किस परिस्थिति में किसी व्यक्ति को अपना अहंकार दिखाना चाहिए ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह मुझे भी व्यक्ति को अहंकार अहंकार त्याग बहुत बुरी चीज़ होती है यानी कि जो हमें हमारे ही माया जाल में फंसा देती हमें गिरा देती है यदि किसी व्यक्ति के सामने अपने अहंकार बताए तो वह हमें गिरा देती है लेकिन हम इतना जरूर करना चाहिए यदि व्यक्ति उसी बात पर यह ना किसी बात पर अन्याय किया ऐसा है तब भले ही बता दो आप की हां देख ली भाई मैं भी ऐसा हूं
Romanized Version
यह मुझे भी व्यक्ति को अहंकार अहंकार त्याग बहुत बुरी चीज़ होती है यानी कि जो हमें हमारे ही माया जाल में फंसा देती हमें गिरा देती है यदि किसी व्यक्ति के सामने अपने अहंकार बताए तो वह हमें गिरा देती है लेकिन हम इतना जरूर करना चाहिए यदि व्यक्ति उसी बात पर यह ना किसी बात पर अन्याय किया ऐसा है तब भले ही बता दो आप की हां देख ली भाई मैं भी ऐसा हूंYeh Mujhe Bhi Vyakti Ko Ahankar Ahankar Tyag Bahut Buri Cheese Hoti Hai Yani Ki Jo Hume Hamare Hi Maya Jaal Mein Fansa Deti Hume Gira Deti Hai Yadi Kisi Vyakti Ke Samane Apne Ahankar Bataye To Wah Hume Gira Deti Hai Lekin Hum Itna Jarur Karna Chahiye Yadi Vyakti Ussi Baat Par Yeh Na Kisi Baat Par Anyay Kiya Aisa Hai Tab Bhale Hi Bata Do Aap Ki Haan Dekh Lee Bhai Main Bhi Aisa Hoon
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

वोकल पर फोलोवर सवाल पूछ सकता है या जवाब दे सकता है या दोनों ही कर सकता है? ...

जी आपने बिल्कुल सही कहा कि वह कॉल पर भालू और सवाल पूछ भी सकता है और जवाब भी दे सकता है क्योंकि इसमें कोई भी दिक्कत नहीं आप खुद भी माने इस केस पर बन सकते हैं और सही समय पर उचित सलाह देकर या फिर अपने जोजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राखी जी सिर्फ एक ही सिचुएशन है जहां एक व्यक्ति को अपना अहंकार दिखाना चाहिए वह सिचुएशन है जब आपकी जब बात है आपकी Facebook के ऊपर दैनिक उस टाइम को बीच में जरूर लेकर आए जब आपकी सेल्फी स्टिक के साथ कोई खिलवाड़ कर रहे हैं पार्टनर हमारी रिस्पेक्ट नहीं कर रहा है जैसा भी है पर हम तो सब करते हैं वैसा मैं नहीं मिल रहा है और आपकी सेल्फी स्टिक को बार-बार खींच पहुंच रही है उस सिचुएशन में आप अपना अहंकार अपना एक बार जरूर लेकर आएं रिस्पेक्ट रिस्पेक्ट से बड़ा कुछ भी नहीं होता और अब फिर फेस पैक भी खत्म हो जाएगी सर फेस पैक की कद्र नहीं होंगे तो आप खुश नहीं रह पाएंगे ऐसे स्टेशन अपना अहंकार जरूर आ गई हो करें
Romanized Version
राखी जी सिर्फ एक ही सिचुएशन है जहां एक व्यक्ति को अपना अहंकार दिखाना चाहिए वह सिचुएशन है जब आपकी जब बात है आपकी Facebook के ऊपर दैनिक उस टाइम को बीच में जरूर लेकर आए जब आपकी सेल्फी स्टिक के साथ कोई खिलवाड़ कर रहे हैं पार्टनर हमारी रिस्पेक्ट नहीं कर रहा है जैसा भी है पर हम तो सब करते हैं वैसा मैं नहीं मिल रहा है और आपकी सेल्फी स्टिक को बार-बार खींच पहुंच रही है उस सिचुएशन में आप अपना अहंकार अपना एक बार जरूर लेकर आएं रिस्पेक्ट रिस्पेक्ट से बड़ा कुछ भी नहीं होता और अब फिर फेस पैक भी खत्म हो जाएगी सर फेस पैक की कद्र नहीं होंगे तो आप खुश नहीं रह पाएंगे ऐसे स्टेशन अपना अहंकार जरूर आ गई हो करेंRakhi Ji Sirf Ek Hi Situation Hai Jahan Ek Vyakti Ko Apna Ahankar Dikhana Chahiye Wah Situation Hai Jab Aapki Jab Baat Hai Aapki Facebook Ke Upar Dainik Us Time Ko Beech Mein Jarur Lekar Aaye Jab Aapki Selfie Stick Ke Saath Koi Khilwad Kar Rahe Hain Partner Hamari Respect Nahi Kar Raha Hai Jaisa Bhi Hai Par Hum To Sab Karte Hain Waisa Main Nahi Mil Raha Hai Aur Aapki Selfie Stick Ko Baar Baar Khinch Pahunch Rahi Hai Us Situation Mein Aap Apna Ahankar Apna Ek Baar Jarur Lekar Aaen Respect Respect Se Bada Kuch Bhi Nahi Hota Aur Ab Phir Face Pack Bhi Khatam Ho Jayegi Sar Face Pack Ki Kadra Nahi Honge To Aap Khush Nahi Rah Paenge Aise Station Apna Ahankar Jarur Aa Gayi Ho Karen
Likes  6  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता कि ऐसी कोई स्थिति बनी ने रिस मैं आपको अपना अहंकार दिखाना होगा देखिए अपनी सेल्फ रेस्पेक्ट रखिए से फेस पर क्या लागू थी और उनको अलग होती है तो जहां तक आपने सेल्फ रेस्पेक्ट है वह बिल्कुल सही-सही फेस पर क्या में रखनी चाहिए मैं किसी भी व्यक्ति की अपनी सेल्फ रिस्पेक्ट को नहीं खोना चाहिए चाहे वह फिर कोई भी हो पर जहां पर बात आती है इनका की कोठी तो मुझे लगता है कि वह नहीं होना चाहिए कोई भी सिचुएशन जस्टिफाई नहीं करेगी आप किसी को एंकर दिखाए हाय कृष्ण मुझे शक्ति के गाना तेरे को बुरा कर रहे तू चीज पर सेल्फ रिस्पेक्ट क्या हो जाएगी क्या आप उस को सैया मत कभी खुद की पिक्चर पर्फेक्ट आप अपने साथ बुरा होता ही नहीं देख सकते पर आप उसके अलावा मुझे ऐसा लगता है कि ऐसा कोई सिचुएशन यांची क्या आपने इनकार किया इनकार एक अच्छा संबंध होता एक अच्छा व्यक्ति होने का तो जो लोग अच्छे होते हैं वह लोग अहंकार नहीं रखते
Romanized Version
मुझे ऐसा लगता कि ऐसी कोई स्थिति बनी ने रिस मैं आपको अपना अहंकार दिखाना होगा देखिए अपनी सेल्फ रेस्पेक्ट रखिए से फेस पर क्या लागू थी और उनको अलग होती है तो जहां तक आपने सेल्फ रेस्पेक्ट है वह बिल्कुल सही-सही फेस पर क्या में रखनी चाहिए मैं किसी भी व्यक्ति की अपनी सेल्फ रिस्पेक्ट को नहीं खोना चाहिए चाहे वह फिर कोई भी हो पर जहां पर बात आती है इनका की कोठी तो मुझे लगता है कि वह नहीं होना चाहिए कोई भी सिचुएशन जस्टिफाई नहीं करेगी आप किसी को एंकर दिखाए हाय कृष्ण मुझे शक्ति के गाना तेरे को बुरा कर रहे तू चीज पर सेल्फ रिस्पेक्ट क्या हो जाएगी क्या आप उस को सैया मत कभी खुद की पिक्चर पर्फेक्ट आप अपने साथ बुरा होता ही नहीं देख सकते पर आप उसके अलावा मुझे ऐसा लगता है कि ऐसा कोई सिचुएशन यांची क्या आपने इनकार किया इनकार एक अच्छा संबंध होता एक अच्छा व्यक्ति होने का तो जो लोग अच्छे होते हैं वह लोग अहंकार नहीं रखतेMujhe Aisa Lagta Ki Aisi Koi Sthiti Bani Ne Rica Main Aapko Apna Ahankar Dikhana Hoga Dekhie Apni Self Respect Rakhiye Se Face Par Kya Laagu Thi Aur Unko Alag Hoti Hai To Jahan Tak Aapne Self Respect Hai Wah Bilkul Sahi Sahi Face Par Kya Mein Rakhni Chahiye Main Kisi Bhi Vyakti Ki Apni Self Respect Ko Nahi Khona Chahiye Chahe Wah Phir Koi Bhi Ho Par Jahan Par Baat Aati Hai Inka Ki Kothi To Mujhe Lagta Hai Ki Wah Nahi Hona Chahiye Koi Bhi Situation Justify Nahi Karegi Aap Kisi Ko Anchor Dekhiye Hi Krishan Mujhe Shakti Ke Gaana Tere Ko Bura Kar Rahe Tu Cheez Par Self Respect Kya Ho Jayegi Kya Aap Us Ko Saiya Mat Kabhi Khud Ki Picture Perfect Aap Apne Saath Bura Hota Hi Nahi Dekh Sakte Par Aap Uske Alava Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Aisa Koi Situation Yanchi Kya Aapne Inkar Kiya Inkar Ek Accha Sambandh Hota Ek Accha Vyakti Hone Ka To Jo Log Acche Hote Hain Wah Log Ahankar Nahi Rakhate
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जहां तक मेरा मानना है कि इंसान को सही पूछो तो किसी परिस्थिति में अहंकार तो बिल्कुल भी नहीं दिखाना चाहिए चाहे परिस्थिति कैसी भी हो अहंकार अंततोगत्वा आपको डाउन फॉल में ही ले जाएगा आपको वह गर्दिश में ही ले जाएगा अहंकार किसी को अच्छा या किसी को अच्छा इंसान नहीं बनाया है उस तक जैसे कि हमने देखा कि रावण जो कि काफी विद्वान पंडित था वह लेकिन फिर भी अहंकार ने उसे ले डूबा कि तू अपने अहंकार में चूर था वह समझता था कि ऑल तो वह काफी पढ़ा लिखा था का के विद्वान था विद्वानों की श्रेणी में उसका स्थान काफी आगे आता था लेकिन फिर भी अहंकार के कारण उसका पतन हुआ तो इसीलिए अहंकार तो किसी इंसान को नहीं दिखाना चाहिए या फिर से तेज डाउन हो जाए आप मुश्किल में हां अहंकार नहीं बल्कि आपको कॉन्फिडेंट होना होगा आपको अगर आप पर जुल्म हो रहा है तो आप उसके अगेंस्ट खा रही हो यह नंबर यह मजबूत बने और अपने लाइफ के लिए फाइट के लिए ना कि अहंकार दिखाइए अहंकार फाइट करने का तरीका नहीं है और भी कुरीतियां आती है बुराइयां आती है तो अहंकार तो कोई जरिया नहीं है इसे आप डाल के रूप में यूज नहीं कर सकते हैं अहंकार काफी ही नेगेटिव है यह इंसान को दिल करता है बैकफुट पर ले जाता है तो अगर आपको अगर किसी को अपने पर हुए जुल्म या कोई आप को सता रहा है तो उसके लिए एक प्रॉपर तरीका है आप उसे पहले समझा नहीं तो एक लीगल प्रोसेस ले है चाहे आप बल बुद्धि सभी का प्रयोग कर सकते हैं लेकिन अहंकार से बचें क्योंकि अहंकार आपको आपके बल को आपके विवेक को आपके सोचने की शक्ति को नुकसान पहुंचाएगा हिसार तो मैं किसी रूप में चला नहीं दूंगा
Romanized Version
देखिए जहां तक मेरा मानना है कि इंसान को सही पूछो तो किसी परिस्थिति में अहंकार तो बिल्कुल भी नहीं दिखाना चाहिए चाहे परिस्थिति कैसी भी हो अहंकार अंततोगत्वा आपको डाउन फॉल में ही ले जाएगा आपको वह गर्दिश में ही ले जाएगा अहंकार किसी को अच्छा या किसी को अच्छा इंसान नहीं बनाया है उस तक जैसे कि हमने देखा कि रावण जो कि काफी विद्वान पंडित था वह लेकिन फिर भी अहंकार ने उसे ले डूबा कि तू अपने अहंकार में चूर था वह समझता था कि ऑल तो वह काफी पढ़ा लिखा था का के विद्वान था विद्वानों की श्रेणी में उसका स्थान काफी आगे आता था लेकिन फिर भी अहंकार के कारण उसका पतन हुआ तो इसीलिए अहंकार तो किसी इंसान को नहीं दिखाना चाहिए या फिर से तेज डाउन हो जाए आप मुश्किल में हां अहंकार नहीं बल्कि आपको कॉन्फिडेंट होना होगा आपको अगर आप पर जुल्म हो रहा है तो आप उसके अगेंस्ट खा रही हो यह नंबर यह मजबूत बने और अपने लाइफ के लिए फाइट के लिए ना कि अहंकार दिखाइए अहंकार फाइट करने का तरीका नहीं है और भी कुरीतियां आती है बुराइयां आती है तो अहंकार तो कोई जरिया नहीं है इसे आप डाल के रूप में यूज नहीं कर सकते हैं अहंकार काफी ही नेगेटिव है यह इंसान को दिल करता है बैकफुट पर ले जाता है तो अगर आपको अगर किसी को अपने पर हुए जुल्म या कोई आप को सता रहा है तो उसके लिए एक प्रॉपर तरीका है आप उसे पहले समझा नहीं तो एक लीगल प्रोसेस ले है चाहे आप बल बुद्धि सभी का प्रयोग कर सकते हैं लेकिन अहंकार से बचें क्योंकि अहंकार आपको आपके बल को आपके विवेक को आपके सोचने की शक्ति को नुकसान पहुंचाएगा हिसार तो मैं किसी रूप में चला नहीं दूंगाDekhie Jahan Tak Mera Manana Hai Ki Insaan Ko Sahi Pucho To Kisi Paristhiti Mein Ahankar To Bilkul Bhi Nahi Dikhana Chahiye Chahe Paristhiti Kaisi Bhi Ho Ahankar Antatogatwa Aapko Down Fall Mein Hi Le Jayega Aapko Wah Gardish Mein Hi Le Jayega Ahankar Kisi Ko Accha Ya Kisi Ko Accha Insaan Nahi Banaya Hai Us Tak Jaise Ki Humne Dekha Ki Ravan Jo Ki Kafi Vidwan Pandit Tha Wah Lekin Phir Bhi Ahankar Ne Use Le Dooba Ki Tu Apne Ahankar Mein Choor Tha Wah Samajhata Tha Ki All To Wah Kafi Padha Likha Tha Ka Ke Vidwan Tha Vidvaano Ki Shrenee Mein Uska Sthan Kafi Aage Aata Tha Lekin Phir Bhi Ahankar Ke Kaaran Uska Patan Hua To Isliye Ahankar To Kisi Insaan Ko Nahi Dikhana Chahiye Ya Phir Se Tez Down Ho Jaye Aap Mushkil Mein Haan Ahankar Nahi Balki Aapko Confident Hona Hoga Aapko Agar Aap Par Zulm Ho Raha Hai To Aap Uske Against Kha Rahi Ho Yeh Number Yeh Mazboot Bane Aur Apne Life Ke Liye Fight Ke Liye Na Ki Ahankar Dikhaaiye Ahankar Fight Karne Ka Tarika Nahi Hai Aur Bhi Kuritiyan Aati Hai Buraiyan Aati Hai To Ahankar To Koi Jariya Nahi Hai Ise Aap Dal Ke Roop Mein Use Nahi Kar Sakte Hain Ahankar Kafi Hi Negative Hai Yeh Insaan Ko Dil Karta Hai Baikfut Par Le Jata Hai To Agar Aapko Agar Kisi Ko Apne Par Hue Zulm Ya Koi Aap Ko Sataa Raha Hai To Uske Liye Ek Proper Tarika Hai Aap Use Pehle Samjha Nahi To Ek Legal Process Le Hai Chahe Aap Bal Buddhi Sabhi Ka Prayog Kar Sakte Hain Lekin Ahankar Se Bache Kyonki Ahankar Aapko Aapke Bal Ko Aapke Vivek Ko Aapke Sochne Ki Shakti Ko Nuksan Phunchayega Hisar To Main Kisi Roop Mein Chala Nahi Dunga
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अहंकार तो किसी भी परिस्थिति में मुझे अच्छा नहीं बताया जाता है बट तेल अगर अहंकार जरूरत पड़ती है तो आईडिया सॉफ्ट सेल्फ रिस्पेक्ट आप बुला सकते हो ऑल द वरून 300 से ज्यादा कभी भी जरूरत पड़ती है क्योंकि यह बहुत ही बहुत ही गलत माना जाता है बाघ आया उस पर कहीं हमला हो रहा हूं तो आपको अपनी फिर उस से हटकर अपनी ईगो पर आनी चाहिए और अपनी सेल्फ रिस्पेक्ट को शेयर करना चाहिए अथवा इस देयर इज़ नो यूज ऑफ यू आई गो फॉर योर सेल्फ रिस्पेक्ट इज नॉट हॉट और नॉट गेटिंग टू दुबई एनिमल्स
Romanized Version
अहंकार तो किसी भी परिस्थिति में मुझे अच्छा नहीं बताया जाता है बट तेल अगर अहंकार जरूरत पड़ती है तो आईडिया सॉफ्ट सेल्फ रिस्पेक्ट आप बुला सकते हो ऑल द वरून 300 से ज्यादा कभी भी जरूरत पड़ती है क्योंकि यह बहुत ही बहुत ही गलत माना जाता है बाघ आया उस पर कहीं हमला हो रहा हूं तो आपको अपनी फिर उस से हटकर अपनी ईगो पर आनी चाहिए और अपनी सेल्फ रिस्पेक्ट को शेयर करना चाहिए अथवा इस देयर इज़ नो यूज ऑफ यू आई गो फॉर योर सेल्फ रिस्पेक्ट इज नॉट हॉट और नॉट गेटिंग टू दुबई एनिमल्सAhankar To Kisi Bhi Paristhiti Mein Mujhe Accha Nahi Bataya Jata Hai But Tel Agar Ahankar Zaroorat Padhti Hai To Idea Soft Self Respect Aap Bula Sakte Ho All D Varoon 300 Se Jyada Kabhi Bhi Zaroorat Padhti Hai Kyonki Yeh Bahut Hi Bahut Hi Galat Mana Jata Hai Bagh Aaya Us Par Kahin Hamla Ho Raha Hoon To Aapko Apni Phir Us Se Hatakar Apni Ego Par Aani Chahiye Aur Apni Self Respect Ko Share Karna Chahiye Athwa Is Their Is No Use Of You Eye Go For Your Self Respect Is Not Hot Aur Not Getting To Dubai Enimals
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली जहां तक मुझे लगता है कि लाइफ में जो भी दुखद घटनाएं होती हैं और जो भी गलत कार्य होते हैं वह सिर्फ और सिर्फ हमारे इंकार की वजह से होते हैं अलंकार की वजह से हम दूसरे के ज्ञान और दूसरे की जो एक्सपीरियंस होती है लाइफ एक्सपीरियंस वह उनकी नहीं देख पाते और उनसे ज्ञान नहीं ले पाते वह सिर्फ और सिर्फ ओंकार की वजह से होता है तो मुझे लगता है कि हम अपनी जिंदगी में से इनकार को हटा देना चाहिए एंकर हमें आगे कभी नहीं बढ़ने देता है और सेल्फ रेस्पेक्ट और इंकार दोनों में डिफरेंस होता है सेल्फ रिस्पेक्ट बिल्कुल होनी चाहिए लेकिन इनका अलग चीज होती है एग्जांपल के तौर पर मैं बताता हूं कि मुझे कोई काम आता है अच्छे से आधे तो अगर मैं यह बोलता हूं कि मैं यह काम अच्छे से करता हूं और मैं इस अच्छी चीज़ हो गई यही बोलता हूं यह अहंकार हो गया एक अच्छा ही तो होती है तो मैं उनकी अंदर की अच्छाई देखनी चाहिए लेकिन ऐसा होता है कि हम लोग जब अहंकार में होते हैं तो उनके अंदर की अच्छाई नहीं देख पाते और उनसे कुछ सीख नहीं पाते तुम मुझे बस यही लगता है कि अहंकार को दूर कर देना क्योंकि हमें इंकार क्यों जैसे कभी आगे नहीं बढ़ सकते और जहां तक बात की जाती है कि सेल्फ रेस्पेक्ट हीरे की सेल्फ रेस्पेक्ट बिल्कुल होनी चाहिए और अगर आप को मौका मिले तो मतलब आपको कभी ऐसा लगे कि मुझे अपने लिए स्टैंड रखना है और मिशेल बस पर को बचाते हुए इस बात को अपने स्टैंड पर रखना है तो बिल्कुल ही अच्छी है लेकिन ऐसा ना हो कि आप अपने इंकार मैं गलत हूं फिर भी आप उसको सही बोल रहे हो या सही करने की कोशिश कर रहे हो तो यह चीज गलत हो जाती है Canvas Spark बहुत ज्यादा जरूरी है लेकिन आप कभी इंकार ना करे अपने ऊपर क्योंकि एंड कार से किसी का भला नहीं हुआ और ना ही आप कभी तरक्की कर सकते हैं
Romanized Version
दिल्ली जहां तक मुझे लगता है कि लाइफ में जो भी दुखद घटनाएं होती हैं और जो भी गलत कार्य होते हैं वह सिर्फ और सिर्फ हमारे इंकार की वजह से होते हैं अलंकार की वजह से हम दूसरे के ज्ञान और दूसरे की जो एक्सपीरियंस होती है लाइफ एक्सपीरियंस वह उनकी नहीं देख पाते और उनसे ज्ञान नहीं ले पाते वह सिर्फ और सिर्फ ओंकार की वजह से होता है तो मुझे लगता है कि हम अपनी जिंदगी में से इनकार को हटा देना चाहिए एंकर हमें आगे कभी नहीं बढ़ने देता है और सेल्फ रेस्पेक्ट और इंकार दोनों में डिफरेंस होता है सेल्फ रिस्पेक्ट बिल्कुल होनी चाहिए लेकिन इनका अलग चीज होती है एग्जांपल के तौर पर मैं बताता हूं कि मुझे कोई काम आता है अच्छे से आधे तो अगर मैं यह बोलता हूं कि मैं यह काम अच्छे से करता हूं और मैं इस अच्छी चीज़ हो गई यही बोलता हूं यह अहंकार हो गया एक अच्छा ही तो होती है तो मैं उनकी अंदर की अच्छाई देखनी चाहिए लेकिन ऐसा होता है कि हम लोग जब अहंकार में होते हैं तो उनके अंदर की अच्छाई नहीं देख पाते और उनसे कुछ सीख नहीं पाते तुम मुझे बस यही लगता है कि अहंकार को दूर कर देना क्योंकि हमें इंकार क्यों जैसे कभी आगे नहीं बढ़ सकते और जहां तक बात की जाती है कि सेल्फ रेस्पेक्ट हीरे की सेल्फ रेस्पेक्ट बिल्कुल होनी चाहिए और अगर आप को मौका मिले तो मतलब आपको कभी ऐसा लगे कि मुझे अपने लिए स्टैंड रखना है और मिशेल बस पर को बचाते हुए इस बात को अपने स्टैंड पर रखना है तो बिल्कुल ही अच्छी है लेकिन ऐसा ना हो कि आप अपने इंकार मैं गलत हूं फिर भी आप उसको सही बोल रहे हो या सही करने की कोशिश कर रहे हो तो यह चीज गलत हो जाती है Canvas Spark बहुत ज्यादा जरूरी है लेकिन आप कभी इंकार ना करे अपने ऊपर क्योंकि एंड कार से किसी का भला नहीं हुआ और ना ही आप कभी तरक्की कर सकते हैंDelhi Jahan Tak Mujhe Lagta Hai Ki Life Mein Jo Bhi Dukhad Ghatnaye Hoti Hain Aur Jo Bhi Galat Karya Hote Hain Wah Sirf Aur Sirf Hamare Inkar Ki Wajah Se Hote Hain Alankar Ki Wajah Se Hum Dusre Ke Gyaan Aur Dusre Ki Jo Experience Hoti Hai Life Experience Wah Unki Nahi Dekh Paate Aur Unse Gyaan Nahi Le Paate Wah Sirf Aur Sirf Onkar Ki Wajah Se Hota Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Hum Apni Zindagi Mein Se Inkar Ko Hata Dena Chahiye Anchor Hume Aage Kabhi Nahi Badhne Deta Hai Aur Self Respect Aur Inkar Dono Mein Difference Hota Hai Self Respect Bilkul Honi Chahiye Lekin Inka Alag Cheez Hoti Hai Example Ke Taur Par Main Batata Hoon Ki Mujhe Koi Kaam Aata Hai Acche Se Aadhe To Agar Main Yeh Bolta Hoon Ki Main Yeh Kaam Acche Se Karta Hoon Aur Main Is Acchi Cheese Ho Gayi Yahi Bolta Hoon Yeh Ahankar Ho Gaya Ek Accha Hi To Hoti Hai To Main Unki Andar Ki Acchai Dekhani Chahiye Lekin Aisa Hota Hai Ki Hum Log Jab Ahankar Mein Hote Hain To Unke Andar Ki Acchai Nahi Dekh Paate Aur Unse Kuch Seekh Nahi Paate Tum Mujhe Bus Yahi Lagta Hai Ki Ahankar Ko Dur Kar Dena Kyonki Hume Inkar Kyun Jaise Kabhi Aage Nahi Badh Sakte Aur Jahan Tak Baat Ki Jati Hai Ki Self Respect Hire Ki Self Respect Bilkul Honi Chahiye Aur Agar Aap Ko Mauka Mile To Matlab Aapko Kabhi Aisa Lage Ki Mujhe Apne Liye Stand Rakhna Hai Aur Mitchell Bus Par Ko Bachate Hue Is Baat Ko Apne Stand Par Rakhna Hai To Bilkul Hi Acchi Hai Lekin Aisa Na Ho Ki Aap Apne Inkar Main Galat Hoon Phir Bhi Aap Usko Sahi Bol Rahe Ho Ya Sahi Karne Ki Koshish Kar Rahe Ho To Yeh Cheez Galat Ho Jati Hai Canvas Spark Bahut Jyada Zaroori Hai Lekin Aap Kabhi Inkar Na Kare Apne Upar Kyonki End Car Se Kisi Ka Bhala Nahi Hua Aur Na Hi Aap Kabhi Tarakki Kar Sakte Hain
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि और किसी भी परिस्थिति में और किसी भी व्यक्ति को अपना अहंकार नहीं दिखाना चाहिए क्योंकि जो इंसान ग्राउंडेड रहता है जमीन से जुड़कर रहता है और उनका नहीं होता हर इंसान में वह बहुत जल्दी आगे बढ़ते हैं बहुत जल्दी सक्सेसफुल बन जाते क्योंकि वह कभी भी अहंकार दिखाने का प्रयास नहीं प्रयास नहीं करते बल्कि हर चीज को सीखने की कोशिश करते हैं और समझने की कोशिश करते हैं और हमेशा कोशिश करते हैं कि किसी भी इंसान से वह क्या अच्छी चीज और क्या नई चीज सीख पाए तो यह चीज आप सभी कर पा सकते हैं जब तक आपके अंदर अहंकार नहीं होगा और आप अपने आप को जमीन जमीन पर रखेंगे और हमेशा आपके सामने कोई भी हो उसको इंकार ना दिखाकर बल्कि उससे कुछ ना कुछ सीखने का प्रयास करेंगे तो आपको आपकी पर्सनालिटी में में डेवलपमेंट होगा और आप जो आपकी सोच पर बढ़ेगी और एंकर ना दिखाने से कहीं ना कहीं आपका जो पेशंस का लेवल होता है जो सब लेवल होता है वह भी काफी बढ़ता है क्योंकि आप सब्र रखना सीख जाते हैं एक संतोष हो जाता है आपके मन में और आप उससे थोड़ा खुश भी रहते हैं क्योंकि आएगा नहीं होगा तो आपको किसी भी चीज का ज्यादा बुरा नहीं लगेगा और आप हर चीज को हर सिचुएशन को बहुत अच्छे से हैंडल कर पाएंगे और उससे आपको कहीं ना कहीं अपने मन में संतोष रख पाएंगे और आपके मन में काफी हद तक शांति भी होगी
Romanized Version
मुझे लगता है कि और किसी भी परिस्थिति में और किसी भी व्यक्ति को अपना अहंकार नहीं दिखाना चाहिए क्योंकि जो इंसान ग्राउंडेड रहता है जमीन से जुड़कर रहता है और उनका नहीं होता हर इंसान में वह बहुत जल्दी आगे बढ़ते हैं बहुत जल्दी सक्सेसफुल बन जाते क्योंकि वह कभी भी अहंकार दिखाने का प्रयास नहीं प्रयास नहीं करते बल्कि हर चीज को सीखने की कोशिश करते हैं और समझने की कोशिश करते हैं और हमेशा कोशिश करते हैं कि किसी भी इंसान से वह क्या अच्छी चीज और क्या नई चीज सीख पाए तो यह चीज आप सभी कर पा सकते हैं जब तक आपके अंदर अहंकार नहीं होगा और आप अपने आप को जमीन जमीन पर रखेंगे और हमेशा आपके सामने कोई भी हो उसको इंकार ना दिखाकर बल्कि उससे कुछ ना कुछ सीखने का प्रयास करेंगे तो आपको आपकी पर्सनालिटी में में डेवलपमेंट होगा और आप जो आपकी सोच पर बढ़ेगी और एंकर ना दिखाने से कहीं ना कहीं आपका जो पेशंस का लेवल होता है जो सब लेवल होता है वह भी काफी बढ़ता है क्योंकि आप सब्र रखना सीख जाते हैं एक संतोष हो जाता है आपके मन में और आप उससे थोड़ा खुश भी रहते हैं क्योंकि आएगा नहीं होगा तो आपको किसी भी चीज का ज्यादा बुरा नहीं लगेगा और आप हर चीज को हर सिचुएशन को बहुत अच्छे से हैंडल कर पाएंगे और उससे आपको कहीं ना कहीं अपने मन में संतोष रख पाएंगे और आपके मन में काफी हद तक शांति भी होगीMujhe Lagta Hai Ki Aur Kisi Bhi Paristhiti Mein Aur Kisi Bhi Vyakti Ko Apna Ahankar Nahi Dikhana Chahiye Kyonki Jo Insaan Grounde Rehta Hai Jameen Se Judakar Rehta Hai Aur Unka Nahi Hota Har Insaan Mein Wah Bahut Jaldi Aage Badhte Hain Bahut Jaldi Successful Ban Jaate Kyonki Wah Kabhi Bhi Ahankar Dikhane Ka Prayas Nahi Prayas Nahi Karte Balki Har Cheez Ko Seekhne Ki Koshish Karte Hain Aur Samjhne Ki Koshish Karte Hain Aur Hamesha Koshish Karte Hain Ki Kisi Bhi Insaan Se Wah Kya Acchi Cheez Aur Kya Nayi Cheez Seekh Paye To Yeh Cheez Aap Sabhi Kar Pa Sakte Hain Jab Tak Aapke Andar Ahankar Nahi Hoga Aur Aap Apne Aap Ko Jameen Jameen Par Rakhenge Aur Hamesha Aapke Samane Koi Bhi Ho Usko Inkar Na Dikhakar Balki Usse Kuch Na Kuch Seekhne Ka Prayas Karenge To Aapko Aapki Personality Mein Mein Development Hoga Aur Aap Jo Aapki Soch Par Badhegi Aur Anchor Na Dikhane Se Kahin Na Kahin Aapka Jo Peshans Ka Level Hota Hai Jo Sab Level Hota Hai Wah Bhi Kafi Badhta Hai Kyonki Aap Subra Rakhna Seekh Jaate Hain Ek Santosh Ho Jata Hai Aapke Man Mein Aur Aap Usse Thoda Khush Bhi Rehte Hain Kyonki Aayega Nahi Hoga To Aapko Kisi Bhi Cheez Ka Jyada Bura Nahi Lagega Aur Aap Har Cheez Ko Har Situation Ko Bahut Acche Se Handle Kar Paenge Aur Usse Aapko Kahin Na Kahin Apne Man Mein Santosh Rakh Paenge Aur Aapke Man Mein Kafi Had Tak Shanti Bhi Hogi
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अपने बारे में अगर मैं कहूं तो मैं किसी भी परिस्थिति में अपना अहंकार नहीं दिखाऊंगा ओके कोई भी सरगम टाइम से सो मेरे सामने मैं इस तरह का कार्य नहीं करता क्योंकि शुरुआत से मेरा नेचर इस प्रकार का नहीं रहा है मैं बहुत ही डाउन टू अर्थ हूं हमेशा दूसरों की भलाई के बारे में सोचता हूं सोचता हूं कि दूसरों की हेल्प में किस तरह से करूं तो जिस व्यक्ति के अंदर है और दो मैं अपनी तारीफ नहीं कर रहा हूं फिर भी जिस व्यक्ति के अंदर इस प्रकार की चीज है तो मुझे नहीं लगता है वह किसी भी कैसी भी परिस्थिति वह कभी आएगा नहीं दिखाएगा
Romanized Version
देखिए अपने बारे में अगर मैं कहूं तो मैं किसी भी परिस्थिति में अपना अहंकार नहीं दिखाऊंगा ओके कोई भी सरगम टाइम से सो मेरे सामने मैं इस तरह का कार्य नहीं करता क्योंकि शुरुआत से मेरा नेचर इस प्रकार का नहीं रहा है मैं बहुत ही डाउन टू अर्थ हूं हमेशा दूसरों की भलाई के बारे में सोचता हूं सोचता हूं कि दूसरों की हेल्प में किस तरह से करूं तो जिस व्यक्ति के अंदर है और दो मैं अपनी तारीफ नहीं कर रहा हूं फिर भी जिस व्यक्ति के अंदर इस प्रकार की चीज है तो मुझे नहीं लगता है वह किसी भी कैसी भी परिस्थिति वह कभी आएगा नहीं दिखाएगाDekhie Apne Baare Mein Agar Main Kahun To Main Kisi Bhi Paristhiti Mein Apna Ahankar Nahi Dikhaunga Ok Koi Bhi Sargam Time Se So Mere Samane Main Is Tarah Ka Karya Nahi Karta Kyonki Shuruvat Se Mera Nature Is Prakar Ka Nahi Raha Hai Main Bahut Hi Down To Arth Hoon Hamesha Dusron Ki Bhalai Ke Baare Mein Sochta Hoon Sochta Hoon Ki Dusron Ki Help Mein Kis Tarah Se Karun To Jis Vyakti Ke Andar Hai Aur Do Main Apni Tarif Nahi Kar Raha Hoon Phir Bhi Jis Vyakti Ke Andar Is Prakar Ki Cheez Hai To Mujhe Nahi Lagta Hai Wah Kisi Bhi Kaisi Bhi Paristhiti Wah Kabhi Aayega Nahi Dikhaega
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kis Paristhiti Mein Kisi Vyakti Ko Apna Ahankar Dikhana Chahiye ?,Under What Circumstances Should A Person Show His Arrogance?,


vokalandroid