चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि काल से भारतीय परंपरा ऐसी चलती आ रही है कि बचपन में मां-बाप बच्चों का ध्यान रखेंगे और बड़े होकर बच्चे अपने मां बाप का ध्यान रखते हैं यह एक अनकही अनदेखी सी बात है लेकिन यह चलती आ रही है इसमें यह है कि बच्चों को बचपन से आर्थिक स्वतंत्रता नहीं दी जाती जैसे कि विदेश के बच्चों को होता है बच्चे वहां के पॉकेट मनी ऑन करते हैं और जॉब्स करते हैं कोई गार्डनिंग करता है कोई घर की सफाई में मदद करें तो भी मां-बाप उन्हें पैसे देते इस तरीके से बचपन से उनके मन में यह सिखाया जाता है किस तरीके से पैसे कमाए जाते हैं भारत में इतना ज्यादा पॉकेट मनी जो है वह बच्चों को काम के लिए नहीं दिया जाता उनको बिना काम करेगी बच्चों को कई बारी दिया जाता है तू जब तक कि हमारे यहां यह चलता है कि अब बिना काम करे आपको पैसे नहीं मिलेंगे आपको काम करेंगे तभी मिलेगा जब वह सिस्टम हमारे यहां आ जाएगा तब शायद बच्चे थोड़ी सक्षम हो जाएंगे कि वह अपने पैसे खुद कमा सके किंतु यहां बच्चों के ऊपर पढ़ाई का जोर इतना ज्यादा है कि मुझे लगता नहीं है कि 18 साल की उम्र में बच्चे अपने आप से आत्मनिर्भर हो सकते हैं और अपने पूरी शिक्षा का पूरा भार उठा सकते हैं जब तक कि यह सिस्टम भारत में नहीं आता कि बच्चे किसी तरह से पढ़ाई भी कर ले और पैसे भी कमा लेता जब तक कि उनमें इतनी ऑफ फ्रीडम और इतना वक्त और इतना इतनी सुविधाएं नहीं मिलेंगी कहां से बचे 18 साल के बच्चे अपने आप आत्मनिर्भर होंगी और अपना अपना पूरा ध्यान रख सकते हैं तो मेरा यह मानना है कि अभी टाइम है वक्त है जब यह हो सकता है हो सकता है कि धीरे-धीरे हम इस कदम पर
Romanized Version
आदि काल से भारतीय परंपरा ऐसी चलती आ रही है कि बचपन में मां-बाप बच्चों का ध्यान रखेंगे और बड़े होकर बच्चे अपने मां बाप का ध्यान रखते हैं यह एक अनकही अनदेखी सी बात है लेकिन यह चलती आ रही है इसमें यह है कि बच्चों को बचपन से आर्थिक स्वतंत्रता नहीं दी जाती जैसे कि विदेश के बच्चों को होता है बच्चे वहां के पॉकेट मनी ऑन करते हैं और जॉब्स करते हैं कोई गार्डनिंग करता है कोई घर की सफाई में मदद करें तो भी मां-बाप उन्हें पैसे देते इस तरीके से बचपन से उनके मन में यह सिखाया जाता है किस तरीके से पैसे कमाए जाते हैं भारत में इतना ज्यादा पॉकेट मनी जो है वह बच्चों को काम के लिए नहीं दिया जाता उनको बिना काम करेगी बच्चों को कई बारी दिया जाता है तू जब तक कि हमारे यहां यह चलता है कि अब बिना काम करे आपको पैसे नहीं मिलेंगे आपको काम करेंगे तभी मिलेगा जब वह सिस्टम हमारे यहां आ जाएगा तब शायद बच्चे थोड़ी सक्षम हो जाएंगे कि वह अपने पैसे खुद कमा सके किंतु यहां बच्चों के ऊपर पढ़ाई का जोर इतना ज्यादा है कि मुझे लगता नहीं है कि 18 साल की उम्र में बच्चे अपने आप से आत्मनिर्भर हो सकते हैं और अपने पूरी शिक्षा का पूरा भार उठा सकते हैं जब तक कि यह सिस्टम भारत में नहीं आता कि बच्चे किसी तरह से पढ़ाई भी कर ले और पैसे भी कमा लेता जब तक कि उनमें इतनी ऑफ फ्रीडम और इतना वक्त और इतना इतनी सुविधाएं नहीं मिलेंगी कहां से बचे 18 साल के बच्चे अपने आप आत्मनिर्भर होंगी और अपना अपना पूरा ध्यान रख सकते हैं तो मेरा यह मानना है कि अभी टाइम है वक्त है जब यह हो सकता है हो सकता है कि धीरे-धीरे हम इस कदम परAadi Kaal Se Bharatiya Parampara Aisi Chalti Aa Rahi Hai Ki Bachpan Mein Maa Baap Bacchon Ka Dhyan Rakhenge Aur Bade Hokar Bacche Apne Maa Baap Ka Dhyan Rakhate Hain Yeh Ek Ankahi Andekha Si Baat Hai Lekin Yeh Chalti Aa Rahi Hai Isme Yeh Hai Ki Bacchon Ko Bachpan Se Aarthik Svatantrata Nahi Di Jati Jaise Ki Videsh Ke Bacchon Ko Hota Hai Bacche Wahan Ke Pocket Money On Karte Hain Aur Jobs Karte Hain Koi Gardening Karta Hai Koi Ghar Ki Safaai Mein Madad Karen To Bhi Maa Baap Unhen Paise Dete Is Tarike Se Bachpan Se Unke Man Mein Yeh Sikhaya Jata Hai Kis Tarike Se Paise Kamaye Jaate Hain Bharat Mein Itna Zyada Pocket Money Jo Hai Wah Bacchon Ko Kaam Ke Liye Nahi Diya Jata Unko Bina Kaam Karegi Bacchon Ko Kai Baari Diya Jata Hai Tu Jab Tak Ki Hamare Yahan Yeh Chalta Hai Ki Ab Bina Kaam Kare Aapko Paise Nahi Milenge Aapko Kaam Karenge Tabhi Milega Jab Wah System Hamare Yahan Aa Jayega Tab Shayad Bacche Thodi Saksham Ho Jaenge Ki Wah Apne Paise Khud Kama Sake Kintu Yahan Bacchon Ke Upar Padhai Ka Jor Itna Zyada Hai Ki Mujhe Lagta Nahi Hai Ki 18 Saal Ki Umar Mein Bacche Apne Aap Se Aatmanirbhar Ho Sakte Hain Aur Apne Puri Shiksha Ka Pura Bhar Utha Sakte Hain Jab Tak Ki Yeh System Bharat Mein Nahi Aata Ki Bacche Kisi Tarah Se Padhai Bhi Kar Le Aur Paise Bhi Kama Leta Jab Tak Ki Unmen Itni Of Freedom Aur Itna Waqt Aur Itna Itni Suvidhaen Nahi Milengi Kahaan Se Bache 18 Saal Ke Bacche Apne Aap Aatmanirbhar Hongi Aur Apna Apna Pura Dhyan Rakh Sakte Hain To Mera Yeh Manana Hai Ki Abhi Time Hai Waqt Hai Jab Yeh Ho Sakta Hai Ho Sakta Hai Ki Dhire Dhire Hum Is Kadam Par
Likes  90  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से तो निश्चित रूप से आ रहे हैं उनका मानना है कि लोग जरूर सहमत मिलते हैं मोदी की नीतियों के
मेरे हिसाब से तो निश्चित रूप से आ रहे हैं उनका मानना है कि लोग जरूर सहमत मिलते हैं मोदी की नीतियों के
Likes  72  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केवल शिवसेना ही नहीं बाकी कई लोग सामान्य लोग भी यह डाउट करते हैं कि शायद वाजपेई जी का निधन 15 अगस्त को ही हो क्या पर यह चीज कंफर्म करने के लिए मेरे एक दोस्त है मैंने कांटेक्ट किया जिनकी हां माइंस में काम करती है जहां पर वाजपेई जी एडमिट थी उन्होंने कंफर्म किया कि ऐसा कोई भी सिचुएशन नहीं थी कि उनकी डेट 15 को ही हो गए थे उसके बाद अगर आप यह सोचने अगर मोदी जी को पॉलिटिकल एडवांटेज ही तू मेरे हिसाब से 15 अगस्त से बेहतर कोई दिन नहीं हो सकता एक बैटरी और जो कि वाजपेई जी थे उनके निधन को घोषित करने का अगर बात रही प्रधानमंत्री जी के भाषण की तो अगर सपोर्ट मोदी जी जैसे को अजान के समय रुकते हैं और वह एक मीडिया हाईलाइट हो जाता है आप सोच 15 अगस्त की भाषण में वह बीच में रोक के जाते जैसे ही उनको समाचार मिलता कि अटल जीना नहीं रहे उस टाइम देखो कितना बड़ा एक स्टेटमेंट होता जैसे उन्होंने 6 किलोमीटर कि उनकी अंतिम यात्रा में चल के पैदल चलकर एक स्टेटमेंट क्रिएट किया तो मुझे नहीं लगता कि इसमें यह वाला कुछ अलग होना चाहिए रही बात उन की टाइमिंग की तो 15 या 16 अप्रैल 1994 के हो चुके थे और काफी समय से बीमार चल रहे थे तो यह न्यूज़ सिर्फ आज क्या कल की बात थी सबको पता था कि यह बहुत जल्दी आपको यह न्यूज़ मिलने वाली है अब क्या डेट है अभी बीजेपी को इससे कुछ फायदा होगा या नहीं मुझे नहीं लगता आज अभी हम उस हालात में है कि एक पॉलिटिकल लीडर के मरने से पूरा वोटबैंक स्विंग हो सकता है अभी हम वेरी फास्ट सेंचुरी में है ना कि 1984 में जब यह राजीव गांधी की जीत हुई थी
Romanized Version
केवल शिवसेना ही नहीं बाकी कई लोग सामान्य लोग भी यह डाउट करते हैं कि शायद वाजपेई जी का निधन 15 अगस्त को ही हो क्या पर यह चीज कंफर्म करने के लिए मेरे एक दोस्त है मैंने कांटेक्ट किया जिनकी हां माइंस में काम करती है जहां पर वाजपेई जी एडमिट थी उन्होंने कंफर्म किया कि ऐसा कोई भी सिचुएशन नहीं थी कि उनकी डेट 15 को ही हो गए थे उसके बाद अगर आप यह सोचने अगर मोदी जी को पॉलिटिकल एडवांटेज ही तू मेरे हिसाब से 15 अगस्त से बेहतर कोई दिन नहीं हो सकता एक बैटरी और जो कि वाजपेई जी थे उनके निधन को घोषित करने का अगर बात रही प्रधानमंत्री जी के भाषण की तो अगर सपोर्ट मोदी जी जैसे को अजान के समय रुकते हैं और वह एक मीडिया हाईलाइट हो जाता है आप सोच 15 अगस्त की भाषण में वह बीच में रोक के जाते जैसे ही उनको समाचार मिलता कि अटल जीना नहीं रहे उस टाइम देखो कितना बड़ा एक स्टेटमेंट होता जैसे उन्होंने 6 किलोमीटर कि उनकी अंतिम यात्रा में चल के पैदल चलकर एक स्टेटमेंट क्रिएट किया तो मुझे नहीं लगता कि इसमें यह वाला कुछ अलग होना चाहिए रही बात उन की टाइमिंग की तो 15 या 16 अप्रैल 1994 के हो चुके थे और काफी समय से बीमार चल रहे थे तो यह न्यूज़ सिर्फ आज क्या कल की बात थी सबको पता था कि यह बहुत जल्दी आपको यह न्यूज़ मिलने वाली है अब क्या डेट है अभी बीजेपी को इससे कुछ फायदा होगा या नहीं मुझे नहीं लगता आज अभी हम उस हालात में है कि एक पॉलिटिकल लीडर के मरने से पूरा वोटबैंक स्विंग हो सकता है अभी हम वेरी फास्ट सेंचुरी में है ना कि 1984 में जब यह राजीव गांधी की जीत हुई थीKeval Shivsena Hea Nahin Baaki Kai Log Samanya Log Bhi Yeh Doubt Karte Hain Qi Shayad Vaajpei G Ka Nidhan 15 Agust Co Hea Ho Kya Per Yeh Chij Conform Karne K Lie Mere Ek Dost Hai Maine Kantekt Kiya Jinaki Han Mines Mein Kama Karti Hai Jhan Per Vaajpei G Edamit Thi Unhonne Conform Kiya Qi Aisa Koi Bhi Situation Nahin Thi Qi Unki Date 15 Co Hea Ho Ge The Uske Baad Agar Aap Yeh Sochne Agar Modi G Co Palitikal Edavantej Hea Tu Mere Hisaab Se 15 Agust Se Behtar Koi Din Nahin Ho Sakta Ek Battery Aur Joe Qi Vaajpei G The Unke Nidhan Co Ghosit Karne Ka Agar Baat Rahi Pradhaanmatree G K Bhaashan Ki To Agar Support Modi G Jaise Co Azaan K Samay Rukate Hain Aur Wah Ek Media Hailait Ho Jaata Hai Aap Soch 15 Agust Ki Bhaashan Mein Wah Beach Mein Rock K Jaate Jaise Hea Unko Samachar Milta Qi Atal Jeena Nahin Rahe Oosh Time Dekho Kitna Bada Ek Statement Hota Jaise Unhonne 6 KM Qi Unki Antim Yatra Mein Chal K Paidal Challekara Ek Statement Create Kiya To Mujhe Nahin Lagta Qi Ismein Yeh Wala Kuch Eluga Hona Chahie Rahi Baat Un Ki Timing Ki To 15 Ya 16 Aprail 1994 K Ho Chuke The Aur Kaafi Samay Se Bimaar Chal Rahe The To Yeh Nyuz Sirf Aj Kya Kal Ki Baat Thi Sabako Patta Thaa Qi Yeh Bahut Jaldi Aapko Yeh Nyuz Milney Wali Hai Aba Kya Date Hai Abhi BJP Co Issase Kuch Fayda Hoga Ya Nahin Mujhe Nahin Lagta Aj Abhi Hum Oosh Haalaat Mein Hai Qi Ek Palitikal Leader K Marney Se Poora Votbaink Swing Ho Sakta Hai Abhi Hum Very Fast CENTURY Mein Hai Na Qi 1984 Mein Jab Yeh Rajiv Gandhi Ki Jeet Hue Thi
Likes  17  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस बात का बहुत गर्व है कि मैं एक भारतीय हूं कोई भी विदेश हो या मतलब हर देश में अपना कोई नेगेटिव पॉजिटिव पॉइंट्स होता है हमारे देश में भी है पर यह देखना है कि पॉजिटिव क्या है हम लोग कितने पॉजिटिव आस्पेक्ट्स पर हम लोग आगे बढ़े हैं हमारे पॉजिटिव पॉइंट्स हमारे देश में यह पहला हम लोग एक सेकुलर कंट्री है एक डाइवोर्स कंट्री जहां पर जहां पर विभिन्न जाति धर्म रहते हैं हक थोड़ा बहुत अनबन है पर मैं यह मानती हूं कि यह सब जो बना बना है वह यह सारा राजनीतिक है अगर हम लोग क्योंकि हम लोग जहां पर काम पर जाते हैं लोगों से मिलते हमारे बीच में से कोई विश नहीं होता सिर्फ हम लोग यह ज्यादातर TV में देखते हैं इसका ज्यादातर जो श्रेय जाता हमारे पॉलिटिशंस को यह लोग कुछ आप बढ़ा चढ़ाकर उसको बनाते हैं वरना हम मेरे ख्याल से हम सब लोग बहुत मतलब प्लीज़ प्लीज़ है दूसरी बात जो भारत था जब ब्रिटिश ऑब्जरवेशन हमारे ऊपर जब दूर करते थे उन्होंने भारत को जिस हालत में छोड़कर गए और आज का जो भारत थे हमने बहुत प्रगति की है और भी करना है यह होगा अब क्योंकि भारत जो है एक छोटी सी दो देखने बहुत बड़ा देश है थोड़ा टाइम लगेगा मतलब हर क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए पर हम जिस तरह से आगे बढ़ना निकली और एजुकेशन की मतलब पहले लोग पढ़े लिखे भी नहीं थे खासकर अभी तू जो नागरिक है जागरुक हो रहे रूरल लेवल में भी बहुत मतलब लोगों को बहुत कुछ पता है और जिस तरह से इंटरनेट की यह पहल रही है बहुत ही ऐसा है जो मतलब से मतलब हम लोग इंप्रूवमेंट वह और भी है मेरे ख्याल से वह भी हो जाएंगे
Romanized Version
इस बात का बहुत गर्व है कि मैं एक भारतीय हूं कोई भी विदेश हो या मतलब हर देश में अपना कोई नेगेटिव पॉजिटिव पॉइंट्स होता है हमारे देश में भी है पर यह देखना है कि पॉजिटिव क्या है हम लोग कितने पॉजिटिव आस्पेक्ट्स पर हम लोग आगे बढ़े हैं हमारे पॉजिटिव पॉइंट्स हमारे देश में यह पहला हम लोग एक सेकुलर कंट्री है एक डाइवोर्स कंट्री जहां पर जहां पर विभिन्न जाति धर्म रहते हैं हक थोड़ा बहुत अनबन है पर मैं यह मानती हूं कि यह सब जो बना बना है वह यह सारा राजनीतिक है अगर हम लोग क्योंकि हम लोग जहां पर काम पर जाते हैं लोगों से मिलते हमारे बीच में से कोई विश नहीं होता सिर्फ हम लोग यह ज्यादातर TV में देखते हैं इसका ज्यादातर जो श्रेय जाता हमारे पॉलिटिशंस को यह लोग कुछ आप बढ़ा चढ़ाकर उसको बनाते हैं वरना हम मेरे ख्याल से हम सब लोग बहुत मतलब प्लीज़ प्लीज़ है दूसरी बात जो भारत था जब ब्रिटिश ऑब्जरवेशन हमारे ऊपर जब दूर करते थे उन्होंने भारत को जिस हालत में छोड़कर गए और आज का जो भारत थे हमने बहुत प्रगति की है और भी करना है यह होगा अब क्योंकि भारत जो है एक छोटी सी दो देखने बहुत बड़ा देश है थोड़ा टाइम लगेगा मतलब हर क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए पर हम जिस तरह से आगे बढ़ना निकली और एजुकेशन की मतलब पहले लोग पढ़े लिखे भी नहीं थे खासकर अभी तू जो नागरिक है जागरुक हो रहे रूरल लेवल में भी बहुत मतलब लोगों को बहुत कुछ पता है और जिस तरह से इंटरनेट की यह पहल रही है बहुत ही ऐसा है जो मतलब से मतलब हम लोग इंप्रूवमेंट वह और भी है मेरे ख्याल से वह भी हो जाएंगेIs Baat Ka Bahut Garv Hai Ki Main Ek Bharatiya Hoon Koi Bhi Videsh Ho Ya Matlab Har Desh Mein Apna Koi Negative Positive Points Hota Hai Hamare Desh Mein Bhi Hai Par Yeh Dekhna Hai Ki Positive Kya Hai Hum Log Kitne Positive Aspekts Par Hum Log Aage Badhe Hain Hamare Positive Points Hamare Desh Mein Yeh Pehla Hum Log Ek Secular Country Hai Ek Divorce Country Jahan Par Jahan Par Vibhinn Jati Dharm Rehte Hain Haq Thoda Bahut Anaban Hai Par Main Yeh Maanati Hoon Ki Yeh Sab Jo Bana Bana Hai Wah Yeh Saara Raajnitik Hai Agar Hum Log Kyonki Hum Log Jahan Par Kaam Par Jaate Hain Logon Se Milte Hamare Bich Mein Se Koi Wish Nahi Hota Sirf Hum Log Yeh Jyadatar TV Mein Dekhte Hain Iska Jyadatar Jo Shrey Jata Hamare Politicians Ko Yeh Log Kuch Aap Badha Chadhakar Usko Banate Hain Varana Hum Mere Khayal Se Hum Sab Log Bahut Matlab Please Please Hai Dusri Baat Jo Bharat Tha Jab British Observation Hamare Upar Jab Dur Karte The Unhone Bharat Ko Jis Halat Mein Chodkar Gaye Aur Aaj Ka Jo Bharat The Humne Bahut Pragati Ki Hai Aur Bhi Karna Hai Yeh Hoga Ab Kyonki Bharat Jo Hai Ek Choti Si Do Dekhne Bahut Bada Desh Hai Thoda Time Lagega Matlab Har Shetra Mein Aage Badhne Ke Liye Par Hum Jis Tarah Se Aage Badhana Nikli Aur Education Ki Matlab Pehle Log Padhe Likhe Bhi Nahi The Khaskar Abhi Tu Jo Nagarik Hai Jagaruk Ho Rahe Rural Level Mein Bhi Bahut Matlab Logon Ko Bahut Kuch Pata Hai Aur Jis Tarah Se Internet Ki Yeh Pahal Rahi Hai Bahut Hi Aisa Hai Jo Matlab Se Matlab Hum Log Improvement Wah Aur Bhi Hai Mere Khayal Se Wah Bhi Ho Jaenge
Likes  65  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर मैं आपको देशभक्ति पर बनी हुई तीन अपनी पसंद की फिल्में बताना चाहूंगा तुम्हें पहला नाम लूंगा गांधी गांधी उसको आप बोल सकते हैं कि वह देश भक्ति पर बनी फिल्म नहीं है वह गांधी की लाइफ स्टाइल पर है लेकिन उसमें जो देश का जो फ्रीडम हिस्ट्री कांस्टेबल समझ में आता है क्योंकि चाहे ना चाहे गांधी हमारे देश के स्वतंत्रता संग्राम के सबसे महत्वपूर्ण अंग है तो गांधी में आपको जो वह बहुत सारी घटनाएं और बहुत सारा बहुत सारा इंग्लिश समझ में आता है किस तरीके से गांधी लोग केवल अंग्रेजों से लड़ते थे बल्कि देश में होने वाली जो बुराइयां हैं जो सामाजिक बुराइयां हैं जिनसे हमारा देश आज भी आजाद नहीं हुआ है चाहे वह आरक्षण हो चाहे वह जातिवाद हो चाहे वह दंगे हूं चाहे वह धर्म के नाम पर लड़ाईयां हूं तो आपको गांधी में देखने को मिलेगा वह बहुत ही बेहतरीन है बॉर्डर में जो इंडिया-पाकिस्तान के वार के ऊपर हैं जिस तरीके से यह निर्णय निकाला गया है कि अल्टीमेटली ओर से दोनों ही देशों का नुकसान होता है वह बहुत टचिंग है तीसरी रंग दे बसंती और यह कोई आर्डर नहीं दे रहा हूं मैं रंग दे बसंती बहुत अच्छी मूवी है कि किस तरीके से आज का नौजवान किस तरीके से आज का नौजवान देश के लिए लड़ रहा है और देश के लिए वह क्या कर सकता है और वह देश भक्ति को टच करती है बहुत सरल तरीके से डायरेक्टली देशभक्ति पर बनी मूवी नहीं है लेकिन देश के बारे में नौजवान क्या सोचता है इस पर रंग दे बसंती नई पीढ़ी के लिए बहुत अच्छी तरीके से बनी हुई मूवी है तो गांधी बॉर्डर और रंग दे बसंती 3 इंडियन मूवीस का नाम लेना चाहूंगा
Romanized Version
अगर मैं आपको देशभक्ति पर बनी हुई तीन अपनी पसंद की फिल्में बताना चाहूंगा तुम्हें पहला नाम लूंगा गांधी गांधी उसको आप बोल सकते हैं कि वह देश भक्ति पर बनी फिल्म नहीं है वह गांधी की लाइफ स्टाइल पर है लेकिन उसमें जो देश का जो फ्रीडम हिस्ट्री कांस्टेबल समझ में आता है क्योंकि चाहे ना चाहे गांधी हमारे देश के स्वतंत्रता संग्राम के सबसे महत्वपूर्ण अंग है तो गांधी में आपको जो वह बहुत सारी घटनाएं और बहुत सारा बहुत सारा इंग्लिश समझ में आता है किस तरीके से गांधी लोग केवल अंग्रेजों से लड़ते थे बल्कि देश में होने वाली जो बुराइयां हैं जो सामाजिक बुराइयां हैं जिनसे हमारा देश आज भी आजाद नहीं हुआ है चाहे वह आरक्षण हो चाहे वह जातिवाद हो चाहे वह दंगे हूं चाहे वह धर्म के नाम पर लड़ाईयां हूं तो आपको गांधी में देखने को मिलेगा वह बहुत ही बेहतरीन है बॉर्डर में जो इंडिया-पाकिस्तान के वार के ऊपर हैं जिस तरीके से यह निर्णय निकाला गया है कि अल्टीमेटली ओर से दोनों ही देशों का नुकसान होता है वह बहुत टचिंग है तीसरी रंग दे बसंती और यह कोई आर्डर नहीं दे रहा हूं मैं रंग दे बसंती बहुत अच्छी मूवी है कि किस तरीके से आज का नौजवान किस तरीके से आज का नौजवान देश के लिए लड़ रहा है और देश के लिए वह क्या कर सकता है और वह देश भक्ति को टच करती है बहुत सरल तरीके से डायरेक्टली देशभक्ति पर बनी मूवी नहीं है लेकिन देश के बारे में नौजवान क्या सोचता है इस पर रंग दे बसंती नई पीढ़ी के लिए बहुत अच्छी तरीके से बनी हुई मूवी है तो गांधी बॉर्डर और रंग दे बसंती 3 इंडियन मूवीस का नाम लेना चाहूंगाAgar Main Aapko Deshbhakti Par Bani Hui Teen Apni Pasand Ki Filme Batana Chahunga Tumhein Pehla Naam Lunga Gandhi Gandhi Usko Aap Bol Sakte Hain Ki Wah Desh Bhakti Par Bani Film Nahi Hai Wah Gandhi Ki Life Style Par Hai Lekin Usamen Jo Desh Ka Jo Freedom History Constable Samajh Mein Aata Hai Kyonki Chahe Na Chahe Gandhi Hamare Desh Ke Svatantrata Sangram Ke Sabse Mahatvapurna Ang Hai To Gandhi Mein Aapko Jo Wah Bahut Saree Ghatnaye Aur Bahut Saara Bahut Saara English Samajh Mein Aata Hai Kis Tarike Se Gandhi Log Kewal Angrejo Se Ladtey The Balki Desh Mein Hone Wali Jo Buraiyan Hain Jo Samajik Buraiyan Hain Jinse Hamara Desh Aaj Bhi Azad Nahi Hua Hai Chahe Wah Aarakshan Ho Chahe Wah Jaatiwad Ho Chahe Wah Denge Hoon Chahe Wah Dharm Ke Naam Par Ladaiyan Hoon To Aapko Gandhi Mein Dekhne Ko Milega Wah Bahut Hi Behtareen Hai Border Mein Jo India Pakistan Ke Var Ke Upar Hain Jis Tarike Se Yeh Nirnay Nikaala Gaya Hai Ki Altimetli Oar Se Dono Hi Deshon Ka Nuksan Hota Hai Wah Bahut Touching Hai Teesri Rang De Basanti Aur Yeh Koi Order Nahi De Raha Hoon Main Rang De Basanti Bahut Acchi Movie Hai Ki Kis Tarike Se Aaj Ka Naujawan Kis Tarike Se Aaj Ka Naujawan Desh Ke Liye Lad Raha Hai Aur Desh Ke Liye Wah Kya Kar Sakta Hai Aur Wah Desh Bhakti Ko Touch Karti Hai Bahut Saral Tarike Se Directly Deshbhakti Par Bani Movie Nahi Hai Lekin Desh Ke Bare Mein Naujawan Kya Sochta Hai Is Par Rang De Basanti Nayi Pidhi Ke Liye Bahut Acchi Tarike Se Bani Hui Movie Hai To Gandhi Border Aur Rang De Basanti 3 Indian Movies Ka Naam Lena Chahunga
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज मैं अपने स्वतंत्र दिवस पर जो है खुशियां मनाते हैं बिल्कुल पूरा देश जो है अपने स्वतंत्र दिवस को सेलिब्रेट करते हैं और हमें बहुत ही खुशी होती कि हम आजाद भारत के आजाद जवाब मतलब देशवासी है हमें हर एक चीज काम करने का आजादी के सोचने की याद आती है याद आती हमारे पास अब तो किसी के साथ बहुत दिनों तक लेते हैं जो आजादी के लिए लड़ रहे थे अंग्रेजों से पूरे देश को आजाद करवा देते फिर अचानक से जो इन दोनों का अलग होना काफी दुखद घटना है और आंसू बहते हैं सोचते हैं कि यहां ऐसा नहीं होता बहुत जाती आपका सोच अलग हो जाता है फिर लोग अलग हो जाते हैं और एक दूसरे का पंजा जिसमें जाने आने में जो आपको दिक्कत होती है तो बहुत ही तो है आप लोगों के बीच में जो है दुखद घटना रही होगी आज अब पार्टी शुरू होगा पार्टीशन के समय कोई नहीं चाहता था कि जो मुस्लिम कंट्री में जो हमारे भारतवासियों के लिए यह पार्टीशन का जो समय का हो यह बहुत ही दुखद घटना का होगा यह बहुत ही दुखद वक्त बुरा होगा इससे जुड़े लोगों को निकलने में बहुत समय लगा होगा
Romanized Version
आज मैं अपने स्वतंत्र दिवस पर जो है खुशियां मनाते हैं बिल्कुल पूरा देश जो है अपने स्वतंत्र दिवस को सेलिब्रेट करते हैं और हमें बहुत ही खुशी होती कि हम आजाद भारत के आजाद जवाब मतलब देशवासी है हमें हर एक चीज काम करने का आजादी के सोचने की याद आती है याद आती हमारे पास अब तो किसी के साथ बहुत दिनों तक लेते हैं जो आजादी के लिए लड़ रहे थे अंग्रेजों से पूरे देश को आजाद करवा देते फिर अचानक से जो इन दोनों का अलग होना काफी दुखद घटना है और आंसू बहते हैं सोचते हैं कि यहां ऐसा नहीं होता बहुत जाती आपका सोच अलग हो जाता है फिर लोग अलग हो जाते हैं और एक दूसरे का पंजा जिसमें जाने आने में जो आपको दिक्कत होती है तो बहुत ही तो है आप लोगों के बीच में जो है दुखद घटना रही होगी आज अब पार्टी शुरू होगा पार्टीशन के समय कोई नहीं चाहता था कि जो मुस्लिम कंट्री में जो हमारे भारतवासियों के लिए यह पार्टीशन का जो समय का हो यह बहुत ही दुखद घटना का होगा यह बहुत ही दुखद वक्त बुरा होगा इससे जुड़े लोगों को निकलने में बहुत समय लगा होगाAaj Main Apne Swatantra Divas Par Jo Hai Khushiyan Manate Hain Bilkul Pura Desh Jo Hai Apne Swatantra Divas Ko Celebrate Karte Hain Aur Hume Bahut Hi Khushi Hoti Ki Hum Azad Bharat Ke Azad Jawab Matlab Deshvasi Hai Hume Har Ek Cheez Kaam Karne Ka Azadi Ke Sochne Ki Yaad Aati Hai Yaad Aati Hamare Paas Ab To Kisi Ke Saath Bahut Dinon Tak Lete Hain Jo Azadi Ke Liye Lad Rahe The Angrejo Se Poore Desh Ko Azad Karava Dete Phir Achanak Se Jo In Dono Ka Alag Hona Kafi Dukhad Ghatna Hai Aur Aansu Bahte Hain Sochte Hain Ki Yahan Aisa Nahi Hota Bahut Jati Aapka Soch Alag Ho Jata Hai Phir Log Alag Ho Jaate Hain Aur Ek Dusre Ka Panja Jisme Jaane Aane Mein Jo Aapko Dikkat Hoti Hai To Bahut Hi To Hai Aap Logon Ke Bich Mein Jo Hai Dukhad Ghatna Rahi Hogi Aaj Ab Party Shuru Hoga Partition Ke Samay Koi Nahi Chahta Tha Ki Jo Muslim Country Mein Jo Hamare Bharatvasiyon Ke Liye Yeh Partition Ka Jo Samay Ka Ho Yeh Bahut Hi Dukhad Ghatna Ka Hoga Yeh Bahut Hi Dukhad Waqt Bura Hoga Isse Jude Logon Ko Nikalne Mein Bahut Samay Laga Hoga
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में बेरोजगारी का सबसे प्रथम कारण है भारत का एक कृषि प्रधान देश होना व भारत सरकार द्वारा कृषि को प्रोत्साहन ना देना किसानों की दशा में कोई सुधार ना होना पिछले 70 वर्षों में अधिकतर किसानों का कृषि को छोड़कर बाकी अन्य जो उद्योग धंदे हैं उन में लिप्त होना अगर हम ध्यान दें तो बढ़ते शहरीकरण के कारण अधिकतर किसान गांव को छोड़कर बाकी शहरों की तरफ दमन करते रहें जिसके कारणवश कृषि योग्य भूमि बंजर होती चली गई वह जब तक हम वापिस उस कृषि योग्य भूमि पर लौटेंगे तब तक पर जमीन कृषि योग्य नहीं रह जाएगी जिसके कारण बेरोजगारी बढ़ती गई दूसरा कारण है शहरीकरण पर उस पर शहरों पर बढ़ता दबाव के के शहर एक सीमित क्षेत्र में होते हैं उनके पास सीमित संसाधन होते हैं तथा उसमें अगर करोड़ों की संख्या में लोग जाने लगेंगे तो उनको श्रम या रोजगार के साधन उपलब्ध करा पाना संभव नहीं है चाहे वह कोई भी सरकार हो वहां संभव नहीं है तीसरा एक अहम कारण है कौशल आधारित श्रम आणि औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों से निकलने वाले छात्र छात्रों को रोजगार की कोई सुविधा या सर्व हरियाणा करवा पाना किसी भी सरकार द्वारा जिसके कारण कौशल व श्रम आधारित उद्योग है जो हमारे कार्य हैं उनकी गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं हो पाया तथा छात्रों को इन रस्मों को ऑफ करने का कोई प्रोत्साहन पिछले कुछ वर्षों में नहीं मिल पाया जिसके कारण से बेरोजगारी बढ़ती कोई और सबसे महत्वपूर्ण कारण है भारत की जो रोजगार प्रणाली है वह श्रम और रोजगार मंत्रालय हैं उसका इस विषय में कोई विशेष रूचि ना रखना और इस प्रकार बेरोजगारी विगत कई वर्षों में बढ़ती ही चली जा रही है धन्यवाद
Romanized Version
भारत में बेरोजगारी का सबसे प्रथम कारण है भारत का एक कृषि प्रधान देश होना व भारत सरकार द्वारा कृषि को प्रोत्साहन ना देना किसानों की दशा में कोई सुधार ना होना पिछले 70 वर्षों में अधिकतर किसानों का कृषि को छोड़कर बाकी अन्य जो उद्योग धंदे हैं उन में लिप्त होना अगर हम ध्यान दें तो बढ़ते शहरीकरण के कारण अधिकतर किसान गांव को छोड़कर बाकी शहरों की तरफ दमन करते रहें जिसके कारणवश कृषि योग्य भूमि बंजर होती चली गई वह जब तक हम वापिस उस कृषि योग्य भूमि पर लौटेंगे तब तक पर जमीन कृषि योग्य नहीं रह जाएगी जिसके कारण बेरोजगारी बढ़ती गई दूसरा कारण है शहरीकरण पर उस पर शहरों पर बढ़ता दबाव के के शहर एक सीमित क्षेत्र में होते हैं उनके पास सीमित संसाधन होते हैं तथा उसमें अगर करोड़ों की संख्या में लोग जाने लगेंगे तो उनको श्रम या रोजगार के साधन उपलब्ध करा पाना संभव नहीं है चाहे वह कोई भी सरकार हो वहां संभव नहीं है तीसरा एक अहम कारण है कौशल आधारित श्रम आणि औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों से निकलने वाले छात्र छात्रों को रोजगार की कोई सुविधा या सर्व हरियाणा करवा पाना किसी भी सरकार द्वारा जिसके कारण कौशल व श्रम आधारित उद्योग है जो हमारे कार्य हैं उनकी गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं हो पाया तथा छात्रों को इन रस्मों को ऑफ करने का कोई प्रोत्साहन पिछले कुछ वर्षों में नहीं मिल पाया जिसके कारण से बेरोजगारी बढ़ती कोई और सबसे महत्वपूर्ण कारण है भारत की जो रोजगार प्रणाली है वह श्रम और रोजगार मंत्रालय हैं उसका इस विषय में कोई विशेष रूचि ना रखना और इस प्रकार बेरोजगारी विगत कई वर्षों में बढ़ती ही चली जा रही है धन्यवादBharat Mein Berojgari Ka Sabse Pratham Kaaran Hai Bharat Ka Ek Krishi Pradhan Desh Hona V Bharat Sarkar Dwara Krishi Ko Protsahan Na Dena Kisano Ki Dasha Mein Koi Sudhaar Na Hona Pichhle 70 Varshon Mein Adhiktar Kisano Ka Krishi Ko Chodkar Baki Anya Jo Udyog Hain Un Mein Lipt Hona Agar Hum Dhyan Dein To Badhte Shaharikaran Ke Kaaran Adhiktar Kisan Gav Ko Chodkar Baki Shaharon Ki Taraf Daman Karte Rahen Jiske Karanvash Krishi Yogya Bhoomi Banjar Hoti Chali Gayi Wah Jab Tak Hum Vapis Us Krishi Yogya Bhoomi Par Tab Tak Par Jameen Krishi Yogya Nahi Rah Jayegi Jiske Kaaran Berojgari Badhti Gayi Doosra Kaaran Hai Shaharikaran Par Us Par Shaharon Par Badhta Dabaav Ke Ke Sheher Ek Simith Kshetra Mein Hote Hain Unke Paas Simith Sansadhan Hote Hain Tatha Usamen Agar Karodo Ki Sankhya Mein Log Jaane Lagenge To Unko Sharam Ya Rojgar Ke Sadhan Uplabdha Kra Pana Sambhav Nahi Hai Chahe Wah Koi Bhi Sarkar Ho Wahan Sambhav Nahi Hai Teesra Ek Aham Kaaran Hai Kaushal Aadharit Sharam Aani Audhyogik Prashikshan Sansthano Se Nikalne Wale Chatra Chhatro Ko Rojgar Ki Koi Suvidha Ya Surve Haryana Karava Pana Kisi Bhi Sarkar Dwara Jiske Kaaran Kaushal V Sharam Aadharit Udyog Hai Jo Hamare Karya Hain Unki Gunavatta Mein Koi Sudhaar Nahi Ho Paya Tatha Chhatro Ko In Ko Of Karne Ka Koi Protsahan Pichhle Kuch Varshon Mein Nahi Mil Paya Jiske Kaaran Se Berojgari Badhti Koi Aur Sabse Mahatvapurna Kaaran Hai Bharat Ki Jo Rojgar Pranali Hai Wah Sharam Aur Rojgar Mantralay Hain Uska Is Vishay Mein Koi Vishesh Ruchi Na Rakhna Aur Is Prakar Berojgari Vigat Kai Varshon Mein Badhti Hi Chali Ja Rahi Hai Dhanyavad
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पानी बचाने का सिंपल तरीका यह है कि आप जितनी भी खाली जमीने होती हैं आप उस जमीनों पर पेड़ पौधे लगाते क्योंकि जब पेड़ पौधे होते हैं तो उनकी जुड़े जो है जमीन में जाती है और जो जो भी पानी हम जमीन में पेश करते हैं जो इधर उधर देखते हैं जमीन में जाकर पानी जड़ जो है वह पूरी तरह उसे स्त्रोत बनाने लगता है जापानी जो है नीचे जाकर जमा होने लग जाती है तो इससे क्या है पृथ्वी में पानी संरक्षण होता रहता है मेरा ख्याल यह है कि जो फालतू के पैसे पानी बर्बाद करते हैं इधर से बर्तन धोते हैं उसके पानी ऐसा जो भी होते हैं मैक्सिमम 2 3 बाल्टी सतीश पर बात करते थे तो हमें उन चीजों को बर्बाद करने का जरूरत है जो आप ऐसा करें कि मुझे इससे क्या होगा कि हमारे घर की प्लांटेशन में बनेगा ग्रीनरी बढ़ने लगता है मिट्टी की मात्रा है वह कम होने लगी है और मिट्टी ना होने के कारण पेड़ पौधे काटने लगे पेड़ पौधे नहीं होते इसलिए पानी नहीं होता पानी नहीं होता इसलिए हम फिर से मरते हैं तो इस से अच्छा है कि हम अपनी जो भी घर वगैरह बना रहे हो थोड़ा सा साइड साइड का जो लोकेशन है वह हम प्लांटेशन के लिए छोड़ना हमें चाहिए तो अगर प्लांटेशन के लिए थोड़ा थोड़ा घर छोड़ दे तो घर क्या अच्छा भी रहता है ग्रीन टी भी रहती है और अगर आप कंट्री में आप सुबह सुबह उठते हैं तो एक फ्रेश माइंड होता है आपका और एक रिफ्रेश रिमाइंडर से आप पूरी तरह काम करते हैं और बहुत ज्यादा पॉजिटिविटी अपील करते हैं तो इन सारी चीजों का बस लिंक यही है कि पानी बचाने का तरीका है क्या पेरू को पहले बताइए पानी तो अपने आप बन जाएगा थैंक यू
Romanized Version
पानी बचाने का सिंपल तरीका यह है कि आप जितनी भी खाली जमीने होती हैं आप उस जमीनों पर पेड़ पौधे लगाते क्योंकि जब पेड़ पौधे होते हैं तो उनकी जुड़े जो है जमीन में जाती है और जो जो भी पानी हम जमीन में पेश करते हैं जो इधर उधर देखते हैं जमीन में जाकर पानी जड़ जो है वह पूरी तरह उसे स्त्रोत बनाने लगता है जापानी जो है नीचे जाकर जमा होने लग जाती है तो इससे क्या है पृथ्वी में पानी संरक्षण होता रहता है मेरा ख्याल यह है कि जो फालतू के पैसे पानी बर्बाद करते हैं इधर से बर्तन धोते हैं उसके पानी ऐसा जो भी होते हैं मैक्सिमम 2 3 बाल्टी सतीश पर बात करते थे तो हमें उन चीजों को बर्बाद करने का जरूरत है जो आप ऐसा करें कि मुझे इससे क्या होगा कि हमारे घर की प्लांटेशन में बनेगा ग्रीनरी बढ़ने लगता है मिट्टी की मात्रा है वह कम होने लगी है और मिट्टी ना होने के कारण पेड़ पौधे काटने लगे पेड़ पौधे नहीं होते इसलिए पानी नहीं होता पानी नहीं होता इसलिए हम फिर से मरते हैं तो इस से अच्छा है कि हम अपनी जो भी घर वगैरह बना रहे हो थोड़ा सा साइड साइड का जो लोकेशन है वह हम प्लांटेशन के लिए छोड़ना हमें चाहिए तो अगर प्लांटेशन के लिए थोड़ा थोड़ा घर छोड़ दे तो घर क्या अच्छा भी रहता है ग्रीन टी भी रहती है और अगर आप कंट्री में आप सुबह सुबह उठते हैं तो एक फ्रेश माइंड होता है आपका और एक रिफ्रेश रिमाइंडर से आप पूरी तरह काम करते हैं और बहुत ज्यादा पॉजिटिविटी अपील करते हैं तो इन सारी चीजों का बस लिंक यही है कि पानी बचाने का तरीका है क्या पेरू को पहले बताइए पानी तो अपने आप बन जाएगा थैंक यूPani Bachane Ka Simple Tarika Yeh Hai Ki Aap Jitni Bhi Khaali Jamine Hoti Hain Aap Us Jaminon Par Ped Paudhe Lagate Kyonki Jab Ped Paudhe Hote Hain To Unki Jude Jo Hai Jameen Mein Jati Hai Aur Jo Jo Bhi Pani Hum Jameen Mein Pesh Karte Hain Jo Idhar Udhar Dekhte Hain Jameen Mein Jaakar Pani Jad Jo Hai Wah Puri Tarah Use Satrot Banane Lagta Hai Japani Jo Hai Neeche Jaakar Jama Hone Lag Jati Hai To Isse Kya Hai Prithvi Mein Pani Sanrakshan Hota Rehta Hai Mera Khayal Yeh Hai Ki Jo Faltu Ke Paise Pani Barbad Karte Hain Idhar Se Bartan Dhote Hain Uske Pani Aisa Jo Bhi Hote Hain Maximum 2 3 Balti Satish Par Baat Karte The To Hume Un Chijon Ko Barbad Karne Ka Zaroorat Hai Jo Aap Aisa Karen Ki Mujhe Isse Kya Hoga Ki Hamare Ghar Ki Planteshan Mein Banega Greenery Badhne Lagta Hai Mitti Ki Matra Hai Wah Kum Hone Lagi Hai Aur Mitti Na Hone Ke Kaaran Ped Paudhe Katne Lage Ped Paudhe Nahi Hote Isliye Pani Nahi Hota Pani Nahi Hota Isliye Hum Phir Se Marte Hain To Is Se Accha Hai Ki Hum Apni Jo Bhi Ghar Vagairah Bana Rahe Ho Thoda Sa Side Side Ka Jo Location Hai Wah Hum Planteshan Ke Liye Chodna Hume Chahiye To Agar Planteshan Ke Liye Thoda Thoda Ghar Chod De To Ghar Kya Accha Bhi Rehta Hai Green T Bhi Rehti Hai Aur Agar Aap Country Mein Aap Subah Subah Uthte Hain To Ek Fresh Mind Hota Hai Aapka Aur Ek Refresh Reminder Se Aap Puri Tarah Kaam Karte Hain Aur Bahut Jyada Pajitiviti Appeal Karte Hain To In Saree Chijon Ka Bus Link Yahi Hai Ki Pani Bachane Ka Tarika Hai Kya Peru Ko Pehle Bataiye Pani To Apne Aap Ban Jayega Thank You
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो मैं आपसे कहना चाहूंगा क्या प्रश्न करें जब तक बना दे देश बर्बाद हो गया कैसे बर्बाद हो गया मैं भी देश में रहा हूं क्या बर्बाद हो गया ऐसी कौन सी आजादी थी जो आपकी चुनी गई ऐसा क्या करते थे कांग्रेस के राज में जो आज अपनी कर रहे मोदी को गाली देने वाले क्या सोशल मीडिया पर करें क्यों गालियां नहीं दे रहे तो क्या हो रहा उनके साथ दुबारा थी तो युटुब पर आज तक तो कुछ भी सुना उसे सब कुछ भी हुआ हो तो आप जिस तरह का टेंशन लेकर चल रहा क्या जंक्शन से प्रश्न का जवाब नहीं दिया जा सकता बेसिकली आप एक्यूजेशन लगा रहे हैं गवर्नमेंट के ऊपर कि देश बर्बाद हो गया है या कांग्रेस कह रही है कि उनके दोनों का जो दिमाग पोषित किया है हमारी विरासत को लेकर यह वही लोग है जिनके लिए याद ऐसे 70 साल का है 69 सालों में जो स्टेशन का झूठा फंसाया गया है हमारे जनमानस के ऊपर क्रम का मतलब यह नहीं होता कि फैसले सोसायटी हो सपनों की सीमा तो इस तरह का जो गलत प्रचार आप करते हैं इससे बचें यही तो फट गई कांग्रेस करती है पीएम ग्रीन लोग दिमाग में भी डालना भेड़िया आया भेड़िया आया ऐसे चिल्ला चिल्लाकर सत्ता में बने रहे 70 साल और 70 सालों में कितना करप्शन कितना भ्रष्टाचार के लोगों ने आप को ही पता है यह गवर्नमेंट जॉब चल रही है बिना करप्शन के तो जबरदस्ती रखवाले तो यह और वह भी नहीं है इनके पास दिखाने के लिए जबकि कांग्रेस के प्रथम गवर्नर दिन अखबारों के पहले पन्ने पर तू जीसीडब्ल्यू जी कोल कोल स्कैम स्ट एक्ट अब समझिए बात को मधु कोड़ा को हाल में कांग्रेस में शामिल कर लिया बड़ा वही आदमी है जो 6 साल या 3 साल जेल में रहा था झारखंड को बर्बाद करने के लिए और जीडीपी कि कल भी अच्छी थी आज भी अच्छा है और कल भी अच्छा रहेगा क्योंकि भारत एक विकासशील देश
सबसे पहले तो मैं आपसे कहना चाहूंगा क्या प्रश्न करें जब तक बना दे देश बर्बाद हो गया कैसे बर्बाद हो गया मैं भी देश में रहा हूं क्या बर्बाद हो गया ऐसी कौन सी आजादी थी जो आपकी चुनी गई ऐसा क्या करते थे कांग्रेस के राज में जो आज अपनी कर रहे मोदी को गाली देने वाले क्या सोशल मीडिया पर करें क्यों गालियां नहीं दे रहे तो क्या हो रहा उनके साथ दुबारा थी तो युटुब पर आज तक तो कुछ भी सुना उसे सब कुछ भी हुआ हो तो आप जिस तरह का टेंशन लेकर चल रहा क्या जंक्शन से प्रश्न का जवाब नहीं दिया जा सकता बेसिकली आप एक्यूजेशन लगा रहे हैं गवर्नमेंट के ऊपर कि देश बर्बाद हो गया है या कांग्रेस कह रही है कि उनके दोनों का जो दिमाग पोषित किया है हमारी विरासत को लेकर यह वही लोग है जिनके लिए याद ऐसे 70 साल का है 69 सालों में जो स्टेशन का झूठा फंसाया गया है हमारे जनमानस के ऊपर क्रम का मतलब यह नहीं होता कि फैसले सोसायटी हो सपनों की सीमा तो इस तरह का जो गलत प्रचार आप करते हैं इससे बचें यही तो फट गई कांग्रेस करती है पीएम ग्रीन लोग दिमाग में भी डालना भेड़िया आया भेड़िया आया ऐसे चिल्ला चिल्लाकर सत्ता में बने रहे 70 साल और 70 सालों में कितना करप्शन कितना भ्रष्टाचार के लोगों ने आप को ही पता है यह गवर्नमेंट जॉब चल रही है बिना करप्शन के तो जबरदस्ती रखवाले तो यह और वह भी नहीं है इनके पास दिखाने के लिए जबकि कांग्रेस के प्रथम गवर्नर दिन अखबारों के पहले पन्ने पर तू जीसीडब्ल्यू जी कोल कोल स्कैम स्ट एक्ट अब समझिए बात को मधु कोड़ा को हाल में कांग्रेस में शामिल कर लिया बड़ा वही आदमी है जो 6 साल या 3 साल जेल में रहा था झारखंड को बर्बाद करने के लिए और जीडीपी कि कल भी अच्छी थी आज भी अच्छा है और कल भी अच्छा रहेगा क्योंकि भारत एक विकासशील देश
Likes  65  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकदम सही बात है जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़े थे तो भारत हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए मैं एक बार देख ली कहना चाहूंगा यह सवाल आप उनसे पूछें भारत के पहले प्रधानमंत्री से आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री से की उन्हें यह राइट कौन दिया था कि भारत को दो टुकड़ों में बांटने का एक चौथा पाकिस्तान एक हिंदुस्तान क्यों वह कौन होते हैं भारत को दो टुकड़ों में बांटने वाले देखो अगर आज भारत दो टुकड़ों में बंटा है तो पाकिस्तान जो था उसने पाकिस्तान को मुस्लिम मुस्लिम देश के लिए बांटा गया है भारत को हिंदुस्तान के देश के रखा गया इसलिए भारत के हिंदू राष्ट्र कहा जाता है पाकिस्तान के आज मेंबर ऑफ पार्लियामेंट में देखे तो कोई भी ऐसे में नंबर नहीं है जो हिंदुस्तानी दिखे जो इंडियन सोंग ए मैक्सिमम को मैक्सिमम क्या सब हां पर मुस्लिम से हैं non-muslims एक भी पार्लियामेंट के मेंबर नहीं है लेकिन अब वह धीरे धीरे स्टार्ट कर रहे हैं नॉन मुस्लिम को भी पार्लियामेंट में मेंबर बनाना लेकिन भारत में आज देखिए तो हिंदू भी है मुस्लिम भी है इस तरीके से मुस्लिम को भी उस लेबल पर हमने रिस्पेक्ट दिया उन्हें उनकी हमारे देश में मौजूद है उनका स्वागत किया डेफिनटली हम भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं बल्कि खेल एक भारत के रूप में देख रहे हैं लेकिन आज इस जब भारत आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री ने जब उसे डिवाइड किया था तो उनसे पूछना चाहिए उन्होंने क्या सोचकर डिवाइड किया था कि मुस्लिम्स के लिए पाकिस्तान होगा भाई बिंदु के लिए हिंदुस्तान होगा यह सबसे बड़ी सवाल जाती है आजाद देश के पहले प्रधानमंत्री के लिए
एकदम सही बात है जब मुस्लिम भी आजादी की लड़ाई लड़े थे तो भारत हिंदू राष्ट्र क्यों होना चाहिए मैं एक बार देख ली कहना चाहूंगा यह सवाल आप उनसे पूछें भारत के पहले प्रधानमंत्री से आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री से की उन्हें यह राइट कौन दिया था कि भारत को दो टुकड़ों में बांटने का एक चौथा पाकिस्तान एक हिंदुस्तान क्यों वह कौन होते हैं भारत को दो टुकड़ों में बांटने वाले देखो अगर आज भारत दो टुकड़ों में बंटा है तो पाकिस्तान जो था उसने पाकिस्तान को मुस्लिम मुस्लिम देश के लिए बांटा गया है भारत को हिंदुस्तान के देश के रखा गया इसलिए भारत के हिंदू राष्ट्र कहा जाता है पाकिस्तान के आज मेंबर ऑफ पार्लियामेंट में देखे तो कोई भी ऐसे में नंबर नहीं है जो हिंदुस्तानी दिखे जो इंडियन सोंग ए मैक्सिमम को मैक्सिमम क्या सब हां पर मुस्लिम से हैं non-muslims एक भी पार्लियामेंट के मेंबर नहीं है लेकिन अब वह धीरे धीरे स्टार्ट कर रहे हैं नॉन मुस्लिम को भी पार्लियामेंट में मेंबर बनाना लेकिन भारत में आज देखिए तो हिंदू भी है मुस्लिम भी है इस तरीके से मुस्लिम को भी उस लेबल पर हमने रिस्पेक्ट दिया उन्हें उनकी हमारे देश में मौजूद है उनका स्वागत किया डेफिनटली हम भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं बल्कि खेल एक भारत के रूप में देख रहे हैं लेकिन आज इस जब भारत आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री ने जब उसे डिवाइड किया था तो उनसे पूछना चाहिए उन्होंने क्या सोचकर डिवाइड किया था कि मुस्लिम्स के लिए पाकिस्तान होगा भाई बिंदु के लिए हिंदुस्तान होगा यह सबसे बड़ी सवाल जाती है आजाद देश के पहले प्रधानमंत्री के लिए
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

WhatsApp ने पिछले साल एक इंजेक्शन टेक्नोलॉजी अपने अपने बल किए तो इनकी पिंकी वजह से WhatsApp खुद भी आपका डाटा नहीं देखी जो भी आप एक दूसरे को भेज रहे हैं वह नहीं जा सकती है क्योंकि आपकी जो मैसेज है वह सीधे सीधे ना जाकर एंक्रिप्ट होकर जाती है जिससे कि वह दूसरे कोर्ट में बदल जाती है जाने से पहले तो सरकार तो क्या WhatsApp खुद भी आपकी मैसेज को नहीं पढ़ सकती है फिलहाल
Romanized Version
WhatsApp ने पिछले साल एक इंजेक्शन टेक्नोलॉजी अपने अपने बल किए तो इनकी पिंकी वजह से WhatsApp खुद भी आपका डाटा नहीं देखी जो भी आप एक दूसरे को भेज रहे हैं वह नहीं जा सकती है क्योंकि आपकी जो मैसेज है वह सीधे सीधे ना जाकर एंक्रिप्ट होकर जाती है जिससे कि वह दूसरे कोर्ट में बदल जाती है जाने से पहले तो सरकार तो क्या WhatsApp खुद भी आपकी मैसेज को नहीं पढ़ सकती है फिलहालWhatsApp Ne Pichhle Saal Ek Injection Technology Apne Apne Bal Kiye To Inki Pinky Wajah Se WhatsApp Khud Bhi Aapka Data Nahi Dekhi Jo Bhi Aap Ek Dusre Ko Bhej Rahe Hain Wah Nahi Ja Sakti Hai Kyonki Aapki Jo Massage Hai Wah Seedhe Seedhe Na Jaakar Enkript Hokar Jati Hai Jisse Ki Wah Dusre Court Mein Badal Jati Hai Jaane Se Pehle To Sarkar To Kya WhatsApp Khud Bhi Aapki Massage Ko Nahi Padh Sakti Hai Filhal
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बनेगा क्योंकि नंबर वन देश तब बनता है जब देश में निवेश आता है उससे धर्म से कोई लेना देना नहीं
भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने से भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बनेगा क्योंकि नंबर वन देश तब बनता है जब देश में निवेश आता है उससे धर्म से कोई लेना देना नहीं
Likes  10  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

DJ मैं यह नहीं समझता कि जो है राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री को या उपराष्ट्रपति को जो है निजी विमान की जरूरत है क्योंकि यह तीनो लोग जो हैं एक साथ तो सभी सफर करते नहीं हैं और घर वाले शादी की जगह जा रहे हैं तुम्हें समझ एक विमान इनके लिए काफी है और एक बहुत ही महंगा होता है और आप यह समझें कि अभिमान जो ज्यादातर खड़ा रहेगा उसका एक ऑप्टिमा न्यूज़ नहीं हो सकता है तो मैं समझता हूं कि भारत की जो अभी राजनीति है वह इतनी ज्यादा नहीं है कि जो है हम भी का डेडिकेटेड जो है वह हवाई जहाज जो प्रधानमंत्री को उप राष्ट्रपति को राष्ट्रपति को देखते ही बेहतर रहेगा
Romanized Version
DJ मैं यह नहीं समझता कि जो है राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री को या उपराष्ट्रपति को जो है निजी विमान की जरूरत है क्योंकि यह तीनो लोग जो हैं एक साथ तो सभी सफर करते नहीं हैं और घर वाले शादी की जगह जा रहे हैं तुम्हें समझ एक विमान इनके लिए काफी है और एक बहुत ही महंगा होता है और आप यह समझें कि अभिमान जो ज्यादातर खड़ा रहेगा उसका एक ऑप्टिमा न्यूज़ नहीं हो सकता है तो मैं समझता हूं कि भारत की जो अभी राजनीति है वह इतनी ज्यादा नहीं है कि जो है हम भी का डेडिकेटेड जो है वह हवाई जहाज जो प्रधानमंत्री को उप राष्ट्रपति को राष्ट्रपति को देखते ही बेहतर रहेगाDJ Main Yeh Nahi Samajhata Ki Jo Hai Rashtrapati Ko Pradhanmantri Ko Ya Uprashtrapati Ko Jo Hai Niji Viman Ki Zaroorat Hai Kyonki Yeh Teeno Log Jo Hain Ek Saath To Sabhi Safar Karte Nahi Hain Aur Ghar Wale Shadi Ki Jagah Ja Rahe Hain Tumhein Samajh Ek Viman Inke Liye Kafi Hai Aur Ek Bahut Hi Mehnga Hota Hai Aur Aap Yeh Samajhe Ki Abhimaan Jo Jyadatar Khada Rahega Uska Ek Optima News Nahi Ho Sakta Hai To Main Samajhata Hoon Ki Bharat Ki Jo Abhi Rajneeti Hai Wah Itni Jyada Nahi Hai Ki Jo Hai Hum Bhi Ka Dedicated Jo Hai Wah Hawai Jahaj Jo Pradhanmantri Ko Up Rashtrapati Ko Rashtrapati Ko Dekhte Hi Behtar Rahega
Likes  25  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर राहुल गांधी आज की मानसिकता यह है कि नोटबंदी का प्रस्ताव और डस्टबिन में फेंक देते हैं तो कहीं ना कहीं भारत की जनता भी उन्हें वहीं पर फेंक रही है औरत देखा जाए तो आज राहुल गांधी जी के पास से महागठबंधन के अलावा कोई उपाय नहीं है और जो वह हमारे प्रधानमंत्री बनना चाहते हो एक सपना है अच्छी बात है वो सपना ही रहे हो ज्यादा अच्छी बात होगी आज मैं कहना चाहता नोटबंदी जैसा फैसला था आदेश में दिक्कतें हुई लोगों को परेशानी भी लोगों को देश में उसको आपातकालीन थोड़े समय के लिए देश में करेंसी की दिक्कतें आई लिक्विडेशन स्क्रीन रिकॉर्डर शंकर चौबे मतलब हाथ में क्या है सुनीता बैंक में पैसे देकर हाथ में कैश नहीं तो ATM की लंबी-लंबी कतारें थी हॉस्पिटल के प्रिंसिपल ने मुश्किल हो गए थे यार लेकिन दिक्कत है आज बहुत दुखी जाने गई उससे मुझे खेद है मुझे बहुत ही तकलीफ है लेकिन कहीं ना कहीं आज हम देख रहे हैं कि देश में नोटबंदी के बाजू ब्लैक मनी फिल्टर होकर जो आया है सरकार के पास ब्लैक मनी जितना ब्लू सो सॉरी नो टेंशन में था सारा ब्लैक मनी बंद हो गया है लोगों के पास काला धन बहुत ही कम ना के बराबर हो गया है बहुत ही सही स्टेट था और ऐसे ऐसे करारा स्टेप लेने के बाद भी आज मोदी सरका 7.7 जीडीपी 2018 के क्वार्टर मेल अभी तक हम आप आए हैं तो मेरा मानना है बहुत ही सक्षम स्तर पर देश को आगे की तरफ बढ़ाने की और पति सही निर्णय और बाद में कांग्रेस की मानसिकता क्यों राहुल गांधी जी की मानसिकता की तो मुझे माफ कर दीजिए वह क्या बात है हम मुझे भी नहीं समझ में आता तो वह बेहतर है वह क्या बोलते हैं वही समझे बहुत बेहतर होगा
Romanized Version
देखिए अगर राहुल गांधी आज की मानसिकता यह है कि नोटबंदी का प्रस्ताव और डस्टबिन में फेंक देते हैं तो कहीं ना कहीं भारत की जनता भी उन्हें वहीं पर फेंक रही है औरत देखा जाए तो आज राहुल गांधी जी के पास से महागठबंधन के अलावा कोई उपाय नहीं है और जो वह हमारे प्रधानमंत्री बनना चाहते हो एक सपना है अच्छी बात है वो सपना ही रहे हो ज्यादा अच्छी बात होगी आज मैं कहना चाहता नोटबंदी जैसा फैसला था आदेश में दिक्कतें हुई लोगों को परेशानी भी लोगों को देश में उसको आपातकालीन थोड़े समय के लिए देश में करेंसी की दिक्कतें आई लिक्विडेशन स्क्रीन रिकॉर्डर शंकर चौबे मतलब हाथ में क्या है सुनीता बैंक में पैसे देकर हाथ में कैश नहीं तो ATM की लंबी-लंबी कतारें थी हॉस्पिटल के प्रिंसिपल ने मुश्किल हो गए थे यार लेकिन दिक्कत है आज बहुत दुखी जाने गई उससे मुझे खेद है मुझे बहुत ही तकलीफ है लेकिन कहीं ना कहीं आज हम देख रहे हैं कि देश में नोटबंदी के बाजू ब्लैक मनी फिल्टर होकर जो आया है सरकार के पास ब्लैक मनी जितना ब्लू सो सॉरी नो टेंशन में था सारा ब्लैक मनी बंद हो गया है लोगों के पास काला धन बहुत ही कम ना के बराबर हो गया है बहुत ही सही स्टेट था और ऐसे ऐसे करारा स्टेप लेने के बाद भी आज मोदी सरका 7.7 जीडीपी 2018 के क्वार्टर मेल अभी तक हम आप आए हैं तो मेरा मानना है बहुत ही सक्षम स्तर पर देश को आगे की तरफ बढ़ाने की और पति सही निर्णय और बाद में कांग्रेस की मानसिकता क्यों राहुल गांधी जी की मानसिकता की तो मुझे माफ कर दीजिए वह क्या बात है हम मुझे भी नहीं समझ में आता तो वह बेहतर है वह क्या बोलते हैं वही समझे बहुत बेहतर होगाDekhie Agar Rahul Gandhi Aaj Ki Mansikta Yeh Hai Ki Notebandi Ka Prastaav Aur Dustbin Mein Fenk Dete Hain To Kahin Na Kahin Bharat Ki Janta Bhi Unhen Wahin Par Fenk Rahi Hai Aurat Dekha Jaye To Aaj Rahul Gandhi Ji Ke Paas Se Mahagathbandhan Ke Alava Koi Upay Nahi Hai Aur Jo Wah Hamare Pradhanmantri Banana Chahte Ho Ek Sapna Hai Acchi Baat Hai Vo Sapna Hi Rahe Ho Jyada Acchi Baat Hogi Aaj Main Kehna Chahta Notebandi Jaisa Faisla Tha Aadesh Mein Dikkaten Hui Logon Ko Pareshani Bhi Logon Ko Desh Mein Usko Aapatkalin Thode Samay Ke Liye Desh Mein Currency Ki Dikkaten Eye Likwideshan Screen Recorder Shankar Chaubey Matlab Hath Mein Kya Hai Sunita Bank Mein Paise Dekar Hath Mein Cash Nahi To ATM Ki Lambi Lambi Qataarein Thi Hospital Ke Principal Ne Mushkil Ho Gaye The Yaar Lekin Dikkat Hai Aaj Bahut Dukhi Jaane Gayi Usse Mujhe Khed Hai Mujhe Bahut Hi Takleef Hai Lekin Kahin Na Kahin Aaj Hum Dekh Rahe Hain Ki Desh Mein Notebandi Ke Baju Black Money Filter Hokar Jo Aaya Hai Sarkar Ke Paas Black Money Jitna Blue So Sorry No Tension Mein Tha Saara Black Money Band Ho Gaya Hai Logon Ke Paas Kala Dhan Bahut Hi Kum Na Ke Barabar Ho Gaya Hai Bahut Hi Sahi State Tha Aur Aise Aise Karara Step Lene Ke Baad Bhi Aaj Modi Sarka 7.7 Gdp 2018 Ke Quarter Mail Abhi Tak Hum Aap Aaye Hain To Mera Manana Hai Bahut Hi Saksham Sthar Par Desh Ko Aage Ki Taraf Badhane Ki Aur Pati Sahi Nirnay Aur Baad Mein Congress Ki Mansikta Kyun Rahul Gandhi Ji Ki Mansikta Ki To Mujhe Maaf Kar Dijiye Wah Kya Baat Hai Hum Mujhe Bhi Nahi Samajh Mein Aata To Wah Behtar Hai Wah Kya Bolte Hain Wahi Samjhe Bahut Behtar Hoga
Likes  10  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे ख्याल से सरकार को ऐसा करना चाहिए शराब तो मजा नहीं करते हैं तो यह शराब में ऐसी चीज मिलाना चाहिए को शरीर के लिए नुकसान नहीं होनी चाहिए किसी को नुकसान नहीं पाप आसानी से यह शराब में ऐसी कोई भी चीज मिलाने से झुकता के लोगों को नुकसान भी पत्नी होता है और शराब में जो वो ऐसी मिलाने तो पागल ही रहने चाहिए और कितनी भी शराब पी लो तो बिल्कुल नशा भी वीडियो में सही रहना सीरियल वीडियो तो इतना ही रहना चाहिए और दसवीं तक नहीं रहना चाहिए तो आदमी ही आदमी को शरीर को नुकसान नहीं पाएगी इसलिए मेरा चैन आती है यह बात
Romanized Version
मेरे ख्याल से सरकार को ऐसा करना चाहिए शराब तो मजा नहीं करते हैं तो यह शराब में ऐसी चीज मिलाना चाहिए को शरीर के लिए नुकसान नहीं होनी चाहिए किसी को नुकसान नहीं पाप आसानी से यह शराब में ऐसी कोई भी चीज मिलाने से झुकता के लोगों को नुकसान भी पत्नी होता है और शराब में जो वो ऐसी मिलाने तो पागल ही रहने चाहिए और कितनी भी शराब पी लो तो बिल्कुल नशा भी वीडियो में सही रहना सीरियल वीडियो तो इतना ही रहना चाहिए और दसवीं तक नहीं रहना चाहिए तो आदमी ही आदमी को शरीर को नुकसान नहीं पाएगी इसलिए मेरा चैन आती है यह बातMere Khyala Se Sarkar Co Aisa Krna Chahie Sharab To Majaa Nahin Karte Hain To Yeh Sharab Mein Aisi Chij Milaana Chahie Co Sharir K Lie Nuksaan Nahin Honi Chahie Kisi Co Nuksaan Nahin Pap Ashani Se Yeh Sharab Mein Aisi Koi Bhi Chij Milaane Se Jhukata K Logon Co Nuksaan Bhi Patni Hota Hai Aur Sharab Mein Joe Vo Aisi Milaane To Pagal Hea Rahane Chahie Aur Kitni Bhi Sharab P Low To Bilkool Nasha Bhi Veediyo Mein Sahi Rahna Serial Veediyo To Itna Hea Rahna Chahie Aur Dasavin Tak Nahin Rahna Chahie To Aadmi Hea Aadmi Co Sharir Co Nuksaan Nahin Paaegii Eeslie Mera Chain Auti Hai Yeh Baat
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सौभाग्य से पंजाब नेशनल बैंक सरकारी बैंक है और सरकार इसको जरूर बचाएगी और मैं नहीं समझता कि जो पंजाब नेशनल बैंक में कोई भी जो कर्मचारी काम कर रहा है उसकी नौकरी पर कोई असर होगा तो यह काम बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन यह भी ठीक तरीके से किस में सरकारी बैंक होने की वजह से जो कस्टमर से उनका पैसा डूबने की कोई संभावना नहीं है और उसी तरीके से पंजाब नेशनल बैंक में जो भी लोग काम करते हैं उनकी नौकरी के लिए कोई खतरा नहीं है और मैं समझता हूं इसमें काफी पैसा गवर्नमेंट रिकवरी कर लेगी और अगर नहीं कर सकती है और इस बैंक को चालू रख सकती है
Romanized Version
सौभाग्य से पंजाब नेशनल बैंक सरकारी बैंक है और सरकार इसको जरूर बचाएगी और मैं नहीं समझता कि जो पंजाब नेशनल बैंक में कोई भी जो कर्मचारी काम कर रहा है उसकी नौकरी पर कोई असर होगा तो यह काम बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन यह भी ठीक तरीके से किस में सरकारी बैंक होने की वजह से जो कस्टमर से उनका पैसा डूबने की कोई संभावना नहीं है और उसी तरीके से पंजाब नेशनल बैंक में जो भी लोग काम करते हैं उनकी नौकरी के लिए कोई खतरा नहीं है और मैं समझता हूं इसमें काफी पैसा गवर्नमेंट रिकवरी कर लेगी और अगर नहीं कर सकती है और इस बैंक को चालू रख सकती हैSaubhagya Se Punjab National Bank Sarkari Bank Hai Aur Sarkar Isko Jarur Bachayegi Aur Main Nahi Samajhata Ki Jo Punjab National Bank Mein Koi Bhi Jo Karmchari Kaam Kar Raha Hai Uski Naukri Par Koi Asar Hoga To Yeh Kaam Bahut Hi Durbhagyaporn Hai Lekin Yeh Bhi Theek Tarike Se Kis Mein Sarkari Bank Hone Ki Wajah Se Jo Customer Se Unka Paisa Dubane Ki Koi Sambhavna Nahi Hai Aur Ussi Tarike Se Punjab National Bank Mein Jo Bhi Log Kaam Karte Hain Unki Naukri Ke Liye Koi Khatra Nahi Hai Aur Main Samajhata Hoon Isme Kafi Paisa Government Recovery Kar Legi Aur Agar Nahi Kar Sakti Hai Aur Is Bank Ko Chalu Rakh Sakti Hai
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भ्रष्टाचार तू समाज में सब जगह है तो भारत में यह खत्म हो पाएगा मुझे तो नहीं लगता क्योंकि मुझे लगता है पूरी दुनिया में भ्रष्टाचार है लेकिन कहीं कम है कहीं ज्यादा है लिखिए आदमी की प्रवृत्ति है यह झूठ बोलना और झूठ बोलने के जब ज्यादा लेवल तक चला जाता है तो भ्रष्टाचार हो जाता है तू ऐसा कभी नहीं हो पाएगा कि पूरे समाज में पूरे भारतवर्ष में जहां करोड़ों लोग रहते हैं सारे के सारे बिल्कुल भ्रष्टाचार जीरो हो जाए और ना ही कोई भी घमंड का सिस्टम है कोई भी सिस्टम इतना स्ट्रांग हो सकता है कि वहां पर बिल्कुल भी कर देना हो क्योंकि सिस्टम को इतना स्ट्रांग करने के बहुत सारी कॉस्ट होती है अगर आप इतनी मॉनिटरिंग और इतनी सर्विस करने लगेंगे हर चीज को काउंटर चेक करने लगेंगे तो भ्रष्टाचार रोकने के लिए जो आपको उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी जो काम देले होगा और जो मॉनिटरिंग की कॉस्ट ज्यादा हो जाती है कि थोड़ा बहुत तो इसको हर हमेशा हर जगह ही रहता है तो भ्रष्टाचार कभी खत्म हो पाएगा मेरे हिसाब से इसकी सख्त जरूरत भी नहीं है लेकिन हमारे देश की प्रॉब्लम क्या है कि हमारे यहां पर भ्रष्टाचार उन चीजों में भी है जो कि आपका हक है जैसे बहुत सारे देशों में भी लगभग सभी देशो में हर जगह भ्रष्टाचार तो है लेकिन भ्रष्टाचार होता है वह काम कराने के लिए जो इल्लीगल है जो सही नहीं है लेकिन हमारे देश में जो सही काम है जो आपका हक है उसको भी करवाने के लिए आपको कई बार पैसे देने पड़ते हैं यह लोग अपनी ड्यूटी करने में भी रिश्वत खाते हैं वह भ्रष्टाचार हैं वह जरूर खत्म होना चाहिए और उसकी उम्मीद करता हूं कि वह जरूर खत्म होगा
Romanized Version
भ्रष्टाचार तू समाज में सब जगह है तो भारत में यह खत्म हो पाएगा मुझे तो नहीं लगता क्योंकि मुझे लगता है पूरी दुनिया में भ्रष्टाचार है लेकिन कहीं कम है कहीं ज्यादा है लिखिए आदमी की प्रवृत्ति है यह झूठ बोलना और झूठ बोलने के जब ज्यादा लेवल तक चला जाता है तो भ्रष्टाचार हो जाता है तू ऐसा कभी नहीं हो पाएगा कि पूरे समाज में पूरे भारतवर्ष में जहां करोड़ों लोग रहते हैं सारे के सारे बिल्कुल भ्रष्टाचार जीरो हो जाए और ना ही कोई भी घमंड का सिस्टम है कोई भी सिस्टम इतना स्ट्रांग हो सकता है कि वहां पर बिल्कुल भी कर देना हो क्योंकि सिस्टम को इतना स्ट्रांग करने के बहुत सारी कॉस्ट होती है अगर आप इतनी मॉनिटरिंग और इतनी सर्विस करने लगेंगे हर चीज को काउंटर चेक करने लगेंगे तो भ्रष्टाचार रोकने के लिए जो आपको उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी जो काम देले होगा और जो मॉनिटरिंग की कॉस्ट ज्यादा हो जाती है कि थोड़ा बहुत तो इसको हर हमेशा हर जगह ही रहता है तो भ्रष्टाचार कभी खत्म हो पाएगा मेरे हिसाब से इसकी सख्त जरूरत भी नहीं है लेकिन हमारे देश की प्रॉब्लम क्या है कि हमारे यहां पर भ्रष्टाचार उन चीजों में भी है जो कि आपका हक है जैसे बहुत सारे देशों में भी लगभग सभी देशो में हर जगह भ्रष्टाचार तो है लेकिन भ्रष्टाचार होता है वह काम कराने के लिए जो इल्लीगल है जो सही नहीं है लेकिन हमारे देश में जो सही काम है जो आपका हक है उसको भी करवाने के लिए आपको कई बार पैसे देने पड़ते हैं यह लोग अपनी ड्यूटी करने में भी रिश्वत खाते हैं वह भ्रष्टाचार हैं वह जरूर खत्म होना चाहिए और उसकी उम्मीद करता हूं कि वह जरूर खत्म होगाBhrashtachar Tu Samaaj Mein Sab Jagah Hai To Bharat Mein Yeh Khatam Ho Payega Mujhe To Nahi Lagta Kyonki Mujhe Lagta Hai Puri Duniya Mein Bhrashtachar Hai Lekin Kahin Kum Hai Kahin Jyada Hai Likhiye Aadmi Ki Pravritti Hai Yeh Jhuth Bolna Aur Jhuth Bolne Ke Jab Jyada Level Tak Chala Jata Hai To Bhrashtachar Ho Jata Hai Tu Aisa Kabhi Nahi Ho Payega Ki Poore Samaaj Mein Poore Bharatvarsh Mein Jahan Karodo Log Rehte Hain Sare Ke Sare Bilkul Bhrashtachar Zero Ho Jaye Aur Na Hi Koi Bhi Ghamand Ka System Hai Koi Bhi System Itna Strong Ho Sakta Hai Ki Wahan Par Bilkul Bhi Kar Dena Ho Kyonki System Ko Itna Strong Karne Ke Bahut Saree Cost Hoti Hai Agar Aap Itni Monitoring Aur Itni Service Karne Lagenge Har Cheez Ko Counter Check Karne Lagenge To Bhrashtachar Rokne Ke Liye Jo Aapko Uski Kimat Chukani Padegi Jo Kaam Dele Hoga Aur Jo Monitoring Ki Cost Jyada Ho Jati Hai Ki Thoda Bahut To Isko Har Hamesha Har Jagah Hi Rehta Hai To Bhrashtachar Kabhi Khatam Ho Payega Mere Hisab Se Iski Sakht Zaroorat Bhi Nahi Hai Lekin Hamare Desh Ki Problem Kya Hai Ki Hamare Yahan Par Bhrashtachar Un Chijon Mein Bhi Hai Jo Ki Aapka Haq Hai Jaise Bahut Sare Deshon Mein Bhi Lagbhag Sabhi Desho Mein Har Jagah Bhrashtachar To Hai Lekin Bhrashtachar Hota Hai Wah Kaam Karane Ke Liye Jo Illegal Hai Jo Sahi Nahi Hai Lekin Hamare Desh Mein Jo Sahi Kaam Hai Jo Aapka Haq Hai Usko Bhi Karwane Ke Liye Aapko Kai Baar Paise Dene Padate Hain Yeh Log Apni Duty Karne Mein Bhi Rishwat Khate Hain Wah Bhrashtachar Hain Wah Jarur Khatam Hona Chahiye Aur Uski Ummid Karta Hoon Ki Wah Jarur Khatam Hoga
Likes  20  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लाइफ के अंदर कहा जाता है कि ह्यूमन बॉडी हमेशा से करते हैं अपने बच्चों के लिए अपने पैरंट्स के लिए अपने पति के लिए एक जैसी नहीं होती है कोई मेरी गलत होती है कोई अलग होती हम सबको कंपेयर नहीं कर सकते लेकिन कॉलोनी डिपेंड करता है पर्टिकुलर एक औरत के ऊपर बैठे किया जा रहा है हम अपने अपने कैटेगरी के अनुसार अपना अपना जो बिक्री फाइव का दर्जा होते हैं तो यह किसी के ऊपर हम अमल नहीं कर सकते कि सब के ऊपर से औरत के ऊपर जो बिक्री टाइप कर रही हो कि नहीं करती है जो अपनी बीवी के लिए बहुत कुछ करते हैं बच्चों के लिए भी बहुत कुछ करते हैं लेकिन उनको वह दर्जा नहीं दिया जाता है कि सभी लेडीस लोग ही अच्छी होती है सभी लड़कियों बुरी होती है अग्नि-5 करती हो कि लाइफ में या नहीं करती
लाइफ के अंदर कहा जाता है कि ह्यूमन बॉडी हमेशा से करते हैं अपने बच्चों के लिए अपने पैरंट्स के लिए अपने पति के लिए एक जैसी नहीं होती है कोई मेरी गलत होती है कोई अलग होती हम सबको कंपेयर नहीं कर सकते लेकिन कॉलोनी डिपेंड करता है पर्टिकुलर एक औरत के ऊपर बैठे किया जा रहा है हम अपने अपने कैटेगरी के अनुसार अपना अपना जो बिक्री फाइव का दर्जा होते हैं तो यह किसी के ऊपर हम अमल नहीं कर सकते कि सब के ऊपर से औरत के ऊपर जो बिक्री टाइप कर रही हो कि नहीं करती है जो अपनी बीवी के लिए बहुत कुछ करते हैं बच्चों के लिए भी बहुत कुछ करते हैं लेकिन उनको वह दर्जा नहीं दिया जाता है कि सभी लेडीस लोग ही अच्छी होती है सभी लड़कियों बुरी होती है अग्नि-5 करती हो कि लाइफ में या नहीं करती
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल मैं तो चीज का समर्थन करता हूं यार आप पत्नी क्या किसी लड़के को भी किसी बच्चे को भी उस पर प्रेशर बनाकर अपने साथ रखने के लिए मजबूर नहीं कर सकते तो भाई जो निर्णय सर्वोच्च न्यायालय ने लिया है वह बिल्कुल ठीक लिया है हम किसी को उसका फ्रीडम पर कब्जा नहीं कर सकते तो यार बिल्कुल ठीक है एकदम सही है
Romanized Version
बिल्कुल मैं तो चीज का समर्थन करता हूं यार आप पत्नी क्या किसी लड़के को भी किसी बच्चे को भी उस पर प्रेशर बनाकर अपने साथ रखने के लिए मजबूर नहीं कर सकते तो भाई जो निर्णय सर्वोच्च न्यायालय ने लिया है वह बिल्कुल ठीक लिया है हम किसी को उसका फ्रीडम पर कब्जा नहीं कर सकते तो यार बिल्कुल ठीक है एकदम सही हैBilkul Main To Cheez Ka Samarthan Karta Hoon Yaar Aap Patni Kya Kisi Ladke Ko Bhi Kisi Bacche Ko Bhi Us Par Pressure Banakar Apne Saath Rakhne Ke Liye Majboor Nahi Kar Sakte To Bhai Jo Nirnay Sarvoch Nyayalaya Ne Liya Hai Wah Bilkul Theek Liya Hai Hum Kisi Ko Uska Freedom Par Kabja Nahi Kar Sakte To Yaar Bilkul Theek Hai Ekdam Sahi Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कांग्रेस ऐसा बोलता है उसको हम गलत नहीं बोल सकते हैं कारण अगर कल अब मोदी जी खुद है या BJP खुद विपक्ष में रहते तो वैसा ही बोलते हम लोगों को समझना चाहिए कि जो विपक्षी पार्टी होता है कि उस पार्टी का काम ही होता है कि कुछ ना कुछ उसमें गलत निकालना बोलना मैं मानता हूं कि वह प्रधान पिया मैं लोगों को रिस्पेक्ट करना चाहिए पर पार्टी जो बीजेपी अभी चल रहा है वह मोदी के वजह से ही चलता है कहीं भी छोटा भी इलेक्शन हो आदमी मतलब जानता है उसको मोदी के वजह से ही लाजमी है कांग्रेस से मोदी के नाम से ही अगर कुछ बोलेंगे या कुछ वह मतलब चाहेंगे कि ऐसा कुछ बोले कि मोदी का इमेज खराब हो दूसरी बात कि अब जो बहुत सारी बात है हम लोग को नहीं पता आजकल तो मोबाइल चलने लगा ज्यादा जियो आ गया फिर भी बहुत सारे प्रशन मतलब फोन यूज करने लगा है पहले इतना यूज़ भी नहीं करता था अभी जैसे कि आधार क्या बात हो गया जीएसटी के बाद 2 गया यह सब चलता था उसी के टाइम में जब वह कांग्रेस का सरकार था उस टाइम में मोदी साहब बहुत विरुद्ध विरोध किए थे कि नहीं यह जो आधार कार्ड लग रहा है
Romanized Version
कांग्रेस ऐसा बोलता है उसको हम गलत नहीं बोल सकते हैं कारण अगर कल अब मोदी जी खुद है या BJP खुद विपक्ष में रहते तो वैसा ही बोलते हम लोगों को समझना चाहिए कि जो विपक्षी पार्टी होता है कि उस पार्टी का काम ही होता है कि कुछ ना कुछ उसमें गलत निकालना बोलना मैं मानता हूं कि वह प्रधान पिया मैं लोगों को रिस्पेक्ट करना चाहिए पर पार्टी जो बीजेपी अभी चल रहा है वह मोदी के वजह से ही चलता है कहीं भी छोटा भी इलेक्शन हो आदमी मतलब जानता है उसको मोदी के वजह से ही लाजमी है कांग्रेस से मोदी के नाम से ही अगर कुछ बोलेंगे या कुछ वह मतलब चाहेंगे कि ऐसा कुछ बोले कि मोदी का इमेज खराब हो दूसरी बात कि अब जो बहुत सारी बात है हम लोग को नहीं पता आजकल तो मोबाइल चलने लगा ज्यादा जियो आ गया फिर भी बहुत सारे प्रशन मतलब फोन यूज करने लगा है पहले इतना यूज़ भी नहीं करता था अभी जैसे कि आधार क्या बात हो गया जीएसटी के बाद 2 गया यह सब चलता था उसी के टाइम में जब वह कांग्रेस का सरकार था उस टाइम में मोदी साहब बहुत विरुद्ध विरोध किए थे कि नहीं यह जो आधार कार्ड लग रहा हैCongress Aisa Bolta Hai Usko Hum Galat Nahi Bol Sakte Hain Kaaran Agar Kal Ab Modi Ji Khud Hai Ya BJP Khud Vipaksh Mein Rehte To Waisa Hi Bolte Hum Logon Ko Samajhna Chahiye Ki Jo Vipakshi Party Hota Hai Ki Us Party Ka Kaam Hi Hota Hai Ki Kuch Na Kuch Usamen Galat Nikalna Bolna Main Manata Hoon Ki Wah Pradhan Piya Main Logon Ko Respect Karna Chahiye Par Party Jo Bjp Abhi Chal Raha Hai Wah Modi Ke Wajah Se Hi Chalta Hai Kahin Bhi Chota Bhi Election Ho Aadmi Matlab Jaanta Hai Usko Modi Ke Wajah Se Hi Lajmi Hai Congress Se Modi Ke Naam Se Hi Agar Kuch Bolenge Ya Kuch Wah Matlab Chahenge Ki Aisa Kuch Bole Ki Modi Ka Image Kharab Ho Dusri Baat Ki Ab Jo Bahut Saree Baat Hai Hum Log Ko Nahi Pata Aajkal To Mobile Chalne Laga Jyada Jio Aa Gaya Phir Bhi Bahut Sare Prashan Matlab Phone Use Karne Laga Hai Pehle Itna Use Bhi Nahi Karta Tha Abhi Jaise Ki Aadhar Kya Baat Ho Gaya Gst Ke Baad 2 Gaya Yeh Sab Chalta Tha Ussi Ke Time Mein Jab Wah Congress Ka Sarkar Tha Us Time Mein Modi Sahab Bahut Viruddha Virodh Kiye The Ki Nahi Yeh Jo Aadhar Card Lag Raha Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोनों सदनों से इस विषय को गुजरना पड़ेगा पूरी की पूरी आरक्षण व्यवस्था को समाप्त करने के लिए यदि संवैधानिक दृष्टि से इसे समाप्त करना है और वह वर्ग जो इस आरक्षण दोसा का लाभ ले रहा है वह कभी इस विषय को पास नहीं होने देगा जो संविधान में हमारे पास जो शक्तियां मौजूद है जिसके कारण हम इस व्यवस्था को समाप्त कर सकते हैं तो वह संभव नहीं हो पाएगा क्योंकि देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में वोट बैंक की राजनीति से देश में सरकारी बनती और बिगड़ती है हां आरक्षण के विषय को ईमानदारी से समझने की जरूरत आ सकता है आरक्षण मिला था ऐसे वर्क के लिए जो दबे थे कुछ लेते पिछड़े थे उनको पर लाने के लिए मुख्यधारा में लाने के गीत लेकिन कहीं न कहीं भी आत्मघाती साबित हुआ और अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारने जैसा हुआ इसे सबसे बड़ा जो नुकसान हुआ देश का वह देश का जो क्रीम ऑफ द क्लीन ग्रीन था जो एक्सीलेंसी थी इस देश की वह पलायन पर मजबूर हो गई और इसका जीता जागता उदाहरण हमारे पास मौजूद है आज अमेरिका के नासा में 30% से ज्यादा भारतीय वैज्ञानिक है अमेरिका के हॉस्टल में 70% से ज्यादा डॉक्टर भारत के हैं यूके में है इटली में है न्यूजीलैंड ऑस्ट्रेलिया कनाडा भारतीयों से भरा हुआ है मेडल लिस्ट भारतीयों से भरा हुआ है तो तेने कहिए कि निराशा जो भारतीय जनमानस में फैली उसके पीछे आरक्षण भी बहुत बड़ा कारण था और दूसरी सबसे बड़ी बात कि जो आरक्षित समाज है उस समाज में भी दो खाई हो गई 2 वर्ग हो गया एक जो शक्तिशाली बता चला गया और दूसरा जो विपन्नता विविधता की तरफ ही बढ़ता चला गया तो उसमें भी आ गई और पिछड़े की लड़ाई तो आरक्षण नीतीश का सिर्फ नुकसान है क्या है उसका कुछ लाभ नहीं मिला
दोनों सदनों से इस विषय को गुजरना पड़ेगा पूरी की पूरी आरक्षण व्यवस्था को समाप्त करने के लिए यदि संवैधानिक दृष्टि से इसे समाप्त करना है और वह वर्ग जो इस आरक्षण दोसा का लाभ ले रहा है वह कभी इस विषय को पास नहीं होने देगा जो संविधान में हमारे पास जो शक्तियां मौजूद है जिसके कारण हम इस व्यवस्था को समाप्त कर सकते हैं तो वह संभव नहीं हो पाएगा क्योंकि देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में वोट बैंक की राजनीति से देश में सरकारी बनती और बिगड़ती है हां आरक्षण के विषय को ईमानदारी से समझने की जरूरत आ सकता है आरक्षण मिला था ऐसे वर्क के लिए जो दबे थे कुछ लेते पिछड़े थे उनको पर लाने के लिए मुख्यधारा में लाने के गीत लेकिन कहीं न कहीं भी आत्मघाती साबित हुआ और अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारने जैसा हुआ इसे सबसे बड़ा जो नुकसान हुआ देश का वह देश का जो क्रीम ऑफ द क्लीन ग्रीन था जो एक्सीलेंसी थी इस देश की वह पलायन पर मजबूर हो गई और इसका जीता जागता उदाहरण हमारे पास मौजूद है आज अमेरिका के नासा में 30% से ज्यादा भारतीय वैज्ञानिक है अमेरिका के हॉस्टल में 70% से ज्यादा डॉक्टर भारत के हैं यूके में है इटली में है न्यूजीलैंड ऑस्ट्रेलिया कनाडा भारतीयों से भरा हुआ है मेडल लिस्ट भारतीयों से भरा हुआ है तो तेने कहिए कि निराशा जो भारतीय जनमानस में फैली उसके पीछे आरक्षण भी बहुत बड़ा कारण था और दूसरी सबसे बड़ी बात कि जो आरक्षित समाज है उस समाज में भी दो खाई हो गई 2 वर्ग हो गया एक जो शक्तिशाली बता चला गया और दूसरा जो विपन्नता विविधता की तरफ ही बढ़ता चला गया तो उसमें भी आ गई और पिछड़े की लड़ाई तो आरक्षण नीतीश का सिर्फ नुकसान है क्या है उसका कुछ लाभ नहीं मिला
Likes  71  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर मुझे राष्ट्रपति जी से कोई सवाल पूछना हो तो मैं उनसे यह सवाल पूछूंगा कि डॉक्टर बाबा साहब अंबेडकर ने यह कहा था कि जिस दिन इस संविधान के अनुसार कोई दलित राष्ट्रपति हो जाएगा उस दिन दलितों के साथ दलितों को सारे अधिकार मिल जाएंगे दलितों की सारी समस्याएं दूर हो जाएगी आज रामनाथ कोविंद भारत के राष्ट्रपति बन चुके हैं क्या महामहिम राष्ट्रपति जी ऐसा मानते हैं कि आज दलितों के ऊपर कोई अत्याचार नहीं हो रहा है आज दलितों को उनके सारे अधिकार मिल गए हैं
Romanized Version
अगर मुझे राष्ट्रपति जी से कोई सवाल पूछना हो तो मैं उनसे यह सवाल पूछूंगा कि डॉक्टर बाबा साहब अंबेडकर ने यह कहा था कि जिस दिन इस संविधान के अनुसार कोई दलित राष्ट्रपति हो जाएगा उस दिन दलितों के साथ दलितों को सारे अधिकार मिल जाएंगे दलितों की सारी समस्याएं दूर हो जाएगी आज रामनाथ कोविंद भारत के राष्ट्रपति बन चुके हैं क्या महामहिम राष्ट्रपति जी ऐसा मानते हैं कि आज दलितों के ऊपर कोई अत्याचार नहीं हो रहा है आज दलितों को उनके सारे अधिकार मिल गए हैंAgar Mujhe Rastrapati G Se Koi Sawal Puchhnaa Ho To Main Unse Yeh Sawal Puchunga Qi Doctor Baba Saheb Ambedkar Ne Yeh Kaha Thaa Qi Jisha Din Is Samvidhan K Anusar Koi Dalit Rastrapati Ho Jaaegaa Oosh Din Daliton K Sathe Daliton Co Saare Adhikar Mill Jaenge Daliton Ki Sari Samasyaen Dur Ho Jaaegi Aj Ramnath Kovind Bharat K Rastrapati Bun Chuke Hain Kya Mahamhim Rastrapati G Aisa Maunte Hain Qi Aj Daliton K Upar Koi Atyachar Nahin Ho Raha Hai Aj Daliton Co Unke Saare Adhikar Mill Ge Hain
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि की ऐसा कहना बिल्कुल ही गलत होगा कि महिलाएं ज्यादा वफादार होती है या पुरुष ज्यादा धोखा देते हैं वह बिल्कुल निर्भर करता है उनके स्वभाव पर कि जो इंसान से आप प्यार कर रहे हैं उनका स्वभाव कैसा है वह इंसान कैसी हैं अगर वह लड़की है या महिला ही है लेकिन उनका स्वभाव अच्छा नहीं है वह रिश्ते को अहमियत नहीं देती आप को रिस्पेक्ट नहीं देती तो वह भी आपको धोखा दे सकती हैं अगर आप एक लड़की हैं और एक लड़के से प्यार करती हैं अगर वह लड़का आपके साथ वफादार नहीं है सच्चा इंसान नहीं है तो वह भी आपको धोखा दे सकता है तो ऐसी विचारधारा रखना कि नहीं यह महिला है तो यह हमें कभी धोखा नहीं दे सकती यह हमेशा हमारे साथ वफादार रहेगी यह कहना बिल्कुल ही गलत होगा और ऐसा सोचना कि यह लड़का है तो यह तो कभी भी धोखा दे सकता है यह भी गलत है आपको इंसान को
Romanized Version
आदि की ऐसा कहना बिल्कुल ही गलत होगा कि महिलाएं ज्यादा वफादार होती है या पुरुष ज्यादा धोखा देते हैं वह बिल्कुल निर्भर करता है उनके स्वभाव पर कि जो इंसान से आप प्यार कर रहे हैं उनका स्वभाव कैसा है वह इंसान कैसी हैं अगर वह लड़की है या महिला ही है लेकिन उनका स्वभाव अच्छा नहीं है वह रिश्ते को अहमियत नहीं देती आप को रिस्पेक्ट नहीं देती तो वह भी आपको धोखा दे सकती हैं अगर आप एक लड़की हैं और एक लड़के से प्यार करती हैं अगर वह लड़का आपके साथ वफादार नहीं है सच्चा इंसान नहीं है तो वह भी आपको धोखा दे सकता है तो ऐसी विचारधारा रखना कि नहीं यह महिला है तो यह हमें कभी धोखा नहीं दे सकती यह हमेशा हमारे साथ वफादार रहेगी यह कहना बिल्कुल ही गलत होगा और ऐसा सोचना कि यह लड़का है तो यह तो कभी भी धोखा दे सकता है यह भी गलत है आपको इंसान कोAadi Ki Aisa Kehna Bilkul Hi Galat Hoga Ki Mahilaye Jyada Vafaadar Hoti Hai Ya Purush Jyada Dhokha Dete Hain Wah Bilkul Nirbhar Karta Hai Unke Swabhav Par Ki Jo Insaan Se Aap Pyar Kar Rahe Hain Unka Swabhav Kaisa Hai Wah Insaan Kaisi Hain Agar Wah Ladki Hai Ya Mahila Hi Hai Lekin Unka Swabhav Accha Nahi Hai Wah Rishte Ko Ahamiyat Nahi Deti Aap Ko Respect Nahi Deti To Wah Bhi Aapko Dhokha De Sakti Hain Agar Aap Ek Ladki Hain Aur Ek Ladke Se Pyar Karti Hain Agar Wah Ladka Aapke Saath Vafaadar Nahi Hai Saccha Insaan Nahi Hai To Wah Bhi Aapko Dhokha De Sakta Hai To Aisi Vichardhara Rakhna Ki Nahi Yeh Mahila Hai To Yeh Hume Kabhi Dhokha Nahi De Sakti Yeh Hamesha Hamare Saath Vafaadar Rahegi Yeh Kehna Bilkul Hi Galat Hoga Aur Aisa Sochna Ki Yeh Ladka Hai To Yeh To Kabhi Bhi Dhokha De Sakta Hai Yeh Bhi Galat Hai Aapko Insaan Ko
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं नहीं समझता कि गुजरात में बीजेपी की जो जीत है उसका जीएसटी के साथ में कोई बहुत बड़ा कनेक्शन है l क्योंकि यह बात तो तय है कि जो जीएसटी है उसमें लोगों को व्यापारी वर्ग में खासतौर से काफी ज्यादा रुष्ट हैं l वह लोग और बीजेपी की टोटल सीटें हैं वह भी पिछले २०-२२ सालों में सबसे कम आए हैं l तो यह कहना कि जीएसटी जो है उसने है जिसकी को लोगों ने एक्सेप्ट कर लिया है या सपोर्ट कर रहे हैं l यह मेरे ख्याल से उचित नहीं होगा हालांकि जीएसटी की बहुत सारी कमियां जो थी वह गुजरात का इलेक्शन के समय और उसके पहले जो है भारतीय जनता पार्टी सरकार ने दूर करने की कोशिश की ताकि जीएसटी को ज्यादा से ज्यादा लोग एक्सेप्ट कर सके l लेकिन फिर भी जीएसटी के अंदर बहुत सारी कमियां हैं जो कि सरकार को दूर करने की जरूरत है और जब यह सारी कमियां दूर हो जाएंगी तब जाकर कि जीएसटी है वह देश व्यापी एक्सेप्ट ढंग से होगा, थैंक यू l
Romanized Version
मैं नहीं समझता कि गुजरात में बीजेपी की जो जीत है उसका जीएसटी के साथ में कोई बहुत बड़ा कनेक्शन है l क्योंकि यह बात तो तय है कि जो जीएसटी है उसमें लोगों को व्यापारी वर्ग में खासतौर से काफी ज्यादा रुष्ट हैं l वह लोग और बीजेपी की टोटल सीटें हैं वह भी पिछले २०-२२ सालों में सबसे कम आए हैं l तो यह कहना कि जीएसटी जो है उसने है जिसकी को लोगों ने एक्सेप्ट कर लिया है या सपोर्ट कर रहे हैं l यह मेरे ख्याल से उचित नहीं होगा हालांकि जीएसटी की बहुत सारी कमियां जो थी वह गुजरात का इलेक्शन के समय और उसके पहले जो है भारतीय जनता पार्टी सरकार ने दूर करने की कोशिश की ताकि जीएसटी को ज्यादा से ज्यादा लोग एक्सेप्ट कर सके l लेकिन फिर भी जीएसटी के अंदर बहुत सारी कमियां हैं जो कि सरकार को दूर करने की जरूरत है और जब यह सारी कमियां दूर हो जाएंगी तब जाकर कि जीएसटी है वह देश व्यापी एक्सेप्ट ढंग से होगा, थैंक यू lMain Nahi Samajhata Ki Gujarat Mein Bjp Ki Jo Jeet Hai Uska Gst Ke Saath Mein Koi Bahut Bada Connection Hai L Kyonki Yeh Baat To Tay Hai Ki Jo Gst Hai Usamen Logon Ko Vyapaari Varg Mein Khaastaur Se Kafi Jyada Rusht Hain L Wah Log Aur Bjp Ki Total Seaten Hain Wah Bhi Pichle 20 22 Salon Mein Sabse Kum Aaye Hain L To Yeh Kehna Ki Gst Jo Hai Usne Hai Jiski Ko Logon Ne Except Kar Liya Hai Ya Support Kar Rahe Hain L Yeh Mere Khayal Se Uchit Nahi Hoga Halanki Gst Ki Bahut Saree Kamiyan Jo Thi Wah Gujarat Ka Election Ke Samay Aur Uske Pehle Jo Hai Bhartiya Janta Party Sarkar Ne Dur Karne Ki Koshish Ki Taki Gst Ko Jyada Se Jyada Log Except Kar Sake L Lekin Phir Bhi Gst Ke Andar Bahut Saree Kamiyan Hain Jo Ki Sarkar Ko Dur Karne Ki Zaroorat Hai Aur Jab Yeh Saree Kamiyan Dur Ho Jaengi Tab Jaakar Ki Gst Hai Wah Desh Vyapi Except Dhang Se Hoga Thank You L
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये प्रवक्ता संबित पात्रा जी का, मोदी जी को देश का बाप बताना या देश का पिता बताना किसी भी प्रकार से उचित नहीं है| वह संविधान के संरक्षक है, मोदी जी| व उनका उत्तरदायित्व है की भारत के प्रशासनिक व राजनीतिक तंत्र को सुचारु रुप से चलाएं| संसद का प्रतिनिधित्व करें| वह अपना जो मंत्रिमंडल है, उसको देश के विकास कार्यों के लिए लगाएं और देश को आगे बढ़ाएं| बजाए के इसके कि हमारे अपने संरक्षक बने| हमारे अपने संरक्षक हमारा परिवार होता है, परिवार का मुखिया होता है| और वह हमारे परिवार के मुखिया नहीं, हमारे भारत के मुखिया है अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर| भारत के एक संरक्षक व एक हमारे जो प्रधान है, उसका वह उसके प्रतीक हैं| वह उतना ही रहे, तो हमारे लिए भी अच्छा है, वह देश की आम जनता के लिए भी अच्छा है| धन्यवाद|
Romanized Version
देखिये प्रवक्ता संबित पात्रा जी का, मोदी जी को देश का बाप बताना या देश का पिता बताना किसी भी प्रकार से उचित नहीं है| वह संविधान के संरक्षक है, मोदी जी| व उनका उत्तरदायित्व है की भारत के प्रशासनिक व राजनीतिक तंत्र को सुचारु रुप से चलाएं| संसद का प्रतिनिधित्व करें| वह अपना जो मंत्रिमंडल है, उसको देश के विकास कार्यों के लिए लगाएं और देश को आगे बढ़ाएं| बजाए के इसके कि हमारे अपने संरक्षक बने| हमारे अपने संरक्षक हमारा परिवार होता है, परिवार का मुखिया होता है| और वह हमारे परिवार के मुखिया नहीं, हमारे भारत के मुखिया है अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर| भारत के एक संरक्षक व एक हमारे जो प्रधान है, उसका वह उसके प्रतीक हैं| वह उतना ही रहे, तो हमारे लिए भी अच्छा है, वह देश की आम जनता के लिए भी अच्छा है| धन्यवाद|Dekhiye Pravakta Sambit Paatra Ji Ka Modi Ji Ko Desh Ka Baap Batana Ya Desh Ka Pita Batana Kisi Bhi Prakar Se Uchit Nahi Hai Wah Samvidhan Ke Sanrakshak Hai Modi Ji V Unka Uttardaayitva Hai Ki Bharat Ke Prashasnik V Rajnitik Tantra Ko Sucharu Roop Se Chalaye Sansad Ka Pratinidhitva Karen Wah Apna Jo Mantrimandal Hai Usko Desh Ke Vikash Kaaryon Ke Liye Lagaen Aur Desh Ko Aage Badhaye Bajae Ke Iske Ki Hamare Apne Sanrakshak Bane Hamare Apne Sanrakshak Hamara Parivar Hota Hai Parivar Ka Mukhiya Hota Hai Aur Wah Hamare Parivar Ke Mukhiya Nahi Hamare Bharat Ke Mukhiya Hai Antararashtriya Aur Rashtriya Manch Par Bharat Ke Ek Sanrakshak V Ek Hamare Jo Pradhan Hai Uska Wah Uske Pratik Hain Wah Utana Hi Rahe To Hamare Liye Bhi Accha Hai Wah Desh Ki Aam Janta Ke Liye Bhi Accha Hai Dhanyavad
Likes  61  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी मैं ऐसे हर किसी योजना के खिलाफ जो फ्री में बैठे बैठे किसी को भी पैसे दे मैं इसी वजह से मनरेगा के भी खिलाफ हूं क्योंकि मैंने एक नोटिस किया एक मेरे रिश्तेदार है बिहार में वह अपने गांव के बारे में बता रहे थे तो आरा डिस्ट्रिक्ट में पड़ता है वहां पर लोग खेती में थी करने के लिए कोई मिल ही नहीं रहा क्योंकि जो भी लोग हैं उनको मनरेगा के लिए पैसे मिल रहे हैं और जो दिहाड़ी यहां पर मिलती है वह मनरेगा से कम है तो लोगों को यह लगता है कि हम मनरेगा से ही पैसे कमा लें हम क्यों मेहनत करके पैसे कमाए तो यह जो भावना उत्पन्न होती है फ्री में बैठे हुए यह बहुत ही खतरनाक है हां मैंने सुना है काफी देशों में ऐसा होता है जो डेवलप्ड कंट्रीज है जहां कम लोग रहते हैं स्विजरलैंड वगैरह देशों में ऐसा होता है बट हमारे देश में यह नहीं होना चाहिए और मुझे उनका देश वह जाने उनका क्या मानना है मैं इन सब चीजों के बिलकुल सख्त खिलाफ हो सकता है दूसरे देशों में जहां यह होता है डेवलप्ड कंट्रीज है लोग तो भी बता मिलते हुए भी हो सकता है काम की तलाश करते हो बट हमारी हमें यह मान लेना चाहिए कि लोग आलसी है यह फ्री में अगर बैठे बैठे किसी को पैसे मिलेंगे तो कोई भी काम नहीं करेगा और यह एक जो भविष्य है हमारा जो हम यूज करते रहते हैं हर स्पीच में हर जगह उसके मुहूर्त ही नेगेटिव उसमें इंपैक्ट पड़ेगा तो मैं इसकी बिल्कुल ही खिलाफ
Romanized Version
जी मैं ऐसे हर किसी योजना के खिलाफ जो फ्री में बैठे बैठे किसी को भी पैसे दे मैं इसी वजह से मनरेगा के भी खिलाफ हूं क्योंकि मैंने एक नोटिस किया एक मेरे रिश्तेदार है बिहार में वह अपने गांव के बारे में बता रहे थे तो आरा डिस्ट्रिक्ट में पड़ता है वहां पर लोग खेती में थी करने के लिए कोई मिल ही नहीं रहा क्योंकि जो भी लोग हैं उनको मनरेगा के लिए पैसे मिल रहे हैं और जो दिहाड़ी यहां पर मिलती है वह मनरेगा से कम है तो लोगों को यह लगता है कि हम मनरेगा से ही पैसे कमा लें हम क्यों मेहनत करके पैसे कमाए तो यह जो भावना उत्पन्न होती है फ्री में बैठे हुए यह बहुत ही खतरनाक है हां मैंने सुना है काफी देशों में ऐसा होता है जो डेवलप्ड कंट्रीज है जहां कम लोग रहते हैं स्विजरलैंड वगैरह देशों में ऐसा होता है बट हमारे देश में यह नहीं होना चाहिए और मुझे उनका देश वह जाने उनका क्या मानना है मैं इन सब चीजों के बिलकुल सख्त खिलाफ हो सकता है दूसरे देशों में जहां यह होता है डेवलप्ड कंट्रीज है लोग तो भी बता मिलते हुए भी हो सकता है काम की तलाश करते हो बट हमारी हमें यह मान लेना चाहिए कि लोग आलसी है यह फ्री में अगर बैठे बैठे किसी को पैसे मिलेंगे तो कोई भी काम नहीं करेगा और यह एक जो भविष्य है हमारा जो हम यूज करते रहते हैं हर स्पीच में हर जगह उसके मुहूर्त ही नेगेटिव उसमें इंपैक्ट पड़ेगा तो मैं इसकी बिल्कुल ही खिलाफG Main Aise Har Kisi Yojana Ke Khilaf Jo Free Mein Baithey Baithey Kisi Ko Bhi Paise De Main Isi Wajah Se Mnrega Ke Bhi Khilaf Hoon Kyonki Maine Ek Notice Kiya Ek Mere Rishtedar Hai Bihar Mein Wah Apne Gav Ke Bare Mein Bata Rahe The To Aara District Mein Padata Hai Wahan Par Log Kheti Mein Thi Karne Ke Liye Koi Mil Hi Nahi Raha Kyonki Jo Bhi Log Hain Unko Mnrega Ke Liye Paise Mil Rahe Hain Aur Jo Dihadi Yahan Par Milti Hai Wah Mnrega Se Kam Hai To Logon Ko Yeh Lagta Hai Ki Hum Mnrega Se Hi Paise Kama Lein Hum Kyon Mehnat Karke Paise Kamaye To Yeh Jo Bhavna Utpann Hoti Hai Free Mein Baithey Huye Yeh Bahut Hi Khataranaak Hai Haan Maine Suna Hai Kafi Deshon Mein Aisa Hota Hai Jo Developed Countries Hai Jahan Kam Log Rehte Hain Switzerland Vagairah Deshon Mein Aisa Hota Hai But Hamare Desh Mein Yeh Nahi Hona Chahiye Aur Mujhe Unka Desh Wah Jaane Unka Kya Manana Hai Main In Sab Chijon Ke Bilkul Sakht Khilaf Ho Sakta Hai Dusre Deshon Mein Jahan Yeh Hota Hai Developed Countries Hai Log To Bhi Bata Milte Huye Bhi Ho Sakta Hai Kaam Ki Talash Karte Ho But Hamari Hume Yeh Maan Lena Chahiye Ki Log Aalsi Hai Yeh Free Mein Agar Baithey Baithey Kisi Ko Paise Milenge To Koi Bhi Kaam Nahi Karega Aur Yeh Ek Jo Bhavishya Hai Hamara Jo Hum Use Karte Rehte Hain Har Speech Mein Har Jagah Uske Muhurt Hi Negative Usamen Inspect Padega To Main Iski Bilkul Hi Khilaf
Likes  43  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक राष्ट्रीय संस्था है मुझे r.s.s. पसंद है मैं उनका समर्थन करता हूं लेकिन केवल एक बात से असहमत हो है उनका कहना कि भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए मेरी राय में इससे भारत के टुकड़े हो जाएंगे बाकी हर बात
Romanized Version
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक राष्ट्रीय संस्था है मुझे r.s.s. पसंद है मैं उनका समर्थन करता हूं लेकिन केवल एक बात से असहमत हो है उनका कहना कि भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए मेरी राय में इससे भारत के टुकड़े हो जाएंगे बाकी हर बातRashtriya Swayansevak Sangh Ek Rashtriya Sanstha Hai Mujhe R.s.s. Pasad Hai Main Unka Samarthn Karata Hoon Lekin Keval Ek Baat Se Asahamat Ho Hai Unka Kahuna Qi Bharat Co Ek Hindu Rashtra Ghosit Kiya Jae Meri Ray Mein Issase Bharat K Tukde Ho Jaenge Baaki Her Baat
Likes  63  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी जो लक्षण होने है 2017में आपका मेघालय नागालैंड त्रिपुरा कर्नाटक MP छत्तीसगढ़ मिजोरम इन सब जगह पर होने अभिलक्षण अभी जैसे मैं सिंपल सिंपल देती हूं कि इन सब में BJP की क्या बोल रहे गी बीच की सीटी देखिए डिपेंड करता है हिंदी रिजल्ट इंटर रिजल्ट मैं अपनी बात करती हूं इतना पॉलिटिक्स कुछ भी हो सकता है वैसे तो लेकिन मैं आपसे बात करूं तुझे डोली क्या होगा कि क्या इंपैक्ट पड़ा है जो भी डिसीजन बीजेपी गवर्नमेंट नहीं लिए है 5:00 बजे से सिंपल सपना डिमोनेटाइजेशन लीजिए और जीएसटी दो इंप्लीमेंटेशन कमेंट बॉक्स टिप्पणी की है उसका इंपॉर्टेंट सेट में क्या पढ़ा है इसका रिप्लाइ कृष्ण उसके पॉजिटिव नेगेटिव इंपेक्ट क्या हो रहा है उसके ऊपर बहुत मैटर करता है बीजेपी का वेट और बीजेपी की स्थिति और से मनाली कांग्रेस कांग्रेस कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी किस हिसाब से कितनी तेजी से कम पानी करते हैं लोगों को कितना अपने फेवर में लेते हैं जैसे कि हमें गुजरात में किया था वह प्राप्त करता करता है
Romanized Version
अभी जो लक्षण होने है 2017में आपका मेघालय नागालैंड त्रिपुरा कर्नाटक MP छत्तीसगढ़ मिजोरम इन सब जगह पर होने अभिलक्षण अभी जैसे मैं सिंपल सिंपल देती हूं कि इन सब में BJP की क्या बोल रहे गी बीच की सीटी देखिए डिपेंड करता है हिंदी रिजल्ट इंटर रिजल्ट मैं अपनी बात करती हूं इतना पॉलिटिक्स कुछ भी हो सकता है वैसे तो लेकिन मैं आपसे बात करूं तुझे डोली क्या होगा कि क्या इंपैक्ट पड़ा है जो भी डिसीजन बीजेपी गवर्नमेंट नहीं लिए है 5:00 बजे से सिंपल सपना डिमोनेटाइजेशन लीजिए और जीएसटी दो इंप्लीमेंटेशन कमेंट बॉक्स टिप्पणी की है उसका इंपॉर्टेंट सेट में क्या पढ़ा है इसका रिप्लाइ कृष्ण उसके पॉजिटिव नेगेटिव इंपेक्ट क्या हो रहा है उसके ऊपर बहुत मैटर करता है बीजेपी का वेट और बीजेपी की स्थिति और से मनाली कांग्रेस कांग्रेस कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी किस हिसाब से कितनी तेजी से कम पानी करते हैं लोगों को कितना अपने फेवर में लेते हैं जैसे कि हमें गुजरात में किया था वह प्राप्त करता करता हैAbhi Jo Lakshan Hone Hai Mein Aapka Meghalaya Nagaland Tripura Karnataka MP Chattisgarh Mizoram In Sab Jagah Par Hone Abhilakshan Abhi Jaise Main Simple Simple Deti Hoon Ki In Sab Mein BJP Ki Kya Bol Rahe Gi Beech Ki City Dekhie Depend Karta Hai Hindi Result Inter Result Main Apni Baat Karti Hoon Itna Politics Kuch Bhi Ho Sakta Hai Waise To Lekin Main Aapse Baat Karun Tujhe Doli Kya Hoga Ki Kya Inspect Pada Hai Jo Bhi Decision Bjp Government Nahi Liye Hai 5:00 Baje Se Simple Sapna Dimonetaijeshan Lijiye Aur Gst Do Implementation Comment Box Tippani Ki Hai Uska Important Set Mein Kya Padha Hai Iska Reply Krishan Uske Positive Negative Impekt Kya Ho Raha Hai Uske Upar Bahut Matter Karta Hai Bjp Ka Wait Aur Bjp Ki Sthiti Aur Se Manali Congress Congress Congress Adhyaksh Rahul Gandhi Ji Kis Hisab Se Kitni Teji Se Kum Pani Karte Hain Logon Ko Kitna Apne Favor Mein Lete Hain Jaise Ki Hume Gujarat Mein Kiya Tha Wah Prapt Karta Karta Hai
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात सही है अंग्रेजों ने ही भारत के बंटवारे की बुनियाद रखी उसमें सबसे पहले आपको प्रमाण मिलता है लार्ड कर्जन जो कई बार बंगाल का दौरा करता है और अपनी दोनों में कुछ पोस्ट कहता भी है कि पूर्वी बंगाल का बटवारा धर्म के आधार पर मुसलमानों के लिए होना चाहिए क्योंकि हम मुसलमानों के लिए बेहतर विकास की संभावनाएं बनेंगी मिंटू भी इस परंपरा को आगे बढ़ाता है मुसलमानों के प्रति बढ़ती सुजुका और मुसलमानों को दी जानेवाली अंग्रेजों द्वारा शक्ति का कहीं न कहीं विरोध और असंतोष भारत का जो मूल जन्माला हिंदू जनमानस था राष्ट्रवादी सोच का जो जनमानस था उसको यह स्वीकार्य नहीं था और अंग्रेजों के प्रति सरकार के प्रति विरोध का स्वर बढ़ता चला जाता है फलस्वरुप वीर सावरकर जैसे व्यक्ति इस देश में हिंदू राष्ट्र की कल्पना करते हैं वही मुसलमानों का प्रबुद्ध वर्ग सर सैयद खान की अगुवाई में इस विचार को आगे बढ़ाता क्योंकि मुगलों से ही अंग्रेजों ने शासन लिया था और कहीं न कहीं उसी मानसिकता को और प्रबल तरीके से मुस्लिम प्रबुद्ध समाज आगे बढ़ाना चाहता था ताकि शासन पुणे उनके हाथ में आ जाए जिसके लिए हिंदू राष्ट्रवादी समाज कतई तैयार नहीं था हां यहां एक बात महत्वपूर्ण है कि अंग्रेजों ने जो मुंह विचारधारा इस्लाम की है और जो मूल विचारधारा हिंदुत्व की थी जो सावरकर की विचारधारा थी उस पर नेहरू को प्रतिस्थापित कर दिया और जो इस्लाम की मूल विचारधारा थी उसका उसके विरुद्ध पालन करने वाले व्यक्ति जिंदा को प्रतिस्थापित कर दिया दो ऐसे व्यक्ति जिन का उद्गम जिनकी संस्कृति जिनकी सोच मुसलमानों के और हिंदुओं के खिलाफ और अंग्रेजो के करीब थी ऐसे दो व्यक्ति भारत के बंटवारे के कर्णधार बने और वह दोनों देशों के मुखिया भी बने इसलिए मुसलमान और
Romanized Version
यह बात सही है अंग्रेजों ने ही भारत के बंटवारे की बुनियाद रखी उसमें सबसे पहले आपको प्रमाण मिलता है लार्ड कर्जन जो कई बार बंगाल का दौरा करता है और अपनी दोनों में कुछ पोस्ट कहता भी है कि पूर्वी बंगाल का बटवारा धर्म के आधार पर मुसलमानों के लिए होना चाहिए क्योंकि हम मुसलमानों के लिए बेहतर विकास की संभावनाएं बनेंगी मिंटू भी इस परंपरा को आगे बढ़ाता है मुसलमानों के प्रति बढ़ती सुजुका और मुसलमानों को दी जानेवाली अंग्रेजों द्वारा शक्ति का कहीं न कहीं विरोध और असंतोष भारत का जो मूल जन्माला हिंदू जनमानस था राष्ट्रवादी सोच का जो जनमानस था उसको यह स्वीकार्य नहीं था और अंग्रेजों के प्रति सरकार के प्रति विरोध का स्वर बढ़ता चला जाता है फलस्वरुप वीर सावरकर जैसे व्यक्ति इस देश में हिंदू राष्ट्र की कल्पना करते हैं वही मुसलमानों का प्रबुद्ध वर्ग सर सैयद खान की अगुवाई में इस विचार को आगे बढ़ाता क्योंकि मुगलों से ही अंग्रेजों ने शासन लिया था और कहीं न कहीं उसी मानसिकता को और प्रबल तरीके से मुस्लिम प्रबुद्ध समाज आगे बढ़ाना चाहता था ताकि शासन पुणे उनके हाथ में आ जाए जिसके लिए हिंदू राष्ट्रवादी समाज कतई तैयार नहीं था हां यहां एक बात महत्वपूर्ण है कि अंग्रेजों ने जो मुंह विचारधारा इस्लाम की है और जो मूल विचारधारा हिंदुत्व की थी जो सावरकर की विचारधारा थी उस पर नेहरू को प्रतिस्थापित कर दिया और जो इस्लाम की मूल विचारधारा थी उसका उसके विरुद्ध पालन करने वाले व्यक्ति जिंदा को प्रतिस्थापित कर दिया दो ऐसे व्यक्ति जिन का उद्गम जिनकी संस्कृति जिनकी सोच मुसलमानों के और हिंदुओं के खिलाफ और अंग्रेजो के करीब थी ऐसे दो व्यक्ति भारत के बंटवारे के कर्णधार बने और वह दोनों देशों के मुखिया भी बने इसलिए मुसलमान औरYeh Baat Sahi Hai Angrejo Ne Hi Bharat Ke Bantavare Ki Buniyad Rakhi Usamen Sabse Pehle Aapko Pramaan Milta Hai Lord Karjan Jo Kai Baar Bengal Ka Daura Karta Hai Aur Apni Dono Mein Kuch Post Kahata Bhi Hai Ki Purvi Bengal Ka Batwara Dharm Ke Aadhar Par Musalmano Ke Liye Hona Chahiye Kyonki Hum Musalmano Ke Liye Behtar Vikash Ki Sambhavnaye Banengi Mintu Bhi Is Parampara Ko Aage Badhata Hai Musalmano Ke Prati Badhti Sujuka Aur Musalmano Ko Di Janevali Angrejo Dwara Shakti Ka Kahin N Kahin Virodh Aur Asantosh Bharat Ka Jo Mul Janmala Hindu Janmanas Tha Rashtrawadi Soch Ka Jo Janmanas Tha Usko Yeh Svikarya Nahi Tha Aur Angrejo Ke Prati Sarkar Ke Prati Virodh Ka Swar Badhta Chala Jata Hai Falswaroop Veer Savarkar Jaise Vyakti Is Desh Mein Hindu Rashtra Ki Kalpana Karte Hain Wahi Musalmano Ka Prabuddha Varg Sar Shaiyad Khan Ki Aguvaii Mein Is Vichar Ko Aage Badhata Kyonki Mugalon Se Hi Angrejo Ne Shasan Liya Tha Aur Kahin N Kahin Ussi Mansikta Ko Aur Prabal Tarike Se Muslim Prabuddha Samaaj Aage Badhana Chahta Tha Taki Shasan Pune Unke Hath Mein Aa Jaye Jiske Liye Hindu Rashtrawadi Samaaj Qty Taiyaar Nahi Tha Haan Yahan Ek Baat Mahatvapurna Hai Ki Angrejo Ne Jo Mooh Vichardhara Islam Ki Hai Aur Jo Mul Vichardhara Hindutva Ki Thi Jo Savarkar Ki Vichardhara Thi Us Par Nehru Ko Pratisthapit Kar Diya Aur Jo Islam Ki Mul Vichardhara Thi Uska Uske Viruddha Palan Karne Wali Vyakti Zinda Ko Pratisthapit Kar Diya Do Aise Vyakti Jin Ka Udgam Jinaki Sanskriti Jinaki Soch Musalmano Ke Aur Hinduon Ke Khilaf Aur Angrejo Ke Karib Thi Aise Do Vyakti Bharat Ke Bantavare Ke Karndhar Bane Aur Wah Dono Deshon Ke Mukhiya Bhi Bane Isliye Musalman Aur
Likes  85  Dislikes
WhatsApp_icon
vokalandroid