हो सकते हैं| यह बात जरूर है कि कुछ लोग कहते हैं कि आर.एस.एस चाहता है कि देश को हिंदुत्व देश बनाया जाए और सारे लोग हिंदू धर्म का ही पालन करें | परंतु एक चीज हमे यह भी देखनी होगी कि जो लोग कहते हैं कि वह हमें देश को हिंदू बनाया, हिंदुत्व देश बनाया जा, वह कुछ लोग ही हैं | बाकी के जितने लोग आर.एस.एस में पूरे देश में फैले हुए हैं वह सब लोग कहीं ना कहीं किसी न किसी तरीके दूसरे लोगों की सहायता ही करते हैं और आर.एस.एस बहुत ही रेस्पेक्टेड संस्था बन चुकी है, संघ बन चुका है हमारे देश के लिए जिस पर लोग विश्वास करने लगे हैं तो मुझे नहीं लगता कि आर.एस.एस किसी भी तरह से हमारे देश के लिए खतरा है| R S S Yani Ki Rashtriya Svayansevak Sangh Jo Ke Logon Ke Bhale Ke Liye Kaam Karta Hai | Jab Bhi Kisi Ko Kisi Tarah Ki Apatti Hoti Hai Kisi Bhi Us Garib Insaan Ko Ya Kisi Bhi Aam Aadmi Ko To Wah Us Jagah Par Pahunch Jaate Hain | Aur Kahin Par Agar Kisi Tarah Ki Natural Kailemiti Yaane Ki Earthquake Tsunami Ya Phir Kuch Aisa Aata Hai To Wahan Par Bhi R S S Ke Log Jaakar Logon Ki Sahaayata Karte Hain Apna Pura Yogdan Dete Hain Unki Zindagi Ko Wapas Normal Banane Ke Liye | To Agar Wah Log Hamare Desh Mein Logon Ki Sahaayata Kar Rahe Hain To Mujhe Nahi Lagta Wah Kisi Bhi Tarah Se Hamare Desh Ke Liye Khatra Ho Sakte Hain Yeh Baat Jarur Hai Ki Kuch Log Kehte Hain Ki R S S Chahta Hai Ki Desh Ko Hindutva Desh Banaya Jaye Aur Sare Log Hindu Dharm Ka Hi Palan Karen | Parantu Ek Cheez Hume Yeh Bhi Dekhani Hogi Ki Jo Log Kehte Hain Ki Wah Hume Desh Ko Hindu Banaya Hindutva Desh Banaya Ja Wah Kuch Log Hi Hain | Baki Ke Jitne Log R S S Mein Poore Desh Mein Faile Hue Hain Wah Sab Log Kahin Na Kahin Kisi N Kisi Tarike Dusre Logon Ki Sahaayata Hi Karte Hain Aur R S S Bahut Hi Respekted Sanstha Ban Chuki Hai Sangh Ban Chuka Hai Hamare Desh Ke Liye Jis Par Log Vishwas Karne Lage Hain To Mujhe Nahi Lagta Ki R S S Kisi Bhi Tarah Se Hamare Desh Ke Liye Khatra Hai
Likes  9  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत और पाकिस्तान दोनों ही देशों में ऐसी कई लोग रहते हैं जो इस आस में है कि दोनों देशों के रिश्ते कब सुधरेंगे क्योंकि दोनों ही देशों में जोड़ों को एक दूसरे से जुड़े में है दिल से दिल और दिमाग तेजी से ...
जवाब पढ़िये
भारत और पाकिस्तान दोनों ही देशों में ऐसी कई लोग रहते हैं जो इस आस में है कि दोनों देशों के रिश्ते कब सुधरेंगे क्योंकि दोनों ही देशों में जोड़ों को एक दूसरे से जुड़े में है दिल से दिल और दिमाग तेजी से पाकिस्तान अलग हुआ था तब भी कई लोगों को यह बंटवारा पसंद नहीं आया था लेकिन लगा था कि धीरे-धीरे सब कुछ सही हो जाएगा लेकिन हालात बनने के लिए सुधारने के बजाय बिगड़ते चले गए और यह सब हुआ सच कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान ने हर बार कश्मीर के मुद्दे को लेकर आतंकवाद को बढ़ावा दिया है और उसे हमेशा शांति वार्ता का उल्लंघन किया है उन्होंने कभी भी इस शांति वार्ता को