क्या इंसान अपनी जिंदगी अकेले नहीं जी सकता है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी देखी आपने पूछा है कि क्या कोई इंसान अपनी जिंदगी अकेले नहीं जी सकता तो मेरा यह मानना है कि कोई एक संगी कोई एक साथ ही कोई हमदर्द आपके जीवन में होना चाहिए जरूरी नहीं हो पति पत्नी के रिश्ते में जाएं लेकिन एक दोस्त के लिए जरूर होना चाहिए एक उदाहरण देना चाहूंगा कि मान लीजिए मुझे अपने घर से दिल्ली जाना है और बस से जाना है तो मैं बस में जाऊंगा तो बस चलाने के लिए एक ड्राइवर भी होगा टिकट काटने के लिए कंडक्टर भी होगा तो यह सारे लोगों की सहायता मुझे अपने जीवन में जो लक्ष्य है एक छोटा सा लक्ष्य है कि मुझे दिल्ली जाना है तो इसको पूरा करने के लिए मुझे लोगों की आवश्यकता पड़ रही है तो ऐसे ही हमारी जिंदगी में पर्सनल लेवल पर भी हमें बहुत सारे लोगों की आवश्यकता होती है ललन जगरनाथ लोग हमारे काम आते हैं हमारे दुख दर्द साझा करते हैं हमारी खुशियां बांटते हैं तो उसने हमारे जीवन में किसी ना किसी व्यक्ति की अहमियत है और वह होना चाहिए शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
देखी देखी आपने पूछा है कि क्या कोई इंसान अपनी जिंदगी अकेले नहीं जी सकता तो मेरा यह मानना है कि कोई एक संगी कोई एक साथ ही कोई हमदर्द आपके जीवन में होना चाहिए जरूरी नहीं हो पति पत्नी के रिश्ते में जाएं लेकिन एक दोस्त के लिए जरूर होना चाहिए एक उदाहरण देना चाहूंगा कि मान लीजिए मुझे अपने घर से दिल्ली जाना है और बस से जाना है तो मैं बस में जाऊंगा तो बस चलाने के लिए एक ड्राइवर भी होगा टिकट काटने के लिए कंडक्टर भी होगा तो यह सारे लोगों की सहायता मुझे अपने जीवन में जो लक्ष्य है एक छोटा सा लक्ष्य है कि मुझे दिल्ली जाना है तो इसको पूरा करने के लिए मुझे लोगों की आवश्यकता पड़ रही है तो ऐसे ही हमारी जिंदगी में पर्सनल लेवल पर भी हमें बहुत सारे लोगों की आवश्यकता होती है ललन जगरनाथ लोग हमारे काम आते हैं हमारे दुख दर्द साझा करते हैं हमारी खुशियां बांटते हैं तो उसने हमारे जीवन में किसी ना किसी व्यक्ति की अहमियत है और वह होना चाहिए शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान में तो ऐसे तो बहुत सारे उदाहरण देखें उन्होंने अपना पूरा जीवन अकेले-अकेले विचार करेंगे क्या आपको अपने जीवन का लक्ष्य बनाना होगा अब बाबा बन जाऊं या कोई ऐसा संत मत कर सब दूसरों की मदद करें दूसरों की सेवा करें जो आपके अंदर हो कहां से हैं मेरे अंदर है मैं व्यक्तिगत रूप से नहीं कर पा रहा हूं बिजी शेड्यूल की वजह से लेकिन जैसे मुझे जो मौका मिलता है उसे सबसे में हेल्प करने की कोशिश करता है 8 दिन में देगी तुझे आपको बोल रहा हूं यह कोई न कोई किसी न किसी तरह का हेल्प अगर आप मेरी बात से प्रभावित होकर अपनी जिंदगी में कुछ नहीं करते हैं तो आप बोलो या ना बोलो लेकिन मेरे मन को यह हेल्प करना ना
हिंदुस्तान में तो ऐसे तो बहुत सारे उदाहरण देखें उन्होंने अपना पूरा जीवन अकेले-अकेले विचार करेंगे क्या आपको अपने जीवन का लक्ष्य बनाना होगा अब बाबा बन जाऊं या कोई ऐसा संत मत कर सब दूसरों की मदद करें दूसरों की सेवा करें जो आपके अंदर हो कहां से हैं मेरे अंदर है मैं व्यक्तिगत रूप से नहीं कर पा रहा हूं बिजी शेड्यूल की वजह से लेकिन जैसे मुझे जो मौका मिलता है उसे सबसे में हेल्प करने की कोशिश करता है 8 दिन में देगी तुझे आपको बोल रहा हूं यह कोई न कोई किसी न किसी तरह का हेल्प अगर आप मेरी बात से प्रभावित होकर अपनी जिंदगी में कुछ नहीं करते हैं तो आप बोलो या ना बोलो लेकिन मेरे मन को यह हेल्प करना ना
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निसंदेह इंसान अपनी जिंदगी अकेले भी जी सकता है लेकिन इंसान जो है एक सामाजिक प्राणी है उसे सोचने समझने की क्षमता ईश्वर ने दिया है नए नए विचारों को जन्म जन्म देने की क्षमता ईश्वर ने दिया है विषयों को समझने विषयों पर शोध अनुसंधान करने की क्षमता भगवान ने दिया है इसलिए ऐसी कुछ बताओ कि कारण इंसान को समाज की आवश्यकता होती है अगर समाज ना भी हो उसके पास तो विषयों की आवश्यकता होती है उसमें उसे ढूंढना पड़ता है उसके लिए उसे अनुसंधान करना पड़ता है उसके लिए मनन चिंतन करना पड़ता है इसलिए बेशक आप किसी के साथ नरहे अकेली रहे लेकिन विषय तो आप को अकेला नहीं छोड़ सकती जैसे ही आप विषय नहीं होंगे उसी क्षण आप का यह जीवन भी शून्य हो जाएगा इसलिए आप की सार्थकता अपने जीवन के प्रत्येक पल को किसी न किसी विषय के प्रति समर्पित रखकर सार्थक दिशा में सही दिशा में काम करने में बीते यह ज्यादा महत्वपूर्ण है बशर्ते किसी व्यक्ति के साथ आप रहते हैं या नहीं रहते हैं वह तरा महत्वपूर्ण नहीं है हां अकेले रहना यदि आपको अच्छा लगता है तो बेशक आप अकेले रहे कोई व्यक्ति आप के अनुरूप है तो उसके साथ रहे कोई प्रतिकूल है तो उसके साथ ना रहे या आपके ऊपर निर्भर करता है परंतु आपको विषय चाहिए काम चाहिए जीवन बिना कर्म के नहीं चल सकता कर्म वही अपने फल के भाव में अगर अप लेते हैं कर्म को ही अपना फल मानते हैं तो निसंदेह आपका जीवन सुखमय रहेगा आप संतुष्ट अपने जीवन से
निसंदेह इंसान अपनी जिंदगी अकेले भी जी सकता है लेकिन इंसान जो है एक सामाजिक प्राणी है उसे सोचने समझने की क्षमता ईश्वर ने दिया है नए नए विचारों को जन्म जन्म देने की क्षमता ईश्वर ने दिया है विषयों को समझने विषयों पर शोध अनुसंधान करने की क्षमता भगवान ने दिया है इसलिए ऐसी कुछ बताओ कि कारण इंसान को समाज की आवश्यकता होती है अगर समाज ना भी हो उसके पास तो विषयों की आवश्यकता होती है उसमें उसे ढूंढना पड़ता है उसके लिए उसे अनुसंधान करना पड़ता है उसके लिए मनन चिंतन करना पड़ता है इसलिए बेशक आप किसी के साथ नरहे अकेली रहे लेकिन विषय तो आप को अकेला नहीं छोड़ सकती जैसे ही आप विषय नहीं होंगे उसी क्षण आप का यह जीवन भी शून्य हो जाएगा इसलिए आप की सार्थकता अपने जीवन के प्रत्येक पल को किसी न किसी विषय के प्रति समर्पित रखकर सार्थक दिशा में सही दिशा में काम करने में बीते यह ज्यादा महत्वपूर्ण है बशर्ते किसी व्यक्ति के साथ आप रहते हैं या नहीं रहते हैं वह तरा महत्वपूर्ण नहीं है हां अकेले रहना यदि आपको अच्छा लगता है तो बेशक आप अकेले रहे कोई व्यक्ति आप के अनुरूप है तो उसके साथ रहे कोई प्रतिकूल है तो उसके साथ ना रहे या आपके ऊपर निर्भर करता है परंतु आपको विषय चाहिए काम चाहिए जीवन बिना कर्म के नहीं चल सकता कर्म वही अपने फल के भाव में अगर अप लेते हैं कर्म को ही अपना फल मानते हैं तो निसंदेह आपका जीवन सुखमय रहेगा आप संतुष्ट अपने जीवन से
Likes  58  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोषी के जीवन क्या है हम सब अकेले ही जीवन में आए थे और एक दिन हम अकेले ही चले जाएंगे यहां से यह जो बीच का फासला है ना जो बीच की जानी है यह हम किसी के साथ अगर होकर चलते हैं तो उसे जाने का पता नहीं चलता वह चरणीय तब हमें गलती नहीं है यार दिक्कत नहीं होती हमें महसूस नहीं होता जब हमारे साथ कोई होता है तो लेकिन उस जानी में उतार-चढ़ाव भी होते हैं जर्नी में हर एक इंसान के अपने संघर्ष होते हैं किसी का संघर्ष बहुत बड़ी होता है बहुत लंबे अंतराल तक चलता है किसी का छोटा होता है हल्का सा होता है टाइम का पता नहीं चलता है चले जाते हैं तो अगर आपके लाइफ में आपके साथ कोई है और वह आपके साथ चलता है तो एक एक सुकून मिलता है एक काम को टेबल रहता है एक अंदर से एक सेल्फ मोटिवेशन रहता है एक अच्छा रहता है कि वह चलो हमारे साथ कोई है हमारा परिवार है यह है वह है वह तेरे बगैर और गाड़ी आगे चलती है जब हम पैदा होते हैं इसी परिवार में पैदा होते हैं वहां पर हमें माता पिता का प्यार मिलता है लालन पोषण होता है हमें संस्कार मिलते हैं हमें चौधरी के समय जाते हैं हम लोग करते हैं और एक और बात हम हमेशा कहते हैं और जानते हैं कि सुमनसा 10 सोशल एनिमल हमें समाज में रहना लोगों के साथ रहना अच्छा लगता है अकेले में हमारे रहना शायद उतना बैटरी नहीं होता है हमें खुद समझ नहीं आता कि अब लाइफ हमें लगता है कि बहुत पहाड़ सी हो गई है तो देखिए वैसे तो ऐसे कोई मैंडेटरी नहीं है कि आप अकेले जीवन नहीं बता सकते लेकिन अगर आपके साथ कोई है एकंपनीड होता है तो आपको ऐसा लगता है कि यह जीवन हमारा अच्छे से आराम आराम तरीके से गुजर जाएगा सुख दुख हम मिलकर काट लेंगे और कोई दिक्कत परेशानी नहीं होगी एक दूसरे काम सारा बनेंगे और बढ़िया से जीवन में बिता लेंगे और हम अकेले भी सकते हैं
दोषी के जीवन क्या है हम सब अकेले ही जीवन में आए थे और एक दिन हम अकेले ही चले जाएंगे यहां से यह जो बीच का फासला है ना जो बीच की जानी है यह हम किसी के साथ अगर होकर चलते हैं तो उसे जाने का पता नहीं चलता वह चरणीय तब हमें गलती नहीं है यार दिक्कत नहीं होती हमें महसूस नहीं होता जब हमारे साथ कोई होता है तो लेकिन उस जानी में उतार-चढ़ाव भी होते हैं जर्नी में हर एक इंसान के अपने संघर्ष होते हैं किसी का संघर्ष बहुत बड़ी होता है बहुत लंबे अंतराल तक चलता है किसी का छोटा होता है हल्का सा होता है टाइम का पता नहीं चलता है चले जाते हैं तो अगर आपके लाइफ में आपके साथ कोई है और वह आपके साथ चलता है तो एक एक सुकून मिलता है एक काम को टेबल रहता है एक अंदर से एक सेल्फ मोटिवेशन रहता है एक अच्छा रहता है कि वह चलो हमारे साथ कोई है हमारा परिवार है यह है वह है वह तेरे बगैर और गाड़ी आगे चलती है जब हम पैदा होते हैं इसी परिवार में पैदा होते हैं वहां पर हमें माता पिता का प्यार मिलता है लालन पोषण होता है हमें संस्कार मिलते हैं हमें चौधरी के समय जाते हैं हम लोग करते हैं और एक और बात हम हमेशा कहते हैं और जानते हैं कि सुमनसा 10 सोशल एनिमल हमें समाज में रहना लोगों के साथ रहना अच्छा लगता है अकेले में हमारे रहना शायद उतना बैटरी नहीं होता है हमें खुद समझ नहीं आता कि अब लाइफ हमें लगता है कि बहुत पहाड़ सी हो गई है तो देखिए वैसे तो ऐसे कोई मैंडेटरी नहीं है कि आप अकेले जीवन नहीं बता सकते लेकिन अगर आपके साथ कोई है एकंपनीड होता है तो आपको ऐसा लगता है कि यह जीवन हमारा अच्छे से आराम आराम तरीके से गुजर जाएगा सुख दुख हम मिलकर काट लेंगे और कोई दिक्कत परेशानी नहीं होगी एक दूसरे काम सारा बनेंगे और बढ़िया से जीवन में बिता लेंगे और हम अकेले भी सकते हैं
Likes  58  Dislikes
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अकेली जिंदगी जीना बेटा बहुत कठिन है आपको लगे ऐसा रहा है कि बड़ी इजी जिंदगी है बाकी इंसान को हर हालात में दुख है महात्मा बुद्ध ने उसे बहुत वर्ष पहले यह कहा था कि इस मानव जीवन में मात्र दुख है और दुखों का कारण सूचना है तो बेटा यह बात सत्य है हर जीवन में कुछ ना कुछ कठिनाइयां तो संकट है अब अकेले कि आप जाते रहे हो तुम साधुओं को देखो क्या इनका जीवन सुखी है यदि साधुओं का जीवन सुखी होता तो बाबा राम रहीम कैसे कैसे फंसे आसाराम जी जैसे कैसे फंसते कितने युवाओं का जीवन देख लो जो चरित्र कुछ और दिखा रहे हैं और बॉस पिक्चर की कुछ और है बेटा काम को रोकना कठिन काम है बड़े-बड़े ऋषि मुनियों की हालत पतली हो गई हमेशा आदमी को नेचुरल रूप में रहना चाहिए दिखावटी उस पर विश्वास मत करो इस जमाने की तरह मत चलो तो दिखाते कुछ और हैं और करते कुछ और हैं कहती कुछ और हैं और करते कुछ और हैं यह नहीं हमको जो कहते हैं वह हम करते हैं जो हम कहते हैं वही हम रहते हैं यह होना चाहिए अकेले जीना कठिन है देखो आप अकेले रहोगे कैसे अपन अपन मालूम है जैन एंट टू में अकाउंट में केले रहनुमा बिना पत्नी के मैं नहीं जी सकता क्योंकि बच्चा रोटी बनाने नहीं आता बनाऊंगा भी तो आधी तेरी बनेगी फिर सुबह शाम बनाना कठिन हो जाता है मानव पर और भी कार्य होते हैं इसलिए अकेले जीना कठिन है बस आप भी तो नहीं कह सकता असंभव नहीं कह सकता लेकिन इसे कठिन अवश्य कहता हूं और बहुत कठिन है
अकेली जिंदगी जीना बेटा बहुत कठिन है आपको लगे ऐसा रहा है कि बड़ी इजी जिंदगी है बाकी इंसान को हर हालात में दुख है महात्मा बुद्ध ने उसे बहुत वर्ष पहले यह कहा था कि इस मानव जीवन में मात्र दुख है और दुखों का कारण सूचना है तो बेटा यह बात सत्य है हर जीवन में कुछ ना कुछ कठिनाइयां तो संकट है अब अकेले कि आप जाते रहे हो तुम साधुओं को देखो क्या इनका जीवन सुखी है यदि साधुओं का जीवन सुखी होता तो बाबा राम रहीम कैसे कैसे फंसे आसाराम जी जैसे कैसे फंसते कितने युवाओं का जीवन देख लो जो चरित्र कुछ और दिखा रहे हैं और बॉस पिक्चर की कुछ और है बेटा काम को रोकना कठिन काम है बड़े-बड़े ऋषि मुनियों की हालत पतली हो गई हमेशा आदमी को नेचुरल रूप में रहना चाहिए दिखावटी उस पर विश्वास मत करो इस जमाने की तरह मत चलो तो दिखाते कुछ और हैं और करते कुछ और हैं कहती कुछ और हैं और करते कुछ और हैं यह नहीं हमको जो कहते हैं वह हम करते हैं जो हम कहते हैं वही हम रहते हैं यह होना चाहिए अकेले जीना कठिन है देखो आप अकेले रहोगे कैसे अपन अपन मालूम है जैन एंट टू में अकाउंट में केले रहनुमा बिना पत्नी के मैं नहीं जी सकता क्योंकि बच्चा रोटी बनाने नहीं आता बनाऊंगा भी तो आधी तेरी बनेगी फिर सुबह शाम बनाना कठिन हो जाता है मानव पर और भी कार्य होते हैं इसलिए अकेले जीना कठिन है बस आप भी तो नहीं कह सकता असंभव नहीं कह सकता लेकिन इसे कठिन अवश्य कहता हूं और बहुत कठिन है
Likes  11  Dislikes
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Insaan Apni Zindagi Akele Nahi Ji Sakta Hai,Can Not Man Live Alone In His Life?,


vokalandroid