tag_img

भारत की राजनीति

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय जनता पार्टी को 2019 में बिल्कुल नहीं आना चाहिए क्योंकि वह अपने घोषणापत्र से मुकर गई है
भारतीय जनता पार्टी को 2019 में बिल्कुल नहीं आना चाहिए क्योंकि वह अपने घोषणापत्र से मुकर गई है
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे बड़ा ही दुख हुआ कि जब हमारे देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपाई ना रहे सुनकर कहीं न कि मैं अंदर ही अंदर थम सा गया मुझे मैं घर ही के उस कांटे को देख रहा था जब मैं बचपन में अटल बिहारी वाजपेई जी के भाषण को सुनता था एंड जब उनकी फोटो अखबारों में दिक्कत है उस चीज के साथ स्क्रीन कि मुझे मौत नहीं आता कि यह पता चला कि 16 अगस्त को होगा देहांत हो गया बहुत ही कहीं ना कहीं में चुपचाप आ गया कि बिकॉज मैं उन्हें बहुत मैंने अपनी जिंदगी में एक मेंटर के रूप में हमेशा देखता है उनको और उनके कर्मों को जब ऐसा सवाल शिवसेना उठाती है कि 16 अगस्त के पहले ही वाजपेई जी का निधन हो गया था और घोषणा की गई 16 अगस्त को बेबुनियाद बात है इसमें कुछ तथ्य ही नहीं है कल जो मेडिकल 3 थी एम्स के डॉक्टर थे वह बेवजह तो इस घटना को छुपा नहीं सकते हैं उन्होंने देखने के लिए अब जब TV देख रहे होंगे उन्होंने एक पोस्ट उन्होंने एक लेटर जारी किया था जब प्रधान में पूर्व प्रधानमंत्री जी का निधन हुआ था लेटर जारी किया तो उस लेटर में समय के साथ उसका मिनट पर लिखा हुआ था तब उनका निधन हुआ तो यह बहुत ही बेबुनियाद बात है कि प्रधानमंत्री मोदी जी का स्वतंत्रता दिवस का भाषण बाधित ना हो इसलिए अटल बिहारी वाजपेई जी के निधन को बाद में घोषित किया गया इसमें कुछ तथ्य ही नहीं है
Romanized Version
मुझे बड़ा ही दुख हुआ कि जब हमारे देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपाई ना रहे सुनकर कहीं न कि मैं अंदर ही अंदर थम सा गया मुझे मैं घर ही के उस कांटे को देख रहा था जब मैं बचपन में अटल बिहारी वाजपेई जी के भाषण को सुनता था एंड जब उनकी फोटो अखबारों में दिक्कत है उस चीज के साथ स्क्रीन कि मुझे मौत नहीं आता कि यह पता चला कि 16 अगस्त को होगा देहांत हो गया बहुत ही कहीं ना कहीं में चुपचाप आ गया कि बिकॉज मैं उन्हें बहुत मैंने अपनी जिंदगी में एक मेंटर के रूप में हमेशा देखता है उनको और उनके कर्मों को जब ऐसा सवाल शिवसेना उठाती है कि 16 अगस्त के पहले ही वाजपेई जी का निधन हो गया था और घोषणा की गई 16 अगस्त को बेबुनियाद बात है इसमें कुछ तथ्य ही नहीं है कल जो मेडिकल 3 थी एम्स के डॉक्टर थे वह बेवजह तो इस घटना को छुपा नहीं सकते हैं उन्होंने देखने के लिए अब जब TV देख रहे होंगे उन्होंने एक पोस्ट उन्होंने एक लेटर जारी किया था जब प्रधान में पूर्व प्रधानमंत्री जी का निधन हुआ था लेटर जारी किया तो उस लेटर में समय के साथ उसका मिनट पर लिखा हुआ था तब उनका निधन हुआ तो यह बहुत ही बेबुनियाद बात है कि प्रधानमंत्री मोदी जी का स्वतंत्रता दिवस का भाषण बाधित ना हो इसलिए अटल बिहारी वाजपेई जी के निधन को बाद में घोषित किया गया इसमें कुछ तथ्य ही नहीं हैMujhe Bada Hea Dukh Hua Qi Jab Hamare Desh K Purva Pradhaanmatree Atal Bihari Bajpai Na Rahe Sunkara Kahin Na Qi Main Andorra Hea Andorra Tham Sa Gaya Mujhe Main Ghar Hea K Oosh Kante Co Dekh Raha Thaa Jab Main Bachpan Mein Atal Bihari Vaajpei G K Bhaashan Co Sunataa Thaa End Jab Unki Photo Akhabaron Mein Dikkat Hai Oosh Chij K Sathe Screen Qi Mujhe Maut Nahin Aata Qi Yeh Patta Challa Qi 16 Agust Co Hoga Dehant Ho Gaya Bahut Hea Kahin Na Kahin Mein Chupachap Aa Gaya Qi Because Main Unhein Bahut Maine Apni Jindagi Mein Ek Mentor K Roop Mein Hamesha Dakhta Hai Unko Aur Unke Karmo Co Jab Aisa Sawal Shivsena Uthaati Hai Qi 16 Agust K Pehle Hea Vaajpei G Ka Nidhan Ho Gaya Thaa Aur Ghoshanaa Ki Gi 16 Agust Co Bebuniyad Baat Hai Ismein Kuch Tathya Hea Nahin Hai Kal Joe Medical 3 Thi AIMS K Doctor The Wah Bewajeh To Is Ghatna Co Chhupa Nahin Sakte Hain Unhonne Dakhane K Lie Aba Jab TV Dekh Rahe Honge Unhonne Ek Post Unhonne Ek Letter Zari Kiya Thaa Jab Pradhan Mein Purva Pradhaanmatree G Ka Nidhan Hua Thaa Letter Zari Kiya To Oosh Letter Mein Samay K Sathe Uska Mint Per Likha Hua Thaa Taba Unka Nidhan Hua To Yeh Bahut Hea Bebuniyad Baat Hai Qi Pradhaanmatree Modi G Ka Swatantrata DIVAS Ka Bhaashan Baadhit Na Ho Eeslie Atal Bihari Vaajpei G K Nidhan Co Baad Mein Ghosit Kiya Gaya Ismein Kuch Tathya Hea Nahin Hai
Likes  61  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं यह कहना तो शायद ठीक नहीं होगा कि मोदी सरकार के आने से देश बर्बाद हुआ है l बर्बाद होना बहुत ज्यादा स्ट्रोंग स्टेटमेंट होगा और जीडीपी के विकास दर में जो थोड़ा सा कमी आई है उसको इस तरीके से बोलना है कि देश बर्बादी की ओर जा रहा है भी गलत होगा क्योंकि बहुत सारे कारण होते हैं जिससे जीडीपी ग्रोथ रेट कम या ज्यादा हो जाती है l और हमारे इस समय जो कारण दिख रहा है उसमें डिमोनेटाइजेशन और जीएसटी इंपॉर्टेंट कारण नजर आ रहे हैं l लेकिन सरकार ने वह कुछ कदम लिए हैं वह लॉन्ग टर्म थिंकिंग के हिसाब से लिए हैं कि इसे ब्लैक मनी कम होगा करप्शन कम होगा, टैक्स रिफॉर्म आएंगे तो सारे बिजनेसस को फायदा होगा उसके लिए l और उसका फायदा कब मिलेगा उस में थोड़ा टाइम लग सकता है और सरकार को ऐसे कदम लेने ही पडेंगे मैं यह नहीं बोल रहा हूं कि एकदम सही है या गलत कुछ चीजें उसमें गलत भी हो सकती हैं l लेकिन जो डिसीजन मेकर होता है उनको यह बोल्ड यह जरुरी नहीं है कि सोचा हुआ हर कदम बिल्कुल वैसा ही निकले l जैसा आप ने सोचा था जीएसटी रिफॉर्म के लिए पिछले ५-7 सालों से सरकारे इवन यूपी गवर्नमेंट भी ट्राई कर रही थी बट हो नहीं पा रहा था l तो फाइनली वह एक स्ट्रोंग कदम लिया है डिमोनेटाइजेशन ज्यादा स्ट्रांग कदम सरकार का, उसके रिजल्ट अभी तक बहुत ग्रेट नहीं है ऐसा नहीं है कि देश बर्बादी की ओर जा रहा है कि बहुत सारे अच्छे काम भी मोदी सरकार ने किए हैं उनको आप नकार नहीं सकते लिस्ट कर बनाएंगे तो बहुत लंबी होगी l तो हर सरकार का अपना ऊपर नीचे होता है बिजनेस साइकिल से एंड वे हेव टू बी पेशेंट l हमको देखना चाहिए कि सरकार आगे समय में और कैसे अपनी गलतियों से सीख पाती है और जो चीज अच्छी कर रही है वह उन्हें अच्छी करते रहनी चाहिए l
Romanized Version
नहीं यह कहना तो शायद ठीक नहीं होगा कि मोदी सरकार के आने से देश बर्बाद हुआ है l बर्बाद होना बहुत ज्यादा स्ट्रोंग स्टेटमेंट होगा और जीडीपी के विकास दर में जो थोड़ा सा कमी आई है उसको इस तरीके से बोलना है कि देश बर्बादी की ओर जा रहा है भी गलत होगा क्योंकि बहुत सारे कारण होते हैं जिससे जीडीपी ग्रोथ रेट कम या ज्यादा हो जाती है l और हमारे इस समय जो कारण दिख रहा है उसमें डिमोनेटाइजेशन और जीएसटी इंपॉर्टेंट कारण नजर आ रहे हैं l लेकिन सरकार ने वह कुछ कदम लिए हैं वह लॉन्ग टर्म थिंकिंग के हिसाब से लिए हैं कि इसे ब्लैक मनी कम होगा करप्शन कम होगा, टैक्स रिफॉर्म आएंगे तो सारे बिजनेसस को फायदा होगा उसके लिए l और उसका फायदा कब मिलेगा उस में थोड़ा टाइम लग सकता है और सरकार को ऐसे कदम लेने ही पडेंगे मैं यह नहीं बोल रहा हूं कि एकदम सही है या गलत कुछ चीजें उसमें गलत भी हो सकती हैं l लेकिन जो डिसीजन मेकर होता है उनको यह बोल्ड यह जरुरी नहीं है कि सोचा हुआ हर कदम बिल्कुल वैसा ही निकले l जैसा आप ने सोचा था जीएसटी रिफॉर्म के लिए पिछले ५-7 सालों से सरकारे इवन यूपी गवर्नमेंट भी ट्राई कर रही थी बट हो नहीं पा रहा था l तो फाइनली वह एक स्ट्रोंग कदम लिया है डिमोनेटाइजेशन ज्यादा स्ट्रांग कदम सरकार का, उसके रिजल्ट अभी तक बहुत ग्रेट नहीं है ऐसा नहीं है कि देश बर्बादी की ओर जा रहा है कि बहुत सारे अच्छे काम भी मोदी सरकार ने किए हैं उनको आप नकार नहीं सकते लिस्ट कर बनाएंगे तो बहुत लंबी होगी l तो हर सरकार का अपना ऊपर नीचे होता है बिजनेस साइकिल से एंड वे हेव टू बी पेशेंट l हमको देखना चाहिए कि सरकार आगे समय में और कैसे अपनी गलतियों से सीख पाती है और जो चीज अच्छी कर रही है वह उन्हें अच्छी करते रहनी चाहिए lNahi Yeh Kehna To Shayad Theek Nahi Hoga Ki Modi Sarkar Ke Aane Se Desh Barbad Hua Hai L Barbad Hona Bahut Zyada Strong Statement Hoga Aur Gdp Ke Vikash Dar Mein Jo Thoda Sa Kami I Hai Usko Is Tarike Se Bolna Hai Ki Desh Barbadi Ki Oar Ja Raha Hai Bhi Galat Hoga Kyonki Bahut Sare Kaaran Hote Hain Jisse Gdp Growth Rate Kam Ya Zyada Ho Jati Hai L Aur Hamare Is Samay Jo Kaaran Dikh Raha Hai Usamen Dimonetaijeshan Aur Gst Important Kaaran Nazar Aa Rahe Hain L Lekin Sarkar Ne Wah Kuch Kadam Liye Hain Wah Long Term Thinking Ke Hisab Se Liye Hain Ki Ise Black Money Kam Hoga Corruption Kam Hoga Tax Reform Aayenge To Sare Bijnesas Ko Fayda Hoga Uske Liye L Aur Uska Fayda Kab Milega Us Mein Thoda Time Lag Sakta Hai Aur Sarkar Ko Aise Kadam Lene Hi Padenge Main Yeh Nahi Bol Raha Hoon Ki Ekdam Sahi Hai Ya Galat Kuch Cheezen Usamen Galat Bhi Ho Sakti Hain L Lekin Jo Decision Maker Hota Hai Unko Yeh Bold Yeh Zaroori Nahi Hai Ki Socha Hua Har Kadam Bilkul Waisa Hi Nikale L Jaisa Aap Ne Socha Tha Gst Reform Ke Liye Pichhle 5 Salon Se Sarkare Even Up Government Bhi Try Kar Rahi Thi But Ho Nahi Pa Raha Tha L To Finally Wah Ek Strong Kadam Liya Hai Dimonetaijeshan Zyada Strong Kadam Sarkar Ka Uske Result Abhi Tak Bahut Great Nahi Hai Aisa Nahi Hai Ki Desh Barbadi Ki Oar Ja Raha Hai Ki Bahut Sare Acche Kaam Bhi Modi Sarkar Ne Kiye Hain Unko Aap Nakar Nahi Sakte List Kar Banayenge To Bahut Lambi Hogi L To Har Sarkar Ka Apna Upar Neeche Hota Hai Business Cycle Se End Ve Hev To Be Patient L Hamko Dekhna Chahiye Ki Sarkar Aage Samay Mein Aur Kaise Apni Galatiyon Se Seekh Pati Hai Aur Jo Cheez Acchi Kar Rahi Hai Wah Unhen Acchi Karte Rahani Chahiye L
Likes  30  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर राहुल गांधी आज की मानसिकता यह है कि नोटबंदी का प्रस्ताव और डस्टबिन में फेंक देते हैं तो कहीं ना कहीं भारत की जनता भी उन्हें वहीं पर फेंक रही है औरत देखा जाए तो आज राहुल गांधी जी के पास से महागठबंधन के अलावा कोई उपाय नहीं है और जो वह हमारे प्रधानमंत्री बनना चाहते हो एक सपना है अच्छी बात है वो सपना ही रहे हो ज्यादा अच्छी बात होगी आज मैं कहना चाहता नोटबंदी जैसा फैसला था आदेश में दिक्कतें हुई लोगों को परेशानी भी लोगों को देश में उसको आपातकालीन थोड़े समय के लिए देश में करेंसी की दिक्कतें आई लिक्विडेशन स्क्रीन रिकॉर्डर शंकर चौबे मतलब हाथ में क्या है सुनीता बैंक में पैसे देकर हाथ में कैश नहीं तो ATM की लंबी-लंबी कतारें थी हॉस्पिटल के प्रिंसिपल ने मुश्किल हो गए थे यार लेकिन दिक्कत है आज बहुत दुखी जाने गई उससे मुझे खेद है मुझे बहुत ही तकलीफ है लेकिन कहीं ना कहीं आज हम देख रहे हैं कि देश में नोटबंदी के बाजू ब्लैक मनी फिल्टर होकर जो आया है सरकार के पास ब्लैक मनी जितना ब्लू सो सॉरी नो टेंशन में था सारा ब्लैक मनी बंद हो गया है लोगों के पास काला धन बहुत ही कम ना के बराबर हो गया है बहुत ही सही स्टेट था और ऐसे ऐसे करारा स्टेप लेने के बाद भी आज मोदी सरका 7.7 जीडीपी 2018 के क्वार्टर मेल अभी तक हम आप आए हैं तो मेरा मानना है बहुत ही सक्षम स्तर पर देश को आगे की तरफ बढ़ाने की और पति सही निर्णय और बाद में कांग्रेस की मानसिकता क्यों राहुल गांधी जी की मानसिकता की तो मुझे माफ कर दीजिए वह क्या बात है हम मुझे भी नहीं समझ में आता तो वह बेहतर है वह क्या बोलते हैं वही समझे बहुत बेहतर होगा
Romanized Version
देखिए अगर राहुल गांधी आज की मानसिकता यह है कि नोटबंदी का प्रस्ताव और डस्टबिन में फेंक देते हैं तो कहीं ना कहीं भारत की जनता भी उन्हें वहीं पर फेंक रही है औरत देखा जाए तो आज राहुल गांधी जी के पास से महागठबंधन के अलावा कोई उपाय नहीं है और जो वह हमारे प्रधानमंत्री बनना चाहते हो एक सपना है अच्छी बात है वो सपना ही रहे हो ज्यादा अच्छी बात होगी आज मैं कहना चाहता नोटबंदी जैसा फैसला था आदेश में दिक्कतें हुई लोगों को परेशानी भी लोगों को देश में उसको आपातकालीन थोड़े समय के लिए देश में करेंसी की दिक्कतें आई लिक्विडेशन स्क्रीन रिकॉर्डर शंकर चौबे मतलब हाथ में क्या है सुनीता बैंक में पैसे देकर हाथ में कैश नहीं तो ATM की लंबी-लंबी कतारें थी हॉस्पिटल के प्रिंसिपल ने मुश्किल हो गए थे यार लेकिन दिक्कत है आज बहुत दुखी जाने गई उससे मुझे खेद है मुझे बहुत ही तकलीफ है लेकिन कहीं ना कहीं आज हम देख रहे हैं कि देश में नोटबंदी के बाजू ब्लैक मनी फिल्टर होकर जो आया है सरकार के पास ब्लैक मनी जितना ब्लू सो सॉरी नो टेंशन में था सारा ब्लैक मनी बंद हो गया है लोगों के पास काला धन बहुत ही कम ना के बराबर हो गया है बहुत ही सही स्टेट था और ऐसे ऐसे करारा स्टेप लेने के बाद भी आज मोदी सरका 7.7 जीडीपी 2018 के क्वार्टर मेल अभी तक हम आप आए हैं तो मेरा मानना है बहुत ही सक्षम स्तर पर देश को आगे की तरफ बढ़ाने की और पति सही निर्णय और बाद में कांग्रेस की मानसिकता क्यों राहुल गांधी जी की मानसिकता की तो मुझे माफ कर दीजिए वह क्या बात है हम मुझे भी नहीं समझ में आता तो वह बेहतर है वह क्या बोलते हैं वही समझे बहुत बेहतर होगाDekhie Agar Rahul Gandhi Aaj Ki Mansikta Yeh Hai Ki Notebandi Ka Prastaav Aur Dustbin Mein Fenk Dete Hain To Kahin Na Kahin Bharat Ki Janta Bhi Unhen Wahin Par Fenk Rahi Hai Aurat Dekha Jaye To Aaj Rahul Gandhi Ji Ke Paas Se Mahagathbandhan Ke Alava Koi Upay Nahi Hai Aur Jo Wah Hamare Pradhanmantri Banana Chahte Ho Ek Sapna Hai Acchi Baat Hai Vo Sapna Hi Rahe Ho Jyada Acchi Baat Hogi Aaj Main Kehna Chahta Notebandi Jaisa Faisla Tha Aadesh Mein Dikkaten Hui Logon Ko Pareshani Bhi Logon Ko Desh Mein Usko Aapatkalin Thode Samay Ke Liye Desh Mein Currency Ki Dikkaten Eye Likwideshan Screen Recorder Shankar Chaubey Matlab Hath Mein Kya Hai Sunita Bank Mein Paise Dekar Hath Mein Cash Nahi To ATM Ki Lambi Lambi Qataarein Thi Hospital Ke Principal Ne Mushkil Ho Gaye The Yaar Lekin Dikkat Hai Aaj Bahut Dukhi Jaane Gayi Usse Mujhe Khed Hai Mujhe Bahut Hi Takleef Hai Lekin Kahin Na Kahin Aaj Hum Dekh Rahe Hain Ki Desh Mein Notebandi Ke Baju Black Money Filter Hokar Jo Aaya Hai Sarkar Ke Paas Black Money Jitna Blue So Sorry No Tension Mein Tha Saara Black Money Band Ho Gaya Hai Logon Ke Paas Kala Dhan Bahut Hi Kum Na Ke Barabar Ho Gaya Hai Bahut Hi Sahi State Tha Aur Aise Aise Karara Step Lene Ke Baad Bhi Aaj Modi Sarka 7.7 Gdp 2018 Ke Quarter Mail Abhi Tak Hum Aap Aaye Hain To Mera Manana Hai Bahut Hi Saksham Sthar Par Desh Ko Aage Ki Taraf Badhane Ki Aur Pati Sahi Nirnay Aur Baad Mein Congress Ki Mansikta Kyun Rahul Gandhi Ji Ki Mansikta Ki To Mujhe Maaf Kar Dijiye Wah Kya Baat Hai Hum Mujhe Bhi Nahi Samajh Mein Aata To Wah Behtar Hai Wah Kya Bolte Hain Wahi Samjhe Bahut Behtar Hoga
Likes  10  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भ्रष्टाचार तू समाज में सब जगह है तो भारत में यह खत्म हो पाएगा मुझे तो नहीं लगता क्योंकि मुझे लगता है पूरी दुनिया में भ्रष्टाचार है लेकिन कहीं कम है कहीं ज्यादा है लिखिए आदमी की प्रवृत्ति है यह झूठ बोलना और झूठ बोलने के जब ज्यादा लेवल तक चला जाता है तो भ्रष्टाचार हो जाता है तू ऐसा कभी नहीं हो पाएगा कि पूरे समाज में पूरे भारतवर्ष में जहां करोड़ों लोग रहते हैं सारे के सारे बिल्कुल भ्रष्टाचार जीरो हो जाए और ना ही कोई भी घमंड का सिस्टम है कोई भी सिस्टम इतना स्ट्रांग हो सकता है कि वहां पर बिल्कुल भी कर देना हो क्योंकि सिस्टम को इतना स्ट्रांग करने के बहुत सारी कॉस्ट होती है अगर आप इतनी मॉनिटरिंग और इतनी सर्विस करने लगेंगे हर चीज को काउंटर चेक करने लगेंगे तो भ्रष्टाचार रोकने के लिए जो आपको उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी जो काम देले होगा और जो मॉनिटरिंग की कॉस्ट ज्यादा हो जाती है कि थोड़ा बहुत तो इसको हर हमेशा हर जगह ही रहता है तो भ्रष्टाचार कभी खत्म हो पाएगा मेरे हिसाब से इसकी सख्त जरूरत भी नहीं है लेकिन हमारे देश की प्रॉब्लम क्या है कि हमारे यहां पर भ्रष्टाचार उन चीजों में भी है जो कि आपका हक है जैसे बहुत सारे देशों में भी लगभग सभी देशो में हर जगह भ्रष्टाचार तो है लेकिन भ्रष्टाचार होता है वह काम कराने के लिए जो इल्लीगल है जो सही नहीं है लेकिन हमारे देश में जो सही काम है जो आपका हक है उसको भी करवाने के लिए आपको कई बार पैसे देने पड़ते हैं यह लोग अपनी ड्यूटी करने में भी रिश्वत खाते हैं वह भ्रष्टाचार हैं वह जरूर खत्म होना चाहिए और उसकी उम्मीद करता हूं कि वह जरूर खत्म होगा
Romanized Version
भ्रष्टाचार तू समाज में सब जगह है तो भारत में यह खत्म हो पाएगा मुझे तो नहीं लगता क्योंकि मुझे लगता है पूरी दुनिया में भ्रष्टाचार है लेकिन कहीं कम है कहीं ज्यादा है लिखिए आदमी की प्रवृत्ति है यह झूठ बोलना और झूठ बोलने के जब ज्यादा लेवल तक चला जाता है तो भ्रष्टाचार हो जाता है तू ऐसा कभी नहीं हो पाएगा कि पूरे समाज में पूरे भारतवर्ष में जहां करोड़ों लोग रहते हैं सारे के सारे बिल्कुल भ्रष्टाचार जीरो हो जाए और ना ही कोई भी घमंड का सिस्टम है कोई भी सिस्टम इतना स्ट्रांग हो सकता है कि वहां पर बिल्कुल भी कर देना हो क्योंकि सिस्टम को इतना स्ट्रांग करने के बहुत सारी कॉस्ट होती है अगर आप इतनी मॉनिटरिंग और इतनी सर्विस करने लगेंगे हर चीज को काउंटर चेक करने लगेंगे तो भ्रष्टाचार रोकने के लिए जो आपको उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी जो काम देले होगा और जो मॉनिटरिंग की कॉस्ट ज्यादा हो जाती है कि थोड़ा बहुत तो इसको हर हमेशा हर जगह ही रहता है तो भ्रष्टाचार कभी खत्म हो पाएगा मेरे हिसाब से इसकी सख्त जरूरत भी नहीं है लेकिन हमारे देश की प्रॉब्लम क्या है कि हमारे यहां पर भ्रष्टाचार उन चीजों में भी है जो कि आपका हक है जैसे बहुत सारे देशों में भी लगभग सभी देशो में हर जगह भ्रष्टाचार तो है लेकिन भ्रष्टाचार होता है वह काम कराने के लिए जो इल्लीगल है जो सही नहीं है लेकिन हमारे देश में जो सही काम है जो आपका हक है उसको भी करवाने के लिए आपको कई बार पैसे देने पड़ते हैं यह लोग अपनी ड्यूटी करने में भी रिश्वत खाते हैं वह भ्रष्टाचार हैं वह जरूर खत्म होना चाहिए और उसकी उम्मीद करता हूं कि वह जरूर खत्म होगाBhrashtachar Tu Samaaj Mein Sab Jagah Hai To Bharat Mein Yeh Khatam Ho Payega Mujhe To Nahi Lagta Kyonki Mujhe Lagta Hai Puri Duniya Mein Bhrashtachar Hai Lekin Kahin Kum Hai Kahin Jyada Hai Likhiye Aadmi Ki Pravritti Hai Yeh Jhuth Bolna Aur Jhuth Bolne Ke Jab Jyada Level Tak Chala Jata Hai To Bhrashtachar Ho Jata Hai Tu Aisa Kabhi Nahi Ho Payega Ki Poore Samaaj Mein Poore Bharatvarsh Mein Jahan Karodo Log Rehte Hain Sare Ke Sare Bilkul Bhrashtachar Zero Ho Jaye Aur Na Hi Koi Bhi Ghamand Ka System Hai Koi Bhi System Itna Strong Ho Sakta Hai Ki Wahan Par Bilkul Bhi Kar Dena Ho Kyonki System Ko Itna Strong Karne Ke Bahut Saree Cost Hoti Hai Agar Aap Itni Monitoring Aur Itni Service Karne Lagenge Har Cheez Ko Counter Check Karne Lagenge To Bhrashtachar Rokne Ke Liye Jo Aapko Uski Kimat Chukani Padegi Jo Kaam Dele Hoga Aur Jo Monitoring Ki Cost Jyada Ho Jati Hai Ki Thoda Bahut To Isko Har Hamesha Har Jagah Hi Rehta Hai To Bhrashtachar Kabhi Khatam Ho Payega Mere Hisab Se Iski Sakht Zaroorat Bhi Nahi Hai Lekin Hamare Desh Ki Problem Kya Hai Ki Hamare Yahan Par Bhrashtachar Un Chijon Mein Bhi Hai Jo Ki Aapka Haq Hai Jaise Bahut Sare Deshon Mein Bhi Lagbhag Sabhi Desho Mein Har Jagah Bhrashtachar To Hai Lekin Bhrashtachar Hota Hai Wah Kaam Karane Ke Liye Jo Illegal Hai Jo Sahi Nahi Hai Lekin Hamare Desh Mein Jo Sahi Kaam Hai Jo Aapka Haq Hai Usko Bhi Karwane Ke Liye Aapko Kai Baar Paise Dene Padate Hain Yeh Log Apni Duty Karne Mein Bhi Rishwat Khate Hain Wah Bhrashtachar Hain Wah Jarur Khatam Hona Chahiye Aur Uski Ummid Karta Hoon Ki Wah Jarur Khatam Hoga
Likes  20  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कांग्रेस ऐसा बोलता है उसको हम गलत नहीं बोल सकते हैं कारण अगर कल अब मोदी जी खुद है या BJP खुद विपक्ष में रहते तो वैसा ही बोलते हम लोगों को समझना चाहिए कि जो विपक्षी पार्टी होता है कि उस पार्टी का काम ही होता है कि कुछ ना कुछ उसमें गलत निकालना बोलना मैं मानता हूं कि वह प्रधान पिया मैं लोगों को रिस्पेक्ट करना चाहिए पर पार्टी जो बीजेपी अभी चल रहा है वह मोदी के वजह से ही चलता है कहीं भी छोटा भी इलेक्शन हो आदमी मतलब जानता है उसको मोदी के वजह से ही लाजमी है कांग्रेस से मोदी के नाम से ही अगर कुछ बोलेंगे या कुछ वह मतलब चाहेंगे कि ऐसा कुछ बोले कि मोदी का इमेज खराब हो दूसरी बात कि अब जो बहुत सारी बात है हम लोग को नहीं पता आजकल तो मोबाइल चलने लगा ज्यादा जियो आ गया फिर भी बहुत सारे प्रशन मतलब फोन यूज करने लगा है पहले इतना यूज़ भी नहीं करता था अभी जैसे कि आधार क्या बात हो गया जीएसटी के बाद 2 गया यह सब चलता था उसी के टाइम में जब वह कांग्रेस का सरकार था उस टाइम में मोदी साहब बहुत विरुद्ध विरोध किए थे कि नहीं यह जो आधार कार्ड लग रहा है
Romanized Version
कांग्रेस ऐसा बोलता है उसको हम गलत नहीं बोल सकते हैं कारण अगर कल अब मोदी जी खुद है या BJP खुद विपक्ष में रहते तो वैसा ही बोलते हम लोगों को समझना चाहिए कि जो विपक्षी पार्टी होता है कि उस पार्टी का काम ही होता है कि कुछ ना कुछ उसमें गलत निकालना बोलना मैं मानता हूं कि वह प्रधान पिया मैं लोगों को रिस्पेक्ट करना चाहिए पर पार्टी जो बीजेपी अभी चल रहा है वह मोदी के वजह से ही चलता है कहीं भी छोटा भी इलेक्शन हो आदमी मतलब जानता है उसको मोदी के वजह से ही लाजमी है कांग्रेस से मोदी के नाम से ही अगर कुछ बोलेंगे या कुछ वह मतलब चाहेंगे कि ऐसा कुछ बोले कि मोदी का इमेज खराब हो दूसरी बात कि अब जो बहुत सारी बात है हम लोग को नहीं पता आजकल तो मोबाइल चलने लगा ज्यादा जियो आ गया फिर भी बहुत सारे प्रशन मतलब फोन यूज करने लगा है पहले इतना यूज़ भी नहीं करता था अभी जैसे कि आधार क्या बात हो गया जीएसटी के बाद 2 गया यह सब चलता था उसी के टाइम में जब वह कांग्रेस का सरकार था उस टाइम में मोदी साहब बहुत विरुद्ध विरोध किए थे कि नहीं यह जो आधार कार्ड लग रहा हैCongress Aisa Bolta Hai Usko Hum Galat Nahi Bol Sakte Hain Kaaran Agar Kal Ab Modi Ji Khud Hai Ya BJP Khud Vipaksh Mein Rehte To Waisa Hi Bolte Hum Logon Ko Samajhna Chahiye Ki Jo Vipakshi Party Hota Hai Ki Us Party Ka Kaam Hi Hota Hai Ki Kuch Na Kuch Usamen Galat Nikalna Bolna Main Manata Hoon Ki Wah Pradhan Piya Main Logon Ko Respect Karna Chahiye Par Party Jo Bjp Abhi Chal Raha Hai Wah Modi Ke Wajah Se Hi Chalta Hai Kahin Bhi Chota Bhi Election Ho Aadmi Matlab Jaanta Hai Usko Modi Ke Wajah Se Hi Lajmi Hai Congress Se Modi Ke Naam Se Hi Agar Kuch Bolenge Ya Kuch Wah Matlab Chahenge Ki Aisa Kuch Bole Ki Modi Ka Image Kharab Ho Dusri Baat Ki Ab Jo Bahut Saree Baat Hai Hum Log Ko Nahi Pata Aajkal To Mobile Chalne Laga Jyada Jio Aa Gaya Phir Bhi Bahut Sare Prashan Matlab Phone Use Karne Laga Hai Pehle Itna Use Bhi Nahi Karta Tha Abhi Jaise Ki Aadhar Kya Baat Ho Gaya Gst Ke Baad 2 Gaya Yeh Sab Chalta Tha Ussi Ke Time Mein Jab Wah Congress Ka Sarkar Tha Us Time Mein Modi Sahab Bahut Viruddha Virodh Kiye The Ki Nahi Yeh Jo Aadhar Card Lag Raha Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं नहीं समझता कि गुजरात में बीजेपी की जो जीत है उसका जीएसटी के साथ में कोई बहुत बड़ा कनेक्शन है l क्योंकि यह बात तो तय है कि जो जीएसटी है उसमें लोगों को व्यापारी वर्ग में खासतौर से काफी ज्यादा रुष्ट हैं l वह लोग और बीजेपी की टोटल सीटें हैं वह भी पिछले २०-२२ सालों में सबसे कम आए हैं l तो यह कहना कि जीएसटी जो है उसने है जिसकी को लोगों ने एक्सेप्ट कर लिया है या सपोर्ट कर रहे हैं l यह मेरे ख्याल से उचित नहीं होगा हालांकि जीएसटी की बहुत सारी कमियां जो थी वह गुजरात का इलेक्शन के समय और उसके पहले जो है भारतीय जनता पार्टी सरकार ने दूर करने की कोशिश की ताकि जीएसटी को ज्यादा से ज्यादा लोग एक्सेप्ट कर सके l लेकिन फिर भी जीएसटी के अंदर बहुत सारी कमियां हैं जो कि सरकार को दूर करने की जरूरत है और जब यह सारी कमियां दूर हो जाएंगी तब जाकर कि जीएसटी है वह देश व्यापी एक्सेप्ट ढंग से होगा, थैंक यू l
Romanized Version
मैं नहीं समझता कि गुजरात में बीजेपी की जो जीत है उसका जीएसटी के साथ में कोई बहुत बड़ा कनेक्शन है l क्योंकि यह बात तो तय है कि जो जीएसटी है उसमें लोगों को व्यापारी वर्ग में खासतौर से काफी ज्यादा रुष्ट हैं l वह लोग और बीजेपी की टोटल सीटें हैं वह भी पिछले २०-२२ सालों में सबसे कम आए हैं l तो यह कहना कि जीएसटी जो है उसने है जिसकी को लोगों ने एक्सेप्ट कर लिया है या सपोर्ट कर रहे हैं l यह मेरे ख्याल से उचित नहीं होगा हालांकि जीएसटी की बहुत सारी कमियां जो थी वह गुजरात का इलेक्शन के समय और उसके पहले जो है भारतीय जनता पार्टी सरकार ने दूर करने की कोशिश की ताकि जीएसटी को ज्यादा से ज्यादा लोग एक्सेप्ट कर सके l लेकिन फिर भी जीएसटी के अंदर बहुत सारी कमियां हैं जो कि सरकार को दूर करने की जरूरत है और जब यह सारी कमियां दूर हो जाएंगी तब जाकर कि जीएसटी है वह देश व्यापी एक्सेप्ट ढंग से होगा, थैंक यू lMain Nahi Samajhata Ki Gujarat Mein Bjp Ki Jo Jeet Hai Uska Gst Ke Saath Mein Koi Bahut Bada Connection Hai L Kyonki Yeh Baat To Tay Hai Ki Jo Gst Hai Usamen Logon Ko Vyapaari Varg Mein Khaastaur Se Kafi Jyada Rusht Hain L Wah Log Aur Bjp Ki Total Seaten Hain Wah Bhi Pichle 20 22 Salon Mein Sabse Kum Aaye Hain L To Yeh Kehna Ki Gst Jo Hai Usne Hai Jiski Ko Logon Ne Except Kar Liya Hai Ya Support Kar Rahe Hain L Yeh Mere Khayal Se Uchit Nahi Hoga Halanki Gst Ki Bahut Saree Kamiyan Jo Thi Wah Gujarat Ka Election Ke Samay Aur Uske Pehle Jo Hai Bhartiya Janta Party Sarkar Ne Dur Karne Ki Koshish Ki Taki Gst Ko Jyada Se Jyada Log Except Kar Sake L Lekin Phir Bhi Gst Ke Andar Bahut Saree Kamiyan Hain Jo Ki Sarkar Ko Dur Karne Ki Zaroorat Hai Aur Jab Yeh Saree Kamiyan Dur Ho Jaengi Tab Jaakar Ki Gst Hai Wah Desh Vyapi Except Dhang Se Hoga Thank You L
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये प्रवक्ता संबित पात्रा जी का, मोदी जी को देश का बाप बताना या देश का पिता बताना किसी भी प्रकार से उचित नहीं है| वह संविधान के संरक्षक है, मोदी जी| व उनका उत्तरदायित्व है की भारत के प्रशासनिक व राजनीतिक तंत्र को सुचारु रुप से चलाएं| संसद का प्रतिनिधित्व करें| वह अपना जो मंत्रिमंडल है, उसको देश के विकास कार्यों के लिए लगाएं और देश को आगे बढ़ाएं| बजाए के इसके कि हमारे अपने संरक्षक बने| हमारे अपने संरक्षक हमारा परिवार होता है, परिवार का मुखिया होता है| और वह हमारे परिवार के मुखिया नहीं, हमारे भारत के मुखिया है अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर| भारत के एक संरक्षक व एक हमारे जो प्रधान है, उसका वह उसके प्रतीक हैं| वह उतना ही रहे, तो हमारे लिए भी अच्छा है, वह देश की आम जनता के लिए भी अच्छा है| धन्यवाद|
Romanized Version
देखिये प्रवक्ता संबित पात्रा जी का, मोदी जी को देश का बाप बताना या देश का पिता बताना किसी भी प्रकार से उचित नहीं है| वह संविधान के संरक्षक है, मोदी जी| व उनका उत्तरदायित्व है की भारत के प्रशासनिक व राजनीतिक तंत्र को सुचारु रुप से चलाएं| संसद का प्रतिनिधित्व करें| वह अपना जो मंत्रिमंडल है, उसको देश के विकास कार्यों के लिए लगाएं और देश को आगे बढ़ाएं| बजाए के इसके कि हमारे अपने संरक्षक बने| हमारे अपने संरक्षक हमारा परिवार होता है, परिवार का मुखिया होता है| और वह हमारे परिवार के मुखिया नहीं, हमारे भारत के मुखिया है अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर| भारत के एक संरक्षक व एक हमारे जो प्रधान है, उसका वह उसके प्रतीक हैं| वह उतना ही रहे, तो हमारे लिए भी अच्छा है, वह देश की आम जनता के लिए भी अच्छा है| धन्यवाद|Dekhiye Pravakta Sambit Paatra Ji Ka Modi Ji Ko Desh Ka Baap Batana Ya Desh Ka Pita Batana Kisi Bhi Prakar Se Uchit Nahi Hai Wah Samvidhan Ke Sanrakshak Hai Modi Ji V Unka Uttardaayitva Hai Ki Bharat Ke Prashasnik V Rajnitik Tantra Ko Sucharu Roop Se Chalaye Sansad Ka Pratinidhitva Karen Wah Apna Jo Mantrimandal Hai Usko Desh Ke Vikash Kaaryon Ke Liye Lagaen Aur Desh Ko Aage Badhaye Bajae Ke Iske Ki Hamare Apne Sanrakshak Bane Hamare Apne Sanrakshak Hamara Parivar Hota Hai Parivar Ka Mukhiya Hota Hai Aur Wah Hamare Parivar Ke Mukhiya Nahi Hamare Bharat Ke Mukhiya Hai Antararashtriya Aur Rashtriya Manch Par Bharat Ke Ek Sanrakshak V Ek Hamare Jo Pradhan Hai Uska Wah Uske Pratik Hain Wah Utana Hi Rahe To Hamare Liye Bhi Accha Hai Wah Desh Ki Aam Janta Ke Liye Bhi Accha Hai Dhanyavad
Likes  61  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात के नतीजे के बाद ऐसे सवाल ने अपना वजन ही खो दिया है देखने में आया है बहुत सारे फ्रेंड में मोदी सरकार के फैसलों को लेकर आलोचना होती रही है हिमाचल की जाने दीजिए अभी गुजरात चुनाव के दौरान गुजरात की आम जनता ने खुलकर नाराजगी जताई थी फिर वह नोटबंदी हो या जीएसटी आधार को बैंक फोन पैन से लिंक कराने का मुद्दा सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने का मामला हो या नरेंद्र मोदी द्वारा की गई वादाखिलाफी किसानों की आत्महत्या बेरोजगारी महंगाई हर फ्रंट पर सरकार की आलोचना में लोग मुखर थे चुनाव की बात जाने दीजिए हमारे आस-पास भी बहुत सारे ऐसे लोग मिल जाते हैं जो सरकार के बहुत सारे फैसलों से सहमत नहीं है लेकिन जब चुनाव नतीजों की बात आती है तो बड़े हैरान करने वाले नतीजे अप्रत्याशित रूप से देखने को मिलते हैं जमीनी हकीकत से इन नतीजों का कोई मेल नहीं होता है अगले साल यानी 2018 में कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं जब तक ईवीएम पर अर्थशास्त्र भाजपा को प्राप्त है तब तक जीत भाजपा की ही होगी
Romanized Version
गुजरात के नतीजे के बाद ऐसे सवाल ने अपना वजन ही खो दिया है देखने में आया है बहुत सारे फ्रेंड में मोदी सरकार के फैसलों को लेकर आलोचना होती रही है हिमाचल की जाने दीजिए अभी गुजरात चुनाव के दौरान गुजरात की आम जनता ने खुलकर नाराजगी जताई थी फिर वह नोटबंदी हो या जीएसटी आधार को बैंक फोन पैन से लिंक कराने का मुद्दा सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने का मामला हो या नरेंद्र मोदी द्वारा की गई वादाखिलाफी किसानों की आत्महत्या बेरोजगारी महंगाई हर फ्रंट पर सरकार की आलोचना में लोग मुखर थे चुनाव की बात जाने दीजिए हमारे आस-पास भी बहुत सारे ऐसे लोग मिल जाते हैं जो सरकार के बहुत सारे फैसलों से सहमत नहीं है लेकिन जब चुनाव नतीजों की बात आती है तो बड़े हैरान करने वाले नतीजे अप्रत्याशित रूप से देखने को मिलते हैं जमीनी हकीकत से इन नतीजों का कोई मेल नहीं होता है अगले साल यानी 2018 में कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं जब तक ईवीएम पर अर्थशास्त्र भाजपा को प्राप्त है तब तक जीत भाजपा की ही होगीGujarat Ke Natheeje Ke Baad Aise Sawal Ne Apna Wajan Hi Kho Diya Hai Dekhne Mein Aaya Hai Bahut Sare Friend Mein Modi Sarkar Ke Faisalon Ko Lekar Aalochana Hoti Rahi Hai Himachal Ki Jaane Dijiye Abhi Gujarat Chunav Ke Dauran Gujarat Ki Aam Janta Ne Khulkar Narajgi Jatai Thi Phir Wah Notebandi Ho Ya Gst Aadhar Ko Bank Phone Pan Se Link Karane Ka Mudda Sampradayik Sadbhav Ko Bigadne Ka Maamla Ho Ya Narendra Modi Dwara Ki Gayi Vadakhilafi Kisano Ki Aatmahatya Berojgari Mahangai Har Frant Par Sarkar Ki Aalochana Mein Log Mukhar The Chunav Ki Baat Jaane Dijiye Hamare Aas Paas Bhi Bahut Sare Aise Log Mil Jaate Hain Jo Sarkar Ke Bahut Sare Faisalon Se Sahmat Nahi Hai Lekin Jab Chunav Nateezon Ki Baat Aati Hai To Bade Hairan Karne Wale Natheeje Apratyashit Roop Se Dekhne Ko Milte Hain Zameeni Haqiqat Se In Nateezon Ka Koi Mail Nahi Hota Hai Agle Saal Yani 2018 Mein Kai Rajyo Mein Vidhan Sabha Chunav Hone Hain Jab Tak Evm Par Arthashastra Bhajpa Ko Prapt Hai Tab Tak Jeet Bhajpa Ki Hi Hogi
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिग्गी राजस्थान और मध्यप्रदेश में हार के बाद भाजपा को यूपी चुनाव में भी हार का सामना करना पड़ा यूपी में alif नहीं करेंगे जो सीएम योगी आदित्यनाथ की सीट से गोरखपुर की और डिप्टी सीएम की सीट थी जो केशव मौर्या की फूलपुर की दोनों लोग हार गए और वहीं दूसरी तरफ जो यह गठबंधन हुआ था सपा का और बसपा का से बर्तन धोने मिला हुआ था वह लोग इस सीट जीत कर भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव के बाद 11 + 19 लोकसभा सीटों पर उपचुनाव लड़े थे उनमें से 8 सीट भाजपा के पास थी और अब से 2 सीट उनके पास रह गई है भाजपा के लिए खतरे की घंटी के जैसा है क्योंकि एक तरफ तो वह आदमी और औरत इसमें बड़ा कमाल कर रहे हैं जीत रहे हैं लेकिन जो सेंटर में या जैसे स्टेट्स हैं जहां पर योगी आदित्यनाथ जैसे CM बैठे हुए वहां पर वह आ रहे हैं तो अगर ऐसे ही चलता रहा तो आगे उनके लिए बहुत
Romanized Version
डिग्गी राजस्थान और मध्यप्रदेश में हार के बाद भाजपा को यूपी चुनाव में भी हार का सामना करना पड़ा यूपी में alif नहीं करेंगे जो सीएम योगी आदित्यनाथ की सीट से गोरखपुर की और डिप्टी सीएम की सीट थी जो केशव मौर्या की फूलपुर की दोनों लोग हार गए और वहीं दूसरी तरफ जो यह गठबंधन हुआ था सपा का और बसपा का से बर्तन धोने मिला हुआ था वह लोग इस सीट जीत कर भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव के बाद 11 + 19 लोकसभा सीटों पर उपचुनाव लड़े थे उनमें से 8 सीट भाजपा के पास थी और अब से 2 सीट उनके पास रह गई है भाजपा के लिए खतरे की घंटी के जैसा है क्योंकि एक तरफ तो वह आदमी और औरत इसमें बड़ा कमाल कर रहे हैं जीत रहे हैं लेकिन जो सेंटर में या जैसे स्टेट्स हैं जहां पर योगी आदित्यनाथ जैसे CM बैठे हुए वहां पर वह आ रहे हैं तो अगर ऐसे ही चलता रहा तो आगे उनके लिए बहुतDiggi Rajasthan Aur Madhya Pradesh Mein Haar Ke Baad Bhajpa Ko Up Chunav Mein Bhi Haar Ka Samana Karna Pada Up Mein Alif Nahi Karenge Jo Cm Yogi Adityanath Ki Seat Se Gorakhpur Ki Aur Deputy Cm Ki Seat Thi Jo Keshav Maurya Ki Phoolpur Ki Dono Log Haar Gaye Aur Wahin Dusri Taraf Jo Yeh Gathbandhan Hua Tha Sapa Ka Aur Basapa Ka Se Bartan Dhone Mila Hua Tha Wah Log Is Seat Jeet Kar Bhajpa Ne 2014 Lok Sabha Chunav Ke Baad 11 + 19 Lok Sabha Seaton Par Upchunav Lade The Unmen Se 8 Seat Bhajpa Ke Paas Thi Aur Ab Se 2 Seat Unke Paas Rah Gayi Hai Bhajpa Ke Liye Khatre Ki Ghanti Ke Jaisa Hai Kyonki Ek Taraf To Wah Aadmi Aur Aurat Isme Bada Kamal Kar Rahe Hain Jeet Rahe Hain Lekin Jo Center Mein Ya Jaise States Hain Jahan Par Yogi Adityanath Jaise CM Baithey Hue Wahan Par Wah Aa Rahe Hain To Agar Aise Hi Chalta Raha To Aage Unke Liye Bahut
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीति में नहीं आना चाहते आउट ऑफ कंट्री में मिलता है जो बाहर देशों में मिलता है जो पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स और राजनीतिक तौर पर
राजनीति में नहीं आना चाहते आउट ऑफ कंट्री में मिलता है जो बाहर देशों में मिलता है जो पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स और राजनीतिक तौर पर
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे यह निर्णय के बारे में या निर्देश के बारे में तो डेफिनेट जानकारी तो नहीं है| लेकिन अगर आप ऐसा बोल रहे हैं| ऐसा निर्णय दिया है| सरकार ने तो इसमें कोई बुराई नहीं है |क्योंकि अगर बहुत ज्यादा जो वह लाउडस्पीकर लगाकर नॉइस पोलूशन किया जाता है| उसकी कोई जरुरत नहीं है| किसी भी धर्म में आपको अगर भगवान को पूजना है आपको गॉड को अल्ला को पूजना है| तो आप जाइए मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे में और उसके अंदर जाकर पुजिये और भगवान ने और नेचर ने हम को जितना वॉइस दिया है उतने जोर से बोलने पर भगवान हमारी गुजारिश को सुन सकते हैं मुझे नहीं लगता कि भगवान को लाउडस्पीकर से हमें बुलाने की जरूरत है| चाहे वह हम भजन गा रहे हो| या चाहे हम नमाज पढ़ रहे हो तो भगवान ने जो हमें वॉइस दिया है नेचुरल वॉइस उसमें हम जितने जोर से भगवान को पुकार सकते हैं, हमें पुकारना चाहिए| और उसके अलावा कोई भी आर्टिफिशियल चीज़ उसमें अगर नॉइस पोलूशन क्रिएट कर रही है और उससे बाकी लोगों को दिक्कत होती है| तो उसको बंद करने का कदम एक अच्छा कदम है|
Romanized Version