आगे नहीं बढ़ने दिया कभी भी भारत की शांति की कोशिशों को उन्होंने गंभीरता से नहीं लिया क्योंकि पाकिस्तान हमेशा सैन्य बल को प्राथमिकता देती रही है हमेशा अपने आतंकवाद को ही बना ली है और आतंकवादी गतिविधियों से उसने कश्मीर में हमेशा हलचल बनाए रखी है इसलिए यह हालात कभी सुधर ही नहीं पाए चाहे कितनी भी कोशिश में भारत की तरफ से हुई हो लेकिन फिर भी पाकिस्तान ने कभी भी उन कोशिशों को कामयाब नहीं होने दिया लेकिन अभी हाल ही में सीजफायर के बाद पहली बार दोनों शांति वार्ता के लिए रांची गए हैं अभी हाल ही में मोदी सरकार ने 1 महीने रमजान के वक्त में शांति बनाए रखने की अपील की है तो मुझे लगता है कि हमारी ओर से जो कोशिशें की जा रही है वह सही है हम शांति के पक्षधर है हमने हमेशा शांति को अहमियत दी है उसके मुझे लगता है कि कभी ना कभी शायद पाकिस्तान के लोग भी शांति की महिमा को शांति की अहमियत को समझेंगे और एक दिन जरूर ऐसा आएगा जब दोनों देशों में शांति होBharat Aur Pakistan Dono Hi Deshon Mein Aisi Kai Log Rehte Hain Jo Is Aas Mein Hai Ki Dono Deshon Ke Rishte Kab Sudhrenge Kyonki Dono Hi Deshon Mein Jodo Ko Ek Dusre Se Jude Mein Hai Dil Se Dil Aur Dimag Teji Se Pakistan Alag Hua Tha Tab Bhi Kai Logon Ko Yeh Batwara Pasand Nahi Aaya Tha Lekin Laga Tha Ki Dhire Dhire Sab Kuch Sahi Ho Jayega Lekin Halaat Banne Ke Liye Sudhaarne Ke Bajay Bigadate Chale Gaye Aur Yeh Sab Hua Sach Kashmir Ke Mudde Par Pakistan Ne Har Baar Kashmir Ke Mudde Ko Lekar Aatankwad Ko Badhawa Diya Hai Aur Use Hamesha Shanti Varta Ka Ullanghan Kiya Hai Unhone Kabhi Bhi Is Shanti Varta Ko Aage Nahi Badhne Diya Kabhi Bhi Bharat Ki Shanti Ki Koshishon Ko Unhone Gambhirta Se Nahi Liya Kyonki Pakistan Hamesha Sainya Bal Ko Prathamikta Deti Rahi Hai Hamesha Apne Aatankwad Ko Hi Bana Lee Hai Aur Aatankwadi Gatividhiyon Se Usne Kashmir Mein Hamesha Halchal Banaye Rakhi Hai Isliye Yeh Halaat Kabhi Sudhar Hi Nahi Paye Chahe Kitni Bhi Koshish Mein Bharat Ki Taraf Se Hui Ho Lekin Phir Bhi Pakistan Ne Kabhi Bhi Un Koshishon Ko Kamyab Nahi Hone Diya Lekin Abhi Haal Hi Mein Ceasefire Ke Baad Pehli Baar Dono Shanti Varta Ke Liye Ranchi Gaye Hain Abhi Haal Hi Mein Modi Sarkar Ne 1 Mahine Ramjan Ke Waqt Mein Shanti Banaye Rakhne Ki Appeal Ki Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Hamari Oar Se Jo Koshishen Ki Ja Rahi Hai Wah Sahi Hai Hum Shanti Ke Pakshadhar Hai Humne Hamesha Shanti Ko Ahamiyat Di Hai Uske Mujhe Lagta Hai Ki Kabhi Na Kabhi Shayad Pakistan Ke Log Bhi Shanti Ki Mahima Ko Shanti Ki Ahamiyat Ko Samjhenge Aur Ek Din Jarur Aisa Aaega Jab Dono Deshon Mein Shanti Ho
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुटनिरपेक्षता का जन्म दाता भारत को ही माना जाता है प्रधानमंत्री हमारे देश के पहले जो हुए थे जवाहरलाल नेहरू उन्होंने कहा था कि ना हम पूंजीवाद की तरफ जाएंगे नाम समाजवाद की तरफ जाएंगे हम गुटनिरपेक्ष की त...
जवाब पढ़िये
गुटनिरपेक्षता का जन्म दाता भारत को ही माना जाता है प्रधानमंत्री हमारे देश के पहले जो हुए थे जवाहरलाल नेहरू उन्होंने कहा था कि ना हम पूंजीवाद की तरफ जाएंगे नाम समाजवाद की तरफ जाएंगे हम गुटनिरपेक्ष की तरफ जाएंगे जो थर्ड वर्ल्ड जिस को कहा गया था बाद में हमें इस समय सबसे ज्यादा जरूरी है कि हमारे बाय लिटल संबंध सबसे ज्यादा जरूरी है वह अच्छे होने चाहिए लड़की दो देशों के बीच के संबंध अच्छे होने चाहिए अगर वह ही अच्छे नहीं होते तो भले ही हम किसी कंट्री के साथ किसी ग्रुप में कोई फर्क नहीं पड़ता है से पाकिस्तान के साथ हमारे वार्ड परिसीमन अच्छी नहीं है हम पाकिस्तान के साथ बनी सब पर बनी रहे बधाई एवं शंघाई कोऑपरेशन और मैसेज ग्रुप में भी बनी रहे तो कोई मतलब नहीं है उस चीज का पार्टी से संबंध होना बहुत आवश्यक है इसके पीछे हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी प्रयास कर रहे हैं और उन्हें काफी हद तक भारत के कच्छा ब्रांड बना दिया है तो काफी FDMR आज इतना किसी कंट्री में नहीं आ रहा इतना एफडीआई आ रहा है भारत की में सुधरी है भारत 11 आगरा अग्रगामी देश के तौर पर सामने आया जातक ग्रुप में शामिल करने की बात है मुझे लगता है भारत को केवल उनको ध्यान देना चाहिए जिन ग्रुपों में देश को कुछ फायदा होता है जैसे कि एक मिसाइल टेक्नोलॉजी वाला ग्रुप है जिसमें भारत ने अभी-अभी एंट्री मिली इसमें चाइना नहीं है इसके अलावा एनएसजी में भी भारत अपनी सदस्य चाहता है या फिर यूनाइटेड नेशन की पेमेंट सीट पर भारत अपना दावा करता है जातक कहता है किसका स्पेंड किया जाए तो सुधार किया जाए तो यह सब ग्रुप काफी जरूरी है ना इतने सारे ग्रुप में मुझे लगता है कि ज्यादा इंपॉर्टेंट जो ग्रुप होंगे उन्हीं में पार्टिसिपेट करें हर ग्रुप में घुसने से अच्छा यह है कि आप बाल्टी समझदार है तो सबसे बेस्ट चीज मिलेगी कि अपने बेडरुम में सुधार तेरा और बाकी सारे ग्रुप की आंखों से दूर करें थैंक्यूGutanirapekshata Ka Janm Data Bharat Ko Hi Mana Jata Hai Pradhanmantri Hamare Desh Ke Pehle Jo Hue The Jawaharlal Nehru Unhone Kaha Tha Ki Na Hum Punjivad Ki Taraf Jaenge Naam Samajavad Ki Taraf Jaenge Hum Gutnirpeksh Ki Taraf Jaenge Jo Third World Jis Ko Kaha Gaya Tha Baad Mein Hume Is Samay Sabse Jyada Zaroori Hai Ki Hamare By Little Sambandh Sabse Jyada Zaroori Hai Wah Acche Hone Chahiye Ladki Do Deshon Ke Beech Ke Sambandh Acche Hone Chahiye Agar Wah Hi Acche Nahi Hote To Bhale Hi Hum Kisi Country Ke Saath Kisi Group Mein Koi Fark Nahi Padata Hai Se Pakistan Ke Saath Hamare Ward Parisiman Acchi Nahi Hai Hum Pakistan Ke Saath Bani Sab Par Bani Rahe Badhai Evam Shanghai Cooperation Aur Massage Group Mein Bhi Bani Rahe To Koi Matlab Nahi Hai Us Cheez Ka Party Se Sambandh Hona Bahut Aavashyak Hai Iske Piche Hamare Pradhanmantri Narendra Modi Kafi Prayas Kar Rahe Hain Aur Unhen Kafi Had Tak Bharat Ke Kachhaa Brand Bana Diya Hai To Kafi FDMR Aaj Itna Kisi Country Mein Nahi Aa Raha Itna IFDI Aa Raha Hai Bharat Ki Mein Sudhari Hai Bharat 11 Agra Agragami Desh Ke Taur Par Samane Aaya Jatak Group Mein Shamil Karne Ki Baat Hai Mujhe Lagta Hai Bharat Ko Kewal Unko Dhyan Dena Chahiye Jin Grupon Mein Desh Ko Kuch Fayda Hota Hai Jaise Ki Ek Missile Technology Wala Group Hai Jisme Bharat Ne Abhi Abhi Entry Mili Isme China Nahi Hai Iske Alava Nsg Mein Bhi Bharat Apni Sadasya Chahta Hai Ya Phir United Nation Ki Payment Seat Par Bharat Apna Daawa Karta Hai Jatak Kahata Hai Kiska Spend Kiya Jaye To Sudhaar Kiya Jaye To Yeh Sab Group Kafi Zaroori Hai Na Itne Sare Group Mein Mujhe Lagta Hai Ki Jyada Important Jo Group Honge Unhin Mein Participate Karen Har Group Mein Ghusane Se Accha Yeh Hai Ki Aap Balti Samajhdar Hai To Sabse Best Cheez Milegi Ki Apne Bedrum Mein Sudhaar Tera Aur Baki Sare Group Ki Aakhon Se Dur Karen Thainkyu
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत का रिश्ता कई देशों के साथ है भाई के जैसे लेकिन जहां तक बात करें तो जापान और रूस यह दो देश हैं जिनके साथ आज से नहीं पहले से ही यह रिश्ता कायम हुआ है और जापान का जहां तक बात करें वह हमेशा से भारत क...
