tag_img

केजरीवाल

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी वैसे ही अब धीरे-धीरे करके अरविंद केजरीवाल की पार्टी बन गई है और अरविंद केजरीवाल जो एक अपने को डेमोक्रेटिक लीडर की तरह प्रोजेक्ट कर देता था इस तरीके से सुप्रीमो हो गया सुप्रीम कमांडर हो गए हैं l आज की तारीख में अरविंद केजरीवाल के खिलाफ में कोई भी खड़ा नहीं हो सकता है और अरविंद केजरीवाल ने जिस तरीके से बाकि पार्टी के प्रशांत भूषण को बाहर किया और योगेंद्र यादव को बाहर किया उसे इस बात को क्लियर हो गया कि जो भी उनके खिलाफ खड़ा होगा उसको वह टॉलरेट नहीं करेंगे , उसको निकाल देंगे l कुमार विश्वास ने भी काफी समय से अरविंद केजरीवाल के खिलाफ तो नहीं लेकिन कम से कम अरविंद केजरीवाल को सपोर्ट नहीं किया हैl जैसे कि जो इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में जो पार्टी का स्टैंड था कि जो इन की हार हुई दिल्ली में वह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के वजह से हुई उसमें कुमार विश्वास ने अपना एक व्यक्तिगत मत दिया था जो कि इस विचार से अलग था और यह बात पार्टी को अच्छी नहीं लगी l तो कुमार विश्वास इंडिपेंडेंट माइंड के हैं, पोएट है और वह अपने हिसाब से जिंदगी जीना चाहते हैं और वह इस तरीके डिसिप्लिन में बांधके नहीं रहना चाहते हैं l और इसीलिए कुमार विश्वास को यह डिसाइड करना होगा कि वह आपको छोड़ रहे हैं और यह तो राजनीति अपना नाता तोड़ने या फिर ऐसी राजनीतिक पार्टी में जाएं जहां पर वह ज्यादा एक्सेप्ट टेबल है या ज्यादा अच्छी पोजीशन को मिल सकती है l और मुझे नहीं लगता कि अरविंद केजरीवाल की पार्टी जो आप है उसके अंदर उसका कोई उनका कोई वजूद है l और लेकिन जहां तक पार्टी का सवाल है मैं समझता हूं कि इस विवाद से पार्टी कमजोर हुई है और आपकी जो इच्छा भी है उसको बहुत ही गहरा नुकसान हुआ है l
Romanized Version
आम आदमी पार्टी वैसे ही अब धीरे-धीरे करके अरविंद केजरीवाल की पार्टी बन गई है और अरविंद केजरीवाल जो एक अपने को डेमोक्रेटिक लीडर की तरह प्रोजेक्ट कर देता था इस तरीके से सुप्रीमो हो गया सुप्रीम कमांडर हो गए हैं l आज की तारीख में अरविंद केजरीवाल के खिलाफ में कोई भी खड़ा नहीं हो सकता है और अरविंद केजरीवाल ने जिस तरीके से बाकि पार्टी के प्रशांत भूषण को बाहर किया और योगेंद्र यादव को बाहर किया उसे इस बात को क्लियर हो गया कि जो भी उनके खिलाफ खड़ा होगा उसको वह टॉलरेट नहीं करेंगे , उसको निकाल देंगे l कुमार विश्वास ने भी काफी समय से अरविंद केजरीवाल के खिलाफ तो नहीं लेकिन कम से कम अरविंद केजरीवाल को सपोर्ट नहीं किया हैl जैसे कि जो इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में जो पार्टी का स्टैंड था कि जो इन की हार हुई दिल्ली में वह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के वजह से हुई उसमें कुमार विश्वास ने अपना एक व्यक्तिगत मत दिया था जो कि इस विचार से अलग था और यह बात पार्टी को अच्छी नहीं लगी l तो कुमार विश्वास इंडिपेंडेंट माइंड के हैं, पोएट है और वह अपने हिसाब से जिंदगी जीना चाहते हैं और वह इस तरीके डिसिप्लिन में बांधके नहीं रहना चाहते हैं l और इसीलिए कुमार विश्वास को यह डिसाइड करना होगा कि वह आपको छोड़ रहे हैं और यह तो राजनीति अपना नाता तोड़ने या फिर ऐसी राजनीतिक पार्टी में जाएं जहां पर वह ज्यादा एक्सेप्ट टेबल है या ज्यादा अच्छी पोजीशन को मिल सकती है l और मुझे नहीं लगता कि अरविंद केजरीवाल की पार्टी जो आप है उसके अंदर उसका कोई उनका कोई वजूद है l और लेकिन जहां तक पार्टी का सवाल है मैं समझता हूं कि इस विवाद से पार्टी कमजोर हुई है और आपकी जो इच्छा भी है उसको बहुत ही गहरा नुकसान हुआ है lAam Aadmi Party Waise Hi Ab Dhire Dhire Karke Arvind Kejriwal Ki Party Ban Gayi Hai Aur Arvind Kejriwal Jo Ek Apne Ko Democratic Leader Ki Tarah Project Kar Deta Tha Is Tarike Se Supremo Ho Gaya Supreme Commander Ho Gaye Hain L Aaj Ki Tarikh Mein Arvind Kejriwal Ke Khilaf Mein Koi Bhi Khada Nahi Ho Sakta Hai Aur Arvind Kejriwal Ne Jis Tarike Se Baki Party Ke Prashant Bhushan Ko Bahar Kiya Aur Yogendra Yadav Ko Bahar Kiya Use Is Baat Ko Clear Ho Gaya Ki Jo Bhi Unke Khilaf Khada Hoga Usko Wah Talret Nahi Karenge , Usko Nikal Denge L Kumar Vishwas Ne Bhi Kafi Samay Se Arvind Kejriwal Ke Khilaf To Nahi Lekin Kum Se Kum Arvind Kejriwal Ko Support Nahi Kiya Hai Jaise Ki Jo Electronic Voting Machine Mein Jo Party Ka Stand Tha Ki Jo In Ki Haar Hui Delhi Mein Wah Electronic Voting Machine Ke Wajah Se Hui Usamen Kumar Vishwas Ne Apna Ek Vyaktigat Mat Diya Tha Jo Ki Is Vichar Se Alag Tha Aur Yeh Baat Party Ko Acchi Nahi Lagi L To Kumar Vishwas Independent Mind Ke Hain Poet Hai Aur Wah Apne Hisab Se Zindagi Jeena Chahte Hain Aur Wah Is Tarike Discipline Mein Bandhake Nahi Rehna Chahte Hain L Aur Isliye Kumar Vishwas Ko Yeh Decide Karna Hoga Ki Wah Aapko Chod Rahe Hain Aur Yeh To Rajneeti Apna Nataa Todne Ya Phir Aisi Rajnitik Party Mein Jayen Jahan Par Wah Jyada Except Table Hai Ya Jyada Acchi Position Ko Mil Sakti Hai L Aur Mujhe Nahi Lagta Ki Arvind Kejriwal Ki Party Jo Aap Hai Uske Andar Uska Koi Unka Koi Vajud Hai L Aur Lekin Jahan Tak Party Ka Sawal Hai Main Samajhata Hoon Ki Is Vivad Se Party Kamjor Hui Hai Aur Aapki Jo Icha Bhi Hai Usko Bahut Hi Gehra Nuksan Hua Hai L
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि मैक्स हॉस्पिटल के जो लाइसेंस है उस को रद्द करने का केजरीवाल का फैसला सही था किसी भी मायने में| देखिये हॉस्पिटल में आपको हॉस्पिटल और डॉक्टर दो में एक डीफ़ेरेन्शिअशन करना पड़ेगा | हॉस्पिटल इक इंस्टिट्यूशन होता है और डॉक्टर उसके अंदर काम करते हैं अगर जो है कोई भी गलती किसी डॉक्टर ने की है तो उस डॉक्टर के खिलाफ में कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए उसके खिलाफ में सजा होनी चाहिए जहां तक हॉस्पिटल का सवाल है हॉस्पिटल सैकड़ों हजारों लोगों को सुविधाएं प्रदान करता है मेडिकल फैसिलिटीज देता है और अगर आप किसी हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द कर देते हैं तो वहां पर जितने भी लोग अपने ट्रीटमेंट पा रहे हैं उनको बहुत बड़ा नुकसान होता है| तो अगर इसमें किसी डॉक्टर की गलती थी तो उसके खिलाफ ऍफआयआर लॉज होना चाहिए था, उसके खिलाफ़ में कार्रवाई करनी चाहिए थी| जहा तक हॉस्पिटल को रद्द करने की बात है, वह बहोत ही एक्सट्रीम स्टेप था जो की दिल्ली सरकार को नहीं उठाना चाहिए था| इससे भले ही दिल्ली सरकार को रातो रात पोप्युलारिटी मिल गयी| और चुकी ये प्राइवेट हॉस्पिटल था तों इस से आम जनता बड़ी खुश हो गई जो है इसमें चुकी अमीरों का इलाज होता है और उसका कैंसिल हो गया बड़ी अच्छी बात है लेकिन कई बार केजरीवाल साब को अपने गिरेबान में भी झांक कर देखना चाहिए कि जो सरकारी अस्पताल है वहा पे रोज़ इस तरीके की घटना होती रहती हैं और वहां पर अगर किसी डॉक्टर ने इस तरीके की लापरवाही कि तों क्या केजरीवाल जी उसका भी लाइसेंस रद्द करेंगे? और उसकी फैसिलिटीज बंद करेंगे? तो यह थोड़ा सा मेरे ख़याल से ये हिपोक्रेसी और डबल टॉक था और यह मेरे ख्याल से उचित नहीं था| और जैसा की अब ये लाइसेंस रद्द करने का फैसला जो है वह स्टे कर दिया गया है और मुझे नहीं लगता कि फाइनली जो है यह केजरीवाल के फेवर में जाएगा और केजरीवाल को फिर एक बार अपने मुंह की खानी पड़ेगी|
Romanized Version
मुझे नहीं लगता कि मैक्स हॉस्पिटल के जो लाइसेंस है उस को रद्द करने का केजरीवाल का फैसला सही था किसी भी मायने में| देखिये हॉस्पिटल में आपको हॉस्पिटल और डॉक्टर दो में एक डीफ़ेरेन्शिअशन करना पड़ेगा | हॉस्पिटल इक इंस्टिट्यूशन होता है और डॉक्टर उसके अंदर काम करते हैं अगर जो है कोई भी गलती किसी डॉक्टर ने की है तो उस डॉक्टर के खिलाफ में कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए उसके खिलाफ में सजा होनी चाहिए जहां तक हॉस्पिटल का सवाल है हॉस्पिटल सैकड़ों हजारों लोगों को सुविधाएं प्रदान करता है मेडिकल फैसिलिटीज देता है और अगर आप किसी हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द कर देते हैं तो वहां पर जितने भी लोग अपने ट्रीटमेंट पा रहे हैं उनको बहुत बड़ा नुकसान होता है| तो अगर इसमें किसी डॉक्टर की गलती थी तो उसके खिलाफ ऍफआयआर लॉज होना चाहिए था, उसके खिलाफ़ में कार्रवाई करनी चाहिए थी| जहा तक हॉस्पिटल को रद्द करने की बात है, वह बहोत ही एक्सट्रीम स्टेप था जो की दिल्ली सरकार को नहीं उठाना चाहिए था| इससे भले ही दिल्ली सरकार को रातो रात पोप्युलारिटी मिल गयी| और चुकी ये प्राइवेट हॉस्पिटल था तों इस से आम जनता बड़ी खुश हो गई जो है इसमें चुकी अमीरों का इलाज होता है और उसका कैंसिल हो गया बड़ी अच्छी बात है लेकिन कई बार केजरीवाल साब को अपने गिरेबान में भी झांक कर देखना चाहिए कि जो सरकारी अस्पताल है वहा पे रोज़ इस तरीके की घटना होती रहती हैं और वहां पर अगर किसी डॉक्टर ने इस तरीके की लापरवाही कि तों क्या केजरीवाल जी उसका भी लाइसेंस रद्द करेंगे? और उसकी फैसिलिटीज बंद करेंगे? तो यह थोड़ा सा मेरे ख़याल से ये हिपोक्रेसी और डबल टॉक था और यह मेरे ख्याल से उचित नहीं था| और जैसा की अब ये लाइसेंस रद्द करने का फैसला जो है वह स्टे कर दिया गया है और मुझे नहीं लगता कि फाइनली जो है यह केजरीवाल के फेवर में जाएगा और केजरीवाल को फिर एक बार अपने मुंह की खानी पड़ेगी|Mujhe Nahi Lagta Ki Max Hospital Ke Jo License Hai Us Ko Radd Karne Ka Kejriwal Ka Faisla Sahi Tha Kisi Bhi Maayne Mein Dekhiye Hospital Mein Aapko Hospital Aur Doctor Do Mein Ek Diferenshiashan Karna Padega | Hospital Ek Instityushan Hota Hai Aur Doctor Uske Andar Kaam Karte Hain Agar Jo Hai Koi Bhi Galti Kisi Doctor Ne Ki Hai To Us Doctor Ke Khilaf Mein Kanooni Karyawahi Honi Chahiye Uske Khilaf Mein Saja Honi Chahiye Jahan Tak Hospital Ka Sawal Hai Hospital Saikadon Hajaron Logon Ko Suvidhayen Pradan Karta Hai Medical Faisilitij Deta Hai Aur Agar Aap Kisi Hospital Ka License Radd Kar Dete Hain To Wahan Par Jitne Bhi Log Apne Treatment Pa Rahe Hain Unko Bahut Bada Nuksan Hota Hai To Agar Isme Kisi Doctor Ki Galti Thi To Uske Khilaf Afaayaar Lodge Hona Chahiye Tha Uske Khilaf Mein Karyawahi Karni Chahiye Thi Jaha Tak Hospital Ko Radd Karne Ki Baat Hai Wah Bahut Hi Xtreme Step Tha Jo Ki Delhi Sarkar Ko Nahi Uthaana Chahiye Tha Isse Bhale Hi Delhi Sarkar Ko Raato Raat Popyulariti Mil Gayi Aur Chuki Ye Private Hospital Tha To Is Se Aam Janta Badi Khush Ho Gayi Jo Hai Isme Chuki Amiron Ka Ilaj Hota Hai Aur Uska Cancel Ho Gaya Badi Acchi Baat Hai Lekin Kai Baar Kejriwal Sab Ko Apne Girebaan Mein Bhi Jhank Kar Dekhna Chahiye Ki Jo Sarkari Aspatal Hai Vaha Pe Roz Is Tarike Ki Ghatna Hoti Rehti Hain Aur Wahan Par Agar Kisi Doctor Ne Is Tarike Ki Laparwahi Ki To Kya Kejriwal Ji Uska Bhi License Radd Karenge Aur Uski Faisilitij Band Karenge To Yeh Thoda Sa Mere Khayal Se Ye Hipokresi Aur Double Talk Tha Aur Yeh Mere Khayal Se Uchit Nahi Tha Aur Jaisa Ki Ab Ye License Radd Karne Ka Faisla Jo Hai Wah Stay Kar Diya Gaya Hai Aur Mujhe Nahi Lagta Ki Finally Jo Hai Yeh Kejriwal Ke Favor Mein Jayega Aur Kejriwal Ko Phir Ek Baar Apne Mooh Ki Khaani Padegi
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon
मेरे हिसाब से जो अरविंद केजरीवाल का कहना है कि पद्मावत की रिलीज के विरोध में, जो करणी सेना के कुछ लोगों ने स्कूल बस पर हमला किया था और गुरुग्राम में उपद्रव किया था| वह बहुत ही गलत है और बिल्कुल ही असंवैधानिक है| क्योंकि आप अगर किसी चीज का विरोध करना चाहते हैं तो उसके बहुत सारे तरीके होते करने के आप धरना दे सकते हैं, आप कोई मार्च निकाल सकते हैं, कोई रैली कर सकते, पर आप मासूम स्कूल बच्चों की बस पर हमला करें, ये किसी भी तरह से सही नहीं है| तो जो अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह चुप नहीं रहेंगे और उसके खिलाफ आवाज उठाएंगे| यह बहुत सही बात है और उनको जरूर ऐसा करना चाहिए और वह जैसा कि हम सभी जानते हैं वह दिल्ली के चीफ मिनिस्टर हैं तो उनका यह कर्तव्य बनता है कि वह वहां के लोगों की जो सिक्योरिटी है उसको निश्चित करें| और वह क्या करेंगे, इस बात का अंदाजा हम ज्यादा नहीं लगा सकते हैं क्योंकि जो सबसे सही तरीका होगा, वह तो यही होगा कि वह उनके खिलाफ जो लोगो किया है, उसके खिलाफ स्ट्रिक्ट से स्ट्रिक्ट एक्शन ले और उन लोगों को सजा दिलवाएं| और इसके खिलाफ वो कुछ कानून भी बना सकते हैं दिल्ली सरकार में, कि अगर ऐसा आगे से कोई कुछ भी करेगा तो उनके लिए कुछ जेल की सजा या फिर कोई किसी भी तरह का थोड़ा सा फाइन लगाया जा सकता है| जिससे वह लोग इस कार्य को करने से बचें और मेरे हिसाब से केजरीवाल जी जो करेंगे वह सही करेंगे इसलिए क्योंकि उन्होंने अब तक जितने भी फैसले लिए हैं वह काफी हद तक लोगों के हित में ही लिया करते हैं काम और दिल्ली को उन्होंने काफी हद तक बदला है| तो मेरे हिसाब से केजरीवाल जी का जो कहना है, वह बिल्कुल सही है और वह जो करेंगे वह सही करेंगे लोगों के लिए|Mere Hisab Se Jo Arvind Kejriwal Ka Kehna Hai Ki Padmavat Ki Release Ke Virodh Mein Jo Karni Sena Ke Kuch Logon Ne School Bus Par Hamla Kiya Tha Aur Gurugram Mein Upadrav Kiya Tha Wah Bahut Hi Galat Hai Aur Bilkul Hi Asanvaidhanik Hai Kyonki Aap Agar Kisi Cheez Ka Virodh Karna Chahte Hain To Uske Bahut Sare Tarike Hote Karne Ke Aap Dharna De Sakte Hain Aap Koi March Nikal Sakte Hain Koi Rally Kar Sakte Par Aap Masoom School Bacchon Ki Bus Par Hamla Karen Ye Kisi Bhi Tarah Se Sahi Nahi Hai To Jo Arvind Kejriwal Ne Kaha Ki Wah Chup Nahi Rahenge Aur Uske Khilaf Aawaj Uthayenge Yeh Bahut Sahi Baat Hai Aur Unko Jarur Aisa Karna Chahiye Aur Wah Jaisa Ki Hum Sabhi Jante Hain Wah Delhi Ke Chief Minister Hain To Unka Yeh Kartavya Banta Hai Ki Wah Wahan Ke Logon Ki Jo Security Hai Usko Nishchit Karen Aur Wah Kya Karenge Is Baat Ka Andaja Hum Jyada Nahi Laga Sakte Hain Kyonki Jo Sabse Sahi Tarika Hoga Wah To Yahi Hoga Ki Wah Unke Khilaf Jo Logo Kiya Hai Uske Khilaf Strict Se Strict Action Le Aur Un Logon Ko Saja Dilvaen Aur Iske Khilaf Vo Kuch Kanoon Bhi Bana Sakte Hain Delhi Sarkar Mein Ki Agar Aisa Aage Se Koi Kuch Bhi Karega To Unke Liye Kuch Jail Ki Saja Ya Phir Koi Kisi Bhi Tarah Ka Thoda Sa Fine Lagaya Ja Sakta Hai Jisse Wah Log Is Karya Ko Karne Se Bache Aur Mere Hisab Se Kejriwal Ji Jo Karenge Wah Sahi Karenge Isliye Kyonki Unhone Ab Tak Jitne Bhi Faisle Liye Hain Wah Kafi Had Tak Logon Ke Hit Mein Hi Liya Karte Hain Kaam Aur Delhi Ko Unhone Kafi Had Tak Badla Hai To Mere Hisab Se Kejriwal Ji Ka Jo Kehna Hai Wah Bilkul Sahi Hai Aur Wah Jo Karenge Wah Sahi Karenge Logon Ke Liye
Likes  7  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरविंद केजरीवाल जी इस समय भाजपा के बड़े विरोधी हैं और उनको भाजपा के अंदर कमियां ही कमियां नजर आती हैं देखिए पिछले 70 सालों में हिंदू और मुसलमानों मैं ऐसा नहीं है कि हमेशा जो है कोई विरोध नहीं रहा कभी कोई दंगा नहीं हुआ या कांग्रेस शासित प्रदेशों में जो है वह हिंदू मुसलमानों के बीच में कभी कोई प्रॉब्लम नहीं थी हकीकत यह है कि यह डिवीजन कांग्रेस ने भी बढ़ाया और बीजेपी ने भी बनाया इसके लिए बीजेपी को ही जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं है जहां तक कांग्रेस का सवाल है वह ज्यादातर जो है वह माइनॉरिटी से मुसलमानों को पीसकर के वह अपनी तरफ करती रही है और बीजेपी की स्टेट जी यह है कि वह हिंदुओं को अपनी तरफ करती है लेकिन दोनों ही जो है वह डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी पर विश्वास करती हैं पर दोनों ही जो है वह एक ही तरीके की पॉलिटिक्स करती हैं धन्यवाद
Romanized Version
अरविंद केजरीवाल जी इस समय भाजपा के बड़े विरोधी हैं और उनको भाजपा के अंदर कमियां ही कमियां नजर आती हैं देखिए पिछले 70 सालों में हिंदू और मुसलमानों मैं ऐसा नहीं है कि हमेशा जो है कोई विरोध नहीं रहा कभी कोई दंगा नहीं हुआ या कांग्रेस शासित प्रदेशों में जो है वह हिंदू मुसलमानों के बीच में कभी कोई प्रॉब्लम नहीं थी हकीकत यह है कि यह डिवीजन कांग्रेस ने भी बढ़ाया और बीजेपी ने भी बनाया इसके लिए बीजेपी को ही जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं है जहां तक कांग्रेस का सवाल है वह ज्यादातर जो है वह माइनॉरिटी से मुसलमानों को पीसकर के वह अपनी तरफ करती रही है और बीजेपी की स्टेट जी यह है कि वह हिंदुओं को अपनी तरफ करती है लेकिन दोनों ही जो है वह डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी पर विश्वास करती हैं पर दोनों ही जो है वह एक ही तरीके की पॉलिटिक्स करती हैं धन्यवादArvind Kejriwal Ji Is Samay Bhajpa Ke Bade Virodhi Hain Aur Unko Bhajpa Ke Andar Kamiyan Hi Kamiyan Nazar Aati Hain Dekhie Pichle 70 Salon Mein Hindu Aur Musalmano Main Aisa Nahi Hai Ki Hamesha Jo Hai Koi Virodh Nahi Raha Kabhi Koi Danga Nahi Hua Ya Congress Shasit Pradeshon Mein Jo Hai Wah Hindu Musalmano Ke Beech Mein Kabhi Koi Problem Nahi Thi Haqiqat Yeh Hai Ki Yeh Division Congress Ne Bhi Badhaya Aur Bjp Ne Bhi Banaya Iske Liye Bjp Ko Hi Zimmedar Thaharana Uchit Nahi Hai Jahan Tak Congress Ka Sawal Hai Wah Jyadatar Jo Hai Wah Minority Se Musalmano Ko Pishkar Ke Wah Apni Taraf Karti Rahi Hai Aur Bjp Ki State Ji Yeh Hai Ki Wah Hinduon Ko Apni Taraf Karti Hai Lekin Dono Hi Jo Hai Wah Divide End Rule Ki Policy Par Vishwas Karti Hain Par Dono Hi Jo Hai Wah Ek Hi Tarike Ki Politics Karti Hain Dhanyavad
Likes  19  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल करना चाहिए था प्रधानमंत्री के पद पर जो कोई भी हो उसे कम से कम पद की मर्यादा तो रखनी ही चाहिए राजनीतिक भेद-भाव अपनी जगह पर है पद की मर्यादा अपनी जगह नरेंद्र मोदी ने केजरीवाल को आमंत्रित ना करके अपनी तू कंपनी याद कर लिया है उनके इस कदम की दरअसल कोई भी समर्थन नहीं कर सकता भाजपा कार्यकर्ता भले ही इसका समर्थन करते पर कोई परिपक्व भाजपा नेता इसका समर्थन नहीं कर सकता केजरीवाल को ना बोला कर मोदी ने अपनी राजनैतिक समझ की परिपक्वता का ही संदेश दिया है आमंत्रित करते तो उनका मान कुछ पड़ ही जाता
Romanized Version
जी बिल्कुल करना चाहिए था प्रधानमंत्री के पद पर जो कोई भी हो उसे कम से कम पद की मर्यादा तो रखनी ही चाहिए राजनीतिक भेद-भाव अपनी जगह पर है पद की मर्यादा अपनी जगह नरेंद्र मोदी ने केजरीवाल को आमंत्रित ना करके अपनी तू कंपनी याद कर लिया है उनके इस कदम की दरअसल कोई भी समर्थन नहीं कर सकता भाजपा कार्यकर्ता भले ही इसका समर्थन करते पर कोई परिपक्व भाजपा नेता इसका समर्थन नहीं कर सकता केजरीवाल को ना बोला कर मोदी ने अपनी राजनैतिक समझ की परिपक्वता का ही संदेश दिया है आमंत्रित करते तो उनका मान कुछ पड़ ही जाताJi Bilkul Karna Chahiye Tha Pradhanmantri Ke Pad Par Jo Koi Bhi Ho Use Kum Se Kum Pad Ki Maryada To Rakhni Hi Chahiye Rajnitik Bhed Bhav Apni Jagah Par Hai Pad Ki Maryada Apni Jagah Narendra Modi Ne Kejriwal Ko Aamantrit Na Karke Apni Tu Company Yaad Kar Liya Hai Unke Is Kadam Ki Darasal Koi Bhi Samarthan Nahi Kar Sakta Bhajpa Karyakarta Bhale Hi Iska Samarthan Karte Par Koi Paripakva Bhajpa Neta Iska Samarthan Nahi Kar Sakta Kejriwal Ko Na Bola Kar Modi Ne Apni Rajnaitik Samajh Ki Paripakvata Ka Hi Sandesh Diya Hai Aamantrit Karte To Unka Maan Kuch Padh Hi Jata
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां वास्तविकता में केजरीवाल जी ने दिल्ली में गरीबों के लिए बहुत कुछ किया है उन्होंने पानी बिजली और पढ़ाई की व्यवस्था को अच्छा किया है गरीब लोग अच्छे-अच्छे योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं और नए नए उत्पादों का भी वितरण गरीबों में होता है जिसके तहत तहत आप की सरकार दिल्ली में फल-फूल रही है और यही कारण है कि केजरीवाल जी के जो ठानी थी दिल्ली के गरीबों के अच्छा भविष्य देने की वह दे रहे हैं
Romanized Version
जी हां वास्तविकता में केजरीवाल जी ने दिल्ली में गरीबों के लिए बहुत कुछ किया है उन्होंने पानी बिजली और पढ़ाई की व्यवस्था को अच्छा किया है गरीब लोग अच्छे-अच्छे योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं और नए नए उत्पादों का भी वितरण गरीबों में होता है जिसके तहत तहत आप की सरकार दिल्ली में फल-फूल रही है और यही कारण है कि केजरीवाल जी के जो ठानी थी दिल्ली के गरीबों के अच्छा भविष्य देने की वह दे रहे हैंJi Haan Vastavikta Mein Kejriwal Ji Ne Delhi Mein Garibon Ke Liye Bahut Kuch Kiya Hai Unhone Pani Bijli Aur Padhai Ki Vyavastha Ko Accha Kiya Hai Garib Log Acche Acche Yojanaon Ka Labh Utha Rahe Hain Aur Naye Naye Utpadon Ka Bhi Vitaran Garibon Mein Hota Hai Jiske Tahat Tahat Aap Ki Sarkar Delhi Mein Fal Fool Rahi Hai Aur Yahi Kaaran Hai Ki Kejriwal Ji Ke Jo Thani Thi Delhi Ke Garibon Ke Accha Bhavishya Dene Ki Wah De Rahe Hain
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो स्वाति केजरीवाल के घर पर जो सीसीटीवी कैमरे जानबूझकर बंद किए गए या ना किए क्या यह तो है जांच का विषय है और मुझे लगता है इस में जांच होनी चाहिए दूसरी चीज कुछ दिन पहले मैंने एक क्वेश्चन आपसे ही पूछा था कि क्या आम आदमी पार्टी जो चैट चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट को जस्टिफाई करी आपने कहा कि कोई भी उस को जस्टिफाई नहीं करा था लेकिन कल ही एक उनके MLA का बयान आता है उसमें उन्होंने कहा कि जो भी अधिकारी इस प्रकार का कार्य करते उनको ठोक देना चाहिए वही वह दिखाता है कि इस प्रकार की घटना जरूर हुई है और चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट हुई है जो भी उन्होंने FIR दर्ज कराई उसमें दिखाएं उनके काम के पीछे स्वेलिंग है और कल में डिबेट देख रहा था आज तक पर उसमें बताएंगे कि 15 मिनट का जो वीडियो है रिकॉर्डिंग है वह केजरीवाल घर से गायब है तो कहीं ना कहीं अगर वह वीडियो गायब हुई है तो उसका मतलब है कि चीफ सेक्रेटरी के साथ कुछ ना कुछ तो गलत हुआ है तो मुझे लगता है यह जांच का विषय है जांच होगी तो सच सामने आएगा दूध का दूध और पानी का पानी होगा
Romanized Version
देखो स्वाति केजरीवाल के घर पर जो सीसीटीवी कैमरे जानबूझकर बंद किए गए या ना किए क्या यह तो है जांच का विषय है और मुझे लगता है इस में जांच होनी चाहिए दूसरी चीज कुछ दिन पहले मैंने एक क्वेश्चन आपसे ही पूछा था कि क्या आम आदमी पार्टी जो चैट चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट को जस्टिफाई करी आपने कहा कि कोई भी उस को जस्टिफाई नहीं करा था लेकिन कल ही एक उनके MLA का बयान आता है उसमें उन्होंने कहा कि जो भी अधिकारी इस प्रकार का कार्य करते उनको ठोक देना चाहिए वही वह दिखाता है कि इस प्रकार की घटना जरूर हुई है और चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट हुई है जो भी उन्होंने FIR दर्ज कराई उसमें दिखाएं उनके काम के पीछे स्वेलिंग है और कल में डिबेट देख रहा था आज तक पर उसमें बताएंगे कि 15 मिनट का जो वीडियो है रिकॉर्डिंग है वह केजरीवाल घर से गायब है तो कहीं ना कहीं अगर वह वीडियो गायब हुई है तो उसका मतलब है कि चीफ सेक्रेटरी के साथ कुछ ना कुछ तो गलत हुआ है तो मुझे लगता है यह जांच का विषय है जांच होगी तो सच सामने आएगा दूध का दूध और पानी का पानी होगाDekho Swati Kejriwal Ke Ghar Par Jo Cctv Cameras Janbujhkar Band Kiye Gaye Ya Na Kiye Kya Yeh To Hai Janch Ka Vishay Hai Aur Mujhe Lagta Hai Is Mein Janch Honi Chahiye Dusri Cheez Kuch Din Pehle Maine Ek Question Aapse Hi Poocha Tha Ki Kya Aam Aadmi Party Jo Chat Chief Secretary Ke Saath Marapit Ko Justify Kari Aapne Kaha Ki Koi Bhi Us Ko Justify Nahi Kra Tha Lekin Kal Hi Ek Unke MLA Ka Bayan Aata Hai Usamen Unhone Kaha Ki Jo Bhi Adhikari Is Prakar Ka Karya Karte Unko Thok Dena Chahiye Wahi Wah Dikhaata Hai Ki Is Prakar Ki Ghatna Jarur Hui Hai Aur Chief Secretary Ke Saath Marapit Hui Hai Jo Bhi Unhone FIR Darj Karai Usamen Dikhaen Unke Kaam Ke Piche Swelling Hai Aur Kal Mein Debate Dekh Raha Tha Aaj Tak Par Usamen Batayenge Ki 15 Minute Ka Jo Video Hai Recording Hai Wah Kejriwal Ghar Se Gayab Hai To Kahin Na Kahin Agar Wah Video Gayab Hui Hai To Uska Matlab Hai Ki Chief Secretary Ke Saath Kuch Na Kuch To Galat Hua Hai To Mujhe Lagta Hai Yeh Janch Ka Vishay Hai Janch Hogi To Sach Samane Aayega Dudh Ka Dudh Aur Pani Ka Pani Hoga
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके अंदर जो भी अशांति फैली हुई है उसके कार्य कर्ता धर्ता और उसके जो ओरिजिनल जो उस में अशांति फैलाने का सबसे बड़ा जो काम किया है और किन केजरीवाल जी ने किया है और वह नहीं जो है वह सीनियर लीडर जैसे प्रशांत भूषण योगेंद्र यादव और यहां तक कि जो कुमार विश्वास है उनका जो भी है यह मैसेज WhatsApp फंक्शन इसके साथ में रहा है उसी की वजह से आज आपके अंदर जो है जो हालत है वह कैसी चल रही है तो अरविंद केजरीवाल जो है वह दर्शन वह अपने को प्रधानमंत्री से कम नहीं समझते हैं और उन्होंने ही यह सारी अशांति फैलाई हुई अगर उत्सव को लेकर के साथ में चलते तो मैं समझता हूं कि ऐसी सिचुएशन नहीं होती
Romanized Version
आपके अंदर जो भी अशांति फैली हुई है उसके कार्य कर्ता धर्ता और उसके जो ओरिजिनल जो उस में अशांति फैलाने का सबसे बड़ा जो काम किया है और किन केजरीवाल जी ने किया है और वह नहीं जो है वह सीनियर लीडर जैसे प्रशांत भूषण योगेंद्र यादव और यहां तक कि जो कुमार विश्वास है उनका जो भी है यह मैसेज WhatsApp फंक्शन इसके साथ में रहा है उसी की वजह से आज आपके अंदर जो है जो हालत है वह कैसी चल रही है तो अरविंद केजरीवाल जो है वह दर्शन वह अपने को प्रधानमंत्री से कम नहीं समझते हैं और उन्होंने ही यह सारी अशांति फैलाई हुई अगर उत्सव को लेकर के साथ में चलते तो मैं समझता हूं कि ऐसी सिचुएशन नहीं होतीAapke Andar Jo Bhi Ashanti Faili Hui Hai Uske Karya Karta Dhartaa Aur Uske Jo Original Jo Us Mein Ashanti Phailane Ka Sabse Bada Jo Kaam Kiya Hai Aur Kin Kejriwal Ji Ne Kiya Hai Aur Wah Nahi Jo Hai Wah Senior Leader Jaise Prashant Bhushan Yogendra Yadav Aur Yahan Tak Ki Jo Kumar Vishwas Hai Unka Jo Bhi Hai Yeh Massage WhatsApp Function Iske Saath Mein Raha Hai Ussi Ki Wajah Se Aaj Aapke Andar Jo Hai Jo Halat Hai Wah Kaisi Chal Rahi Hai To Arvind Kejriwal Jo Hai Wah Darshan Wah Apne Ko Pradhanmantri Se Kum Nahi Samajhte Hain Aur Unhone Hi Yeh Saree Ashanti Failai Hui Agar Utsav Ko Lekar Ke Saath Mein Chalte To Main Samajhata Hoon Ki Aisi Situation Nahi Hoti
Likes  22  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2019 का चुनाव जीतने के लिए अरविंद केजरीवाल को जितने वादे किए गए पहले दिल्ली सरकार में उसे पूरे करने पड़ेंगे उसके बाद उन्हें उन्हें कोई अलग राज्य में जीतने का मौका मिल सकता है
Romanized Version
2019 का चुनाव जीतने के लिए अरविंद केजरीवाल को जितने वादे किए गए पहले दिल्ली सरकार में उसे पूरे करने पड़ेंगे उसके बाद उन्हें उन्हें कोई अलग राज्य में जीतने का मौका मिल सकता है2019 Ka Chunav Jitne Ke Liye Arvind Kejriwal Ko Jitne Waade Kiye Gaye Pehle Delhi Sarkar Mein Use Poore Karne Padenge Uske Baad Unhen Unhen Koi Alag Rajya Mein Jitne Ka Mauka Mil Sakta Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली पुलिस ने केजरीवाल को पूछताछ के लिए इसलिए बुलाया क्योंकि कुछ दिन पहले आपने सुना होगा कि जो आपके चीफ सेक्रेटरी थे चीफ सेक्रेटरी को दिल्ली मुख्यमंत्री ने अपने निवास पर बुलाया था वह जहां वह अपने विधायकों के साथ मौजूद थे उस समय चीफ सेक्रेटरी के साथ धक्का-मुक्की की गई उनके साथ उनके कुछ विधायकों ने मारपीट की तो वहीं एक केस था उसके मैं ज्यादा सुनवाई हुई तो पुलिस इन्वेस्टिगेशन हुआ उस वजह से केजरीवाल जी से कुछ उसी से लेटर क्वेश्चन पूछे गए उसकी वीडियोग्राफी भी कराई गई है
Romanized Version
दिल्ली पुलिस ने केजरीवाल को पूछताछ के लिए इसलिए बुलाया क्योंकि कुछ दिन पहले आपने सुना होगा कि जो आपके चीफ सेक्रेटरी थे चीफ सेक्रेटरी को दिल्ली मुख्यमंत्री ने अपने निवास पर बुलाया था वह जहां वह अपने विधायकों के साथ मौजूद थे उस समय चीफ सेक्रेटरी के साथ धक्का-मुक्की की गई उनके साथ उनके कुछ विधायकों ने मारपीट की तो वहीं एक केस था उसके मैं ज्यादा सुनवाई हुई तो पुलिस इन्वेस्टिगेशन हुआ उस वजह से केजरीवाल जी से कुछ उसी से लेटर क्वेश्चन पूछे गए उसकी वीडियोग्राफी भी कराई गई हैDelhi Police Ne Kejriwal Ko Puchhtaach Ke Liye Isliye Bulaya Kyonki Kuch Din Pehle Aapne Suna Hoga Ki Jo Aapke Chief Secretary The Chief Secretary Ko Delhi Mukhyamantri Ne Apne Niwas Par Bulaya Tha Wah Jahan Wah Apne Vidhayakon Ke Saath Maujud The Us Samay Chief Secretary Ke Saath Dhakka Mukki Ki Gayi Unke Saath Unke Kuch Vidhayakon Ne Marapit Ki To Wahin Ek Case Tha Uske Main Jyada Sunavai Hui To Police Investigation Hua Us Wajah Se Kejriwal Ji Se Kuch Ussi Se Letter Question Puche Gaye Uski Vidiyografi Bhi Karai Gayi Hai
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरविंद केजरीवाल की बात करें तो नहीं सबसे मीठा बहुत है लेकिन बहुत कुछ में उन्हें जो राजनीति में उनकी समझ उनको सही से नहीं आ पा रही किस तरीके से मतलब राजनीति हैंडल करना क्योंकि स्टार्ट हुआ था आम आदमी पार्टी तो बहुत सारी चीजें थी बहुत सारे लोग उम्मीद थी उनसे क्योंकि यह पहली बार बहुत सारे पढ़े लिखे जो id अंश के पढ़े-लिखे लोगों ने राजनीति में कदम रखा है सरोगेसी उम्मीद थी कि अच्छे काम करेंगे अच्छी चीजें करेंगे लोगों के लिए लेकिन वह खुद जब स्टेट में देते हैं खुद पहुंचा दें उसमें सब सही सेक्स परमिशन नहीं दे पाते किसी पर कुछ आरोप लगा रहे हैं तो उसके सही प्रूफ नहीं दे पा रहे हैं और बहुत सी चीजें हैं जो कि अरविंद केजरीवाल ने अच्छी की है लोगों के लिए बहुत चीज वादा किया था उन्होंने कि इतने घंटों में मैं ऐसा कर दूंगा वैसे लेकिन पूरी नहीं हुई बहुत से ऐसे लोग को विश्वास उसके उठता चला गया इसके मतलब चैटिंग में बहुत अच्छा
Romanized Version
अरविंद केजरीवाल की बात करें तो नहीं सबसे मीठा बहुत है लेकिन बहुत कुछ में उन्हें जो राजनीति में उनकी समझ उनको सही से नहीं आ पा रही किस तरीके से मतलब राजनीति हैंडल करना क्योंकि स्टार्ट हुआ था आम आदमी पार्टी तो बहुत सारी चीजें थी बहुत सारे लोग उम्मीद थी उनसे क्योंकि यह पहली बार बहुत सारे पढ़े लिखे जो id अंश के पढ़े-लिखे लोगों ने राजनीति में कदम रखा है सरोगेसी उम्मीद थी कि अच्छे काम करेंगे अच्छी चीजें करेंगे लोगों के लिए लेकिन वह खुद जब स्टेट में देते हैं खुद पहुंचा दें उसमें सब सही सेक्स परमिशन नहीं दे पाते किसी पर कुछ आरोप लगा रहे हैं तो उसके सही प्रूफ नहीं दे पा रहे हैं और बहुत सी चीजें हैं जो कि अरविंद केजरीवाल ने अच्छी की है लोगों के लिए बहुत चीज वादा किया था उन्होंने कि इतने घंटों में मैं ऐसा कर दूंगा वैसे लेकिन पूरी नहीं हुई बहुत से ऐसे लोग को विश्वास उसके उठता चला गया इसके मतलब चैटिंग में बहुत अच्छाArvind Kejriwal Ki Baat Karen To Nahi Sabse Mitha Bahut Hai Lekin Bahut Kuch Mein Unhen Jo Rajneeti Mein Unki Samajh Unko Sahi Se Nahi Aa Pa Rahi Kis Tarike Se Matlab Rajneeti Handle Karna Kyonki Start Hua Tha Aam Aadmi Party To Bahut Saree Cheezen Thi Bahut Sare Log Ummid Thi Unse Kyonki Yeh Pehli Baar Bahut Sare Padhe Likhe Jo Id Ansh Ke Padhe Likhe Logon Ne Rajneeti Mein Kadam Rakha Hai Surrogacy Ummid Thi Ki Acche Kaam Karenge Acchi Cheezen Karenge Logon Ke Liye Lekin Wah Khud Jab State Mein Dete Hain Khud Pahuncha Dein Usamen Sab Sahi Sex Permission Nahi De Paate Kisi Par Kuch Aarop Laga Rahe Hain To Uske Sahi Proof Nahi De Pa Rahe Hain Aur Bahut Si Cheezen Hain Jo Ki Arvind Kejriwal Ne Acchi Ki Hai Logon Ke Liye Bahut Cheez Vada Kiya Tha Unhone Ki Itne Ghanto Mein Main Aisa Kar Dunga Waise Lekin Puri Nahi Hui Bahut Se Aise Log Ko Vishwas Uske Uthata Chala Gaya Iske Matlab Chatting Mein Bahut Accha
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन जब केजरीवाल जो कि दिल्ली के चीफ मिनिस्टर पॉलिटिक्स में आए थे तो उनके नियम की बात करें तो काफी बेहतर सिद्धांत जो है मतलब बालों के सामने था उनकी सोच बहुत ही क्लियर थी किस तरह से लोगों करना है बिजली का मतलब बिजली का रेट कम करें कृष्ण सताए तो लोकपाल बिल तो उनके सिद्धांत एवं के नियम थे बहुत ही बेहतर लगा लोगों को तो जिस एकांकी काफी ज्यादा वोट से उन्होंने दिल्ली में रिएक्शन जीता लेकिन दिल्ली इलेक्शन जीतने के बाद जो वादा किया तो बिल्कुल गायब सा हो गया तो ब्लॉक कटरा स्टेशन पर टूटता गया ऐसे तो वह चीज है जो है अभी और 770 बात करें तो कृष्ण के सबसे बेस्ट स्टोन का थान नियम व करप्शन था लेकिन अभी बात करता आम आदमी पार्टी के लीडर से जो है वह करप्शन पर उतारू हो गए हैं मतलब अच्छी चीजें बहुत सारी गलत इमेज खराब होता है तो
Romanized Version
लेकिन जब केजरीवाल जो कि दिल्ली के चीफ मिनिस्टर पॉलिटिक्स में आए थे तो उनके नियम की बात करें तो काफी बेहतर सिद्धांत जो है मतलब बालों के सामने था उनकी सोच बहुत ही क्लियर थी किस तरह से लोगों करना है बिजली का मतलब बिजली का रेट कम करें कृष्ण सताए तो लोकपाल बिल तो उनके सिद्धांत एवं के नियम थे बहुत ही बेहतर लगा लोगों को तो जिस एकांकी काफी ज्यादा वोट से उन्होंने दिल्ली में रिएक्शन जीता लेकिन दिल्ली इलेक्शन जीतने के बाद जो वादा किया तो बिल्कुल गायब सा हो गया तो ब्लॉक कटरा स्टेशन पर टूटता गया ऐसे तो वह चीज है जो है अभी और 770 बात करें तो कृष्ण के सबसे बेस्ट स्टोन का थान नियम व करप्शन था लेकिन अभी बात करता आम आदमी पार्टी के लीडर से जो है वह करप्शन पर उतारू हो गए हैं मतलब अच्छी चीजें बहुत सारी गलत इमेज खराब होता है तोLekin Jab Kejriwal Jo Ki Delhi Ke Chief Minister Politics Mein Aaye The To Unke Niyam Ki Baat Karen To Kafi Behtar Siddhant Jo Hai Matlab Balon Ke Samane Tha Unki Soch Bahut Hi Clear Thi Kis Tarah Se Logon Karna Hai Bijli Ka Matlab Bijli Ka Rate Kum Karen Krishan Sataye To Lokpal Bill To Unke Siddhant Evam Ke Niyam The Bahut Hi Behtar Laga Logon Ko To Jis Ekanki Kafi Jyada Vote Se Unhone Delhi Mein Reaction Jeeta Lekin Delhi Election Jitne Ke Baad Jo Vada Kiya To Bilkul Gayab Sa Ho Gaya To Block Katra Station Par Tootata Gaya Aise To Wah Cheez Hai Jo Hai Abhi Aur 770 Baat Karen To Krishan Ke Sabse Best Stone Ka Then Niyam V Corruption Tha Lekin Abhi Baat Karta Aam Aadmi Party Ke Leader Se Jo Hai Wah Corruption Par Utaru Ho Gaye Hain Matlab Acchi Cheezen Bahut Saree Galat Image Kharab Hota Hai To
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू इस सीलिंग का मुद्दा है बेसिकली क्या है मैं आपको यह पहले बताना चाहूंगा इसकी दिल्ली जो नगर निगम है आज जितने भी सहारा दक्षिण जीवन में है उन्हें 12080 जॉन की दुकान की पहचान की गई जिसमें कि नगर से पंजीकरण निकलवाया तो हिंदू इन सभी दुकानों पर जो सीलिंग की कार्रवाई मतलब होने के लिए ऐसा बोला है कितनी शायद दुकान पर जितने भी दुकान में नगर निगम का पंजीकरण नहीं है सब कुछ फील किया जाएगा उनके खिलाफ कन्वर्जन शुल्क का 10 गुना जुर्माना भी लगाया जाएगा तो ऐसी दुकानदार की दुकान पर फरवरी से नोटिस भेजा नहीं थे उसके बाद जो दुकान पर पंजीकरण का याद करा लेते हैं उनको जमाना से राहत मिल सकती है लेकिन उसके बावजूद दुकान दुकान पर जितनी दुकानें उनको भी इस तरह की मतलब पंजीकरण नहीं करवाए हैं सब की दुकान पर छापा मारा गया उसका न्यूज़ दुकानदार हैं वहां पर बहुत लोग परेशान हैं और सब को नोटिस भेज
Romanized Version
तू इस सीलिंग का मुद्दा है बेसिकली क्या है मैं आपको यह पहले बताना चाहूंगा इसकी दिल्ली जो नगर निगम है आज जितने भी सहारा दक्षिण जीवन में है उन्हें 12080 जॉन की दुकान की पहचान की गई जिसमें कि नगर से पंजीकरण निकलवाया तो हिंदू इन सभी दुकानों पर जो सीलिंग की कार्रवाई मतलब होने के लिए ऐसा बोला है कितनी शायद दुकान पर जितने भी दुकान में नगर निगम का पंजीकरण नहीं है सब कुछ फील किया जाएगा उनके खिलाफ कन्वर्जन शुल्क का 10 गुना जुर्माना भी लगाया जाएगा तो ऐसी दुकानदार की दुकान पर फरवरी से नोटिस भेजा नहीं थे उसके बाद जो दुकान पर पंजीकरण का याद करा लेते हैं उनको जमाना से राहत मिल सकती है लेकिन उसके बावजूद दुकान दुकान पर जितनी दुकानें उनको भी इस तरह की मतलब पंजीकरण नहीं करवाए हैं सब की दुकान पर छापा मारा गया उसका न्यूज़ दुकानदार हैं वहां पर बहुत लोग परेशान हैं और सब को नोटिस भेजTu Is Ceiling Ka Mudda Hai Basically Kya Hai Main Aapko Yeh Pehle Batana Chahunga Iski Delhi Jo Nagar Nigam Hai Aaj Jitne Bhi Sahara Dakshin Jeevan Mein Hai Unhen 12080 John Ki Dukan Ki Pehchaan Ki Gayi Jisme Ki Nagar Se Panjikaran Nikalavaya To Hindu In Sabhi Dukaano Par Jo Ceiling Ki Karyawahi Matlab Hone Ke Liye Aisa Bola Hai Kitni Shayad Dukan Par Jitne Bhi Dukan Mein Nagar Nigam Ka Panjikaran Nahi Hai Sab Kuch Feel Kiya Jayega Unke Khilaf Conversion Shulk Ka 10 Guna Jurmana Bhi Lagaya Jayega To Aisi Dukaandar Ki Dukan Par February Se Notice Bheja Nahi The Uske Baad Jo Dukan Par Panjikaran Ka Yaad Kra Lete Hain Unko Jamana Se Raahat Mil Sakti Hai Lekin Uske Bawajud Dukan Dukan Par Jitni Dukane Unko Bhi Is Tarah Ki Matlab Panjikaran Nahi Karvaye Hain Sab Ki Dukan Par Chapa Mara Gaya Uska News Dukaandar Hain Wahan Par Bahut Log Pareshan Hain Aur Sab Ko Notice Bhej
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माफी मांगना कोई बुरी बात नहीं है बट माफी मांगने का फायदा तब है जब आप वही गलती दोबारा नहीं करो केजरीवाल जी सभी से माफी मांग रहे हैं उन्होंने जेटली जी से भी मांगी है और कपिल सिब्बल जी से भी मांगी है मजीठिया जी से भी मांगी है और जिन जिन्हें उन्होंने किला उनके खिलाफ मानहानि का किसके सबसे महंगी है पहले तो मैं यह कहता हूं कि कुछ भी हमें बोलने से पहले सोचना चाहिए था ताकि हमें ऐसी नौबत ही नहीं आएगी माफी मांगने पड़े और कहीं ना कहीं आप गलती हुई है उसको माफी मांगकर सुधारा है लेकिन यह गलती दोबारा ना हो तो उस माफी का कोई फायदा है उस माफी का कोई पहलू है नहीं तो हम्मा गलतियां करते जाएंगे और फिर माफी मांगते रहेंगे 21 जनता को बेवकूफ बनाने वाली बात होगी क्योंकि हम इलेक्शन से पहले कुछ भी बोल देते हैं देते हैं बातें हैं कुछ भी साथ छोड़ देते हैं और उसके बाद हम माफी मांगते और मामले को रफा-दफा कर जनता को गुमराह करना यह भी मेरे हिसाब से एक अपराध है और ऐसा करने से कहने के नेता की खुद की शादी करेगी वह एक आईआईटीयन है पढ़े-लिखे मुख्यमंत्री है तो उनको ऐसी चीजों से बचना भी चाहिए अच्छा कदम है मैं यह मानूंगा लेकिन वह अच्छा कदम तब माना जाएगा अगर वह ऐसी गलती दोबारा ना करें ऐसे तथ्य हिंसा बातें और इलेक्शन के टाइम फिर दोबारा ना करें किसी के खिलाफ कुछ भी सनसनी फैलाने से इलेक्शन जीत तो जीत जाओगे आप लेकिन उसके बाद फिर जब आपसे माफी मांगते हो ना तो जनता में जो मैसेज आता है कल को शायद आप सही बात भी करोगे तो लोग विश्वास नहीं कर पाएंगे क्योंकि लोग आपको झूठा मानेंगे