मुझे यह निर्णय के बारे में या निर्देश के बारे में तो डेफिनेट जानकारी तो नहीं है| लेकिन अगर आप ऐसा बोल रहे हैं| ऐसा निर्णय दिया है| सरकार ने तो इसमें कोई बुराई नहीं है |क्योंकि अगर बहुत ज्यादा जो वह लाउडस्पीकर लगाकर नॉइस पोलूशन किया जाता है| उसकी कोई जरुरत नहीं है| किसी भी धर्म में आपको अगर भगवान को पूजना है आपको गॉड को अल्ला को पूजना है| तो आप जाइए मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे में और उसके अंदर जाकर पुजिये और भगवान ने और नेचर ने हम को जितना वॉइस दिया है उतने जोर से बोलने पर भगवान हमारी गुजारिश को सुन सकते हैं मुझे नहीं लगता कि भगवान को लाउडस्पीकर से हमें बुलाने की जरूरत है| चाहे वह हम भजन गा रहे हो| या चाहे हम नमाज पढ़ रहे हो तो भगवान ने जो हमें वॉइस दिया है नेचुरल वॉइस उसमें हम जितने जोर से भगवान को पुकार सकते हैं, हमें पुकारना चाहिए| और उसके अलावा कोई भी आर्टिफिशियल चीज़ उसमें अगर नॉइस पोलूशन क्रिएट कर रही है और उससे बाकी लोगों को दिक्कत होती है| तो उसको बंद करने का कदम एक अच्छा कदम है|Mujhe Yeh Nirnay Ke Baare Mein Ya Nirdesh Ke Baare Mein To Definet Jankari To Nahi Hai Lekin Agar Aap Aisa Bol Rahe Hain Aisa Nirnay Diya Hai Sarkar Ne To Isme Koi Burayi Nahi Hai Kyonki Agar Bahut Jyada Jo Wah Loudspeaker Lagakar Nais Pollution Kiya Jata Hai Uski Koi Zaroorat Nahi Hai Kisi Bhi Dharm Mein Aapko Agar Bhagwan Ko Poojna Hai Aapko God Ko Alla Ko Poojna Hai To Aap Jaiye Mandir Masjid Gurudware Mein Aur Uske Andar Jaakar Pujiye Aur Bhagwan Ne Aur Nature Ne Hum Ko Jitna Voice Diya Hai Utne Jor Se Bolne Par Bhagwan Hamari Gujarish Ko Sun Sakte Hain Mujhe Nahi Lagta Ki Bhagwan Ko Loudspeaker Se Hume Bulane Ki Zaroorat Hai Chahe Wah Hum Bhajan Ga Rahe Ho Ya Chahe Hum Namaz Padh Rahe Ho To Bhagwan Ne Jo Hume Voice Diya Hai Natural Voice Usamen Hum Jitne Jor Se Bhagwan Ko Pukar Sakte Hain Hume Pukarna Chahiye Aur Uske Alava Koi Bhi Artificial Cheez Usamen Agar Nais Pollution Create Kar Rahi Hai Aur Usse Baki Logon Ko Dikkat Hoti Hai To Usko Band Karne Ka Kadam Ek Accha Kadam Hai
Likes  24  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2014 में जो आम आदमी पार्टी है उसमें लोक सभा के दौरान करीब करीब पूरे देश में इलेक्शन लड़ा था | और उस समय उनकी मंशा यह थी कि शायद वह एक ही बार में पूरे देश पर शासन करने लगेंगे | लेकिन जिस तरीके से इन के नेताओं की हार हुई उसके बाद से इनका मनोबल टूट गया | और फिर उन्होंने दिल्ली पर कंसंट्रेट की ओर दिल्ली में इनकी सरकार भी बनी| लेकिन अब धीरे-धीरे करके लोगों को ये समझ में आ गया है कि जो भी केजरीवाल साहब क्लेम किया करते थे गुड गवर्नेंस की, या जो भी इंप्रूवमेंट की उसमे कुछ बहुत ज्यादा दम है नहीं| और इस वजह से आने वाले समय में जैसे कि आप ने पंजाब में देखा कि इनकी काफी तीसरे नंबर पर रहे | और उसके बाद में फिर जो है वह गुजरात में तो बहुत ही बुरी हालत हुई| कई जगह पर तो उनको डबल डिजिट में नंबर मिले| और इसलिए फ़िर कर्नाटक में इनका जो लड़ने जो इनका प्रयास है, उस में भी मुझे नहीं लगता कि उनको कोई बहुत ज्यादा कामयाबी मिलने वाली है| बल्कि इनके लिए उचित ये रहेगा की ये किसी पोलिटिकल अलायन्स के साथ में इक शामिल हो| और उसके साथ मिलके कुछ लिमिटेड सीटो में से चुनाव लडें| जैसे कांग्रेस के साथ ही अपने गठबंधन बना सकते हैं और उसके साथ में कुछ सीटों पर इलेक्शन लड़ सकते हैं क्योंकि अपने दम पर अगर ये वहां पर इलेक्शन लड़ेंगे तो मुझे नहीं लगता कि उनको कोई वहां पर विजय होने की प्राप्ति होगी और इससे इनका मनोबल ही घटेगा|
Romanized Version
2014 में जो आम आदमी पार्टी है उसमें लोक सभा के दौरान करीब करीब पूरे देश में इलेक्शन लड़ा था | और उस समय उनकी मंशा यह थी कि शायद वह एक ही बार में पूरे देश पर शासन करने लगेंगे | लेकिन जिस तरीके से इन के नेताओं की हार हुई उसके बाद से इनका मनोबल टूट गया | और फिर उन्होंने दिल्ली पर कंसंट्रेट की ओर दिल्ली में इनकी सरकार भी बनी| लेकिन अब धीरे-धीरे करके लोगों को ये समझ में आ गया है कि जो भी केजरीवाल साहब क्लेम किया करते थे गुड गवर्नेंस की, या जो भी इंप्रूवमेंट की उसमे कुछ बहुत ज्यादा दम है नहीं| और इस वजह से आने वाले समय में जैसे कि आप ने पंजाब में देखा कि इनकी काफी तीसरे नंबर पर रहे | और उसके बाद में फिर जो है वह गुजरात में तो बहुत ही बुरी हालत हुई| कई जगह पर तो उनको डबल डिजिट में नंबर मिले| और इसलिए फ़िर कर्नाटक में इनका जो लड़ने जो इनका प्रयास है, उस में भी मुझे नहीं लगता कि उनको कोई बहुत ज्यादा कामयाबी मिलने वाली है| बल्कि इनके लिए उचित ये रहेगा की ये किसी पोलिटिकल अलायन्स के साथ में इक शामिल हो| और उसके साथ मिलके कुछ लिमिटेड सीटो में से चुनाव लडें| जैसे कांग्रेस के साथ ही अपने गठबंधन बना सकते हैं और उसके साथ में कुछ सीटों पर इलेक्शन लड़ सकते हैं क्योंकि अपने दम पर अगर ये वहां पर इलेक्शन लड़ेंगे तो मुझे नहीं लगता कि उनको कोई वहां पर विजय होने की प्राप्ति होगी और इससे इनका मनोबल ही घटेगा| 2014 Mein Jo Aam Aadmi Party Hai Usamen Lok Sabha Ke Dauran Karib Karib Poore Desh Mein Election Lada Tha | Aur Us Samay Unki Mansha Yeh Thi Ki Shayad Wah Ek Hi Baar Mein Poore Desh Par Shasan Karne Lagenge | Lekin Jis Tarike Se In Ke Netaon Ki Haar Hui Uske Baad Se Inka Manobal Toot Gaya | Aur Phir Unhone Delhi Par Concentrate Ki Oar Delhi Mein Inki Sarkar Bhi Bani Lekin Ab Dhire Dhire Karke Logon Ko Ye Samajh Mein Aa Gaya Hai Ki Jo Bhi Kejriwal Sahab Claim Kiya Karte The Good Governance Ki Ya Jo Bhi Improvement Ki Usme Kuch Bahut Jyada Dum Hai Nahi Aur Is Wajah Se Aane Wale Samay Mein Jaise Ki Aap Ne Punjab Mein Dekha Ki Inki Kafi Tisare Number Par Rahe | Aur Uske Baad Mein Phir Jo Hai Wah Gujarat Mein To Bahut Hi Buri Halat Hui Kai Jagah Par To Unko Double Digit Mein Number Mile Aur Isliye Fir Karnataka Mein Inka Jo Ladane Jo Inka Prayas Hai Us Mein Bhi Mujhe Nahi Lagta Ki Unko Koi Bahut Jyada Kamyabi Milne Wali Hai Balki Inke Liye Uchit Ye Rahega Ki Ye Kisi Political Alines Ke Saath Mein Ek Shamil Ho Aur Uske Saath Milke Kuch Limited Sito Mein Se Chunav Laden Jaise Congress Ke Saath Hi Apne Gathbandhan Bana Sakte Hain Aur Uske Saath Mein Kuch Seaton Par Election Lad Sakte Hain Kyonki Apne Dum Par Agar Ye Wahan Par Election Ladenge To Mujhe Nahi Lagta Ki Unko Koi Wahan Par Vijay Hone Ki Prapti Hogi Aur Isse Inka Manobal Hi Ghategaa
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की सिचुएशन है उसको देखते हुए कहा जा सकता है कि 2019 में भाजपा की जीत होने की मैक्सिमम संभावना है अभी कह सकते हैं कि करीब करीब 90 परसेंट आप मान सकते हैं कि भाजपा की ही जीत होगी लेकिन 10% जो है इस बात की भी संभावना है कि भाजपा हार जाए उसका क्या कारण है उसका कारण यह है कि जब कोई भी पार्टी इतनी ज्यादा पावरफुल हो जाती है जैसे भाजपा आज की तारीख में है तो सारे के सारे जो अपोजीशन पार्टी हैं वह साथ आ जाते हैं जैसे कि आज ही में सुबह न्यूज़ में देख रहा था कि जो बसता है वह यूपी इलेक्शन में सपा को सपोर्ट करने वाली है जबकि आप देखें तो अब से 5 साल पहले भाजपा और सपा दोनों एक दूसरे के सबसे बड़े दुश्मन तरीके सारे क्वेश्चन पार्टी देखता था जाते हैं तो बड़ी से बड़ी जो पॉलिटिकल पार्टी है उस को हराने में सक्षम हो सकते हैं तो भाजपा की जीत है इसकी संभावना तो बहुत ज्यादा है लेकिन हम यह भी नहीं कह
Romanized Version
आज की सिचुएशन है उसको देखते हुए कहा जा सकता है कि 2019 में भाजपा की जीत होने की मैक्सिमम संभावना है अभी कह सकते हैं कि करीब करीब 90 परसेंट आप मान सकते हैं कि भाजपा की ही जीत होगी लेकिन 10% जो है इस बात की भी संभावना है कि भाजपा हार जाए उसका क्या कारण है उसका कारण यह है कि जब कोई भी पार्टी इतनी ज्यादा पावरफुल हो जाती है जैसे भाजपा आज की तारीख में है तो सारे के सारे जो अपोजीशन पार्टी हैं वह साथ आ जाते हैं जैसे कि आज ही में सुबह न्यूज़ में देख रहा था कि जो बसता है वह यूपी इलेक्शन में सपा को सपोर्ट करने वाली है जबकि आप देखें तो अब से 5 साल पहले भाजपा और सपा दोनों एक दूसरे के सबसे बड़े दुश्मन तरीके सारे क्वेश्चन पार्टी देखता था जाते हैं तो बड़ी से बड़ी जो पॉलिटिकल पार्टी है उस को हराने में सक्षम हो सकते हैं तो भाजपा की जीत है इसकी संभावना तो बहुत ज्यादा है लेकिन हम यह भी नहीं कहAaj Ki Situation Hai Usko Dekhte Hue Kaha Ja Sakta Hai Ki 2019 Mein Bhajpa Ki Jeet Hone Ki Maximum Sambhavna Hai Abhi Keh Sakte Hain Ki Karib Karib 90 Percent Aap Maan Sakte Hain Ki Bhajpa Ki Hi Jeet Hogi Lekin 10% Jo Hai Is Baat Ki Bhi Sambhavna Hai Ki Bhajpa Haar Jaye Uska Kya Kaaran Hai Uska Kaaran Yeh Hai Ki Jab Koi Bhi Party Itni Jyada Powerful Ho Jati Hai Jaise Bhajpa Aaj Ki Tarikh Mein Hai To Sare Ke Sare Jo Apojishan Party Hain Wah Saath Aa Jaate Hain Jaise Ki Aaj Hi Mein Subah News Mein Dekh Raha Tha Ki Jo Basetaa Hai Wah Up Election Mein Sapa Ko Support Karne Wali Hai Jabki Aap Dekhen To Ab Se 5 Saal Pehle Bhajpa Aur Sapa Dono Ek Dusre Ke Sabse Bade Dushman Tarike Sare Question Party Dekhta Tha Jaate Hain To Badi Se Badi Jo Political Party Hai Us Ko Harane Mein Saksham Ho Sakte Hain To Bhajpa Ki Jeet Hai Iski Sambhavna To Bahut Jyada Hai Lekin Hum Yeh Bhi Nahi Keh
Likes  16  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है आप बुलेट ट्रेन की बात करें तो मैं आपको इतना तो बताता हूं कि अंग्रेजों ने अपने ट्रेन चलाई थी इंग्लैंड में वह 1837 कुछ में चलाई थी हमारी 23:00 में आ गई थी चाइना में हमारे यहां से ट्रेन 20 25 साल बाद आई थी और वह बुलेट ट्रेन के मामले में हम से 40 साल 50 साल पहले काम कर चुका है अब मुझे लगता है कि इंडिया ऐसा देश है कि वियर स्टिल टॉकिंग बिटवीन इस क्वेश्चन के हमें अभी तक बुलेट जानिए कि नहीं चलना चाहिए अपन क्यों नहीं चेंज उसको एक्सेप्ट करते हैं मुझे अभी तक समझ में नहीं आता कोई व्यक्ति कोई काम करना चाह रहे हो से काम क्यों नहीं करने देते अगर प्रधानमंत्री जी देखी मैं फैन नहीं हूं किसी का लेकिन आप सोचिए आप को क्या अच्छा लगता है आपने रिजर्वेशन कराया और अच्छे घंटे स्टेशन पर खड़े हैं आप और ट्रेन टाइम पर नहीं आ रही आपको क्या लगता कितना सुधार कर लेंगे लेकिन जो चीज आउटडेटेड वह आउटडेटेड है आप उसके भरोसे हमेशा जिंदगी नहीं काट सकते अगर उन्होंने कोशिश कीजिए अपना ट्रेन चलाने की बुलेट ट्रेन तो मुझे लगता है कि मुझे कुछ अच्छा प्लान आज मेट्रो ट्रेन चलाई जा रही थी तब भी यही विरोध हुआ था लेकिन अब दिल्ली मेट्रो दुनिया की सबसे सक्सेसफुल मेट्रो में से एक है दिन भर की आबादी वहां पर अत्याचार ट्रेवलिंग करती है अगर आप दिल्ली ज्यादा पर देखिएगा कितने टाइमिंग का तरीका है भीड़ ज्यादा होती है लेकिन मेट्रो संभाल लेती है इनको मौका दिया जाना चाहिए माइग्रेशन नहीं होगा बड़े शहरों में आपके घर से अगर किसी बड़े घर की दूरी 300 किलोमीटर 2 घंटे में जा सकते तो अपने घर पर ही रहेंगे क्यों जाएंगे दूसरे बड़े सर में रहने तो मुझे लगता है किन चीजों को बदनाम हो को एक्सेप्ट करना जरूरी है और जो नया काम हो रहा है और जो नया डेवलपमेंट स्किल डेवलप हो रहा है उसको एक्सेप्ट भी कीजिए पुरानी को हम जितना चाहे चेंज करने एक लिमिट तक ही चेंज कर सकते हैं हमें नया कभी ना कभी तो अपना नहीं पड़ेगा तो आज नहीं तो कल अपना ही लेते हैं सबसे ज्यादा फायदेमंद आप ही लोग रहेंगे क्योंकि डेवलपमेंट अपने घर में ही हो रहा है और मुझे लगता है कि हमें चीनी उसको एक्सेप्ट करने में परेशानी होना चाहिए थैंक यू
Romanized Version
मुझे लगता है आप बुलेट ट्रेन की बात करें तो मैं आपको इतना तो बताता हूं कि अंग्रेजों ने अपने ट्रेन चलाई थी इंग्लैंड में वह 1837 कुछ में चलाई थी हमारी 23:00 में आ गई थी चाइना में हमारे यहां से ट्रेन 20 25 साल बाद आई थी और वह बुलेट ट्रेन के मामले में हम से 40 साल 50 साल पहले काम कर चुका है अब मुझे लगता है कि इंडिया ऐसा देश है कि वियर स्टिल टॉकिंग बिटवीन इस क्वेश्चन के हमें अभी तक बुलेट जानिए कि नहीं चलना चाहिए अपन क्यों नहीं चेंज उसको एक्सेप्ट करते हैं मुझे अभी तक समझ में नहीं आता कोई व्यक्ति कोई काम करना चाह रहे हो से काम क्यों नहीं करने देते अगर प्रधानमंत्री जी देखी मैं फैन नहीं हूं किसी का लेकिन आप सोचिए आप को क्या अच्छा लगता है आपने रिजर्वेशन कराया और अच्छे घंटे स्टेशन पर खड़े हैं आप और ट्रेन टाइम पर नहीं आ रही आपको क्या लगता कितना सुधार कर लेंगे लेकिन जो चीज आउटडेटेड वह आउटडेटेड है आप उसके भरोसे हमेशा जिंदगी नहीं काट सकते अगर उन्होंने कोशिश कीजिए अपना ट्रेन चलाने की बुलेट ट्रेन तो मुझे लगता है कि मुझे कुछ अच्छा प्लान आज मेट्रो ट्रेन चलाई जा रही थी तब भी यही विरोध हुआ था लेकिन अब दिल्ली मेट्रो दुनिया की सबसे सक्सेसफुल मेट्रो में से एक है दिन भर की आबादी वहां पर अत्याचार ट्रेवलिंग करती है अगर आप दिल्ली ज्यादा पर देखिएगा कितने टाइमिंग का तरीका है भीड़ ज्यादा होती है लेकिन मेट्रो संभाल लेती है इनको मौका दिया जाना चाहिए माइग्रेशन नहीं होगा बड़े शहरों में आपके घर से अगर किसी बड़े घर की दूरी 300 किलोमीटर 2 घंटे में जा सकते तो अपने घर पर ही रहेंगे क्यों जाएंगे दूसरे बड़े सर में रहने तो मुझे लगता है किन चीजों को बदनाम हो को एक्सेप्ट करना जरूरी है और जो नया काम हो रहा है और जो नया डेवलपमेंट स्किल डेवलप हो रहा है उसको एक्सेप्ट भी कीजिए पुरानी को हम जितना चाहे चेंज करने एक लिमिट तक ही चेंज कर सकते हैं हमें नया कभी ना कभी तो अपना नहीं पड़ेगा तो आज नहीं तो कल अपना ही लेते हैं सबसे ज्यादा फायदेमंद आप ही लोग रहेंगे क्योंकि डेवलपमेंट अपने घर में ही हो रहा है और मुझे लगता है कि हमें चीनी उसको एक्सेप्ट करने में परेशानी होना चाहिए थैंक यूMujhe Lagta Hai Aap Bullet Train Ki Baat Karen To Main Aapko Itna To Batata Hoon Ki Angrejo Ne Apne Train Chalai Thi England Mein Wah 1837 Kuch Mein Chalai Thi Hamari 23:00 Mein Aa Gayi Thi China Mein Hamare Yahan Se Train 20 25 Saal Baad Eye Thi Aur Wah Bullet Train Ke Mamle Mein Hum Se 40 Saal 50 Saal Pehle Kaam Kar Chuka Hai Ab Mujhe Lagta Hai Ki India Aisa Desh Hai Ki Wear Still Talking Between Is Question Ke Hume Abhi Tak Bullet Janiye Ki Nahi Chalna Chahiye Apan Kyun Nahi Change Usko Except Karte Hain Mujhe Abhi Tak Samajh Mein Nahi Aata Koi Vyakti Koi Kaam Karna Chah Rahe Ho Se Kaam Kyun Nahi Karne Dete Agar Pradhanmantri Ji Dekhi Main Fan Nahi Hoon Kisi Ka Lekin Aap Sochie Aap Ko Kya Accha Lagta Hai Aapne Reservation Karaya Aur Acche Ghante Station Par Khade Hain Aap Aur Train Time Par Nahi Aa Rahi Aapko Kya Lagta Kitna Sudhaar Kar Lenge Lekin Jo Cheez Outdated Wah Outdated Hai Aap Uske Bharose Hamesha Zindagi Nahi Kaat Sakte Agar Unhone Koshish Kijiye Apna Train Chalane Ki Bullet Train To Mujhe Lagta Hai Ki Mujhe Kuch Accha Plan Aaj Metro Train Chalai Ja Rahi Thi Tab Bhi Yahi Virodh Hua Tha Lekin Ab Delhi Metro Duniya Ki Sabse Successful Metro Mein Se Ek Hai Din Bhar Ki Aabadi Wahan Par Atyachar Travelling Karti Hai Agar Aap Delhi Jyada Par Dekhiega Kitne Timing Ka Tarika Hai Bheed Jyada Hoti Hai Lekin Metro Sambhaala Leti Hai Inko Mauka Diya Jana Chahiye Migration Nahi Hoga Bade Shaharon Mein Aapke Ghar Se Agar Kisi Bade Ghar Ki Doori 300 Kilometre 2 Ghante Mein Ja Sakte To Apne Ghar Par Hi Rahenge Kyun Jaenge Dusre Bade Sar Mein Rehne To Mujhe Lagta Hai Kin Chijon Ko Badnaam Ho Ko Except Karna Zaroori Hai Aur Jo Naya Kaam Ho Raha Hai Aur Jo Naya Development Skill Develop Ho Raha Hai Usko Except Bhi Kijiye Purani Ko Hum Jitna Chahe Change Karne Ek Limit Tak Hi Change Kar Sakte Hain Hume Naya Kabhi Na Kabhi To Apna Nahi Padega To Aaj Nahi To Kal Apna Hi Lete Hain Sabse Jyada Faydemand Aap Hi Log Rahenge Kyonki Development Apne Ghar Mein Hi Ho Raha Hai Aur Mujhe Lagta Hai Ki Hume Chini Usko Except Karne Mein Pareshani Hona Chahiye Thank You
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक ही आपके अकेले वोट देने से तो कुछ होगा नहीं तो हमें कुछ और सोचना चाहिए पहला ऑप्शन है कि आप उनकी स्पीच राइटर बन जाइए उनकी अच्छी स्पीच एस लिखिए ताकि वह लोगों को ज्यादा से ज्यादा प्रभावित कर सके दूसरा ऑप्शन है आप उनके थोड़ी आएगी के क्लास ले सकते हैं जैसे वह ताकि यह ना बोले कि इन द मॉर्निंग आई बुक अप अट नाइट तू ऐसी चीजों से वह बच सकेंगे अगर आप उनको थोड़ी सी आई क्यू थोड़ा जनरल नॉलेज थोड़ा सामान्य ज्ञान बांट दें तो आप उनको सोशल मीडिया वाले भी बन सकते हैं ताकि वो ढंग के घोटाले सही से गलत लिखे उल्टी-सीधी बातें ना करें उसके बाद आप उनके जो सोशल मीडिया सेल है जो सारा टि्वटर फेसबुक वगैरे बनाने में हेल्प करते हैं उसमें आप ज्वाइन कर सकते हैं तो आपको पैसे के लिए करना है कि लोगों की रात भावना है जो राहुल गांधी के लिए थोड़ी कुछ समय में इंप्रूव जरूरी है आज भी उतनी नहीं हुई कि वह प्रधानमंत्री बन सके तो आप उन सब चीजों में थोड़ा वॉक के लिए तो शायद आप देख सकेंगे और दवाई मेरे हिसाब से जैसे को धीरे इंप्रूव कर रहे हो सकता आने वाले पांच 10 सालों में वह थोड़े पेटर्न हो जाए और खुद ब खुद बन पाए बट इस समय तो मुझे नहीं लगता कि 2019 के लिए आप सब कुछ कर सकते हैं अगर आप यह सारी चीजें ना फॉलो करें तो
Romanized Version
एक ही आपके अकेले वोट देने से तो कुछ होगा नहीं तो हमें कुछ और सोचना चाहिए पहला ऑप्शन है कि आप उनकी स्पीच राइटर बन जाइए उनकी अच्छी स्पीच एस लिखिए ताकि वह लोगों को ज्यादा से ज्यादा प्रभावित कर सके दूसरा ऑप्शन है आप उनके थोड़ी आएगी के क्लास ले सकते हैं जैसे वह ताकि यह ना बोले कि इन द मॉर्निंग आई बुक अप अट नाइट तू ऐसी चीजों से वह बच सकेंगे अगर आप उनको थोड़ी सी आई क्यू थोड़ा जनरल नॉलेज थोड़ा सामान्य ज्ञान बांट दें तो आप उनको सोशल मीडिया वाले भी बन सकते हैं ताकि वो ढंग के घोटाले सही से गलत लिखे उल्टी-सीधी बातें ना करें उसके बाद आप उनके जो सोशल मीडिया सेल है जो सारा टि्वटर फेसबुक वगैरे बनाने में हेल्प करते हैं उसमें आप ज्वाइन कर सकते हैं तो आपको पैसे के लिए करना है कि लोगों की रात भावना है जो राहुल गांधी के लिए थोड़ी कुछ समय में इंप्रूव जरूरी है आज भी उतनी नहीं हुई कि वह प्रधानमंत्री बन सके तो आप उन सब चीजों में थोड़ा वॉक के लिए तो शायद आप देख सकेंगे और दवाई मेरे हिसाब से जैसे को धीरे इंप्रूव कर रहे हो सकता आने वाले पांच 10 सालों में वह थोड़े पेटर्न हो जाए और खुद ब खुद बन पाए बट इस समय तो मुझे नहीं लगता कि 2019 के लिए आप सब कुछ कर सकते हैं अगर आप यह सारी चीजें ना फॉलो करें तोEk Hea Aapke Akele Voot Dane Se To Kuch Hoga Nahin To Human Kuch Aur Sochna Chahie Pehla Option Hai Qi Aap Unki Speech Writer Bun Jiye Unki Achchhee Speech S Likhiye Taki Wah Logon Co Jyada Se Jyada Prabhaavit Car Skye Doosra Option Hai Aap Unke Thodi Aaegi K Class Le Sakte Hain Jaise Wah Taki Yeh Na Bole Qi In The Morning I Book Up At Night Tu Aisi Chijon Se Wah Bach Sakenge Agar Aap Unko Thodi C I Q Thoda General Knowledge Thoda Samanya Gyan Bant Dein To Aap Unko Social Media Wale Bhi Bun Sakte Hain Taki Vo Dhang K Ghotale Sahi Se Galat Likhe Ulti Sidhi Batein Na Karein Uske Baad Aap Unke Joe Social Media Cell Hai Joe Saara Tiwatar Facebook Vagaire Banaane Mein Help Karte Hain Usme Aap Jwain Car Sakte Hain To Aapko Paise K Lie Krna Hai Qi Logon Ki Raat Bhavna Hai Joe Rahul Gandhi K Lie Thodi Kuch Samay Mein Impruv Zaroori Hai Aj Bhi Utni Nahin Hue Qi Wah Pradhaanmatree Bun Skye To Aap Un Sub Chijon Mein Thoda Walk K Lie To Shayad Aap Dekh Sakenge Aur Dawai Mere Hisaab Se Jaise Co Dheere Impruv Car Rahe Ho Sakta Aane Wale Panch 10 Saulon Mein Wah Thode Petarn Ho Jae Aur Khud B Khud Bun Pae But Is Samay To Mujhe Nahin Lagta Qi 2019 K Lie Aap Sub Kuch Car Sakte Hain Agar Aap Yeh Sari Chijen Na Follow Karein To
Likes  73  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीजेपी लोकपाल कानून लाने के लिए संकल्पित है मुझे ऐसा लगता है कि हाल ही में जिस प्रकार से राज्यसभा में तीन तलाक कानून को लागू नहीं होने दिया गया उसी प्रकार से लोकपाल कानून में भी अभी आमूलचूल परिवर्तन बीजेपी नहीं लेकर आएगी तो फिर कांग्रेस व उसके सहयोगी दल इस कानून को भी वहां पर लागू नहीं होने देंगे यह बहुत ही दुखद है कि कांग्रेस व अन्य जगह सहयोगी पार्टियां अपने स्वार्थ के अनुसार राज्य सभा में किसी बहुमत होने के नाते किसी भी जो जायज बिल है विधेयक है उनको पास नहीं होने देती है पर शोरगुल में पूरा का पूरा सत्र निकल जाता है और बहुत ही महत्वपूर्ण बिल बहुत ही लंबी अवधि तक के लिए अटक जाते हैं मुझे ऐसा लगता है कि bjp प्रारंभ से ही लोकपाल कानून के पक्ष में रही है वह आने वाले समय में इसको लागू करेगी परंतु अब इंतजार इस बात का है कि किस समय राज्यसभा में बीजेपी व उसके सहयोग दालों का भाव मत होगा जिसके कारण वह बिना किसी परेशानी पर समस्या के इस प्रकार के महत्वपूर्ण बिल देश हित में लागू कर पाए और मुझे ऐसा लगता है कि इसके लिए बीजेपी को जो संविधानिक समिति है उसके बाद स्क्रीन को भेजना पड़ेगा क्योंकि अगर आप ड्राफ्ट देखेंगे लोकपाल बिल का तो उसमें बहुत सारे परिवर्तन है क्योंकि शायद वर्तमान स्थिति जिस प्रकार की भ्रष्टाचार की और प्रशासनिक तंत्र की है उसके अनुरूप सही नहीं बैठती तो मुझे ऐसा भी लगता है कि बीजेपी को इन में आमूलचूल परिवर्तन करने पड़ेंगे अबे सर्वपक्षीय सर्वदलीय जो समिति है उसके सम्मुख पेश करने से पहले राज्यसभा और लोकसभा में अब उनको यह दिखाना होगा ताकि सभी दल इस पर अपनी विवेचना करते हैं उस पर अपनी राय दे पाए और उसके बाद ही इस प्रकार के महत्वपूर्ण विलोम को जो देश हित से सीधे तौर पर जुड़े हैं राज्यसभा अथवा लोकसभा में पेश करना चाहिए धन्यवाद
Romanized Version
बीजेपी लोकपाल कानून लाने के लिए संकल्पित है मुझे ऐसा लगता है कि हाल ही में जिस प्रकार से राज्यसभा में तीन तलाक कानून को लागू नहीं होने दिया गया उसी प्रकार से लोकपाल कानून में भी अभी आमूलचूल परिवर्तन बीजेपी नहीं लेकर आएगी तो फिर कांग्रेस व उसके सहयोगी दल इस कानून को भी वहां पर लागू नहीं होने देंगे यह बहुत ही दुखद है कि कांग्रेस व अन्य जगह सहयोगी पार्टियां अपने स्वार्थ के अनुसार राज्य सभा में किसी बहुमत होने के नाते किसी भी जो जायज बिल है विधेयक है उनको पास नहीं होने देती है पर शोरगुल में पूरा का पूरा सत्र निकल जाता है और बहुत ही महत्वपूर्ण बिल बहुत ही लंबी अवधि तक के लिए अटक जाते हैं मुझे ऐसा लगता है कि bjp प्रारंभ से ही लोकपाल कानून के पक्ष में रही है वह आने वाले समय में इसको लागू करेगी परंतु अब इंतजार इस बात का है कि किस समय राज्यसभा में बीजेपी व उसके सहयोग दालों का भाव मत होगा जिसके कारण वह बिना किसी परेशानी पर समस्या के इस प्रकार के महत्वपूर्ण बिल देश हित में लागू कर पाए और मुझे ऐसा लगता है कि इसके लिए बीजेपी को जो संविधानिक समिति है उसके बाद स्क्रीन को भेजना पड़ेगा क्योंकि अगर आप ड्राफ्ट देखेंगे लोकपाल बिल का तो उसमें बहुत सारे परिवर्तन है क्योंकि शायद वर्तमान स्थिति जिस प्रकार की भ्रष्टाचार की और प्रशासनिक तंत्र की है उसके अनुरूप सही नहीं बैठती तो मुझे ऐसा भी लगता है कि बीजेपी को इन में आमूलचूल परिवर्तन करने पड़ेंगे अबे सर्वपक्षीय सर्वदलीय जो समिति है उसके सम्मुख पेश करने से पहले राज्यसभा और लोकसभा में अब उनको यह दिखाना होगा ताकि सभी दल इस पर अपनी विवेचना करते हैं उस पर अपनी राय दे पाए और उसके बाद ही इस प्रकार के महत्वपूर्ण विलोम को जो देश हित से सीधे तौर पर जुड़े हैं राज्यसभा अथवा लोकसभा में पेश करना चाहिए धन्यवादBjp Lokpal Kanoon Lane Ke Liye Sankalpit Hai Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Haal Hi Mein Jis Prakar Se Rajya Sabha Mein Teen Talak Kanoon Ko Laagu Nahi Hone Diya Gaya Ussi Prakar Se Lokpal Kanoon Mein Bhi Abhi Amulchul Pariwartan Bjp Nahi Lekar Aayegi To Phir Congress V Uske Sahayogi Dal Is Kanoon Ko Bhi Wahan Par Laagu Nahi Hone Denge Yeh Bahut Hi Dukhad Hai Ki Congress V Anya Jagah Sahayogi Partyian Apne Swartha Ke Anusar Rajya Sabha Mein Kisi Bahumat Hone Ke Naate Kisi Bhi Jo Jayaj Bill Hai Vidhayak Hai Unko Paas Nahi Hone Deti Hai Par Shoragul Mein Pura Ka Pura Satra Nikal Jata Hai Aur Bahut Hi Mahatvapurna Bill Bahut Hi Lambi Avadhi Tak Ke Liye Atak Jaate Hain Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Bjp Prarambh Se Hi Lokpal Kanoon Ke Paksh Mein Rahi Hai Wah Aane Wale Samay Mein Isko Laagu Karegi Parantu Ab Intejar Is Baat Ka Hai Ki Kis Samay Rajya Sabha Mein Bjp V Uske Sahyog Daalon Ka Bhav Mat Hoga Jiske Kaaran Wah Bina Kisi Pareshani Par Samasya Ke Is Prakar Ke Mahatvapurna Bill Desh Hit Mein Laagu Kar Paye Aur Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Iske Liye Bjp Ko Jo Samvidhanik Samiti Hai Uske Baad Screen Ko Bhejna Padega Kyonki Agar Aap Draft Dekhenge Lokpal Bill Ka To Usamen Bahut Sare Pariwartan Hai Kyonki Shayad Vartaman Sthiti Jis Prakar Ki Bhrashtachar Ki Aur Prashasnik Tantra Ki Hai Uske Anurup Sahi Nahi Baithti To Mujhe Aisa Bhi Lagta Hai Ki Bjp Ko In Mein Amulchul Pariwartan Karne Padenge Abe Sarvapakshiya Sarvdaliya Jo Samiti Hai Uske Sammukh Pesh Karne Se Pehle Rajya Sabha Aur Lok Sabha Mein Ab Unko Yeh Dikhana Hoga Taki Sabhi Dal Is Par Apni Vivechna Karte Hain Us Par Apni Rai De Paye Aur Uske Baad Hi Is Prakar Ke Mahatvapurna Vilom Ko Jo Desh Hit Se Seedhe Taur Par Jude Hain Rajya Sabha Athwa Lok Sabha Mein Pesh Karna Chahiye Dhanyavad
Likes  16  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह गाना बिल्कुल अनुचित है कि ट्रंप ने जो पॉलिसी बनाई हुए भारतीयों के खिलाफ है l यह बात सही है कि इसमें भारतीय जो लोग है उस पर असर पड़ेगा लेकिन ट्रंप की पॉलिसी है वह सारे ही जो बाहरी देश के लोग आते हैं जो टेक्निकल मैन पावर होती जो वहां पर नौकरी करते हैं, उनको वह चाहते हैं कि वहां पर ना आये क्योंकि वह वहां पर जितने कम रहेंगे वहां के लोकल लोगों को उतनी ही ज्यादा एम्प्लॉयमेंट मिलेगा l तो इस तरीके से ट्रम्प की जो पॉलिसी अमेरिका फर्स्ट कीजिए पॉलिसी है उसको फॉलो कर रहे हैं l उसको यह कहना कि भारत के खिलाफ ऐसा कुछ नहीं हैl हां,यह बात जरूर है इससे भारत के लोगों पर इसका नेगेटिव इंपेक्ट पड़ेगा और भारत के ऐसे बहुत सारे ऐसे जो प्रोफेशनल से जो और जिनको की वापस आना पड़ेगा और वह जब वापस आएंगे तो डेफिनेटली इंडिया में अगर पॉजिटिव साइड में देखें तो अपनी स्किल्स को ले करके आएंगे l और जब स्किल्स को लेके आएंगे तो इंडियन कंपनीज में जो स्टार्ट अप कल्चर है उसको बढ़ोतरी हो सकती है l लेकिन अगर हम नेगेटिव साइड में जाए तो यह भी है कि उनके आने से एक अन इंप्लॉयमेंट भी इंडिया में बढ़ेगा फॉरेन करेंसी का रेमिटेंस जो भारत देश में आता था वह भी कम होगा l तो इस तरीके से पॉजिटिव और नेगेटिव इंपेक्ट हैं लेकिन अगर जो है भारत को अपनी इकॉनमी का देखना है तो वह दूसरे देशों पर इतनी डिपेंड नहीं होनी चाहिए और जो अमेरिका के प्रेसिडेंट हैं वह तो वही काम करेंगे जिससे कि अमेरिका को फायदा हो बजाय इसके जिसको भारत का फायदा l
Romanized Version
यह गाना बिल्कुल अनुचित है कि ट्रंप ने जो पॉलिसी बनाई हुए भारतीयों के खिलाफ है l यह बात सही है कि इसमें भारतीय जो लोग है उस पर असर पड़ेगा लेकिन ट्रंप की पॉलिसी है वह सारे ही जो बाहरी देश के लोग आते हैं जो टेक्निकल मैन पावर होती जो वहां पर नौकरी करते हैं, उनको वह चाहते हैं कि वहां पर ना आये क्योंकि वह वहां पर जितने कम रहेंगे वहां के लोकल लोगों को उतनी ही ज्यादा एम्प्लॉयमेंट मिलेगा l तो इस तरीके से ट्रम्प की जो पॉलिसी अमेरिका फर्स्ट कीजिए पॉलिसी है उसको फॉलो कर रहे हैं l उसको यह कहना कि भारत के खिलाफ ऐसा कुछ नहीं हैl हां,यह बात जरूर है इससे भारत के लोगों पर इसका नेगेटिव इंपेक्ट पड़ेगा और भारत के ऐसे बहुत सारे ऐसे जो प्रोफेशनल से जो और जिनको की वापस आना पड़ेगा और वह जब वापस आएंगे तो डेफिनेटली इंडिया में अगर पॉजिटिव साइड में देखें तो अपनी स्किल्स को ले करके आएंगे l और जब स्किल्स को लेके आएंगे तो इंडियन कंपनीज में जो स्टार्ट अप कल्चर है उसको बढ़ोतरी हो सकती है l लेकिन अगर हम नेगेटिव साइड में जाए तो यह भी है कि उनके आने से एक अन इंप्लॉयमेंट भी इंडिया में बढ़ेगा फॉरेन करेंसी का रेमिटेंस जो भारत देश में आता था वह भी कम होगा l तो इस तरीके से पॉजिटिव और नेगेटिव इंपेक्ट हैं लेकिन अगर जो है भारत को अपनी इकॉनमी का देखना है तो वह दूसरे देशों पर इतनी डिपेंड नहीं होनी चाहिए और जो अमेरिका के प्रेसिडेंट हैं वह तो वही काम करेंगे जिससे कि अमेरिका को फायदा हो बजाय इसके जिसको भारत का फायदा lYeh Gaana Bilkool Anuchit Hai Qi Tramp Ne Joe Policy Banai Huye Bhartiyo K Khilaf Hai L Yeh Baat Sahi Hai Qi Ismein Bhartiya Joe Log Hai Oosh Per Asr Padega Lekin Tramp Ki Policy Hai Wah Saare Hea Joe Baahri Desh K Log Aate Hain Joe Technical Man Power Hoti Joe Vahan Per Naukari Karte Hain Unko Wah Chahte Hain Qi Vahan Per Na Aye Kyonki Wah Vahan Per Jitne Come Rahenge Vahan K Local Logon Co Utni Hea Jyada Emplayament Milega L To Is Tarike Se Trump Ki Joe Policy America First Kiijiye Policy Hai Usko Follow Car Rahe Hain L Usko Yeh Kahuna Qi Bharat K Khilaf Aisa Kuch Nahin Hai Han Yeh Baat Jarur Hai Issase Bharat K Logon Per Iska Negetiv Impekt Padega Aur Bharat K Aise Bahut Saare Aise Joe Professional Se Joe Aur Jinko Ki Vapusha Aana Padega Aur Wah Jab Vapusha Aenge To Definetli India Mein Agar Positive Side Mein Dekhe To Apni Skills Co Le Karake Aenge L Aur Jab Skills Co Leke Aenge To Indian Companies Mein Joe Start Up Culture Hai Usko Badhotari Ho Sakti Hai L Lekin Agar Hum Negetiv Side Mein Jae To Yeh Bhi Hai Qi Unke Aane Se Ek Un Implayament Bhi India Mein Badhega Foreign Karamsi Ka Remitens Joe Bharat Desh Mein Aata Thaa Wah Bhi Come Hoga L To Is Tarike Se Positive Aur Negetiv Impekt Hain Lekin Agar Joe Hai Bharat Co Apni Economy Ka Dekhna Hai To Wah Dusre Deshon Per Itni Depend Nahin Honi Chahie Aur Joe America K President Hain Wah To Whey Kama Karenge Jisase Qi America Co Fayda Ho Bajay Iske Jisko Bharat Ka Fayda L
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल बन सकता है जब एक मुस्लिम व्यक्ति भारत का प्रदर्शन बन सकता है तो प्रधानमंत्री भी बिल्कुल बन सकता है पर देखिए प्रधानमंत्री बनने के लिए सिर्फ आपको ही जरूरी नहीं है कि आपका वोट से जीते आपके जो MP से भूख वह भी आप को वोट करना चाहिए और ही काफी पॉलिटिक्स सिस्टम है यहां पर उस को आगे बढ़ाने के लिए कि वह बंदा बने या ना बने बहुत सिंपल बातें हमारे डेमोक्रेसी में के काबिल आदमी बहुत कम आगे बढ़ता है पर जो पॉलिटिकली का करेक्ट होता है और जो सबको खुश रखता है वही आगे बढ़ता है
Romanized Version
बिल्कुल बन सकता है जब एक मुस्लिम व्यक्ति भारत का प्रदर्शन बन सकता है तो प्रधानमंत्री भी बिल्कुल बन सकता है पर देखिए प्रधानमंत्री बनने के लिए सिर्फ आपको ही जरूरी नहीं है कि आपका वोट से जीते आपके जो MP से भूख वह भी आप को वोट करना चाहिए और ही काफी पॉलिटिक्स सिस्टम है यहां पर उस को आगे बढ़ाने के लिए कि वह बंदा बने या ना बने बहुत सिंपल बातें हमारे डेमोक्रेसी में के काबिल आदमी बहुत कम आगे बढ़ता है पर जो पॉलिटिकली का करेक्ट होता है और जो सबको खुश रखता है वही आगे बढ़ता हैBilkool Bun Sakta Hai Jab Ek Muslim Vyakti Bharat Ka Pradarshn Bun Sakta Hai To Pradhaanmatree Bhi Bilkool Bun Sakta Hai Per Dekhiye Pradhaanmatree Banane K Lie Sirf Aapko Hea Zaroori Nahin Hai Qi Aapka Voot Se Jite Aapke Joe MP Se Bhukh Wah Bhi Aap Co Voot Krna Chahie Aur Hea Kaafi Politics System Hai Yahaan Per Oosh Co Aage Badhane K Lie Qi Wah Banda Bane Ya Na Bane Bahut Simple Batein Hamare Demokresi Mein K Kabil Aadmi Bahut Come Aage Badhata Hai Per Joe Politically Ka Correct Hota Hai Aur Joe Sabako Khush Rakhta Hai Whey Aage Badhata Hai
Likes  66  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी ये जो लोकपाल बिल संसद में पास किया है वह लोकपाल बिल मेरे विचार से वह कभी इफेक्ट नहीं हो सकता है| उसका कारण यह है कि देखिये लोकपाल को पहले जो ओरिजिनल जो उसका पर्पस था वो यह था कि जो हाई लेवल के जो मिनिस्टर हैं उनके खिलाफ में है, यह लोकपाल कार्यवाही करेगा| देखिये धीरे धीरे राजनीतिक कारणों से और जो सोशल प्रेशर था अन्ना हजारे का उसके चक्कर में क्या हुआ, कि यहां तक कि नीचे से नीचे तबके के लोग जो है क्लास 3 क्लास फोर भी जो है इसके अंदर शामिल हो गए| और इसका अंजाम ये हो गया कि लोकपाल का जो दायरा है, वो इतना ज्यादा बढ़ गया है कि उसमें लाखों एम्प्लोयीज जो है उसमें शामिल हो गए हैं| और अगर आज यह लोकपाल को इंप्लीमेंट किया जाता है तो लोकपाल किसी भी तरह का जो भ्रष्टाचार है उसको रोकने में कामयाब नहीं होगा| तो मेरे विचार से सबसे पहली जरूरत तो ये है लोकपाल बिल में अमेंडमेंट किए जाएं, और उस के अंदर जो है छोटे जो लेवल के अधिकारी है, उनको हटाया जाए उसके दायरे से| जहां तक मोदी जी के डिसीजन की बात है, कि यह क्यों नहीं ला रहे हैं? तो यह मैं समझता हूं कि इसको मैं जस्टिफाई नहीं करता हूं, क्योंकि आप तो बीजेपी सरकार ने लोकपाल को पूरी तरीके से समर्थन दिया था और उनके समर्थन के बाद ही में लोकपाल आया था| और आज जब उसको इंप्लीमेंट करने की बारी है और बीजेपी अगर बेक आउट कर रही है, तो यह मेरे ख्याल से, इससे अच्छा मैसेज नहीं जाता है| अगर इसमें कुछ सुधार की जरूरत है, तो उसको सुधार करना चाहिए| लेकिन सुधार करने के बाद में लोकपाल को जरूर पारित करना चाहिए ऐसा मेरा मानना है और लोकपाल को बनाना चाहिए, धन्यवाद|
Romanized Version
देखी ये जो लोकपाल बिल संसद में पास किया है वह लोकपाल बिल मेरे विचार से वह कभी इफेक्ट नहीं हो सकता है| उसका कारण यह है कि देखिये लोकपाल को पहले जो ओरिजिनल जो उसका पर्पस था वो यह था कि जो हाई लेवल के जो मिनिस्टर हैं उनके खिलाफ में है, यह लोकपाल कार्यवाही करेगा| देखिये धीरे धीरे राजनीतिक कारणों से और जो सोशल प्रेशर था अन्ना हजारे का उसके चक्कर में क्या हुआ, कि यहां तक कि नीचे से नीचे तबके के लोग जो है क्लास 3 क्लास फोर भी जो है इसके अंदर शामिल हो गए| और इसका अंजाम ये हो गया कि लोकपाल का जो दायरा है, वो इतना ज्यादा बढ़ गया है कि उसमें लाखों एम्प्लोयीज जो है उसमें शामिल हो गए हैं| और अगर आज यह लोकपाल को इंप्लीमेंट किया जाता है तो लोकपाल किसी भी तरह का जो भ्रष्टाचार है उसको रोकने में कामयाब नहीं होगा| तो मेरे विचार से सबसे पहली जरूरत तो ये है लोकपाल बिल में अमेंडमेंट किए जाएं, और उस के अंदर जो है छोटे जो लेवल के अधिकारी है, उनको हटाया जाए उसके दायरे से| जहां तक मोदी जी के डिसीजन की बात है, कि यह क्यों नहीं ला रहे हैं? तो यह मैं समझता हूं कि इसको मैं जस्टिफाई नहीं करता हूं, क्योंकि आप तो बीजेपी सरकार ने लोकपाल को पूरी तरीके से समर्थन दिया था और उनके समर्थन के बाद ही में लोकपाल आया था| और आज जब उसको इंप्लीमेंट करने की बारी है और बीजेपी अगर बेक आउट कर रही है, तो यह मेरे ख्याल से, इससे अच्छा मैसेज नहीं जाता है| अगर इसमें कुछ सुधार की जरूरत है, तो उसको सुधार करना चाहिए| लेकिन सुधार करने के बाद में लोकपाल को जरूर पारित करना चाहिए ऐसा मेरा मानना है और लोकपाल को बनाना चाहिए, धन्यवाद|Dekhi Ye Jo Lokpal Bill Sansad Mein Paas Kiya Hai Wah Lokpal Bill Mere Vichar Se Wah Kabhi Effect Nahi Ho Sakta Hai Uska Kaaran Yeh Hai Ki Dekhiye Lokpal Ko Pehle Jo Original Jo Uska Purpose Tha Vo Yeh Tha Ki Jo Hi Level Ke Jo Minister Hain Unke Khilaf Mein Hai Yeh Lokpal Karyavahi Karega Dekhiye Dhire Dhire Rajnitik Kaarno Se Aur Jo Social Pressure Tha Anna Hazare Ka Uske Chakkar Mein Kya Hua Ki Yahan Tak Ki Neeche Se Neeche Tabake Ke Log Jo Hai Class 3 Class Four Bhi Jo Hai Iske Andar Shamil Ho Gaye Aur Iska Anjaam Ye Ho Gaya Ki Lokpal Ka Jo Dayara Hai Vo Itna Jyada Badh Gaya Hai Ki Usamen Laakhon Employij Jo Hai Usamen Shamil Ho Gaye Hain Aur Agar Aaj Yeh Lokpal Ko Implement Kiya Jata Hai To Lokpal Kisi Bhi Tarah Ka Jo Bhrashtachar Hai Usko Rokne Mein Kamyab Nahi Hoga To Mere Vichar Se Sabse Pehli Zaroorat To Ye Hai Lokpal Bill Mein Amendment Kiye Jayen Aur Us Ke Andar Jo Hai Chote Jo Level Ke Adhikari Hai Unko Hataya Jaye Uske Daayre Se Jahan Tak Modi Ji Ke Decision Ki Baat Hai Ki Yeh Kyun Nahi La Rahe Hain To Yeh Main Samajhata Hoon Ki Isko Main Justify Nahi Karta Hoon Kyonki Aap To Bjp Sarkar Ne Lokpal Ko Puri Tarike Se Samarthan Diya Tha Aur Unke Samarthan Ke Baad Hi Mein Lokpal Aaya Tha Aur Aaj Jab Usko Implement Karne Ki Baari Hai Aur Bjp Agar Bek Out Kar Rahi Hai To Yeh Mere Khayal Se Isse Accha Massage Nahi Jata Hai Agar Isme Kuch Sudhaar Ki Zaroorat Hai To Usko Sudhaar Karna Chahiye Lekin Sudhaar Karne Ke Baad Mein Lokpal Ko Jarur Paarit Karna Chahiye Aisa Mera Manana Hai Aur Lokpal Ko Banana Chahiye Dhanyavad
Likes  30  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये सर मुझे ऐसा लगता है कि भारत की जनता शायद राहुल गांधी को डायरेक्टली ये नेतृत्व ना सोंपे| लेकिन देखिये हमारे पास ऑप्शन क्या है? बीजेपी, कांग्रेस बसपा जो इतना मतलब मेंन स्ट्रीम पार्टी नहीं है तो इसके अलावा हमारे पास और कोई ऑप्शन नहीं है तो फिर बीजेपी आती है तो शायद नरेंद्र मोदी दोबारा आएंगे और अगर कांग्रेस आई तो जरूर वह पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी| तो मेरे हिसाब से तो राहुल गांधी को ही लेकर आएंगे, वह देश का नेतृत्व सोपेगे, देश का प्रधानमंत्री उन्हें बनाएंगे| तो ये हमारे हाथ में नहीं है अगर यह सरकार बीजेपी सरकार नहीं परफॉर्म कर पाई अच्छे से और सरकार अगर लोगों ने इन्हें नहीं चुना नेक्स्ट टाइम तो कांग्रेस ही आएगी मेरे हिसाब से| जिस तरह केजरीवाल के टाइम पर हुआ था तो मुझे लगता नहीं वैसा कोई दोबारा रिस्क लेना चाहेगा| तो नेतृत्व देना ना चाहते हुए भी उन्हें ही दिया जाएगा क्योंकि ऑप्शन नहीं है| ज्यादा लोग पॉलिटिक्स में जो आ रहे हैं वह उतने केपेबल या उतने एबल नहीं है कि वह एक सेंटर पार्टी बन सके या फिर एक रिकोगनाइज्ड पार्टी बन सके| छोटे छोटे इलाको में अपनी अपनी पार्टीज है बट देश का प्रधानमंत्री बनने के लिए तो आपके पास पूरे देश में बहुमत होनी चाहिए ना| तो उसके लिए मुझे लगता है कि अभी कुछ मुझे लगता है ऐसा कि अभी एक आधी बार और ऐसे ही राहुल गांधी या फिर बीजेपी के बीच में यह होता रहेगा अदला-बदली| लेकिन इसके बाद में आने वाले समय में नए पार्टी लीडर्स आए और नए कोई आए लीडर्स वगैरह या कोई भी तो शायद हो सकता है कि चेंजेस आ जाए वरना अभी के लिए चेंजेस पॉसिबल नहीं है|
Romanized Version
देखिये सर मुझे ऐसा लगता है कि भारत की जनता शायद राहुल गांधी को डायरेक्टली ये नेतृत्व ना सोंपे| लेकिन देखिये हमारे पास ऑप्शन क्या है? बीजेपी, कांग्रेस बसपा जो इतना मतलब मेंन स्ट्रीम पार्टी नहीं है तो इसके अलावा हमारे पास और कोई ऑप्शन नहीं है तो फिर बीजेपी आती है तो शायद नरेंद्र मोदी दोबारा आएंगे और अगर कांग्रेस आई तो जरूर वह पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी| तो मेरे हिसाब से तो राहुल गांधी को ही लेकर आएंगे, वह देश का नेतृत्व सोपेगे, देश का प्रधानमंत्री उन्हें बनाएंगे| तो ये हमारे हाथ में नहीं है अगर यह सरकार बीजेपी सरकार नहीं परफॉर्म कर पाई अच्छे से और सरकार अगर लोगों ने इन्हें नहीं चुना नेक्स्ट टाइम तो कांग्रेस ही आएगी मेरे हिसाब से| जिस तरह केजरीवाल के टाइम पर हुआ था तो मुझे लगता नहीं वैसा कोई दोबारा रिस्क लेना चाहेगा| तो नेतृत्व देना ना चाहते हुए भी उन्हें ही दिया जाएगा क्योंकि ऑप्शन नहीं है| ज्यादा लोग पॉलिटिक्स में जो आ रहे हैं वह उतने केपेबल या उतने एबल नहीं है कि वह एक सेंटर पार्टी बन सके या फिर एक रिकोगनाइज्ड पार्टी बन सके| छोटे छोटे इलाको में अपनी अपनी पार्टीज है बट देश का प्रधानमंत्री बनने के लिए तो आपके पास पूरे देश में बहुमत होनी चाहिए ना| तो उसके लिए मुझे लगता है कि अभी कुछ मुझे लगता है ऐसा कि अभी एक आधी बार और ऐसे ही राहुल गांधी या फिर बीजेपी के बीच में यह होता रहेगा अदला-बदली| लेकिन इसके बाद में आने वाले समय में नए पार्टी लीडर्स आए और नए कोई आए लीडर्स वगैरह या कोई भी तो शायद हो सकता है कि चेंजेस आ जाए वरना अभी के लिए चेंजेस पॉसिबल नहीं है|Dekhiye Sar Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Bharat Ki Janta Shayad Rahul Gandhi Ko Directly Ye Netritva Na Sonpe Lekin Dekhiye Hamare Paas Option Kya Hai Bjp Congress Basapa Jo Itna Matlab Man Stream Party Nahi Hai To Iske Alava Hamare Paas Aur Koi Option Nahi Hai To Phir Bjp Aati Hai To Shayad Narendra Modi Dobara Aayenge Aur Agar Congress Eye To Jarur Wah Party Ke Adhyaksh Rahul Gandhi To Mere Hisab Se To Rahul Gandhi Ko Hi Lekar Aayenge Wah Desh Ka Netritva Sopege Desh Ka Pradhanmantri Unhen Banayenge To Ye Hamare Hath Mein Nahi Hai Agar Yeh Sarkar Bjp Sarkar Nahi Perform Kar Payi Acche Se Aur Sarkar Agar Logon Ne Inhen Nahi Chuna Next Time To Congress Hi Aayegi Mere Hisab Se Jis Tarah Kejriwal Ke Time Par Hua Tha To Mujhe Lagta Nahi Waisa Koi Dobara Risk Lena Chahega To Netritva Dena Na Chahte Hue Bhi Unhen Hi Diya Jayega Kyonki Option Nahi Hai Jyada Log Politics Mein Jo Aa Rahe Hain Wah Utne Capable Ya Utne Able Nahi Hai Ki Wah Ek Center Party Ban Sake Ya Phir Ek Rikognaijd Party Ban Sake Chote Chote Ilako Mein Apni Apni Parties Hai But Desh Ka Pradhanmantri Banane Ke Liye To Aapke Paas Poore Desh Mein Bahumat Honi Chahiye Na To Uske Liye Mujhe Lagta Hai Ki Abhi Kuch Mujhe Lagta Hai Aisa Ki Abhi Ek Aadhi Baar Aur Aise Hi Rahul Gandhi Ya Phir Bjp Ke Beech Mein Yeh Hota Rahega Adala Badli Lekin Iske Baad Mein Aane Wale Samay Mein Naye Party Leaders Aaye Aur Naye Koi Aaye Leaders Vagairah Ya Koi Bhi To Shayad Ho Sakta Hai Ki Changes Aa Jaye Varana Abhi Ke Liye Changes Possible Nahi Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस सवाल का जवाब अगर हम मैं अपनी मैं अपनी भाषा में खेलना चाहती हूं तो पहली बात है राहुल गांधी जो बात करते हैं ऐसा बात करते हैं कि जैसे जो एक सिक्स स्टैंडर्ड एयरफोर्स लड़की जो बच्चे बात करते हैं ऐसे बात करते हैं तो जब वह ऐसे एक स्टेटमेंट दे रे मेरे ख्याल से पूरी बारात उनकी वाइफ उनकी जो बातों को बिल्कुल ध्यान में नहीं लेंगे सीरियसली नहीं पहली बात है राहुल गांधी की बातों को कोई भी सीरियसली ले भी नहीं सकते उनको इतना भी यह मतलब एक किस्सी यह नहीं है कि वह बाहर देश में जाकर भारत के बारे में बात करते हैं वह भी नेगेटिव लिए शोभा नहीं देता है और राहुल गांधी को पहली बात है उनको थोड़ा बहुत भारत के बारे में पता होना चाहिए जो हिस्ट्री है जो भी मतलब कल चला स्पिट्ज है और बाद में उनको मेरे ख्याल से किसी भी बात पर मतलब एक स्टेटमेंट देना चाहिए 11 बच्चे जो मतलब बिना सोचे समझे बातें करते हैं ना जून में मैच्योरिटी नहीं होती है राहुल गांधी की बातें भी बिल्कुल ऐसी है मेरे ख्याल से कोई भी उनकी बातों को कभी सीरियसली नहीं लेंगे और लेना भी नहीं चाहिए
Romanized Version
इस सवाल का जवाब अगर हम मैं अपनी मैं अपनी भाषा में खेलना चाहती हूं तो पहली बात है राहुल गांधी जो बात करते हैं ऐसा बात करते हैं कि जैसे जो एक सिक्स स्टैंडर्ड एयरफोर्स लड़की जो बच्चे बात करते हैं ऐसे बात करते हैं तो जब वह ऐसे एक स्टेटमेंट दे रे मेरे ख्याल से पूरी बारात उनकी वाइफ उनकी जो बातों को बिल्कुल ध्यान में नहीं लेंगे सीरियसली नहीं पहली बात है राहुल गांधी की बातों को कोई भी सीरियसली ले भी नहीं सकते उनको इतना भी यह मतलब एक किस्सी यह नहीं है कि वह बाहर देश में जाकर भारत के बारे में बात करते हैं वह भी नेगेटिव लिए शोभा नहीं देता है और राहुल गांधी को पहली बात है उनको थोड़ा बहुत भारत के बारे में पता होना चाहिए जो हिस्ट्री है जो भी मतलब कल चला स्पिट्ज है और बाद में उनको मेरे ख्याल से किसी भी बात पर मतलब एक स्टेटमेंट देना चाहिए 11 बच्चे जो मतलब बिना सोचे समझे बातें करते हैं ना जून में मैच्योरिटी नहीं होती है राहुल गांधी की बातें भी बिल्कुल ऐसी है मेरे ख्याल से कोई भी उनकी बातों को कभी सीरियसली नहीं लेंगे और लेना भी नहीं चाहिएIs Sawal Ka Jawab Agar Hum Main Apni Main Apni Bhasha Mein Khelnaa Chahti Hoon To Pehli Baat Hai Rahul Gandhi Joe Baat Karte Hain Aisa Baat Karte Hain Qi Jaise Joe Ek Six Standard Airforce Ladaki Joe Bacche Baat Karte Hain Aise Baat Karte Hain To Jab Wah Aise Ek Statement They Ray Mere Khyala Se Poori Baarat Unki Wife Unki Joe Baaton Co Bilkool Dhyan Mein Nahin Lengey Siriyasali Nahin Pehli Baat Hai Rahul Gandhi Ki Baaton Co Koi Bhi Siriyasali Le Bhi Nahin Sakte Unko Itna Bhi Yeh Matlab Ek Kissi Yeh Nahin Hai Qi Wah Baahar Desh Mein Jaakar Bharat K Baare Mein Baat Karte Hain Wah Bhi Negetiv Lie Shobha Nahin Deta Hai Aur Rahul Gandhi Co Pehli Baat Hai Unko Thoda Bahut Bharat K Baare Mein Patta Hona Chahie Joe Histri Hai Joe Bhi Matlab Kal Challa Spitz Hai Aur Baad Mein Unko Mere Khyala Se Kisi Bhi Baat Per Matlab Ek Statement Dena Chahie 11 Bacche Joe Matlab Binaa Soche Smjhe Batein Karte Hain Na Jun Mein Maichyoriti Nahin Hoti Hai Rahul Gandhi Ki Batein Bhi Bilkool Aisi Hai Mere Khyala Se Koi Bhi Unki Baaton Co Kabhi Siriyasali Nahin Lengey Aur Lena Bhi Nahin Chahie
Likes  94  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक अधिवक्ता यानी कि लॉयर होने के नाते मुझे लगता है कि इस केस में जिस तरह से सबूतों के साथ छेड़छाड़ की गई है जांच अधिकारियों की लापरवाही से किस-किस जरूरी साक्ष्य और कागजों को नष्ट किया गया दवा खरीद लिए गए हो नारको टेस्ट को पूरी तरह से बदल दिया गया इन सबके बीच इंसाफ की उम्मीद कम ही नजर आती है हम यह तो नहीं कह सकते कि अपराधी कौन है या इंसाफ कब मिलेगा लेकिन इतना तय है कि जो नुकसान जांच के दौरान और बाद में सरकारी तंत्र से हो गया है उसकी भरपाई करना लगभग असंभव है इस तरह के मामलों में अपराधी की स्वेच्छा से अपराध मान लेना या फिर एक नए सिरे से नए साक्ष्यों के साथ जा शुरू करने के अलावा और कोई तरीका नहीं होता जिस से पीड़ितों को इंसाफ मिल सके और है दोनों ही चीजें कम से कम इस मामले में तो दूर की कौड़ी नजर आती है कृपया ध्यान कि मेरे विचार पूर्णता प्रिंट व टेली मीडिया की खबरों पर आधारित है धन्यवाद
Romanized Version
एक अधिवक्ता यानी कि लॉयर होने के नाते मुझे लगता है कि इस केस में जिस तरह से सबूतों के साथ छेड़छाड़ की गई है जांच अधिकारियों की लापरवाही से किस-किस जरूरी साक्ष्य और कागजों को नष्ट किया गया दवा खरीद लिए गए हो नारको टेस्ट को पूरी तरह से बदल दिया गया इन सबके बीच इंसाफ की उम्मीद कम ही नजर आती है हम यह तो नहीं कह सकते कि अपराधी कौन है या इंसाफ कब मिलेगा लेकिन इतना तय है कि जो नुकसान जांच के दौरान और बाद में सरकारी तंत्र से हो गया है उसकी भरपाई करना लगभग असंभव है इस तरह के मामलों में अपराधी की स्वेच्छा से अपराध मान लेना या फिर एक नए सिरे से नए साक्ष्यों के साथ जा शुरू करने के अलावा और कोई तरीका नहीं होता जिस से पीड़ितों को इंसाफ मिल सके और है दोनों ही चीजें कम से कम इस मामले में तो दूर की कौड़ी नजर आती है कृपया ध्यान कि मेरे विचार पूर्णता प्रिंट व टेली मीडिया की खबरों पर आधारित है धन्यवादEk Adhivakta Yani Ki Lawyer Hone Ke Naate Mujhe Lagta Hai Ki Is Case Mein Jis Tarah Se Sabuton Ke Saath Chedchad Ki Gayi Hai Janch Adhikaariyo Ki Laparwahi Se Kis Kis Zaroori Sakshya Aur Kagajon Ko Nasht Kiya Gaya Dawa Kharid Liye Gaye Ho Narko Test Ko Puri Tarah Se Badal Diya Gaya In Sabke Beech Insaaf Ki Ummid Kum Hi Nazar Aati Hai Hum Yeh To Nahi Keh Sakte Ki Apradhi Kaun Hai Ya Insaaf Kab Milega Lekin Itna Tay Hai Ki Jo Nuksan Janch Ke Dauran Aur Baad Mein Sarkari Tantra Se Ho Gaya Hai Uski Bharpai Karna Lagbhag Asambhav Hai Is Tarah Ke Mamlon Mein Apradhi Ki Svechha Se Apradh Maan Lena Ya Phir Ek Naye Sire Se Naye Sakshyon Ke Saath Ja Shuru Karne Ke Alava Aur Koi Tarika Nahi Hota Jis Se Piditon Ko Insaaf Mil Sake Aur Hai Dono Hi Cheezen Kum Se Kum Is Mamle Mein To Dur Ki Kaudi Nazar Aati Hai Kripya Dhyan Ki Mere Vichar Purnata Print V Telly Media Ki Khabaro Par Aadharit Hai Dhanyavad
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के खुशहाल भारत तभी बन सकता है जब हम व्यक्तिगत खुशहाली से ऊपर उठकर के अपनी मानसिकता को राष्ट्रहित की तरफ प्रेरित करेंगे वह सारे काम जो करते हैं उसमें अगर यह भाव रहे कि हमारे राष्ट्र का इसमें नुकसान क्या है और हित क्या है इस बात को ध्यान में रखते हुए अगर हम अपने काम को करें तो निश्चित रूप से भारत वर्ष एक विकसित और खुशहाल राष्ट्र बनने से कोई रोक नहीं सकता आज हमारे देश में बहुत सारी समस्याएं हैं बहुरंगी संस्कृतियों का यह देश विविधताओं से भरा हुआ है और इंग्लिश दोनों में चुनौतियां भी बहुत बड़ी बड़ी है हमारे हित जो है हमारे लाभ जो है वह हमारे अपने तक सीमित हो जाते हैं कुछ लोग हैं जो राष्ट्र हित के बारे में सोचते हैं लेकिन ज्यादातर लोग अपने हित के बारे में सहित के बारे में सोचते हैं मुझे लगता है कि राष्ट्र को खुशहाल करने के लिए देश को खुशहाल करने के लिए आवश्यकता है कि हम अपनी खुशहाली में देश की खुशहाली का भी हिस्सा जोड़ने उस भाव को भी जोड़ लें तो निश्चित रूप से हमारा जो काम होगा उसने ईमानदारी होगी और देश के हित के लिए जो आवश्यक उसका हिस्सा होगा वह हम देंगे चाहे वह टैक्स के रूप में हो कर के रूप में हो सिविक सेंस के रूप में हो सरकारी संपत्तियों की सुरक्षा के हित में यह सारी चीजें फिर नजर आने लगेंगी तो यह एक बहुत सामान्य पहलू है जिस पर हर व्यक्ति विचार कर सकता है उसको अमल में ला सकता है और यह सब को करना भी चाहिए मुझे ऐसा लगता है और परिवर्तन आ भी रहा है नई पीढ़ी में काफी बड़ा परिवर्तन है और इस दिशा में नई पीढ़ी चिंतित भी है सोच भी रही हो और काम भी कर रही है
Romanized Version
भारत के खुशहाल भारत तभी बन सकता है जब हम व्यक्तिगत खुशहाली से ऊपर उठकर के अपनी मानसिकता को राष्ट्रहित की तरफ प्रेरित करेंगे वह सारे काम जो करते हैं उसमें अगर यह भाव रहे कि हमारे राष्ट्र का इसमें नुकसान क्या है और हित क्या है इस बात को ध्यान में रखते हुए अगर हम अपने काम को करें तो निश्चित रूप से भारत वर्ष एक विकसित और खुशहाल राष्ट्र बनने से कोई रोक नहीं सकता आज हमारे देश में बहुत सारी समस्याएं हैं बहुरंगी संस्कृतियों का यह देश विविधताओं से भरा हुआ है और इंग्लिश दोनों में चुनौतियां भी बहुत बड़ी बड़ी है हमारे हित जो है हमारे लाभ जो है वह हमारे अपने तक सीमित हो जाते हैं कुछ लोग हैं जो राष्ट्र हित के बारे में सोचते हैं लेकिन ज्यादातर लोग अपने हित के बारे में सहित के बारे में सोचते हैं मुझे लगता है कि राष्ट्र को खुशहाल करने के लिए देश को खुशहाल करने के लिए आवश्यकता है कि हम अपनी खुशहाली में देश की खुशहाली का भी हिस्सा जोड़ने उस भाव को भी जोड़ लें तो निश्चित रूप से हमारा जो काम होगा उसने ईमानदारी होगी और देश के हित के लिए जो आवश्यक उसका हिस्सा होगा वह हम देंगे चाहे वह टैक्स के रूप में हो कर के रूप में हो सिविक सेंस के रूप में हो सरकारी संपत्तियों की सुरक्षा के हित में यह सारी चीजें फिर नजर आने लगेंगी तो यह एक बहुत सामान्य पहलू है जिस पर हर व्यक्ति विचार कर सकता है उसको अमल में ला सकता है और यह सब को करना भी चाहिए मुझे ऐसा लगता है और परिवर्तन आ भी रहा है नई पीढ़ी में काफी बड़ा परिवर्तन है और इस दिशा में नई पीढ़ी चिंतित भी है सोच भी रही हो और काम भी कर रही हैBharat K Khushhal Bharat Tabhi Bun Sakta Hai Jab Hum Vyaktigat Khushhaali Se Upar Uthakar K Apni Maanasikata Co Rashtrahit Ki Tarf Prerit Karenge Wah Saare Kama Joe Karte Hain Usme Agar Yeh Bhaw Rahe Qi Hamare Rashtra Ka Ismein Nuksaan Kya Hai Aur Hita Kya Hai Is Baat Co Dhyan Mein Rakhate Huye Agar Hum Apne Kama Co Karein To Nishcheet Roop Se Bharat Varsh Ek Viksit Aur Khushhal Rashtra Banane Se Koi Rock Nahin Sakta Aj Hamare Desh Mein Bahut Sari Samasyaen Hain Bahurangi Sanskritiyo Ka Yeh Desh Vividhtaon Se Bharya Hua Hai Aur English Donon Mein Chunautiyan Bhi Bahut Badi Badi Hai Hamare Hita Joe Hai Hamare Labh Joe Hai Wah Hamare Apne Tak Simit Ho Jaate Hain Kuch Log Hain Joe Rashtra Hita K Baare Mein Sochte Hain Lekin Jyadatar Log Apne Hita K Baare Mein Sahita K Baare Mein Sochte Hain Mujhe Lagta Hai Qi Rashtra Co Khushhal Karne K Lie Desh Co Khushhal Karne K Lie Aavshyakata Hai Qi Hum Apni Khushhaali Mein Desh Ki Khushhaali Ka Bhi Hissa Jodne Oosh Bhaw Co Bhi Jod Lein To Nishcheet Roop Se Hamara Joe Kama Hoga Usne Imaandaari Hogi Aur Desh K Hita K Lie Joe Aavashyak Uska Hissa Hoga Wah Hum Denge Chahe Wah Tax K Roop Mein Ho Car K Roop Mein Ho Civic Shamsh K Roop Mein Ho Sarkari Sampattiyon Ki Suraksha K Hita Mein Yeh Sari Chijen Phir Nazar Aane Lagengi To Yeh Ek Bahut Samanya Pahaloo Hai Jisha Per Her Vyakti Vichaar Car Sakta Hai Usko Amal Mein La Sakta Hai Aur Yeh Sub Co Krna Bhi Chahie Mujhe Aisa Lagta Hai Aur Parivartan Aa Bhi Raha Hai Nai Pidhi Mein Kaafi Bada Parivartan Hai Aur Is Disha Mein Nai Pidhi Chintit Bhi Hai Soch Bhi Rahi Ho Aur Kama Bhi Car Rahi Hai
Likes  49  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निकी वत्सला जो गुजरात के बीजों गुरुवार को जो दूसरे फेस की वोटिंग खत्म हुई है उसके बाद जो शाम को एग्जिट पोल आए हैं उसे एग्जिट पोल के हिसाब से जो बहुमत आया है वह तो फिर से बीजेपी बीजेपी को सताया जा रहा है और जो भी सीरियल बताया जा रहा है कि 7 सीटों का आंकड़ा पार कर सकती है बीजेपी एग्जिट पोल का अनुमान है और साथ में थी लेकिन एग्जिट पोल में यह है कि अभी रिजल्ट सेटिंग को आ जाएगा बहुत प्रिय शार्ट है कि बीजेपी जीत जाएगी Kick एग्जिट पोल किया जाए हम सारे सफेद ही बता रहे हैं लेकिन पाटीदार नेता हार्दिक पटेल दलित नेता जिग्नेश मेवानी और ओबीसी नेता अल्पेश ठाकुर ने कांग्रेस को बहुत बड़ा समर्थन किया है तो हो सकता है कि एग्जिट पोल के नतीजे हैं वह तोड़ते चौकानेवाले हो जाए जैसा कि राहुल गांधी जी ने बयान भी दिया है तो बहुत परेशान है कि BJP आएगी लेकिन इन बच्चों की वजह से इन इन इन लोगों की सपोर्ट की वजह से रुकी पॉलिटिक्स है और इलेक्शन है और एक ही तरीके से सट्टा है तो कुछ भी हो सकता है लेकिन को क्या होता है
Romanized Version
निकी वत्सला जो गुजरात के बीजों गुरुवार को जो दूसरे फेस की वोटिंग खत्म हुई है उसके बाद जो शाम को एग्जिट पोल आए हैं उसे एग्जिट पोल के हिसाब से जो बहुमत आया है वह तो फिर से बीजेपी बीजेपी को सताया जा रहा है और जो भी सीरियल बताया जा रहा है कि 7 सीटों का आंकड़ा पार कर सकती है बीजेपी एग्जिट पोल का अनुमान है और साथ में थी लेकिन एग्जिट पोल में यह है कि अभी रिजल्ट सेटिंग को आ जाएगा बहुत प्रिय शार्ट है कि बीजेपी जीत जाएगी Kick एग्जिट पोल किया जाए हम सारे सफेद ही बता रहे हैं लेकिन पाटीदार नेता हार्दिक पटेल दलित नेता जिग्नेश मेवानी और ओबीसी नेता अल्पेश ठाकुर ने कांग्रेस को बहुत बड़ा समर्थन किया है तो हो सकता है कि एग्जिट पोल के नतीजे हैं वह तोड़ते चौकानेवाले हो जाए जैसा कि राहुल गांधी जी ने बयान भी दिया है तो बहुत परेशान है कि BJP आएगी लेकिन इन बच्चों की वजह से इन इन इन लोगों की सपोर्ट की वजह से रुकी पॉलिटिक्स है और इलेक्शन है और एक ही तरीके से सट्टा है तो कुछ भी हो सकता है लेकिन को क्या होता हैNiki Vatsala Jo Gujarat Ke Beejon Guruwar Ko Jo Dusre Face Ki Voting Khatam Hui Hai Uske Baad Jo Shaam Ko Exit Pole Aaye Hain Use Exit Pole Ke Hisab Se Jo Bahumat Aaya Hai Wah To Phir Se Bjp Bjp Ko Sataaya Ja Raha Hai Aur Jo Bhi Serial Bataya Ja Raha Hai Ki 7 Seaton Ka Akanda Par Kar Sakti Hai Bjp Exit Pole Ka Anumaan Hai Aur Saath Mein Thi Lekin Exit Pole Mein Yeh Hai Ki Abhi Result Setting Ko Aa Jayega Bahut Priya Shaart Hai Ki Bjp Jeet Jayegi Kick Exit Pole Kiya Jaye Hum Sare Safed Hi Bata Rahe Hain Lekin Patidaar Neta Hardik Patel Dalit Neta Jignesh Mevani Aur Obc Neta Alpesh Thakur Ne Congress Ko Bahut Bada Samarthan Kiya Hai To Ho Sakta Hai Ki Exit Pole Ke Natheeje Hain Wah Todte Chaukanevale Ho Jaye Jaisa Ki Rahul Gandhi Ji Ne Bayan Bhi Diya Hai To Bahut Pareshan Hai Ki BJP Aayegi Lekin In Bacchon Ki Wajah Se In In In Logon Ki Support Ki Wajah Se Ruki Politics Hai Aur Election Hai Aur Ek Hi Tarike Se Satta Hai To Kuch Bhi Ho Sakta Hai Lekin Ko Kya Hota Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं तुम लोगों का अपना अलग अलग पर्सपेक्टिव होता है इस चीज के लिए तो मेरे को लेकिन मैं अपना फ्रेंड आपको बता देती हूं कि मोदी मुझे ज्यादा पसंद है मिस्टर मोदी मुझे ज्यादा पसंद है इनकम पिंटू राहुल गांधी मैं उनको बहुत सिंपल है नरेंद्र मोदी अपने पीएम बनने के बाद में 16 से 18 घंटे काम किया है बिना किसी छुट्टी क्यों राहुल गांधी ने ज्यादा इंजॉयमेंट किया है छुट्टी लेकर यह भी ओपन है न्यूज़ में बहुत बढ़िया है नरेंद्र मोदी ने बहुत ज्यादा डिसीजन बोर्ड स्टेशन से ऑनलाइन सर्जिकल स्ट्राइक रेस्ट्रिक्शन फॉर्म लास्ट नेशनल पार्टीज एंड राहुल गांधी नरेंद्र मोदी का अचीवमेंट है कि वह 12:30 साल तक गुजरात के सक्सेसफुल सीएम रहा है उसके बाद उन्होंने प्रियंका पोस्ट संभावना अगर हम राहुल गांधी के जीवन पर जाए तो डेरा सच्चा सौदा चीफ में राहुल गांधी से बिलॉन्ग करते क्वेश्चन पोलिटिकल सामने से और अभी भी बहुत काम नहीं कर पाए हैं लेकिन नरेंद्र मोदी एक गरीब फैमिली से बिलोंग करते हैं मान लिया है
Romanized Version
मैं तुम लोगों का अपना अलग अलग पर्सपेक्टिव होता है इस चीज के लिए तो मेरे को लेकिन मैं अपना फ्रेंड आपको बता देती हूं कि मोदी मुझे ज्यादा पसंद है मिस्टर मोदी मुझे ज्यादा पसंद है इनकम पिंटू राहुल गांधी मैं उनको बहुत सिंपल है नरेंद्र मोदी अपने पीएम बनने के बाद में 16 से 18 घंटे काम किया है बिना किसी छुट्टी क्यों राहुल गांधी ने ज्यादा इंजॉयमेंट किया है छुट्टी लेकर यह भी ओपन है न्यूज़ में बहुत बढ़िया है नरेंद्र मोदी ने बहुत ज्यादा डिसीजन बोर्ड स्टेशन से ऑनलाइन सर्जिकल स्ट्राइक रेस्ट्रिक्शन फॉर्म लास्ट नेशनल पार्टीज एंड राहुल गांधी नरेंद्र मोदी का अचीवमेंट है कि वह 12:30 साल तक गुजरात के सक्सेसफुल सीएम रहा है उसके बाद उन्होंने प्रियंका पोस्ट संभावना अगर हम राहुल गांधी के जीवन पर जाए तो डेरा सच्चा सौदा चीफ में राहुल गांधी से बिलॉन्ग करते क्वेश्चन पोलिटिकल सामने से और अभी भी बहुत काम नहीं कर पाए हैं लेकिन नरेंद्र मोदी एक गरीब फैमिली से बिलोंग करते हैं मान लिया हैMain Tum Logon Ka Apna Eluga Eluga Parsapektiv Hota Hai Is Chij K Lie To Mere Co Lekin Main Apna Friend Aapko Bata Deti Hoon Qi Modi Mujhe Jyada Pasad Hai Mr Modi Mujhe Jyada Pasad Hai Income Pentu Rahul Gandhi Main Unko Bahut Simple Hai Narendra Modi Apne PM Banane K Baad Mein 16 Se 18 Ghamte Kama Kiya Hai Binaa Kisi Chutti Kio Rahul Gandhi Ne Jyada Enjoyment Kiya Hai Chutti Lycra Yeh Bhi Open Hai Nyuz Mein Bahut Badhiya Hai Narendra Modi Ne Bahut Jyada Disijan Board Station Se Online Surgical Strike Restrikshan Form Last Nachinola Parties End Rahul Gandhi Narendra Modi Ka Achievements Hai Qi Wah 12:30 Saul Tak Gujarat K Successful Siema Raha Hai Uske Baad Unhonne Priyanka Post Sambhavana Agar Hum Rahul Gandhi K Jeevan Per Jae To Dera Saccha Soda Chief Mein Rahul Gandhi Se Bilang Karte Question Political Samne Se Aur Abhi Bhi Bahut Kama Nahin Car Pae Hain Lekin Narendra Modi Ek Garib Family Se Bilong Karte Hain Maan Liya Hai
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं इस बात से बिल्कुल इत्तेफ़ाक नहीं रखता कि जो मदरसे हैं | उसमें प्रधानमंत्री जी की तस्वीरों को टांगना चाहिए| और खासतौर से उसको जरूरी करना चाहिए| मैं एक सरकारी महकमे में काम करता था | IRS ऑफिसर था कस्टमर एक्साइज डिपार्टमेंट में | और मैंने यहां तक कि अपनी ऑफिस की ज्यो दिवाले हैं | उसपे मैंने नहीं देखा कि वहां पर मोदी प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री या फिर राष्ट्रपति की तस्वीरों को टांगना अनिवार्य किया जाता हो| कुछ लोग हो सकता है, अपनी सुविधा कि वजह से उसको टांगते हो | या अपने रिस्पेक्ट कि वजह से उसको टांगते हो | लेकिन इसको कंपलसरी नहीं किया गया था | इसलिए मैं नहीं समझता कि मदरसों में प्रधानमंत्री की तस्वीरों को जबरदस्ती इंस्टॉल करना जो है, कोई अच्छी बात है|
Romanized Version
मैं इस बात से बिल्कुल इत्तेफ़ाक नहीं रखता कि जो मदरसे हैं | उसमें प्रधानमंत्री जी की तस्वीरों को टांगना चाहिए| और खासतौर से उसको जरूरी करना चाहिए| मैं एक सरकारी महकमे में काम करता था | IRS ऑफिसर था कस्टमर एक्साइज डिपार्टमेंट में | और मैंने यहां तक कि अपनी ऑफिस की ज्यो दिवाले हैं | उसपे मैंने नहीं देखा कि वहां पर मोदी प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री या फिर राष्ट्रपति की तस्वीरों को टांगना अनिवार्य किया जाता हो| कुछ लोग हो सकता है, अपनी सुविधा कि वजह से उसको टांगते हो | या अपने रिस्पेक्ट कि वजह से उसको टांगते हो | लेकिन इसको कंपलसरी नहीं किया गया था | इसलिए मैं नहीं समझता कि मदरसों में प्रधानमंत्री की तस्वीरों को जबरदस्ती इंस्टॉल करना जो है, कोई अच्छी बात है|Main Is Baat Se Bilkul Ittefak Nahi Rakhta Ki Jo Madarse Hain | Usamen Pradhanmantri Ji Ki Tasviron Ko Tangana Chahiye Aur Khaastaur Se Usko Zaroori Karna Chahiye Main Ek Sarkari Mahkame Mein Kaam Karta Tha | IRS Officer Tha Customer Excise Department Mein | Aur Maine Yahan Tak Ki Apni Office Ki Jyo Divale Hain | Uspe Maine Nahi Dekha Ki Wahan Par Modi Pradhanmantri Ya Mukhyamantri Ya Phir Rashtrapati Ki Tasviron Ko Tangana Anivarya Kiya Jata Ho Kuch Log Ho Sakta Hai Apni Suvidha Ki Wajah Se Usko Tangate Ho | Ya Apne Respect Ki Wajah Se Usko Tangate Ho | Lekin Isko Compulsory Nahi Kiya Gaya Tha | Isliye Main Nahi Samajhata Ki Madarson Mein Pradhanmantri Ki Tasviron Ko Jabardasti Install Karna Jo Hai Koi Acchi Baat Hai
Likes  22  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो धाराएं है उसमें के पोस्टर को समाप्त कर दे एकदम किसी के हाथ में होगी या किशोर कुमार को ट्विटर पर आपको देखना है
जो धाराएं है उसमें के पोस्टर को समाप्त कर दे एकदम किसी के हाथ में होगी या किशोर कुमार को ट्विटर पर आपको देखना है
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon
vokalandroid