जवाब पढ़िये
भारत का रिश्ता कई देशों के साथ है भाई के जैसे लेकिन जहां तक बात करें तो जापान और रूस यह दो देश हैं जिनके साथ आज से नहीं पहले से ही यह रिश्ता कायम हुआ है और जापान का जहां तक बात करें वह हमेशा से भारत का सहयोग करता रहा है और रूस भी तू काफी ऐसे ही सहयोग करता रहा है और साथ में अगर अन्य देशों की बात किया जाए नेपाल भूटान और अन्य विदेश हैंBharat Ka Rishta Kai Deshon Ke Saath Hai Bhai Ke Jaise Lekin Jahan Tak Baat Karen To Japan Aur Rus Yeh Do Desh Hain Jinke Saath Aaj Se Nahi Pehle Se Hi Yeh Rishta Kayam Hua Hai Aur Japan Ka Jahan Tak Baat Karen Wah Hamesha Se Bharat Ka Sahyog Karta Raha Hai Aur Rus Bhi Tu Kafi Aise Hi Sahyog Karta Raha Hai Aur Saath Mein Agar Anya Deshon Ki Baat Kiya Jaye Nepal Bhutan Aur Anya Videsh Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह भारतीय कूटनीति का एक अच्छा उदाहरण है कि चीन के चीन में भारतीय राजदूत कह रहे हैं कि भारत और चीन प्रतिनिधि नहीं है साथ ही साथ चीन भी कभी स्पष्ट रूप से या नहीं कहेगा की मशीन जो है वह भारत के प्रथम अधि...
जवाब पढ़िये
यह भारतीय कूटनीति का एक अच्छा उदाहरण है कि चीन के चीन में भारतीय राजदूत कह रहे हैं कि भारत और चीन प्रतिनिधि नहीं है साथ ही साथ चीन भी कभी स्पष्ट रूप से या नहीं कहेगा की मशीन जो है वह भारत के प्रथम अधिकृत प्रतिनिधि है और भारत से हमेशा आगे निकलने की कोशिश करता रहता है अपने हितों की रक्षा के लिए चीन कुछ भी करेगा इस तरह के स्टेटमेंट जरूर आते हैं लेकिन कभी भी यह नहीं कहेगा कि हमें भारत से परेशानी है क्योंकि जो कि भारत उनका सबसे बड़ा मार्केट दुनिया में दूसरी बात यह है अगर भारत इस तरह से बिहेव नहीं करेगा तो भारत को भी कुछ एसेंशियल चीजें वहां से प्राप्त होती है जैसे कि फार्मिक दवाइयां जो दवाई यहां पर आपको यहां पर सरकारी महकमों सिंपल सा मार्केट है वहां पर दवाई खरीदने जाएंगे अगर वह चाइनीस नहीं होगी अगर सिंपल दवाई होगी यहां पर आपको ₹50 की मिलेगी लेकिन वह इंपोर्ट करने के बाद चाइनीस दवाइयां को ₹10 की पड़ती है तो इसमें कोई गलत नहीं है अगर चीन ने चीन की दवाई पर बैन लगा दिया तो दवाइयां भी आना बंद हो जाएंगी इसके अलावा टेक्सटाइल इंडस्ट्री पूरी की पूरी चाइना पर डिपेंडेंट है आपके घर में मार्बल लगते हैं 99% चांस है कि वह चाइना से आया हूं क्योंकि इंडिया कंपनी बनाती नहीं है मोनोपोली है चाइना से ही आती है मोबाइल फोन जो आप यूज़ कर रहे हैं 90 परसेंट चांस है को चाइनिज हो गया कोरियन हो तो हमारी कॉल मी फोन पर भेज दें और उनकी कॉल मी हमारे में भेज दें क्योंकि रोमन हमारी हंसी आता है तुम चाइना भारत पर चीन तो है लेकिन कह नहीं सकती देखी हमारी और आपकी समझदारी है कभी किसी का राष्ट्रपति ने कहा कि चाइनीज माल मत खरीदो या प्रधानमंत्री का एहसास मत खरीदो हमारी आपकी समझदारी है कि हमें कुछ समझता हूं कि हमें प्रायोरिटी 20 पर किस चीज को खरीदना है किसी को रिजल्ट करना है इसके लिए दंगे होंगे करने की आवश्यकता नहीं है या फिर कोई विरोध प्रश्न नहीं आ सकता नहीं आप खुद मत खरीदिए दूसरों को प्रेरित कीजिए क्या मैं चाइनीस बनाने चीज नहीं खरीदनी है चाइनीस मोबाइल नहीं खरीदनी चाहिए लैपटॉप खरीदनी है यह सुनकर ज्यादा मना पाया मैं दवाइयों खरीदनी है या हमें और चीजें खरीदनी लेकिन हम यह चीज नहीं खरीदेंगे जरूरी नहीं है थैंक यूYeh Bhartiya Kutneeti Ka Ek Accha Udaharan Hai Ki Chin Ke Chin Mein Bhartiya Rajdut Keh Rahe Hain Ki Bharat Aur Chin Pratinidhi Nahi Hai Saath Hi Saath Chin Bhi Kabhi Spasht Roop Se Ya Nahi Kahega Ki Machine Jo Hai Wah Bharat Ke Pratham Adhikrit Pratinidhi Hai Aur Bharat Se Hamesha Aage Nikalne Ki Koshish Karta Rehta Hai Apne Hiton Ki Raksha Ke Liye Chin Kuch Bhi