क्या हमारे भारत मै media निष्पक्ष काम करती है? ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए जहां तक मुझे लगता है हमारे भारत की जो मीडिया है वह अपना काम सही से नहीं कर रहे हैं हमारे मीडिया का काम यह होता है कि हमारे देश के नागरिकों को सारी खबर देना और हर चीज के बारे में अवेयर रखना और हर चीज और जो न्यूज़ है टाइम टू टाइम पहुंचाना लेकिन आज ऐसा नहीं हो रहा है हमारी मीडिया चैनल सभी आप पॉलिटिक्स खेल रहे हैं ताकि उनकी टीआरपी बढ़ जाए आप समझिए अगर ऐसी कोई न्यूज़ होती है उसको ऐसे बढ़ा चढ़ा चढ़ा कर बताया जाता है और जो मेन फैक्ट होते हैं उसको नहीं दर्शाया जाता है बल्कि उस बात को घुमाया जाता है और टेक्स्ट नहीं बताए जाते एग्जांपल के तौर पर बताता हूं अगर मालो कहीं लड़ाई हुई तो न्यूज़ में सीटें यही आता है कि कि ऐसे न्यूज़ को दर्शाया जाता है कि उसे देखने वाले को ऐसा लगता है कि वहां पर रिलीज यानी आकाश के बीच में लड़ाई हुई है मान लो अगर कहीं बम ब्लास्ट होता है भारत में तो सीधे ऐसी खबरों दिखाई जाती तरीके से घुमा-फिराकर खबरें दिखाई जाती है कि लगता है कि मुसलमान नहीं बम ब्लास्ट किया है बल्कि ऐसा कर ली है सच ना हो अगर भारत में कोई ऐसा मुद्दा उठाया कोई कॉन्ट्रोवर्सी होती है तो उसका सलूशन मीडिया नहीं निकालती है बल्कि वह अपनी टीआरपी बढ़ाने के लिए सारे पॉलिटिकल पार्टी के लीडर को बिठा लेते हैं उन सब के पीछे डिबेट बढ़ा देती है और एंड में कोई इसका सलूशन नहीं निकलता बल्कि बस उनकी टीआरपी बढ़ जाती है ऐसा ही कुछ आज हो रहा है हमारा देश बर्बाद हो रहा है और हमारे मीडिया चैनल भी अपना पूरा योगदान कर रहे हैं देश को बर्बाद करने में यहां तक की हालत है कि कुछ चैनल से बिके हुए हैं उनको उनको फंडिंग कुछ पोलिटिकल पार्टीज करती है जैसे जी न्यूज हो गया मुझे लगता है कि जी न्यूज तो हमेशा BJP को सपोर्ट करता है ऐसी कुछ पल चैनल किसी एक अन्य पार्टी को सपोर्ट करते हैं और बात को घुमा देते हैं इन फ्लैट्स नहीं आता है कुछ अच्छा चैनल से भी है तो मुझे लगता है कि हमारे देश की तो मिल गया है वह जातिवाद बढ़ा रही है बल्कि कम नहीं कर रही उल्टा बढ़ा रही है थैंक यूDekhie Jahan Tak Mujhe Lagta Hai Hamare Bharat Ki Jo Media Hai Wah Apna Kaam Sahi Se Nahi Kar Rahe Hain Hamare Media Ka Kaam Yeh Hota Hai Ki Hamare Desh Ke Naagrikon Ko Saree Khabar Dena Aur Har Cheez Ke Baare Mein Aveyar Rakhna Aur Har Cheez Aur Jo News Hai Time To Time Pahunchana Lekin Aaj Aisa Nahi Ho Raha Hai Hamari Media Channel Sabhi Aap Politics Khel Rahe Hain Taki Unki Trp Badh Jaye Aap Samajhiye Agar Aisi Koi News Hoti Hai Usko Aise Badha Chadha Chadha Kar Bataya Jata Hai Aur Jo Main Fact Hote Hain Usko Nahi Darshaya Jata Hai Balki Us Baat Ko Ghumaya Jata Hai Aur Text Nahi Bataye Jaate Example Ke Taur Par Batata Hoon Agar Maalo Kahin Ladai Hui To News Mein Seaten Yahi Aata Hai Ki Ki Aise News Ko Darshaya Jata Hai Ki Use Dekhne Wale Ko Aisa Lagta Hai Ki Wahan Par Release Yani Akash Ke Beech Mein Ladai Hui Hai Maan Lo Agar Kahin Bomb Blast Hota Hai Bharat Mein To Seedhe Aisi Khabaro Dikhai Jati Tarike Se Ghuma Firakar Khabren Dikhai Jati Hai Ki Lagta Hai Ki Musalman Nahi Bomb Blast Kiya Hai Balki Aisa Kar Lee Hai Sach Na Ho Agar Bharat Mein Koi Aisa Mudda Uthaya Koi Controversy Hoti Hai To Uska Salution Media Nahi Nikalati Hai Balki Wah Apni Trp Badhane Ke Liye Sare Political Party Ke Leader Ko Bitha Lete Hain Un Sab Ke Piche Debate Badha Deti Hai Aur End Mein Koi Iska Salution Nahi Nikalta Balki Bus Unki Trp Badh Jati Hai Aisa Hi Kuch Aaj Ho Raha Hai Hamara Desh Barbad Ho Raha Hai Aur Hamare Media Channel Bhi Apna Pura Yogdan Kar Rahe Hain Desh Ko Barbad Karne Mein Yahan Tak Ki Halat Hai Ki Kuch Channel Se Bikey Hue Hain Unko Unko Funding Kuch Political Parties Karti Hai Jaise Ji News Ho Gaya Mujhe Lagta Hai Ki Ji News To Hamesha BJP Ko Support Karta Hai Aisi Kuch Pal Channel Kisi Ek Anya Party Ko Support Karte Hain Aur Baat Ko Ghuma Dete Hain In Flats Nahi Aata Hai Kuch Accha Channel Se Bhi Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Hamare Desh Ki To Mil Gaya Hai Wah Jaatiwad Badha Rahi Hai Balki Kum Nahi Kar Rahi Ulta Badha Rahi Hai Thank You
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
आज कल जब हम मीडिया की बात करते हैं तो पहले आदमी का दिमाग में टेलीविजन मिल गया आता है क्योंकि आज के टाइम में जितने लोग न्यूज़पेपर पढ़ रहे हैं उससे ज्यादा मिल गया टेलीविजन का इंसुरेंस हो गया और न्यूज़ वगैरह के लिए भी लोग टेलीविजन पर ज्यादा टाइम व्यतीत करने लगे हैं तो इस पे स्लिप टेलीविजन मीडिया में मैंने पाया है कि यह निष्पक्ष नहीं है आप क्लियर कर पैटर्न देख सकते हैं कि कुछ चैनल जैसे कि रिपब्लिक टीवी जी टीवी इंडिया टीवी बीजेपी और एनडीए के पक्ष में बातें करते हैं और कुछ 12 चैनल दिशा NDTV टाइप है वह हमेशा विपक्ष में बातें करते हैं कुछ उसके अलावा कुछ चैनल है जो शायद न्यूट्रल न्यूड देते हैं लेकिन कितने दिन तक उनका ही चलने वाला है वह भी हमें पता नहीं और अगर आप ज्यादा गहराई में जाएं तो आप देखेंगे कि इन चैनल में जो इन्वेस्टमेंट है वह कहीं न कहीं किसी न किसी ऐसे ग्रुप से जुड़ा हुआ है जो किसी पॉलिटिकल पार्टी से लिंग है ग्रुप में से वह बिजनेस ग्रुप जिनका एक पर्टिकुलर पॉलिटिकल पार्टी में ज्यादा अच्छा लिंकेज है तो वह और इस चीज को क्लियर दिखा देता है कि यह केवल हमारा भ्रम नहीं है या या मुकुल केवल कुछ बातों और कुछ न्यूज़ को लेकर नहीं बोल रहे हैं बल्कि इन कंपनी का ओरिजिन एशियन ही उन लोगों के साथ है जिन लोगों का एक पॉलिटिकल ग्रुप में ज्यादा इंटरेस्ट है वजह तक प्रिंट मीडिया की बात है प्रिंट मीडिया काफी बेहतर है प्रिंट मीडिया में शायद क्योंकि उनका जो एडिटर्स है उनके जो न्यूज़ रिपोर्टर से वह अभी भी जर्नलिज्म के काफी सारे प्रिंसिपल्स को फॉलो करते हैं और शायद वहां पर भी डर भी ज्यादा मैचुअल है प्रिंट मीडिया में तो प्रिंट मीडिया को मैं अभी भी यह नहीं मानूंगा कि टाइम्स ग्रुप किसका सपोर्टर है या इंडियन एक्सप्रेस किस का रिपोर्टर थोड़ा-बहुत वहां पर भी दिखता है लेकिन उतना तो पर्सनल इंसुरेंस किसी व्यक्ति का भी हो सकता है कि किसी भी व्यक्ति के लिए भी हंड्रेड परसेंट न्यूटन होना तो लगभग नामुमकिन हैAaj Kal Jab Hum Media Ki Baat Karte Hain To Pehle Aadmi Ka Dimag Mein Television Mil Gaya Aata Hai Kyonki Aaj Ke Time Mein Jitne Log Newspaper Padh Rahe Hain Usse Jyada Mil Gaya Television Ka Insurens Ho Gaya Aur News Vagairah Ke Liye Bhi Log Television Par Jyada Time Vyatit Karne Lage Hain To Is Pe Slip Television Media Mein Maine Paya Hai Ki Yeh Nishpaksh Nahi Hai Aap Clear Kar Pattern Dekh Sakte Hain Ki Kuch Channel Jaise Ki Republic Tv Ji Tv India Tv Bjp Aur Nda Ke Paksh Mein Batein Karte Hain Aur Kuch 12 Channel Disha NDTV Type Hai Wah Hamesha Vipaksh Mein Batein Karte Hain Kuch Uske Alava Kuch Channel Hai Jo Shayad Neutral Nude Dete Hain Lekin Kitne Din Tak Unka Hi Chalne Wala Hai Wah Bhi Hume Pata Nahi Aur Agar Aap Jyada Gehrai Mein Jayen To Aap Dekhenge Ki In Channel Mein Jo