tag_img

जानवर

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिवाली में जो पटाखे जलाए जाते हैं वह बहुत ज्यादा मात्रा में होते हैं और उसमें बहुत ज्यादा पोलूशन होता है l और उसके मुकाबले में जो नए साल में पटाखे जलाए जाते हैं उनकी संख्या बहुत कम होती है और उस पर पोल्युसन भी बहुत कम होता है l और इसलिए जो कानून जो है वह दिवाली के ऊपर लागू होता है वह नए साल पर लगाने की कोई ऐसी जरूरत नहीं है l और इससे बहुत ज्यादा पोलूशन भी नहीं होता तो बहुत ज्यादा डिस्टर्बेंस भी नहीं होता है और इसीलिए मेरे ख्याल से इसमें कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है l
Romanized Version
दिवाली में जो पटाखे जलाए जाते हैं वह बहुत ज्यादा मात्रा में होते हैं और उसमें बहुत ज्यादा पोलूशन होता है l और उसके मुकाबले में जो नए साल में पटाखे जलाए जाते हैं उनकी संख्या बहुत कम होती है और उस पर पोल्युसन भी बहुत कम होता है l और इसलिए जो कानून जो है वह दिवाली के ऊपर लागू होता है वह नए साल पर लगाने की कोई ऐसी जरूरत नहीं है l और इससे बहुत ज्यादा पोलूशन भी नहीं होता तो बहुत ज्यादा डिस्टर्बेंस भी नहीं होता है और इसीलिए मेरे ख्याल से इसमें कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है lDiwali Mein Jo Patakhe Jalaae Jaate Hain Wah Bahut Jyada Matra Mein Hote Hain Aur Usamen Bahut Jyada Pollution Hota Hai L Aur Uske Muqable Mein Jo Naye Saal Mein Patakhe Jalaae Jaate Hain Unki Sankhya Bahut Kum Hoti Hai Aur Us Par Polyusan Bhi Bahut Kum Hota Hai L Aur Isliye Jo Kanoon Jo Hai Wah Diwali Ke Upar Laagu Hota Hai Wah Naye Saal Par Lagane Ki Koi Aisi Zaroorat Nahi Hai L Aur Isse Bahut Jyada Pollution Bhi Nahi Hota To Bahut Jyada Distarbens Bhi Nahi Hota Hai Aur Isliye Mere Khayal Se Isme Koi Pratibandh Nahi Lagaya Gaya Hai L
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान के नाम पर या किसी के नाम पर किसी दूसरे की बलि चढ़ा तो बहुत आसान है अपनी कोई बलि चढ़ा करके दिखाएं हां इतिहास में इस तरह के प्रमाण मिलते हैं जिसमें लोगों ने अपनी बलि दी है इसे दाधीच ने अपनी बोली थी अपनी हड्डियों से वज्र करवाया लेकिन उस चरित्र और उस व्यवहार के लोग कम से कम इस कलयुग में तो नहीं है हां अपने स्वाद सुख के लिए भगवान को भी उसने लिफ्ट कर लिया अपने स्वाद के लिए दूसरों की बलि चढ़ा करके उनका कत्ल करके भगवान के नाम पर उनका भोजन बनाना और उसे शाम से खाना इसका मतलब स्वाद के साथ साथ एक डेबिट कह सकते हैं कि भाव भी उस में लिप्त हो जाता है जबकि कोई भी भगवान या कोई भी देवता या कोई भी सात्विक पक्ष इस तरह के कृत्य को बढ़ावा नहीं देता है और ना कहीं इतिहास के हमें देखने को मिलता है या किसी धर्मशास्त्र देखने को मिलता है कि भगवान के लिए इस तरह का प्रावधान हो की बलि मांग रहा है मैं समझता हूं कि क्षेत्र के हिसाब से उनकी बहुजन खान-पान व्यवस्था के आधार पर इसे मान्यताएं जन्म लेगी और इसका सिर्फ भोजन से तात्पर्य है स्वाद सुख से मतलब है इसका पूजा पद्धति या अध्यात्म या भगवान उससे कोई लेना-देना नहीं
Romanized Version
भगवान के नाम पर या किसी के नाम पर किसी दूसरे की बलि चढ़ा तो बहुत आसान है अपनी कोई बलि चढ़ा करके दिखाएं हां इतिहास में इस तरह के प्रमाण मिलते हैं जिसमें लोगों ने अपनी बलि दी है इसे दाधीच ने अपनी बोली थी अपनी हड्डियों से वज्र करवाया लेकिन उस चरित्र और उस व्यवहार के लोग कम से कम इस कलयुग में तो नहीं है हां अपने स्वाद सुख के लिए भगवान को भी उसने लिफ्ट कर लिया अपने स्वाद के लिए दूसरों की बलि चढ़ा करके उनका कत्ल करके भगवान के नाम पर उनका भोजन बनाना और उसे शाम से खाना इसका मतलब स्वाद के साथ साथ एक डेबिट कह सकते हैं कि भाव भी उस में लिप्त हो जाता है जबकि कोई भी भगवान या कोई भी देवता या कोई भी सात्विक पक्ष इस तरह के कृत्य को बढ़ावा नहीं देता है और ना कहीं इतिहास के हमें देखने को मिलता है या किसी धर्मशास्त्र देखने को मिलता है कि भगवान के लिए इस तरह का प्रावधान हो की बलि मांग रहा है मैं समझता हूं कि क्षेत्र के हिसाब से उनकी बहुजन खान-पान व्यवस्था के आधार पर इसे मान्यताएं जन्म लेगी और इसका सिर्फ भोजन से तात्पर्य है स्वाद सुख से मतलब है इसका पूजा पद्धति या अध्यात्म या भगवान उससे कोई लेना-देना नहींBhagwan K Naam Per Ya Kisi K Naam Per Kisi Dusre Ki Bolly Chadha To Bahut Aasan Hai Apni Koi Bolly Chadha Karake Dikhaen Han Itihas Mein Is Turha K Pramaan Milte Hain Jisamein Logon Ne Apni Bolly They Hai Isse Dadhich Ne Apni Bowli Thi Apni Haddiyon Se Vajra Karvaya Lekin Oosh Charitra Aur Oosh Vyavahar K Log Come Se Come Is Kalyug Mein To Nahin Hai Han Apne Swad Sukh K Lie Bhagwan Co Bhi Usne Lift Car Liya Apne Swad K Lie Dusro Ki Bolly Chadha Karake Unka Katl Karake Bhagwan K Naam Per Unka Bhojan Banana Aur Usse Sham Se Khana Iska Matlab Swad K Sathe Sathe Ek Debit Keh Sakte Hain Qi Bhaw Bhi Oosh Mein Lipt Ho Jaata Hai Jbki Koi Bhi Bhagwan Ya Koi Bhi Devta Ya Koi Bhi Satvik Pax Is Turha K Kritya Co Badhava Nahin Deta Hai Aur Na Kahin Itihas K Human Dakhane Co Milta Hai Ya Kisi Dharmashastra Dakhane Co Milta Hai Qi Bhagwan K Lie Is Turha Ka Prawdhan Ho Ki Bolly Mang Raha Hai Main Samajhataa Hoon Qi Kshetra K Hisaab Se Unki Bahujan Khan Pan Vyavastha K Aadhaar Per Isse Manyataen Janm Legee Aur Iska Sirf Bhojan Se Tatprya Hai Swad Sukh Se Matlab Hai Iska Pooja Paddhati Ya Adhyatm Ya Bhagwan Usase Koi Lena Dena Nahin
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK सबसे पहले तो जानिए कि जलीकट्टू है क्या अखिलेश में क्या होता है कि बहुत सारे सांडू को छोड़ दिया जाता है और बहुत सारे लोगों को भी और स्थान किसे के ऊपर जो कपड़ा बंद होता है वह खोलना होता और जो भी व्यक्ति हूं से खुलता है उससे अलग अलग तरह के पुरस्कार मिलते हैं 3 साल पहले कानून ने जलीकट्टू के ऊपर रोक लगा दी गई थी लेकिन पर तमिलनाडु में सरकार ने उन से अनुरोध किया कि यह सिर्फ खेल नहीं है उनके लिए यह उनका रिलिजन है तो इस पर रोक नहीं लगाई जाए तो इस बार 14 से 16 जनवरी तक 24 बड़े और 200 साल छोटे आयोजन हुए 3 दिन में राज्य में करीब 25000 साल और 100000 प्रतियोगियों ने हिस्सा लिया और जो और जो अजब टीसीएम है उन्होंने जलीकट्टू को हरी झंडी दिखाई देता है जो एनिमल लाइफ के लिए काम करता है वह जलीकट्टू का विरोध करता है हमेशा से उनके कोडिंग इसके अंदर बोल के साथ शुरू होती है उनके साथ गलत व्यवहार होता है और उन्हें बाद में प्लॉट कैसे जाता है या नहीं क्यों ने बाद में उनकी कुर्बानी दे दी जाती है दूसरा यह बात है कि इसके ऊपर सट्टा लगता है बताओ सट्टा तो निकल ही गलत है तो वह भी गलत चीज है एक और किसने बुल्स को ना बहुत परेशान करा दे आदत मैंने पढ़ा है जितना रिसर्च में नहीं किया है कि जो बोलते उनको 6 महीने उनके खूब खातेदारी की जाती है लेकिन अभी की एक किस्त अब जो भी खेल खेल रहे हैं तो लोगों के साथ सद्गुरु को भी तो चोट लगेगी ना उन्हें भी तो परेशानी होगी तो इस तरह से यह जो खेल है मेरे मुताबिक तो यह एनिमल लाइफ के अगेंस्ट है क्योंकि किसी भी जानवर को सिर्फ अपने एंटरटेनमेंट के लिए प्रपोज के लिए यूज करना अपने फायदे के लिए उस करना वह गलत ही है चाहे वह फिर खेल हो या कुछ और
Romanized Version
PK सबसे पहले तो जानिए कि जलीकट्टू है क्या अखिलेश में क्या होता है कि बहुत सारे सांडू को छोड़ दिया जाता है और बहुत सारे लोगों को भी और स्थान किसे के ऊपर जो कपड़ा बंद होता है वह खोलना होता और जो भी व्यक्ति हूं से खुलता है उससे अलग अलग तरह के पुरस्कार मिलते हैं 3 साल पहले कानून ने जलीकट्टू के ऊपर रोक लगा दी गई थी लेकिन पर तमिलनाडु में सरकार ने उन से अनुरोध किया कि यह सिर्फ खेल नहीं है उनके लिए यह उनका रिलिजन है तो इस पर रोक नहीं लगाई जाए तो इस बार 14 से 16 जनवरी तक 24 बड़े और 200 साल छोटे आयोजन हुए 3 दिन में राज्य में करीब 25000 साल और 100000 प्रतियोगियों ने हिस्सा लिया और जो और जो अजब टीसीएम है उन्होंने जलीकट्टू को हरी झंडी दिखाई देता है जो एनिमल लाइफ के लिए काम करता है वह जलीकट्टू का विरोध करता है हमेशा से उनके कोडिंग इसके अंदर बोल के साथ शुरू होती है उनके साथ गलत व्यवहार होता है और उन्हें बाद में प्लॉट कैसे जाता है या नहीं क्यों ने बाद में उनकी कुर्बानी दे दी जाती है दूसरा यह बात है कि इसके ऊपर सट्टा लगता है बताओ सट्टा तो निकल ही गलत है तो वह भी गलत चीज है एक और किसने बुल्स को ना बहुत परेशान करा दे आदत मैंने पढ़ा है जितना रिसर्च में नहीं किया है कि जो बोलते उनको 6 महीने उनके खूब खातेदारी की जाती है लेकिन अभी की एक किस्त अब जो भी खेल खेल रहे हैं तो लोगों के साथ सद्गुरु को भी तो चोट लगेगी ना उन्हें भी तो परेशानी होगी तो इस तरह से यह जो खेल है मेरे मुताबिक तो यह एनिमल लाइफ के अगेंस्ट है क्योंकि किसी भी जानवर को सिर्फ अपने एंटरटेनमेंट के लिए प्रपोज के लिए यूज करना अपने फायदे के लिए उस करना वह गलत ही है चाहे वह फिर खेल हो या कुछ औरPK Sabse Pehle To Janiye Ki Jalikattu Hai Kya Akhilesh Mein Kya Hota Hai Ki Bahut Sare Sandu Ko Chod Diya Jata Hai Aur Bahut Sare Logon Ko Bhi Aur Sthan Kise Ke Upar Jo Kapda Band Hota Hai Wah Kholna Hota Aur Jo Bhi Vyakti Hoon Se Khulta Hai Usse Alag Alag Tarah Ke Puraskar Milte Hain 3 Saal Pehle Kanoon Ne Jalikattu Ke Upar Rok Laga Di Gayi Thi Lekin Par Tamil Nadu Mein Sarkar Ne Un Se Anurodh Kiya Ki Yeh Sirf Khel Nahi Hai Unke Liye Yeh Unka Religion Hai To Is Par Rok Nahi Lagai Jaye To Is Baar 14 Se 16 January Tak 24 Bade Aur 200 Saal Chote Aayojan Hue 3 Din Mein Rajya Mein Karib 25000 Saal Aur 100000 Pratiyogiyon Ne Hissa Liya Aur Jo Aur Jo Ajab Tisiem Hai Unhone Jalikattu Ko Hari Jhandi Dikhai Deta Hai Jo Animal Life Ke Liye Kaam Karta Hai Wah Jalikattu Ka Virodh Karta Hai Hamesha Se Unke Coding Iske Andar Bol Ke Saath Shuru Hoti Hai Unke Saath Galat Vyavhar Hota Hai Aur Unhen Baad Mein Plot Kaise Jata Hai Ya Nahi Kyun Ne Baad Mein Unki Kurbani De Di Jati Hai Doosra Yeh Baat Hai Ki Iske Upar Satta Lagta Hai Batao Satta To Nikal Hi Galat Hai To Wah Bhi Galat Cheez Hai Ek Aur Kisne Bulls Ko Na Bahut Pareshan Kra De Aadat Maine Padha Hai Jitna Research Mein Nahi Kiya Hai Ki Jo Bolte Unko 6 Mahine Unke Khoob Khatedari Ki Jati Hai Lekin Abhi Ki Ek Kist Ab Jo Bhi Khel Khel Rahe Hain To Logon Ke Saath Sadguru Ko Bhi To Chot Lagegi Na Unhen Bhi To Pareshani Hogi To Is Tarah Se Yeh Jo Khel Hai Mere Mutabik To Yeh Animal Life Ke Against Hai Kyonki Kisi Bhi Janwar Ko Sirf Apne Entertainment Ke Liye Propose Ke Liye Use Karna Apne Fayde Ke Liye Us Karna Wah Galat Hi Hai Chahe Wah Phir Khel Ho Ya Kuch Aur
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी मैं आपकी बात से बिल्कुल नौकरी करती हूं और एक जानवरों के प्रति संवेदनशील व्यक्ति होने के कारण मैं इस बात के बिल्कुल खिलाफ हूं कि सिर्फ संस्कृति के नाम पर मासूम बेजुबान जानवरों की बलि चढ़ा दी जाए फिर चाहे वह बुल फाइटिंग हो या चाइना में जो डॉग्स को मार दिया जाता है वह या फिर किसी और तरह का अंधविश्वास जिसकी वजह से यह बेजुबान जानवर बलि चढ़ जाते हैं जबकि कौन से चार में बोल नहीं सकते या फिर यह इंसान की ताकत के आगे झुक नहीं सकते उनसे लड़ाई नहीं कर सकते इसका मतलब यह नहीं है कि हम अपनी बेवकूफी और अपनी अंधविश्वास के कारण इन सब की जान ले ले बेटा जो है वह इसके खिलाफ काम कर रहा है लेकिन इंसानों ने के तौर पर हमें विश करना चाहिए कि हम किसी जानवर को हर्ट ना करें किसी भी तरीके से और अगर कोई करे तो उसके खिलाफ प्रोडक्शन किए जाएं
Romanized Version
जी मैं आपकी बात से बिल्कुल नौकरी करती हूं और एक जानवरों के प्रति संवेदनशील व्यक्ति होने के कारण मैं इस बात के बिल्कुल खिलाफ हूं कि सिर्फ संस्कृति के नाम पर मासूम बेजुबान जानवरों की बलि चढ़ा दी जाए फिर चाहे वह बुल फाइटिंग हो या चाइना में जो डॉग्स को मार दिया जाता है वह या फिर किसी और तरह का अंधविश्वास जिसकी वजह से यह बेजुबान जानवर बलि चढ़ जाते हैं जबकि कौन से चार में बोल नहीं सकते या फिर यह इंसान की ताकत के आगे झुक नहीं सकते उनसे लड़ाई नहीं कर सकते इसका मतलब यह नहीं है कि हम अपनी बेवकूफी और अपनी अंधविश्वास के कारण इन सब की जान ले ले बेटा जो है वह इसके खिलाफ काम कर रहा है लेकिन इंसानों ने के तौर पर हमें विश करना चाहिए कि हम किसी जानवर को हर्ट ना करें किसी भी तरीके से और अगर कोई करे तो उसके खिलाफ प्रोडक्शन किए जाएंJi Main Aapki Baat Se Bilkul Naukri Karti Hoon Aur Ek Jaanvaro Ke Prati Samvedansheel Vyakti Hone Ke Kaaran Main Is Baat Ke Bilkul Khilaf Hoon Ki Sirf Sanskriti Ke Naam Par Masoom Bejuban Jaanvaro Ki Bali Chadha Di Jaye Phir Chahe Wah Bull Fighting Ho Ya China Mein Jo Dogs Ko Maar Diya Jata Hai Wah Ya Phir Kisi Aur Tarah Ka Andhavishvas Jiski Wajah Se Yeh Bejuban Janwar Bali Chadh Jaate Hain Jabki Kaun Se Char Mein Bol Nahi Sakte Ya Phir Yeh Insaan Ki Takat Ke Aage Jhuk Nahi Sakte Unse Ladai Nahi Kar Sakte Iska Matlab Yeh Nahi Hai Ki Hum Apni Bewakoofi Aur Apni Andhavishvas Ke Kaaran In Sab Ki Jaan Le Le Beta Jo Hai Wah Iske Khilaf Kaam Kar Raha Hai Lekin Insanon Ne Ke Taur Par Hume Wish Karna Chahiye Ki Hum Kisi Janwar Ko Heart Na Karen Kisi Bhi Tarike Se Aur Agar Koi Kare To Uske Khilaf Production Kiye Jayen
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तानी मुर्गा बेचना है बिल्कुल सही है मैं हिसाब से स्त्री वशीकरण होता है किस फूड फैक्टरी के अंदर आता है तो फूट साइकिल कंप्लीट करने के लोग खाते हैं लोग पसंद करते हैं तुमको सही है जब तक भेजेंगे तो सब लोग कैसे खा पाएंगे
Romanized Version
हिंदुस्तानी मुर्गा बेचना है बिल्कुल सही है मैं हिसाब से स्त्री वशीकरण होता है किस फूड फैक्टरी के अंदर आता है तो फूट साइकिल कंप्लीट करने के लोग खाते हैं लोग पसंद करते हैं तुमको सही है जब तक भेजेंगे तो सब लोग कैसे खा पाएंगेHindustani Murga Bechna Hai Bilkul Sahi Hai Main Hisab Se Stri Vashikaran Hota Hai Kis Food Factory Ke Andar Aata Hai To Foot Cycle Complete Karne Ke Log Khate Hain Log Pasand Karte Hain Tumko Sahi Hai Jab Tak Bhejenge To Sab Log Kaise Kha Paenge
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब का सवाल बहुत अच्छा है क्या जानवरों में जान होती है अगर होती है तो मनुष्य उन्हें मारता है क्योंकि मैं आपको एक बात बता दूं कि ग्रंथों से भी साबित है कि हमने कुछ चीज को शिकार होने के लिए बनाया है उस शिकार करने के लिए बनाया है यह ग्रंथ में लिखा हुआ है मैं इसको साबित कर सकता हूं मगर अभी वर्तमान में मैं आपको यह बता दूं कि जिस तरीके से हम सा को सब्जी भाजी भी खाते हैं कि उनमें जाने नहीं होती और मैं बेशक जान होती है मुझको भी साबित कर सकता हूं फर्क इतना होता कि पेड़ पौधों में 3 साइंस होते हैं मनुष्य फाइव सेंस होते हैं और भी कई बातें हैं जिसको आप जवाब खोज भी करेंगे ताकि करेंगे तो आपके सामने आएगी और कुदरत ने जो चीज बनाई है लेकिन मैं किसी चीज का एक सपोर्ट नहीं कर रहा हूं कि बिना वजह किसी जानवर की हत्या करते लोग खाते हैं चिकन खाते हालांकि में मोमडन हूं मैं मुसलमान मगर मैं मीट नहीं खाता तो मुझे पसंद नहीं है मगर इसका मतलब यह नहीं है कि हम जो सवाल हमारा है अच्छा है मगर हम किसी को इस चीज से रोक नहीं सकते कि आप इसको ना खाएं यह बात है पेड़ पौधे में भी जाने होती हैं हम जब सांस के जरिए के अंदर खींच ले तो उन्होंने भी जान होती है तो हम किस किसी से इंकार करेंगे यह कुदरत का अपने निजाम है जिसको हम बदल नहीं सकते आप का सवाल बड़ा अच्छा था शायद आपको जवाब पसंद आएगा
जब का सवाल बहुत अच्छा है क्या जानवरों में जान होती है अगर होती है तो मनुष्य उन्हें मारता है क्योंकि मैं आपको एक बात बता दूं कि ग्रंथों से भी साबित है कि हमने कुछ चीज को शिकार होने के लिए बनाया है उस शिकार करने के लिए बनाया है यह ग्रंथ में लिखा हुआ है मैं इसको साबित कर सकता हूं मगर अभी वर्तमान में मैं आपको यह बता दूं कि जिस तरीके से हम सा को सब्जी भाजी भी खाते हैं कि उनमें जाने नहीं होती और मैं बेशक जान होती है मुझको भी साबित कर सकता हूं फर्क इतना होता कि पेड़ पौधों में 3 साइंस होते हैं मनुष्य फाइव सेंस होते हैं और भी कई बातें हैं जिसको आप जवाब खोज भी करेंगे ताकि करेंगे तो आपके सामने आएगी और कुदरत ने जो चीज बनाई है लेकिन मैं किसी चीज का एक सपोर्ट नहीं कर रहा हूं कि बिना वजह किसी जानवर की हत्या करते लोग खाते हैं चिकन खाते हालांकि में मोमडन हूं मैं मुसलमान मगर मैं मीट नहीं खाता तो मुझे पसंद नहीं है मगर इसका मतलब यह नहीं है कि हम जो सवाल हमारा है अच्छा है मगर हम किसी को इस चीज से रोक नहीं सकते कि आप इसको ना खाएं यह बात है पेड़ पौधे में भी जाने होती हैं हम जब सांस के जरिए के अंदर खींच ले तो उन्होंने भी जान होती है तो हम किस किसी से इंकार करेंगे यह कुदरत का अपने निजाम है जिसको हम बदल नहीं सकते आप का सवाल बड़ा अच्छा था शायद आपको जवाब पसंद आएगा
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो जॉन सेना में जो इंसानों को खाते हैं और भी कुछ आने वाले हैं जिनको वह खाते हैं
Romanized Version
हेलो जॉन सेना में जो इंसानों को खाते हैं और भी कुछ आने वाले हैं जिनको वह खाते हैंHello John Sena Mein Jo Insanon Ko Khate Hain Aur Bhi Kuch Aane Wale Hain Jinako Wah Khate Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगला बैंक से ही पर सूचना प्राप्त करने में तत्पर एनिमल लोन लेना चाहते तो बिल्कुल नहीं सकते हैं इसके लिए पहले तो आपको जो है आपकी उम्र लगभग 18 से 65 साल होनी चाहिए और इसके अलावा आप चाहे तो मतलब अपने सिवा किसी भी बैंक में जाकर संपर्क कर सकते हैं आ जाओ अपने नजदीकी बैंक में जाकर संपर्क करेंगे तो आपको आप लोन एप्लीकेशन दिया जाएगा जिसमें को ID प्रूफ चाहिए होगा आधार कार्ड पासपोर्ट वोटर ID कार्ड ड्राइविंग गाड़ी की सब्जी और इस ग्रुप में आपको टेलीफोन इलेक्ट्रिसिटी बिल राशन कार्ड और आधार इमेल पासपोर्ट ट्रेड लाइसेंस चेक सर्टिफिकेट सबसे कम फोटो आपका ही होगा ऑनलाइन रिकॉर्ड चाहिए को जो लाइन पर आपका कोई भी मत पशु मतलब जाओ एनिमल्स को रखना चाहती एनिमल का जो बिजनेस करते हो फ्लाइंग का रिकॉर्ड चाहिए भक्ति प्ले बटन को बड़ा करके भेजो पुजवा को बताई जाएगी बैंकों का बैंक के द्वारा नबी की जो भी आपकी बैंक का शाखा वहां पर आकर संपर्क कीजिए और पशु लोन के बारे में होती बिहार की जानकारी वहां से प्राप्त कर सकते हैं
Romanized Version
अगला बैंक से ही पर सूचना प्राप्त करने में तत्पर एनिमल लोन लेना चाहते तो बिल्कुल नहीं सकते हैं इसके लिए पहले तो आपको जो है आपकी उम्र लगभग 18 से 65 साल होनी चाहिए और इसके अलावा आप चाहे तो मतलब अपने सिवा किसी भी बैंक में जाकर संपर्क कर सकते हैं आ जाओ अपने नजदीकी बैंक में जाकर संपर्क करेंगे तो आपको आप लोन एप्लीकेशन दिया जाएगा जिसमें को ID प्रूफ चाहिए होगा आधार कार्ड पासपोर्ट वोटर ID कार्ड ड्राइविंग गाड़ी की सब्जी और इस ग्रुप में आपको टेलीफोन इलेक्ट्रिसिटी बिल राशन कार्ड और आधार इमेल पासपोर्ट ट्रेड लाइसेंस चेक सर्टिफिकेट सबसे कम फोटो आपका ही होगा ऑनलाइन रिकॉर्ड चाहिए को जो लाइन पर आपका कोई भी मत पशु मतलब जाओ एनिमल्स को रखना चाहती एनिमल का जो बिजनेस करते हो फ्लाइंग का रिकॉर्ड चाहिए भक्ति प्ले बटन को बड़ा करके भेजो पुजवा को बताई जाएगी बैंकों का बैंक के द्वारा नबी की जो भी आपकी बैंक का शाखा वहां पर आकर संपर्क कीजिए और पशु लोन के बारे में होती बिहार की जानकारी वहां से प्राप्त कर सकते हैंAgla Bank Se Hi Par Soochna Prapt Karne Mein Tatpar Animal Loan Lena Chahte To Bilkul Nahi Sakte Hain Iske Liye Pehle To Aapko Jo Hai Aapki Umar Lagbhag 18 Se 65 Saal Honi Chahiye Aur Iske Alava Aap Chahe To Matlab Apne Siva Kisi Bhi Bank Mein Jaakar Sampark Kar Sakte Hain Aa Jao Apne Najadiki Bank Mein Jaakar Sampark Karenge To Aapko Aap Loan Application Diya Jayega Jisme Ko ID Proof Chahiye Hoga Aadhar Card Passport Voter ID Card Driving Gaadi Ki Sabzi Aur Is Group Mein Aapko Telephone Electricity Bill Raashan Card Aur Aadhar Imel Passport Trade License Check Certificate Sabse Kum Photo Aapka Hi Hoga Online Record Chahiye Ko Jo Line Par Aapka Koi Bhi Mat Pashu Matlab Jao Enimals Ko Rakhna Chahti Animal Ka Jo Business Karte Ho Flying Ka Record Chahiye Bhakti Play Button Ko Bada Karke Bhejo Pujva Ko Batai Jayegi Bankon Ka Bank Ke Dwara Nabi Ki Jo Bhi Aapki Bank Ka Sakha Wahan Par Aakar Sampark Kijiye Aur Pashu Loan Ke Baare Mein Hoti Bihar Ki Jankari Wahan Se Prapt Kar Sakte Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो लोग पशु पक्षियों को मारकर खाते हैं वह अगले जन्म में पशु पक्षी बनेंगे या फिर कुछ और इसकी जानकारी तो किसी को भी नहीं है क्योंकि हमें यह नहीं पता कि अगला जन्म होता भी है या फिर नहीं हालांकि लोग ऐसा बिल्कुल बोलते हैं कि अगर हम पशु पक्षियों को मार कर खाएंगे तो अगले जन्म में हमें भी पशु या पक्षी ही बनना पड़ेगा और ऐसा लेकिन कोई हंड्रेड परसेंट प्योरिटी के साथ नहीं बता सकता है कि यह बातें सही है या फिर नहीं लेकिन मुझे लगता है कि हमें शाकाहारी ही बनना चाहिए और मांसाहारी जो लोग हैं उन्हें भी शाकाहारी बनने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि अगर हम किसी भी पशु पक्षी को मार कर खाते हैं तू नैतिक रुप से हम उन पर अत्याचार कर रहे हैं और उनकी हत्या करके अपना पेट भर रहे हैं तो इस तरह से मुझे यह चीजें ठीक नहीं लगती हैं हालांकि अगर सभी लोग शाकाहारी बन जाए तो पूरे विश्व में खाने की कमी होना लाजमी है क्योंकि आज हम देखते हैं हमारे देश में ही कि बहुत सारे लोग भुखमरी का शिकार है उनके पास खाना नहीं है और वह भूखे मर जाते हैं और इस स्थिति में अगर लोग जितने भी भारत में है अगर वही सारे शाकाहारी बन जाएं तो खाने की बहुत ज्यादा कमी होने वाली है इसीलिए मुझे लगता है कि जो जैसा चल रहा है वह सही है और इसमें कोई भी बदलाव नहीं करना चाहिए और यह लोग इंटरेस्ट के ऊपर है कि वह शाकाहारी बनना चाहते हैं या फिर मांसाहारी
Romanized Version
जो लोग पशु पक्षियों को मारकर खाते हैं वह अगले जन्म में पशु पक्षी बनेंगे या फिर कुछ और इसकी जानकारी तो किसी को भी नहीं है क्योंकि हमें यह नहीं पता कि अगला जन्म होता भी है या फिर नहीं हालांकि लोग ऐसा बिल्कुल बोलते हैं कि अगर हम पशु पक्षियों को मार कर खाएंगे तो अगले जन्म में हमें भी पशु या पक्षी ही बनना पड़ेगा और ऐसा लेकिन कोई हंड्रेड परसेंट प्योरिटी के साथ नहीं बता सकता है कि यह बातें सही है या फिर नहीं लेकिन मुझे लगता है कि हमें शाकाहारी ही बनना चाहिए और मांसाहारी जो लोग हैं उन्हें भी शाकाहारी बनने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि अगर हम किसी भी पशु पक्षी को मार कर खाते हैं तू नैतिक रुप से हम उन पर अत्याचार कर रहे हैं और उनकी हत्या करके अपना पेट भर रहे हैं तो इस तरह से मुझे यह चीजें ठीक नहीं लगती हैं हालांकि अगर सभी लोग शाकाहारी बन जाए तो पूरे विश्व में खाने की कमी होना लाजमी है क्योंकि आज हम देखते हैं हमारे देश में ही कि बहुत सारे लोग भुखमरी का शिकार है उनके पास खाना नहीं है और वह भूखे मर जाते हैं और इस स्थिति में अगर लोग जितने भी भारत में है अगर वही सारे शाकाहारी बन जाएं तो खाने की बहुत ज्यादा कमी होने वाली है इसीलिए मुझे लगता है कि जो जैसा चल रहा है वह सही है और इसमें कोई भी बदलाव नहीं करना चाहिए और यह लोग इंटरेस्ट के ऊपर है कि वह शाकाहारी बनना चाहते हैं या फिर मांसाहारीJo Log Pashu Pakshiyo Ko Marakar Khate Hain Wah Agle Janm Mein Pashu Pakshi Banenge Ya Phir Kuch Aur Iski Jankari To Kisi Ko Bhi Nahi Hai Kyonki Hume Yeh Nahi Pata Ki Agla Janm Hota Bhi Hai Ya Phir Nahi Halanki Log Aisa Bilkul Bolte Hain Ki Agar Hum Pashu Pakshiyo Ko Maar Kar Khayenge To Agle Janm Mein Hume Bhi Pashu Ya Pakshi Hi Banana Padega Aur Aisa Lekin Koi Hundred Percent Pyoriti Ke Saath Nahi Bata Sakta Hai Ki Yeh Batein Sahi Hai Ya Phir Nahi Lekin Mujhe Lagta Hai Ki Hume Sakahari Hi Banana Chahiye Aur Mansahari Jo Log Hain Unhen Bhi Sakahari Banane Ki Koshish Karni Chahiye Kyonki Agar Hum Kisi Bhi Pashu Pakshi Ko Maar Kar Khate Hain Tu Naitik Roop Se Hum Un Par Atyachar Kar Rahe Hain Aur Unki Hatya Karke Apna Pet Bhar Rahe Hain To Is Tarah Se Mujhe Yeh Cheezen Theek Nahi Lagti Hain Halanki Agar Sabhi Log Sakahari Ban Jaye To Poore Vishwa Mein Khane Ki Kami Hona Lajmi Hai Kyonki Aaj Hum Dekhte Hain Hamare Desh Mein Hi Ki Bahut Sare Log Bhukhmari Ka Shikar Hai Unke Paas Khana Nahi Hai Aur Wah Bhukhe Mar Jaate Hain Aur Is Sthiti Mein Agar Log Jitne Bhi Bharat Mein Hai Agar Wahi Sare Sakahari Ban Jayen To Khane Ki Bahut Jyada Kami Hone Wali Hai Isliye Mujhe Lagta Hai Ki Jo Jaisa Chal Raha Hai Wah Sahi Hai Aur Isme Koi Bhi Badlav Nahi Karna Chahiye Aur Yeh Log Interest Ke Upar Hai Ki Wah Sakahari Banana Chahte Hain Ya Phir Mansahari
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे राहुल गांधी ने कहा कि देश में सिर्फ दो ही आदमी है बाकी सब जानवर तो शायद मुझे लगता है कि कुछ दिन पहले हमें शादी का एक बयान आया था जिसमें उन्होंने कहा था पूरा विपक्ष एक सांप छछूंदर कुत्ता बिल्ली पता नहीं क्या-क्या बोला था तुलना की थी जानवरों से मुझे लगता है कि देश में केवल दो आदमी बचे हैं मुझे लगता है वह दो आदमी शायद एक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे हमेशा उन्हीं के लिए यह वक्तव्य का गया इसके पीछे कारण मुझे वही लग रहा है जो कुछ दिन पहले हमेशा जी ने बयान दिया था कि पूरा विपक्ष कुत्ता बिल्ली छछूंदर बन गया है मोदी जी को देखकर तो मुझे लगता है कि 2019 का चुनाव आने वाला है इस प्रकार के बयान तो इस से भी नीचे गिरे हुए बयानों को हम सुनेंगे क्योंकि हर व्यक्ति को अपनी राजनीति चमकाना है चाहे कांग्रेस हो चाहे भारतीय जनता पार्टी जब तक इस घर की बयान नहीं देंगे तब तक वह लाइमलाइट में नहीं रहेंगे और कहीं ना कहीं 2019 की जो सत्ता की चाबी उसे दूर हो जाएगी
Romanized Version
दिखे राहुल गांधी ने कहा कि देश में सिर्फ दो ही आदमी है बाकी सब जानवर तो शायद मुझे लगता है कि कुछ दिन पहले हमें शादी का एक बयान आया था जिसमें उन्होंने कहा था पूरा विपक्ष एक सांप छछूंदर कुत्ता बिल्ली पता नहीं क्या-क्या बोला था तुलना की थी जानवरों से मुझे लगता है कि देश में केवल दो आदमी बचे हैं मुझे लगता है वह दो आदमी शायद एक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे हमेशा उन्हीं के लिए यह वक्तव्य का गया इसके पीछे कारण मुझे वही लग रहा है जो कुछ दिन पहले हमेशा जी ने बयान दिया था कि पूरा विपक्ष कुत्ता बिल्ली छछूंदर बन गया है मोदी जी को देखकर तो मुझे लगता है कि 2019 का चुनाव आने वाला है इस प्रकार के बयान तो इस से भी नीचे गिरे हुए बयानों को हम सुनेंगे क्योंकि हर व्यक्ति को अपनी राजनीति चमकाना है चाहे कांग्रेस हो चाहे भारतीय जनता पार्टी जब तक इस घर की बयान नहीं देंगे तब तक वह लाइमलाइट में नहीं रहेंगे और कहीं ना कहीं 2019 की जो सत्ता की चाबी उसे दूर हो जाएगीDikhe Rahul Gandhi Ne Kaha Ki Desh Mein Sirf Do Hi Aadmi Hai Baki Sab Janwar To Shayad Mujhe Lagta Hai Ki Kuch Din Pehle Hume Shadi Ka Ek Bayan Aaya Tha Jisme Unhone Kaha Tha Pura Vipaksh Ek Saamp Chhachhundar Kutta Billi Pata Nahi Kya Kya Bola Tha Tulna Ki Thi Jaanvaro Se Mujhe Lagta Hai Ki Desh Mein Kewal Do Aadmi Bache Hain Mujhe Lagta Hai Wah Do Aadmi Shayad Ek Pradhanmantri Narendra Modi Ne Dusre Hamesha Unhin Ke Liye Yeh Vaktavya Ka Gaya Iske Piche Kaaran Mujhe Wahi Lag Raha Hai Jo Kuch Din Pehle Hamesha Ji Ne Bayan Diya Tha Ki Pura Vipaksh Kutta Billi Chhachhundar Ban Gaya Hai Modi Ji Ko Dekhkar To Mujhe Lagta Hai Ki 2019 Ka Chunav Aane Wala Hai Is Prakar Ke Bayan To Is Se Bhi Neeche Gire Hue Bayanon Ko Hum Sunenge Kyonki Har Vyakti Ko Apni Rajneeti Chamakana Hai Chahe Congress Ho Chahe Bhartiya Janta Party Jab Tak Is Ghar Ki Bayan Nahi Denge Tab Tak Wah Limelight Mein Nahi Rahenge Aur Kahin Na Kahin 2019 Ki Jo Satta Ki Chabi Use Dur Ho Jayegi
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य ने सर्वप्रथम कुत्ता पाला था
Romanized Version
मनुष्य ने सर्वप्रथम कुत्ता पाला थाManusya Ne Sarvapratham Kutta Palau Thaa
Likes  29  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बैल आदि पशुओं का सौदा करने का व्यवसाय करने वाली एक जाति साथिया है
Romanized Version
बैल आदि पशुओं का सौदा करने का व्यवसाय करने वाली एक जाति साथिया हैBael Aadi Pashuo Ka Sauda Karne Ka Vyavasaya Karne Wali Ek Jati Sathiya Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुरोहित पशु आरोग्य शिविर उम्मीदों के लिए वर्तमान वित्तीय वर्ष में 25000000 की धनराशि स्वीकृत की गई है
Romanized Version
नहीं मैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुरोहित पशु आरोग्य शिविर उम्मीदों के लिए वर्तमान वित्तीय वर्ष में 25000000 की धनराशि स्वीकृत की गई हैNahi Main Uttar Pradesh Sarkar Dwara Pandit Deendayal Upadhyay Purohit Pashu Aarogya Shivir Ummidon Ke Liye Vartaman Vittiy Varsh Mein 25000000 Ki Dhanrashi Sawikrit Ki Gayi Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल के चित्र कर रहे हैं सबसे पहले बीजेपी कांग्रेस के चुनाव बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह
Romanized Version
बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल के चित्र कर रहे हैं सबसे पहले बीजेपी कांग्रेस के चुनाव बीजेपी अध्यक्ष अमित शाहBjp Neta Naresh Agrawal Ke Chitra Kar Rahe Hain Sabse Pehle Bjp Congress Ke Chunav Bjp Adhyaksh Amit Shah
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विश्व का सबसे बड़ा जीव या जानवर ब्लू व्हेल है जिसका वजन करीब 180 टन यानी कि 180 हजार किलो होता है रेल की लंबाई करीब 30 मीटर के आसपास होती है
Romanized Version
विश्व का सबसे बड़ा जीव या जानवर ब्लू व्हेल है जिसका वजन करीब 180 टन यानी कि 180 हजार किलो होता है रेल की लंबाई करीब 30 मीटर के आसपास होती हैVishwa Ka Sabse Bada Jeev Ya Janwar Blue Whale Hai Jiska Wajan Karib 180 Ton Yani Ki 180 Hazar Kilo Hota Hai Rail Ki Lambai Karib 30 Meter Ke Aaspass Hoti Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खटिया पे पूछा इंसानों के समान क्या किसी जानवरों को डायबिटीज ब्लड प्रेशर की ताजिया मासिक धर्म जैसी बीमारियां होती है तो नार्मल ईयर डायबिटीज की प्रॉब्लम से बहुत ज्यादा देखे गए तो डायबिटीज का प्रॉब्लम तो इंसान और जानवरों दोनों के बीच में होता है उनका भी होता है टाइम टेबल
Romanized Version
खटिया पे पूछा इंसानों के समान क्या किसी जानवरों को डायबिटीज ब्लड प्रेशर की ताजिया मासिक धर्म जैसी बीमारियां होती है तो नार्मल ईयर डायबिटीज की प्रॉब्लम से बहुत ज्यादा देखे गए तो डायबिटीज का प्रॉब्लम तो इंसान और जानवरों दोनों के बीच में होता है उनका भी होता है टाइम टेबलKhattiya Pe Poocha Insanon Ke Saman Kya Kisi Jaanvaro Ko Diabetes Blood Pressure Ki Tajiya Maasik Dharm Jaisi Bimariyan Hoti Hai To Normal Year Diabetes Ki Problem Se Bahut Jyada Dekhe Gaye To Diabetes Ka Problem To Insaan Aur Jaanvaro Dono Ke Beech Mein Hota Hai Unka Bhi Hota Hai Time Table
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
सबसे ज्यादा जीने वाला जानवर एक जेली फिश है या कहे तो स्पंज है। इस स्पंज की उम्र दुनिया में सबसे अधिक है। ऐसा माना जाता है कि इनकी उत्पत्ति 500 मिलियन वर्ष पहले हुई थी और आज 5,000 से भी ज्यादा प्रजातियां अस्तित्व में हैं। ये समुद्री पानी में किसी चीज से चिपके होते हैं। इस स्पंज की उम्र 507 साल है। यह जानवर दुनिया की सबसे अधिक उम्र है।
Romanized Version
सबसे ज्यादा जीने वाला जानवर एक जेली फिश है या कहे तो स्पंज है। इस स्पंज की उम्र दुनिया में सबसे अधिक है। ऐसा माना जाता है कि इनकी उत्पत्ति 500 मिलियन वर्ष पहले हुई थी और आज 5,000 से भी ज्यादा प्रजातियां अस्तित्व में हैं। ये समुद्री पानी में किसी चीज से चिपके होते हैं। इस स्पंज की उम्र 507 साल है। यह जानवर दुनिया की सबसे अधिक उम्र है। Sabse Jyada Jeene Wala Janwar Ek Jelly Fish Hai Ya Kahe To Spanj Hai Is Spanj Ki Umar Duniya Mein Sabse Adhik Hai Aisa Mana Jata Hai Ki Inki Utpatti 500 Million Varsh Pehle Hui Thi Aur Aaj 5,000 Se Bhi Jyada Prajatiya Astitv Mein Hain Ye Samudri Pani Mein Kisi Cheez Se Chipke Hote Hain Is Spanj Ki Umar 507 Saal Hai Yeh Janwar Duniya Ki Sabse Adhik Umar Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
शुतुरमुर्ग की ऊंचाई 9 फीट तक होती है। वजन 155 किलोग्राम तक होता है। वह 75 साल तक जीवित रहता है। 70 किलोमीटर की रफ्तार से लगातार आधे घंटे तक दौड़ सकता है। रफ्तार के समय यह खुद को संतुलित रखने के लिए अपने 6 फीट लंबे पंख का इस्तेमाल करता है। इस कारण यह दुनिया का सबसे बड़ा पक्षी कहलाता है। और इसी कारण ये दुनिया का सबसे बड़ा अंडा भी देता है। इसके अंडे का आकार 6 इंच लंबा और 5 इंच चौड़ा होता है। यह साल में ऐसे 60 अंडे दे सकता है। इसके अंडे से 40 दिनों में चूजे बाहर आते हैं। एक अंडे का वजन 1.6 किलोग्राम तक होता है। शुतुरमुर्ग का एक अंडा मुर्गी के 24 अंडे के बराबर होता है।
Romanized Version
शुतुरमुर्ग की ऊंचाई 9 फीट तक होती है। वजन 155 किलोग्राम तक होता है। वह 75 साल तक जीवित रहता है। 70 किलोमीटर की रफ्तार से लगातार आधे घंटे तक दौड़ सकता है। रफ्तार के समय यह खुद को संतुलित रखने के लिए अपने 6 फीट लंबे पंख का इस्तेमाल करता है। इस कारण यह दुनिया का सबसे बड़ा पक्षी कहलाता है। और इसी कारण ये दुनिया का सबसे बड़ा अंडा भी देता है। इसके अंडे का आकार 6 इंच लंबा और 5 इंच चौड़ा होता है। यह साल में ऐसे 60 अंडे दे सकता है। इसके अंडे से 40 दिनों में चूजे बाहर आते हैं। एक अंडे का वजन 1.6 किलोग्राम तक होता है। शुतुरमुर्ग का एक अंडा मुर्गी के 24 अंडे के बराबर होता है।Shuturmurg Ki Unchai 9 Feet Tak Hoti Hai Wajan 155 Kilogram Tak Hota Hai Wah 75 Saal Tak Jeevit Rehta Hai 70 Kilometre Ki Raftaar Se Lagatar Aadhe Ghante Tak Daudh Sakta Hai Raftaar Ke Samay Yeh Khud Ko Santulit Rakhne Ke Liye Apne 6 Feet Lambe Pankh Ka Istemal Karta Hai Is Kaaran Yeh Duniya Ka Sabse Bada Pakshi Kehlata Hai Aur Isi Kaaran Ye Duniya Ka Sabse Bada Anda Bhi Deta Hai Iske Ande Ka Aakaar 6 Inch Lamba Aur 5 Inch Chauda Hota Hai Yeh Saal Mein Aise 60 Ande De Sakta Hai Iske Ande Se 40 Dinon Mein Chuje Bahar Aate Hain Ek Ande Ka Wajan 1.6 Kilogram Tak Hota Hai Shuturmurg Ka Ek Anda Murgi Ke 24 Ande Ke Barabar Hota Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
सबसे बड़ा अंडा एलिफेंट बर्ड का था। 19वीं शताब्दी के अंत में या 20वीं शताब्दी की शुरुआत में पुरातत्वविदों ने एक विशालकाय अंडे की खोज की थी। माना जाता है कि यह अंडा 13वीं या 14वीं शताब्दी में मैडागास्कर में विशालकाय पक्षी यानि एलिफेंट बर्ड ने ये अंडा दिया था। इसका वैज्ञानिक नाम एपियोर्निस मैक्सिमस है लेकिन इसे एलिफेंट बर्ड के नाम से जाना जाता है। ये जीवाश्म अंडा इतना बड़ा है कि इसमें मुर्गी के 120 सामान्य अंडे समा सकते हैं।
Romanized Version
सबसे बड़ा अंडा एलिफेंट बर्ड का था। 19वीं शताब्दी के अंत में या 20वीं शताब्दी की शुरुआत में पुरातत्वविदों ने एक विशालकाय अंडे की खोज की थी। माना जाता है कि यह अंडा 13वीं या 14वीं शताब्दी में मैडागास्कर में विशालकाय पक्षी यानि एलिफेंट बर्ड ने ये अंडा दिया था। इसका वैज्ञानिक नाम एपियोर्निस मैक्सिमस है लेकिन इसे एलिफेंट बर्ड के नाम से जाना जाता है। ये जीवाश्म अंडा इतना बड़ा है कि इसमें मुर्गी के 120 सामान्य अंडे समा सकते हैं।Sabse Bada Anda Elephanta Bird Ka Tha Vi Shatabdi Ke Ant Mein Ya Vi Shatabdi Ki Shuruvat Mein Puratatwavidon Ne Ek Vishalakay Ande Ki Khoj Ki Thi Mana Jata Hai Ki Yeh Anda Vi Ya Vi Shatabdi Mein Maidagaskar Mein Vishalakay Pakshi Yani Elephanta Bird Ne Ye Anda Diya Tha Iska Vaigyanik Naam Epiyornis Maiksimas Hai Lekin Ise Elephanta Bird Ke Naam Se Jana Jata Hai Ye Jivashm Anda Itna Bada Hai Ki Isme Murgi Ke 120 Samanya Ande Sama Sakte Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
vokalandroid