Karega Is Tarah Ke Statement Jarur Aate Hain Lekin Kabhi Bhi Yeh Nahi Kahega Ki Hume Bharat Se Pareshani Hai Kyonki Jo Ki Bharat Unka Sabse Bada Market Duniya Mein Dusri Baat Yeh Hai Agar Bharat Is Tarah Se Behave Nahi Karega To Bharat Ko Bhi Kuch Iessential Cheezen Wahan Se Prapt Hoti Hai Jaise Ki Farmik Davaaiyaan Jo Dawai Yahan Par Aapko Yahan Par Sarkari Mahkamon Simple Sa Market Hai Wahan Par Dawai Kharidne Jaenge Agar Wah Chinese Nahi Hogi Agar Simple Dawai Hogi Yahan Par Aapko ₹50 Ki Milegi Lekin Wah Import Karne Ke Baad Chinese Davaaiyaan Ko ₹10 Ki Padhti Hai To Isme Koi Galat Nahi Hai Agar Chin Ne Chin Ki Dawai Par Ban Laga Diya To Davaaiyaan Bhi Aana Band Ho Jaengi Iske Alava Textile Industry Puri Ki Puri China Par Dependent Hai Aapke Ghar Mein Marble Lagte Hain 99% Chance Hai Ki Wah China Se Aaya Hoon Kyonki India Company Banati Nahi Hai Monopoly Hai China Se Hi Aati Hai Mobile Phone Jo Aap Use Kar Rahe Hain 90 Percent Chance Hai Ko Chinese Ho Gaya Corion Ho To Hamari Call Me Phone Par Bhej Dein Aur Unki Call Me Hamare Mein Bhej Dein Kyonki Roman Hamari Hansi Aata Hai Tum China Bharat Par Chin To Hai Lekin Keh Nahi Sakti Dekhi Hamari Aur Aapki Samajhadari Hai Kabhi Kisi Ka Rashtrapati Ne Kaha Ki Chainij Maal Mat Kharido Ya Pradhanmantri Ka Ehsaas Mat Kharido Hamari Aapki Samajhadari Hai Ki Hume Kuch Samajhata Hoon Ki Hume Priority 20 Par Kis Cheez Ko Kharidna Hai Kisi Ko Result Karna Hai Iske Liye Denge Honge Karne Ki Avashyakta Nahi Hai Ya Phir Koi Virodh Prashna Nahi Aa Sakta Nahi Aap Khud Mat Kharidiye Dusron Ko Prerit Kijiye Kya Main Chinese Banane Cheez Nahi Kharidani Hai Chinese Mobile Nahi Kharidani Chahiye Laptop Kharidani Hai Yeh Sunkar Jyada Mana Paya Main Dawaiyo Kharidani Hai Ya Hume Aur Cheezen Kharidani Lekin Hum Yeh Cheez Nahi Kharidenge Zaroori Nahi Hai Thank You
Likes  5  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पिछले कुछ समय से जिस प्रकार से पाकिस्तान से भारत में हो रही घुसपैठ चाहे वो सीजफायर का उल्लंघन हो चाहे वह सीमावर्ती क्षेत्रों में गोलीबारी हो पाकिस्तान है जिस प्रकार से भारत को हर प्रकार से नकरात्मक प्...
जवाब पढ़िये
पिछले कुछ समय से जिस प्रकार से पाकिस्तान से भारत में हो रही घुसपैठ चाहे वो सीजफायर का उल्लंघन हो चाहे वह सीमावर्ती क्षेत्रों में गोलीबारी हो पाकिस्तान है जिस प्रकार से भारत को हर प्रकार से नकरात्मक प्रकार से प्रभावित करने का प्रयास किया है उसके बाद यह संभव नहीं लगता निकटवर्ती भविष्य में कि भारत व पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज का आयोजन हो सके और विशेषकर तब जब ट्रंप सरकार द्वारा भी पाकिस्तान को उसके द्वारा प्रायोजित आतंकवाद के लिए कोसा गया है तथा उसको दिया जा रहे फंड पर रोक लगाने के बाद बार बार ट्रंप सरकार कर रही है वह कुलभूषण जादव जी के मामले को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत में उठाया गाउन को दी गई फांसी की सजा पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय द्वारा रोक लगाई गई है उसके बाद से असंभव नहीं लगता कि भारत एक तरफ से दोस्त और एक तरफ तो दुश्मन होने का कर्तव्य का निर्वहन करें इसलिए मैं नहीं मानता हूं कि आने वाले भविष्य में भारत और पाकिस्तान के बीच हो रहे जो व्यापारिक अंतरराष्ट्रीय कूटनीतिक व अन्य संबंध है उसका किसी प्रकार से भी निर्माण हो सकेगा रही बात क्रिकेट की तो क्रिकेट खेलने के लिए और भी देश है तू कुल मिलाकर के 11:00 से 12 देश अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेलने की योग्य माने गए हैं तो पाकिस्तान को छोड़कर किसी भी प्रकार से हमें अन्य देशों के साथ बेहतर क्रिकेट के रिश्ते स्थापित करने की आवश्यकता है बजाय इसके कि हम पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेले और यह किसी भी प्रकार से न्यायोचित भी नहीं है देश के शहीदों के प्रति यह एक अपमान होगा यदि हम भारत और पाकिस्तान की द्विपक्षीय क्रिकेट जो श्री से उसका आयोजन करें उस में भाग लें धंयवादPichle Kuch Samay Se Jis Prakar Se Pakistan Se Bharat Mein Ho Rahi Ghuspaith Chahe Vo Ceasefire Ka Ullanghan Ho Chahe Wah Seemawarti Kshetro Mein Golibari Ho Pakistan Hai Jis Prakar Se Bharat Ko Har Prakar Se Nakaratmak Prakar Se Prabhavit Karne Ka Prayas Kiya Hai Uske Baad Yeh Sambhav Nahi Lagta Nikatvarti Bhavishya Mein Ki Bharat V Pakistan Ke Beech Dvipakshiye Cricket Series Ka Aayojan Ho Sake Aur Visheshkar Tab Jab Tramp Sarkar Dwara Bhi Pakistan Ko Uske Dwara Prayojeet Aatankwad Ke Liye Koshaa Gaya Hai Tatha Usko Diya Ja Rahe Fund Par Rok Lagane Ke Baad Baar Baar Tramp Sarkar Kar Rahi Hai Wah Kulbhushan Jadav Ji Ke Mamle Ko Antar Rashtriya Manch Par Bharat Mein Uthaya Gaun Ko Di Gayi Fansi Ki Saja Par Antararashtriya Nyayalaya Dwara Rok Lagai Gayi Hai Uske Baad Se Asambhav Nahi Lagta Ki Bharat Ek Taraf Se Dost Aur Ek Taraf To Dushman Hone Ka Kartavya Ka Nirvahan Karen Isliye Main Nahi Manata Hoon Ki Aane Wale Bhavishya Mein Bharat Aur Pakistan Ke Beech Ho Rahe Jo Vyaparik Antararashtriya Kutanitik V Anya Sambandh Hai Uska Kisi Prakar Se Bhi Nirman Ho Sakega Rahi Baat Cricket Ki To Cricket Khelne Ke Liye Aur Bhi Desh Hai Tu Kul Milakar Ke 11:00 Se 12 Desh Antar Rashtriya Sthar Par Cricket Khelne Ki Yogya Mane Gaye Hain To Pakistan Ko Chodkar Kisi Bhi Prakar Se Hume Anya Deshon Ke Saath Behtar Cricket Ke Rishte Sthapit Karne Ki Avashyakta Hai Bajay Iske Ki Hum Pakistan Ke Saath Cricket Khele Aur Yeh Kisi Bhi Prakar Se Nyayochit Bhi Nahi Hai Desh Ke Shahido Ke Prati Yeh Ek Apman Hoga Yadi Hum Bharat Aur Pakistan Ki Dvipakshiye Cricket Jo Shri Se Uska Aayojan Karen Us Mein Bhag Lein Dhanyvad
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज ईद के जैसे पाकिस्तान जो है वह आतंकवादियों को सपोर्ट करता है और आतंकवादी गतिविधियों को जो है पनाह देता है अपने देश में तो ऐसा भी हो सकता है कि पाकिस्तान के जितने भी हत्यारे और रजिस्ट्री में पंचर टेक...
जवाब पढ़िये
आज ईद के जैसे पाकिस्तान जो है वह आतंकवादियों को सपोर्ट करता है और आतंकवादी गतिविधियों को जो है पनाह देता है अपने देश में तो ऐसा भी हो सकता है कि पाकिस्तान के जितने भी हत्यारे और रजिस्ट्री में पंचर टेक्नोलॉजी है वह आतंकवादियों को भेज दे और आतंकवादी को सपोर्ट करें ताकि में भारत के खिलाफ जो है वह अशांति फैला सके और उनके खिलाफ उसका क्याAaj Eid Ke Jaise Pakistan Jo Hai Wah Aatankwadion Ko Support Karta Hai Aur Aatankwadi Gatividhiyon Ko Jo Hai Panaah Deta Hai Apne Desh Mein To Aisa Bhi Ho Sakta Hai Ki Pakistan Ke Jitne Bhi Hatyare Aur Registry Mein Puncher Technology Hai Wah Aatankwadion Ko Bhej De Aur Aatankwadi Ko Support Karen Taki Mein Bharat Ke Khilaf Jo Hai Wah Ashanti Faila Sake Aur Unke Khilaf Uska Kya
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान में कोई चूड़ियां नहीं पहन रखी जो वह अपने आइटम बम नहीं छोड़ सकते लेकर पाकिस्तान तो है एक बार बाद दें जो कि कुछ नहीं जानता हूं न कुछ आता है लेकिन भारत एक शब्द है देश है और अगर आप भी समझी अगर ए...
