tag_img

राय

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कांग्रेस ऐसा बोलता है उसको हम गलत नहीं बोल सकते हैं कारण अगर कल अब मोदी जी खुद है या BJP खुद विपक्ष में रहते तो वैसा ही बोलते हम लोगों को समझना चाहिए कि जो विपक्षी पार्टी होता है कि उस पार्टी का काम ही होता है कि कुछ ना कुछ उसमें गलत निकालना बोलना मैं मानता हूं कि वह प्रधान पिया मैं लोगों को रिस्पेक्ट करना चाहिए पर पार्टी जो बीजेपी अभी चल रहा है वह मोदी के वजह से ही चलता है कहीं भी छोटा भी इलेक्शन हो आदमी मतलब जानता है उसको मोदी के वजह से ही लाजमी है कांग्रेस से मोदी के नाम से ही अगर कुछ बोलेंगे या कुछ वह मतलब चाहेंगे कि ऐसा कुछ बोले कि मोदी का इमेज खराब हो दूसरी बात कि अब जो बहुत सारी बात है हम लोग को नहीं पता आजकल तो मोबाइल चलने लगा ज्यादा जियो आ गया फिर भी बहुत सारे प्रशन मतलब फोन यूज करने लगा है पहले इतना यूज़ भी नहीं करता था अभी जैसे कि आधार क्या बात हो गया जीएसटी के बाद 2 गया यह सब चलता था उसी के टाइम में जब वह कांग्रेस का सरकार था उस टाइम में मोदी साहब बहुत विरुद्ध विरोध किए थे कि नहीं यह जो आधार कार्ड लग रहा है
Romanized Version
कांग्रेस ऐसा बोलता है उसको हम गलत नहीं बोल सकते हैं कारण अगर कल अब मोदी जी खुद है या BJP खुद विपक्ष में रहते तो वैसा ही बोलते हम लोगों को समझना चाहिए कि जो विपक्षी पार्टी होता है कि उस पार्टी का काम ही होता है कि कुछ ना कुछ उसमें गलत निकालना बोलना मैं मानता हूं कि वह प्रधान पिया मैं लोगों को रिस्पेक्ट करना चाहिए पर पार्टी जो बीजेपी अभी चल रहा है वह मोदी के वजह से ही चलता है कहीं भी छोटा भी इलेक्शन हो आदमी मतलब जानता है उसको मोदी के वजह से ही लाजमी है कांग्रेस से मोदी के नाम से ही अगर कुछ बोलेंगे या कुछ वह मतलब चाहेंगे कि ऐसा कुछ बोले कि मोदी का इमेज खराब हो दूसरी बात कि अब जो बहुत सारी बात है हम लोग को नहीं पता आजकल तो मोबाइल चलने लगा ज्यादा जियो आ गया फिर भी बहुत सारे प्रशन मतलब फोन यूज करने लगा है पहले इतना यूज़ भी नहीं करता था अभी जैसे कि आधार क्या बात हो गया जीएसटी के बाद 2 गया यह सब चलता था उसी के टाइम में जब वह कांग्रेस का सरकार था उस टाइम में मोदी साहब बहुत विरुद्ध विरोध किए थे कि नहीं यह जो आधार कार्ड लग रहा हैCongress Aisa Bolta Hai Usko Hum Galat Nahi Bol Sakte Hain Kaaran Agar Kal Ab Modi Ji Khud Hai Ya BJP Khud Vipaksh Mein Rehte To Waisa Hi Bolte Hum Logon Ko Samajhna Chahiye Ki Jo Vipakshi Party Hota Hai Ki Us Party Ka Kaam Hi Hota Hai Ki Kuch Na Kuch Usamen Galat Nikalna Bolna Main Manata Hoon Ki Wah Pradhan Piya Main Logon Ko Respect Karna Chahiye Par Party Jo Bjp Abhi Chal Raha Hai Wah Modi Ke Wajah Se Hi Chalta Hai Kahin Bhi Chota Bhi Election Ho Aadmi Matlab Jaanta Hai Usko Modi Ke Wajah Se Hi Lajmi Hai Congress Se Modi Ke Naam Se Hi Agar Kuch Bolenge Ya Kuch Wah Matlab Chahenge Ki Aisa Kuch Bole Ki Modi Ka Image Kharab Ho Dusri Baat Ki Ab Jo Bahut Saree Baat Hai Hum Log Ko Nahi Pata Aajkal To Mobile Chalne Laga Jyada Jio Aa Gaya Phir Bhi Bahut Sare Prashan Matlab Phone Use Karne Laga Hai Pehle Itna Use Bhi Nahi Karta Tha Abhi Jaise Ki Aadhar Kya Baat Ho Gaya Gst Ke Baad 2 Gaya Yeh Sab Chalta Tha Ussi Ke Time Mein Jab Wah Congress Ka Sarkar Tha Us Time Mein Modi Sahab Bahut Viruddha Virodh Kiye The Ki Nahi Yeh Jo Aadhar Card Lag Raha Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो मोदी सरकार की नई योजना है नौकरी गंवा देने पर जो आर्थिक मदद था अगले बल्कि की जांच कराई जाएगी बहुत अच्छा निर्णय है बहुत अच्छा स्टेप लिया गया है गवर्नमेंट के द्वारा कही न कही हम जीपीएफ जीपीएफ ओल्डर है जो कि हमें उनसे ही मदद उस अकाउंट से ही में मदद मिलेगी जमीन पर परसेंट हर महीना देते हैं उसी के बदले हमें अगर नौकरी छूट जाने पर हर महीने कुछ ना कुछ आर्थिक सहायता मिलती रहेगी इसकी एक मैं यह तो नहीं बोलूंगा कि एक बहुत बड़ा सपोर्ट मिल जा रहा है लेकिन हां लेकिन हम मुसीबत के समय जब आपकी का मासिक वेतन एकदम बंद है उस समय थोड़ी सी भी आर्थिक सहायता कर आपको मिल रही है सरकार की तरफ से दिए गए नए पॉलिसी के अनुसार तू मेरा मानना है कि बहुत ही बड़ी बात है क्योंकि सूरत के समय शायद थोड़ा रुपया भी बहुत ज्यादा लगता है तो डेफिनटली बहुत अच्छी पॉलिसी है बहुत अच्छी स्कीम लाई गई है प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना किया लेकिन मेरा मानना है देश में इसका लाभ सभी मशीन क्लास को होगा
Romanized Version
जो मोदी सरकार की नई योजना है नौकरी गंवा देने पर जो आर्थिक मदद था अगले बल्कि की जांच कराई जाएगी बहुत अच्छा निर्णय है बहुत अच्छा स्टेप लिया गया है गवर्नमेंट के द्वारा कही न कही हम जीपीएफ जीपीएफ ओल्डर है जो कि हमें उनसे ही मदद उस अकाउंट से ही में मदद मिलेगी जमीन पर परसेंट हर महीना देते हैं उसी के बदले हमें अगर नौकरी छूट जाने पर हर महीने कुछ ना कुछ आर्थिक सहायता मिलती रहेगी इसकी एक मैं यह तो नहीं बोलूंगा कि एक बहुत बड़ा सपोर्ट मिल जा रहा है लेकिन हां लेकिन हम मुसीबत के समय जब आपकी का मासिक वेतन एकदम बंद है उस समय थोड़ी सी भी आर्थिक सहायता कर आपको मिल रही है सरकार की तरफ से दिए गए नए पॉलिसी के अनुसार तू मेरा मानना है कि बहुत ही बड़ी बात है क्योंकि सूरत के समय शायद थोड़ा रुपया भी बहुत ज्यादा लगता है तो डेफिनटली बहुत अच्छी पॉलिसी है बहुत अच्छी स्कीम लाई गई है प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना किया लेकिन मेरा मानना है देश में इसका लाभ सभी मशीन क्लास को होगाJo Modi Sarkar Ki Nayi Yojana Hai Naukri Ganva Dene Par Jo Aarthik Madad Tha Agle Balki Ki Janch Karai Jayegi Bahut Accha Nirnay Hai Bahut Accha Step Liya Gaya Hai Government Ke Dwara Kahi N Kahi Hum GPF GPF Older Hai Jo Ki Hume Unse Hi Madad Us Account Se Hi Mein Madad Milegi Jameen Par Percent Har Mahina Dete Hain Ussi Ke Badle Hume Agar Naukri Chhut Jaane Par Har Mahine Kuch Na Kuch Aarthik Sahaayata Milti Rahegi Iski Ek Main Yeh To Nahi Boloonga Ki Ek Bahut Bada Support Mil Ja Raha Hai Lekin Haan Lekin Hum Musibat Ke Samay Jab Aapki Ka Maasik Vetan Ekdam Band Hai Us Samay Thodi Si Bhi Aarthik Sahaayata Kar Aapko Mil Rahi Hai Sarkar Ki Taraf Se Diye Gaye Naye Policy Ke Anusar Tu Mera Manana Hai Ki Bahut Hi Badi Baat Hai Kyonki Surat Ke Samay Shayad Thoda Rupya Bhi Bahut Zyada Lagta Hai To Definatali Bahut Acchi Policy Hai Bahut Acchi Scheme Lai Gayi Hai Pradhanmantri Rojgar Protsahan Yojana Kiya Lekin Mera Manana Hai Desh Mein Iska Labh Sabhi Machine Class Ko Hoga
Likes  68  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक राष्ट्रीय संस्था है मुझे r.s.s. पसंद है मैं उनका समर्थन करता हूं लेकिन केवल एक बात से असहमत हो है उनका कहना कि भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए मेरी राय में इससे भारत के टुकड़े हो जाएंगे बाकी हर बात
Romanized Version
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक राष्ट्रीय संस्था है मुझे r.s.s. पसंद है मैं उनका समर्थन करता हूं लेकिन केवल एक बात से असहमत हो है उनका कहना कि भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए मेरी राय में इससे भारत के टुकड़े हो जाएंगे बाकी हर बातRashtriya Swayansevak Sangh Ek Rashtriya Sanstha Hai Mujhe R.s.s. Pasad Hai Main Unka Samarthn Karata Hoon Lekin Keval Ek Baat Se Asahamat Ho Hai Unka Kahuna Qi Bharat Co Ek Hindu Rashtra Ghosit Kiya Jae Meri Ray Mein Issase Bharat K Tukde Ho Jaenge Baaki Her Baat
Likes  63  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह जो भारत के अंदर जो जाति व्यवस्था है इसको आज की राजनीति पार्टी में नहीं बनाया हुआ है यह जो जाति की व्यवस्था है यह हजारों साल से चली आ रही है और राजनीतिक पार्टियों का जो रोल है मुख्य तौर से यह है कि उन्होंने इस जाति व्यवस्था को कम करने की बजाय इस को और बढ़ाया है ताकि वह लोगों को टुकड़ों टुकड़ों में डिवाइड करके उनके वोट को पा सके इसलिए हम राजनीतिक पार्टियों को इसके लिए हम जिम्मेदार कर सकते हैं लेकिन जो जातियां हैं उन्हें पहले से बहुत ज्यादा आपस में कौन सी फैक्ट्री है उनके बीच में काम के हिसाब से डिवीजन रहा है अगर आप किसी गांव में जाएं और अगर आप पुराने किसी व्यक्ति से बात करें तो पाएंगे कि गुजराती आपस में बिल्कुल इंटरेस्ट नहीं करती थी और सब अलग-अलग समाज में रहते थे और एक दूसरे के घर आना जाना नहीं होता अब अगर आप देखेंगे तो जब लोग वहीं शहर के अंदर आ जाते हैं तो कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आपका पड़ोसी कौन सी जाति का है आप उसे आसानी से मिलते हैं तो मैं यह समझता हूं कि धीरे-धीरे करके यह जो जातियों का जो बंधन है और जातियों का जो महत्व है वह धीरे-धीरे कम हो रहा है और राजनीतिक पार्टियां नहीं चाहती कि यह काम ओके ओके अगर वह कब होगा तो उनके होश मिलना उनको मुश्किल हो जाएगा और लोग उनकी परफॉर्मेंस के ऊपर क्वेश्चन करने लगेंगे तो इस वजह से वह राजनीतिक पार्टियां एक नहीं होना चाहती इस देश के सारे जातियों को
Romanized Version
देखिए यह जो भारत के अंदर जो जाति व्यवस्था है इसको आज की राजनीति पार्टी में नहीं बनाया हुआ है यह जो जाति की व्यवस्था है यह हजारों साल से चली आ रही है और राजनीतिक पार्टियों का जो रोल है मुख्य तौर से यह है कि उन्होंने इस जाति व्यवस्था को कम करने की बजाय इस को और बढ़ाया है ताकि वह लोगों को टुकड़ों टुकड़ों में डिवाइड करके उनके वोट को पा सके इसलिए हम राजनीतिक पार्टियों को इसके लिए हम जिम्मेदार कर सकते हैं लेकिन जो जातियां हैं उन्हें पहले से बहुत ज्यादा आपस में कौन सी फैक्ट्री है उनके बीच में काम के हिसाब से डिवीजन रहा है अगर आप किसी गांव में जाएं और अगर आप पुराने किसी व्यक्ति से बात करें तो पाएंगे कि गुजराती आपस में बिल्कुल इंटरेस्ट नहीं करती थी और सब अलग-अलग समाज में रहते थे और एक दूसरे के घर आना जाना नहीं होता अब अगर आप देखेंगे तो जब लोग वहीं शहर के अंदर आ जाते हैं तो कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आपका पड़ोसी कौन सी जाति का है आप उसे आसानी से मिलते हैं तो मैं यह समझता हूं कि धीरे-धीरे करके यह जो जातियों का जो बंधन है और जातियों का जो महत्व है वह धीरे-धीरे कम हो रहा है और राजनीतिक पार्टियां नहीं चाहती कि यह काम ओके ओके अगर वह कब होगा तो उनके होश मिलना उनको मुश्किल हो जाएगा और लोग उनकी परफॉर्मेंस के ऊपर क्वेश्चन करने लगेंगे तो इस वजह से वह राजनीतिक पार्टियां एक नहीं होना चाहती इस देश के सारे जातियों कोDekhie Yeh Jo Bharat Ke Andar Jo Jati Vyavastha Hai Isko Aaj Ki Rajneeti Party Mein Nahi Banaya Hua Hai Yeh Jo Jati Ki Vyavastha Hai Yeh Hajaron Saal Se Chali Aa Rahi Hai Aur Raajnitik Partiyon Ka Jo Roll Hai Mukhya Taur Se Yeh Hai Ki Unhone Is Jati Vyavastha Ko Kam Karne Ki Bajay Is Ko Aur Badhaya Hai Taki Wah Logon Ko Tukadon Tukadon Mein Divide Karke Unke Vote Ko Pa Sake Isliye Hum Raajnitik Partiyon Ko Iske Liye Hum Zimmedar Kar Sakte Hain Lekin Jo Jatiyaan Hain Unhen Pehle Se Bahut Zyada Aapas Mein Kaon Si Factory Hai Unke Bich Mein Kaam Ke Hisab Se Division Raha Hai Agar Aap Kisi Gav Mein Jayen Aur Agar Aap Purane Kisi Vyakti Se Baat Karen To Payenge Ki Gujarati Aapas Mein Bilkul Interest Nahi Karti Thi Aur Sab Alag Alag Samaaj Mein Rehte The Aur Ek Dusre Ke Ghar Aana Jana Nahi Hota Ab Agar Aap Dekhenge To Jab Log Wahin Sheher Ke Andar Aa Jaate Hain To Koi Fark Nahi Padata Hai Ki Aapka Padoshi Kaon Si Jati Ka Hai Aap Use Aasani Se Milte Hain To Main Yeh Samajhata Hoon Ki Dhire Dhire Karke Yeh Jo Jaatiyo Ka Jo Badhan Hai Aur Jaatiyo Ka Jo Mahatva Hai Wah Dhire Dhire Kam Ho Raha Hai Aur Raajnitik Partyian Nahi Chahti Ki Yeh Kaam Ok Ok Agar Wah Kab Hoga To Unke Hosh Milna Unko Mushkil Ho Jayega Aur Log Unki Performance Ke Upar Question Karne Lagenge To Is Wajah Se Wah Raajnitik Partyian Ek Nahi Hona Chahti Is Desh Ke Sare Jaatiyo Ko
Likes  25  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस सवाल का जवाब अगर हम मैं अपनी मैं अपनी भाषा में खेलना चाहती हूं तो पहली बात है राहुल गांधी जो बात करते हैं ऐसा बात करते हैं कि जैसे जो एक सिक्स स्टैंडर्ड एयरफोर्स लड़की जो बच्चे बात करते हैं ऐसे बात करते हैं तो जब वह ऐसे एक स्टेटमेंट दे रे मेरे ख्याल से पूरी बारात उनकी वाइफ उनकी जो बातों को बिल्कुल ध्यान में नहीं लेंगे सीरियसली नहीं पहली बात है राहुल गांधी की बातों को कोई भी सीरियसली ले भी नहीं सकते उनको इतना भी यह मतलब एक किस्सी यह नहीं है कि वह बाहर देश में जाकर भारत के बारे में बात करते हैं वह भी नेगेटिव लिए शोभा नहीं देता है और राहुल गांधी को पहली बात है उनको थोड़ा बहुत भारत के बारे में पता होना चाहिए जो हिस्ट्री है जो भी मतलब कल चला स्पिट्ज है और बाद में उनको मेरे ख्याल से किसी भी बात पर मतलब एक स्टेटमेंट देना चाहिए 11 बच्चे जो मतलब बिना सोचे समझे बातें करते हैं ना जून में मैच्योरिटी नहीं होती है राहुल गांधी की बातें भी बिल्कुल ऐसी है मेरे ख्याल से कोई भी उनकी बातों को कभी सीरियसली नहीं लेंगे और लेना भी नहीं चाहिए
Romanized Version
इस सवाल का जवाब अगर हम मैं अपनी मैं अपनी भाषा में खेलना चाहती हूं तो पहली बात है राहुल गांधी जो बात करते हैं ऐसा बात करते हैं कि जैसे जो एक सिक्स स्टैंडर्ड एयरफोर्स लड़की जो बच्चे बात करते हैं ऐसे बात करते हैं तो जब वह ऐसे एक स्टेटमेंट दे रे मेरे ख्याल से पूरी बारात उनकी वाइफ उनकी जो बातों को बिल्कुल ध्यान में नहीं लेंगे सीरियसली नहीं पहली बात है राहुल गांधी की बातों को कोई भी सीरियसली ले भी नहीं सकते उनको इतना भी यह मतलब एक किस्सी यह नहीं है कि वह बाहर देश में जाकर भारत के बारे में बात करते हैं वह भी नेगेटिव लिए शोभा नहीं देता है और राहुल गांधी को पहली बात है उनको थोड़ा बहुत भारत के बारे में पता होना चाहिए जो हिस्ट्री है जो भी मतलब कल चला स्पिट्ज है और बाद में उनको मेरे ख्याल से किसी भी बात पर मतलब एक स्टेटमेंट देना चाहिए 11 बच्चे जो मतलब बिना सोचे समझे बातें करते हैं ना जून में मैच्योरिटी नहीं होती है राहुल गांधी की बातें भी बिल्कुल ऐसी है मेरे ख्याल से कोई भी उनकी बातों को कभी सीरियसली नहीं लेंगे और लेना भी नहीं चाहिएIs Sawal Ka Jawab Agar Hum Main Apni Main Apni Bhasha Mein Khelnaa Chahti Hoon To Pehli Baat Hai Rahul Gandhi Joe Baat Karte Hain Aisa Baat Karte Hain Qi Jaise Joe Ek Six Standard Airforce Ladaki Joe Bacche Baat Karte Hain Aise Baat Karte Hain To Jab Wah Aise Ek Statement They Ray Mere Khyala Se Poori Baarat Unki Wife Unki Joe Baaton Co Bilkool Dhyan Mein Nahin Lengey Siriyasali Nahin Pehli Baat Hai Rahul Gandhi Ki Baaton Co Koi Bhi Siriyasali Le Bhi Nahin Sakte Unko Itna Bhi Yeh Matlab Ek Kissi Yeh Nahin Hai Qi Wah Baahar Desh Mein Jaakar Bharat K Baare Mein Baat Karte Hain Wah Bhi Negetiv Lie Shobha Nahin Deta Hai Aur Rahul Gandhi Co Pehli Baat Hai Unko Thoda Bahut Bharat K Baare Mein Patta Hona Chahie Joe Histri Hai Joe Bhi Matlab Kal Challa Spitz Hai Aur Baad Mein Unko Mere Khyala Se Kisi Bhi Baat Per Matlab Ek Statement Dena Chahie 11 Bacche Joe Matlab Binaa Soche Smjhe Batein Karte Hain Na Jun Mein Maichyoriti Nahin Hoti Hai Rahul Gandhi Ki Batein Bhi Bilkool Aisi Hai Mere Khyala Se Koi Bhi Unki Baaton Co Kabhi Siriyasali Nahin Lengey Aur Lena Bhi Nahin Chahie
Likes  94  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब एक बार सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिपल तलाक को अवैध डिक्लेयर कर दिया है तो उसके बाद में मैं समझता हूं कि भारत सरकार द्वारा कोई भी कानून बनाना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर कोई भी अवैध काम है तो सफ़ेद काम को कर रही है कोई न कोई सजा तो होनी ही चाहिए और भाई जी मामला कानून की किताबों में रह जाएगा जो मुस्लिम बोर्ड का जो दावा है कि जो इस ट्रिपल तलाक है अगर वह गैरकानूनी है तो उस पर अमल नहीं होना चाहिए वह सही नहीं है क्योंकि अगर मान लिया कि किसी व्यक्ति ने अपनी पत्नी को यह ट्रिपल तलाक दे दिया देख साथी तो अगर वह सोसाइटी जो हां की है उसने यह मामला चला जाता है कि उसको जाए समझती है कि नहीं जाया समझती है उसके बारे में दहेज देना है वह सोसाइटी को समझती है उसको उचित है कि नहीं है अगर आप उसके निर्णय पर छोड़ने वाली कहने की दहेज इल्लीगल है तो उसे कोई फायदा नहीं होगा जब तक कि आप दहेज के खिलाफ में कोई कानून ना बनाएं ताकि अगर कोई व्यक्ति दहेज मांगता है जबरदस्ती तो उसके खिलाफ में एक्शन लिया जा सके तो कोई भी व्यक्ति ट्रिपल तलाक दे रहा है तो उसके खिलाफ एक्शन होना चाहिए और इस विचार से मेरे ख्याल से जो भारत सरकार कानून लाने जा रही हो बिल्कुल उचित है और इसका हमें सम्मान करना चाहिए
Romanized Version
जब एक बार सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिपल तलाक को अवैध डिक्लेयर कर दिया है तो उसके बाद में मैं समझता हूं कि भारत सरकार द्वारा कोई भी कानून बनाना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर कोई भी अवैध काम है तो सफ़ेद काम को कर रही है कोई न कोई सजा तो होनी ही चाहिए और भाई जी मामला कानून की किताबों में रह जाएगा जो मुस्लिम बोर्ड का जो दावा है कि जो इस ट्रिपल तलाक है अगर वह गैरकानूनी है तो उस पर अमल नहीं होना चाहिए वह सही नहीं है क्योंकि अगर मान लिया कि किसी व्यक्ति ने अपनी पत्नी को यह ट्रिपल तलाक दे दिया देख साथी तो अगर वह सोसाइटी जो हां की है उसने यह मामला चला जाता है कि उसको जाए समझती है कि नहीं जाया समझती है उसके बारे में दहेज देना है वह सोसाइटी को समझती है उसको उचित है कि नहीं है अगर आप उसके निर्णय पर छोड़ने वाली कहने की दहेज इल्लीगल है तो उसे कोई फायदा नहीं होगा जब तक कि आप दहेज के खिलाफ में कोई कानून ना बनाएं ताकि अगर कोई व्यक्ति दहेज मांगता है जबरदस्ती तो उसके खिलाफ में एक्शन लिया जा सके तो कोई भी व्यक्ति ट्रिपल तलाक दे रहा है तो उसके खिलाफ एक्शन होना चाहिए और इस विचार से मेरे ख्याल से जो भारत सरकार कानून लाने जा रही हो बिल्कुल उचित है और इसका हमें सम्मान करना चाहिएJab Ek Bar SUPREME Court Ne Triple Talak Co Awaidh Dikleyar Car Diya Hai To Uske Baad Mein Main Samajhataa Hoon Qi Bharat Sarkar Dwara Koi Bhi Kanun Banana Bahut Zaroori Hai Kyonki Agar Koi Bhi Awaidh Kama Hai To Safed Kama Co Car Rahi Hai Koi Na Koi Saja To Honi Hea Chahie Aur Bhai G Mamla Kanun Ki Kitabon Mein Rah Jaaegaa Joe Muslim Board Ka Joe Daava Hai Qi Joe Is Triple Talak Hai Agar Wah Gairkanuni Hai To Oosh Per Amal Nahin Hona Chahie Wah Sahi Nahin Hai Kyonki Agar Maan Liya Qi Kisi Vyakti Ne Apni Patni Co Yeh Triple Talak They Diya Dekh Sathi To Agar Wah Society Joe Han Ki Hai Usne Yeh Mamla Challa Jaata Hai Qi Usko Jae Samjhti Hai Qi Nahin Jaya Samjhti Hai Uske Baare Mein Dahej Dena Hai Wah Society Co Samjhti Hai Usko Uchit Hai Qi Nahin Hai Agar Aap Uske Nirnay Per Chodne Wali Kahane Ki Dahej Illegal Hai To Usse Koi Fayda Nahin Hoga Jab Tak Qi Aap Dahej K Khilaf Mein Koi Kanun Na Banaen Taki Agar Koi Vyakti Dahej Mangata Hai Jabardasti To Uske Khilaf Mein Action Liya Ja Skye To Koi Bhi Vyakti Triple Talak They Raha Hai To Uske Khilaf Action Hona Chahie Aur Is Vichaar Se Mere Khyala Se Joe Bharat Sarkar Kanun Lane Ja Rahi Ho Bilkool Uchit Hai Aur Iska Human Samman Krna Chahie
Likes  25  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह केहना बिल्कुल भी उचित नहीं है कि गुजरात में कांग्रेस की हार हुई है | बल्कि यह कहना ज्यादा उचित है कि पिछले २०,२२ सालों में कांग्रेस ने अपनी सबसे बेहतरीन परफॉर्मेंस गुजरात में दी है, और इसके बावजूद कि श्री नरेंद्र मोदी जी जो पहले गुजरात के मुख्यमंत्री हुआ करते थे, आज वह भारत के प्रधानमंत्री हैं| और उन्होंने पूरी ताकत के साथ में इसका प्रचार किया और उन्होंने अपनी किसी शक्ति हर शक्ति को इस्तेमाल किया और उसके बावजूद अगर कांग्रेस 80 सीट लेकर के आती है,तो मैं समझता हूं कि कांग्रेस की बहुत बड़ी विजय है और उन्होंने इसमें कोई दो राय नहीं है कि बीजेपी को और नरेंद्र मोदी को संकट में डाल दिया था और उन लोगों को भी ऐसा लगने लगा था कि शायद वो इलेक्शन हार जाए, तो मैं समझता हूं कि यह कांग्रेस की बहुत बड़ी कामयाबी है,जिस तरीके से उन्होंने गुजरात में प्रदर्शन किया है और इसको कांग्रेस की हार कतई नहीं मानना चाहिए |
Romanized Version
यह केहना बिल्कुल भी उचित नहीं है कि गुजरात में कांग्रेस की हार हुई है | बल्कि यह कहना ज्यादा उचित है कि पिछले २०,२२ सालों में कांग्रेस ने अपनी सबसे बेहतरीन परफॉर्मेंस गुजरात में दी है, और इसके बावजूद कि श्री नरेंद्र मोदी जी जो पहले गुजरात के मुख्यमंत्री हुआ करते थे, आज वह भारत के प्रधानमंत्री हैं| और उन्होंने पूरी ताकत के साथ में इसका प्रचार किया और उन्होंने अपनी किसी शक्ति हर शक्ति को इस्तेमाल किया और उसके बावजूद अगर कांग्रेस 80 सीट लेकर के आती है,तो मैं समझता हूं कि कांग्रेस की बहुत बड़ी विजय है और उन्होंने इसमें कोई दो राय नहीं है कि बीजेपी को और नरेंद्र मोदी को संकट में डाल दिया था और उन लोगों को भी ऐसा लगने लगा था कि शायद वो इलेक्शन हार जाए, तो मैं समझता हूं कि यह कांग्रेस की बहुत बड़ी कामयाबी है,जिस तरीके से उन्होंने गुजरात में प्रदर्शन किया है और इसको कांग्रेस की हार कतई नहीं मानना चाहिए |Yeh Kehna Bilkul Bhi Uchit Nahi Hai Ki Gujarat Mein Congress Ki Haar Hui Hai | Balki Yeh Kehna Jyada Uchit Hai Ki Pichle 20 22 Salon Mein Congress Ne Apni Sabse Behtareen Performance Gujarat Mein Di Hai Aur Iske Bawajud Ki Shri Narendra Modi Ji Jo Pehle Gujarat Ke Mukhyamantri Hua Karte The Aaj Wah Bharat Ke Pradhanmantri Hain Aur Unhone Puri Takat Ke Saath Mein Iska Prachar Kiya Aur Unhone Apni Kisi Shakti Har Shakti Ko Istemal Kiya Aur Uske Bawajud Agar Congress 80 Seat Lekar Ke Aati Hai To Main Samajhata Hoon Ki Congress Ki Bahut Badi Vijay Hai Aur Unhone Isme Koi Do Rai Nahi Hai Ki Bjp Ko Aur Narendra Modi Ko Sankat Mein Dal Diya Tha Aur Un Logon Ko Bhi Aisa Lagne Laga Tha Ki Shayad Vo Election Haar Jaye To Main Samajhata Hoon Ki Yeh Congress Ki Bahut Badi Kamyabi Hai Jis Tarike Se Unhone Gujarat Mein Pradarshan Kiya Hai Aur Isko Congress Ki Haar Qty Nahi Manana Chahiye |
Likes  16  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सही है कि जब से मोदी सरकार आई है उससे डीजल दामों में लगातार बढ़ोतरी जारी है और डीजल के अलावा पेट और रसोई ज्यादा मुंह में भी भारी इजाफा हुआ है तो मेरी राय इसके बारे में यही है कि मोदी सरकार को जल्द ही ऐसे ठोस कदम उठाने चाहिए जिससे डीजल और अन्य जरूरी चीजों के दामों में कटौती की जाए मोदी सरकार अगर जीएसटी के अंदर डीजल और पेट्रोल को लाती है तो संभवत है इन दोनों चीजों के में कटौती होगी क्योंकि अभी राज्य सरकारें डीजल और पेट्रोल पर ज्यादा टैक्स लगाती हैं जिसके वजह से पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार गिरावट जारी है लेकिन ऐसा पेट्रोल और डीजल के दामों में देखने को नहीं मिल रहा है तो मोदी सरकार अगर लोगों का भला करना चाहती है उन विषय में सोचती है और गंभीर है तो जल्द ही इसके विषय में उन्हें कुछ पॉलिसी लानी चाहिए जिससे डीजल के दामों में कटौती की जाए क्योंकि अगर डीजल के दाम बढ़ेंगे तो अन्य जो जरूरी चीजें हैं खाद्य पदार्थ है फल या सब्जियों हैं उनके दामों में भी इजाफा होगा क्योंकि डीजल गाड़ियों के माध्यम से ही फलों सब्जियों और अन्य पदार्थों को एक जगह से दूसरे जगह तक लाया और ले जाया जाता है क्योंकि जिन ट्रकों और ट्रेनों का इस्तेमाल किया जाता है वह डीजल से ही चलती हैं तो डीजल का और डायरेक्ट प्रभाव महंगाई पर पड़ता है तो सरकार को इस विषय में होने की आवश्यकता है और जल्द ही डीजल के दाम करने की जरूरत है
Romanized Version
यह बात बिल्कुल सही है कि जब से मोदी सरकार आई है उससे डीजल दामों में लगातार बढ़ोतरी जारी है और डीजल के अलावा पेट और रसोई ज्यादा मुंह में भी भारी इजाफा हुआ है तो मेरी राय इसके बारे में यही है कि मोदी सरकार को जल्द ही ऐसे ठोस कदम उठाने चाहिए जिससे डीजल और अन्य जरूरी चीजों के दामों में कटौती की जाए मोदी सरकार अगर जीएसटी के अंदर डीजल और पेट्रोल को लाती है तो संभवत है इन दोनों चीजों के में कटौती होगी क्योंकि अभी राज्य सरकारें डीजल और पेट्रोल पर ज्यादा टैक्स लगाती हैं जिसके वजह से पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार गिरावट जारी है लेकिन ऐसा पेट्रोल और डीजल के दामों में देखने को नहीं मिल रहा है तो मोदी सरकार अगर लोगों का भला करना चाहती है उन विषय में सोचती है और गंभीर है तो जल्द ही इसके विषय में उन्हें कुछ पॉलिसी लानी चाहिए जिससे डीजल के दामों में कटौती की जाए क्योंकि अगर डीजल के दाम बढ़ेंगे तो अन्य जो जरूरी चीजें हैं खाद्य पदार्थ है फल या सब्जियों हैं उनके दामों में भी इजाफा होगा क्योंकि डीजल गाड़ियों के माध्यम से ही फलों सब्जियों और अन्य पदार्थों को एक जगह से दूसरे जगह तक लाया और ले जाया जाता है क्योंकि जिन ट्रकों और ट्रेनों का इस्तेमाल किया जाता है वह डीजल से ही चलती हैं तो डीजल का और डायरेक्ट प्रभाव महंगाई पर पड़ता है तो सरकार को इस विषय में होने की आवश्यकता है और जल्द ही डीजल के दाम करने की जरूरत हैYeh Baat Bilkul Sahi Hai Ki Jab Se Modi Sarkar Eye Hai Usse Diesel Daamo Mein Lagatar Badhotari Jaari Hai Aur Diesel Ke Alava Pet Aur Rasoi Jyada Mooh Mein Bhi Bhari Ijafa Hua Hai To Meri Rai Iske Baare Mein Yahi Hai Ki Modi Sarkar Ko Jald Hi Aise Thos Kadam Uthane Chahiye Jisse Diesel Aur Anya Zaroori Chijon Ke Daamo Mein Katauti Ki Jaye Modi Sarkar Agar Gst Ke Andar Diesel Aur Petrol Ko Lati Hai To Sambhavat Hai In Dono Chijon Ke Mein Katauti Hogi Kyonki Abhi Rajya Sarkaren Diesel Aur Petrol Par Jyada Tax Lagati Hain Jiske Wajah Se Petrol Aur Diesel Ke Dam Lagatar Badhte Ja Rahe Hain Antar Rashtriya Bazar Mein Kacche Tel Ki Kimton Mein Lagatar Giravat Jaari Hai Lekin Aisa Petrol Aur Diesel Ke Daamo Mein Dekhne Ko Nahi Mil Raha Hai To Modi Sarkar Agar Logon Ka Bhala Karna Chahti Hai Un Vishay Mein Sochti Hai Aur Gambhir Hai To Jald Hi Iske Vishay Mein Unhen Kuch Policy Laani Chahiye Jisse Diesel Ke Daamo Mein Katauti Ki Jaye Kyonki Agar Diesel Ke Dam Badhenge To Anya Jo Zaroori Cheezen Hain Khadya Padarth Hai Fal Ya Sabjiyo Hain Unke Daamo Mein Bhi Ijafa Hoga Kyonki Diesel Gadiyon Ke Maadhyam Se Hi Faloon Sabjiyo Aur Anya Padarthon Ko Ek Jagah Se Dusre Jagah Tak Laya Aur Le Jaaya Jata Hai Kyonki Jin Truckon Aur Traino Ka Istemal Kiya Jata Hai Wah Diesel Se Hi Chalti Hain To Diesel Ka Aur Direct Prabhav Mahangai Par Padata Hai To Sarkar Ko Is Vishay Mein Hone Ki Avashyakta Hai Aur Jald Hi Diesel Ke Dam Karne Ki Zaroorat Hai
Likes  20  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं ऐसा तो कुछ नहीं की मदद से बेरोजगारी को बढ़ावा देना है वह अपनी अपनी व्यवस्था है कोई कैसे बनाता है यार कोई किस तरीके से करता है बाकी यह है कि यदि बच्चों को अच्छी इंग्लिश मीडियम सुविधा मिले अच्छे ऑनलाइन लेवल की पढ़ाई मिले अच्छा पहने अच्छे मतलब एक प्रोफेशनल तरीके से पढ़ेंगे तो शायद एक नेक्स्ट लेवल पढ़ाई हो सकती है जो कि मदरसे में या किसी गांव की स्कूल में नहीं मिल सकती तो स्कूल अच्छे होंगे तेरे बच्चे भी अच्छे पढ़ाई करेंगे तो मदरसे का लगने वाले गांव की स्कूल लगने वाला है और इंग्लिश मीडियम स्कूल है जो अच्छे बच्चे के स्कूल हैं अपने बच्चों को उन्होंने पढ़ाना चाहिए तो वह सबसे बेस्ट होता है मेरे हिसाब से तो बाकी बेरोजगारी को बढ़ावा देते
Romanized Version
नहीं ऐसा तो कुछ नहीं की मदद से बेरोजगारी को बढ़ावा देना है वह अपनी अपनी व्यवस्था है कोई कैसे बनाता है यार कोई किस तरीके से करता है बाकी यह है कि यदि बच्चों को अच्छी इंग्लिश मीडियम सुविधा मिले अच्छे ऑनलाइन लेवल की पढ़ाई मिले अच्छा पहने अच्छे मतलब एक प्रोफेशनल तरीके से पढ़ेंगे तो शायद एक नेक्स्ट लेवल पढ़ाई हो सकती है जो कि मदरसे में या किसी गांव की स्कूल में नहीं मिल सकती तो स्कूल अच्छे होंगे तेरे बच्चे भी अच्छे पढ़ाई करेंगे तो मदरसे का लगने वाले गांव की स्कूल लगने वाला है और इंग्लिश मीडियम स्कूल है जो अच्छे बच्चे के स्कूल हैं अपने बच्चों को उन्होंने पढ़ाना चाहिए तो वह सबसे बेस्ट होता है मेरे हिसाब से तो बाकी बेरोजगारी को बढ़ावा देतेNahi Aisa To Kuch Nahi Ki Madad Se Berojgari Ko Badhawa Dena Hai Wah Apni Apni Vyavastha Hai Koi Kaise Banata Hai Yaar Koi Kis Tarike Se Karta Hai Baki Yeh Hai Ki Yadi Bacchon Ko Acchi English Medium Suvidha Mile Acche Online Level Ki Padhai Mile Accha Pahane Acche Matlab Ek Professional Tarike Se Padhenge To Shayad Ek Next Level Padhai Ho Sakti Hai Jo Ki Madarse Mein Ya Kisi Gav Ki School Mein Nahi Mil Sakti To School Acche Honge Tere Bacche Bhi Acche Padhai Karenge To Madarse Ka Lagne Wale Gav Ki School Lagne Wala Hai Aur English Medium School Hai Jo Acche Bacche Ke School Hain Apne Bacchon Ko Unhone Padhana Chahiye To Wah Sabse Best Hota Hai Mere Hisab Se To Baki Berojgari Ko Badhawa Dete
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विज्ञान का क्वेश्चन है कि हमारे देश में शौचालय कहां करना यह भी हमको सरकार बताती है तो देश का क्या होगा तो देखिए ऐसी बात बिल्कुल भी नहीं है कि सरकार आपको बताती है सरकार से फिर भी बता दे कि आपको शौचालय कहां नहीं करना है क्योंकि आज जो पुराना जो समय था उसमें यह था कि लोग खेतों में जाकर आशा करते थे या फिर जो है वह किसी बिल्डिंग के पास में करते थे तो यह सब झूठ है यह हमारे प्रदर पर पर्यावरण को दूषित ही करती है और यह बीमारियां फैल आती है तो इसी कारण सरकार ने स्ट्रिक्ट एक्शन शॉट आए हैं ऐसे टिप्स दिए हैं जिससे कि आज इस पर नियंत्रण पा सके और उसी के कारण जो है वह बीमारियां भी कम हुई है
Romanized Version
विज्ञान का क्वेश्चन है कि हमारे देश में शौचालय कहां करना यह भी हमको सरकार बताती है तो देश का क्या होगा तो देखिए ऐसी बात बिल्कुल भी नहीं है कि सरकार आपको बताती है सरकार से फिर भी बता दे कि आपको शौचालय कहां नहीं करना है क्योंकि आज जो पुराना जो समय था उसमें यह था कि लोग खेतों में जाकर आशा करते थे या फिर जो है वह किसी बिल्डिंग के पास में करते थे तो यह सब झूठ है यह हमारे प्रदर पर पर्यावरण को दूषित ही करती है और यह बीमारियां फैल आती है तो इसी कारण सरकार ने स्ट्रिक्ट एक्शन शॉट आए हैं ऐसे टिप्स दिए हैं जिससे कि आज इस पर नियंत्रण पा सके और उसी के कारण जो है वह बीमारियां भी कम हुई हैVigyan Ka Question Hai Qi Hamare Desh Mein Shauchalaya Kahan Krna Yeh Bhi Humko Sarkar Batati Hai To Desh Ka Kya Hoga To Dekhiye Aisi Baat Bilkool Bhi Nahin Hai Qi Sarkar Aapko Batati Hai Sarkar Se Phir Bhi Bata They Qi Aapko Shauchalaya Kahan Nahin Krna Hai Kyonki Aj Joe Purana Joe Samay Thaa Usme Yeh Thaa Qi Log Kheto Mein Jaakar Asha Karte The Ya Phir Joe Hai Wah Kisi Building K Pass Mein Karte The To Yeh Sub Jhuth Hai Yeh Hamare Pradar Per Paryavaran Co Dushit Hea Karti Hai Aur Yeh Bimariyan Fail Auti Hai To Isi Karan Sarkar Ne Strict Action Shot Ae Hain Aise Tips Die Hain Jisase Qi Aj Is Per Niyatran PA Skye Aur Ussi K Karan Joe Hai Wah Bimariyan Bhi Come Hue Hai
Likes  30  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हाल ही में संपन्न हुए आईपीएल ऑक्शन में कृष्णप्पा गौतम और ऐसे कई अन्य भारतीय खिलाड़ी जो कि अभी अनकैप्ड है और नेशनल टीम के लिए नहीं खेले हैं उन्होंने काफी अच्छा प्राइस अगेन किया इस बार यह सिर्फ इस वजह से है कि भारत में खेलों का महत्व बहुत बढ़ता जा रहा है भले ही वह क्रिकेट हो या और कोई खेल हर चीज में बहुत ही ज्यादा महत्व बढ़ता जा रहा है भारत में अलग-अलग लीग प्रीमियर बैडमिंटन लीग फुटबॉल लीग सारी लीग सब बहुत अच्छे स्तर पर शुरू हो चुकी हैं और भारत में खेलों को बहुत ही ऊंचा महत्व दिया जाने लगा है तुम मेरी राय में माता-पिता को अपने बच्चों को अगर किसी खेल में उनके बच्चे रुचि रखते हैं तो जरूर हम को बढ़ावा देना चाहिए और उनको अपना कैरियर बनाने का एक मौका जरूर दिया जाना चाहिए
Romanized Version
देखिए हाल ही में संपन्न हुए आईपीएल ऑक्शन में कृष्णप्पा गौतम और ऐसे कई अन्य भारतीय खिलाड़ी जो कि अभी अनकैप्ड है और नेशनल टीम के लिए नहीं खेले हैं उन्होंने काफी अच्छा प्राइस अगेन किया इस बार यह सिर्फ इस वजह से है कि भारत में खेलों का महत्व बहुत बढ़ता जा रहा है भले ही वह क्रिकेट हो या और कोई खेल हर चीज में बहुत ही ज्यादा महत्व बढ़ता जा रहा है भारत में अलग-अलग लीग प्रीमियर बैडमिंटन लीग फुटबॉल लीग सारी लीग सब बहुत अच्छे स्तर पर शुरू हो चुकी हैं और भारत में खेलों को बहुत ही ऊंचा महत्व दिया जाने लगा है तुम मेरी राय में माता-पिता को अपने बच्चों को अगर किसी खेल में उनके बच्चे रुचि रखते हैं तो जरूर हम को बढ़ावा देना चाहिए और उनको अपना कैरियर बनाने का एक मौका जरूर दिया जाना चाहिएDekhie Haal Hi Mein Sanpann Hue Ipl Auction Mein Krishnappa Gautam Aur Aise Kai Anya Bhartiya Khiladi Jo Ki Abhi Anakaipd Hai Aur National Team Ke Liye Nahi Khele Hain Unhone Kafi Accha Price Again Kiya Is Baar Yeh Sirf Is Wajah Se Hai Ki Bharat Mein Khelon Ka Mahatva Bahut Badhta Ja Raha Hai Bhale Hi Wah Cricket Ho Ya Aur Koi Khel Har Cheez Mein Bahut Hi Jyada Mahatva Badhta Ja Raha Hai Bharat Mein Alag Alag League Premier Badminton League Football League Saree League Sab Bahut Acche Sthar Par Shuru Ho Chuki Hain Aur Bharat Mein Khelon Ko Bahut Hi Uncha Mahatva Diya Jaane Laga Hai Tum Meri Rai Mein Mata Pita Ko Apne Bacchon Ko Agar Kisi Khel Mein Unke Bacche Ruchi Rakhate Hain To Jarur Hum Ko Badhawa Dena Chahiye Aur Unko Apna Carrier Banane Ka Ek Mauka Jarur Diya Jana Chahiye
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सही कहा आपने एम एस धोनी से ज्यादा चतुर कप्तान या कहूं अभी कप्तान के अलावा खिलाड़ी की बात भी की जाए तो मुझे लगता है विश्व क्रिकेट में इस समय जो खिलाड़ी खेल रहे हैं उनमें सबसे ज्यादा चतुर्थी वाला जो कार्य करते हुए एम एस धोनी की चतुराई का सबसे बड़ा कारण यह है कि उन्होंने क्रिकेट को सीखा है एक्सपीरियंस उन्होंने लिया है आपकी को TV पर देखते हैं ना मैसेज करते हैं तो आपको कम समझ में आएगा आपको फिल्में ज्यादा समझ में आएगा कि कौन सा बैट्समैन किस तरीके से तरीके से खेल रहा है और एक्चुली वह विकेटकीपर है तो विकेटकीपर को सबसे ज्यादा अच्छी तरह से बोल किसिंग दिखती है सबसे अच्छी तरह दिखती है बेड का जो मूवमेंट होता है वह दिखता है तो विकेटकीपर होने का सबसे बड़ा फायदा ही यही है और विकेटकीपर को हर कप्तान एक्स्ट्रा प्रेशर क्रिएट हो जाता है क्योंकि अगर पंडित की बात की जाए तो 312 से ऊपर नीचे हो आगे पीछे जाना पड़ता है तो जैसे अरे कुछ तो बोला गया था उस समय के एल्बम के ने कहा था कि मुझे एक मैसेज करता बनाया क्या मेरे ऊपर इतना प्रेशर आ गया था मुझे समझ में नहीं आया क्या एम एस धोनी तो दोनों बंद कर दिया ऐसा कैसे कर दिया तुझे उनकी एक एक खासियत है कि अपने आप को बिल्कुल काम रखना बिल्कुल ठंडा रखना कैप्टन कूल बनकर रहना बिल्कुल आराम से ठंडा जब तक वह कप्तान रहे तब तक बड़ी शांति कप्तान राजस्थानी भी आराम से सही समय पर छोड़ी विराट कोहली को टाइम दिया था कि वह काफी समय तक पानी करो वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करें 19 के लिए तैयारी हो जाए तो एम एस धोनी नो डाउट बहुत चतुर कप्तान है और इस समय खेलने वाले जो खिलाड़ी है उन्हें सबसे अधिक जो मुझे लगता है की इज्जत की जाती व एम एस धोनी है और वर्ल्ड वर्ल्ड के हर कोने कोने में है चाहे कोई क्रिकेट फैन हुए उनकी तारीफ शुरू करेगा उनकी पत्नी से जरूर प्रभावित होगा धन्यवाद
Romanized Version
बिल्कुल सही कहा आपने एम एस धोनी से ज्यादा चतुर कप्तान या कहूं अभी कप्तान के अलावा खिलाड़ी की बात भी की जाए तो मुझे लगता है विश्व क्रिकेट में इस समय जो खिलाड़ी खेल रहे हैं उनमें सबसे ज्यादा चतुर्थी वाला जो कार्य करते हुए एम एस धोनी की चतुराई का सबसे बड़ा कारण यह है कि उन्होंने क्रिकेट को सीखा है एक्सपीरियंस उन्होंने लिया है आपकी को TV पर देखते हैं ना मैसेज करते हैं तो आपको कम समझ में आएगा आपको फिल्में ज्यादा समझ में आएगा कि कौन सा बैट्समैन किस तरीके से तरीके से खेल रहा है और एक्चुली वह विकेटकीपर है तो विकेटकीपर को सबसे ज्यादा अच्छी तरह से बोल किसिंग दिखती है सबसे अच्छी तरह दिखती है बेड का जो मूवमेंट होता है वह दिखता है तो विकेटकीपर होने का सबसे बड़ा फायदा ही यही है और विकेटकीपर को हर कप्तान एक्स्ट्रा प्रेशर क्रिएट हो जाता है क्योंकि अगर पंडित की बात की जाए तो 312 से ऊपर नीचे हो आगे पीछे जाना पड़ता है तो जैसे अरे कुछ तो बोला गया था उस समय के एल्बम के ने कहा था कि मुझे एक मैसेज करता बनाया क्या मेरे ऊपर इतना प्रेशर आ गया था मुझे समझ में नहीं आया क्या एम एस धोनी तो दोनों बंद कर दिया ऐसा कैसे कर दिया तुझे उनकी एक एक खासियत है कि अपने आप को बिल्कुल काम रखना बिल्कुल ठंडा रखना कैप्टन कूल बनकर रहना बिल्कुल आराम से ठंडा जब तक वह कप्तान रहे तब तक बड़ी शांति कप्तान राजस्थानी भी आराम से सही समय पर छोड़ी विराट कोहली को टाइम दिया था कि वह काफी समय तक पानी करो वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करें 19 के लिए तैयारी हो जाए तो एम एस धोनी नो डाउट बहुत चतुर कप्तान है और इस समय खेलने वाले जो खिलाड़ी है उन्हें सबसे अधिक जो मुझे लगता है की इज्जत की जाती व एम एस धोनी है और वर्ल्ड वर्ल्ड के हर कोने कोने में है चाहे कोई क्रिकेट फैन हुए उनकी तारीफ शुरू करेगा उनकी पत्नी से जरूर प्रभावित होगा धन्यवादBilkul Sahi Kaha Aapne Em S Dhoni Se Jyada Chatur Captain Ya Kahun Abhi Captain Ke Alava Khiladi Ki Baat Bhi Ki Jaye To Mujhe Lagta Hai Vishwa Cricket Mein Is Samay Jo Khiladi Khel Rahe Hain Unmen Sabse Jyada Chaturthi Wala Jo Karya Karte Hue Em S Dhoni Ki Chaturaai Ka Sabse Bada Kaaran Yeh Hai Ki Unhone Cricket Ko Seekha Hai Experience Unhone Liya Hai Aapki Ko TV Par Dekhte Hain Na Massage Karte Hain To Aapko Kum Samajh Mein Aayega Aapko Filme Jyada Samajh Mein Aayega Ki Kaun Sa Batsman Kis Tarike Se Tarike Se Khel Raha Hai Aur Atual Wah Wicketkeeper Hai To Wicketkeeper Ko Sabse Jyada Acchi Tarah Se Bol Kissing Dikhti Hai Sabse Acchi Tarah Dikhti Hai Bed Ka Jo Movement Hota Hai Wah Dikhta Hai To Wicketkeeper Hone Ka Sabse Bada Fayda Hi Yahi Hai Aur Wicketkeeper Ko Har Captain Extra Pressure Create Ho Jata Hai Kyonki Agar Pandit Ki Baat Ki Jaye To 312 Se Upar Neeche Ho Aage Piche Jana Padata Hai To Jaise Arre Kuch To Bola Gaya Tha Us Samay Ke Album Ke Ne Kaha Tha Ki Mujhe Ek Massage Karta Banaya Kya Mere Upar Itna Pressure Aa Gaya Tha Mujhe Samajh Mein Nahi Aaya Kya Em S Dhoni To Dono Band Kar Diya Aisa Kaise Kar Diya Tujhe Unki Ek Ek Khasiyat Hai Ki Apne Aap Ko Bilkul Kaam Rakhna Bilkul Thanda Rakhna Captain Cool Bankar Rehna Bilkul Aaram Se Thanda Jab Tak Wah Captain Rahe Tab Tak Badi Shanti Captain Rajasthani Bhi Aaram Se Sahi Samay Par Chhori Virat Kohli Ko Time Diya Tha Ki Wah Kafi Samay Tak Pani Karo World Cup Mein Accha Pradarshan Karen 19 Ke Liye Taiyari Ho Jaye To Em S Dhoni No Doubt Bahut Chatur Captain Hai Aur Is Samay Khelne Wale Jo Khiladi Hai Unhen Sabse Adhik Jo Mujhe Lagta Hai Ki Izzat Ki Jati V Em S Dhoni Hai Aur World World Ke Har Kone Kone Mein Hai Chahe Koi Cricket Fan Hue Unki Tarif Shuru Karega Unki Patni Se Jarur Prabhavit Hoga Dhanyavad
Likes  8  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी मैं बिल्कुल आपसे सहमत हूं सफलता हर व्यक्ति के लिए हर समय में अलग-अलग परिभाषा के साथ आती है बहुत कम ही ऐसे व्यक्ति होते हैं जो जिनका उद्देश्य काफी बड़ा होता है और काफी दूर की सोच रखने वाले होते हैं आम जनता आम जनजीवन में हम छोटे छोटे गोल बनाते हैं और उन्हें क्रॉस करते हैं और सफलता एक सीढ़ी की तरह हम चाहते हैं सफलता कोई डेस्टिनेशन नहीं है सफलता मंजिल नहीं है सफलता मार्ग है आप एक सफल मार्ग से जाते हैं सफलता ही कोई डेस्टिनेशन नहीं है क्या वहां जाकर पहुंच गए और अब बोले अब जवान हो गया ऐसा नहीं है आप एक मार्ग पर जाते हैं और उस वह मार्ग मगर आप हमेशा अग्रसर रहते हैं तो आपका जाता है कि यह बंदा सफल है ऐसा है एक किसान के लिए उसकी 3 महीने की मेहनत एक अच्छी फसल में आए उसके लिए ही सफलता है एक विद्यार्थी के लिए साल भर की मेहनत एग्जाम में एक अच्छे रिजल्ट के साथ है वह सफलता मैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं मेरा साल भर से एक मैथ प्रोजेक्ट पर काम कर रहा हूं वह प्रोडक्शन में चला जाए मेरे क्लाइंट खुश हो वह मेरी सफलता है तो सफलता की टेक्निशन हर व्यक्ति के लिए हर समय पर अलग-अलग होती है बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिन्हें साइंटिस्ट बनना है वह दसवीं से लगे हुए हैं तुम उस बात पर चल रहे हैं लेकिन अगर वह बन के साइंटिस्ट तो बोलेंगे कि मैं सफल बाग से गया नहीं मैंने तो सफलता सफलता का मार्ग नहीं था तुम्हें इस बात से बिल्कुल सहमत हूं कि सफलता हर इंसान के लिए अलग-अलग परिभाषा रखती है और रश्मि भी चाहिए
Romanized Version
जी मैं बिल्कुल आपसे सहमत हूं सफलता हर व्यक्ति के लिए हर समय में अलग-अलग परिभाषा के साथ आती है बहुत कम ही ऐसे व्यक्ति होते हैं जो जिनका उद्देश्य काफी बड़ा होता है और काफी दूर की सोच रखने वाले होते हैं आम जनता आम जनजीवन में हम छोटे छोटे गोल बनाते हैं और उन्हें क्रॉस करते हैं और सफलता एक सीढ़ी की तरह हम चाहते हैं सफलता कोई डेस्टिनेशन नहीं है सफलता मंजिल नहीं है सफलता मार्ग है आप एक सफल मार्ग से जाते हैं सफलता ही कोई डेस्टिनेशन नहीं है क्या वहां जाकर पहुंच गए और अब बोले अब जवान हो गया ऐसा नहीं है आप एक मार्ग पर जाते हैं और उस वह मार्ग मगर आप हमेशा अग्रसर रहते हैं तो आपका जाता है कि यह बंदा सफल है ऐसा है एक किसान के लिए उसकी 3 महीने की मेहनत एक अच्छी फसल में आए उसके लिए ही सफलता है एक विद्यार्थी के लिए साल भर की मेहनत एग्जाम में एक अच्छे रिजल्ट के साथ है वह सफलता मैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं मेरा साल भर से एक मैथ प्रोजेक्ट पर काम कर रहा हूं वह प्रोडक्शन में चला जाए मेरे क्लाइंट खुश हो वह मेरी सफलता है तो सफलता की टेक्निशन हर व्यक्ति के लिए हर समय पर अलग-अलग होती है बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिन्हें साइंटिस्ट बनना है वह दसवीं से लगे हुए हैं तुम उस बात पर चल रहे हैं लेकिन अगर वह बन के साइंटिस्ट तो बोलेंगे कि मैं सफल बाग से गया नहीं मैंने तो सफलता सफलता का मार्ग नहीं था तुम्हें इस बात से बिल्कुल सहमत हूं कि सफलता हर इंसान के लिए अलग-अलग परिभाषा रखती है और रश्मि भी चाहिएG Main Bilkul Aapse Sahmat Hoon Safalta Har Vyakti Ke Liye Har Samay Mein Alag Alag Paribhasha Ke Saath Aati Hai Bahut Kam Hi Aise Vyakti Hote Hain Jo Jinka Uddeshya Kafi Bada Hota Hai Aur Kafi Dur Ki Soch Rakhne Wali Hote Hain Aam Janta Aam Janjivan Mein Hum Chote Chote Gol Banate Hain Aur Unhen Cross Karte Hain Aur Safalta Ek Sidhi Ki Tarah Hum Chahte Hain Safalta Koi Destination Nahi Hai Safalta Manjil Nahi Hai Safalta Marg Hai Aap Ek Safal Marg Se Jaate Hain Safalta Hi Koi Destination Nahi Hai Kya Wahan Jaakar Pahunch Gaye Aur Ab Bole Ab Jawaan Ho Gaya Aisa Nahi Hai Aap Ek Marg Par Jaate Hain Aur Us Wah Marg Magar Aap Hamesha Agrasar Rehte Hain To Aapka Jata Hai Ki Yeh Banda Safal Hai Aisa Hai Ek Kisan Ke Liye Uski 3 Mahine Ki Mehnat Ek Acchi Phasal Mein Aaye Uske Liye Hi Safalta Hai Ek Vidyarthi Ke Liye Saal Bhar Ki Mehnat Exam Mein Ek Acche Result Ke Saath Hai Wah Safalta Main Software Engineer Hoon Mera Saal Bhar Se Ek Math Project Par Kaam Kar Raha Hoon Wah Production Mein Chala Jaye Mere Client Khush Ho Wah Meri Safalta Hai To Safalta Ki Technician Har Vyakti Ke Liye Har Samay Par Alag Alag Hoti Hai Bahut Sare Aise Log Hain Jinhen Scientist Banana Hai Wah Dasavi Se Lage Huye Hain Tum Us Baat Par Chal Rahe Hain Lekin Agar Wah Ban Ke Scientist To Bolenge Ki Main Safal Baag Se Gaya Nahi Maine To Safalta Safalta Ka Marg Nahi Tha Tumhein Is Baat Se Bilkul Sahmat Hoon Ki Safalta Har Insaan Ke Liye Alag Alag Paribhasha Rakhti Hai Aur Rashmi Bhi Chahiye
Likes  23  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नरेंद्र मोदी हमें बेवकूफ तो नहीं बना रहे हैं लेकिन जो हमने उनसे बड़ी बड़ी उम्मीद है कि थी उन पर शत-प्रतिशत खरे नहीं उतर पाए हैं भारत में अभी नरेंद्र मोदी के अलावा कोई सशक्त नेता नहीं है जिसे भारत की सत्ता सौंपी जाए
Romanized Version
नरेंद्र मोदी हमें बेवकूफ तो नहीं बना रहे हैं लेकिन जो हमने उनसे बड़ी बड़ी उम्मीद है कि थी उन पर शत-प्रतिशत खरे नहीं उतर पाए हैं भारत में अभी नरेंद्र मोदी के अलावा कोई सशक्त नेता नहीं है जिसे भारत की सत्ता सौंपी जाएNarendra Modi Human Bewakoof To Nahin Banna Rahe Hain Lekin Joe Humne Unse Badi Badi Ummeed Hai Qi Thi Un Per SATA Pratishat Khare Nahin Utar Pae Hain Bharat Mein Abhi Narendra Modi K Alaava Koi Sushakta Neta Nahin Hai Jise Bharat Ki Sata Saunpi Jae
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी फ्लोरिडा में शूटिंग हुई है वह बहुत ही ज्यादा डिस्टर्बिंग है और शॉपिंग है क्योंकि वह एक एडल्ट भी नहीं था वही टीनएजर जो अलार्म्स जो खरीदा और वहां का असली रूल बहुत इतना यह नहीं है स्ट्रीट नहीं है कि कोई भी आम खरीद सकता है लेकिन इसके बाद और इसलिए सबका खरीदने का रूट होना चाहिए क्योंकि ऐसे तो नहीं तो जो चाहे कोई भी खरीद सकते है और कोई भी लाइसेंस प्राप्त कर सकता है और कोई भी ऐसा शूटिंग पर होते ही रहेंगे
Romanized Version
अभी फ्लोरिडा में शूटिंग हुई है वह बहुत ही ज्यादा डिस्टर्बिंग है और शॉपिंग है क्योंकि वह एक एडल्ट भी नहीं था वही टीनएजर जो अलार्म्स जो खरीदा और वहां का असली रूल बहुत इतना यह नहीं है स्ट्रीट नहीं है कि कोई भी आम खरीद सकता है लेकिन इसके बाद और इसलिए सबका खरीदने का रूट होना चाहिए क्योंकि ऐसे तो नहीं तो जो चाहे कोई भी खरीद सकते है और कोई भी लाइसेंस प्राप्त कर सकता है और कोई भी ऐसा शूटिंग पर होते ही रहेंगेAbhi Florida Mein Shooting Hui Hai Wah Bahut Hi Jyada Disturbing Hai Aur Shopping Hai Kyonki Wah Ek Adult Bhi Nahi Tha Wahi Teenager Jo Alarms Jo Kharida Aur Wahan Ka Asli Rule Bahut Itna Yeh Nahi Hai Street Nahi Hai Ki Koi Bhi Aam Kharid Sakta Hai Lekin Iske Baad Aur Isliye Sabka Kharidne Ka Root Hona Chahiye Kyonki Aise To Nahi To Jo Chahe Koi Bhi Kharid Sakte Hai Aur Koi Bhi License Prapt Kar Sakta Hai Aur Koi Bhi Aisa Shooting Par Hote Hi Rahenge
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक अधिवक्ता व राजनीतिक विश्लेषक होने के नाते मुझे ऐसा लगता है कि ममता बनर्जी किया तो उसकी ट्रिपल तलाक बिल जो है मुस्लिम महिलाओं की रक्षा नहीं कर सकेगा उनके हितों की रक्षा नहीं कर पाएगा यह बिल्कुल गलत है जबकि मैं तो यह सोचता हूं कि ट्रिपल तलाक जो बिल है वह मुस्लिम महिलाओं को यह स्वायत्तता या स्वतंत्रता प्रदान करेगा कि वह एक सूचना के आधार पर अपना पति जिसने उसे तीन तलाक दिया है तीन बार कह कर उसे तलाक दिया है उसको जेल तक हो सकती है तथा उसे बिरयानी की जमानत मिलने का भी इसमें कोई प्रावधान नहीं है इसका तो दुरुपयोग होने का डर है बजाय इसके कि उसका सदुपयोग हो तो इस दिल में बहुत से ऐसे पेश है जो कि गलत है लेकिन यह कहना बिल्कुल भी सही नहीं है वजह से यहां तो हास्यास्पद रहेगा कि अगर हम यह कहे कि मुस्लिम महिलाओं के हितों की रक्षा इस दिल से नहीं हो सकती उनके हितों की रक्षा नहीं होगी उन्हें बहुत से ऐसे विशेषाधिकार मिलेंगे जिससे कि वह समय आने पर वैसे ब्रह्मास्त्र की तरह उपयोग कर सकती हैं बजाय इसके वह उसे कभी तो दुरुपयोग तक कर पाएंगे तो मैं या नहीं मानता उनकी या निजी राय हो सकती है परंतु एक राजनीतिक विश्लेषक अथवा कानूनी सलाहकार होने के नाते मुझे ऐसा लगता है कि उनका यह सोचना पूरी तरह ठीक नहीं है बल्कि बिल्कुल भी ठीक नहीं है और यह पूरी तरह से विवादास्पद हास्यास्पद तथा किसी भी प्रकार से उचित नहीं है धन्यवाद
Romanized Version
एक अधिवक्ता व राजनीतिक विश्लेषक होने के नाते मुझे ऐसा लगता है कि ममता बनर्जी किया तो उसकी ट्रिपल तलाक बिल जो है मुस्लिम महिलाओं की रक्षा नहीं कर सकेगा उनके हितों की रक्षा नहीं कर पाएगा यह बिल्कुल गलत है जबकि मैं तो यह सोचता हूं कि ट्रिपल तलाक जो बिल है वह मुस्लिम महिलाओं को यह स्वायत्तता या स्वतंत्रता प्रदान करेगा कि वह एक सूचना के आधार पर अपना पति जिसने उसे तीन तलाक दिया है तीन बार कह कर उसे तलाक दिया है उसको जेल तक हो सकती है तथा उसे बिरयानी की जमानत मिलने का भी इसमें कोई प्रावधान नहीं है इसका तो दुरुपयोग होने का डर है बजाय इसके कि उसका सदुपयोग हो तो इस दिल में बहुत से ऐसे पेश है जो कि गलत है लेकिन यह कहना बिल्कुल भी सही नहीं है वजह से यहां तो हास्यास्पद रहेगा कि अगर हम यह कहे कि मुस्लिम महिलाओं के हितों की रक्षा इस दिल से नहीं हो सकती उनके हितों की रक्षा नहीं होगी उन्हें बहुत से ऐसे विशेषाधिकार मिलेंगे जिससे कि वह समय आने पर वैसे ब्रह्मास्त्र की तरह उपयोग कर सकती हैं बजाय इसके वह उसे कभी तो दुरुपयोग तक कर पाएंगे तो मैं या नहीं मानता उनकी या निजी राय हो सकती है परंतु एक राजनीतिक विश्लेषक अथवा कानूनी सलाहकार होने के नाते मुझे ऐसा लगता है कि उनका यह सोचना पूरी तरह ठीक नहीं है बल्कि बिल्कुल भी ठीक नहीं है और यह पूरी तरह से विवादास्पद हास्यास्पद तथा किसी भी प्रकार से उचित नहीं है धन्यवादEk Adhivakta V Rajnitik Vishleshak Hone Ke Naate Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Mamata Banerjee Kiya To Uski Triple Talak Bill Jo Hai Muslim Mahilaon Ki Raksha Nahi Kar Sakega Unke Hiton Ki Raksha Nahi Kar Payega Yeh Bilkul Galat Hai Jabki Main To Yeh Sochta Hoon Ki Triple Talak Jo Bill Hai Wah Muslim Mahilaon Ko Yeh Swayattata Ya Swatantrata Pradan Karega Ki Wah Ek Soochna Ke Aadhar Par Apna Pati Jisne Use Teen Talak Diya Hai Teen Baar Keh Kar Use Talak Diya Hai Usko Jail Tak Ho Sakti Hai Tatha Use Biryani Ki Jamanat Milne Ka Bhi Isme Koi Pravadhan Nahi Hai Iska To Durupyog Hone Ka Dar Hai Bajay Iske Ki Uska Sadupyog Ho To Is Dil Mein Bahut Se Aise Pesh Hai Jo Ki Galat Hai Lekin Yeh Kehna Bilkul Bhi Sahi Nahi Hai Wajah Se Yahan To Hasyaspad Rahega Ki Agar Hum Yeh Kahe Ki Muslim Mahilaon Ke Hiton Ki Raksha Is Dil Se Nahi Ho Sakti Unke Hiton Ki Raksha Nahi Hogi Unhen Bahut Se Aise Visheshadhikar Milenge Jisse Ki Wah Samay Aane Par Waise Brahmastr Ki Tarah Upyog Kar Sakti Hain Bajay Iske Wah Use Kabhi To Durupyog Tak Kar Paenge To Main Ya Nahi Manata Unki Ya Niji Rai Ho Sakti Hai Parantu Ek Rajnitik Vishleshak Athwa Kanooni Salahkar Hone Ke Naate Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Unka Yeh Sochna Puri Tarah Theek Nahi Hai Balki Bilkul Bhi Theek Nahi Hai Aur Yeh Puri Tarah Se Vivadaspad Hasyaspad Tatha Kisi Bhi Prakar Se Uchit Nahi Hai Dhanyavad
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपी सरकार ने जो यह फैसला लिया है मुझे लगता है इसके पीछे की वजह यह है कि जो भी युवा लोग हैं उन्हें अपने कल्चर और कुंभ से जुड़ी परंपराओं के बारे में ज्यादा जागरूक बनाया जाए तो मुझे लगता है कि इसमें कोई बुराई नहीं है अगर 1 लोगों दिखा दिया जाएगा तो औरैया लोगों राष्ट्रगान के बाद दिखाया जाएगा और इस लोगों में ऐसा दिखाया गया है कि साधू और नदी में डुबकी लगा रहे हैं और उसके बैकग्राउंड में कुछ मंदिर दिखाए गए हैं और स्वास्तिक का निशान दिखाया गया है तो वह यह यूपी सरकार की एक नीति है कि किस तरह से टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाए और जैसा कि हम जानते हैं कि पिछले वर्ष का मतलब पिछले 2013 में जब कुंभ मेला हुआ था यूपी में तो वहां लगभग 10 करोड़ लोग आए थे और सरकार का मानना है कि इस बार लगभग 12 करोड लोग यहां पर आ सकते हैं जब जनवरी 2019 में इलाहाबाद में कुंभ लगेगा तो इसे प्रमोट करने एक तरीका है और एक एडवर्टाइजमेंट है तो इसमें मेरे हिसाब से तो नहीं कोई बुराई लगती है
Romanized Version
यूपी सरकार ने जो यह फैसला लिया है मुझे लगता है इसके पीछे की वजह यह है कि जो भी युवा लोग हैं उन्हें अपने कल्चर और कुंभ से जुड़ी परंपराओं के बारे में ज्यादा जागरूक बनाया जाए तो मुझे लगता है कि इसमें कोई बुराई नहीं है अगर 1 लोगों दिखा दिया जाएगा तो औरैया लोगों राष्ट्रगान के बाद दिखाया जाएगा और इस लोगों में ऐसा दिखाया गया है कि साधू और नदी में डुबकी लगा रहे हैं और उसके बैकग्राउंड में कुछ मंदिर दिखाए गए हैं और स्वास्तिक का निशान दिखाया गया है तो वह यह यूपी सरकार की एक नीति है कि किस तरह से टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाए और जैसा कि हम जानते हैं कि पिछले वर्ष का मतलब पिछले 2013 में जब कुंभ मेला हुआ था यूपी में तो वहां लगभग 10 करोड़ लोग आए थे और सरकार का मानना है कि इस बार लगभग 12 करोड लोग यहां पर आ सकते हैं जब जनवरी 2019 में इलाहाबाद में कुंभ लगेगा तो इसे प्रमोट करने एक तरीका है और एक एडवर्टाइजमेंट है तो इसमें मेरे हिसाब से तो नहीं कोई बुराई लगती हैUp Sarkar Ne Jo Yeh Faisla Liya Hai Mujhe Lagta Hai Iske Piche Ki Wajah Yeh Hai Ki Jo Bhi Yuva Log Hain Unhen Apne Culture Aur Kumbh Se Judi Paramparaon Ke Baare Mein Jyada Jaagruk Banaya Jaye To Mujhe Lagta Hai Ki Isme Koi Burayi Nahi Hai Agar 1 Logon Dikha Diya Jayega To Auraiya Logon Rashtragan Ke Baad Dikhaya Jayega Aur Is Logon Mein Aisa Dikhaya Gaya Hai Ki Sadhu Aur Nadi Mein Dubaki Laga Rahe Hain Aur Uske Background Mein Kuch Mandir Dekhiye Gaye Hain Aur Swastik Ka Nishaan Dikhaya Gaya Hai To Wah Yeh Up Sarkar Ki Ek Niti Hai Ki Kis Tarah Se Tourism Ko Badhawa Diya Jaye Aur Jaisa Ki Hum Jante Hain Ki Pichle Varsh Ka Matlab Pichle 2013 Mein Jab Kumbh Mela Hua Tha Up Mein To Wahan Lagbhag 10 Crore Log Aaye The Aur Sarkar Ka Manana Hai Ki Is Baar Lagbhag 12 Crore Log Yahan Par Aa Sakte Hain Jab January 2019 Mein Allahabad Mein Kumbh Lagega To Ise Promote Karne Ek Tarika Hai Aur Ek Advertisement Hai To Isme Mere Hisab Se To Nahi Koi Burayi Lagti Hai
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देवी महिपाल जी मेरे हिसाब से यह कच्छा डिसीजन है इस देश भक्ति किसी पर विश्वास नहीं कर सकते देशभक्ति क्या आप कोई भी फीलिंग आई मोसम किसी व्यक्ति पर फोन नहीं कर सकती हो आपके अंदर से आना चाहिए और बहुत सारी टेररिस्ट में बहुत सारे ऐसे लोग जो देश के हित के बारे में नहीं सोचते वह भी ठीक है उसमें जाते हैं और अगर वह फॉर्मेलिटी में खड़ी थी हो जाए राष्ट्रगान के दौरान उनके अंदर कोई चेंजेस तो नहीं आया ना वह रहेंगे तो वैसे ही और वह तेरे से हमारे राष्ट्रगान का अपमान भी है तू अब राष्ट्रगान होना जो अब ऑप्शन कर दिया गया धीरे से मेरी तरफ से यह बात ठीक है और दूसरा यह भी कि आप मूवीस वगैरा की Entertainment propose चाहते हैं वह भी अगर आप अशोक सीरियल सपने में राष्ट्रभक्ति ऐसे जो भी फीलिंग्स साथ रखेंगे तो कुछ लोगों को यह एंकर मीनिंग लग लगता है सबको नहीं क्योंकि राष्ट्रभक्ति हर समय आपके दिल के अंदर होनी ही चाहिए तो अभी सरकार का एक अच्छा डिसीजन है यह लोग को एक अच्छा लोहिया 11092 है कि अभी ऑप्शनल होगा चाहेंगे तो अलार्म बजेगा बढ़ा नहीं बचेगा जो कि सही है मेरे हिसाब से
Romanized Version
देवी महिपाल जी मेरे हिसाब से यह कच्छा डिसीजन है इस देश भक्ति किसी पर विश्वास नहीं कर सकते देशभक्ति क्या आप कोई भी फीलिंग आई मोसम किसी व्यक्ति पर फोन नहीं कर सकती हो आपके अंदर से आना चाहिए और बहुत सारी टेररिस्ट में बहुत सारे ऐसे लोग जो देश के हित के बारे में नहीं सोचते वह भी ठीक है उसमें जाते हैं और अगर वह फॉर्मेलिटी में खड़ी थी हो जाए राष्ट्रगान के दौरान उनके अंदर कोई चेंजेस तो नहीं आया ना वह रहेंगे तो वैसे ही और वह तेरे से हमारे राष्ट्रगान का अपमान भी है तू अब राष्ट्रगान होना जो अब ऑप्शन कर दिया गया धीरे से मेरी तरफ से यह बात ठीक है और दूसरा यह भी कि आप मूवीस वगैरा की Entertainment propose चाहते हैं वह भी अगर आप अशोक सीरियल सपने में राष्ट्रभक्ति ऐसे जो भी फीलिंग्स साथ रखेंगे तो कुछ लोगों को यह एंकर मीनिंग लग लगता है सबको नहीं क्योंकि राष्ट्रभक्ति हर समय आपके दिल के अंदर होनी ही चाहिए तो अभी सरकार का एक अच्छा डिसीजन है यह लोग को एक अच्छा लोहिया 11092 है कि अभी ऑप्शनल होगा चाहेंगे तो अलार्म बजेगा बढ़ा नहीं बचेगा जो कि सही है मेरे हिसाब सेDevi Mahipal Ji Mere Hisab Se Yeh Kachhaa Decision Hai Is Desh Bhakti Kisi Par Vishwas Nahi Kar Sakte Deshbhakti Kya Aap Koi Bhi Feeling Eye Mosam Kisi Vyakti Par Phone Nahi Kar Sakti Ho Aapke Andar Se Aana Chahiye Aur Bahut Saree Terrorist Mein Bahut Sare Aise Log Jo Desh Ke Hit Ke Baare Mein Nahi Sochte Wah Bhi Theek Hai Usamen Jaate Hain Aur Agar Wah Formality Mein Khadi Thi Ho Jaye Rashtragan Ke Dauran Unke Andar Koi Changes To Nahi Aaya Na Wah Rahenge To Waise Hi Aur Wah Tere Se Hamare Rashtragan Ka Apman Bhi Hai Tu Ab Rashtragan Hona Jo Ab Option Kar Diya Gaya Dhire Se Meri Taraf Se Yeh Baat Theek Hai Aur Doosra Yeh Bhi Ki Aap Movies Vagaira Ki Entertainment Propose Chahte Hain Wah Bhi Agar Aap Ashok Serial Sapne Mein Rashtrabhakti Aise Jo Bhi Feelings Saath Rakhenge To Kuch Logon Ko Yeh Anchor Meaning Lag Lagta Hai Sabko Nahi Kyonki Rashtrabhakti Har Samay Aapke Dil Ke Andar Honi Hi Chahiye To Abhi Sarkar Ka Ek Accha Decision Hai Yeh Log Ko Ek Accha Lohiya 11092 Hai Ki Abhi Optional Hoga Chahenge To Alarm Bajegaa Badha Nahi Bachega Jo Ki Sahi Hai Mere Hisab Se
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, जावेद अख्तर ने जो कहा है कि मस्जिदों में स्पीकर का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए उन्होंने इस तरह से कहा है कि चाहे मस्जिद हो चाहे मस्जिद मंदिर हो जहां पर भी साउंड पोलूशन होता है वहां पर नहीं होना चाहिए l तो उल्टा अर्थ या मतलब नहीं निकालना चाहिए और वह सोचते हैं इतने इंटेलेक्चुअल आदमी है तो मुझे लगता है सही सोचते होंगे क्योंकि कुछ जगह परेशानी सच में होती है l देखिए, अजान पढ़ने या धर्म की काम करना कॉन्स्टिट्यूशनल गलत नहीं है लेकिन उसकी वजह से किसी को परेशानी होती है, यह अच्छी बात नहीं है l परेशानी सबसे बड़ी यह है कि हमारे देश में जितने का कई तरह के लोग रहते हैं, धर्म के लोग रहते हैं उन में समन्वय नहीं है l समन्वय मतलब एक दूसरे के साथ कंपेटिबिलिटी नहीं है l हम हर आदमी फ्रीडम चाहता है, फ्रीडम चाहता है तो क्यों नहीं मिली फ्रीडम उसको l तो इस फ्रीडम को कंट्रोल करने के लिए कुछ लोग इस तरह की चीजें जान बूझकर करते हैं l मैं किसी धर्म का नाम नहीं ले रहा लेकिन उन्होंने सभी के लिए बोला है, उनके मुंह से जरूर मस्जिद निकला हुआ है l वैसे मुझे लगता है उनका इंटेंशन जो था वह कहने का वह केवल मस्जिद नहीं और भी सभी जितने भी धर्म है, हिंदू, गुरुद्वारे इन सब पर भी स्पीकरस लगे होते, कोई यूज ना करें साउंड पोलूशन कम करने के लिए बोलते हैं l क्योंकि आदमी को भी परेशान हो जाता है कभी-कभी l तो उसका अन्य अर्थ मतलब निकालना चाहिए और जावेद ने जो कहा उसको सही कहा है, धन्यवाद l
Romanized Version
देखिये, जावेद अख्तर ने जो कहा है कि मस्जिदों में स्पीकर का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए उन्होंने इस तरह से कहा है कि चाहे मस्जिद हो चाहे मस्जिद मंदिर हो जहां पर भी साउंड पोलूशन होता है वहां पर नहीं होना चाहिए l तो उल्टा अर्थ या मतलब नहीं निकालना चाहिए और वह सोचते हैं इतने इंटेलेक्चुअल आदमी है तो मुझे लगता है सही सोचते होंगे क्योंकि कुछ जगह परेशानी सच में होती है l देखिए, अजान पढ़ने या धर्म की काम करना कॉन्स्टिट्यूशनल गलत नहीं है लेकिन उसकी वजह से किसी को परेशानी होती है, यह अच्छी बात नहीं है l परेशानी सबसे बड़ी यह है कि हमारे देश में जितने का कई तरह के लोग रहते हैं, धर्म के लोग रहते हैं उन में समन्वय नहीं है l समन्वय मतलब एक दूसरे के साथ कंपेटिबिलिटी नहीं है l हम हर आदमी फ्रीडम चाहता है, फ्रीडम चाहता है तो क्यों नहीं मिली फ्रीडम उसको l तो इस फ्रीडम को कंट्रोल करने के लिए कुछ लोग इस तरह की चीजें जान बूझकर करते हैं l मैं किसी धर्म का नाम नहीं ले रहा लेकिन उन्होंने सभी के लिए बोला है, उनके मुंह से जरूर मस्जिद निकला हुआ है l वैसे मुझे लगता है उनका इंटेंशन जो था वह कहने का वह केवल मस्जिद नहीं और भी सभी जितने भी धर्म है, हिंदू, गुरुद्वारे इन सब पर भी स्पीकरस लगे होते, कोई यूज ना करें साउंड पोलूशन कम करने के लिए बोलते हैं l क्योंकि आदमी को भी परेशान हो जाता है कभी-कभी l तो उसका अन्य अर्थ मतलब निकालना चाहिए और जावेद ने जो कहा उसको सही कहा है, धन्यवाद lDekhiye Javed Akhtar Ne Jo Kaha Hai Ki Masjidon Mein Speaker Ka Istemal Nahi Hona Chahiye Unhone Is Tarah Se Kaha Hai Ki Chahe Masjid Ho Chahe Masjid Mandir Ho Jahan Par Bhi Sound Pollution Hota Hai Wahan Par Nahi Hona Chahiye L To Ulta Arth Ya Matlab Nahi Nikalna Chahiye Aur Wah Sochte Hain Itne Intelekchual Aadmi Hai To Mujhe Lagta Hai Sahi Sochte Honge Kyonki Kuch Jagah Pareshani Sach Mein Hoti Hai L Dekhie Ajan Padhne Ya Dharm Ki Kaam Karna Constitutional Galat Nahi Hai Lekin Uski Wajah Se Kisi Ko Pareshani Hoti Hai Yeh Acchi Baat Nahi Hai L Pareshani Sabse Badi Yeh Hai Ki Hamare Desh Mein Jitne Ka Kai Tarah Ke Log Rehte Hain Dharm Ke Log Rehte Hain Un Mein Samanvay Nahi Hai L Samanvay Matlab Ek Dusre Ke Saath Kampetibiliti Nahi Hai L Hum Har Aadmi Freedom Chahta Hai Freedom Chahta Hai To Kyun Nahi Mili Freedom Usko L To Is Freedom Ko Control Karne Ke Liye Kuch Log Is Tarah Ki Cheezen Jaan Bujhkar Karte Hain L Main Kisi Dharm Ka Naam Nahi Le Raha Lekin Unhone Sabhi Ke Liye Bola Hai Unke Mooh Se Jarur Masjid Nikla Hua Hai L Waise Mujhe Lagta Hai Unka Intenshan Jo Tha Wah Kehne Ka Wah Kewal Masjid Nahi Aur Bhi Sabhi Jitne Bhi Dharm Hai Hindu Gurudware In Sab Par Bhi Spikaras Lage Hote Koi Use Na Karen Sound Pollution Kum Karne Ke Liye Bolte Hain L Kyonki Aadmi Ko Bhi Pareshan Ho Jata Hai Kabhi Kabhi L To Uska Anya Arth Matlab Nikalna Chahiye Aur Javed Ne Jo Kaha Usko Sahi Kaha Hai Dhanyavad L
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा कुछ नहीं है कि लड़कियां बॉयफ्रेंड बनाने बंद करेंगे तो उन पर अत्याचार बंद हो जाए हां मान लीजिए कि उन्होंने बॉयफ्रेंड बनाना बंद कर दीजिए नहीं तो गर्लफ्रेंड बनाई ना यदि लड़की मना कर दी थी तो फिर वह उस पर जाते जाए कहिए कि इसने मेरा पूछ कर चैट कर दिया उनके लिए कोई जवाब नहीं बचता है उल्टी-सीधी बात जो निकालते हैं
Romanized Version
ऐसा कुछ नहीं है कि लड़कियां बॉयफ्रेंड बनाने बंद करेंगे तो उन पर अत्याचार बंद हो जाए हां मान लीजिए कि उन्होंने बॉयफ्रेंड बनाना बंद कर दीजिए नहीं तो गर्लफ्रेंड बनाई ना यदि लड़की मना कर दी थी तो फिर वह उस पर जाते जाए कहिए कि इसने मेरा पूछ कर चैट कर दिया उनके लिए कोई जवाब नहीं बचता है उल्टी-सीधी बात जो निकालते हैंAisa Kuch Nahi Hai Ki Ladkiyan Boyfriend Banane Band Karenge To Un Par Atyachar Band Ho Jaye Haan Maan Lijiye Ki Unhone Boyfriend Banana Band Kar Dijiye Nahi To Girlfriend Banai Na Yadi Ladki Mana Kar Di Thi To Phir Wah Us Par Jaate Jaye Ki Isane Mera Pooch Kar Chat Kar Diya Unke Liye Koi Jawab Nahi Bachta Hai Ulti Sidhi Baat Jo Nikalate Hain
Likes  5  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक सबसे महत्वपूर्ण चीज किसी भी डिसीजन में क्या होती है| जो डिसीजन ले रहा होता है| उस आदमी को कभी भी फ्यूचर के बारे में सब कुछ नहीं पता होता है| फिर भी वह डिसीजन लेता है| तो हैंड साइड में किसी भी डिसीजन को क्रिटिसाइज करना वह आसान है| और वह सब जगह होता है| आप कोई भी निर्णय ले लीजिए, क्योंकि कोई भी निर्णय परफेक्ट नहीं होता है| तो मोदी ने सॉरी नेहरू ने जो डिसीजन लिया उस टाइम पर, उसमें उनकी गलती है, नहीं है| यह कहना आज की डेट में थोड़ा आसान है | और नेहरू एक चीज़ में हां लेकिन उनकी जो पकड़ थी, कश्मीर के बारे में, वह इस मामले में जरूर गलत थी| कि उन्होंने यह बोला था| एक भाषण में कि हमें कश्मीर में प्ले भी साइट से अलाऊ करना चाहिए क्योंकि उन्हें शायद लगता था कि कश्मीर की जनता भारत के पक्ष में वोट देगी शायद वो उनकी एक बहुत बड़ी भूल थी उसके अलावा ऐसी कोई चीज़ दिखती नहीं है कि कहीं पर उन्होंने बहुत बड़ा गलत कदम लिया है| और अगर अभी भी सरकार उसको ठीक कर सकती है| तो वह कर ले| लेकिन यह सब आरोप-प्रत्यारोपों पार्टियों के एक दूसरे के खिलाफ चलते रहते हैं| तो हैंड साइड में तो किसी को कुछ क्रिटीसाइज करना जो घटना आज से 50 साल पहले की तो वो बहुत ही आसान है| उस समय के हालात क्या थे? किन हालातों में डिसीजन लिया गया| वह एक चीज़ है| दूसरा कल को आज जो सरकार ले रही है, वह डिसीजन गलत साबित नहीं होंगे, कोई नहीं कह सकता है|
Romanized Version
एक सबसे महत्वपूर्ण चीज किसी भी डिसीजन में क्या होती है| जो डिसीजन ले रहा होता है| उस आदमी को कभी भी फ्यूचर के बारे में सब कुछ नहीं पता होता है| फिर भी वह डिसीजन लेता है| तो हैंड साइड में किसी भी डिसीजन को क्रिटिसाइज करना वह आसान है| और वह सब जगह होता है| आप कोई भी निर्णय ले लीजिए, क्योंकि कोई भी निर्णय परफेक्ट नहीं होता है| तो मोदी ने सॉरी नेहरू ने जो डिसीजन लिया उस टाइम पर, उसमें उनकी गलती है, नहीं है| यह कहना आज की डेट में थोड़ा आसान है | और नेहरू एक चीज़ में हां लेकिन उनकी जो पकड़ थी, कश्मीर के बारे में, वह इस मामले में जरूर गलत थी| कि उन्होंने यह बोला था| एक भाषण में कि हमें कश्मीर में प्ले भी साइट से अलाऊ करना चाहिए क्योंकि उन्हें शायद लगता था कि कश्मीर की जनता भारत के पक्ष में वोट देगी शायद वो उनकी एक बहुत बड़ी भूल थी उसके अलावा ऐसी कोई चीज़ दिखती नहीं है कि कहीं पर उन्होंने बहुत बड़ा गलत कदम लिया है| और अगर अभी भी सरकार उसको ठीक कर सकती है| तो वह कर ले| लेकिन यह सब आरोप-प्रत्यारोपों पार्टियों के एक दूसरे के खिलाफ चलते रहते हैं| तो हैंड साइड में तो किसी को कुछ क्रिटीसाइज करना जो घटना आज से 50 साल पहले की तो वो बहुत ही आसान है| उस समय के हालात क्या थे? किन हालातों में डिसीजन लिया गया| वह एक चीज़ है| दूसरा कल को आज जो सरकार ले रही है, वह डिसीजन गलत साबित नहीं होंगे, कोई नहीं कह सकता है|Ek Sabse Mahatvapurna Cheez Kisi Bhi Decision Mein Kya Hoti Hai Jo Decision Le Raha Hota Hai Us Aadmi Ko Kabhi Bhi Future Ke Baare Mein Sab Kuch Nahi Pata Hota Hai Phir Bhi Wah Decision Leta Hai To Hand Side Mein Kisi Bhi Decision Ko Criticize Karna Wah Aasan Hai Aur Wah Sab Jagah Hota Hai Aap Koi Bhi Nirnay Le Lijiye Kyonki Koi Bhi Nirnay Perfect Nahi Hota Hai To Modi Ne Sorry Nehru Ne Jo Decision Liya Us Time Par Usamen Unki Galti Hai Nahi Hai Yeh Kehna Aaj Ki Date Mein Thoda Aasan Hai | Aur Nehru Ek Cheez Mein Haan Lekin Unki Jo Pakad Thi Kashmir Ke Baare Mein Wah Is Mamle Mein Jarur Galat Thi Ki Unhone Yeh Bola Tha Ek Bhashan Mein Ki Hume Kashmir Mein Play Bhi Site Se Alaoo Karna Chahiye Kyonki Unhen Shayad Lagta Tha Ki Kashmir Ki Janta Bharat Ke Paksh Mein Vote Degi Shayad Vo Unki Ek Bahut Badi Bhul Thi Uske Alava Aisi Koi Cheez Dikhti Nahi Hai Ki Kahin Par Unhone Bahut Bada Galat Kadam Liya Hai Aur Agar Abhi Bhi Sarkar Usko Theek Kar Sakti Hai To Wah Kar Le Lekin Yeh Sab Aarop Pratyaaropo Partiyon Ke Ek Dusre Ke Khilaf Chalte Rehte Hain To Hand Side Mein To Kisi Ko Kuch Kritisaij Karna Jo Ghatna Aaj Se 50 Saal Pehle Ki To Vo Bahut Hi Aasan Hai Us Samay Ke Halaat Kya The Kin Halaton Mein Decision Liya Gaya Wah Ek Cheez Hai Doosra Kal Ko Aaj Jo Sarkar Le Rahi Hai Wah Decision Galat Saabit Nahi Honge Koi Nahi Keh Sakta Hai
Likes  16  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हर देश की संस्कृति होती है और हर संस्कृति की अपनी एक मर्यादाएं होती हैं भारत के अंदर जो है वह बड़ी विविधता रहती है एक जो गांव के अंदर जो आदमी की जो ड्रेसिंग होती है वाला होती है शहर के अंदर ड्रेसिंग अलग होती है पार्टी के लिए ड्रेसिंग अलग होती है ऑफिस की रेटिंग अलग होती है और यह बहुत जरूरी है कि हम हर चीज को समय के हिसाब से उसको अपने को ट्रेस करें अगर मान लिया जो ड्रेसेस जो हैं मान लिया दिल्ली में या मुंबई में चलती हैं अगर वही ड्रेसेस अगर कोई राजस्थान यूपी के गांव में पहने तो वह बहुत ही अनुचित लगेगी बहुत ही ऑफ लगेगी और उस तरीके की जो आधुनिक ड्रेस्सेस है वह दिल्ली में बढ़ी कॉमन है और दिल्ली और मुंबई में उचित भी लगेगी लेकिन वहां पर आओ ना पहने तो ही बेहतर है इसलिए मेरे ख्याल से जैसा देश वैसा भेष होना चाहिए जिस सोसाइटी में आप रहे हैं अगर आप उसके हिसाब से अपने को डाल सके उसके हिसाब से प्रिंट रेसिंग कर सके तो इस से बेहतर कुछ नहीं है
Romanized Version
देखिए हर देश की संस्कृति होती है और हर संस्कृति की अपनी एक मर्यादाएं होती हैं भारत के अंदर जो है वह बड़ी विविधता रहती है एक जो गांव के अंदर जो आदमी की जो ड्रेसिंग होती है वाला होती है शहर के अंदर ड्रेसिंग अलग होती है पार्टी के लिए ड्रेसिंग अलग होती है ऑफिस की रेटिंग अलग होती है और यह बहुत जरूरी है कि हम हर चीज को समय के हिसाब से उसको अपने को ट्रेस करें अगर मान लिया जो ड्रेसेस जो हैं मान लिया दिल्ली में या मुंबई में चलती हैं अगर वही ड्रेसेस अगर कोई राजस्थान यूपी के गांव में पहने तो वह बहुत ही अनुचित लगेगी बहुत ही ऑफ लगेगी और उस तरीके की जो आधुनिक ड्रेस्सेस है वह दिल्ली में बढ़ी कॉमन है और दिल्ली और मुंबई में उचित भी लगेगी लेकिन वहां पर आओ ना पहने तो ही बेहतर है इसलिए मेरे ख्याल से जैसा देश वैसा भेष होना चाहिए जिस सोसाइटी में आप रहे हैं अगर आप उसके हिसाब से अपने को डाल सके उसके हिसाब से प्रिंट रेसिंग कर सके तो इस से बेहतर कुछ नहीं हैDekhie Har Desh Ki Sanskriti Hoti Hai Aur Har Sanskriti Ki Apni Ek Maryadaen Hoti Hain Bharat Ke Andar Jo Hai Wah Badi Vividhata Rehti Hai Ek Jo Gav Ke Andar Jo Aadmi Ki Jo Dressing Hoti Hai Wala Hoti Hai Sheher Ke Andar Dressing Alag Hoti Hai Party Ke Liye Dressing Alag Hoti Hai Office Ki Rating Alag Hoti Hai Aur Yeh Bahut Zaroori Hai Ki Hum Har Cheez Ko Samay Ke Hisab Se Usko Apne Ko Trays Karen Agar Maan Liya Jo Dresses Jo Hain Maan Liya Delhi Mein Ya Mumbai Mein Chalti Hain Agar Wahi Dresses Agar Koi Rajasthan Up Ke Gav Mein Pahane To Wah Bahut Hi Anuchit Lagegi Bahut Hi Of Lagegi Aur Us Tarike Ki Jo Aadhunik Dresses Hai Wah Delhi Mein Badhi Common Hai Aur Delhi Aur Mumbai Mein Uchit Bhi Lagegi Lekin Wahan Par Aao Na Pahane To Hi Behtar Hai Isliye Mere Khayal Se Jaisa Desh Waisa Bhesh Hona Chahiye Jis Society Mein Aap Rahe Hain Agar Aap Uske Hisab Se Apne Ko Dal Sake Uske Hisab Se Print Racing Kar Sake To Is Se Behtar Kuch Nahi Hai
Likes  17  Dislikes
WhatsApp_icon
लिखे पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज और बीसीसीआई के चीफ जूनियर लेटर वेंकटेश प्रसाद का जो मानना है कि अंडर-19 टीम इंडिया के विजेता खिलाड़ी जो है उन्हें टीम में नहीं लेना चाहिए क्योंकि जिस प्रकार से इनकी हमें चैरिटी अभी भी है जो कि उन्होंने खुद कहा है वेंकटेश ने खुद यह कहा है कि जो फास्ट ट्रैक वह प्लीज जो है यह हैंडल नहीं कर पाएंगे प्रेस और यही कारण होगा क्या उनको फ्यूचर खराब भी कर सकते हैं और अगर हमारी टीम में लेते हैं तो उन्हें जो है खुद पर डाउट होना भी शुरू हो जाएगा तो कहा ना कहो पर उन्होंने जो कहा वह बिल्कुल सही कहा है क्योंकि अभी देखा जाए तो हां उन्होंने अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता है हां SMS ऐसे कई सारे सुपर स्टार्स जो है हमें दिख रहा है जैसे कमलेश अनार को दी है इसे उमावि है शाम को रेल है या फिर हम क्या पृथ्वी शॉ जी के कप्तान रह चुके शुभम खेल जो है तो खाना कहां पर यह सब खिलाड़ियों का एक बेहतरीन फ्यूचर दिख रहा है भारतीय टीम के लिए लेकिन यह सारे प्लेयर्स की उम्र भी जो अभी बहुत काम है अभी वह महल सामने से 18 साल के हो गए और उनके लिंग बड़ा फ्यूचर वेट कर रहा है तो गैरों ने टीम इंडिया के लिए खेलना हो तो सबसे पहले मेरे साथ सोनम का गेम स्ट्रांग करना होगा वहीं तभी सॉन्ग को जब उन्हें रणजी गेम को ज्यादा खेलेंगे या फिर हम कह सकते हैं IPL को ज्यादा करें क्योंकि करो देखे तो 6 अप्रैल को जो है IPL कॉन्ट्रैक्ट मिल चुके हैं और हमें शर्मा जो है ना खुद काहे कीजिए प्लीज ऐसे जो कि भारत एक किले खेलने वाले तू खाना खा पर अगर इस प्रकार से का प्रयोग खेलते टू डेवलप गिल न्यू प्रेशर को कम करने को मिलेगा कि कि अंडर-19 वर्ल्ड कप उन्हें बता पैसे को वर्क करने को नहीं मिला होगा जितना टीम इंडिया के इंटरनेशनल स्तर पर चाहिए रहेगा तो खाना कहां पर हो प्लीज कितना एक्सपोज़र मिलता है अगले 506 साल तक उसके बाद जो है मेरे हिसाब से वह टीम के ला सकते हैं तो यह मेरी राय हैLikhe Purv Bhartiya Tez Gendbaj Aur Bcci Ke Chief Junior Letter Venkatesh Prasad Ka Jo Manana Hai Ki Under Team India Ke Vijeta Khiladi Jo Hai Unhen Team Mein Nahi Lena Chahiye Kyonki Jis Prakar Se Inki Hume Charity Abhi Bhi Hai Jo Ki Unhone Khud Kaha Hai Venkatesh Ne Khud Yeh Kaha Hai Ki Jo Fast Track Wah Please Jo Hai Yeh Handle Nahi Kar Paenge Press Aur Yahi Kaaran Hoga Kya Unko Future Kharab Bhi Kar Sakte Hain Aur Agar Hamari Team Mein Lete Hain To Unhen Jo Hai Khud Par Doubt Hona Bhi Shuru Ho Jayega To Kaha Na Kaho Par Unhone Jo Kaha Wah Bilkul Sahi Kaha Hai Kyonki Abhi Dekha Jaye To Haan Unhone Under World Cup Jeeta Hai Haan SMS Aise Kai Sare Super Stars Jo Hai Hume Dikh Raha Hai Jaise Kamlesh Anar Ko Di Hai Ise Umavi Hai Shaam Ko Rail Hai Ya Phir Hum Kya Prithvi Shaw Ji Ke Captain Rah Chuke Subham Khel Jo Hai To Khana Kahan Par Yeh Sab Khiladiyon Ka Ek Behtareen Future Dikh Raha Hai Bhartiya Team Ke Liye Lekin Yeh Sare Players Ki Umar Bhi Jo Abhi Bahut Kaam Hai Abhi Wah Mahal Samane Se 18 Saal Ke Ho Gaye Aur Unke Ling Bada Future Wait Kar Raha Hai To Gairon Ne Team India Ke Liye Khelna Ho To Sabse Pehle Mere Saath Sonam Ka Game Strong Karna Hoga Wahin Tabhi Song Ko Jab Unhen Ranji Game Ko Jyada Khelenge Ya Phir Hum Keh Sakte Hain IPL Ko Jyada Karen Kyonki Karo Dekhe To 6 April Ko Jo Hai IPL Contracts Mil Chuke Hain Aur Hume Sharma Jo Hai Na Khud Kaahe Kijiye Please Aise Jo Ki Bharat Ek Kile Khelne Wale Tu Khana Kha Par Agar Is Prakar Se Ka Prayog Khelte To Develop Gil New Pressure Ko Kum Karne Ko Milega Ki Ki Under World Cup Unhen Bata Paise Ko Work Karne Ko Nahi Mila Hoga Jitna Team India Ke International Sthar Par Chahiye Rahega To Khana Kahan Par Ho Please Kitna Eksapozar Milta Hai Agle 506 Saal Tak Uske Baad Jo Hai Mere Hisab Se Wah Team Ke La Sakte Hain To Yeh Meri Rai Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल लग रहा है सब देश में सब जगह रिजर्वेशन मिल रहा है सिर्फ हमारे देश में ही नहीं बट बहुत देशों में रिजर्वेशन चालू होने लगा है यह बंद होना चाहिए सबको समान वस्तु मिलनी चाहिए पर देखते हैं कैसे-कैसे प्रश्न बांट रहा है 1 दिन ऐसा होगा 60% से 7% रिजर्वेशन होगा
Romanized Version
आजकल लग रहा है सब देश में सब जगह रिजर्वेशन मिल रहा है सिर्फ हमारे देश में ही नहीं बट बहुत देशों में रिजर्वेशन चालू होने लगा है यह बंद होना चाहिए सबको समान वस्तु मिलनी चाहिए पर देखते हैं कैसे-कैसे प्रश्न बांट रहा है 1 दिन ऐसा होगा 60% से 7% रिजर्वेशन होगाAajkal Lag Raha Hai Sab Desh Mein Sab Jagah Reservation Mil Raha Hai Sirf Hamare Desh Mein Hi Nahi But Bahut Deshon Mein Reservation Chalu Hone Laga Hai Yeh Band Hona Chahiye Sabko Saman Vastu Milani Chahiye Par Dekhte Hain Kaise Kaise Prashna Baant Raha Hai 1 Din Aisa Hoga 60% Se 7% Reservation Hoga
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2014 चैंपियन के बाद 24 दिन के कैंपेन के बाद में जिस तरह से मोदी गवर्नमेंट पावर में आ गई थी उन्होंने जो विश्वास जगाया था लोगों के अंदर वह शायद भूल गए हैं जो सारी प्रॉमिस इसकी थी लोगों के लोगों के साथ वैशाली प्रॉमिस भूल गई है और कुछ अपना ही काम अलग से कुछ अलग ही काम कर रही है अगर वह सब की सब कुछ छोड़कर अगर वह जो जो भी उन लोगों से प्रॉमिस किया था वह घर करें तो बेहतर रहेगा उन्होंने कहा था कि सब को जन्नत में ले गए सबके हाथ में पैसा होगा इकानामी बहुत अच्छी होगी वह कुछ नहीं हो रहा है अभी और शायद अगर कंसंट्रेट करें थोड़ा इंडिया के ऊपर तो बैठा रहेगा जो गरीब आदमी है उसको काफी सारे प्रॉमिस संस्कृति के उनको जॉब मिलेगी यह उनके गांव अच्छे बनाए दिए जाएंगे उनके घर अच्छे बनाई दिए जाएंगे उनको वह सब कुछ सुविधा मिलेगी जो एक आम हिंदुस्तानी नागरिक को मिलनी चाहिए बट टेक्स्ट प्रोसेस काफी स्लो है और काफी ढीलापन हो गया है गवर्नमेंट के अंदर तो इसके लिए ऐसे लग रहा है कि ठोकर मिल रही है बट अगर वह शराब प्रोसीजर को फास्ट करें और इंडिया पर ज्यादा कांस्टेंट करें इंडिया के लोगों पर ज्यादा पर सेट करें इंडिया के इंडियन को जो प्रॉमिस देते हैं उस पर ज्यादा ध्यान ज्यादा देने लगे अपने दूसरे कामों को छोड़कर जो कर रही है गवर्नमेंट जैसे कि बाहर जाकर इंडियन के रिलेशंस बढ़ाना सबके साथ बाहर अलग-अलग कंट्री सिटी का नाम एक इंपॉर्टेंट है आई एम टोटली कलेक्ट्रेट पर तट सबसे पहले इंपॉर्टेंट है यहां के लोग अगर उसमें ज्यादा ध्यान दिया जाए तो बेहतर रहेगा
Romanized Version
2014 चैंपियन के बाद 24 दिन के कैंपेन के बाद में जिस तरह से मोदी गवर्नमेंट पावर में आ गई थी उन्होंने जो विश्वास जगाया था लोगों के अंदर वह शायद भूल गए हैं जो सारी प्रॉमिस इसकी थी लोगों के लोगों के साथ वैशाली प्रॉमिस भूल गई है और कुछ अपना ही काम अलग से कुछ अलग ही काम कर रही है अगर वह सब की सब कुछ छोड़कर अगर वह जो जो भी उन लोगों से प्रॉमिस किया था वह घर करें तो बेहतर रहेगा उन्होंने कहा था कि सब को जन्नत में ले गए सबके हाथ में पैसा होगा इकानामी बहुत अच्छी होगी वह कुछ नहीं हो रहा है अभी और शायद अगर कंसंट्रेट करें थोड़ा इंडिया के ऊपर तो बैठा रहेगा जो गरीब आदमी है उसको काफी सारे प्रॉमिस संस्कृति के उनको जॉब मिलेगी यह उनके गांव अच्छे बनाए दिए जाएंगे उनके घर अच्छे बनाई दिए जाएंगे उनको वह सब कुछ सुविधा मिलेगी जो एक आम हिंदुस्तानी नागरिक को मिलनी चाहिए बट टेक्स्ट प्रोसेस काफी स्लो है और काफी ढीलापन हो गया है गवर्नमेंट के अंदर तो इसके लिए ऐसे लग रहा है कि ठोकर मिल रही है बट अगर वह शराब प्रोसीजर को फास्ट करें और इंडिया पर ज्यादा कांस्टेंट करें इंडिया के लोगों पर ज्यादा पर सेट करें इंडिया के इंडियन को जो प्रॉमिस देते हैं उस पर ज्यादा ध्यान ज्यादा देने लगे अपने दूसरे कामों को छोड़कर जो कर रही है गवर्नमेंट जैसे कि बाहर जाकर इंडियन के रिलेशंस बढ़ाना सबके साथ बाहर अलग-अलग कंट्री सिटी का नाम एक इंपॉर्टेंट है आई एम टोटली कलेक्ट्रेट पर तट सबसे पहले इंपॉर्टेंट है यहां के लोग अगर उसमें ज्यादा ध्यान दिया जाए तो बेहतर रहेगा2014 Champion Ke Baad 24 Din Ke Campaign Ke Baad Mein Jis Tarah Se Modi Government Power Mein Aa Gayi Thi Unhone Jo Vishwas Jagaaya Tha Logon Ke Andar Wah Shayad Bhul Gaye Hain Jo Saree Promise Iski Thi Logon Ke Logon Ke Saath Vaishali Promise Bhul Gayi Hai Aur Kuch Apna Hi Kaam Alag Se Kuch Alag Hi Kaam Kar Rahi Hai Agar Wah Sab Ki Sab Kuch Chodkar Agar Wah Jo Jo Bhi Un Logon Se Promise Kiya Tha Wah Ghar Karen To Behtar Rahega Unhone Kaha Tha Ki Sab Ko Jannat Mein Le Gaye Sabke Hath Mein Paisa Hoga Ikanami Bahut Acchi Hogi Wah Kuch Nahi Ho Raha Hai Abhi Aur Shayad Agar Concentrate Karen Thoda India Ke Upar To Baitha Rahega Jo Garib Aadmi Hai Usko Kafi Sare Promise Sanskriti Ke Unko Job Milegi Yeh Unke Gav Acche Banaye Diye Jaenge Unke Ghar Acche Banai Diye Jaenge Unko Wah Sab Kuch Suvidha Milegi Jo Ek Aam Hindustani Nagarik Ko Milani Chahiye But Text Process Kafi Slow Hai Aur Kafi Dhilapan Ho Gaya Hai Government Ke Andar To Iske Liye Aise Lag Raha Hai Ki Thokar Mil Rahi Hai But Agar Wah Sharab Procedure Ko Fast Karen Aur India Par Jyada Kanstent Karen India Ke Logon Par Jyada Par Set Karen India Ke Indian Ko Jo Promise Dete Hain Us Par Jyada Dhyan Jyada Dene Lage Apne Dusre Kamon Ko Chodkar Jo Kar Rahi Hai Government Jaise Ki Bahar Jaakar Indian Ke Rileshans Badhana Sabke Saath Bahar Alag Alag Country City Ka Naam Ek Important Hai Eye Em Totally Kalektret Par Tat Sabse Pehle Important Hai Yahan Ke Log Agar Usamen Jyada Dhyan Diya Jaye To Behtar Rahega
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिटकॉइन में पारिवारिक $11000 की लेवल पार्टी और उसके बाद ठीक 1000का गिरावट आया और फिर वह तुरंत से रिकवर कर जाती है वह सारा चीज एक दिन में होता है और यह जो पिछले 1 साल में इसकी जो ओवरऑल इनक्रीस है यह लगभग 900 परसेंट मतलब बहुत इकनोमिक अलग चीज है जो कि मतलब बहुत ही सरल है लेकिन इसका जो इसके पीछे का मेन कारण है यह मतलब जिसे जो लोग इस में इन्वेस्ट करते हैं उनका शायद उनका जो ग्रीन है उनका जो लालच है कि यह और भी इनक्रीस करेगा और भी इनक्रीस करेगा तो इस वजह से इसमें और भी ज्यादा मतलब इन्वेस्टमेंट होते हैं और भी ज्यादा इसकी मांग बढ़ती है और इसका जो प्राइस है इससे मतलब और भी ज्यादा इसकी प्राइस में भर्ती हो रही है तो डेफिनेटली आगे क्या होगा वह कोई नहीं बता सकता है और इसका जो मेन बनाने का जो मोटे था इनके जो जो भी फाउंडर हो
Romanized Version
बिटकॉइन में पारिवारिक $11000 की लेवल पार्टी और उसके बाद ठीक 1000का गिरावट आया और फिर वह तुरंत से रिकवर कर जाती है वह सारा चीज एक दिन में होता है और यह जो पिछले 1 साल में इसकी जो ओवरऑल इनक्रीस है यह लगभग 900 परसेंट मतलब बहुत इकनोमिक अलग चीज है जो कि मतलब बहुत ही सरल है लेकिन इसका जो इसके पीछे का मेन कारण है यह मतलब जिसे जो लोग इस में इन्वेस्ट करते हैं उनका शायद उनका जो ग्रीन है उनका जो लालच है कि यह और भी इनक्रीस करेगा और भी इनक्रीस करेगा तो इस वजह से इसमें और भी ज्यादा मतलब इन्वेस्टमेंट होते हैं और भी ज्यादा इसकी मांग बढ़ती है और इसका जो प्राइस है इससे मतलब और भी ज्यादा इसकी प्राइस में भर्ती हो रही है तो डेफिनेटली आगे क्या होगा वह कोई नहीं बता सकता है और इसका जो मेन बनाने का जो मोटे था इनके जो जो भी फाउंडर होBitcoin Mein Parivarik $11000 Ki Level Party Aur Uske Baad Theek Ka Giravat Aaya Aur Phir Wah Turant Se Recover Kar Jati Hai Wah Saara Cheez Ek Din Mein Hota Hai Aur Yeh Jo Pichle 1 Saal Mein Iski Jo Ovaraal Increase Hai Yeh Lagbhag 900 Percent Matlab Bahut Economic Alag Cheez Hai Jo Ki Matlab Bahut Hi Saral Hai Lekin Iska Jo Iske Piche Ka Main Kaaran Hai Yeh Matlab Jise Jo Log Is Mein Invest Karte Hain Unka Shayad Unka Jo Green Hai Unka Jo Lalach Hai Ki Yeh Aur Bhi Increase Karega Aur Bhi Increase Karega To Is Wajah Se Isme Aur Bhi Jyada Matlab Investment Hote Hain Aur Bhi Jyada Iski Maang Badhti Hai Aur Iska Jo Price Hai Isse Matlab Aur Bhi Jyada Iski Price Mein Bharti Ho Rahi Hai To Definetli Aage Kya Hoga Wah Koi Nahi Bata Sakta Hai Aur Iska Jo Main Banane Ka Jo Mote Tha Inke Jo Jo Bhi Founder Ho
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पृथ्वी कुछ आईपीएल में आज नाचते हुए थे जो पहले हुए थे उनमें युवराज सिंह का प्रदर्शन को ज्यादा अच्छा नहीं रहा वो कोई साधारण नहीं बना पाए और अभी भी जो तेरे सीरीज आज भी मौजूद है उनमें भी हो इतना कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए तो और वह फिजिकली पर्वत नेट पैक नहीं है जितना कि वह पहले थे अब की बार जरूर है कि जल्दी से उम्र बढ़ती है वैसे वैसे एक्सपीरियंस पड़ता है तो आप एक अच्छे खिलाडी बंध जाते हो लेकिन फिजिकली आप को सपोर्ट करना भी उतना ही जरूरी है तो अभी के लिए मुझे लगता है कि मैं यह तो नहीं कहूंगी क्यों नहीं संयास ले लेना चाहिए नहीं रिटायरमेंट है देनी चाहिए उन्हें थोड़ा IPL वगैरह में अगर वह मतलब आईपीएल में तो मेरे साथ को साथ खेल भी ले चुकी आईपीएल कोई मतलब मतलब ट्रीटमेंट फॉर पाइल्स के लिए ज्यादा है और कोई देशों को कम पसंद करते हैं बट जो इंडिया क्रिकेट टीम है अगर वह सच में इतने जल्दी नहीं है अगर वह अपने प्रोफेशन नहीं है अभी अपने अपने गेम में और अगर सच में उनकी जो फिजिकल हेल्थ है जो वह हेल्थ है बोलने को कम कर रही है उनको परेशान करे तो मुझे लगता पुणे टाइमिंग लेनी चाहिए क्योंकि रिटायरमेंट लेना कोई बुरी चीज नहीं है उन्होंने अपना कॉन्स्टिट्यूशन दिया है देश को बहुत अच्छे तो उन्होंने खेले हैं बहुत सारे माचिस अग्रवाल टाइमिंग ले लेंगे तो शायद उनके लिए उनकी हेल्थ के लिए भी अच्छा होगा और इंडियन क्रिकेट टीम के लिए भी
Romanized Version
देखिए पृथ्वी कुछ आईपीएल में आज नाचते हुए थे जो पहले हुए थे उनमें युवराज सिंह का प्रदर्शन को ज्यादा अच्छा नहीं रहा वो कोई साधारण नहीं बना पाए और अभी भी जो तेरे सीरीज आज भी मौजूद है उनमें भी हो इतना कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए तो और वह फिजिकली पर्वत नेट पैक नहीं है जितना कि वह पहले थे अब की बार जरूर है कि जल्दी से उम्र बढ़ती है वैसे वैसे एक्सपीरियंस पड़ता है तो आप एक अच्छे खिलाडी बंध जाते हो लेकिन फिजिकली आप को सपोर्ट करना भी उतना ही जरूरी है तो अभी के लिए मुझे लगता है कि मैं यह तो नहीं कहूंगी क्यों नहीं संयास ले लेना चाहिए नहीं रिटायरमेंट है देनी चाहिए उन्हें थोड़ा IPL वगैरह में अगर वह मतलब आईपीएल में तो मेरे साथ को साथ खेल भी ले चुकी आईपीएल कोई मतलब मतलब ट्रीटमेंट फॉर पाइल्स के लिए ज्यादा है और कोई देशों को कम पसंद करते हैं बट जो इंडिया क्रिकेट टीम है अगर वह सच में इतने जल्दी नहीं है अगर वह अपने प्रोफेशन नहीं है अभी अपने अपने गेम में और अगर सच में उनकी जो फिजिकल हेल्थ है जो वह हेल्थ है बोलने को कम कर रही है उनको परेशान करे तो मुझे लगता पुणे टाइमिंग लेनी चाहिए क्योंकि रिटायरमेंट लेना कोई बुरी चीज नहीं है उन्होंने अपना कॉन्स्टिट्यूशन दिया है देश को बहुत अच्छे तो उन्होंने खेले हैं बहुत सारे माचिस अग्रवाल टाइमिंग ले लेंगे तो शायद उनके लिए उनकी हेल्थ के लिए भी अच्छा होगा और इंडियन क्रिकेट टीम के लिए भीDekhie Prithvi Kuch Ipl Mein Aaj Naachte Hue The Jo Pehle Hue The Unmen Yuvraj Singh Ka Pradarshan Ko Jyada Accha Nahi Raha Vo Koi Sadhaaran Nahi Bana Paye Aur Abhi Bhi Jo Tere Series Aaj Bhi Maujud Hai Unmen Bhi Ho Itna Kuch Khas Pradarshan Nahi Kar Paye To Aur Wah Physically Parwat Net Pack Nahi Hai Jitna Ki Wah Pehle The Ab Ki Baar Jarur Hai Ki Jaldi Se Umar Badhti Hai Waise Waise Experience Padata Hai To Aap Ek Acche Khiladi Bandh Jaate Ho Lekin Physically Aap Ko Support Karna Bhi Utana Hi Zaroori Hai To Abhi Ke Liye Mujhe Lagta Hai Ki Main Yeh To Nahi Kahungi Kyun Nahi Sanyas Le Lena Chahiye Nahi Retirement Hai Deni Chahiye Unhen Thoda IPL Vagairah Mein Agar Wah Matlab Ipl Mein To Mere Saath Ko Saath Khel Bhi Le Chuki Ipl Koi Matlab Matlab Treatment For Piles Ke Liye Jyada Hai Aur Koi Deshon Ko Kum Pasand Karte Hain But Jo India Cricket Team Hai Agar Wah Sach Mein Itne Jaldi Nahi Hai Agar Wah Apne Profession Nahi Hai Abhi Apne Apne Game Mein Aur Agar Sach Mein Unki Jo Physical Health Hai Jo Wah Health Hai Bolne Ko Kum Kar Rahi Hai Unko Pareshan Kare To Mujhe Lagta Pune Timing Leni Chahiye Kyonki Retirement Lena Koi Buri Cheez Nahi Hai Unhone Apna Constitution Diya Hai Desh Ko Bahut Acche To Unhone Khele Hain Bahut Sare Machis Agrawal Timing Le Lenge To Shayad Unke Liye Unki Health Ke Liye Bhi Accha Hoga Aur Indian Cricket Team Ke Liye Bhi
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर व्यक्ति चाहता है कि वह अपने जीवन में सफलता प्राप्त करें एक कामयाब इंसान बने और इसके लिए जरूरी है कि वह कुछ ऐसा करें इसमें से कामयाबी हासिल हो और वो वही करेगा जिसमें उसकी पसंद होगी जिसमें उसका मन होगा और जो कार्य हो उसे लगता है कि वह अच्छी तरह से कर सकता है उसी को पूछूंगा और जब अपनी पसंद का कोई कार्य करेगा और अपनी पूरी लगन से पूरी मेहनत से उसमें अपने आप को लगा देगा तो जरूर वह सफल भी होगा वह सफल होगा वह कामयाब होगा तब उसे लगेगा कि हां उसने जिंदगी में कुछ पाया है वह जिंदगी में कुछ बनना है और यही हर इंसान का होता है कि वह कुछ बन कर दिखाए अपने परिवार को अपने आसपास के लोगों को अपने दोस्तों को सभी को एक कामयाब इंसान बन की दिखाएं लोग कहे कि हां इसमें यह कार्य किया और यह इस में कामयाब हुआ तो कामयाबी इंसान के लिए बहुत जरूरी होती है इसीलिए वह अपने पसंद का कोई ऐसा काम चलेगा जिसमें उसे पूरा भरोसा हो यह उसे कामयाबी दिलाएगी तो इसमें कोई भी इंसान कुछ भी बनना के लिए सोच सकता है और वह जा सकता है कि वह क्या बनेगा वह कोई भी लाइन अपने हिसाब से चल सकता है डॉक्टर इंजीनियर लॉयर कोई बिजनेसमैन उसका जरूर लक्ष्य रहेगा कि उसे इस मुकाम पर पहुंचना है और इस रास्ते पर चलकर पहुंचना है और अगर वह कामयाब होना चाहेगा तो वह पूरी मेहनत करेगा पूरी लगन से उसकी तरफ बढ़ेगा और जरूर एक दिन एक कामयाब इंसान बनेगा
Romanized Version
हर व्यक्ति चाहता है कि वह अपने जीवन में सफलता प्राप्त करें एक कामयाब इंसान बने और इसके लिए जरूरी है कि वह कुछ ऐसा करें इसमें से कामयाबी हासिल हो और वो वही करेगा जिसमें उसकी पसंद होगी जिसमें उसका मन होगा और जो कार्य हो उसे लगता है कि वह अच्छी तरह से कर सकता है उसी को पूछूंगा और जब अपनी पसंद का कोई कार्य करेगा और अपनी पूरी लगन से पूरी मेहनत से उसमें अपने आप को लगा देगा तो जरूर वह सफल भी होगा वह सफल होगा वह कामयाब होगा तब उसे लगेगा कि हां उसने जिंदगी में कुछ पाया है वह जिंदगी में कुछ बनना है और यही हर इंसान का होता है कि वह कुछ बन कर दिखाए अपने परिवार को अपने आसपास के लोगों को अपने दोस्तों को सभी को एक कामयाब इंसान बन की दिखाएं लोग कहे कि हां इसमें यह कार्य किया और यह इस में कामयाब हुआ तो कामयाबी इंसान के लिए बहुत जरूरी होती है इसीलिए वह अपने पसंद का कोई ऐसा काम चलेगा जिसमें उसे पूरा भरोसा हो यह उसे कामयाबी दिलाएगी तो इसमें कोई भी इंसान कुछ भी बनना के लिए सोच सकता है और वह जा सकता है कि वह क्या बनेगा वह कोई भी लाइन अपने हिसाब से चल सकता है डॉक्टर इंजीनियर लॉयर कोई बिजनेसमैन उसका जरूर लक्ष्य रहेगा कि उसे इस मुकाम पर पहुंचना है और इस रास्ते पर चलकर पहुंचना है और अगर वह कामयाब होना चाहेगा तो वह पूरी मेहनत करेगा पूरी लगन से उसकी तरफ बढ़ेगा और जरूर एक दिन एक कामयाब इंसान बनेगाHer Vyakti Chahta Hai Qi Wah Apne Jeevan Mein Safalta Prapt Karein Ek Kamyab Insaan Bane Aur Iske Lie Zaroori Hai Qi Wah Kuch Aisa Karein Ismein Se Kaamyaabi Hashil Ho Aur Vo Whey Karega Jisamein Uski Pasad Hogi Jisamein Uska Mana Hoga Aur Joe Karya Ho Usse Lagta Hai Qi Wah Achchhee Turha Se Car Sakta Hai Ussi Co Puchunga Aur Jab Apni Pasad Ka Koi Karya Karega Aur Apni Poori Lagna Se Poori Mehanat Se Usme Apne Aap Co Laga Dega To Jarur Wah Safal Bhi Hoga Wah Safal Hoga Wah Kamyab Hoga Taba Usse Lagega Qi Han Usne Jindagi Mein Kuch PAYA Hai Wah Jindagi Mein Kuch Banana Hai Aur Yahi Her Insaan Ka Hota Hai Qi Wah Kuch Bun Car Dikhaae Apne Parivar Co Apne Aaspass K Logon Co Apne Doston Co Sabhi Co Ek Kamyab Insaan Bun Ki Dikhaen Log Kahe Qi Han Ismein Yeh Karya Kiya Aur Yeh Is Mein Kamyab Hua To Kaamyaabi Insaan K Lie Bahut Zaroori Hoti Hai Isiliye Wah Apne Pasad Ka Koi Aisa Kama Chalega Jisamein Usse Poora Bharosa Ho Yeh Usse Kaamyaabi Dilaaegi To Ismein Koi Bhi Insaan Kuch Bhi Banana K Lie Soch Sakta Hai Aur Wah Ja Sakta Hai Qi Wah Kya Banega Wah Koi Bhi Line Apne Hisaab Se Chal Sakta Hai Doctor Engineer Lawyer Koi Bijnesmain Uska Jarur Lakshya Rahega Qi Usse Is MUKAM Per Pahunchana Hai Aur Is Raste Per Challekara Pahunchana Hai Aur Agar Wah Kamyab Hona Chahega To Wah Poori Mehanat Karega Poori Lagna Se Uski Tarf Badhega Aur Jarur Ek Din Ek Kamyab Insaan Banega
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यार एक के धार्मिक धर्म के प्रति हम नहीं बोल सकते किसी की भावना क्या है किसी को ठेस नहीं पहुंचा सकते तो जो किया गया है जैसे किया गया उनके मत के अनुसार किया गया होगा तो हम जैसे ही रहने देते हैं वरना कोई डिबेट शुरू हो जाएगा
Romanized Version
यार एक के धार्मिक धर्म के प्रति हम नहीं बोल सकते किसी की भावना क्या है किसी को ठेस नहीं पहुंचा सकते तो जो किया गया है जैसे किया गया उनके मत के अनुसार किया गया होगा तो हम जैसे ही रहने देते हैं वरना कोई डिबेट शुरू हो जाएगाYaar Ek Ke Dharmik Dharm Ke Prati Hum Nahi Bol Sakte Kisi Ki Bhavna Kya Hai Kisi Ko Thes Nahi Pahuncha Sakte To Jo Kiya Gaya Hai Jaise Kiya Gaya Unke Mat Ke Anusar Kiya Gaya Hoga To Hum Jaise Hi Rehne Dete Hain Varana Koi Debate Shuru Ho Jayega
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अखिलेश यादव ने संडे को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को एड्रेस करते हुए बोला नोएडा जिनके बारे में जाने की एक सुपर स्टेशन है एक अंधविश्वास है कि कोई भी पॉलिटिकल पार्टी का नेता या चीफ मिनिस्टर गर नॉएडा चाहते हैं तो फिर दोबारा पापा में नहीं आते तो इन्होंने भी बात करते हुए बोला अखिलेश यादव ने की अभियानों का अभाव में नहीं आएंगे इसके बारे में बात करें तो कुछ आता को सही भी है कुछ आपको गलत क्योंकि देखिए अगर हम योगी जी के बात करें तो वह ऐसा कुछ बहुत कमाल नहीं कर पाया यूपी में कि सरकार लोगों ने दुबारा लेफ्ट कर बैठा उन्होंने कुछ चीज़ें किसी अच्छी लेकिन जिस उन्होंने बिल्डिंग को भगवा रंग कर दिया या फिर जो भी उनके हिंदू धर्म को लेकर जो वह पॉजिटिव उनके दिमाग होता है जो बाकी धर्मों के अगेंस्ट होते हैं इस बातें तू करती है कि शायद वो दोबारा सत्ता में ना आए मोदी की बात करें तो उन्होंने भी ऐसे कई बड़े रिवोल्यूशनरी हैं जिनके लॉन्ग टर्म मैंने पर सभी लोगों को परेशानी का सबब ही बने हुए जैसे की डिमांड डाइजेशन को ले लीजिए जीएसटी को ले लीजिए लेकिन बस अब एक साल बाकी है यह जाने में कि दोनों पापा पेशाब में आएंगे कि नहीं आएंगे मुझे मोदी जी के चांसेस तो फिर भी लगते हैं बाद में आने के दाता हैं अगर हम योगी जी से कम प्यार करें तो
Romanized Version
देखिए अखिलेश यादव ने संडे को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को एड्रेस करते हुए बोला नोएडा जिनके बारे में जाने की एक सुपर स्टेशन है एक अंधविश्वास है कि कोई भी पॉलिटिकल पार्टी का नेता या चीफ मिनिस्टर गर नॉएडा चाहते हैं तो फिर दोबारा पापा में नहीं आते तो इन्होंने भी बात करते हुए बोला अखिलेश यादव ने की अभियानों का अभाव में नहीं आएंगे इसके बारे में बात करें तो कुछ आता को सही भी है कुछ आपको गलत क्योंकि देखिए अगर हम योगी जी के बात करें तो वह ऐसा कुछ बहुत कमाल नहीं कर पाया यूपी में कि सरकार लोगों ने दुबारा लेफ्ट कर बैठा उन्होंने कुछ चीज़ें किसी अच्छी लेकिन जिस उन्होंने बिल्डिंग को भगवा रंग कर दिया या फिर जो भी उनके हिंदू धर्म को लेकर जो वह पॉजिटिव उनके दिमाग होता है जो बाकी धर्मों के अगेंस्ट होते हैं इस बातें तू करती है कि शायद वो दोबारा सत्ता में ना आए मोदी की बात करें तो उन्होंने भी ऐसे कई बड़े रिवोल्यूशनरी हैं जिनके लॉन्ग टर्म मैंने पर सभी लोगों को परेशानी का सबब ही बने हुए जैसे की डिमांड डाइजेशन को ले लीजिए जीएसटी को ले लीजिए लेकिन बस अब एक साल बाकी है यह जाने में कि दोनों पापा पेशाब में आएंगे कि नहीं आएंगे मुझे मोदी जी के चांसेस तो फिर भी लगते हैं बाद में आने के दाता हैं अगर हम योगी जी से कम प्यार करें तोDekhie Akhilesh Yadav Ne Sunday Ko Ek Press Conference Ko Address Karte Hue Bola Noida Jinke Baare Mein Jaane Ki Ek Super Station Hai Ek Andhavishvas Hai Ki Koi Bhi Political Party Ka Neta Ya Chief Minister Gr Noida Chahte Hain To Phir Dobara Papa Mein Nahi Aate To Inhone Bhi Baat Karte Hue Bola Akhilesh Yadav Ne Ki Abhiyanon Ka Abhaav Mein Nahi Aayenge Iske Baare Mein Baat Karen To Kuch Aata Ko Sahi Bhi Hai Kuch Aapko Galat Kyonki Dekhie Agar Hum Yogi Ji Ke Baat Karen To Wah Aisa Kuch Bahut Kamal Nahi Kar Paya Up Mein Ki Sarkar Logon Ne Dubara Left Kar Baitha Unhone Kuch Chizen Kisi Acchi Lekin Jis Unhone Building Ko Bhagva Rang Kar Diya Ya Phir Jo Bhi Unke Hindu Dharm Ko Lekar Jo Wah Positive Unke Dimag Hota Hai Jo Baki Dharmon Ke Against Hote Hain Is Batein Tu Karti Hai Ki Shayad Vo Dobara Satta Mein Na Aaye Modi Ki Baat Karen To Unhone Bhi Aise Kai Bade Rivolyushanari Hain Jinke Long Term Maine Par Sabhi Logon Ko Pareshani Ka Sabab Hi Bane Hue Jaise Ki Demand Daijeshan Ko Le Lijiye Gst Ko Le Lijiye Lekin Bus Ab Ek Saal Baki Hai Yeh Jaane Mein Ki Dono Papa Peshab Mein Aayenge Ki Nahi Aayenge Mujhe Modi Ji Ke Chances To Phir Bhi Lagte Hain Baad Mein Aane Ke Data Hain Agar Hum Yogi Ji Se Kum Pyar Karen To
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
vokalandroid