tag_img

Child


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि काल से भारतीय परंपरा ऐसी चलती आ रही है कि बचपन में मां-बाप बच्चों का ध्यान रखेंगे और बड़े होकर बच्चे अपने मां बाप का ध्यान रखते हैं यह एक अनकही अनदेखी सी बात है लेकिन यह चलती आ रही है इसमें यह है ...
जवाब पढ़िये
आदि काल से भारतीय परंपरा ऐसी चलती आ रही है कि बचपन में मां-बाप बच्चों का ध्यान रखेंगे और बड़े होकर बच्चे अपने मां बाप का ध्यान रखते हैं यह एक अनकही अनदेखी सी बात है लेकिन यह चलती आ रही है इसमें यह है कि बच्चों को बचपन से आर्थिक स्वतंत्रता नहीं दी जाती जैसे कि विदेश के बच्चों को होता है बच्चे वहां के पॉकेट मनी ऑन करते हैं और जॉब्स करते हैं कोई गार्डनिंग करता है कोई घर की सफाई में मदद करें तो भी मां-बाप उन्हें पैसे देते इस तरीके से बचपन से उनके मन में यह सिखाया जाता है किस तरीके से पैसे कमाए जाते हैं भारत में इतना ज्यादा पॉकेट मनी जो है वह बच्चों को काम के लिए नहीं दिया जाता उनको बिना काम करेगी बच्चों को कई बारी दिया जाता है तू जब तक कि हमारे यहां यह चलता है कि अब बिना काम करे आपको पैसे नहीं मिलेंगे आपको काम करेंगे तभी मिलेगा जब वह सिस्टम हमारे यहां आ जाएगा तब शायद बच्चे थोड़ी सक्षम हो जाएंगे कि वह अपने पैसे खुद कमा सके किंतु यहां बच्चों के ऊपर पढ़ाई का जोर इतना ज्यादा है कि मुझे लगता नहीं है कि 18 साल की उम्र में बच्चे अपने आप से आत्मनिर्भर हो सकते हैं और अपने पूरी शिक्षा का पूरा भार उठा सकते हैं जब तक कि यह सिस्टम भारत में नहीं आता कि बच्चे किसी तरह से पढ़ाई भी कर ले और पैसे भी कमा लेता जब तक कि उनमें इतनी ऑफ फ्रीडम और इतना वक्त और इतना इतनी सुविधाएं नहीं मिलेंगी कहां से बचे 18 साल के बच्चे अपने आप आत्मनिर्भर होंगी और अपना अपना पूरा ध्यान रख सकते हैं तो मेरा यह मानना है कि अभी टाइम है वक्त है जब यह हो सकता है हो सकता है कि धीरे-धीरे हम इस कदम परAadi Kaal Se Bharatiya Parampara Aisi Chalti Aa Rahi Hai Ki Bachpan Mein Maa Baap Bacchon Ka Dhyan Rakhenge Aur Bade Hokar Bacche Apne Maa Baap Ka Dhyan Rakhate Hain Yeh Ek Ankahi Andekha Si Baat Hai Lekin Yeh Chalti Aa Rahi Hai Isme Yeh Hai Ki Bacchon Ko Bachpan Se Aarthik Svatantrata Nahi Di Jati Jaise Ki Videsh Ke Bacchon Ko Hota Hai Bacche Wahan Ke Pocket Money On Karte Hain Aur Jobs Karte Hain Koi Gardening Karta Hai Koi Ghar Ki Safaai Mein Madad Karen To Bhi Maa Baap Unhen Paise Dete Is Tarike Se Bachpan Se Unke Man Mein Yeh Sikhaya Jata Hai Kis Tarike Se Paise Kamaye Jaate Hain Bharat Mein Itna Zyada Pocket Money Jo Hai Wah Bacchon Ko Kaam Ke Liye Nahi Diya Jata Unko Bina Kaam Karegi Bacchon Ko Kai Baari Diya Jata Hai Tu Jab Tak Ki Hamare Yahan Yeh Chalta Hai Ki Ab Bina Kaam Kare Aapko Paise Nahi Milenge Aapko Kaam Karenge Tabhi Milega Jab Wah System Hamare Yahan Aa Jayega Tab Shayad Bacche Thodi Saksham Ho Jaenge Ki Wah Apne Paise Khud Kama Sake Kintu Yahan Bacchon Ke Upar Padhai Ka Jor Itna Zyada Hai Ki Mujhe Lagta Nahi Hai Ki 18 Saal Ki Umar Mein Bacche Apne Aap Se Aatmanirbhar Ho Sakte Hain Aur Apne Puri Shiksha Ka Pura Bhar Utha Sakte Hain Jab Tak Ki Yeh System Bharat Mein Nahi Aata Ki Bacche Kisi Tarah Se Padhai Bhi Kar Le Aur Paise Bhi Kama Leta Jab Tak Ki Unmen Itni Of Freedom Aur Itna Waqt Aur Itna Itni Suvidhaen Nahi Milengi Kahaan Se Bache 18 Saal Ke Bacche Apne Aap Aatmanirbhar Hongi Aur Apna Apna Pura Dhyan Rakh Sakte Hain To Mera Yeh Manana Hai Ki Abhi Time Hai Waqt Hai Jab Yeh Ho Sakta Hai Ho Sakta Hai Ki Dhire Dhire Hum Is Kadam Par
Likes  90  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, फैक्ट की बात करते हैं डाटा की, बात करते हैं जब देश आजाद हुआ था उस में मुस्लिम पापुलेशन जो है देश की जनसंख्या का करीब ९.८ परसेंट,९-८ परसेंट थी जो आज बढ़कर १४% से ज्यादा हो गई है तो मुस्लिम जनसं...
जवाब पढ़िये
देखिये, फैक्ट की बात करते हैं डाटा की, बात करते हैं जब देश आजाद हुआ था उस में मुस्लिम पापुलेशन जो है देश की जनसंख्या का करीब ९.८ परसेंट,९-८ परसेंट थी जो आज बढ़कर १४% से ज्यादा हो गई है तो मुस्लिम जनसंख्या बड़ी है परसेंटेज टर्म्स में इसमें तो कोई डाउट नहीं है l लेकिन यह कहना यह इसलिए बड़ी है क्योंकि यह लोग देश पर कब्जा करने वाले हैं l यह केवल उन लोगों की सोच है जो लोग वोट बैंक की राजनीति करते हैं l कुछ एस्टीमेट बोलते हैं कि २०५० तक मुस्लिम जनसंख्या बढ़ के १८ परसेंट हो जाएगी l लेकिन २०५० तक विश्व में सैम एस्टीमेट बोलते हैं की हिंदू जनसंख्या देश में ७७% रहेगी l यानि के अगर इस रेट से भी बढ़ता रहा तो मुझे लगता है अगले ५०० साल लग जाएंगे कि मुस्लिम पापुलेशन देश में हिंदू पापुलेशन से ज्यादा हो पाएगी, आय थिंक ५०० या १००० साल में भी ना हो पाए l तो कहा से यह देश में कब्जा करने वाली बात आ गई l यह केवल वोट बैंक की राजनीति है जबकि कारण क्या है कि हिंदुओं में भी खूब बच्चे पैदा होते थे अगर आप आज से ५० साल या उससे पहले के परिवारों को देखिए तो की १-१ फैमिली में ८-८-१०-१० भाई बहन होते थे लेकिन यह हिंदुओं को अवेयरनेस आई और उन्होंने देखा कि एक इकनोमिक प्रोग्रेस के लिए यह जरूरी है कि हम फैमिली प्लानिंग करें, कम बच्चे होंगे तो उनको हम ज्यादा अच्छे से पढ़ा सकते हैं, उनको ज्यादा अच्छे स्कूल में भेज सकते हैं और उनके स्वास्थ्य का भी ज्यादा ध्यान रख सकते हैं जिसमें देश की और अपने परिवार की आर्थिक प्रोग्रेस होती है l वह चीज आज जो जागृत मुसलमान हैं उनमें भी है l जागृत मुसलमानों में आपको नहीं दिखेंगे की उनके दो से ज्यादा बच्चे हैं l धीरे-धीरे अवेयरनेस बढ़ने से, एजुकेशन बढ़ने से वह बाकी मुस्लिमों में भी हो रही है l और आने वाले २०-३०-५० सालों में वह भी यह चीज़ समझ जाएंगे कि उनके परिवार की खुशहाली के लिए यह जरूरी है कि वह फैमिली प्लानिंग करें और परिवार में उतने ही बच्चे पैदा करें जितने का अच्छे तरीके से पालन- पोषण हो सकता है तो यह प्रॉब्लम अपने आप सोल्व हो जाएगी l देश में कंट्रोल करने वाली बात केवल राजनीति है lDekhiye Fact Ki Baat Karte Hain Data Ki Baat Karte Hain Jab Desh Azad Hua Tha Us Mein Muslim Population Jo Hai Desh Ki Jansankhya Ka Karib 9 8 Percent 9 8 Percent Thi Jo Aaj Badhkar 14 Se Jyada Ho Gayi Hai To Muslim Jansankhya Badi Hai Percentage Terms Mein Isme To Koi Doubt Nahi Hai L Lekin Yeh Kehna Yeh Isliye Badi Hai Kyonki Yeh Log Desh Par Kabja Karne Wale Hain L Yeh Kewal Un Logon Ki Soch Hai Jo Log Vote Bank Ki Rajneeti Karte Hain L Kuch Estimate Bolte Hain Ki 2050 Tak Muslim Jansankhya Badh Ke 18 Percent Ho Jayegi L Lekin 2050 Tak Vishwa Mein Sam Estimate Bolte Hain Ki Hindu Jansankhya Desh Mein 77 Rahegi L Yani Ke Agar Is Rate Se Bhi Badhta Raha To Mujhe Lagta Hai Agle 500 Saal Lag Jaenge Ki Muslim Population Desh Mein Hindu Population Se Jyada Ho Payegi Aay Think 500 Ya 1000 Saal Mein Bhi Na Ho Paye L To Kaha Se Yeh Desh Mein Kabja Karne Wali Baat Aa Gayi L Yeh Kewal Vote Bank Ki Rajneeti Hai Jabki Kaaran Kya Hai Ki Hinduon Mein Bhi Khoob Bacche Paida Hote The Agar Aap Aaj Se 50 Saal Ya Usse Pehle Ke Parivaro Ko Dekhie To Ki 1 1 Family Mein 8 8 10 10 Bhai Behen Hote The Lekin Yeh Hinduon Ko Awareness Eye Aur Unhone Dekha Ki Ek Economic Progress Ke Liye Yeh Zaroori Hai Ki Hum Family Planning Karen Kum Bacche Honge To Unko Hum Jyada Acche Se Padha Sakte Hain Unko Jyada Acche School Mein Bhej Sakte Hain Aur Unke Swasthya Ka Bhi Jyada Dhyan Rakh Sakte Hain Jisme Desh Ki Aur Apne Parivar Ki Aarthik Progress Hoti Hai L Wah Cheez Aaj Jo Jaagarrit Musalman Hain Unmen Bhi Hai L Jaagarrit Musalmano Mein Aapko Nahi Dikhenge Ki Unke Do Se Jyada Bacche Hain L Dhire Dhire Awareness Badhne Se Education Badhne Se Wah Baki Muslimo Mein Bhi Ho Rahi Hai L Aur Aane Wale 20 30 50 Salon Mein Wah Bhi Yeh Cheez Samajh Jaenge Ki Unke Parivar Ki Khushhali Ke Liye Yeh Zaroori Hai Ki Wah Family Planning Karen Aur Parivar Mein Utne Hi Bacche Paida Karen Jitne Ka Acche Tarike Se Palan Poshan Ho Sakta Hai To Yeh Problem Apne Aap Solve Ho Jayegi L Desh Mein Control Karne Wali Baat Kewal Rajneeti Hai L
Likes  66  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छा सवाल है आपका देखने वाली बात यह है कि आप समझने वाली बात यह है कि बच्चे जो हैं अगर आपने ध्यान दिया हो तो आपको कॉपी करते हैं जो आप कर रहे हैं वहीं उन्हें करना अच्छा लगता है तो अगर आप बच्चे ...
जवाब पढ़िये
बहुत ही अच्छा सवाल है आपका देखने वाली बात यह है कि आप समझने वाली बात यह है कि बच्चे जो हैं अगर आपने ध्यान दिया हो तो आपको कॉपी करते हैं जो आप कर रहे हैं वहीं उन्हें करना अच्छा लगता है तो अगर आप बच्चे की किसी भी बिहेवियर में चीन चाहते हैं तो आप वह कीजिए जो आप बच्चे से चाहते करना जैसे अगर आप चाहते कि बच्चे जो है वह पढ़ाई करें आप उनके सामने किताब लेकर बैठे चाय व मार्ट दिन हो चाहे वह पूजा की किताब हो अगर आप चाहते हैं कि बच्चे बात मानी आपकी तो आप उन्हें बताइए या फिर आपने दिखाइए कि कैसे आप अपने माता पिता की बात मानते हैं और वह सोता ही अपने आप ही आप की बात मानना शुरू कर देंगे यही बात सत्य बहुत उदार होने की तो आप ही कर सकते हैं परिवार कुछ नियम बनाइए जैसे कि इतने बजे 10:00 बजे के बाद टीवी नहीं चलेगा और उन पर अड़े रहिए अगर बच्चा पहले बच्चा कुछ दिन या कुछ बाद से 10 बार 20 बार टप्पू चेक करेगा कि आपने जो नियम बनाए हैं आप उन पर अड़े रहते हैं या नहीं रहते हैं आप कुछ परिवार के नियम बनाइए जिनको खुद भी जिनका खुद भी पालन करिए और फिर अपने बच्चों को भी कर आइए तो आप संतुलन पापा आएंगेBahut Hea Accha Sawal Hai Aapka Dakhane Wali Baat Yeh Hai Qi Aap Samajhne Wali Baat Yeh Hai Qi Bacche Joe Hain Agar Aapne Dhyan Diya Ho To Aapko Copy Karte Hain Joe Aap Car Rahe Hain Vahin Unhein Krna Accha Lagta Hai To Agar Aap Bacche Ki Kisi Bhi Behaviour Mein China Chahte Hain To Aap Wah Kiijiye Joe Aap Bacche Se Chahte Krna Jaise Agar Aap Chahte Qi Bacche Joe Hai Wah Padhai Karein Aap Unke Samne Kitab Lycra Baithe Chai Va Mart Din Ho Chahe Wah Pooja Ki Kitab Ho Agar Aap Chahte Hain Qi Bacche Baat Maani Aapki To Aap Unhein Bataaeeye Ya Phir Aapne Dikhaaiye Qi Kaise Aap Apne Mata Pita Ki Baat Maunte Hain Aur Wah Sauta Hea Apne Aap Hea Aap Ki Baat Manna Shuru Car Denge Yahi Baat Satya Bahut Udar Hone Ki To Aap Hea Car Sakte Hain Parivar Kuch Niyam Banaaie Jaise Qi Itne Bazae 10:00 Bazae K Baad Teewe Nahin Chalega Aur Un Per Ade Rahiye Agar Bacca Pehle Bacca Kuch Din Ya Kuch Baad Se 10 Bar 20 Bar Tappu Check Karega Qi Aapne Joe Niyam Banae Hain Aap Un Per Ade Rahate Hain Ya Nahin Rahate Hain Aap Kuch Parivar K Niyam Banaaie Jinko Khud Bhi Jinka Khud Bhi Palan Kariye Aur Phir Apne Bachcho Co Bhi Car Ie To Aap Santulan Peppa Aenge
Likes  51  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखे मेरे हिसाब से दो ही परिस्थितियों में कोई मां बाप अपने बच्चों का बाल विवाह करेंगे या तो यह है कि वह उनके परि...
जवाब पढ़िये
नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखे मेरे हिसाब से दो ही परिस्थितियों में कोई मां बाप अपने बच्चों का बाल विवाह करेंगे या तो यह है कि वह उनके परिवार में शुरू से चला आ रहा है यानी कि कस्टमरी ओके इंग्लिश में जो टॉम है कस्टमर कस्टमर ई है कि वह बहुत पहले से चला आ रहा है रीति रिवाज तो पहला कार्य नहीं होगा और दूसरा यह है कि अगर उनका जो आर्थिक परिस्थिति है यानी फ्रांस और कंडीशन आफ इट्स वेरी लेस यानी कि अगर वह बहुत गरीब है तो ही अगर उन्होंने किसी दूसरे परिवार में यह सहमति दे दी है और उन्हें अगर उन्होंने उनको उन्होंने वोट दे दिया है यानी कि उनसे उन्होंने यह बंद कर लिया है कि अपने बच्चे का विवाह उनके घर पर करेंगे तो इस कंडीशन में मतलब गरीबी में बहुत गरीबी में तो दो ही है तो कस्टम पुरानी रीति रिवाज उनके घर में चले जा रहे होंगे या तो बहुत उनका आर्थिक स्थिति कम है गरीब है तो ही इंदु कंडीशन में मेरे हिसाब से मां-बाप जो है वह अपने बच्चों का बाल विवाह कर आते हैं थैंक यू
Likes  68  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर एक मां बाप को अपने बच्चों से इज्जत स्वयं अर्जित करनी पड़ती है, और अगर वह इज्जत के काबिल नहीं है तो उनके बच्चे उनकी कोई इज्जत नहीं करेंगे, यह जो एक परंपरा शुरू करने की चेष्टा की जा रही झारखंड सरकार ...
जवाब पढ़िये
हर एक मां बाप को अपने बच्चों से इज्जत स्वयं अर्जित करनी पड़ती है, और अगर वह इज्जत के काबिल नहीं है तो उनके बच्चे उनकी कोई इज्जत नहीं करेंगे, यह जो एक परंपरा शुरू करने की चेष्टा की जा रही झारखंड सरकार द्वारा की पिता माता की पूजा की जाए, यह मेरे विचार से तो बिल्कुल उचित नहीं है और बहुत ही पुरानी रूढ़िवादी विचारधारा को उनकी दर्शाती है और आज के समय में जो बच्चे हैं वह काफी जागृत है और वोह माँ बाप की जरूरत करते हैं,लेकिन अगर वोह मां बाप उनकी इज्जत के काबिल हो तो और उनके पैर को धोने से और वो इस तरीके के जो दुनिया भर के रिचुअल्स करने हैं,यह सिर्फ एक पुरानी परंपरा को जन्म देते हैं और मैं इसके बिल्कुल ही समर्थन में नहीं हूं |Har Ek Maa Baap Ko Apne Bacchon Se Izzat Swayam Arjit Karni Padhti Hai Aur Agar Wah Izzat Ke Kaabil Nahi Hai To Unke Bacche Unki Koi Izzat Nahi Karenge Yeh Jo Ek Parampara Shuru Karne Ki Cheshta Ki Ja Rahi Jharkhand Sarkar Dwara Ki Pita Mata Ki Puja Ki Jaye Yeh Mere Vichar Se To Bilkul Uchit Nahi Hai Aur Bahut Hi Purani Rudhivadi Vichardhara Ko Unki Darshatee Hai Aur Aaj Ke Samay Mein Jo Bacche Hain Wah Kafi Jaagarrit Hai Aur Wooh Maa Baap Ki Zaroorat Karte Hain Lekin Agar Wooh Maa Baap Unki Izzat Ke Kaabil Ho To Aur Unke Pair Ko Dhone Se Aur Vo Is Tarike Ke Jo Duniya Bhar Ke Rituals Karne Hain Yeh Sirf Ek Purani Parampara Ko Janm Dete Hain Aur Main Iske Bilkul Hi Samarthan Mein Nahi Hoon |
Likes  18  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस वक्त चुनावी दौरे पर मेघालय में हैं यहां वह पिछले 2 दिनों से सभाओं को संबोधित कर रहे हैं रैलियां कर रहे हैं और लोगों से मिल रहे हैं ताकि मेघालय में विधानसभा चुनाव के जो ...
जवाब पढ़िये
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस वक्त चुनावी दौरे पर मेघालय में हैं यहां वह पिछले 2 दिनों से सभाओं को संबोधित कर रहे हैं रैलियां कर रहे हैं और लोगों से मिल रहे हैं ताकि मेघालय में विधानसभा चुनाव के जो नतीजे आएंगे उसमें कांग्रेस को फायदा हो लेकिन कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर वहां पर बीजेपी पार्टी के जो लीडर्स हैं वह राहुल गांधी पर लगातार हमले कर रहे हैं और इस बार राहुल गांधी पर हमला किया है वहां के पूर्व CM बीएस येदुरप्पा ने वीरप्पा ने एक चुनावी रैली में कहा कि राहुल गांधी 1 बच्चे हैं और बच्चे के आने से कर्नाटक में कोई फर्क नहीं पड़ेगा और BJP को इसका फायदा ही मिलेगा और BJP 150 सीटें हासिल करने में कामयाब होगी तो मुझे लगता है इस तरह के बयान किसी भी नेता को दूसरे के लिए नहीं देना चाहिए और यह बिल्कुल निंदनीय हैCongress Adhyaksh Rahul Gandhi Is Waqt Chunavi Daure Par Meghalaya Mein Hain Yahan Wah Pichle 2 Dinon Se Sabhaon Ko Sambodhit Kar Rahe Hain Railiyan Kar Rahe Hain Aur Logon Se Mil Rahe Hain Taki Meghalaya Mein Vidhan Sabha Chunav Ke Jo Natheeje Aayenge Usamen Congress Ko Fayda Ho Lekin Karnataka Mein Vidhan Sabha Chunav Ke Maddenajar Wahan Par Bjp Party Ke Jo Leaders Hain Wah Rahul Gandhi Par Lagatar Hamle Kar Rahe Hain Aur Is Baar Rahul Gandhi Par Hamla Kiya Hai Wahan Ke Purv CM Bs Yedurappa Ne Veerappa Ne Ek Chunavi Rally Mein Kaha Ki Rahul Gandhi 1 Bacche Hain Aur Bacche Ke Aane Se Karnataka Mein Koi Fark Nahi Padega Aur BJP Ko Iska Fayda Hi Milega Aur BJP 150 Seaten Hasil Karne Mein Kamyab Hogi To Mujhe Lagta Hai Is Tarah Ke Bayan Kisi Bhi Neta Ko Dusre Ke Liye Nahi Dena Chahiye Aur Yeh Bilkul Nindaniya Hai
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन सबसे पहले बात करूं तो भारत में मिडिल क्लास वालों क्लास ले लेती जा रहे हैं और इनके पास में इतना पैसा नहीं होता भी है सभी अपने सभी बच्चों की पढ़ाई को कंटिन्यू और दूसरी बात प्राइवेट नौकरी में ज्याद...
जवाब पढ़िये
लेकिन सबसे पहले बात करूं तो भारत में मिडिल क्लास वालों क्लास ले लेती जा रहे हैं और इनके पास में इतना पैसा नहीं होता भी है सभी अपने सभी बच्चों की पढ़ाई को कंटिन्यू और दूसरी बात प्राइवेट नौकरी में ज्यादा सैलरी लेने के लिए उच्च स्तर की पढ़ाई करनी पड़ती है और उच्च स्तर की पढ़ाई करने के लिए खर्चा ज्यादा आता है उस समय लगता है जो कि इन दोनों मध्यम वर्गों के लिए और लोगों के लिए बिल्कुल संभव नहीं है वही बात करते हैं सरकारी नौकरी की तो सरकारी नौकरी के लिए और मैं पुलिस में एनसीसी में तितर बितर अमीन की पढ़ाई के लिए कितना कमाता है और सरकारी नौकरी सिक्योर होती है सैलरी ज्यादा मिलती है वहीं दूसरी बात करें अक्षर की तो भारत की साक्षरता 75% साक्षर जो अपने नाम पर लिख सकते हैं वहीं 75% में से 33% वेल एजुकेटेड है मतलब यानी कि 7 से 65% लोग अभी भी नहीं जानते कि हमें अपने बच्चों के लिए क्या करवाना चाहिए क्या नहीं करवाना और तीसरी बात के बारे में बताता हूं भारत में अभी भी 70% लोग गांव में रहते हैं और गांव में ज्यादातर फौज पुलिस और टीचर की तैयारी करते हैं और अगर इन सब का टोटल किया जाए 65 से 70% व्यक्ति ऐसे हैं जो अपने बच्चों का फैसला नहीं कर सकते कि उन्हें क्या करना चाहिए क्या नहीं अगर इसी चक्कर में अगर वह कुछ गलत डिसीजन ले लेते हैं तो प्राइवेट सेक्टर में नौकरी चली जाती है और गवर्नमेंट सेक्टर में क्या होता है कि एक बार जो नौकरी लगी नौकरी लगना कटने लिखने से चुराना और विकट है यही कारण है कि 70% जो आबादी है वह अपने बच्चों को सरकारी नौकरी के लिए प्राइसLekin Sabse Pehle Baat Karun To Bharat Mein Middle Class Walon Class Le Leti Ja Rahe Hain Aur Inke Paas Mein Itna Paisa Nahi Hota Bhi Hai Sabhi Apne Sabhi Bacchon Ki Padhai Ko Continue Aur Dusri Baat Private Naukri Mein Jyada Salary Lene Ke Liye Uccha Sthar Ki Padhai Karni Padhti Hai Aur Uccha Sthar Ki Padhai Karne Ke Liye Kharcha Jyada Aata Hai Us Samay Lagta Hai Jo Ki In Dono Madhyam Vargon Ke Liye Aur Logon Ke Liye Bilkul Sambhav Nahi Hai Wahi Baat Karte Hain Sarkari Naukri Ki To Sarkari Naukri Ke Liye Aur Main Police Mein NCC Mein Ameen Ki Padhai Ke Liye Kitna Kamata Hai Aur Sarkari Naukri Secure Hoti Hai Salary Jyada Milti Hai Wahin Dusri Baat Karen Akshar Ki To Bharat Ki Saksharta 75% Sakshar Jo Apne Naam Par Likh Sakte Hain Wahin 75% Mein Se 33% Well Educated Hai Matlab Yani Ki 7 Se 65% Log Abhi Bhi Nahi Jante Ki Hume Apne Bacchon Ke Liye Kya Karwana Chahiye Kya Nahi Karwana Aur Teesri Baat Ke Bare Mein Batata Hoon Bharat Mein Abhi Bhi 70% Log Gav Mein Rehte Hain Aur Gav Mein Jyadatar Fauj Police Aur Teacher Ki Taiyari Karte Hain Aur Agar In Sab Ka Total Kiya Jaye 65 Se 70% Vyakti Aise Hain Jo Apne Bacchon Ka Faisla Nahi Kar Sakte Ki Unhen Kya Karna Chahiye Kya Nahi Agar Isi Chakkar Mein Agar Wah Kuch Galat Decision Le Lete Hain To Private Sector Mein Naukri Chali Jati Hai Aur Government Sector Mein Kya Hota Hai Ki Ek Bar Jo Naukri Lagi Naukri Lagna Katane Likhne Se Aur Vikat Hai Yahi Kaaran Hai Ki 70% Jo Aabadi Hai Wah Apne Bacchon Ko Sarkari Naukri Ke Liye Price
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जरूर से उनको इन्फॉर्म करना चाहिए कि देखिए मेरे साथ से 15 साल दो नहीं बल्कि 10 साल से ही तेलुगु सेक्स एजुकेशन दे देना चाहिए बच्चों को क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो आगे बैठकर वह अगर खुद एक्सपोर्ट करे तो ...
जवाब पढ़िये
जरूर से उनको इन्फॉर्म करना चाहिए कि देखिए मेरे साथ से 15 साल दो नहीं बल्कि 10 साल से ही तेलुगु सेक्स एजुकेशन दे देना चाहिए बच्चों को क्योंकि अगर ऐसा नहीं होता तो आगे बैठकर वह अगर खुद एक्सपोर्ट करे तो उनके दिमाग में बल्कि उल्टा सीधा इंफॉर्मेशन आता है स्पेशली आजकल जो इंटरनेट का प्रभाव है उसे इंटरनेट में इसलिए आप कुछ भी सर्च कर सकते हो तो इसमें आपके लिए Exide को बल्कि गलत इंफॉर्मेशन मिल सकती है और उनको खुद को खुद से ऊपर लिया कर आप उनको सब इंफॉर्मेशन दे दे तू वह ज्यादा ओपन रहेंगे आपसे यह सब चीज के बारे में बात करने के लिए और अगर उनके पास कोई SMS भी रहेंगे तो बच्चे इसलिए अपने पैरों से अपनी बात कर सकते हैं और सेक्सी सेक्सी उसके बारे मेंJarur Se Unko Inform Karna Chahiye Ki Dekhie Mere Saath Se 15 Saal Do Nahi Balki 10 Saal Se Hi Telugu Sex Education De Dena Chahiye Bacchon Ko Kyonki Agar Aisa Nahi Hota To Aage Baithkar Wah Agar Khud Export Kare To Unke Dimag Mein Balki Ulta Sidhaa Information Aata Hai Speshli Aajkal Jo Internet Ka Prabhav Hai Use Internet Mein Isliye Aap Kuch Bhi Search Kar Sakte Ho To Isme Aapke Liye Exide Ko Balki Galat Information Mil Sakti Hai Aur Unko Khud Ko Khud Se Upar Liya Kar Aap Unko Sab Information De De Tu Wah Jyada Open Rahenge Aapse Yeh Sab Cheez Ke Baare Mein Baat Karne Ke Liye Aur Agar Unke Paas Koi SMS Bhi Rahenge To Bacche Isliye Apne Pairon Se Apni Baat Kar Sakte Hain Aur Sexy Sexy Uske Baare Mein
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भैया कहना चाहूंगा एक्सेस ऑफ एवरीथिंग इज बैक अति किसी भी चीज की खराब है उसको अगर हम एक्टिंग कबीर दास जी ने कहा था अति का भला न बरसना अति की भली न चूप अति का भला न बोलना अति लेट होने लगेगी बच्चों को स्म...
जवाब पढ़िये
भैया कहना चाहूंगा एक्सेस ऑफ एवरीथिंग इज बैक अति किसी भी चीज की खराब है उसको अगर हम एक्टिंग कबीर दास जी ने कहा था अति का भला न बरसना अति की भली न चूप अति का भला न बोलना अति लेट होने लगेगी बच्चों को स्मार्ट फोन यूज नहीं करना चाहिए अब जब हम बच्चे थे तो बताइए तब क्या नहीं करते थे लोग वीडियो गेम नहीं खेलते बच्चे आज के टाइम में भी स्मार्टफोन में बहुत सारे बच्चे गेम खेलते हैं और हम यह भूल जाते हैं कि गेम खेलने से कई मायनों में उनका मानसिक विकास भी होता है लेकिन वह इस कॉस्ट पर नहीं होना चाहिए कि वह दूसरे गेम खेलना फिजिकल गेम खेलना है सारे गेम जितना जोर बाग करनी होती है साइकिल चलानी होती है वह करना बंद कर दें वह यह नहीं होना चाहिए कि वह दिन में 10 घंटे 12 घंटे फोन पर खेल रहे हैं और अपने बाकी पढ़ाई है बाकी गेम या लोगों के साथ बात नहीं कर रहे हैं लेकिन अगर कोई बच्चा दिन में आधा घंटा एक घंटा को स्मार्ट फोन पर खेलता है तो उसमें कोई नुकसान नहीं है स्मार्ट फोन में भी आजकल इतने अच्छे-अच्छे गेम आ गए हैं जिनसे बहुत शर्म का मानसिक विकास होता है और आने वाली युग में क्या आप अपने बच्चों को डिजिटल टेक्नोलॉजी से दूर रह पाएंगे क्या कोई भी आदमी आज के टाइम में आने वाले टाइम में खासकर डिजिटल टेक्नोलॉजी से अलग अपने आपको रह पाएगा मुझे आज से 10 साल पहले बहुत लोगों ने आइडियोलॉजी बनाई थी जो मोबाइल फोन इस्तेमाल नहीं करेंगे अभी उनकी ID लगी आज आप मुझे वह बताइए एक भी एक भी काबिल आदमी एक भी समझदार आदमी के पास ठीक-ठाक देखना मोबाइल के रह पा रहा हैBhaiya Kehna Chahunga Access Of Everything Is Back Ati Kisi Bhi Cheez Ki Kharab Hai Usko Agar Hum Acting Kabir Das Ji Ne Kaha Tha Ati Ka Bhala N Barsana Ati Ki Bhali N Chup Ati Ka Bhala N Bolna Ati Let Hone Lagegi Bacchon Ko Smart Phone Use Nahi Karna Chahiye Ab Jab Hum Bacche The To Bataiye Tab Kya Nahi Karte The Log Video Game Nahi Khelte Bacche Aaj Ke Time Mein Bhi Smartphone Mein Bahut Sare Bacche Game Khelte Hain Aur Hum Yeh Bhul Jaate Hain Ki Game Khelne Se Kai Maayano Mein Unka Mansik Vikash Bhi Hota Hai Lekin Wah Is Cost Par Nahi Hona Chahiye Ki Wah Dusre Game Khelna Physical Game Khelna Hai Sare Game Jitna Jor Baag Karni Hoti Hai Cycle Chalani Hoti Hai Wah Karna Band Kar Dein Wah Yeh Nahi Hona Chahiye Ki Wah Din Mein 10 Ghante 12 Ghante Phone Par Khel Rahe Hain Aur Apne Baki Padhai Hai Baki Game Ya Logon Ke Saath Baat Nahi Kar Rahe Hain Lekin Agar Koi Baccha Din Mein Aadha Ghanta Ek Ghanta Ko Smart Phone Par Khelta Hai To Usamen Koi Nuksan Nahi Hai Smart Phone Mein Bhi Aajkal Itne Acche Acche Game Aa Gaye Hain Jinse Bahut Sharm Ka Mansik Vikash Hota Hai Aur Aane Wali Yug Mein Kya Aap Apne Bacchon Ko Digital Technology Se Dur Rah Paenge Kya Koi Bhi Aadmi Aaj Ke Time Mein Aane Wale Time Mein Khaskar Digital Technology Se Alag Apne Aapko Rah Payega Mujhe Aaj Se 10 Saal Pehle Bahut Logon Ne Ideology Banai Thi Jo Mobile Phone Istemal Nahi Karenge Abhi Unki ID Lagi Aaj Aap Mujhe Wah Bataiye Ek Bhi Ek Bhi Kaabil Aadmi Ek Bhi Samajhdar Aadmi Ke Paas Theek Thak Dekhna Mobile Ke Rah Pa Raha Hai
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे ऐसा लगता है कि बच्चों की परवरिश करते समय पैलेस को जो चीज सबसे ज्यादा ध्यान रखनी चाहिए वह यह कि वह अपने बच्चों को किसी भी काम के लिए पोस्ट ना करें उसे आशियाना में बहुत ज्यादा ऐसा होता है कि ब...
जवाब पढ़िये
विकी मुझे ऐसा लगता है कि बच्चों की परवरिश करते समय पैलेस को जो चीज सबसे ज्यादा ध्यान रखनी चाहिए वह यह कि वह अपने बच्चों को किसी भी काम के लिए पोस्ट ना करें उसे आशियाना में बहुत ज्यादा ऐसा होता है कि बस पैलेस चाहते हैं कि बच्चे वह पढ़ाई करेगा वह नौकरी करे जो उनके पेरेंट्स कह रहे हैं मुंह से गवर्मेंट जॉब या काम रीट एग्जाम की तैयारी करें लेकिन कई बच्चों का इंटरेस्ट नहीं होता है बहुत-बहुत कि कोई किसी बच्चे में डाल दो ताकि वह बहुत अच्छे डांसर हो गया पेंटर हो या सिंगल हो बट पेरेंट्स को लगता है कि यह तो हो भी हो सकती है बेटे का रियल चॉइस नहीं हो सकती जिसकी वजह से पालनपुर से प्रश्न नहीं करने देते तो ध्यान रखें कि अपने बच्चे के साथ ऐसा ना करें दूसरी चीजों मुझे लगता है वह यह कि अपने बच्चों को किसी से कम प्यार ना करें कंपाइलेशन के पीछे से बच्चों के अंदर वह जो एक और इन सिक्योरिटी कंप्लीट हो जाते हैं कौन है उनके आगे फ्यूचर साल टेबल पर बहुत प्रॉब्लम क्रिएट करता है और किसी चीज अपने बच्चों को भूलकर भी ना दिखाएंVikee Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Bacchon Ki Parvarish Karte Samay Palace Ko Jo Cheez Sabse Jyada Dhyan Rakhni Chahiye Wah Yeh Ki Wah Apne Bacchon Ko Kisi Bhi Kaam Ke Liye Post Na Karen Use Aashiyana Mein Bahut Jyada Aisa Hota Hai Ki Bus Palace Chahte Hain Ki Bacche Wah Padhai Karega Wah Naukri Kare Jo Unke Parents Keh Rahe Hain Mooh Se Goverment Job Ya Kaam Reet Exam Ki Taiyari Karen Lekin Kai Bacchon Ka Interest Nahi Hota Hai Bahut Bahut Ki Koi Kisi Bacche Mein Dal Do Taki Wah Bahut Acche Dancer Ho Gaya Painter Ho Ya Single Ho But Parents Ko Lagta Hai Ki Yeh To Ho Bhi Ho Sakti Hai Bete Ka Real Choice Nahi Ho Sakti Jiski Wajah Se Palanpur Se Prashna Nahi Karne Dete To Dhyan Rakhen Ki Apne Bacche Ke Saath Aisa Na Karen Dusri Chijon Mujhe Lagta Hai Wah Yeh Ki Apne Bacchon Ko Kisi Se Kum Pyar Na Karen Kampaileshan Ke Piche Se Bacchon Ke Andar Wah Jo Ek Aur In Security Complete Ho Jaate Hain Kaun Hai Unke Aage Future Saal Table Par Bahut Problem Create Karta Hai Aur Kisi Cheez Apne Bacchon Ko Bhoolkar Bhi Na Dikhaen
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों को रियालिटी शो में अनुमति दी जानी चाहिए या नहीं यह हर जगह हर पेरेंट्स का अलग-अलग फैसला हो सकता है बाहर जाने की अलग-अलग रहा है वह सकती है लेकिन हंड्रेड परसेंट पार्टिसिपेट करने की इजाजत दी नहीं च...
जवाब पढ़िये
बच्चों को रियालिटी शो में अनुमति दी जानी चाहिए या नहीं यह हर जगह हर पेरेंट्स का अलग-अलग फैसला हो सकता है बाहर जाने की अलग-अलग रहा है वह सकती है लेकिन हंड्रेड परसेंट पार्टिसिपेट करने की इजाजत दी नहीं चाहिए बिल्कुल भी नहीं सोचना चाहिए तुरंत देने की बात करें तो आप समझने की कोशिश कीजिए उम्र का बच्चा है अगर वह इतनी सी उम्र में कोई टैलेंट रख रहा है इतनी बड़ी बात है पहली बात तो वही बहुत बड़ी बात दूसरी चीज अगर वह करोड़ों दर्शकों के सामने पर फोन कर रहा है तो आप यकीन कीजिए 5 साल की उम्र में अगर उसने यह चीज हासिल कर ली है तो उसकी पूरी लाइफ कितनी अच्छी जाने वाली है नहीं पूरी लाइफ में कितना ज्यादा कॉन्फिडेंस रहेगा क्योंकि इस 25 साल का बच्चा भी स्टेज पर डालने से जाने से डरता है आजकल चाहे कोई एक स्पीच बोलने कोई पर कॉल करनी है वह डरता है स्टेज फियर होता है 50 साल के बच्चे इंसान को भी होता है स्टेज किया पूरी दुनिया का ना करने के उपाय योजना 5 साल 10 साल की उम्र में यह हासिल कर ले रहा है तो उसके लिए पूरी जिंदगी बहुत बड़ी हो गई है बहुत बड़ी बहुत आसान हो गई उसकी जिंदगी ने सब कुछ इतनी कम उम्र में हासिल कर ले दूसरी चीज अगर किसी में टैलेंट है तो उसको दुनिया को दिखाना चाहिए टैलेंट की क़दर होनी चाहिए क्योंकि जिंदगी है हमने यह मानकर चलना है केवल पढ़ाई में सब कुछ है कि पढ़ाई में सब कुछ नहीं है किताबी ज्ञान सब कुछ नहीं है किताब जो ज्ञान है वो रियालिटी शो में जाने से अपने हुनर को दिखाने से चीजों में करने के बाद भी हासिल हो सकता है केवल पढ़ाई सब कुछ नहीं X पढ़ाई ओन्ली फील नहीं है जॉब ओनली पिक नहीं है चीनी डॉक्टर ही सब कुछ नहीं है जिसका जहां टैलेंट है वहीं पर उतर जाना चाहिए और वो टैलेंट बचपन में अगर उसमें दिख जाता है आपको तो तमीज से उसका विरोध होना शुरू कर दीजिए क्योंकि बचपन में जो चीज आगे बढ़ गई तभी आगे बढ़ सकती है अन्यथा फिर लाइफ में आप इतने बिजी हो जाएंगे कि अगर आप टैलेंटेड भी है तो वह बेकार लग जाएगाBacchon Ko Reality Show Mein Anumati Di Jani Chahiye Ya Nahi Yeh Har Jagah Har Parents Ka Alag Alag Faisla Ho Sakta Hai Bahar Jaane Ki Alag Alag Raha Hai Wah Sakti Hai Lekin Hundred Percent Participate Karne Ki Ijajat Di Nahi Chahiye Bilkul Bhi Nahi Sochna Chahiye Turant Dene Ki Baat Karen To Aap Samjhne Ki Koshish Kijiye Umar Ka Baccha Hai Agar Wah Itni Si Umar Mein Koi Talent Rakh Raha Hai Itni Badi Baat Hai Pehli Baat To Wahi Bahut Badi Baat Dusri Cheez Agar Wah Karodo Darshakon Ke Samane Par Phone Kar Raha Hai To Aap Yakin Kijiye 5 Saal Ki Umar Mein Agar Usne Yeh Cheez Hasil Kar Lee Hai To Uski Puri Life Kitni Acchi Jaane Wali Hai Nahi Puri Life Mein Kitna Jyada Confidence Rahega Kyonki Is 25 Saal Ka Baccha Bhi Stage Par Dalne Se Jaane Se Darta Hai Aajkal Chahe Koi Ek Speech Bolne Koi Par Call Karni Hai Wah Darta Hai Stage Fear Hota Hai 50 Saal Ke Bacche Insaan Ko Bhi Hota Hai Stage Kiya Puri Duniya Ka Na Karne Ke Upay Yojana 5 Saal 10 Saal Ki Umar Mein Yeh Hasil Kar Le Raha Hai To Uske Liye Puri Zindagi Bahut Badi Ho Gayi Hai Bahut Badi Bahut Aasan Ho Gayi Uski Zindagi Ne Sab Kuch Itni Kum Umar Mein Hasil Kar Le Dusri Cheez Agar Kisi Mein Talent Hai To Usko Duniya Ko Dikhana Chahiye Talent Ki Qadar Honi Chahiye Kyonki Zindagi Hai Humne Yeh Manakar Chalna Hai Kewal Padhai Mein Sab Kuch Hai Ki Padhai Mein Sab Kuch Nahi Hai Kitabi Gyaan Sab Kuch Nahi Hai Kitab Jo Gyaan Hai Vo Reality Show Mein Jaane Se Apne Hunar Ko Dikhane Se Chijon Mein Karne Ke Baad Bhi Hasil Ho Sakta Hai Kewal Padhai Sab Kuch Nahi X Padhai Only Feel Nahi Hai Job Only Pic Nahi Hai Chini Doctor Hi Sab Kuch Nahi Hai Jiska Jahan Talent Hai Wahin Par Utar Jana Chahiye Aur Vo Talent Bachpan Mein Agar Usamen Dikh Jata Hai Aapko To Tamij Se Uska Virodh Hona Shuru Kar Dijiye Kyonki Bachpan Mein Jo Cheez Aage Badh Gayi Tabhi Aage Badh Sakti Hai Anyatha Phir Life Mein Aap Itne Busy Ho Jaenge Ki Agar Aap Talented Bhi Hai To Wah Bekar Lag Jayega
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं यह सरासर गलत है कि बच्चे ना पड़ने पर बच्चों को मारना की एकदम गलत बात है क्योंकि अगर आप ऐसा करते हो तो बच्चा जो कुछ पहले थोड़ा मत पड़ता था और भी नहीं पड़ेगा और वह पढ़ाई कि तुम बिल्कुल बंद कर दे...
जवाब पढ़िये
जी नहीं यह सरासर गलत है कि बच्चे ना पड़ने पर बच्चों को मारना की एकदम गलत बात है क्योंकि अगर आप ऐसा करते हो तो बच्चा जो कुछ पहले थोड़ा मत पड़ता था और भी नहीं पड़ेगा और वह पढ़ाई कि तुम बिल्कुल बंद कर देगा फिर चाहे आप उसे कितनी बार हो नहीं पड़ने वाला इसलिए सबसे बेस्ट तरीका है कि बच्चों को प्यार से समझाया है ताकि वह अच्छी तरह से समझ सके ना की मारपीट वाले तरीके से बन जाए अभी बच्चा चित्र से समझ पाएगा और चित्र से पढ़ाई कर पाएगाG Nahin Yeh Sarasar Galat Hai Qi Bacche Na Padane Per Bachcho Co Maarna Ki Ekdam Galat Baat Hai Kyonki Agar Aap Aisa Karte Ho To Bacca Joe Kuch Pehle Thoda Matt Padata Thaa Aur Bhi Nahin Padega Aur Wah Padhai Qi Tum Bilkool Band Car Dega Phir Chahe Aap Usse Kitni Bar Ho Nahin Padane Wala Eeslie Sabse Best Tarika Hai Qi Bachcho Co Pyaar Se Samjhaya Hai Taki Wah Achchhee Turha Se Samajh Skye Na Ki Marpeet Wale Tarike Se Bun Jae Abhi Bacca Chitra Se Samajh Paega Aur Chitra Se Padhai Car Paega
Likes  25  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, जब सूर्य ग्रहण होता है तो उस समय जो है साइंटिफिकली भी यह एक फैक्ट है कि उस समय हमें सूरज की तरफ नहीं देखना चाहिए l क्योंकि सूरज की रोशनी भले ही कम हो जाती है क्योंकि चंद्रमा के उनके बीच में आ ...
जवाब पढ़िये
देखिये, जब सूर्य ग्रहण होता है तो उस समय जो है साइंटिफिकली भी यह एक फैक्ट है कि उस समय हमें सूरज की तरफ नहीं देखना चाहिए l क्योंकि सूरज की रोशनी भले ही कम हो जाती है क्योंकि चंद्रमा के उनके बीच में आ जाता है लेकिन उसकी जो हार्मफुल जो रेडिएशन है, बहुत सारी जो कि आंखों के लिए अच्छी नहीं है वह कम नहीं होती है l और चुकी उस समय जब कवर होता है, बसंत हमारी आंखों की पुतलियां ज्यादा बड़ी हो जाती है तो उस तरीके के हार्मफुल रेडिएशन ज्यादा अब्सोर्ब करती हैं और उस वजह से हमारी आंखों को नुकसान होता l तो सूर्य ग्रहण देखना जरूर जो है वह नुकसानदेह होता लेकिन जहां तक चंद्रग्रहण का सवाल है मेरी जानकारी में तो ऐसा कोई भी साइंटिफिक कारण नहीं है कि जिस में चंद्र ग्रहण को देखने से कोई भी नुकसान होगा क्यूंकि चंद्रमा की जो रौशनी रहती है वोह रेफ्लेक्टेद रोशनी रहती है और उसमें कोई बहुत ज्यादा नुकसान होने के चांसेस नहीं रहते हैं l मैं समझता हूं कि एक मिथक है और यह तरीके से देखा जाए तो एक सुपरस्तिशन है lDekhiye Jab Surya Grahan Hota Hai To Us Samay Jo Hai Scientifically Bhi Yeh Ek Fact Hai Ki Us Samay Hume Suraj Ki Taraf Nahi Dekhna Chahiye L Kyonki Suraj Ki Roshni Bhale Hi Kam Ho Jati Hai Kyonki Chandrama Ke Unke Bich Mein Aa Jata Hai Lekin Uski Jo Harmful Jo Radiation Hai Bahut Saree Jo Ki Aakhon Ke Liye Acchi Nahi Hai Wah Kam Nahi Hoti Hai L Aur Chuki Us Samay Jab Cover Hota Hai Basant Hamari Aakhon Ki Putaliyan Zyada Badi Ho Jati Hai To Us Tarike Ke Harmful Radiation Zyada Absorb Karti Hain Aur Us Wajah Se Hamari Aakhon Ko Nuksan Hota L To Surya Grahan Dekhna Jarur Jo Hai Wah Nukasaanadeh Hota Lekin Jahan Tak Chandragrahan Ka Sawal Hai Meri Jankari Mein To Aisa Koi Bhi Scientific Kaaran Nahi Hai Ki Jis Mein Chandra Grahan Ko Dekhne Se Koi Bhi Nuksan Hoga Kyunki Chandrama Ki Jo Roshni Rehti Hai Wooh Reflekted Roshni Rehti Hai Aur Usamen Koi Bahut Zyada Nuksan Hone Ke Chances Nahi Rehte Hain L Main Samajhata Hoon Ki Ek Mithak Hai Aur Yeh Tarike Se Dekha Jaye To Ek Suparastishan Hai L
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी मुझे लगता है कि मुसलमानों में ज्यादा बच्चे पैदा करने का जो कारण नजर आते एक तो वहां शिक्षा मुस्लिम यह कैसा रिलीजन हमारे देश के अंदर सबसे कम पढ़ा लिखा है सबसे कम लिटरेसी है तो किसी कि वह मुसलमान दू...
जवाब पढ़िये
देखी मुझे लगता है कि मुसलमानों में ज्यादा बच्चे पैदा करने का जो कारण नजर आते एक तो वहां शिक्षा मुस्लिम यह कैसा रिलीजन हमारे देश के अंदर सबसे कम पढ़ा लिखा है सबसे कम लिटरेसी है तो किसी कि वह मुसलमान दूसरे मैं कहना चाहूंगा बहुत ही कंज़र्वेटिव थैंक्यू होती है पानी चल कंडीशन उतनी अच्छी नहीं है और लाइफ का कोई आम नहीं होता मूसली आपने देखा होगा मुसलमान मेरे घर में 10 बच्चे होते हैं तो बचपन से ही किसी न किसी काम में लग जाते हैं कोई सब्जी का ठेला लगाने लगेगा कोई कूड़ा बीनने लगेगा कोई कुछ करने लगे हैं कुछ कुछ करने लगेगा लेकिन एक लाइव कमेंट सेट लाइट के लिए रिमाइंड सेट नहीं होता कि लाइफ जीवन में कुछ अच्छा करना है ऐसा कुछ नहीं होता दूसरे में कहना चाहूंगा जिस तरह से उनके यहां कुरान पढ़ाया जाता है इस पर श्री मौलवियों द्वारा तो वह बुक से ज्यादा मुझे लगता अपनी धार्मिक ग्रंथ को पढ़ते हैं तो इसलिए भी कंज़र्वेटिव बहुत ज्यादा कंजरवेटर हैं और दूसरा मैं यह कहना चाहूंगा जिस तरह से बहुत सारे मुसलमान मैं कुछ दिल के मुसलमान की नहीं बात करता हमारे देश के अंदर जो जो एक बड़ा तबका जो अनपढ़ है मुसलमानों को मौलाना के चक्कर में बहुत ज्यादा रहते हैं तो मुझे तो यही सारे कारण है सोशल सिक्योरिटी भी एक बड़ा रीजन हो सकता है इसकाDekhi Mujhe Lagta Hai Ki Musalmano Mein Jyada Bacche Paida Karne Ka Jo Kaaran Nazar Aate Ek To Wahan Shiksha Muslim Yeh Kaisa Rilijan Hamare Desh Ke Andar Sabse Kum Padha Likha Hai Sabse Kum Literacy Hai To Kisi Ki Wah Musalman Dusre Main Kehna Chahunga Bahut Hi Kanzarvetiv Thainkyu Hoti Hai Pani Chal Condition Utani Acchi Nahi Hai Aur Life Ka Koi Aam Nahi Hota Muesli Aapne Dekha Hoga Musalman Mere Ghar Mein 10 Bacche Hote Hain To Bachpan Se Hi Kisi N Kisi Kaam Mein Lag Jaate Hain Koi Sabzi Ka Thela Lagane Lagega Koi Kuda Binne Lagega Koi Kuch Karne Lage Hain Kuch Kuch Karne Lagega Lekin Ek Live Comment Set Light Ke Liye Remind Set Nahi Hota Ki Life Jeevan Mein Kuch Accha Karna Hai Aisa Kuch Nahi Hota Dusre Mein Kehna Chahunga Jis Tarah Se Unke Yahan Quraan Padhaya Jata Hai Is Par Shri Maulviyon Dwara To Wah Book Se Jyada Mujhe Lagta Apni Dharmik Granth Ko Padhte Hain To Isliye Bhi Kanzarvetiv Bahut Jyada Kanjaravetar Hain Aur Doosra Main Yeh Kehna Chahunga Jis Tarah Se Bahut Sare Musalman Main Kuch Dil Ke Musalman Ki Nahi Baat Karta Hamare Desh Ke Andar Jo Jo Ek Bada Tabaka Jo Anapadh Hai Musalmano Ko Maulana Ke Chakkar Mein Bahut Jyada Rehte Hain To Mujhe To Yahi Sare Kaaran Hai Social Security Bhi Ek Bada Reason Ho Sakta Hai Iska
Likes  6  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि जीवन में उच्च आदर्शों नैतिक मूल्यों को महत्व दिया जाए तो परिवार से लेकर समाज एवं समाज से लेकर राष्ट्र हर क्षेत्र में विकास किया जा सकता है नैतिक मूल्यों के अभाव के कारण व्यक्ति के चरित्र में गिराव...
जवाब पढ़िये
यदि जीवन में उच्च आदर्शों नैतिक मूल्यों को महत्व दिया जाए तो परिवार से लेकर समाज एवं समाज से लेकर राष्ट्र हर क्षेत्र में विकास किया जा सकता है नैतिक मूल्यों के अभाव के कारण व्यक्ति के चरित्र में गिरावट आती जा रही है आज अपराधों का ग्राफ हर वर्ष बढ़ता ही जा रहा है और चोरी डकैती बलात्कार हत्याएं इसीलिए हो रही है क्योंकि व्यक्ति स्वयं के जीवन में आदर्श हूं या फिर नैतिक मूल्यों कोYadi Jeevan Mein Uccha Aadarshon Naitik Mulyon Ko Mahatva Diya Jaye To Parivar Se Lekar Samaaj Evam Samaaj Se Lekar Rashtra Har Kshetra Mein Vikash Kiya Ja Sakta Hai Naitik Mulyon Ke Abhaav Ke Kaaran Vyakti Ke Charitra Mein Giravat Aati Ja Rahi Hai Aaj Apradho Ka Graph Har Varsh Badhta Hi Ja Raha Hai Aur Chori Dakaiti Balatkar Hatyaain Isliye Ho Rahi Hai Kyonki Vyakti Swayam Ke Jeevan Mein Adarsh Hoon Ya Phir Naitik Mulyon Ko
Likes  13  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल के बच्चे और सुसाइड कर रहे हैं इसके बहुत सारे कारण है जिसमें सबसे पहला कारण बच्चों के बीच बढ़ रहा कंपटीशन है जो कि यह पढ़ाई के माहौल में बच्चों के बीच कंपटीशन बहुत ज्यादा बढ़ता जा रहा है बच्चे एक ...
जवाब पढ़िये
आजकल के बच्चे और सुसाइड कर रहे हैं इसके बहुत सारे कारण है जिसमें सबसे पहला कारण बच्चों के बीच बढ़ रहा कंपटीशन है जो कि यह पढ़ाई के माहौल में बच्चों के बीच कंपटीशन बहुत ज्यादा बढ़ता जा रहा है बच्चे एक दूसरे के कंपैरिजन की वजह से बहुत ज्यादा मुश्किल में रहते हैं हमेशा परेशान रहते हैं और इसी वजह से कई बार सुसाईड भी कर लेते हैं उसके बाद तो एग्जाम का प्रश्न एग्जाम में अच्छे मार्क्स लाने का प्रेशर भी एक बहुत बड़ा कारण है जिसकी वजह से बच्चे सुसाइड कर लेते हैं और तीसरे बजे होती है क्या और जो माता-पिता हैं वह भी अपने बच्चों को हमेशा सबसे ज्यादा और सबसे आगे देखने की चाहत में बच्चों पर बहुत ज्यादा प्रेशर डालते हैं और जब उनके बच्चे आगे नहीं निकल पाते तो उनके माता-पिता उनके ऊपर बहुत जुल्म करते हैं या फिर उनके साथ बहुत गलत तरह से बात करते हैं जिसको बच्चे बर्दाश्त नहीं कर पाती और इसीलिए बोलो बिना कुछ समझे सोचे सुसाइड करने का प्रयास करते हैं उसके अलावा देखे आज के जमाने में कई सारी और भी सोशल मीडिया और ऐसी बहुत सारी चीजें आ गई है जिसकी वजह से के अंदर अलग-अलग तरह की भावनाएं पैदा होने लगी है कुछ बच्चे अपने आप को कम मानते हैं कुछ बच्चे ज्यादा मानते हैं तो कुछ इस तरह की चीजों की वजह से भी कई बार बच्चे सुसाइड करने का सोचते हैं और कर भी लेते हैं यह कुछ कारण है जो आज की जिंदगी में बहुत ज्यादा देखने को मिल रहे हैं तो मुझे लगता है हर माता-पिता को अपने बच्चे के साथ बहुत ध्यान से रहना चाहिए बहुत प्यार से बात करनी चाहिए और उनके बच्चे किस तरह की चीजों के बारे में फील कर रहे हैं क्या कर रहे हैं क्या नहीं करें इस सब के बारे में हमेशा माता पिता को पता रहना चाहिए और यह तभी हो सकता है जब माता-पिता अपने बच्चों से बात करेंगे उनकी यह फीलिंग जाने की कोशिश करेंगे और उन्हें बताएंगे कि उनके लिए बच्चे ज्यादा इंपोर्टेंट है मार्क्स स्कूल एग्जाम यह सब चीज इंपोर्टेंट नहीं है तभी जाकर बच्चे अपने माता-पिता से खुलकर बात कर पाएंगे और जो सुसाइड की कैसे समय सामने देखने को मिलते हैं वह सब काम हो पाएंगेAajkal Ke Bacche Aur Suicide Kar Rahe Hain Iske Bahut Sare Kaaran Hai Jisme Sabse Pehla Kaaran Bacchon Ke Bich Badh Raha Competition Hai Jo Ki Yeh Padhai Ke Maahaul Mein Bacchon Ke Bich Competition Bahut Jyada Badhta Ja Raha Hai Bacche Ek Dusre Ke Comparison Ki Wajah Se Bahut Jyada Mushkil Mein Rehte Hain Hamesha Pareshan Rehte Hain Aur Isi Wajah Se Kai Bar Bhi Kar Lete Hain Uske Baad To Exam Ka Prashna Exam Mein Acche Marks Lane Ka Pressure Bhi Ek Bahut Bada Kaaran Hai Jiski Wajah Se Bacche Suicide Kar Lete Hain Aur Tisare Baje Hoti Hai Kya Aur Jo Mata Pita Hain Wah Bhi Apne Bacchon Ko Hamesha Sabse Jyada Aur Sabse Aage Dekhne Ki Chahat Mein Bacchon Par Bahut Jyada Pressure Daalte Hain Aur Jab Unke Bacche Aage Nahi Nikal Paate To Unke Mata Pita Unke Upar Bahut Zulm Karte Hain Ya Phir Unke Saath Bahut Galat Tarah Se Baat Karte Hain Jisko Bacche Bardaasht Nahi Kar Pati Aur Isliye Bolo Bina Kuch Samjhe Soche Suicide Karne Ka Prayas Karte Hain Uske Alava Dekhe Aaj Ke Jamaane Mein Kai Saree Aur Bhi Social Media Aur Aisi Bahut Saree Cheezen Aa Gayi Hai Jiski Wajah Se Ke Andar Alag Alag Tarah Ki Bhavanae Paida Hone Lagi Hai Kuch Bacche Apne Aap Ko Kam Manate Hain Kuch Bacche Jyada Manate Hain To Kuch Is Tarah Ki Chijon Ki Wajah Se Bhi Kai Bar Bacche Suicide Karne Ka Sochte Hain Aur Kar Bhi Lete Hain Yeh Kuch Kaaran Hai Jo Aaj Ki Zindagi Mein Bahut Jyada Dekhne Ko Mil Rahe Hain To Mujhe Lagta Hai Har Mata Pita Ko Apne Bacche Ke Saath Bahut Dhyan Se Rehna Chahiye Bahut Pyar Se Baat Karni Chahiye Aur Unke Bacche Kis Tarah Ki Chijon Ke Bare Mein Feel Kar Rahe Hain Kya Kar Rahe Hain Kya Nahi Karen Is Sab Ke Bare Mein Hamesha Mata Pita Ko Pata Rehna Chahiye Aur Yeh Tabhi Ho Sakta Hai Jab Mata Pita Apne Bacchon Se Baat Karenge Unki Yeh Feeling Jaane Ki Koshish Karenge Aur Unhen Batayenge Ki Unke Liye Bacche Jyada Important Hai Marks School Exam Yeh Sab Cheez Important Nahi Hai Tabhi Jaakar Bacche Apne Mata Pita Se Khulkar Baat Kar Paenge Aur Jo Suicide Ki Kaise Samay Samane Dekhne Ko Milte Hain Wah Sab Kaam Ho Paenge
Likes  6  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसके माता-पिता को कभी-कभी लगता है कि अगर उन्होंने जन्म दिया है बच्चों को तो उनका उन पर अधिकार है जो कि सरासर गलत है आप ने जन्म दिया हो सकता है उनको लेकिन वह एक अलग इंसान है उनकी अलग उनका जो है अलग बात...
जवाब पढ़िये
इसके माता-पिता को कभी-कभी लगता है कि अगर उन्होंने जन्म दिया है बच्चों को तो उनका उन पर अधिकार है जो कि सरासर गलत है आप ने जन्म दिया हो सकता है उनको लेकिन वह एक अलग इंसान है उनकी अलग उनका जो है अलग बात है वह आपकी बात मान सकते हैं लेकिन आप उनको कंट्रोल नहीं कर सकते आप उनको ओल्ड नहीं कर सकते यह बात बाबा को समझनी चाहिए कि उनकी अपनी सोच है अपनी लाइफ है तो जब तक वह उस लेवल तक नहीं पहुंचते कि अपना अच्छा बुरा भला बुरा हो समझ सके आपको उनको गाइड करना चाहिए उनके साथ रहना चाहिए और उनको अपनी देखरेख में रखना चाहिए लेकिन जहां पर वो इंडिपेंडेंट हो जाते हैं सेटल हो जाते हैं वहां पर आपको थोड़ा थोड़ा अपना कंट्रोल कम कर देना चाहिए क्योंकि अगर आप उनको यह संभलने का मौका देंगे नहीं तो अगर खुदा ना खसता अपना रहे दुनिया में तो आगे जाकर उनको काफी तो दिक्कत हो सकती है लाइफ जीने नहीं तो आप कुछ है कि थोड़ा सा इंडिपेंडेंट थिंकिंग आप उनको बचपन से ही दे ताकि वह किसी एशियन में अपने आप को मैनेज कर सके जहां तक बच्चों का सवाल है मां-बाप को सिर्फ एक एटीएम मशीन या फिर अपने सर्विस उसके बारे अकेली मत सोचें मां बाप ने वह जिन्होंने आप को जन्म दिया है आपके लिए काफी पूरी जिंदगी होने आपकी ने लगाई है तो थोड़ा सा उनके लिए टाइम निकालिए और उनकी कहीं भी बातों पर उनकी बातों को समझिए हो सके तो उस पर चलिए मां बाप से होते हैं वह बहुत ही इंपॉर्टेंट है लाइफ में उनकी उन्होंने आपको जन्म दिया होता है संस्कार दिया होता है हर कोई लकी नहीं अच्छे मां-बाप आने के लिए मैं यह नहीं कहती कि सबके मां-बाप एक जैसे होते हैं लेकिन अगर आप हैं जो लकी है जो अच्छे मां-बाप मिले हैं तो डेफिनटली आपको उनका आदर सम्मान करना चाहिए और उनकी देखभाल भी करनी चाहिए और अगर दोनों मिलकर चले बैलेंस रखे रिश्तो में इमोशंस में देखने के लिए रिश्ता जो होता है बहुत भूत होता है जहां पर आपको जज नहीं करना है कंट्रोल नहीं करना है और एक्सपेक्टेशन उम्मीदें कम रखनी हैIske Mata Pita Ko Kabhi Kabhi Lagta Hai Ki Agar Unhone Janm Diya Hai Bacchon Ko To Unka Un Par Adhikaar Hai Jo Ki Sarasar Galat Hai Aap Ne Janm Diya Ho Sakta Hai Unko Lekin Wah Ek Alag Insaan Hai Unki Alag Unka Jo Hai Alag Baat Hai Wah Aapki Baat Maan Sakte Hain Lekin Aap Unko Control Nahi Kar Sakte Aap Unko Old Nahi Kar Sakte Yeh Baat Baba Ko Samajhni Chahiye Ki Unki Apni Soch Hai Apni Life Hai To Jab Tak Wah Us Level Tak Nahi Pahunchate Ki Apna Accha Bura Bhala Bura Ho Samajh Sake Aapko Unko Guide Karna Chahiye Unke Saath Rehna Chahiye Aur Unko Apni Dekharekh Mein Rakhna Chahiye Lekin Jahan Par Vo Independent Ho Jaate Hain Settle Ho Jaate Hain Wahan Par Aapko Thoda Thoda Apna Control Kam Kar Dena Chahiye Kyonki Agar Aap Unko Yeh Sambhalane Ka Mauka Denge Nahi To Agar Khuda Na Khasata Apna Rahe Duniya Mein To Aage Jaakar Unko Kafi To Dikkat Ho Sakti Hai Life Jeene Nahi To Aap Kuch Hai Ki Thoda Sa Independent Thinking Aap Unko Bachpan Se Hi De Taki Wah Kisi Asian Mein Apne Aap Ko Manage Kar Sake Jahan Tak Bacchon Ka Sawal Hai Maa Baap Ko Sirf Ek Atm Machine Ya Phir Apne Service Uske Bare Akeli Mat Sochen Maa Baap Ne Wah Jinhone Aap Ko Janm Diya Hai Aapke Liye Kafi Puri Zindagi Hone Aapki Ne Lagai Hai To Thoda Sa Unke Liye Time Nikaliye Aur Unki Kahin Bhi Baaton Par Unki Baaton Ko Samajhie Ho Sake To Us Par Chaliye Maa Baap Se Hote Hain Wah Bahut Hi Important Hai Life Mein Unki Unhone Aapko Janm Diya Hota Hai Sanskar Diya Hota Hai Har Koi Lucky Nahi Acche Maa Baap Aane Ke Liye Main Yeh Nahi Kahti Ki Sabke Maa Baap Ek Jaise Hote Hain Lekin Agar Aap Hain Jo Lucky Hai Jo Acche Maa Baap Mile Hain To Definatali Aapko Unka Aadar Samman Karna Chahiye Aur Unki Dekhbhal Bhi Karni Chahiye Aur Agar Dono Milkar Chale Balance Rakhe Rishto Mein Emotional Mein Dekhne Ke Liye Rishta Jo Hota Hai Bahut Bhoot Hota Hai Jahan Par Aapko Judge Nahi Karna Hai Control Nahi Karna Hai Aur Expectation Ummeden Kam Rakhni Hai
Likes  82  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है क्या तुम मुझे अपने बच्चे को एक सलाह देने होंगे भी आने के लिए केवल एक ही सलाह दे सकती हूं मैं तो उसको मैं यह चला दूंगी किस समय कभी वापस नहीं आता है बस कुछ समय की किसी भी तरीके से बालू ...
जवाब पढ़िये
मुझे ऐसा लगता है क्या तुम मुझे अपने बच्चे को एक सलाह देने होंगे भी आने के लिए केवल एक ही सलाह दे सकती हूं मैं तो उसको मैं यह चला दूंगी किस समय कभी वापस नहीं आता है बस कुछ समय की किसी भी तरीके से बालू करना सिखा सकेंगे तो मैं वैसे खाना चाहूंगी इस समय कभी दोबारा नहीं आएगा पर उस समय किस तरीके से हम उसका इस्तेमाल करते हैं यह हम जरूर अपने बदल सकते हैं जो बीत चुका है वह जा चुका है उसके बारे में सोचने से कुछ होगा नहीं और जो आने वाला है उसके चिंता करने से अच्छा हम अपने लक्ष्य पर फोकस करें कि हम किस तरीके से अपने आप को इस्तेमाल करते हुए अपने लक्ष्य की तरफ पहुंच सके तो मुझे लगता है कि यह करके हम प्रकृति की तरफ बढ़ सकते हैं अपने लक्ष्य की ओर बढ़ सकते हैं और यह सीख मैं अपने बच्चे को देना चाहती हूंMujhe Aisa Lagta Hai Kya Tum Mujhe Apne Bacche Ko Ek Salah Dene Honge Bhi Aane Ke Liye Kewal Ek Hi Salah De Sakti Hoon Main To Usko Main Yeh Chala Dungi Kis Samay Kabhi Wapas Nahi Aata Hai Bus Kuch Samay Ki Kisi Bhi Tarike Se Baalu Karna Sikha Sakenge To Main Waise Khana Chahungi Is Samay Kabhi Dobara Nahi Aayega Par Us Samay Kis Tarike Se Hum Uska Istemal Karte Hain Yeh Hum Jarur Apne Badal Sakte Hain Jo Beet Chuka Hai Wah Ja Chuka Hai Uske Baare Mein Sochne Se Kuch Hoga Nahi Aur Jo Aane Wala Hai Uske Chinta Karne Se Accha Hum Apne Lakshya Par Focus Karen Ki Hum Kis Tarike Se Apne Aap Ko Istemal Karte Hue Apne Lakshya Ki Taraf Pahunch Sake To Mujhe Lagta Hai Ki Yeh Karke Hum Prakriti Ki Taraf Badh Sakte Hain Apne Lakshya Ki Oar Badh Sakte Hain Aur Yeh Seekh Main Apne Bacche Ko Dena Chahti Hoon
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे पढ़ना तो बहुत ही इंपॉर्टेंट है परंतु आज का से पढ़ाई करने से नहीं हो जाता है बच्चों को कुछ एक्स्ट्रा कल फिकेशन भी लेकर चलना चाहिए हमारे पेरेंट्स को यह देखना चाहिए कि बच्चा मेंटली स्ट्रांग है या फि...
जवाब पढ़िये
मुझे पढ़ना तो बहुत ही इंपॉर्टेंट है परंतु आज का से पढ़ाई करने से नहीं हो जाता है बच्चों को कुछ एक्स्ट्रा कल फिकेशन भी लेकर चलना चाहिए हमारे पेरेंट्स को यह देखना चाहिए कि बच्चा मेंटली स्ट्रांग है या फिजिकल स्ट्रांग हेयर स्टा इंटरेस्ट किस चीज में है जिस चीज में उसका इंटरेस्ट होता है उसमें उसे आगे बढ़ने बढ़ने देना चाहिए और अगर वह बिजली स्टॉक में तो सच में खेलकूद में आगे बढ़ने के लिए देना चाहिए तो इस तरह अगर जिस चीज में उसका इंटरेस्ट है उसी में से आगे बढ़ने बढ़ने देना चाहिए तभी ऐसे उसका क्षेत्र विकास हो पाएगाMujhe Padhna To Bahut Hi Important Hai Parantu Aaj Ka Se Padhai Karne Se Nahi Ho Jata Hai Bacchon Ko Kuch Extra Kal Fikeshan Bhi Lekar Chalna Chahiye Hamare Parents Ko Yeh Dekhna Chahiye Ki Baccha Mentally Strong Hai Ya Physical Strong Hair Sta Interest Kis Cheez Mein Hai Jis Cheez Mein Uska Interest Hota Hai Usamen Use Aage Badhne Badhne Dena Chahiye Aur Agar Wah Bijli Stock Mein To Sach Mein Khelakud Mein Aage Badhne Ke Liye Dena Chahiye To Is Tarah Agar Jis Cheez Mein Uska Interest Hai Ussi Mein Se Aage Badhne Badhne Dena Chahiye Tabhi Aise Uska Kshetra Vikash Ho Payega
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सर आपने सही बोला हमारे भारत में और बीते सालों में जिस तरीके से हिंदू मुस्लिम का टॉपिक बड़े चर्चित रहता है उसको देखते हुए तो यह लगता है कि जो बच्चे हैं छोटे और जो इन सब टोपी को रोजाना सुनते हैं...
जवाब पढ़िये
बिल्कुल सर आपने सही बोला हमारे भारत में और बीते सालों में जिस तरीके से हिंदू मुस्लिम का टॉपिक बड़े चर्चित रहता है उसको देखते हुए तो यह लगता है कि जो बच्चे हैं छोटे और जो इन सब टोपी को रोजाना सुनते हैं तो उन पर क्या असर पड़ेगा बहुत गंदा असर पड़ेगा और जो भेदभाव की भावना उनके मन में भी आएगी जो कि बिल्कुल सही नहीं है नहीं देश की नहीं हमारे लिए नहीं किसी धर्म के लिए नहीं भारत के हितों में के लिए इकनोमिक डेवलपमेंट के लिए तो यह मुझे बिल्कुल सही नहीं लगता तो हम लोगों को समझना चाहिए कि हमारे भारत में बहुत सारी समस्याएं हिंदू मुस्लिम के अलावा इस पर ध्यान देना चाहिए बेरोजगारी हो गई करप्शन होगी रेप हो गए ऐसे कई सारी वारदातें हो रही है इन पर ध्यान देना चाहिए ना कि इस को सूचना चाहिए और हमें यह भी सोचना चाहिए जो हम लोग हिंदू मुस्लिम के नाम पर लड़ते हैं और इस टॉपिक पर बात करते हैं क्योंकि आजकल हर न्यूज़ चैनल पर यही आपको मिलेगा हर व्यक्ति के मुंह पर यही मिलेगा तो आपको यही सब सुनाई देगा और जो बच्चे हैं छोटे-छोटे वह भी यही सुनते हैं कि हिंदू मुस्लिम स्कीम यह हुआ वह हुआ तुम पर क्या असर पड़ेगा बचपन से ही उनकी सोच यह बता दी जाती है कि हिंदू और मुस्लिम अलग अलग है तो यह सोच नहीं बननी चाहिए और हमें कुछ ऐसी बातें करनी चाहिए और अच्छी शिक्षा देनी चाहिए ताकि बच्चे और बड़े दोनों अपनी सोच को अच्छा रखे और हमारे देश का विकास हो हमारा देश ऐसा एक देश है जहां पर सारे धर्म एक साथ रहकर रहते हुए हैं तो ऐसे ही रहना चाहिए और आपको तो बताइए हमारे इतिहास में भी यही है कि भारत में हर धर्म को अपनाया है तो अभी भी हमको यही सोच कर आपस में अच्छे से प्रेम से रहना चाहिए और हमारे आने वाले जो सक्सेस है जो बच्चे हैं और जो जल्दी से उन को अच्छी शिक्षा देकर उनको समझाना चाहिए और उनके सामने ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए और कम से कम अगर हम इनको यह नहीं समझा सकते कि यह दोनों लोग एक ही है तो कम से कम उनके सामने डिफरेंस वाली बातें भी ना करें थैंक्यूBilkul Sar Aapne Sahi Bola Hamare Bharat Mein Aur Bitte Salon Mein Jis Tarike Se Hindu Muslim Ka Topic Bade Charchit Rehta Hai Usko Dekhte Hue To Yeh Lagta Hai Ki Jo Bacche Hain Chote Aur Jo In Sab Topi Ko Rojana Sunte Hain To Un Par Kya Asar Padega Bahut Ganda Asar Padega Aur Jo Bhedbhav Ki Bhavna Unke Man Mein Bhi Aayegi Jo Ki Bilkul Sahi Nahi Hai Nahi Desh Ki Nahi Hamare Liye Nahi Kisi Dharm Ke Liye Nahi Bharat Ke Hiton Mein Ke Liye Economic Development Ke Liye To Yeh Mujhe Bilkul Sahi Nahi Lagta To Hum Logon Ko Samajhna Chahiye Ki Hamare Bharat Mein Bahut Saree Samasyaen Hindu Muslim Ke Alava Is Par Dhyan Dena Chahiye Berojgari Ho Gayi Corruption Hogi Rape Ho Gaye Aise Kai Saree Vardaten Ho Rahi Hai In Par Dhyan Dena Chahiye Na Ki Is Ko Soochna Chahiye Aur Hume Yeh Bhi Sochna Chahiye Jo Hum Log Hindu Muslim Ke Naam Par Ladtey Hain Aur Is Topic Par Baat Karte Hain Kyonki Aajkal Har News Channel Par Yahi Aapko Milega Har Vyakti Ke Mooh Par Yahi Milega To Aapko Yahi Sab Sunayi Dega Aur Jo Bacche Hain Chote Chote Wah Bhi Yahi Sunte Hain Ki Hindu Muslim Scheme Yeh Hua Wah Hua Tum Par Kya Asar Padega Bachpan Se Hi Unki Soch Yeh Bata Di Jati Hai Ki Hindu Aur Muslim Alag Alag Hai To Yeh Soch Nahi Banani Chahiye Aur Hume Kuch Aisi Batein Karni Chahiye Aur Acchi Shiksha Deni Chahiye Taki Bacche Aur Bade Dono Apni Soch Ko Accha Rakhe Aur Hamare Desh Ka Vikash Ho Hamara Desh Aisa Ek Desh Hai Jahan Par Sare Dharm Ek Saath Rahkar Rehte Hue Hain To Aise Hi Rehna Chahiye Aur Aapko To Bataiye Hamare Itihas Mein Bhi Yahi Hai Ki Bharat Mein Har Dharm Ko Apnaya Hai To Abhi Bhi Hamko Yahi Soch Kar Aapas Mein Acche Se Prem Se Rehna Chahiye Aur Hamare Aane Wale Jo Success Hai Jo Bacche Hain Aur Jo Jaldi Se Un Ko Acchi Shiksha Dekar Unko Samajhana Chahiye Aur Unke Samane Aisi Batein Nahi Karni Chahiye Aur Kum Se Kum Agar Hum Inko Yeh Nahi Samjha Sakte Ki Yeh Dono Log Ek Hi Hai To Kum Se Kum Unke Samane Difference Wali Batein Bhi Na Karen Thainkyu
Likes  2  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल नहीं देखा जाए तो बाल विवाह बिल्कुल सही नहीं है क्योंकि दिमाग में पूर्ण रुप से बड़ा नहीं हुआ और उसकी शादी आपकी शादी हो चुकी अरे को जीने का हक होता लड़की लोग को भी जीने का हक होता है और आजकल ...
जवाब पढ़िये
जी बिल्कुल नहीं देखा जाए तो बाल विवाह बिल्कुल सही नहीं है क्योंकि दिमाग में पूर्ण रुप से बड़ा नहीं हुआ और उसकी शादी आपकी शादी हो चुकी अरे को जीने का हक होता लड़की लोग को भी जीने का हक होता है और आजकल देखा जाए तो भारत में जैसे में लड़कियों और लड़कों में कोई डिफरेंस देंगे लड़कियां भी पड़ सकती है जॉब कर सकती है जॉब करने के बाद शादी कर लेना बेहतर होगा फिर बाल विवाह करना बिल्कुल ही गलत होगाJi Bilkul Nahi Dekha Jaye To Baal Vivah Bilkul Sahi Nahi Hai Kyonki Dimag Mein Poorn Roop Se Bada Nahi Hua Aur Uski Shadi Aapki Shadi Ho Chuki Arre Ko Jeene Ka Haq Hota Ladki Log Ko Bhi Jeene Ka Haq Hota Hai Aur Aajkal Dekha Jaye To Bharat Mein Jaise Mein Ladkiyon Aur Ladko Mein Koi Difference Denge Ladkiyan Bhi Padh Sakti Hai Job Kar Sakti Hai Job Karne Ke Baad Shadi Kar Lena Behtar Hoga Phir Baal Vivah Karna Bilkul Hi Galat Hoga
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज हमारे भारत के उज्जवल भविष्य होते हैं अधिक घर से बिना बताए बिना मुंडेर को कोई भी इंफॉर्मेशन दिए हुआ भाग जाते हैं यह बिल्कुल गलत है कुछ भी आ भगवान न करें कि कुछ ऐसा हो पर कुछ ऐसा होता है तब तुम आप आप...
जवाब पढ़िये
आज हमारे भारत के उज्जवल भविष्य होते हैं अधिक घर से बिना बताए बिना मुंडेर को कोई भी इंफॉर्मेशन दिए हुआ भाग जाते हैं यह बिल्कुल गलत है कुछ भी आ भगवान न करें कि कुछ ऐसा हो पर कुछ ऐसा होता है तब तुम आप आपकी जानते हैं कि आप कहां के हैं वह आपके पीछे खड़े होते हैं अगर आप उनको नहीं बताएंगे आप के मां बाप बिल्कुल ही हमे फिक्र हैं कि आप हमारे बच्चे को घर में सिर्फ एक ही जगह चले जाते जाते तो बहुत गलत कभी भी आप कहीं बाहर जाएAaj Hamare Bharat Ke Ujjawal Bhavishya Hote Hain Adhik Ghar Se Bina Bataye Bina Munder Ko Koi Bhi Information Diye Hua Bhag Jaate Hain Yeh Bilkul Galat Hai Kuch Bhi Aa Bhagwan N Karen Ki Kuch Aisa Ho Par Kuch Aisa Hota Hai Tab Tum Aap Aapki Jante Hain Ki Aap Kahan Ke Hain Wah Aapke Piche Khade Hote Hain Agar Aap Unko Nahi Batayenge Aap Ke Maa Baap Bilkul Hi Hume Fikra Hain Ki Aap Hamare Bacche Ko Ghar Mein Sirf Ek Hi Jagah Chale Jaate Jaate To Bahut Galat Kabhi Bhi Aap Kahin Bahar Jaye
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप बच्चे जो है गर्म महिलाओं की बात करें तो जब तक उनका मैंने स्कूल साइकिल शुरू होता है तब तक वह बच्चे पैदा कर सकते हैं और अगर हम पुरुषों की बात करें तो तुमसे कोई भी उम्र में हो जो है बच्चा कर सकत...
जवाब पढ़िये
देखिए आप बच्चे जो है गर्म महिलाओं की बात करें तो जब तक उनका मैंने स्कूल साइकिल शुरू होता है तब तक वह बच्चे पैदा कर सकते हैं और अगर हम पुरुषों की बात करें तो तुमसे कोई भी उम्र में हो जो है बच्चा कर सकते लेकिन एक ही ध्यान रखनी होगी जब बच्चा पैदा होता है तो 50% में पुरुष का होता है और 50% जो महिला का हाथ होता है तो 20 साल की उम्र में बच्चे पैदा आप कर तो सकते हो लेकिन अगर आप इतनी छोटी उम्र में अगर बच्चे पैदा कर रहे हो तो खाना कहां पर कठिनाई अभी जवाब कोई फेस करनी होगी क्योंकि 20 साल की उम्र में नौकरी तो मिलती नहीं है हम लोग जो है हाईस्कूल पास आउट हुए होते हैं कॉलेज के फर्स्ट ईयर में होता है तो खाना खा पर बच्चे को संभालना कैसी उम्र में जहां पर आपके पास पैसे ना हो तो वह कठिन होता है तो मेरे हिसाब से 20 साल की उम्र में बच्चा पैदा करना एक अच्छा आईडिया नहीं है अगर आपको खुद का बिजनेस हो या फिर आपDekhie Aap Bacche Jo Hai Garam Mahilaon Ki Baat Karen To Jab Tak Unka Maine School Cycle Shuru Hota Hai Tab Tak Wah Bacche Paida Kar Sakte Hain Aur Agar Hum Purushon Ki Baat Karen To Tumse Koi Bhi Umar Mein Ho Jo Hai Baccha Kar Sakte Lekin Ek Hi Dhyan Rakhni Hogi Jab Baccha Paida Hota Hai To 50% Mein Purush Ka Hota Hai Aur 50% Jo Mahila Ka Hath Hota Hai To 20 Saal Ki Umar Mein Bacche Paida Aap Kar To Sakte Ho Lekin Agar Aap Itni Choti Umar Mein Agar Bacche Paida Kar Rahe Ho To Khana Kahan Par Kathinai Abhi Jawab Koi Face Karni Hogi Kyonki 20 Saal Ki Umar Mein Naukri To Milti Nahi Hai Hum Log Jo Hai Highschool Paas Out Hue Hote Hain College Ke First Year Mein Hota Hai To Khana Kha Par Bacche Ko Sambhalana Kaisi Umar Mein Jahan Par Aapke Paas Paise Na Ho To Wah Kathin Hota Hai To Mere Hisab Se 20 Saal Ki Umar Mein Baccha Paida Karna Ek Accha Idea Nahi Hai Agar Aapko Khud Ka Business Ho Ya Phir Aap
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि आजकल के माता पिता अपने बच्चे को सही तरीके से पारिवारिक ज्ञान नहीं दे पाते हैं इसके पीछे कई कारण हैं सबसे पहला कि कि कि आजकल लोगों की जिंदगी की पड़ती रफ्तार दूसरा डिजिटलाइजेशन और ब...
जवाब पढ़िये
मुझे ऐसा लगता है कि आजकल के माता पिता अपने बच्चे को सही तरीके से पारिवारिक ज्ञान नहीं दे पाते हैं इसके पीछे कई कारण हैं सबसे पहला कि कि कि आजकल लोगों की जिंदगी की पड़ती रफ्तार दूसरा डिजिटलाइजेशन और बाकी कई सारे स्ट्रेस से रिलेटेड पागल हैं जो हमारे लाइफ स्टाइल चेंज इसकी वजह से है और आजकल हमारी जिंदगी में आते जा रहे हैं जो कि सही नहीं है पहले तो सबसे बड़ी बात यह है कि पैसे कमाने की होड़ में काफी लोग परिवार को वक्त नहीं दे पाते हैं और उसके बाद जो आज कल हमारा एजुकेशन सिस्टम है इसमें जो स्टूडेंट से उनके ऊपर काफी प्रेशर बना रहता है अच्छा परफॉर्म करने का देश में अच्छे मार्क्स लाने का टॉप स्कूल इन सूरत में रहने का और इसीलिए वह स्कूल खत्म होते ही होमवर्क फिर ट्यूशन और सुरेश तो इस हिसाब होते होते जाए काफी कम टाइम मिलता है पेरेंट्स और उनके बच्चों को आपस में इंतजार करने का और आजकल लोग काफी नहीं प्ले पब्लिक में रह रहे हैं जॉइंट फैमिली काफी कम देखने को मिलते हैं तो इससे भी काफी फर्क पड़ता है कि पहले दादिया बहुत सारी ढ़ेर किस्से और पारिवारिक ज्ञान देते थे अपने पोते पोते और नाती नातिन को जो अब नहीं हो पाता है तो मुझे लगता है कि यही सबसे बड़ा कारण है कि आजकल बच्चों को सही पारिवारिक ज्ञान नहीं है क्योंकि सोसाइटी की डिमांड सब चेंज हो रही है और परिवार से ज्यादा लोग ध्यान जो है की पर्सनल लाइफ से ज्यादा ध्यान लोग अपने प्रोफेशनल लाइफ कर रहे हैं जो कि बिल्कुल सही नहीं है और हमें इस पर भी ध्यान देना चाहिए यह भी उतना ही जरूरी है क्योंकि इसी से एक आदमी का व्यक्तित्व बनाया जाता है धन्यवादMujhe Aisa Lagta Hai Ki Aajkal Ke Mata Pita Apne Bacche Ko Sahi Tarike Se Parivarik Gyaan Nahi De Paate Hain Iske Piche Kai Kaaran Hain Sabse Pehla Ki Ki Ki Aajkal Logon Ki Zindagi Ki Padhti Raftaar Doosra Dijitlaijeshan Aur Baki Kai Sare Stress Se Related Pagal Hain Jo Hamare Life Style Change Iski Wajah Se Hai Aur Aajkal Hamari Zindagi Mein Aate Ja Rahe Hain Jo Ki Sahi Nahi Hai Pehle To Sabse Badi Baat Yeh Hai Ki Paise Kamane Ki Hod Mein Kafi Log Parivar Ko Waqt Nahi De Paate Hain Aur Uske Baad Jo Aaj Kal Hamara Education System Hai Isme Jo Student Se Unke Upar Kafi Pressure Bana Rehta Hai Accha Perform Karne Ka Desh Mein Acche Marks Lane Ka Top School In Surat Mein Rehne Ka Aur Isliye Wah School Khatam Hote Hi Homework Phir Tuition Aur Suresh To Is Hisab Hote Hote Jaye Kafi Kum Time Milta Hai Parents Aur Unke Bacchon Ko Aapas Mein Intejar Karne Ka Aur Aajkal Log Kafi Nahi Play Public Mein Rah Rahe Hain Joint Family Kafi Kum Dekhne Ko Milte Hain To Isse Bhi Kafi Fark Padata Hai Ki Pehle Dadiya Bahut Saree Dher Kisse Aur Parivarik Gyaan Dete The Apne Pote Pote Aur Nati Natin Ko Jo Ab Nahi Ho Pata Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Yahi Sabse Bada Kaaran Hai Ki Aajkal Bacchon Ko Sahi Parivarik Gyaan Nahi Hai Kyonki Society Ki Demand Sab Change Ho Rahi Hai Aur Parivar Se Jyada Log Dhyan Jo Hai Ki Personal Life Se Jyada Dhyan Log Apne Professional Life Kar Rahe Hain Jo Ki Bilkul Sahi Nahi Hai Aur Hume Is Par Bhi Dhyan Dena Chahiye Yeh Bhi Utana Hi Zaroori Hai Kyonki Isi Se Ek Aadmi Ka Vyaktitva Banaya Jata Hai Dhanyavad
Likes  5  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिसाब से देखा जाए तो यह बिल्कुल सही है क्योंकि जो पेपर लीक हुआ है जिनकी परीक्षित मानसून वाली जिन बच्चों के पास पहले से ही पेपर था तो वह तो उसी को दिमाग आप अकेले गए होंगे जो बच्चे अपने दम पर ले गए हैं ...
जवाब पढ़िये
हिसाब से देखा जाए तो यह बिल्कुल सही है क्योंकि जो पेपर लीक हुआ है जिनकी परीक्षित मानसून वाली जिन बच्चों के पास पहले से ही पेपर था तो वह तो उसी को दिमाग आप अकेले गए होंगे जो बच्चे अपने दम पर ले गए हैं उनके लिए भी अच्छा घर पर जुल्म किया है उनके लिए वह आगे से ऐसा नहीं कर पाएंगे क्योंकि उनके लिए आप समय नहीं मिलेगा अब तो उनके लिए बहुत काला पधारें और जिन बच्चों ने अपनी मेहनत पर जो अभी पेपर दिए हैं उनके लिए एक अच्छा विकल्प है कि उनके लिए समय मिल गया जिन बच्चों ने यदि उन्हें किसी बात के समय नहीं मिल पाया तो उन्होंने मेहनत नहीं कर पाए तो उन्हीं के लिए और ज्यादा समय मिल गया तो इससे बहुत अच्छा हैHisab Se Dekha Jaye To Yeh Bilkul Sahi Hai Kyonki Jo Paper Leak Hua Hai Jinaki Parikshit Monsoon Wali Jin Bacchon Ke Paas Pehle Se Hi Paper Tha To Wah To Ussi Ko Dimag Aap Akele Gaye Honge Jo Bacche Apne Dum Par Le Gaye Hain Unke Liye Bhi Accha Ghar Par Zulm Kiya Hai Unke Liye Wah Aage Se Aisa Nahi Kar Paenge Kyonki Unke Liye Aap Samay Nahi Milega Ab To Unke Liye Bahut Kala Padharen Aur Jin Bacchon Ne Apni Mehnat Par Jo Abhi Paper Diye Hain Unke Liye Ek Accha Vikalp Hai Ki Unke Liye Samay Mil Gaya Jin Bacchon Ne Yadi Unhen Kisi Baat Ke Samay Nahi Mil Paya To Unhone Mehnat Nahi Kar Paye To Unhin Ke Liye Aur Jyada Samay Mil Gaya To Isse Bahut Accha Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सिर्फ किसी दबंग नेता या किसी बड़े इंसान की बात नहीं है अगर आप देखिए छोटे मुझे इंसान सड़कछाप जो लोग हैं वह भी अगर किसी का रेप कर देते हैं किसी बच्ची का भी औरत कभी सी लड़की का तुम पर भी कार्यवाही ...
जवाब पढ़िये
देखिए सिर्फ किसी दबंग नेता या किसी बड़े इंसान की बात नहीं है अगर आप देखिए छोटे मुझे इंसान सड़कछाप जो लोग हैं वह भी अगर किसी का रेप कर देते हैं किसी बच्ची का भी औरत कभी सी लड़की का तुम पर भी कार्यवाही नहीं होती है हमारा जो कौन से स्टेशन है वह इस पर सजा देता तो सजा देता तो है लेकिन बेटा कब है 5 साल 6 साल 7 साल बाद अगर इतने दिन में सजा देगा तो कभी किसी दो गुने गार के दिल में इसके लिए खौफ रहेगा ही नहीं और खौफ अगर नहीं रहेगा की गलतियां ऐसी होती रहेगी अगर इसे रोकना है तो सबसे पहले मैं अपने कॉन्स्टिट्यूशन को सही करना पड़ेगा सशक्त करनी पड़ेगी जितनी जल्दी से जल्दी हो सके उतनी जल्दी सजा मिली देनी पड़ेगी तभी इनके देश में मुजरिम को दिल में कब बैठेगा और तभी यह जो चीजें हैं रेप वाली घटना है तभी रोक पाएंगेDekhie Sirf Kisi Dabang Neta Ya Kisi Bade Insaan Ki Baat Nahi Hai Agar Aap Dekhie Chote Mujhe Insaan Jo Log Hain Wah Bhi Agar Kisi Ka Rape Kar Dete Hain Kisi Bacchi Ka Bhi Aurat Kabhi Si Ladki Ka Tum Par Bhi Karyavahi Nahi Hoti Hai Hamara Jo Kaun Se Station Hai Wah Is Par Saja Deta To Saja Deta To Hai Lekin Beta Kab Hai 5 Saal 6 Saal 7 Saal Baad Agar Itne Din Mein Saja Dega To Kabhi Kisi Do Gune Gaar Ke Dil Mein Iske Liye Khauf Rahega Hi Nahi Aur Khauf Agar Nahi Rahega Ki Galtiya Aisi Hoti Rahegi Agar Ise Rokna Hai To Sabse Pehle Main Apne Constitution Ko Sahi Karna Padega Sashakt Karni Padegi Jitni Jaldi Se Jaldi Ho Sake Utani Jaldi Saja Mili Deni Padegi Tabhi Inke Desh Mein Mujarim Ko Dil Mein Kab Baithega Aur Tabhi Yeh Jo Cheezen Hain Rape Wali Ghatna Hai Tabhi Rok Paenge
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस पक्षपातपूर्ण सोच को बदलने के लिए सबसे पहले हमें खुद एक उदाहरण बनना होगा l हमें हमारे घर की औरतों और लड़कियों को प्रोत्साहित करना होगा ताकि वह आगे बढ़े और उनको आगे बढ़ने में मदद भी करनी पड़ेगी l उसक...
जवाब पढ़िये
इस पक्षपातपूर्ण सोच को बदलने के लिए सबसे पहले हमें खुद एक उदाहरण बनना होगा l हमें हमारे घर की औरतों और लड़कियों को प्रोत्साहित करना होगा ताकि वह आगे बढ़े और उनको आगे बढ़ने में मदद भी करनी पड़ेगी l उसके बाद हम लोगों के पास जाकर यह बता सकते हैं कि लड़की का क्या महत्व है, अगर लड़की नहीं होगी तो उनका वंश भी आगे नहीं बढ़ेगा l और उन्हें यह भी बताना होगा हम सब लड़कियों को पराया धन कहते हैं l शादी करने के बाद उन्हें पराया समजने भी लगते हैं l लेकिन लड़कियां ही होती है जो शादी के बाद भी अपने मां बाप का ख्याल रखती है, उनके पास आती है l यहां तक कि कुछ लड़कियां अपने मां-बाप को अपने साथ भी रखती है l लेकिन जिन बेटों की वजह से हम यह सब करते हैं वही बेटे उन मां बाप को वृद्धाश्रम में डाल देते हैं l तो हमें यह सब उनको समझाना होगा तभी यह पक्षपात पूर्ण सोच बदली जा सकती है lIs Pakshpatpurna Soch Ko Badalne Ke Liye Sabse Pehle Hume Khud Ek Udaharan Banana Hoga L Hume Hamare Ghar Ki Auraton Aur Ladkiyon Ko Protsahit Karna Hoga Taki Wah Aage Badhe Aur Unko Aage Badhne Mein Madad Bhi Karni Padegi L Uske Baad Hum Logon Ke Paas Jaakar Yeh Bata Sakte Hain Ki Ladki Ka Kya Mahatva Hai Agar Ladki Nahi Hogi To Unka Vansh Bhi Aage Nahi Badhega L Aur Unhen Yeh Bhi Batana Hoga Hum Sab Ladkiyon Ko Paraaya Dhan Kehte Hain L Shadi Karne Ke Baad Unhen Paraaya Samajhne Bhi Lagte Hain L Lekin Ladkiyan Hi Hoti Hai Jo Shadi Ke Baad Bhi Apne Maa Baap Ka Khayal Rakhti Hai Unke Paas Aati Hai L Yahan Tak Ki Kuch Ladkiyan Apne Maa Baap Ko Apne Saath Bhi Rakhti Hai L Lekin Jin Beton Ki Wajah Se Hum Yeh Sab Karte Hain Wahi Bete Un Maa Baap Ko Vrudhashram Mein Dal Dete Hain L To Hume Yeh Sab Unko Samajhana Hoga Tabhi Yeh Pakshapat Poorn Soch Badli Ja Sakti Hai L
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेरेंट्स को अपने बच्चों पर जबरदस्ती पढ़ाई का भोस्या जबरदस्ती पढ़ने के लिए दबाव नहीं डालना चाहिए उन्हें अपने इंटरेस्ट पर में हॉबी मैया करने में अच्छा लगता है वह करने देना जहां कुछ बेसिक एजुकेशन चल रही ...
जवाब पढ़िये
पेरेंट्स को अपने बच्चों पर जबरदस्ती पढ़ाई का भोस्या जबरदस्ती पढ़ने के लिए दबाव नहीं डालना चाहिए उन्हें अपने इंटरेस्ट पर में हॉबी मैया करने में अच्छा लगता है वह करने देना जहां कुछ बेसिक एजुकेशन चल रही है उनके लिए कोई उपाय नहीं सेट करना है कि आप इतना अच्छा हो ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि उन्हें क्या करना चाहिए हमारे इंडिया में होता है कहते डिसाइड करते हैं कि बच्चे तो बच्चे हैं जिन्हें कुछ करना है ना मालूम हो उन्हें जो अच्छा लगता है उनको पता होगा ना दूसरे को क्या मालूम तो इसीलिए और अगर उन पर दबाव देकर कुछ कर आओगे तो वह उनका लाइवParents Ko Apne Bacchon Par Jabardasti Padhai Ka Bhosya Jabardasti Padhne Ke Liye Dabaav Nahi Daalna Chahiye Unhen Apne Interest Par Mein Hobby Maiya Karne Mein Accha Lagta Hai Wah Karne Dena Jahan Kuch Basic Education Chal Rahi Hai Unke Liye Koi Upay Nahi Set Karna Hai Ki Aap Itna Accha Ho Aisa Nahi Karna Chahiye Kyonki Unhen Kya Karna Chahiye Hamare India Mein Hota Hai Kehte Decide Karte Hain Ki Bacche To Bacche Hain Jinhen Kuch Karna Hai Na Maloom Ho Unhen Jo Accha Lagta Hai Unko Pata Hoga Na Dusre Ko Kya Maloom To Isliye Aur Agar Un Par Dabaav Dekar Kuch Kar Aaoge To Wah Unka Live
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अबे अगर किसी बच्चे का जो है वह क्रिकेट में इंटरेस्ट आ गया है तो वह मैं समझा कि पैनल को उसको सपोर्ट करना चाहिए अगर वह सच में दिल से अजीत जाना कि खेलना चाहता है तो उसको पूरा प्रूफ देना चाहिए उसको ऐसे शर...
जवाब पढ़िये
अबे अगर किसी बच्चे का जो है वह क्रिकेट में इंटरेस्ट आ गया है तो वह मैं समझा कि पैनल को उसको सपोर्ट करना चाहिए अगर वह सच में दिल से अजीत जाना कि खेलना चाहता है तो उसको पूरा प्रूफ देना चाहिए उसको ऐसे शरीर जोरात 1352 रहते हैं वह उसको प्रोवाइड कार्ड प्रॉपर जो प्रोटेक्शन जितने भी पार्टी वगैरा होते हैं वो लोग जो करो थे वह प्रोवाइड कर आना चाहिए मतलब इन टोटल स्कोर कितना एक अच्छा सा प्रोवाइड कर आना चाहिए जितने भी उसके पास रहते हैं और फिर उसको एक प्रॉपर कोचिंग देना चाहिए अगर किसी भी गाड़ी को जो है अगर प्रॉपर डायरेक्शन ना दिया जाए तो वह कहीं पर भी आ गया दिल्ली दिल्ली जाकर कहीं पर जीत सकती हो रुक सकती है इस गाड़ी को चलते बनाए रखने के लिए उसको प्रॉपर डायरेक्शन देना पड़ता है तो वैसे ही जो है वह किसी भी चीज के लिए जो है उसको कोचिंग की जरुरत होती है उसको डायरेक्शन की जरूरत होती है जो उसको कोचिंग इंस्टिट्यूट में मिलेगा और प्रॉपर ट्रेनिंग जो है उसके कराएं चाहिए तो जरूर अगर उसको Intex होगा तो वह जरुर कहीं ना कहीं अपने जीवन में निकल जाएगा और दांत में हो सकता है कि वह हमारे जॉब क्रिकेट टीम है उसमें को शामिल हो जाएAbe Agar Kisi Bacche Ka Jo Hai Wah Cricket Mein Interest Aa Gaya Hai To Wah Main Samjha Ki Painal Ko Usko Support Karna Chahiye Agar Wah Sach Mein Dil Se Ajit Jana Ki Khelna Chahta Hai To Usko Pura Proof Dena Chahiye Usko Aise Sharir Jorat 1352 Rehte Hain Wah Usko Provide Card Proper Jo Protection Jitne Bhi Party Vagaira Hote Hain Vo Log Jo Karo The Wah Provide Kar Aana Chahiye Matlab In Total Score Kitna Ek Accha Sa Provide Kar Aana Chahiye Jitne Bhi Uske Paas Rehte Hain Aur Phir Usko Ek Proper Coaching Dena Chahiye Agar Kisi Bhi Gaadi Ko Jo Hai Agar Proper Direction Na Diya Jaye To Wah Kahin Par Bhi Aa Gaya Delhi Delhi Jaakar Kahin Par Jeet Sakti Ho Ruk Sakti Hai Is Gaadi Ko Chalte Banaye Rakhne Ke Liye Usko Proper Direction Dena Padata Hai To Waise Hi Jo Hai Wah Kisi Bhi Cheez Ke Liye Jo Hai Usko Coaching Ki Zaroorat Hoti Hai Usko Direction Ki Zaroorat Hoti Hai Jo Usko Coaching Institute Mein Milega Aur Proper Training Jo Hai Uske Karaye Chahiye To Jarur Agar Usko Intex Hoga To Wah Zaroor Kahin Na Kahin Apne Jeevan Mein Nikal Jayega Aur Dant Mein Ho Sakta Hai Ki Wah Hamare Job Cricket Team Hai Usamen Ko Shamil Ho Jaye
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon