tag_img

महिला

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तैयार होने में महिला को समय इसलिए लगता है कि वह सोचती है कि मैं बहुत सुंदर लगा क्योंकि वह होती है एक्चुअली में क्या होती है उसे लगता है कि मैं भी सुंदर नहीं हो WhatsApp में लगता है वह छोटी-छोटी चीजों के बारे में कुछ समझती हैं कि यह होने से यह उसकी यह बातें होंगी मतलब नेगेटिव पॉजिटिव बात हो क्वेश्चन प्रोडक्ट करते हैं अपने आप से कि मैं सुंदर हूं कि मैं अच्छी हूं मेरे बाल सही है यह बात सही नहीं है इस तरीके से करूंगा तो यह सही लगेगा उसको जैसी भी एक समझ है समझ रहे हो मेरी बात को मतलबी हो तैयार होने में खुद को शैंपू टाइप करके खुद ही आंसर देती है तो उस वजह से वह क्वेश्चन कनफ्यूजन में आ जाता है इस वजह से महिलाओं को टाइम लगता है
Romanized Version
तैयार होने में महिला को समय इसलिए लगता है कि वह सोचती है कि मैं बहुत सुंदर लगा क्योंकि वह होती है एक्चुअली में क्या होती है उसे लगता है कि मैं भी सुंदर नहीं हो WhatsApp में लगता है वह छोटी-छोटी चीजों के बारे में कुछ समझती हैं कि यह होने से यह उसकी यह बातें होंगी मतलब नेगेटिव पॉजिटिव बात हो क्वेश्चन प्रोडक्ट करते हैं अपने आप से कि मैं सुंदर हूं कि मैं अच्छी हूं मेरे बाल सही है यह बात सही नहीं है इस तरीके से करूंगा तो यह सही लगेगा उसको जैसी भी एक समझ है समझ रहे हो मेरी बात को मतलबी हो तैयार होने में खुद को शैंपू टाइप करके खुद ही आंसर देती है तो उस वजह से वह क्वेश्चन कनफ्यूजन में आ जाता है इस वजह से महिलाओं को टाइम लगता हैTaiyaar Hone Mein Mahila Ko Samay Isliye Lagta Hai Ki Wah Sochti Hai Ki Main Bahut Sundar Laga Kyonki Wah Hoti Hai Actually Mein Kya Hoti Hai Use Lagta Hai Ki Main Bhi Sundar Nahi Ho WhatsApp Mein Lagta Hai Wah Choti Choti Chijon Ke Bare Mein Kuch Samajhti Hain Ki Yeh Hone Se Yeh Uski Yeh Batein Hongi Matlab Negative Positive Baat Ho Question Product Karte Hain Apne Aap Se Ki Main Sundar Hoon Ki Main Acchi Hoon Mere Baal Sahi Hai Yeh Baat Sahi Nahi Hai Is Tarike Se Karunga To Yeh Sahi Lagega Usko Jaisi Bhi Ek Samajh Hai Samajh Rahe Ho Meri Baat Ko Matlabi Ho Taiyaar Hone Mein Khud Ko Shampoo Type Karke Khud Hi Answer Deti Hai To Us Wajah Se Wah Question Confusion Mein Aa Jata Hai Is Wajah Se Mahilaon Ko Time Lagta Hai
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यहां महिलाएं पुरुषों की तुलना में मानसिक रूप में से बहुत अधिक मजबूत रहती है क्योंकि हमें भगवान ने ऐसा ही बनाया पहले बुरा बोला गया कि सबसे पहले आदमी को बनाया गया और आदमी के बाद आदमी की जरूरत को पूरा करने के लिए औरत को बनाया गया था तो इसका मतलब है कि आदमी की जरूरत थी औरत की नई औरत को आदमी की जरूरत थी और औरत को सहना पड़ा था आदमियों को और भगवान ने हमको इसलिए मानसिक शक्ति ज्यादा दिए हम पुरुषों के अध्यक्ष साथ में जन्मदिन जन्म देने के लिए और जो दर्द हो सकती है उस उस तरीके सभी को मानसिक रूप में बहुत शक्तिशाली रतिया कहा महिलाएं पुरुषों की तुलना में मानसिक रूप से मानसिक रूप में बहुत अधिक मजबूत रहती हैं
Romanized Version
यहां महिलाएं पुरुषों की तुलना में मानसिक रूप में से बहुत अधिक मजबूत रहती है क्योंकि हमें भगवान ने ऐसा ही बनाया पहले बुरा बोला गया कि सबसे पहले आदमी को बनाया गया और आदमी के बाद आदमी की जरूरत को पूरा करने के लिए औरत को बनाया गया था तो इसका मतलब है कि आदमी की जरूरत थी औरत की नई औरत को आदमी की जरूरत थी और औरत को सहना पड़ा था आदमियों को और भगवान ने हमको इसलिए मानसिक शक्ति ज्यादा दिए हम पुरुषों के अध्यक्ष साथ में जन्मदिन जन्म देने के लिए और जो दर्द हो सकती है उस उस तरीके सभी को मानसिक रूप में बहुत शक्तिशाली रतिया कहा महिलाएं पुरुषों की तुलना में मानसिक रूप से मानसिक रूप में बहुत अधिक मजबूत रहती हैंYahan Mahilaye Purushon Ki Tulna Mein Mansik Roop Mein Se Bahut Adhik Mazboot Rehti Hai Kyonki Hume Bhagwan Ne Aisa Hi Banaya Pehle Bura Bola Gaya Ki Sabse Pehle Aadmi Ko Banaya Gaya Aur Aadmi Ke Baad Aadmi Ki Zaroorat Ko Pura Karne Ke Liye Aurat Ko Banaya Gaya Tha To Iska Matlab Hai Ki Aadmi Ki Zaroorat Thi Aurat Ki Nayi Aurat Ko Aadmi Ki Zaroorat Thi Aur Aurat Ko Sahana Pada Tha Adamiyo Ko Aur Bhagwan Ne Hamko Isliye Mansik Shakti Jyada Diye Hum Purushon Ke Adhyaksh Saath Mein Janamdin Janm Dene Ke Liye Aur Jo Dard Ho Sakti Hai Us Us Tarike Sabhi Ko Mansik Roop Mein Bahut Shaktishaali Ratia Kaha Mahilaye Purushon Ki Tulna Mein Mansik Roop Se Mansik Roop Mein Bahut Adhik Mazboot Rehti Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखेगी एक सोच है यह एक इंडिविजुअल की तो सो सकते एक शामली की सोच हो सकती है एक कम्यूनिटी की सोच हो सकती है एक रिलिजन की सोच हो सकती है लेकिन ऐसा नहीं है कि आप इन दोनों में से कोई भी ज्यादा हो सकता है या कम हो सकता है बेसिकली हमारे बैकग्राउंड पर डिपेंड करता है मेरे अभिनीत पर डिपेंड करता है हमारे जो माता-पिता ने हमें क्या शिक्षा दी है उस पर डिपेंड करता है हम भी लाइफ में क्या सिखाए उस पर डिपेंड करता है तो हमें नहीं कह सकते के दोनों में कौन हु इज मोर सैक्रिफाइस है लेकिन हां जो औरतें हैं वह ज्यादा इन्हेरेंटली एट्यून्ड है सत्र पाइजिंग नेचर कि कल सुबह आद्यार विमेन डे बिकम मदर्सन क्वालिटी है इस गिविंग उनका क्या होता है कि अगर वह देते हैं तो वह थोड़ा उनका एक मैसेज देदो आउटलुक मतलब यह गिविंग नेचर है जो फीमेल से उनका तो उस हिसाब से हम कह सकते हैं कि जो औरतें हैं वह जरा तहसील होती है बाय नेचर मतलब नॉट ऑल अपडेट कई कई हद तक के सही है यह बात लेकिन आफ ए मैन भी है ऐसे बदली है जो चर्चील होते हैं और उनको भी समाज में बहुत ही तकलीफ देना पड़ता है बिल्कुल उनको और औरत के रूप में उनको पेश किया जाता है उनको तंग किया जाता है कि तुम औरतों जैसे हो तो लड़की जैसा है बगैरा बगैरा उनको समाज में जीने की जो इच्छा हो तो उनका जो सम्मान होता है उस को ठेस पहुंचता है अगर एक आदमी जो है वह गिविंग होता है त्याग फील होता है तो उसको कंपैरिजन करते हैं औरत के साथ जो गलत है तो मेरे हिसाब से क्या खिलौना कोई गलत बात नहीं है कोई भी हो सकता है एक वेलकम ज्यादा इन ऑल डिपेंड्स ओं लर्निंग सेव लाइफ या बैकग्राउंड एंड कल्चर
Romanized Version
दिखेगी एक सोच है यह एक इंडिविजुअल की तो सो सकते एक शामली की सोच हो सकती है एक कम्यूनिटी की सोच हो सकती है एक रिलिजन की सोच हो सकती है लेकिन ऐसा नहीं है कि आप इन दोनों में से कोई भी ज्यादा हो सकता है या कम हो सकता है बेसिकली हमारे बैकग्राउंड पर डिपेंड करता है मेरे अभिनीत पर डिपेंड करता है हमारे जो माता-पिता ने हमें क्या शिक्षा दी है उस पर डिपेंड करता है हम भी लाइफ में क्या सिखाए उस पर डिपेंड करता है तो हमें नहीं कह सकते के दोनों में कौन हु इज मोर सैक्रिफाइस है लेकिन हां जो औरतें हैं वह ज्यादा इन्हेरेंटली एट्यून्ड है सत्र पाइजिंग नेचर कि कल सुबह आद्यार विमेन डे बिकम मदर्सन क्वालिटी है इस गिविंग उनका क्या होता है कि अगर वह देते हैं तो वह थोड़ा उनका एक मैसेज देदो आउटलुक मतलब यह गिविंग नेचर है जो फीमेल से उनका तो उस हिसाब से हम कह सकते हैं कि जो औरतें हैं वह जरा तहसील होती है बाय नेचर मतलब नॉट ऑल अपडेट कई कई हद तक के सही है यह बात लेकिन आफ ए मैन भी है ऐसे बदली है जो चर्चील होते हैं और उनको भी समाज में बहुत ही तकलीफ देना पड़ता है बिल्कुल उनको और औरत के रूप में उनको पेश किया जाता है उनको तंग किया जाता है कि तुम औरतों जैसे हो तो लड़की जैसा है बगैरा बगैरा उनको समाज में जीने की जो इच्छा हो तो उनका जो सम्मान होता है उस को ठेस पहुंचता है अगर एक आदमी जो है वह गिविंग होता है त्याग फील होता है तो उसको कंपैरिजन करते हैं औरत के साथ जो गलत है तो मेरे हिसाब से क्या खिलौना कोई गलत बात नहीं है कोई भी हो सकता है एक वेलकम ज्यादा इन ऑल डिपेंड्स ओं लर्निंग सेव लाइफ या बैकग्राउंड एंड कल्चरDikhegee Ek Soch Hai Yeh Ek Imdividual Ki To So Sakte Ek Shamli Ki Soch Ho Sakti Hai Ek Community Ki Soch Ho Sakti Hai Ek Religion Ki Soch Ho Sakti Hai Lekin Aisa Nahin Hai Qi Aap In Donon Mein Se Koi Bhi Jyada Ho Sakta Hai Ya Come Ho Sakta Hai Basically Hamare Baikagraund Per Depend Karata Hai Mere Abhineet Per Depend Karata Hai Hamare Joe Mata Pita Ne Human Kya Shiksha They Hai Oosh Per Depend Karata Hai Hum Bhi Life Mein Kya Sikhaye Oosh Per Depend Karata Hai To Human Nahin Keh Sakte K Donon Mein Kaun Who Is More Sacrifice Hai Lekin Han Joe Ortan Hain Wah Jyada Inherentali Etyund Hai Satra Paijing Nature Qi Kal Subeha Adyar Vimen Day Become Madarsan Quality Hai Is Giving Unka Kya Hota Hai Qi Agar Wah Dete Hain To Wah Thoda Unka Ek Maisej Dedo Autaluk Matlab Yeh Giving Nature Hai Joe Fimel Se Unka To Oosh Hisaab Se Hum Keh Sakte Hain Qi Joe Ortan Hain Wah Zara Tehsil Hoti Hai By Nature Matlab Not All Update Kai Kai Hada Tak K Sahi Hai Yeh Baat Lekin Af A Man Bhi Hai Aise Badli Hai Joe Charchil Hote Hain Aur Unko Bhi Samaj Mein Bahut Hea Taklif Dena Padata Hai Bilkool Unko Aur Aurat K Roop Mein Unko Pesh Kiya Jaata Hai Unko Tang Kiya Jaata Hai Qi Tum Orton Jaise Ho To Ladaki Jaisa Hai Bagaira Bagaira Unko Samaj Mein Jeene Ki Joe Ichha Ho To Unka Joe Samman Hota Hai Oosh Co Tthes Pahunchata Hai Agar Ek Aadmi Joe Hai Wah Giving Hota Hai Tyag Feel Hota Hai To Usko Kampairijan Karte Hain Aurat K Sathe Joe Galat Hai To Mere Hisaab Se Kya Khilauna Koi Galat Baat Nahin Hai Koi Bhi Ho Sakta Hai Ek Welcome Jyada In All Depends On Learning Save Life Ya Baikagraund End Culture
Likes  16  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि की ऐसा कहना बिल्कुल ही गलत होगा कि महिलाएं ज्यादा वफादार होती है या पुरुष ज्यादा धोखा देते हैं वह बिल्कुल निर्भर करता है उनके स्वभाव पर कि जो इंसान से आप प्यार कर रहे हैं उनका स्वभाव कैसा है वह इंसान कैसी हैं अगर वह लड़की है या महिला ही है लेकिन उनका स्वभाव अच्छा नहीं है वह रिश्ते को अहमियत नहीं देती आप को रिस्पेक्ट नहीं देती तो वह भी आपको धोखा दे सकती हैं अगर आप एक लड़की हैं और एक लड़के से प्यार करती हैं अगर वह लड़का आपके साथ वफादार नहीं है सच्चा इंसान नहीं है तो वह भी आपको धोखा दे सकता है तो ऐसी विचारधारा रखना कि नहीं यह महिला है तो यह हमें कभी धोखा नहीं दे सकती यह हमेशा हमारे साथ वफादार रहेगी यह कहना बिल्कुल ही गलत होगा और ऐसा सोचना कि यह लड़का है तो यह तो कभी भी धोखा दे सकता है यह भी गलत है आपको इंसान को
Romanized Version
आदि की ऐसा कहना बिल्कुल ही गलत होगा कि महिलाएं ज्यादा वफादार होती है या पुरुष ज्यादा धोखा देते हैं वह बिल्कुल निर्भर करता है उनके स्वभाव पर कि जो इंसान से आप प्यार कर रहे हैं उनका स्वभाव कैसा है वह इंसान कैसी हैं अगर वह लड़की है या महिला ही है लेकिन उनका स्वभाव अच्छा नहीं है वह रिश्ते को अहमियत नहीं देती आप को रिस्पेक्ट नहीं देती तो वह भी आपको धोखा दे सकती हैं अगर आप एक लड़की हैं और एक लड़के से प्यार करती हैं अगर वह लड़का आपके साथ वफादार नहीं है सच्चा इंसान नहीं है तो वह भी आपको धोखा दे सकता है तो ऐसी विचारधारा रखना कि नहीं यह महिला है तो यह हमें कभी धोखा नहीं दे सकती यह हमेशा हमारे साथ वफादार रहेगी यह कहना बिल्कुल ही गलत होगा और ऐसा सोचना कि यह लड़का है तो यह तो कभी भी धोखा दे सकता है यह भी गलत है आपको इंसान कोAadi Ki Aisa Kehna Bilkul Hi Galat Hoga Ki Mahilaye Jyada Vafaadar Hoti Hai Ya Purush Jyada Dhokha Dete Hain Wah Bilkul Nirbhar Karta Hai Unke Swabhav Par Ki Jo Insaan Se Aap Pyar Kar Rahe Hain Unka Swabhav Kaisa Hai Wah Insaan Kaisi Hain Agar Wah Ladki Hai Ya Mahila Hi Hai Lekin Unka Swabhav Accha Nahi Hai Wah Rishte Ko Ahamiyat Nahi Deti Aap Ko Respect Nahi Deti To Wah Bhi Aapko Dhokha De Sakti Hain Agar Aap Ek Ladki Hain Aur Ek Ladke Se Pyar Karti Hain Agar Wah Ladka Aapke Saath Vafaadar Nahi Hai Saccha Insaan Nahi Hai To Wah Bhi Aapko Dhokha De Sakta Hai To Aisi Vichardhara Rakhna Ki Nahi Yeh Mahila Hai To Yeh Hume Kabhi Dhokha Nahi De Sakti Yeh Hamesha Hamare Saath Vafaadar Rahegi Yeh Kehna Bilkul Hi Galat Hoga Aur Aisa Sochna Ki Yeh Ladka Hai To Yeh To Kabhi Bhi Dhokha De Sakta Hai Yeh Bhi Galat Hai Aapko Insaan Ko
Likes  4  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी के बाद महिलाओं को काम करने की अनुमति बिल्कुल देनी चाहिए अगर वह लड़की काम करना चाहती है तो अगर वह सिर्फ घर संभालना चाहते हैं तो उसकी इच्छा है अगर कोई लड़की चाहती है कि मुझे काम करना है तो बिल्कुल देना चाहिए और खासकर आजकल के जो जो जैसे कि आजकल जो मतलब जो समाज इतनी महंगाई महंगाई है अगर दोनों मियां बीवी मतलब कंट्रीब्यूट करेंगे घर की घर के लिए फाइनेंस ऑटोमेटिकली जब फाइनेंसियल कंडीशन असगर की अच्छी हो जाती है तू मूवी पेरेंट्स बच्चों को एक अच्छी खुशहाल जिंदगी अच्छी पढ़ाई कर सकते मतलब उनको एक अच्छा एजुकेशन इस दे सकते हैं तो फायदा तू मतलब देखिए है परदेसी टाइम मतलब एक अजब मोड पर आ जल्दी दे उनका तो एक धूल रिस्पांसिबिलिटी हो जाता है उसको बाहर कभी काम करना पड़ता है और घर भी संभालना पड़ता है बच्चों को भी देखना पड़ता है तो यह सब उसके ऊपर है वह उसको कैसे मतलब मैनेज करती है
Romanized Version
शादी के बाद महिलाओं को काम करने की अनुमति बिल्कुल देनी चाहिए अगर वह लड़की काम करना चाहती है तो अगर वह सिर्फ घर संभालना चाहते हैं तो उसकी इच्छा है अगर कोई लड़की चाहती है कि मुझे काम करना है तो बिल्कुल देना चाहिए और खासकर आजकल के जो जो जैसे कि आजकल जो मतलब जो समाज इतनी महंगाई महंगाई है अगर दोनों मियां बीवी मतलब कंट्रीब्यूट करेंगे घर की घर के लिए फाइनेंस ऑटोमेटिकली जब फाइनेंसियल कंडीशन असगर की अच्छी हो जाती है तू मूवी पेरेंट्स बच्चों को एक अच्छी खुशहाल जिंदगी अच्छी पढ़ाई कर सकते मतलब उनको एक अच्छा एजुकेशन इस दे सकते हैं तो फायदा तू मतलब देखिए है परदेसी टाइम मतलब एक अजब मोड पर आ जल्दी दे उनका तो एक धूल रिस्पांसिबिलिटी हो जाता है उसको बाहर कभी काम करना पड़ता है और घर भी संभालना पड़ता है बच्चों को भी देखना पड़ता है तो यह सब उसके ऊपर है वह उसको कैसे मतलब मैनेज करती हैShadi K Baad Mahilao Co Kama Karne Ki Anumati Bilkool DENNY Chahie Agar Wah Ladaki Kama Krna Chahti Hai To Agar Wah Sirf Ghar Sambhalana Chahte Hain To Uski Ichha Hai Agar Koi Ladaki Chahti Hai Qi Mujhe Kama Krna Hai To Bilkool Dena Chahie Aur Khasakar Aajkal K Joe Joe Jaise Qi Aajkal Joe Matlab Joe Samaj Itni Mehangai Mehangai Hai Agar Donon MIYAN Beevee Matlab Kantribyut Karenge Ghar Ki Ghar K Lie Fainens Atometikli Jab Financial Kandishan Asgar Ki Achchhee Ho Jaati Hai Tu Muvi Perents Bachcho Co Ek Achchhee Khushhal Jindagi Achchhee Padhai Car Sakte Matlab Unko Ek Accha Education Is They Sakte Hain To Fayda Tu Matlab Dekhiye Hai Perdesi Time Matlab Ek Ajab Mode Per Aa Jaldi They Unka To Ek Dhool Rispansibiliti Ho Jaata Hai Usko Baahar Kabhi Kama Krna Padata Hai Aur Ghar Bhi Sambhalana Padata Hai Bachcho Co Bhi Dekhna Padata Hai To Yeh Sub Uske Upar Hai Wah Usko Kaise Matlab Manage Karti Hai
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

GK महिलाओं की सुरक्षा जो है वह दो तरीके से हो सकती है एक सुरक्षा इस प्रकार की जब महिलाओं को घर से बाहर ना निकलने दिया जाए और घर के अंदर बंद करके रख दिया जाए तो इस सिचुएशन में महिलाएं सबसे ज्यादा सुरक्षित रहेंगे लेकिन दूसरी कंडीशन से महिलाएं बाहर जाएं और बाहर भी सुरक्षित महसूस करें तो इस मामले में मेरा यह सोचना है कि बहुत सारे ऐसे वेस्टर्न कंट्री से हैं जहां पर हो सकता है कि महिलाओं के खिलाफ क्राइम जो है वह इंडिया से ज्यादा हो लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वहां पर महिलाएं कम सुरक्षित है क्योंकि वहां पर सारी महिलाएं बाहर काम करती हैं और आर्डर वर्ष में काम करती ह डेंजरस काम करती है इसलिए वहां पर सुरक्षा बहुत ज्यादा है मैंने एक स्टेटस पढ़ा था कि सबसे ज्यादा अगर वह वूमेन सिक्योर्ड हैं तो सऊदी अरेबिया में सऊदी अरेबिया में भूमि के खिलाफ जो क्राइम से वह बहुत ही कम है करीब करीब 1% है जो टेक्निकल वेस्टर्न कंट्री के खिलाफ में होते हैं लेकिन उसका महत्व सबसे बड़ा कारण यह है कि औरतें जब बाहर जाएंगे नहीं करते जब बाहर जाएं बुर्का पहनकर जाएंगे और किसी भी चीज में पार्टिसिपेट नहीं कर सकती है कि हम नहीं देख सकती हैं तो ऐसी सिचुएशन के खिलाफ में कैसे करेंगे तो मैं समझता हूं कि भारत को यह गर्व महसूस नहीं करना चाहिए कमरिया मेरा बड़ी सोच में हमें बहुत कुछ करने की जरूरत है और हमारे महिलाओं की सुरक्षा की भावना है वह भी काफी कम है और इसलिए मैं इस सहमत 23 से जो है वह कथा से बिल्कुल सहमत नहीं हूं
Romanized Version
GK महिलाओं की सुरक्षा जो है वह दो तरीके से हो सकती है एक सुरक्षा इस प्रकार की जब महिलाओं को घर से बाहर ना निकलने दिया जाए और घर के अंदर बंद करके रख दिया जाए तो इस सिचुएशन में महिलाएं सबसे ज्यादा सुरक्षित रहेंगे लेकिन दूसरी कंडीशन से महिलाएं बाहर जाएं और बाहर भी सुरक्षित महसूस करें तो इस मामले में मेरा यह सोचना है कि बहुत सारे ऐसे वेस्टर्न कंट्री से हैं जहां पर हो सकता है कि महिलाओं के खिलाफ क्राइम जो है वह इंडिया से ज्यादा हो लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वहां पर महिलाएं कम सुरक्षित है क्योंकि वहां पर सारी महिलाएं बाहर काम करती हैं और आर्डर वर्ष में काम करती ह डेंजरस काम करती है इसलिए वहां पर सुरक्षा बहुत ज्यादा है मैंने एक स्टेटस पढ़ा था कि सबसे ज्यादा अगर वह वूमेन सिक्योर्ड हैं तो सऊदी अरेबिया में सऊदी अरेबिया में भूमि के खिलाफ जो क्राइम से वह बहुत ही कम है करीब करीब 1% है जो टेक्निकल वेस्टर्न कंट्री के खिलाफ में होते हैं लेकिन उसका महत्व सबसे बड़ा कारण यह है कि औरतें जब बाहर जाएंगे नहीं करते जब बाहर जाएं बुर्का पहनकर जाएंगे और किसी भी चीज में पार्टिसिपेट नहीं कर सकती है कि हम नहीं देख सकती हैं तो ऐसी सिचुएशन के खिलाफ में कैसे करेंगे तो मैं समझता हूं कि भारत को यह गर्व महसूस नहीं करना चाहिए कमरिया मेरा बड़ी सोच में हमें बहुत कुछ करने की जरूरत है और हमारे महिलाओं की सुरक्षा की भावना है वह भी काफी कम है और इसलिए मैं इस सहमत 23 से जो है वह कथा से बिल्कुल सहमत नहीं हूंGK Mahilaon Ki Suraksha Jo Hai Wah Do Tarike Se Ho Sakti Hai Ek Suraksha Is Prakar Ki Jab Mahilaon Ko Ghar Se Bahar Na Nikalne Diya Jaye Aur Ghar Ke Andar Band Karke Rakh Diya Jaye To Is Situation Mein Mahilaye Sabse Jyada Surakshit Rahenge Lekin Dusri Condition Se Mahilaye Bahar Jayen Aur Bahar Bhi Surakshit Mahsus Karen To Is Mamle Mein Mera Yeh Sochna Hai Ki Bahut Sare Aise Western Country Se Hain Jahan Par Ho Sakta Hai Ki Mahilaon Ke Khilaf Crime Jo Hai Wah India Se Jyada Ho Lekin Iska Matlab Yeh Nahi Hai Ki Wahan Par Mahilaye Kum Surakshit Hai Kyonki Wahan Par Saree Mahilaye Bahar Kaam Karti Hain Aur Order Varsh Mein Kaam Karti H Dangerous Kaam Karti Hai Isliye Wahan Par Suraksha Bahut Jyada Hai Maine Ek Status Padha Tha Ki Sabse Jyada Agar Wah Women Secured Hain To Saudi Arebiya Mein Saudi Arebiya Mein Bhoomi Ke Khilaf Jo Crime Se Wah Bahut Hi Kum Hai Karib Karib 1% Hai Jo Technical Western Country Ke Khilaf Mein Hote Hain Lekin Uska Mahatva Sabse Bada Kaaran Yeh Hai Ki Auraten Jab Bahar Jaenge Nahi Karte Jab Bahar Jayen Burka Pehankar Jaenge Aur Kisi Bhi Cheez Mein Participate Nahi Kar Sakti Hai Ki Hum Nahi Dekh Sakti Hain To Aisi Situation Ke Khilaf Mein Kaise Karenge To Main Samajhata Hoon Ki Bharat Ko Yeh Garv Mahsus Nahi Karna Chahiye Kamriya Mera Badi Soch Mein Hume Bahut Kuch Karne Ki Zaroorat Hai Aur Hamare Mahilaon Ki Suraksha Ki Bhavna Hai Wah Bhi Kafi Kum Hai Aur Isliye Main Is Sahmat 23 Se Jo Hai Wah Katha Se Bilkul Sahmat Nahi Hoon
Likes  22  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वाला बात यह है कि महिलाओं को क्रिकेट में बहुत लेट लतीफ जो है अंतरराष्ट्रीय दर्जा दिया गया और दूसरा सवाल है कि पुरुषों का ज्यादा इंटरेस्टेड था और महिलाओं का जो है वह क्रिकेट को बहुत लेट लतीफ लाया गया जिसके कारण महिलाओं का इंटरेस्ट रेट कम था
Romanized Version
वाला बात यह है कि महिलाओं को क्रिकेट में बहुत लेट लतीफ जो है अंतरराष्ट्रीय दर्जा दिया गया और दूसरा सवाल है कि पुरुषों का ज्यादा इंटरेस्टेड था और महिलाओं का जो है वह क्रिकेट को बहुत लेट लतीफ लाया गया जिसके कारण महिलाओं का इंटरेस्ट रेट कम थाVala Baat Yeh Hai Ki Mahilaon Ko Cricket Mein Bahut Let Latif Jo Hai Antararashtriya Darja Diya Gaya Aur Doosra Sawal Hai Ki Purushon Ka Zyada Interested Tha Aur Mahilaon Ka Jo Hai Wah Cricket Ko Bahut Let Latif Laya Gaya Jiske Kaaran Mahilaon Ka Interest Rate Kam Tha
Likes  87  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा मेरा मानना है कि यह है कि जो महिलाएं हैं वह सभी क्षेत्र में देते हो मुझे अभी क्वेश्चन आया है कि ऊंचे पद पर कैसे आईएएस हमारे हमारे जिला अधिकारी होते हैं तो उनके कभी हमें भी फील्ड में हुआ है हम भी फिल्में गाना घूमे हैं ऐसा लगता कि हां यह है कि जैसे हमारे देश की महिलाएं हैं वह मैं मानता हूं हर जगह हर चीज में बहुत अच्छे से काम कर सकती है लेकिन कहीं ना कहीं वह जैसे हमारी मां है वह मां का भी रोल निभाती है चोट लग जाती है तो मां इमोशनल हो जाती है और वह फिर भी एक मां का रोल निभाती है कि बेटा तुम्हें कभी कुछ लगा तो नहीं बेटा वह तो नरम दिल हो जाती है ऐसे ही इस क्षेत्र में यदि ऐसा होता है तो बहुत जल्दी इंसान हो जाती है और वह हम दिल से हो जाती हैं पुरुषों के मुकाबले पुरुषों के मुकाबले ऐसा लगता है कि काम करने में शब्दों में बयां नहीं कर पा रहा हूं कि थोड़ा काम करने में कठिनाई होती है उसमें यह भी पड़ा है कि महिलाएं पुरुषों से एक काम आगे कर सकती है जो पुरुष नहीं कर सकता वह काम महिला कर सकती हैं केवल महिला लेकिन आ हर बात अपने ऊंचे पद पर ऊंची पर तो मेरा मानना यही है कि उस ओं के मुकाबले महिलाएं थोड़ा कम इसीलिए रह जाती हैं क्योंकि वह कहीं ना कहीं हमारी बहन का भी हमारी मां का भी रोल निभाती है एक जगह क्षेत्र में मैं गया था वहां से पता चला वहां से पता चला कि महिलाओं को अपने बेटे देहात की बात बता रहा मैं उनसे पता चला कि महिलाओं को अपने घर की इज्जत माना जाता है और पहले जो घर आने हुआ करते थे चौधरी हो क्या कर दिया हुआ करते थे वह अपनी महिला को घर से निकलना दूभर टेक्निकल कि आज आज जो है टाइम पास कर रही है बराबर होता है सबका बराबर होता है और सभी बराबर प्रोग्रेस कर सकते हैं लेकिन आज भी कुछ लोग अपनी महिलाओं को घर से निकलना ही नहीं समझते घर आने के लिए लेकिन अपना प्रोग्रेस कर रहे हैं वह प्रोग्रेस करते-करते बहुत बहुत आगे निकल चुकी हैं बस सबसे मेन बात सही है कि महिलाएं ऊंचे पद पर इसलिए कार्य नहीं कर सकती क्योंकि मां का भी रोल निभा ना होता मैं भी ना होता है उसके मुकाबले में आगे बढ़ सकती हैं
Romanized Version
ऐसा मेरा मानना है कि यह है कि जो महिलाएं हैं वह सभी क्षेत्र में देते हो मुझे अभी क्वेश्चन आया है कि ऊंचे पद पर कैसे आईएएस हमारे हमारे जिला अधिकारी होते हैं तो उनके कभी हमें भी फील्ड में हुआ है हम भी फिल्में गाना घूमे हैं ऐसा लगता कि हां यह है कि जैसे हमारे देश की महिलाएं हैं वह मैं मानता हूं हर जगह हर चीज में बहुत अच्छे से काम कर सकती है लेकिन कहीं ना कहीं वह जैसे हमारी मां है वह मां का भी रोल निभाती है चोट लग जाती है तो मां इमोशनल हो जाती है और वह फिर भी एक मां का रोल निभाती है कि बेटा तुम्हें कभी कुछ लगा तो नहीं बेटा वह तो नरम दिल हो जाती है ऐसे ही इस क्षेत्र में यदि ऐसा होता है तो बहुत जल्दी इंसान हो जाती है और वह हम दिल से हो जाती हैं पुरुषों के मुकाबले पुरुषों के मुकाबले ऐसा लगता है कि काम करने में शब्दों में बयां नहीं कर पा रहा हूं कि थोड़ा काम करने में कठिनाई होती है उसमें यह भी पड़ा है कि महिलाएं पुरुषों से एक काम आगे कर सकती है जो पुरुष नहीं कर सकता वह काम महिला कर सकती हैं केवल महिला लेकिन आ हर बात अपने ऊंचे पद पर ऊंची पर तो मेरा मानना यही है कि उस ओं के मुकाबले महिलाएं थोड़ा कम इसीलिए रह जाती हैं क्योंकि वह कहीं ना कहीं हमारी बहन का भी हमारी मां का भी रोल निभाती है एक जगह क्षेत्र में मैं गया था वहां से पता चला वहां से पता चला कि महिलाओं को अपने बेटे देहात की बात बता रहा मैं उनसे पता चला कि महिलाओं को अपने घर की इज्जत माना जाता है और पहले जो घर आने हुआ करते थे चौधरी हो क्या कर दिया हुआ करते थे वह अपनी महिला को घर से निकलना दूभर टेक्निकल कि आज आज जो है टाइम पास कर रही है बराबर होता है सबका बराबर होता है और सभी बराबर प्रोग्रेस कर सकते हैं लेकिन आज भी कुछ लोग अपनी महिलाओं को घर से निकलना ही नहीं समझते घर आने के लिए लेकिन अपना प्रोग्रेस कर रहे हैं वह प्रोग्रेस करते-करते बहुत बहुत आगे निकल चुकी हैं बस सबसे मेन बात सही है कि महिलाएं ऊंचे पद पर इसलिए कार्य नहीं कर सकती क्योंकि मां का भी रोल निभा ना होता मैं भी ना होता है उसके मुकाबले में आगे बढ़ सकती हैंAisa Mera Manana Hai Ki Yeh Hai Ki Jo Mahilaen Hain Wah Sabhi Kshetra Mein Dete Ho Mujhe Abhi Question Aaya Hai Ki Unche Pad Par Kaise IAS Hamare Hamare Jila Adhikari Hote Hain Toh Unke Kabhi Humein Bhi Field Mein Hua Hai Hum Bhi Filme Gaana Ghume Hain Aisa Lagta Ki Haan Yeh Hai Ki Jaise Hamare Desh Ki Mahilaen Hain Wah Main Manata Hoon Har Jagah Har Cheez Mein Bahut Acche Se Kaam Kar Sakti Hai Lekin Kahin Na Kahin Wah Jaise Hamari Maa Hai Wah Maa Ka Bhi Roll Nibhati Hai Chot Lag Jati Hai Toh Maa Emotional Ho Jati Hai Aur Wah Phir Bhi Ek Maa Ka Roll Nibhati Hai Ki Beta Tumhe Kabhi Kuch Laga Toh Nahi Beta Wah Toh Naram Dil Ho Jati Hai Aise Hi Is Kshetra Mein Yadi Aisa Hota Hai Toh Bahut Jaldi Insaan Ho Jati Hai Aur Wah Hum Dil Se Ho Jati Hain Purushon Ke Muqable Purushon Ke Muqable Aisa Lagta Hai Ki Kaam Karne Mein Shabdo Mein Bayaan Nahi Kar Pa Raha Hoon Ki Thoda Kaam Karne Mein Kathinai Hoti Hai Usmein Yeh Bhi Pada Hai Ki Mahilaen Purushon Se Ek Kaam Aage Kar Sakti Hai Jo Purush Nahi Kar Sakta Wah Kaam Mahila Kar Sakti Hain Keval Mahila Lekin Aa Har Baat Apne Unche Pad Par Unchi Par Toh Mera Manana Yahi Hai Ki Us Yuvaon Ke Muqable Mahilaen Thoda Kam Isliye Reh Jati Hain Kyonki Wah Kahin Na Kahin Hamari Behen Ka Bhi Hamari Maa Ka Bhi Roll Nibhati Hai Ek Jagah Kshetra Mein Main Gaya Tha Wahan Se Pata Chala Wahan Se Pata Chala Ki Mahilaon Ko Apne Bete Dehat Ki Baat Bata Raha Main Unse Pata Chala Ki Mahilaon Ko Apne Ghar Ki Izzat Mana Jata Hai Aur Pehle Jo Ghar Aane Hua Karte The Choudhary Ho Kya Kar Diya Hua Karte The Wah Apni Mahila Ko Ghar Se Nikalna Dubhar Technical Ki Aaj Aaj Jo Hai Time Paas Kar Rahi Hai Barabar Hota Hai Sabka Barabar Hota Hai Aur Sabhi Barabar Progress Kar Sakte Hain Lekin Aaj Bhi Kuch Log Apni Mahilaon Ko Ghar Se Nikalna Hi Nahi Samajhte Ghar Aane Ke Liye Lekin Apna Progress Kar Rahe Hain Wah Progress Karte Karte Bahut Bahut Aage Nikal Chuki Hain Bus Sabse Main Baat Sahi Hai Ki Mahilaen Unche Pad Par Isliye Karya Nahi Kar Sakti Kyonki Maa Ka Bhi Roll Nibha Na Hota Main Bhi Na Hota Hai Uske Muqable Mein Aage Badh Sakti Hain
Likes  103  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने जो सवाल किया है मैं उसमें थोड़ा करेक्शन करना चाहता हूं क्योंकि यह सबसे पहले तो श्रीलंका देश की बात हो रही है श्रीलंका देश में कानून आया था कि वहां पर महिलाएं जो है वह शराब नहीं खरीद सकती है शराब नहीं खरीद सकती है जितने भी प्रॉब्लम है जितने भी 12:00 बज रहा है वहां पर काम नहीं कर सकती नहीं अल्कोहल की खरीद सकती है ना बिक्री कर सकती है वैसी वाली कंट्री के लोग बुद्ध सोसायटी के बैन हटा दिया था यानी अलाउ कर दिया था कि महिलाएं भी शराब खरीद सकती हैं सब जगह काम कर सकती हैं लेकिन उसी के ठीक कुछ दिनों बाद जो श्रीलंका राष्ट्रपति श्री सेना उन्होंने दोबारा से उस पर बैन लगा दिया है कि महिलाएं जो है वह शराब पर प्रतिबंध है वह नहीं खरीद सकती है हम नहीं भेज सकती हैं कि दोबारा से उनके फैसले को पलटा गया है यानी कि जो बैन हटाया गया था उनकी एक मंत्री द्वारा रूस के राष्ट्रपति द्वारा दोबारा बैन लगा दिया गया है मौजूदा समय में यह बहन बरकरार है और यही नया फाइनल डिसीजन है कि महिलाओं पर दोबारा खरीदने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है
Romanized Version
आपने जो सवाल किया है मैं उसमें थोड़ा करेक्शन करना चाहता हूं क्योंकि यह सबसे पहले तो श्रीलंका देश की बात हो रही है श्रीलंका देश में कानून आया था कि वहां पर महिलाएं जो है वह शराब नहीं खरीद सकती है शराब नहीं खरीद सकती है जितने भी प्रॉब्लम है जितने भी 12:00 बज रहा है वहां पर काम नहीं कर सकती नहीं अल्कोहल की खरीद सकती है ना बिक्री कर सकती है वैसी वाली कंट्री के लोग बुद्ध सोसायटी के बैन हटा दिया था यानी अलाउ कर दिया था कि महिलाएं भी शराब खरीद सकती हैं सब जगह काम कर सकती हैं लेकिन उसी के ठीक कुछ दिनों बाद जो श्रीलंका राष्ट्रपति श्री सेना उन्होंने दोबारा से उस पर बैन लगा दिया है कि महिलाएं जो है वह शराब पर प्रतिबंध है वह नहीं खरीद सकती है हम नहीं भेज सकती हैं कि दोबारा से उनके फैसले को पलटा गया है यानी कि जो बैन हटाया गया था उनकी एक मंत्री द्वारा रूस के राष्ट्रपति द्वारा दोबारा बैन लगा दिया गया है मौजूदा समय में यह बहन बरकरार है और यही नया फाइनल डिसीजन है कि महिलाओं पर दोबारा खरीदने पर प्रतिबंध लगा दिया गया हैAapne Jo Sawal Kiya Hai Main Usamen Thoda Correction Karna Chahta Hoon Kyonki Yeh Sabse Pehle To Sri Lanka Desh Ki Baat Ho Rahi Hai Sri Lanka Desh Mein Kanoon Aaya Tha Ki Wahan Par Mahilaye Jo Hai Wah Sharab Nahi Kharid Sakti Hai Sharab Nahi Kharid Sakti Hai Jitne Bhi Problem Hai Jitne Bhi 12:00 Baj Raha Hai Wahan Par Kaam Nahi Kar Sakti Nahi Alcohol Ki Kharid Sakti Hai Na Bikri Kar Sakti Hai Waisi Wali Country Ke Log Buddha Sociaty Ke Ban Hata Diya Tha Yani Alau Kar Diya Tha Ki Mahilaye Bhi Sharab Kharid Sakti Hain Sab Jagah Kaam Kar Sakti Hain Lekin Ussi Ke Theek Kuch Dinon Baad Jo Sri Lanka Rashtrapati Shri Sena Unhone Dobara Se Us Par Ban Laga Diya Hai Ki Mahilaye Jo Hai Wah Sharab Par Pratibandh Hai Wah Nahi Kharid Sakti Hai Hum Nahi Bhej Sakti Hain Ki Dobara Se Unke Faisle Ko Palata Gaya Hai Yani Ki Jo Ban Hataya Gaya Tha Unki Ek Mantri Dwara Rus Ke Rashtrapati Dwara Dobara Ban Laga Diya Gaya Hai Maujuda Samay Mein Yeh Behen Barkaraar Hai Aur Yahi Naya Final Decision Hai Ki Mahilaon Par Dobara Kharidne Par Pratibandh Laga Diya Gaya Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि यह आराम से ही ऐसा था कि औरतों को महावारी के समय नीचे नजरों से देखा जाता था भारत में यह जो औरत को माहवारी के दिनों में अलग से रखने की प्रथा है इसके पीछे बहुत ही बड़ा साइंटिफिक वैज्ञानिक रीज़न था अगर आप अच्छे से इसको समझे क्योंकि जब लड़की को माहवारी होती है तो इतना उसके शरीर में कमजोरी आ जाती है वह किसी भी तरह का इंफेक्शन कैच कर सकती है बीमार हो सकती है ऐसा माना जाता था ऐसा है कि उस समय उसकी जो बॉडी की मिलती है वह काफी लोग हो जाती है इसलिए लड़की को उस समय पूरा आराम देने के लिए यह प्रथा शुरू कर दी गई थी की उसको ज्यादा काम नहीं करने दिया जाए उसको आराम करने दिया जाए कम से कम फिजिकल रिलेशन वह करें बिना मतलब इधर उधर नहीं था उसको भेजा जाता था और इसलिए उसे आराम से एक तरफ को बैठने के लिए आराम करने के लिए कहा जाता था और दूसरा क्योंकि इतनी ज्यादा कोई सफाई के हाइजीनिक प्रोडक्ट जो साधन नहीं होते थे तो क्योंकि ऐसा हो सकता था कि वह खुद को साफ सफाई से ना रख सके तो इसलिए उसको रसोई में या कहीं और जाने से मना किया जाता था दोनों कारण है यह तो यह कि वह ज्यादा थके नहीं दूसरा यह कि वह सकता है वह साफ सफाई ना अपनी रख सके इतने अच्छे से पानी आपको पता है बहुत ज्यादा अच्छे से अभी तक भी अवेलेबल नहीं है पानी नहीं होता था सब सफाई के साधन नहीं होते थे तो इसलिए रोका जाता था कि वह ज्यादा कामों में हाथ न लगाए और अपना आराम करें लेकिन धीरे-धीरे जीवन जो कुछ इधर उधर की और बढ़ते गए अनपढ़ता बढ़ती गई लोगों में प्रथा पर्दा प्रथा भारत में शुरू हुई तो उसमें इन लोग इन चीजों को होने वाली बहन बना दिया गया कि पता नहीं उसको क्या हुआ है उसे अलग रखना है हम उसकी अस्सलाम असली महत्व जो था उसको भूल
Romanized Version
ऐसा नहीं है कि यह आराम से ही ऐसा था कि औरतों को महावारी के समय नीचे नजरों से देखा जाता था भारत में यह जो औरत को माहवारी के दिनों में अलग से रखने की प्रथा है इसके पीछे बहुत ही बड़ा साइंटिफिक वैज्ञानिक रीज़न था अगर आप अच्छे से इसको समझे क्योंकि जब लड़की को माहवारी होती है तो इतना उसके शरीर में कमजोरी आ जाती है वह किसी भी तरह का इंफेक्शन कैच कर सकती है बीमार हो सकती है ऐसा माना जाता था ऐसा है कि उस समय उसकी जो बॉडी की मिलती है वह काफी लोग हो जाती है इसलिए लड़की को उस समय पूरा आराम देने के लिए यह प्रथा शुरू कर दी गई थी की उसको ज्यादा काम नहीं करने दिया जाए उसको आराम करने दिया जाए कम से कम फिजिकल रिलेशन वह करें बिना मतलब इधर उधर नहीं था उसको भेजा जाता था और इसलिए उसे आराम से एक तरफ को बैठने के लिए आराम करने के लिए कहा जाता था और दूसरा क्योंकि इतनी ज्यादा कोई सफाई के हाइजीनिक प्रोडक्ट जो साधन नहीं होते थे तो क्योंकि ऐसा हो सकता था कि वह खुद को साफ सफाई से ना रख सके तो इसलिए उसको रसोई में या कहीं और जाने से मना किया जाता था दोनों कारण है यह तो यह कि वह ज्यादा थके नहीं दूसरा यह कि वह सकता है वह साफ सफाई ना अपनी रख सके इतने अच्छे से पानी आपको पता है बहुत ज्यादा अच्छे से अभी तक भी अवेलेबल नहीं है पानी नहीं होता था सब सफाई के साधन नहीं होते थे तो इसलिए रोका जाता था कि वह ज्यादा कामों में हाथ न लगाए और अपना आराम करें लेकिन धीरे-धीरे जीवन जो कुछ इधर उधर की और बढ़ते गए अनपढ़ता बढ़ती गई लोगों में प्रथा पर्दा प्रथा भारत में शुरू हुई तो उसमें इन लोग इन चीजों को होने वाली बहन बना दिया गया कि पता नहीं उसको क्या हुआ है उसे अलग रखना है हम उसकी अस्सलाम असली महत्व जो था उसको भूलAisa Nahi Hai Ki Yeh Aaram Se Hi Aisa Tha Ki Auraton Ko Mahavari Ke Samay Neeche Najaron Se Dekha Jata Tha Bharat Mein Yeh Jo Aurat Ko Mahavari Ke Dinon Mein Alag Se Rakhne Ki Pratha Hai Iske Piche Bahut Hi Bada Scientific Vaigyanik Rizan Tha Agar Aap Acche Se Isko Samjhe Kyonki Jab Ladki Ko Mahavari Hoti Hai To Itna Uske Sharir Mein Kamjori Aa Jati Hai Wah Kisi Bhi Tarah Ka Infection Catch Kar Sakti Hai Bimar Ho Sakti Hai Aisa Mana Jata Tha Aisa Hai Ki Us Samay Uski Jo Body Ki Milti Hai Wah Kafi Log Ho Jati Hai Isliye Ladki Ko Us Samay Pura Aaram Dene Ke Liye Yeh Pratha Shuru Kar Di Gayi Thi Ki Usko Jyada Kaam Nahi Karne Diya Jaye Usko Aaram Karne Diya Jaye Kum Se Kum Physical Relation Wah Karen Bina Matlab Idhar Udhar Nahi Tha Usko Bheja Jata Tha Aur Isliye Use Aaram Se Ek Taraf Ko Baithne Ke Liye Aaram Karne Ke Liye Kaha Jata Tha Aur Doosra Kyonki Itni Jyada Koi Safaai Ke Hygienic Product Jo Sadhan Nahi Hote The To Kyonki Aisa Ho Sakta Tha Ki Wah Khud Ko Saaf Safaai Se Na Rakh Sake To Isliye Usko Rasoi Mein Ya Kahin Aur Jaane Se Mana Kiya Jata Tha Dono Kaaran Hai Yeh To Yeh Ki Wah Jyada Thake Nahi Doosra Yeh Ki Wah Sakta Hai Wah Saaf Safaai Na Apni Rakh Sake Itne Acche Se Pani Aapko Pata Hai Bahut Jyada Acche Se Abhi Tak Bhi Available Nahi Hai Pani Nahi Hota Tha Sab Safaai Ke Sadhan Nahi Hote The To Isliye Roka Jata Tha Ki Wah Jyada Kamon Mein Hath N Lagaye Aur Apna Aaram Karen Lekin Dhire Dhire Jeevan Jo Kuch Idhar Udhar Ki Aur Badhte Gaye Anapdhata Badhti Gayi Logon Mein Pratha Parda Pratha Bharat Mein Shuru Hui To Usamen In Log In Chijon Ko Hone Wali Behen Bana Diya Gaya Ki Pata Nahi Usko Kya Hua Hai Use Alag Rakhna Hai Hum Uski Assalam Asli Mahatva Jo Tha Usko Bhul
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स यानी कि गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करना महिलाओं के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि इससे अनवांटेड प्रेगनेंसी से आप बच सकती है दिस इज अ वेरी सक्सेसफुल मेथड टू अवॉइड अनवांटेड प्रेगनेंसी और लेकिन पांडे सेफ्टी बेल्ट लेने से पहले यह बहुत जरूरी है कि आप अपनी गायनेकोलॉजिस्ट से कंसल्ट करें कि कौन सी कॉन्ट्रैक्ट पर आपको लेनी चाहिए क्योंकि मार्केट में बहुत वैरायटी 150 Pulsar बीरबल होती है लेकिन कौनसी-कौनसी चप्पल अच्छी रहेगी आपके लिए किस में सही हार्मोनल बैलेंस है यह सब जानना भी आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है और जहां कहीं आपको यह लगे कि आपकी बॉडी को कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने के बाद कोई डिस्काउंट हो रहा है आपको लगे कि कुछ चेंज हो जा रहे हैं आपकी बॉडी में तो फौरन आप अपनी डॉक्टर को वापस से कंसल्ट करें इस वेरी इंपॉर्टेंट हो सकता है कि आपको वह प्लेन सूट नहीं कर रही है तू 22 Main Tera कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स गर्भनिरोधक गोलियां बहुत ही सक्सेसफुल है अनवांटेड प्रेगनेंसी से बचने के लिए
Romanized Version
बिल्कुल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स यानी कि गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करना महिलाओं के लिए बहुत अच्छा है क्योंकि इससे अनवांटेड प्रेगनेंसी से आप बच सकती है दिस इज अ वेरी सक्सेसफुल मेथड टू अवॉइड अनवांटेड प्रेगनेंसी और लेकिन पांडे सेफ्टी बेल्ट लेने से पहले यह बहुत जरूरी है कि आप अपनी गायनेकोलॉजिस्ट से कंसल्ट करें कि कौन सी कॉन्ट्रैक्ट पर आपको लेनी चाहिए क्योंकि मार्केट में बहुत वैरायटी 150 Pulsar बीरबल होती है लेकिन कौनसी-कौनसी चप्पल अच्छी रहेगी आपके लिए किस में सही हार्मोनल बैलेंस है यह सब जानना भी आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है और जहां कहीं आपको यह लगे कि आपकी बॉडी को कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने के बाद कोई डिस्काउंट हो रहा है आपको लगे कि कुछ चेंज हो जा रहे हैं आपकी बॉडी में तो फौरन आप अपनी डॉक्टर को वापस से कंसल्ट करें इस वेरी इंपॉर्टेंट हो सकता है कि आपको वह प्लेन सूट नहीं कर रही है तू 22 Main Tera कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स गर्भनिरोधक गोलियां बहुत ही सक्सेसफुल है अनवांटेड प्रेगनेंसी से बचने के लिएBilkul Kantraseptiv Pills Yani Ki Garbhnirodhak Goliyon Ka Upyog Karna Mahilaon Ke Liye Bahut Accha Hai Kyonki Isse Unwanted Pregnancy Se Aap Bach Sakti Hai This Is A Very Successful Method To Avoid Unwanted Pregnancy Aur Lekin Pandey Safety Belt Lene Se Pehle Yeh Bahut Zaroori Hai Ki Aap Apni Gaynekolajist Se Kansalt Karen Ki Kaun Si Contracts Par Aapko Leni Chahiye Kyonki Market Mein Bahut Variety 150 Pulsar Birbal Hoti Hai Lekin Kaunsi Kaunsi Chappal Acchi Rahegi Aapke Liye Kis Mein Sahi Harmonal Balance Hai Yeh Sab Janana Bhi Aapke Liye Bahut Jyada Zaroori Hai Aur Jahan Kahin Aapko Yeh Lage Ki Aapki Body Ko Kantraseptiv Pills Lene Ke Baad Koi Discount Ho Raha Hai Aapko Lage Ki Kuch Change Ho Ja Rahe Hain Aapki Body Mein To Phauran Aap Apni Doctor Ko Wapas Se Kansalt Karen Is Very Important Ho Sakta Hai Ki Aapko Wah Plane Suit Nahi Kar Rahi Hai Tu 22 Main Tera Kantraseptiv Pills Garbhnirodhak Goliya Bahut Hi Successful Hai Unwanted Pregnancy Se Bachane Ke Liye
Likes  61  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आधी कि जिस प्रकार से खबर आई थी कि केरल की संख्या में अश्लील उपयोग के लिए महिलाओं की तस्वीरों का इस्तेमाल किया जा रे बिना महिला की परमिशन लिए तो खाना कहां पर देखिए इससे डिजिटल प्राइवेसी हम कह सकते हैं भीड़ हो रही हो खाना कहां पर है से डिजिटल अपराध को अगर हमें नियंत्रित रखा जाने क्या कर बैठा कर तो देखिए सबसे पहली चीज तो मैं योगी हमें लोगों को करने से पिलानी पड़ेगी किस प्रकार से अगर आप आप का आप का पिक्चर जो है या फिर हम कैसे की तस्वीरें जो है अगर आप किसी को देते हो तो आपको बहुत ही भरोसे से देनी होती है और सिर्फ यही नहीं हम जितना हो सके उतना कम लोगों को इंप्रेस करे कि वह खुद की अश्लील तस्वीरें ना निकाले या फिर वैसे ही तस्वीर निकाल रहे तो उसे भरोसे वाले लोगों को ही देख तो खाना खा पर सबसे पहले जैसे मैं यही करनी होगी दूसरी चीज हमें ही करनी होगी क्या मैं लोगों को बताना वह किस प्रकार से यह सारी चीज करना देखकर अपराध का नाका पर अगर आप किसी का पिक्चर जो है आपकी तस्वीर जो है अगर आपके पास रख रहे हो बिन के बिना उनकी परमिशन के अपराध बहुत कम लोगों को इस बारे में एजुकेट नहीं करेंगे तब तक देखें मुझे नींद से भुला नहीं सकती तो यह चीज़ होगी कि जितना हो सके उतना करो ऐसे डिजिटल अपराध पर कड़ी से कड़ी सजा रखे और सब वाहिनी ना रखे उतना ही अच्छा होगा अगर नॉन बेलेबल अगर ऑप्शन रखते हैं तो का नाका पर ऐसे लोगों को पता चलेगा कि किस प्रकार से अगर आप भी अपराध करो तो कितना बड़ा अपराध है तो मेरे हिसाब से यह सारे तरीके जैसे मैं उसे नियंत्रित हम कर सकता है
Romanized Version
आधी कि जिस प्रकार से खबर आई थी कि केरल की संख्या में अश्लील उपयोग के लिए महिलाओं की तस्वीरों का इस्तेमाल किया जा रे बिना महिला की परमिशन लिए तो खाना कहां पर देखिए इससे डिजिटल प्राइवेसी हम कह सकते हैं भीड़ हो रही हो खाना कहां पर है से डिजिटल अपराध को अगर हमें नियंत्रित रखा जाने क्या कर बैठा कर तो देखिए सबसे पहली चीज तो मैं योगी हमें लोगों को करने से पिलानी पड़ेगी किस प्रकार से अगर आप आप का आप का पिक्चर जो है या फिर हम कैसे की तस्वीरें जो है अगर आप किसी को देते हो तो आपको बहुत ही भरोसे से देनी होती है और सिर्फ यही नहीं हम जितना हो सके उतना कम लोगों को इंप्रेस करे कि वह खुद की अश्लील तस्वीरें ना निकाले या फिर वैसे ही तस्वीर निकाल रहे तो उसे भरोसे वाले लोगों को ही देख तो खाना खा पर सबसे पहले जैसे मैं यही करनी होगी दूसरी चीज हमें ही करनी होगी क्या मैं लोगों को बताना वह किस प्रकार से यह सारी चीज करना देखकर अपराध का नाका पर अगर आप किसी का पिक्चर जो है आपकी तस्वीर जो है अगर आपके पास रख रहे हो बिन के बिना उनकी परमिशन के अपराध बहुत कम लोगों को इस बारे में एजुकेट नहीं करेंगे तब तक देखें मुझे नींद से भुला नहीं सकती तो यह चीज़ होगी कि जितना हो सके उतना करो ऐसे डिजिटल अपराध पर कड़ी से कड़ी सजा रखे और सब वाहिनी ना रखे उतना ही अच्छा होगा अगर नॉन बेलेबल अगर ऑप्शन रखते हैं तो का नाका पर ऐसे लोगों को पता चलेगा कि किस प्रकार से अगर आप भी अपराध करो तो कितना बड़ा अपराध है तो मेरे हिसाब से यह सारे तरीके जैसे मैं उसे नियंत्रित हम कर सकता हैAadhi Ki Jis Prakar Se Khabar I Thi Ki Kerala Ki Sankhya Mein Ashleel Upyog Ke Liye Mahilaon Ki Tasviron Ka Istemal Kiya Ja Ray Bina Mahila Ki Permission Liye To Khana Kahaan Par Dekhie Isse Digital Privacy Hum Keh Sakte Hain Bheed Ho Rahi Ho Khana Kahaan Par Hai Se Digital Apradh Ko Agar Hume Niyantrit Rakha Jaane Kya Kar Baitha Kar To Dekhie Sabse Pehli Cheez To Main Yogi Hume Logon Ko Karne Se Pilani Padegi Kis Prakar Se Agar Aap Aap Ka Aap Ka Picture Jo Hai Ya Phir Hum Kaise Ki Tasveeren Jo Hai Agar Aap Kisi Ko Dete Ho To Aapko Bahut Hi Bharose Se Deni Hoti Hai Aur Sirf Yahi Nahi Hum Jitna Ho Sake Utana Kam Logon Ko Impress Kare Ki Wah Khud Ki Ashleel Tasveeren Na Nikale Ya Phir Waise Hi Tasveer Nikal Rahe To Use Bharose Wali Logon Ko Hi Dekh To Khana Kha Par Sabse Pehle Jaise Main Yahi Karni Hogi Dusri Cheez Hume Hi Karni Hogi Kya Main Logon Ko Batana Wah Kis Prakar Se Yeh Saree Cheez Karna Dekhkar Apradh Ka Naka Par Agar Aap Kisi Ka Picture Jo Hai Aapki Tasveer Jo Hai Agar Aapke Paas Rakh Rahe Ho Bin Ke Bina Unki Permission Ke Apradh Bahut Kam Logon Ko Is Bare Mein EDUCATE Nahi Karenge Tab Tak Dekhen Mujhe Neend Se Bhula Nahi Sakti To Yeh Cheese Hogi Ki Jitna Ho Sake Utana Karo Aise Digital Apradh Par Kadi Se Kadi Saja Rakhe Aur Sab Vahini Na Rakhe Utana Hi Accha Hoga Agar Non Belebal Agar Option Rakhate Hain To Ka Naka Par Aise Logon Ko Pata Chalega Ki Kis Prakar Se Agar Aap Bhi Apradh Karo To Kitna Bada Apradh Hai To Mere Hisab Se Yeh Sare Tarike Jaise Main Use Niyantrit Hum Kar Sakta Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ममता बनर्जी का जो सोचना है कि ट्रिपल तलाक मिल जाए मुसलमानों की जो महिलाएं उनकी रक्षा नहीं करेगा मेरा सोचना यह है जिसमें दोनों चीजें हैं पहले तो इसमें यह है कि एक पॉलिटिकल मुद्दा है राजनीतिक मुद्दा है और जो ममता बनर्जी जी है उनका जो वोट बैंक है वह बहुत बड़ा उसमें मुस्लिम्स का कॉन्ट्रिब्यूशन है और इस वजह से क्योंकि यह बिल मुस्लिम खास तौर से जो मुस्लिम पुरुष है वह उसके अगेंस्ट में है और ज्यादातर महिलाएं अभी भी चुकी पुरुषों की विचारधारा से चलती हैं इस वजह से शायद ममता बनर्जी का ऐसा लगता है कि इससे उनका मुस्लिम वोट बैंक जा सकता है तो इस कारण से यह इसको त्रिपल तलाक का विरोध कर रही है लेकिन यह बात भी सही है किस बिल के अंदर जो प्रावधान है उसमें जो आदमी ट्रिपल तलाक देता है तुरंत उसको तुरंत अरेस्ट करने का प्रवचन है और मजे की बात यह है कि वह तलाक भीम याद नहीं है तू कहने का मतलब यह हुआ कि वह जो आदमी है उसको जेल जाना पड़ेगा 3 साल तक के लिए जेल जा सकता है और वह उसका पति भी है उसे तलाक भी नहीं दे पाया है तो ऐसी सिचुएशन में जो महिला है उसका क्या होगा उसका खर्चा कौन उठाएगा और बाद में अगर वह आदमी उस को तलाक देने से मना करता है तो महिला की हालत भी पड़ी खराब रहेगी अलग में गवर्नमेंट में इसने कंपटीशन का पूजन किया हुआ है लेकिन उसमें भी क्लैरिटी नहीं है और वह कैसे आदमी का कंपनसेशन देगा इस बारे में भी कोई क्लैरिटी नहीं है तो कुछ ऐसे मुद्दे इसमें जरूर है कि जिस को समझाने की जरूरत है बॉर्डर डिस्कशन की जरूरत है लेकिन ममता बनर्जी का जो स्टेट में है मैं समझता हूं उसमें जो पॉलिटिकल Vodafone है उसको हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं
Romanized Version
ममता बनर्जी का जो सोचना है कि ट्रिपल तलाक मिल जाए मुसलमानों की जो महिलाएं उनकी रक्षा नहीं करेगा मेरा सोचना यह है जिसमें दोनों चीजें हैं पहले तो इसमें यह है कि एक पॉलिटिकल मुद्दा है राजनीतिक मुद्दा है और जो ममता बनर्जी जी है उनका जो वोट बैंक है वह बहुत बड़ा उसमें मुस्लिम्स का कॉन्ट्रिब्यूशन है और इस वजह से क्योंकि यह बिल मुस्लिम खास तौर से जो मुस्लिम पुरुष है वह उसके अगेंस्ट में है और ज्यादातर महिलाएं अभी भी चुकी पुरुषों की विचारधारा से चलती हैं इस वजह से शायद ममता बनर्जी का ऐसा लगता है कि इससे उनका मुस्लिम वोट बैंक जा सकता है तो इस कारण से यह इसको त्रिपल तलाक का विरोध कर रही है लेकिन यह बात भी सही है किस बिल के अंदर जो प्रावधान है उसमें जो आदमी ट्रिपल तलाक देता है तुरंत उसको तुरंत अरेस्ट करने का प्रवचन है और मजे की बात यह है कि वह तलाक भीम याद नहीं है तू कहने का मतलब यह हुआ कि वह जो आदमी है उसको जेल जाना पड़ेगा 3 साल तक के लिए जेल जा सकता है और वह उसका पति भी है उसे तलाक भी नहीं दे पाया है तो ऐसी सिचुएशन में जो महिला है उसका क्या होगा उसका खर्चा कौन उठाएगा और बाद में अगर वह आदमी उस को तलाक देने से मना करता है तो महिला की हालत भी पड़ी खराब रहेगी अलग में गवर्नमेंट में इसने कंपटीशन का पूजन किया हुआ है लेकिन उसमें भी क्लैरिटी नहीं है और वह कैसे आदमी का कंपनसेशन देगा इस बारे में भी कोई क्लैरिटी नहीं है तो कुछ ऐसे मुद्दे इसमें जरूर है कि जिस को समझाने की जरूरत है बॉर्डर डिस्कशन की जरूरत है लेकिन ममता बनर्जी का जो स्टेट में है मैं समझता हूं उसमें जो पॉलिटिकल Vodafone है उसको हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैंMamata Banerjee Ka Jo Sochna Hai Ki Triple Talak Mil Jaye Musalmano Ki Jo Mahilaye Unki Raksha Nahi Karega Mera Sochna Yeh Hai Jisme Dono Cheezen Hain Pehle To Isme Yeh Hai Ki Ek Political Mudda Hai Rajnitik Mudda Hai Aur Jo Mamata Banerjee Ji Hai Unka Jo Vote Bank Hai Wah Bahut Bada Usamen Muslim Ka Contribution Hai Aur Is Wajah Se Kyonki Yeh Bill Muslim Khas Taur Se Jo Muslim Purush Hai Wah Uske Against Mein Hai Aur Jyadatar Mahilaye Abhi Bhi Chuki Purushon Ki Vichardhara Se Chalti Hain Is Wajah Se Shayad Mamata Banerjee Ka Aisa Lagta Hai Ki Isse Unka Muslim Vote Bank Ja Sakta Hai To Is Kaaran Se Yeh Isko Tripal Talak Ka Virodh Kar Rahi Hai Lekin Yeh Baat Bhi Sahi Hai Kis Bill Ke Andar Jo Pravadhan Hai Usamen Jo Aadmi Triple Talak Deta Hai Turant Usko Turant Arrest Karne Ka Pravachan Hai Aur Maje Ki Baat Yeh Hai Ki Wah Talak Bhim Yaad Nahi Hai Tu Kehne Ka Matlab Yeh Hua Ki Wah Jo Aadmi Hai Usko Jail Jana Padega 3 Saal Tak Ke Liye Jail Ja Sakta Hai Aur Wah Uska Pati Bhi Hai Use Talak Bhi Nahi De Paya Hai To Aisi Situation Mein Jo Mahila Hai Uska Kya Hoga Uska Kharcha Kaun Uthayega Aur Baad Mein Agar Wah Aadmi Us Ko Talak Dene Se Mana Karta Hai To Mahila Ki Halat Bhi Padi Kharab Rahegi Alag Mein Government Mein Isane Competition Ka Pujan Kiya Hua Hai Lekin Usamen Bhi Clarity Nahi Hai Aur Wah Kaise Aadmi Ka Kampanaseshan Dega Is Baare Mein Bhi Koi Clarity Nahi Hai To Kuch Aise Mudde Isme Jarur Hai Ki Jis Ko Samjhaane Ki Zaroorat Hai Border Discussion Ki Zaroorat Hai Lekin Mamata Banerjee Ka Jo State Mein Hai Main Samajhata Hoon Usamen Jo Political Vodafone Hai Usko Hum Najarandaj Nahi Kar Sakte Hain
Likes  28  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं बिल्कुल नहीं औरतों को पर्दे में रहना नहीं चाहिए उनका हक है पुरुषों के बराबर अपना काम करें सब काम पुरुषों के बराबर करें सबके सामने आकर काम करें
Romanized Version
जी नहीं बिल्कुल नहीं औरतों को पर्दे में रहना नहीं चाहिए उनका हक है पुरुषों के बराबर अपना काम करें सब काम पुरुषों के बराबर करें सबके सामने आकर काम करेंJi Nahi Bilkul Nahi Auraton Ko Parde Mein Rehna Nahi Chahiye Unka Haq Hai Purushon Ke Barabar Apna Kaam Karen Sab Kaam Purushon Ke Barabar Karen Sabke Samane Aakar Kaam Karen
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भूखी औरत को तैयार होने में समय लगना भी चाहिए और मेरा तो यही मानना है कि सिंगार बनाई औरत के लिए इंसान आदमी की हो या कोई मर्दों कम सिंगर करता अच्छा लगेगा लेकिन जो चीज है सिंगार औरत के लिए बनाया और सिंगार में टाइम लगता है तो वह भी असली औरत को तैयार होने में टाइम लगेगा लगेगा अगर मैं तो यह मानता हूं कि आप भी औरत की तरह इग्नोर करना शुरू करो मेकअप मेकअप यह एंड फंड तो तब आपको पता चलेगा कि यार तैयार होने में टाइम लगता है फिर औरत जानबूझ कर अपना टाइम लगाती है तो मेरा तो यही कहना है कि औरत को तैयार होने में ज्यादा समय लगता है और लगना चाहिए अभी
Romanized Version
भूखी औरत को तैयार होने में समय लगना भी चाहिए और मेरा तो यही मानना है कि सिंगार बनाई औरत के लिए इंसान आदमी की हो या कोई मर्दों कम सिंगर करता अच्छा लगेगा लेकिन जो चीज है सिंगार औरत के लिए बनाया और सिंगार में टाइम लगता है तो वह भी असली औरत को तैयार होने में टाइम लगेगा लगेगा अगर मैं तो यह मानता हूं कि आप भी औरत की तरह इग्नोर करना शुरू करो मेकअप मेकअप यह एंड फंड तो तब आपको पता चलेगा कि यार तैयार होने में टाइम लगता है फिर औरत जानबूझ कर अपना टाइम लगाती है तो मेरा तो यही कहना है कि औरत को तैयार होने में ज्यादा समय लगता है और लगना चाहिए अभीBhukhi Aurat Ko Taiyaar Hone Mein Samay Lagna Bhi Chahiye Aur Mera To Yahi Manana Hai Ki Shingar Banai Aurat Ke Liye Insaan Aadmi Ki Ho Ya Koi Mardon Kum Singer Karta Accha Lagega Lekin Jo Cheez Hai Shingar Aurat Ke Liye Banaya Aur Shingar Mein Time Lagta Hai To Wah Bhi Asli Aurat Ko Taiyaar Hone Mein Time Lagega Lagega Agar Main To Yeh Manata Hoon Ki Aap Bhi Aurat Ki Tarah Ignore Karna Shuru Karo Makeup Makeup Yeh End Fund To Tab Aapko Pata Chalega Ki Yaar Taiyaar Hone Mein Time Lagta Hai Phir Aurat Janbujh Kar Apna Time Lagati Hai To Mera To Yahi Kehna Hai Ki Aurat Ko Taiyaar Hone Mein Jyada Samay Lagta Hai Aur Lagna Chahiye Abhi
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस महिला आए तो जीना भी आदि जैसे जो जगह है जहां पर वह फिर करवाती है फिर सिंह करवा दिए कुछ नहीं एक सिंपल एक ट्रेन है जो इस चल रहा है तो इसमें कुछ अजीब तो मेरे ख्याल से है नहीं क्योंकि अगर एक अगर कोई महिला गानों में सेट कर आए मतलब प्रोसेसिंग कर आए तो वह ठीक है पहले के रघुवंशी बहन अभी भी चेक करा तो हम उसे अजीब जगहों पर चित्र नहीं कह सकते कान भी बॉडी का पार्ट है जैसे कि जी और ना भी भी को बॉडी के पार्ट है बॉडी का पार्टी है अगर अब यह अपनी अपनी पसंद होती है कहां चेक कराना है किसको गांव की बुकिंग करानी है कुछ नहीं है यह सिर्फ एक जोक है और यह फैशन है और एक ट्रेन है जो आजकल चल रहा है और जिसका जो मन करता है वही करता है तो इसमें आई डोंट थिंक सो कि हमें कोई कॉमेंट करना चाहिए इस बात के बारे में चंबल एक फैशन है जो चला रहा है और लोगों को और जो महिलाएं हैं जो करवाती अगर उनका मन है करवाने का टैटू करवाने का जहां बेबी लाफिंग कराने का तो उन्हें करने दीजिए ना इसमें कुछ बुरा तो नहीं है मेरे हिसाब से
Romanized Version
देखिए इस महिला आए तो जीना भी आदि जैसे जो जगह है जहां पर वह फिर करवाती है फिर सिंह करवा दिए कुछ नहीं एक सिंपल एक ट्रेन है जो इस चल रहा है तो इसमें कुछ अजीब तो मेरे ख्याल से है नहीं क्योंकि अगर एक अगर कोई महिला गानों में सेट कर आए मतलब प्रोसेसिंग कर आए तो वह ठीक है पहले के रघुवंशी बहन अभी भी चेक करा तो हम उसे अजीब जगहों पर चित्र नहीं कह सकते कान भी बॉडी का पार्ट है जैसे कि जी और ना भी भी को बॉडी के पार्ट है बॉडी का पार्टी है अगर अब यह अपनी अपनी पसंद होती है कहां चेक कराना है किसको गांव की बुकिंग करानी है कुछ नहीं है यह सिर्फ एक जोक है और यह फैशन है और एक ट्रेन है जो आजकल चल रहा है और जिसका जो मन करता है वही करता है तो इसमें आई डोंट थिंक सो कि हमें कोई कॉमेंट करना चाहिए इस बात के बारे में चंबल एक फैशन है जो चला रहा है और लोगों को और जो महिलाएं हैं जो करवाती अगर उनका मन है करवाने का टैटू करवाने का जहां बेबी लाफिंग कराने का तो उन्हें करने दीजिए ना इसमें कुछ बुरा तो नहीं है मेरे हिसाब सेDekhie Is Mahila Aaye To Jeena Bhi Aadi Jaise Jo Jagah Hai Jahan Par Wah Phir Karwati Hai Phir Singh Karava Diye Kuch Nahi Ek Simple Ek Train Hai Jo Is Chal Raha Hai To Isme Kuch Ajib To Mere Khayal Se Hai Nahi Kyonki Agar Ek Agar Koi Mahila Gaano Mein Set Kar Aaye Matlab Processing Kar Aaye To Wah Theek Hai Pehle Ke Raghuvanshi Behen Abhi Bhi Check Kra To Hum Use Ajib Jagho Par Chitra Nahi Keh Sakte Kaan Bhi Body Ka Part Hai Jaise Ki Ji Aur Na Bhi Bhi Ko Body Ke Part Hai Body Ka Party Hai Agar Ab Yeh Apni Apni Pasand Hoti Hai Kahan Check Krana Hai Kisko Gav Ki Booking Krani Hai Kuch Nahi Hai Yeh Sirf Ek Joke Hai Aur Yeh Fashion Hai Aur Ek Train Hai Jo Aajkal Chal Raha Hai Aur Jiska Jo Man Karta Hai Wahi Karta Hai To Isme Eye Don't Think So Ki Hume Koi Cament Karna Chahiye Is Baat Ke Baare Mein Chambal Ek Fashion Hai Jo Chala Raha Hai Aur Logon Ko Aur Jo Mahilaye Hain Jo Karwati Agar Unka Man Hai Karwane Ka Tattoo Karwane Ka Jahan Baby Laughing Karane Ka To Unhen Karne Dijiye Na Isme Kuch Bura To Nahi Hai Mere Hisab Se
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं आपको एक छोटा एग्जाम पर बताती हूं मेरा एक दोस्त है वह भाड़ के देश में गया था तो उसने मुझे एक चीज बताइए कि वहां पर एक लड़की ने एक लड़की को पीछे से थोड़ा हाथ लगाया था सिर्फ एक हाथ लगाओ और फिर उसके बाद उस लड़के को क्योंकि बाहर की तो आपको पता ही है वहां कैमरा होते हैं वह व्यक्ति के लड़की ने कंप्लेंट करी वह लड़का पकड़ा गया और उस लड़के को जिस जगह उस ने हाथ लगाया था वहीं पर रोड से बहुत पीटा जब तक वह एरिया फोन ही नहीं हो गया फिर उसको भेजा अस्पताल के अंदर मैं ठीक होकर वापस आया फिर उसको ऐसी मार गए फिर अस्पताल भेजा वैसे यह प्रोसेस कंटिन्यू हुई उसके बाद जब से छोड़ा गया मुझे नहीं लगता उस व्यक्ति में इतनी हिम्मत नहीं बची थी कि वह वापस वह हरकत कभी कर सके तो मेरे हिसाब से अगर एक छूने पर अगर इतनी बड़ी सजा है दे रहे हैं वहां पर इसलिए वहां पर इतनी ज्यादा सुरक्षा और कोई लड़कियों को उस नजर से देखता ही नहीं है तो मुझे लगता है क्या तब बलात्कार हुआ है और इतनी बड़ी चीज हुई है तो बलात्कारियों के लिए तो इतनी हिम्मत एक छोटी सगाई होगी तो मुझे ऐसा लगता है ऐसे लोगों को भी सजा नहीं है ऐसे लोगों को खत्म करने से समय फायदा है क्योंकि अगर हम लोग इनके सरकार लंबी देना चाहेंगे तो उसने समय में और बलात्कारियों को हम लोग छोड़ेंगे तो मुझे लगता है कि इन लोगों को खत्म कर देना चाहिए इन लोगों को मौत की सजा होनी चाहिए क्योंकि जब तक इन लोगों को मौत की सजा नहीं होगी तब तक कहीं ना कहीं लोगों में डर नहीं आएगा उसके बाद हम देख सकते हैं कि हम धीरे-धीरे करके इनको हम कम करें पहले हमें तादाद कम करें फिर हम इनकी सोच को खत्म करें सोच खत्म खत्म करने की कोशिश अभी से कर ही रहे हैं इनकी तादाद कम करने के बाद हम जैसे बाकी कंट्री से हो तक एक छोटी सी भी चीज पर इतनी बड़ी सजा दो आप तो हमें यह चीज है उसके बाद अप्लाई करनी चाहिए
Romanized Version
देखिए मैं आपको एक छोटा एग्जाम पर बताती हूं मेरा एक दोस्त है वह भाड़ के देश में गया था तो उसने मुझे एक चीज बताइए कि वहां पर एक लड़की ने एक लड़की को पीछे से थोड़ा हाथ लगाया था सिर्फ एक हाथ लगाओ और फिर उसके बाद उस लड़के को क्योंकि बाहर की तो आपको पता ही है वहां कैमरा होते हैं वह व्यक्ति के लड़की ने कंप्लेंट करी वह लड़का पकड़ा गया और उस लड़के को जिस जगह उस ने हाथ लगाया था वहीं पर रोड से बहुत पीटा जब तक वह एरिया फोन ही नहीं हो गया फिर उसको भेजा अस्पताल के अंदर मैं ठीक होकर वापस आया फिर उसको ऐसी मार गए फिर अस्पताल भेजा वैसे यह प्रोसेस कंटिन्यू हुई उसके बाद जब से छोड़ा गया मुझे नहीं लगता उस व्यक्ति में इतनी हिम्मत नहीं बची थी कि वह वापस वह हरकत कभी कर सके तो मेरे हिसाब से अगर एक छूने पर अगर इतनी बड़ी सजा है दे रहे हैं वहां पर इसलिए वहां पर इतनी ज्यादा सुरक्षा और कोई लड़कियों को उस नजर से देखता ही नहीं है तो मुझे लगता है क्या तब बलात्कार हुआ है और इतनी बड़ी चीज हुई है तो बलात्कारियों के लिए तो इतनी हिम्मत एक छोटी सगाई होगी तो मुझे ऐसा लगता है ऐसे लोगों को भी सजा नहीं है ऐसे लोगों को खत्म करने से समय फायदा है क्योंकि अगर हम लोग इनके सरकार लंबी देना चाहेंगे तो उसने समय में और बलात्कारियों को हम लोग छोड़ेंगे तो मुझे लगता है कि इन लोगों को खत्म कर देना चाहिए इन लोगों को मौत की सजा होनी चाहिए क्योंकि जब तक इन लोगों को मौत की सजा नहीं होगी तब तक कहीं ना कहीं लोगों में डर नहीं आएगा उसके बाद हम देख सकते हैं कि हम धीरे-धीरे करके इनको हम कम करें पहले हमें तादाद कम करें फिर हम इनकी सोच को खत्म करें सोच खत्म खत्म करने की कोशिश अभी से कर ही रहे हैं इनकी तादाद कम करने के बाद हम जैसे बाकी कंट्री से हो तक एक छोटी सी भी चीज पर इतनी बड़ी सजा दो आप तो हमें यह चीज है उसके बाद अप्लाई करनी चाहिएDekhie Main Aapko Ek Chota Exam Par Batati Hoon Mera Ek Dost Hai Wah Bhad Ke Desh Mein Gaya Tha To Usne Mujhe Ek Cheez Bataiye Ki Wahan Par Ek Ladki Ne Ek Ladki Ko Piche Se Thoda Hath Lagaya Tha Sirf Ek Hath Lagao Aur Phir Uske Baad Us Ladke Ko Kyonki Bahar Ki To Aapko Pata Hi Hai Wahan Camera Hote Hain Wah Vyakti Ke Ladki Ne Complaint Kari Wah Ladka Pakada Gaya Aur Us Ladke Ko Jis Jagah Us Ne Hath Lagaya Tha Wahin Par Road Se Bahut Pita Jab Tak Wah Area Phone Hi Nahi Ho Gaya Phir Usko Bheja Aspatal Ke Andar Main Theek Hokar Wapas Aaya Phir Usko Aisi Maar Gaye Phir Aspatal Bheja Waise Yeh Process Continue Hui Uske Baad Jab Se Choda Gaya Mujhe Nahi Lagta Us Vyakti Mein Itni Himmat Nahi Bachi Thi Ki Wah Wapas Wah Harkat Kabhi Kar Sake To Mere Hisab Se Agar Ek Chhune Par Agar Itni Badi Saja Hai De Rahe Hain Wahan Par Isliye Wahan Par Itni Jyada Suraksha Aur Koi Ladkiyon Ko Us Nazar Se Dekhta Hi Nahi Hai To Mujhe Lagta Hai Kya Tab Balatkar Hua Hai Aur Itni Badi Cheez Hui Hai To Balatkariyo Ke Liye To Itni Himmat Ek Choti Sagaai Hogi To Mujhe Aisa Lagta Hai Aise Logon Ko Bhi Saja Nahi Hai Aise Logon Ko Khatam Karne Se Samay Fayda Hai Kyonki Agar Hum Log Inke Sarkar Lambi Dena Chahenge To Usne Samay Mein Aur Balatkariyo Ko Hum Log Chodenge To Mujhe Lagta Hai Ki In Logon Ko Khatam Kar Dena Chahiye In Logon Ko Maut Ki Saja Honi Chahiye Kyonki Jab Tak In Logon Ko Maut Ki Saja Nahi Hogi Tab Tak Kahin Na Kahin Logon Mein Dar Nahi Aayega Uske Baad Hum Dekh Sakte Hain Ki Hum Dhire Dhire Karke Inko Hum Kum Karen Pehle Hume Tadad Kum Karen Phir Hum Inki Soch Ko Khatam Karen Soch Khatam Khatam Karne Ki Koshish Abhi Se Kar Hi Rahe Hain Inki Tadad Kum Karne Ke Baad Hum Jaise Baki Country Se Ho Tak Ek Choti Si Bhi Cheez Par Itni Badi Saja Do Aap To Hume Yeh Cheez Hai Uske Baad Apply Karni Chahiye
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हर देश की संस्कृति होती है और हर संस्कृति की अपनी एक मर्यादाएं होती हैं भारत के अंदर जो है वह बड़ी विविधता रहती है एक जो गांव के अंदर जो आदमी की जो ड्रेसिंग होती है वाला होती है शहर के अंदर ड्रेसिंग अलग होती है पार्टी के लिए ड्रेसिंग अलग होती है ऑफिस की रेटिंग अलग होती है और यह बहुत जरूरी है कि हम हर चीज को समय के हिसाब से उसको अपने को ट्रेस करें अगर मान लिया जो ड्रेसेस जो हैं मान लिया दिल्ली में या मुंबई में चलती हैं अगर वही ड्रेसेस अगर कोई राजस्थान यूपी के गांव में पहने तो वह बहुत ही अनुचित लगेगी बहुत ही ऑफ लगेगी और उस तरीके की जो आधुनिक ड्रेस्सेस है वह दिल्ली में बढ़ी कॉमन है और दिल्ली और मुंबई में उचित भी लगेगी लेकिन वहां पर आओ ना पहने तो ही बेहतर है इसलिए मेरे ख्याल से जैसा देश वैसा भेष होना चाहिए जिस सोसाइटी में आप रहे हैं अगर आप उसके हिसाब से अपने को डाल सके उसके हिसाब से प्रिंट रेसिंग कर सके तो इस से बेहतर कुछ नहीं है
Romanized Version
देखिए हर देश की संस्कृति होती है और हर संस्कृति की अपनी एक मर्यादाएं होती हैं भारत के अंदर जो है वह बड़ी विविधता रहती है एक जो गांव के अंदर जो आदमी की जो ड्रेसिंग होती है वाला होती है शहर के अंदर ड्रेसिंग अलग होती है पार्टी के लिए ड्रेसिंग अलग होती है ऑफिस की रेटिंग अलग होती है और यह बहुत जरूरी है कि हम हर चीज को समय के हिसाब से उसको अपने को ट्रेस करें अगर मान लिया जो ड्रेसेस जो हैं मान लिया दिल्ली में या मुंबई में चलती हैं अगर वही ड्रेसेस अगर कोई राजस्थान यूपी के गांव में पहने तो वह बहुत ही अनुचित लगेगी बहुत ही ऑफ लगेगी और उस तरीके की जो आधुनिक ड्रेस्सेस है वह दिल्ली में बढ़ी कॉमन है और दिल्ली और मुंबई में उचित भी लगेगी लेकिन वहां पर आओ ना पहने तो ही बेहतर है इसलिए मेरे ख्याल से जैसा देश वैसा भेष होना चाहिए जिस सोसाइटी में आप रहे हैं अगर आप उसके हिसाब से अपने को डाल सके उसके हिसाब से प्रिंट रेसिंग कर सके तो इस से बेहतर कुछ नहीं हैDekhie Har Desh Ki Sanskriti Hoti Hai Aur Har Sanskriti Ki Apni Ek Maryadaen Hoti Hain Bharat Ke Andar Jo Hai Wah Badi Vividhata Rehti Hai Ek Jo Gav Ke Andar Jo Aadmi Ki Jo Dressing Hoti Hai Wala Hoti Hai Sheher Ke Andar Dressing Alag Hoti Hai Party Ke Liye Dressing Alag Hoti Hai Office Ki Rating Alag Hoti Hai Aur Yeh Bahut Zaroori Hai Ki Hum Har Cheez Ko Samay Ke Hisab Se Usko Apne Ko Trays Karen Agar Maan Liya Jo Dresses Jo Hain Maan Liya Delhi Mein Ya Mumbai Mein Chalti Hain Agar Wahi Dresses Agar Koi Rajasthan Up Ke Gav Mein Pahane To Wah Bahut Hi Anuchit Lagegi Bahut Hi Of Lagegi Aur Us Tarike Ki Jo Aadhunik Dresses Hai Wah Delhi Mein Badhi Common Hai Aur Delhi Aur Mumbai Mein Uchit Bhi Lagegi Lekin Wahan Par Aao Na Pahane To Hi Behtar Hai Isliye Mere Khayal Se Jaisa Desh Waisa Bhesh Hona Chahiye Jis Society Mein Aap Rahe Hain Agar Aap Uske Hisab Se Apne Ko Dal Sake Uske Hisab Se Print Racing Kar Sake To Is Se Behtar Kuch Nahi Hai
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं इस बात से पूरी तरीके से सहमत नहीं हूं कि महिला अधिकारी जो है वह कम होने की वजह से पुलिस जो भारतीय महिलाएं हैं वह पुलिस स्टेशन जाने में असहज महसूस करती हैं मैं समझता हूं कि कोई भी व्यक्ति जो एक ही चाहे वह इंसान नामर्द हो औरत हो या कोई भी हो वह बहुत ही ज्यादा वह पुलिस स्टेशन जाने में असहज महसूस करता क्योंकि पुलिस ने जो 25 वर्ष होते उनका रवैया और उनका व्यवहार बहुत ही खराब रहता है आम जनता के लिए वह स्वयं इस तरीके के बीच में काम करते हैं और उनका खुद इतना ज्यादा हिम्मत ईशान होता है कि कोई भी जनता आती उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करते हैं तो कोई भी व्यक्ति जो है वह पुलिस स्टेशन जाना नहीं चाहता और अवार्ड करना चाहता पुलिस स्टेशन क्योंकि उसको दिखाइए सीमेंट लगता है और इसलिए यह बात से भक्ति महिलाओं पर ही लागू नहीं होती है मुख्य तौर पर मैं समझता हूं कि पुलिस वालों को एक ट्रेनिंग देने की जरूरत है और वह ट्रेनिंग से उनको एक जो भी वियर है कि पब्लिक के साथ कैसे पटाया जाए उसमें उनको ट्रेनिंग दी जानी चाहिए ताकि मर्द या औरत हर एक आदमी वहां पर
Romanized Version
देखिए मैं इस बात से पूरी तरीके से सहमत नहीं हूं कि महिला अधिकारी जो है वह कम होने की वजह से पुलिस जो भारतीय महिलाएं हैं वह पुलिस स्टेशन जाने में असहज महसूस करती हैं मैं समझता हूं कि कोई भी व्यक्ति जो एक ही चाहे वह इंसान नामर्द हो औरत हो या कोई भी हो वह बहुत ही ज्यादा वह पुलिस स्टेशन जाने में असहज महसूस करता क्योंकि पुलिस ने जो 25 वर्ष होते उनका रवैया और उनका व्यवहार बहुत ही खराब रहता है आम जनता के लिए वह स्वयं इस तरीके के बीच में काम करते हैं और उनका खुद इतना ज्यादा हिम्मत ईशान होता है कि कोई भी जनता आती उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करते हैं तो कोई भी व्यक्ति जो है वह पुलिस स्टेशन जाना नहीं चाहता और अवार्ड करना चाहता पुलिस स्टेशन क्योंकि उसको दिखाइए सीमेंट लगता है और इसलिए यह बात से भक्ति महिलाओं पर ही लागू नहीं होती है मुख्य तौर पर मैं समझता हूं कि पुलिस वालों को एक ट्रेनिंग देने की जरूरत है और वह ट्रेनिंग से उनको एक जो भी वियर है कि पब्लिक के साथ कैसे पटाया जाए उसमें उनको ट्रेनिंग दी जानी चाहिए ताकि मर्द या औरत हर एक आदमी वहां परDekhie Main Is Baat Se Puri Tarike Se Sahmat Nahi Hoon Ki Mahila Adhikari Jo Hai Wah Kum Hone Ki Wajah Se Police Jo Bhartiya Mahilaye Hain Wah Police Station Jaane Mein Asahaj Mahsus Karti Hain Main Samajhata Hoon Ki Koi Bhi Vyakti Jo Ek Hi Chahe Wah Insaan Namard Ho Aurat Ho Ya Koi Bhi Ho Wah Bahut Hi Jyada Wah Police Station Jaane Mein Asahaj Mahsus Karta Kyonki Police Ne Jo 25 Varsh Hote Unka Ravaiya Aur Unka Vyavhar Bahut Hi Kharab Rehta Hai Aam Janta Ke Liye Wah Swayam Is Tarike Ke Beech Mein Kaam Karte Hain Aur Unka Khud Itna Jyada Himmat Ishan Hota Hai Ki Koi Bhi Janta Aati Uske Saath Accha Vyavhar Nahi Karte Hain To Koi Bhi Vyakti Jo Hai Wah Police Station Jana Nahi Chahta Aur Award Karna Chahta Police Station Kyonki Usko Dikhaaiye Cement Lagta Hai Aur Isliye Yeh Baat Se Bhakti Mahilaon Par Hi Laagu Nahi Hoti Hai Mukhya Taur Par Main Samajhata Hoon Ki Police Walon Ko Ek Training Dene Ki Zaroorat Hai Aur Wah Training Se Unko Ek Jo Bhi Wear Hai Ki Public Ke Saath Kaise Pataya Jaye Usamen Unko Training Di Jani Chahiye Taki Mard Ya Aurat Har Ek Aadmi Wahan Par
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बात मुस्लिम औरतों की है ही नहीं बात अल्पसंख्यकों किए अल्पसंख्यकों में मुस्लिम पारसी जैन तथा जितने भी नॉन हिंदू रिलिजन आते हैं उन सब की बातें कब की जाती है मुस्लिम आबादी क्योंकि ज्यादा है इसलिए उसे कभी-कभी समाचारों में मुस्लिम मैंने लिख दिया जाता है तो इसका मतलब कतई नहीं है कि उसके मुर्दों की बात की जा रही है अल्पसंख्यक फौजी डिपार्टमेंट है वह हमेशा सशक्तिकरण के लिए कार्य करता है गरीबों की सरकार हमेशा कुछ न कुछ काम कर ही रही है लेकिन जो सबसे दबा कुचला जो वर्ग है मुझे लगता है वह महिलाएं हैं महिलाओं को आपने कभी राइट नहीं दिया कॉफी इन को आर्थिक आजादी नहीं दी हमारे इस में महिलाओं का आर्थिक आजादी नहीं है आज वह हाउसवाइफ बन कर काम कर रही है तो महिलाओं के लिए काम करना तो बहुत जरूरी है और अगर गवर्नमेंट कुछ करती है जो महिलाएं अल्पसंख्यक में उनकी स्थिति और ज्यादा ही नहीं है तो उनके लिए करो कार्य करती है तो उसमें कोई हमें परेशानी नहीं होनी चाहिए गरीबों के लिए तो कार्यकारी रही है ना और हमें यह सोचना चाहिए कि अगर उनको आर्थिक मिल जाएगी तो घर में कमाने वाले लोग एक्स्ट्रा हो जाएंगे तो यह चीज काफी अच्छी है और यह हमेशा थोड़ी सोच बढ़ा कर सोचना चाहिए हमें भी कि अगर गवर्मेंट कुछ कर रही है तो उसका एपिसोड भी करना चाहिए थैंक यू
Romanized Version
बात मुस्लिम औरतों की है ही नहीं बात अल्पसंख्यकों किए अल्पसंख्यकों में मुस्लिम पारसी जैन तथा जितने भी नॉन हिंदू रिलिजन आते हैं उन सब की बातें कब की जाती है मुस्लिम आबादी क्योंकि ज्यादा है इसलिए उसे कभी-कभी समाचारों में मुस्लिम मैंने लिख दिया जाता है तो इसका मतलब कतई नहीं है कि उसके मुर्दों की बात की जा रही है अल्पसंख्यक फौजी डिपार्टमेंट है वह हमेशा सशक्तिकरण के लिए कार्य करता है गरीबों की सरकार हमेशा कुछ न कुछ काम कर ही रही है लेकिन जो सबसे दबा कुचला जो वर्ग है मुझे लगता है वह महिलाएं हैं महिलाओं को आपने कभी राइट नहीं दिया कॉफी इन को आर्थिक आजादी नहीं दी हमारे इस में महिलाओं का आर्थिक आजादी नहीं है आज वह हाउसवाइफ बन कर काम कर रही है तो महिलाओं के लिए काम करना तो बहुत जरूरी है और अगर गवर्नमेंट कुछ करती है जो महिलाएं अल्पसंख्यक में उनकी स्थिति और ज्यादा ही नहीं है तो उनके लिए करो कार्य करती है तो उसमें कोई हमें परेशानी नहीं होनी चाहिए गरीबों के लिए तो कार्यकारी रही है ना और हमें यह सोचना चाहिए कि अगर उनको आर्थिक मिल जाएगी तो घर में कमाने वाले लोग एक्स्ट्रा हो जाएंगे तो यह चीज काफी अच्छी है और यह हमेशा थोड़ी सोच बढ़ा कर सोचना चाहिए हमें भी कि अगर गवर्मेंट कुछ कर रही है तो उसका एपिसोड भी करना चाहिए थैंक यूBaat Muslim Auraton Ki Hai Hi Nahi Baat Alpasankhyakon Kiye Alpasankhyakon Mein Muslim Parasi Jain Tatha Jitne Bhi Non Hindu Religion Aate Hain Un Sab Ki Batein Kab Ki Jati Hai Muslim Aabadi Kyonki Jyada Hai Isliye Use Kabhi Kabhi Samacharon Mein Muslim Maine Likh Diya Jata Hai To Iska Matlab Qty Nahi Hai Ki Uske Murdon Ki Baat Ki Ja Rahi Hai Alpsankhyak Fauji Department Hai Wah Hamesha Sashaktikaran Ke Liye Karya Karta Hai Garibon Ki Sarkar Hamesha Kuch N Kuch Kaam Kar Hi Rahi Hai Lekin Jo Sabse Daba Kuchala Jo Varg Hai Mujhe Lagta Hai Wah Mahilaye Hain Mahilaon Ko Aapne Kabhi Right Nahi Diya Coffee In Ko Aarthik Azadi Nahi Di Hamare Is Mein Mahilaon Ka Aarthik Azadi Nahi Hai Aaj Wah Housewife Ban Kar Kaam Kar Rahi Hai To Mahilaon Ke Liye Kaam Karna To Bahut Zaroori Hai Aur Agar Government Kuch Karti Hai Jo Mahilaye Alpsankhyak Mein Unki Sthiti Aur Jyada Hi Nahi Hai To Unke Liye Karo Karya Karti Hai To Usamen Koi Hume Pareshani Nahi Honi Chahiye Garibon Ke Liye To Kaaryakari Rahi Hai Na Aur Hume Yeh Sochna Chahiye Ki Agar Unko Aarthik Mil Jayegi To Ghar Mein Kamane Wale Log Extra Ho Jaenge To Yeh Cheez Kafi Acchi Hai Aur Yeh Hamesha Thodi Soch Badha Kar Sochna Chahiye Hume Bhi Ki Agar Goverment Kuch Kar Rahi Hai To Uska Episode Bhi Karna Chahiye Thank You
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए किस में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है कि पुरुषों में महिलाओं से ज्यादा दिमाग होता है और ऐसा भी कुछ नहीं है कि महिलाओं में पुरुषों से ज्यादा दिमाग होता है इसमें जानवर का कोई रोल नहीं होता किसी भी पुरुष किसी महिला का एक दूसरे से दिमाग ज्यादा हो सकता है इसमें साइकोलोजी काम करती है मैं आपको बता दूं कि बहुत सारे इफेक्ट्स होते हैं जो हमारे दिमाग के विकास में काम करते हैं जैसे कि आप किस तरह से पहले बड़े हैं आपको आपके माता-पिता से किस तरह के लिए जींस मिले हैं आपकी परवरिश कैसे हैं आपके आसपास का माहौल कैसा है तो यह भी बातें आपके दिमाग के विकास में जो है बहुत ही ज्यादा अहम भूमिका निभाती है और इसके इलावा साई कॉलेज में बहुत सारे टेस्ट हो जाते हैं जिससे आप अपने इंटेलिजेंस राहुल को मैसेज कर सकते हैं और देख सकते हैं कि आपका कितना इंटेलिजेंस लेवल है क्या वह वह वह एड्रेस है क्या वह अफ्रेश है या फिर बिल्ववृक्ष है तो इसमें कोई भी रोल नहीं होता है जनरल का शुक्रिया
Romanized Version
देखिए किस में बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है कि पुरुषों में महिलाओं से ज्यादा दिमाग होता है और ऐसा भी कुछ नहीं है कि महिलाओं में पुरुषों से ज्यादा दिमाग होता है इसमें जानवर का कोई रोल नहीं होता किसी भी पुरुष किसी महिला का एक दूसरे से दिमाग ज्यादा हो सकता है इसमें साइकोलोजी काम करती है मैं आपको बता दूं कि बहुत सारे इफेक्ट्स होते हैं जो हमारे दिमाग के विकास में काम करते हैं जैसे कि आप किस तरह से पहले बड़े हैं आपको आपके माता-पिता से किस तरह के लिए जींस मिले हैं आपकी परवरिश कैसे हैं आपके आसपास का माहौल कैसा है तो यह भी बातें आपके दिमाग के विकास में जो है बहुत ही ज्यादा अहम भूमिका निभाती है और इसके इलावा साई कॉलेज में बहुत सारे टेस्ट हो जाते हैं जिससे आप अपने इंटेलिजेंस राहुल को मैसेज कर सकते हैं और देख सकते हैं कि आपका कितना इंटेलिजेंस लेवल है क्या वह वह वह एड्रेस है क्या वह अफ्रेश है या फिर बिल्ववृक्ष है तो इसमें कोई भी रोल नहीं होता है जनरल का शुक्रियाDekhie Kis Mein Bilkul Bhi Sacchai Nahi Hai Ki Purushon Mein Mahilaon Se Zyada Dimag Hota Hai Aur Aisa Bhi Kuch Nahi Hai Ki Mahilaon Mein Purushon Se Zyada Dimag Hota Hai Isme Janwar Ka Koi Roll Nahi Hota Kisi Bhi Purush Kisi Mahila Ka Ek Dusre Se Dimag Zyada Ho Sakta Hai Isme Saikoloji Kaam Karti Hai Main Aapko Bata Doon Ki Bahut Sare Effects Hote Hain Jo Hamare Dimag Ke Vikash Mein Kaam Karte Hain Jaise Ki Aap Kis Tarah Se Pehle Bade Hain Aapko Aapke Mata Pita Se Kis Tarah Ke Liye Jeans Mile Hain Aapki Parvarish Kaise Hain Aapke Aaspass Ka Maahaul Kaisa Hai To Yeh Bhi Batein Aapke Dimag Ke Vikash Mein Jo Hai Bahut Hi Zyada Aham Bhumika Nibhati Hai Aur Iske Ilava Sai College Mein Bahut Sare Test Ho Jaate Hain Jisse Aap Apne Intelligence Rahul Ko Massage Kar Sakte Hain Aur Dekh Sakte Hain Ki Aapka Kitna Intelligence Level Hai Kya Wah Wah Wah Address Hai Kya Wah Afresh Hai Ya Phir Bilwavriksh Hai To Isme Koi Bhi Roll Nahi Hota Hai General Ka Shukriya
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्री आपने बोला क्या विवाह के उपरांत जो है स्त्री और पुरुष से आकर्षित और पुरुष की ओर आकर्षित होती है कि ऐसा कोई जनरलाइज्ड चीजें नहीं है बिल्कुल होता है यह आकर्षण जो है शादी के पहले शादी के बाद हो सकता है इसमें कोई ऐसी अलग सी चीजें नहीं होती है नंबर कैसे जानते को पूरी तरह संतुष्ट नहीं हो पाती है कुछ अच्छी अच्छी नहीं लग रही है जरा दूसरे दूसरे की ओर ज्यादा आकर्षित और इसके पीछे कोई स्पेसिफिक रीजन नहीं होता है अब इसे पसंद नहीं आ रहा हो या फिर दूसरा ज्यादा अच्छा लग रहा हो तो यह हो जान से सोते हैं कि दूसरे क्यों ज्यादा आकर्षित
Romanized Version
श्री आपने बोला क्या विवाह के उपरांत जो है स्त्री और पुरुष से आकर्षित और पुरुष की ओर आकर्षित होती है कि ऐसा कोई जनरलाइज्ड चीजें नहीं है बिल्कुल होता है यह आकर्षण जो है शादी के पहले शादी के बाद हो सकता है इसमें कोई ऐसी अलग सी चीजें नहीं होती है नंबर कैसे जानते को पूरी तरह संतुष्ट नहीं हो पाती है कुछ अच्छी अच्छी नहीं लग रही है जरा दूसरे दूसरे की ओर ज्यादा आकर्षित और इसके पीछे कोई स्पेसिफिक रीजन नहीं होता है अब इसे पसंद नहीं आ रहा हो या फिर दूसरा ज्यादा अच्छा लग रहा हो तो यह हो जान से सोते हैं कि दूसरे क्यों ज्यादा आकर्षितShree Aapne Bolla Kya Vivah K Uparaat Joe Hai Stree Aur Purush Se Akarshit Aur Purush Ki Oar Akarshit Hoti Hai Qi Aisa Koi Generalised Chijen Nahin Hai Bilkool Hota Hai Yeh Aakarshan Joe Hai Shadi K Pehle Shadi K Baad Ho Sakta Hai Ismein Koi Aisi Eluga C Chijen Nahin Hoti Hai Number Kaise Jante Co Poori Turha Santusht Nahin Ho Paati Hai Kuch Achchhee Achchhee Nahin Lag Rahi Hai Zara Dusre Dusre Ki Oar Jyada Akarshit Aur Iske Pichhe Koi Specific Reason Nahin Hota Hai Aba Isse Pasad Nahin Aa Raha Ho Ya Phir Doosra Jyada Accha Lag Raha Ho To Yeh Ho Jaan Se Sote Hain Qi Dusre Kio Jyada Akarshit
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन हमारे समाज में यह बहुत ही शर्म की बात है कि महिलाओं को साथ तुम का बलात्कार किया जाता है उनका रेप किया जाता है उसी महिलाओं को अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वामी उठानी चाहिए जैसे कि आई कहीं आप ट्रेवलिंग कर रही हो तो अब ऐसी गाड़ियां बस में कटिंग में बैठे हैं जिसमें सिर्फ कंडक्टर ड्राइवर हो अगर आप बैठ जाती हैं तो उसका नंबर अपने घरवालों को जरूर बताएं अगर आपके सामने से सोचना भी जाती है तो करती डरने की जरूरत नहीं है आपको हिम्मत से काम लेना चाहिए और फिर दूसरी बात जब भी आओ कही जाती हो तो अपने पैर में हमेशा मिर्ची पाउडर या फिर काट आ जाओ लेकर जाओ और जितनी में हेल्प लाइन नंबर है हर स्टेट में हलाला नंबर है तो उनको जरुर यूज करना चाहिए जब भी आप ऐसे कंडक्टर कंडीशन में फंस जाते हैं
Romanized Version
लेकिन हमारे समाज में यह बहुत ही शर्म की बात है कि महिलाओं को साथ तुम का बलात्कार किया जाता है उनका रेप किया जाता है उसी महिलाओं को अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वामी उठानी चाहिए जैसे कि आई कहीं आप ट्रेवलिंग कर रही हो तो अब ऐसी गाड़ियां बस में कटिंग में बैठे हैं जिसमें सिर्फ कंडक्टर ड्राइवर हो अगर आप बैठ जाती हैं तो उसका नंबर अपने घरवालों को जरूर बताएं अगर आपके सामने से सोचना भी जाती है तो करती डरने की जरूरत नहीं है आपको हिम्मत से काम लेना चाहिए और फिर दूसरी बात जब भी आओ कही जाती हो तो अपने पैर में हमेशा मिर्ची पाउडर या फिर काट आ जाओ लेकर जाओ और जितनी में हेल्प लाइन नंबर है हर स्टेट में हलाला नंबर है तो उनको जरुर यूज करना चाहिए जब भी आप ऐसे कंडक्टर कंडीशन में फंस जाते हैंLekin Hamare Samaaj Mein Yeh Bahut Hi Sharm Ki Baat Hai Ki Mahilaon Ko Saath Tum Ka Balatkar Kiya Jata Hai Unka Rape Kiya Jata Hai Ussi Mahilaon Ko Apni Suraksha Ki Jimmedari Swami Uthani Chahiye Jaise Ki Eye Kahin Aap Travelling Kar Rahi Ho To Ab Aisi Gadiyan Bus Mein Cutting Mein Baithey Hain Jisme Sirf Conductor Driver Ho Agar Aap Baith Jati Hain To Uska Number Apne Gharwaalon Ko Jarur Bataen Agar Aapke Samane Se Sochna Bhi Jati Hai To Karti Darane Ki Zaroorat Nahi Hai Aapko Himmat Se Kaam Lena Chahiye Aur Phir Dusri Baat Jab Bhi Aao Kahi Jati Ho To Apne Pair Mein Hamesha Mirchi Powder Ya Phir Kaat Aa Jao Lekar Jao Aur Jitni Mein Help Line Number Hai Har State Mein Halala Number Hai To Unko Zaroor Use Karna Chahiye Jab Bhi Aap Aise Conductor Condition Mein Phans Jaate Hain
Likes  5  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात सौ प्रतिशत सच है और इस समय इत्तेफाक रखता हूं कि जो लड़कियां औरतें होती हैं मैं नहाने में ज्यादा समय लगता है कंपेरेटिव ली लड़कों से क्यों उन्हें सुनाने में समय कम लगता है लेकिन हम यह भी समझना होगा कि हर एक लड़की और एक लड़की को सेम कैटेगरी में नहीं रख सकते कई लड़कों को मैं जानता हूं जो कि 9 में बहुत देर लगाते हैं सारी लड़कियां ऐसी है जनाब यही रहती है कि लड़कियों को ज्यादा समय लगता है उसका कोई कारण नहीं है कोई स्पष्ट कारण नहीं है इसीलिए होता है लेकिन जो वास्तविकता है इस प्रकार है कि लड़कियां होती हैं उनका अपने लुक्स पर अपने आप अपनी ड्यूटी पर अपने आप को अच्छा दिखने में अपनी त्वचा में अपनी स्क्रीन लॉकर यह सब चीजों में ज्यादा फोकस रहता है उनका बहुत अपने आप को अच्छा दिखाने का प्रयास रहता है अपने आप की बॉडी को मेंटेन करने की कोशिश रहती है इसलिए वह सब पूरा अपना टाइम लगा कर तन झूम कर
Romanized Version
यह बात सौ प्रतिशत सच है और इस समय इत्तेफाक रखता हूं कि जो लड़कियां औरतें होती हैं मैं नहाने में ज्यादा समय लगता है कंपेरेटिव ली लड़कों से क्यों उन्हें सुनाने में समय कम लगता है लेकिन हम यह भी समझना होगा कि हर एक लड़की और एक लड़की को सेम कैटेगरी में नहीं रख सकते कई लड़कों को मैं जानता हूं जो कि 9 में बहुत देर लगाते हैं सारी लड़कियां ऐसी है जनाब यही रहती है कि लड़कियों को ज्यादा समय लगता है उसका कोई कारण नहीं है कोई स्पष्ट कारण नहीं है इसीलिए होता है लेकिन जो वास्तविकता है इस प्रकार है कि लड़कियां होती हैं उनका अपने लुक्स पर अपने आप अपनी ड्यूटी पर अपने आप को अच्छा दिखने में अपनी त्वचा में अपनी स्क्रीन लॉकर यह सब चीजों में ज्यादा फोकस रहता है उनका बहुत अपने आप को अच्छा दिखाने का प्रयास रहता है अपने आप की बॉडी को मेंटेन करने की कोशिश रहती है इसलिए वह सब पूरा अपना टाइम लगा कर तन झूम करYeh Baat Sau Pratishat Sach Hai Aur Is Samay Ittefak Rakhta Hoon Ki Jo Ladkiyan Auraten Hoti Hain Main Nahane Mein Jyada Samay Lagta Hai Kamperetiv Lee Ladko Se Kyun Unhen Sunaane Mein Samay Kum Lagta Hai Lekin Hum Yeh Bhi Samajhna Hoga Ki Har Ek Ladki Aur Ek Ladki Ko Same Category Mein Nahi Rakh Sakte Kai Ladko Ko Main Jaanta Hoon Jo Ki 9 Mein Bahut Der Lagate Hain Saree Ladkiyan Aisi Hai Janab Yahi Rehti Hai Ki Ladkiyon Ko Jyada Samay Lagta Hai Uska Koi Kaaran Nahi Hai Koi Spasht Kaaran Nahi Hai Isliye Hota Hai Lekin Jo Vastavikta Hai Is Prakar Hai Ki Ladkiyan Hoti Hain Unka Apne Looks Par Apne Aap Apni Duty Par Apne Aap Ko Accha Dikhne Mein Apni Twacha Mein Apni Screen Locker Yeh Sab Chijon Mein Jyada Focus Rehta Hai Unka Bahut Apne Aap Ko Accha Dikhane Ka Prayas Rehta Hai Apne Aap Ki Body Ko Maintain Karne Ki Koshish Rehti Hai Isliye Wah Sab Pura Apna Time Laga Kar Tan Jhoom Kar
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल भारतीय महिला का पीरियड है और कोई मुकाबला नहीं है जब एक औरत की डिटरमिनेशन की बात आती है वहां पर क्यों की आरती जो होती है दे यार 1 MB बाकी सब लोगों को एमबीए की डिग्री हासिल करनी पड़ती है लेकिन वेन इट कंपेयर वुमन एंड स्पेशल इन इंडियन वुमन एमबीए की डिग्री हमको जरूरत नहीं होती अमानत में क्यों इतनी स्ट्रांग होते हैं इंडियन वीमेन में क्या है कि अगर एक औरत एक जॉइंट फैमिली में अपने कल्चर एंड ट्रेडिशन स्कोर फॉलो करते हुए जी रही है तो और भी आता है वह अपने प्रोफेशनल लाइफ बिजी रही है ऑफिस जा रही है अपने सारे काम कर रही है और वह अपनी पर्सनल लाइफ को और प्रोफेशनल लाइफ को बहुत अच्छी तरीके से बैलेंस करते हुए सारे काम कर रही होती है घर पर हूं खाना बना कर आती है अपना टिफिन अपने पति के लिए पाठ करके देती है अपना खुद का टिफिन बांध दिया अपने बच्चों का टिफिन बनती है फिर ऑफिस आती है अपने सारे ऑफिशियल काम निपटाती है शाम को घर जाती है रास्ते में सेव भाजी बाज
Romanized Version
बिल्कुल भारतीय महिला का पीरियड है और कोई मुकाबला नहीं है जब एक औरत की डिटरमिनेशन की बात आती है वहां पर क्यों की आरती जो होती है दे यार 1 MB बाकी सब लोगों को एमबीए की डिग्री हासिल करनी पड़ती है लेकिन वेन इट कंपेयर वुमन एंड स्पेशल इन इंडियन वुमन एमबीए की डिग्री हमको जरूरत नहीं होती अमानत में क्यों इतनी स्ट्रांग होते हैं इंडियन वीमेन में क्या है कि अगर एक औरत एक जॉइंट फैमिली में अपने कल्चर एंड ट्रेडिशन स्कोर फॉलो करते हुए जी रही है तो और भी आता है वह अपने प्रोफेशनल लाइफ बिजी रही है ऑफिस जा रही है अपने सारे काम कर रही है और वह अपनी पर्सनल लाइफ को और प्रोफेशनल लाइफ को बहुत अच्छी तरीके से बैलेंस करते हुए सारे काम कर रही होती है घर पर हूं खाना बना कर आती है अपना टिफिन अपने पति के लिए पाठ करके देती है अपना खुद का टिफिन बांध दिया अपने बच्चों का टिफिन बनती है फिर ऑफिस आती है अपने सारे ऑफिशियल काम निपटाती है शाम को घर जाती है रास्ते में सेव भाजी बाजBilkul Bhartiya Mahila Ka Period Hai Aur Koi Muqabla Nahi Hai Jab Ek Aurat Ki Ditaramineshan Ki Baat Aati Hai Wahan Par Kyun Ki Aarti Jo Hoti Hai De Yaar 1 MB Baki Sab Logon Ko Mba Ki Degree Hasil Karni Padhti Hai Lekin Vein It Kampeyar Woman End Special In Indian Woman Mba Ki Degree Hamko Zaroorat Nahi Hoti Amanat Mein Kyun Itni Strong Hote Hain Indian Wimen Mein Kya Hai Ki Agar Ek Aurat Ek Joint Family Mein Apne Culture End Tradition Score Follow Karte Hue Ji Rahi Hai To Aur Bhi Aata Hai Wah Apne Professional Life Busy Rahi Hai Office Ja Rahi Hai Apne Sare Kaam Kar Rahi Hai Aur Wah Apni Personal Life Ko Aur Professional Life Ko Bahut Acchi Tarike Se Balance Karte Hue Sare Kaam Kar Rahi Hoti Hai Ghar Par Hoon Khana Bana Kar Aati Hai Apna Tiffin Apne Pati Ke Liye Path Karke Deti Hai Apna Khud Ka Tiffin Bandh Diya Apne Bacchon Ka Tiffin Banti Hai Phir Office Aati Hai Apne Sare Official Kaam Niptati Hai Shaam Ko Ghar Jati Hai Raste Mein Save Bhaji Baaj
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं तो सीधा सांसद देना चाहूंगा यह सिर्फ एक इंटरनेट के मुताबिक है यह प्रैक्टिकल बिल्कुल भी नहीं है मेरा तो मानना यह है कि एक महिला कभी मौका नहीं मिल सकती कि जो सहनशक्ति एक महिला में होती है वह शायद इस धरती पर पैदा हुआ किसी चीज में होती हो महिला तो यार मतलब उन्हें तो सलूट है वह हमें एक बहन के रूप में एक मां के रूप में एक बीवी के रूप में हर रिश्ते में हमें एक पौधे की तरह सोचती हैं तो वही तो नहीं दे सकती यार वह किसी को धोखा दे ही नहीं सकती बाकी एक सेक्शन हर चीज के होते हैं कुछ परिस्थितियां ऐसी होती हैं जिसमें उन्हें धोखा देना पड़ सकता है तो वह भी उसका नाम भी मत धोखा नहीं दे सकता लग जाएगी यहां जितना मैं समझ पाया हूं धोखे का मतलब है अपने पति से अपने बॉयफ्रेंड से धोखा देना तो उसमें उनका रिश्ता किस पहलू पर चल रहा है वह अपने हस्बैंड से या बॉयफ्रेंड की फर्स्ट लीड है या वह उन्हें वह राष्ट्र कर रहे हैं उनसे बदतमीज जा कर रहे हैं या उन्हें वह खुश नहीं रख पा रहे या उनका कमाया हुआ खा रहे हैं और वह ज्यादा की मांग कर रहे हैं तो उस पर डिपेंड करता है बाकी मैं बिल्कुल सहमत हूं कि वह इसी परसेंट महिलाएं धोखा देती हैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है
Romanized Version
मैं तो सीधा सांसद देना चाहूंगा यह सिर्फ एक इंटरनेट के मुताबिक है यह प्रैक्टिकल बिल्कुल भी नहीं है मेरा तो मानना यह है कि एक महिला कभी मौका नहीं मिल सकती कि जो सहनशक्ति एक महिला में होती है वह शायद इस धरती पर पैदा हुआ किसी चीज में होती हो महिला तो यार मतलब उन्हें तो सलूट है वह हमें एक बहन के रूप में एक मां के रूप में एक बीवी के रूप में हर रिश्ते में हमें एक पौधे की तरह सोचती हैं तो वही तो नहीं दे सकती यार वह किसी को धोखा दे ही नहीं सकती बाकी एक सेक्शन हर चीज के होते हैं कुछ परिस्थितियां ऐसी होती हैं जिसमें उन्हें धोखा देना पड़ सकता है तो वह भी उसका नाम भी मत धोखा नहीं दे सकता लग जाएगी यहां जितना मैं समझ पाया हूं धोखे का मतलब है अपने पति से अपने बॉयफ्रेंड से धोखा देना तो उसमें उनका रिश्ता किस पहलू पर चल रहा है वह अपने हस्बैंड से या बॉयफ्रेंड की फर्स्ट लीड है या वह उन्हें वह राष्ट्र कर रहे हैं उनसे बदतमीज जा कर रहे हैं या उन्हें वह खुश नहीं रख पा रहे या उनका कमाया हुआ खा रहे हैं और वह ज्यादा की मांग कर रहे हैं तो उस पर डिपेंड करता है बाकी मैं बिल्कुल सहमत हूं कि वह इसी परसेंट महिलाएं धोखा देती हैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैMain To Sidhaa Saansad Dena Chahunga Yeh Sirf Ek Internet Ke Mutabik Hai Yeh Practical Bilkul Bhi Nahi Hai Mera To Manana Yeh Hai Ki Ek Mahila Kabhi Mauka Nahi Mil Sakti Ki Jo Sahanshakti Ek Mahila Mein Hoti Hai Wah Shayad Is Dharti Par Paida Hua Kisi Cheez Mein Hoti Ho Mahila To Yaar Matlab Unhen To Salute Hai Wah Hume Ek Behen Ke Roop Mein Ek Maa Ke Roop Mein Ek Biwi Ke Roop Mein Har Rishte Mein Hume Ek Paudhe Ki Tarah Sochti Hain To Wahi To Nahi De Sakti Yaar Wah Kisi Ko Dhokha De Hi Nahi Sakti Baki Ek Section Har Cheez Ke Hote Hain Kuch Paristhiyaan Aisi Hoti Hain Jisme Unhen Dhokha Dena Padh Sakta Hai To Wah Bhi Uska Naam Bhi Mat Dhokha Nahi De Sakta Lag Jayegi Yahan Jitna Main Samajh Paya Hoon Dhokhe Ka Matlab Hai Apne Pati Se Apne Boyfriend Se Dhokha Dena To Usamen Unka Rishta Kis Pahaloo Par Chal Raha Hai Wah Apne Husband Se Ya Boyfriend Ki First Lead Hai Ya Wah Unhen Wah Rashtra Kar Rahe Hain Unse Badtameez Ja Kar Rahe Hain Ya Unhen Wah Khush Nahi Rakh Pa Rahe Ya Unka Kamaya Hua Kha Rahe Hain Aur Wah Jyada Ki Maang Kar Rahe Hain To Us Par Depend Karta Hai Baki Main Bilkul Sahmat Hoon Ki Wah Isi Percent Mahilaye Dhokha Deti Hain Aisa Bilkul Bhi Nahi Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां पर है जिम सेक्टर में बराबरी है वहां पर तो बराबर सैलरी ऑलरेडी मिलती है जैसे गवर्नमेंट सेक्टर में आप कोई भी कॉमन सर्विस स्टेशन चाहिए चाहे वह मन हो या मैं उनकी सैलरी में कोई अंतर नहीं है बराबर सैलरी मिलती है लेकिन जिन सेक्टर्स में सैलरी मिलती है आपके कंप्यूटर हंसी और आपकी एबिलिटी के मैसेज पर तो वहां पर आप कैसे बराबर कर पाएंगे फॉर example प्राइवेट सेक्टर में वहां पर किसी की भी सैलरी कॉल नहीं होती है सैलरी आपकी वेरी करती है आपकी परफॉर्मेंस के मैसेज पर तो वहां पर यह डिप्रेशन आना नहीं है अगर जो परफॉर्म करती हैं देखिए चंदा कोचर हे शिखा शर्मा है भोजपुरी लेडीस बड़े-बड़े कंपनी की सीईओ हैं तो उन्हें कोई कम सैलरी नहीं मिलती है दूसरे सीईओ से लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए फोटो करना ही पड़ेंगे और उसमें आप की दहाड़ वर्क एबिलिटी इन शेयर इट इस अभी कुछ काम करता है यह कोई मुद्दा नहीं है कि औरतों को आदमियों के बराबर चरखा मिलनी चाहिए
Romanized Version
जहां पर है जिम सेक्टर में बराबरी है वहां पर तो बराबर सैलरी ऑलरेडी मिलती है जैसे गवर्नमेंट सेक्टर में आप कोई भी कॉमन सर्विस स्टेशन चाहिए चाहे वह मन हो या मैं उनकी सैलरी में कोई अंतर नहीं है बराबर सैलरी मिलती है लेकिन जिन सेक्टर्स में सैलरी मिलती है आपके कंप्यूटर हंसी और आपकी एबिलिटी के मैसेज पर तो वहां पर आप कैसे बराबर कर पाएंगे फॉर example प्राइवेट सेक्टर में वहां पर किसी की भी सैलरी कॉल नहीं होती है सैलरी आपकी वेरी करती है आपकी परफॉर्मेंस के मैसेज पर तो वहां पर यह डिप्रेशन आना नहीं है अगर जो परफॉर्म करती हैं देखिए चंदा कोचर हे शिखा शर्मा है भोजपुरी लेडीस बड़े-बड़े कंपनी की सीईओ हैं तो उन्हें कोई कम सैलरी नहीं मिलती है दूसरे सीईओ से लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए फोटो करना ही पड़ेंगे और उसमें आप की दहाड़ वर्क एबिलिटी इन शेयर इट इस अभी कुछ काम करता है यह कोई मुद्दा नहीं है कि औरतों को आदमियों के बराबर चरखा मिलनी चाहिएJhan Per Hai Gym Sector Mein Barabari Hai Vahan Per To Barabar Salary Already Milti Hai Jaise Govt Sector Mein Aap Koi Bhi Common Service Station Chahie Chahe Wah Mana Ho Ya Main Unki Salary Mein Koi Antar Nahin Hai Barabar Salary Milti Hai Lekin Jean Sectors Mein Salary Milti Hai Aapke Kampyutar Hansi Aur Aapki Ebiliti K Maisej Per To Vahan Per Aap Kaise Barabar Car Paenge For Example PVT Sector Mein Vahan Per Kisi Ki Bhi Salary Call Nahin Hoti Hai Salary Aapki Very Karti Hai Aapki Parafarmens K Maisej Per To Vahan Per Yeh Depression Aana Nahin Hai Agar Joe Perform Karti Hain Dekhiye Chanda Kochar Hey Shikha Sharma Hai Bhojpuri Lady Bade Bade Company Ki CEO Hain To Unhein Koi Come Salary Nahin Milti Hai Dusre CEO Se Lekin Vahan Tak Pahunchane K Lie Photo Krna Hea Padenge Aur Usme Aap Ki Dahad Work Ebiliti In Share IT Is Abhi Kuch Kama Karata Hai Yeh Koi Mudda Nahin Hai Qi Orton Co Aadamiyo K Barabar Charkha Milani Chahie
Likes  21  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं आपके सवाल में थोड़ा संशोधन करना चाहता हूं महिलाओं को समझना जटिल नहीं मुझे लगता है कि मेरा को समझना असंभव ऐसे ऐसे तो बता करो HD मुझे लगता है कि महिलाओं को जो सबसे ज्यादा जो आप हमें जो जटिलता लगती है महिलाओं के बारे में किसी मेरी सारी सारी मित्र हैं वह मुझे बताती है कि उनका मूड स्विंग बहुत जल्दी होता है मतलब अगर किसी एक चीज के बारे में सोच रही हैं तू एक ही चीज के बारे में तीन चार चलेगी अलग-अलग रहा है एक ही समय में रख सकती हैं जैसे कि अगर मान लीजिए आपको कोई एक सैंडल पसंद आ रही है तो आप वह चीज ले लेंगे लेकिन कर किसी महिला को एक चैनल पसंद आ रही है तो हो सकता है कि उसमें वह कुछ काम ही निकाल कर दूसरे चैनल को ट्राई करें और फिर वहां पर आपको कम पर चढ़ी हुई होगी क्योंकि उसे 34 सैंडल पसंद ना पसंद आ जाएगी या इसी तरह की चीज अगर उन्हें आइसक्रीम खाने का मन है फिर भी सर्दी पड़ रही है उन्हें जुकाम भी हो रहा है फिर वाली सिम खाने की जिद कर रही हैं आप मैंने एक बार मना कर दिया तो गर्मी में भी आश्रम खाने को मना कर देंगे तो यह उनकी पॉइंट ऑफ इंटरेस्ट की बात है इनकी मूड की बात है और महिलाओं में यह चीज एक साइंटिफिक चलती है कि मैं अपने मन से नहीं बता रहा हूं कि महिलाओं का मूड से काफी जल्दी होता है क्योंकि उन्हें जो चीज पसंद होती है वह चीज वह जल्दी करती हैं चाहे वह भले ही अपनी चीज का ही विरोध क्यों ना करना पड़े चाहे वह मुंह सिंह का ही मतलब कामना क्यों ना करना पड़े चाहे उन्हें बिल्कुल आप अपोजिट फैक्ट्री क्यों ना करना पड़े तो साइंटिफिक चीज है इसमें परेशान होने की बात नहीं है लेकिन कभी-कभी पुरुषों के दिमाग में यह चीज है रुला देती है कि आप अभी 2 मिनट पहले काम नहीं कर रहे थे लेकिन अब करने लगे एकदम से तो आदमी फंस जाता है वह सोचते हैं कि मैं किस बात को फॉलो करूं क्योंकि अभी कुछ समय पहले अलग कर दि अभी कुछ अलग कर रही है तू यह चीज मुझे लगता है कि वह जटिलता के कारण है इसके अलावा मेला बिल्कुल क्लियर होती हैं इसके अलावा जो चीज अच्छी लगती वह करती नहीं रखती नहीं करती और काफी अच्छा भी रहता है लड़की का और मुस्कान का सम्मान कीजिए उन्हें प्यार से बात कीजिए उनकी हर जगह इज्जत कीजिए क्योंकि महिलाओं ने आप को जन्म दिया है और वही आपको आगे बढ़ा रही हैं धन्यवाद
Romanized Version
मैं आपके सवाल में थोड़ा संशोधन करना चाहता हूं महिलाओं को समझना जटिल नहीं मुझे लगता है कि मेरा को समझना असंभव ऐसे ऐसे तो बता करो HD मुझे लगता है कि महिलाओं को जो सबसे ज्यादा जो आप हमें जो जटिलता लगती है महिलाओं के बारे में किसी मेरी सारी सारी मित्र हैं वह मुझे बताती है कि उनका मूड स्विंग बहुत जल्दी होता है मतलब अगर किसी एक चीज के बारे में सोच रही हैं तू एक ही चीज के बारे में तीन चार चलेगी अलग-अलग रहा है एक ही समय में रख सकती हैं जैसे कि अगर मान लीजिए आपको कोई एक सैंडल पसंद आ रही है तो आप वह चीज ले लेंगे लेकिन कर किसी महिला को एक चैनल पसंद आ रही है तो हो सकता है कि उसमें वह कुछ काम ही निकाल कर दूसरे चैनल को ट्राई करें और फिर वहां पर आपको कम पर चढ़ी हुई होगी क्योंकि उसे 34 सैंडल पसंद ना पसंद आ जाएगी या इसी तरह की चीज अगर उन्हें आइसक्रीम खाने का मन है फिर भी सर्दी पड़ रही है उन्हें जुकाम भी हो रहा है फिर वाली सिम खाने की जिद कर रही हैं आप मैंने एक बार मना कर दिया तो गर्मी में भी आश्रम खाने को मना कर देंगे तो यह उनकी पॉइंट ऑफ इंटरेस्ट की बात है इनकी मूड की बात है और महिलाओं में यह चीज एक साइंटिफिक चलती है कि मैं अपने मन से नहीं बता रहा हूं कि महिलाओं का मूड से काफी जल्दी होता है क्योंकि उन्हें जो चीज पसंद होती है वह चीज वह जल्दी करती हैं चाहे वह भले ही अपनी चीज का ही विरोध क्यों ना करना पड़े चाहे वह मुंह सिंह का ही मतलब कामना क्यों ना करना पड़े चाहे उन्हें बिल्कुल आप अपोजिट फैक्ट्री क्यों ना करना पड़े तो साइंटिफिक चीज है इसमें परेशान होने की बात नहीं है लेकिन कभी-कभी पुरुषों के दिमाग में यह चीज है रुला देती है कि आप अभी 2 मिनट पहले काम नहीं कर रहे थे लेकिन अब करने लगे एकदम से तो आदमी फंस जाता है वह सोचते हैं कि मैं किस बात को फॉलो करूं क्योंकि अभी कुछ समय पहले अलग कर दि अभी कुछ अलग कर रही है तू यह चीज मुझे लगता है कि वह जटिलता के कारण है इसके अलावा मेला बिल्कुल क्लियर होती हैं इसके अलावा जो चीज अच्छी लगती वह करती नहीं रखती नहीं करती और काफी अच्छा भी रहता है लड़की का और मुस्कान का सम्मान कीजिए उन्हें प्यार से बात कीजिए उनकी हर जगह इज्जत कीजिए क्योंकि महिलाओं ने आप को जन्म दिया है और वही आपको आगे बढ़ा रही हैं धन्यवादMain Aapke Sawal Mein Thoda Sanshodhan Karna Chahta Hoon Mahilaon Ko Samajhna Jatil Nahi Mujhe Lagta Hai Ki Mera Ko Samajhna Asambhav Aise Aise To Bata Karo HD Mujhe Lagta Hai Ki Mahilaon Ko Jo Sabse Jyada Jo Aap Hume Jo Jatilata Lagti Hai Mahilaon Ke Baare Mein Kisi Meri Saree Saree Mitra Hain Wah Mujhe Batati Hai Ki Unka Mood Swing Bahut Jaldi Hota Hai Matlab Agar Kisi Ek Cheez Ke Baare Mein Soch Rahi Hain Tu Ek Hi Cheez Ke Baare Mein Teen Char Chalegi Alag Alag Raha Hai Ek Hi Samay Mein Rakh Sakti Hain Jaise Ki Agar Maan Lijiye Aapko Koi Ek Sandal Pasand Aa Rahi Hai To Aap Wah Cheez Le Lenge Lekin Kar Kisi Mahila Ko Ek Channel Pasand Aa Rahi Hai To Ho Sakta Hai Ki Usamen Wah Kuch Kaam Hi Nikal Kar Dusre Channel Ko Try Karen Aur Phir Wahan Par Aapko Kum Par Chadhi Hui Hogi Kyonki Use 34 Sandal Pasand Na Pasand Aa Jayegi Ya Isi Tarah Ki Cheez Agar Unhen Icecream Khane Ka Man Hai Phir Bhi Sardi Padh Rahi Hai Unhen Jukam Bhi Ho Raha Hai Phir Wali Sim Khane Ki Jid Kar Rahi Hain Aap Maine Ek Baar Mana Kar Diya To Garmi Mein Bhi Aashram Khane Ko Mana Kar Denge To Yeh Unki Point Of Interest Ki Baat Hai Inki Mood Ki Baat Hai Aur Mahilaon Mein Yeh Cheez Ek Scientific Chalti Hai Ki Main Apne Man Se Nahi Bata Raha Hoon Ki Mahilaon Ka Mood Se Kafi Jaldi Hota Hai Kyonki Unhen Jo Cheez Pasand Hoti Hai Wah Cheez Wah Jaldi Karti Hain Chahe Wah Bhale Hi Apni Cheez Ka Hi Virodh Kyun Na Karna Pade Chahe Wah Mooh Singh Ka Hi Matlab Kaamna Kyun Na Karna Pade Chahe Unhen Bilkul Aap Opposite Factory Kyun Na Karna Pade To Scientific Cheez Hai Isme Pareshan Hone Ki Baat Nahi Hai Lekin Kabhi Kabhi Purushon Ke Dimag Mein Yeh Cheez Hai Rula Deti Hai Ki Aap Abhi 2 Minute Pehle Kaam Nahi Kar Rahe The Lekin Ab Karne Lage Ekdam Se To Aadmi Phans Jata Hai Wah Sochte Hain Ki Main Kis Baat Ko Follow Karun Kyonki Abhi Kuch Samay Pehle Alag Kar D Abhi Kuch Alag Kar Rahi Hai Tu Yeh Cheez Mujhe Lagta Hai Ki Wah Jatilata Ke Kaaran Hai Iske Alava Mela Bilkul Clear Hoti Hain Iske Alava Jo Cheez Acchi Lagti Wah Karti Nahi Rakhti Nahi Karti Aur Kafi Accha Bhi Rehta Hai Ladki Ka Aur Muskaan Ka Samman Kijiye Unhen Pyar Se Baat Kijiye Unki Har Jagah Izzat Kijiye Kyonki Mahilaon Ne Aap Ko Janm Diya Hai Aur Wahi Aapko Aage Badha Rahi Hain Dhanyavad
Likes  4  Dislikes      
WhatsApp_icon
vokalandroid