आपने मानवता में विश्वास कैसे और क्यूँ खो दिया? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कैसे देखे तो पुराने काल से लोगों लोगों ने एक दूसरे को चीट करने की संपत्ति के लिए संसाधनों के लिए संबंधों के लिए कुछ करने की याद पुरानी है ज्ञान प्राप्त कर लेते हैं कि लोग लोगों को विश्वास नहीं करती विश्वास नहीं करते होते तो हम फैमिली में भी नहीं रहते मैं हर बार आके चेक करता की मेरी बीवी मेरे खाने में जहर मिला दिया कि नहीं करते हम विश्वास करते हैं हम बिल्कुल विश्वास के साथ काम करते हैं लोग थोड़े अभियान हो गए हैं क्योंकि उन्हें बहुत सारे माध्यमों से इंफॉर्मेशन दी कि शूटिंग कैसे होती है तब क्राइम पेट्रोल चैनल देख ले और उसी को देखते हैं तो आपके पड़ोसी के घर में 10 लोग जाते हैं दूसरे के साथ आप स्कूलों में अपने बच्चों को भेजता तो नहीं ज्यादा लाइमलाइट में आ गई है तो ज्यादा लोग घायल हो गए
कैसे देखे तो पुराने काल से लोगों लोगों ने एक दूसरे को चीट करने की संपत्ति के लिए संसाधनों के लिए संबंधों के लिए कुछ करने की याद पुरानी है ज्ञान प्राप्त कर लेते हैं कि लोग लोगों को विश्वास नहीं करती विश्वास नहीं करते होते तो हम फैमिली में भी नहीं रहते मैं हर बार आके चेक करता की मेरी बीवी मेरे खाने में जहर मिला दिया कि नहीं करते हम विश्वास करते हैं हम बिल्कुल विश्वास के साथ काम करते हैं लोग थोड़े अभियान हो गए हैं क्योंकि उन्हें बहुत सारे माध्यमों से इंफॉर्मेशन दी कि शूटिंग कैसे होती है तब क्राइम पेट्रोल चैनल देख ले और उसी को देखते हैं तो आपके पड़ोसी के घर में 10 लोग जाते हैं दूसरे के साथ आप स्कूलों में अपने बच्चों को भेजता तो नहीं ज्यादा लाइमलाइट में आ गई है तो ज्यादा लोग घायल हो गए
Likes  204  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या आपने कोई ऐसा काम किया है जिसका पछतावा आज तक होता है? आपने कैसे सामना किया उसका? ...

विकी हर किसी ने ऐसा काम किया होता है कि जिससे उसके पछतावा होता है और उसी से वह सीखता है और आगे बढ़ता है और सीख तभी मिलती है अगर वह इंसान उस चीज को अपने आगे की लाइफ में यूज़ करें और दोबारा वह सिचुएशन नजवाब पढ़िये
ques_icon

बरेली में एक लंगड़ा आदमी भूख से मर जाता है। क्या भारत धीरे-धीरे मानवता की भावना को खो रहा है? ...

बरेली में जिस व्यक्ति की भूख की वजह से मौत हो गई वह एक नई का काम करते थे और पैरालिसिस होने के वजह से उनका सारा काम छूट गया और इसी कारणवश उनके पास पैसे की कमी हो गई और वह राशन भी नहीं खरीद पा रहे थे औरजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ दिन पहले मैं दिल्ली में थी वहां में एक पार्टी में गई और सर्दियों के दिन है तो टेंपरेचर बहुत ही कम था काफी ज्यादा ठंड थी और वहां पर मैंने देखा कि बहुत बड़े बड़े लोग आए हुए हैं और उधर मेरी नजर एक लेडी पर गए जो कि वहां पर अपनी फैमिली के साथ आई हुई थी उनके साथ एक छोटा बच्चा भी था जिसका ख्याल रखने के लिए उन्होंने एक अमीर को बाहर रखा हुआ था मुझे देख कर बहुत हैरानी हुई कि जब खाना खाने का टाइम आया तो बोलेगी और उनके बच्चे जो उनका जो छोटा बच्चा था वह सब एक बहुत ही सुंदर और अच्छी सी टेबलेट चेयर पर बैठ कर खाना खा रहे थे पार्टी में लेकिन उनके साथ उनकी मेथी उन्होंने उनको बोला कि वह नीचे जमीन पर बैठ जाए इतनी ठंड में जबकि वह मेड अच्छे से उन्होंने इतने बुलंद कपड़े भी नहीं पहने हुए थे पर उन्होंने उनको ऐसा ट्वीट करें और उनको बोला कि वह नीचे बैठ जाए पार्टी में सब लोग आसपास खाना खा रहे थे इसमें अरे थे लेकिन उन्होंने उस मीट को बोला कि मतलब कुछ भी नहीं खा रही थी वह कुछ भी उठा नहीं रही थी खाने के लिए और यह सब कुछ तब करी थी जब उन्होंने उनके बच्चे को उल्टी खाना खिला दिया था तो मुझे लगता है कि जब इंसान एक दूसरे के बीच में पैसे की बेसिस पर या पावर प्रेस्टीज के बेसिस पर ऐसे ऑफ डिफरेंट सेल ट्रीटमेंट करना शुरू कर देते हैं और एक दूसरे को कैसे ठीक करते हैं तो वह बहुत ही गलत चीज होती है और भगवान ने हम सबको इस पुल बनाया है तो एक दूसरे के साथ इस तरीके से डिसटीटी करना है या इस तंहा का एक डिफरेंट एटीट्यूड मेंटेन करके रखना यह बहुत ही गलत बात है और मुझे लगता है जो मैंने यह चीज देखी तो मुझे रिलाइज हुआ कि मतलब जो शिव मैंने जिसको हम बोलते हैं या मानस था उस पर से मेरा विश्वास उठ गया
कुछ दिन पहले मैं दिल्ली में थी वहां में एक पार्टी में गई और सर्दियों के दिन है तो टेंपरेचर बहुत ही कम था काफी ज्यादा ठंड थी और वहां पर मैंने देखा कि बहुत बड़े बड़े लोग आए हुए हैं और उधर मेरी नजर एक लेडी पर गए जो कि वहां पर अपनी फैमिली के साथ आई हुई थी उनके साथ एक छोटा बच्चा भी था जिसका ख्याल रखने के लिए उन्होंने एक अमीर को बाहर रखा हुआ था मुझे देख कर बहुत हैरानी हुई कि जब खाना खाने का टाइम आया तो बोलेगी और उनके बच्चे जो उनका जो छोटा बच्चा था वह सब एक बहुत ही सुंदर और अच्छी सी टेबलेट चेयर पर बैठ कर खाना खा रहे थे पार्टी में लेकिन उनके साथ उनकी मेथी उन्होंने उनको बोला कि वह नीचे जमीन पर बैठ जाए इतनी ठंड में जबकि वह मेड अच्छे से उन्होंने इतने बुलंद कपड़े भी नहीं पहने हुए थे पर उन्होंने उनको ऐसा ट्वीट करें और उनको बोला कि वह नीचे बैठ जाए पार्टी में सब लोग आसपास खाना खा रहे थे इसमें अरे थे लेकिन उन्होंने उस मीट को बोला कि मतलब कुछ भी नहीं खा रही थी वह कुछ भी उठा नहीं रही थी खाने के लिए और यह सब कुछ तब करी थी जब उन्होंने उनके बच्चे को उल्टी खाना खिला दिया था तो मुझे लगता है कि जब इंसान एक दूसरे के बीच में पैसे की बेसिस पर या पावर प्रेस्टीज के बेसिस पर ऐसे ऑफ डिफरेंट सेल ट्रीटमेंट करना शुरू कर देते हैं और एक दूसरे को कैसे ठीक करते हैं तो वह बहुत ही गलत चीज होती है और भगवान ने हम सबको इस पुल बनाया है तो एक दूसरे के साथ इस तरीके से डिसटीटी करना है या इस तंहा का एक डिफरेंट एटीट्यूड मेंटेन करके रखना यह बहुत ही गलत बात है और मुझे लगता है जो मैंने यह चीज देखी तो मुझे रिलाइज हुआ कि मतलब जो शिव मैंने जिसको हम बोलते हैं या मानस था उस पर से मेरा विश्वास उठ गया
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप हमेशा अपने से नीचे वालों को देखिए कि वह कैसे अपनी जिंदगी व्यतीत कर रहे हैं अगर हमेशा अपने से नीचे वालों को देखोगे तो आपको जिंदगी जीने की प्रेरणा मिलेगी दफन करने की संघर्ष करने की प्रेरणा मिलेगी और दूसरों की मदद करने की प्रेरणा मिलेगी तो मेरा मानना यही है अगर आप मानवता में विश्वास रखना चाहती है तो अपने से ऊपर वालों को कम और नीचे वालों को देखकर हमेशा चलते रहिए जिंदगी हमेशा स्टेबल ले रहेगी कोई ऐसी दिक्कत नहीं आएगी 10 दिन में
आप हमेशा अपने से नीचे वालों को देखिए कि वह कैसे अपनी जिंदगी व्यतीत कर रहे हैं अगर हमेशा अपने से नीचे वालों को देखोगे तो आपको जिंदगी जीने की प्रेरणा मिलेगी दफन करने की संघर्ष करने की प्रेरणा मिलेगी और दूसरों की मदद करने की प्रेरणा मिलेगी तो मेरा मानना यही है अगर आप मानवता में विश्वास रखना चाहती है तो अपने से ऊपर वालों को कम और नीचे वालों को देखकर हमेशा चलते रहिए जिंदगी हमेशा स्टेबल ले रहेगी कोई ऐसी दिक्कत नहीं आएगी 10 दिन में
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

...
...
Likes  15  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Aapne Manavta Mein Vishwas Kaise Aur Kyun Kho Diya,


vokalandroid