search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

मेरा भविष्य क्या होगा? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहीं कुछ टाइम नहीं है ऊपर वाले ने तुमको कठपुतली बनाकर नहीं दे रहा है कि सब पहले से ही तय है तुम्हें जब तुम संस्कारित हो करके आदतों के वश में होकर के प्रति वर्ष में हूं करते काम करो और जब तुम हो शादी में काम करो अब तुम कुछ ना कुछ नया होता है तो कुछ अनूठा है तुम्हें बनाने वाला है उसकी रचना भी तो मुक्त हो शंभू अपनी रचना को भविष्य के बंधन में क्यों रखें भविष्य दूध भी देता है तुम स्वयं को बंद कर देते हो तुम एक मशीन हो और एक पूर्व विधायक ढर्रे पर ही काम करते हो सकता है कि तुम्हारा कल कैसा होगा तुम्हारी कुंडली बनाई जा सकती है उदाहरण के लिए मशीन से चल रही है और उसकी गति है 60 किलोमीटर प्रति घंटा बताया जा सकता है कि नहीं 2 घंटे बाद हो कहां पर होगी मशीनों का भविष्य निर्धारित किया जा सकता है क्योंकि वह कर ही रही है जो उनके मालिक ने करने के लिए बनाया उनका सब कुछ कर दिया गया है कुंडली हो तुम्हारे लिए तुम्हारी तरफ से कोई ज्योतिष ज्योतिष शास्त्र तुम्हारे बारे में कुछ कह पाएगा जो कर रहे हैं वह सर्वथा नया अनूठा है चिड़िया बना है यदि तुम आत्मा में जीते हो तो तुम्हारा कुछ पता नहीं लगाया जा सकता तुम्हारी बारे में कुछ भी तुम्हारी हो जाओगी तुम अनूठी हो जाओगे तू अब तक सो जाओ तुम्हारा भविष्य नहीं रहेगा तुम कुछ ऐसा कभी भी करोगे जिसका कभी किसी ने कोई अनुमान लगाया होगा तो अपेक्षा ठीक हो जाओगे कोई ज्योतिषी तुम्हारे बारे में कैसे कुछ बता देगा हनुमान सिंह उन चीजों का लगाया जा सकता है तो मान के दायरे में आती हूं यंत्रों का अनुमान लगता है गणित का अनुमान लगता है विज्ञान की हद में जो कुछ आता है उसका अनुमान लगता है अनुमान कैसे लगाया विराजमान है तुम में आत्मा के रूप में अनुपम है उसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता रहिमन बात करने की स्कीम में झांकते घटनाएं कहां जाना तो नहीं कर सकते बारे में कुछ कह नहीं सकता कोई की कौन सी ज्योतिषी है तो आकर के गमले की बात बता देंगे टाइम रहता हूं तुम नहीं कर रखा हो कि मुझे पूरा जीवन वृत्त नहीं बताना है संस्कारों में ही बताना है परंपराओं में बताना है तो कोई भी बता देगा तो बता सकती है कि हमारा तुम्हारा चल कर आ रहा है फिर भी दे दना दन पिटाई तुमने जब स्वयं ही तय कर रखा है कि वही सब कुछ करना है तो पूरा जमाना कर रहा है तुम्हारा क्या है कुछ सोचा ही नहीं किसी के पिता ने क्या कहा यह तो नहीं पता पर किसी ने क्या कहा यह तो है तुम देख लो तुम्हें अगर कृष्ण से मतलब होता तो तुमने क्या पड़ी होती मतलब भी तो सीधे किसके पास जाओगी गीता के पास जाओगे ख्वाब चोट चोट लगती तो तुम सोते में भी रोता चोट कैसी है सोते में भी सोते क्यों नहीं अभी तो तुम सुनती में भी रोते ना इसका मतलब घुटने को नहीं चोट लगी है जो मन को लगाए रोता घुटने से सोने से खून रुक जाएगा क्या आएगा कुंडली में आंसुओं को एक होने दो आंसू तभी बहे खून बहे आंसू सब्जी ना बनी रहे
कहीं कुछ टाइम नहीं है ऊपर वाले ने तुमको कठपुतली बनाकर नहीं दे रहा है कि सब पहले से ही तय है तुम्हें जब तुम संस्कारित हो करके आदतों के वश में होकर के प्रति वर्ष में हूं करते काम करो और जब तुम हो शादी में काम करो अब तुम कुछ ना कुछ नया होता है तो कुछ अनूठा है तुम्हें बनाने वाला है उसकी रचना भी तो मुक्त हो शंभू अपनी रचना को भविष्य के बंधन में क्यों रखें भविष्य दूध भी देता है तुम स्वयं को बंद कर देते हो तुम एक मशीन हो और एक पूर्व विधायक ढर्रे पर ही काम करते हो सकता है कि तुम्हारा कल कैसा होगा तुम्हारी कुंडली बनाई जा सकती है उदाहरण के लिए मशीन से चल रही है और उसकी गति है 60 किलोमीटर प्रति घंटा बताया जा सकता है कि नहीं 2 घंटे बाद हो कहां पर होगी मशीनों का भविष्य निर्धारित किया जा सकता है क्योंकि वह कर ही रही है जो उनके मालिक ने करने के लिए बनाया उनका सब कुछ कर दिया गया है कुंडली हो तुम्हारे लिए तुम्हारी तरफ से कोई ज्योतिष ज्योतिष शास्त्र तुम्हारे बारे में कुछ कह पाएगा जो कर रहे हैं वह सर्वथा नया अनूठा है चिड़िया बना है यदि तुम आत्मा में जीते हो तो तुम्हारा कुछ पता नहीं लगाया जा सकता तुम्हारी बारे में कुछ भी तुम्हारी हो जाओगी तुम अनूठी हो जाओगे तू अब तक सो जाओ तुम्हारा भविष्य नहीं रहेगा तुम कुछ ऐसा कभी भी करोगे जिसका कभी किसी ने कोई अनुमान लगाया होगा तो अपेक्षा ठीक हो जाओगे कोई ज्योतिषी तुम्हारे बारे में कैसे कुछ बता देगा हनुमान सिंह उन चीजों का लगाया जा सकता है तो मान के दायरे में आती हूं यंत्रों का अनुमान लगता है गणित का अनुमान लगता है विज्ञान की हद में जो कुछ आता है उसका अनुमान लगता है अनुमान कैसे लगाया विराजमान है तुम में आत्मा के रूप में अनुपम है उसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता रहिमन बात करने की स्कीम में झांकते घटनाएं कहां जाना तो नहीं कर सकते बारे में कुछ कह नहीं सकता कोई की कौन सी ज्योतिषी है तो आकर के गमले की बात बता देंगे टाइम रहता हूं तुम नहीं कर रखा हो कि मुझे पूरा जीवन वृत्त नहीं बताना है संस्कारों में ही बताना है परंपराओं में बताना है तो कोई भी बता देगा तो बता सकती है कि हमारा तुम्हारा चल कर आ रहा है फिर भी दे दना दन पिटाई तुमने जब स्वयं ही तय कर रखा है कि वही सब कुछ करना है तो पूरा जमाना कर रहा है तुम्हारा क्या है कुछ सोचा ही नहीं किसी के पिता ने क्या कहा यह तो नहीं पता पर किसी ने क्या कहा यह तो है तुम देख लो तुम्हें अगर कृष्ण से मतलब होता तो तुमने क्या पड़ी होती मतलब भी तो सीधे किसके पास जाओगी गीता के पास जाओगे ख्वाब चोट चोट लगती तो तुम सोते में भी रोता चोट कैसी है सोते में भी सोते क्यों नहीं अभी तो तुम सुनती में भी रोते ना इसका मतलब घुटने को नहीं चोट लगी है जो मन को लगाए रोता घुटने से सोने से खून रुक जाएगा क्या आएगा कुंडली में आंसुओं को एक होने दो आंसू तभी बहे खून बहे आंसू सब्जी ना बनी रहे
Likes  119  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका भविष्य हम नहीं आपके कर्म तय करेंगे आपके जैसे गर्म होंगे वैसा ही आपका भविष्य होगा तो आप अपने कर्म को अगर अच्छा बनाएंगे तो आपका भविष्य अच्छा होगा अगर आप अपने कर्म को बुरा बनाएंगे बुरा होगा सब अपने कर्मों पर ध्यान दीजिए
आपका भविष्य हम नहीं आपके कर्म तय करेंगे आपके जैसे गर्म होंगे वैसा ही आपका भविष्य होगा तो आप अपने कर्म को अगर अच्छा बनाएंगे तो आपका भविष्य अच्छा होगा अगर आप अपने कर्म को बुरा बनाएंगे बुरा होगा सब अपने कर्मों पर ध्यान दीजिए
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो भी भविष्य होता है वह कर्मों के आधार पर बनता है ठीक है तब दिल्ली भविष्य की चिंता ना करें कि आज क्या हुआ कल क्या हुआ परसों क्या हुआ भविष्य की चिंता करके आप वर्तमान में नहीं जी पाएंगे इसलिए मेरा विचार यही है यही आपको सलाह दूंगा कि आप पहले अपने कर्म करें और उस हद तक कार्य को सफल करने का प्रयास करें जब तक ना जाए उस चीज में सक्सेस ना हो जाए प्ले मैं यही कहूंगा कि आप भविष्य की चिंता ना करें और वर्तमान में दें धन्यवाद
जो भी भविष्य होता है वह कर्मों के आधार पर बनता है ठीक है तब दिल्ली भविष्य की चिंता ना करें कि आज क्या हुआ कल क्या हुआ परसों क्या हुआ भविष्य की चिंता करके आप वर्तमान में नहीं जी पाएंगे इसलिए मेरा विचार यही है यही आपको सलाह दूंगा कि आप पहले अपने कर्म करें और उस हद तक कार्य को सफल करने का प्रयास करें जब तक ना जाए उस चीज में सक्सेस ना हो जाए प्ले मैं यही कहूंगा कि आप भविष्य की चिंता ना करें और वर्तमान में दें धन्यवाद
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Mera Bhavishya Kya Hoga,What Will Be My Future?,


vokalandroid