tag_img

Festival


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रसून जोशी जी का जयपुर साहित्य उत्सव में ना जाना करणी सेना का कारण नहीं है, उनका कारण यह है कि वह इस समय एक पद पर विराजमान है और उस पद की गरिमा रखने के लिए उन्हें वहां नहीं जाना चाहिए था| सबसे बड़ी ब...
जवाब पढ़िये
प्रसून जोशी जी का जयपुर साहित्य उत्सव में ना जाना करणी सेना का कारण नहीं है, उनका कारण यह है कि वह इस समय एक पद पर विराजमान है और उस पद की गरिमा रखने के लिए उन्हें वहां नहीं जाना चाहिए था| सबसे बड़ी बात यह है कि अगर कोई आदमी अगर आप को रोकता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि अगर आप वो चीज़ फॉलो करें, तो उसी व्यक्ति के लिए किया है| करणी सेना तो आपको पता ही है क्या कर रही है लेकिन प्रसून जोशी जी बहुत इंटेलेक्चुअल आदमी है, बुद्धिमान व्यक्ति हैं, उन्हें पता है कि किस जगह जाकर उनसे किस तरह के सवाल पूछे जा सकते हैं? अगर वहां पर जाते जयपुर लिटरेचर में तो उनसे दो सवाल पूछे जाते कि उन्होंने क्यों पास की? पास कर दी तो उसके बाद ऐसा क्यों हो रहा है? या जिस तरह की डिप्लोमेटिक जवाब देने के लिए वह तैयार अभी थे नहीं इसलिए वहां नहीं गए| इंसान कभी न कभी अपनी लाइफ में थर्ड फ्रंट से निकलने की कोशिश करता है, तो प्रसून जोशी जी ने भी यही कोशिश की है| इसमें कोई बड़ी बात नहीं है और ना ही इतनी छोटी सी बात को माइंड करना चाहिए| नहीं गए तो नहीं गए, कोई दिक्कत नहीं है और बाकी जो साहित्यकार है या महान व्यक्ति है, नेता है, अभिनेता है, अच्छे-अच्छे लोग गए हुए वहां पर लिटरेचर में तो उनका भाषण भी काफी इंजॉय करने लायक रहा| तो मुझे लगता नहीं है प्रसून जोशी जी को आप लोगो को इस तरह के बारे में सोचना चाहिए कि करणी सेना से डर गए हैं, ऐसा कुछ नहीं है| हमारे संविधान ने हमें कॉफी राइट्स दे रखे है और वह जिस तरह के पद पर बैठे हैं, वहां चाहे करणी सेना आ जाए, चाहे कोई और नेता आ जाए उन्हें पद से हटाना और उन्हें किसी भी तरह की क्षति पहुंचाना लगभग असंभव है, धन्यवाद|Prasoon Joshi Ji Ka Jaipur Sahitya Utsav Mein Na Jana Karni Sena Ka Kaaran Nahi Hai Unka Kaaran Yeh Hai Ki Wah Is Samay Ek Pad Par Virajman Hai Aur Us Pad Ki Garima Rakhne Ke Liye Unhen Wahan Nahi Jana Chahiye Tha Sabse Badi Baat Yeh Hai Ki Agar Koi Aadmi Agar Aap Ko Rokta Hai To Iska Matlab Yeh Nahi Hai Ki Agar Aap Vo Cheez Follow Karen To Ussi Vyakti Ke Liye Kiya Hai Karni Sena To Aapko Pata Hi Hai Kya Kar Rahi Hai Lekin Prasoon Joshi Ji Bahut Intelekchual Aadmi Hai Buddhimaan Vyakti Hain Unhen Pata Hai Ki Kis Jagah Jaakar Unse Kis Tarah Ke Sawal Puche Ja Sakte Hain Agar Wahan Par Jaate Jaipur Literature Mein To Unse Do Sawal Puche Jaate Ki Unhone Kyun Paas Ki Paas Kar Di To Uske Baad Aisa Kyun Ho Raha Hai Ya Jis Tarah Ki Diplometik Jawab Dene Ke Liye Wah Taiyaar Abhi The Nahi Isliye Wahan Nahi Gaye Insaan Kabhi N Kabhi Apni Life Mein Third Frant Se Nikalne Ki Koshish Karta Hai To Prasoon Joshi Ji Ne Bhi Yahi Koshish Ki Hai Isme Koi Badi Baat Nahi Hai Aur Na Hi Itni Choti Si Baat Ko Mind Karna Chahiye Nahi Gaye To Nahi Gaye Koi Dikkat Nahi Hai Aur Baki Jo Sahityakaar Hai Ya Mahaan Vyakti Hai Neta Hai Abhineta Hai Acche Acche Log Gaye Hue Wahan Par Literature Mein To Unka Bhashan Bhi Kafi Enjoy Karne Layak Raha To Mujhe Lagta Nahi Hai Prasoon Joshi Ji Ko Aap Logo Ko Is Tarah Ke Baare Mein Sochna Chahiye Ki Karni Sena Se Dar Gaye Hain Aisa Kuch Nahi Hai Hamare Samvidhan Ne Hume Coffee Rights De Rakhe Hai Aur Wah Jis Tarah Ke Pad Par Baithey Hain Wahan Chahe Karni Sena Aa Jaye Chahe Koi Aur Neta Aa Jaye Unhen Pad Se Hatana Aur Unhen Kisi Bhi Tarah Ki Kshati Pahunchana Lagbhag Asambhav Hai Dhanyavad
Likes  14  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले कहानी फिर मैं अपने विचार बताऊंगी बकरी ब्याने ईद उल अजा का फेस्टिवल लिस्ट ऑफ सैक्रिफाइस यानी बलिदान का त्योहार कहा जाता है कहा जाता है कि अल्लाह ने इब्राहिम के वीडियोस यानी आज्ञापालन की परीक्षा ले...
जवाब पढ़िये
पहले कहानी फिर मैं अपने विचार बताऊंगी बकरी ब्याने ईद उल अजा का फेस्टिवल लिस्ट ऑफ सैक्रिफाइस यानी बलिदान का त्योहार कहा जाता है कहा जाता है कि अल्लाह ने इब्राहिम के वीडियोस यानी आज्ञापालन की परीक्षा लेना चाहा इब्राहिम अपने बेटे शायद उनका नाम इस्माइल की कुर्बानी देने के लिए तैयार हो गए थे क्योंकि अल्लाह ने उन्हें हुक्म दिया था कथन यह है कि जब इब्राहिम ने अपने बेटे के गले को काटने का प्रयत्न किया तो बेटा स्माइल सही सलामत था और उसकी जगह एक बकरी हलाल हो हो गया था तो Wikipedia कहता है कि सैक्रिफाइस हलाल का यह तात्पर्य है कि इंसान की जान कभी नहीं लेनी चाहिए खासतौर से अल्लाह के नाम पर यहां यह भी लिखा है कि मांस का Wanted एक तिहाई हिस्सा गरीबों में बांटा जाएगा एक तिहाई रिश्तेदारों में और आखरी Wanted जो है अपने हिस्से आता है जो कि वह अपना बनाकर और खाते हैं अब मैं एक जैन हूं और हिंसा चाहे वजह कोई भी हो पशु-पक्षी इंसान मेरे लिए धर्म का प्रतीक नहीं हो सकता चाहे वह कुर्बानी अल्लाह के नाम पर हो चाहे काली मां के मंदिर में हो बेजुबान जीव की हत्या मजहब नहीं सिखा सकती मेरा यह अभिप्राय है और मैं बहुत माफी चाहूंगी अगर मेरे फ्रेंड्स किसी को भी आ मेरी बात गलत लगे बट आज उज्जैन में यह सैक्रिफाइस मेरे लिए तो बहुत मेरा दिल बहुत दुखता है जब मैं देखती हूं इन बेजुबान जीवो को मरते हुए आज के दिनPehle Kahani Phir Main Apne Vichar Bataungi Bakri Byane Eid Ul Aja Ka Festival List Of Sacrifice Yani Balidaan Ka Tyohaar Kaha Jata Hai Kaha Jata Hai Ki Allah Ne Ibrahim Ke Videos Yani Agyaapaalan Ki Pariksha Lena Chaha Ibrahim Apne Bete Shayad Unka Naam Ismail Ki Kurbani Dene Ke Liye Taiyaar Ho Gaye The Kyonki Allah Ne Unhen Huqm Diya Tha Kathan Yeh Hai Ki Jab Ibrahim Ne Apne Bete Ke Gale Ko Katne Ka Prayatn Kiya To Beta Smile Sahi Salamat Tha Aur Uski Jagah Ek Bakri Halal Ho Ho Gaya Tha To Wikipedia Kahata Hai Ki Sacrifice Halal Ka Yeh Tatparya Hai Ki Insaan Ki Jaan Kabhi Nahi Leni Chahiye Khaasataur Se Allah Ke Naam Par Yahan Yeh Bhi Likha Hai Ki Maans Ka Wanted Ek Tihai Hissa Garibon Mein Banta Jayega Ek Tihai Rishtedaaro Mein Aur Aakhri Wanted Jo Hai Apne Hisse Aata Hai Jo Ki Wah Apna Banakar Aur Khate Hain Ab Main Ek Jain Hoon Aur Hinsa Chahe Wajah Koi Bhi Ho Pashu Pakshi Insaan Mere Liye Dharm Ka Pratik Nahi Ho Sakta Chahe Wah Kurbani Allah Ke Naam Par Ho Chahe Kali Maa Ke Mandir Mein Ho Bejuban Jeev Ki Hatya Majahab Nahi Sikha Sakti Mera Yeh Abhipray Hai Aur Main Bahut Maafi Chahungi Agar Mere Friends Kisi Ko Bhi Aa Meri Baat Galat Lage But Aaj Ujjain Mein Yeh Sacrifice Mere Liye To Bahut Mera Dil Bahut Dukhata Hai Jab Main Dekhti Hoon In Bejuban Jivo Ko Marte Huye Aaj Ke Din
Likes  16  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओ होली देखा जाए तो होली हमारी स्प्रिंग फेस्टिवल है जो हमारे इंडियन सब कॉन्टिनेंट बनाया जाता है और ना ही इसमें जो है यह भगवान की जो जीत हुई थी राक्षस राक्षस बजे से बोला जा सके उसकी टोपी मनाए जाते हैं इ...
जवाब पढ़िये
ओ होली देखा जाए तो होली हमारी स्प्रिंग फेस्टिवल है जो हमारे इंडियन सब कॉन्टिनेंट बनाया जाता है और ना ही इसमें जो है यह भगवान की जो जीत हुई थी राक्षस राक्षस बजे से बोला जा सके उसकी टोपी मनाए जाते हैं इसके अलावा आप इस दिन जो देखा जाए तो वह हमारी जो होती है गुड हार्वेस्ट अच्छी खेती होती है उसके अलावा जो हमारे फुल मूवी पूर्णिमा का दिन होता है उसके लिए भी यह विक्रम संवत हिंदू कैलेंडर में आती है और मंत्र जो होता है वह फागुन होता है जैसे फगुआ भी बोलते हैं नॉर्मल भाषा में तो यह फरवरी का जो ईश्वर होली जो 12 को है मार्च में तो दिखा जा तू देखिए आप पहले काम में तो होलिका दहन होती है फिर छोटी होली होती है जिसमें रंग होली दूल्हे यह सब आप करते उसके पास एक बड़ी होली होती है हिंदू मतलब जो हमारे धर्म है इसमें बहुत अच्छी फेस्टिवल बहुत ही पॉपुलर फेस्टिवल है इस दिन में देखा जाए तो बहुत सारी लाल के होली मनाते हैं होलिका दहन बनाते हैंO Holi Dekha Jaye To Holi Hamari Spring Festival Hai Jo Hamare Indian Sab Kantinent Banaya Jata Hai Aur Na Hi Isme Jo Hai Yeh Bhagwan Ki Jo Jeet Hui Thi Rakshas Rakshas Baje Se Bola Ja Sake Uski Topi Manaye Jaate Hain Iske Alava Aap Is Din Jo Dekha Jaye To Wah Hamari Jo Hoti Hai Good Harvest Acchi Kheti Hoti Hai Uske Alava Jo Hamare Full Movie Poornima Ka Din Hota Hai Uske Liye Bhi Yeh Vikram Sanvat Hindu Calendar Mein Aati Hai Aur Mantra Jo Hota Hai Wah Phagun Hota Hai Jaise Faguaa Bhi Bolte Hain Normal Bhasha Mein To Yeh February Ka Jo Ishwar Holi Jo 12 Ko Hai March Mein To Dikha Ja Tu Dekhie Aap Pehle Kaam Mein To Holika Dahan Hoti Hai Phir Choti Holi Hoti Hai Jisme Rang Holi Duulhe Yeh Sab Aap Karte Uske Paas Ek Badi Holi Hoti Hai Hindu Matlab Jo Hamare Dharm Hai Isme Bahut Acchi Festival Bahut Hi Popular Festival Hai Is Din Mein Dekha Jaye To Bahut Saree Lal Ke Holi Manate Hain Holika Dahan Banate Hain
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली फेस्टिवल देखा जाए तो होली फेस्टिवल जो है भारत का बहुत ही प्रसिद्ध फेस्टिवल है उस दिन जो है हमारी दोस्त भी दुश्मन से गले मिलते हैं और साथ ही साथ एक दूसरे को रंग लगाते बहुत ही पुरानी चली आ रही है क...
जवाब पढ़िये
होली फेस्टिवल देखा जाए तो होली फेस्टिवल जो है भारत का बहुत ही प्रसिद्ध फेस्टिवल है उस दिन जो है हमारी दोस्त भी दुश्मन से गले मिलते हैं और साथ ही साथ एक दूसरे को रंग लगाते बहुत ही पुरानी चली आ रही है क्या ख्याल है जिसमें कि प्रह्लाद का जो कहानी बताएं क्या वह बिल्कुल है सही तो अपने बताया कि अब जा को जलाया जाता है वह सही है या नहीं हां बिल्कुल सही है उसके बहुत सारे हमारे यहां जो चीज होती जाती है और तो चेंज कर सकते हैंHoli Festival Dekha Jaye To Holi Festival Jo Hai Bharat Ka Bahut Hi Prasiddh Festival Hai Us Din Jo Hai Hamari Dost Bhi Dushman Se Gale Milte Hain Aur Saath Hi Saath Ek Dusre Ko Rang Lagate Bahut Hi Purani Chali Aa Rahi Hai Kya Khayal Hai Jisme Ki Prahlad Ka Jo Kahani Bataen Kya Wah Bilkul Hai Sahi To Apne Bataya Ki Ab Ja Ko Jalaaya Jata Hai Wah Sahi Hai Ya Nahi Haan Bilkul Sahi Hai Uske Bahut Sare Hamare Yahan Jo Cheez Hoti Jati Hai Aur To Change Kar Sakte Hain
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा जीडीपी ने कहा जो सेना अध्यक्ष है उन्होंने उनकी जो सही करैक्टर लाइन है जब उन्हें एक ऐसा कहा गया कि रमजान का महीना आ रहा है और वह अपना ऑपरेशन रुक जाए तो उन्होंने यह कहा कि हम ऑपरेशन रोक देंगे अपनी ल...
जवाब पढ़िये
ऐसा जीडीपी ने कहा जो सेना अध्यक्ष है उन्होंने उनकी जो सही करैक्टर लाइन है जब उन्हें एक ऐसा कहा गया कि रमजान का महीना आ रहा है और वह अपना ऑपरेशन रुक जाए तो उन्होंने यह कहा कि हम ऑपरेशन रोक देंगे अपनी लेकिन इसका क्या भरोसा है कि जो आतंकी है वह भी अपनी गतिविधि रोक देंगे तो आर्मी का देखिए किसी भी इंसान को कोई परवाह है होली आती है दिवाली आती है लेकिन आर्मी के लिए उसका फल होता है उस देश की खुशी होती है अगर कोई भी ऐसी गतिविधि कर रहा है तो आर्मी को चाहे कोई भी फेस्टिवल चल रहा है वह रमजान क्यों ना हो होली हो दिवाली हुई तो कुछ भी हो आर्मी को पूरा हक है उसके ऊपर एक्शन लेने का क्योंकि आर्मी के लिए या किसी भी देश के नागरिक के लिए देश के ऊपर कोई भी पर हो या कुछ भी होना नहीं चाहिएAisa Gdp Ne Kaha Jo Sena Adhyaksh Hai Unhone Unki Jo Sahi Karaiktar Line Hai Jab Unhen Ek Aisa Kaha Gaya Ki Ramjan Ka Mahina Aa Raha Hai Aur Wah Apna Operation Ruk Jaye To Unhone Yeh Kaha Ki Hum Operation Rok Denge Apni Lekin Iska Kya Bharosa Hai Ki Jo Aatanki Hai Wah Bhi Apni Gatividhi Rok Denge To Army Ka Dekhie Kisi Bhi Insaan Ko Koi Parvaah Hai Holi Aati Hai Diwali Aati Hai Lekin Army Ke Liye Uska Fal Hota Hai Us Desh Ki Khushi Hoti Hai Agar Koi Bhi Aisi Gatividhi Kar Raha Hai To Army Ko Chahe Koi Bhi Festival Chal Raha Hai Wah Ramjan Kyun Na Ho Holi Ho Diwali Hui To Kuch Bhi Ho Army Ko Pura Haq Hai Uske Upar Action Lene Ka Kyonki Army Ke Liye Ya Kisi Bhi Desh Ke Nagarik Ke Liye Desh Ke Upar Koi Bhi Par Ho Ya Kuch Bhi Hona Nahi Chahiye
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैकी श्रॉफ में काफी अच्छा क्वेश्चन डाला है और आपकी सोच से मैं बहुत काफी खुश हूं और जो आपकी सोच है दूसरों की मदद करने के लिए काफी अच्छी है तो फिर आप यह चाहते हैं कि आप क्या करें कि या तो दूसरों की मदद ...
जवाब पढ़िये
जैकी श्रॉफ में काफी अच्छा क्वेश्चन डाला है और आपकी सोच से मैं बहुत काफी खुश हूं और जो आपकी सोच है दूसरों की मदद करने के लिए काफी अच्छी है तो फिर आप यह चाहते हैं कि आप क्या करें कि या तो दूसरों की मदद करें जो कि जरूरतमंद है या फिर आप अपने ऊपर रंग डालें लेकिन जहां तक मुझे लगता है कि आप दोनों काम एक साथ कर सकते हैं आप होली का मजा भी ले सकते हैं और आप दूसरों की मदद भी कर सकते हैं तो बस यही बोलूंगा कि आप उल्लू की हेल्प करें जो की बहुत जरूरत बंद है होली के त्यौहार पर जो लोग गरीब हैं जिनके पास पैसे नहीं है आप उनको मदद कर सकते हैं और कुछ लोग हैं उनके साथ कोई त्यौहार बनाने वाला नहीं है तो आप उनके साथ जाकर होली भी खेल सकते हैं तो आप दोनों काम एक साथ कर सकते हैं मुझे लगता है कि यह काफी अच्छा काम है और हमारे देश के अन्य लोग भी अगर ऐसा करते हैं तो सारे लोगों का त्यौहार काफी अच्छा जाएगा तो काफी अच्छी सोच है तो आप बिल्कुल दोनों काम कीजिएJackie Shroff Mein Kafi Accha Question Dala Hai Aur Aapki Soch Se Main Bahut Kafi Khush Hoon Aur Jo Aapki Soch Hai Dusron Ki Madad Karne Ke Liye Kafi Acchi Hai To Phir Aap Yeh Chahte Hain Ki Aap Kya Karen Ki Ya To Dusron Ki Madad Karen Jo Ki Jaruratmand Hai Ya Phir Aap Apne Upar Rang Daalein Lekin Jahan Tak Mujhe Lagta Hai Ki Aap Dono Kaam Ek Saath Kar Sakte Hain Aap Holi Ka Maza Bhi Le Sakte Hain Aur Aap Dusron Ki Madad Bhi Kar Sakte Hain To Bus Yahi Bolunga Ki Aap Ullu Ki Help Karen Jo Ki Bahut Zaroorat Band Hai Holi Ke Tyohar Par Jo Log Garib Hain Jinke Paas Paise Nahi Hai Aap Unko Madad Kar Sakte Hain Aur Kuch Log Hain Unke Saath Koi Tyohar Banane Wala Nahi Hai To Aap Unke Saath Jaakar Holi Bhi Khel Sakte Hain To Aap Dono Kaam Ek Saath Kar Sakte Hain Mujhe Lagta Hai Ki Yeh Kafi Accha Kaam Hai Aur Hamare Desh Ke Anya Log Bhi Agar Aisa Karte Hain To Sare Logon Ka Tyohar Kafi Accha Jayega To Kafi Acchi Soch Hai To Aap Bilkul Dono Kaam Kijiye
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत के लोग हर त्यौहार धूमधाम से मनाते हैं बिल्कुल धक धक बात है यह सही बात है और क्यों मनाते हैं उसके पीछे वजह ज्यादा कोई बड़ी नहीं है मेरे ख्याल से 1 सीटों का हिसाब है अगर आप देखोगे हिंदुस्तान ...
जवाब पढ़िये
देखिए भारत के लोग हर त्यौहार धूमधाम से मनाते हैं बिल्कुल धक धक बात है यह सही बात है और क्यों मनाते हैं उसके पीछे वजह ज्यादा कोई बड़ी नहीं है मेरे ख्याल से 1 सीटों का हिसाब है अगर आप देखोगे हिंदुस्तान के अंदर जितने भी तमाम हूं जितनी भी कल्चर है उन सबका आप अगर बैकग्राउंड देखते हो जिस आधार पर वह धर्म जो है या वह जो संस्कृति है वह वजूद में आई उसके पीछे जितनी भी है आज तक इंसिडेंट हुए जो भी घटनाएं हुई वह सारी चीज़े उनसे मुतासिर होने के बाद इंसान को जो त्यौहार का वक्त आता है वह उसके लिए इतना ज्यादा मत नहीं रखता है बस मेरे साथ से बजा यही है कि जब आप उस पार्टी कूलर रहता है वह उसे मार के बारे में अगर आप बात करोगे उसके पीछे जाकर देखोगे तो उसके पीछे की जो कहानी है वह इतनी ज्यादा उत्साह भरी है इतनी ज्यादा इंस्पिरेशनल है उससे आपको बहुत ज्यादा सीखने को मिल सकता है तो यही सारी चीजें हैं जिनकी वजह से इंसान जो है बहुत ज्यादा धूमधाम से मनाते हैंDekhie Bharat Ke Log Har Tyohar Dhumadham Se Manate Hain Bilkul Dhaka Dhaka Baat Hai Yeh Sahi Baat Hai Aur Kyun Manate Hain Uske Piche Wajah Jyada Koi Badi Nahi Hai Mere Khayal Se 1 Seaton Ka Hisab Hai Agar Aap Dekhoge Hindustan Ke Andar Jitne Bhi Tamam Hoon Jitni Bhi Culture Hai Un Sabka Aap Agar Background Dekhte Ho Jis Aadhar Par Wah Dharm Jo Hai Ya Wah Jo Sanskriti Hai Wah Vajud Mein Eye Uske Piche Jitni Bhi Hai Aaj Tak Incident Hue Jo Bhi Ghatnaye Hui Wah Saree Cheeje Unse Mutasir Hone Ke Baad Insaan Ko Jo Tyohar Ka Waqt Aata Hai Wah Uske Liye Itna Jyada Mat Nahi Rakhta Hai Bus Mere Saath Se Baja Yahi Hai Ki Jab Aap Us Party Cooler Rehta Hai Wah Use Maar Ke Baare Mein Agar Aap Baat Karoge Uske Piche Jaakar Dekhoge To Uske Piche Ki Jo Kahani Hai Wah Itni Jyada Utsaah Bhari Hai Itni Jyada Inspiration Hai Usse Aapko Bahut Jyada Seekhne Ko Mil Sakta Hai To Yahi Saree Cheezen Hain Jinaki Wajah Se Insaan Jo Hai Bahut Jyada Dhumadham Se Manate Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मकर संक्रांति दो चीजों को रिप्लाई करता है यह का हिंदू कैलेंडर के हिसाब से कोई विशिष्ट सूर्य भगवान का दिन ना हो जिसमें हम लोग का सबसे बड़ी नौकाओं के सूर्य प्रणाम करते हैं और इस दिन हम लोग को भगवान सूर्...
जवाब पढ़िये
मकर संक्रांति दो चीजों को रिप्लाई करता है यह का हिंदू कैलेंडर के हिसाब से कोई विशिष्ट सूर्य भगवान का दिन ना हो जिसमें हम लोग का सबसे बड़ी नौकाओं के सूर्य प्रणाम करते हैं और इस दिन हम लोग को भगवान सूर्य को प्ले करते हैं और इस दिल से यह माना जाता है कि और सर्दी का मौसम कम हो जाता है और गर्मी का मौसम आने लगता है और इस दी मकर सक्रांति के दिन से 8 दिन का जो टाइम होता है वह दिन लंबा हो जाता है और आप धीरे-धीरे छोटा होने लगता है तो इसीलिए मकर संक्रांति के दिन हम लोग सूर्य भगवान को पूजा करके मकर संक्रांति मनाते हैंMakar Sankranti Do Chijon Ko Reply Karta Hai Yeh Ka Hindu Calendar Ke Hisab Se Koi Vishist Surya Bhagwan Ka Din Na Ho Jisme Hum Log Ka Sabse Badi Naukaon Ke Surya Pranam Karte Hain Aur Is Din Hum Log Ko Bhagwan Surya Ko Play Karte Hain Aur Is Dil Se Yeh Mana Jata Hai Ki Aur Sardi Ka Mausam Kum Ho Jata Hai Aur Garmi Ka Mausam Aane Lagta Hai Aur Is Di Makar Sakranti Ke Din Se 8 Din Ka Jo Time Hota Hai Wah Din Lamba Ho Jata Hai Aur Aap Dhire Dhire Chota Hone Lagta Hai To Isliye Makar Sankranti Ke Din Hum Log Surya Bhagwan Ko Puja Karke Makar Sankranti Manate Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रधानमंत्री राष्ट्रपति मुख्यमंत्री जी को ईद त्योहार दिवाली या किसी भी त्यौहार की शुभकामनाएं हैं सोशल मीडिया जैसे कि फेसबुक ट्विटर के जरिए ही भेजा जा सकता है...
जवाब पढ़िये
प्रधानमंत्री राष्ट्रपति मुख्यमंत्री जी को ईद त्योहार दिवाली या किसी भी त्यौहार की शुभकामनाएं हैं सोशल मीडिया जैसे कि फेसबुक ट्विटर के जरिए ही भेजा जा सकता हैPradhanmantri Rashtrapati Mukhyamantri Ji Ko Eid Tyohaar Diwali Ya Kisi Bhi Tyohar Ki Subhkamnaayain Hain Social Media Jaise Ki Facebook Twitter Ke Jariye Hi Bheja Ja Sakta Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म फेस्टिवल होते उनके नाम है तेज फेस्टिवल बरसाना होली होली भगवान होली महाशिवरात्रि दिवाली फेस्टिवल DJ कहो रांझा इन बलदेव कपिल अफेयर इन उत्तर प्रदेश गंगा दशहरा आयुर्वेद झांसी महोत्सव जन्माष्टमी फेस्...
जवाब पढ़िये
फिल्म फेस्टिवल होते उनके नाम है तेज फेस्टिवल बरसाना होली होली भगवान होली महाशिवरात्रि दिवाली फेस्टिवल DJ कहो रांझा इन बलदेव कपिल अफेयर इन उत्तर प्रदेश गंगा दशहरा आयुर्वेद झांसी महोत्सव जन्माष्टमी फेस्टिवल कैलाश खेर इन आगरा निर्जला एकादशी डॉक्टर संबोधन जयंती लखनऊ महोत्सव और महेश्वर फेयरFilm Festival Hote Unke Naam Hai Tez Festival Barsana Holi Holi Bhagwan Holi Mahashivaratri Diwali Festival DJ Kaho Ranjha In Baldev Kapil Affair In Uttar Pradesh Ganga Dussehra Ayurveda Jhansi Mahotsav Janmastmi Festival Kailash Kher In Agra Nirjala Ekadashi Doctor Sanbodhan Jayanti Lucknow Mahotsav Aur Maheswar Fair
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली जो हमारे भारत में बहुत ही फेमस फेस्टिवल है तो पहले तो होलिका दहन आती है तो होलिका दहन देखा जाए तो 1 मार्च को है 1 मार्च 2018 को होली का दहन है और आपकी बात करें तो होली अच्छी शाम से ही स्टार्ट हो ...
जवाब पढ़िये
होली जो हमारे भारत में बहुत ही फेमस फेस्टिवल है तो पहले तो होलिका दहन आती है तो होलिका दहन देखा जाए तो 1 मार्च को है 1 मार्च 2018 को होली का दहन है और आपकी बात करें तो होली अच्छी शाम से ही स्टार्ट हो रही है उसका जू खत्म होगा होली का जो पंख होता है होली का जो दिन होते हैं वह खत्म होगा 2 मार्च को तूने देखा जाता हमसे हुई है लेकिन 2 मार्च को मना सकते साइटिका में अब दिन में होली खेल सकते आप एक दूसरे को रंग लगा सकते हैं और हमारी तरफ से आपको वह कल टीम की तरफ से आपको होली की हार्दिक शुभकामनाएंHoli Jo Hamare Bharat Mein Bahut Hi Famous Festival Hai To Pehle To Holika Dahan Aati Hai To Holika Dahan Dekha Jaye To 1 March Ko Hai 1 March 2018 Ko Holi Ka Dahan Hai Aur Aapki Baat Karen To Holi Acchi Shaam Se Hi Start Ho Rahi Hai Uska Zoo Khatam Hoga Holi Ka Jo Pankh Hota Hai Holi Ka Jo Din Hote Hain Wah Khatam Hoga 2 March Ko Tune Dekha Jata Humse Hui Hai Lekin 2 March Ko Mana Sakte Saitika Mein Ab Din Mein Holi Khel Sakte Aap Ek Dusre Ko Rang Laga Sakte Hain Aur Hamari Taraf Se Aapko Wah Kal Team Ki Taraf Se Aapko Holi Ki Hardik Subhkamnaayain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली देखा जाए तो होली जो है वह हमारे स्प्रिंग फेस्टिवल है पूरे इंडियन सब कॉन्टिनेंट पर और यह सही रंगों का त्योहार जिससे लोग काफी धूमधाम से मनाते हैं आज हमें नौकरी दिखा जा तू स्कूल कॉलेज बंद होने वाली ...
जवाब पढ़िये
होली देखा जाए तो होली जो है वह हमारे स्प्रिंग फेस्टिवल है पूरे इंडियन सब कॉन्टिनेंट पर और यह सही रंगों का त्योहार जिससे लोग काफी धूमधाम से मनाते हैं आज हमें नौकरी दिखा जा तू स्कूल कॉलेज बंद होने वाली है तो जो वहां के लड़के होते हैं वहां पर जो स्टूडेंट होते हैं उन्होंने कॉल स्टडी करती है तो होली में आने की बहुत सारे कारण तो नहीं है ना होली मनाने के जैसा कि देखा जाए तो होलिका दहन प्रहलाद के बारे में कहानी सुना होगा जो हमारी हिंदू में थे हिंदू बिलीव के आगे गाड़ियां पहलाद की कहानी है जिसे आग में जलाया जाता है पानी गर्म पानी गरम तेल में डाला जाता है तो जो कहानी है विष्णु के आज जो हमारी भागवत पुराण में किसी दिन के लिए होलिका दहन है उसके बाद होली आती है उसको पहले छोटी हो जाती है फिर बड़ी होली आती है तो आ देखा जाए तो देखिए हिंदू आ जाओ यह पहल आती है विष्णु के बहुत अच्छे लोग आते विष्णु के बहुत अच्छे भक्ति थे तो दो-तीन शेर कश्यप थे वह उन्हें मतलब तेरे चाचा के लिएHoli Dekha Jaye To Holi Jo Hai Wah Hamare Spring Festival Hai Poore Indian Sab Continent Par Aur Yeh Sahi Rangon Ka Tyohaar Jisse Log Kafi Dhumadham Se Manate Hain Aaj Hume Naukri Dikha Ja Tu School College Band Hone Wali Hai To Jo Wahan Ke Ladke Hote Hain Wahan Par Jo Student Hote Hain Unhone Call Study Karti Hai To Holi Mein Aane Ki Bahut Sare Kaaran To Nahi Hai Na Holi Manane Ke Jaisa Ki Dekha Jaye To Holika Dahan Prahlad Ke Bare Mein Kahani Suna Hoga Jo Hamari Hindu Mein The Hindu Believe Ke Aage Gadiyan Pahalad Ki Kahani Hai Jise Aag Mein Jalaaya Jata Hai Pani Garam Pani Garam Tel Mein Dala Jata Hai To Jo Kahani Hai Vishnu Ke Aaj Jo Hamari Bhagwat Puran Mein Kisi Din Ke Liye Holika Dahan Hai Uske Baad Holi Aati Hai Usko Pehle Choti Ho Jati Hai Phir Badi Holi Aati Hai To Aa Dekha Jaye To Dekhie Hindu Aa Jao Yeh Pahal Aati Hai Vishnu Ke Bahut Acche Log Aate Vishnu Ke Bahut Acche Bhakti The To Do Teen Sher Kashyap The Wah Unhen Matlab Tere Chacha Ke Liye
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के होली में ऐसे कोई हारे का बचपन का जो है कोई मतलब नहीं है मोहम्मद कल तो हर आदमी अपने अपने हिसाब से निकाल सकता है होली जो है वह प्यार का त्यौहार है और प्यार को जो है वह रिप्रेजेंट करता है होली जो ब...
जवाब पढ़िये
आज के होली में ऐसे कोई हारे का बचपन का जो है कोई मतलब नहीं है मोहम्मद कल तो हर आदमी अपने अपने हिसाब से निकाल सकता है होली जो है वह प्यार का त्यौहार है और प्यार को जो है वह रिप्रेजेंट करता है होली जो ब्रेजरी जनता भारत का वहां पर कृष्ण जी का पालन पोषण होता और वहीं पर पड़े हुए थे तो वहां पर पहली बार जो है होली खेली गई ऑडियो होली जो है इसलिए खेली गई थी क्योंकि वह घर जाता था जो राधा जी का प्यार था कृष्ण जी के प्रति उस को दर्शाता और होली को जो है वह फेस्टिवल आ जाता हैAaj Ke Holi Mein Aise Koi Haare Ka Bachpan Ka Jo Hai Koi Matlab Nahi Hai Mohammed Kal To Har Aadmi Apne Apne Hisab Se Nikal Sakta Hai Holi Jo Hai Wah Pyar Ka Tyohar Hai Aur Pyar Ko Jo Hai Wah Represent Karta Hai Holi Jo Brejari Janta Bharat Ka Wahan Par Krishan Ji Ka Palan Poshan Hota Aur Wahin Par Pade Hue The To Wahan Par Pehli Baar Jo Hai Holi Kheli Gayi Audio Holi Jo Hai Isliye Kheli Gayi Thi Kyonki Wah Ghar Jata Tha Jo Radha Ji Ka Pyar Tha Krishan Ji Ke Prati Us Ko Darshaata Aur Holi Ko Jo Hai Wah Festival Aa Jata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी बातों को लिया बहुत ही बेहतरीन रंगों का त्योहार है जो कि विश्वरी इंडिया में और नेपाल में मनाया जाता है उसे बहुत सारे बहुत ही पुरानी है और बहुत ही कहानियां ही मस्त जोड़ी है कि यहां सबसे पहले कहीं र...
जवाब पढ़िये
मेरी बातों को लिया बहुत ही बेहतरीन रंगों का त्योहार है जो कि विश्वरी इंडिया में और नेपाल में मनाया जाता है उसे बहुत सारे बहुत ही पुरानी है और बहुत ही कहानियां ही मस्त जोड़ी है कि यहां सबसे पहले कहीं रन का स्कोर नाम का एक बदसूरत औरत को इंसान बनो खुद को भगवान मानने लगे थे उन पर बैठा था तो वह इसमें का भक्त था और उसके काम जो हीरोइन कैसे बने ऐसा आदेश दिया अपनी बहन को जिसका नाम को लिखा था उसको वैसे वरदान प्राप्त था जो की याद में बस की नहीं हो सकती तो उन्होंने ऐसा आदेश दिया कि उसको लेकर हैं मतलब रात को आगे बढ़ जाए ताकि वह पहला जल जाए लेकिन ईश्वर की महिमा से वह गया तो इसलिए उसकी याद में हर दिन हर साल जो है होली जलाई जाती है और इसके बाद होली के अगले दिन रंगों के साथ जो है बनाते हैं तोMeri Baaton Ko Liya Bahut Hi Behtareen Rangon Ka Tyohaar Hai Jo Ki Vishwari India Mein Aur Nepal Mein Manaya Jata Hai Use Bahut Sare Bahut Hi Purani Hai Aur Bahut Hi Kahaniya Hi Mast Jodi Hai Ki Yahan Sabse Pehle Kahin Run Ka Score Naam Ka Ek Badsoorat Aurat Ko Insaan Bano Khud Ko Bhagwan Manane Lage The Un Par Baitha Tha To Wah Isme Ka Bhakt Tha Aur Uske Kaam Jo Heroine Kaise Bane Aisa Aadesh Diya Apni Behen Ko Jiska Naam Ko Likha Tha Usko Waise Vardan Prapt Tha Jo Ki Yaad Mein Bus Ki Nahi Ho Sakti To Unhone Aisa Aadesh Diya Ki Usko Lekar Hain Matlab Raat Ko Aage Badh Jaye Taki Wah Pehla Jal Jaye Lekin Ishwar Ki Mahima Se Wah Gaya To Isliye Uski Yaad Mein Har Din Har Saal Jo Hai Holi Jalai Jati Hai Aur Iske Baad Holi Ke Agle Din Rangon Ke Saath Jo Hai Banate Hain To
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली बनाना चाहते हैं तो पहले तब ख्याल रखें कि जब भी आपका कोई फेस्टिवल मना रहे हैं तो आपको दूसरे को हम नहीं पहुंचाना चाहिए आ क्योंकि एकता से फेस्टिवल मनाने अच्छी बात होती है बाद में बारिश होते हैं जिसम...
जवाब पढ़िये
होली बनाना चाहते हैं तो पहले तब ख्याल रखें कि जब भी आपका कोई फेस्टिवल मना रहे हैं तो आपको दूसरे को हम नहीं पहुंचाना चाहिए आ क्योंकि एकता से फेस्टिवल मनाने अच्छी बात होती है बाद में बारिश होते हैं जिसमें जिसमें लोगों को दिक्कत ना आए और अपनी फोटो मैंने देखी है उन लोगों के नाम रंग लगा है कितने लोग होली में क्या कहते हैं कि दंगों आंखों में गलती से चले जाते साथ में तो प्रॉब्लम हो सकता है लोग जाते हैं तो होली के लिए नहीं बनाई होली का जो है रंगों का त्यौहार हो जाता हैHoli Banana Chahte Hain To Pehle Tab Khayal Rakhen Ki Jab Bhi Aapka Koi Festival Mana Rahe Hain To Aapko Dusre Ko Hum Nahi Pahunchana Chahiye Aa Kyonki Ekta Se Festival Manane Acchi Baat Hoti Hai Baad Mein Barish Hote Hain Jisme Jisme Logon Ko Dikkat Na Aaye Aur Apni Photo Maine Dekhi Hai Un Logon Ke Naam Rang Laga Hai Kitne Log Holi Mein Kya Kehte Hain Ki Dango Aakhon Mein Galti Se Chale Jaate Saath Mein To Problem Ho Sakta Hai Log Jaate Hain To Holi Ke Liye Nahi Banai Holi Ka Jo Hai Rangon Ka Tyohar Ho Jata Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होली वसंत ऋतु में मनाए जाने वाले एक महत्वपूर्ण भारतीय नेपाली लोगों का त्योहार है यह पर्व हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है रंगों का त्योहार कहा जाने वाला यह पर्व पारंपरिक...
जवाब पढ़िये
होली वसंत ऋतु में मनाए जाने वाले एक महत्वपूर्ण भारतीय नेपाली लोगों का त्योहार है यह पर्व हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है रंगों का त्योहार कहा जाने वाला यह पर्व पारंपरिक रुप से 2 दिन मनाया जाता है यह प्रमुखता से भारत तथा नेपाल में मनाया जाता है यह त्यौहार कई अन्य देशों जिनमें अल्पसंख्यक और हिंदू लोग रहते हैं वहां भी धूमधाम के साथ मनाया जाता है पहले दिन को होलीका जलाई जाती है जिससे होलिका दहन भी कहते हैं दूसरे दिन जिसे प्रमुखता धुलेंडी बस दूर दूर दूर दूर खेल याद धुलीवंदन इसके अन्य नाम है लोग एक दूसरे पर रंग अबीर गुलाल इत्यादि सकते हैं ढोल बजाकर होली के गीत गाए जाते हैं और घर-घर जाकर लोगों को रंग लगाया जाता है ऐसा माना जाता है कि होली के दिन लोग पुरानी कटुता को भूलकर गले मिलते हैं और फिर सेHoli Vasant Ritu Mein Manaye Jaane Wali Ek Mahatvapurna Bharatiya Nepali Logon Ka Tyohaar Hai Yeh Parv Hindu Panchang Ke Anusar Falgun Mass Ki Poornima Ko Manaya Jata Hai Rangon Ka Tyohaar Kaha Jaane Vala Yeh Parv Paramparik Roop Se 2 Din Manaya Jata Hai Yeh Pramukhta Se Bharat Tatha Nepal Mein Manaya Jata Hai Yeh Tyohar Kai Anya Deshon Jinmein Alpsankhyak Aur Hindu Log Rehte Hain Wahan Bhi Dhumadham Ke Saath Manaya Jata Hai Pehle Din Ko Holika Jalai Jati Hai Jisse Holika Dahan Bhi Kehte Hain Dusre Din Jise Pramukhta Dhulendi Bus Dur Dur Dur Dur Khel Yaad Dhulivandan Iske Anya Naam Hai Log Ek Dusre Par Rang Abir Gulal Ityadi Sakte Hain Dhol Bajaakar Holi Ke Geet Gaye Jaate Hain Aur Ghar Ghar Jaakar Logon Ko Rang Lagaya Jata Hai Aisa Mana Jata Hai Ki Holi Ke Din Log Purani Katuta Ko Bhoolkar Gale Milte Hain Aur Phir Se
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
होली वसंत र में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण भारतीय नेपाल लोगों का त्योहार है यह पूर्व हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है रंगों का त्योहार कहा जाने वाला यह पूर्व पारंपरिक रुप से दिन मनाया जाता है यह प्रमुखता से भारत तथा नेपाल में मनाया जाता है यह त्यौहार कई अन्य देशों जिनमें अल्पसंख्या हिंदू लोग रहते हैं वहां भी धूमधाम के साथ मनाया जाता है पहले दिन को होलीका जलाई जाती है जिसे होलिका दहन भी कहते हैं दूसरे दिन जिस प्रमुख युद्ध इंडिया धुलीवंदन को अन्य नाम है लोग एक दूसरे पर रंग अबीर गुलाल इत्यादि सकते हैं और ढोल बजाकर होली के गीत गाए जाते हैं घर-घर जाकर लोगों को रंग लगाया जाता है ऐसा माना जाता हैHoli Vasant R Mein Manaya Jaane Wala Ek Mahatvapurna Bhartiya Nepal Logon Ka Tyohaar Hai Yeh Purv Hindu Panchang Ke Anusar Falgun Mass Ki Poornima Ko Manaya Jata Hai Rangon Ka Tyohaar Kaha Jaane Wala Yeh Purv Paramparik Roop Se Din Manaya Jata Hai Yeh Pramukhta Se Bharat Tatha Nepal Mein Manaya Jata Hai Yeh Tyohar Kai Anya Deshon Jinmein Alpasankhya Hindu Log Rehte Hain Wahan Bhi Dhumadham Ke Saath Manaya Jata Hai Pehle Din Ko Holika Jalai Jati Hai Jise Holika Dahan Bhi Kehte Hain Dusre Din Jis Pramukh Yudh India Dhulivandan Ko Anya Naam Hai Log Ek Dusre Par Rang Abir Gulal Ityadi Sakte Hain Aur Dhol Bajaakar Holi Ke Geet Gaye Jaate Hain Ghar Ghar Jaakar Logon Ko Rang Lagaya Jata Hai Aisa Mana Jata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाहुली बिल्कुल बहुत ही बेहतरीन रंगों का त्योहार है जोकि फागुन महीने में मनाया जाता है और जब कोई रंगों पर हर जगह देखनी होली के दिन बहुत ही उत्साह रहता है और खासकर हिंदू समाज समुदाय में आज बिकुल रंग से ...
जवाब पढ़िये
बाहुली बिल्कुल बहुत ही बेहतरीन रंगों का त्योहार है जोकि फागुन महीने में मनाया जाता है और जब कोई रंगों पर हर जगह देखनी होली के दिन बहुत ही उत्साह रहता है और खासकर हिंदू समाज समुदाय में आज बिकुल रंग से हर लोग खेलते हैं और धारचूला पूरे भारत के हिंदू संविधान में मनाया जाता हिंदुओं भारत में होने बारे में खास है और बहुत ही बेहतरीन तरीके से बहुत ही हर्षोल्लास दत्त मतलब जो इंपॉर्टेंट पर्व में से एक है इससे बहुत ही बेहतरीन स्कूल त्यौहार हैBahuli Bilkul Bahut Hi Behtareen Rangon Ka Tyohaar Hai Joki Phagun Mahine Mein Manaya Jata Hai Aur Jab Koi Rangon Par Har Jagah Dekhani Holi Ke Din Bahut Hi Utsaah Rehta Hai Aur Khaskar Hindu Samaaj Samuday Mein Aaj Bikul Rang Se Har Log Khelte Hain Aur Dharchula Poore Bharat Ke Hindu Samvidhan Mein Manaya Jata Hinduon Bharat Mein Hone Baare Mein Khas Hai Aur Bahut Hi Behtareen Tarike Se Bahut Hi Harshollaas Dutt Matlab Jo Important Parv Mein Se Ek Hai Isse Bahut Hi Behtareen School Tyohar Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखा जाए तू होली के दिन भारत के भविष्य सड़कों पर क्यों है लिखिए होली त्यौहार है अगर मान लीजिए कोई भी होली खेल रहा है और रोड पर घूम रहे हैं सब दोस्तों को रंग लगाते थे यह भविष्य को अपने भाई से त्यौह...
जवाब पढ़िये
हां देखा जाए तू होली के दिन भारत के भविष्य सड़कों पर क्यों है लिखिए होली त्यौहार है अगर मान लीजिए कोई भी होली खेल रहा है और रोड पर घूम रहे हैं सब दोस्तों को रंग लगाते थे यह भविष्य को अपने भाई से त्यौहार की तरह मनाया जा रहा है और जैसे कि चौहान जी की कोई भी चला जाता है तो आप का जमीन मकसद होता कि आप उसे कैसे मनाए अपने दोस्तों के साथ अपने फैमिली के साथ होने के लिए उपाय होते हैं और रास्ते में रोड पर सब को रंग लगाते हैं और त्यौहार को ऑफिस मतलब बनाते हैं उसके जो भविष्य हमारी पक्की हो सड़क पर ज्यादा वसूली की तो आज कोई भी अपनी रोड पर जाकर अग्नि लगाने की क्या सब अपने-अपने काम में लग जाते हैं अपने आलस क्यों लग जाते हैंHaan Dekha Jaye Tu Holi Ke Din Bharat Ke Bhavishya Sadkon Par Kyun Hai Likhiye Holi Tyohar Hai Agar Maan Lijiye Koi Bhi Holi Khel Raha Hai Aur Road Par Ghum Rahe Hain Sab Doston Ko Rang Lagate The Yeh Bhavishya Ko Apne Bhai Se Tyohar Ki Tarah Manaya Ja Raha Hai Aur Jaise Ki Chauhan Ji Ki Koi Bhi Chala Jata Hai To Aap Ka Jameen Maksad Hota Ki Aap Use Kaise Manaye Apne Doston Ke Saath Apne Family Ke Saath Hone Ke Liye Upay Hote Hain Aur Raste Mein Road Par Sab Ko Rang Lagate Hain Aur Tyohar Ko Office Matlab Banate Hain Uske Jo Bhavishya Hamari Pakki Ho Sadak Par Jyada Vasuli Ki To Aaj Koi Bhi Apni Road Par Jaakar Agni Lagane Ki Kya Sab Apne Apne Kaam Mein Lag Jaate Hain Apne Aalas Kyun Lag Jaate Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साजन जी आपने बिल्कुल ठीक कहा योगी आदित्यनाथ का होली सेलिब्रेशन के लिए नमाज का टाइम आगे बढ़ाना वह भी वहां के दो जो इंपॉर्टेंट चर्च के अंदर इंपॉर्टेंट मस्जिद है वहां की नमाज का टाइम इसलिए आगे बढ़ाते हैं...
जवाब पढ़िये
साजन जी आपने बिल्कुल ठीक कहा योगी आदित्यनाथ का होली सेलिब्रेशन के लिए नमाज का टाइम आगे बढ़ाना वह भी वहां के दो जो इंपॉर्टेंट चर्च के अंदर इंपॉर्टेंट मस्जिद है वहां की नमाज का टाइम इसलिए आगे बढ़ाते हैं क्या ता की होली लोग खेल सके जो दर्द दिया गया वह यह था कि ताकि होली सेलिब्रेशन पीसफुल और हारमोनी के साथ हो सके इसीलिए तो नमाज का टाइम करीब आधा घंटा एक घंटा आगे बढ़ा दिया गया और जो आप सब ठीक है कि हिंदू पर टैक्स को बढ़ावा देना ही है क्योंकि जितना इंपॉर्टेंट हमारे लिए अगर हिंदू सेलिब्रेशंस रिकॉर्डिंग होली मनाने तो उस हिसाब से मुस्लिमों के लिए नमाज नमाज अदा करना कितना इंपॉर्टेंट हमेशा से ही हिंदुत्व को बढ़ावा देते रहे तू ही कोई नई चीज नहीं है उनके पास से गलत जरूर है मानव सुरक्षा के माध्यम से जिस की गई है लेकिन ऑनSajan Ji Aapne Bilkul Theek Kaha Yogi Adityanath Ka Holi Celebration Ke Liye Namaz Ka Time Aage Badhana Wah Bhi Wahan Ke Do Jo Important Church Ke Andar Important Masjid Hai Wahan Ki Namaz Ka Time Isliye Aage Badhate Hain Kya Ta Ki Holi Log Khel Sake Jo Dard Diya Gaya Wah Yeh Tha Ki Taki Holi Celebration Peaceful Aur Harmoni Ke Saath Ho Sake Isliye To Namaz Ka Time Karib Aadha Ghanta Ek Ghanta Aage Badha Diya Gaya Aur Jo Aap Sab Theek Hai Ki Hindu Par Tax Ko Badhawa Dena Hi Hai Kyonki Jitna Important Hamare Liye Agar Hindu Selibreshans Recording Holi Manane To Us Hisab Se Muslimo Ke Liye Namaz Namaz Ada Karna Kitna Important Hamesha Se Hi Hindutva Ko Badhawa Dete Rahe Tu Hi Koi Nayi Cheez Nahi Hai Unke Paas Se Galat Jarur Hai Manav Suraksha Ke Maadhyam Se Jis Ki Gayi Hai Lekin On
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

से अपनी संस्कृति अनुष्ठान को नुकसान पहुंचा देश के पीछे DJ नहीं हो सकता है कि हम या तो उस अनुष्ठान गांव संस्कृति को नहीं मानते हैं तो विश के लिए रीजन हो सकता है कि उस को नुकसान पहुंचा है उसको नहीं फॉलो...
जवाब पढ़िये
से अपनी संस्कृति अनुष्ठान को नुकसान पहुंचा देश के पीछे DJ नहीं हो सकता है कि हम या तो उस अनुष्ठान गांव संस्कृति को नहीं मानते हैं तो विश के लिए रीजन हो सकता है कि उस को नुकसान पहुंचा है उसको नहीं फॉलो कर दिया इसके पीछे रीजन यह हो सकता है कि जो अनुष्ठान है या संस्कृति है किसी को खोखला लगता हो तो इसका नुकसान पहुंचा रहे हैं तो सब लोग ऐसा नहीं करते नॉर्मली जनरल नॉलेज नहीं कर सकते कुछ लोग हैं जो कि इनकी लगता है कि सही नहीं है वह नहीं करते क्योंकि लोकतंत्र है सबको अपना डिसीजन लेने का अधिकार है तो भी खुद ले सकते हैं जिसको नहीं लगता है कि अच्छा है तो नुकसान पहुंचाते हैं या फिर उनके लिए अच्छा नहीं हैSe Apni Sanskriti Anusthan Ko Nuksan Pahuncha Desh Ke Piche DJ Nahi Ho Sakta Hai Ki Hum Ya To Us Anusthan Gav Sanskriti Ko Nahi Manate Hain To Wish Ke Liye Reason Ho Sakta Hai Ki Us Ko Nuksan Pahuncha Hai Usko Nahi Follow Kar Diya Iske Piche Reason Yeh Ho Sakta Hai Ki Jo Anusthan Hai Ya Sanskriti Hai Kisi Ko Khokhala Lagta Ho To Iska Nuksan Pahuncha Rahe Hain To Sab Log Aisa Nahi Karte Normally General Knowledge Nahi Kar Sakte Kuch Log Hain Jo Ki Inki Lagta Hai Ki Sahi Nahi Hai Wah Nahi Karte Kyonki Loktantra Hai Sabko Apna Decision Lene Ka Adhikaar Hai To Bhi Khud Le Sakte Hain Jisko Nahi Lagta Hai Ki Accha Hai To Nuksan Pahunchate Hain Ya Phir Unke Liye Accha Nahi Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सिंधी समाज का त्योहार भगवान झूलेलाल का जन्मोत्सव चेटीचंड के रूप में पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है इस त्योहार से जुड़ी वैसे तो बहुत सारी कहानियां है लेकिन प्रमुख यह है कि चुकी सिंधी समाज...
जवाब पढ़िये
सिंधी समाज का त्योहार भगवान झूलेलाल का जन्मोत्सव चेटीचंड के रूप में पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है इस त्योहार से जुड़ी वैसे तो बहुत सारी कहानियां है लेकिन प्रमुख यह है कि चुकी सिंधी समाज व्यापारिक वर्ग रहा है उन्होंने ज्यादातर अपना जीवन व्यापार में बताया है और इसीलिए जब भी व्यापार के लिए जाते थे जलमार्ग का प्रयोग करते हुए तू कहीं विपदाओं का सामना नहीं करना पड़ता था जैसे कि समुद्री तूफान जीव जंतु चट्टाने व समुद्री जो डाकू होते थे वह लूट पाट मचा कर व्यापारियों का सारा माल लूट लेते थे इसलिए इनके यात्रा के लिए जाते समय ही महिलाएं वरुण देवता की प्रार्थना करती थी उनकी पूजा करती थी और मन्नते मांग की थी क्योंकि भगवान झूलेलाल जल के देवता है अतः या सिंधी लोगों के आराध्य देव माने जाते हैं जब पुरुष वर्ग सकुशल वापस घर लौट आते थे तब चेटीचंड को उत्सव के रूप में मनाया जाता था और हम मनाते मांगी जाती थी और भंडारा भी किया जाता था लोगों को खाना खिलाया जाता था और पार्टीशन के बाद जब सिंधी समाज भारत में आया तब इधर उधर हो गया कम सन 1952 में प्रोफेसर राम पंजवानी ने सिंधी लोगों को एकजुट करने के लिए बहुत सारे प्रयास किए वह हर उस जगह पर गए जहां पर सिंधी लोग रहते थे और उन्हीं के प्रयास के बाद भगवान झूलेलाल का पर्व फिर से धूमधाम से मनाया जाने लगा जिसके लिए पूरा जो सिंधी समुदाय है वह उन का आभारी है और आज भी समुद्र के किनारे रहने वाले जल के देवता भगवान झूलेलाल जी को मानते हैं और इन्हें अमरलाल वह ढेरों लाला भी नाम दिया गया है भगवान झूलेलाल जी ने धर्म की रक्षा के लिए कई साहसिक कार्य किए जिसके लिए उनकी मान्यता इतनी ऊंचाई हासिल कर पाई और यह जो पर्व है उसे बहुत ज्यादा धूमधाम से मनाया जाता हैSindhi Samaaj Ka Tyohaar Bhagwan Jhulelal Ka Janamotsav Chetichand Ke Roop Mein Poore Desh Mein Harshollaas Ke Saath Manaya Jata Hai Is Tyohaar Se Judi Waise To Bahut Saree Kahaniya Hai Lekin Pramukh Yeh Hai Ki Chuki Sindhi Samaaj Vyaparik Varg Raha Hai Unhone Jyadatar Apna Jeevan Vyapar Mein Bataya Hai Aur Isliye Jab Bhi Vyapar Ke Liye Jaate The Jalmarg Ka Prayog Karte Hue Tu Kahin Vipdaaon Ka Samana Nahi Karna Padata Tha Jaise Ki Samudri Toofan Jeev Jantu Chattane V Samudri Jo Daku Hote The Wah Loot Pat Macha Kar Vyapariyon Ka Saara Maal Loot Lete The Isliye Inke Yatra Ke Liye Jaate Samay Hi Mahilaye Varun Devta Ki Prarthana Karti Thi Unki Puja Karti Thi Aur Mannate Maang Ki Thi Kyonki Bhagwan Jhulelal Jal Ke Devta Hai Atah Ya Sindhi Logon Ke Aradhya Dev Mane Jaate Hain Jab Purush Varg Sakushal Wapas Ghar Lot Aate The Tab Chetichand Ko Utsav Ke Roop Mein Manaya Jata Tha Aur Hum Manate Maangi Jati Thi Aur Bhandara Bhi Kiya Jata Tha Logon Ko Khana Khilaya Jata Tha Aur Partition Ke Baad Jab Sindhi Samaaj Bharat Mein Aaya Tab Idhar Udhar Ho Gaya Kum Sun 1952 Mein Professor Ram Panjwani Ne Sindhi Logon Ko Ekjoot Karne Ke Liye Bahut Sare Prayas Kiye Wah Har Us Jagah Par Gaye Jahan Par Sindhi Log Rehte The Aur Unhin Ke Prayas Ke Baad Bhagwan Jhulelal Ka Parv Phir Se Dhumadham Se Manaya Jaane Laga Jiske Liye Pura Jo Sindhi Samuday Hai Wah Un Ka Abhari Hai Aur Aaj Bhi Samudra Ke Kinare Rehne Wale Jal Ke Devta Bhagwan Jhulelal Ji Ko Manate Hain Aur Inhen Amarlal Wah Dheron Lala Bhi Naam Diya Gaya Hai Bhagwan Jhulelal Ji Ne Dharm Ki Raksha Ke Liye Kai Sahasik Karya Kiye Jiske Liye Unki Manyata Itni Unchai Hasil Kar Payi Aur Yeh Jo Parv Hai Use Bahut Jyada Dhumadham Se Manaya Jata Hai
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2018 में जो रक्षाबंधन है वह 26 अगस्त संडे को आ रही है क्या...
जवाब पढ़िये
2018 में जो रक्षाबंधन है वह 26 अगस्त संडे को आ रही है क्या2018 Mein Jo Rakshabandhan Hai Wah 26 August Sunday Ko Aa Rahi Hai Kya
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नवरात्रि में लहसुन और प्याज खाना बना है इसके बहुत सारे रीजन है इसमें बहुत पहले से चला रहा है कि जो हमारे ब्राह्मण में होते हैं लहसुन प्याज जो है जातक नहीं खाते बहुत सारी बातें की प्याज और लहसुन जो होत...
जवाब पढ़िये
नवरात्रि में लहसुन और प्याज खाना बना है इसके बहुत सारे रीजन है इसमें बहुत पहले से चला रहा है कि जो हमारे ब्राह्मण में होते हैं लहसुन प्याज जो है जातक नहीं खाते बहुत सारी बातें की प्याज और लहसुन जो होता है ऐसे पौधे हैं जो आर्थिक रुप से आवंटित किए गए हैं इसका मतलब है कि यह जानते हैं और हमारे हिंदू धर्म के खिलाफ है तो जो भी जो मतलब भोजन होते हैं जो ज्यादातर जमीन के नीचे ऊपर हो जाता सफाई की जरूरत होती है उसमें दिखा दे कुछ बदलाव के कारण बन जाता है तो शास्त्र के अनुसार लहसुन प्याजNavaratri Mein Lahsun Aur Pyaj Khana Bana Hai Iske Bahut Sare Reason Hai Isme Bahut Pehle Se Chala Raha Hai Ki Jo Hamare Brahman Mein Hote Hain Lahsun Pyaj Jo Hai Jatak Nahi Khate Bahut Saree Batein Ki Pyaj Aur Lahsun Jo Hota Hai Aise Paudhe Hain Jo Aarthik Roop Se Avantit Kiye Gaye Hain Iska Matlab Hai Ki Yeh Jante Hain Aur Hamare Hindu Dharm Ke Khilaf Hai To Jo Bhi Jo Matlab Bhojan Hote Hain Jo Jyadatar Jameen Ke Neeche Upar Ho Jata Safaai Ki Zaroorat Hoti Hai Usamen Dikha De Kuch Badlav Ke Kaaran Ban Jata Hai To Shastra Ke Anusar Lahsun Pyaj
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ईसाई धर्म अनुसार ईसा मसीह परमेश्वर के पुत्र थे ईसा मसीहा को यीशु के नाम से भी पुकारा जाता है गुड फ्राइडे के दिन ही उन्हें क्रॉस पर लटकाया गया था इस दिन जीवन भर लोगों में प्रेम और विश्वास जगाने वाले प्...
जवाब पढ़िये
ईसाई धर्म अनुसार ईसा मसीह परमेश्वर के पुत्र थे ईसा मसीहा को यीशु के नाम से भी पुकारा जाता है गुड फ्राइडे के दिन ही उन्हें क्रॉस पर लटकाया गया था इस दिन जीवन भर लोगों में प्रेम और विश्वास जगाने वाले प्रभु यीशु को याद किया जाता है उनके उपदेशों को सुनाया जाता है गुड फ्राइडे के दिन श्रद्धालुओं प्रेम सत्य और विश्वास की डगर पर चलने का प्लान देते हैं कई जगह लोगों लोग इस दिन का प्रकार के कपड़े पहनकर शोक व्यक्त करते हैं साल 2018 में गुड फ्राइडे 30 मार्च को मनाया जाएगा गुड फ्राइडे के दिन ईसा मसीहा को क्रॉस पर लगता है तथा उन पर आरोप लगाए गए थे कि वह पामगढ़ कर रहे हैं और खुद को ईश्वर का पुत्र बता रहे हैं गुड फ्राइडे क्यों शोक दिवस होता है लेकिन और क्योंकि इस दिन ईसा मसीह की मृत्यु हुई थी इस कारण इस ए गुड फ्राइडे कहकर संबोधित किया जाता हैIsai Dharm Anusar Isa Masih Parmeshwar Ke Putra The Isa Masiha Ko Yeshu Ke Naam Se Bhi Pukaara Jata Hai Good Friday Ke Din Hi Unhen Cross Par Latkaaya Gaya Tha Is Din Jeevan Bhar Logon Mein Prem Aur Vishwas Jagaane Wale Prabhu Yeshu Ko Yaad Kiya Jata Hai Unke Upadeshon Ko Sunaya Jata Hai Good Friday Ke Din Shraddhaluo Prem Satya Aur Vishwas Ki Dagar Par Chalne Ka Plan Dete Hain Kai Jagah Logon Log Is Din Ka Prakar Ke Kapde Pehankar Shok Vyakt Karte Hain Saal 2018 Mein Good Friday 30 March Ko Manaya Jayega Good Friday Ke Din Isa Masiha Ko Cross Par Lagta Hai Tatha Un Par Aarop Lagaye Gaye The Ki Wah Pamagadh Kar Rahe Hain Aur Khud Ko Ishwar Ka Putra Bata Rahe Hain Good Friday Kyun Shok Divas Hota Hai Lekin Aur Kyonki Is Din Isa Masih Ki Mrityu Hui Thi Is Kaaran Is A Good Friday Kahakar Sambodhit Kiya Jata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें कौन सी पूछने वाली बात है यह अवेहलना तो कश्मीर केरल सिंह जैसे कितने कितने लाख में हो रही है और सब का रीजन एक ही है...
जवाब पढ़िये
इसमें कौन सी पूछने वाली बात है यह अवेहलना तो कश्मीर केरल सिंह जैसे कितने कितने लाख में हो रही है और सब का रीजन एक ही हैIsme Kaun Si Poochne Wali Baat Hai Yeh Avehalana To Kashmir Kerala Singh Jaise Kitne Kitne Lakh Mein Ho Rahi Hai Aur Sab Ka Reason Ek Hi Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मेरे हिसाब से यह बिल्कुल बिल्कुल गलत है म्यूजिक शंभूनाथ रैगर जो है वह किसी भी मतलब दूसरे से क्रांतिकारी बिल्कुल भी नहीं है 1 क्रिमिनल ही है उन्होंने क्राइम कमेंट किया था और बहुत ही हो रहा था य...
जवाब पढ़िये
जी नहीं मेरे हिसाब से यह बिल्कुल बिल्कुल गलत है म्यूजिक शंभूनाथ रैगर जो है वह किसी भी मतलब दूसरे से क्रांतिकारी बिल्कुल भी नहीं है 1 क्रिमिनल ही है उन्होंने क्राइम कमेंट किया था और बहुत ही हो रहा था यह जो मैंने किया था तो बिल्कुल नहीं मेरे सबसे बिल्कुल गलत है कि उनको अगर क्रांतिकारी जैसा बताया जा रहा है तूJi Nahi Mere Hisab Se Yeh Bilkul Bilkul Galat Hai Music Shambhunath Raigar Jo Hai Wah Kisi Bhi Matlab Dusre Se Krantikari Bilkul Bhi Nahi Hai 1 Criminal Hi Hai Unhone Crime Comment Kiya Tha Aur Bahut Hi Ho Raha Tha Yeh Jo Maine Kiya Tha To Bilkul Nahi Mere Sabse Bilkul Galat Hai Ki Unko Agar Krantikari Jaisa Bataya Ja Raha Hai Tu
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में मनाए जाने वाले अन्य सभी प्रमुख पर्व त्योहारों की तरह विश्वा भी एक त्यौहार है जो कि मुख्य रूप से केरल और मलयालम में मनाया जाता है यह केरल मलयालम में वर्ष के प्रथम दिन के रुप में मनाया जाता है ...
जवाब पढ़िये
भारत में मनाए जाने वाले अन्य सभी प्रमुख पर्व त्योहारों की तरह विश्वा भी एक त्यौहार है जो कि मुख्य रूप से केरल और मलयालम में मनाया जाता है यह केरल मलयालम में वर्ष के प्रथम दिन के रुप में मनाया जाता है और यह मैच की पहली तिथि को मनाया जाने वाला पर्व है इस दिन लोग सौभाग्य और अच्छी किस्मत के आगमन का प्रतीक दिन मानते हैं यह जो पर्व है इसे केरल के आम भाषा में क्या इनाम कहा जाता है और यह भारत के अन्य राज्यों में भी अलग अलग नाम से मनाया जाता है तमिलनाडु में यह उतार लूं और असम में बिहू के नाम से जाना जाता है तो वहीं बिहार में लोग इसे सत्य वाणी के नाम से जानते हैं यह जो त्यौहार होता है वह मुख्य रूप से केरल नहीं मनाया जाता है और इस दिन केरल में धान की बुआई प्रारंभ हो जाती है इसी कारण लोग भगवान श्रीकृष्ण की घर घर में पूजा करते हैं और यह कामना करते हैं कि उनकी फसल अच्छी हो और साथ ही साथ साल भर में आने कभी दुख तकलीफ से खत्म हो जाए जिस दिन वहां विशु करनी ही नाम की झांकी भी निकलती है जो कि लोग बहुत ही अच्छे से मनाते हैं और यह वहां बिल्कुल दिवाली की तरह मनाया जाने वाला पर्व है इस दिन वहां आतिशबाजी भी किया जाता है और सार्वजनिक छुट्टी का दिन भी रहता है तो यह दिन बहुत ही शुभ है और इस दिन लोग उस दिन में उपलब्ध होने वाले सभी तरह के फल फूल से इस पर्व को मनाते हैंBharat Mein Manaye Jaane Wale Anya Sabhi Pramukh Parv Tyoharon Ki Tarah Vishwa Bhi Ek Tyohar Hai Jo Ki Mukhya Roop Se Kerala Aur Malyalam Mein Manaya Jata Hai Yeh Kerala Malyalam Mein Varsh Ke Pratham Din Ke Roop Mein Manaya Jata Hai Aur Yeh Match Ki Pehli Tithi Ko Manaya Jaane Wala Parv Hai Is Din Log Saubhagya Aur Acchi Kismat Ke Aagaman Ka Pratik Din Manate Hain Yeh Jo Parv Hai Ise Kerala Ke Aam Bhasha Mein Kya Inam Kaha Jata Hai Aur Yeh Bharat Ke Anya Rajyo Mein Bhi Alag Alag Naam Se Manaya Jata Hai Tamil Nadu Mein Yeh Utar Loon Aur Asam Mein Bihu Ke Naam Se Jana Jata Hai To Wahin Bihar Mein Log Ise Satya Vani Ke Naam Se Jante Hain Yeh Jo Tyohar Hota Hai Wah Mukhya Roop Se Kerala Nahi Manaya Jata Hai Aur Is Din Kerala Mein Dhaan Ki Buaai Prarambh Ho Jati Hai Isi Kaaran Log Bhagwan Shrikrishna Ki Ghar Ghar Mein Puja Karte Hain Aur Yeh Kaamna Karte Hain Ki Unki Fasal Acchi Ho Aur Saath Hi Saath Saal Bhar Mein Aane Kabhi Dukh Takleef Se Khatam Ho Jaye Jis Din Wahan Vishu Karni Hi Naam Ki Jhanki Bhi Nikalti Hai Jo Ki Log Bahut Hi Acche Se Manate Hain Aur Yeh Wahan Bilkul Diwali Ki Tarah Manaya Jaane Wala Parv Hai Is Din Wahan Aatishabaji Bhi Kiya Jata Hai Aur Sarvajanik Chutti Ka Din Bhi Rehta Hai To Yeh Din Bahut Hi Shubha Hai Aur Is Din Log Us Din Mein Uplabdha Hone Wale Sabhi Tarah Ke Fal Fool Se Is Parv Ko Manate Hain
Likes  3  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रथयात्रा उत्सव पूरी में मनाया जाता है...
जवाब पढ़िये
रथयात्रा उत्सव पूरी में मनाया जाता हैRathyatra Utsav Puri Mein Manaya Jata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी चैनल जानवर है जो 17 फर्स्ट कान फिल्म फेस्टिवल है उसमें वह आए और उन्होंने जो ड्रेस पहना था जो गाउन पहना था वह बहुत ही ज्यादा रिवीलिंग था और उनके बारे में बहुत कुछ लिखा गया इसलिए उसको लेकर आप चिंतित...
जवाब पढ़िये
सभी चैनल जानवर है जो 17 फर्स्ट कान फिल्म फेस्टिवल है उसमें वह आए और उन्होंने जो ड्रेस पहना था जो गाउन पहना था वह बहुत ही ज्यादा रिवीलिंग था और उनके बारे में बहुत कुछ लिखा गया इसलिए उसको लेकर आप चिंतित था वह काफी ज्यादा है वैल्यू था उसमें एक पारदर्शी कपड़ा जैसे हमारे इंडिया में चल नहीं होती है वैसा सब कुछ बदलता वाला पारदर्शिता तो उसमें सबकुछ असली भुजबल था हॉलीवुड है यहां पर कपड़ो को लेकर जितने हमारे इंडिया में रूल्स रेगुलेशन से या फिर जितना हमारी आपकी डिसाइड किया था वैसा उतना वहां पर नहीं होता है वहां पर ऐसा कुछ नहीं है कि आप जो पहन रहे हैं उससे आप को सुसाइड मॉडल पुलिस आपके पीछे पड़ जाएगी या आप को धमकियां मिली शुरू हो जाएंगे कि आपने यह किस तरह के कपड़े पहने हैं कुछ भी तो इसमें मुझे कुछ गलत नहीं लगा दूसरी बात उनका बोल्ड होना भी यह हो सकता है और एक पब्लिसिटी स्टंट भी हो सकता है यह उनकी पोस्टल लाइफ पर क्योंकि हॉलीवुड में जो यह कपड़ों को लेकर जो हमारे इंडिया में हमारे बॉलीवुड में किस तरह का एक माइंड सेट है पता नहीं है हो सकते कि वह हो इतनी बोल्ड के बच्चे के कपड़े फुल कर सके कई लोग भूल कर भी नहीं सकता गरम पर कोई मोल पुलिस अन्ना भी हो क्योंकि हमें इतनी हिम्मत ही नहीं होगी और वैसे भी उनकी बॉडी है उनकी लाइफ पर चित्र के कपड़े पहनना चाहे वह पहन सकती हैं हां यह हो सकता है कि उनका पब्लिसिटी स्टंट हो क्योंकि वह लाइव मैच में आना चाहती हूं और उसमें काफी सक्सेस पलटी हुई है क्योंकि इस तरह का गाउन से कोई भी लाइमलाइट में आ सकता है बाकी उनकी ड्रेस है उनकी लाइफ पर तो उस सवाल जवाब करना ही नहीं चाहिएSabhi Channel Janwar Hai Jo 17 First Kaan Film Festival Hai Usamen Wah Aaye Aur Unhone Jo Dress Pahana Tha Jo Gaun Pahana Tha Wah Bahut Hi Jyada Riviling Tha Aur Unke Baare Mein Bahut Kuch Likha Gaya Isliye Usko Lekar Aap Chintit Tha Wah Kafi Jyada Hai Value Tha Usamen Ek Pardarshi Kapda Jaise Hamare India Mein Chal Nahi Hoti Hai Waisa Sab Kuch Badalta Wala Pardarshita To Usamen Sabkuch Asli Bhujwal Tha Hollywood Hai Yahan Par Kapado Ko Lekar Jitne Hamare India Mein Rules Regulation Se Ya Phir Jitna Hamari Aapki Decide Kiya Tha Waisa Utana Wahan Par Nahi Hota Hai Wahan Par Aisa Kuch Nahi Hai Ki Aap Jo Pahan Rahe Hain Usse Aap Ko Suicide Model Police Aapke Piche Padh Jayegi Ya Aap Ko Dhamakiyan Mili Shuru Ho Jaenge Ki Aapne Yeh Kis Tarah Ke Kapde Pahane Hain Kuch Bhi To Isme Mujhe Kuch Galat Nahi Laga Dusri Baat Unka Bold Hona Bhi Yeh Ho Sakta Hai Aur Ek Publicity Stunt Bhi Ho Sakta Hai Yeh Unki Postal Life Par Kyonki Hollywood Mein Jo Yeh Kapadon Ko Lekar Jo Hamare India Mein Hamare Bollywood Mein Kis Tarah Ka Ek Mind Set Hai Pata Nahi Hai Ho Sakte Ki Wah Ho Itni Bold Ke Bacche Ke Kapde Full Kar Sake Kai Log Bhul Kar Bhi Nahi Sakta Garam Par Koi Mole Police Anna Bhi Ho Kyonki Hume Itni Himmat Hi Nahi Hogi Aur Waise Bhi Unki Body Hai Unki Life Par Chitra Ke Kapde Pahanna Chahe Wah Pahan Sakti Hain Haan Yeh Ho Sakta Hai Ki Unka Publicity Stunt Ho Kyonki Wah Live Match Mein Aana Chahti Hoon Aur Usamen Kafi Success Palati Hui Hai Kyonki Is Tarah Ka Gaun Se Koi Bhi Limelight Mein Aa Sakta Hai Baki Unki Dress Hai Unki Life Par To Us Sawal Jawab Karna Hi Nahi Chahiye
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon