खांसी की दवा बताओ ? ...

खांसी होना एक आम बात है और किसी भी उम्र वाले व्यक्ति को हो सकती है। खांसी दो तरह की होती है- सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी। बलगम वाली खासी में सफ़ेद या पीले रंग का बलगम बनता है। सूखी खांसी से किसी तरह का थूक या बलगम नहीं बनता मगर ये खांसी नाक या गले के विषाणुजनित संक्रमण के कारण होती है। सूखी खांसी से गले में कुछ अटकने का अहसास होता है। दोनों ही तरह की खांसी में असहजता होती है। खांसी का इलाज़ दवाइयों से बेहतर अच्छा घरेलू नुस्खों से किया जा सकता है। हम आपको सूखी खांसी का इलाज कैसे घरेलु नुस्खों से करें, इस बारे में बताएंगे। घेरलू दवा से खांसी का इलाज फिटकरी का चूर्ण एक फिटकरी के टुकड़े को को पीसकर किसी लोहे की कड़ाही में या गर्म तवे पर रखकर थोड़ी देर गर्म करें। जब फिटकरी फूलकर पानी बन जाएँ तो इसको खुश्क होने तक आंच पर चढ़ा रहने दे। अब तवे से उतारकर इसका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को नमक की चुटकी बराबर मुँह में रख लें, ऐसा करने से खांसी ठीक हो जाती हैं। काली मिर्च काली मिर्च का पाउडर और मिश्री बराबर मात्रा में लें और पीस लें। इसमें एक भाग देशी घी मिलकर मिश्रित करें। अब इस मिश्रण से गोली बना लें। एक -एक गोली दिन में चार बार चूसने से हर प्रकार की खांसी दूर हो जाती हैं।
Romanized Version
खांसी होना एक आम बात है और किसी भी उम्र वाले व्यक्ति को हो सकती है। खांसी दो तरह की होती है- सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी। बलगम वाली खासी में सफ़ेद या पीले रंग का बलगम बनता है। सूखी खांसी से किसी तरह का थूक या बलगम नहीं बनता मगर ये खांसी नाक या गले के विषाणुजनित संक्रमण के कारण होती है। सूखी खांसी से गले में कुछ अटकने का अहसास होता है। दोनों ही तरह की खांसी में असहजता होती है। खांसी का इलाज़ दवाइयों से बेहतर अच्छा घरेलू नुस्खों से किया जा सकता है। हम आपको सूखी खांसी का इलाज कैसे घरेलु नुस्खों से करें, इस बारे में बताएंगे। घेरलू दवा से खांसी का इलाज फिटकरी का चूर्ण एक फिटकरी के टुकड़े को को पीसकर किसी लोहे की कड़ाही में या गर्म तवे पर रखकर थोड़ी देर गर्म करें। जब फिटकरी फूलकर पानी बन जाएँ तो इसको खुश्क होने तक आंच पर चढ़ा रहने दे। अब तवे से उतारकर इसका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को नमक की चुटकी बराबर मुँह में रख लें, ऐसा करने से खांसी ठीक हो जाती हैं। काली मिर्च काली मिर्च का पाउडर और मिश्री बराबर मात्रा में लें और पीस लें। इसमें एक भाग देशी घी मिलकर मिश्रित करें। अब इस मिश्रण से गोली बना लें। एक -एक गोली दिन में चार बार चूसने से हर प्रकार की खांसी दूर हो जाती हैं।Khansi Hona Ek Aam Baat Hai Aur Kisi Bhi Umar Wali Vyakti Ko Ho Sakti Hai Khansi Do Tarah Ki Hoti Hai Sukhi Khansi Aur Balagam Wali Khansi Balagam Wali Khasee Mein Safed Ya Peele Rang Ka Balagam Banta Hai Sukhi Khansi Se Kisi Tarah Ka Thuk Ya Balagam Nahi Banta Magar Yeh Khansi Nak Ya Gale Ke Vishanujnit Sankraman Ke Kaaran Hoti Hai Sukhi Khansi Se Gale Mein Kuch Atakane Ka Ahasas Hota Hai Dono Hi Tarah Ki Khansi Mein Asahajtaa Hoti Hai Khansi Ka Ilaaz Dawaiyo Se Behtar Accha Gharelu Nuskhon Se Kiya Ja Sakta Hai Hum Aapko Sukhi Khansi Ka Ilaj Kaise Gharelu Nuskhon Se Karen Is Bare Mein Batayenge Gharelu Dawa Se Khansi Ka Ilaj Fitkari Ka Churn Ek Fitkari Ke Tukade Ko Ko Piskar Kisi Lohe Ki Kadahi Mein Ya Garam Twe Par Rakhakar Thori Der Garam Karen Jab Fitkari PHULKAR Pani Ban Jayen To Isko Khushk Hone Tak Aanch Par Chadha Rehne De Ab Twe Se Utarakar Iska Churn Bana Lein Is Churn Ko Namak Ki Chutakee Barabar Muh Mein Rakh Lein Aisa Karne Se Khansi Theek Ho Jati Hain Kali Mirch Kali Mirch Ka Powder Aur Mishri Barabar Matra Mein Lein Aur Pis Lein Isme Ek Bhag Deshi Ghee Milkar Mishrit Karen Ab Is Mishran Se Goli Bana Lein Ek Ek Goli Din Mein Char Baar Choosne Se Har Prakar Ki Khansi Dur Ho Jati Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


खांसी होना एक आम बात है और किसी भी उम्र वाले व्यक्ति को हो सकती है। खांसी दो तरह की होती है- सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी। बलगम वाली खासी में सफ़ेद या पीले रंग का बलगम बनता है। सूखी खांसी से किसी तरह का थूक या बलगम नहीं बनता मगर ये खांसी नाक या गले के विषाणुजनित संक्रमण के कारण होती है। सूखी खांसी से गले में कुछ अटकने का अहसास होता है। दोनों ही तरह की खांसी में असहजता होती है। खांसी का इलाज़ दवाइयों से बेहतर अच्छा घरेलू नुस्खों से किया जा सकता है। हम आपको सूखी खांसी का इलाज कैसे घरेलु नुस्खों से करें, इस बारे में बताएंगे। घेरलू दवा से खांसी का इलाज फिटकरी का चूर्ण एक फिटकरी के टुकड़े को को पीसकर किसी लोहे की कड़ाही में या गर्म तवे पर रखकर थोड़ी देर गर्म करें। जब फिटकरी फूलकर पानी बन जाएँ तो इसको खुश्क होने तक आंच पर चढ़ा रहने दे। अब तवे से उतारकर इसका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को नमक की चुटकी बराबर मुँह में रख लें, ऐसा करने से खांसी ठीक हो जाती हैं। काली मिर्च काली मिर्च का पाउडर और मिश्री बराबर मात्रा में लें और पीस लें। इसमें एक भाग देशी घी मिलकर मिश्रित करें। अब इस मिश्रण से गोली बना लें। एक -एक गोली दिन में चार बार चूसने से हर प्रकार की खांसी दूर हो जाती हैं।
Romanized Version
खांसी होना एक आम बात है और किसी भी उम्र वाले व्यक्ति को हो सकती है। खांसी दो तरह की होती है- सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी। बलगम वाली खासी में सफ़ेद या पीले रंग का बलगम बनता है। सूखी खांसी से किसी तरह का थूक या बलगम नहीं बनता मगर ये खांसी नाक या गले के विषाणुजनित संक्रमण के कारण होती है। सूखी खांसी से गले में कुछ अटकने का अहसास होता है। दोनों ही तरह की खांसी में असहजता होती है। खांसी का इलाज़ दवाइयों से बेहतर अच्छा घरेलू नुस्खों से किया जा सकता है। हम आपको सूखी खांसी का इलाज कैसे घरेलु नुस्खों से करें, इस बारे में बताएंगे। घेरलू दवा से खांसी का इलाज फिटकरी का चूर्ण एक फिटकरी के टुकड़े को को पीसकर किसी लोहे की कड़ाही में या गर्म तवे पर रखकर थोड़ी देर गर्म करें। जब फिटकरी फूलकर पानी बन जाएँ तो इसको खुश्क होने तक आंच पर चढ़ा रहने दे। अब तवे से उतारकर इसका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को नमक की चुटकी बराबर मुँह में रख लें, ऐसा करने से खांसी ठीक हो जाती हैं। काली मिर्च काली मिर्च का पाउडर और मिश्री बराबर मात्रा में लें और पीस लें। इसमें एक भाग देशी घी मिलकर मिश्रित करें। अब इस मिश्रण से गोली बना लें। एक -एक गोली दिन में चार बार चूसने से हर प्रकार की खांसी दूर हो जाती हैं।Khansi Hona Ek Am Baat Hai Aur Kisi Bhi Umra Wale Vyakti Co Ho Sakti Hai Khansi Though Turha Ki Hoti Hai Sookhi Khansi Aur Balgam Wali Khansi Balgam Wali Khasi Mein Safed Ya Pillay Rang Ka Balgam Banta Hai Sookhi Khansi Se Kisi Turha Ka Thauk Ya Balgam Nahin Banta Magar Ye Khansi Nak Ya Gale K Vishanujnit Sakraman K Karan Hoti Hai Sookhi Khansi Se Gale Mein Kuch Atakane Ka AHSAAS Hota Hai Donon Hea Turha Ki Khansi Mein Asahajtaa Hoti Hai Khansi Ka Ilaz Deviyo Se Behtar Accha Gharelu Nuskhon Se Kiya Ja Sakta Hai Hum Aapko Sookhi Khansi Ka Ilaj Kaise Gharelu Nuskhon Se Karein Is Baare Mein Bataenge Gherlu Davaa Se Khansi Ka Ilaj Fitkari Ka Churn Ek Fitkari K Tukade Co Co Pishkar Kisi Lohe Ki Kadahi Mein Ya Germa Twe Per Rakhakar Thodi Their Germa Karein Jab Fitkari PHULKAR Pani Bun Jayein To Isko Khushk Hone Tak Aacha Per Charha Rahane They Aba Twe Se Utarakar Iska Churn Banna Lein Is Churn Co Namak Ki Chutki Barabar Munh Mein Rakh Lein Aisa Karne Se Khansi Thik Ho Jaati Hain Kali Mirch Kali Mirch Ka Powder Aur Misri Barabar Maatra Mein Lein Aur Piece Lein Ismein Ek Bhag Deshee GHEE Milkar Mishrit Karein Aba Is Mishran Se Goli Banna Lein Ek Ek Goli Din Mein Char Bar Choosne Se Her Prakar Ki Khansi Dur Ho Jaati Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Khansi Ki Dawa Batao ? ,Khasi Ki Dawa Bataye,


vokalandroid