search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

क्या आपको लगता है कि महिलाएं भावनात्मक रूप से पुरुषों की तुलना में अधिक मजबूत हैं?

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्मों में जब रोने के दृश्य होते हैं तो बहुत सारे अभिनेता अभिनेत्री ग्लिसरीन का इस्तेमाल नहीं करते वह खुद ही याद करने जाते हैं कि उन्होंने कौन-कौन से दुख झेले अतीत में उनको आंसू आ जाते हैं आप जानबूझकर अपने आप को आंसू दिला सकते हो ऐसी होती है भावनाएं भी आपकी अपनी नहीं है उनका भी निर्धारण बाहर से हो जाता है आप यहां बैठे बैठे हो अभी कोई गमगीन गाना बजने लग जाए कोई बड़ी बात नहीं हुई कि एक दोनों ग्रुप में कोई भी गाना सुना करके आपकी भावनाएं उत्तेजित कर देगा अपनी आपकी भावनाओं को नियंत्रित कर लेगा हम कहते मेरी भावनाएं और आपके विचारों को कोई चोट पहुंचा या फिर भी बर्दाश्त कर लो आपकी भावनाओं पर चोट पहुंचा दी जानी दुश्मन है वह आप कहते हो इसमें मेरी भावनाएं आहत करिए इसको तो बिल्कुल नहीं छोडूंगा भावनाओं से खबरदार खासतौर पर स्त्रियों के लिए बड़े से बड़ा झंझट होती है भावनाएं बातें आंसू निकल पड़े समझ ही नहीं कोई बस की नहीं फिर इसीलिए स्त्रियां गुलाम हो जाती हैं आपकी भावनाएं का करके कोई भी आप को नियंत्रित कर लेता है गाय बना देता है तो है या दुनिया को देखिए ना स्त्रियां किसी क्षेत्र में अग्रणी नहीं हो पाई राजनीति में देखिए नहीं दिखाई देंगी कला में देखिए कम दिखाई देंगी विज्ञान में देखिए कम दिखाई देंगी घरों में बस दिखाई देती है और इसमें बहुत बड़ा योगदान भावनाओं का है भावों की पड़ी रह जाती है और कुछ नहीं कर पाती जिंदगी में अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी आंचल में है दूध और आंखों में पानी यह देखो कि आप उन्हीं के साथ अटकी हुई है अटकी हुई है क्योंकि उन भावनाओं को ही अपना बल मानती हैं भावनाओं को बल न माने तो भावनाओं को पोषण क्यों दे बिल्कुल इंपॉर्टेंस भी देते दर्शाते भी है उन्हीं का उपयोग करके अपने काम भी बनाते हैं बिल्कुल काम कितने बनते भावना दिखा दिखा कर उठ गई मैं गुस्से में हूं या मैं दुख में हूं काम बन जाता है औरतों से मुझे इतनी शिकायत है उतना ही उनको लेकर क्यों दुख भी है उनको देखता हूं बहुत दुख लगता है और शिकायत इस बात की है कि वह अपने दुख का कारण स्वयं है और तबियत खराब हालत है उसका कारण वह खुद है भावना को अपना हथियार समझती हैं देश को वह अपनी पूंजी समझती हैं यह जाएंगी मारेंगे भावनाओं पर चलेंगे और सोचिए कि हमने यह बड़ा तीर मार दिया और इसी दो चीजों के कारणों के कारण वह इतिहास में लगातार पीछे रही है और गुलाम रही है जबकि स्त्री को प्रकृति गीत कुछ विशेषताएं मिली हुई है जो पुरुष के पास नहीं होती है स्त्री में ज्यादा होता है महत्वाकांक्षा स्त्री में कब होती है यह बड़े-बड़े हैं अगर स्त्री सैयद रहे तो खुल के उड़ सकती है आसमान छू सकती है पर वह इन्हीं दो कि बंधक बन के रह जाती है उनकी और मंकी आंचल में है दूध माने तन और आंखों में पानी भावनाएं बंधक है वह यही तो काम करने उसको दूध और पानी दूध और पानी औरत दो ही जगह पाई जाती है बेडरूम और रसोई बेडरूम आने दूध रसोई में पानी वास्तव में स्त्री में जो एक विशेष गुण होता है वह से पुरुषों से बहुत आगे ले जाए और उसमें होता है समर्पण का डिमोशन का औरत पुरुष की अपेक्षा थोड़ी बोली होती है और एक बार वह समर्पित हो गई किसी चीज के प्रति समर्पित रहती है यह बड़ी बात है इस गुण के कारण वह काम में बहुत आगे जा सकती निष्ठा से करती है एक लड़की काम करती है उतनी निष्ठा से लड़के को करना पड़ता है लेकिन फिर वही आंचल का दूध और आंखों का पानी यहीं आ जाते हैं सब खत्म बर्बाद निकल जाएंगे अब निकल जाएंगी लेकिन बीच-बीच में आपको भावनाओं से फायदा मिल जाता है ना तो आप बहक जाती है आपको लगता है भावना तो बढ़िया चीज है अभी फायदा मिला तो रोए तो नया यार मिल गया अब काहे को रोना बंद हो तन दिखाया सजाया तो बड़ा सम्मान मिल गया जमाने ने कहा वाह वाह वाह क्या सुंदर है पति पीछे पीछे आ गया जैसे ही मैंने दर्शन को आकर्षक बनाया तो फिर जाता है मंत्री का आदत को नहीं नहीं देना चाहिए छोटी बच्चियों में सजावट की प्रवृत्ति को प्रोत्साहन नहीं देना चाहिए और मां को मैं देखता हूं छोटी बच्चों को ही परियां बना रही होती है वह इतनी सी बच्ची है उसको परी बनाकर घुमाएंगे और छोटी बच्चियों टीवी पर भी यही देख रही है कि परी परी अभी तो कहां बचेगी देख रहे साल की लड़कियां लिपस्टिक लगाकर घूम रही है बर्बाद और पुरुष का स्वार्थ है औरत को शरीर ही बना रहने दो 2 तारीख में खूब करेगा औरत अगर सरल साधारण संयमित रहते हैं से तो पुरुषों की कोई तारीफ नहीं करता और यही साबरी छैल छबीली निकल जाए जितने पुरुष होंगे सब तालियां बजाएंगे वाह वाह करेंगे औरत को लगता है कि हमारी तो बड़ी इज्जत बढ़ गई हमारा तो बड़ा मामला बढ़ गया पागल हो जानती भी नहीं जूस का शोषण किया जा रहा है हम नहीं जानते शिकारी कौन हैं और शिकार कौन है शिकार करने की चेष्टा मत करिए शिकार हो जाएंगी आप फूल रूप से शिकार हो जाते हैं क्योंकि सूक्ष्म रूप से शिकार करने की आप की भी मंशा होती है इस बात को स्वीकार्य आइसक्रीम सूक्ष्म रूप से शिकार करती है तो किसी को दिखाई नहीं देता पूर्ण रूप से शिकार कर लेता है जिसे शिकार ना हो
फिल्मों में जब रोने के दृश्य होते हैं तो बहुत सारे अभिनेता अभिनेत्री ग्लिसरीन का इस्तेमाल नहीं करते वह खुद ही याद करने जाते हैं कि उन्होंने कौन-कौन से दुख झेले अतीत में उनको आंसू आ जाते हैं आप जानबूझकर अपने आप को आंसू दिला सकते हो ऐसी होती है भावनाएं भी आपकी अपनी नहीं है उनका भी निर्धारण बाहर से हो जाता है आप यहां बैठे बैठे हो अभी कोई गमगीन गाना बजने लग जाए कोई बड़ी बात नहीं हुई कि एक दोनों ग्रुप में कोई भी गाना सुना करके आपकी भावनाएं उत्तेजित कर देगा अपनी आपकी भावनाओं को नियंत्रित कर लेगा हम कहते मेरी भावनाएं और आपके विचारों को कोई चोट पहुंचा या फिर भी बर्दाश्त कर लो आपकी भावनाओं पर चोट पहुंचा दी जानी दुश्मन है वह आप कहते हो इसमें मेरी भावनाएं आहत करिए इसको तो बिल्कुल नहीं छोडूंगा भावनाओं से खबरदार खासतौर पर स्त्रियों के लिए बड़े से बड़ा झंझट होती है भावनाएं बातें आंसू निकल पड़े समझ ही नहीं कोई बस की नहीं फिर इसीलिए स्त्रियां गुलाम हो जाती हैं आपकी भावनाएं का करके कोई भी आप को नियंत्रित कर लेता है गाय बना देता है तो है या दुनिया को देखिए ना स्त्रियां किसी क्षेत्र में अग्रणी नहीं हो पाई राजनीति में देखिए नहीं दिखाई देंगी कला में देखिए कम दिखाई देंगी विज्ञान में देखिए कम दिखाई देंगी घरों में बस दिखाई देती है और इसमें बहुत बड़ा योगदान भावनाओं का है भावों की पड़ी रह जाती है और कुछ नहीं कर पाती जिंदगी में अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी आंचल में है दूध और आंखों में पानी यह देखो कि आप उन्हीं के साथ अटकी हुई है अटकी हुई है क्योंकि उन भावनाओं को ही अपना बल मानती हैं भावनाओं को बल न माने तो भावनाओं को पोषण क्यों दे बिल्कुल इंपॉर्टेंस भी देते दर्शाते भी है उन्हीं का उपयोग करके अपने काम भी बनाते हैं बिल्कुल काम कितने बनते भावना दिखा दिखा कर उठ गई मैं गुस्से में हूं या मैं दुख में हूं काम बन जाता है औरतों से मुझे इतनी शिकायत है उतना ही उनको लेकर क्यों दुख भी है उनको देखता हूं बहुत दुख लगता है और शिकायत इस बात की है कि वह अपने दुख का कारण स्वयं है और तबियत खराब हालत है उसका कारण वह खुद है भावना को अपना हथियार समझती हैं देश को वह अपनी पूंजी समझती हैं यह जाएंगी मारेंगे भावनाओं पर चलेंगे और सोचिए कि हमने यह बड़ा तीर मार दिया और इसी दो चीजों के कारणों के कारण वह इतिहास में लगातार पीछे रही है और गुलाम रही है जबकि स्त्री को प्रकृति गीत कुछ विशेषताएं मिली हुई है जो पुरुष के पास नहीं होती है स्त्री में ज्यादा होता है महत्वाकांक्षा स्त्री में कब होती है यह बड़े-बड़े हैं अगर स्त्री सैयद रहे तो खुल के उड़ सकती है आसमान छू सकती है पर वह इन्हीं दो कि बंधक बन के रह जाती है उनकी और मंकी आंचल में है दूध माने तन और आंखों में पानी भावनाएं बंधक है वह यही तो काम करने उसको दूध और पानी दूध और पानी औरत दो ही जगह पाई जाती है बेडरूम और रसोई बेडरूम आने दूध रसोई में पानी वास्तव में स्त्री में जो एक विशेष गुण होता है वह से पुरुषों से बहुत आगे ले जाए और उसमें होता है समर्पण का डिमोशन का औरत पुरुष की अपेक्षा थोड़ी बोली होती है और एक बार वह समर्पित हो गई किसी चीज के प्रति समर्पित रहती है यह बड़ी बात है इस गुण के कारण वह काम में बहुत आगे जा सकती निष्ठा से करती है एक लड़की काम करती है उतनी निष्ठा से लड़के को करना पड़ता है लेकिन फिर वही आंचल का दूध और आंखों का पानी यहीं आ जाते हैं सब खत्म बर्बाद निकल जाएंगे अब निकल जाएंगी लेकिन बीच-बीच में आपको भावनाओं से फायदा मिल जाता है ना तो आप बहक जाती है आपको लगता है भावना तो बढ़िया चीज है अभी फायदा मिला तो रोए तो नया यार मिल गया अब काहे को रोना बंद हो तन दिखाया सजाया तो बड़ा सम्मान मिल गया जमाने ने कहा वाह वाह वाह क्या सुंदर है पति पीछे पीछे आ गया जैसे ही मैंने दर्शन को आकर्षक बनाया तो फिर जाता है मंत्री का आदत को नहीं नहीं देना चाहिए छोटी बच्चियों में सजावट की प्रवृत्ति को प्रोत्साहन नहीं देना चाहिए और मां को मैं देखता हूं छोटी बच्चों को ही परियां बना रही होती है वह इतनी सी बच्ची है उसको परी बनाकर घुमाएंगे और छोटी बच्चियों टीवी पर भी यही देख रही है कि परी परी अभी तो कहां बचेगी देख रहे साल की लड़कियां लिपस्टिक लगाकर घूम रही है बर्बाद और पुरुष का स्वार्थ है औरत को शरीर ही बना रहने दो 2 तारीख में खूब करेगा औरत अगर सरल साधारण संयमित रहते हैं से तो पुरुषों की कोई तारीफ नहीं करता और यही साबरी छैल छबीली निकल जाए जितने पुरुष होंगे सब तालियां बजाएंगे वाह वाह करेंगे औरत को लगता है कि हमारी तो बड़ी इज्जत बढ़ गई हमारा तो बड़ा मामला बढ़ गया पागल हो जानती भी नहीं जूस का शोषण किया जा रहा है हम नहीं जानते शिकारी कौन हैं और शिकार कौन है शिकार करने की चेष्टा मत करिए शिकार हो जाएंगी आप फूल रूप से शिकार हो जाते हैं क्योंकि सूक्ष्म रूप से शिकार करने की आप की भी मंशा होती है इस बात को स्वीकार्य आइसक्रीम सूक्ष्म रूप से शिकार करती है तो किसी को दिखाई नहीं देता पूर्ण रूप से शिकार कर लेता है जिसे शिकार ना हो
Likes  121  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हम ही बात कहते हैं कि महिलाएं भावनात्मक रूप से पुरुषों से ज्यादा मजबूत है अधिक मजबूत है तो हम क्या कर रहे हैं हमें तुलना क्रिएट कर रहे हैं हमेशा याद रखें कि सारी लड़ाई इस चीज की है कि कौन बेहतर है फिजिकली कौन ज्यादा स्ट्रांग है शारीरिक रूप से मेंटली कौन ज्यादा सॉन्ग है दिमागी रूप से भावनात्मक रूप से कौन ज्यादा स्वामी हमेशा याद रखें दोनों का दोनों ही अपने अपने क्षेत्र में जो भी उनका रोल बुक ले कर रहे हैं उसमें अपना बेहतर काम देते हैं हमेशा याद रखिए कि अगर हम बात करते हैं तो महिलाएं और पुरुष एक समान है पूछ रहे हैं कि महिलाएं ज्यादा भावनात्मक रूप से ज्यादा मजबूत है दोनों ही मजबूत है अगर महिलाएं अपना रोल ना करें तो पुरुष अपना काम ढंग से नहीं कर पाएंगे वहीं पुरुष अगर अपने आपको भावनात्मक रूप से भूत आ रखे तो महिलाएं अपना काम नहीं कर पाएंगे अब पुरुषों है जब भी किसी की मृत्यु होती है तो ज्यादा काम जो है उनके दहन का काम है पूछो को दिया जाता है बिकॉज वह अपने आपको भावनात्मक रूप से रोक पाते हैं महिलाओं के कंपेरटिवली वहीं अगर जब शिशु पालन की बात आती है तो महिलाओं को ज्यादा जो है आप भी कहा जाता है क्योंकि महिला की वहीं बच्चों का पालन करें क्योंकि वह बच्चों की भावनाओं को अच्छे से समझ पाती हैं कौन अधिक है यह प्रश्न है ही नहीं तो ना कहीं हो ही नहीं सकती दोनों का अपना अपना रोल है वह महिलाओं का और पुरुषों का जो वह अपने-अपने क्षेत्रों में बहुत अच्छे से निभा रहे हैं
Romanized Version
जब हम ही बात कहते हैं कि महिलाएं भावनात्मक रूप से पुरुषों से ज्यादा मजबूत है अधिक मजबूत है तो हम क्या कर रहे हैं हमें तुलना क्रिएट कर रहे हैं हमेशा याद रखें कि सारी लड़ाई इस चीज की है कि कौन बेहतर है फिजिकली कौन ज्यादा स्ट्रांग है शारीरिक रूप से मेंटली कौन ज्यादा सॉन्ग है दिमागी रूप से भावनात्मक रूप से कौन ज्यादा स्वामी हमेशा याद रखें दोनों का दोनों ही अपने अपने क्षेत्र में जो भी उनका रोल बुक ले कर रहे हैं उसमें अपना बेहतर काम देते हैं हमेशा याद रखिए कि अगर हम बात करते हैं तो महिलाएं और पुरुष एक समान है पूछ रहे हैं कि महिलाएं ज्यादा भावनात्मक रूप से ज्यादा मजबूत है दोनों ही मजबूत है अगर महिलाएं अपना रोल ना करें तो पुरुष अपना काम ढंग से नहीं कर पाएंगे वहीं पुरुष अगर अपने आपको भावनात्मक रूप से भूत आ रखे तो महिलाएं अपना काम नहीं कर पाएंगे अब पुरुषों है जब भी किसी की मृत्यु होती है तो ज्यादा काम जो है उनके दहन का काम है पूछो को दिया जाता है बिकॉज वह अपने आपको भावनात्मक रूप से रोक पाते हैं महिलाओं के कंपेरटिवली वहीं अगर जब शिशु पालन की बात आती है तो महिलाओं को ज्यादा जो है आप भी कहा जाता है क्योंकि महिला की वहीं बच्चों का पालन करें क्योंकि वह बच्चों की भावनाओं को अच्छे से समझ पाती हैं कौन अधिक है यह प्रश्न है ही नहीं तो ना कहीं हो ही नहीं सकती दोनों का अपना अपना रोल है वह महिलाओं का और पुरुषों का जो वह अपने-अपने क्षेत्रों में बहुत अच्छे से निभा रहे हैंJab Hum Hi Baat Kehte Hain Ki Mahilaen Bhavnatmak Roop Se Purushon Se Zyada Mazboot Hai Adhik Mazboot Hai Toh Hum Kya Kar Rahe Hain Humein Tulna Create Kar Rahe Hain Hamesha Yaad Rakhen Ki Saree Ladai Is Cheez Ki Hai Ki Kaun Behtar Hai Physically Kaun Zyada Strong Hai Sharirik Roop Se Mentally Kaun Zyada Song Hai Dimagi Roop Se Bhavnatmak Roop Se Kaun Zyada Swami Hamesha Yaad Rakhen Dono Ka Dono Hi Apne Apne Kshetra Mein Jo Bhi Unka Roll Book Le Kar Rahe Hain Usmein Apna Behtar Kaam Dete Hain Hamesha Yaad Rakhiye Ki Agar Hum Baat Karte Hain Toh Mahilaen Aur Purush Ek Saman Hai Poochh Rahe Hain Ki Mahilaen Zyada Bhavnatmak Roop Se Zyada Mazboot Hai Dono Hi Mazboot Hai Agar Mahilaen Apna Roll Na Karein Toh Purush Apna Kaam Dhang Se Nahi Kar Payenge Wahin Purush Agar Apne Aapko Bhavnatmak Roop Se Bhoot Aa Rakhe Toh Mahilaen Apna Kaam Nahi Kar Payenge Ab Purushon Hai Jab Bhi Kisi Ki Mrityu Hoti Hai Toh Zyada Kaam Jo Hai Unke Dahan Ka Kaam Hai Pucho Ko Diya Jata Hai Because Wah Apne Aapko Bhavnatmak Roop Se Rok Paate Hain Mahilaon Ke Kamperativali Wahin Agar Jab Shishu Palan Ki Baat Aati Hai Toh Mahilaon Ko Zyada Jo Hai Aap Bhi Kaha Jata Hai Kyonki Mahila Ki Wahin Bacchon Ka Palan Karein Kyonki Wah Bacchon Ki Bhavnao Ko Acche Se Samajh Pati Hain Kaun Adhik Hai Yeh Prashna Hai Hi Nahi Toh Na Kahin Ho Hi Nahi Sakti Dono Ka Apna Apna Roll Hai Wah Mahilaon Ka Aur Purushon Ka Jo Wah Apne Apne Kshetro Mein Bahut Acche Se Nibha Rahe Hain
Likes  90  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लगता है क्योंकि यह साइंटिफिक ली थी तो वन है कि यह फीमेल जो है वह ज्यादा इमोशनली बैलेंस होती हालांकि लोग इसका विपरीत होते हैं ऐसा है कि मैंने बहुत सारे हार्मोनल चेंज होते हैं तो खा लो उनको अंदर से चेंज करते रहते हो तो इससे हमारी बहुत सारी डिनर एबिलिटी टो है वह तो हमारी टोलरेंट पावर हमारी वर्क एबिलिटी ट्रिक ली थी हमारी मल्टीटास्किंग जो हम देख सकते हैं उदाहरण के तौर पर कि हम एक साथ कितने का मिलता कर सकते हैं फीमेल तो ओबेरॉय में आप कह सकते हैं मुझे तो यह लगता है कि ईमेल जाता इमोशनली बैलेंस
Romanized Version
लगता है क्योंकि यह साइंटिफिक ली थी तो वन है कि यह फीमेल जो है वह ज्यादा इमोशनली बैलेंस होती हालांकि लोग इसका विपरीत होते हैं ऐसा है कि मैंने बहुत सारे हार्मोनल चेंज होते हैं तो खा लो उनको अंदर से चेंज करते रहते हो तो इससे हमारी बहुत सारी डिनर एबिलिटी टो है वह तो हमारी टोलरेंट पावर हमारी वर्क एबिलिटी ट्रिक ली थी हमारी मल्टीटास्किंग जो हम देख सकते हैं उदाहरण के तौर पर कि हम एक साथ कितने का मिलता कर सकते हैं फीमेल तो ओबेरॉय में आप कह सकते हैं मुझे तो यह लगता है कि ईमेल जाता इमोशनली बैलेंसLagta Hai Kyonki Yeh Scientific Li Thi Toh Van Hai Ki Yeh Female Jo Hai Wah Zyada Emotionally Balance Hoti Halanki Log Iska Viprit Hote Hain Aisa Hai Ki Maine Bahut Saare Hormonal Change Hote Hain Toh Kha Lo Unko Andar Se Change Karte Rehte Ho Toh Isse Hamari Bahut Saree Dinner Ability To Hai Wah Toh Hamari Tolrent Power Hamari Work Ability Trick Li Thi Hamari Multitasking Jo Hum Dekh Sakte Hain Udaharan Ke Taur Par Ki Hum Ek Saath Kitne Ka Milta Kar Sakte Hain Female Toh Oberoy Mein Aap Keh Sakte Hain Mujhe Toh Yeh Lagta Hai Ki Email Jata Emotionally Balance
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी या नहीं डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखिए एक मैं आपको रियालिटी आपके सामने और सुलझाना चाहूंगी एक जो लोग क्या समझ है उसको मैं आपके साथ शेयर करना चाहूंगी हम सब को यह लगता है कि इस इमेज इमोशनल ही काफी सॉन्ग है और होती हैं और लड़कों के कंपैरिजन में काफी ज्यादा सॉन्ग होती है पर मैं आपको बताऊं आप ट्राई टू सी द सिचुएशन इन दिस पर्सपेक्टिव्स कि अगर लड़की उस लड़की के जगह अगर वो लड़का होता तो देखिए वही बात है ना कि बचपन से अपने भाई से तुलना करते हैं मतलब घर में अगर लड़कियों को लड़कों से तुलना होती है स्कूल में तुलना होते हैं सोसाइटी में काफी विरोध औलिया कंपेक इसीलिए हम को ना 11 मिलता है अंदर से की यार हमको कुछ करना है और हमको कुछ करना है हमको आगे बढ़ना है तो अगर आपको हमेशा कोई प्रेशर में रखे रहेगा आपको छोटा दिखा सोसाइटी में भी अगर आप को छोटा महसूस सील कर आएगा घर आ जाएगा ना तो युगल टाना टुरी वह सॉन्ग तो मुझे लगता है कि अगर भाई से वर्षा हो ताकि अगर उल्टा होता लड़के अगर लड़कों को मेरे कहा जाता है शुरू से कि तुम जो है तुम देखो तुम्हें ऐसे हो तुम फरार ठिकाना हो अगर उनको यह बोल देते ना तो लड़की भी सिर इमोशनली काफी स्ट्रांग बन के रहते बन के बाहर आते तो टाइपिंग किए जेंडर की बात नहीं है यह इट्स ऑल अबाउट व्हाट यू हैव बीन ट्रूकॉलर व्हाट सरकमस्टेंसस एंड मॉडलिंग मॉडलिंग यानी कि आप उस सरकमस्टेंस में क्या बन गए हो तो इस अबाउट दैट मेरे हिसाब से जेंडर का बात नहीं है इसमें सब सॉन्ग ए लड़की भी बहुत सॉन्ग होते हैं ऐसा नहीं है सब सोते हैं तो एम नॉट ओनली फॉर फीमेल नेम फॉर मैन ऑल सॉन्ग ऑल सॉन्ग इट्स ऑल अबाउट द कंडीशन रनवे सरकमस्टेंसस टू व्हिच यू कम इन लाइफ
Romanized Version
नमस्ते दोस्तों मेरी या नहीं डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं देखिए एक मैं आपको रियालिटी आपके सामने और सुलझाना चाहूंगी एक जो लोग क्या समझ है उसको मैं आपके साथ शेयर करना चाहूंगी हम सब को यह लगता है कि इस इमेज इमोशनल ही काफी सॉन्ग है और होती हैं और लड़कों के कंपैरिजन में काफी ज्यादा सॉन्ग होती है पर मैं आपको बताऊं आप ट्राई टू सी द सिचुएशन इन दिस पर्सपेक्टिव्स कि अगर लड़की उस लड़की के जगह अगर वो लड़का होता तो देखिए वही बात है ना कि बचपन से अपने भाई से तुलना करते हैं मतलब घर में अगर लड़कियों को लड़कों से तुलना होती है स्कूल में तुलना होते हैं सोसाइटी में काफी विरोध औलिया कंपेक इसीलिए हम को ना 11 मिलता है अंदर से की यार हमको कुछ करना है और हमको कुछ करना है हमको आगे बढ़ना है तो अगर आपको हमेशा कोई प्रेशर में रखे रहेगा आपको छोटा दिखा सोसाइटी में भी अगर आप को छोटा महसूस सील कर आएगा घर आ जाएगा ना तो युगल टाना टुरी वह सॉन्ग तो मुझे लगता है कि अगर भाई से वर्षा हो ताकि अगर उल्टा होता लड़के अगर लड़कों को मेरे कहा जाता है शुरू से कि तुम जो है तुम देखो तुम्हें ऐसे हो तुम फरार ठिकाना हो अगर उनको यह बोल देते ना तो लड़की भी सिर इमोशनली काफी स्ट्रांग बन के रहते बन के बाहर आते तो टाइपिंग किए जेंडर की बात नहीं है यह इट्स ऑल अबाउट व्हाट यू हैव बीन ट्रूकॉलर व्हाट सरकमस्टेंसस एंड मॉडलिंग मॉडलिंग यानी कि आप उस सरकमस्टेंस में क्या बन गए हो तो इस अबाउट दैट मेरे हिसाब से जेंडर का बात नहीं है इसमें सब सॉन्ग ए लड़की भी बहुत सॉन्ग होते हैं ऐसा नहीं है सब सोते हैं तो एम नॉट ओनली फॉर फीमेल नेम फॉर मैन ऑल सॉन्ग ऑल सॉन्ग इट्स ऑल अबाउट द कंडीशन रनवे सरकमस्टेंसस टू व्हिच यू कम इन लाइफNamaste Doston Meri Ya Nahi Doctor Priya Jha Ke Taraf Se Aap Sab Ko Din Ki Bahut Saree Subhkamnaayain Dekhie Ek Main Aapko Reality Aapke Saamne Aur Suljhana Chahungi Ek Jo Log Kya Samajh Hai Usko Main Aapke Saath Share Karna Chahungi Hum Sab Ko Yeh Lagta Hai Ki Is Image Emotional Hi Kafi Song Hai Aur Hoti Hain Aur Ladko Ke Comparison Mein Kafi Zyada Song Hoti Hai Par Main Aapko Bataun Aap Try To Si The Situation In This Parsapektivs Ki Agar Ladki Us Ladki Ke Jagah Agar Vo Ladka Hota Toh Dekhie Wahi Baat Hai Na Ki Bachpan Se Apne Bhai Se Tulna Karte Hain Matlab Ghar Mein Agar Ladkiyon Ko Ladko Se Tulna Hoti Hai School Mein Tulna Hote Hain Society Mein Kafi Virodh Auliya Kampek Isliye Hum Ko Na 11 Milta Hai Andar Se Ki Yaar Hamko Kuch Karna Hai Aur Hamko Kuch Karna Hai Hamko Aage Badhana Hai Toh Agar Aapko Hamesha Koi Pressure Mein Rakhe Rahega Aapko Chota Dikha Society Mein Bhi Agar Aap Ko Chota Mahsus Seal Kar Aaega Ghar Aa Jayega Na Toh Yugal Taana Turi Wah Song Toh Mujhe Lagta Hai Ki Agar Bhai Se Varsha Ho Taki Agar Ulta Hota Ladke Agar Ladko Ko Mere Kaha Jata Hai Shuru Se Ki Tum Jo Hai Tum Dekho Tumhe Aise Ho Tum Farar Thikana Ho Agar Unko Yeh Bol Dete Na Toh Ladki Bhi Sir Emotionally Kafi Strong Ban Ke Rehte Ban Ke Bahar Aate Toh Typing Kiye Gender Ki Baat Nahi Hai Yeh Its All About What You Have Bean Truecaller What Circumstances End Modelling Modelling Yani Ki Aap Us Sarakamastens Mein Kya Ban Gaye Ho Toh Is About That Mere Hisab Se Gender Ka Baat Nahi Hai Ismein Sab Song A Ladki Bhi Bahut Song Hote Hain Aisa Nahi Hai Sab Sote Hain Toh M Not Only For Female Name For Man All Song All Song Its All About The Condition Runway Circumstances To Which You Kam In Life
Likes  89  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इमोशनली कुछ हद तक मन से ज्यादा सॉन्ग होती है उसका एक रीजन है क्योंकि अपने मौसम शेयर करते हैं शेयर करने से हम काफी लाईफ कि घर पर हमला होता है कई बार अपनी इमोशंस अपने अंदर रखते हैं शेयर करना थोड़ा कम पसंद करते हैं जिसकी वजह से थॉट्स में उतनी क्लेरिटी नहीं आता कि कहीं सिचुएशन एंड इमोशनल इमोशनल इसी खुशी
Romanized Version
इमोशनली कुछ हद तक मन से ज्यादा सॉन्ग होती है उसका एक रीजन है क्योंकि अपने मौसम शेयर करते हैं शेयर करने से हम काफी लाईफ कि घर पर हमला होता है कई बार अपनी इमोशंस अपने अंदर रखते हैं शेयर करना थोड़ा कम पसंद करते हैं जिसकी वजह से थॉट्स में उतनी क्लेरिटी नहीं आता कि कहीं सिचुएशन एंड इमोशनल इमोशनल इसी खुशीEmotionally Kuch Had Tak Man Se Zyada Song Hoti Hai Uska Ek Reason Hai Kyonki Apne Mausam Share Karte Hain Share Karne Se Hum Kafi Life Ki Ghar Par Hamla Hota Hai Kai Baar Apni Emotional Apne Andar Rakhte Hain Share Karna Thoda Kam Pasand Karte Hain Jiski Wajah Se Thoughts Mein Utani Kleriti Nahi Aata Ki Kahin Situation End Emotional Emotional Isi Khushi
Likes  64  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाएं हमेशा भावनात्मक रूप में बहुत ज्यादा मजबूत होती है और वह अपने अंदर समर्पण और सहनशीलता इन दोनों के बदौलत अपनी भावनाओं को काम रखिए जबकि पुरुषों में सहनशीलता नहीं समझ पाया जाता महिलाओं से कम इसका सबसे बड़ा प्रमाण है कि 9 महीने तक एक बच्चे को अपने घर में रखी है यह किसी और के साथ घर की पूरी जिम्मेदारियों की औरतों को भी नहीं भाती से बड़ा कोई उदाहरण नहीं और इसके पीछे लगी है सिर्फ एक बार वह मां बनने की भावना एक पुरुष को पूजा होने का एहसास करवाने की भावना एक परिवार को जीत लेने की भावना
Romanized Version
महिलाएं हमेशा भावनात्मक रूप में बहुत ज्यादा मजबूत होती है और वह अपने अंदर समर्पण और सहनशीलता इन दोनों के बदौलत अपनी भावनाओं को काम रखिए जबकि पुरुषों में सहनशीलता नहीं समझ पाया जाता महिलाओं से कम इसका सबसे बड़ा प्रमाण है कि 9 महीने तक एक बच्चे को अपने घर में रखी है यह किसी और के साथ घर की पूरी जिम्मेदारियों की औरतों को भी नहीं भाती से बड़ा कोई उदाहरण नहीं और इसके पीछे लगी है सिर्फ एक बार वह मां बनने की भावना एक पुरुष को पूजा होने का एहसास करवाने की भावना एक परिवार को जीत लेने की भावनाMahilaen Hamesha Bhavnatmak Roop Mein Bahut Zyada Mazboot Hoti Hai Aur Wah Apne Andar Samarpan Aur Sahansheelta In Dono Ke Badaulat Apni Bhavnao Ko Kaam Rakhiye Jabki Purushon Mein Sahansheelta Nahi Samajh Paya Jata Mahilaon Se Kam Iska Sabse Bada Pramaan Hai Ki 9 Mahine Tak Ek Bacche Ko Apne Ghar Mein Rakhi Hai Yeh Kisi Aur Ke Saath Ghar Ki Puri Jimmedaariyon Ki Auraton Ko Bhi Nahi Bhati Se Bada Koi Udaharan Nahi Aur Iske Peeche Lagi Hai Sirf Ek Baar Wah Maa Banne Ki Bhavna Ek Purush Ko Puja Hone Ka Ehsaas Karwane Ki Bhavna Ek Parivar Ko Jeet Lene Ki Bhavna
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां महिलाएं भावनात्मक रूप से पुरुषों की तुलना में अधिक मजबूत होती हैं महिलाएं मल्टी टैलेंटेड होती हैं और पुरुष टैलेंटेड होते हैं महिलाएं एक कई काम एक साथ करती रहती हैं खाना भी बनाती रहती हैं अपने बच्चे को ट्यूशन भी पढ़ाती रहती हैं टीवी भी देखती रहती हैं पोछा झाड़ू भी लगाती रहती है पुरुष एक काम एक ही काम करेगा अगर कर रहा है तू लेकिन महिलाएं बहुत सारे काम को एक साथ कर लेती हैं इसलिए उन्हें मल्टी टैलेंटेड बोला जाता है और लड़कों को टैलेंटेड बोला जाता है किसी भी समाज को किसी भी देश को आगे बढ़ाने में महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान होता है और महिलाओं के लिए एक ही आदमी ने अभी तक कार्य किया है उसका नाम है प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी 2014 के चुनाव जीतने के बाद बेटी बचाओ अभियान उन्होंने चालू किया जिसके माध्यम से हमारे देश में बहुत जागरूकता या महिला संघ अधिकरण के ऊपर ध्यान दिया गया इससे भी हमारे देश में बहुत जागरूकता आया और महिलाओं को उन्होंने आगे किया आज रक्षा मंत्री हमारे देश की महिला हैं विदेश मंत्री हमारे देश की महिला हैं और महिलाएं महिलाओं को लाया जा रहा है और महिलाएं महिलाओं के माध्यम से ही हमारा देश आगे बढ़ेगा जब पुरुष महिला मिलजुल कर कार्य करेंगे तभी देश आगे बढ़ेगा आइए पुरुष और महिला के बीच का भेदभाव खत्म किया जाए अपने देश को आगे बढ़ाया जाए और अपना महत्वपूर्ण वोट बीजेपी को दिया जाए ताकि महिला सशक्तिकरण के ऊपर बेटी बचाओ अभियान के ऊपर और अच्छे से कार्य हो सके और हमारा देश तरक्की कर सके धन्यवाद
Romanized Version
जी हां महिलाएं भावनात्मक रूप से पुरुषों की तुलना में अधिक मजबूत होती हैं महिलाएं मल्टी टैलेंटेड होती हैं और पुरुष टैलेंटेड होते हैं महिलाएं एक कई काम एक साथ करती रहती हैं खाना भी बनाती रहती हैं अपने बच्चे को ट्यूशन भी पढ़ाती रहती हैं टीवी भी देखती रहती हैं पोछा झाड़ू भी लगाती रहती है पुरुष एक काम एक ही काम करेगा अगर कर रहा है तू लेकिन महिलाएं बहुत सारे काम को एक साथ कर लेती हैं इसलिए उन्हें मल्टी टैलेंटेड बोला जाता है और लड़कों को टैलेंटेड बोला जाता है किसी भी समाज को किसी भी देश को आगे बढ़ाने में महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान होता है और महिलाओं के लिए एक ही आदमी ने अभी तक कार्य किया है उसका नाम है प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी 2014 के चुनाव जीतने के बाद बेटी बचाओ अभियान उन्होंने चालू किया जिसके माध्यम से हमारे देश में बहुत जागरूकता या महिला संघ अधिकरण के ऊपर ध्यान दिया गया इससे भी हमारे देश में बहुत जागरूकता आया और महिलाओं को उन्होंने आगे किया आज रक्षा मंत्री हमारे देश की महिला हैं विदेश मंत्री हमारे देश की महिला हैं और महिलाएं महिलाओं को लाया जा रहा है और महिलाएं महिलाओं के माध्यम से ही हमारा देश आगे बढ़ेगा जब पुरुष महिला मिलजुल कर कार्य करेंगे तभी देश आगे बढ़ेगा आइए पुरुष और महिला के बीच का भेदभाव खत्म किया जाए अपने देश को आगे बढ़ाया जाए और अपना महत्वपूर्ण वोट बीजेपी को दिया जाए ताकि महिला सशक्तिकरण के ऊपर बेटी बचाओ अभियान के ऊपर और अच्छे से कार्य हो सके और हमारा देश तरक्की कर सके धन्यवादJi Haan Mahilaen Bhavnatmak Roop Se Purushon Ki Tulna Mein Adhik Mazboot Hoti Hain Mahilaen Multi Talented Hoti Hain Aur Purush Talented Hote Hain Mahilaen Ek Kai Kaam Ek Saath Karti Rehti Hain Khana Bhi Banati Rehti Hain Apne Bacche Ko Tuition Bhi Padhati Rehti Hain TV Bhi Dekhti Rehti Hain Pochaa Jhaad Bhi Lagati Rehti Hai Purush Ek Kaam Ek Hi Kaam Karega Agar Kar Raha Hai Tu Lekin Mahilaen Bahut Saare Kaam Ko Ek Saath Kar Leti Hain Isliye Unhein Multi Talented Bola Jata Hai Aur Ladko Ko Talented Bola Jata Hai Kisi Bhi Samaaj Ko Kisi Bhi Desh Ko Aage Badhane Mein Mahilaon Ka Bahut Bada Yogdan Hota Hai Aur Mahilaon Ke Liye Ek Hi Aadmi Ne Abhi Tak Karya Kiya Hai Uska Naam Hai Pradhanmantri Maananeey Shri Narendra Modi Ji 2014 Ke Chunav Jitne Ke Baad Beti Bachao Abhiyan Unhone Chalu Kiya Jiske Maadhyam Se Hamare Desh Mein Bahut Jagrukta Ya Mahila Sangh Adhikaran Ke Upar Dhyan Diya Gaya Isse Bhi Hamare Desh Mein Bahut Jagrukta Aaya Aur Mahilaon Ko Unhone Aage Kiya Aaj Raksha Mantri Hamare Desh Ki Mahila Hain Videsh Mantri Hamare Desh Ki Mahila Hain Aur Mahilaen Mahilaon Ko Laya Ja Raha Hai Aur Mahilaen Mahilaon Ke Maadhyam Se Hi Hamara Desh Aage Badhega Jab Purush Mahila Miljul Kar Karya Karenge Tabhi Desh Aage Badhega Aaiye Purush Aur Mahila Ke Beech Ka Bhedbhav Khatam Kiya Jaye Apne Desh Ko Aage Badhaya Jaye Aur Apna Mahatvapurna Vote Bjp Ko Diya Jaye Taki Mahila Shshaktikaran Ke Upar Beti Bachao Abhiyan Ke Upar Aur Acche Se Karya Ho Sake Aur Hamara Desh Tarakki Kar Sake Dhanyavad
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:


vokalandroid