संस्कृति क्या है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी संस्कृत एक भारत की पुरानी और इंडो यूरोपियन लैंग्वेज है जिसमें कई सारे हिंदू स्क्रिप्चर्स और क्लासिकल हिंदी पोयम्स है जो कि देवनागरी स्क्रिप्ट में लिखे गए हैं
Romanized Version
देखी संस्कृत एक भारत की पुरानी और इंडो यूरोपियन लैंग्वेज है जिसमें कई सारे हिंदू स्क्रिप्चर्स और क्लासिकल हिंदी पोयम्स है जो कि देवनागरी स्क्रिप्ट में लिखे गए हैंDekhi Sanskrit Ek Bharat Ki Purani Aur Indo European Language Hai Jisme Kai Sare Hindu Scriptures Aur Classical Hindi Poyams Hai Jo Ki Devnagari Script Mein Likhe Gaye Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

भारतीय संस्कृति में पोसिटिव और नेगेटिव एस्पेक्ट्स क्या होतें हैं? ...

संस्कृति के पॉजिटिव एंड नेगेटिव इफेक्ट नहीं होते हैं पॉजिटिव नेगेटिव इफेक्ट्स इन लोगों के होते हैं जो संस्कृति का पालन करते हैं उसको आगे लेकर जाते हैं ठीक है जो लोग संस्कृति के आप पोस्ट पहलुओं को नहींजवाब पढ़िये
ques_icon

किसी देश का इतिहास और संस्कृति देश के विकास के लिए कैसे सहायक हो सकती है? ...

किस देश की इतिहास व संस्कृति उस देश के विकास के लिए भारतीय सहायक होता है कि जो भी अगर पेड़ कि मैं बात करूं तो पेड़ की जड़ जितनी मजबूत होगी उसकी है उतना ऊपर तक जाएगी और वह भी उतनी मजबूत होगी अगर किसी दजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संस्कृति किसी समाज में गहराई तक और व्यापक गुणों के संभोग ग्रह समग्र रूप का नाम है जो उस समाज के सोचने विचारने कार्य करने खाने-पीने बोलने नृत्य गायन साहित्य कला वास्तववादी में परिलक्षित होती है संस्कृत का वर्तमान रूप किसी समाज के दीर्घकाल तक अपनाई गई प्रतिनिधियों का परिणाम होता है संस्कृत शब्द संस्कृति शब्द संस्कृत भाषा की धातु करो यानी करना से बना है किस धातु से 3 शब्द बनते हैं प्रकृति संस्कृति और विकृति जब प्रकृतियां कच्चा माल परिष्कृत किया जाता है तो यह संस्कृत हो जाता है और जब यह बिगड़ जाता है तू विकृत हो जाता है अंग्रेजी में संस्कृति के लिए कल्चर शब्द प्रयोग किया जाता है जो लेटिन भाषा के कर दिया कल फिर से लिया गया है जिसका अर्थ है जो इतना विकसित करना या परिष्कृत करना और पूजा करना संक्षेप में किसी वस्तु को यहां तक संस्कृत संस्कृत और परिष्कृत करना कि इसका अंतिम उत्पाद हमारी प्रशंसा और सम्मान प्राप्त कर सके यह ठीक उसी तरह है जैसे संस्कृत भाषा का शब्द संस्कृति संस्कृति का शब्दार्थ है उत्तम या सुधरी हुई स्थिति मनुष्य स्वभाव का प्रतिशत शील प्राणी है
Romanized Version
संस्कृति किसी समाज में गहराई तक और व्यापक गुणों के संभोग ग्रह समग्र रूप का नाम है जो उस समाज के सोचने विचारने कार्य करने खाने-पीने बोलने नृत्य गायन साहित्य कला वास्तववादी में परिलक्षित होती है संस्कृत का वर्तमान रूप किसी समाज के दीर्घकाल तक अपनाई गई प्रतिनिधियों का परिणाम होता है संस्कृत शब्द संस्कृति शब्द संस्कृत भाषा की धातु करो यानी करना से बना है किस धातु से 3 शब्द बनते हैं प्रकृति संस्कृति और विकृति जब प्रकृतियां कच्चा माल परिष्कृत किया जाता है तो यह संस्कृत हो जाता है और जब यह बिगड़ जाता है तू विकृत हो जाता है अंग्रेजी में संस्कृति के लिए कल्चर शब्द प्रयोग किया जाता है जो लेटिन भाषा के कर दिया कल फिर से लिया गया है जिसका अर्थ है जो इतना विकसित करना या परिष्कृत करना और पूजा करना संक्षेप में किसी वस्तु को यहां तक संस्कृत संस्कृत और परिष्कृत करना कि इसका अंतिम उत्पाद हमारी प्रशंसा और सम्मान प्राप्त कर सके यह ठीक उसी तरह है जैसे संस्कृत भाषा का शब्द संस्कृति संस्कृति का शब्दार्थ है उत्तम या सुधरी हुई स्थिति मनुष्य स्वभाव का प्रतिशत शील प्राणी हैSanskriti Kisi Samaaj Mein Gehrai Tak Aur Vyapak Gunon Ke Sambhog Grah Samagra Roop Ka Naam Hai Jo Us Samaaj Ke Sochne Vicharane Karya Karne Khane Peene Bolne Nritya Gaayan Sahitya Kala Vastavavadi Mein Parilakshit Hoti Hai Sanskrit Ka Vartaman Roop Kisi Samaaj Ke Dirghakal Tak Apanayi Gayi Pratinidhiyo Ka Parinam Hota Hai Sanskrit Shabdh Sanskriti Shabdh Sanskrit Bhasha Ki Dhatu Karo Yani Karna Se Bana Hai Kis Dhatu Se 3 Shabdh Bante Hain Prakriti Sanskriti Aur Vikriti Jab Prakritiyan Kaccha Maal Parishkrit Kiya Jata Hai To Yeh Sanskrit Ho Jata Hai Aur Jab Yeh Bigad Jata Hai Tu Vikrit Ho Jata Hai Angrezi Mein Sanskriti Ke Liye Culture Shabdh Prayog Kiya Jata Hai Jo Latin Bhasha Ke Kar Diya Kal Phir Se Liya Gaya Hai Jiska Arth Hai Jo Itna Viksit Karna Ya Parishkrit Karna Aur Puja Karna Sanchep Mein Kisi Vastu Ko Yahan Tak Sanskrit Sanskrit Aur Parishkrit Karna Ki Iska Antim Utpaad Hamari Prashansa Aur Samman Prapt Kar Sake Yeh Theek Ussi Tarah Hai Jaise Sanskrit Bhasha Ka Shabdh Sanskriti Sanskriti Ka Shabdarth Hai Uttam Ya Sudhari Hui Sthiti Manushya Swabhav Ka Pratishat Sheela Prani Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Sanskriti Kya Hai ?,What Is Culture ?,संस्कृति का अर्थ,


vokalandroid