search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

शैक्षिक समाजशास्त्र के उद्देश्य क्या है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ईमित्र समाजशास्त्र का अर्थ होता है समाज यह दुनिया ए प्रकाश जी सुशीला जी मने समाजों के विचार या फिर समाज में किस प्रकार के लोग रहते हैं यह समाज से संबंधित नियम कानून या फिर किस प्रकार से बनाए गए हैं और किसके लिए बनाया है क्यों बनाए गए हैं यह समस्त चीजें शैक्षिक समाजशास्त्र में आती हैं इसे हमें पता चलता है कि हमारे समाज में किस प्रकार के नियम थी और किस प्रकार के बदलाव हुए किसने बदलाव की यह किस प्रकार से बदलाव क्यों क्यों बदलाव की यह तमाम सवालों के उत्तर में समाजशास्त्र में या फिर समाज कार्य का उद्देश्य इस चीजों को बताना होता है किस चीज से क्या हानि हो रही है कि कौन सी माने सभ्यता के नष्ट होने से क्या हानियां हुई या फिर कौन सी सभ्यता के बनाने से क्या फायदा हुआ यह सब सारी चीजें हमें समाजशास्त्र में एक सब्जेक्ट के उद्देश्य से बनाया गया है कि ताकि लोगों को एक सब्जेक्ट के माध्यम से समझाया जा सके कि हमारे दुनिया क्या है वह केवल फ्रेंड
Romanized Version
ईमित्र समाजशास्त्र का अर्थ होता है समाज यह दुनिया ए प्रकाश जी सुशीला जी मने समाजों के विचार या फिर समाज में किस प्रकार के लोग रहते हैं यह समाज से संबंधित नियम कानून या फिर किस प्रकार से बनाए गए हैं और किसके लिए बनाया है क्यों बनाए गए हैं यह समस्त चीजें शैक्षिक समाजशास्त्र में आती हैं इसे हमें पता चलता है कि हमारे समाज में किस प्रकार के नियम थी और किस प्रकार के बदलाव हुए किसने बदलाव की यह किस प्रकार से बदलाव क्यों क्यों बदलाव की यह तमाम सवालों के उत्तर में समाजशास्त्र में या फिर समाज कार्य का उद्देश्य इस चीजों को बताना होता है किस चीज से क्या हानि हो रही है कि कौन सी माने सभ्यता के नष्ट होने से क्या हानियां हुई या फिर कौन सी सभ्यता के बनाने से क्या फायदा हुआ यह सब सारी चीजें हमें समाजशास्त्र में एक सब्जेक्ट के उद्देश्य से बनाया गया है कि ताकि लोगों को एक सब्जेक्ट के माध्यम से समझाया जा सके कि हमारे दुनिया क्या है वह केवल फ्रेंडImitra Samajshastra Ka Arth Hota Hai Samaaj Yeh Duniya A Prakash Ji Susheela Ji Mane Samajon Ke Vichar Ya Phir Samaaj Mein Kis Prakar Ke Log Rehte Hain Yeh Samaaj Se Sambandhit Niyam Kanoon Ya Phir Kis Prakar Se Banaye Gaye Hain Aur Kiske Liye Banaya Hai Kyon Banaye Gaye Hain Yeh Samast Cheezen Shaikshik Samajshastra Mein Aati Hain Ise Humein Pata Chalta Hai Ki Hamare Samaaj Mein Kis Prakar Ke Niyam Thi Aur Kis Prakar Ke Badlav Hue Kisne Badlav Ki Yeh Kis Prakar Se Badlav Kyon Kyon Badlav Ki Yeh Tamam Sawalon Ke Uttar Mein Samajshastra Mein Ya Phir Samaaj Karya Ka Uddeshya Is Chijon Ko Batana Hota Hai Kis Cheez Se Kya Hani Ho Rahi Hai Ki Kaun Si Maane Sabhyata Ke Nasht Hone Se Kya Haniyan Hui Ya Phir Kaun Si Sabhyata Ke Banane Se Kya Fayda Hua Yeh Sab Saree Cheezen Humein Samajshastra Mein Ek Subject Ke Uddeshya Se Banaya Gaya Hai Ki Taki Logon Ko Ek Subject Ke Maadhyam Se Samjhaya Ja Sake Ki Hamare Duniya Kya Hai Wah Keval Friend
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शैक्षिक समाजशास्त्र के उद्देश्य इस प्रकार हैं पहला सामाजिक प्रगति के लिए शिक्षक एवं स्कूल के कार्यों का सामाजिक संदर्भ में ज्ञान प्राप्त करना दूसरा विद्यालय को प्रभावित करने वाले सामाजिक तत्वों का अध्ययन करना तीसरा छात्रों पर पड़ने वाले सामाजिक तत्वों के प्रभाव का ज्ञान प्राप्त करना चौथा सामाजिक आर्थिक और सांस्कृतिक पक्षों को ध्यान में रखकर सामाजिक दृष्टि से शैक्षिक पाठ्यक्रम का निर्माण करना पांचवा जनतांत्रिक विचारधाराओं का ज्ञान प्राप्त करना लास्ट शैक्षिक समाजशास्त्र के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए विभिन्न अनुसंधान विधियों का प्रयोग करना
Romanized Version
शैक्षिक समाजशास्त्र के उद्देश्य इस प्रकार हैं पहला सामाजिक प्रगति के लिए शिक्षक एवं स्कूल के कार्यों का सामाजिक संदर्भ में ज्ञान प्राप्त करना दूसरा विद्यालय को प्रभावित करने वाले सामाजिक तत्वों का अध्ययन करना तीसरा छात्रों पर पड़ने वाले सामाजिक तत्वों के प्रभाव का ज्ञान प्राप्त करना चौथा सामाजिक आर्थिक और सांस्कृतिक पक्षों को ध्यान में रखकर सामाजिक दृष्टि से शैक्षिक पाठ्यक्रम का निर्माण करना पांचवा जनतांत्रिक विचारधाराओं का ज्ञान प्राप्त करना लास्ट शैक्षिक समाजशास्त्र के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए विभिन्न अनुसंधान विधियों का प्रयोग करनाShaikshik Samajshastra Ke Uddeshya Is Prakar Hain Pehla Samajik Pragati Ke Liye Shikshak Evam School Ke Kaaryon Ka Samajik Sandarbh Mein Gyaan Prapt Karna Doosra Vidyalaya Ko Prabhavit Karne Wale Samajik Tatvon Ka Adhyayan Karna Teesra Chhatro Par Padane Wale Samajik Tatvon Ke Prabhav Ka Gyaan Prapt Karna Chautha Samajik Aarthik Aur Sanskritik Pakshon Ko Dhyan Mein Rakhakar Samajik Drishti Se Shaikshik Pathyakram Ka Nirmaan Karna Panchava Janataantrik Vichardharaon Ka Gyaan Prapt Karna Last Shaikshik Samajshastra Ke Udyeshyon Ki Purti Ke Liye Vibhinn Anusandhan Vidhiyon Ka Prayog Karna
Likes  4  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Shaikshik Samajshastra Ke Uddeshya Kya Hai,What Is The Purpose Of Academic Sociology?,


vokalandroid