इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम? इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है आपका सवाल थोड़ा टेढ़ा है इंसान टाइम से ही पैसे कमा सकता है पर एग्जांपल आजकल तो कैरेज नहीं है पैसे कमाने के लिए लेकिन अगर टाइम से आप पढ़ाई कर लेंगे सही रास्ता चुन लेंगे सही फील्ड में पढ़ाई करेंगे और सही नौकरी या बिजनेस खोलेंगे तो बहुत ही यंग एज में करेक्ट टाइम में आप पैसे कमा लेंगे जिससे आप एंजॉय भी कर सके अगर आपकी आंखें खोलेंगे 50 साल में और फिर आप कोशिश करेंगे और अपने बिजनेस को लेंगे तो इसमें आप उसको एंजॉय कर पाएंगे उन पैसों को तो टाइमिंग के यहां पर यह कहता है हमें किस सही वक्त पर क्रम सही चीजें करेंगे तो पैसे पैसे भी कमा सकते हैं उसको एंजॉय भी कर सकते दूसरों की मदद भी कर सकते हैं तो हर एक चीज अगर सही समय समय पर होगा तो डेफिनिटी लाभदायक होगा जहां तक आप यह सवाल है कि पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम तो यह कसूर मेरा को दोनों बहुत इंपॉर्टेंट है पैसा टाइम बोतल खोल इंपॉर्टेंट अगर टाइमिंग गलत है तो पैसा कमाना मुश्किल है ऐसा कहते हैं लेकिन आजकल ऐसा है कि एनी टाइम कुछ भी किया जा सकता है लोग अपने करियर को चेंज कर रहे हैं 50 साल में लोग बिजनेस खोल रेस में तो आजकल टाइम बता कुछ है नहीं आईएस मनी इस गरीब वारंट पैसे से जिंदगी चलती है तो यस मैन इस वेरी इंपॉर्टेंट इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है उनके पास पैसे कम है या फिर इतने ज्यादा है क्यों डर लग रहा है कि खत्म हो जाएगा इन सिक्योर हो गए हैं इसलिए इंसान पैसे के पीछे भागता है या फिर कोई हाई मिलता हो या फिर प्रेस्टीज स्टेटस के लिए भागता है जहां पर आप पैसे कमाते हैं और वह पैसे की खुशी आपके दिल में जाती है दिमाग में नहीं तो आप एक बैलेंस इंसान होंगे जहां पर आपका सक्सेस और पैसा आपके दिमाग में जाता है वहां पर आप अर्जेंट और प्राइवेट और बहुत ही घमंडी इंसान बन जाते हैं जो किसी हमारे लिए कोई फुल नहीं है वह तो प्लीज समय और अपनी पर्सनैलिटी को सही तरह से डालिए टू बी एबल टो हेल्प योरसेल्फ एंड वर्ल्ड
इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है आपका सवाल थोड़ा टेढ़ा है इंसान टाइम से ही पैसे कमा सकता है पर एग्जांपल आजकल तो कैरेज नहीं है पैसे कमाने के लिए लेकिन अगर टाइम से आप पढ़ाई कर लेंगे सही रास्ता चुन लेंगे सही फील्ड में पढ़ाई करेंगे और सही नौकरी या बिजनेस खोलेंगे तो बहुत ही यंग एज में करेक्ट टाइम में आप पैसे कमा लेंगे जिससे आप एंजॉय भी कर सके अगर आपकी आंखें खोलेंगे 50 साल में और फिर आप कोशिश करेंगे और अपने बिजनेस को लेंगे तो इसमें आप उसको एंजॉय कर पाएंगे उन पैसों को तो टाइमिंग के यहां पर यह कहता है हमें किस सही वक्त पर क्रम सही चीजें करेंगे तो पैसे पैसे भी कमा सकते हैं उसको एंजॉय भी कर सकते दूसरों की मदद भी कर सकते हैं तो हर एक चीज अगर सही समय समय पर होगा तो डेफिनिटी लाभदायक होगा जहां तक आप यह सवाल है कि पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम तो यह कसूर मेरा को दोनों बहुत इंपॉर्टेंट है पैसा टाइम बोतल खोल इंपॉर्टेंट अगर टाइमिंग गलत है तो पैसा कमाना मुश्किल है ऐसा कहते हैं लेकिन आजकल ऐसा है कि एनी टाइम कुछ भी किया जा सकता है लोग अपने करियर को चेंज कर रहे हैं 50 साल में लोग बिजनेस खोल रेस में तो आजकल टाइम बता कुछ है नहीं आईएस मनी इस गरीब वारंट पैसे से जिंदगी चलती है तो यस मैन इस वेरी इंपॉर्टेंट इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है उनके पास पैसे कम है या फिर इतने ज्यादा है क्यों डर लग रहा है कि खत्म हो जाएगा इन सिक्योर हो गए हैं इसलिए इंसान पैसे के पीछे भागता है या फिर कोई हाई मिलता हो या फिर प्रेस्टीज स्टेटस के लिए भागता है जहां पर आप पैसे कमाते हैं और वह पैसे की खुशी आपके दिल में जाती है दिमाग में नहीं तो आप एक बैलेंस इंसान होंगे जहां पर आपका सक्सेस और पैसा आपके दिमाग में जाता है वहां पर आप अर्जेंट और प्राइवेट और बहुत ही घमंडी इंसान बन जाते हैं जो किसी हमारे लिए कोई फुल नहीं है वह तो प्लीज समय और अपनी पर्सनैलिटी को सही तरह से डालिए टू बी एबल टो हेल्प योरसेल्फ एंड वर्ल्ड
Likes  60  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

इंसान कामयाब कैसे हो सकता है, जैसे की पढ़ाई लिखाई में पैसे कमाने ऐसे और भी चीज़ें है क्या ? ...

लिखे इंसान को कामयाब होने के लिए सबसे पहले स्टेप बाय स्टेप 1 को अपने जीवन को चलाना पड़ता क्योंकि की सबसे पहले पढ़ाई लिखाई करनी पड़ती है पढ़ाई लिखाई के बाद एक अच्छे से देख लेना पड़ता है जैसे कि इंजीनियजवाब पढ़िये
ques_icon

पढ़ाई लिखाई करके इंसान नौकरी क्यो ढूंढता है जबकि ज्यादा पैसा बिजनेस में हैं ? ...

ऐसा नहीं है कि पैसा सिर्फ बिजनेस में नौकरी में भी ऐसी नौकरियां होती है जिसमें लाखों रुपए का पैकेज मिलता है और एक बात यह भी है कि पैसे से ही पैसा बनता है नौकरी करने के लिए पैसे की आवश्यकता नहीं होती हैजवाब पढ़िये
ques_icon

भारत में ऐसा कौन सा व्यापार है जिससे इंसान के पास बहुत जल्द ही पैसा ही पैसा हो जाए ? ...

लिखित किसी भी व्यापार में ऐसा नहीं है क्या 5 दिन में करें तो आपको कल पैसा मिलेगा ही मिलेगा बट मुझे लगता है कि दो चीजें ऐसी हैं जिनकी जरूरत हमेशा पड़े तना खाना दूसरा कपड़ा तुम मुझे लगता है अगर आप खाने जवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में पैसा है और वक्त नहीं है तो फिर ए ग्रेट फील होता है कि हम इतना पैसा फिर क्यों कम आ रहे हैं किस के लिए कमा लिया कर मुझे इंजॉय ना करें हर वक्त है पैसा नहीं है तो फिर बहुत बुरा लगता है कि हम किस परिस्थिति से जूझ रहे हैं हर एक पाई पाई के लिए में तरसना पड़ता है पैसा और वक्त दोनों बहुत इंपॉर्टेंट है दोनों को बैलेंस करके हमें लाइफ में चलना पड़ता है पैसा भी जरूरी है वक्त भी जरूरी पैसे के साथ वक्त को भी पाई पाई के हिसाब से खर्चा करें वक्त का भी एक एक वक्त का 1 सेकंड का हिसाब रखते वक्त का घर हिसाब नहीं रखते हो तब बहुत ज्यादा लॉस में चल रहे हो कैसे कि साथ देखने के लिए आप रखते ही पैसे के पीछे मत भागो ऐसा भी वक्त भी कमाओ वक्त भी खर्चा करते वक्त है तो पैसा भी कमाल दोनों जरूरी है इसमें अगर दोनों में से नहीं है ना यह रेलवे लाइन के उस पटरी की तरह है अगर एक हिस्सा नहीं है तो दिल्ली नहीं चलेगी ना जिंदगी की जिंदगी की रेल चलाने के लिए दोनों समान स्तर पर महत्वपूर्ण
इंसान की लाइफ में पैसा है और वक्त नहीं है तो फिर ए ग्रेट फील होता है कि हम इतना पैसा फिर क्यों कम आ रहे हैं किस के लिए कमा लिया कर मुझे इंजॉय ना करें हर वक्त है पैसा नहीं है तो फिर बहुत बुरा लगता है कि हम किस परिस्थिति से जूझ रहे हैं हर एक पाई पाई के लिए में तरसना पड़ता है पैसा और वक्त दोनों बहुत इंपॉर्टेंट है दोनों को बैलेंस करके हमें लाइफ में चलना पड़ता है पैसा भी जरूरी है वक्त भी जरूरी पैसे के साथ वक्त को भी पाई पाई के हिसाब से खर्चा करें वक्त का भी एक एक वक्त का 1 सेकंड का हिसाब रखते वक्त का घर हिसाब नहीं रखते हो तब बहुत ज्यादा लॉस में चल रहे हो कैसे कि साथ देखने के लिए आप रखते ही पैसे के पीछे मत भागो ऐसा भी वक्त भी कमाओ वक्त भी खर्चा करते वक्त है तो पैसा भी कमाल दोनों जरूरी है इसमें अगर दोनों में से नहीं है ना यह रेलवे लाइन के उस पटरी की तरह है अगर एक हिस्सा नहीं है तो दिल्ली नहीं चलेगी ना जिंदगी की जिंदगी की रेल चलाने के लिए दोनों समान स्तर पर महत्वपूर्ण
Likes  57  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइट में टाइम इंपोर्टेंट है अगर आप टाइम को महत्व देते हैं और टाइम के हिसाब से टाइम का इस्तेमाल अच्छा करते हैं यह मान के लिए पैसा अपने पीछे पीछे भागे समय का दुरुपयोग करते हैं तो हमारा दायित्व के लिए हमें अपने 24 घंटों को ऐसे निर्धारित करना चाहिए कि हम हमारे एक 1 मिनट एक एक सेकंड कीमती रहे और उसका कोई न कोई मतलब निकले हमें अपना टाइम बहुत अच्छे से पेंट करना चाहिए
इंसान की लाइट में टाइम इंपोर्टेंट है अगर आप टाइम को महत्व देते हैं और टाइम के हिसाब से टाइम का इस्तेमाल अच्छा करते हैं यह मान के लिए पैसा अपने पीछे पीछे भागे समय का दुरुपयोग करते हैं तो हमारा दायित्व के लिए हमें अपने 24 घंटों को ऐसे निर्धारित करना चाहिए कि हम हमारे एक 1 मिनट एक एक सेकंड कीमती रहे और उसका कोई न कोई मतलब निकले हमें अपना टाइम बहुत अच्छे से पेंट करना चाहिए
Likes  58  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में सबसे जरूरी है उसका कहां है हेल्थ और उसकी शांति फिर भी जीवन पैसा भी जरूरी है और समय भी जरूरी है और वह आदमी सक्सेसफुल वही है जो दोनों का बैलेंस बना पाता है अगर आप पैसा बना लेते हैं समय नहीं तो फिर आप ऐसे का मूल आपके लिए नहीं है आपके पीछे के लोगों के लिए आपके परिवार के लोगों के लिए है उसकी पत्नी के लिए है बस को बच्चों के लिए आपके लिए नहीं लेकिन अगर आप चाहते हैं क्या पर सामूहिक ता के साथ इसका इंजॉय करें परिवार के साथ दोस्तों के साथ समाज के साथ तो आपको पैसे और टाइम दोनों का बैलेंस बनाना पड़ेगा
इंसान की लाइफ में सबसे जरूरी है उसका कहां है हेल्थ और उसकी शांति फिर भी जीवन पैसा भी जरूरी है और समय भी जरूरी है और वह आदमी सक्सेसफुल वही है जो दोनों का बैलेंस बना पाता है अगर आप पैसा बना लेते हैं समय नहीं तो फिर आप ऐसे का मूल आपके लिए नहीं है आपके पीछे के लोगों के लिए आपके परिवार के लोगों के लिए है उसकी पत्नी के लिए है बस को बच्चों के लिए आपके लिए नहीं लेकिन अगर आप चाहते हैं क्या पर सामूहिक ता के साथ इसका इंजॉय करें परिवार के साथ दोस्तों के साथ समाज के साथ तो आपको पैसे और टाइम दोनों का बैलेंस बनाना पड़ेगा
Likes  59  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की जीवन में समय की महत्वता ज्यादा है मंच पर पैसे की लेकिन हां हम पैसे की जरूरत है उसको आप नकार भी नहीं सकते तो ऐसा इतना हो कि जीवन व्यापन के लिए पर्याप्त और अगर हम मध्य मार्ग को ले तो सारी चीजें अनुपात होनी चाहिए पैसे कमाने का कोई कोई सीमा नहीं है या इसलिए हम कहते हैं कि आप पैसे के लिए कैसी दौड़ एक अंधी दौड़ है जिसका कोई अंत नहीं है तो यह जाना है कि आपको नॉरमल जीवन यापन करने के लिए कितना धन की आवश्यकता है और फिर आप यह देखें कि आप किन खर्चों पर आप अधिक जो है अपना विश कर रहे हैं अपनों को तो एक और अच्छी लाइफ जरूरी है कि आप जो है वह करोड़पति बनें बल्कि समतुल्य होना चाहिए
इंसान की जीवन में समय की महत्वता ज्यादा है मंच पर पैसे की लेकिन हां हम पैसे की जरूरत है उसको आप नकार भी नहीं सकते तो ऐसा इतना हो कि जीवन व्यापन के लिए पर्याप्त और अगर हम मध्य मार्ग को ले तो सारी चीजें अनुपात होनी चाहिए पैसे कमाने का कोई कोई सीमा नहीं है या इसलिए हम कहते हैं कि आप पैसे के लिए कैसी दौड़ एक अंधी दौड़ है जिसका कोई अंत नहीं है तो यह जाना है कि आपको नॉरमल जीवन यापन करने के लिए कितना धन की आवश्यकता है और फिर आप यह देखें कि आप किन खर्चों पर आप अधिक जो है अपना विश कर रहे हैं अपनों को तो एक और अच्छी लाइफ जरूरी है कि आप जो है वह करोड़पति बनें बल्कि समतुल्य होना चाहिए
Likes  58  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जैसे आपने पूछा कि लाइफ में ऐसा ज्यादा इंपॉर्टेंट है या तना तन बॉयफ्रेंड है तो इससे पहला क्वेश्चन आंसर की लाइफ में या मनुष्य के जीवन में सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट उसका टाइम होता है अगर आप सही डिलीवर सही समय पर सही निर्णय लेकर आगे पड़ते हैं तो आपको सक्सेसफुल होने से आपको विकास करने से कोई भी नहीं रोक सकता हां कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि पैसे के पीछे भागते हैं ऐसा नहीं करना चाहिए पैसे को सेकेंडरी रखना चाहिए और जो टाइम है जो वक्त है उसको सबसे प्राइमरी रखना चाहिए अपनी जीवन में मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
लिखे जैसे आपने पूछा कि लाइफ में ऐसा ज्यादा इंपॉर्टेंट है या तना तन बॉयफ्रेंड है तो इससे पहला क्वेश्चन आंसर की लाइफ में या मनुष्य के जीवन में सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट उसका टाइम होता है अगर आप सही डिलीवर सही समय पर सही निर्णय लेकर आगे पड़ते हैं तो आपको सक्सेसफुल होने से आपको विकास करने से कोई भी नहीं रोक सकता हां कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि पैसे के पीछे भागते हैं ऐसा नहीं करना चाहिए पैसे को सेकेंडरी रखना चाहिए और जो टाइम है जो वक्त है उसको सबसे प्राइमरी रखना चाहिए अपनी जीवन में मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा होता इन दोनों की कदर नहीं साफ करना
ऐसा होता इन दोनों की कदर नहीं साफ करना
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर चीज की जीवन में अपनी अपनी बॉटल्स होती है पैसा अपनी जगह इंर्पोटेंट है उसके बिना आपकी जगह का नहीं चल सकते लेकिन टाइम उससे भी ज्यादा इंपोर्टेंट है अगर समय निकल गया आपने जिंदगी को जिया ही नहीं फिर क्या फायदा इस पैसे का और लोग इसी लिए पैसे के पीछे भाग रहे हैं क्योंकि 2 मिनट कोई रुक के सोचने को ही तैयार नहीं है कि हम यह पैसा कमा किसके लिए रहे हैं जिंदगी को अच्छी और मजेदार बनाने के लिए और एक बार रेस में लग गए और फिर सब भूल गए कि किस लिए कमा रहे थे और सिर्फ कमाने के पीछे भाग रहे हैं कैसा जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए एक उपाय है और लोगों ने उसे अपना गोल समझ लिया है
हर चीज की जीवन में अपनी अपनी बॉटल्स होती है पैसा अपनी जगह इंर्पोटेंट है उसके बिना आपकी जगह का नहीं चल सकते लेकिन टाइम उससे भी ज्यादा इंपोर्टेंट है अगर समय निकल गया आपने जिंदगी को जिया ही नहीं फिर क्या फायदा इस पैसे का और लोग इसी लिए पैसे के पीछे भाग रहे हैं क्योंकि 2 मिनट कोई रुक के सोचने को ही तैयार नहीं है कि हम यह पैसा कमा किसके लिए रहे हैं जिंदगी को अच्छी और मजेदार बनाने के लिए और एक बार रेस में लग गए और फिर सब भूल गए कि किस लिए कमा रहे थे और सिर्फ कमाने के पीछे भाग रहे हैं कैसा जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए एक उपाय है और लोगों ने उसे अपना गोल समझ लिया है
Likes  58  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड एक इंसान की लाइफ में पैसा और टाइम दोनों ही इंपॉर्टेंट है अगर आपके पास पैसा है और टाइम नहीं है तो पैसा बेकार है और अगर आपके पास टाइम है और पैसा नहीं है तो भी बेकार है इसलिए आपको दोनों के बीच में बैलेंस बनाकर चलना चाहिए कि मेरे पास इतना पैसा वह जो मैं इंजॉय कर सकता हूं पर उसके लिए मेरे पास टाइम भी हो क्योंकि अगर मेरे पास टाइम नहीं है तो मैं रात में ही बात करूंगा और किसी भी चीज को फील करके एक्सीडेंट करके लाइफ को नहीं दूंगा आज की डेट में इंसान के पीछे भागता है यह मेरी अपनी पर्सनल ओपिनियन है कि कहीं ना कहीं इंसान के अंदर एक खालीपन है जिसे वह अपनी अपने टैलेंट अपनी क्रिएटिविटी अपने रिश्तों से नहीं भर पाता है और उसको पूरा करने के लिए वह पैसे के पीछे भागता है और उसको लगता है कि कहीं ना कहीं पैसा कमाकर मैं उस व्हाइट हाउस खालीपन को पूरा कर पाऊंगा पर एक स्टेज पर जाकर उसको समझ में आता है कि पैसे से कुछ वर्ल्ड को नहीं भरा जा सकता गुड बाय
हेलो फ्रेंड एक इंसान की लाइफ में पैसा और टाइम दोनों ही इंपॉर्टेंट है अगर आपके पास पैसा है और टाइम नहीं है तो पैसा बेकार है और अगर आपके पास टाइम है और पैसा नहीं है तो भी बेकार है इसलिए आपको दोनों के बीच में बैलेंस बनाकर चलना चाहिए कि मेरे पास इतना पैसा वह जो मैं इंजॉय कर सकता हूं पर उसके लिए मेरे पास टाइम भी हो क्योंकि अगर मेरे पास टाइम नहीं है तो मैं रात में ही बात करूंगा और किसी भी चीज को फील करके एक्सीडेंट करके लाइफ को नहीं दूंगा आज की डेट में इंसान के पीछे भागता है यह मेरी अपनी पर्सनल ओपिनियन है कि कहीं ना कहीं इंसान के अंदर एक खालीपन है जिसे वह अपनी अपने टैलेंट अपनी क्रिएटिविटी अपने रिश्तों से नहीं भर पाता है और उसको पूरा करने के लिए वह पैसे के पीछे भागता है और उसको लगता है कि कहीं ना कहीं पैसा कमाकर मैं उस व्हाइट हाउस खालीपन को पूरा कर पाऊंगा पर एक स्टेज पर जाकर उसको समझ में आता है कि पैसे से कुछ वर्ल्ड को नहीं भरा जा सकता गुड बाय
Likes  65  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में मेरे साथ से पैसा कम इंपॉर्टेंट है टाइम ज्यादा इंपॉर्टेंट है क्योंकि अगर आपको टाइम का रेस्पेक्ट करना आ गया टाइम को प्रपोज करना आगे पैसे तो बहुत सारे काम आ ही लेंगे ऐसा कुछ भी नहीं है क्या पैसे नहीं कमा पाएंगे और दूसरी बात यह है कि जो इंसान पीछे क्यों भाग रहा है इतने पैसे के पैसे के पीछे भागता है कैसा जाएगा तो सारी खुशियां आ जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं है खुशियों के लिए बहुत सारे लेकिन खुशी कभी भी नहीं खरीदी जा सकती है पैसे से यह समझना बहुत जरूरी है कि आप एक बहुत महंगी गाड़ी खरीद लेंगे पैसे से आएगी कि नहीं आएगी आपको खुशी क्या उसमें अकेले बैठ कितने में आएगी आपके साथ आपके फ्रेंड्स होंगे आपकी फैमिली होंगे ज्यादा इंजॉय कर इंपॉर्टेंस नहीं है तो यह समझना है कि वह पैसे से नहीं आ सकती है पैसे को महत्व दिया उतना ही महत्व दें जितना जरूरी है
इंसान की लाइफ में मेरे साथ से पैसा कम इंपॉर्टेंट है टाइम ज्यादा इंपॉर्टेंट है क्योंकि अगर आपको टाइम का रेस्पेक्ट करना आ गया टाइम को प्रपोज करना आगे पैसे तो बहुत सारे काम आ ही लेंगे ऐसा कुछ भी नहीं है क्या पैसे नहीं कमा पाएंगे और दूसरी बात यह है कि जो इंसान पीछे क्यों भाग रहा है इतने पैसे के पैसे के पीछे भागता है कैसा जाएगा तो सारी खुशियां आ जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं है खुशियों के लिए बहुत सारे लेकिन खुशी कभी भी नहीं खरीदी जा सकती है पैसे से यह समझना बहुत जरूरी है कि आप एक बहुत महंगी गाड़ी खरीद लेंगे पैसे से आएगी कि नहीं आएगी आपको खुशी क्या उसमें अकेले बैठ कितने में आएगी आपके साथ आपके फ्रेंड्स होंगे आपकी फैमिली होंगे ज्यादा इंजॉय कर इंपॉर्टेंस नहीं है तो यह समझना है कि वह पैसे से नहीं आ सकती है पैसे को महत्व दिया उतना ही महत्व दें जितना जरूरी है
Likes  63  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों रोहित शर्मा एंड कोच डॉट नेट बंद किए पैसे कैसे कमाए मैं यह कहना चाहूंगा कि अगेंस्ट द प्रिंसिपल ऑफ योर प्रिंसिपल एनर्जी फंड किस प्रकार की हो शायद ऐसा कुछ किया जा सकता किसी के पैसे कमाए जा सके लेकिन उसके अंदर आपका टैलेंट या आपका जो इंटेलेक्ट यानी कि आपकी जो नॉलेज है ऐसी चीजों की इन्वेस्टमेंट होगी जैसे कि अगर आप एक बहुत अच्छे डांसर हैं आप डांस करना शुरू कर दीजिए तो पैसे आने लग जाएगी इस तरह से पैसे कमाने लग जाएंगे अगर आप बहुत इंटेलिजेंट है तो आप अपने कंसल्टेंसी का काम कर सकते हो जिसमें आपको कुछ खास पैसे की इंगेजमेंट करने की जरूरत नहीं है सिर्फ अपने माइंड क्रिएटिंग नॉलेज की इंगेजमेंट करनी आप लोगों की मदद करनी है बस यही
नमस्कार दोस्तों रोहित शर्मा एंड कोच डॉट नेट बंद किए पैसे कैसे कमाए मैं यह कहना चाहूंगा कि अगेंस्ट द प्रिंसिपल ऑफ योर प्रिंसिपल एनर्जी फंड किस प्रकार की हो शायद ऐसा कुछ किया जा सकता किसी के पैसे कमाए जा सके लेकिन उसके अंदर आपका टैलेंट या आपका जो इंटेलेक्ट यानी कि आपकी जो नॉलेज है ऐसी चीजों की इन्वेस्टमेंट होगी जैसे कि अगर आप एक बहुत अच्छे डांसर हैं आप डांस करना शुरू कर दीजिए तो पैसे आने लग जाएगी इस तरह से पैसे कमाने लग जाएंगे अगर आप बहुत इंटेलिजेंट है तो आप अपने कंसल्टेंसी का काम कर सकते हो जिसमें आपको कुछ खास पैसे की इंगेजमेंट करने की जरूरत नहीं है सिर्फ अपने माइंड क्रिएटिंग नॉलेज की इंगेजमेंट करनी आप लोगों की मदद करनी है बस यही
Likes  63  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है कि इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है इसका सीधा सा एग्जांपल है उदाहरण मैं पेश करना चाहता हूं इंसान के लिए टाइम बहुत इंपॉर्टेंट है लेकिन जनता अपने जन्मदिन पर पहुंचती है व्यक्ति की आवश्यकता बढ़ती जाती है और वह अपने सपने को पूरा करने के लिए जो माध्यम करता है क्योंकि यहां पर इस आर्थिक युग में अपने लक्ष्य को अपने बच्चों को अपने परिवार को साथ में लेकर चलना उन को अच्छी शिक्षा रहन-सहन खान-पान की व्यवस्था करना उसमें पैसा बहुत इंपॉर्टेंट होता है तो पैसे से ज्यादा टाइम इंपॉर्टेंट है और टाइम इज मनी और हम टाइम तभी इन्वेस्ट करते हैं जब उसकी एवज में कोई पैसा दे ओके सर मेरी बात आपको समझ में आ गया होगा पहले के समय क्या था कि टाइम इंपॉर्टेंट था ऐसा इंपॉर्टेंट नहीं था आज के समय में बेटा मैंने शहरों में देखा हूं कस्बे में देखा हूं कि एक आदमी मर जाता उसको कंधे देने के लिए 4 लोग इकट्ठा नहीं हो पाते हैं सब की याद में देखेंगे ग्रामीण एरिया अंचल में देखेंगे तो वहां पर बहुत सारे लोग इकट्ठा होते हैं संवेदना व्यक्त करते हैं आपके दुख में शामिल होते हैं जैसे इंपॉर्टेंट टाइम इज मनी पैसा है उसकी महत्व बढ़ जाएगी उसके उसके बाद उस समय नहीं दे पाएगा एक सीधा वर्ड है कि भूखे पेट भजन नहीं होता है और कुपोषण के लिए पैसा बहुत इंपॉर्टेंट बेस्ट आफ लक गोविंद शुक्ला
हेलो फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है कि इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या टाइम इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है इसका सीधा सा एग्जांपल है उदाहरण मैं पेश करना चाहता हूं इंसान के लिए टाइम बहुत इंपॉर्टेंट है लेकिन जनता अपने जन्मदिन पर पहुंचती है व्यक्ति की आवश्यकता बढ़ती जाती है और वह अपने सपने को पूरा करने के लिए जो माध्यम करता है क्योंकि यहां पर इस आर्थिक युग में अपने लक्ष्य को अपने बच्चों को अपने परिवार को साथ में लेकर चलना उन को अच्छी शिक्षा रहन-सहन खान-पान की व्यवस्था करना उसमें पैसा बहुत इंपॉर्टेंट होता है तो पैसे से ज्यादा टाइम इंपॉर्टेंट है और टाइम इज मनी और हम टाइम तभी इन्वेस्ट करते हैं जब उसकी एवज में कोई पैसा दे ओके सर मेरी बात आपको समझ में आ गया होगा पहले के समय क्या था कि टाइम इंपॉर्टेंट था ऐसा इंपॉर्टेंट नहीं था आज के समय में बेटा मैंने शहरों में देखा हूं कस्बे में देखा हूं कि एक आदमी मर जाता उसको कंधे देने के लिए 4 लोग इकट्ठा नहीं हो पाते हैं सब की याद में देखेंगे ग्रामीण एरिया अंचल में देखेंगे तो वहां पर बहुत सारे लोग इकट्ठा होते हैं संवेदना व्यक्त करते हैं आपके दुख में शामिल होते हैं जैसे इंपॉर्टेंट टाइम इज मनी पैसा है उसकी महत्व बढ़ जाएगी उसके उसके बाद उस समय नहीं दे पाएगा एक सीधा वर्ड है कि भूखे पेट भजन नहीं होता है और कुपोषण के लिए पैसा बहुत इंपॉर्टेंट बेस्ट आफ लक गोविंद शुक्ला
Likes  72  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दूसरे जीवन में हर एक चीज का अपना महत्व होता है चाहे वो टाइम हो चाहे वह पैसा चलिए हम पैसे की बात करते हैं पहले अगर कहीं पर पैसे की जरूरत है तो वहां पर उसका रिप्लेसमेंट नहीं हो सकता फीस भरनी है कुछ काम के लिए पैसे चाहिए तो वहां पर वही पैसे ही चलेंगे कुछ और नहीं चलेगा सोच के देखिए इसी तरह जब हम टाइम की बात करते हैं तो चाय में इतना प्रेशर से इसकी हम बता नहीं सकते अगर यह चाहिए था कि हमें अपनी स्टडीज पर फोकस करना है और अगर हमें नहीं किया तो बस छूट जाएगी अगर किसी टाइम पर हमें कुछ काम करना था अगर हमने बोल काम नहीं किया उस समय तो हमारा टाइम खराब हो जाएगा चला जाएगा टाइम तो वह है जो एक बार आता है उसके बाद अगर उससे मैंने अटेंशन पर नहीं किया उस पर तो वो टाइम चले जाता है हर समय टाइम निकलता हुआ जा रहा है हमें यह देखना है कि क्या मैं इस समय वह काम कर रहा हूं जो मुझे करने की जरूरत है इसी टाइम में हम अगर कोई रिलेशनशिप को सुधारना है और आपने अगर उस पर ध्यान नहीं दिया धारानी तो क्या वह सुधर सकता है कि नहीं वो टाइम चला गया बस चला गया कुछ नहीं हो सकता अब जब बात होती है कि इंसान पैसे के पीछे भागते हैं इनकी भागता तो नहीं है लेकिन हां पैसे चाहिए होते हैं इंसान को आज की तारीख में यह दवाई पैसा है कि बहुत इंपॉर्टेंट और उल्लेख करता है हर एक चीज हर एक जगह पर आपको पैसा चाहिए होता है आपको तो यह देखना है कि मैं अपने पैसे कैसे ऑन करूं रिस्पेक्टबल तरीके से उसका यूटिलाइजेशन कैसे करूं वह भी हमें सोच समझ कर आगे बढ़ना चाहिए देखना चाहिए था लेकिन एक बहुत बढ़िया सुंदर जीवन जीने के लिए आपको बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत नहीं है एक संतोष पूर्ण जीवन आप काम पैसों के साथ भी गुजार सकते हैं हंसी खुशी गुजार सकते हैं तो जीवन तो ऐसा होना चाहिए कि आप अपने टाइम की अहमियत को समझें और संतोष पूर्वक क्वालिटी लाइफ जीने की कोशिश करें यह काफी है
दूसरे जीवन में हर एक चीज का अपना महत्व होता है चाहे वो टाइम हो चाहे वह पैसा चलिए हम पैसे की बात करते हैं पहले अगर कहीं पर पैसे की जरूरत है तो वहां पर उसका रिप्लेसमेंट नहीं हो सकता फीस भरनी है कुछ काम के लिए पैसे चाहिए तो वहां पर वही पैसे ही चलेंगे कुछ और नहीं चलेगा सोच के देखिए इसी तरह जब हम टाइम की बात करते हैं तो चाय में इतना प्रेशर से इसकी हम बता नहीं सकते अगर यह चाहिए था कि हमें अपनी स्टडीज पर फोकस करना है और अगर हमें नहीं किया तो बस छूट जाएगी अगर किसी टाइम पर हमें कुछ काम करना था अगर हमने बोल काम नहीं किया उस समय तो हमारा टाइम खराब हो जाएगा चला जाएगा टाइम तो वह है जो एक बार आता है उसके बाद अगर उससे मैंने अटेंशन पर नहीं किया उस पर तो वो टाइम चले जाता है हर समय टाइम निकलता हुआ जा रहा है हमें यह देखना है कि क्या मैं इस समय वह काम कर रहा हूं जो मुझे करने की जरूरत है इसी टाइम में हम अगर कोई रिलेशनशिप को सुधारना है और आपने अगर उस पर ध्यान नहीं दिया धारानी तो क्या वह सुधर सकता है कि नहीं वो टाइम चला गया बस चला गया कुछ नहीं हो सकता अब जब बात होती है कि इंसान पैसे के पीछे भागते हैं इनकी भागता तो नहीं है लेकिन हां पैसे चाहिए होते हैं इंसान को आज की तारीख में यह दवाई पैसा है कि बहुत इंपॉर्टेंट और उल्लेख करता है हर एक चीज हर एक जगह पर आपको पैसा चाहिए होता है आपको तो यह देखना है कि मैं अपने पैसे कैसे ऑन करूं रिस्पेक्टबल तरीके से उसका यूटिलाइजेशन कैसे करूं वह भी हमें सोच समझ कर आगे बढ़ना चाहिए देखना चाहिए था लेकिन एक बहुत बढ़िया सुंदर जीवन जीने के लिए आपको बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत नहीं है एक संतोष पूर्ण जीवन आप काम पैसों के साथ भी गुजार सकते हैं हंसी खुशी गुजार सकते हैं तो जीवन तो ऐसा होना चाहिए कि आप अपने टाइम की अहमियत को समझें और संतोष पूर्वक क्वालिटी लाइफ जीने की कोशिश करें यह काफी है
Likes  72  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फाइटिंग दोनों ही इंपॉर्टेंट अगर आपके पास समय है और आपके पास पैसा नहीं है तो उस समय का पहिया टोका मशीन
फाइटिंग दोनों ही इंपॉर्टेंट अगर आपके पास समय है और आपके पास पैसा नहीं है तो उस समय का पहिया टोका मशीन
Likes  69  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर इंसान पैसे के पीछे नहीं भागेगा तो उसके जितने भी रिलेशन या रिश्तेदारी है उसके फ्रेंड वगैरह होंगे तो उसको उसे हमेशा टॉर्चर करते रहेंगे कि अबे तेरे पास है क्या जो मैं तेरे साथ घूम हूं इसीलिए पैसा ज्यादा मायने है मतलब टाइम भी मानने लेकिन पैसा कमाओ और मतलब पैसा इतना भी ना कमाल जो खर्च करने के लिए कोई ना हो ऐसा उतना ही कमाओ जितना यूज कर सबको फालतू मत करो
अगर इंसान पैसे के पीछे नहीं भागेगा तो उसके जितने भी रिलेशन या रिश्तेदारी है उसके फ्रेंड वगैरह होंगे तो उसको उसे हमेशा टॉर्चर करते रहेंगे कि अबे तेरे पास है क्या जो मैं तेरे साथ घूम हूं इसीलिए पैसा ज्यादा मायने है मतलब टाइम भी मानने लेकिन पैसा कमाओ और मतलब पैसा इतना भी ना कमाल जो खर्च करने के लिए कोई ना हो ऐसा उतना ही कमाओ जितना यूज कर सबको फालतू मत करो
Likes  22  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के समय में पैसा सब कुछ है ऐसा माना जाता है क्योंकि बिना पैसे का कोई काम ही नहीं होता इसीलिए आदमी पैसे के पीछे भागता है
आज के समय में पैसा सब कुछ है ऐसा माना जाता है क्योंकि बिना पैसे का कोई काम ही नहीं होता इसीलिए आदमी पैसे के पीछे भागता है
Likes  22  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान के पास इंसा आशा का क्वेश्चन इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या उसका टाइम इंपोर्टेंट है भाई देखो इंसान के पास इसी कमी होती है वही चीज के लिए इंपोर्टेंट होता है सबसे बड़ी बात इंसान आज के टाइम में सब लोग समझते हैं मेरे लिए पैसा वही फोटो है आपके पास टाइम रहेगा तभी आप कुछ पैसा कमा पाएंगे अगर पैसा नहीं रहेगा अभी बस टाइम सपोस हुई आग बस टाइम नहीं रहेगा तो उस पैसा कमाने क्या मतलब रहेगा
इंसान के पास इंसा आशा का क्वेश्चन इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है या उसका टाइम इंपोर्टेंट है भाई देखो इंसान के पास इसी कमी होती है वही चीज के लिए इंपोर्टेंट होता है सबसे बड़ी बात इंसान आज के टाइम में सब लोग समझते हैं मेरे लिए पैसा वही फोटो है आपके पास टाइम रहेगा तभी आप कुछ पैसा कमा पाएंगे अगर पैसा नहीं रहेगा अभी बस टाइम सपोस हुई आग बस टाइम नहीं रहेगा तो उस पैसा कमाने क्या मतलब रहेगा
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है इंसान की लाइफ में पैसा इंपोर्टेंट है या टाइम इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है इंसान के जीवन में पैसा भी इंपोर्टेंट है और टाइम भी इंपोर्टेंट है जान पैसे के पीछे और आपको दूसरा सवाल है कि इंसान पैसे के पीछे क्यों भागते लिखी जाए ऐसी बात है इंसान कुछ भी करना चाहता है दुनिया में ऐसी कोई चीज नहीं है जो मुफ्त की मिल जाए इसीलिए इंसान पैसे के पीछे भागता है उसकी बहुत सारी ख्वाहिशें कहीं घूमना होता है या किसी के साथ जाना होता है या अच्छी-अच्छी चीजें खानी होती है या नई नई बाइक कार अच्छे-अच्छे मोबाइल कंप्यूटर लैपटॉप अच्छा घर और फैमिली में सुख शांति स्टे की चीजें जो इंसान चाहता है वह देखनी पैसे के पीछे भागेगा तो और कोई दूसरा नहीं है पैसे के पीछे भागने का मुझे लगता है कि आपके सवाल का जवाब मिल चुका होगा आपको बहुत-बहुत धन्यवाद
आपका क्वेश्चन है इंसान की लाइफ में पैसा इंपोर्टेंट है या टाइम इंसान पैसे के पीछे क्यों भागता है इंसान के जीवन में पैसा भी इंपोर्टेंट है और टाइम भी इंपोर्टेंट है जान पैसे के पीछे और आपको दूसरा सवाल है कि इंसान पैसे के पीछे क्यों भागते लिखी जाए ऐसी बात है इंसान कुछ भी करना चाहता है दुनिया में ऐसी कोई चीज नहीं है जो मुफ्त की मिल जाए इसीलिए इंसान पैसे के पीछे भागता है उसकी बहुत सारी ख्वाहिशें कहीं घूमना होता है या किसी के साथ जाना होता है या अच्छी-अच्छी चीजें खानी होती है या नई नई बाइक कार अच्छे-अच्छे मोबाइल कंप्यूटर लैपटॉप अच्छा घर और फैमिली में सुख शांति स्टे की चीजें जो इंसान चाहता है वह देखनी पैसे के पीछे भागेगा तो और कोई दूसरा नहीं है पैसे के पीछे भागने का मुझे लगता है कि आपके सवाल का जवाब मिल चुका होगा आपको बहुत-बहुत धन्यवाद
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक इंसान की लाइफ में पैसे का बहुत थी मैथ होता है उससे भी कहीं ज्यादा महत्व होता है उसके समय का समय का सदुपयोग करना यहां पर बात आती है पैसे की तो पैसा मानव के जीवन में इसलिए इंपोर्टेंट होता है क्योंकि पैसे से क्या कुछ नहीं आता हर चीज पैसे से आती है हमारी जो घर की सभी वस्तुएं होती हैं बाहर की उस पैसे से ही आती हैं पैसे का भी महत्व होता है
एक इंसान की लाइफ में पैसे का बहुत थी मैथ होता है उससे भी कहीं ज्यादा महत्व होता है उसके समय का समय का सदुपयोग करना यहां पर बात आती है पैसे की तो पैसा मानव के जीवन में इसलिए इंपोर्टेंट होता है क्योंकि पैसे से क्या कुछ नहीं आता हर चीज पैसे से आती है हमारी जो घर की सभी वस्तुएं होती हैं बाहर की उस पैसे से ही आती हैं पैसे का भी महत्व होता है
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देख इंसान के लाइफ में पैसा और टाइम दोनों इंपोर्टेंट है मान लीजिए मैं मजदूर हूं और 10:00 से 4:00 में किसी कंपनी में काम करता हूं तुम्हें किस लिए करता हूं उसका उदेश्य पैसा के लिए मुझे ₹300 ₹200 से ₹400 मिलता है 10 से 4 यानी 6 घंटे काम करके अपना टाइम को दिया तो मुझे पैसा मिला ठीक है तू अगर मेरे पास टाइम नहीं है तो फिर क्या पैसा हमें कैसे मिल सकता है तो टाइम भी बहुत जरूरी चीज है और पैसा भी बहुत इंपॉर्टेंट साला इतना तू इसके पीछे हर एक इंसान मन भागता है क्वेश्चन ठीक है और टाइम भी जरूरी चीज है मान लीजिए अगर हम अगर मैं कम प्यार करूं तो रिच पर्सन की तो पैसा तो अधिक कमाता है बट अपने दोस्तों से फैमिली से रिश्तेदारों से नहीं मिल पाता है क्योंकि उसके पास टाइम की कमी है तो यह तो अपनी लाइफ का एक महत्वपूर्ण पल छोड़ रहा है तो मैं सबसे ज्यादा महत्व टाइम को दूंगा उसके बाद ऐसा कुछ
देख इंसान के लाइफ में पैसा और टाइम दोनों इंपोर्टेंट है मान लीजिए मैं मजदूर हूं और 10:00 से 4:00 में किसी कंपनी में काम करता हूं तुम्हें किस लिए करता हूं उसका उदेश्य पैसा के लिए मुझे ₹300 ₹200 से ₹400 मिलता है 10 से 4 यानी 6 घंटे काम करके अपना टाइम को दिया तो मुझे पैसा मिला ठीक है तू अगर मेरे पास टाइम नहीं है तो फिर क्या पैसा हमें कैसे मिल सकता है तो टाइम भी बहुत जरूरी चीज है और पैसा भी बहुत इंपॉर्टेंट साला इतना तू इसके पीछे हर एक इंसान मन भागता है क्वेश्चन ठीक है और टाइम भी जरूरी चीज है मान लीजिए अगर हम अगर मैं कम प्यार करूं तो रिच पर्सन की तो पैसा तो अधिक कमाता है बट अपने दोस्तों से फैमिली से रिश्तेदारों से नहीं मिल पाता है क्योंकि उसके पास टाइम की कमी है तो यह तो अपनी लाइफ का एक महत्वपूर्ण पल छोड़ रहा है तो मैं सबसे ज्यादा महत्व टाइम को दूंगा उसके बाद ऐसा कुछ
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान आपने कहा इंसान लाख में पैसा आया था इनके पीछे भागता है देखिए इसमें एक बात है ऐसा जो है वह ऐसा है कि आपके जरूरत है जितना भी जरूरत होता है उसमें काम होता है ऐसा इसलिए इंपॉर्टेंट है आपकी भी जितना आपको जितना जरूरत है तो उस पर डिपेंड करता है आपको कितना जरूरत है आपने को कैसे रहना कैसे रहना है कैसे खाना है पीना है आया अच्छी लाइफ स्टाइल चाहिए उसके ऊपर रे पैसा इंपॉर्टेंट लेकिन अगर आपको शक से सुना है तो खुद को टाइम देना पड़ेगा तो बेहतर लोग हैं खुद को टाइम लेता है खुद को डेवलप करने की कोशिश करता है तो वहीं लॉक सक्सेस होता है इंसान की लाइफ में पैसा और टाइम दोनों इंर्पोटेंट है
इंसान आपने कहा इंसान लाख में पैसा आया था इनके पीछे भागता है देखिए इसमें एक बात है ऐसा जो है वह ऐसा है कि आपके जरूरत है जितना भी जरूरत होता है उसमें काम होता है ऐसा इसलिए इंपॉर्टेंट है आपकी भी जितना आपको जितना जरूरत है तो उस पर डिपेंड करता है आपको कितना जरूरत है आपने को कैसे रहना कैसे रहना है कैसे खाना है पीना है आया अच्छी लाइफ स्टाइल चाहिए उसके ऊपर रे पैसा इंपॉर्टेंट लेकिन अगर आपको शक से सुना है तो खुद को टाइम देना पड़ेगा तो बेहतर लोग हैं खुद को टाइम लेता है खुद को डेवलप करने की कोशिश करता है तो वहीं लॉक सक्सेस होता है इंसान की लाइफ में पैसा और टाइम दोनों इंर्पोटेंट है
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान क्या रहेगा जो पैसे के पीछे भागा वह इंसान नहीं वह कमी ना हुआ करता है और मनुष्य के जीवन में अभी के भौतिक युग में समय और पैसा दोनों का महत्व है
इंसान क्या रहेगा जो पैसे के पीछे भागा वह इंसान नहीं वह कमी ना हुआ करता है और मनुष्य के जीवन में अभी के भौतिक युग में समय और पैसा दोनों का महत्व है
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में पैसा इसलिए इंपोर्टेंट है क्योंकि इंसान को अपनी जरूरतें पूरी करनी पड़ती है और समय सबसे महत्वपूर्ण चीज है जो एक बार निकलने के बाद दोबारा नहीं आता पैसे को लोग रोज खर्च करके रोज कमा लेते हैं पैसे से ज्यादा समय इंपॉर्टेंट है इसे व्यर्थ ना गवाना
इंसान की लाइफ में पैसा इसलिए इंपोर्टेंट है क्योंकि इंसान को अपनी जरूरतें पूरी करनी पड़ती है और समय सबसे महत्वपूर्ण चीज है जो एक बार निकलने के बाद दोबारा नहीं आता पैसे को लोग रोज खर्च करके रोज कमा लेते हैं पैसे से ज्यादा समय इंपॉर्टेंट है इसे व्यर्थ ना गवाना
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की जिंदगी में समय इंपॉर्टेंट है अभी पैसा इंपोर्टेंट होता तो बिना समय कि पैसा नहीं मिलता आप कोई भी कार्य करेंगे उसमें समय की जरूरत है चाहे वो एक सेकेंड का कार ही हो पैसा कमाने के लिए आप किसी से पैसे लेते हैंड टू हैंड उसके लिए आपको सबसे बड़ी जरूरत क्या होती समय कि यदि आपके पास एक हाथ आगे बढ़ाने का समय नहीं है तो पैसा किस काम का पैसा इंपॉर्टेंट है यदि किसी की सड़क दुर्घटना हो जाती है और उस वक्त कोई तेज गति से बाहर नहीं मिलता और उसको अगर 20 मिनट में उसको इलाज मिल जाता है तो उसको बचाया जा सकता है तब आप सोचिए उसके पास पैसा बहुत है और उसके पास साधन नहीं है तो वह क्या करेगा उसके पास समय की कमी है पैसा गाड़ी भर के रख आओ कमरा भर के रख लो जितना हो आप की गिनती लीजिए लेकिन समय कि जब समय नहीं होगा तो उसका कोई मोल नहीं रहेगा इसलिए ज्ञान कहते हैं कक्षा एक की कविता है कितनी अच्छी बात कही है कि ज्ञानी हमें दिलाते याद समय करो ना तुम बर्बाद एक हम कक्षा 1 से सीख रहे तो भी हम समय का सदुपयोग नहीं जान पाए है रानी
इंसान की जिंदगी में समय इंपॉर्टेंट है अभी पैसा इंपोर्टेंट होता तो बिना समय कि पैसा नहीं मिलता आप कोई भी कार्य करेंगे उसमें समय की जरूरत है चाहे वो एक सेकेंड का कार ही हो पैसा कमाने के लिए आप किसी से पैसे लेते हैंड टू हैंड उसके लिए आपको सबसे बड़ी जरूरत क्या होती समय कि यदि आपके पास एक हाथ आगे बढ़ाने का समय नहीं है तो पैसा किस काम का पैसा इंपॉर्टेंट है यदि किसी की सड़क दुर्घटना हो जाती है और उस वक्त कोई तेज गति से बाहर नहीं मिलता और उसको अगर 20 मिनट में उसको इलाज मिल जाता है तो उसको बचाया जा सकता है तब आप सोचिए उसके पास पैसा बहुत है और उसके पास साधन नहीं है तो वह क्या करेगा उसके पास समय की कमी है पैसा गाड़ी भर के रख आओ कमरा भर के रख लो जितना हो आप की गिनती लीजिए लेकिन समय कि जब समय नहीं होगा तो उसका कोई मोल नहीं रहेगा इसलिए ज्ञान कहते हैं कक्षा एक की कविता है कितनी अच्छी बात कही है कि ज्ञानी हमें दिलाते याद समय करो ना तुम बर्बाद एक हम कक्षा 1 से सीख रहे तो भी हम समय का सदुपयोग नहीं जान पाए है रानी
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल बहुत ज्यादा अच्छा है और इसका जवाब मैं थोड़ा सा क्रिटिकल तरीके से दूंगा देखिए इंसान के पास जो चीज नहीं होती है हमेशा वह उसी को चाहता है और उसी की वैल्यू करता है जैसे कि आपके पास दो आंखें हैं तो कभी आप आंखों के बारे में नहीं सोचेंगे आपके पास अच्छे बाल है तब तक बालों के बारे में नहीं सोचेंगे आपके पास एक कार है तो आप उस कार के बारे में तो बिल्कुल नहीं सोचेंगे लेकिन अगर आपके पास कोई ऐसी चीज है जिसके बारे में आप जो आपके पास नहीं है जिसके बारे में आप सोचते हैं यानी कि आपके पास छोटी कार अथवा बड़ी कार के बारे में सोचिए अगर आप इस बड़ी कार्य तो आप प्लेन के बारे में सोचेंगे तो होता ही है इंसान को लगता है कि उसके पास में बहुत सारा समय है हर चीज के लिए उसको लगता उसके रिश्तेदारों के लिए उसके पास बहुत सारा समय उसको लगता है कि उसके पास अपने सारे कामों को करने के लिए बहुत समय उसके पास घूमने के लिए समय इस समय कोई मैच करता है क्यों पैसे लगाने और यही वह बच्चा खा जाता है मेरा मानना है कि पैसों को इंपोर्ट इतनी ही दी जानी चाहिए जितना कि अपना जीवन निर्वाह कर सकें लेकिन होता है कि हम समय की रेस में एक दूसरे को पहचानने के लिए पैसे के पीछे इतना पागल हो जाते हैं कि समय इतना बलवान होता है कि वह हमें दिखा देता है कि पैसा सब कुछ नहीं होता अब मुकेश अंबानी की कुंडली से अगर उनको बीमारी कोई हो जाए तो क्या हुआ पैसा काम आएगा बिल्कुल आएगा अगर वह क्यूरेबल होगी तो लेकिन उसको केवल रखने से पहले अगर उस फिट लेने की कोशिश करते हैं तो डेफिनिटी उन्हें कोई बीमारी ही नहीं लगी यानी कि समय की वैल्यू पैसे से कई गुना ज्यादा है और अगर आप इस लाइन को अपने जीवन में उतारने का जीवन संवर जाएगा आपका बहुत-बहुत धन्यवाद
आपका सवाल बहुत ज्यादा अच्छा है और इसका जवाब मैं थोड़ा सा क्रिटिकल तरीके से दूंगा देखिए इंसान के पास जो चीज नहीं होती है हमेशा वह उसी को चाहता है और उसी की वैल्यू करता है जैसे कि आपके पास दो आंखें हैं तो कभी आप आंखों के बारे में नहीं सोचेंगे आपके पास अच्छे बाल है तब तक बालों के बारे में नहीं सोचेंगे आपके पास एक कार है तो आप उस कार के बारे में तो बिल्कुल नहीं सोचेंगे लेकिन अगर आपके पास कोई ऐसी चीज है जिसके बारे में आप जो आपके पास नहीं है जिसके बारे में आप सोचते हैं यानी कि आपके पास छोटी कार अथवा बड़ी कार के बारे में सोचिए अगर आप इस बड़ी कार्य तो आप प्लेन के बारे में सोचेंगे तो होता ही है इंसान को लगता है कि उसके पास में बहुत सारा समय है हर चीज के लिए उसको लगता उसके रिश्तेदारों के लिए उसके पास बहुत सारा समय उसको लगता है कि उसके पास अपने सारे कामों को करने के लिए बहुत समय उसके पास घूमने के लिए समय इस समय कोई मैच करता है क्यों पैसे लगाने और यही वह बच्चा खा जाता है मेरा मानना है कि पैसों को इंपोर्ट इतनी ही दी जानी चाहिए जितना कि अपना जीवन निर्वाह कर सकें लेकिन होता है कि हम समय की रेस में एक दूसरे को पहचानने के लिए पैसे के पीछे इतना पागल हो जाते हैं कि समय इतना बलवान होता है कि वह हमें दिखा देता है कि पैसा सब कुछ नहीं होता अब मुकेश अंबानी की कुंडली से अगर उनको बीमारी कोई हो जाए तो क्या हुआ पैसा काम आएगा बिल्कुल आएगा अगर वह क्यूरेबल होगी तो लेकिन उसको केवल रखने से पहले अगर उस फिट लेने की कोशिश करते हैं तो डेफिनिटी उन्हें कोई बीमारी ही नहीं लगी यानी कि समय की वैल्यू पैसे से कई गुना ज्यादा है और अगर आप इस लाइन को अपने जीवन में उतारने का जीवन संवर जाएगा आपका बहुत-बहुत धन्यवाद
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान ने अपने लिए गले की फांसी बनाई कैसे इंसान गलत करेगा तो उसको फांसी लटका दिया जाएगा उठाना बनाए मेडिकल बनाएं किसी मेडिकल में अपराधियों को सजा देने के लिए खाते-पीते रहो किसी से मिल नहीं सकते रहो हम कुछ यहां बनाई मनुष्यों ने बनाई है अपने लिए यूज करना पड़ेगा शहर में कुछ करना पड़ेगा कुछ भी खरीद लो उसको दो और सामान लो इस संसार में पैसे की आवश्यकता दिशा नहीं तो आपको सामान दे देगा कुछ कर सकता है एक दोपहर है क्यों वह दान करते रहते हैं अपने आप ही करते हैं 1 शिक्षा से करते हैं करोड़ों रुपया दान करते हैं लेकिन अगर हम चाहेंगे हमको मिल जाएगा तो हम को कहां जाना पड़ेगा ऐसे ही
इंसान ने अपने लिए गले की फांसी बनाई कैसे इंसान गलत करेगा तो उसको फांसी लटका दिया जाएगा उठाना बनाए मेडिकल बनाएं किसी मेडिकल में अपराधियों को सजा देने के लिए खाते-पीते रहो किसी से मिल नहीं सकते रहो हम कुछ यहां बनाई मनुष्यों ने बनाई है अपने लिए यूज करना पड़ेगा शहर में कुछ करना पड़ेगा कुछ भी खरीद लो उसको दो और सामान लो इस संसार में पैसे की आवश्यकता दिशा नहीं तो आपको सामान दे देगा कुछ कर सकता है एक दोपहर है क्यों वह दान करते रहते हैं अपने आप ही करते हैं 1 शिक्षा से करते हैं करोड़ों रुपया दान करते हैं लेकिन अगर हम चाहेंगे हमको मिल जाएगा तो हम को कहां जाना पड़ेगा ऐसे ही
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में पैसे से ज्यादा टाइम इंपॉर्टेंट टाइम होगा तो आपके पास पैसा होगा पैसा होगा टाइम होगा ऐसा नहीं टाइम होगा तो पैसे लो पैसे के पीछे क्यों भागते हैं हर इंसान जो भी है जो पैसा कमाना चाहता है अपनी लाइफ अच्छी बनाना चाहता है लेकिन ऐसे में वह अपने हेल्प पर बिल्कुल ध्यान नहीं देता और हेल्पर आप ध्यान तभी दे पाओगे जब आपके पास टाइम होगा जिसे पैसों के पास पीछे भागना बड़ा कीजिए अब आपके पास जितने भी है उससे आप संतुष्ट रहें और अपने स्वास्थ्य पर ध्यान रखिए क्योंकि स्वास्थ्य पर ध्यान करके रख पाएंगे जब आपके पास अपने स्वार्थ पर सोचने का समय होगा इसलिए
इंसान की लाइफ में पैसे से ज्यादा टाइम इंपॉर्टेंट टाइम होगा तो आपके पास पैसा होगा पैसा होगा टाइम होगा ऐसा नहीं टाइम होगा तो पैसे लो पैसे के पीछे क्यों भागते हैं हर इंसान जो भी है जो पैसा कमाना चाहता है अपनी लाइफ अच्छी बनाना चाहता है लेकिन ऐसे में वह अपने हेल्प पर बिल्कुल ध्यान नहीं देता और हेल्पर आप ध्यान तभी दे पाओगे जब आपके पास टाइम होगा जिसे पैसों के पास पीछे भागना बड़ा कीजिए अब आपके पास जितने भी है उससे आप संतुष्ट रहें और अपने स्वास्थ्य पर ध्यान रखिए क्योंकि स्वास्थ्य पर ध्यान करके रख पाएंगे जब आपके पास अपने स्वार्थ पर सोचने का समय होगा इसलिए
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में पैसे से ज्यादा समय इंपॉर्टेंट होता है क्योंकि आप समय रहते अपनी लाइफ में पैसे जमा कर सकते हैं पर पैसे से कभी आप अपनी लाइफ में समय को जमा नहीं कर सकते जो समय बीत जाता है वह कभी दोबारा नहीं आ सकता और इंसान पैसे के पीछे इसलिए भागता है क्योंकि पैसा ही एकमात्र ऐसा चीज है जो इंसान की दैनिक जीवन में होने वाली जरूरतों को पूरा करने में सहायक होता है इसलिए इंसान पैसे के पीछे भागता है वैसे तो इंसान लाइफ में देखा जाए तो दोनों ही इंपॉर्टेंट है लेकिन अगर तुलना किया जाए तो समय से बढ़कर जीवन में कुछ भी नहीं है
इंसान की लाइफ में पैसे से ज्यादा समय इंपॉर्टेंट होता है क्योंकि आप समय रहते अपनी लाइफ में पैसे जमा कर सकते हैं पर पैसे से कभी आप अपनी लाइफ में समय को जमा नहीं कर सकते जो समय बीत जाता है वह कभी दोबारा नहीं आ सकता और इंसान पैसे के पीछे इसलिए भागता है क्योंकि पैसा ही एकमात्र ऐसा चीज है जो इंसान की दैनिक जीवन में होने वाली जरूरतों को पूरा करने में सहायक होता है इसलिए इंसान पैसे के पीछे भागता है वैसे तो इंसान लाइफ में देखा जाए तो दोनों ही इंपॉर्टेंट है लेकिन अगर तुलना किया जाए तो समय से बढ़कर जीवन में कुछ भी नहीं है
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है और टाइम दोनों की हर चीज का अलग-अलग महत्व का मान लीजिए कि कोई दिया है जो भी चल रहा है अगर उसमें तेल ना हो तो वह दिया नहीं चलेगा और उस दिन में यदि बात ही ना हो तेल पूरा भरा हो तब भी वह दिया नहीं मिलेगा मतलब दोनों का अपने-अपने स्थान पर बहुत बड़ा योगदान लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है इसका मतलब है कि हम इस जीवन में आज नहीं होगी रास्ता की वर्तनी चाहिए जितने भी संपादन को चाहिए इसके लिए पैसे की जरूरत होगी और टाइम अगर हम टाइम हमारे पास बहुत है लेकिन आ पास पैसा नहीं है तो हम इस संसार में सुखी नहीं रह सकते और इस संसार में सुखी रहने के लिए हर व्यक्ति कुछ ना कुछ अपने कर्मों को करता रहता है और वह व्यक्ति है कि एक तरह से देखा जाए तो अपने समय का उपयोग क्या हम हैं उसका यूज़ इस प्रकार करता है जिससे कि वह धन अर्जन कर सके इस अगर इस तरह देखा जाए तो मनुष्य के जीवन में फैसला इंपॉर्टेंट है क्योंकि हमारी आधुनिक समय की सारी आवश्यकताएं उसी पर बेस्ट हैं इसलिए नहीं दिया
इंसान की लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है और टाइम दोनों की हर चीज का अलग-अलग महत्व का मान लीजिए कि कोई दिया है जो भी चल रहा है अगर उसमें तेल ना हो तो वह दिया नहीं चलेगा और उस दिन में यदि बात ही ना हो तेल पूरा भरा हो तब भी वह दिया नहीं मिलेगा मतलब दोनों का अपने-अपने स्थान पर बहुत बड़ा योगदान लाइफ में पैसा इंपॉर्टेंट है इसका मतलब है कि हम इस जीवन में आज नहीं होगी रास्ता की वर्तनी चाहिए जितने भी संपादन को चाहिए इसके लिए पैसे की जरूरत होगी और टाइम अगर हम टाइम हमारे पास बहुत है लेकिन आ पास पैसा नहीं है तो हम इस संसार में सुखी नहीं रह सकते और इस संसार में सुखी रहने के लिए हर व्यक्ति कुछ ना कुछ अपने कर्मों को करता रहता है और वह व्यक्ति है कि एक तरह से देखा जाए तो अपने समय का उपयोग क्या हम हैं उसका यूज़ इस प्रकार करता है जिससे कि वह धन अर्जन कर सके इस अगर इस तरह देखा जाए तो मनुष्य के जीवन में फैसला इंपॉर्टेंट है क्योंकि हमारी आधुनिक समय की सारी आवश्यकताएं उसी पर बेस्ट हैं इसलिए नहीं दिया
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैसे तो इंसान की लाइफ में दोनों इंपॉर्टेंट है पैसा भी और टाइम भी इंसान पैसे किस लिए लगता है क्योंकि उसके बाद पैसा नहीं होगा तो दुनिया वाले से बिल्कुल ही नहीं देंगे
वैसे तो इंसान की लाइफ में दोनों इंपॉर्टेंट है पैसा भी और टाइम भी इंसान पैसे किस लिए लगता है क्योंकि उसके बाद पैसा नहीं होगा तो दुनिया वाले से बिल्कुल ही नहीं देंगे
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Insaan Ke Life Mein Paisa Important Hai Ya Time Insaan Paise Ke Peeche Kyon Bhagta Hai,Is Money In Person's Life Immortal Or Why Does The Time Man Run Away Behind The Money?,


vokalandroid