केन्द्र सरकार की अल्पसंख्यक योजना मुसलमानो तक क्यो नही पहुंच पाती है? इसका क्या कारण हे? ...

Likes  0  Dislikes

1 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
केंद्र सरकार अथवा राज्य सरकार द्वारा प्रारंभ की गई अनेक अल्पसंख्यक योजनाओं का लाभ मुस्लिम समुदाय तक भली-भांति प्रकार से नहीं पहुंच पाता l इसका प्रमुख कारण राज्य सरकारों तथा केंद्र सरकार के द्वारा राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी होना तथा मुस्लिम समुदाय को केवल वोट बैंक के लिए प्रयोग में लाना l मुझे ऐसा लगता है कि भविष्य में भी इस प्रकार की संभावनाएं नहीं है कि मुस्लिम समुदायों को उनका जो लाभ है अल्पसंख्यक योजनाओं का मिलने की कोई उम्मीद की जा सकती है l एक और कारण है अशिक्षा का होना तथा मुस्लिम समुदाय का बाकी अन्य समुदायों से अलग-थलग पड़ जाना जिसके कारण से शायद उनको इस प्रकार की सामुदायिक अथवा एवं स्वीकृति नहीं मिल पाती है एक प्रकार से उनको जो समुदाय समाज में जो स्वीकृति मिलनी चाहिए वह नहीं मिल पाती जिसके कारण भी उन्हें बहुत हद तक इसकी हानी उठानी पड़ती है तथा उन्हें अशिक्षा के कारण भी इस प्रकार की योजनाओं से वंचित रहने को मजबूर किया जाता है l सबसे पहले आवश्यक है उनकी शिक्षा की पद्धति में सुधार करना तथा किसी भी चीज को उन पर जबरदस्ती ना थोपना जिसके कारण से और पूरी स्वतंत्रता तथा आत्मा विवेक के अनुसार अपने कार्य खुद कर सके तथा अपनी योजनाओं का खुद चुन सके तथा उनका लाभ उठा सकें l केंद्र सरकार बहुत सी योजनाएं उन पर केवल थोप देती है, उनके लिए बनाकर बस भूल जाती है ना कि उन्हें जगह जगह पहुंचाने का कार्य करती है l इसका अर्थ यह होता है कि बहुत सी योजनाएं कचरे के डब्बे में पड़ी हुई फाइलों की तरह गुम हो जाती है तथा उनका कोई ज्ञान अथवा उनका कोई लाभ अल्पसंख्यक समुदायों को नहीं मिल पाता l तो सबसे पहले आवश्यकता है शिक्षा का प्रचार प्रसार करना तो इसकी वजह से मुस्लिम समुदाय के कल्याण नहीं थे, धन्यवाद lKendra Sarkar Athwa Rajya Sarkar Dwara Prarambh Ki Gayi Anek Alpsankhyak Yojanaon Ka Labh Muslim Samuday Tak Bhali Bhanti Prakar Se Nahi Pahunch Pata L Iska Pramukh Kaaran Rajya Sarkaro Tatha Kendra Sarkar Ke Dwara Rajnitik Ichhaashakti Ki Kami Hona Tatha Muslim Samuday Ko Kewal Vote Bank Ke Liye Prayog Mein Lana L Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Bhavishya Mein Bhi Is Prakar Ki Sambhavnaye Nahi Hai Ki Muslim Samudayo Ko Unka Jo Labh Hai Alpsankhyak Yojanaon Ka Milne Ki Koi Ummid Ki Ja Sakti Hai L Ek Aur Kaaran Hai Asiksha Ka Hona Tatha Muslim Samuday Ka Baki Anya Samudayo Se Alag Thalag Padh Jana Jiske Kaaran Se Shayad Unko Is Prakar Ki Samudayik Athwa Evam Swikriti Nahi Mil Pati Hai Ek Prakar Se Unko Jo Samuday Samaaj Mein Jo Swikriti Milani Chahiye Wah Nahi Mil Pati Jiske Kaaran Bhi Unhen Bahut Had Tak Iski Hani Uthani Padhti Hai Tatha Unhen Asiksha Ke Kaaran Bhi Is Prakar Ki Yojanaon Se Vanchit Rehne Ko Majboor Kiya Jata Hai L Sabse Pehle Aavashyak Hai Unki Shiksha Ki Paddhatee Mein Sudhaar Karna Tatha Kisi Bhi Cheez Ko Un Par Jabardasti Na Thopana Jiske Kaaran Se Aur Puri Swatantrata Tatha Aatma Vivek Ke Anusar Apne Karya Khud Kar Sake Tatha Apni Yojanaon Ka Khud Chun Sake Tatha Unka Labh Utha Saken L Kendra Sarkar Bahut Si Yojanaye Un Par Kewal Thop Deti Hai Unke Liye Banakar Bus Bhul Jati Hai Na Ki Unhen Jagah Jagah Pahunchane Ka Karya Karti Hai L Iska Arth Yeh Hota Hai Ki Bahut Si Yojanaye Kachre Ke Dabbe Mein Padi Hui Phailon Ki Tarah Gum Ho Jati Hai Tatha Unka Koi Gyaan Athwa Unka Koi Labh Alpsankhyak Samudayo Ko Nahi Mil Pata L To Sabse Pehle Avashyakta Hai Shiksha Ka Prachar Prasaar Karna To Iski Wajah Se Muslim Samuday Ke Kalyan Nahi The Dhanyavad L
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
ऐसा कौन कहता है कि अल्पसंख्यक योजना मुसलमानों तक नहीं पहुंच पाती है अगर वह मुसलमानों तक नहीं पहुंच पाती है तो क्या सवर्णों तक पहुंच रही है नहीं मुसलमानों के लिए जो योजना है वह सौ परसेंट मुसलमानों और अल्पसंख्यकों तक पहुंच रही है इसमें कोई संदेह नहीं है आजादी से लेकर के आज तक का रिकॉर्ड दे दिया जाए सभी योजनाएं जनता तक पहुंची हैं किसी भी योजना में कुछ समय के लिए थोड़ा सा टायर आवश्यकता है लेकिन उसका मतलब यह नहीं समझ लिया जाता कि वह योजना जनता तक पहुंची नहीं रही हैAisa Kaun Kahata Hai Ki Alpsankhyak Yojana Musalmano Tak Nahi Pahunch Pati Hai Agar Wah Musalmano Tak Nahi Pahunch Pati Hai To Kya Savarnon Tak Pahunch Rahi Hai Nahi Musalmano Ke Liye Jo Yojana Hai Wah Sau Percent Musalmano Aur Alpasankhyakon Tak Pahunch Rahi Hai Isme Koi Sandeh Nahi Hai Azadi Se Lekar Ke Aaj Tak Ka Record De Diya Jaye Sabhi Yojanaye Janta Tak Pahunchi Hain Kisi Bhi Yojana Mein Kuch Samay Ke Liye Thoda Sa Tyre Avashyakta Hai Lekin Uska Matlab Yeh Nahi Samajh Liya Jata Ki Wah Yojana Janta Tak Pahunchi Nahi Rahi Hai
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kendra Sarkar Ki Alpsankhyak Yojana Kya Musalmano Tak Kyon Nahi Pahunch Pati Hai Aisa Kya Kaaran He, Why Does The Minority Scheme Of The Central Government Not Reach To Muslims? What Is The Reason?





मन में है सवाल?