Romanized Version
माफी मांगना कोई बुरी बात नहीं है बट माफी मांगने का फायदा तब है जब आप वही गलती दोबारा नहीं करो केजरीवाल जी सभी से माफी मांग रहे हैं उन्होंने जेटली जी से भी मांगी है और कपिल सिब्बल जी से भी मांगी है मजीठिया जी से भी मांगी है और जिन जिन्हें उन्होंने किला उनके खिलाफ मानहानि का किसके सबसे महंगी है पहले तो मैं यह कहता हूं कि कुछ भी हमें बोलने से पहले सोचना चाहिए था ताकि हमें ऐसी नौबत ही नहीं आएगी माफी मांगने पड़े और कहीं ना कहीं आप गलती हुई है उसको माफी मांगकर सुधारा है लेकिन यह गलती दोबारा ना हो तो उस माफी का कोई फायदा है उस माफी का कोई पहलू है नहीं तो हम्मा गलतियां करते जाएंगे और फिर माफी मांगते रहेंगे 21 जनता को बेवकूफ बनाने वाली बात होगी क्योंकि हम इलेक्शन से पहले कुछ भी बोल देते हैं देते हैं बातें हैं कुछ भी साथ छोड़ देते हैं और उसके बाद हम माफी मांगते और मामले को रफा-दफा कर जनता को गुमराह करना यह भी मेरे हिसाब से एक अपराध है और ऐसा करने से कहने के नेता की खुद की शादी करेगी वह एक आईआईटीयन है पढ़े-लिखे मुख्यमंत्री है तो उनको ऐसी चीजों से बचना भी चाहिए अच्छा कदम है मैं यह मानूंगा लेकिन वह अच्छा कदम तब माना जाएगा अगर वह ऐसी गलती दोबारा ना करें ऐसे तथ्य हिंसा बातें और इलेक्शन के टाइम फिर दोबारा ना करें किसी के खिलाफ कुछ भी सनसनी फैलाने से इलेक्शन जीत तो जीत जाओगे आप लेकिन उसके बाद फिर जब आपसे माफी मांगते हो ना तो जनता में जो मैसेज आता है कल को शायद आप सही बात भी करोगे तो लोग विश्वास नहीं कर पाएंगे क्योंकि लोग आपको झूठा मानेंगेMaafi Mangana Koi Buri Baat Nahi Hai But Maafi Mangane Ka Fayda Tab Hai Jab Aap Wahi Galti Dobara Nahi Karo Kejriwal Ji Sabhi Se Maafi Maang Rahe Hain Unhone Jaitley Ji Se Bhi Maangi Hai Aur Kapil Sibbal Ji Se Bhi Maangi Hai Majithia Ji Se Bhi Maangi Hai Aur Jin Jinhen Unhone Kila Unke Khilaf Manhani Ka Kiske Sabse Mehengi Hai Pehle To Main Yeh Kahata Hoon Ki Kuch Bhi Hume Bolne Se Pehle Sochna Chahiye Tha Taki Hume Aisi Naubat Hi Nahi Aayegi Maafi Mangane Pade Aur Kahin Na Kahin Aap Galti Hui Hai Usko Maafi Mangakar Sudhara Hai Lekin Yeh Galti Dobara Na Ho To Us Maafi Ka Koi Fayda Hai Us Maafi Ka Koi Pahaloo Hai Nahi To Hamma Galtiya Karte Jaenge Aur Phir Maafi Mangate Rahenge 21 Janta Ko Bewakoof Banane Wali Baat Hogi Kyonki Hum Election Se Pehle Kuch Bhi Bol Dete Hain Dete Hain Batein Hain Kuch Bhi Saath Chod Dete Hain Aur Uske Baad Hum Maafi Mangate Aur Mamle Ko Rafa Dafa Kar Janta Ko Gumrah Karna Yeh Bhi Mere Hisab Se Ek Apradh Hai Aur Aisa Karne Se Kehne Ke Neta Ki Khud Ki Shadi Karegi Wah Ek Aiaaitiyan Hai Padhe Likhe Mukhyamantri Hai To Unko Aisi Chijon Se Bachana Bhi Chahiye Accha Kadam Hai Main Yeh Manunga Lekin Wah Accha Kadam Tab Mana Jayega Agar Wah Aisi Galti Dobara Na Karen Aise Tathya Hinsa Batein Aur Election Ke Time Phir Dobara Na Karen Kisi Ke Khilaf Kuch Bhi Sansani Phailane Se Election Jeet To Jeet Jaoge Aap Lekin Uske Baad Phir Jab Aapse Maafi Mangate Ho Na To Janta Mein Jo Massage Aata Hai Kal Ko Shayad Aap Sahi Baat Bhi Karoge To Log Vishwas Nahi Kar Paenge Kyonki Log Aapko Jhutha Maneange
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल की हाल ही में जो है आप दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल ने जो है पंजाब के पूर्व मंत्री और शिरोमणि अकाली दल जो है उसके नेता विक्रम यूनिवर्सिटी आते जो है एक लिखित माफी मांगी है अपना लगाए आरोपों पर जोड़ने जोड़ने ट्रक को बेचने से लेकर आरोप लगाए थे तो उस पर उन्हें माफी मांगी है मैं गंगा यह बात बिल्कुल गलत किया है क्योंकि अभी तक के आरोप झूठे साबित नहीं हुए हैं आप एक ऐसा ऐप जो कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने बनाई थी वह से एसटीएफ की जांच रिपोर्ट पूजा पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने देखा तो उन्होंने कहा कि वह इस पर इस पर अच्छे से जांच करें और अरविंद केजरीवाल को माफी नहीं मांग की थी उन्हें अपने आरोपों पर ही था तो आप उनसे उनकी विशेषताओं जरूर बेटियां थी क्योंकि अरविंद केजरीवाल इस प्रकार के नेता तो है नहीं जिस प्रकार से वह इतनी जल्दी सो के सामने झुक जाना किसी के किसी के भी सामने जो है उसे इतनी आसानी से वह
Romanized Version
दिल की हाल ही में जो है आप दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल ने जो है पंजाब के पूर्व मंत्री और शिरोमणि अकाली दल जो है उसके नेता विक्रम यूनिवर्सिटी आते जो है एक लिखित माफी मांगी है अपना लगाए आरोपों पर जोड़ने जोड़ने ट्रक को बेचने से लेकर आरोप लगाए थे तो उस पर उन्हें माफी मांगी है मैं गंगा यह बात बिल्कुल गलत किया है क्योंकि अभी तक के आरोप झूठे साबित नहीं हुए हैं आप एक ऐसा ऐप जो कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने बनाई थी वह से एसटीएफ की जांच रिपोर्ट पूजा पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने देखा तो उन्होंने कहा कि वह इस पर इस पर अच्छे से जांच करें और अरविंद केजरीवाल को माफी नहीं मांग की थी उन्हें अपने आरोपों पर ही था तो आप उनसे उनकी विशेषताओं जरूर बेटियां थी क्योंकि अरविंद केजरीवाल इस प्रकार के नेता तो है नहीं जिस प्रकार से वह इतनी जल्दी सो के सामने झुक जाना किसी के किसी के भी सामने जो है उसे इतनी आसानी से वहDil Ki Haal Hi Mein Jo Hai Aap Delhi Ke Mukhyamantri Aur Aam Aadmi Party Ke Adhyaksh Arvind Kejriwal Ne Jo Hai Punjab Ke Purv Mantri Aur Shiromani Akali Dal Jo Hai Uske Neta Vikram University Aate Jo Hai Ek Likhit Maafi Maangi Hai Apna Lagaye Aaropon Par Jodne Jodne Truck Ko Bechne Se Lekar Aarop Lagaye The To Us Par Unhen Maafi Maangi Hai Main Ganga Yeh Baat Bilkul Galat Kiya Hai Kyonki Abhi Tak Ke Aarop Jhuthe Saabit Nahi Hue Hain Aap Ek Aisa App Jo Captain Amarindar Singh Ki Sarkar Ne Banai Thi Wah Se Esatief Ki Janch Report Puja Punjab Haryana Highcourt Ne Dekha To Unhone Kaha Ki Wah Is Par Is Par Acche Se Janch Karen Aur Arvind Kejriwal Ko Maafi Nahi Maang Ki Thi Unhen Apne Aaropon Par Hi Tha To Aap Unse Unki Visheshtaon Jarur Betiyan Thi Kyonki Arvind Kejriwal Is Prakar Ke Neta To Hai Nahi Jis Prakar Se Wah Itni Jaldi So Ke Samane Jhuk Jana Kisi Ke Kisi Ke Bhi Samane Jo Hai Use Itni Aasani Se Wah
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विवेक केजरीवाल जी को भविष्य में मुकदमा से बचने की रणनीति है या नहीं इस बात को पहले कोई नहीं बता सकता लेकिन एक बात स्पष्ट हो गई अब केजरीवाल जी का राजनीतिक भविष्य ज्यादा उज्ज्वल है जिस प्रकार वह अपनी बात जो बात कहते हैं उसके बाद अपनी बात बदल देते हैं पहले बिना वजह एलिवेशन लगाते हैं उसके बाद माफी मांग लेते अब कुछ दिनों पता चला है कि आने वाले दिनों में अरुण जेटली जी से भी माफी मांग लेंगे तो कहीं ना कहीं दिखाता है कि आपके अंदर घुसा आपके पास एविडेंस तो नहीं है लेकिन एप्लीकेशन बहुत जल्दी लगा देते हो इसके अलावा आप खुद देखिए उनकी पार्टी के कुछ विधायक और उनके पास के जो पंजाब इकाई के अध्यक्ष हैं उन्होंने पड़ताल पद से इस्तीफा दे दिया पंजाब आम आदमी पार्टी में दोपहर हो गए हैं केजरीवाल जी ने कुछ लोग विधायकों को पंजाब के बीजेपी विधायक हमको बुलाया लेकिन कुछ नहीं तू कहीं नहीं गई दिखाता है कि राजनीतिक भविष्य केजरीवाल जी का उज्जवल नहीं है जिस प्रकार एक बहुत बड़ा मेंटल हुआ उसको वीडियो चैट नहीं कर पाए जनता की समस्याओं को उन्होंने दूर नहीं किया लेकिन हम बहुत ज्यादा विवादों में मुझे लगता है कि आने वाले समय में उनके लिए चीजें ठीक नहीं होने वाली
Romanized Version
विवेक केजरीवाल जी को भविष्य में मुकदमा से बचने की रणनीति है या नहीं इस बात को पहले कोई नहीं बता सकता लेकिन एक बात स्पष्ट हो गई अब केजरीवाल जी का राजनीतिक भविष्य ज्यादा उज्ज्वल है जिस प्रकार वह अपनी बात जो बात कहते हैं उसके बाद अपनी बात बदल देते हैं पहले बिना वजह एलिवेशन लगाते हैं उसके बाद माफी मांग लेते अब कुछ दिनों पता चला है कि आने वाले दिनों में अरुण जेटली जी से भी माफी मांग लेंगे तो कहीं ना कहीं दिखाता है कि आपके अंदर घुसा आपके पास एविडेंस तो नहीं है लेकिन एप्लीकेशन बहुत जल्दी लगा देते हो इसके अलावा आप खुद देखिए उनकी पार्टी के कुछ विधायक और उनके पास के जो पंजाब इकाई के अध्यक्ष हैं उन्होंने पड़ताल पद से इस्तीफा दे दिया पंजाब आम आदमी पार्टी में दोपहर हो गए हैं केजरीवाल जी ने कुछ लोग विधायकों को पंजाब के बीजेपी विधायक हमको बुलाया लेकिन कुछ नहीं तू कहीं नहीं गई दिखाता है कि राजनीतिक भविष्य केजरीवाल जी का उज्जवल नहीं है जिस प्रकार एक बहुत बड़ा मेंटल हुआ उसको वीडियो चैट नहीं कर पाए जनता की समस्याओं को उन्होंने दूर नहीं किया लेकिन हम बहुत ज्यादा विवादों में मुझे लगता है कि आने वाले समय में उनके लिए चीजें ठीक नहीं होने वालीVivek Kejriwal Ji Ko Bhavishya Mein Mukadma Se Bachane Ki Rananiti Hai Ya Nahi Is Baat Ko Pehle Koi Nahi Bata Sakta Lekin Ek Baat Spasht Ho Gayi Ab Kejriwal Ji Ka Rajnitik Bhavishya Jyada Ujjwal Hai Jis Prakar Wah Apni Baat Jo Baat Kehte Hain Uske Baad Apni Baat Badal Dete Hain Pehle Bina Wajah Elevation Lagate Hain Uske Baad Maafi Maang Lete Ab Kuch Dinon Pata Chala Hai Ki Aane Wale Dinon Mein Arun Jaitley Ji Se Bhi Maafi Maang Lenge To Kahin Na Kahin Dikhaata Hai Ki Aapke Andar Ghusa Aapke Paas Evidens To Nahi Hai Lekin Application Bahut Jaldi Laga Dete Ho Iske Alava Aap Khud Dekhie Unki Party Ke Kuch Vidhayak Aur Unke Paas Ke Jo Punjab Ikai Ke Adhyaksh Hain Unhone Padatal Pad Se Istifa De Diya Punjab Aam Aadmi Party Mein Dopahar Ho Gaye Hain Kejriwal Ji Ne Kuch Log Vidhayakon Ko Punjab Ke Bjp Vidhayak Hamko Bulaya Lekin Kuch Nahi Tu Kahin Nahi Gayi Dikhaata Hai Ki Rajnitik Bhavishya Kejriwal Ji Ka Ujjawal Nahi Hai Jis Prakar Ek Bahut Bada Mental Hua Usko Video Chat Nahi Kar Paye Janta Ki Samasyaon Ko Unhone Dur Nahi Kiya Lekin Hum Bahut Jyada Vivadon Mein Mujhe Lagta Hai Ki Aane Wale Samay Mein Unke Liye Cheezen Theek Nahi Hone Wali
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुछ ही दिनों पहले मानहानि के एक मामले में अकाली दल के नेता बिक्रम मजीठिया से लिखित तौर पर माफी मांगी थी और इसी वजह से पंजाब में जो आप नेता हैं वह काफी गुस्से में है और एक तरह से बगावत कर रहे हैं और आज इसी सिलसिले में दिल्ली में अरविंद केजरीवाल पार्टी के पंजाब के जो भी विधायक हैं उनकी बैठक बुलाई है जिसमें वह अपनी बात रखेंगे लेकिन इस बैठक में पंजाब के विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल खैहरा ने बैठक में आने से मना कर दिया है मैंने यह कहा कि जो भी अगर मीटिंग होगी तो उसे चंडीगढ़ में किया जाए इसी वजह से वह दिल्ली नहीं आ रहे हैं अब पार्टी के सामने यह भी बड़ा संकट पैदा हो गया है कि क्या इस बैठक में पंजाब से आम आदमी पार्टी के सभी विधायक हिस्सा लेंगे या फिर नहीं लेंगे और मुझे लगता है कि अगर बैठक होती है और अरविंद केजरीवाल अपनी बात रखने में कायम रखते हैं तू बिल्कुल सारे विधायकों को साथ रखा जा सकता है और आम आदमी पार्टी को टूटने से बचाया जा सकता है हालांकि अरविंद केजरीवाल का यह जो डिसीजन था उस पर आम आदमी पार्टी के बहुत सारे विधायक और नेता उंगलियां उठा रहे हैं कि इस तरह से जो भी अरविंद केजरीवाल ने फैसला लिया है उसे आम आदमी की छवि जो है वह बहुत खराब हुई है और लोग मजाक उड़ा रहे हैं आम आदमी पार्टी का लेकिन अरविंद केजरीवाल भी एक राजनेता है और कोशिश बिल्कुल वह पूरी करेंगे कि वह अपनी पार्टी को बचाने और अपनी जो भी बातें हैं जिसकी वजह से उन्होंने यह डिसीजन लिया है वह सभी विधायकों के सामने सभी नेताओं के सामने रखेंगे तो मुझे लगता है कि अरविंद केजरीवाल बिल्कुल कामयाब होंगे अपनी इस कोशिश में क्योंकि उन्होंने पहले भी यूटन तो लिया ही है मतलब अपने बयान से वह पलट गए हैं लेकिन फिर भी उनकी जो पार्टी है वह अभी तक कायम है तो मुझे लगता है इस पर भी अरविंद केजरीवाल सभी को मनाने में कामयाब रहेंगे
Romanized Version
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुछ ही दिनों पहले मानहानि के एक मामले में अकाली दल के नेता बिक्रम मजीठिया से लिखित तौर पर माफी मांगी थी और इसी वजह से पंजाब में जो आप नेता हैं वह काफी गुस्से में है और एक तरह से बगावत कर रहे हैं और आज इसी सिलसिले में दिल्ली में अरविंद केजरीवाल पार्टी के पंजाब के जो भी विधायक हैं उनकी बैठक बुलाई है जिसमें वह अपनी बात रखेंगे लेकिन इस बैठक में पंजाब के विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल खैहरा ने बैठक में आने से मना कर दिया है मैंने यह कहा कि जो भी अगर मीटिंग होगी तो उसे चंडीगढ़ में किया जाए इसी वजह से वह दिल्ली नहीं आ रहे हैं अब पार्टी के सामने यह भी बड़ा संकट पैदा हो गया है कि क्या इस बैठक में पंजाब से आम आदमी पार्टी के सभी विधायक हिस्सा लेंगे या फिर नहीं लेंगे और मुझे लगता है कि अगर बैठक होती है और अरविंद केजरीवाल अपनी बात रखने में कायम रखते हैं तू बिल्कुल सारे विधायकों को साथ रखा जा सकता है और आम आदमी पार्टी को टूटने से बचाया जा सकता है हालांकि अरविंद केजरीवाल का यह जो डिसीजन था उस पर आम आदमी पार्टी के बहुत सारे विधायक और नेता उंगलियां उठा रहे हैं कि इस तरह से जो भी अरविंद केजरीवाल ने फैसला लिया है उसे आम आदमी की छवि जो है वह बहुत खराब हुई है और लोग मजाक उड़ा रहे हैं आम आदमी पार्टी का लेकिन अरविंद केजरीवाल भी एक राजनेता है और कोशिश बिल्कुल वह पूरी करेंगे कि वह अपनी पार्टी को बचाने और अपनी जो भी बातें हैं जिसकी वजह से उन्होंने यह डिसीजन लिया है वह सभी विधायकों के सामने सभी नेताओं के सामने रखेंगे तो मुझे लगता है कि अरविंद केजरीवाल बिल्कुल कामयाब होंगे अपनी इस कोशिश में क्योंकि उन्होंने पहले भी यूटन तो लिया ही है मतलब अपने बयान से वह पलट गए हैं लेकिन फिर भी उनकी जो पार्टी है वह अभी तक कायम है तो मुझे लगता है इस पर भी अरविंद केजरीवाल सभी को मनाने में कामयाब रहेंगेDelhi Ke Mukhyamantri Arvind Kejriwal Ne Kuch Hi Dinon Pehle Manhani Ke Ek Mamle Mein Akali Dal Ke Neta Bikram Majithia Se Likhit Taur Par Maafi Maangi Thi Aur Isi Wajah Se Punjab Mein Jo Aap Neta Hain Wah Kafi Gusse Mein Hai Aur Ek Tarah Se Bagavat Kar Rahe Hain Aur Aaj Isi Silsile Mein Delhi Mein Arvind Kejriwal Party Ke Punjab Ke Jo Bhi Vidhayak Hain Unki Baithak Bulaai Hai Jisme Wah Apni Baat Rakhenge Lekin Is Baithak Mein Punjab Ke Vidhayak Aur Vipaksh Ke Neta Sukhpal Khaihra Ne Baithak Mein Aane Se Mana Kar Diya Hai Maine Yeh Kaha Ki Jo Bhi Agar Meeting Hogi To Use Chandigarh Mein Kiya Jaye Isi Wajah Se Wah Delhi Nahi Aa Rahe Hain Ab Party Ke Samane Yeh Bhi Bada Sankat Paida Ho Gaya Hai Ki Kya Is Baithak Mein Punjab Se Aam Aadmi Party Ke Sabhi Vidhayak Hissa Lenge Ya Phir Nahi Lenge Aur Mujhe Lagta Hai Ki Agar Baithak Hoti Hai Aur Arvind Kejriwal Apni Baat Rakhne Mein Kayam Rakhate Hain Tu Bilkul Sare Vidhayakon Ko Saath Rakha Ja Sakta Hai Aur Aam Aadmi Party Ko Tutane Se Bachaya Ja Sakta Hai Halanki Arvind Kejriwal Ka Yeh Jo Decision Tha Us Par Aam Aadmi Party Ke Bahut Sare Vidhayak Aur Neta Ungaliyan Utha Rahe Hain Ki Is Tarah Se Jo Bhi Arvind Kejriwal Ne Faisla Liya Hai Use Aam Aadmi Ki Chawi Jo Hai Wah Bahut Kharab Hui Hai Aur Log Mazak Uda Rahe Hain Aam Aadmi Party Ka Lekin Arvind Kejriwal Bhi Ek Rajneta Hai Aur Koshish Bilkul Wah Puri Karenge Ki Wah Apni Party Ko Bachane Aur Apni Jo Bhi Batein Hain Jiski Wajah Se Unhone Yeh Decision Liya Hai Wah Sabhi Vidhayakon Ke Samane Sabhi Netaon Ke Samane Rakhenge To Mujhe Lagta Hai Ki Arvind Kejriwal Bilkul Kamyab Honge Apni Is Koshish Mein Kyonki Unhone Pehle Bhi Yutan To Liya Hi Hai Matlab Apne Bayan Se Wah Palat Gaye Hain Lekin Phir Bhi Unki Jo Party Hai Wah Abhi Tak Kayam Hai To Mujhe Lagta Hai Is Par Bhi Arvind Kejriwal Sabhi Ko Manane Mein Kamyab Rahenge
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन आम आदमी पार्टी का भी एक नया ताजा मुद्दा सामने आया है जो मजीठिया थे या नहीं अकाली दल के नेता जन पर कि अरविंद केजरीवाल ने कुछ साल पहले आरोप लगाते क्यों ट्रक माफ किया है और ट्रक माफियाओं के संबंध है हालांकि अब उसके जवानों ने माफी मांग ली लिखित माफी मांग लिया उसे जिसके बाद मजीठिया ने उसका स्वागत किया है लेकिन वहीं दूसरी तरफ आप पार्टी के कई नेता और कई पंजाब के जो विधायक हैं वह तलाश कर रहे हैं और नहीं बात पसंद नहीं आई वह अपने बयान पर कायम है कि मजीठिया ड्रग माफियाओं से संबंधित व्यक्ति हैं लेकिन केजरीवाल जो इस समय है वह बहुत परेशानियों से घिर लोड है वह बहुत ज्यादा है इसीलिए सारी फालतू बातों से बचने के लिए माफी मांग कर बात को खत्म कर रहे हैं और अपना ध्यान जो है केंद्र दिल्ली पर करना चाह रहे हैं इसलिए माफी मांगी गई है अन्यथा यह सच्चाई है कि जो मजीठिया उनका नाम जो है ट्रक माफियाओं से जुड़ा हुआ है तो यही बात अभी विधायक जो है वह नहीं समझ पा रहे हैं मीटिंग बुलाई गई है और उन को समझाने की कोशिश की जा रही है और उसके बाद उम्मीद करते हैं कोई अच्छा फैसला निकल कर आएगा वरना पंजाब के अगर विधायक जो है वह दोपहर हो जाती है तो इनके लिए बहुत बुरी परिस्थिति हो सकती है पंजाब में
Romanized Version
लेकिन आम आदमी पार्टी का भी एक नया ताजा मुद्दा सामने आया है जो मजीठिया थे या नहीं अकाली दल के नेता जन पर कि अरविंद केजरीवाल ने कुछ साल पहले आरोप लगाते क्यों ट्रक माफ किया है और ट्रक माफियाओं के संबंध है हालांकि अब उसके जवानों ने माफी मांग ली लिखित माफी मांग लिया उसे जिसके बाद मजीठिया ने उसका स्वागत किया है लेकिन वहीं दूसरी तरफ आप पार्टी के कई नेता और कई पंजाब के जो विधायक हैं वह तलाश कर रहे हैं और नहीं बात पसंद नहीं आई वह अपने बयान पर कायम है कि मजीठिया ड्रग माफियाओं से संबंधित व्यक्ति हैं लेकिन केजरीवाल जो इस समय है वह बहुत परेशानियों से घिर लोड है वह बहुत ज्यादा है इसीलिए सारी फालतू बातों से बचने के लिए माफी मांग कर बात को खत्म कर रहे हैं और अपना ध्यान जो है केंद्र दिल्ली पर करना चाह रहे हैं इसलिए माफी मांगी गई है अन्यथा यह सच्चाई है कि जो मजीठिया उनका नाम जो है ट्रक माफियाओं से जुड़ा हुआ है तो यही बात अभी विधायक जो है वह नहीं समझ पा रहे हैं मीटिंग बुलाई गई है और उन को समझाने की कोशिश की जा रही है और उसके बाद उम्मीद करते हैं कोई अच्छा फैसला निकल कर आएगा वरना पंजाब के अगर विधायक जो है वह दोपहर हो जाती है तो इनके लिए बहुत बुरी परिस्थिति हो सकती है पंजाब मेंLekin Aam Aadmi Party Ka Bhi Ek Naya Taaza Mudda Samane Aaya Hai Jo Majithia The Ya Nahi Akali Dal Ke Neta Jan Par Ki Arvind Kejriwal Ne Kuch Saal Pehle Aarop Lagate Kyun Truck Maaf Kiya Hai Aur Truck Mafiyaon Ke Sambandh Hai Halanki Ab Uske Jawano Ne Maafi Maang Lee Likhit Maafi Maang Liya Use Jiske Baad Majithia Ne Uska Swaagat Kiya Hai Lekin Wahin Dusri Taraf Aap Party Ke Kai Neta Aur Kai Punjab Ke Jo Vidhayak Hain Wah Talash Kar Rahe Hain Aur Nahi Baat Pasand Nahi Eye Wah Apne Bayan Par Kayam Hai Ki Majithia Drug Mafiyaon Se Sambandhit Vyakti Hain Lekin Kejriwal Jo Is Samay Hai Wah Bahut Pareshaaniyon Se Ghir Load Hai Wah Bahut Jyada Hai Isliye Saree Faltu Baaton Se Bachane Ke Liye Maafi Maang Kar Baat Ko Khatam Kar Rahe Hain Aur Apna Dhyan Jo Hai Kendra Delhi Par Karna Chah Rahe Hain Isliye Maafi Maangi Gayi Hai Anyatha Yeh Sacchai Hai Ki Jo Majithia Unka Naam Jo Hai Truck Mafiyaon Se Juda Hua Hai To Yahi Baat Abhi Vidhayak Jo Hai Wah Nahi Samajh Pa Rahe Hain Meeting Bulaai Gayi Hai Aur Un Ko Samjhaane Ki Koshish Ki Ja Rahi Hai Aur Uske Baad Ummid Karte Hain Koi Accha Faisla Nikal Kar Aayega Varana Punjab Ke Agar Vidhayak Jo Hai Wah Dopahar Ho Jati Hai To Inke Liye Bahut Buri Paristhiti Ho Sakti Hai Punjab Mein
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी केजरीवाल जी पर लोगों का जो विश्वास था वह कहीं ना कहीं टूटा है और केजरीवाल जी की भी विश्वसनीयता अब खत्म हो चुकी है जिस प्रकार उन्होंने मजीठिया से माफी मांग ली जो रक्त का है उसके अलावा नितिन गडकरी को की जो छवि थी उसको खराब किया फिर उनसे माफी मांग लिया कपिल सिब्बल के बेटे से फिर माफी मांगी है तो कहीं ना कहीं दिखाता है कि केजरीवाल अपनी बात पर पक्का नहीं है और केवल चुनाव के समय इस प्रकार के गलत आरोप लगाते हैं या तो उन्होंने आरोप अगर उनके आरोप बिल्कुल सही होते तो मुझे नहीं लगता केजरीवाल माफी मांगते तो कहीं ना कहीं अगर आप इसी प्रकार के बातें करते हो पहले चुनाव से पहले कुछ और कहते हो वह चुनाव के बाद चुनाव के समय बड़े-बड़े नेताओं पर आप आरोप लगाते बिना सबूत और उसके चुनाव खत्म होने के बाद आप माफी मांग ले तो कहीं नहीं दिखाता है कि आपकी विश्वसनीयता बिल्कुल खत्म हो चुकी है और आने वाले समय में आपका जो राजनीतिक कैरियर है उस पर भी प्रश्नचिन्ह लगेगा क्योंकि जिस प्रकार दिल्ली की जनता ने केजरीवाल को एक झूठ मैंडेट दिया था जिसमें 67 सीट सीट उसके बाद दिल्ली में आप बीती कुछ कल ही है परसों की बात है एक व्यक्ति को पानी की वजह से मार दिया गया तो दिखाता है कि जिस प्रकार के बाद उन्होंने किए थे 20000 लीटर पानी देने का कोई घटना यह बजीरपुर की है और उसमें इस प्रकार की घटना हो जाती है जहां लोगों को पानी पीने को नहीं मिल रहा है और जिस प्रकार वहां के मुख्यमंत्री 20000 लीटर पानी की बात करते हैं वह सप्लाई कर रहे हैं लेकिन वास्तविकता कुछ और ही है तो कहीं ना कहीं केजरीवाल जी की जो छवि है वह खराब तो हुई है माफी मांगने से और जिस प्रकार के बाद दिल्ली की जनता से किए उसमें 1% कार्य उन्होंने नहीं किया
Romanized Version
विकी केजरीवाल जी पर लोगों का जो विश्वास था वह कहीं ना कहीं टूटा है और केजरीवाल जी की भी विश्वसनीयता अब खत्म हो चुकी है जिस प्रकार उन्होंने मजीठिया से माफी मांग ली जो रक्त का है उसके अलावा नितिन गडकरी को की जो छवि थी उसको खराब किया फिर उनसे माफी मांग लिया कपिल सिब्बल के बेटे से फिर माफी मांगी है तो कहीं ना कहीं दिखाता है कि केजरीवाल अपनी बात पर पक्का नहीं है और केवल चुनाव के समय इस प्रकार के गलत आरोप लगाते हैं या तो उन्होंने आरोप अगर उनके आरोप बिल्कुल सही होते तो मुझे नहीं लगता केजरीवाल माफी मांगते तो कहीं ना कहीं अगर आप इसी प्रकार के बातें करते हो पहले चुनाव से पहले कुछ और कहते हो वह चुनाव के बाद चुनाव के समय बड़े-बड़े नेताओं पर आप आरोप लगाते बिना सबूत और उसके चुनाव खत्म होने के बाद आप माफी मांग ले तो कहीं नहीं दिखाता है कि आपकी विश्वसनीयता बिल्कुल खत्म हो चुकी है और आने वाले समय में आपका जो राजनीतिक कैरियर है उस पर भी प्रश्नचिन्ह लगेगा क्योंकि जिस प्रकार दिल्ली की जनता ने केजरीवाल को एक झूठ मैंडेट दिया था जिसमें 67 सीट सीट उसके बाद दिल्ली में आप बीती कुछ कल ही है परसों की बात है एक व्यक्ति को पानी की वजह से मार दिया गया तो दिखाता है कि जिस प्रकार के बाद उन्होंने किए थे 20000 लीटर पानी देने का कोई घटना यह बजीरपुर की है और उसमें इस प्रकार की घटना हो जाती है जहां लोगों को पानी पीने को नहीं मिल रहा है और जिस प्रकार वहां के मुख्यमंत्री 20000 लीटर पानी की बात करते हैं वह सप्लाई कर रहे हैं लेकिन वास्तविकता कुछ और ही है तो कहीं ना कहीं केजरीवाल जी की जो छवि है वह खराब तो हुई है माफी मांगने से और जिस प्रकार के बाद दिल्ली की जनता से किए उसमें 1% कार्य उन्होंने नहीं कियाVikee Kejriwal Ji Par Logon Ka Jo Vishwas Tha Wah Kahin Na Kahin Tuta Hai Aur Kejriwal Ji Ki Bhi Visvasaniyata Ab Khatam Ho Chuki Hai Jis Prakar Unhone Majithia Se Maafi Maang Lee Jo Rakta Ka Hai Uske Alava Nitin Gadkari Ko Ki Jo Chawi Thi Usko Kharab Kiya Phir Unse Maafi Maang Liya Kapil Sibbal Ke Bete Se Phir Maafi Maangi Hai To Kahin Na Kahin Dikhaata Hai Ki Kejriwal Apni Baat Par Pakka Nahi Hai Aur Kewal Chunav Ke Samay Is Prakar Ke Galat Aarop Lagate Hain Ya To Unhone Aarop Agar Unke Aarop Bilkul Sahi Hote To Mujhe Nahi Lagta Kejriwal Maafi Mangate To Kahin Na Kahin Agar Aap Isi Prakar Ke Batein Karte Ho Pehle Chunav Se Pehle Kuch Aur Kehte Ho Wah Chunav Ke Baad Chunav Ke Samay Bade Bade Netaon Par Aap Aarop Lagate Bina Sabut Aur Uske Chunav Khatam Hone Ke Baad Aap Maafi Maang Le To Kahin Nahi Dikhaata Hai Ki Aapki Visvasaniyata Bilkul Khatam Ho Chuki Hai Aur Aane Wale Samay Mein Aapka Jo Rajnitik Carrier Hai Us Par Bhi Prashnachinh Lagega Kyonki Jis Prakar Delhi Ki Janta Ne Kejriwal Ko Ek Jhuth Maindet Diya Tha Jisme 67 Seat Seat Uske Baad Delhi Mein Aap Biiti Kuch Kal Hi Hai Person Ki Baat Hai Ek Vyakti Ko Pani Ki Wajah Se Maar Diya Gaya To Dikhaata Hai Ki Jis Prakar Ke Baad Unhone Kiye The 20000 Liter Pani Dene Ka Koi Ghatna Yeh Bajirpur Ki Hai Aur Usamen Is Prakar Ki Ghatna Ho Jati Hai Jahan Logon Ko Pani Peene Ko Nahi Mil Raha Hai Aur Jis Prakar Wahan Ke Mukhyamantri 20000 Liter Pani Ki Baat Karte Hain Wah Supply Kar Rahe Hain Lekin Vastavikta Kuch Aur Hi Hai To Kahin Na Kahin Kejriwal Ji Ki Jo Chawi Hai Wah Kharab To Hui Hai Maafi Mangane Se Aur Jis Prakar Ke Baad Delhi Ki Janta Se Kiye Usamen 1% Karya Unhone Nahi Kiya
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरविंद केजरीवाल की सरकार के लिए आज की तारीख काफी अहमियत रखती है क्योंकि लाभ के पद में दिल्ली की आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने के मामले पर दिल्ली हाईकोर्ट में आज फैसला सुनाया जाएगा इन विधायकों ने अपनी सदस्यता रद्द किए जाने को लेकर हाईकोर्ट में चुनौती दी थी 19 जनवरी को चुनाव आयोग ने संसदीय सचिव को लाभ का पद ठहराते हुए राष्ट्रपति से आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने की सिफारिश की थी और उसी दिन आम आदमी पार्टी के कुछ विधायकों ने चुनाव आयोग की सिफारिश के खिलाफ हाई कोर्ट का रुख किया था तो मुझे लगता है फैसला किसी के भी पक्ष में आएगा तो भी दोनों पक्ष पक्ष वाले जो है वह जरूर सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे और जब तक सुप्रीम कोर्ट का फैसला नहीं आता है तब तक यह क्लियर नहीं हो पाएगा कि दिल्ली सरकार की क्या स्थिति होगी या फिर अरविंद केजरीवाल अपने विधायकों को बचा पाएंगे या फिर नहीं और अगर अरविंद केजरीवाल की सरकार के विपक्ष में फैसला आता है और इन 20 विधायकों को कोर्ट की अयोग्य मानती है तो मुझे नहीं लगता कि दिल्ली सरकार का जो अस्तित्व है वह सही तरीके से रह पाएगा और उनकी सरकार को बिल्कुल खतरा उत्पन्न हो जाएगा तो इसलिए मुझे लगता है कि अरविंद केजरीवाल अपनी तरफ से पूरी कोशिश करेंगे कि इन विधायकों को बचाया जाए और उनकी जो सरकार है वह सही तरीके से अपना काम काज कर पाए
Romanized Version
अरविंद केजरीवाल की सरकार के लिए आज की तारीख काफी अहमियत रखती है क्योंकि लाभ के पद में दिल्ली की आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने के मामले पर दिल्ली हाईकोर्ट में आज फैसला सुनाया जाएगा इन विधायकों ने अपनी सदस्यता रद्द किए जाने को लेकर हाईकोर्ट में चुनौती दी थी 19 जनवरी को चुनाव आयोग ने संसदीय सचिव को लाभ का पद ठहराते हुए राष्ट्रपति से आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने की सिफारिश की थी और उसी दिन आम आदमी पार्टी के कुछ विधायकों ने चुनाव आयोग की सिफारिश के खिलाफ हाई कोर्ट का रुख किया था तो मुझे लगता है फैसला किसी के भी पक्ष में आएगा तो भी दोनों पक्ष पक्ष वाले जो है वह जरूर सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे और जब तक सुप्रीम कोर्ट का फैसला नहीं आता है तब तक यह क्लियर नहीं हो पाएगा कि दिल्ली सरकार की क्या स्थिति होगी या फिर अरविंद केजरीवाल अपने विधायकों को बचा पाएंगे या फिर नहीं और अगर अरविंद केजरीवाल की सरकार के विपक्ष में फैसला आता है और इन 20 विधायकों को कोर्ट की अयोग्य मानती है तो मुझे नहीं लगता कि दिल्ली सरकार का जो अस्तित्व है वह सही तरीके से रह पाएगा और उनकी सरकार को बिल्कुल खतरा उत्पन्न हो जाएगा तो इसलिए मुझे लगता है कि अरविंद केजरीवाल अपनी तरफ से पूरी कोशिश करेंगे कि इन विधायकों को बचाया जाए और उनकी जो सरकार है वह सही तरीके से अपना काम काज कर पाएArvind Kejriwal Ki Sarkar Ke Liye Aaj Ki Tarikh Kafi Ahamiyat Rakhti Hai Kyonki Labh Ke Pad Mein Delhi Ki Aam Aadmi Party Ke 20 Vidhayakon Ki Sadasyata Radd Hone Ke Mamle Par Delhi Highcourt Mein Aaj Faisla Sunaya Jayega In Vidhayakon Ne Apni Sadasyata Radd Kiye Jaane Ko Lekar Highcourt Mein Chunauti Di Thi 19 January Ko Chunav Aayog Ne Sansadiya Sachiv Ko Labh Ka Pad Thahrate Hue Rashtrapati Se Aam Aadmi Party Ke 20 Vidhayakon Ki Sadasyata Radd Karne Ki Sifarish Ki Thi Aur Ussi Din Aam Aadmi Party Ke Kuch Vidhayakon Ne Chunav Aayog Ki Sifarish Ke Khilaf Hi Court Ka Rukh Kiya Tha To Mujhe Lagta Hai Faisla Kisi Ke Bhi Paksh Mein Aayega To Bhi Dono Paksh Paksh Wale Jo Hai Wah Jarur Supreme Court Ka Rukh Karenge Aur Jab Tak Supreme Court Ka Faisla Nahi Aata Hai Tab Tak Yeh Clear Nahi Ho Payega Ki Delhi Sarkar Ki Kya Sthiti Hogi Ya Phir Arvind Kejriwal Apne Vidhayakon Ko Bacha Paenge Ya Phir Nahi Aur Agar Arvind Kejriwal Ki Sarkar Ke Vipaksh Mein Faisla Aata Hai Aur In 20 Vidhayakon Ko Court Ki Ayogya Maanati Hai To Mujhe Nahi Lagta Ki Delhi Sarkar Ka Jo Astitv Hai Wah Sahi Tarike Se Rah Payega Aur Unki Sarkar Ko Bilkul Khatra Utpann Ho Jayega To Isliye Mujhe Lagta Hai Ki Arvind Kejriwal Apni Taraf Se Puri Koshish Karenge Ki In Vidhayakon Ko Bachaya Jaye Aur Unki Jo Sarkar Hai Wah Sahi Tarike Se Apna Kaam Kaaj Kar Paye
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे विचार से सिर्फ माफी मांग लेने से आपकी अपराध खत्म नहीं हो जाते हैं लेकिन हमारी जो सोच है हमारी जो संस्कृति है उसमें माफी को बहुत बड़ा दाम बताया गया है कि क्षमा कर देने से सभी भेदभाव खत्म हो जाते हैं अरविंद केजरीवाल ने कई नेताओं पर मुकदमा चला रखी थी और मानहानि का दावा कर रखा था उनके पास सभी सबूत तिथि उनके विरुद्ध और यह किस 4 साल से चल रहे थे लेकिन अब जाकर उन्होंने सभी से माफी मांगी है और उन्होंने सभी से माफी मिल भी गई है लेकिन इस सब के लिए ना तो उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से बात की ना ही अपनी गरीबी नेताओं से बात करी ना ही अपनी पार्टी के वर्कर से बात करके उन्होंने माफीनामा पेश किया तो इससे नेता के लिए एक गलत संदेश उसके ग्रुप में जाता है कि उन्होंने अपने आप ही सारे निर्णय स्वयं ही ले लिए अगर वह सही थे अगर उनकी बात सच थी अगर उनके सबूत सही थे तो उन्हें इंतजार करना चाहिए था मैं मानती हूं कि इन सब कारणों से को के चक्कर लगाने से रोज पेशियों पर जाने से वह अपना कार्य सही से नहीं कर पा रहे थे और शायद इसी वजह से उन्होंने यह सारे मैसेज वापस यह है और माफी मांगी है इसमें कहीं ना कहीं हमारी न्यायपालिका की भी कमी रही है हमारी न्यायपालिका में इतनी देर लगती है किसी भी निर्णय को सुनाने में कि तब तक बहुत देर हो चुकी होती है और इंसान परेशान होकर कई बार गलत कदम उठा लेता है अरविंद केजरीवाल ने कदम सही उठाया है माफी मांग कर उन्होंने अपने आप अपना कद बढ़ा कर लिया है लेकिन जनता में और कार्यकर्ताओं में इसका गलत संदेश गया है कि अगर आप सही थे तो आप ने माफी क्यों मांगी सिर्फ अपना पद बचाने के लिए अपने कार्यकर्ताओं का भी ध्यान नहीं किया यह
Romanized Version
मेरे विचार से सिर्फ माफी मांग लेने से आपकी अपराध खत्म नहीं हो जाते हैं लेकिन हमारी जो सोच है हमारी जो संस्कृति है उसमें माफी को बहुत बड़ा दाम बताया गया है कि क्षमा कर देने से सभी भेदभाव खत्म हो जाते हैं अरविंद केजरीवाल ने कई नेताओं पर मुकदमा चला रखी थी और मानहानि का दावा कर रखा था उनके पास सभी सबूत तिथि उनके विरुद्ध और यह किस 4 साल से चल रहे थे लेकिन अब जाकर उन्होंने सभी से माफी मांगी है और उन्होंने सभी से माफी मिल भी गई है लेकिन इस सब के लिए ना तो उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से बात की ना ही अपनी गरीबी नेताओं से बात करी ना ही अपनी पार्टी के वर्कर से बात करके उन्होंने माफीनामा पेश किया तो इससे नेता के लिए एक गलत संदेश उसके ग्रुप में जाता है कि उन्होंने अपने आप ही सारे निर्णय स्वयं ही ले लिए अगर वह सही थे अगर उनकी बात सच थी अगर उनके सबूत सही थे तो उन्हें इंतजार करना चाहिए था मैं मानती हूं कि इन सब कारणों से को के चक्कर लगाने से रोज पेशियों पर जाने से वह अपना कार्य सही से नहीं कर पा रहे थे और शायद इसी वजह से उन्होंने यह सारे मैसेज वापस यह है और माफी मांगी है इसमें कहीं ना कहीं हमारी न्यायपालिका की भी कमी रही है हमारी न्यायपालिका में इतनी देर लगती है किसी भी निर्णय को सुनाने में कि तब तक बहुत देर हो चुकी होती है और इंसान परेशान होकर कई बार गलत कदम उठा लेता है अरविंद केजरीवाल ने कदम सही उठाया है माफी मांग कर उन्होंने अपने आप अपना कद बढ़ा कर लिया है लेकिन जनता में और कार्यकर्ताओं में इसका गलत संदेश गया है कि अगर आप सही थे तो आप ने माफी क्यों मांगी सिर्फ अपना पद बचाने के लिए अपने कार्यकर्ताओं का भी ध्यान नहीं किया यहMere Vichar Se Sirf Maafi Maang Lene Se Aapki Apradh Khatam Nahi Ho Jaate Hain Lekin Hamari Jo Soch Hai Hamari Jo Sanskriti Hai Usamen Maafi Ko Bahut Bada Dam Bataya Gaya Hai Ki Kshama Kar Dene Se Sabhi Bhedbhav Khatam Ho Jaate Hain Arvind Kejriwal Ne Kai Netaon Par Mukadma Chala Rakhi Thi Aur Manhani Ka Daawa Kar Rakha Tha Unke Paas Sabhi Sabut Tithi Unke Viruddha Aur Yeh Kis 4 Saal Se Chal Rahe The Lekin Ab Jaakar Unhone Sabhi Se Maafi Maangi Hai Aur Unhone Sabhi Se Maafi Mil Bhi Gayi Hai Lekin Is Sab Ke Liye Na To Unhone Apne Karyakartao Se Baat Ki Na Hi Apni Garibi Netaon Se Baat Kari Na Hi Apni Party Ke Worker Se Baat Karke Unhone Mafinama Pesh Kiya To Isse Neta Ke Liye Ek Galat Sandesh Uske Group Mein Jata Hai Ki Unhone Apne Aap Hi Sare Nirnay Swayam Hi Le Liye Agar Wah Sahi The Agar Unki Baat Sach Thi Agar Unke Sabut Sahi The To Unhen Intejar Karna Chahiye Tha Main Maanati Hoon Ki In Sab Kaarno Se Ko Ke Chakkar Lagane Se Roj Peshiyo Par Jaane Se Wah Apna Karya Sahi Se Nahi Kar Pa Rahe The Aur Shayad Isi Wajah Se Unhone Yeh Sare Massage Wapas Yeh Hai Aur Maafi Maangi Hai Isme Kahin Na Kahin Hamari Nyaypalika Ki Bhi Kami Rahi Hai Hamari Nyaypalika Mein Itni Der Lagti Hai Kisi Bhi Nirnay Ko Sunaane Mein Ki Tab Tak Bahut Der Ho Chuki Hoti Hai Aur Insaan Pareshan Hokar Kai Baar Galat Kadam Utha Leta Hai Arvind Kejriwal Ne Kadam Sahi Uthaya Hai Maafi Maang Kar Unhone Apne Aap Apna Kad Badha Kar Liya Hai Lekin Janta Mein Aur Karyakartao Mein Iska Galat Sandesh Gaya Hai Ki Agar Aap Sahi The To Aap Ne Maafi Kyun Maangi Sirf Apna Pad Bachane Ke Liye Apne Karyakartao Ka Bhi Dhyan Nahi Kiya Yeh
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी हमने पिछले दिनों दिल्ली में एक राशन घोटाले के खुलासे की खबर सुनी है इस खबर में बताया जा रहा है कि दिल्ली में फर्जी राशन कार्ड बनाए गए और उसके आधार पर आसन व्हिच आज्ञा राशन ट्रकों में लादकर बाई को बुलाकर भेजा गया लेकिन लोगों तक नहीं पहुंचा इस घोटाले का आरोप सीधे-सीधे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगाया जा रहा है और बीजेपी के नेता ने अरविंद केजरीवाल को लालू प्रसाद यादव के साथ गले मिलते हुए पता करो छोटा लालू कह दिया है मैं गंगा यह बिल्कुल गलत है राजनीति है और अपनी निशानी को साधने का प्रयास है दिल्ली में BJP की सरकार जैसे कि हम जानते कि नहीं बन पाई बल्कि वह तो पूरी तरह से चुनाव में हार गए कांग्रेस नेता सबके जबकि BJP केवल 3G टेबलेट किधर गई तो इसकी खुद नसीब BJP निकालती रहती है यह घोटाला अब खबर आ रही है कि 10 साल से चलता आ रहा है 10 साल से BJP अग्नि घोटाला चलता है तो BJP साथ क्योंकि यह भी बड़ा पोस्ट मिलता है फिर कांग्रेस के प्रदेश आरोप क्यों लगा के जैसे मीरा मोदी के भागने के बाद बीजेपी ने कांग्रेस के ऊपर आरोप लगाया कि नहीं रही तो कांग्रेस के समय से ऐसे घोटाले कर रहा है तो फिर बीजेपी के समय से या कांग्रेस के समय से घोटाले चले आ रहे हैं और अगर इस प्रकार की बात सच है तो फिर जांच क्यों नहीं हो रही है तो बीजेपी ने केवल अपनी राजनीति खुन्नस निकालने के लिए मैं कहूंगा अरविंद केजरीवाल पर इस तरह की का आरोप लगाए हैं और निपुणता तो बदनाम करने का प्रयास किया है दिल्ली के आम आदमी पार्टी की सरकार को बदनाम करने का प्रयास बीजेपी कर रही है और करती आती है और कपिल मिश्रा बीच का एक दरिया थे कपिल मिश्रा ने घोटाले का खबर आते ही मेरे खाते फेसबुक लाइट भी गया था और फिर भी काफी खराब आरोप उनके ऊपर लगाए थे लेकिन से कोई लाभ नहीं हुआ जहां तक अरविंद केजरीवाल को छोटा लालू कहने की बात है तो यह BJP की केवल राजेश खन्ना से इस पर इतना ध्यान दें कि मेरे साथ राफ्ता नहीं है और BJP केवल अपनी भड़ास निकाल रही है कांग्रेस रिसायत ए पास तो कहने के शब्द नहीं है क्योंकि उनके इस टाइम में घोटाला हुआ था और अभी घोटाला हुआ है तो जांच कराएंगे जांच के बाद जो सामने आएगा तो सच होगा मेरे ख्याल से लोग उसे मान लेंगे
Romanized Version
अभी हमने पिछले दिनों दिल्ली में एक राशन घोटाले के खुलासे की खबर सुनी है इस खबर में बताया जा रहा है कि दिल्ली में फर्जी राशन कार्ड बनाए गए और उसके आधार पर आसन व्हिच आज्ञा राशन ट्रकों में लादकर बाई को बुलाकर भेजा गया लेकिन लोगों तक नहीं पहुंचा इस घोटाले का आरोप सीधे-सीधे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगाया जा रहा है और बीजेपी के नेता ने अरविंद केजरीवाल को लालू प्रसाद यादव के साथ गले मिलते हुए पता करो छोटा लालू कह दिया है मैं गंगा यह बिल्कुल गलत है राजनीति है और अपनी निशानी को साधने का प्रयास है दिल्ली में BJP की सरकार जैसे कि हम जानते कि नहीं बन पाई बल्कि वह तो पूरी तरह से चुनाव में हार गए कांग्रेस नेता सबके जबकि BJP केवल 3G टेबलेट किधर गई तो इसकी खुद नसीब BJP निकालती रहती है यह घोटाला अब खबर आ रही है कि 10 साल से चलता आ रहा है 10 साल से BJP अग्नि घोटाला चलता है तो BJP साथ क्योंकि यह भी बड़ा पोस्ट मिलता है फिर कांग्रेस के प्रदेश आरोप क्यों लगा के जैसे मीरा मोदी के भागने के बाद बीजेपी ने कांग्रेस के ऊपर आरोप लगाया कि नहीं रही तो कांग्रेस के समय से ऐसे घोटाले कर रहा है तो फिर बीजेपी के समय से या कांग्रेस के समय से घोटाले चले आ रहे हैं और अगर इस प्रकार की बात सच है तो फिर जांच क्यों नहीं हो रही है तो बीजेपी ने केवल अपनी राजनीति खुन्नस निकालने के लिए मैं कहूंगा अरविंद केजरीवाल पर इस तरह की का आरोप लगाए हैं और निपुणता तो बदनाम करने का प्रयास किया है दिल्ली के आम आदमी पार्टी की सरकार को बदनाम करने का प्रयास बीजेपी कर रही है और करती आती है और कपिल मिश्रा बीच का एक दरिया थे कपिल मिश्रा ने घोटाले का खबर आते ही मेरे खाते फेसबुक लाइट भी गया था और फिर भी काफी खराब आरोप उनके ऊपर लगाए थे लेकिन से कोई लाभ नहीं हुआ जहां तक अरविंद केजरीवाल को छोटा लालू कहने की बात है तो यह BJP की केवल राजेश खन्ना से इस पर इतना ध्यान दें कि मेरे साथ राफ्ता नहीं है और BJP केवल अपनी भड़ास निकाल रही है कांग्रेस रिसायत ए पास तो कहने के शब्द नहीं है क्योंकि उनके इस टाइम में घोटाला हुआ था और अभी घोटाला हुआ है तो जांच कराएंगे जांच के बाद जो सामने आएगा तो सच होगा मेरे ख्याल से लोग उसे मान लेंगेAbhi Humne Pichle Dinon Delhi Mein Ek Raashan Ghotale Ke Khulase Ki Khabar Suni Hai Is Khabar Mein Bataya Ja Raha Hai Ki Delhi Mein Farjee Raashan Card Banaye Gaye Aur Uske Aadhar Par Aasan Which Aagya Raashan Truckon Mein Ladakar Bai Ko Bulakar Bheja Gaya Lekin Logon Tak Nahi Pahuncha Is Ghotale Ka Aarop Seedhe Seedhe Delhi Ke Mukhyamantri Arvind Kejriwal Par Lagaya Ja Raha Hai Aur Bjp Ke Neta Ne Arvind Kejriwal Ko Lalu Prasad Yadav Ke Saath Gale Milte Hue Pata Karo Chota Lalu Keh Diya Hai Main Ganga Yeh Bilkul Galat Hai Rajneeti Hai Aur Apni Nishani Ko Sadhane Ka Prayas Hai Delhi Mein BJP Ki Sarkar Jaise Ki Hum Jante Ki Nahi Ban Payi Balki Wah To Puri Tarah Se Chunav Mein Haar Gaye Congress Neta Sabke Jabki BJP Kewal 3G Tablet Kidhar Gayi To Iski Khud Nasib BJP Nikalati Rehti Hai Yeh Ghotala Ab Khabar Aa Rahi Hai Ki 10 Saal Se Chalta Aa Raha Hai 10 Saal Se BJP Agni Ghotala Chalta Hai To BJP Saath Kyonki Yeh Bhi Bada Post Milta Hai Phir Congress Ke Pradesh Aarop Kyun Laga Ke Jaise Meera Modi Ke Bhagne Ke Baad Bjp Ne Congress Ke Upar Aarop Lagaya Ki Nahi Rahi To Congress Ke Samay Se Aise Ghotale Kar Raha Hai To Phir Bjp Ke Samay Se Ya Congress Ke Samay Se Ghotale Chale Aa Rahe Hain Aur Agar Is Prakar Ki Baat Sach Hai To Phir Janch Kyun Nahi Ho Rahi Hai To Bjp Ne Kewal Apni Rajneeti Khunnas Nikalne Ke Liye Main Kahunga Arvind Kejriwal Par Is Tarah Ki Ka Aarop Lagaye Hain Aur Nipunata To Badnaam Karne Ka Prayas Kiya Hai Delhi Ke Aam Aadmi Party Ki Sarkar Ko Badnaam Karne Ka Prayas Bjp Kar Rahi Hai Aur Karti Aati Hai Aur Kapil Mishra Beech Ka Ek Dariya The Kapil Mishra Ne Ghotale Ka Khabar Aate Hi Mere Khate Facebook Light Bhi Gaya Tha Aur Phir Bhi Kafi Kharab Aarop Unke Upar Lagaye The Lekin Se Koi Labh Nahi Hua Jahan Tak Arvind Kejriwal Ko Chota Lalu Kehne Ki Baat Hai To Yeh BJP Ki Kewal Rajesh Khanna Se Is Par Itna Dhyan Dein Ki Mere Saath Rafta Nahi Hai Aur BJP Kewal Apni Bhadas Nikal Rahi Hai Congress Risayat A Paas To Kehne Ke Shabdh Nahi Hai Kyonki Unke Is Time Mein Ghotala Hua Tha Aur Abhi Ghotala Hua Hai To Janch Karaenge Janch Ke Baad Jo Samane Aayega To Sach Hoga Mere Khayal Se Log Use Maan Lenge
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी हां देखे अभी दिल्ली में जो बिजली कटौती पर कंजूमर स्कोर मुआवजा दिलवाने का बादशाह कहां है केजरीवाल ने केजरीवाल और उनकी सरकार ने तो मुझे लगता है कि अगर उन्होंने बोला है तो वह जरूर ऐसा करेंगे क्योंकि ज्यादातर चीजे जो उन्होंने दिल्ली में कही थी जैसे 24 घंटा को पानी दिलवाएंगे तो अभी दिल्ली में जो है दो बार पानी आता है कई बातों तीन बार किया था जो जो जो पानी की किल्लत ही बहुत दूर हो गई और दिल्ली में जो था वह ज्यादातर टाइम मतलब 2 घंटे सुबह या शाम में 3 घंटे बिजली जाती जाती थी वह भी गर्मी के दिनों में तो कंपलसरी था वह भी वह सब चीज बंद हो गया है और और कई सारी चीजें हुई एक्सीडेंट हुआ अगर आप दिल्ली में रहेंगे दिल्ली के निवासी हैं तो आपको पता नहीं क्या-क्या चेंज किया और उन्होंने कहा
Romanized Version
हां जी हां देखे अभी दिल्ली में जो बिजली कटौती पर कंजूमर स्कोर मुआवजा दिलवाने का बादशाह कहां है केजरीवाल ने केजरीवाल और उनकी सरकार ने तो मुझे लगता है कि अगर उन्होंने बोला है तो वह जरूर ऐसा करेंगे क्योंकि ज्यादातर चीजे जो उन्होंने दिल्ली में कही थी जैसे 24 घंटा को पानी दिलवाएंगे तो अभी दिल्ली में जो है दो बार पानी आता है कई बातों तीन बार किया था जो जो जो पानी की किल्लत ही बहुत दूर हो गई और दिल्ली में जो था वह ज्यादातर टाइम मतलब 2 घंटे सुबह या शाम में 3 घंटे बिजली जाती जाती थी वह भी गर्मी के दिनों में तो कंपलसरी था वह भी वह सब चीज बंद हो गया है और और कई सारी चीजें हुई एक्सीडेंट हुआ अगर आप दिल्ली में रहेंगे दिल्ली के निवासी हैं तो आपको पता नहीं क्या-क्या चेंज किया और उन्होंने कहाHaan Ji Haan Dekhe Abhi Delhi Mein Jo Bijli Katauti Par Kanjumar Score Muavja Dilwane Ka Badshah Kahan Hai Kejriwal Ne Kejriwal Aur Unki Sarkar Ne To Mujhe Lagta Hai Ki Agar Unhone Bola Hai To Wah Jarur Aisa Karenge Kyonki Jyadatar Cheeje Jo Unhone Delhi Mein Kahi Thi Jaise 24 Ghanta Ko Pani Dilvaenge To Abhi Delhi Mein Jo Hai Do Baar Pani Aata Hai Kai Baaton Teen Baar Kiya Tha Jo Jo Jo Pani Ki Killat Hi Bahut Dur Ho Gayi Aur Delhi Mein Jo Tha Wah Jyadatar Time Matlab 2 Ghante Subah Ya Shaam Mein 3 Ghante Bijli Jati Jati Thi Wah Bhi Garmi Ke Dinon Mein To Compulsory Tha Wah Bhi Wah Sab Cheez Band Ho Gaya Hai Aur Aur Kai Saree Cheezen Hui Accident Hua Agar Aap Delhi Mein Rahenge Delhi Ke Nivasi Hain To Aapko Pata Nahi Kya Kya Change Kiya Aur Unhone Kaha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली केजरीवाल जी की सबसे बड़ी दिक्कत यही है कि बिना सबूत हर व्यक्ति पर वह आरोप मोड़ देते हैं और जब वह व्यक्ति मानहानि का केस उन पर करता है तो वह बाद में जाकर माफी मांगते हैं और यही बहुत बार हुआ है आप किसी भी केस में देख ले नितिन गडकरी के केस में देख लीजिए बिक्रम मजीठिया की किस में देख लीजिए जेटली जी के किस में देख लीजिए मुझे लगता है कि मोदी जी पर किस प्रकार का वह आरोप लगाने वह ठीक नहीं है मोदी जी देश के प्रधानमंत्री वह इतनी ऊंची राजनीति नहीं कर सकते अब केजरीवाल जी को भी मालूम है दिल्ली यूनियन टेरिटरीज यूनियन टेरिटरीज में सबसे जो पावर होती है वह राज्यपाल में निहित होती है तू जब केजरीवाल को यह सारी चीजें मालूम है फिर पता नहीं क्यों इतनी लड़ाई करते हैं जिस प्रकार उनके संबंध कभी भी राज्यपाल से ठीक नहीं रहते पुलिस ग्रह केंद्र केंद्र केंद्र सरकार के हाथ में होती आणि गृह मंत्रालय के अधीन होती है यूनियन टेरिटरीज केजरीवाल जी को इस चीज को समझना चाहिए कि वह दिल्ली का चुनाव लड़े तो उनको सारी बातें बताते हैं वह यूनियन टेरिटरीज आपके पास में नॉमिनल पागल होगी या किसी को पागल राज्यपाल के हाथ में रहती है और उसके बाद भी अगर इस प्रकार की बात करेंगे कि किस केंद्र व राज्य सरकारों किशोरी केंद्र सरकार आपके साथ में गलत व्यवहार करें तो मुझे नहीं लगता कि यह सही है और और इतनी ऐसी चीज के लिए आप प्रधानमंत्री पर राजनीति नहीं कर सकते प्रधानमंत्री को आरोप नहीं लगा सकते
Romanized Version
दिल्ली केजरीवाल जी की सबसे बड़ी दिक्कत यही है कि बिना सबूत हर व्यक्ति पर वह आरोप मोड़ देते हैं और जब वह व्यक्ति मानहानि का केस उन पर करता है तो वह बाद में जाकर माफी मांगते हैं और यही बहुत बार हुआ है आप किसी भी केस में देख ले नितिन गडकरी के केस में देख लीजिए बिक्रम मजीठिया की किस में देख लीजिए जेटली जी के किस में देख लीजिए मुझे लगता है कि मोदी जी पर किस प्रकार का वह आरोप लगाने वह ठीक नहीं है मोदी जी देश के प्रधानमंत्री वह इतनी ऊंची राजनीति नहीं कर सकते अब केजरीवाल जी को भी मालूम है दिल्ली यूनियन टेरिटरीज यूनियन टेरिटरीज में सबसे जो पावर होती है वह राज्यपाल में निहित होती है तू जब केजरीवाल को यह सारी चीजें मालूम है फिर पता नहीं क्यों इतनी लड़ाई करते हैं जिस प्रकार उनके संबंध कभी भी राज्यपाल से ठीक नहीं रहते पुलिस ग्रह केंद्र केंद्र केंद्र सरकार के हाथ में होती आणि गृह मंत्रालय के अधीन होती है यूनियन टेरिटरीज केजरीवाल जी को इस चीज को समझना चाहिए कि वह दिल्ली का चुनाव लड़े तो उनको सारी बातें बताते हैं वह यूनियन टेरिटरीज आपके पास में नॉमिनल पागल होगी या किसी को पागल राज्यपाल के हाथ में रहती है और उसके बाद भी अगर इस प्रकार की बात करेंगे कि किस केंद्र व राज्य सरकारों किशोरी केंद्र सरकार आपके साथ में गलत व्यवहार करें तो मुझे नहीं लगता कि यह सही है और और इतनी ऐसी चीज के लिए आप प्रधानमंत्री पर राजनीति नहीं कर सकते प्रधानमंत्री को आरोप नहीं लगा सकतेDelhi Kejriwal Ji Ki Sabse Badi Dikkat Yahi Hai Ki Bina Sabut Har Vyakti Par Wah Aarop Mod Dete Hain Aur Jab Wah Vyakti Manhani Ka Case Un Par Karta Hai To Wah Baad Mein Jaakar Maafi Mangate Hain Aur Yahi Bahut Baar Hua Hai Aap Kisi Bhi Case Mein Dekh Le Nitin Gadkari Ke Case Mein Dekh Lijiye Bikram Majithia Ki Kis Mein Dekh Lijiye Jaitley Ji Ke Kis Mein Dekh Lijiye Mujhe Lagta Hai Ki Modi Ji Par Kis Prakar Ka Wah Aarop Lagane Wah Theek Nahi Hai Modi Ji Desh Ke Pradhanmantri Wah Itni Unchi Rajneeti Nahi Kar Sakte Ab Kejriwal Ji Ko Bhi Maloom Hai Delhi Union Teritrij Union Teritrij Mein Sabse Jo Power Hoti Hai Wah Rajyapal Mein Nihit Hoti Hai Tu Jab Kejriwal Ko Yeh Saree Cheezen Maloom Hai Phir Pata Nahi Kyun Itni Ladai Karte Hain Jis Prakar Unke Sambandh Kabhi Bhi Rajyapal Se Theek Nahi Rehte Police Grah Kendra Kendra Kendra Sarkar Ke Hath Mein Hoti Aani Grah Mantralay Ke Adhin Hoti Hai Union Teritrij Kejriwal Ji Ko Is Cheez Ko Samajhna Chahiye Ki Wah Delhi Ka Chunav Lade To Unko Saree Batein Batatey Hain Wah Union Teritrij Aapke Paas Mein Naminal Pagal Hogi Ya Kisi Ko Pagal Rajyapal Ke Hath Mein Rehti Hai Aur Uske Baad Bhi Agar Is Prakar Ki Baat Karenge Ki Kis Kendra V Rajya Sarkaro Kishori Kendra Sarkar Aapke Saath Mein Galat Vyavhar Karen To Mujhe Nahi Lagta Ki Yeh Sahi Hai Aur Aur Itni Aisi Cheez Ke Liye Aap Pradhanmantri Par Rajneeti Nahi Kar Sakte Pradhanmantri Ko Aarop Nahi Laga Sakte
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल सबसे पहले बता दो उन लोगों को जो उनका मजाक उड़ाते हैं कि माना कि वह आपको पसंद नहीं है या उनकी गलत राजनीति तो इसका यह मतलब नहीं कि आप उनका मजाक उड़ाया खुजलीवाल या और कुछ नाम रखो इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा आगे यदि आप कौन सी राजनीति इतनी खराब लगती है तो उसके खिलाफ आवाज उठाओ ना कि उनके साथ ऐसा मजाक उड़ाओ कॉल हर किसी की चतुर्थी है आज इतने ऊंचे पद पर हैं तो यारों नंबर कोई वजह भी तो होगी ना कि जिस काम को इतने ऊंचे पद पर और वैसे भी हमने उनका नाम यदि खुजलीवाल रख दिया तो इससे क्या फर्क पड़ता है सिर्फ हमारी मानसिकता ही दर्शाती है कि हम कुछ नहीं कर सकते तो हम दूसरों का मजाक उड़ाने लग गई कुछ करना है तो सही कराने का प्रयास मजाक उड़ाने से क्या हो जाएगा इससे हमारे होते हैं मुख्यमंत्री किसी के किसी का भी मजाक उड़ाते हैं तो उनके कर्तव्य को हम नष्ट कर देते हैं इसके जिम्मेदार हम खुद होते हैं हम खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारते हैं
Romanized Version
देखिए दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल सबसे पहले बता दो उन लोगों को जो उनका मजाक उड़ाते हैं कि माना कि वह आपको पसंद नहीं है या उनकी गलत राजनीति तो इसका यह मतलब नहीं कि आप उनका मजाक उड़ाया खुजलीवाल या और कुछ नाम रखो इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा आगे यदि आप कौन सी राजनीति इतनी खराब लगती है तो उसके खिलाफ आवाज उठाओ ना कि उनके साथ ऐसा मजाक उड़ाओ कॉल हर किसी की चतुर्थी है आज इतने ऊंचे पद पर हैं तो यारों नंबर कोई वजह भी तो होगी ना कि जिस काम को इतने ऊंचे पद पर और वैसे भी हमने उनका नाम यदि खुजलीवाल रख दिया तो इससे क्या फर्क पड़ता है सिर्फ हमारी मानसिकता ही दर्शाती है कि हम कुछ नहीं कर सकते तो हम दूसरों का मजाक उड़ाने लग गई कुछ करना है तो सही कराने का प्रयास मजाक उड़ाने से क्या हो जाएगा इससे हमारे होते हैं मुख्यमंत्री किसी के किसी का भी मजाक उड़ाते हैं तो उनके कर्तव्य को हम नष्ट कर देते हैं इसके जिम्मेदार हम खुद होते हैं हम खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारते हैंDekhie Delhi Ke Mukhyamantri Shri Arvind Kejriwal Sabse Pehle Bata Do Un Logon Ko Jo Unka Mazak Udate Hain Ki Mana Ki Wah Aapko Pasand Nahi Hai Ya Unki Galat Rajneeti To Iska Yeh Matlab Nahi Ki Aap Unka Mazak Udaya Khujaliwal Ya Aur Kuch Naam Rakho Isse Koi Fark Nahi Padega Aage Yadi Aap Kaun Si Rajneeti Itni Kharab Lagti Hai To Uske Khilaf Aawaj Uthao Na Ki Unke Saath Aisa Mazak Udao Call Har Kisi Ki Chaturthi Hai Aaj Itne Unche Pad Par Hain To Yaaron Number Koi Wajah Bhi To Hogi Na Ki Jis Kaam Ko Itne Unche Pad Par Aur Waise Bhi Humne Unka Naam Yadi Khujaliwal Rakh Diya To Isse Kya Fark Padata Hai Sirf Hamari Mansikta Hi Darshatee Hai Ki Hum Kuch Nahi Kar Sakte To Hum Dusron Ka Mazak Udane Lag Gayi Kuch Karna Hai To Sahi Karane Ka Prayas Mazak Udane Se Kya Ho Jayega Isse Hamare Hote Hain Mukhyamantri Kisi Ke Kisi Ka Bhi Mazak Udate Hain To Unke Kartavya Ko Hum Nasht Kar Dete Hain Iske Zimmedar Hum Khud Hote Hain Hum Khud Apne Pair Par Kulhadi Marte Hain
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी कुमार विश्वास जो है आम आदमी पार्टी कब बनी थी तो संयोजक में बहुत ऐसे ही हो जाना बहुत अहम रोल प्ले किया था लेकिन लगातार जनता पार्टी के प्रतिरोध के प्रमुख कारण राज्यसभा का टिकट जो है पद का लालच होता गया और पद के लालच के चलते जो है वह लगातार जो है विरोधाभास करते गए जिससे एनालाइज किया गया पार्टी के अच्छे के लिए काम नहीं कर रहे हैं और उनकी हैसियत लगातार अभी राजस्थान के प्रभारी पद से हटाए गए तो जाहिर तौर पर कुमार विश्वास जैसा व्यक्ति जो खुले मंच पर विरोध कर रहा है इतना एरोगेंस की भावना से विरोध कर रहा है कि जैसे वह खुद में सब कुछ हैं उन्हें किसी की जरूरत नहीं है तमाम चीजों की कला है शायरी जो कला है लेकिन उस के माध्यम से वह ज्योति का हमला करते हैं तो जहर तौर पर ऐसे व्यक्ति को तुरंत पार्टी छोड़ते हैं अगर वाकई में इतने ज्यादा उनको एक निश्चित तौर पर कोई ना कोई तो पार्टी में बने हुए हैं जो ऊपरी तौर पर विरोधाभास कर रहे हैं लेकिन अंदर ही तौर पर इंजॉय कर रहे हैं किसी न किसी कारण उनकी कोई फूल है जिसके कारण छोड़ नहीं रहे
Romanized Version
विकी कुमार विश्वास जो है आम आदमी पार्टी कब बनी थी तो संयोजक में बहुत ऐसे ही हो जाना बहुत अहम रोल प्ले किया था लेकिन लगातार जनता पार्टी के प्रतिरोध के प्रमुख कारण राज्यसभा का टिकट जो है पद का लालच होता गया और पद के लालच के चलते जो है वह लगातार जो है विरोधाभास करते गए जिससे एनालाइज किया गया पार्टी के अच्छे के लिए काम नहीं कर रहे हैं और उनकी हैसियत लगातार अभी राजस्थान के प्रभारी पद से हटाए गए तो जाहिर तौर पर कुमार विश्वास जैसा व्यक्ति जो खुले मंच पर विरोध कर रहा है इतना एरोगेंस की भावना से विरोध कर रहा है कि जैसे वह खुद में सब कुछ हैं उन्हें किसी की जरूरत नहीं है तमाम चीजों की कला है शायरी जो कला है लेकिन उस के माध्यम से वह ज्योति का हमला करते हैं तो जहर तौर पर ऐसे व्यक्ति को तुरंत पार्टी छोड़ते हैं अगर वाकई में इतने ज्यादा उनको एक निश्चित तौर पर कोई ना कोई तो पार्टी में बने हुए हैं जो ऊपरी तौर पर विरोधाभास कर रहे हैं लेकिन अंदर ही तौर पर इंजॉय कर रहे हैं किसी न किसी कारण उनकी कोई फूल है जिसके कारण छोड़ नहीं रहेVikee Kumar Vishwas Jo Hai Aam Aadmi Party Kab Bani Thi To Sanyojak Mein Bahut Aise Hi Ho Jana Bahut Aham Roll Play Kiya Tha Lekin Lagatar Janta Party Ke Pratirodh Ke Pramukh Kaaran Rajya Sabha Ka Ticket Jo Hai Pad Ka Lalach Hota Gaya Aur Pad Ke Lalach Ke Chalte Jo Hai Wah Lagatar Jo Hai Virodhabhas Karte Gaye Jisse Analyse Kiya Gaya Party Ke Acche Ke Liye Kaam Nahi Kar Rahe Hain Aur Unki Haisiyat Lagatar Abhi Rajasthan Ke Prabhari Pad Se Hataye Gaye To Jaahir Taur Par Kumar Vishwas Jaisa Vyakti Jo Khule Manch Par Virodh Kar Raha Hai Itna Erogens Ki Bhavna Se Virodh Kar Raha Hai Ki Jaise Wah Khud Mein Sab Kuch Hain Unhen Kisi Ki Zaroorat Nahi Hai Tamam Chijon Ki Kala Hai Shaayari Jo Kala Hai Lekin Us Ke Maadhyam Se Wah Jyoti Ka Hamla Karte Hain To Zahar Taur Par Aise Vyakti Ko Turant Party Chedate Hain Agar Vaakai Mein Itne Jyada Unko Ek Nishchit Taur Par Koi Na Koi To Party Mein Bane Hue Hain Jo Upari Taur Par Virodhabhas Kar Rahe Hain Lekin Andar Hi Taur Par Enjoy Kar Rahe Hain Kisi N Kisi Kaaran Unki Koi Fool Hai Jiske Kaaran Chod Nahi Rahe
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे कितना निकालने का BJP BJP को पूर्ण बहुमत मतलब तो किया है लेकिन
Romanized Version
अरे कितना निकालने का BJP BJP को पूर्ण बहुमत मतलब तो किया है लेकिनArre Kitna Nikalne Ka BJP BJP Ko Poorn Bahumat Matlab To Kiya Hai Lekin
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस विषय पर मेरे बहुत सारे टीचर्स दोस्त है जो दिल्ली में है ऐसी वैसी रिजल्ट के बाद उनका यह मानना है कि इस बार जो सरकारी स्कूल में जो रिजल्ट दिया है CBSE में वह इतना मतलब अच्छा है और इसका सारा श्रेय जो है जाता है अरविंद केजरीवाल को क्योंकि उन्होंने बहुत मेहनत की है क्योंकि पहले जो सरकारी स्कूल में बड़ा पढ़ाई तो बिल्कुल नहीं होती थी टीचर्स भी नहीं होते सही तरह से पर जब से अरविंद केजरीवाल मतलब वहां के दिल्ली के चीफ मिनिस्टर बने हैं इस बार का रिजल्ट यह बताता है कि मैंने सच में बहुत से अच्छा काम किया है खासकर एजुकेशन में बाकी चीजों के बारे में मैं कुछ नहीं जानती हूं पर मेरी राय में अगर जो भी इंसान एजुकेशन के लिए इतना कुछ कर सकता है यह तो बहुत ही अच्छी बातें पहले जब आप एजुकेशन सेक्टर को अगर एक्टिव करेंगे अपने आप सब कुछ ठीक हो जाता है
Romanized Version
देखिए इस विषय पर मेरे बहुत सारे टीचर्स दोस्त है जो दिल्ली में है ऐसी वैसी रिजल्ट के बाद उनका यह मानना है कि इस बार जो सरकारी स्कूल में जो रिजल्ट दिया है CBSE में वह इतना मतलब अच्छा है और इसका सारा श्रेय जो है जाता है अरविंद केजरीवाल को क्योंकि उन्होंने बहुत मेहनत की है क्योंकि पहले जो सरकारी स्कूल में बड़ा पढ़ाई तो बिल्कुल नहीं होती थी टीचर्स भी नहीं होते सही तरह से पर जब से अरविंद केजरीवाल मतलब वहां के दिल्ली के चीफ मिनिस्टर बने हैं इस बार का रिजल्ट यह बताता है कि मैंने सच में बहुत से अच्छा काम किया है खासकर एजुकेशन में बाकी चीजों के बारे में मैं कुछ नहीं जानती हूं पर मेरी राय में अगर जो भी इंसान एजुकेशन के लिए इतना कुछ कर सकता है यह तो बहुत ही अच्छी बातें पहले जब आप एजुकेशन सेक्टर को अगर एक्टिव करेंगे अपने आप सब कुछ ठीक हो जाता हैDekhie Is Vishay Par Mere Bahut Sare Teachers Dost Hai Jo Delhi Mein Hai Aisi Waisi Result Ke Baad Unka Yeh Manana Hai Ki Is Baar Jo Sarkari School Mein Jo Result Diya Hai CBSE Mein Wah Itna Matlab Accha Hai Aur Iska Saara Shrey Jo Hai Jata Hai Arvind Kejriwal Ko Kyonki Unhone Bahut Mehnat Ki Hai Kyonki Pehle Jo Sarkari School Mein Bada Padhai To Bilkul Nahi Hoti Thi Teachers Bhi Nahi Hote Sahi Tarah Se Par Jab Se Arvind Kejriwal Matlab Wahan Ke Delhi Ke Chief Minister Bane Hain Is Baar Ka Result Yeh Batata Hai Ki Maine Sach Mein Bahut Se Accha Kaam Kiya Hai Khaskar Education Mein Baki Chijon Ke Bare Mein Main Kuch Nahi Jaanti Hoon Par Meri Raya Mein Agar Jo Bhi Insaan Education Ke Liye Itna Kuch Kar Sakta Hai Yeh To Bahut Hi Acchi Batein Pehle Jab Aap Education Sector Ko Agar Active Karenge Apne Aap Sab Kuch Theek Ho Jata Hai
Likes  12  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिया मेरा मानना है कि मीडिया ने अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार के खिलाफ पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाया है क्योंकि जब भी दिल्ली में कोई घटना होती है तो उसे इतना बढ़-चढ़कर दिखाया जाता है कि जैसे उसका जुड़ाव से दिल्ली सरकार से हो अगर कोई सरकार से जुड़ी हुई घटना होती है जिसमें सरकार की थोड़ी बात बिना कमी होती है तो उसे बहुत बड़े स्तर पर दिखाया जाता है ताकि इनकी छवि को गिराए जा सके खासकर वह चैनल जो सरका के लिए काम करते हैं जिन पर आज के समय में आरोप लगता है कि सरकार के लिए जुड़े हुए हैं सरकार के साथ यह इनका जो है वह गाड़ी चालू की है तो उन चैनलों पर खासकर इस प्रकार के साथ औरत ऐसी किसी न्यू सोंग या न्यूज़24 यार आज तक हो या कोई भी न्यूज़ चैनल जो सरकार के साथ जुड़े हुए हैं उनके ऊपर खासकर कुत्ता है फिर चाहे वह दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के थप्पड़ कांड हो वह हम देखने या फिर उससे पहले आप 21 विधायक जो आम आदमी पार्टी के दिन को वर्क क्या 11 आदमी की सदस्यता वापस आ गई थी कोर्ट के आदेश अनुसार तो इन दोनों घटनाओं को बहुत बढ़-चढ़कर दिखाया गया और सिग्नेचर ब्रिज तिवारी के साथ जो घटना गरीब परिवार की गति दीवानी और पुलिस को उल्टा धमकाने लगे इसका एक तरफ से थोड़ा-बहुत आरोप बिजॉय दिल्ली की सरकार के ऊपर लगा दिया क्या
Romanized Version
जिया मेरा मानना है कि मीडिया ने अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार के खिलाफ पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाया है क्योंकि जब भी दिल्ली में कोई घटना होती है तो उसे इतना बढ़-चढ़कर दिखाया जाता है कि जैसे उसका जुड़ाव से दिल्ली सरकार से हो अगर कोई सरकार से जुड़ी हुई घटना होती है जिसमें सरकार की थोड़ी बात बिना कमी होती है तो उसे बहुत बड़े स्तर पर दिखाया जाता है ताकि इनकी छवि को गिराए जा सके खासकर वह चैनल जो सरका के लिए काम करते हैं जिन पर आज के समय में आरोप लगता है कि सरकार के लिए जुड़े हुए हैं सरकार के साथ यह इनका जो है वह गाड़ी चालू की है तो उन चैनलों पर खासकर इस प्रकार के साथ औरत ऐसी किसी न्यू सोंग या न्यूज़24 यार आज तक हो या कोई भी न्यूज़ चैनल जो सरकार के साथ जुड़े हुए हैं उनके ऊपर खासकर कुत्ता है फिर चाहे वह दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के थप्पड़ कांड हो वह हम देखने या फिर उससे पहले आप 21 विधायक जो आम आदमी पार्टी के दिन को वर्क क्या 11 आदमी की सदस्यता वापस आ गई थी कोर्ट के आदेश अनुसार तो इन दोनों घटनाओं को बहुत बढ़-चढ़कर दिखाया गया और सिग्नेचर ब्रिज तिवारी के साथ जो घटना गरीब परिवार की गति दीवानी और पुलिस को उल्टा धमकाने लगे इसका एक तरफ से थोड़ा-बहुत आरोप बिजॉय दिल्ली की सरकार के ऊपर लगा दिया क्याGia Mera Manna Hai Qi Media Ne Arvind Kejriwal Aur Unki Sarkar K Khilaf Pakshpaatpoorna Ravaiyaa Apnaaya Hai Kyonki Jab Bhi Delhi Mein Koi Ghatna Hoti Hai To Usse Itna Badh Chadhakar Deekhaayaa Jaata Hai Qi Jaise Uska Judav Se Delhi Sarkar Se Ho Agar Koi Sarkar Se Judi Hue Ghatna Hoti Hai Jisamein Sarkar Ki Thodi Baat Binaa Kami Hoti Hai To Usse Bahut Bade Stra Per Deekhaayaa Jaata Hai Taki Inky Chhavi Co Giraye Ja Skye Khasakar Wah Channel Joe Sarka K Lie Kama Karte Hain Jean Per Aj K Samay Mein Aroop Lagta Hai Qi Sarkar K Lie Jude Huye Hain Sarkar K Sathe Yeh Inaka Joe Hai Wah Gadi Chalu Ki Hai To Un Chainalo Per Khasakar Is Prakar K Sathe Aurat Aisi Kisi New Song Ya Nyuz Your Aj Tak Ho Ya Koi Bhi Nyuz Channel Joe Sarkar K Sathe Jude Huye Hain Unke Upar Khasakar Kutta Hai Phir Chahe Wah Delhi K Mukhya Sachiv Anshu Prakash K Thappad Kad Ho Wah Hum Dakhane Ya Phir Usase Pehle Aap 21 Vidhayak Joe Am Aadmi Party K Din Co Work Kya 11 Aadmi Ki Sadasyata Vapusha Aa Gi Thi Court K Adesh Anusar To In Donon Ghatnayon Co Bahut Badh Chadhakar Deekhaayaa Gaya Aur Signature Bridge Tiwari K Sathe Joe Ghatna Garib Parivar Ki GATI Diwani Aur Police Co Ulta Dhamkane Lage Iska Ek Tarf Se Thoda Bahut Aroop Bagawan Delhi Ki Sarkar K Upar Laga Diya Kya
Likes  9  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की पानी की समस्या तो बहुत सारे शहरों में टिकट मतलब पानी की समस्या और एक जगह से जूझ रहा है और कांग्रेस जो है ईश्वर की चीजें करें बुक पोलिटिकल एंड पाटी चाहती है कि वह फोकस में रहते कैमरा में रहे मीडिया में रहता कि कहीं न कहीं पब्लिसिटी हो 13 वोट बैंक के लिए अफ्रीकी जरूर करे कांग्रेस का बिजली पकड़ नहीं अब देखेंगे हरे कृष्ण हरे पकड़ भी था वहां भी हो रही है ठीक है जो वोट मिल रहा था उनको वह चीज दिखो रही है कांग्रेस तो कुछ ना कुछ तो करना होगा ताकि उनको किधर है कि कांग्रेस जो है सिर्फ यह जो कोई भी राजनीति है उसको डिलीट करने की कोशिश कर देंगे और कुछ भी नहीं है
Romanized Version
आज की पानी की समस्या तो बहुत सारे शहरों में टिकट मतलब पानी की समस्या और एक जगह से जूझ रहा है और कांग्रेस जो है ईश्वर की चीजें करें बुक पोलिटिकल एंड पाटी चाहती है कि वह फोकस में रहते कैमरा में रहे मीडिया में रहता कि कहीं न कहीं पब्लिसिटी हो 13 वोट बैंक के लिए अफ्रीकी जरूर करे कांग्रेस का बिजली पकड़ नहीं अब देखेंगे हरे कृष्ण हरे पकड़ भी था वहां भी हो रही है ठीक है जो वोट मिल रहा था उनको वह चीज दिखो रही है कांग्रेस तो कुछ ना कुछ तो करना होगा ताकि उनको किधर है कि कांग्रेस जो है सिर्फ यह जो कोई भी राजनीति है उसको डिलीट करने की कोशिश कर देंगे और कुछ भी नहीं हैAaj Ki Pani Ki Samasya To Bahut Sare Shaharon Mein Ticket Matlab Pani Ki Samasya Aur Ek Jagah Se Joojh Raha Hai Aur Congress Jo Hai Ishwar Ki Cheezen Karen Book Political End Paati Chahti Hai Ki Wah Focus Mein Rehte Camera Mein Rahe Media Mein Rehta Ki Kahin N Kahin Publicity Ho 13 Vote Bank Ke Liye Afriki Jarur Kare Congress Ka Bijli Pakad Nahi Ab Dekhenge Hare Krishan Hare Pakad Bhi Tha Wahan Bhi Ho Rahi Hai Theek Hai Jo Vote Mil Raha Tha Unko Wah Cheez Dikho Rahi Hai Congress To Kuch Na Kuch To Karna Hoga Taki Unko Kidhar Hai Ki Congress Jo Hai Sirf Yeh Jo Koi Bhi Rajneeti Hai Usko Delete Karne Ki Koshish Kar Denge Aur Kuch Bhi Nahi Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
vokalandroid