search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

क्या आपने कुछ ऐसा अनुभव किया है जो बाक़ी लोगों ने नहीं किया? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल थोड़ा सा अजीब है मेरे जीवन में तो ऐसा बहुत कुछ है जो मैंने अनुभव किया है लेकिन मुझे यह नहीं पता कि वासियों ने क्या अनुभव किया है और क्या नहीं किया इसलिए आपके सवाल का जवाब देना थोड़ा सा मुश्किल हो रहा है आप थोड़े से क्लियर करके पूछना पूछना क्या चाहते हैं
Romanized Version
आपका सवाल थोड़ा सा अजीब है मेरे जीवन में तो ऐसा बहुत कुछ है जो मैंने अनुभव किया है लेकिन मुझे यह नहीं पता कि वासियों ने क्या अनुभव किया है और क्या नहीं किया इसलिए आपके सवाल का जवाब देना थोड़ा सा मुश्किल हो रहा है आप थोड़े से क्लियर करके पूछना पूछना क्या चाहते हैंAapka Sawal Thoda Sa Ajib Hai Mere Jeevan Mein To Aisa Bahut Kuch Hai Jo Maine Anubhav Kiya Hai Lekin Mujhe Yeh Nahi Pata Ki Vasiyo Ne Kya Anubhav Kiya Hai Aur Kya Nahi Kiya Isliye Aapke Sawal Ka Jawab Dena Thoda Sa Mushkil Ho Raha Hai Aap Thode Se Clear Karke Poochna Poochna Kya Chahte Hain
Likes  78  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं भी हो सकता है कि ऐसा हो कि जो मैंने अनुभव किया बाकी लोगों ने ना किया हर इंसान का अलग अलग सोचने का तरीका होता है मैंने अनुभव किया है आप अच्छा सोचेंगे तो अच्छा मिलेगा आज उसके बारे में जैसा सोचेंगे सामने वाले व्यक्ति को ऐसा सोचेगा इसलिए उन लोगों के बारे में अच्छा से अच्छा करें आपके लिए सही समझ जाओगे
Romanized Version
मैं भी हो सकता है कि ऐसा हो कि जो मैंने अनुभव किया बाकी लोगों ने ना किया हर इंसान का अलग अलग सोचने का तरीका होता है मैंने अनुभव किया है आप अच्छा सोचेंगे तो अच्छा मिलेगा आज उसके बारे में जैसा सोचेंगे सामने वाले व्यक्ति को ऐसा सोचेगा इसलिए उन लोगों के बारे में अच्छा से अच्छा करें आपके लिए सही समझ जाओगेMain Bhi Ho Sakta Hai Ki Aisa Ho Ki Jo Maine Anubhav Kiya Baki Logon Ne Na Kiya Har Insaan Ka Alag Alag Sochne Ka Tarika Hota Hai Maine Anubhav Kiya Hai Aap Accha Sochenge Toh Accha Milega Aaj Uske Bare Mein Jaisa Sochenge Saamne Wale Vyakti Ko Aisa Sochega Isliye Un Logon Ke Bare Mein Accha Se Accha Karein Aapke Liye Sahi Samajh Jaoge
Likes  24  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां ऐसी कई बातें हैं जो मैंने अनु बाकी है आज सबसे बड़े भाई जब मैं अपने प्रिंसेस का काम कर रहा हूं तुम मुझे सबसे अनोखी बात ध्यान में कैसे लोग करते हैं एक अनोखी सोच आती है और सबसे बड़ी बात है वह सोच है सोचा कोई गाड़ी से जुड़ती है कई में कट लिस्ट की तरह काम करती है तो हां मेरा एक्सपीरियंस यह रहा है कि कहीं ना कहीं जब मैं डिफरेंट वैसे लोगों से बात कर रहा था लगभग लोगों से मिल रहा था जो सबसे अच्छी हो तुझे दिमाग हुई है काउंटर पर न होता है जो एक ब्रिज पर खड़ा है आज और आने वाले कल के बीच में और हम कहीं ना कहीं आपके रुके हुए हैं ठहरे हुए हैं डर रहे हैं पुष्कर रहे हैं अपने आप को यहां से वहां पर ब्रिज करें कर के उस तरफ जाने का एक बहुत ही अनोखी बंधन एक्सपीरियंस कि जब मैं एक मीटिंग में था एक दिन सा एक मोटा इंसान से मैं बात कर रहा था और तब मुझे यह अनोखा ख्याल आया तो हम मुझे लगा अच्छा ऐसा भी क्या वे आज और आने वाले कल के बीच में ही खड़ा हो क्या
Romanized Version
जी हां ऐसी कई बातें हैं जो मैंने अनु बाकी है आज सबसे बड़े भाई जब मैं अपने प्रिंसेस का काम कर रहा हूं तुम मुझे सबसे अनोखी बात ध्यान में कैसे लोग करते हैं एक अनोखी सोच आती है और सबसे बड़ी बात है वह सोच है सोचा कोई गाड़ी से जुड़ती है कई में कट लिस्ट की तरह काम करती है तो हां मेरा एक्सपीरियंस यह रहा है कि कहीं ना कहीं जब मैं डिफरेंट वैसे लोगों से बात कर रहा था लगभग लोगों से मिल रहा था जो सबसे अच्छी हो तुझे दिमाग हुई है काउंटर पर न होता है जो एक ब्रिज पर खड़ा है आज और आने वाले कल के बीच में और हम कहीं ना कहीं आपके रुके हुए हैं ठहरे हुए हैं डर रहे हैं पुष्कर रहे हैं अपने आप को यहां से वहां पर ब्रिज करें कर के उस तरफ जाने का एक बहुत ही अनोखी बंधन एक्सपीरियंस कि जब मैं एक मीटिंग में था एक दिन सा एक मोटा इंसान से मैं बात कर रहा था और तब मुझे यह अनोखा ख्याल आया तो हम मुझे लगा अच्छा ऐसा भी क्या वे आज और आने वाले कल के बीच में ही खड़ा हो क्याJi Haan Aisi Kai Batein Hain Jo Maine Anu Baki Hai Aaj Sabse Bade Bhai Jab Main Apne Princes Ka Kaam Kar Raha Hoon Tum Mujhe Sabse Anokhi Baat Dhyan Mein Kaise Log Karte Hain Ek Anokhi Soch Aati Hai Aur Sabse Badi Baat Hai Wah Soch Hai Socha Koi Gaadi Se Judti Hai Kai Mein Cut List Ki Tarah Kaam Karti Hai Toh Haan Mera Experience Yeh Raha Hai Ki Kahin Na Kahin Jab Main Different Waise Logon Se Baat Kar Raha Tha Lagbhag Logon Se Mil Raha Tha Jo Sabse Acchi Ho Tujhe Dimag Hui Hai Counter Par Na Hota Hai Jo Ek Bridge Par Khada Hai Aaj Aur Aane Wale Kal Ke Beech Mein Aur Hum Kahin Na Kahin Aapke Ruke Hue Hain Thahare Hue Hain Dar Rahe Hain Pushkar Rahe Hain Apne Aap Ko Yahan Se Wahan Par Bridge Karein Kar Ke Us Taraf Jaane Ka Ek Bahut Hi Anokhi Bandhan Experience Ki Jab Main Ek Meeting Mein Tha Ek Din Sa Ek Mota Insaan Se Main Baat Kar Raha Tha Aur Tab Mujhe Yeh Anokha Khayal Aaya Toh Hum Mujhe Laga Accha Aisa Bhi Kya Ve Aaj Aur Aane Wale Kal Ke Beech Mein Hi Khada Ho Kya
Likes  64  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ बाकी लोग प्रत्यक्ष के होते हैं कुछ बाकी लोग भूत के होते हैं वर्तमान में हम स्वयं हैं अपने आप में लेकिन मस्ती कि आज संसार की पृष्ठभूमि देखे तो मानवीय दिमाग के विशेष गरिमा रखे हुए हैं और 11 मस्तिक में सृजन की एक अलग अलग पहली पद्धती व्याख्यान की कई तरह का खोजबीन सुपर दिमाग है ऐसी विद्या और ऐसी चीजों में ऐसे तलाश में ऐसी खोजों में ऐसे अंतर्निहित ज्ञान में प्रवेश हो चुके हैं और उसका आनंद अलग चित्र बनाकर रह रहे हैं वह पृष्ठभूमि बदलनी पड़ी है लोगों को दिखा रहा है इंडो वेस्टर्न है जो जिस रूप में अपने जीवन को ज्ञापन कर रहे हैं आरिका पश्चिम
कुछ बाकी लोग प्रत्यक्ष के होते हैं कुछ बाकी लोग भूत के होते हैं वर्तमान में हम स्वयं हैं अपने आप में लेकिन मस्ती कि आज संसार की पृष्ठभूमि देखे तो मानवीय दिमाग के विशेष गरिमा रखे हुए हैं और 11 मस्तिक में सृजन की एक अलग अलग पहली पद्धती व्याख्यान की कई तरह का खोजबीन सुपर दिमाग है ऐसी विद्या और ऐसी चीजों में ऐसे तलाश में ऐसी खोजों में ऐसे अंतर्निहित ज्ञान में प्रवेश हो चुके हैं और उसका आनंद अलग चित्र बनाकर रह रहे हैं वह पृष्ठभूमि बदलनी पड़ी है लोगों को दिखा रहा है इंडो वेस्टर्न है जो जिस रूप में अपने जीवन को ज्ञापन कर रहे हैं आरिका पश्चिम
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सी बातों का अनुभव किया है हर एक के लायक में आता है क्योंकि एक इंसान गांव में बहुत दूसरे इंसान के अनिल के जीवन से ज्यादा मेल नहीं खाता इसलिए बहुत से अनुभव है ऐसा जो कुछ अलग शेप
Romanized Version
बहुत सी बातों का अनुभव किया है हर एक के लायक में आता है क्योंकि एक इंसान गांव में बहुत दूसरे इंसान के अनिल के जीवन से ज्यादा मेल नहीं खाता इसलिए बहुत से अनुभव है ऐसा जो कुछ अलग शेपBahut Si Baaton Ka Anubhav Kiya Hai Har Ek Ke Layak Mein Aata Hai Kyonki Ek Insaan Gaon Mein Bahut Dusre Insaan Ke Anil Ke Jeevan Se Zyada Male Nahi Khaata Isliye Bahut Se Anubhav Hai Aisa Jo Kuch Alag Shape
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैंने कुछ अनुभव किया हो या ना किया हो लेकिन मैं यह नहीं कह सकता कि मैंने जो अनुभव किया वह दूसरों ने ना किया होगा जरूरी नहीं है कि मेरे साथी कुछ यूनिक होता हो गई सब के साथ कुछ अलग अलग होता है मेरे साथ जो हुआ तू हमें यह बताओ कि मेरे साथ जो कुछ भी होता है अच्छा ही होता है मैं यह समझता हूं और क्योंकि मेरी नजरिया चाहिए मैं सोचता हूं इसलिए मुझे यह समय लगता है अगर यही काम किसी गलत हो तो इसमें यह कहना उचित होगा कि मैंने कुछ अलग अनुभव दिया है धन्यवाद
Romanized Version
देखिए मैंने कुछ अनुभव किया हो या ना किया हो लेकिन मैं यह नहीं कह सकता कि मैंने जो अनुभव किया वह दूसरों ने ना किया होगा जरूरी नहीं है कि मेरे साथी कुछ यूनिक होता हो गई सब के साथ कुछ अलग अलग होता है मेरे साथ जो हुआ तू हमें यह बताओ कि मेरे साथ जो कुछ भी होता है अच्छा ही होता है मैं यह समझता हूं और क्योंकि मेरी नजरिया चाहिए मैं सोचता हूं इसलिए मुझे यह समय लगता है अगर यही काम किसी गलत हो तो इसमें यह कहना उचित होगा कि मैंने कुछ अलग अनुभव दिया है धन्यवादDekhie Maine Kuch Anubhav Kiya Ho Ya Na Kiya Ho Lekin Main Yeh Nahi Keh Sakta Ki Maine Jo Anubhav Kiya Wah Dusron Ne Na Kiya Hoga Zaroori Nahi Hai Ki Mere Sathi Kuch Unique Hota Ho Gayi Sab Ke Saath Kuch Alag Alag Hota Hai Mere Saath Jo Hua Tu Humein Yeh Batao Ki Mere Saath Jo Kuch Bhi Hota Hai Accha Hi Hota Hai Main Yeh Samajhata Hoon Aur Kyonki Meri Najariya Chahiye Main Sochta Hoon Isliye Mujhe Yeh Samay Lagta Hai Agar Yahi Kaam Kisi Galat Ho Toh Ismein Yeh Kehna Uchit Hoga Ki Maine Kuch Alag Anubhav Diya Hai Dhanyavad
Likes  21  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सकता है मेरा अनुभव भी बाकी लोगों की तरह हो
Romanized Version
सकता है मेरा अनुभव भी बाकी लोगों की तरह होSakta Hai Mera Anubhav Bhi Baki Logon Ki Tarah Ho
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां हमने अनुभव किया है कोई भी व्यक्ति कितना भी पढ़ा लिखा क्यों न हो एक न एक दिन उसके पास एक ऐसा क्वेश्चन आ जाएगा जिसका आंसर उसके पास नहीं रहेगा कोई भी वस्तु बेकार भी नहीं होती है एक न एक दिन उसकी जरूरत पड़ जाती है और जो चीज हमारे पास होती है उसका अहमियत मतलब उसका मूल्य हमें नहीं पता होता है मूल्य मतलब वह हमारे कितने नजदीक है यह नहीं पता लगता है लेकिन जब वह हमसे दूर होता है तो है इसका अंदाजा लगता है जैसे मेरी मां मेरी मां जब मेरे पास रहती है तो थोड़ा अच्छी किया यार मजाक किया है ऐसे जैसे ही खराब होता है तो दिमाग में टेंशन आ जाता है
Romanized Version
हां हमने अनुभव किया है कोई भी व्यक्ति कितना भी पढ़ा लिखा क्यों न हो एक न एक दिन उसके पास एक ऐसा क्वेश्चन आ जाएगा जिसका आंसर उसके पास नहीं रहेगा कोई भी वस्तु बेकार भी नहीं होती है एक न एक दिन उसकी जरूरत पड़ जाती है और जो चीज हमारे पास होती है उसका अहमियत मतलब उसका मूल्य हमें नहीं पता होता है मूल्य मतलब वह हमारे कितने नजदीक है यह नहीं पता लगता है लेकिन जब वह हमसे दूर होता है तो है इसका अंदाजा लगता है जैसे मेरी मां मेरी मां जब मेरे पास रहती है तो थोड़ा अच्छी किया यार मजाक किया है ऐसे जैसे ही खराब होता है तो दिमाग में टेंशन आ जाता हैHaan Humne Anubhav Kiya Hai Koi Bhi Vyakti Kitna Bhi Padha Likha Kyon Na Ho Ek Na Ek Din Uske Paas Ek Aisa Question Aa Jayega Jiska Answer Uske Paas Nahi Rahega Koi Bhi Vastu Bekar Bhi Nahi Hoti Hai Ek Na Ek Din Uski Zaroorat Pad Jati Hai Aur Jo Cheez Hamare Paas Hoti Hai Uska Ahamiyat Matlab Uska Mulya Humein Nahi Pata Hota Hai Mulya Matlab Wah Hamare Kitne Nazdeek Hai Yeh Nahi Pata Lagta Hai Lekin Jab Wah Humse Dur Hota Hai Toh Hai Iska Andaja Lagta Hai Jaise Meri Maa Meri Maa Jab Mere Paas Rehti Hai Toh Thoda Acchi Kiya Yaar Mazak Kiya Hai Aise Jaise Hi Kharaab Hota Hai Toh Dimag Mein Tension Aa Jata Hai
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैंने एक बार क्या हुआ कि तीन लड़कियों पर एक साथ भरोसा किया था जिन्होंने शादी के बाद धोखा दिया मुझे मुझे मानता पीना मुझे धोखा दे और मैंने सोचा कि शायद सुधर जाए वह उनकी हरकतों में सुधार बिल्कुल नहीं आया उन्होंने मुझे धोखा दिया
जी हां मैंने एक बार क्या हुआ कि तीन लड़कियों पर एक साथ भरोसा किया था जिन्होंने शादी के बाद धोखा दिया मुझे मुझे मानता पीना मुझे धोखा दे और मैंने सोचा कि शायद सुधर जाए वह उनकी हरकतों में सुधार बिल्कुल नहीं आया उन्होंने मुझे धोखा दिया
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैंने अनुभव किया है कि जब आदमी का वक्त बुरा होता है तो उसके सभी रिश्ते नाते भाई बंधु कुटुम परिवार वाले यार दोस्त सब साथ छोड़ देते लेकिन एक समय उसका इस प्रकार भी आता है जैसे रांझा के जीवन में आया था कि सारा जमाना पत्थर मारता है कोई पत्थर से ना मारे मेरे दीवाने को
जी हां मैंने अनुभव किया है कि जब आदमी का वक्त बुरा होता है तो उसके सभी रिश्ते नाते भाई बंधु कुटुम परिवार वाले यार दोस्त सब साथ छोड़ देते लेकिन एक समय उसका इस प्रकार भी आता है जैसे रांझा के जीवन में आया था कि सारा जमाना पत्थर मारता है कोई पत्थर से ना मारे मेरे दीवाने को
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन इधर मेरे जीवन में मैंने कई बार ऐसा अनुभव किया है जिसे मैं कुछ दिन पहले ख्वाब में देख लेता हूं कि मेरे साथ ही यह होने वाला है मैं उसे सच नहीं मानता लेकिन कभी-कभी वैसा ही सेम चीज सेम प्लेस से इंसान वैसा ही मुझे मिलता है और माही बड़ा हिस्सा ही सब कुछ बिकता है मुझे पहले से आभास हो जाता है इसके बाद यह वाला इंसान मिलेगा और सचमुच ऐसा ही होता है मुझे इसके थोड़ा आश्चर्य होता है कि ऐसा कैसे हो गया लेकिन कई बार ऐसा मेरे साथ हुआ है लेकिन मैं सेव कर रहा हूं मैंने जैसे कई बार होता है कि मेरी मां के साथ यह साहू बहू आ रहा है या फिर मेरे साथ ऐसा कहीं पर गिर गया हो जाता है और पैसे हमसे मिली तो मैंने ख्वाब में देखा होता है वैसा है मुझे दिखता है कि वह ऐसा ही सब कुछ हुआ ऐसे में मुझे बहुत ही घबराहट होती है क्या मेरे मांगे जो सपने होते हैं क्या यह ज्यादा तक मैं हकीकत देख रहा हूं या फिर ऐसे कई बार तो होता है नहीं होता भाई साहब मैंने मजुत्सु देखता हूं और कई बार ऐसा होता है कि वह जाता है तो मुझे बड़ा आश्चर्य होता है कि ऐसा कैसे हो रहा है ऐसा क्यों हो रहा है
लेकिन इधर मेरे जीवन में मैंने कई बार ऐसा अनुभव किया है जिसे मैं कुछ दिन पहले ख्वाब में देख लेता हूं कि मेरे साथ ही यह होने वाला है मैं उसे सच नहीं मानता लेकिन कभी-कभी वैसा ही सेम चीज सेम प्लेस से इंसान वैसा ही मुझे मिलता है और माही बड़ा हिस्सा ही सब कुछ बिकता है मुझे पहले से आभास हो जाता है इसके बाद यह वाला इंसान मिलेगा और सचमुच ऐसा ही होता है मुझे इसके थोड़ा आश्चर्य होता है कि ऐसा कैसे हो गया लेकिन कई बार ऐसा मेरे साथ हुआ है लेकिन मैं सेव कर रहा हूं मैंने जैसे कई बार होता है कि मेरी मां के साथ यह साहू बहू आ रहा है या फिर मेरे साथ ऐसा कहीं पर गिर गया हो जाता है और पैसे हमसे मिली तो मैंने ख्वाब में देखा होता है वैसा है मुझे दिखता है कि वह ऐसा ही सब कुछ हुआ ऐसे में मुझे बहुत ही घबराहट होती है क्या मेरे मांगे जो सपने होते हैं क्या यह ज्यादा तक मैं हकीकत देख रहा हूं या फिर ऐसे कई बार तो होता है नहीं होता भाई साहब मैंने मजुत्सु देखता हूं और कई बार ऐसा होता है कि वह जाता है तो मुझे बड़ा आश्चर्य होता है कि ऐसा कैसे हो रहा है ऐसा क्यों हो रहा है
Likes  33  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछना है कि क्या आपने कुछ ऐसा अनुभव किया है जो बाकी लोगों ने नहीं किया तो मुझे ऐसा लग रहा है जो मैं अनुभव कर रही हूं हमारे देश की जो प्रेजेंट सिचुएशन है उसके ऊपर या लोगों को देखकर या जो हमारे समाज में है कि लोगों में थोड़ी थोड़ी सहनशक्ति कम हो रही है मतलब किसी को किसी की बात सुनने के समय नहीं है सब अपनी प्रॉब्लम्स में या अपनी खुशी में या अपने दुख में इतने बिजी हैं मतलब हम दो हमारे दो बस हम दो तीन से इंटरेक्शन करके ही ठीक है और किसी की प्रॉब्लम सुनने के लिए उन्हें टाइम ही नहीं है मतलब वह अपनी ही प्रॉब्लम्स में इतने गिरे हुए हैं कि उनको समय नहीं है कि सामने वाला अगर उदास है तो वह किसी के मन को पढ़ सके अगर उदास है तो वह क्यों है और अगर खुश है तो भाई उनको पूछे कि कैसे है आज आपकी कैसे बहुत खुश लग रहे हो इस समय नहीं है तो एक तो मेरे मन में मैंने अनुभव किया है कि मैं थोड़ी सी शहर सकती है उन्हें टाइम नहीं है दूसरा सहनशक्ति का यह है कि अगर उन्होंने सोच लिया है कि यह बात सही है तो फिर उनको यह कहानी नहीं है सुनने की कि दूसरा भी सही हो सकता है उनको लगता जो हमने बोल दिया वह ठीक है और दूसरा कोई कुछ भी बोले तो यह कई ऐसी बातें हैं जो अनुभव किया है मैंने कि शायद बाकी के लोगों ने किया या नहीं किया मुझे मालूम नहीं है क्योंकि कैसे पता चलेगा कि कोई क्या अनुभव कर रहे लेकिन शायद उन्होंने पूर्ण नहीं किया होगा लेकिन जो हमारे समाज में यह थोड़ा सा बातचीत कम होना मतलब कोई किसी का हाल-चाल नहीं पूछना बस एक कप कटे कटे से रहना यह थोड़ा सा कुछ डिफरेंट लग रहा है अपनापन की कमी लग रही है कि लोगों में थोड़ा सा अपनापन कब कम लग रहा है मुझे जो अभी मैं आजकल देख रही हूं यार कहां-कहां तो ऐसे हैं कि बुजुर्गों को थोड़ा सा एकदम लाइफ से अपने आप को कटा हुआ महसूस करते हैं बच्चे हैं उनकी अपनी लाइफ है फ्रेंड सर्कल के साथ है तू जो बड़ी एज की है उनके लिए बहुत कम कुछ ऐसे बच गई है कि वह कुछ एक्टिव हो सके कहां उनको जाना आना नहीं सोशली मतलब ऐसे लग रहा है कि कुछ कट गए हैं जो मैंने अनुभव किया है और आई थिंक बाकी के लोगों ने शादी नहीं किया है तो मैंने ऐसी कई चीजें हमारे समाज में अनुभव की है जो मैं बताना चाह रही हूं आपको
आपका पूछना है कि क्या आपने कुछ ऐसा अनुभव किया है जो बाकी लोगों ने नहीं किया तो मुझे ऐसा लग रहा है जो मैं अनुभव कर रही हूं हमारे देश की जो प्रेजेंट सिचुएशन है उसके ऊपर या लोगों को देखकर या जो हमारे समाज में है कि लोगों में थोड़ी थोड़ी सहनशक्ति कम हो रही है मतलब किसी को किसी की बात सुनने के समय नहीं है सब अपनी प्रॉब्लम्स में या अपनी खुशी में या अपने दुख में इतने बिजी हैं मतलब हम दो हमारे दो बस हम दो तीन से इंटरेक्शन करके ही ठीक है और किसी की प्रॉब्लम सुनने के लिए उन्हें टाइम ही नहीं है मतलब वह अपनी ही प्रॉब्लम्स में इतने गिरे हुए हैं कि उनको समय नहीं है कि सामने वाला अगर उदास है तो वह किसी के मन को पढ़ सके अगर उदास है तो वह क्यों है और अगर खुश है तो भाई उनको पूछे कि कैसे है आज आपकी कैसे बहुत खुश लग रहे हो इस समय नहीं है तो एक तो मेरे मन में मैंने अनुभव किया है कि मैं थोड़ी सी शहर सकती है उन्हें टाइम नहीं है दूसरा सहनशक्ति का यह है कि अगर उन्होंने सोच लिया है कि यह बात सही है तो फिर उनको यह कहानी नहीं है सुनने की कि दूसरा भी सही हो सकता है उनको लगता जो हमने बोल दिया वह ठीक है और दूसरा कोई कुछ भी बोले तो यह कई ऐसी बातें हैं जो अनुभव किया है मैंने कि शायद बाकी के लोगों ने किया या नहीं किया मुझे मालूम नहीं है क्योंकि कैसे पता चलेगा कि कोई क्या अनुभव कर रहे लेकिन शायद उन्होंने पूर्ण नहीं किया होगा लेकिन जो हमारे समाज में यह थोड़ा सा बातचीत कम होना मतलब कोई किसी का हाल-चाल नहीं पूछना बस एक कप कटे कटे से रहना यह थोड़ा सा कुछ डिफरेंट लग रहा है अपनापन की कमी लग रही है कि लोगों में थोड़ा सा अपनापन कब कम लग रहा है मुझे जो अभी मैं आजकल देख रही हूं यार कहां-कहां तो ऐसे हैं कि बुजुर्गों को थोड़ा सा एकदम लाइफ से अपने आप को कटा हुआ महसूस करते हैं बच्चे हैं उनकी अपनी लाइफ है फ्रेंड सर्कल के साथ है तू जो बड़ी एज की है उनके लिए बहुत कम कुछ ऐसे बच गई है कि वह कुछ एक्टिव हो सके कहां उनको जाना आना नहीं सोशली मतलब ऐसे लग रहा है कि कुछ कट गए हैं जो मैंने अनुभव किया है और आई थिंक बाकी के लोगों ने शादी नहीं किया है तो मैंने ऐसी कई चीजें हमारे समाज में अनुभव की है जो मैं बताना चाह रही हूं आपको
Likes  34  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं अपने आज के वर्तमान को देखकर अपनी जिंदगी में जो भी चल रहा है जो मैं कर रहा हूं उसको देखकर भविष्य को देख सकता हूं कि मैं भविष्य में क्या कर पाऊंगा अगर मैं अभी कुछ नहीं कर पा रहा हूं फिर आगे जाकर क्या खाक करूंगा और सरवादी लोग यह सोचते हैं कि आज मुझे मिल गया और कल का कल देखेंगे पर मैं ऐसा नहीं सोचता मैं कल का भी आज ही सोच लेता हूं मुझे कल करना क्या है जिससे मुझे कल सोचने की आवश्यकता नहीं पड़ती क्योंकि क्योंकि जब मुझे भूख लगी भर कर खाता हूं और जब मैं सोचता हूं तो मैं अपनी पूरी जिंदगी के घटनाओं के बारे में सोच लेता हूं ताकि मुझे सोचने में की जरूरत ना पड़े क्योंकि मैं रोज रोज सोच कर अपने कीमती समय में गाना चाहता मैं समय का बहुत अच्छी तरह से कदर करता हूं धन्यवाद
Romanized Version
जी हां मैं अपने आज के वर्तमान को देखकर अपनी जिंदगी में जो भी चल रहा है जो मैं कर रहा हूं उसको देखकर भविष्य को देख सकता हूं कि मैं भविष्य में क्या कर पाऊंगा अगर मैं अभी कुछ नहीं कर पा रहा हूं फिर आगे जाकर क्या खाक करूंगा और सरवादी लोग यह सोचते हैं कि आज मुझे मिल गया और कल का कल देखेंगे पर मैं ऐसा नहीं सोचता मैं कल का भी आज ही सोच लेता हूं मुझे कल करना क्या है जिससे मुझे कल सोचने की आवश्यकता नहीं पड़ती क्योंकि क्योंकि जब मुझे भूख लगी भर कर खाता हूं और जब मैं सोचता हूं तो मैं अपनी पूरी जिंदगी के घटनाओं के बारे में सोच लेता हूं ताकि मुझे सोचने में की जरूरत ना पड़े क्योंकि मैं रोज रोज सोच कर अपने कीमती समय में गाना चाहता मैं समय का बहुत अच्छी तरह से कदर करता हूं धन्यवादJi Haan Main Apne Aaj Ke Vartaman Ko Dekhkar Apni Zindagi Mein Jo Bhi Chal Raha Hai Jo Main Kar Raha Hoon Usko Dekhkar Bhavishya Ko Dekh Sakta Hoon Ki Main Bhavishya Mein Kya Kar Paunga Agar Main Abhi Kuch Nahi Kar Pa Raha Hoon Phir Aage Jaakar Kya Khak Karunga Aur Sarvadi Log Yeh Sochte Hain Ki Aaj Mujhe Mil Gaya Aur Kal Ka Kal Dekhenge Par Main Aisa Nahi Sochta Main Kal Ka Bhi Aaj Hi Soch Leta Hoon Mujhe Kal Karna Kya Hai Jisse Mujhe Kal Sochne Ki Avashyakta Nahi Padti Kyonki Kyonki Jab Mujhe Bhukh Lagi Bhar Kar Khaata Hoon Aur Jab Main Sochta Hoon Toh Main Apni Puri Zindagi Ke Ghatnaon Ke Bare Mein Soch Leta Hoon Taki Mujhe Sochne Mein Ki Zaroorat Na Pade Kyonki Main Roj Roj Soch Kar Apne Kimti Samay Mein Gaana Chahta Main Samay Ka Bahut Acchi Tarah Se Kadar Karta Hoon Dhanyavad
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने अनुभव किया है कि जो कल था आज नहीं है और जो आज है कल नहीं रहेगा अपना वर्तमान सुधारो वर्तमान लगने दो आपका भविष्य आपके हाथ में हो जाएगा
Romanized Version
हां मैंने अनुभव किया है कि जो कल था आज नहीं है और जो आज है कल नहीं रहेगा अपना वर्तमान सुधारो वर्तमान लगने दो आपका भविष्य आपके हाथ में हो जाएगाHaan Maine Anubhav Kiya Hai Ki Jo Kal Tha Aaj Nahi Hai Aur Jo Aaj Hai Kal Nahi Rahega Apna Vartaman Sudhaaro Vartaman Lagne Do Aapka Bhavishya Aapke Hath Mein Ho Jayega
Likes  33  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने साइकिल सिक्योरिटी को पड़ा है साइकोलॉजी को बढ़ाएं फिलोसोफी को भी बढ़ाया और इंग्लिश स्पोकन और कंपटीशन सही से देखो मैं खुद पढ़ाता हूं इसके अलावा मुझे डिफरेंट घर के नौकर बनने का शौक है मैं लगभग 2,000 से ऊपर निपट चुका हूं और कंप्यूटर और सामान्य ज्ञान से संबंधित पत्र पत्रिकाओं को नियमित रूप से पढ़ता रहता हूं उनका अध्ययन करता रहता हूं इसके अलावा मुझे टेक्नोलॉजी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एस ए सब्जेक्ट में भी रुचि है और मैं रोबोटिक्स भी पढ़ना पसंद करता हूं इसके अलावा मुझे कई सारे खेल जैसे जस फुटबॉल क्रिकेट और वॉलीबॉल जैसे गेम खेलना इसके अलावा अगर अपनों को की बात करें तो मैंने कई सालों मैसेज में पढ़ाया है और कॉलेज लाइफ में कोई एक्सीडेंट किया इसके अलावा और भूत और आत्माओं के बारे में भी मेरे नॉलेज प्राप्त किया इसके अलावा ध्यान की अलग-अलग वस्तुओं को भी मैंने अनुभव किया है उसके बारे में खूब बड़ा है और भी बहुत सारे एक्सपीरियंस रहे हैं जो कि बाकी लोगों ने नहीं किया होगा
Romanized Version
मैंने साइकिल सिक्योरिटी को पड़ा है साइकोलॉजी को बढ़ाएं फिलोसोफी को भी बढ़ाया और इंग्लिश स्पोकन और कंपटीशन सही से देखो मैं खुद पढ़ाता हूं इसके अलावा मुझे डिफरेंट घर के नौकर बनने का शौक है मैं लगभग 2,000 से ऊपर निपट चुका हूं और कंप्यूटर और सामान्य ज्ञान से संबंधित पत्र पत्रिकाओं को नियमित रूप से पढ़ता रहता हूं उनका अध्ययन करता रहता हूं इसके अलावा मुझे टेक्नोलॉजी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एस ए सब्जेक्ट में भी रुचि है और मैं रोबोटिक्स भी पढ़ना पसंद करता हूं इसके अलावा मुझे कई सारे खेल जैसे जस फुटबॉल क्रिकेट और वॉलीबॉल जैसे गेम खेलना इसके अलावा अगर अपनों को की बात करें तो मैंने कई सालों मैसेज में पढ़ाया है और कॉलेज लाइफ में कोई एक्सीडेंट किया इसके अलावा और भूत और आत्माओं के बारे में भी मेरे नॉलेज प्राप्त किया इसके अलावा ध्यान की अलग-अलग वस्तुओं को भी मैंने अनुभव किया है उसके बारे में खूब बड़ा है और भी बहुत सारे एक्सपीरियंस रहे हैं जो कि बाकी लोगों ने नहीं किया होगाMaine Cycle Security Ko Pada Hai Psychology Ko Badhayen Philosophy Ko Bhi Badhaya Aur English Spoken Aur Competition Sahi Se Dekho Main Khud Padhata Hoon Iske Alava Mujhe Different Ghar Ke Naukar Banne Ka Shauk Hai Main Lagbhag 2,000 Se Upar Nipat Chuka Hoon Aur Computer Aur Samanya Gyaan Se Sambandhit Patra Patrikaon Ko Niyamit Roop Se Padhata Rehta Hoon Unka Adhyayan Karta Rehta Hoon Iske Alava Mujhe Technology Aur Artificial Intelligence S A Subject Mein Bhi Ruchi Hai Aur Main Robotic Bhi Padhna Pasand Karta Hoon Iske Alava Mujhe Kai Saare Khel Jaise Jas Football Cricket Aur Volleyball Jaise Game Khelna Iske Alava Agar Apnon Ko Ki Baat Karein Toh Maine Kai Salon Massage Mein Padhaya Hai Aur College Life Mein Koi Accident Kiya Iske Alava Aur Bhoot Aur Aatmaon Ke Bare Mein Bhi Mere Knowledge Prapt Kiya Iske Alava Dhyan Ki Alag Alag Vastuon Ko Bhi Maine Anubhav Kiya Hai Uske Bare Mein Khoob Bada Hai Aur Bhi Bahut Saare Experience Rahe Hain Jo Ki Baki Logon Ne Nahi Kiya Hoga
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने मेरा एक बच्चा कैसे बाकी लोगों ने शायद नहीं किया होगा ठीक है मैंने तू उसका मेरा मैटर था उसने माई बोलता हम सब को पुलिस ने उठाकर लेकर आना फिर भी हम कुछ दे चुके हैं सामने वाले को हर वह सेट मेरे ख्याल से किसी ने नहीं किया
Romanized Version
हां मैंने मेरा एक बच्चा कैसे बाकी लोगों ने शायद नहीं किया होगा ठीक है मैंने तू उसका मेरा मैटर था उसने माई बोलता हम सब को पुलिस ने उठाकर लेकर आना फिर भी हम कुछ दे चुके हैं सामने वाले को हर वह सेट मेरे ख्याल से किसी ने नहीं कियाHaan Maine Mera Ek Baccha Kaise Baki Logon Ne Shayad Nahi Kiya Hoga Theek Hai Maine Tu Uska Mera Matter Tha Usne My Bolta Hum Sab Ko Police Ne Uthaakar Lekar Aana Phir Bhi Hum Kuch De Chuke Hain Saamne Wale Ko Har Wah Set Mere Khayal Se Kisi Ne Nahi Kiya
Likes  5  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें इस ऐप के माध्यम से आपको देखना चाहता हूं जो हिंदुस्तान के बहुत अनुभवी ले वह अति श्रेष्ठ कवि सूर्यकांत निराला जी ने कहा था उनकी कवि कविताएं आपको वह तोड़ती पत्थर या अन्य कविताएं पढ़ने को मिले उन कविताओं में पढ़िए और उस दर्द को अपन मत कीजिए तब आपको लगेगा तो बाकी इस संसार में बहुत दुख है मुझे यह देखकर बहुत बड़ा दुख होता है समय अमीर लोगों के घरों पर कितना सारा झूलन बसता है जूठन कुत्तों को नहीं खिलाया जाता है उनके घरों में पढ़ने वाले कुत्ते तू तो रूपीस खाते हैं फाइव स्टार होटलों में ठहरते हैं जबकि उन चेतन को जब बाहर सड़क पर फेंका जाता है तुम करीब बच्चों का अनाथ बच्चों को कुत्तों के साथ संघर्ष करते हुए तन को खाते हुए देखता हूं मेरा दिल रोने लगता है टूटता है समस्त नेताओं को राजनेताओं को गाली देता हूं मन मन ही मन और धन आदि लोगों के लिए बनने प्रकरण आतंकवादियों को भी दे सकते थे जो सजीव इंसान है हमारी तुम्हारी तरह तुम को खाने को भोजन नहीं मिल पा रहा है उस जूठन को प्राप्त करने के लिए कुत्तों से संघर्ष कर रहे हैं पंडित सूर्यकांत निराला की जो वह तोड़ती पत्थर कविता है उस कविता दिल को झकझोर देती है वास्तव में अंग्रेजों के समय तो मैं यह मान सकता था किस देश पर अंग्रेज लोग लोगों ने राज किया वे बहुत अत्याचारी थे उन लोग इतना आर्थिक शोषण किया उस समय देश में नितांत गरीबी थी उस समय भी भारत के धनाढ्य लोग बढ़िया सवाराम का जीवन जीते थे और अंग्रेजों के सामने लाते हुए दो मिलाते हुए कुत्ते की तरह चमचम भी किया करते थे और कुछ स्वार्थी होते हैं उन लोगों के संसार के लोगों से कोई वास्ता नहीं होता है धनवान व्यक्ति ने 24 और दोष होते हैं वह बहुत भयंकर नंबर 1 कृतिका स्वार्थी होता है नंबर तो वह अपने धनु के अभिमान में सारे संसार के लोगों को एकदम निर्जीव समझता है बोना समझता कुछ नहीं समझता तो ऐसी ही उन गरीबों के दर्द को नाथ अनाथ बच्चों के सर्दी आप अनुभव करते हो तो मेरी दृष्टि में आप इंसान हैं सहृदय हैं और यदि उनके अनुभव को नहीं कर सकते हो तुम मेरी दृष्टि में आप लोग भी उसी सेल्फिश इंसानों की श्रेणी में है जो सिर्फ अपने दर्द को तो जानते हैं अपने लाभ के लिए जीते अपने खाने के लिए जीते हैं मैं मेरा करती हुई जन्म लेते हैं और मैं मेरा करती हुई मर जाते हैं बाकी ऐसे मत बच्चों को गरीब बच्चों को जिनको समाज के द्वारा सहारा दिया जाना चाहिए कि नेताओं के द्वारा भी करोड़ों अरबों के रोज के घोटाले होते हैं होते हैं लेकिन उन गरीब बच्चों के बारे में कभी नहीं सोचते सरकारें बदल गई अंग्रेज चले गए अंग्रेजों ने तो कर पढ़ाई हो कर के आर्थिक शोषण किया कि जो हमारा हार्दिक बस यही है कि यह जो आज के हमारे राजनीतिक गेम क्लोज करो और वह के घोटाले कर रहे हैं यह तो हमारे अपने ही लोगों ने वोट दिए हम लोग इनको वोट देते हैं किंतु यह कभी हम गरीब बच्चों के बारे में नहीं सोचते हैं गरीब लोगों के बारे में नहीं सोचते हैं डीपी पर संत के बारे में नहीं सोचते हैं चौपाटी बहुत बड़े दुख में डांस कभी कृष्ण अवतार लेंगे रिश्वत अवतार लेंगे
हमें इस ऐप के माध्यम से आपको देखना चाहता हूं जो हिंदुस्तान के बहुत अनुभवी ले वह अति श्रेष्ठ कवि सूर्यकांत निराला जी ने कहा था उनकी कवि कविताएं आपको वह तोड़ती पत्थर या अन्य कविताएं पढ़ने को मिले उन कविताओं में पढ़िए और उस दर्द को अपन मत कीजिए तब आपको लगेगा तो बाकी इस संसार में बहुत दुख है मुझे यह देखकर बहुत बड़ा दुख होता है समय अमीर लोगों के घरों पर कितना सारा झूलन बसता है जूठन कुत्तों को नहीं खिलाया जाता है उनके घरों में पढ़ने वाले कुत्ते तू तो रूपीस खाते हैं फाइव स्टार होटलों में ठहरते हैं जबकि उन चेतन को जब बाहर सड़क पर फेंका जाता है तुम करीब बच्चों का अनाथ बच्चों को कुत्तों के साथ संघर्ष करते हुए तन को खाते हुए देखता हूं मेरा दिल रोने लगता है टूटता है समस्त नेताओं को राजनेताओं को गाली देता हूं मन मन ही मन और धन आदि लोगों के लिए बनने प्रकरण आतंकवादियों को भी दे सकते थे जो सजीव इंसान है हमारी तुम्हारी तरह तुम को खाने को भोजन नहीं मिल पा रहा है उस जूठन को प्राप्त करने के लिए कुत्तों से संघर्ष कर रहे हैं पंडित सूर्यकांत निराला की जो वह तोड़ती पत्थर कविता है उस कविता दिल को झकझोर देती है वास्तव में अंग्रेजों के समय तो मैं यह मान सकता था किस देश पर अंग्रेज लोग लोगों ने राज किया वे बहुत अत्याचारी थे उन लोग इतना आर्थिक शोषण किया उस समय देश में नितांत गरीबी थी उस समय भी भारत के धनाढ्य लोग बढ़िया सवाराम का जीवन जीते थे और अंग्रेजों के सामने लाते हुए दो मिलाते हुए कुत्ते की तरह चमचम भी किया करते थे और कुछ स्वार्थी होते हैं उन लोगों के संसार के लोगों से कोई वास्ता नहीं होता है धनवान व्यक्ति ने 24 और दोष होते हैं वह बहुत भयंकर नंबर 1 कृतिका स्वार्थी होता है नंबर तो वह अपने धनु के अभिमान में सारे संसार के लोगों को एकदम निर्जीव समझता है बोना समझता कुछ नहीं समझता तो ऐसी ही उन गरीबों के दर्द को नाथ अनाथ बच्चों के सर्दी आप अनुभव करते हो तो मेरी दृष्टि में आप इंसान हैं सहृदय हैं और यदि उनके अनुभव को नहीं कर सकते हो तुम मेरी दृष्टि में आप लोग भी उसी सेल्फिश इंसानों की श्रेणी में है जो सिर्फ अपने दर्द को तो जानते हैं अपने लाभ के लिए जीते अपने खाने के लिए जीते हैं मैं मेरा करती हुई जन्म लेते हैं और मैं मेरा करती हुई मर जाते हैं बाकी ऐसे मत बच्चों को गरीब बच्चों को जिनको समाज के द्वारा सहारा दिया जाना चाहिए कि नेताओं के द्वारा भी करोड़ों अरबों के रोज के घोटाले होते हैं होते हैं लेकिन उन गरीब बच्चों के बारे में कभी नहीं सोचते सरकारें बदल गई अंग्रेज चले गए अंग्रेजों ने तो कर पढ़ाई हो कर के आर्थिक शोषण किया कि जो हमारा हार्दिक बस यही है कि यह जो आज के हमारे राजनीतिक गेम क्लोज करो और वह के घोटाले कर रहे हैं यह तो हमारे अपने ही लोगों ने वोट दिए हम लोग इनको वोट देते हैं किंतु यह कभी हम गरीब बच्चों के बारे में नहीं सोचते हैं गरीब लोगों के बारे में नहीं सोचते हैं डीपी पर संत के बारे में नहीं सोचते हैं चौपाटी बहुत बड़े दुख में डांस कभी कृष्ण अवतार लेंगे रिश्वत अवतार लेंगे
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी हमने अपनी जिंदगी में कई संतों किया है जो किसी दूसरे ने नहीं किया एक शादीशुदा महिला होकर किसी से प्रेम किया और बाद में मैंने उसे छोड़ दिया जो बाकी लोग नहीं करते हैं
Romanized Version
हां जी हमने अपनी जिंदगी में कई संतों किया है जो किसी दूसरे ने नहीं किया एक शादीशुदा महिला होकर किसी से प्रेम किया और बाद में मैंने उसे छोड़ दिया जो बाकी लोग नहीं करते हैंHaan Ji Humne Apni Zindagi Mein Kai Santo Kiya Hai Jo Kisi Dusre Ne Nahi Kiya Ek Shaadishuda Mahila Hokar Kisi Se Prem Kiya Aur Baad Mein Maine Use Chhod Diya Jo Baki Log Nahi Karte Hain
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमेशा सोचा मैंने मनोज किया कि नहीं होती खुदा माना
Romanized Version
हमेशा सोचा मैंने मनोज किया कि नहीं होती खुदा मानाHamesha Socha Maine Manoj Kiya Ki Nahi Hoti Khuda Mana
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे तो है तो किसी ने किसी को व्यक्ति को मन में कुछ चलते रहता है कुछ के बारे में परीक्षा के बारे में है तो डायलॉग नहीं पढ़ते हैं तो कहते हैं अच्छा कैसा है या रिजल्ट आएगा कैसे नहीं आया बाकी लोग से पूछा था कि क्या करूं तो अलग है अपना सोचता था मैं क्या करूं उसको सब क्या करूं तो मैं दिखाऊं इन लोगों को कोई नहीं आज तक किया है उस सोचता था रोज तो 1 दिन हुआ कि 1 दिन हुआ कि मैं कहानी के हिसाब से तो 1 दिन हुआ कि उजाला पढ़ने उसको 24 में फर्क पड़ता नहीं क्या पढ़ोगे चलो तू तो गरीब है क्या पढ़ो जमीन हमने कर लो को देखो हम नहीं पाए गए तो सारी तो कुछ नहीं बोला था ठीक है घूमो एक दिन फिल्मों का बाजार उसने बोला चल जाता था रोज किया जाता था उसमें सोच रहा था कि मैं क्या करूं क्या ना करूं तो मैं कुछ बनकर दिखा सकूं उसने दिन रात को पढ़ाई में मन लगाने लगाने लगा दिन रात मेहनत किए करने लगा मेहनत करते उस सोच आपकी मैं पुलिस बंद कर दिखाओ उसने देना मेहनत करते रहा हूं लोगों लफंगे ने 1 दिन बन गया
Romanized Version
ऐसे तो है तो किसी ने किसी को व्यक्ति को मन में कुछ चलते रहता है कुछ के बारे में परीक्षा के बारे में है तो डायलॉग नहीं पढ़ते हैं तो कहते हैं अच्छा कैसा है या रिजल्ट आएगा कैसे नहीं आया बाकी लोग से पूछा था कि क्या करूं तो अलग है अपना सोचता था मैं क्या करूं उसको सब क्या करूं तो मैं दिखाऊं इन लोगों को कोई नहीं आज तक किया है उस सोचता था रोज तो 1 दिन हुआ कि 1 दिन हुआ कि मैं कहानी के हिसाब से तो 1 दिन हुआ कि उजाला पढ़ने उसको 24 में फर्क पड़ता नहीं क्या पढ़ोगे चलो तू तो गरीब है क्या पढ़ो जमीन हमने कर लो को देखो हम नहीं पाए गए तो सारी तो कुछ नहीं बोला था ठीक है घूमो एक दिन फिल्मों का बाजार उसने बोला चल जाता था रोज किया जाता था उसमें सोच रहा था कि मैं क्या करूं क्या ना करूं तो मैं कुछ बनकर दिखा सकूं उसने दिन रात को पढ़ाई में मन लगाने लगाने लगा दिन रात मेहनत किए करने लगा मेहनत करते उस सोच आपकी मैं पुलिस बंद कर दिखाओ उसने देना मेहनत करते रहा हूं लोगों लफंगे ने 1 दिन बन गयाAise Toh Hai Toh Kisi Ne Kisi Ko Vyakti Ko Man Mein Kuch Chalte Rehta Hai Kuch Ke Bare Mein Pariksha Ke Bare Mein Hai Toh Dialogue Nahi Padhte Hain Toh Kehte Hain Accha Kaisa Hai Ya Result Aaega Kaise Nahi Aaya Baki Log Se Puchha Tha Ki Kya Karu Toh Alag Hai Apna Sochta Tha Main Kya Karu Usko Sab Kya Karu Toh Main Dikhaun In Logon Ko Koi Nahi Aaj Tak Kiya Hai Us Sochta Tha Roj Toh 1 Din Hua Ki 1 Din Hua Ki Main Kahani Ke Hisab Se Toh 1 Din Hua Ki Ujaala Padhne Usko 24 Mein Fark Padta Nahi Kya Padhoge Chalo Tu Toh Garib Hai Kya Padho Jameen Humne Kar Lo Ko Dekho Hum Nahi Paye Gaye Toh Saree Toh Kuch Nahi Bola Tha Theek Hai Ghumo Ek Din Filmo Ka Bazaar Usne Bola Chal Jata Tha Roj Kiya Jata Tha Usmein Soch Raha Tha Ki Main Kya Karu Kya Na Karu Toh Main Kuch Bankar Dikha Sakun Usne Din Raat Ko Padhai Mein Man Lagane Lagane Laga Din Raat Mehnat Kiye Karne Laga Mehnat Karte Us Soch Aapki Main Police Band Kar Dikhaao Usne Dena Mehnat Karte Raha Hoon Logon Lafange Ne 1 Din Ban Gaya
Likes  12  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने बहुत सारे लोगों के मुंह से याद जवानों से सुना है कि अधिकतर हमारे छत्तीसगढ़ में गरीबी बहुत है और एक इंसान के मुंह से यह सुनना पड़ता सुनना हमें हम सुन सकते हैं दूसरे के मुंह से सुन रहे हैं दिल्ली तो वह लोग बोलते हैं कि हमेशा हर एक मनुष्य छत्तीसगढ़ का कार्य करके अच्छा नहीं लगता है बाकी गांव घर की देहाती छत्तीसगढ़ स्टेट से बाकी सब सीट अरेंजमेंट करना पड़ता है सुनना पड़ता है
Romanized Version
हां मैंने बहुत सारे लोगों के मुंह से याद जवानों से सुना है कि अधिकतर हमारे छत्तीसगढ़ में गरीबी बहुत है और एक इंसान के मुंह से यह सुनना पड़ता सुनना हमें हम सुन सकते हैं दूसरे के मुंह से सुन रहे हैं दिल्ली तो वह लोग बोलते हैं कि हमेशा हर एक मनुष्य छत्तीसगढ़ का कार्य करके अच्छा नहीं लगता है बाकी गांव घर की देहाती छत्तीसगढ़ स्टेट से बाकी सब सीट अरेंजमेंट करना पड़ता है सुनना पड़ता हैHaan Maine Bahut Saare Logon Ke Mooh Se Yaad Jawano Se Suna Hai Ki Adhiktar Hamare Chattisgarh Mein Garibi Bahut Hai Aur Ek Insaan Ke Mooh Se Yeh Sunana Padta Sunana Humein Hum Sun Sakte Hain Dusre Ke Mooh Se Sun Rahe Hain Delhi Toh Wah Log Bolte Hain Ki Hamesha Har Ek Manushya Chattisgarh Ka Karya Karke Accha Nahi Lagta Hai Baki Gaon Ghar Ki Dehati Chattisgarh State Se Baki Sab Seat Arrangement Karna Padta Hai Sunana Padta Hai
Likes  22  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैंने अपने मां-बाप की खुशी को देखा है और हमेशा नया यही चाहता हूं कि हमारे मां-बाप लोग ऐसी हमेशा खुश रहे
Romanized Version
जी हां मैंने अपने मां-बाप की खुशी को देखा है और हमेशा नया यही चाहता हूं कि हमारे मां-बाप लोग ऐसी हमेशा खुश रहेJi Haan Maine Apne Maa Baap Ki Khushi Ko Dekha Hai Aur Hamesha Naya Yahi Chahta Hoon Ki Hamare Maa Baap Log Aisi Hamesha Khush Rahe
Likes  16  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने ऐसा अनुभव किया नहीं क्योंकि सबके दिमाग एक ऐसे नहीं होते हैं मैं जब इंसान पूरे ऑल इंडिया से सबसे अलग मेरा दिमाग कंप्यूटर की तरह सबसे अलग
Romanized Version
हां मैंने ऐसा अनुभव किया नहीं क्योंकि सबके दिमाग एक ऐसे नहीं होते हैं मैं जब इंसान पूरे ऑल इंडिया से सबसे अलग मेरा दिमाग कंप्यूटर की तरह सबसे अलगHaan Maine Aisa Anubhav Kiya Nahi Kyonki Sabke Dimag Ek Aise Nahi Hote Hain Main Jab Insaan Poore All India Se Sabse Alag Mera Dimag Computer Ki Tarah Sabse Alag
Likes  28  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कार्य कितना भी छोटा एवं कमजोर क्यों ना हो परंतु पूर्ण मनोयोग से यदि कार्य किया जाए तो हमेशा सफलता अवश्य प्राप्त होते हैं और हम लोग उन्नति के मार्ग पर अग्रसर होते रहते हैं
Romanized Version
कार्य कितना भी छोटा एवं कमजोर क्यों ना हो परंतु पूर्ण मनोयोग से यदि कार्य किया जाए तो हमेशा सफलता अवश्य प्राप्त होते हैं और हम लोग उन्नति के मार्ग पर अग्रसर होते रहते हैंKarya Kitna Bhi Chota Evam Kamjor Kyon Na Ho Parantu Poorn Manoyog Se Yadi Karya Kiya Jaye Toh Hamesha Safalta Avashya Prapt Hote Hain Aur Hum Log Unnati Ke Marg Par Agrasar Hote Rehte Hain
Likes  23  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपनी लाइफ में सामने वाले से बात करते समय भरोसा नहीं करना चाहिए जब तक पूरी इतना जानकारी ना हो उसके लिए उनके बारे में
Romanized Version
अपनी लाइफ में सामने वाले से बात करते समय भरोसा नहीं करना चाहिए जब तक पूरी इतना जानकारी ना हो उसके लिए उनके बारे मेंApni Life Mein Saamne Wale Se Baat Karte Samay Bharosa Nahi Karna Chahiye Jab Tak Puri Itna Jankari Na Ho Uske Liye Unke Bare Mein
Likes  20  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां किया हमने अनुभव किया वह किया इंसानियत का जो बाकी लोगों ने नहीं किया
Romanized Version
हां किया हमने अनुभव किया वह किया इंसानियत का जो बाकी लोगों ने नहीं कियाHaan Kiya Humne Anubhav Kiya Wah Kiya Insaniyat Ka Jo Baki Logon Ne Nahi Kiya
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने ऐसा अनुभव बहुत क्या है ठीक वैसे कितना बताना चाहता हूं अपनी तरफ से यह जो अनुभव हमारा कई साल पुराना है मेरी उम्र भी काफी साल हो गई अभी करीबन करीबन 20 साल हो गई है तो मैंने यह भी करीब करीब 3 साल पहले देखा था कि सन सन बताता हूं तुमको शर्म की बात है 14 में मैं यहां हापुड़ जिला पड़ता है यह यह पता है यूपी में हापुड़ जिला उसमें था एक तेंदुआ निकला था प्राइवेट स्कूल था वह या तो स्कूल वालों ने रखा था या कोई इश्क में तारा नहीं उसका कोई पता नहीं था
हां मैंने ऐसा अनुभव बहुत क्या है ठीक वैसे कितना बताना चाहता हूं अपनी तरफ से यह जो अनुभव हमारा कई साल पुराना है मेरी उम्र भी काफी साल हो गई अभी करीबन करीबन 20 साल हो गई है तो मैंने यह भी करीब करीब 3 साल पहले देखा था कि सन सन बताता हूं तुमको शर्म की बात है 14 में मैं यहां हापुड़ जिला पड़ता है यह यह पता है यूपी में हापुड़ जिला उसमें था एक तेंदुआ निकला था प्राइवेट स्कूल था वह या तो स्कूल वालों ने रखा था या कोई इश्क में तारा नहीं उसका कोई पता नहीं था
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने कुछ ऐसा अनुभव किया है जो बाकी लोगों ने नहीं किया है क्योंकि हम हमारे अंदर इमेजिंग पावर इतनी ज्यादा है या किसी भी मनुष्य के अंदर कुछ इमेजिंग पावर ज्यादा होता है लेकिन बस उसे पहचानने की जरूरत होती है और समय पर हमने भी पहचाना कि मुझ में क्या है क्या खूबी है और अभी तक जितने भी मेरी अवस्था से जो गुजर रहे हैं मेरे अनुमान के अनुसार अपने अंदर उतनी नहीं जा पाए हैं जिसने मैंने अपने आप को खोजा है मुझे अपने आप को खोज ना ही मेरे अंदर की एक बखूबी बखूबी है जो हर किसी में नहीं होती है हम अपने आप आत्मविश्वास और उल्लास के साथ अपने जीवन के मार के खुद खुद ब खुद बनाना चाहते हैं कुछ बनाया भी है और आग पहले भी सेक्स करते हुए हुए हुए हैं आगे भी तमन्ना रखते हैं कि हम आगे भी शिक्षित होंगे और अपने अंदर आप अपने आप को झांकना ही मेरे अंदर का ऐसा अनुभव है जो हर किसी में नहीं है
Romanized Version
हां मैंने कुछ ऐसा अनुभव किया है जो बाकी लोगों ने नहीं किया है क्योंकि हम हमारे अंदर इमेजिंग पावर इतनी ज्यादा है या किसी भी मनुष्य के अंदर कुछ इमेजिंग पावर ज्यादा होता है लेकिन बस उसे पहचानने की जरूरत होती है और समय पर हमने भी पहचाना कि मुझ में क्या है क्या खूबी है और अभी तक जितने भी मेरी अवस्था से जो गुजर रहे हैं मेरे अनुमान के अनुसार अपने अंदर उतनी नहीं जा पाए हैं जिसने मैंने अपने आप को खोजा है मुझे अपने आप को खोज ना ही मेरे अंदर की एक बखूबी बखूबी है जो हर किसी में नहीं होती है हम अपने आप आत्मविश्वास और उल्लास के साथ अपने जीवन के मार के खुद खुद ब खुद बनाना चाहते हैं कुछ बनाया भी है और आग पहले भी सेक्स करते हुए हुए हुए हैं आगे भी तमन्ना रखते हैं कि हम आगे भी शिक्षित होंगे और अपने अंदर आप अपने आप को झांकना ही मेरे अंदर का ऐसा अनुभव है जो हर किसी में नहीं हैHaan Maine Kuch Aisa Anubhav Kiya Hai Jo Baki Logon Ne Nahi Kiya Hai Kyonki Hum Hamare Andar Imaging Power Itni Zyada Hai Ya Kisi Bhi Manushya Ke Andar Kuch Imaging Power Zyada Hota Hai Lekin Bus Use Pahachanane Ki Zaroorat Hoti Hai Aur Samay Par Humne Bhi Pehchana Ki Mujh Mein Kya Hai Kya Khoobi Hai Aur Abhi Tak Jitne Bhi Meri Avastha Se Jo Gujar Rahe Hain Mere Anumaan Ke Anusaar Apne Andar Utani Nahi Ja Paye Hain Jisne Maine Apne Aap Ko Khoja Hai Mujhe Apne Aap Ko Khoj Na Hi Mere Andar Ki Ek Bakhubi Bakhubi Hai Jo Har Kisi Mein Nahi Hoti Hai Hum Apne Aap Aatmvishvaas Aur Ullas Ke Saath Apne Jeevan Ke Maar Ke Khud Khud B Khud Banana Chahte Hain Kuch Banaya Bhi Hai Aur Aag Pehle Bhi Sex Karte Hue Hue Hue Hain Aage Bhi Tamanna Rakhte Hain Ki Hum Aage Bhi Shikshit Honge Aur Apne Andar Aap Apne Aap Ko Jhaankna Hi Mere Andar Ka Aisa Anubhav Hai Jo Har Kisi Mein Nahi Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मैंने अनुभव किया है ऐसे लोग मतलब ऐसे लोग देखा है लोगों को देखा है जो कुछ समय में किसी को ही बर्बाद कर सकते हैं और ऐसी कॉल आती है जो एक फ्रेंड या कुछ किसी के भी बारे में कुछ बात करना किसी से भी मतलब भी टाइप में रिलेशन या कुछ भी ऐसी कॉल आ कर लोगों को लुभाना मैं खुद महसूस किया और मैं खुद बर्बाद हुआ है इसीलिए बस इतना ही कहना चाहता हूं
Romanized Version
हां मैंने अनुभव किया है ऐसे लोग मतलब ऐसे लोग देखा है लोगों को देखा है जो कुछ समय में किसी को ही बर्बाद कर सकते हैं और ऐसी कॉल आती है जो एक फ्रेंड या कुछ किसी के भी बारे में कुछ बात करना किसी से भी मतलब भी टाइप में रिलेशन या कुछ भी ऐसी कॉल आ कर लोगों को लुभाना मैं खुद महसूस किया और मैं खुद बर्बाद हुआ है इसीलिए बस इतना ही कहना चाहता हूंHaan Maine Anubhav Kiya Hai Aise Log Matlab Aise Log Dekha Hai Logon Ko Dekha Hai Jo Kuch Samay Mein Kisi Ko Hi Barbad Kar Sakte Hain Aur Aisi Call Aati Hai Jo Ek Friend Ya Kuch Kisi Ke Bhi Bare Mein Kuch Baat Karna Kisi Se Bhi Matlab Bhi Type Mein Relation Ya Kuch Bhi Aisi Call Aa Kar Logon Ko Lubhaanaa Main Khud Mahsus Kiya Aur Main Khud Barbad Hua Hai Isliye Bus Itna Hi Kehna Chahta Hoon
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Aapne Kuch Aisa Anubhav Kiya Hai Jo Baki Logon Ne Nahi Kiya,


vokalandroid