जवाब पढ़िये
पाकिस्तान में कोई चूड़ियां नहीं पहन रखी जो वह अपने आइटम बम नहीं छोड़ सकते लेकर पाकिस्तान तो है एक बार बाद दें जो कि कुछ नहीं जानता हूं न कुछ आता है लेकिन भारत एक शब्द है देश है और अगर आप भी समझी अगर एक फ्लाई ओवर ब्रिज एक पानी का पेपर या डैम कुछ भी चीज बनती है तो कितने साल लग जाते से बनने में कितने मेहनत से बनता है वह और भारत कोई मिसाइल वाला को छोड़ेगा कुछ हमला करेगा तो पाकिस्तान तो पागल तैयार बैठा है और पूरी दुनिया में क्या देखा कि इंडिया ने पहले बोल स्टार्ट करें वह भी अपना वॉइस टाइप कर देगा और उसके अगर एक छोटी सी भी में शायरी इंडिया पर कितनी बड़ी से बड़ी बिल्डिंग दवा हो सकती है और वह तैयार होने में काफी टाइम लगाती है और फाइनेंसियल कंडीशन से इंडिया वर्सेस कमजोर रहते हैं मुझे लगता है कि इंडिया को कभी भी इस तरह से कोई फैसला लेना चाहिए क्योंकि पाकिस्तान तो तैयार बैठा है वह तो इराक और सीरिया जैसा देश बन गया हैPakistan Mein Koi Chudiyan Nahi Pahan Rakhi Jo Wah Apne Item Bomb Nahi Chod Sakte Lekar Pakistan To Hai Ek Baar Baad Dein Jo Ki Kuch Nahi Jaanta Hoon N Kuch Aata Hai Lekin Bharat Ek Shabdh Hai Desh Hai Aur Agar Aap Bhi Samjhi Agar Ek Fly Over Bridge Ek Pani Ka Paper Ya Dam Kuch Bhi Cheez Banti Hai To Kitne Saal Lag Jaate Se Banane Mein Kitne Mehnat Se Banta Hai Wah Aur Bharat Koi Missile Wala Ko Chodega Kuch Hamla Karega To Pakistan To Pagal Taiyaar Baitha Hai Aur Puri Duniya Mein Kya Dekha Ki India Ne Pehle Bol Start Karen Wah Bhi Apna Voice Type Kar Dega Aur Uske Agar Ek Choti Si Bhi Mein Shaayari India Par Kitni Badi Se Badi Building Dawa Ho Sakti Hai Aur Wah Taiyaar Hone Mein Kafi Time Lagati Hai Aur Financial Condition Se India Vs Kamjor Rehte Hain Mujhe Lagta Hai Ki India Ko Kabhi Bhi Is Tarah Se Koi Faisla Lena Chahiye Kyonki Pakistan To Taiyaar Baitha Hai Wah To Iraq Aur Syria Jaisa Desh Ban Gaya Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान बनने की जरूरत थी इसलिए थी कि जब देश आजाद हुआ उसके तुरंत बाद मोहम्मद अली जिन्ना जो बड़े बहुत बड़े नेता थे भारत है और जवाहरलाल नेहरू तो दोनों ही तो बहुत बड़े नेता थे लेकिन कांग्रेस पार्टी बहुत...
जवाब पढ़िये
पाकिस्तान बनने की जरूरत थी इसलिए थी कि जब देश आजाद हुआ उसके तुरंत बाद मोहम्मद अली जिन्ना जो बड़े बहुत बड़े नेता थे भारत है और जवाहरलाल नेहरू तो दोनों ही तो बहुत बड़े नेता थे लेकिन कांग्रेस पार्टी बहुत ज्यादा बहुमत से जीती जिसमें जो लाल नेहरु टीम की आंखें बंद कर दी मोहम्मद जिन्ना ने कहा कि हम दोनों मिलकर सरकार चला सकते हैं जो तुमने दिया जाए पूरा भारत जय हो कांग्रेस कमा ले लेकिन घमंड में चूर जो हमारे देश के पहले प्रधानमंत्री बने थे तो हिंदी के तो उन्होंने मना कर दिया और उस मना करने के कारण जुदा हो गया मोहम्मद अली जिन्ना का और तब अंग्रेजी सरकार ने भारत में बस अपना ख्याल बीयर बीयर बनाने की मांग की इसके लिए मना कर दिया जवाहरलाल नेहरू ने और फिर उन्होंने वहां को अप्रोच किया मोहम्मद अली जिन्ना को और मोहम्मद अली जिन्ना को कहा कि अगर हम आपको दिलवा देते तो क्या आप हमें क्या बनाने का जगह या फिर बनाने की इजाजत मांगे से बांग्लादेश हुआ भारत हुआ फिर नेपाल हुआ और उसके बाद पाकिस्तान हुआPakistan Banane Ki Zaroorat Thi Isliye Thi Ki Jab Desh Azad Hua Uske Turant Baad Mohammed Ali Jinna Jo Bade Bahut Bade Neta The Bharat Hai Aur Jawaharlal Nehru To Dono Hi To Bahut Bade Neta The Lekin Congress Party Bahut Jyada Bahumat Se Jeeti Jisme Jo Lal Nehru Team Ki Aankhen Band Kar Di Mohammed Jinna Ne Kaha Ki Hum Dono Milkar Sarkar Chala Sakte Hain Jo Tumne Diya Jaye Pura Bharat Jai Ho Congress Kama Le Lekin Ghamand Mein Choor Jo Hamare Desh Ke Pehle Pradhanmantri Bane The To Hindi Ke To Unhone Mana Kar Diya Aur Us Mana Karne Ke Kaaran Juda Ho Gaya Mohammed Ali Jinna Ka Aur Tab Angrezi Sarkar Ne Bharat Mein Bus Apna Khayal Beeyar Beeyar Banane Ki Maang Ki Iske Liye Mana Kar Diya Jawaharlal Nehru Ne Aur Phir Unhone Wahan Ko Approach Kiya Mohammed Ali Jinna Ko Aur Mohammed Ali Jinna Ko Kaha Ki Agar Hum Aapko Dilwa Dete To Kya Aap Hume Kya Banane Ka Jagah Ya Phir Banane Ki Ijajat Mange Se Bangladesh Hua Bharat Hua Phir Nepal Hua Aur Uske Baad Pakistan Hua
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देख पाकिस्तान जो है वह लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है और भारत पर लगातार हमले कर रहा हूं के सैनिकों पर बॉर्डर पर जितने भी सीमा पर रहने रहने वाले लोग हैं उन्हें भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता रा...
जवाब पढ़िये
देख पाकिस्तान जो है वह लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है और भारत पर लगातार हमले कर रहा हूं के सैनिकों पर बॉर्डर पर जितने भी सीमा पर रहने रहने वाले लोग हैं उन्हें भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता रात को चैन से सो नहीं पाई कभी भी होने लगती है सैनिक शहीद हो रहे लोग वहां पर घायल हो रहे हैं तो इसके लिए हमें जरूरी है कि हम सब खत्म हो जाएगी भाषणबाजी करने करने करने को सख्त कदम उठाने चाहिए सर्जिकल स्ट्राइक घर में घुस के मारा था उसी प्रकार से एलओसी पार करके तीन सैनिकों को मार रहा है जितना भी कारोबार हो रहा है पाकिस्तान को बंद कर देना चाहिए तुरंत प्रभाव से इतना भी इंपोर्ट एक्सपोर्ट हो रहा है जितनी भी चीजें भेजी जा रहे हैं आ रहे हो रही है तेजी से कारोबार बंद कर देना चाहिए हर हाल में होगी कोई ऐसा चीज़ कर रहा है मैं देश के साथ तो कोई ट्रीटी मौजूदा स्थिति में लागू नहीं रहनी चाहिए जब वह भी नहीं कर रहा है तो हमें नहीं करना चाहिए कि जैसे वह उनके लगातार हमें आतंकवादी हमले करने चाहिए यह हमारे हिसाब से सही नहीं है लेकिन वह नहीं समझ रहे आतंकियों का पाकिस्तान कनेक्शन लेना चाहिए और अपने और देशों को खिलाना चाहिए साथ लाना चाहिए अपने यूएन में यूनाइटेड नेशंस के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए और सबसे इंपोर्टेंट चीज़ अभी हाल ही में एलओसी पार करके जो मारा था उसके बावजूद उसके बाद उन्होंने फिर से हमला किया है तो वह लगातार मानने के लिए को जारी रखने आपने हमने उसके लिए सब ट्रैक्शन की जरूरत हैDekh Pakistan Jo Hai Wah Lagatar Ceasefire Ka Ullanghan Kar Raha Hai Aur Bharat Par Lagatar Hamle Kar Raha Hoon Ke Sainikon Par Border Par Jitne Bhi Seema Par Rehne Rehne Wale Log Hain Unhen Bhari Dikkaton Ka Samana Karna Padata Raat Ko Chain Se So Nahi Payi Kabhi Bhi Hone Lagti Hai Sainik Shahid Ho Rahe Log Wahan Par Ghaayal Ho Rahe Hain To Iske Liye Hume Zaroori Hai Ki Hum Sab Khatam Ho Jayegi Bhashanabaji Karne Karne Karne Ko Sakht Kadam Uthane Chahiye Surgical Strike Ghar Mein Ghus Ke Mara Tha Ussi Prakar Se Loc Par Karke Teen Sainikon Ko Maar Raha Hai Jitna Bhi Karobaar Ho Raha Hai Pakistan Ko Band Kar Dena Chahiye Turant Prabhav Se Itna Bhi Import Export Ho Raha Hai Jitni Bhi Cheezen Bheji Ja Rahe Hain Aa Rahe Ho Rahi Hai Teji Se Karobaar Band Kar Dena Chahiye Har Haal Mein Hogi Koi Aisa Cheese Kar Raha Hai Main Desh Ke Saath To Koi Treaty Maujuda Sthiti Mein Laagu Nahi Rahani Chahiye Jab Wah Bhi Nahi Kar Raha Hai To Hume Nahi Karna Chahiye Ki Jaise Wah Unke Lagatar Hume Aatankwadi Hamle Karne Chahiye Yeh Hamare Hisab Se Sahi Nahi Hai Lekin Wah Nahi Samajh Rahe Atankiyon Ka Pakistan Connection Lena Chahiye Aur Apne Aur Deshon Ko Khilana Chahiye Saath Lana Chahiye Apne Un Mein United Nations Ke Khilaf Aawaj Uthani Chahiye Aur Sabse Important Cheese Abhi Haal Hi Mein Loc Par Karke Jo Mara Tha Uske Bawajud Uske Baad Unhone Phir Se Hamla Kiya Hai To Wah Lagatar Manane Ke Liye Ko Jaari Rakhne Aapne Humne Uske Liye Sab Traction Ki Zaroorat Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon