बाबर की कहानी क्या थी ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नंद के बाबर जो था वह मुगल सल्तनत का पहला सुल्तान था इन्होंने ही मुग़ल सल्तनत की स्थापना भारत में की थी देखा जाए तो एक बहुत ही पराक्रमी शासक हुआ करता था बाबर का पूरा नाम की बात किया तो जहीर उद्दीन मोहम्मद बाबर था बाबर नहीं इसकी जॉन हुई थी जो 1483 में हुई थी और इनका जोर आजकल था वह 1526 से 15 से 30 तक का था
नंद के बाबर जो था वह मुगल सल्तनत का पहला सुल्तान था इन्होंने ही मुग़ल सल्तनत की स्थापना भारत में की थी देखा जाए तो एक बहुत ही पराक्रमी शासक हुआ करता था बाबर का पूरा नाम की बात किया तो जहीर उद्दीन मोहम्मद बाबर था बाबर नहीं इसकी जॉन हुई थी जो 1483 में हुई थी और इनका जोर आजकल था वह 1526 से 15 से 30 तक का था
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाबर का पूरा नाम अजहरुद्दीन मोहम्मद बाबर का बाबा का जन्म 23 फरवरी 1483 में उज्बेकिस्तान में हुआ था अथवा उनकी मृत्यु 26 दिसंबर 1530 आगरा में हुई थी बाबर जो थे वह भारत के मुगल वंश का संस्थापक और पहले सम्राट के
बाबर का पूरा नाम अजहरुद्दीन मोहम्मद बाबर का बाबा का जन्म 23 फरवरी 1483 में उज्बेकिस्तान में हुआ था अथवा उनकी मृत्यु 26 दिसंबर 1530 आगरा में हुई थी बाबर जो थे वह भारत के मुगल वंश का संस्थापक और पहले सम्राट के
Likes  16  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो बाबर थे उनका पूरा नाम था जहीर उद्दीन मोहम्मद बाबर जिनका जन्म 14 फरवरी 1483 में उज्बेकिस्तान में हुआ था और उनकी जो भाई का नाम था चंगेज खान था और बाबर के बारे में यह है कि वह पहले मुगल शासक था जो कि भारत में मुगल वंश की स्थापना की थी जिन्होंने और अनेक बाबरनामा भी लिखा था यह बाबर की आत्मकथा है यह मूल रूप से लगाता ही भाषा में लिखी गई थी और बाद में 1589 में इसे अब्दुल रहीम ने एक मुगल दरबार में फारसी भाषा में अनुवाद किया गया था फिर उसके बाद इन्होंने पानीपत का पहला युद्ध जो था पानीपत की पहला युद्ध इनके 21 अप्रैल 15 से 26 को शुरू हुई जिसमें बाबर ने इब्राहिम लोदी के खिलाफ लड़ाई की और युद्ध में ड्राइवर लोधी मारा गया और बाबर ने विजय हासिल की अंतिम तिथि 26 दिसंबर 1529 में मुगल साम्राज्य आगरा में हुई थी और इनकी जो कब्र है वह अफगानिस्तान का अर्जुन का धर्म था इस्लाम तो राजवंशी मूर्ति मूर्ति था
लिखे जो बाबर थे उनका पूरा नाम था जहीर उद्दीन मोहम्मद बाबर जिनका जन्म 14 फरवरी 1483 में उज्बेकिस्तान में हुआ था और उनकी जो भाई का नाम था चंगेज खान था और बाबर के बारे में यह है कि वह पहले मुगल शासक था जो कि भारत में मुगल वंश की स्थापना की थी जिन्होंने और अनेक बाबरनामा भी लिखा था यह बाबर की आत्मकथा है यह मूल रूप से लगाता ही भाषा में लिखी गई थी और बाद में 1589 में इसे अब्दुल रहीम ने एक मुगल दरबार में फारसी भाषा में अनुवाद किया गया था फिर उसके बाद इन्होंने पानीपत का पहला युद्ध जो था पानीपत की पहला युद्ध इनके 21 अप्रैल 15 से 26 को शुरू हुई जिसमें बाबर ने इब्राहिम लोदी के खिलाफ लड़ाई की और युद्ध में ड्राइवर लोधी मारा गया और बाबर ने विजय हासिल की अंतिम तिथि 26 दिसंबर 1529 में मुगल साम्राज्य आगरा में हुई थी और इनकी जो कब्र है वह अफगानिस्तान का अर्जुन का धर्म था इस्लाम तो राजवंशी मूर्ति मूर्ति था
Likes  18  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Babar Ki Kahani Kya Thi ?,What Was The Story Of Babur?,


vokalandroid