भारतीय औरत माथे पर बिंदिया क्यों लगाती हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको पता होगा कि भारत में हिंदुओं में महिलाओं में सोलह श्रृंगार का निवास है तो सोलह सिंगार में से एक विनती है जिसे महिलाएं अपने दिल्ली के सिंगार में इस्तेमाल करते हैं और चैनल को सुहाग की निशानी समझते ...जवाब पढ़िये
आपको पता होगा कि भारत में हिंदुओं में महिलाओं में सोलह श्रृंगार का निवास है तो सोलह सिंगार में से एक विनती है जिसे महिलाएं अपने दिल्ली के सिंगार में इस्तेमाल करते हैं और चैनल को सुहाग की निशानी समझते हैं इसलिए भारतीय औरतें माथे पर बिंदी लगाते हैंAapko Pata Hoga Ki Bharat Mein Hinduon Mein Mahilaon Mein Solah Shrringar Ka Niwas Hai To Solah Shingar Mein Se Ek Vinati Hai Jise Mahilaye Apne Dilli Ke Shingar Mein Istemal Karte Hain Aur Channel Ko Suhaag Ki Nishani Samajhte Hain Isliye Bhartiya Auraten Mathe Par Bidee Lagate Hain
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैसे तो बिजली श्रंगार का एक आवश्यक अंग है और सोलह सिंगार सभी पूर्ण होता है तब भी जिंदगी लग जाती है और स्त्रियां अपने संपूर्ण संसार के साथ माथे पर बिंदी जरूर लगाती है लेकिन औरतों का माथे पर बिंदी लगाने...जवाब पढ़िये
वैसे तो बिजली श्रंगार का एक आवश्यक अंग है और सोलह सिंगार सभी पूर्ण होता है तब भी जिंदगी लग जाती है और स्त्रियां अपने संपूर्ण संसार के साथ माथे पर बिंदी जरूर लगाती है लेकिन औरतों का माथे पर बिंदी लगाने का और भी कई कारण है शास्त्रों में सुंदरता बढ़ाने के साथ ही बिंदी को लगाने के लिए अन्य बहुत सारे लाभ बताए गए हैं सुहाग की निशानी हो या औरतों का श्रद्धा माथे पर बिंदी खूबसूरत भी लगती है और महिलाओं की सेक्सी भी बहुत जरूरी मानी गई है शास्त्रों में कहा गया है कि बिल बिंदी लगाना एक अनमोल श्रृंगार है और विवाह से पूर्व लड़कियां बिंदी केवल सौंदर्य के लिए लगाती है लेकिन विवाह के बाद लगाना सुहाग का प्रतीक माना जाता है और इसे आवश्यक रिवाज भी माना जाता है योग विज्ञान के आधार पर दिन का संबंध हमारे मन से जुड़ा होता है जहां बिंदी लगाई जाती है वही हमारा आज्ञा चक्र स्थित होता है जो हमारे मन को नियंत्रित करता है हम जब भी ध्यान की मुद्रा में होता है होते हैं तो हमारा ध्यान यही कहता है मन को एकाग्र करने के लिए इसी चक्र पर दबाव दिया जाता है और यही पर स्त्रियां बिंदी लगाती है आज्ञा चक्र के स्थान पर ही तीसरी नेत्र की भी परिकल्पना की गई है इस स्थान पर बिंदी लगाने से मन नियंत्रित रहता है महिलाओं का मन अति चंचल होता है ऐसा माना जाता है इसीलिए इस जगह बिंदी लगाने की परंपरा है इस वीडियो में भिंडी को आयुर्वेद से लेकर एक्यूप्रेशर तक में महत्व दिया गया है महिलाओं की सेहत से जुड़ी कई समस्याओं के उपचार में भी से मददगार माना गया है और ऐसा नहीं है कि सिर्फ भारत में ही दिल्ली लगाई जाती है विश्व कि कहीं और देशों में भी बिंदी लगाने का रिवाज हैWaise To Bijli Shringar Ka Ek Aavashyak Ang Hai Aur Solah Shingar Sabhi Poorn Hota Hai Tab Bhi Zindagi Lag Jati Hai Aur Striyan Apne Sampurna Sansar Ke Saath Mathe Par Bidee Jarur Lagati Hai Lekin Auraton Ka Mathe Par Bidee Lagane Ka Aur Bhi Kai Kaaran Hai Shashtro Mein Sundarata Badhane Ke Saath Hi Bidee Ko Lagane Ke Liye Anya Bahut Sare Labh Bataye Gaye Hain Suhaag Ki Nishani Ho Ya Auraton Ka Shraddha Mathe Par Bidee Khoobsurat Bhi Lagti Hai Aur Mahilaon Ki Sexy Bhi Bahut Zaroori Maani Gayi Hai Shashtro Mein Kaha Gaya Hai Ki Bill Bidee Lagana Ek Anmol Shrringar Hai Aur Vivah Se Purv Ladkiyan Bidee Kewal Saundarya Ke Liye Lagati Hai Lekin Vivah Ke Baad Lagana Suhaag Ka Pratik Mana Jata Hai Aur Ise Aavashyak Rivaaj Bhi Mana Jata Hai Yog Vigyan Ke Aadhar Par Din Ka Sambandh Hamare Man Se Juda Hota Hai Jahan Bidee Lagai Jati Hai Wahi Hamara Aagya Chakra Sthit Hota Hai Jo Hamare Man Ko Niyantrit Karta Hai Hum Jab Bhi Dhyan Ki Mudra Mein Hota Hai Hote Hain To Hamara Dhyan Yahi Kahata Hai Man Ko Ekagra Karne Ke Liye Isi Chakra Par Dabaav Diya Jata Hai Aur Yahi Par Striyan Bidee Lagati Hai Aagya Chakra Ke Sthan Par Hi Teesri Netarr Ki Bhi Parikalpana Ki Gayi Hai Is Sthan Par Bidee Lagane Se Man Niyantrit Rehta Hai Mahilaon Ka Man Ati Chanchal Hota Hai Aisa Mana Jata Hai Isliye Is Jagah Bidee Lagane Ki Parampara Hai Is Video Mein Bhindi Ko Ayurveda Se Lekar Acupressure Tak Mein Mahatva Diya Gaya Hai Mahilaon Ki Sehat Se Judi Kai Samasyaon Ke Upchaar Mein Bhi Se Madadgaar Mana Gaya Hai Aur Aisa Nahi Hai Ki Sirf Bharat Mein Hi Dilli Lagai Jati Hai Vishwa Ki Kahin Aur Deshon Mein Bhi Bidee Lagane Ka Rivaaj Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय मध्य पर क्यों बिंदिया लगाते मुझे लगता है यह हमारी ट्रेडिशन में है हमारे कल्चर में और कहीं ना कहीं यह सुहाग का प्रतीक होता है मांग में सिंदूर भरना और बिंदी लगाना है तू आजकल तो हो ना आजकल तो लड़क...जवाब पढ़िये
भारतीय मध्य पर क्यों बिंदिया लगाते मुझे लगता है यह हमारी ट्रेडिशन में है हमारे कल्चर में और कहीं ना कहीं यह सुहाग का प्रतीक होता है मांग में सिंदूर भरना और बिंदी लगाना है तू आजकल तो हो ना आजकल तो लड़कियां भी मिली लगाती है तो वह कहीं ना कहीं वह फैशन का भी हिस्सा है ट्रेडिशन के साथ करता वह बिंदी लगाने के फैशन में भी आ गए हैं इसलिए शायद लगाते मैंने तो बहुत सारी फोन में भी देखेंगे बिंदी लगाती हैंBhartiya Madhya Par Kyon Bindiya Lagate Mujhe Lagta Hai Yeh Hamari Tradition Mein Hai Hamare Culture Mein Aur Kahin Na Kahin Yeh Suhaag Ka Pratik Hota Hai Maang Mein Sindur Bharna Aur Bidee Lagana Hai Tu Aajkal To Ho Na Aajkal To Ladkiyan Bhi Mili Lagati Hai To Wah Kahin Na Kahin Wah Fashion Ka Bhi Hissa Hai Tradition Ke Saath Karta Wah Bidee Lagane Ke Fashion Mein Bhi Aa Gaye Hain Isliye Shayad Lagate Maine To Bahut Saree Phone Mein Bhi Dekhenge Bidee Lagati Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharatiya Aurat Mathe Par Bindiya Kyon Lagati Hain

vokalandroid