tag_img

Apple


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आंख के लिए एक सलीम देखने की मार्केटिंग टेक्निक हो गया है iPhone के इतने फॉलोअर्स हो गए इतने यूजर्स हो गए कि जैसे ही वह नया फोन आता है उन लोग वही लेते हैं और पुराना का इसलिए दाग घटता है और उन लोग वैसे ...
जवाब पढ़िये
आंख के लिए एक सलीम देखने की मार्केटिंग टेक्निक हो गया है iPhone के इतने फॉलोअर्स हो गए इतने यूजर्स हो गए कि जैसे ही वह नया फोन आता है उन लोग वही लेते हैं और पुराना का इसलिए दाग घटता है और उन लोग वैसे वैसे करके कम कर देते हैं मैनुफैक्चरिंग उसका काम करते हो ताकि जो चाहे अपग्रेडेड वाला ही ले और वह तो वैसे उनको वह कम पैसे कम पैसे वाला उन लोग कैसे रोकते हैं रोकते हैं ताकि ज्यादा पैसे वाले यूज़र्स लेAankh Ke Liye Ek Salim Dekhne Ki Marketing Technique Ho Gaya Hai IPhone Ke Itne Followers Ho Gaye Itne Users Ho Gaye Ki Jaise Hi Wah Naya Phone Aata Hai Un Log Wahi Lete Hain Aur Purana Ka Isliye Daag Ghatta Hai Aur Un Log Waise Waise Karke Kum Kar Dete Hain Manufacturing Uska Kaam Karte Ho Taki Jo Chahe Upgraded Wala Hi Le Aur Wah To Waise Unko Wah Kum Paise Kum Paise Wala Un Log Kaise Rokte Hain Rokte Hain Taki Jyada Paise Wale Users Le
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
देखिए अगर आप MP से हैं और आपके पास जमीन है तो आप Apple हो गाना चाहिए नहीं भूल सब कुछ उगा सकते हैं अगर आप उसका सही उपयोग करें क्योंकि आज एक राजस्थान की धरती पर कोई लड़का कैसे रोका सकता है तू मुमकिन है वह पल भी उगा सकता है अगर सचेतक व्यवस्था उपलब्ध हो और आप अगर लगाना चाहते तो आप अपने आसपास के कृषि केंद्र में संपर्क करें अपनी मिट्टी की उर्वरता की जांच करवाएं फिर देखिए उस मीटिंग में कौन सी ऐसी आप बागानी फसल उगा सकते हैं जिससे आपको बेनिफिट हो और वह ऋतु के अनुसार भी अनुकूलित हो सके तो आप सबसे पहले अपने कृषि अनुसंधान केंद्र जो आसपास में जो भी खुशी के अंदर हो उनसे आप देख सकते हैं Plus सभी राज्यों के लिए कृषि चैनल चलाया गया DD कृषि चैनल तो आप उस पर देखते रहिए आपको बहुत सारे सवालों का जवाब वहां से मिल जाएगा और गवर्नमेंट काफी कुछ करिए कृषि के लिए तो आप जरूर अपनीDekhie Agar Aap MP Se Hain Aur Aapke Paas Jameen Hai To Aap Apple Ho Gaana Chahiye Nahi Bhul Sab Kuch Uga Sakte Hain Agar Aap Uska Sahi Upyog Karen Kyonki Aaj Ek Rajasthan Ki Dharti Par Koi Ladka Kaise Roka Sakta Hai Tu Mumkin Hai Wah Pal Bhi Uga Sakta Hai Agar Sachetak Vyavastha Uplabdha Ho Aur Aap Agar Lagana Chahte To Aap Apne Aaspass Ke Krishi Kendra Mein Sampark Karen Apni Mitti Ki Urvarta Ki Janch Karvaaein Phir Dekhie Us Meeting Mein Kaun Si Aisi Aap Bagani Fasal Uga Sakte Hain Jisse Aapko Benefit Ho Aur Wah Ritu Ke Anusar Bhi Anukulit Ho Sake To Aap Sabse Pehle Apne Krishi Anusandhan Kendra Jo Aaspass Mein Jo Bhi Khushi Ke Andar Ho Unse Aap Dekh Sakte Hain Plus Sabhi Rajyo Ke Liye Krishi Channel Chalaya Gaya DD Krishi Channel To Aap Us Par Dekhte Rahiye Aapko Bahut Sare Sawalon Ka Jawab Wahan Se Mil Jayega Aur Government Kafi Kuch Kariye Krishi Ke Liye To Aap Jarur Apni
Likes  4  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एप्पल दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी एप्पल की विशाल ब्रांड पहचान एवं रहे पॉजिटिव पॉजिटिव ब्यूटीशन का क्वालिटी है एप्पल उत्पादों के को बेचना है जो प्राण पहचानते हैं ट्रस्ट से और जो है भूत होते हैं या नहीं आ...
जवाब पढ़िये
एप्पल दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी एप्पल की विशाल ब्रांड पहचान एवं रहे पॉजिटिव पॉजिटिव ब्यूटीशन का क्वालिटी है एप्पल उत्पादों के को बेचना है जो प्राण पहचानते हैं ट्रस्ट से और जो है भूत होते हैं या नहीं आता डिवाइस कमर कमर टाइप नहीं होते हैं और इसकी जो है प्रतिष्ठानों के ऊपर प्रीमियम पर बेच सकते हैं क्योंकि इसकी और ब्यूटीशन क्वालिटी और डिजाइन के लिए प्रतिष्ठा हैApple Duniya Ki Sabse Badi Company Apple Ki Vishal Brand Pehchaan Evam Rahe Positive Positive Beautician Ka Quality Hai Apple Utpadon Ke Ko Bechna Hai Jo Praan Pehchante Hain Trust Se Aur Jo Hai Bhoot Hote Hain Ya Nahi Aata Device Kamar Kamar Type Nahi Hote Hain Aur Iski Jo Hai Pratishthanon Ke Upar Premium Par Bech Sakte Hain Kyonki Iski Aur Beautician Quality Aur Design Ke Liye Prathishtha Hai
Likes  5  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे बिल्कुल शर्मनाक बात है और उत्तर प्रदेश अभी से नहीं हो रहा है इसका पता है जो लॉजिक जो है वह उत्तर प्रदेश में रहने वाले लोग इसे समझ सकते क्योंकि हर बार चाय हम देखे किसी की भी सरकार की नाजायज चाहे व...
जवाब पढ़िये
लिखे बिल्कुल शर्मनाक बात है और उत्तर प्रदेश अभी से नहीं हो रहा है इसका पता है जो लॉजिक जो है वह उत्तर प्रदेश में रहने वाले लोग इसे समझ सकते क्योंकि हर बार चाय हम देखे किसी की भी सरकार की नाजायज चाहे वहां पर अखिलेश यादव हो जाए वहां पर बीजेपी हो चाहे वहां पर मायावती की हो हर किसी के राज में कभी मतलब गुंडाराज चलता ही रहता है यूपी और बिहार स्कूल भी एप्पल की जूनियर की हत्या कर देता है अगर कोई भी एक लड़का है जो कि बिहार में हमने सुना कुछ दिन पहले की ओवरटेक कर दिया कार किसी मंत्री का तो उसके चलते मंत्री ने उसकी हत्या कर दी तू ही सब चीजें जो है वह यूपी और बिहार में हो रहा है उसके लिए का दिखा दे इसका कारण क्या हो सकता है कि इलिटरेसी बिहार और यूपी बिहार से ज्यादा पढ़ा लिखा है बाकी लिटरेसी रेट ज्यादा है तो बिहार और यूपी जो है वह कम पढ़े लिखे होने के कारण जो है वहां के लोग ऐसे इलिटरेट है इस कारण से ऐसा हो रहा है बिल्कुल सरकार अभी कुछ कर नहीं गई है ऐसा नहीं लगता है मुझे कि सरकार कुछ करेगी नहीं इसके लिए उनको कड़े कदम उठाने चाहिए जो भी जो भी लोग इसकी मदद शामिल है जिन लोगों का भी फोटो के सामने आए हैं जो भी उसमें इंक्लूडेड हैं उनको नहीं सिर्फ सस्पेंड करना चाहिए बल्कि इनको पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए नार्मल जो अपराधियों की तरफ जेल भेजना चाहिएLikhe Bilkool Sharmnaak Baat Hai Aur Uttar Pradesh Abhi Se Nahin Ho Raha Hai Iska Patta Hai Joe Logic Joe Hai Wah Uttar Pradesh Mein Rahane Wale Log Isse Samajh Sakte Kyonki Her Bar Chai Hum Dekhe Kisi Ki Bhi Sarkar Ki Najayaj Chahe Vahan Per Akhilesh Yadav Ho Jae Vahan Per BJP Ho Chahe Vahan Per Mayawati Ki Ho Her Kisi K Raj Mein Kabhi Matlab Gundaraj Chalata Hea Rehta Hai Yupi Aur Bihar School Bhi Eppal Ki Junior Ki Hatya Car Deta Hai Agar Koi Bhi Ek Ladaka Hai Joe Qi Bihar Mein Humne Suna Kuch Din Pehle Ki Overtake Car Diya Car Kisi Mantri Ka To Uske Chalte Mantri Ne Uski Hatya Car They Tu Hea Sub Chijen Joe Hai Wah Yupi Aur Bihar Mein Ho Raha Hai Uske Lie Ka Dikha They Iska Karan Kya Ho Sakta Hai Qi Illiteracy Bihar Aur Yupi Bihar Se Jyada Padha Likha Hai Baaki Litresi Rate Jyada Hai To Bihar Aur Yupi Joe Hai Wah Come Padhe Likhe Hone K Karan Joe Hai Vahan K Log Aise Illiterate Hai Is Karan Se Aisa Ho Raha Hai Bilkool Sarkar Abhi Kuch Car Nahin Gi Hai Aisa Nahin Lagta Hai Mujhe Qi Sarkar Kuch Karegii Nahin Iske Lie Unko Kade Kadam Uthane Chahie Joe Bhi Joe Bhi Log Essaki Madada Shamil Hai Jean Logon Ka Bhi Photo K Samne Ae Hain Joe Bhi Usme Inkluded Hain Unko Nahin Sirf Suspend Krna Chahie Walkie Inko Per Kadi Karravai Karni Chahie Narmal Joe Aparadhiyon Ki Tarf Gel BHAIJANA Chahie
Likes  8  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Apple के सारे फोन 4जी होते हैं मगर आप बोल शुरू की अपडेट यहां यह वाईफाई के साथ कनेक्ट हो तो यार टू मैटिक अपडेट हो जाता है अगर 4जी जय इंटरनेट के साथ है मोबाइल डाटा से आपको अपडेट करना है तो उसमें जाकर से...
जवाब पढ़िये
Apple के सारे फोन 4जी होते हैं मगर आप बोल शुरू की अपडेट यहां यह वाईफाई के साथ कनेक्ट हो तो यार टू मैटिक अपडेट हो जाता है अगर 4जी जय इंटरनेट के साथ है मोबाइल डाटा से आपको अपडेट करना है तो उसमें जाकर सेटिंग्स में जाकर जनरल में एक ऑप्शन होता है सॉफ्टवेयर अपडेट का वहां से आप अपडेट कर सकते हो उसकोApple Ke Sare Phone Ji Hote Hain Magar Aap Bol Shuru Ki Update Yahan Yeh Wifi Ke Saath Connect Ho To Yaar To Maitik Update Ho Jata Hai Agar Ji Jai Internet Ke Saath Hai Mobile Data Se Aapko Update Karna Hai To Usamen Jaakar Settings Mein Jaakar General Mein Ek Option Hota Hai Software Update Ka Wahan Se Aap Update Kar Sakte Ho Usko
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप किसी भी फोन की प्राइवेसी को अनलॉक करना चाहते हैं बिल्कुल कर सकते हैं देखिए इसके लिए नॉर्मली होता की बहुत सारी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन चाहते हो जाता है या कोई भूल जाता है तो उसे अनलॉक करवाने के लिए ...
जवाब पढ़िये
अगर आप किसी भी फोन की प्राइवेसी को अनलॉक करना चाहते हैं बिल्कुल कर सकते हैं देखिए इसके लिए नॉर्मली होता की बहुत सारी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन चाहते हो जाता है या कोई भूल जाता है तो उसे अनलॉक करवाने के लिए उसके मतलब नजदीकी शोरूम से नजदीकी सर्विस सेंटर में जाते हैं तो वहां पर वह अनलॉक हो जाता है इसका कुछ भी प्रॉब्लम हुआ हो तो आपने कि आपने Store में जाकर संपर्क की जा सकती हैAgar Aap Kisi Bhi Phone Ki Privacy Ko Analak Karna Chahte Hain Bilkul Kar Sakte Hain Dekhie Iske Liye Normally Hota Ki Bahut Saree Software Application Chahte Ho Jata Hai Ya Koi Bhul Jata Hai To Use Analak Karwane Ke Liye Uske Matlab Najadiki Showroom Se Najadiki Service Center Mein Jaate Hain To Wahan Par Wah Analak Ho Jata Hai Iska Kuch Bhi Problem Hua Ho To Aapne Ki Aapne Store Mein Jaakar Sampark Ki Ja Sakti Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेवर काजू का व्यापार आर्थिक बहुत ही बेहतर है क्योंकि दोनों ही जो जो सेव है या काजू है दोनों ही बहुत ज्यादा मॉर्निंग का क्योंकि हमेशा जरूरत होती है उसकी हर एक चीज की जरूरत होती है तो उसके लिए तो आप क्य...
जवाब पढ़िये
सेवर काजू का व्यापार आर्थिक बहुत ही बेहतर है क्योंकि दोनों ही जो जो सेव है या काजू है दोनों ही बहुत ज्यादा मॉर्निंग का क्योंकि हमेशा जरूरत होती है उसकी हर एक चीज की जरूरत होती है तो उसके लिए तो आप क्या कर सकते हैं लोकल मार्केट में पहले आप रोज करें जो लोकल मार्केट में जो बेचते हैं फल उस से कोंटेक्ट करें और जो अपने कार्यों जो है उसका बढ़िया से पैकेजिंग बना ले hd से पैकेजिंग करें और उसे एक फ्रेंड के तौर पर हर एक दुकान से वहां पर जाकर विजिट कर सकते हैं जो कि डीलर सोते मेहंदी जो होलसेल डिस्ट्रीब्यूटर उनसे आप एक बार कांटेक्ट कर ले तो यह हो गया लोकल अपने तौर पर कर सकते हैं दूसरा तरीका यह है कि आप ऑनलाइन जितने भी साइट होते हैं आप उनसे आप रोज कर सकते हैं वहां पर अपने पेट को भेज सकते तो यह 2 तरीके से आप प्रोडक्ट को अपना सेल कर सकते हैं मार्केट मेंSevar Kaju Ka Vyapar Aarthik Bahut Hi Behtar Hai Kyonki Dono Hi Jo Jo Save Hai Ya Kaju Hai Dono Hi Bahut Jyada Morning Ka Kyonki Hamesha Zaroorat Hoti Hai Uski Har Ek Cheez Ki Zaroorat Hoti Hai To Uske Liye To Aap Kya Kar Sakte Hain Local Market Mein Pehle Aap Roj Karen Jo Local Market Mein Jo Bechte Hain Fal Us Se Contact Karen Aur Jo Apne Kaaryon Jo Hai Uska Badhiya Se Packaging Bana Le Hd Se Packaging Karen Aur Use Ek Friend Ke Taur Par Har Ek Dukan Se Wahan Par Jaakar Visit Kar Sakte Hain Jo Ki Dealer Sote Mehendi Jo Wholesale Distributer Unse Aap Ek Baar Contact Kar Le To Yeh Ho Gaya Local Apne Taur Par Kar Sakte Hain Doosra Tarika Yeh Hai Ki Aap Online Jitne Bhi Site Hote Hain Aap Unse Aap Roj Kar Sakte Hain Wahan Par Apne Pet Ko Bhej Sakte To Yeh 2 Tarike Se Aap Product Ko Apna Cell Kar Sakte Hain Market Mein
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कई स्वास्थ्य प्रॉब्लम की वजह मोटापे को माना जाता है जैसे हार्ट डिजीज हाई ब्लड प्रेशर डायबिटीज जैसी बीमारियां ज्यादा वजन बढ़ने के कारण होती है आपस में फाइबर हाई क्वालिटी का पाया जाता है जो वजन कम करने ...
जवाब पढ़िये
कई स्वास्थ्य प्रॉब्लम की वजह मोटापे को माना जाता है जैसे हार्ट डिजीज हाई ब्लड प्रेशर डायबिटीज जैसी बीमारियां ज्यादा वजन बढ़ने के कारण होती है आपस में फाइबर हाई क्वालिटी का पाया जाता है जो वजन कम करने में मदद करता है तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है जिससे आंखों को आंखों की रोशनी बढ़ती है साथ ही आंखों में होने वाली अन्य प्रॉब्लम से भी छुटकारा मिलता है सिर में बाल और किन को लाभ पहुंचाने वाले गुण होते हैं यह शरीर को बढ़ती उम्र के असर को छुपाने में माहिर है शेर उसको सिर की त्वचा पर लगाने से डैंड्रफ से निजात मिलती है टीम में मौजूद क्वेश्चन व्यक्ति व्यक्ति से के तेल का और नुकसान पहुंचाने पहुंचने से बचाता है इससे कैंसर का खतरा कम हो जाता है आपको जानकर हैरानी होगी किससे हुई कैसा अनोखा फल है जिसमें ट्यूमर कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ने की शक्ति होती है सिर्फ Facebook की होने वाली कैंसर से लड़ने में कारगर होते हैं यह अनीमिया जैसी बीमारियों का उपचार भी करता है क्योंकि शेर में आयरन काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है अगर आप दिन में दो या तीन सेब खाते हैं तो यह पूरे दिन की आयरन की जरूरत को पूरा कर देता है फ्री में फाइबर होता है जिससे आपके दांत सेहतमंद रहते हैं इसमें एंटीवायरस प्रॉपर्टीज पाई जाती है जो बैक्टीरिया और वायरस को दूर रखती है और आपकी मुंह के दूध की मात्रा को भी बढ़ाती है चीन में विटामिन सी संतुलित मात्रा में होता है और साथ ही इसमें लोहा और बोरॉन भी पाया जाता है इन सभी के कंबीनेशन से हड्डियों में ताकत आती है सीने में फ्लेवोनॉयड पाया जाता है जो महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस से बचाता है क्योंकि यह हड्डियां को फिटनेस का बड़ा हड्डियों को हड्डियों की थिकनेस बनाता हैKai Swasthya Problem Ki Wajah Motape Ko Mana Jata Hai Jaise Heart Disease Hi Blood Pressure Diabetes Jaisi Bimariyan Jyada Wajan Badhne Ke Kaaran Hoti Hai Aapas Mein Fiber Hi Quality Ka Paya Jata Hai Jo Wajan Kum Karne Mein Madad Karta Hai Tel Mein Bharpur Matra Mein Vitamin A Paya Jata Hai Jisse Aakhon Ko Aakhon Ki Roshni Badhti Hai Saath Hi Aakhon Mein Hone Wali Anya Problem Se Bhi Chhutkara Milta Hai Sir Mein Baal Aur Kin Ko Labh Pahunchane Wale Gun Hote Hain Yeh Sharir Ko Badhti Umar Ke Asar Ko Chupane Mein Mahir Hai Sher Usko Sir Ki Twacha Par Lagane Se Dandruff Se Nijat Milti Hai Team Mein Maujud Question Vyakti Vyakti Se Ke Tel Ka Aur Nuksan Pahunchane Pahuchne Se Bachata Hai Isse Cancer Ka Khatra Kum Ho Jata Hai Aapko Jaankar Hairanee Hogi Kisse Hui Kaisa Anokha Fal Hai Jisme Tumour Cancer Jaisi Khatarnak Bimari Se Ladane Ki Shakti Hoti Hai Sirf Facebook Ki Hone Wali Cancer Se Ladane Mein Kargar Hote Hain Yeh Anemia Jaisi Bimariyon Ka Upchaar Bhi Karta Hai Kyonki Sher Mein Iron Kafi Acchi Matra Mein Paya Jata Hai Agar Aap Din Mein Do Ya Teen Seb Khate Hain To Yeh Poore Din Ki Iron Ki Zaroorat Ko Pura Kar Deta Hai Free Mein Fiber Hota Hai Jisse Aapke Dant Sehatmand Rehte Hain Isme Antivirus Properties Payi Jati Hai Jo Bacteria Aur Virus Ko Dur Rakhti Hai Aur Aapki Mooh Ke Dudh Ki Matra Ko Bhi Badhati Hai Chin Mein Vitamin Si Santulit Matra Mein Hota Hai Aur Saath Hi Isme Loha Aur Boran Bhi Paya Jata Hai In Sabhi Ke Combination Se Haddiyon Mein Takat Aati Hai Seene Mein Flevonayad Paya Jata Hai Jo Mahilaon Ko Astiyoporosis Se Bachata Hai Kyonki Yeh Haddiyan Ko Fitness Ka Bada Haddiyon Ko Haddiyon Ki Thickness Banata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विज्ञापन एक ब्रांड है टिक iPhone जो है उस फ्रेंड का फोन है ठीक है तो दोनों अलग अलग चीज है कि आप कल के मोबाइल को iPhone कहते हैं और आप ऐसा ही iPhone में आई क्यों लगा हुआ है कि मैं तो ऐसी कली जब चीजों स...
जवाब पढ़िये
विज्ञापन एक ब्रांड है टिक iPhone जो है उस फ्रेंड का फोन है ठीक है तो दोनों अलग अलग चीज है कि आप कल के मोबाइल को iPhone कहते हैं और आप ऐसा ही iPhone में आई क्यों लगा हुआ है कि मैं तो ऐसी कली जब चीजों से आई मेक निकाला था उस वक़्त ने ऐसा बोला था कि आई का मतलब है इंटरनेट ठीक है ऐसा उस पर इंटरनेट का इंटरनेट से लैपटॉप पर तो वही है अभी तकVigyapan Ek Brand Hai Tick IPhone Jo Hai Us Friend Ka Phone Hai Theek Hai To Dono Alag Alag Cheez Hai Ki Aap Kal Ke Mobile Ko IPhone Kehte Hain Aur Aap Aisa Hi IPhone Mein Eye Kyun Laga Hua Hai Ki Main To Aisi Clea Jab Chijon Se Eye Make Nikaala Tha Us Waqt Ne Aisa Bola Tha Ki Eye Ka Matlab Hai Internet Theek Hai Aisa Us Par Internet Ka Internet Se Laptop Par To Wahi Hai Abhi Tak
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की उबला हुआ सेब उनके लिए अच्छा रहता है जो कच्चे से बिजली डाइजेस्ट नहीं कर पाते हैं तो आगे से कभी होता है और कुछ लोग कच्छा सेब खाते तो उनको गैस्ट्रिक प्रॉब्लम हो जाती है इन डाइजेशन हो जाता है कॉन्स्...
जवाब पढ़िये
आज की उबला हुआ सेब उनके लिए अच्छा रहता है जो कच्चे से बिजली डाइजेस्ट नहीं कर पाते हैं तो आगे से कभी होता है और कुछ लोग कच्छा सेब खाते तो उनको गैस्ट्रिक प्रॉब्लम हो जाती है इन डाइजेशन हो जाता है कॉन्स्टिपेशन हो जाता है तो उनके लिए वह जयदीप को उबालकर आप पर पका कर खा सकते हैं आप बाकी आगजनी कोई प्रॉब्लम नहीं होती है आप अच्छे से आपको डाइजेस्ट करने में तो गोश्त आपको ऐसे ही खाएं तो ज्यादा अच्छा हैAaj Ki Ubalaa Hua Seb Unke Liye Accha Rehta Hai Jo Kacche Se Bijli Digest Nahi Kar Paate Hain To Aage Se Kabhi Hota Hai Aur Kuch Log Kachhaa Seb Khate To Unko Gastric Problem Ho Jati Hai In Daijeshan Ho Jata Hai Kanstipeshan Ho Jata Hai To Unke Liye Wah Jaydeep Ko Ubalakar Aap Par Paka Kar Kha Sakte Hain Aap Baki Agajani Koi Problem Nahi Hoti Hai Aap Acche Se Aapko Digest Karne Mein To Gosht Aapko Aise Hi Khayen To Jyada Accha Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे सस्ता फोन Apple iPhone 4 है जिसकी कीमत है ₹4000 उसका डिस्प्ले साइज है 3.5 इंच ऑपरेटिंग सिस्टम आए हुए थे राम 512 MB का है और उसमें लहर कैमरा भी है...
जवाब पढ़िये
सबसे सस्ता फोन Apple iPhone 4 है जिसकी कीमत है ₹4000 उसका डिस्प्ले साइज है 3.5 इंच ऑपरेटिंग सिस्टम आए हुए थे राम 512 MB का है और उसमें लहर कैमरा भी हैSabse Sasta Phone Apple IPhone 4 Hai Jiski Kimat Hai ₹4000 Uska Display Size Hai 3.5 Inch Operating System Aaye Hue The Ram 512 MB Ka Hai Aur Usamen Lahar Camera Bhi Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेब में अनेक पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि विटामिन ए विटामिन सी विटामिन ए विटामिन के विटामिन बी सिक्स विटामिन बी1 पोटेशियम प्रोटीन पार्ट फर्स्ट फ्री एनर्जी कैल्शियम मैग्नीशियम पानी कार्बोहाइड्रेट और...
जवाब पढ़िये
सेब में अनेक पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि विटामिन ए विटामिन सी विटामिन ए विटामिन के विटामिन बी सिक्स विटामिन बी1 पोटेशियम प्रोटीन पार्ट फर्स्ट फ्री एनर्जी कैल्शियम मैग्नीशियम पानी कार्बोहाइड्रेट और सोडियमSeb Mein Anek Poshak Tatva Paye Jaate Hain Jaise Ki Vitamin A Vitamin Si Vitamin A Vitamin Ke Vitamin Be Six Vitamin Be Potassium Protein Part First Free Energy Calcium Magnesium Pani Carbohydrate Aur Sodium
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
भारत में iphone apple इसके संस्थापक स्टीव जॉब्स है ये दुनिया का सबसे महंगा फ़ोन है कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया गया था। इस फ़ोन पर ऐसे बहुत ही नए प्रोग्राम्स है जो नार्मल फ़ोन में नहीं है और इसके महंगे होने का यही कारन है इसके महंगे फीचर जिस कारन से ये महंगे है !!!!
Romanized Version
भारत में iphone apple इसके संस्थापक स्टीव जॉब्स है ये दुनिया का सबसे महंगा फ़ोन है कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया गया था। इस फ़ोन पर ऐसे बहुत ही नए प्रोग्राम्स है जो नार्मल फ़ोन में नहीं है और इसके महंगे होने का यही कारन है इसके महंगे फीचर जिस कारन से ये महंगे है !!!!Bharat Mein Iphone Apple Iske Sansthapak Steve Jobs Hai Ye Duniya Ka Sabse Mehnga Phone Hai Company Ki Sthapana 1 April 1976 Ko Hui Aur 3 January 1977 Ko Ise Apple Computer Ink Ke Naam Se Nigmit Kiya Gaya Tha Is Phone Par Aise Bahut Hi Naye Programs Hai Jo Normal Phone Mein Nahi Hai Aur Iske Mahange Hone Ka Yahi Kaaran Hai Iske Mahange Feature Jis Kaaran Se Ye Mahange Hai !!!!
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
एप्पल 1 अप्रैल 1976 में स्थापित हुआ। इसके संस्थापक स्टीव जॉब्स स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड वेन थे ।इसका मुख्यालय एप्पल पार्क क्यूपर्टिनोकैलिफोर्निया अमेरिका में है। इसके मुख्य निष्पादन अधिकारी है टीम कुक और इसके अध्यक्ष है आर्थर डी लेविनसन। इसमें लगभग 123 000 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं। यह कुल 500 रिटेल स्टोर में पाया जाता है। इसके उत्पादों आइपॉड आईपैड आईफोन एप्पल वॉच एप्पल टीवी और होम पैड है। एप्पल की कुल संपत्ति US$375.319 बिलियन है।
Romanized Version
एप्पल 1 अप्रैल 1976 में स्थापित हुआ। इसके संस्थापक स्टीव जॉब्स स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड वेन थे ।इसका मुख्यालय एप्पल पार्क क्यूपर्टिनोकैलिफोर्निया अमेरिका में है। इसके मुख्य निष्पादन अधिकारी है टीम कुक और इसके अध्यक्ष है आर्थर डी लेविनसन। इसमें लगभग 123 000 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं। यह कुल 500 रिटेल स्टोर में पाया जाता है। इसके उत्पादों आइपॉड आईपैड आईफोन एप्पल वॉच एप्पल टीवी और होम पैड है। एप्पल की कुल संपत्ति US$375.319 बिलियन है।Apple 1 April 1976 Mein Sthapit Hua Iske Sansthapak Steve Jobs Steve Vozniyak Aur Ronald Vein The Iska Mukhyalay Apple Park Kyupartinokailiforniya America Mein Hai Iske Mukhya Nishpadan Adhikari Hai Team Cook Aur Iske Adhyaksh Hai Arthur D Levinsan Isme Lagbhag 123 000 Se Jyada Karmchari Kaam Karte Hain Yeh Kul 500 Retail Store Mein Paya Jata Hai Iske Utpadon Ipod Ipad Iphone Apple Watch Apple Tv Aur Home Pad Hai Apple Ki Kul Sampatti US$375.319 Billion Hai
Likes  1  Dislikes
WhatsApp_icon
एप्पल कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई इसके संस्थापक स्टीव जॉब्स, स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड की ऐप्पल इंक॰ एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उत्पादों का डिजाइन और विनिर्माण करता है। ऐप्पल मैकिन्टौश, आईपॉड और आईफ़ोन जैसे हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। राजस्व के मामले में अैप्पल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है एवं सैमसंग और नोकिया के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता है!!!
Romanized Version
एप्पल कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई इसके संस्थापक स्टीव जॉब्स, स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड की ऐप्पल इंक॰ एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उत्पादों का डिजाइन और विनिर्माण करता है। ऐप्पल मैकिन्टौश, आईपॉड और आईफ़ोन जैसे हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। राजस्व के मामले में अैप्पल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है एवं सैमसंग और नोकिया के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता है!!!Apple Company Ki Sthapana 1 April 1976 Ko Hui Iske Sansthapak Steve Jobs Steve Vozniyak Aur Ronald Ki Apple Ink Ek American Bahuraashtreeya Company Hai Jo Upabhokta Electronics Aur Computer Software Utpadon Ka Design Aur Vinirmaan Karta Hai Apple Maikintaush Ipod Aur Aifon Jaise Hardware Utpadon Ke Liye Prasiddh Hai Raajaswa Ke Mamle Mein Aaippal Samsung Electronics Ke Baad Duniya Ki Dusri Sabse Badi Soochna Praudyogiki Company Hai Evam Samsung Aur Nokiya Ke Baad Duniya Ki Teesri Sabse Badi Mobile Phone Nirmaata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
Apple का आविष्कार स्टीव जॉब्स ने किया था। कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई थी और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ नाम दिया गया था। स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, उपभोक्ताओं का इलेक्ट्रॉनिक्स कम्पनी की ओर बढ़ कंपनी के ध्यान को दर्शाया। मार्च 2013 के रूप में अमरीकी $415 बिलियन के अनुमानित मूल्य के साथ यह दुनिया में सबसे बड़ा सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाला निगम है। 2012 में अैप्पल का वार्षिक राजस्व कुल $156 बिलियन था।
Romanized Version
Apple का आविष्कार स्टीव जॉब्स ने किया था। कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई थी और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ नाम दिया गया था। स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, उपभोक्ताओं का इलेक्ट्रॉनिक्स कम्पनी की ओर बढ़ कंपनी के ध्यान को दर्शाया। मार्च 2013 के रूप में अमरीकी $415 बिलियन के अनुमानित मूल्य के साथ यह दुनिया में सबसे बड़ा सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाला निगम है। 2012 में अैप्पल का वार्षिक राजस्व कुल $156 बिलियन था। Apple Ka Avishkar Steve Jobs Ne Kiya Tha Company Ki Sthapana 1 April 1976 Ko Hui Thi Aur 3 January 1977 Ko Ise Apple Computer Ink Naam Diya Gaya Tha Steve Jobs Ne Pehla Aifon Pesh Kar Upbhoktayo Ka Electronics Company Ki Oar Badh Company Ke Dhyan Ko Darshaya March 2013 Ke Roop Mein Amariki $415 Billion Ke Anumaneet Mulya Ke Saath Yeh Duniya Mein Sabse Bada Sarvajanik Roop Se Karobaar Karne Wala Nigam Hai 2012 Mein Aaippal Ka Vaarshik Raajaswa Kul $156 Billion Tha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
एप्पल एक अमेरिका की कम्पनी है जो सॉफ्टवेर , हार्डवेयर और फ़ोन और उससे जुड़े उत्पादों का निर्माण करती है।एप्पल फोन का निर्माण 9जनवरी 2007 को किया।
Romanized Version
एप्पल एक अमेरिका की कम्पनी है जो सॉफ्टवेर , हार्डवेयर और फ़ोन और उससे जुड़े उत्पादों का निर्माण करती है।एप्पल फोन का निर्माण 9जनवरी 2007 को किया।Apple Ek America Ki Company Hai Jo Software , Hardware Aur Phone Aur Usse Jude Utpadon Ka Nirman Karti Hai Apple Phone Ka Nirman January 2007 Ko Kiya
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
दुनिया का सबसे भारी सेब चिसाटो इवासाकी है। सबसे भारी सेब 1.849 किग्रा (4 एलबी 1 औंस) वजन था और 24 अक्टूबर 2005 को जापान के हिरोसाकी शहर में अपने सेब खेत में चिसाटो इवासाकी द्वारा उगाया और उठाया गया था।
Romanized Version
दुनिया का सबसे भारी सेब चिसाटो इवासाकी है। सबसे भारी सेब 1.849 किग्रा (4 एलबी 1 औंस) वजन था और 24 अक्टूबर 2005 को जापान के हिरोसाकी शहर में अपने सेब खेत में चिसाटो इवासाकी द्वारा उगाया और उठाया गया था।Duniya Ka Sabse Bhari Seb Chisato Ivasaki Hai Sabse Bhari Seb 1.849 Kigra (4 Elabi 1 Auns Wajan Tha Aur 24 October 2005 Ko Japan Ke Hirosaki Sheher Mein Apne Seb Khet Mein Chisato Ivasaki Dwara Ugaya Aur Uthaya Gaya Tha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
वोजनीक के ऐप्पल आई पर्सनल कंप्यूटर को विकसित और बेचने के लिए अप्रैल 1 9 76 में स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनीक और रोनाल्ड वेन ने ऐप्पल की स्थापना की थी। इसे जनवरी 1 9 77 में ऐप्पल कंप्यूटर, इंक। के रूप में शामिल किया गया था, और
Romanized Version
वोजनीक के ऐप्पल आई पर्सनल कंप्यूटर को विकसित और बेचने के लिए अप्रैल 1 9 76 में स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनीक और रोनाल्ड वेन ने ऐप्पल की स्थापना की थी। इसे जनवरी 1 9 77 में ऐप्पल कंप्यूटर, इंक। के रूप में शामिल किया गया था, औरVojnik Ke Apple Eye Personal Computer Ko Viksit Aur Bechne Ke Liye April 1 9 76 Mein Steve Jobs Steve Vojnik Aur Ronald Vein Ne Apple Ki Sthapana Ki Thi Ise January 1 9 77 Mein Apple Computer Ink Ke Roop Mein Shamil Kiya Gaya Tha Aur
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
वोजनीक के ऐप्पल आई पर्सनल कंप्यूटर को विकसित और बेचने के लिए अप्रैल 1976 में स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनीक और रोनाल्ड वेन ने ऐप्पल की स्थापना की थी। इसे जनवरी 1977 में ऐप्पल कंप्यूटर, इंक। के रूप में शामिल किया गया था, और ऐप्पल II समेत अपने कंप्यूटरों की बिक्री ने कंपनी के लिए महत्वपूर्ण गति और राजस्व वृद्धि देखी।
Romanized Version
वोजनीक के ऐप्पल आई पर्सनल कंप्यूटर को विकसित और बेचने के लिए अप्रैल 1976 में स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनीक और रोनाल्ड वेन ने ऐप्पल की स्थापना की थी। इसे जनवरी 1977 में ऐप्पल कंप्यूटर, इंक। के रूप में शामिल किया गया था, और ऐप्पल II समेत अपने कंप्यूटरों की बिक्री ने कंपनी के लिए महत्वपूर्ण गति और राजस्व वृद्धि देखी। Ke Apple Eye Personal Computer Ko Viksit Aur Bechne Ke Liye April 1976 Mein Steve Jobs Steve Aur Ronald Vein Ne Apple Ki Sthapana Ki Thi Ise January 1977 Mein Apple Computer Ink Ke Roop Mein Shamil Kiya Gaya Tha Aur Apple II Samet Apne Computeron Ki Bikri Ne Company Ke Liye Mahatvapurna Gati Aur Raajaswa Vriddhi Dekhi
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
इस सप्ताह मैं कश्मीर घाटी में वदूरा के कृषि महाविद्यालय बात करने पहुंचा। श्रीनगर से 70 किलोमीटर दूर स्थित इस महाविद्यालय की स्थापना 1962 में हुई थी। यह बारामूल्लाह की सूरम्य घाटी में स्थित है जहां सेब की खेती प्रमुख है इसलिए इस कॉलेज में शोध का केंद्र भी सेब है। इस दौरान सेब की खेती करने वालों, कृषि वैज्ञानिकों और विद्यार्थियों से आपसी बातचीत के दौरान, ध्यान निश्चित तौर से सेब पर चला गया। जब मैंने किसानों से उनकी मुख्य समस्याओं के बारे में पूछा तो नकली कीटनाशक (पेस्टीसाइड) को ही प्रमुख समस्या बताया। घाटी में सेब की खेती में प्रयोग आने वाला कीटनाशक 40 से 50 प्रतिशत, मिलावटी, घटिया या नकली है। एक किसान ने खुलासा किया, ‘हम कृषि विद्यालय के बताए अनुसार ही कीटनाशक का प्रयोग करते हैं लेकिन सेब की घातक बीमारी को नियंत्रित नहीं कर पाते क्योंकि कीटनाशक ही नकली होता है।’वैज्ञानिकों ने ये माना कि नकली कीटनाशक बड़ी समस्या है क्योंकि राज्य में केवल दो श्रीनगर और जम्मू में रेफरल टेस्टिंग लैब हैं, टेस्ट की रिपोर्ट आने में इतना लंबा समय लेती है कि तब तक फसल का मौसम निकल जाता है और नुकसान हो चुका होता है। ये समस्या कितनी अधिक फैल चुकी है ये इस बात से समझा जा सकता है कि मुख्य मंत्री महबूबा मुफ़्ती को ये आदेश देना पड़ा कि नकली कीटनाशक बेचने वालों पर पब्लिक सेफ़्टी एक्ट लगाया जाए। ये आदेश मध्य फ़रवरी में आया था लेकिन समस्या ज्यों की त्यों है ।
Romanized Version
इस सप्ताह मैं कश्मीर घाटी में वदूरा के कृषि महाविद्यालय बात करने पहुंचा। श्रीनगर से 70 किलोमीटर दूर स्थित इस महाविद्यालय की स्थापना 1962 में हुई थी। यह बारामूल्लाह की सूरम्य घाटी में स्थित है जहां सेब की खेती प्रमुख है इसलिए इस कॉलेज में शोध का केंद्र भी सेब है। इस दौरान सेब की खेती करने वालों, कृषि वैज्ञानिकों और विद्यार्थियों से आपसी बातचीत के दौरान, ध्यान निश्चित तौर से सेब पर चला गया। जब मैंने किसानों से उनकी मुख्य समस्याओं के बारे में पूछा तो नकली कीटनाशक (पेस्टीसाइड) को ही प्रमुख समस्या बताया। घाटी में सेब की खेती में प्रयोग आने वाला कीटनाशक 40 से 50 प्रतिशत, मिलावटी, घटिया या नकली है। एक किसान ने खुलासा किया, ‘हम कृषि विद्यालय के बताए अनुसार ही कीटनाशक का प्रयोग करते हैं लेकिन सेब की घातक बीमारी को नियंत्रित नहीं कर पाते क्योंकि कीटनाशक ही नकली होता है।’वैज्ञानिकों ने ये माना कि नकली कीटनाशक बड़ी समस्या है क्योंकि राज्य में केवल दो श्रीनगर और जम्मू में रेफरल टेस्टिंग लैब हैं, टेस्ट की रिपोर्ट आने में इतना लंबा समय लेती है कि तब तक फसल का मौसम निकल जाता है और नुकसान हो चुका होता है। ये समस्या कितनी अधिक फैल चुकी है ये इस बात से समझा जा सकता है कि मुख्य मंत्री महबूबा मुफ़्ती को ये आदेश देना पड़ा कि नकली कीटनाशक बेचने वालों पर पब्लिक सेफ़्टी एक्ट लगाया जाए। ये आदेश मध्य फ़रवरी में आया था लेकिन समस्या ज्यों की त्यों है ।Is Saptah Main Kashmir Ghati Mein Ke Krishi Mahavidyalaya Baat Karne Pahuncha Srinagar Se 70 Kilometre Dur Sthit Is Mahavidyalaya Ki Sthapana 1962 Mein Hui Thi Yeh Ki Ghati Mein Sthit Hai Jahan Seb Ki Kheti Pramukh Hai Isliye Is College Mein Shodh Ka Kendra Bhi Seb Hai Is Dauran Seb Ki Kheti Karne Walon Krishi Vaigyaanikon Aur Vidyarthiyon Se Aapasi Batchit Ke Dauran Dhyan Nishchit Taur Se Seb Par Chala Gaya Jab Maine Kisano Se Unki Mukhya Samasyaon Ke Bare Mein Poocha To Nakli Keetanaashak Ko Hi Pramukh Samasya Bataya Ghati Mein Seb Ki Kheti Mein Prayog Aane Wala Keetanaashak 40 Se 50 Pratishat Ghatiya Ya Nakli Hai Ek Kisan Ne Khulasa Kiya Hum Krishi Vidyalaya Ke Bataye Anusar Hi Keetanaashak Ka Prayog Karte Hain Lekin Seb Ki Ghatak Bimari Ko Niyantrit Nahi Kar Paate Kyonki Keetanaashak Hi Nakli Hota Hai Vaigyaanikon Ne Yeh Mana Ki Nakli Keetanaashak Badi Samasya Hai Kyonki Rajya Mein Kewal Do Srinagar Aur Jammu Mein Referral Testing Lab Hain Test Ki Report Aane Mein Itna Lamba Samay Leti Hai Ki Tab Tak Phasal Ka Mausam Nikal Jata Hai Aur Nuksan Ho Chuka Hota Hai Yeh Samasya Kitni Adhik Fail Chuki Hai Yeh Is Baat Se Samjha Ja Sakta Hai Ki Mukhya Mantri Mahbuba Ko Yeh Aadesh Dena Pada Ki Nakli Keetanaashak Bechne Walon Par Public Act Lagaya Jaye Yeh Aadesh Madhya February Mein Aaya Tha Lekin Samasya Ki Tyon Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
1977 में एप्पल ने apple 2 को लांच किया जो ऐसा पहला पर्सनल कंप्यूटर था जो कीबोर्ड के साथ था और उसे ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस के जरिये चलाया जा सकता था और यह भी बेहद सफल रहा था और पहले ही साल जो सेल हुई थी वो करीब $3 million के करीब थी और अगले ही साल यह आंकड़ा $200 million हो गया लेकिन 1980 तक आते आते एप्पल की चमक फीकी होने लगी थी और साथ ही सेल में गिरावट होने लगी जिसके बाद 1984 में एप्पल ने Macintosh लांच किया जो भी एक पर्सनल कंप्यूटर था लेकिन महंगा होने की वजह से यह भी कोई खास नहीं बिका और बाद में इसे एक बिज़नस कंप्यूटर के तौर पर भी मार्किट किया गया लेकिन फिर भी लोगो ने इसमें कोई खास दिलचस्पी नहीं ली और इसी बीच जॉब्स का मैनेजमेंट के साथ कोई विवाद हो गया जिसके चलते उन्हें Board of directors ने निकाल दिया गया और 1985 में यानि के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टरस से निकाले जाने के दो साल बाद उन्होंने अपने सारे शेयर्स बेच कर उसी कम्पनी से इस्तीफा दे दिया जो उन्होंने स्थापित की थी | इसके बाद एक के नाद एक उतार चढ़ाव कम्पनी में आते रहे और 1989 में मैकिन्टौश पोर्टेबल पेश किया गया, जिसकी क्षमता डेस्कटॉप मैकिन्टौश के समान थी पर वज़न 7.5 किलोग्राम (17 पौंड) होने के कारण यह काफी भारी था। इसकी बैटरी लाइफ 12 घंटे की थी। मैकिन्टौश पोर्टेबल के बाद एप्पल ने बाज़ार में पॉवरबुक उतारा। पॉवरबुक एक सफल प्रोडक्ट साबित हुआ और इसके बाद एक के बाद apple ने कमाल के प्रोडक्ट बाजार में उतारी | एप्पल से निकाले जाने के बाद जॉब्स ने NeXT Computer Co नाम की एक कम्पनी की स्थापना की जिसे बाद में खुद एप्पल द्वारा खरीद लिया गया और इस तरह एक बार फिर वो apple में आ गये और दोबारा CEO बने और उनके नेतृत्व में एक बार फिर apple फायदे में होने लगी |
Romanized Version
1977 में एप्पल ने apple 2 को लांच किया जो ऐसा पहला पर्सनल कंप्यूटर था जो कीबोर्ड के साथ था और उसे ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस के जरिये चलाया जा सकता था और यह भी बेहद सफल रहा था और पहले ही साल जो सेल हुई थी वो करीब $3 million के करीब थी और अगले ही साल यह आंकड़ा $200 million हो गया लेकिन 1980 तक आते आते एप्पल की चमक फीकी होने लगी थी और साथ ही सेल में गिरावट होने लगी जिसके बाद 1984 में एप्पल ने Macintosh लांच किया जो भी एक पर्सनल कंप्यूटर था लेकिन महंगा होने की वजह से यह भी कोई खास नहीं बिका और बाद में इसे एक बिज़नस कंप्यूटर के तौर पर भी मार्किट किया गया लेकिन फिर भी लोगो ने इसमें कोई खास दिलचस्पी नहीं ली और इसी बीच जॉब्स का मैनेजमेंट के साथ कोई विवाद हो गया जिसके चलते उन्हें Board of directors ने निकाल दिया गया और 1985 में यानि के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टरस से निकाले जाने के दो साल बाद उन्होंने अपने सारे शेयर्स बेच कर उसी कम्पनी से इस्तीफा दे दिया जो उन्होंने स्थापित की थी | इसके बाद एक के नाद एक उतार चढ़ाव कम्पनी में आते रहे और 1989 में मैकिन्टौश पोर्टेबल पेश किया गया, जिसकी क्षमता डेस्कटॉप मैकिन्टौश के समान थी पर वज़न 7.5 किलोग्राम (17 पौंड) होने के कारण यह काफी भारी था। इसकी बैटरी लाइफ 12 घंटे की थी। मैकिन्टौश पोर्टेबल के बाद एप्पल ने बाज़ार में पॉवरबुक उतारा। पॉवरबुक एक सफल प्रोडक्ट साबित हुआ और इसके बाद एक के बाद apple ने कमाल के प्रोडक्ट बाजार में उतारी | एप्पल से निकाले जाने के बाद जॉब्स ने NeXT Computer Co नाम की एक कम्पनी की स्थापना की जिसे बाद में खुद एप्पल द्वारा खरीद लिया गया और इस तरह एक बार फिर वो apple में आ गये और दोबारा CEO बने और उनके नेतृत्व में एक बार फिर apple फायदे में होने लगी |1977 Mein Apple Ne Apple 2 Ko Launch Kiya Jo Aisa Pehla Personal Computer Tha Jo Keyboard Ke Saath Tha Aur Use Grafikal User Intarafes Ke Jariye Chalaya Ja Sakta Tha Aur Yeh Bhi Behad Safal Raha Tha Aur Pehle Hi Saal Jo Cell Hui Thi Vo Karib $3 Million Ke Karib Thi Aur Agle Hi Saal Yeh Aakadaa $200 Million Ho Gaya Lekin 1980 Tak Aate Aate Apple Ki Chamak Feeki Hone Lagi Thi Aur Saath Hi Cell Mein Giravat Hone Lagi Jiske Baad 1984 Mein Apple Ne Macintosh Launch Kiya Jo Bhi Ek Personal Computer Tha Lekin Mehnga Hone Ki Wajah Se Yeh Bhi Koi Khas Nahi Bika Aur Baad Mein Ise Ek Business Computer Ke Taur Par Bhi Market Kiya Gaya Lekin Phir Bhi Logo Ne Isme Koi Khas Dilchaspi Nahi Lee Aur Isi Beech Jobs Ka Management Ke Saath Koi Vivad Ho Gaya Jiske Chalte Unhen Board Of Directors Ne Nikal Diya Gaya Aur 1985 Mein Yani Ke Board Of Dayrektaras Se Nikale Jaane Ke Do Saal Baad Unhone Apne Sare Shares Bech Kar Ussi Company Se Istifa De Diya Jo Unhone Sthapit Ki Thi Iske Baad Ek Ke Naad Ek Utar Chadhaw Company Mein Aate Rahe Aur 1989 Mein Maikintaush Portable Pesh Kiya Gaya Jiski Kshamta Desktop Maikintaush Ke Saman Thi Par Vajan 7.5 Kilogram (17 Pond Hone Ke Kaaran Yeh Kafi Bhari Tha Iski Battery Life 12 Ghante Ki Thi Maikintaush Portable Ke Baad Apple Ne Bajaar Mein Pavarabuk Utara Pavarabuk Ek Safal Product Saabit Hua Aur Iske Baad Ek Ke Baad Apple Ne Kamal Ke Product Bazar Mein Utaari | Apple Se Nikale Jaane Ke Baad Jobs Ne NeXT Computer Co Naam Ki Ek Company Ki Sthapana Ki Jise Baad Mein Khud Apple Dwara Kharid Liya Gaya Aur Is Tarah Ek Baar Phir Vo Apple Mein Aa Gaye Aur Dobara CEO Bane Aur Unke Netritva Mein Ek Baar Phir Apple Fayde Mein Hone Lagi |
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
ऐप्पल की स्थापना स्टीव जॉब्स, स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड वेन ने 1 अप्रैल 1976 को, व्यक्तिगत कंप्यूटर किट " अैप्पल I" को बेचने के लिए की। यह किट वोज़नियाक हाथ से बनाते थे और इन्हें पहली बार होमब्रीऊ कंप्यूटर क्लब में लोगों के सामने पेश किया गया था।अैप्पल I की बिक्री जुलाई 1976 में शुरू हुई और तब उसकी बाज़ारी कीमत $666.66 (2013 में $2735 डॉलर के बराबर) रखी गयी थी। कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया गया था। कंपनी नाम से "कंप्यूटर" शब्द 9 जनवरी 2007 को हटा दिया गया था, जिस दिन स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स की ओर बढ़ रहे कंपनी के ध्यान को दर्शाया। मई 2013 के रूप में, एप्पल चौदह देशों में 408 रिटेल स्टोर के साथ-साथ ऑनलाइन अैप्पल स्टोर और आईट्यून्स स्टोर भी चलाता है, जो की दुनिया का सबसे बड़ा संगीत बाज़ार है।
Romanized Version
ऐप्पल की स्थापना स्टीव जॉब्स, स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड वेन ने 1 अप्रैल 1976 को, व्यक्तिगत कंप्यूटर किट " अैप्पल I" को बेचने के लिए की। यह किट वोज़नियाक हाथ से बनाते थे और इन्हें पहली बार होमब्रीऊ कंप्यूटर क्लब में लोगों के सामने पेश किया गया था।अैप्पल I की बिक्री जुलाई 1976 में शुरू हुई और तब उसकी बाज़ारी कीमत $666.66 (2013 में $2735 डॉलर के बराबर) रखी गयी थी। कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया गया था। कंपनी नाम से "कंप्यूटर" शब्द 9 जनवरी 2007 को हटा दिया गया था, जिस दिन स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स की ओर बढ़ रहे कंपनी के ध्यान को दर्शाया। मई 2013 के रूप में, एप्पल चौदह देशों में 408 रिटेल स्टोर के साथ-साथ ऑनलाइन अैप्पल स्टोर और आईट्यून्स स्टोर भी चलाता है, जो की दुनिया का सबसे बड़ा संगीत बाज़ार है।Apple Ki Sthapana Steve Jobs Steve Vozniyak Aur Ronald Vein Ne 1 April 1976 Ko Vyaktigat Computer Kit " Aaippal I" Ko Bechne Ke Liye Ki Yeh Kit Vozniyak Hath Se Banate The Aur Inhen Pehli Baar Homabrioo Computer Club Mein Logon Ke Samane Pesh Kiya Gaya Tha Aaippal I Ki Bikri July 1976 Mein Shuru Hui Aur Tab Uski Bazari Kimat $666.66 (2013 Mein $2735 Dollar Ke Barabar Rakhi Gayi Thi Company Ki Sthapana 1 April 1976 Ko Hui Aur 3 January 1977 Ko Ise Apple Computer Ink Ke Naam Se Nigmit Kiya Gaya Tha Company Naam Se Computer Shabdh 9 January 2007 Ko Hata Diya Gaya Tha Jis Din Steve Jobs Ne Pehla Aifon Pesh Kar Upabhokta Electronics Ki Oar Badh Rahe Company Ke Dhyan Ko Darshaya May 2013 Ke Roop Mein Apple Chaudah Deshon Mein 408 Retail Store Ke Saath Saath Online Aaippal Store Aur Aityuns Store Bhi Chalata Hai Jo Ki Duniya Ka Sabse Bada Sangeet Bajaar Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
स्थापना - 1अप्रैल सन् 1976 मे हुआ था व 27 अगस्त 1999 से प्रयोग होने लगा था। संस्थापक - स्टीव जॉब्स,स्टीव वोज़नियाक , रोनाल्ड वेन कंपनी मुख्यालय -क्यूपर्टिनो, कैलिफोर्निया के इनफिनिट लूप स्ट्रीट में । इस comonay मे 72000 से भी जाद लोग काम करते है इस compnay की webside apple.com है जो की पूरे दुनिया भर मे इस कंपनी है। ऐप्पल इंक॰ एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उत्पादों का डिजाइन और विनिर्माण करता है। ऐप्पल मैकिन्टौश, आईपॉड और आईफ़ोन जैसे हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। राजस्व के मामले में अैप्पल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है एवं सैमसंग और नोकिया के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता है।
Romanized Version
स्थापना - 1अप्रैल सन् 1976 मे हुआ था व 27 अगस्त 1999 से प्रयोग होने लगा था। संस्थापक - स्टीव जॉब्स,स्टीव वोज़नियाक , रोनाल्ड वेन कंपनी मुख्यालय -क्यूपर्टिनो, कैलिफोर्निया के इनफिनिट लूप स्ट्रीट में । इस comonay मे 72000 से भी जाद लोग काम करते है इस compnay की webside apple.com है जो की पूरे दुनिया भर मे इस कंपनी है। ऐप्पल इंक॰ एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उत्पादों का डिजाइन और विनिर्माण करता है। ऐप्पल मैकिन्टौश, आईपॉड और आईफ़ोन जैसे हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। राजस्व के मामले में अैप्पल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है एवं सैमसंग और नोकिया के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता है। Sthapana - April San 1976 Me Hua Tha V 27 August 1999 Se Prayog Hone Laga Tha Sansthapak - Steve Jobs Steve , Ronald Vein Company Mukhyalay California Ke Loop Street Mein Is Comonay Me 72000 Se Bhi Jaad Log Kaam Karte Hai Is Compnay Ki Webside Apple.com Hai Jo Ki Poore Duniya Bhar Me Is Company Hai Apple Ek American Bahuraashtreeya Company Hai Jo Upabhokta Electronics Aur Computer Software Utpadon Ka Design Aur Vinirmaan Karta Hai Apple Macintosh Ipod Aur Iphone Jaise Hardware Utpadon Ke Liye Prasiddh Hai Raajaswa Ke Mamle Mein Apple Samsung Electronics Ke Baad Duniya Ki Dusri Sabse Badi Soochna Praudyogiki Company Hai Evam Samsung Aur Nokiya Ke Baad Duniya Ki Teesri Sabse Badi Mobile Phone Nirmaata Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
पैदा - वैज्ञानिक मानते हैं कि सेब सबसे पहले मध्य एशियाई देश कज़ाख़िस्तान में पैदा हुए थे. यहीं से ये बाक़ी दुनिया तक पहुंचे. कज़ाख़िस्तान की पहाड़ियों में जन्मा था सेब का पहला पेड़. इसी जंगली सेब से आज दुनिया भर में सेब की सैकड़ों नस्लें फल-फूल रही हैं. खोज - इसके बारे में पता लगाने का श्रेय सिकंदर महान को दिया जाता है। वह मध्य एशिया में जब आया तब उसने इस फल के बारे में जाना और उसी के कारण यूरोप में भी सेब के कई प्रजातियाँ मौजूद है। यह सब से जाद इसके बारे में पता लगाने का श्रेय सिकंदर महान को दिया जाता है। वह मध्य एशिया में इस फल के बारे में जाना और उसी के कारण यूरोप में भी सेब के कई प्रजातियाँ मौजूद है। फायदे - सेब केवल स्वादिष्ट ही नहीं होता है। वरन इसके अंदर कई सारे तत्व भी मौजूद होते हैं। जो हमारे शरीर को पोषण प्रदान करते हैं। शरीर के अंदर आवश्यक पदार्थें की भी पूर्ति करते हैं। इसके अलावा सेब खाने से अनेक प्रकार की बिमारियों के होने की संभावना कम हो जाती है। ल 2013 में पूरी दुनिया मे आठ करोड़ टन सेब पैदा हुआ था. इसमें से भी आधा तो केवल चीन में पैदा किया गया. अकेले अमरीका मे सेब का कारोबार क़रीब चार अरब डॉलर का माना जाता है. दुनिया भर में सेब की सैकड़ों नस्लें हैं. सबकी अपनी अपनी पसंद हैं. किसी को खट्टी-मीठी ग्रैनी स्मिथ नाम की वैराइटी अच्छी लगती है. तो, किसी को बेहद मीठे सेब रेड डेलिशस. यूं तो आज दुनिया के तमाम देशों में सेब उगाए जाते हैं. जैसे भारत में ही कश्मीर और हिमाचल में सेब की कई नस्लें पैदा की जाती हैं. मगर वैज्ञानिक मानते हैं कि कज़ाख़िस्तान के पहाड़ी इलाक़ों में अभी भी सेब की कई नस्लें ऐसी हैं जो बाक़ी दुनिया को नहीं मालूम. इनकी ख़ूबियां तलाशने के लिए अमरीकी वैज्ञानिक फिल फोर्सलाइन 1993 में कज़ाख़िस्तान गए थे. फिल अपने तजुर्बे से बताते हैं कि कज़ाख़िस्तान के जंगली सेबों में कई ऐसी ख़ूबियां हैं जिनकी मदद से सेबों की नई नस्लें विकसित की जा सकती हैं.।
Romanized Version
पैदा - वैज्ञानिक मानते हैं कि सेब सबसे पहले मध्य एशियाई देश कज़ाख़िस्तान में पैदा हुए थे. यहीं से ये बाक़ी दुनिया तक पहुंचे. कज़ाख़िस्तान की पहाड़ियों में जन्मा था सेब का पहला पेड़. इसी जंगली सेब से आज दुनिया भर में सेब की सैकड़ों नस्लें फल-फूल रही हैं. खोज - इसके बारे में पता लगाने का श्रेय सिकंदर महान को दिया जाता है। वह मध्य एशिया में जब आया तब उसने इस फल के बारे में जाना और उसी के कारण यूरोप में भी सेब के कई प्रजातियाँ मौजूद है। यह सब से जाद इसके बारे में पता लगाने का श्रेय सिकंदर महान को दिया जाता है। वह मध्य एशिया में इस फल के बारे में जाना और उसी के कारण यूरोप में भी सेब के कई प्रजातियाँ मौजूद है। फायदे - सेब केवल स्वादिष्ट ही नहीं होता है। वरन इसके अंदर कई सारे तत्व भी मौजूद होते हैं। जो हमारे शरीर को पोषण प्रदान करते हैं। शरीर के अंदर आवश्यक पदार्थें की भी पूर्ति करते हैं। इसके अलावा सेब खाने से अनेक प्रकार की बिमारियों के होने की संभावना कम हो जाती है। ल 2013 में पूरी दुनिया मे आठ करोड़ टन सेब पैदा हुआ था. इसमें से भी आधा तो केवल चीन में पैदा किया गया. अकेले अमरीका मे सेब का कारोबार क़रीब चार अरब डॉलर का माना जाता है. दुनिया भर में सेब की सैकड़ों नस्लें हैं. सबकी अपनी अपनी पसंद हैं. किसी को खट्टी-मीठी ग्रैनी स्मिथ नाम की वैराइटी अच्छी लगती है. तो, किसी को बेहद मीठे सेब रेड डेलिशस. यूं तो आज दुनिया के तमाम देशों में सेब उगाए जाते हैं. जैसे भारत में ही कश्मीर और हिमाचल में सेब की कई नस्लें पैदा की जाती हैं. मगर वैज्ञानिक मानते हैं कि कज़ाख़िस्तान के पहाड़ी इलाक़ों में अभी भी सेब की कई नस्लें ऐसी हैं जो बाक़ी दुनिया को नहीं मालूम. इनकी ख़ूबियां तलाशने के लिए अमरीकी वैज्ञानिक फिल फोर्सलाइन 1993 में कज़ाख़िस्तान गए थे. फिल अपने तजुर्बे से बताते हैं कि कज़ाख़िस्तान के जंगली सेबों में कई ऐसी ख़ूबियां हैं जिनकी मदद से सेबों की नई नस्लें विकसित की जा सकती हैं.।Paida - Vaigyanik Manate Hain Ki Seb Sabse Pehle Madhya Asia Desh Kazakhistan Mein Paida Hue The Yahiin Se Ye Baki Duniya Tak Pahuche Kazakhistan Ki Pahadiyon Mein Janma Tha Seb Ka Pehla Ped Isi Jangalee Seb Se Aaj Duniya Bhar Mein Seb Ki Saikadon Naslen Fal Fool Rahi Hain Khoj - Iske Baare Mein Pata Lagane Ka Shrey Sikandar Mahaan Ko Diya Jata Hai Wah Madhya Asia Mein Jab Aaya Tab Usne Is Fal Ke Baare Mein Jana Aur Ussi Ke Kaaran Europe Mein Bhi Seb Ke Kai Prajatiyan Maujud Hai Yeh Sab Se Zad Iske Baare Mein Pata Lagane Ka Shrey Sikandar Mahaan Ko Diya Jata Hai Wah Madhya Asia Mein Is Fal Ke Baare Mein Jana Aur Ussi Ke Kaaran Europe Mein Bhi Seb Ke Kai Prajatiyan Maujud Hai Fayde - Seb Kewal Svaadisht Hi Nahi Hota Hai Varan Iske Andar Kai Sare Tatva Bhi Maujud Hote Hain Jo Hamare Sharir Ko Poshan Pradan Karte Hain Sharir Ke Andar Aavashyak Padarthen Ki Bhi Purti Karte Hain Iske Alava Seb Khane Se Anek Prakar Ki Bimariyon Ke Hone Ki Sambhavna Kum Ho Jati Hai L 2013 Mein Puri Duniya Me Aath Crore Ton Seb Paida Hua Tha Isme Se Bhi Aadha To Kewal Chin Mein Paida Kiya Gaya Akele America Me Seb Ka Karobaar Qarib Char Arab Dollar Ka Mana Jata Hai Duniya Bhar Mein Seb Ki Saikadon Naslen Hain Sabaki Apni Apni Pasand Hain Kisi Ko Khatti Mithi Granny Smith Naam Ki Vairaiti Acchi Lagti Hai To Kisi Ko Behad Mithe Seb Red Delishas Yun To Aaj Duniya Ke Tamam Deshon Mein Seb Ugaye Jaate Hain Jaise Bharat Mein Hi Kashmir Aur Himachal Mein Seb Ki Kai Naslen Paida Ki Jati Hain Magar Vaigyanik Manate Hain Ki Kazakhistan Ke Pahadi Ilaqon Mein Abhi Bhi Seb Ki Kai Naslen Aisi Hain Jo Baki Duniya Ko Nahi Maloom Inki Khubiyan Talashane Ke Liye Amariki Vaigyanik Fill Forsalain 1993 Mein Kazakhistan Gaye The Fill Apne Tajurbe Se Batatey Hain Ki Kazakhistan Ke Jangalee Sabo Mein Kai Aisi Khubiyan Hain Jinaki Madad Se Sabo Ki Nayi Naslen Viksit Ki Ja Sakti Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
एप्पल कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया ... इसका अविष्कार - स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, के किया था । संपादित करें ऐप्पल ने 1983 में "ऐप्पल लिसा" लांच किया। लिसा ग्राफी प्रयोक्ता अंतराफ़लक (जीयुआई) के साथ बेचा जानेवाला पहला पर्सनल कंप्यूटर था। परंतु ऊँची कीमत और सीमित सॉफ्टवेयर की वजह से लिसा को वाणिज्यिक विफलता का सामना करना पड़ा। 1984 में जारी किया गया पहला मैकिन्टौश इसके बाद, 1984 में एप्पल नें बाज़ार में मैकिन्टौश उतारा। इसकी घोषणा एक $1.5 मिलियन डॉलर के टीवी विज्ञापन "1984" के द्वारा की गयी। रिडली स्कॉट द्वारा निर्देशित इस विज्ञापन को एक "मास्टरपीस"[20] एवं ऐप्पल की सफलता में अब एक मील का पत्थर माना जाता है। शुरूआती दौर में मैकिन्टौश की बिक्री अच्छी थी, पर ऊँची कीमत और सीमित सॉफ्टवेयर के कारण आगे की बिक्री कमज़ोर ही रही। मैकिन्टौश किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा के बिना बेचा जाने वाला पहला पर्सनल कंप्यूटर था।
Romanized Version
एप्पल कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया ... इसका अविष्कार - स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, के किया था । संपादित करें ऐप्पल ने 1983 में "ऐप्पल लिसा" लांच किया। लिसा ग्राफी प्रयोक्ता अंतराफ़लक (जीयुआई) के साथ बेचा जानेवाला पहला पर्सनल कंप्यूटर था। परंतु ऊँची कीमत और सीमित सॉफ्टवेयर की वजह से लिसा को वाणिज्यिक विफलता का सामना करना पड़ा। 1984 में जारी किया गया पहला मैकिन्टौश इसके बाद, 1984 में एप्पल नें बाज़ार में मैकिन्टौश उतारा। इसकी घोषणा एक $1.5 मिलियन डॉलर के टीवी विज्ञापन "1984" के द्वारा की गयी। रिडली स्कॉट द्वारा निर्देशित इस विज्ञापन को एक "मास्टरपीस"[20] एवं ऐप्पल की सफलता में अब एक मील का पत्थर माना जाता है। शुरूआती दौर में मैकिन्टौश की बिक्री अच्छी थी, पर ऊँची कीमत और सीमित सॉफ्टवेयर के कारण आगे की बिक्री कमज़ोर ही रही। मैकिन्टौश किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा के बिना बेचा जाने वाला पहला पर्सनल कंप्यूटर था।Apple Company Ki Sthapana 1 April 1976 Ko Hui Aur 3 January 1977 Ko Ise Apple Computer Ink Ke Naam Se Nigmit Kiya Iska Avishkar - Steve Jobs Ne Pehla Aifon Pesh Kar Ke Kiya Tha Sanpadit Karen Apple Ne 1983 Mein Apple Lisa Launch Kiya Lisa Graafi Prayokta Antarafalak Jiyuaai Ke Saath Becha Janevala Pehla Personal Computer Tha Parantu Oonchi Kimat Aur Simith Software Ki Wajah Se Lisa Ko Vanijyik Vifalta Ka Samana Karna Pada Mein Jaari Kiya Gaya Pehla Maikintaush Iske Baad 1984 Mein Apple Ne Bajaar Mein Maikintaush Utara Iski Ghoshana Ek $1.5 Million Dollar Ke Tv Vigyapan "1984" Ke Dwara Ki Gayi Ridley Scott Dwara Nirdeshit Is Vigyapan Ko Ek Masterpiece Evam Apple Ki Safalta Mein Ab Ek Meal Ka Pathar Mana Jata Hai Shuruati Daur Mein Maikintaush Ki Bikri Acchi Thi Par Oonchi Kimat Aur Simith Software Ke Kaaran Aage Ki Bikri Kamazor Hi Rahi Maikintaush Kisi Bhi Programming Bhasha Ke Bina Becha Jaane Wala Pehla Personal Computer Tha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
Apple Company एक अमेरिका की कम्पनी है जो सॉफ्टवेर , हार्डवेयर और फ़ोन और उस से जुड़े उत्पादों के लिए विश्व भर में काम करती है और इसकी शुरुआत तब हुई जब ‘ steve jobs ‘ के मित्र Wozniak एक छोटा कंप्यूटर बनाने पर काम कर रहे थे तो स्टीव को लगा कि उनके इस आईडिया में एक मार्किट पोटेंशियल है और वो इसे मार्किट में बेच सकते है और उन्होंने Wozniak को इस बात के लिए राजी कर लिया कि वो उनके साथ मिलकर बिज़नस करे और इसके बाद दोनों ने मिलकर 1975 में जॉब्स के गैराज में Apple को शुरू किया और उस समय steve की उम्र महज बीस साल थी | इस तरह अप्रेल 1976 में कम्पनी की स्थापना हुई क्योंकि तब तक उनके प्रोजेक्ट एप्पल 1 की वजह से उनके पास इतना कैपिटल हो गया था कि वो एक कम्पनी को शुरू कर सके और उन्होंने अपनी कम्पनी को नाम दिया “ Apple Computer, Inc “ . 9 जनवरी 2007 को जब स्टीव ने पहला iPhone मार्किट में लांच किया तो यह जताने के लिए की अब कम्पनी न केवल कंप्यूटर उत्पादों की तरफ ध्यान दे रही है बल्कि वह दूसरे तरह के इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों पर भी काम कर रही है कम्पनी का नाम बदलकर Apple Inc कर दिया गया | apple को जिस आधार पर बनाया गया था उस समय कम्पनी का उद्देश्य पर्सनल कंप्यूटर बनाकर उन्हें बेचना था और उस समय Wozniak यह काम अपने हाथ से ही किया करते थे और इनके द्वारा बेचे जाने वाले शुरूआती कंप्यूटर की कीमत उस समय $666.66 रखी गयी थी | और यह दौर एप्पल के लिए सफलता का दौर रहा |
Romanized Version
Apple Company एक अमेरिका की कम्पनी है जो सॉफ्टवेर , हार्डवेयर और फ़ोन और उस से जुड़े उत्पादों के लिए विश्व भर में काम करती है और इसकी शुरुआत तब हुई जब ‘ steve jobs ‘ के मित्र Wozniak एक छोटा कंप्यूटर बनाने पर काम कर रहे थे तो स्टीव को लगा कि उनके इस आईडिया में एक मार्किट पोटेंशियल है और वो इसे मार्किट में बेच सकते है और उन्होंने Wozniak को इस बात के लिए राजी कर लिया कि वो उनके साथ मिलकर बिज़नस करे और इसके बाद दोनों ने मिलकर 1975 में जॉब्स के गैराज में Apple को शुरू किया और उस समय steve की उम्र महज बीस साल थी | इस तरह अप्रेल 1976 में कम्पनी की स्थापना हुई क्योंकि तब तक उनके प्रोजेक्ट एप्पल 1 की वजह से उनके पास इतना कैपिटल हो गया था कि वो एक कम्पनी को शुरू कर सके और उन्होंने अपनी कम्पनी को नाम दिया “ Apple Computer, Inc “ . 9 जनवरी 2007 को जब स्टीव ने पहला iPhone मार्किट में लांच किया तो यह जताने के लिए की अब कम्पनी न केवल कंप्यूटर उत्पादों की तरफ ध्यान दे रही है बल्कि वह दूसरे तरह के इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों पर भी काम कर रही है कम्पनी का नाम बदलकर Apple Inc कर दिया गया | apple को जिस आधार पर बनाया गया था उस समय कम्पनी का उद्देश्य पर्सनल कंप्यूटर बनाकर उन्हें बेचना था और उस समय Wozniak यह काम अपने हाथ से ही किया करते थे और इनके द्वारा बेचे जाने वाले शुरूआती कंप्यूटर की कीमत उस समय $666.66 रखी गयी थी | और यह दौर एप्पल के लिए सफलता का दौर रहा |Apple Company Ek America Ki Company Hai Jo Software , Hardware Aur Phone Aur Us Se Jude Utpadon Ke Liye Vishwa Bhar Mein Kaam Karti Hai Aur Iski Shuruvat Tab Hui Jab ‘ Steve Jobs ‘ Ke Mitra Wozniak Ek Chota Computer Banane Par Kaam Kar Rahe The To Steve Ko Laga Ki Unke Is Idea Mein Ek Market Potential Hai Aur Vo Ise Market Mein Bech Sakte Hai Aur Unhone Wozniak Ko Is Baat Ke Liye Raji Kar Liya Ki Vo Unke Saath Milkar Business Kare Aur Iske Baad Dono Ne Milkar 1975 Mein Jobs Ke Mein Apple Ko Shuru Kiya Aur Us Samay Steve Ki Umar Mahaj Biss Saal Thi | Is Tarah 1976 Mein Company Ki Sthapana Hui Kyonki Tab Tak Unke Project Apple 1 Ki Wajah Se Unke Paas Itna Capital Ho Gaya Tha Ki Vo Ek Company Ko Shuru Kar Sake Aur Unhone Apni Company Ko Naam Diya “ Apple Computer, Inc “ . 9 January 2007 Ko Jab Steve Ne Pehla IPhone Market Mein Launch Kiya To Yeh Jatane Ke Liye Ki Ab Company N Kewal Computer Utpadon Ki Taraf Dhyan De Rahi Hai Balki Wah Dusre Tarah Ke Electronic Utpadon Par Bhi Kaam Kar Rahi Hai Company Ka Naam Badalkar Apple Inc Kar Diya Gaya | Apple Ko Jis Aadhar Par Banaya Gaya Tha Us Samay Company Ka Uddeshya Personal Computer Banakar Unhen Bechna Tha Aur Us Samay Wozniak Yeh Kaam Apne Hath Se Hi Kiya Karte The Aur Inke Dwara Beche Jaane Wale Shuruati Computer Ki Kimat Us Samay $666.66 Rakhi Gayi Thi | Aur Yeh Daur Apple Ke Liye Safalta Ka Daur Raha |
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
ऐप्पल इंक॰ एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उत्पादों का डिजाइन और विनिर्माण करता है। ऐप्पल मैकिन्टौश, आईपॉड और आईफ़ोन जैसे हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। राजस्व के मामले में अैप्पल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है एवं सैमसंग और नोकिया के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता है। कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया गया था। कंपनी नाम से "कंप्यूटर" शब्द 9 जनवरी 2007 को हटा दिया गया था, जिस दिन स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स की ओर बढ़ रहे कंपनी के ध्यान को दर्शाया। मई 2013 के रूप में, एप्पल चौदह देशों में 408 रिटेल स्टोर के साथ-साथ ऑनलाइन अैप्पल स्टोर और आईट्यून्स स्टोर भी चलाता है, जो की दुनिया का सबसे बड़ा संगीत बाज़ार है। मार्च 2013 के रूप में अमरीकी $415 बिलियन के अनुमानित मूल्य के साथ ऐप्पल बाजार पूंजीकरण के मामले में दुनिया में सबसे बड़ा सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाला निगम है। 29 सितंबर 2012 के रूप में, विश्व भर में कंपनी के 72,800 स्थायी पूर्णकालिक और 3,300 अस्थायी पूर्णकालिक कर्मचारी थे।2012 में अैप्पल का वार्षिक राजस्व कुल $156 बिलियन था।
Romanized Version
ऐप्पल इंक॰ एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उत्पादों का डिजाइन और विनिर्माण करता है। ऐप्पल मैकिन्टौश, आईपॉड और आईफ़ोन जैसे हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है। राजस्व के मामले में अैप्पल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी है एवं सैमसंग और नोकिया के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता है। कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को हुई और 3 जनवरी 1977 को इसे ऐप्पल कंप्यूटर इंक॰ के नाम से निगमित किया गया था। कंपनी नाम से "कंप्यूटर" शब्द 9 जनवरी 2007 को हटा दिया गया था, जिस दिन स्टीव जॉब्स ने पहला आईफ़ोन पेश कर, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स की ओर बढ़ रहे कंपनी के ध्यान को दर्शाया। मई 2013 के रूप में, एप्पल चौदह देशों में 408 रिटेल स्टोर के साथ-साथ ऑनलाइन अैप्पल स्टोर और आईट्यून्स स्टोर भी चलाता है, जो की दुनिया का सबसे बड़ा संगीत बाज़ार है। मार्च 2013 के रूप में अमरीकी $415 बिलियन के अनुमानित मूल्य के साथ ऐप्पल बाजार पूंजीकरण के मामले में दुनिया में सबसे बड़ा सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाला निगम है। 29 सितंबर 2012 के रूप में, विश्व भर में कंपनी के 72,800 स्थायी पूर्णकालिक और 3,300 अस्थायी पूर्णकालिक कर्मचारी थे।2012 में अैप्पल का वार्षिक राजस्व कुल $156 बिलियन था।Apple Ink Ek American Bahuraashtreeya Company Hai Jo Upabhokta Electronics Aur Computer Software Utpadon Ka Design Aur Vinirmaan Karta Hai Apple Maikintaush Ipod Aur Aifon Jaise Hardware Utpadon Ke Liye Prasiddh Hai Raajaswa Ke Mamle Mein Aaippal Samsung Electronics Ke Baad Duniya Ki Dusri Sabse Badi Soochna Praudyogiki Company Hai Evam Samsung Aur Nokiya Ke Baad Duniya Ki Teesri Sabse Badi Mobile Phone Nirmaata Hai Company Ki Sthapana 1 April 1976 Ko Hui Aur 3 January 1977 Ko Ise Apple Computer Ink Ke Naam Se Nigmit Kiya Gaya Tha Company Naam Se Computer Shabdh 9 January 2007 Ko Hata Diya Gaya Tha Jis Din Steve Jobs Ne Pehla Aifon Pesh Kar Upabhokta Electronics Ki Oar Badh Rahe Company Ke Dhyan Ko Darshaya May 2013 Ke Roop Mein Apple Chaudah Deshon Mein 408 Retail Store Ke Saath Saath Online Aaippal Store Aur Aityuns Store Bhi Chalata Hai Jo Ki Duniya Ka Sabse Bada Sangeet Bajaar Hai March 2013 Ke Roop Mein Amariki $415 Billion Ke Anumaneet Mulya Ke Saath Apple Bazar Punjikaran Ke Mamle Mein Duniya Mein Sabse Bada Sarvajanik Roop Se Karobaar Karne Wala Nigam Hai 29 September 2012 Ke Roop Mein Vishwa Bhar Mein Company Ke 72,800 Sthayi Purnakalik Aur 3,300 Asthayi Purnakalik Karmchari The Mein Aaippal Ka Vaarshik Raajaswa Kul $156 Billion Tha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
ऐप्पल इंक एक अमेरिकन बहुराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी है जिसका मुख्यालय क्यूपर्टिनो, कैलिफ़ोर्निया में है, जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और ऑनलाइन सेवाओं को डिज़ाइन, विकसित और बेचता है। कंपनी के हार्डवेयर उत्पादों में आईफोन स्मार्टफोन, आईपैड टैबलेट कंप्यूटर, मैक पर्सनल कंप्यूटर, आईपॉड पोर्टेबल मीडिया प्लेयर, ऐप्पल वॉच स्मार्टवॉच, ऐप्पल टीवी डिजिटल मीडिया प्लेयर और होमपॉड स्मार्ट स्पीकर शामिल हैं।
Romanized Version
ऐप्पल इंक एक अमेरिकन बहुराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी है जिसका मुख्यालय क्यूपर्टिनो, कैलिफ़ोर्निया में है, जो उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और ऑनलाइन सेवाओं को डिज़ाइन, विकसित और बेचता है। कंपनी के हार्डवेयर उत्पादों में आईफोन स्मार्टफोन, आईपैड टैबलेट कंप्यूटर, मैक पर्सनल कंप्यूटर, आईपॉड पोर्टेबल मीडिया प्लेयर, ऐप्पल वॉच स्मार्टवॉच, ऐप्पल टीवी डिजिटल मीडिया प्लेयर और होमपॉड स्मार्ट स्पीकर शामिल हैं।Apple Ink Ek American Bahuraashtreeya Praudyogiki Company Hai Jiska Mukhyalay Kyupartino Kailiforniya Mein Hai Jo Upabhokta Electronics Computer Software Aur Online Sewaon Ko Design Viksit Aur Bechata Hai Company Ke Hardware Utpadon Mein Iphone Smartphone Ipad Tablet Computer Mac Personal Computer Ipod Portable Media Player Apple Watch Smartwatch Apple Tv Digital Media Player Aur Hompad Smart Speaker Shamil Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
एप्पल कंप्यूटर की खोज कब और किसने की थी ऐप्पल कंप्यूटर कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल, 1 9 76 को स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनीक और रोनाल्ड वेन ने की थी। कंपनी का पहला उत्पाद ऐप्पल आई था, जो एक कंप्यूटर अकेले हाथ से डिजाइन और हाथ से बनाया गया था
Romanized Version
एप्पल कंप्यूटर की खोज कब और किसने की थी ऐप्पल कंप्यूटर कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल, 1 9 76 को स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनीक और रोनाल्ड वेन ने की थी। कंपनी का पहला उत्पाद ऐप्पल आई था, जो एक कंप्यूटर अकेले हाथ से डिजाइन और हाथ से बनाया गया थाApple Computer Ki Khoj Kab Aur Kisne Ki Thi Apple Computer Company Ki Sthapana 1 April 1 9 76 Ko Steve Jobs Steve Aur Ronald Vein Ne Ki Thi Company Ka Pehla Utpaad Apple Eye Tha Jo Ek Computer Akele Hath Se Design Aur Hath Se Banaya Gaya Tha
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon