tag_img

पंचायत

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चुनावों के दौरान इतना ज्यादा जो भीषण जो हिंसा भड़क गई जो उस 11 लोगों की मौत हो गई यह बहुत ही ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और एक तरीके से केवल एक जैसे हिटलर के जमाने में हो गई थी अपनी चीज शुक्रिया रखना किसी और को चुनाव नहीं लड़ने देना किसी और को कंट्रोल नहीं देना यानी कुल मिलाकर जो ममता बनर्जी की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हरकत की है वह शर्मनाक घटना है बहुत ज्यादा निंदनीय घटना है जो केवल बातें बनाने से कुछ नहीं होगा जरूरत है इतनी ज्यादा कठोर कार्रवाई करने की और केवल उस कार्यकर्ता की नहीं बल्कि उस पार्टी के नेता सुप्रीमो ममता बनर्जी के ऊपर कारवाई करने कि जिससे कि उनके कार्यकर्ता संभल कर काम करें इस प्रकार की घटनाओं को योजना हिंसा को अंजाम ना दें यह ना सोचें कि वहां पर इतनी मेजोरिटी में उनकी सरकार दो कुछ भी कर सकते हैं तो जाहिर तौर पर सजा मिलनी चाहिए ओके बाय टीएमसी को नहीं जो भी जाना है ना बोला उसको क्योंकि हिंसा जो ऐसी चीजें होती हैं मान साइड नहीं होती है तभी
Romanized Version
चुनावों के दौरान इतना ज्यादा जो भीषण जो हिंसा भड़क गई जो उस 11 लोगों की मौत हो गई यह बहुत ही ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और एक तरीके से केवल एक जैसे हिटलर के जमाने में हो गई थी अपनी चीज शुक्रिया रखना किसी और को चुनाव नहीं लड़ने देना किसी और को कंट्रोल नहीं देना यानी कुल मिलाकर जो ममता बनर्जी की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हरकत की है वह शर्मनाक घटना है बहुत ज्यादा निंदनीय घटना है जो केवल बातें बनाने से कुछ नहीं होगा जरूरत है इतनी ज्यादा कठोर कार्रवाई करने की और केवल उस कार्यकर्ता की नहीं बल्कि उस पार्टी के नेता सुप्रीमो ममता बनर्जी के ऊपर कारवाई करने कि जिससे कि उनके कार्यकर्ता संभल कर काम करें इस प्रकार की घटनाओं को योजना हिंसा को अंजाम ना दें यह ना सोचें कि वहां पर इतनी मेजोरिटी में उनकी सरकार दो कुछ भी कर सकते हैं तो जाहिर तौर पर सजा मिलनी चाहिए ओके बाय टीएमसी को नहीं जो भी जाना है ना बोला उसको क्योंकि हिंसा जो ऐसी चीजें होती हैं मान साइड नहीं होती है तभीChunavon Ke Dauran Itna Jyada Jo Bhishan Jo Hinsa Bhadak Gayi Jo Us 11 Logon Ki Maut Ho Gayi Yeh Bahut Hi Jyada Durbhagyaporn Ghatna Hai Aur Ek Tarike Se Kewal Ek Jaise Hitler Ke Jamaane Mein Ho Gayi Thi Apni Cheez Shukriyaa Rakhna Kisi Aur Ko Chunav Nahi Ladane Dena Kisi Aur Ko Control Nahi Dena Yani Kul Milakar Jo Mamata Banerjee Ki Party Ke Karyakartao Ne Harkat Ki Hai Wah Sharmnaak Ghatna Hai Bahut Jyada Nindaniya Ghatna Hai Jo Kewal Batein Banane Se Kuch Nahi Hoga Zaroorat Hai Itni Jyada Kathor Karyawahi Karne Ki Aur Kewal Us Karyakarta Ki Nahi Balki Us Party Ke Neta Supremo Mamata Banerjee Ke Upar Karwai Karne Ki Jisse Ki Unke Karyakarta Sambhal Kar Kaam Karen Is Prakar Ki Ghatnaon Ko Yojana Hinsa Ko Anjaam Na Dein Yeh Na Sochen Ki Wahan Par Itni Majority Mein Unki Sarkar Do Kuch Bhi Kar Sakte Hain To Jaahir Taur Par Saja Milani Chahiye Ok By Tmc Ko Nahi Jo Bhi Jana Hai Na Bola Usko Kyonki Hinsa Jo Aisi Cheezen Hoti Hain Maan Side Nahi Hoti Hai Tabhi
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटी पश्चिम बंगाल के चुनाव में पंचायत चुनाव में छह लोगों की मौत हो गई लेकिन आंकड़ा कह दे कि 11 लोगों की मौत हुई है इसके पीछे हम निर्मल कोमल को कंपनी जिम्मेदार ठहरा सकते क्योंकि यह सब बहुत पूरी सूची से देखा गया कि वह लोग गंध लेकर आए ताकि वह लोगों को इंशुरेंस कर सके किसी एक पॉलिटिकल पार्टी के लिए वोट डालने को इसके अलावा और जूही अपना ट्रेडमिल कांग्रेस के जो लोग थे उन्होंने उन्हें रिस्पांस में ठहराया जा रहा है इन आंखों के लिए और वहां पर इतना शक नहीं है कि इसके खिलाफ एक्शन ले सके कहां ते तुम लोग सत्ता के नशे में इतने सालों शुरू हो चुके कि वह जीतने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है और इसी वजह से जो भी चुनाव है हमने देखा किसने कितनी बुरी कंडीशन थी पुलिस में कुल काम नहीं कर पा रही है वहां पर पुलिस थोड़ा बहुत भी अलार्म इंडियन कर पाती तो इतनी जाने नहीं जाती जरूरत है कि डाटा सेंटर पर करें वहां पर जो लायन आर्डर को चुप कराया जाए क्योंकि डेमोक्रेसी की हत्या है कि लोग यहां पर अपने हिसाब से नहीं तो वोट डाल पा रहे हैं ना ही वह चुनाव में खड़े हो पा रहे हैं
Romanized Version
बेटी पश्चिम बंगाल के चुनाव में पंचायत चुनाव में छह लोगों की मौत हो गई लेकिन आंकड़ा कह दे कि 11 लोगों की मौत हुई है इसके पीछे हम निर्मल कोमल को कंपनी जिम्मेदार ठहरा सकते क्योंकि यह सब बहुत पूरी सूची से देखा गया कि वह लोग गंध लेकर आए ताकि वह लोगों को इंशुरेंस कर सके किसी एक पॉलिटिकल पार्टी के लिए वोट डालने को इसके अलावा और जूही अपना ट्रेडमिल कांग्रेस के जो लोग थे उन्होंने उन्हें रिस्पांस में ठहराया जा रहा है इन आंखों के लिए और वहां पर इतना शक नहीं है कि इसके खिलाफ एक्शन ले सके कहां ते तुम लोग सत्ता के नशे में इतने सालों शुरू हो चुके कि वह जीतने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है और इसी वजह से जो भी चुनाव है हमने देखा किसने कितनी बुरी कंडीशन थी पुलिस में कुल काम नहीं कर पा रही है वहां पर पुलिस थोड़ा बहुत भी अलार्म इंडियन कर पाती तो इतनी जाने नहीं जाती जरूरत है कि डाटा सेंटर पर करें वहां पर जो लायन आर्डर को चुप कराया जाए क्योंकि डेमोक्रेसी की हत्या है कि लोग यहां पर अपने हिसाब से नहीं तो वोट डाल पा रहे हैं ना ही वह चुनाव में खड़े हो पा रहे हैंBeti Paschim Bengal Ke Chunav Mein Panchayat Chunav Mein Cheh Logon Ki Maut Ho Gayi Lekin Akanda Keh De Ki 11 Logon Ki Maut Hui Hai Iske Piche Hum Nirmal Komal Ko Company Zimmedar Thahara Sakte Kyonki Yeh Sab Bahut Puri Suchi Se Dekha Gaya Ki Wah Log Gandh Lekar Aaye Taki Wah Logon Ko Inshurens Kar Sake Kisi Ek Political Party Ke Liye Vote Dalne Ko Iske Alava Aur Juhi Apna Treadmill Congress Ke Jo Log The Unhone Unhen Response Mein Thahraya Ja Raha Hai In Aakhon Ke Liye Aur Wahan Par Itna Shaq Nahi Hai Ki Iske Khilaf Action Le Sake Kahan Te Tum Log Satta Ke Nashe Mein Itne Salon Shuru Ho Chuke Ki Wah Jitne Ke Liye Kisi Bhi Had Tak Jaane Ko Taiyaar Hai Aur Isi Wajah Se Jo Bhi Chunav Hai Humne Dekha Kisne Kitni Buri Condition Thi Police Mein Kul Kaam Nahi Kar Pa Rahi Hai Wahan Par Police Thoda Bahut Bhi Alarm Indian Kar Pati To Itni Jaane Nahi Jati Zaroorat Hai Ki Data Center Par Karen Wahan Par Jo Lion Order Ko Chup Karaya Jaye Kyonki Democracy Ki Hatya Hai Ki Log Yahan Par Apne Hisab Se Nahi To Vote Dal Pa Rahe Hain Na Hi Wah Chunav Mein Khade Ho Pa Rahe Hain
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पंचायती राज का प्रधान मुख्य लक्ष्य सत्ता का विकेंद्रीकरण है
Romanized Version
पंचायती राज का प्रधान मुख्य लक्ष्य सत्ता का विकेंद्रीकरण हैPanchayati Raj Ka Pradhan Mukhya Lakshya Satta Ka Vikendrikaran Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप अपनी राजनीति में जिला पंचायत में खड़े हुए हैं और आप जीत सकते हैं या नहीं यह तो आप की दुआ तरीके जो जनता है आपकी जो गांव के लोग हैं उन पर डिपेंड करता हुआ चाचा कोई उम्मीद जो आप की पार्टी में खड़े होंगे तो आप कितने लोकप्रिय हैं आप कितने अच्छे काम कर चुके हैं आपके आप का जो है क्या इमेज है लोगों की नजर में तो मेरे साथ आने में बाकी है तो मैं तो चाहूंगा कि आप लोगों को जितना ज्यादा ज्यादा से ज्यादा लोगों से बात करें उनसे घुले-मिले क्योंकि जितना आप लोगों से बातचीत करेंगे जितना घुले-मिले उनको भी लगेगा कि हां आप जो है बहुत ही अच्छे नेता बनेंगे और आप उनको विश्वास दिलाया कि आप उनके फ्यूचर के बारे में सोचेंगे जवाब जिला पंचायत बन जाएंगे तो आप लोगों के फ्यूचर के बारे में गांव के फ्यूचर के बारे में सोचेंगे आप ऐसी विश्वास बिल्कुल जो है आप को वोट देंगे विकी कोई भी इलेक्शन में जब तक हम जितने कि जो है मतलब बारे में नहीं बता पाते जब तक आप का इलेक्शन काउंटिंग नहीं हो जाता जब यह सब काम करें ताकि लोग जो है आपको ज्यादा ज्यादा वोट दें और हमारी तब-तब को फ्यूचर के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं हम चाहेंगे कि राजनीति में जीते और एक जिला पंचायत जिला पंचायत जिला पंचायत जिला परिषद
Romanized Version
अगर आप अपनी राजनीति में जिला पंचायत में खड़े हुए हैं और आप जीत सकते हैं या नहीं यह तो आप की दुआ तरीके जो जनता है आपकी जो गांव के लोग हैं उन पर डिपेंड करता हुआ चाचा कोई उम्मीद जो आप की पार्टी में खड़े होंगे तो आप कितने लोकप्रिय हैं आप कितने अच्छे काम कर चुके हैं आपके आप का जो है क्या इमेज है लोगों की नजर में तो मेरे साथ आने में बाकी है तो मैं तो चाहूंगा कि आप लोगों को जितना ज्यादा ज्यादा से ज्यादा लोगों से बात करें उनसे घुले-मिले क्योंकि जितना आप लोगों से बातचीत करेंगे जितना घुले-मिले उनको भी लगेगा कि हां आप जो है बहुत ही अच्छे नेता बनेंगे और आप उनको विश्वास दिलाया कि आप उनके फ्यूचर के बारे में सोचेंगे जवाब जिला पंचायत बन जाएंगे तो आप लोगों के फ्यूचर के बारे में गांव के फ्यूचर के बारे में सोचेंगे आप ऐसी विश्वास बिल्कुल जो है आप को वोट देंगे विकी कोई भी इलेक्शन में जब तक हम जितने कि जो है मतलब बारे में नहीं बता पाते जब तक आप का इलेक्शन काउंटिंग नहीं हो जाता जब यह सब काम करें ताकि लोग जो है आपको ज्यादा ज्यादा वोट दें और हमारी तब-तब को फ्यूचर के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं हम चाहेंगे कि राजनीति में जीते और एक जिला पंचायत जिला पंचायत जिला पंचायत जिला परिषदAgar Aap Apni Rajneeti Mein Jila Panchayat Mein Khade Hue Hain Aur Aap Jeet Sakte Hain Ya Nahi Yeh To Aap Ki Dua Tarike Jo Janta Hai Aapki Jo Gav Ke Log Hain Un Par Depend Karta Hua Chacha Koi Ummid Jo Aap Ki Party Mein Khade Honge To Aap Kitne Lokpriya Hain Aap Kitne Acche Kaam Kar Chuke Hain Aapke Aap Ka Jo Hai Kya Image Hai Logon Ki Nazar Mein To Mere Saath Aane Mein Baki Hai To Main To Chahunga Ki Aap Logon Ko Jitna Jyada Jyada Se Jyada Logon Se Baat Karen Unse Ghule Mile Kyonki Jitna Aap Logon Se Batchit Karenge Jitna Ghule Mile Unko Bhi Lagega Ki Haan Aap Jo Hai Bahut Hi Acche Neta Banenge Aur Aap Unko Vishwas Dilaya Ki Aap Unke Future Ke Baare Mein Sochenge Jawab Jila Panchayat Ban Jaenge To Aap Logon Ke Future Ke Baare Mein Gav Ke Future Ke Baare Mein Sochenge Aap Aisi Vishwas Bilkul Jo Hai Aap Ko Vote Denge Vikee Koi Bhi Election Mein Jab Tak Hum Jitne Ki Jo Hai Matlab Baare Mein Nahi Bata Paate Jab Tak Aap Ka Election Kaunting Nahi Ho Jata Jab Yeh Sab Kaam Karen Taki Log Jo Hai Aapko Jyada Jyada Vote Dein Aur Hamari Tab Tab Ko Future Ke Liye Dher Saree Subhkamnaayain Hum Chahenge Ki Rajneeti Mein Jeete Aur Ek Jila Panchayat Jila Panchayat Jila Panchayat Jila Parishad
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पश्चिम बंगाल में 1 दिनों 5 मई को पंचायती चुनाव होने वाले हैं और उसके नामांकन भरने की अंतिम तारीख 9 अप्रैल है बीजेपी ने आरोप लगाया है कि चुनाव में उम्मीदवारों को नामांकन पत्र दाखिल करने की इजाजत नहीं दी जा रही है पार्टी ने देश की सबसे बड़ी अदालत में याचिका दाखिल कर की मांग की थी कि नामांकन नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख को बढ़ा दिया जाए तथा पिछले दिनों हुई हिंसा को ध्यान में रखते हुए वहां अर्थ सैनिक बलों की तैनाती भी की जाए नामांकन भरते वक्त तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं में आपस में झड़प हो गई थी उसमें कई लोग घायल भी हुए और दो लोगों की जान भी चली गई और इसी के चलते जब भाजपा की रैली निकल रही थी तब उसमें आपस में पुलिस और भाजपा की रैली में भी कार्यकर्ताओं की आपस में झड़प हो गई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया और रबर की बीजेपी कार्यकर्ता हूं मैं सिर्फ 25 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया है और भाजपा कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि इस को मद्देनजर रखते हुए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दायर दायर करिए यही कहते हुए कि पंचायत चुनावों में सुप्रीम कोर्ट दखल दे और उनके कार्यकर्ताओं को नामांकन भरने दे लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट का आदेश आया है और सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी की याचिका पर सुनवाई करते हुए पश्चिम बंगाल में होने वाले पंचायत चुनाव में दखल देने से इंकार कर दिया है सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी को सलाह भी दी है कि इस मामले में वह चुनाव आयोग के पास जाने के लिए संपर्क कर सकती है और वहां जाने के लिए वह स्वतंत्र है यह BJP के लिए एक बड़ा झटका है इससे पंचायत चुनाव में जरूर फर्क
Romanized Version
पश्चिम बंगाल में 1 दिनों 5 मई को पंचायती चुनाव होने वाले हैं और उसके नामांकन भरने की अंतिम तारीख 9 अप्रैल है बीजेपी ने आरोप लगाया है कि चुनाव में उम्मीदवारों को नामांकन पत्र दाखिल करने की इजाजत नहीं दी जा रही है पार्टी ने देश की सबसे बड़ी अदालत में याचिका दाखिल कर की मांग की थी कि नामांकन नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख को बढ़ा दिया जाए तथा पिछले दिनों हुई हिंसा को ध्यान में रखते हुए वहां अर्थ सैनिक बलों की तैनाती भी की जाए नामांकन भरते वक्त तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं में आपस में झड़प हो गई थी उसमें कई लोग घायल भी हुए और दो लोगों की जान भी चली गई और इसी के चलते जब भाजपा की रैली निकल रही थी तब उसमें आपस में पुलिस और भाजपा की रैली में भी कार्यकर्ताओं की आपस में झड़प हो गई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया और रबर की बीजेपी कार्यकर्ता हूं मैं सिर्फ 25 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया है और भाजपा कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि इस को मद्देनजर रखते हुए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दायर दायर करिए यही कहते हुए कि पंचायत चुनावों में सुप्रीम कोर्ट दखल दे और उनके कार्यकर्ताओं को नामांकन भरने दे लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट का आदेश आया है और सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी की याचिका पर सुनवाई करते हुए पश्चिम बंगाल में होने वाले पंचायत चुनाव में दखल देने से इंकार कर दिया है सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी को सलाह भी दी है कि इस मामले में वह चुनाव आयोग के पास जाने के लिए संपर्क कर सकती है और वहां जाने के लिए वह स्वतंत्र है यह BJP के लिए एक बड़ा झटका है इससे पंचायत चुनाव में जरूर फर्कPaschim Bengal Mein 1 Dinon 5 May Ko Panchayati Chunav Hone Wale Hain Aur Uske Namankan Bharne Ki Antim Tarikh 9 April Hai Bjp Ne Aarop Lagaya Hai Ki Chunav Mein Ummidwaron Ko Namankan Patra Dakhil Karne Ki Ijajat Nahi Di Ja Rahi Hai Party Ne Desh Ki Sabse Badi Adalat Mein Yachikaa Dakhil Kar Ki Maang Ki Thi Ki Namankan Namankan Dakhil Karne Ki Antim Tarikh Ko Badha Diya Jaye Tatha Pichle Dinon Hui Hinsa Ko Dhyan Mein Rakhate Hue Wahan Arth Sainik Balon Ki Tainati Bhi Ki Jaye Namankan Bharte Waqt Trinmul Congress Aur Bhajpa Ke Karyakartao Mein Aapas Mein Jhadap Ho Gayi Thi Usamen Kai Log Ghaayal Bhi Hue Aur Do Logon Ki Jaan Bhi Chali Gayi Aur Isi Ke Chalte Jab Bhajpa Ki Rally Nikal Rahi Thi Tab Usamen Aapas Mein Police Aur Bhajpa Ki Rally Mein Bhi Karyakartao Ki Aapas Mein Jhadap Ho Gayi Aur Bheed Ko Titar Bitar Karne Ke Liye Police Ne Lathicharj Bhi Kiya Aur Rubber Ki Bjp Karyakarta Hoon Main Sirf 25 Karyakartao Ko Giraftar Bhi Kiya Gaya Hai Aur Bhajpa Karyakartao Ka Yeh Kehna Hai Ki Is Ko Maddenajar Rakhate Hue Unhone Supreme Court Mein Apni Yachikaa Dayar Dayar Kariye Yahi Kehte Hue Ki Panchayat Chunavon Mein Supreme Court Dakhal De Aur Unke Karyakartao Ko Namankan Bharne De Lekin Aaj Supreme Court Ka Aadesh Aaya Hai Aur Supreme Court Ne Bjp Ki Yachikaa Par Sunavai Karte Hue Paschim Bengal Mein Hone Wale Panchayat Chunav Mein Dakhal Dene Se Inkar Kar Diya Hai Supreme Court Ne Bjp Ko Salah Bhi Di Hai Ki Is Mamle Mein Wah Chunav Aayog Ke Paas Jaane Ke Liye Sampark Kar Sakti Hai Aur Wahan Jaane Ke Liye Wah Swatantra Hai Yeh BJP Ke Liye Ek Bada Jhatka Hai Isse Panchayat Chunav Mein Jarur Fark
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आज भारत में सबसे ज्यादा स्थिति किसी प्रदेश की खराब है तो वह पश्चिम बंगाल है आए दिन वहां सांप्रदायिक दंगे होते रहते हैं जिस प्रकार ममता सरकार लोगों पर अत्याचार कर रही है उसे साफ जाहिर हो रहा है क्या आने वाले कुछ समय में आने वाले कुछ समय में पश्चिम बंगाल की स्थिति और भी भयानक होने वाली है अगर इसको अभी नहीं रोका गया तो जो दंगे एक-दो दिन छोड़कर होते हैं वह रोज रोज दुआ करेंगे मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं केंद्र सरकार को तथा देश के सुप्रीम कोर्ट को भी ममता सरकार को फटकार लगानी चाहिए क्योंकि जब से ममता सरकार पश्चिम बंगाल में आई है देश-विदेश की स्थिति ऐसी हो गई है कि रोज कभी मूर्ति पूजा होती है तो दंगे हो जाते हैं कभी कुछ होता है तो दंगे हो जाते तो रोज-रोज और जिस प्रकार तुगलकी फरमान वहां की जो चिप मिनिस्टर ममता है वह दे रही है तो उससे कहीं ना कहीं यह दिखाता है कि उनका जो इंक्लिनेशन है किसी का किसी पर्टिकुलर रिलीजन की और बहुत ज्यादा है इस प्रकार कुछ दिन पहले ही उन्होंने शस्त्र पूजा पर रोक लगादी जो कि शस्त्र पूजा हिंदू धर्म में की जाती है जिस प्रकार उन्होंने रामनवमी के जुलूस पर रोक लगादी तो मुझे लगता है कि आने वाले समय में पश्चिम बंगाल के लोगों खुद डिसाइड करना है कि क्या वह एक ममता की सरकार को चाहेंगे जो केवल सांप्रदायिक दंगों पर ही बिलीव करती हैं
Romanized Version
देखी आज भारत में सबसे ज्यादा स्थिति किसी प्रदेश की खराब है तो वह पश्चिम बंगाल है आए दिन वहां सांप्रदायिक दंगे होते रहते हैं जिस प्रकार ममता सरकार लोगों पर अत्याचार कर रही है उसे साफ जाहिर हो रहा है क्या आने वाले कुछ समय में आने वाले कुछ समय में पश्चिम बंगाल की स्थिति और भी भयानक होने वाली है अगर इसको अभी नहीं रोका गया तो जो दंगे एक-दो दिन छोड़कर होते हैं वह रोज रोज दुआ करेंगे मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं केंद्र सरकार को तथा देश के सुप्रीम कोर्ट को भी ममता सरकार को फटकार लगानी चाहिए क्योंकि जब से ममता सरकार पश्चिम बंगाल में आई है देश-विदेश की स्थिति ऐसी हो गई है कि रोज कभी मूर्ति पूजा होती है तो दंगे हो जाते हैं कभी कुछ होता है तो दंगे हो जाते तो रोज-रोज और जिस प्रकार तुगलकी फरमान वहां की जो चिप मिनिस्टर ममता है वह दे रही है तो उससे कहीं ना कहीं यह दिखाता है कि उनका जो इंक्लिनेशन है किसी का किसी पर्टिकुलर रिलीजन की और बहुत ज्यादा है इस प्रकार कुछ दिन पहले ही उन्होंने शस्त्र पूजा पर रोक लगादी जो कि शस्त्र पूजा हिंदू धर्म में की जाती है जिस प्रकार उन्होंने रामनवमी के जुलूस पर रोक लगादी तो मुझे लगता है कि आने वाले समय में पश्चिम बंगाल के लोगों खुद डिसाइड करना है कि क्या वह एक ममता की सरकार को चाहेंगे जो केवल सांप्रदायिक दंगों पर ही बिलीव करती हैंDekhi Aaj Bharat Mein Sabse Jyada Sthiti Kisi Pradesh Ki Kharab Hai To Wah Paschim Bengal Hai Aaye Din Wahan Sampradayik Denge Hote Rehte Hain Jis Prakar Mamata Sarkar Logon Par Atyachar Kar Rahi Hai Use Saaf Jaahir Ho Raha Hai Kya Aane Wale Kuch Samay Mein Aane Wale Kuch Samay Mein Paschim Bengal Ki Sthiti Aur Bhi Bhayaanak Hone Wali Hai Agar Isko Abhi Nahi Roka Gaya To Jo Denge Ek Do Din Chodkar Hote Hain Wah Roj Roj Dua Karenge Mujhe Lagta Hai Ki Kahin Na Kahin Kendra Sarkar Ko Tatha Desh Ke Supreme Court Ko Bhi Mamata Sarkar Ko Phatakar Lagaani Chahiye Kyonki Jab Se Mamata Sarkar Paschim Bengal Mein Eye Hai Desh Videsh Ki Sthiti Aisi Ho Gayi Hai Ki Roj Kabhi Murti Puja Hoti Hai To Denge Ho Jaate Hain Kabhi Kuch Hota Hai To Denge Ho Jaate To Roj Roj Aur Jis Prakar Tugalaki Farman Wahan Ki Jo Chip Minister Mamata Hai Wah De Rahi Hai To Usse Kahin Na Kahin Yeh Dikhaata Hai Ki Unka Jo Inklineshan Hai Kisi Ka Kisi Particular Rilijan Ki Aur Bahut Jyada Hai Is Prakar Kuch Din Pehle Hi Unhone Shastr Puja Par Rok Lagadi Jo Ki Shastr Puja Hindu Dharm Mein Ki Jati Hai Jis Prakar Unhone Ramnavami Ke Julus Par Rok Lagadi To Mujhe Lagta Hai Ki Aane Wale Samay Mein Paschim Bengal Ke Logon Khud Decide Karna Hai Ki Kya Wah Ek Mamata Ki Sarkar Ko Chahenge Jo Kewal Sampradayik Dango Par Hi Believe Karti Hain
Likes  6  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को पंचायत ने आरक्षण 1992 के 73141 द्वारा दिया गया
Romanized Version
महिलाओं को पंचायत ने आरक्षण 1992 के 73141 द्वारा दिया गयाMahilaon Ko Panchayat Ne Aarakshan 1992 Ke 73141 Dwara Diya Gaya
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिग जहां तक प्रश्न ममता बनर्जी का है तो आज आप देखिए देश के अंदर सबसे बुरी स्थिति और किसी प्रदेश की है तो पश्चिम बंगाल कि आए दिन वहां दंगे होते रहते हैं कभी भी चुनाव होते हैं वह पंचायत का चुनाव बचो चाहे कोई और चुनाव हमेशा वहां दंगे से शुरुआत होती है कभी भी कोई झांकी निकाली जाती तो वहां दंगा होता है रमजान स्टार्ट होता है दंगा होता है किसी भी प्रकार का कोई जुलूस निकलता है वहां दंगा होना निश्चित है आज अगर कानून व्यवस्था की बात की जाए तो मुझे लगता है प्रदेश में सबसे बेहाल स्थिति अगर कहीं की है तो वह पश्चिम बंगाल की ओर जबसे ममता बनर्जी ने जो अपना सेकंड 10 वर्ष चार्ट किया तब से और बुरी स्थिति व हो चुकी है आए दिन वहां दंगे फसाद होता रहता है और बहादुरी ममता बनर्जी का पंचायत चुनाव में अपने आप को शामिल करना क्या सही है या नहीं है तो मुझे लगता है कि यह तो वक्त बताएगा कि सही है या नहीं है लेकिन हां ममता बनर्जी के समय में आज बंगाल पूरी तरह बर्बाद हो चुका है
Romanized Version
बिग जहां तक प्रश्न ममता बनर्जी का है तो आज आप देखिए देश के अंदर सबसे बुरी स्थिति और किसी प्रदेश की है तो पश्चिम बंगाल कि आए दिन वहां दंगे होते रहते हैं कभी भी चुनाव होते हैं वह पंचायत का चुनाव बचो चाहे कोई और चुनाव हमेशा वहां दंगे से शुरुआत होती है कभी भी कोई झांकी निकाली जाती तो वहां दंगा होता है रमजान स्टार्ट होता है दंगा होता है किसी भी प्रकार का कोई जुलूस निकलता है वहां दंगा होना निश्चित है आज अगर कानून व्यवस्था की बात की जाए तो मुझे लगता है प्रदेश में सबसे बेहाल स्थिति अगर कहीं की है तो वह पश्चिम बंगाल की ओर जबसे ममता बनर्जी ने जो अपना सेकंड 10 वर्ष चार्ट किया तब से और बुरी स्थिति व हो चुकी है आए दिन वहां दंगे फसाद होता रहता है और बहादुरी ममता बनर्जी का पंचायत चुनाव में अपने आप को शामिल करना क्या सही है या नहीं है तो मुझे लगता है कि यह तो वक्त बताएगा कि सही है या नहीं है लेकिन हां ममता बनर्जी के समय में आज बंगाल पूरी तरह बर्बाद हो चुका हैBig Jahan Tak Prashna Mamata Banerjee Ka Hai To Aaj Aap Dekhie Desh Ke Andar Sabse Buri Sthiti Aur Kisi Pradesh Ki Hai To Paschim Bengal Ki Aaye Din Wahan Denge Hote Rehte Hain Kabhi Bhi Chunav Hote Hain Wah Panchayat Ka Chunav Bacho Chahe Koi Aur Chunav Hamesha Wahan Denge Se Shuruvat Hoti Hai Kabhi Bhi Koi Jhanki Nikali Jati To Wahan Danga Hota Hai Ramjan Start Hota Hai Danga Hota Hai Kisi Bhi Prakar Ka Koi Julus Nikalta Hai Wahan Danga Hona Nishchit Hai Aaj Agar Kanoon Vyavastha Ki Baat Ki Jaye To Mujhe Lagta Hai Pradesh Mein Sabse Behal Sthiti Agar Kahin Ki Hai To Wah Paschim Bengal Ki Oar Jabse Mamata Banerjee Ne Jo Apna Second 10 Varsh Chart Kiya Tab Se Aur Buri Sthiti V Ho Chuki Hai Aaye Din Wahan Denge Fasad Hota Rehta Hai Aur Bahaduri Mamata Banerjee Ka Panchayat Chunav Mein Apne Aap Ko Shamil Karna Kya Sahi Hai Ya Nahi Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Yeh To Waqt Batayega Ki Sahi Hai Ya Nahi Hai Lekin Haan Mamata Banerjee Ke Samay Mein Aaj Bengal Puri Tarah Barbad Ho Chuka Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

DJ वेस्ट बंगाल की जो राजनीति है वह शुरू से ही आती रही है जब यह कम्युनिस्टों का दौर था तभी उस पीरियड में भी यही होता था और जब यह है तृणमूल कांग्रेस आ गई है तो उस समय में भी यही होता है उसका दिखे मुंह के कारण यह है कि वहां की जो राजनीति है उसमें क्या डर विश्व राजनीति है और जो राजनीतिक जो पार्टी होते हैं उनके जो समर्थक होते हैं वह उसके बहुत ही लाल समर्थक होता और उनके लिए काम करते हैं और जो पोलिटिकल पार्टीज होती हैं उनको हर जगह पर छाया नौकरी हो जाए कॉन्ट्रैक्ट हो जाए जो भी चीज है उसमें उसका हिस्सा देती है तो भेजो संस्कृति है और भेजो पॉलिटिकल आदमी लैंडस्केप है उसमें सालों से ऐसा चलता है कांग्रेस के समय में भी यही हुआ और प्रमुख के काम के समय में भी यही हो रहा है इसमें कोई बहुत ज्यादा चेंज आया है ऐसा मुझे नहीं लगता
Romanized Version
DJ वेस्ट बंगाल की जो राजनीति है वह शुरू से ही आती रही है जब यह कम्युनिस्टों का दौर था तभी उस पीरियड में भी यही होता था और जब यह है तृणमूल कांग्रेस आ गई है तो उस समय में भी यही होता है उसका दिखे मुंह के कारण यह है कि वहां की जो राजनीति है उसमें क्या डर विश्व राजनीति है और जो राजनीतिक जो पार्टी होते हैं उनके जो समर्थक होते हैं वह उसके बहुत ही लाल समर्थक होता और उनके लिए काम करते हैं और जो पोलिटिकल पार्टीज होती हैं उनको हर जगह पर छाया नौकरी हो जाए कॉन्ट्रैक्ट हो जाए जो भी चीज है उसमें उसका हिस्सा देती है तो भेजो संस्कृति है और भेजो पॉलिटिकल आदमी लैंडस्केप है उसमें सालों से ऐसा चलता है कांग्रेस के समय में भी यही हुआ और प्रमुख के काम के समय में भी यही हो रहा है इसमें कोई बहुत ज्यादा चेंज आया है ऐसा मुझे नहीं लगताDJ West Bengal Ki Jo Rajneeti Hai Wah Shuru Se Hi Aati Rahi Hai Jab Yeh Communiston Ka Daur Tha Tabhi Us Period Mein Bhi Yahi Hota Tha Aur Jab Yeh Hai Trinmul Congress Aa Gayi Hai To Us Samay Mein Bhi Yahi Hota Hai Uska Dikhe Mooh Ke Kaaran Yeh Hai Ki Wahan Ki Jo Rajneeti Hai Usamen Kya Dar Vishwa Rajneeti Hai Aur Jo Rajnitik Jo Party Hote Hain Unke Jo Samarthak Hote Hain Wah Uske Bahut Hi Lal Samarthak Hota Aur Unke Liye Kaam Karte Hain Aur Jo Political Parties Hoti Hain Unko Har Jagah Par Chaya Naukri Ho Jaye Contracts Ho Jaye Jo Bhi Cheez Hai Usamen Uska Hissa Deti Hai To Bhejo Sanskriti Hai Aur Bhejo Political Aadmi Laindaskep Hai Usamen Salon Se Aisa Chalta Hai Congress Ke Samay Mein Bhi Yahi Hua Aur Pramukh Ke Kaam Ke Samay Mein Bhi Yahi Ho Raha Hai Isme Koi Bahut Jyada Change Aaya Hai Aisa Mujhe Nahi Lagta
Likes  23  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखित ग्राम पंचायत में घोटाला हो रहा तो आप को उसके ऊपर पर ब्लॉक में जाकर उसे शिकायत कर सकते हैं ब्लॉक में जाकर शिकायत करने का मतलब है कि आप वीडियो जोकी ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर होते हैं उनसे या फिर BPL की डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर किसे कहते हैं उनसे आप जाकर कंप्लेंट कर सकते हैं
Romanized Version
लिखित ग्राम पंचायत में घोटाला हो रहा तो आप को उसके ऊपर पर ब्लॉक में जाकर उसे शिकायत कर सकते हैं ब्लॉक में जाकर शिकायत करने का मतलब है कि आप वीडियो जोकी ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर होते हैं उनसे या फिर BPL की डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर किसे कहते हैं उनसे आप जाकर कंप्लेंट कर सकते हैंLikhit Gram Panchayat Mein Ghotala Ho Raha To Aap Ko Uske Upar Par Block Mein Jaakar Use Shikayat Kar Sakte Hain Block Mein Jaakar Shikayat Karne Ka Matlab Hai Ki Aap Video Joki Block Development Officer Hote Hain Unse Ya Phir BPL Ki District Commissioner District Collector Kise Kehte Hain Unse Aap Jaakar Complaint Kar Sakte Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी घर पंचायत में कुश्ती लगाया तो उसे कैसे हटाया जाए तो कोई भी अगर चाहती लगाता है कोई भी गवर्नमेंट अथॉरिटी ऑफ बॉडी स्टील लगाती है तो उसको हटाने के लिए उससे बड़ी बॉडी के पास जाकर आपको कंप्लेंट करना होता जैसे कि अगर आपको अगर किसी तरह प्यार की सजा मिलती है हाईकोर्ट से तो आप को सुप्रीम कोर्ट में अपील करना पड़ता था अगर पंचायत ने लगाई है तो आप ब्लॉक डिपार्टमेंट जा सकते हैं किसी के पास जा सकते हैं या फिर उससे उसके को चुनौती दे सकते हैं कोर्ट में जाकर अपना हाई कोर्ट में जाकर तू जो भी बॉडी लगाती है उसे ऊपर की बॉडी में जाना पड़ता है को कंप्लेंट करने के लिए
Romanized Version
विकी घर पंचायत में कुश्ती लगाया तो उसे कैसे हटाया जाए तो कोई भी अगर चाहती लगाता है कोई भी गवर्नमेंट अथॉरिटी ऑफ बॉडी स्टील लगाती है तो उसको हटाने के लिए उससे बड़ी बॉडी के पास जाकर आपको कंप्लेंट करना होता जैसे कि अगर आपको अगर किसी तरह प्यार की सजा मिलती है हाईकोर्ट से तो आप को सुप्रीम कोर्ट में अपील करना पड़ता था अगर पंचायत ने लगाई है तो आप ब्लॉक डिपार्टमेंट जा सकते हैं किसी के पास जा सकते हैं या फिर उससे उसके को चुनौती दे सकते हैं कोर्ट में जाकर अपना हाई कोर्ट में जाकर तू जो भी बॉडी लगाती है उसे ऊपर की बॉडी में जाना पड़ता है को कंप्लेंट करने के लिएVikee Ghar Panchayat Mein Kushti Lagaya To Use Kaise Hataya Jaye To Koi Bhi Agar Chahti Lagaata Hai Koi Bhi Government Authority Of Body Steel Lagati Hai To Usko Hatane Ke Liye Usse Badi Body Ke Paas Jaakar Aapko Complaint Karna Hota Jaise Ki Agar Aapko Agar Kisi Tarah Pyar Ki Saja Milti Hai Highcourt Se To Aap Ko Supreme Court Mein Appeal Karna Padata Tha Agar Panchayat Ne Lagai Hai To Aap Block Department Ja Sakte Hain Kisi Ke Paas Ja Sakte Hain Ya Phir Usse Uske Ko Chunauti De Sakte Hain Court Mein Jaakar Apna Hi Court Mein Jaakar Tu Jo Bhi Body Lagati Hai Use Upar Ki Body Mein Jana Padata Hai Ko Complaint Karne Ke Liye
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे संविधान के किस हिस्से में पंचायती राज के तीन स्तरीय प्रणाली पर विचार किया गया था तो 1989 में लोकसभा में 64 वां संविधान संशोधन हुआ था उसमें जो विधेयक प्रस्तुत किया गया था उसमें भारी बहुमत से पारित किया गया था कि तीन स्तरीय पंचायती राज की व्यवस्था होगी राजस्थान पर खंड स्तर पर जिला स्तर पर और फिर बाद में 78 संशोधन के द्वारा कितने किस वर्ष तक की आयु आवश्यक है सभी चीज निर्वाचित किया गया था
Romanized Version
हमारे संविधान के किस हिस्से में पंचायती राज के तीन स्तरीय प्रणाली पर विचार किया गया था तो 1989 में लोकसभा में 64 वां संविधान संशोधन हुआ था उसमें जो विधेयक प्रस्तुत किया गया था उसमें भारी बहुमत से पारित किया गया था कि तीन स्तरीय पंचायती राज की व्यवस्था होगी राजस्थान पर खंड स्तर पर जिला स्तर पर और फिर बाद में 78 संशोधन के द्वारा कितने किस वर्ष तक की आयु आवश्यक है सभी चीज निर्वाचित किया गया थाHamare Samvidhan Ke Kis Hisse Mein Panchayati Raj Ke Teen Stariy Pranali Par Vichar Kiya Gaya Tha To 1989 Mein Lok Sabha Mein 64 Va Samvidhan Sanshodhan Hua Tha Usamen Jo Vidhayak Prastut Kiya Gaya Tha Usamen Bhari Bahumat Se Paarit Kiya Gaya Tha Ki Teen Stariy Panchayati Raj Ki Vyavastha Hogi Rajasthan Par Khand Sthar Par Jila Sthar Par Aur Phir Baad Mein 78 Sanshodhan Ke Dwara Kitne Kis Varsh Tak Ki Aayu Aavashyak Hai Sabhi Cheez Nirvaachit Kiya Gaya Tha
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
भाग IX: PANCHAYATS। अनुच्छेद-243। परिभाषाएं.- इस भाग में, जब तक संदर्भ अन्यथा आवश्यक न हो, -। (ए) "जिला" का अर्थ जिला है।
Romanized Version
भाग IX: PANCHAYATS। अनुच्छेद-243। परिभाषाएं.- इस भाग में, जब तक संदर्भ अन्यथा आवश्यक न हो, -। (ए) "जिला" का अर्थ जिला है।Bhag IX: Anuched Paribhashaen Is Bhag Mein Jab Tak Sandarbh Anyatha Aavashyak N Ho A Jila Ka Arth Jila Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
एक खाप एक समुदाय संगठन है जो एक कबीले या संबंधित कुलों का समूह का प्रतिनिधित्व करता है। वे ज्यादातर उत्तरी भारत में पाए जाते हैं, खासकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा के जाट लोगों में, [1] हालांकि ऐतिहासिक रूप से इस शब्द का इस्तेमाल अन्य समुदायों के बीच भी किया जाता है। एक खाप पंचायत खाप बुजुर्गों की एक सभा है, और एक सर्व खाप दहिया खाप जैसे कई खाप पंचायतों की एक सभा है। [2] [3]खाप औपचारिक रूप से निर्वाचित सरकारी निकायों से संबद्ध नहीं हैं और इसके बजाय खाप के मामलों से संबंधित हैं। [4] यह लोकतांत्रिक ढंग से निर्वाचित स्थानीय असेंबली से संबद्ध नहीं है जिसे पंचायत भी कहा जाता है। एक खाप पंचायत की कोई आधिकारिक सरकारी मान्यता या अधिकार नहीं है, लेकिन यह प्रतिनिधित्व करने वाले समुदाय के भीतर महत्वपूर्ण सामाजिक प्रभाव डाल सकता है। [5] 2011 तक महेंद्र सिंह टिकैत की अगुवाई में बालीयान खाप वह है जिसने विशेष मीडिया ध्यान प्राप्त किया है। [6]
Romanized Version
एक खाप एक समुदाय संगठन है जो एक कबीले या संबंधित कुलों का समूह का प्रतिनिधित्व करता है। वे ज्यादातर उत्तरी भारत में पाए जाते हैं, खासकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा के जाट लोगों में, [1] हालांकि ऐतिहासिक रूप से इस शब्द का इस्तेमाल अन्य समुदायों के बीच भी किया जाता है। एक खाप पंचायत खाप बुजुर्गों की एक सभा है, और एक सर्व खाप दहिया खाप जैसे कई खाप पंचायतों की एक सभा है। [2] [3]खाप औपचारिक रूप से निर्वाचित सरकारी निकायों से संबद्ध नहीं हैं और इसके बजाय खाप के मामलों से संबंधित हैं। [4] यह लोकतांत्रिक ढंग से निर्वाचित स्थानीय असेंबली से संबद्ध नहीं है जिसे पंचायत भी कहा जाता है। एक खाप पंचायत की कोई आधिकारिक सरकारी मान्यता या अधिकार नहीं है, लेकिन यह प्रतिनिधित्व करने वाले समुदाय के भीतर महत्वपूर्ण सामाजिक प्रभाव डाल सकता है। [5] 2011 तक महेंद्र सिंह टिकैत की अगुवाई में बालीयान खाप वह है जिसने विशेष मीडिया ध्यान प्राप्त किया है। [6]Ek Khaap Ek Samuday Sangathan Hai Jo Ek Kabile Ya Sambandhit Kulon Ka Samuh Ka Pratinidhitva Karta Hai Ve Jyadatar Uttari Bharat Mein Paye Jaate Hain Khaskar Pashchimi Uttar Pradesh Aur Haryana Ke Jaat Logon Mein [1] Halanki Aetihasik Roop Se Is Shabdh Ka Istemal Anya Samudayo Ke Bich Bhi Kiya Jata Hai Ek Khaap Panchayat Khaap Bujurgoan Ki Ek Sabha Hai Aur Ek Surve Khaap Dahira Khaap Jaise Kai Khaap Panchayato Ki Ek Sabha Hai [2] Khaap Aupcharik Roop Se Nirvaachit Sarkari Nikayon Se Sambandh Nahi Hain Aur Iske Bajay Khaap Ke Mamlon Se Sambandhit Hain [4] Yeh Loktantrik Dhang Se Nirvaachit Sthaniye Assembly Se Sambandh Nahi Hai Jise Panchayat Bhi Kaha Jata Hai Ek Khaap Panchayat Ki Koi Adhikarik Sarkari Manyata Ya Adhikaar Nahi Hai Lekin Yeh Pratinidhitva Karne Wale Samuday Ke Bheetar Mahatvapurna Samajik Prabhav Dal Sakta Hai [5] 2011 Tak Mahendra Singh Tikait Ki Aguvaii Mein Baliyan Khaap Wah Hai Jisne Vishesh Media Dhyan Prapt Kiya Hai [6]
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
यह जगमती सांगवान द्वारा समय पर और अच्छी तरह से शोध किए गए लेख, "खाप पंचायत: निराशा के संकेत" (8 मई) को संदर्भित करता है।
Romanized Version
यह जगमती सांगवान द्वारा समय पर और अच्छी तरह से शोध किए गए लेख, "खाप पंचायत: निराशा के संकेत" (8 मई) को संदर्भित करता है।Yeh Jagmati Saangwan Dwara Samay Par Aur Acchi Tarah Se Shodh Kiye Gaye Lekh Khaap Panchayat Nirasha Ke Sanket (8 May Ko Sandarbhit Karta Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सिक्स क्लास इजाजत लेने के लिए जो है वह अपनी ग्राम पंचायत नजदीकी ग्राम पंचायत में जाना पड़ेगा वहां पर जो है वह लेटर लिख कर देना पड़ेगा क्या करना चाहते हैं आप मछली पालन करना चाहते हैं तो आपको वहां से परमिशन मिलेगी
Romanized Version
सिक्स क्लास इजाजत लेने के लिए जो है वह अपनी ग्राम पंचायत नजदीकी ग्राम पंचायत में जाना पड़ेगा वहां पर जो है वह लेटर लिख कर देना पड़ेगा क्या करना चाहते हैं आप मछली पालन करना चाहते हैं तो आपको वहां से परमिशन मिलेगीSix Class Ijajat Lene Ke Liye Jo Hai Wah Apni Gram Panchayat Najadiki Gram Panchayat Mein Jana Padega Wahan Par Jo Hai Wah Letter Likh Kar Dena Padega Kya Karna Chahte Hain Aap Machli Palan Karna Chahte Hain To Aapko Wahan Se Permission Milegi
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिग्गी कोई भी जो है पंचायत प्रधानमंत्री आवास योजना का लिस्ट ना दिखाएं तो आप इसके बारे में पड़े तो उसमें पूरे गांव से बातचीत कीजिए सब गांव के जनपद सदस्य होते उनके साथ जा सकती चौक के पास जा सकती है थाने में जा सकते हैं बिहार पर जो उनकी शिकायत दर्ज करा सकते हैं
Romanized Version
डिग्गी कोई भी जो है पंचायत प्रधानमंत्री आवास योजना का लिस्ट ना दिखाएं तो आप इसके बारे में पड़े तो उसमें पूरे गांव से बातचीत कीजिए सब गांव के जनपद सदस्य होते उनके साथ जा सकती चौक के पास जा सकती है थाने में जा सकते हैं बिहार पर जो उनकी शिकायत दर्ज करा सकते हैंDiggi Koi Bhi Jo Hai Panchayat Pradhanmantri Aawas Yojana Ka List Na Dikhaen To Aap Iske Bare Mein Pade To Usamen Poore Gav Se Batchit Kijiye Sab Gav Ke Janpad Sadasya Hote Unke Saath Ja Sakti Chauk Ke Paas Ja Sakti Hai Thane Mein Ja Sakte Hain Bihar Par Jo Unki Shikayat Darj Kra Sakte Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
ग्राम पंचायत वार्डों में बांटा गया है और प्रत्येक वार्ड को वार्ड सदस्य या आयुक्त द्वारा दर्शाया जाता है, जिसे गांवों द्वारा सीधे चुने जाने वाले पंच या पंचायत सदस्य भी कहा जाता है। पंचायत गांव के अध्यक्ष द्वारा नियुक्त किये जाते है, जिसे सरपंच के नाम से जाना जाता है।
Romanized Version
ग्राम पंचायत वार्डों में बांटा गया है और प्रत्येक वार्ड को वार्ड सदस्य या आयुक्त द्वारा दर्शाया जाता है, जिसे गांवों द्वारा सीधे चुने जाने वाले पंच या पंचायत सदस्य भी कहा जाता है। पंचायत गांव के अध्यक्ष द्वारा नियुक्त किये जाते है, जिसे सरपंच के नाम से जाना जाता है।Gram Panchayat Vardo Mein Banta Gaya Hai Aur Pratyek Ward Ko Ward Sadasya Ya Aayukt Dwara Darshaya Jata Hai Jise Gawon Dwara Seedhe Chune Jaane Wale Punch Ya Panchayat Sadasya Bhi Kaha Jata Hai Panchayat Gav Ke Adhyaksh Dwara Niyukt Kiye Jaate Hai Jise Sarpanch Ke Naam Se Jana Jata Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
पंचायत समिति तहसील या तालुका या है ब्लॉक भारत में ग्रामीण स्थानीय स्वशासन प्रणाली का स्तर। वे भारत में पंचायती राज संस्थानों के मध्य स्तर का निर्माण करते हैं। यह ग्राम पंचायत (ग्राम पंचायत ) और जिला परिषद (जिला परिषद) के बीच एक लिंक के रूप में कार्य करता है ।
Romanized Version
पंचायत समिति तहसील या तालुका या है ब्लॉक भारत में ग्रामीण स्थानीय स्वशासन प्रणाली का स्तर। वे भारत में पंचायती राज संस्थानों के मध्य स्तर का निर्माण करते हैं। यह ग्राम पंचायत (ग्राम पंचायत ) और जिला परिषद (जिला परिषद) के बीच एक लिंक के रूप में कार्य करता है । Panchayat Samiti Tehsil Ya Taluka Ya Hai Block Bharat Mein Gramin Sthaniye Swashasan Pranali Ka Sthar Ve Bharat Mein Panchayati Raj Sansthano Ke Madhya Sthar Ka Nirman Karte Hain Yeh Gram Panchayat Gram Panchayat ) Aur Jila Parishad Jila Parishad Ke Bich Ek Link Ke Roop Mein Karya Karta Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
खाप पंचायत कुछ गांवों का संघ है, मुख्य रूप से उत्तर भारत में हालांकि यह देश के बाकी हिस्सों में समान रूपों में मौजूद है। हाल ही में वे अर्ध-न्यायिक निकायों के रूप में उभरे हैं जो पुरानी परंपराओं और परंपराओं के आधार पर कठोर दंड का उच्चारण करते हैं, जो अक्सर आधुनिक समस्याओं के प्रति प्रतिकूल उपायों के आधार पर होते हैं।
Romanized Version
खाप पंचायत कुछ गांवों का संघ है, मुख्य रूप से उत्तर भारत में हालांकि यह देश के बाकी हिस्सों में समान रूपों में मौजूद है। हाल ही में वे अर्ध-न्यायिक निकायों के रूप में उभरे हैं जो पुरानी परंपराओं और परंपराओं के आधार पर कठोर दंड का उच्चारण करते हैं, जो अक्सर आधुनिक समस्याओं के प्रति प्रतिकूल उपायों के आधार पर होते हैं। Khaap Panchayat Kuch Gawon Ka Sangh Hai Mukhya Roop Se Uttar Bharat Mein Halanki Yeh Desh Ke Baki Hisso Mein Saman Roopon Mein Maujud Hai Haal Hi Mein Ve Ardh Nyaayik Nikayon Ke Roop Mein Ubhre Hain Jo Purani Paramparaon Aur Paramparaon Ke Aadhar Par Kathor Dand Ka Ucharan Karte Hain Jo Aksar Aadhunik Samasyaon Ke Prati Pratikul Upayon Ke Aadhar Par Hote Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
जिला परिषद के क्षेत्रीय निर्वाचन क्षेत्र के सदस्यों को 2,250 रुपये के मौजूदा वेतन के मुकाबले 6,000 रुपये प्रति माह मिलेगा । इसी प्रकार, मंडल प्रजा परिषद सदस्यों को 1,500 रुपये के मौजूदा वेतन के मुकाबले 6,000 रुपये मिलेगा। गांव सरपंच को 1,000 रुपये प्रति माह के मौजूदा वेतन के मुकाबले 3,000 रुपये मिलेगा।
Romanized Version
जिला परिषद के क्षेत्रीय निर्वाचन क्षेत्र के सदस्यों को 2,250 रुपये के मौजूदा वेतन के मुकाबले 6,000 रुपये प्रति माह मिलेगा । इसी प्रकार, मंडल प्रजा परिषद सदस्यों को 1,500 रुपये के मौजूदा वेतन के मुकाबले 6,000 रुपये मिलेगा। गांव सरपंच को 1,000 रुपये प्रति माह के मौजूदा वेतन के मुकाबले 3,000 रुपये मिलेगा।Jila Parishad Ke Kshetriya Nirvachan Kshetra Ke Sadasyon Ko 2,250 Rupaye Ke Maujuda Vetan Ke Muqable 6,000 Rupaye Prati Mah Milega Isi Prakar Mandal Praja Parishad Sadasyon Ko 1,500 Rupaye Ke Maujuda Vetan Ke Muqable 6,000 Rupaye Milega Gav Sarpanch Ko 1,000 Rupaye Prati Mah Ke Maujuda Vetan Ke Muqable 3,000 Rupaye Milega
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
आम तौर पर, ग्राम पंचायत में निर्वाचित पंचों की संख्या सात और सत्रह सदस्यों के बीच बदलती है । हालांकि, यह राज्य से राज्य में भिन्न हो सकता है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिला उम्मीदवारों के आरक्षण के प्रावधान हैं। पंचायत के मुखिया को "सरपंच" के नाम से जाना जाता है।
Romanized Version
आम तौर पर, ग्राम पंचायत में निर्वाचित पंचों की संख्या सात और सत्रह सदस्यों के बीच बदलती है । हालांकि, यह राज्य से राज्य में भिन्न हो सकता है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिला उम्मीदवारों के आरक्षण के प्रावधान हैं। पंचायत के मुखिया को "सरपंच" के नाम से जाना जाता है।Aam Taur Par Gram Panchayat Mein Nirvaachit Pancho Ki Sankhya Saat Aur Satrah Sadasyon Ke Bich Badalati Hai Halanki Yeh Rajya Se Rajya Mein Bhinn Ho Sakta Hai Anusuchit Jati Anusuchit Janjaati Aur Mahila Ummidwaron Ke Aarakshan Ke Pravadhan Hain Panchayat Ke Mukhiya Ko Sarpanch Ke Naam Se Jana Jata Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
गांव पंचायत सरपंचों के वेतन 2,000 प्रति माह से बढ़कर 4,000 रुपये प्रति माह हो गए हैं । एक डिप्टी सरपंच अब 1,750 के बजाय प्रति माह 3,500 मिलेगा । पंच सदस्यों और सह-चयनित सदस्यों के वेतन 1,500 से 3,000 तक बढ़ा दिया गया है। एक ग्राम पंचायत (गांव परिषद) पंचायती राज का एकमात्र जमीनी स्तर है जो गांव या छोटे शहर के स्तर पर भारत में स्थानीय स्व-शासन प्रणाली को औपचारिक रूप से लागू करता है, और इसके निर्वाचित सिर के रूप में सरपंच है।
Romanized Version
गांव पंचायत सरपंचों के वेतन 2,000 प्रति माह से बढ़कर 4,000 रुपये प्रति माह हो गए हैं । एक डिप्टी सरपंच अब 1,750 के बजाय प्रति माह 3,500 मिलेगा । पंच सदस्यों और सह-चयनित सदस्यों के वेतन 1,500 से 3,000 तक बढ़ा दिया गया है। एक ग्राम पंचायत (गांव परिषद) पंचायती राज का एकमात्र जमीनी स्तर है जो गांव या छोटे शहर के स्तर पर भारत में स्थानीय स्व-शासन प्रणाली को औपचारिक रूप से लागू करता है, और इसके निर्वाचित सिर के रूप में सरपंच है।Gav Panchayat Sarpanchon Ke Vetan 2,000 Prati Mah Se Badhkar 4,000 Rupaye Prati Mah Ho Gaye Hain Ek Deputy Sarpanch Ab 1,750 Ke Bajay Prati Mah 3,500 Milega Punch Sadasyon Aur Sah Chayanit Sadasyon Ke Vetan 1,500 Se 3,000 Tak Badha Diya Gaya Hai Ek Gram Panchayat Gav Parishad Panchayati Raj Ka Ekmatra Zameeni Sthar Hai Jo Gav Ya Chote Sheher Ke Sthar Par Bharat Mein Sthaniye Sv Shasan Pranali Ko Aupcharik Roop Se Laagu Karta Hai Aur Iske Nirvaachit Sir Ke Roop Mein Sarpanch Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
पंचायत समिति भारत में ग्रामीण स्थानीय स्वशासन प्रणाली के तहसील या तालुका या ब्लॉक स्तर पर है। वे भारत में पंचायती राज संस्थानों के मध्य स्तर का निर्माण करते हैं । यह ग्राम पंचायत (ग्राम पंचायत ) और जिला परिषद (जिला परिषद) के बीच एक लिंक के रूप में कार्य करता है ।
Romanized Version
पंचायत समिति भारत में ग्रामीण स्थानीय स्वशासन प्रणाली के तहसील या तालुका या ब्लॉक स्तर पर है। वे भारत में पंचायती राज संस्थानों के मध्य स्तर का निर्माण करते हैं । यह ग्राम पंचायत (ग्राम पंचायत ) और जिला परिषद (जिला परिषद) के बीच एक लिंक के रूप में कार्य करता है । Panchayat Samiti Bharat Mein Gramin Sthaniye Swashasan Pranali Ke Tehsil Ya Taluka Ya Block Sthar Par Hai Ve Bharat Mein Panchayati Raj Sansthano Ke Madhya Sthar Ka Nirman Karte Hain Yeh Gram Panchayat Gram Panchayat ) Aur Jila Parishad Jila Parishad Ke Bich Ek Link Ke Roop Mein Karya Karta Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
भारत में एक गांव परिषद: ए: पांच प्रभावशाली वृद्ध पुरुषों के एक समूह ने समुदाय द्वारा अपने शासी निकाय के रूप में स्वीकार किया। बी: गांव स्व-सरकार के अंग के रूप में भारत के गणराज्य में लगभग पांच सदस्यों की एक वैकल्पिक परिषद आयोजित की गई। ग्राम पंचायत गॉव की आधारभूत शिला है।
Romanized Version
भारत में एक गांव परिषद: ए: पांच प्रभावशाली वृद्ध पुरुषों के एक समूह ने समुदाय द्वारा अपने शासी निकाय के रूप में स्वीकार किया। बी: गांव स्व-सरकार के अंग के रूप में भारत के गणराज्य में लगभग पांच सदस्यों की एक वैकल्पिक परिषद आयोजित की गई। ग्राम पंचायत गॉव की आधारभूत शिला है। Bharat Mein Ek Gav Parishad A Paanch Prabhavshali Vriddh Purushon Ke Ek Samuh Ne Samuday Dwara Apne Shasi Nikaay Ke Roop Mein Sweekar Kiya Be Gav Sv Sarkar Ke Ang Ke Roop Mein Bharat Ke Ganrajya Mein Lagbhag Paanch Sadasyon Ki Ek Vaikalpik Parishad Aayojit Ki Gayi Gram Panchayat Gaon Ki Adharbhut Shila Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
जिला एक अंग्रेजी स्लैंग प्रत्यय है, जो जापानी फिल्म राक्षस गोडजिला के अंग्रेजी नाम से प्राप्त एक बैक-गठन है। यह सॉफ्टवेयर और वेबसाइटों के नाम के लिए लोकप्रिय है। यह अक्सर लोकप्रिय संस्कृति में भी कुछ रूपों को इंगित करने के लिए पाया जाता है, जो कि गोडजिला के राक्षसों के गुणों को दर्शाता है।
Romanized Version
जिला एक अंग्रेजी स्लैंग प्रत्यय है, जो जापानी फिल्म राक्षस गोडजिला के अंग्रेजी नाम से प्राप्त एक बैक-गठन है। यह सॉफ्टवेयर और वेबसाइटों के नाम के लिए लोकप्रिय है। यह अक्सर लोकप्रिय संस्कृति में भी कुछ रूपों को इंगित करने के लिए पाया जाता है, जो कि गोडजिला के राक्षसों के गुणों को दर्शाता है।Jila Ek Angrezi Slang Pratyay Hai Jo Japani Film Rakshas Godzilla Ke Angrezi Naam Se Prapt Ek Back Gathan Hai Yeh Software Aur Websiton Ke Naam Ke Liye Lokpriya Hai Yeh Aksar Lokpriya Sanskriti Mein Bhi Kuch Roopon Ko Ingit Karne Ke Liye Paya Jata Hai Jo Ki Godzilla Ke Rakshason Ke Gunon Ko Darshaata Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
एक और पंचायती राज अधिनियम 1989 में घिरा हुआ था जो कि एक उन्नत और गतिशील बिट है। यह पंचायत, ब्लॉक और जिला स्तर पर तीन-स्तर के पड़ोस के आत्म-प्रशासन को देखता है। इसी कारण से पंचायतों का संविधान, ब्लॉक विकास परिषद और जिला योजना और विकास बोर्ड प्रस्तावित किए गए हैं। पंचायत के सभी मतपत्रकों द्वारा सरपंच की दौड़ रहस्य सर्वेक्षण के माध्यम से होने की जरूरत है। मतदाताओं द्वारा हाथों को बढ़ाने के माध्यम से पंचों की दौड़ अतिरिक्त रूप से रहस्य के माध्यम से होती है।
Romanized Version
एक और पंचायती राज अधिनियम 1989 में घिरा हुआ था जो कि एक उन्नत और गतिशील बिट है। यह पंचायत, ब्लॉक और जिला स्तर पर तीन-स्तर के पड़ोस के आत्म-प्रशासन को देखता है। इसी कारण से पंचायतों का संविधान, ब्लॉक विकास परिषद और जिला योजना और विकास बोर्ड प्रस्तावित किए गए हैं। पंचायत के सभी मतपत्रकों द्वारा सरपंच की दौड़ रहस्य सर्वेक्षण के माध्यम से होने की जरूरत है। मतदाताओं द्वारा हाथों को बढ़ाने के माध्यम से पंचों की दौड़ अतिरिक्त रूप से रहस्य के माध्यम से होती है।Ek Aur Panchayati Raj Adhiniyam 1989 Mein Ghira Hua Tha Jo Ki Ek Unnat Aur Gatishil Bit Hai Yeh Panchayat Block Aur Jila Sthar Par Teen Sthar Ke Pados Ke Aatm Prashasan Ko Dekhta Hai Isi Kaaran Se Panchayato Ka Samvidhan Block Vikash Parishad Aur Jila Yojana Aur Vikash Board Prastavit Kiye Gaye Hain Panchayat Ke Sabhi Matapatrakon Dwara Sarpanch Ki Daudh Rahasya Sarvekshad Ke Maadhyam Se Hone Ki Zaroorat Hai Matdataon Dwara Hathon Ko Badhane Ke Maadhyam Se Pancho Ki Daudh Atirikt Roop Se Rahasya Ke Maadhyam Se Hoti Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
vokalandroid