tag_img

गौतम बुद्ध

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महात्मा बुद्ध का जन्म नेपाल के लुंबिनी में हुआ था उस दिन बुद्ध बुद्ध बुद्ध पूर्णिमा थी और उन्होंने अपना प्रथम उपदेश सारनाथ यूपी में दिया था और सबसे ज्यादा उपदेश उन्होंने अपना श्रावस्ती में दिया था अपना बुद्ध को ज्ञान प्राप्ति भी बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही बोधगया में हुई थी और महात्मा बुद्ध का महानिर्वाण जी से कहा गया था कि महात्मा बुद्ध की मृत्यु हुई बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही हुई थी इसी कारण पूर्णिमा को बौद्धिस्ट में बहुत ही शुभ माना गया है और महात्मा बुद्ध का जन्म निर्धनता को 463 ईसापूर्व में उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में हुआ था
Romanized Version
महात्मा बुद्ध का जन्म नेपाल के लुंबिनी में हुआ था उस दिन बुद्ध बुद्ध बुद्ध पूर्णिमा थी और उन्होंने अपना प्रथम उपदेश सारनाथ यूपी में दिया था और सबसे ज्यादा उपदेश उन्होंने अपना श्रावस्ती में दिया था अपना बुद्ध को ज्ञान प्राप्ति भी बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही बोधगया में हुई थी और महात्मा बुद्ध का महानिर्वाण जी से कहा गया था कि महात्मा बुद्ध की मृत्यु हुई बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही हुई थी इसी कारण पूर्णिमा को बौद्धिस्ट में बहुत ही शुभ माना गया है और महात्मा बुद्ध का जन्म निर्धनता को 463 ईसापूर्व में उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में हुआ थाMahatma Buddha Ka Janm Nepal Ke Lumbini Mein Hua Tha Us Din Buddha Buddha Buddha Poornima Thi Aur Unhone Apna Pratham Updesh Sarnath Up Mein Diya Tha Aur Sabse Jyada Updesh Unhone Apna Shravasti Mein Diya Tha Apna Buddha Ko Gyaan Prapti Bhi Buddha Poornima Ke Din Hi Bodhgaya Mein Hui Thi Aur Mahatma Buddha Ka Mahanirvan Ji Se Kaha Gaya Tha Ki Mahatma Buddha Ki Mrityu Hui Buddha Poornima Ke Din Hi Hui Thi Isi Kaaran Poornima Ko Bauddhist Mein Bahut Hi Shubha Mana Gaya Hai Aur Mahatma Buddha Ka Janm Nirdhanta Ko 463 Isapurv Mein Uttar Pradesh Ke Kushinagar Mein Hua Tha
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महात्मा बुद्ध की शिक्षा में से सबसे अच्छी बात थी समानता वह समानता के पक्ष भट्ट पक्षधर थे महात्मा बुद्ध के अनुसार धार्मिक हो या आध्यात्मिक सभी क्षेत्रों में सभी स्त्री एवं पुरुषों में समान योग्यता और अधिकार होने चाहिए उनका कहना था कि शिक्षा चिकित्सा और आजीविका के क्षेत्र में भी स्त्री और पुरुषों में समानता होनी चाहिए और वह स्त्री और पुरुष की समानता के पक्षधर थे उनके अनुसार एक मानव का दूसरे मानव के साथ व्यवहार मानवता के आधार पर होना चाहिए ना कि जाति धर्म वर्ण और लिंग के आधार पर उनकी शिक्षा ने उस वक्त भी समानता को महत्वपूर्ण स्थान दिया और अगर हम बुद्ध की शिक्षा पर चलें तो आज भी हम यह चाहेंगे कि हमारे समाज में समानता हो हर आधार पर हर क्षेत्र में स्त्री और पुरुषों को भी एक समान दृष्टि से देखा जाए उन्हें एक जैसे कर्तव्य एक जैसे अधिकार दिए जाएं स्त्री और पुरुष में कोई भेद नहीं हो ना किसी को नीचा समझा जाए ना कम समझा जाए वह भी पुरुष के बराबर ही है वह भी पुरुष के समकक्ष ही है और यही बुद्ध की शिक्षाओं में एक महत्वपूर्ण शिक्षा थी एक बहुत अच्छी शिक्षा दी कि उन्होंने हमेशा समानता का पक्ष लिया और वह समानता के पक्षधर थे और वह चाहते थे कि सभी क्षेत्रों में एक समानता का भाव हो और पुरुषों को समान नजर से समान दृष्टि से और समान भाव से देखा जाए
Romanized Version
महात्मा बुद्ध की शिक्षा में से सबसे अच्छी बात थी समानता वह समानता के पक्ष भट्ट पक्षधर थे महात्मा बुद्ध के अनुसार धार्मिक हो या आध्यात्मिक सभी क्षेत्रों में सभी स्त्री एवं पुरुषों में समान योग्यता और अधिकार होने चाहिए उनका कहना था कि शिक्षा चिकित्सा और आजीविका के क्षेत्र में भी स्त्री और पुरुषों में समानता होनी चाहिए और वह स्त्री और पुरुष की समानता के पक्षधर थे उनके अनुसार एक मानव का दूसरे मानव के साथ व्यवहार मानवता के आधार पर होना चाहिए ना कि जाति धर्म वर्ण और लिंग के आधार पर उनकी शिक्षा ने उस वक्त भी समानता को महत्वपूर्ण स्थान दिया और अगर हम बुद्ध की शिक्षा पर चलें तो आज भी हम यह चाहेंगे कि हमारे समाज में समानता हो हर आधार पर हर क्षेत्र में स्त्री और पुरुषों को भी एक समान दृष्टि से देखा जाए उन्हें एक जैसे कर्तव्य एक जैसे अधिकार दिए जाएं स्त्री और पुरुष में कोई भेद नहीं हो ना किसी को नीचा समझा जाए ना कम समझा जाए वह भी पुरुष के बराबर ही है वह भी पुरुष के समकक्ष ही है और यही बुद्ध की शिक्षाओं में एक महत्वपूर्ण शिक्षा थी एक बहुत अच्छी शिक्षा दी कि उन्होंने हमेशा समानता का पक्ष लिया और वह समानता के पक्षधर थे और वह चाहते थे कि सभी क्षेत्रों में एक समानता का भाव हो और पुरुषों को समान नजर से समान दृष्टि से और समान भाव से देखा जाएMahatma Buddha Ki Shiksha Mein Se Sabse Acchi Baat Thi Samanata Wah Samanata Ke Paksh Bhatt Pakshadhar The Mahatma Buddha Ke Anusar Dharmik Ho Ya Aadhyatmik Sabhi Kshetro Mein Sabhi Stri Evam Purushon Mein Saman Yogyata Aur Adhikaar Hone Chahiye Unka Kehna Tha Ki Shiksha Chikitsa Aur Aajiwika Ke Kshetra Mein Bhi Stri Aur Purushon Mein Samanata Honi Chahiye Aur Wah Stri Aur Purush Ki Samanata Ke Pakshadhar The Unke Anusar Ek Manav Ka Dusre Manav Ke Saath Vyavhar Manavta Ke Aadhar Par Hona Chahiye Na Ki Jati Dharm Varn Aur Ling Ke Aadhar Par Unki Shiksha Ne Us Waqt Bhi Samanata Ko Mahatvapurna Sthan Diya Aur Agar Hum Buddha Ki Shiksha Par Chalen To Aaj Bhi Hum Yeh Chahenge Ki Hamare Samaaj Mein Samanata Ho Har Aadhar Par Har Kshetra Mein Stri Aur Purushon Ko Bhi Ek Saman Drishti Se Dekha Jaye Unhen Ek Jaise Kartavya Ek Jaise Adhikaar Diye Jayen Stri Aur Purush Mein Koi Bhed Nahi Ho Na Kisi Ko Nicha Samjha Jaye Na Kum Samjha Jaye Wah Bhi Purush Ke Barabar Hi Hai Wah Bhi Purush Ke Samkaksh Hi Hai Aur Yahi Buddha Ki Shikshaon Mein Ek Mahatvapurna Shiksha Thi Ek Bahut Acchi Shiksha Di Ki Unhone Hamesha Samanata Ka Paksh Liya Aur Wah Samanata Ke Pakshadhar The Aur Wah Chahte The Ki Sabhi Kshetro Mein Ek Samanata Ka Bhav Ho Aur Purushon Ko Saman Nazar Se Saman Drishti Se Aur Saman Bhav Se Dekha Jaye
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बुद्ध को मानने ना मानने से वह कंट्री आगे नहीं है साउथ कोरिया भी बहुत आगे साउथ कोरिया मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में Samsung मां से आती है उससे आगे मुझे नहीं लगता कि ह्यूमन मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में टेक्नोलॉजी में कोई और आ गया है साउथ कोरिया बहुत आगे है अमेरिका बहुत आगे है तो इन दोनों देशों में तो बुद्ध की कोई पूजा नहीं होती वहां तो क्रिश्चन है लेकिन वह भी आ गए हैं वहां का सरकार वहां के लोग वहां की जनता डिसाइड करती है कि देश कितने आगे तक जाएगा वहां की गवर्नमेंट आखिर नौकरशाह डिसाइड करते हैं भगवान का पूजा करने से कोई आज तक आगे नहीं किया है तो यह बुद्ध का कव्वाली है भाई यह वहां की गवर्नमेंट वहां के लोगों का दिमाग की यूनिटी का कमाल है कि वह देश कितने आगे हैं और बिल्कुल भारत क्रोध कर रहा है भारत भी एक दिन ऐसा होगा कि वहां भारत भी उस लेवल पर पहुंचेगा डेवलपिंग से कभी ना कभी तो डेवलप कंट्री बनेगा
Romanized Version
बुद्ध को मानने ना मानने से वह कंट्री आगे नहीं है साउथ कोरिया भी बहुत आगे साउथ कोरिया मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में Samsung मां से आती है उससे आगे मुझे नहीं लगता कि ह्यूमन मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में टेक्नोलॉजी में कोई और आ गया है साउथ कोरिया बहुत आगे है अमेरिका बहुत आगे है तो इन दोनों देशों में तो बुद्ध की कोई पूजा नहीं होती वहां तो क्रिश्चन है लेकिन वह भी आ गए हैं वहां का सरकार वहां के लोग वहां की जनता डिसाइड करती है कि देश कितने आगे तक जाएगा वहां की गवर्नमेंट आखिर नौकरशाह डिसाइड करते हैं भगवान का पूजा करने से कोई आज तक आगे नहीं किया है तो यह बुद्ध का कव्वाली है भाई यह वहां की गवर्नमेंट वहां के लोगों का दिमाग की यूनिटी का कमाल है कि वह देश कितने आगे हैं और बिल्कुल भारत क्रोध कर रहा है भारत भी एक दिन ऐसा होगा कि वहां भारत भी उस लेवल पर पहुंचेगा डेवलपिंग से कभी ना कभी तो डेवलप कंट्री बनेगाBuddha Ko Manane Na Manane Se Wah Country Aage Nahi Hai South Korea Bhi Bahut Aage South Korea Mobile Manufacturing Mein Samsung Maa Se Aati Hai Usse Aage Mujhe Nahi Lagta Ki Human Mobile Manufacturing Mein Technology Mein Koi Aur Aa Gaya Hai South Korea Bahut Aage Hai America Bahut Aage Hai To In Dono Deshon Mein To Buddha Ki Koi Puja Nahi Hoti Wahan To Krishchan Hai Lekin Wah Bhi Aa Gaye Hain Wahan Ka Sarkar Wahan Ke Log Wahan Ki Janta Decide Karti Hai Ki Desh Kitne Aage Tak Jayega Wahan Ki Government Aakhir Naukarashah Decide Karte Hain Bhagwan Ka Puja Karne Se Koi Aaj Tak Aage Nahi Kiya Hai To Yeh Buddha Ka Kawwali Hai Bhai Yeh Wahan Ki Government Wahan Ke Logon Ka Dimag Ki Unity Ka Kamal Hai Ki Wah Desh Kitne Aage Hain Aur Bilkul Bharat Krodh Kar Raha Hai Bharat Bhi Ek Din Aisa Hoga Ki Wahan Bharat Bhi Us Level Par Pahunchega Developing Se Kabhi Na Kabhi To Develop Country Banega
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध द्वारा दिए गए कुछ उपदेश अगर आप जानना चाहते हैं तो पहले बता देना चाहूंगा कि महात्मा बुद्ध ज्योति यह बौद्ध धर्म के संस्थापक माने जाते हैं और इनके कुछ उपदेश मैं आपको बताता हूं गाना जो है नाश्ता भूतकाल में कभी भी मत बची भविष्य का सपना मत देखिए वर्तमान पर ध्यान दीजिए यही खुशी का रास्ता है और दूसरा ग्रुप है अगर जिसकी क्रोध की बात आती है तो आपको क्रूर की जगह सजा नहीं मिलती है बल्कि आपको क्रोध से सजा मिलती है तीसरा बोल सकते हैं संदेश तक चंदेरी और सब की आदत भयानक और कुछ नहीं होता संधि और सच्चे लोगों के आपस में दूरी बढ़ती है और मित्रता जीवित होता है संगठन किसी से प्यार करते तो बिल्कुल भी तेज होती है हजारों लगाया जितना अच्छा अपना ऊपर विजय प्राप्त करो फिर हमेशा जीत आपकी होगी कभी भी अगर जो लगाई हो कि बात ही तो फोन पर विजय प्राप्त करे तू ही जीत होगी दुनिया में तीन चीजें कभी नहीं छुपाया जा सकता है सूर्य चंद्र और सच हमेशा सामने आती है बोल सकते हैं मंजिल को पाने से अच्छा है या अच्छा सबसे अच्छा हुआ एक शब्द है जो शांति लाता हूं और बुराई को खत्म किया जा सकती की राही सत्य पर चलने वाले व्यक्ति सिर्फ दो ही गलतियां कर सकते हैं यह तो पूरा रास्ता कह नहीं सकते हैं यह तो शुरुआत नहीं करते यह तो गलती होती है कि आप जलता हुआ कोयला किसी दूसरे को सीखना है जो सबसे पहले आपको चलाता हूं ज्यादा समोसा खुशियां एक जलते हुए दीपक दीपक दीपक दीपक रोशनी कम नहीं होती उसे खुशियां बांटने से बढ़ती है कम नहीं होती है तो यह सब कुछ है
Romanized Version
गौतम बुद्ध द्वारा दिए गए कुछ उपदेश अगर आप जानना चाहते हैं तो पहले बता देना चाहूंगा कि महात्मा बुद्ध ज्योति यह बौद्ध धर्म के संस्थापक माने जाते हैं और इनके कुछ उपदेश मैं आपको बताता हूं गाना जो है नाश्ता भूतकाल में कभी भी मत बची भविष्य का सपना मत देखिए वर्तमान पर ध्यान दीजिए यही खुशी का रास्ता है और दूसरा ग्रुप है अगर जिसकी क्रोध की बात आती है तो आपको क्रूर की जगह सजा नहीं मिलती है बल्कि आपको क्रोध से सजा मिलती है तीसरा बोल सकते हैं संदेश तक चंदेरी और सब की आदत भयानक और कुछ नहीं होता संधि और सच्चे लोगों के आपस में दूरी बढ़ती है और मित्रता जीवित होता है संगठन किसी से प्यार करते तो बिल्कुल भी तेज होती है हजारों लगाया जितना अच्छा अपना ऊपर विजय प्राप्त करो फिर हमेशा जीत आपकी होगी कभी भी अगर जो लगाई हो कि बात ही तो फोन पर विजय प्राप्त करे तू ही जीत होगी दुनिया में तीन चीजें कभी नहीं छुपाया जा सकता है सूर्य चंद्र और सच हमेशा सामने आती है बोल सकते हैं मंजिल को पाने से अच्छा है या अच्छा सबसे अच्छा हुआ एक शब्द है जो शांति लाता हूं और बुराई को खत्म किया जा सकती की राही सत्य पर चलने वाले व्यक्ति सिर्फ दो ही गलतियां कर सकते हैं यह तो पूरा रास्ता कह नहीं सकते हैं यह तो शुरुआत नहीं करते यह तो गलती होती है कि आप जलता हुआ कोयला किसी दूसरे को सीखना है जो सबसे पहले आपको चलाता हूं ज्यादा समोसा खुशियां एक जलते हुए दीपक दीपक दीपक दीपक रोशनी कम नहीं होती उसे खुशियां बांटने से बढ़ती है कम नहीं होती है तो यह सब कुछ हैGautam Buddha Dwara Diye Gaye Kuch Updesh Agar Aap Janana Chahte Hain To Pehle Bata Dena Chahunga Ki Mahatma Buddha Jyoti Yeh Baudh Dharm Ke Sansthapak Mane Jaate Hain Aur Inke Kuch Updesh Main Aapko Batata Hoon Gaana Jo Hai Nashta Bhootkal Mein Kabhi Bhi Mat Bachi Bhavishya Ka Sapna Mat Dekhie Vartaman Par Dhyan Dijiye Yahi Khushi Ka Rasta Hai Aur Doosra Group Hai Agar Jiski Krodh Ki Baat Aati Hai To Aapko Krur Ki Jagah Saja Nahi Milti Hai Balki Aapko Krodh Se Saja Milti Hai Teesra Bol Sakte Hain Sandesh Tak Chanderi Aur Sab Ki Aadat Bhayaanak Aur Kuch Nahi Hota Sandhi Aur Sacche Logon Ke Aapas Mein Doori Badhti Hai Aur Mitrata Jeevit Hota Hai Sangathan Kisi Se Pyar Karte To Bilkul Bhi Tez Hoti Hai Hajaron Lagaya Jitna Accha Apna Upar Vijay Prapt Karo Phir Hamesha Jeet Aapki Hogi Kabhi Bhi Agar Jo Lagai Ho Ki Baat Hi To Phone Par Vijay Prapt Kare Tu Hi Jeet Hogi Duniya Mein Teen Cheezen Kabhi Nahi Chupaya Ja Sakta Hai Surya Chandra Aur Sach Hamesha Samane Aati Hai Bol Sakte Hain Manjil Ko Pane Se Accha Hai Ya Accha Sabse Accha Hua Ek Shabdh Hai Jo Shanti Lata Hoon Aur Burayi Ko Khatam Kiya Ja Sakti Ki Raahi Satya Par Chalne Wale Vyakti Sirf Do Hi Galtiya Kar Sakte Hain Yeh To Pura Rasta Keh Nahi Sakte Hain Yeh To Shuruvat Nahi Karte Yeh To Galti Hoti Hai Ki Aap Jalta Hua Koyla Kisi Dusre Ko Sikhna Hai Jo Sabse Pehle Aapko Chalata Hoon Jyada Samosa Khushiyan Ek Jalate Huye Dipak Dipak Dipak Dipak Roshni Kam Nahi Hoti Use Khushiyan Bantane Se Badhti Hai Kam Nahi Hoti Hai To Yeh Sab Kuch Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मगध का सम्राट अशोक के युद्ध के समय का लिंग के चाहिए
Romanized Version
मगध का सम्राट अशोक के युद्ध के समय का लिंग के चाहिएMagadh Ka Samrat Ashok Ke Yudh Ke Samay Ka Ling Ke Chahiye
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध का जन्म लुंबिनी नेपाल के अंदर हुआ था
Romanized Version
गौतम बुद्ध का जन्म लुंबिनी नेपाल के अंदर हुआ थाGautam Buddha Ka Janm Lumbini Nepal Ke Andar Hua Tha
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध के पिता का नाम शुद्ध दूध ना था जो की संख्या का लीडर था
Romanized Version
गौतम बुद्ध के पिता का नाम शुद्ध दूध ना था जो की संख्या का लीडर थाGautam Buddha Ke Pita Ka Naam Shudh Dudh Na Tha Jo Ki Sankhya Ka Leader Tha
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान बुद्ध ने सारनाथ में सबसे पहले अपना नाम दे दिया
Romanized Version
भगवान बुद्ध ने सारनाथ में सबसे पहले अपना नाम दे दियाBhagwan Buddha Ne Saaranath Mein Sabse Pehle Apna Naam De Diya
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महावीर का जन्म जो है वह भी साला है विशाला जो है महावीर के जन्म प्लेस है
Romanized Version
महावीर का जन्म जो है वह भी साला है विशाला जो है महावीर के जन्म प्लेस हैMahavir Ka Janm Jo Hai Wah Bhi Sala Hai Vishala Jo Hai Mahavir Ke Janm Place Hai
Likes  16  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध का जन्म लुंबिनी नेपाल में हुआ था
Romanized Version
गौतम बुद्ध का जन्म लुंबिनी नेपाल में हुआ थाGautam Buddha Ka Janm Lumbini Nepal Mein Hua Tha
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नरेंद्र मोदी गुजरात के बड़नगर में पैदा हुए थे
Romanized Version
नरेंद्र मोदी गुजरात के बड़नगर में पैदा हुए थेNarendra Modi Gujarat Ke Badanagar Mein Paida Huye The
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध के पिता का नाम श्री सुबोध ना था और उनकी मां का नाम आया था
Romanized Version
गौतम बुद्ध के पिता का नाम श्री सुबोध ना था और उनकी मां का नाम आया थाGautam Buddha Ke Pita Ka Naam Shri Subodh Na Tha Aur Unki Maa Ka Naam Aaya Tha
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महात्मा गांधी ने गौतम बुध के नाम से जाना जाता है गौतम बुद्ध का जन्म किस साल से 563 साल पहले जब कपिलवस्तु की महारानी महामाया देवी अपने नेहा देवता जा रही थी तो रास्ते में लुंबिनी वन में हुआ इंतजार तो यह सर नेपाल के तराई क्षेत्र न कपिलवस्तु देवता के बीच नौतनवा स्टेशन से 8 मील दूर पश्चिम में रुक मंदिर नामक स्थान है वहां तक जाने की उम्मीद इन आम का बांदा ग्राम सिद्धार्थ रखा गया उनके पिता का नाम से तरनतारन के साथ दिन बाद ही मां का देहांत हो गया सीता की मौसी गौतमी ने उनका विद्यार्थी मौसी गौतमी नियम का पालन लालन पालन किया था
Romanized Version
महात्मा गांधी ने गौतम बुध के नाम से जाना जाता है गौतम बुद्ध का जन्म किस साल से 563 साल पहले जब कपिलवस्तु की महारानी महामाया देवी अपने नेहा देवता जा रही थी तो रास्ते में लुंबिनी वन में हुआ इंतजार तो यह सर नेपाल के तराई क्षेत्र न कपिलवस्तु देवता के बीच नौतनवा स्टेशन से 8 मील दूर पश्चिम में रुक मंदिर नामक स्थान है वहां तक जाने की उम्मीद इन आम का बांदा ग्राम सिद्धार्थ रखा गया उनके पिता का नाम से तरनतारन के साथ दिन बाद ही मां का देहांत हो गया सीता की मौसी गौतमी ने उनका विद्यार्थी मौसी गौतमी नियम का पालन लालन पालन किया थाMahatma Gandhi Ne Gautam Buddha Ke Naam Se Jana Jata Hai Gautam Buddha Ka Janm Kis Saal Se 563 Saal Pehle Jab Kapilvastu Ki Maharani Mahamaya Devi Apne Neha Devta Ja Rahi Thi To Raste Mein Lumbini Van Mein Hua Intejar To Yeh Sar Nepal Ke Tarai Shetra N Kapilvastu Devta Ke Bich Nautanwa Station Se 8 Meal Dur Paschim Mein Ruk Mandir Namak Sthan Hai Wahan Tak Jaane Ki Ummid In Aam Ka Banda Gram Siddharth Rakha Gaya Unke Pita Ka Naam Se Taranataran Ke Saath Din Baad Hi Maa Ka Dehant Ho Gaya Sita Ki Mausi Gautami Ne Unka Vidyarthi Mausi Gautami Niyam Ka Palan Lalani Palan Kiya Tha
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में सबसे बड़ा रेल मार्ग गोरखपुर रेल मार्ग है जो उत्तर प्रदेश में और इसकी लंबाई 1366 दशमलव 35 मीटर है यानी कि 4483 फीट और यह दुनिया का सबसे लंबा रेल मार्ग
भारत में सबसे बड़ा रेल मार्ग गोरखपुर रेल मार्ग है जो उत्तर प्रदेश में और इसकी लंबाई 1366 दशमलव 35 मीटर है यानी कि 4483 फीट और यह दुनिया का सबसे लंबा रेल मार्ग
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान बुद्ध के घर अग्नि का एक कारण जो की सर्वमान्य है यही है कि घर के विलासिता पूर्वक वातावरण का त्याग करना और भविष्य के लिए इतालियन जीवन पद्धति का धारणा यह कुछ वशीकरण थे इसके लिए भगवान बुद्ध ने अपने घर और उस घर की विलासिता का परित्याग किया भगवान बुद्ध को आध्यात्मिकता से लगाओ और उसके प्रति जो उनका योगदान रहा है उत्तर भजन इसके लिए आपको भगवान बुध पर लिखी कोई किताब पढ़ जो क्रमबद्ध हो और आपकी सभी जानकारियों को एक पूर्ण रूप है यश कर पाए तो चली
भगवान बुद्ध के घर अग्नि का एक कारण जो की सर्वमान्य है यही है कि घर के विलासिता पूर्वक वातावरण का त्याग करना और भविष्य के लिए इतालियन जीवन पद्धति का धारणा यह कुछ वशीकरण थे इसके लिए भगवान बुद्ध ने अपने घर और उस घर की विलासिता का परित्याग किया भगवान बुद्ध को आध्यात्मिकता से लगाओ और उसके प्रति जो उनका योगदान रहा है उत्तर भजन इसके लिए आपको भगवान बुध पर लिखी कोई किताब पढ़ जो क्रमबद्ध हो और आपकी सभी जानकारियों को एक पूर्ण रूप है यश कर पाए तो चली
Likes  22  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अशरफ उल्लाह खान जो कि इंडिया के स्वतंत्रता सेनानी में से एक थे जिनका बहुत बड़ा रोल रहा है भारत को आजादी दिलाने में जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए लड़ते हुए अपनी जान कुर्बान कर दी उनका जन्म शाहजहांपुर में हुआ था
Romanized Version
अशरफ उल्लाह खान जो कि इंडिया के स्वतंत्रता सेनानी में से एक थे जिनका बहुत बड़ा रोल रहा है भारत को आजादी दिलाने में जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए लड़ते हुए अपनी जान कुर्बान कर दी उनका जन्म शाहजहांपुर में हुआ थाAshraf Ullah Khan Joe Qi India K Swatantrata Senani Mein Se Ek The Jinka Bahut Bada Roll Raha Hai Bharat Co Aazadi Dilane Mein Jinhonne Swatantrata K Lie Ladate Huye Apni Jaan Kurban Car They Unka Janm Shahjahanpur Mein Hua Thaa
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामपुरवा एक गांव है चोटा सा जो कि बिहार और नेपाल की जो बॉर्डर है वहां पर है यह गौनाहा रेलवे स्टेशन से उत्तर पश्चिम की ओर पर है इस जगह पर ऐसा माना जाता है कि जो गौतम बुद्ध थे और महावीर स्वामी थे दोनों एक जगह पर आए हुए थे
Romanized Version
रामपुरवा एक गांव है चोटा सा जो कि बिहार और नेपाल की जो बॉर्डर है वहां पर है यह गौनाहा रेलवे स्टेशन से उत्तर पश्चिम की ओर पर है इस जगह पर ऐसा माना जाता है कि जो गौतम बुद्ध थे और महावीर स्वामी थे दोनों एक जगह पर आए हुए थेRampurva Ek Gav Hai Chota Sa Jo Ki Bihar Aur Nepal Ki Jo Border Hai Wahan Par Hai Yeh Gaunaha Railway Station Se Uttar Paschim Ki Oar Par Hai Is Jagah Par Aisa Mana Jata Hai Ki Jo Gautam Buddha The Aur Mahavir Swami The Dono Ek Jagah Par Aaye Huye The
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध का जन्म 563 ईसा पूर्व लुंबिनी नेपाल में हुआ था
गौतम बुद्ध का जन्म 563 ईसा पूर्व लुंबिनी नेपाल में हुआ था
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रहीम का जन्म 15 दिसंबर 1556 को दिल्ली में हुआ था
रहीम का जन्म 15 दिसंबर 1556 को दिल्ली में हुआ था
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महावीर स्वामी का जन्म वैशाली के क्षत्रिय कुंडलपुर में हुआ था जो कि इससे 599 साल पहले हुई थी
महावीर स्वामी का जन्म वैशाली के क्षत्रिय कुंडलपुर में हुआ था जो कि इससे 599 साल पहले हुई थी
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तथागत भगवान बुद्ध के पिता का नाम शुद्धोधन था
तथागत भगवान बुद्ध के पिता का नाम शुद्धोधन था
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किरण बेदी जो भारत की पहली महिला आईपीएस ऑफिसर थी उनका जन्म 9 जून 1949 को अमृतसर पंजाब में हुआ था
किरण बेदी जो भारत की पहली महिला आईपीएस ऑफिसर थी उनका जन्म 9 जून 1949 को अमृतसर पंजाब में हुआ था
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौतम बुद्ध के सारथी का नाम चलना था
गौतम बुद्ध के सारथी का नाम चलना था
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon
<html><body><p>गौतम बुद्धा की पत्नी का नाम यशोधरा था </p> </body></html>
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
vokalandroid