Vokal
search_icon

आप किसानों को कितना महत्व देते हैं ? ...

Likes  1  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
दीपिका आप किसानों को कितना महत्व देते हैं अगर हमारा देश जो है अगर कोई दूर सबसे बड़ी चीज पर फोकस करता है तो एक जवान जो कि हमारे सिक्योरिटी कर रहे हैं बॉर्डर पर खड़े हैं हमारे लिए मर रहे हैं और दूसरा किसान नगर किसान नहीं रहता आप एक बार इमेजिंग कर सकते हैं कि क्या हो सकता है माली जी किसान नहीं रहता है तो हमारे देश के अंदर कितने अलार्म बज रहे हैं WhatsApp फाइल है वह कौन हो जाएगा अगर कोई Star कि यह भी कहता है कि चलिए ठीक है किसान नहीं है तो हम इंपोर्ट कर लेंगे अभी डॉलर की वैल्यू कितनी पड़ चुकी है ₹71 लगभग रुपए है अगर हम हर चीज रिपोर्ट करने लगे हमारी पॉपुलेशन कितनी पड़ी है हमें कितना जो है वह फूट में टर्न की जरूरत पड़ती है मगर हर चीज में पड़कर इंपोर्ट करने लगे तो सरकार जो है वह ₹1 भी किसी दूसरे प्रोग्राम के लिए आर्मी के ऊपर हम इतना खर्च करते हैं जो कि स्कूल के ऊपर एजुकेशन के ऊपर डेवलपमेंट के ऊपर इतना खर्च करते हुए ₹1 भी खर्च नहीं कर पाएगी जितना भी हमारा पैसा है कंट्री के इनकम टैक्स से कम आती है सारा और सारा इंपोर्ट करने में खर्च हो जाएगा फोन के ऊपर तो आज उसके साथ हैं वो हमारे देश के लिए बहुत बड़ा सपोर्ट है और बिल्कुल किसानों के हमारी मदद करनी चाहिए किसानों को मरदे सिंपटम्स देनी चाहिए इंफॉर्मेशन नहीं दी जाएगी और क्योंकि एक आंकड़ा है कि हर साल जो है वह 3:00 से 4:00 पर्सेंट जो किसान है वह किसानी छोड़ रहे हैं और किसी और के साथ में जा रहा है गोरिया खड़े से कंटिन्यू करता रहा ऐसे ही बढ़ता रहा तो 1 दिन ऐसा आएगा जबकि सच में हमारे देश के अंदर एग्रीकल्चर जो है वह बंद हो जाएगा और तब पता चलेगा हमारे देश को किसानों की इंपॉर्टेंस
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

अपना सवाल पूछिए

0/180

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
कि किसानों को हम कितना महत्व देते हैं वह जरूरी नहीं है जरूरी यह ज्यादा है कि किसान जिसकी वजह से शायद हम घर पर बैठकर आज रोजी रोटी खा पा रहे हैं सब्जियां खा पा रहे हैं तमाम दिखा पा रहे हैं उनकी मेहनत का फल है जो मेहनत कर रहे हैं उन्हें उसका पर्याप्त बदले में मिलना चाहिए दूध 223344 रुपए किलो की बेच रहे हैं मजबूर है लेकिन बाजार में वहीं दूसरी चीज अधिकतर जो इस देश में है वह कई बार पढ़े लिखे नहीं होते हैं तो वह बहुत मासूम होते हैं चीजों को नहीं समझते हैं आसानी से बेवकूफ बन जा तू जरूरी है ईमानदारी से काम करने की और लोगों को बेवकूफ बनाने की अपनी बहुत बड़ी बड़ी पॉलिसियों में बड़े-बड़े हकीकत नहीं है लेकिन लॉलीपॉप
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Aap Kisano Ko Kitna Mahatva Dete Hain ?, How Much Importance Do You Give To Farmers?





मन में है सवाल?