राष्ट्रगीत पर विवाद के क्या कारण हैं?क्यों लोग इसका विरोध करतें हैं? ...

Likes  0  Dislikes

1 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
राष्ट्रगीत विवाद का कारण मुझे लगता है कि लोगों को लगता है कि उन पर कि आदेश हो गया है उन्हें लगता है कि राष्ट्रगीत के लिए खड़े होना एक आदेश है जो उनकी स्वतंत्रता को खत्म करता है राष्ट्रीय का विरोध नहीं कर रहे हैं वह वह राष्ट्रगीत के विरुद्ध नहीं है वह अपनी स्वतंत्रता बचाने के पक्ष में खड़े हो रहे हैं उनको लगता है कि उनकी उनकी स्वतंत्रता है यह कि वह कब क्या करना चाहते हैं उनके विचारों की अभिव्यक्ति यह सब कुछ स्वतंत्र है ऐसा नहीं है कि आज की युवा पीढ़ी में या आज की लोगों में देशभक्ति नहीं है देशभक्ति आज भी उन में है लेकिन उनके मायने अलग है उनकी सोच अलग है उनके विचार अलग है वह हर चीज स्वतंत्र होकर करना चाहते हैं किसी का दबाव किसी का आदेश उन्हें समझ में नहीं आता है और यही चीज पुराने लोगों में नहीं थी पुराने लोगों को लगता था कि राष्ट्र की बज रहा है तो खड़े होकर हम अपनी देशभक्ति बता रहे हैं लेकिन आज के युवा ऐसा नहीं सोचते हैं उन्हें लगता है यह हमारी निजी भावना है कि हम किस तरह से अपने राष्ट्र का राष्ट्रगीत का सम्मान करें और उसे इज्जत दे और देश के लिए कुछ कर गुजरने अलग-अलग चीजें होती है अलग-अलग दायरे होते हैं इंसान के सोचने की समझने के इसके लिए ऐसा नहीं है कि वह गीत का अपमान करना चाहते हैं या किसी आदेश का अपमान करना चाहते हैं लेकिन उनकी भावना मुझे लगता है सिर्फ यह है कि उनको यह स्वतंत्रता मिले कि वह स्वयं क्या सोचते हैं और क्या करना चाहते हैं राष्ट्र की बजाने में या कुछ करने में उनको कोई प्रॉब्लम नहीं है लेकिन उसके लिए आप उनको मजबूर नहीं कर सकते और हर व्यक्ति की राष्ट्रभक्ति की भावना अलग होती है अलग तरह से अपने विचारों को व्यक्त करता है जरूरी नहीं है कि राष्ट्रगीत के लिए खड़े होना ही राष्ट्रपति है या नहीं खड़े होना राष्ट्रपति नहीं है तो मुझे ऐसा लगता है किRashtrageet Vivad Ka Kaaran Mujhe Lagta Hai Ki Logon Ko Lagta Hai Ki Un Par Ki Aadesh Ho Gaya Hai Unhen Lagta Hai Ki Rashtrageet Ke Liye Khade Hona Ek Aadesh Hai Jo Unki Swatantrata Ko Khatam Karta Hai Rashtriya Ka Virodh Nahi Kar Rahe Hain Wah Wah Rashtrageet Ke Viruddha Nahi Hai Wah Apni Swatantrata Bachane Ke Paksh Mein Khade Ho Rahe Hain Unko Lagta Hai Ki Unki Unki Swatantrata Hai Yeh Ki Wah Kab Kya Karna Chahte Hain Unke Vicharon Ki Abhivyakti Yeh Sab Kuch Swatantra Hai Aisa Nahi Hai Ki Aaj Ki Yuva Pidhi Mein Ya Aaj Ki Logon Mein Deshbhakti Nahi Hai Deshbhakti Aaj Bhi Un Mein Hai Lekin Unke Maayne Alag Hai Unki Soch Alag Hai Unke Vichar Alag Hai Wah Har Cheez Swatantra Hokar Karna Chahte Hain Kisi Ka Dabaav Kisi Ka Aadesh Unhen Samajh Mein Nahi Aata Hai Aur Yahi Cheez Purane Logon Mein Nahi Thi Purane Logon Ko Lagta Tha Ki Rashtra Ki Baj Raha Hai To Khade Hokar Hum Apni Deshbhakti Bata Rahe Hain Lekin Aaj Ke Yuva Aisa Nahi Sochte Hain Unhen Lagta Hai Yeh Hamari Niji Bhavna Hai Ki Hum Kis Tarah Se Apne Rashtra Ka Rashtrageet Ka Samman Karen Aur Use Izzat De Aur Desh Ke Liye Kuch Kar Gujarne Alag Alag Cheezen Hoti Hai Alag Alag Daayre Hote Hain Insaan Ke Sochne Ki Samjhne Ke Iske Liye Aisa Nahi Hai Ki Wah Geet Ka Apman Karna Chahte Hain Ya Kisi Aadesh Ka Apman Karna Chahte Hain Lekin Unki Bhavna Mujhe Lagta Hai Sirf Yeh Hai Ki Unko Yeh Swatantrata Mile Ki Wah Swayam Kya Sochte Hain Aur Kya Karna Chahte Hain Rashtra Ki Bajane Mein Ya Kuch Karne Mein Unko Koi Problem Nahi Hai Lekin Uske Liye Aap Unko Majboor Nahi Kar Sakte Aur Har Vyakti Ki Rashtrabhakti Ki Bhavna Alag Hoti Hai Alag Tarah Se Apne Vicharon Ko Vyakt Karta Hai Zaroori Nahi Hai Ki Rashtrageet Ke Liye Khade Hona Hi Rashtrapati Hai Ya Nahi Khade Hona Rashtrapati Nahi Hai To Mujhe Aisa Lagta Hai Ki
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Rashtrageet Par Vivad Ke Kya Kaaran Hain Kyun Log Iska Virodh Karten Hain





मन में है सवाल?