Investment Hai Wah Kahin N Kahin Kisi N Kisi Aise Group Se Juda Hua Hai Jo Kisi Political Party Se Ling Hai Group Mein Se Wah Business Group Jinka Ek Particular Political Party Mein Jyada Accha Linkej Hai To Wah Aur Is Cheez Ko Clear Dikha Deta Hai Ki Yeh Kewal Hamara Bharam Nahi Hai Ya Ya Mukul Kewal Kuch Baaton Aur Kuch News Ko Lekar Nahi Bol Rahe Hain Balki In Company Ka Origin Asian Hi Un Logon Ke Saath Hai Jin Logon Ka Ek Political Group Mein Jyada Interest Hai Wajah Tak Print Media Ki Baat Hai Print Media Kafi Behtar Hai Print Media Mein Shayad Kyonki Unka Jo Editors Hai Unke Jo News Reporter Se Wah Abhi Bhi Journalism Ke Kafi Sare Principles Ko Follow Karte Hain Aur Shayad Wahan Par Bhi Dar Bhi Jyada Maichual Hai Print Media Mein To Print Media Ko Main Abhi Bhi Yeh Nahi Manunga Ki Times Group Kiska Supporter Hai Ya Indian Express Kis Ka Reporter Thoda Bahut Wahan Par Bhi Dikhta Hai Lekin Utana To Personal Insurens Kisi Vyakti Ka Bhi Ho Sakta Hai Ki Kisi Bhi Vyakti Ke Liye Bhi Hundred Percent Newton Hona To Lagbhag Namumkin Hai
Likes  8  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
सबकी अपनी अपनी राय है इस बारे में पर मेरी जोहरा है वह यह है कि भारत की मीडिया निष्पक्ष काम नहीं करती आप जीनियस अगर लगा ले तो जी न्यूज में केवल मोदी की तारीफ की जाती है आप आज तक लगा ले तो उसमें केवल बुराइयां की जाती है न्यूज़ चैनल अपने आप में बैठे हुए हैं लेकिन टीआरपी के लिए बस मसाला की खबरें दिखाते जितने भी फोटो जो दिखाते हैं कभी-कभी तो मुझे लगता है कि शायद वह पूरी फोटोस भी नहीं दिखाते हैं उतनी होटल से खाते हैं जितनी इज्जत नहीं है मसाला हो कई बार ऐसे नेता अभिनेता सब कहते कि मीडिया ने बयान तोड़-मरोड़ कर पेश किया है हो सकता है कि यह सच हो क्योंकि हमें जो भी खबर मिलती है वह केवल मीडिया के द्वारा मिलती है और अगर वीडियो खुद ही गलत खबर दे तो हम कुछ भी नहीं कर सकते हैं क्योंकि हमारे पास एक ही सोच सकते हो 100 सेवर है मीडिया और मीडिया की गलत खबर दें तो यह गलत खबर ही पूरी दुनिया में फैलेगी और जहां तक मेरा सवाल है मुझे नहीं लगता कि दूरदर्शन के अलावा और भी कोई अभी न्यूज़ चैनल है तो निष्पक्ष रुप से खबरें देता हैSabaki Apni Apni Rai Hai Is Baare Mein Par Meri Johra Hai Wah Yeh Hai Ki Bharat Ki Media Nishpaksh Kaam Nahi Karti Aap Genius Agar Laga Le To Ji News Mein Kewal Modi Ki Tarif Ki Jati Hai Aap Aaj Tak Laga Le To Usamen Kewal Buraiyan Ki Jati Hai News Channel Apne Aap Mein Baithey Hue Hain Lekin Trp Ke Liye Bus Masala Ki Khabren Dikhate Jitne Bhi Photo Jo Dikhate Hain Kabhi Kabhi To Mujhe Lagta Hai Ki Shayad Wah Puri Photoss Bhi Nahi Dikhate Hain Utani Hotel Se Khate Hain Jitni Izzat Nahi Hai Masala Ho Kai Baar Aise Neta Abhineta Sab Kehte Ki Media Ne Bayan Tod Marod Kar Pesh Kiya Hai Ho Sakta Hai Ki Yeh Sach Ho Kyonki Hume Jo Bhi Khabar Milti Hai Wah Kewal Media Ke Dwara Milti Hai Aur Agar Video Khud Hi Galat Khabar De To Hum Kuch Bhi Nahi Kar Sakte Hain Kyonki Hamare Paas Ek Hi Soch Sakte Ho 100 Sevar Hai Media Aur Media Ki Galat Khabar Dein To Yeh Galat Khabar Hi Puri Duniya Mein Failegi Aur Jahan Tak Mera Sawal Hai Mujhe Nahi Lagta Ki Doordharshan Ke Alava Aur Bhi Koi Abhi News Channel Hai To Nishpaksh Roop Se Khabren Deta Hai
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Hamare Bharat Mai Media Nishpaksh Kaam Karti Hai





मन में है सवाल?