पति की खुशी में पत्नी खुश होती है लेकिन पत्नी की खुशी में पति खुश क्यों नहीं होता? ...

Likes  3  Dislikes

6 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
यह प्रश्न गलत है ऐसा मैंने बहुत कम सोच सुना है की पति की खुशी में सिर्फ पत्नी खुश होती है लेकिन पत्नी की खुशी में पति खुश नहीं होता यही स्थिति ही नहीं है सबसे ज्यादा खुश पति पत्नी की खुशी में ही हुआ करता है और मैं इस प्रेशर से ही इस्तीफा नहीं लगताYeh Prashn Galat Hai Aisa Maine Bahut Come Soch Suna Hai Ki Pati Ki Khushi Mein Sirf Patni Khush Hoti Hai Lekin Patni Ki Khushi Mein Pati Khush Nahin Hota Yahi Sthiti Hea Nahin Hai Sabse Jyada Khush Pati Patni Ki Khushi Mein Hea Hua Karata Hai Aur Main Is Pressure Se Hea Istifa Nahin Lagta
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
मुझे लगता है सभी लोगों की मानसिकता इस तरह की हम नहीं कह सकते कि जितने भी पति है वह अपनी पत्नी की खुशी में खुशी महसूस नहीं करते हो बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो अपनी पत्नी को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं और उनकी खुशी में भी शरीक होते हैं यानी कि उनकी खुशी में शामिल होकर उनकी खुशी को बढ़ाते हैं लेकिन कुछ व्यक्ति ऐसे जरूर होते हैं जो स्वार्थी होते हैं या फिर सेल्फिश होते हैं जो खुद की खुशी के बारे में सोचते हैं या फिर जब उनके साथ कुछ अच्छा होता है तो अपनी खुशी का इजहार करते हैं और यह चाहते हैं कि उनकी पत्नी उनके खुशी में शामिल हो जाएं लेकिन जब उनकी पत्नी के जीवन में कोई खुशहाली आती है तो हो सकता है कि कुछ लोग अपनी खुशी जाहिर ना करते हो या फिर उन्हें उनसे ज्यादा मतलब नहीं रहता हूं लेकिन सभी लोगों के लिए हम ऐसी चीज़ नहीं कह सकतेMujhe Lagta Hai Sabhi Logon Ki Maanasikata Is Turha Ki Hum Nahin Keh Sakte Qi Jitne Bhi Pati Hai Wah Apni Patni Ki Khushi Mein Khushi Mehsoos Nahin Karte Ho Bahut Saare Log Aise Hain Joe Apni Patni Co Aage Badhane K Lie Protsahit Karte Hain Aur Unki Khushi Mein Bhi Sareeka Hote Hain Yaanee Qi Unki Khushi Mein Shamil Hokra Unki Khushi Co Badhate Hain Lekin Kuch Vyakti Aise Jarur Hote Hain Joe Swaarthi Hote Hain Ya Phir Selfish Hote Hain Joe Khud Ki Khushi K Baare Mein Sochte Hain Ya Phir Jab Unke Sathe Kuch Accha Hota Hai To Apni Khushi Ka Ijahar Karte Hain Aur Yeh Chahte Hain Qi Unki Patni Unke Khushi Mein Shamil Ho Jaen Lekin Jab Unki Patni K Jeevan Mein Koi Khushhaali Auti Hai To Ho Sakta Hai Qi Kuch Log Apni Khushi Zahir Na Karte Ho Ya Phir Unhein Unse Jyada Matlab Nahin Rehta Hoon Lekin Sabhi Logon K Lie Hum Aisi Cheese Nahin Keh Sakte
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जैसा कहीं भी नहीं है कि पत्नी की खुशी में पति खुश नहीं होता बिल्कुल होता अगर सच्चा प्यार दोनों के बीच में हो अंडरस्टेंडिंग हो तो पत्नी अगर आगे बढ़ेगी इसका मतलब कि परिवार आगे बढ़ रहा है और परिवार में पति भी आता है तो क्यों खुश नहीं हो खुश पशुपति लोग नहीं होते हैं जो खुद को सुपीरियर मानते हैं खुद को और दूसरों पर मानते हैं और अगर पत्नी कुछ ऐसा करती है कि जो कुछ बड़ा हो कुछ ऐसा अच्छी चीज़ हो जिसे पति का एटीट्यूड फील होने लगता है कि औरत होकर की मरसिया के मुंह से आगे कैसे जा पा रही है तो उससे टाइपिंग पति है वह नहीं खुश होते हैंJaisa Kahin Bhi Nahin Hai Qi Patni Ki Khushi Mein Pati Khush Nahin Hota Bilkool Hota Agar Saccha Pyaar Donon K Beach Mein Ho Andarastending Ho To Patni Agar Aage Badhegi Iska Matlab Qi Parivar Aage Badh Raha Hai Aur Parivar Mein Pati Bhi Aata Hai To Kio Khush Nahin Ho Khush Pasupathi Log Nahin Hote Hain Joe Khud Co Superior Maunte Hain Khud Co Aur Dusro Per Maunte Hain Aur Agar Patni Kuch Aisa Karti Hai Qi Joe Kuch Bada Ho Kuch Aisa Achchhee Cheese Ho Jise Pati Ka Etityud Feel Hone Lagta Hai Qi Aurat Hokra Ki Marsiya K Munh Se Aage Kaise Ja PA Rahi Hai To Usase Typing Pati Hai Wah Nahin Khush Hote Hain
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


लेकिन मुझे लगता है कि यह बिल्कुल गलत धारणा है हर पत्नी की खुशी में भी पति की खुशी होती है और पति की खुशी में ही पत्नी की खुशी होती तो मुझे लगता है कि कहीं लगी कुछ हो सकता है कि मिस अंडरस्टेंडिंग हो गई हो ईश्वर से ऐसी दिक्कत आ रही है एक पति पत्नी का रिश्ता बहुत पवित्र रिश्ता होता है और हर रिश्ते की जो नहीं होती है वह ट्रस्ट पर रखी जाती तो कहीं नहीं टूटता है तो प्रॉब्लम आना स्टार्ट हो जाती रिलेशन खराब भी हो सकता है तो मुझे लगता है इतनी पवित्र रिश्ते में बिल्कुल विश्वास बनाए रखना चाहिए और ऐसा कभी भी नहीं सोचना चाहिए कि पत्नी की खुशी में अपनी खुशी नहीं होती

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

लेकिन मुझे लगता है कि यह बिल्कुल गलत धारणा है हर पत्नी की खुशी में भी पति की खुशी होती है और पति की खुशी में ही पत्नी की खुशी होती तो मुझे लगता है कि कहीं लगी कुछ हो सकता है कि मिस अंडरस्टेंडिंग हो गई हो ईश्वर से ऐसी दिक्कत आ रही है एक पति पत्नी का रिश्ता बहुत पवित्र रिश्ता होता है और हर रिश्ते की जो नहीं होती है वह ट्रस्ट पर रखी जाती तो कहीं नहीं टूटता है तो प्रॉब्लम आना स्टार्ट हो जाती रिलेशन खराब भी हो सकता है तो मुझे लगता है इतनी पवित्र रिश्ते में बिल्कुल विश्वास बनाए रखना चाहिए और ऐसा कभी भी नहीं सोचना चाहिए कि पत्नी की खुशी में अपनी खुशी नहीं होतीLekin Mujhe Lagta Hai Qi Yeh Bilkool Galat Dhaaranaa Hai Her Patni Ki Khushi Mein Bhi Pati Ki Khushi Hoti Hai Aur Pati Ki Khushi Mein Hea Patni Ki Khushi Hoti To Mujhe Lagta Hai Qi Kahin Lagi Kuch Ho Sakta Hai Qi Ms Andarastending Ho Gi Ho Ishwar Se Aisi Dikkat Aa Rahi Hai Ek Pati Patni Ka Rishta Bahut Pavitra Rishta Hota Hai Aur Her Rishte Ki Joe Nahin Hoti Hai Wah TRUST Per Rakhi Jaati To Kahin Nahin Tootata Hai To Problem Aana Start Ho Jaati Relation Kharab Bhi Ho Sakta Hai To Mujhe Lagta Hai Itni Pavitra Rishte Mein Bilkool Vishwas Banae Rakhna Chahie Aur Aisa Kabhi Bhi Nahin Sochna Chahie Qi Patni Ki Khushi Mein Apni Khushi Nahin Hoti
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

आपने बिल्कुल सही बात कही है लेकिन यह बात मैं आप हर जगह को एग्जाम एक सा नहीं साबित कर सकते यानी कि हर जगह ऐसा नहीं होता हर रिलेशन में हर शादी में ऐसा नहीं होता है लेकिन कई बार ऐसा होता है कई बार ऐसा देखा गया यही समझने की चीज है कि जो पत्नी होती है वह अपने आप को पूरी तरीके से टूट कर चुकी होती है पूरी ईमानदारी पूरी शिद्दत से अपने प्यार को निभा दिया दिल से सब कुछ काम करती है प्यार तो बहुत करते हैं लेकिन कहीं ना कहीं डोमिनेटिंग होना चाहते हैं कहीं ना कहीं अपने फायदे की सोचते हैं कई बार इस तरीके की चीज कर दे तो सामने वाले की खुशी में हमेशा खुश होना चाहिए और अगर तकलीफ हो रही है तो आपको भी होनी चाहिए और उसे क्यों नहीं चाहिए हमारी वजह से कोई तकलीफ ना हो बल्कि हमारे प्रयासों से वह तकलीफ भी कम हो जाए और साथ में खुश रहे मिलकर इस तरीके से ही यह रिश्ता 1 दिन जीवन है वह अच्छा और खुशहाल पीता है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

आपने बिल्कुल सही बात कही है लेकिन यह बात मैं आप हर जगह को एग्जाम एक सा नहीं साबित कर सकते यानी कि हर जगह ऐसा नहीं होता हर रिलेशन में हर शादी में ऐसा नहीं होता है लेकिन कई बार ऐसा होता है कई बार ऐसा देखा गया यही समझने की चीज है कि जो पत्नी होती है वह अपने आप को पूरी तरीके से टूट कर चुकी होती है पूरी ईमानदारी पूरी शिद्दत से अपने प्यार को निभा दिया दिल से सब कुछ काम करती है प्यार तो बहुत करते हैं लेकिन कहीं ना कहीं डोमिनेटिंग होना चाहते हैं कहीं ना कहीं अपने फायदे की सोचते हैं कई बार इस तरीके की चीज कर दे तो सामने वाले की खुशी में हमेशा खुश होना चाहिए और अगर तकलीफ हो रही है तो आपको भी होनी चाहिए और उसे क्यों नहीं चाहिए हमारी वजह से कोई तकलीफ ना हो बल्कि हमारे प्रयासों से वह तकलीफ भी कम हो जाए और साथ में खुश रहे मिलकर इस तरीके से ही यह रिश्ता 1 दिन जीवन है वह अच्छा और खुशहाल पीता हैAapne Bilkool Sahi Baat Kahii Hai Lekin Yeh Baat Main Aap Her Jagah Co Egjam Ek Sa Nahin Sabith Car Sakte Yaanee Qi Her Jagah Aisa Nahin Hota Her Relation Mein Her Shadi Mein Aisa Nahin Hota Hai Lekin Kai Bar Aisa Hota Hai Kai Bar Aisa Dekha Gaya Yahi Samajhne Ki Chij Hai Qi Joe Patni Hoti Hai Wah Apne Aap Co Poori Tarike Se Toot Car Chukii Hoti Hai Poori Imaandaari Poori Shiddat Se Apne Pyaar Co Nibha Diya Dil Se Sub Kuch Kama Karti Hai Pyaar To Bahut Karte Hain Lekin Kahin Na Kahin Dominating Hona Chahte Hain Kahin Na Kahin Apne Fayde Ki Sochte Hain Kai Bar Is Tarike Ki Chij Car They To Samne Wale Ki Khushi Mein Hamesha Khush Hona Chahie Aur Agar Taklif Ho Rahi Hai To Aapko Bhi Honi Chahie Aur Usse Kio Nahin Chahie Hamari Vajaha Se Koi Taklif Na Ho Walkie Hamare Prayason Se Wah Taklif Bhi Come Ho Jae Aur Sathe Mein Khush Rahe Milkar Is Tarike Se Hea Yeh Rishta 1 Din Jeevan Hai Wah Accha Aur Khushhal Pita Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

मुझे नहीं लगता कि यह बात पूरी तरह से सही है या सच है कि पति अपनी पत्नियों में की तरक्की से खुश नहीं होता है हां यह बात सही है कि पत्नियां जब खुश होती है तो वह की खुशी को जाहिर कर देती है और उनकी हाव भाव से उनकी बातों से उनके कार्यों से पूरे परिवार को पता चल जाता है कि वह खुश है वही ज्यादातर आदमी लोग अपनी भावनाओं को जा ही नहीं करते हैं और लोगों के सामने परिवार के सामने तो बहुत ही अपनी पत्नी से वह जरूर कह देंगे कि वह उसकी खुशी में बहुत खुश हैं बहुत अच्छा लग रहा है उन्हें लेकिन सबके सामने सार्वजनिक तौर पर उनकी भावनाओं में कम जाहिर होता है कि शायद यही है कि पति-पत्नियों की खुशी में खुश नहीं होते हैं जबकि पत्नी का यही एक स्वरुप हमारे दिमाग में आता है कि वह जब से शादी करके आती है पूरे परिवार की दूरी बन जाती है पूरे परिवार का ध्यान रखती है परिवार की खुशी में खुश होती है परिवार के दुख में दुखी होती है और सबसे बड़ा उसके जीवन में स्थान पति का होता है पति की हर बात में उस को खुशी मिलती है यह सारी बातें जाहिर हो जाती है क्योंकि पत्तियां जाहिर कर देती है लेकिन पति अक्सर नहीं बता पाते हैं या अपनी फीलिंग्स को इस तरह से सबके सामने नहीं ला पाते हैं इसीलिए ऐसा लगता है और बाकी तो लोगों की मानसिकता पर डिपेंड करता है कुछ लोग ऐसे होते हैं वाकई में जो अपनी पत्नियों की खुशी में खुश नहीं होते हैं उन्हें लगता है कि यह कैसे आगे बढ़ सके यही कैसी है खुश रह सकती है इस को यह अधिकार नहीं है तो ऐसे मेंटलिटी वाले लोग आज बहुत कम है आज पत्नी से कंधा मिलाकर चलने वाले लोग ज्यादा हैं और किसी की पत्नी की खुशी में खुश हूं

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

मुझे नहीं लगता कि यह बात पूरी तरह से सही है या सच है कि पति अपनी पत्नियों में की तरक्की से खुश नहीं होता है हां यह बात सही है कि पत्नियां जब खुश होती है तो वह की खुशी को जाहिर कर देती है और उनकी हाव भाव से उनकी बातों से उनके कार्यों से पूरे परिवार को पता चल जाता है कि वह खुश है वही ज्यादातर आदमी लोग अपनी भावनाओं को जा ही नहीं करते हैं और लोगों के सामने परिवार के सामने तो बहुत ही अपनी पत्नी से वह जरूर कह देंगे कि वह उसकी खुशी में बहुत खुश हैं बहुत अच्छा लग रहा है उन्हें लेकिन सबके सामने सार्वजनिक तौर पर उनकी भावनाओं में कम जाहिर होता है कि शायद यही है कि पति-पत्नियों की खुशी में खुश नहीं होते हैं जबकि पत्नी का यही एक स्वरुप हमारे दिमाग में आता है कि वह जब से शादी करके आती है पूरे परिवार की दूरी बन जाती है पूरे परिवार का ध्यान रखती है परिवार की खुशी में खुश होती है परिवार के दुख में दुखी होती है और सबसे बड़ा उसके जीवन में स्थान पति का होता है पति की हर बात में उस को खुशी मिलती है यह सारी बातें जाहिर हो जाती है क्योंकि पत्तियां जाहिर कर देती है लेकिन पति अक्सर नहीं बता पाते हैं या अपनी फीलिंग्स को इस तरह से सबके सामने नहीं ला पाते हैं इसीलिए ऐसा लगता है और बाकी तो लोगों की मानसिकता पर डिपेंड करता है कुछ लोग ऐसे होते हैं वाकई में जो अपनी पत्नियों की खुशी में खुश नहीं होते हैं उन्हें लगता है कि यह कैसे आगे बढ़ सके यही कैसी है खुश रह सकती है इस को यह अधिकार नहीं है तो ऐसे मेंटलिटी वाले लोग आज बहुत कम है आज पत्नी से कंधा मिलाकर चलने वाले लोग ज्यादा हैं और किसी की पत्नी की खुशी में खुश हूंMujhe Nahin Lagta Qi Yeh Baat Poori Turha Se Sahi Hai Ya Such Hai Qi Pati Apni Patniyon Mein Ki Tarkkee Se Khush Nahin Hota Hai Han Yeh Baat Sahi Hai Qi Patniyan Jab Khush Hoti Hai To Wah Ki Khushi Co Zahir Car Deti Hai Aur Unki Have Bhaw Se Unki Baaton Se Unke Kaaryon Se Poore Parivar Co Patta Chal Jaata Hai Qi Wah Khush Hai Whey Jyadatar Aadmi Log Apni Bhavnao Co Ja Hea Nahin Karte Hain Aur Logon K Samne Parivar K Samne To Bahut Hea Apni Patni Se Wah Jarur Keh Denge Qi Wah Uski Khushi Mein Bahut Khush Hain Bahut Accha Lag Raha Hai Unhein Lekin Sabake Samne Sarvajanika Taur Per Unki Bhavnao Mein Come Zahir Hota Hai Qi Shayad Yahi Hai Qi Pati Patniyon Ki Khushi Mein Khush Nahin Hote Hain Jbki Patni Ka Yahi Ek Swaroop Hamare Dimag Mein Aata Hai Qi Wah Jab Se Shadi Karake Auti Hai Poore Parivar Ki Duri Bun Jaati Hai Poore Parivar Ka Dhyan Rakhti Hai Parivar Ki Khushi Mein Khush Hoti Hai Parivar K Dukh Mein Dukhi Hoti Hai Aur Sabse Bada Uske Jeevan Mein Sthan Pati Ka Hota Hai Pati Ki Her Baat Mein Oosh Co Khushi Milti Hai Yeh Sari Batein Zahir Ho Jaati Hai Kyonki Pattiyan Zahir Car Deti Hai Lekin Pati Aksar Nahin Bata Paate Hain Ya Apni Feelings Co Is Turha Se Sabake Samne Nahin La Paate Hain Isiliye Aisa Lagta Hai Aur Baaki To Logon Ki Maanasikata Per Depend Karata Hai Kuch Log Aise Hote Hain Vakai Mein Joe Apni Patniyon Ki Khushi Mein Khush Nahin Hote Hain Unhein Lagta Hai Qi Yeh Kaise Aage Badh Skye Yahi Kaisi Hai Khush Rah Sakti Hai Is Co Yeh Adhikar Nahin Hai To Aise Mentaliti Wale Log Aj Bahut Come Hai Aj Patni Se Kandha Milakar Chalane Wale Log Jyada Hain Aur Kisi Ki Patni Ki Khushi Mein Khush Hoon
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Pati Ki Khushi Mein Patni Khush Hoti Hai Lekin Patni Ki Khushi Mein Pati Khush Kyon Nahi Hota, Wife Is Happy With Her Husband's Happiness, But Why Does Not Husband Be Happy In The Happiness Of The Wife?





मन में है सवाल?