search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

तक्षशिला की स्थापना कब और किसने की ? ...

4 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये तक्षशिला शहर का स्थापना अयोध्या के प्रभु रामचंद्र के भाई भरत ने अपने पुत्र तक्ष के लिए किया था इस बारे में कोई भी स्पष्ट संदर्भ नहीं है कि महान विश्वविद्यालय के संस्थापक कौन थे यह एक विश्वविद्य...
जवाब पढ़िये
देखिये तक्षशिला शहर का स्थापना अयोध्या के प्रभु रामचंद्र के भाई भरत ने अपने पुत्र तक्ष के लिए किया था इस बारे में कोई भी स्पष्ट संदर्भ नहीं है कि महान विश्वविद्यालय के संस्थापक कौन थे यह एक विश्वविद्यालय एक योजनाबद्ध विकास के परिणाम के रूप में नहीं आया है यहाँ पर कुछ इमारतों का एक समूह हुआ करता था जहां पर कुछ शिक्षण देने का काम जो है चला फिर धीरे-धीरे इसकी संरचना सच्चिम जमा हुआ| हालांकि हम जानते कि विश्वविद्यालय जो 8 वी इसवी पूर्व में आविदी हुई और 500 इसवी तक एक बल बना रहा Takshashila Sheher Ka Sthapana Ayodhya Ke Prabhu Ramachandra Ke Bhai Bharat Ne Apne Putra Ke Liye Kiya Tha Is Baare Mein Koi Bhi Pasand Nahi Hai Ki Mahaan Vishwavidyalaya Ke Sansthapak Kaun The Yeh Ek Vishwavidyalaya Ek Yojnabadh Vikash Ke Parinam Ke Roop Mein Nahi Aaya Hai Ya Kuch Imaraten Ka Ek Samuh Hua Karta Tha Yadav Ko Shiksha Dene Ka Kaam Chala Se Dhire Dhire Jama Hua Hum Jante Ki Vishwavidyalaya Mein Di Hui Aur ₹500 Tak Table Bana Raha Hoon
Likes  0  Dislikes    views  2450
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

अधिक जवाब


4 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला की स्थापना ऐसा बोला जाता है कि तक्षशिला की जो स्थापना है वह भगवान राम के भाई भारत के बेटे तक्ष ने किया था और तक्षशिला है वह बेसिकली प्राचीन भारत के गंधार देश की राजधानी हुआ करती थी और शिक्षा ...
जवाब पढ़िये
तक्षशिला की स्थापना ऐसा बोला जाता है कि तक्षशिला की जो स्थापना है वह भगवान राम के भाई भारत के बेटे तक्ष ने किया था और तक्षशिला है वह बेसिकली प्राचीन भारत के गंधार देश की राजधानी हुआ करती थी और शिक्षा का एक मुख्य केंद्र था यहां का जो विश्वविद्यालय है वह विश्व के सबसे प्राचीनतम विश्वविद्यालय में से एक है जो हिंदू बुद्ध दोनों के लिए महत्व का केंद्र था अचानक यहां पर आश्चर्य की बात थी कि यहाँ सबसे पहले 405 दिनों में यहां पर फोन आए थे ऐतिहासिक रूप से यह जो है 16 महान वर्गों का संगम यहां पर स्थित है तथा इसे क्यों इतरा पद की वर्तमान आयु की ग्रैंड ट्रंक रोड जो की गांधार के को मदद से जोड़ता था और उत्तर उत्तर प्रश्न मांग क्योंकि अकाशी की पुष्प लता यदि होकर जाता था सिंधु नदी मारवाड़ी फर्स्ट शादी नगर महानगरों में से एक है जो घाटी से हो जाती हुए उत्तर से ऋषि मार्ग और दक्षिण के हिंद महासागर तक जाता था तो यह वर्तमान में बरसात समय कि ऐसा क्षेत्र है कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रावल प्रीत जिले में से इसी में जो है देखी प्रशिक्षण हैTakshashila Ki Sthapana Aisa Bola Jata Hai Ki Takshashila Ki Jo Sthapana Hai Wah Ram Bhagwan Ram Ki Bhai Bharat Bharat Ke Bete Hue Adhyaksh Ne Kiya Tha Aur Takshashila Hai Wah Paise Clea Prachin Bharat Ke Gaddar Desh Ki Rajdhani Hua Karti Thi Aur Hum Shiksha Ka Ek Pramukh Kendra Tha Yahan Ki Jo Vishwavidyalaya Mein Sabse Vishwa Ki Sabse Pracheentam Vishwavidyalaya Mein Se Ek Hai Jo Hindu Buddha Dono Ke Liye Mahatva Ka Kendra Tha Achanak Yahan Par Aashcharya Tha Par Aashcharya Ki Baat Hai Ki Yeh Sabse Pehle Purnank 5 Dinon Mein Yahan Par Phone Aane Ka Aaye The Aetihasik Roop Se Yeh Jo Hai 16 Mahaan Vargon Ka Sangam Yahan Par Sthit Hai Tatha Ise Kyun Itara Pad Ki Vartaman Aayu Ki Great Trunk Road Jo Ki Gandhar Ke Ko Madad Se Jodtha Tha Aur Uttar Uttar Prashna Maang Kyonki Akashi Ki Pushp Lata Yadi Hokar Jata Tha Sindhu Nadi Maravari First Shadi Nagar Mahanagaron Mein Se Ek Hai Jo Ghati Se Ho Jati Hue Uttar Se Rishi Marg Aur Dakshin Ke Hind Mahasagar Tak Jata Tha To Yeh Vartaman Mein Barsat Samay Ki Aisa Kshetra Hai Ki Pakistan Ke Punjab Prant Ka Raval Preet Jile Mein Se Isi Mein Jo Hai Dekhi Prashikshan Hai
Likes  0  Dislikes    views  1765
WhatsApp_icon
4 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये जो तक्षशिला है यह माना जाता है कि प्राचीन काल में ऐसा लिखा हुआ है कि भगवान राम जो थे उनके भाई भरत के बेटे तक्ष के नाम पर हुआ है| उन्होंने किया है या उनके नाम पर हुआ है ऐसा माना जाता है| और तक्ष...
जवाब पढ़िये
देखिये जो तक्षशिला है यह माना जाता है कि प्राचीन काल में ऐसा लिखा हुआ है कि भगवान राम जो थे उनके भाई भरत के बेटे तक्ष के नाम पर हुआ है| उन्होंने किया है या उनके नाम पर हुआ है ऐसा माना जाता है| और तक्षशिला जो है वह पुरानी देश में गांधार की राजधानी भी हुआ करता था| तक्षशिला के बारे में यह भी माना जाता है कि यह विश्व का सबसे पुराना यूनिवर्सिटी जिसे हम आज के रूप में कहते हैं विश्वविद्यालय सबसे पुराना विश्वविद्यालय तक्षशिला है और यहां पर बौद्ध धर्म के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण जगह है और हिंदू धर्म के लिए भी यह बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण जगह है| इसके जो सबसे पहले सबसे पुराने टीचर हुआ करते थे जो यहां पर गुरु हुआ करते थे वह स्वयं आचार्य चाणक्य हुआ करते थे जिन्हें कौटिल्य भी कहा जाता है और यह जो युद्ध नीति और राजनीति का सबसे बड़ा ज्ञाता कहा जाता है भारत के अंदर तो यहां पर आचार्य भी वो रह चुके हैं|BP Jeet Takshashila Hai Yeh Mana Jata Hai Ki Prachin Kaal Mein Aisa Likha Hua Hai Ki Bhagwan Ram Jo The Unke Bhai Bharat Ke Bete Daksh Ke Naam Par Hua Hai Unhone Kiya Hai Unke Naam Par Hua Hai Aisa Mana Jata Hai Aur Takshashila Jo Hai Wah Purani Hai Desh Mein Gandhar Ki Rajdhani Bhi Hua Karta Tha Takshashila Ke Baare Mein Yeh Bhi Mana Jata Hai Ki Yeh Vishwa Ka Sabse Purana University Jise Hum Aaj Ke Roop Mein Kehte Hain Vishwavidyalaya Sabse Purana Vishwavidyalaya Takshashila Hai Aur Yahan Par Baudh Dharm Ke Liye Bhi Bahut Mahatvapurna Jagah Hai Aur Hindu Dharm Ke Liye Bhi Yeh Bahut Jyada Mahatvapurna Jagah Hai Jo Sabse Pehle Sabse Purane Teacher Hua Karte The Jahan Par Guru Hua Karte The Wah Swayam Acharya Chanakya Hua Karte The Jinhen Kautilya Ne Kaha Jata Hai Aur Yeh Jo Yudh Niti Aur Rajneeti Ka Sabse Bada Gyata Kaha Jata Hai Bharat Ke Andar To Yahan Par Acharya Vivo Rah Chuke Hain
Likes  0  Dislikes    views  1320
WhatsApp_icon
4 जवाब देखें >

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तक्षशिला की स्थापना ऐसे बोला जाता है कि तक्षशिला की जो स्थापना है वह राम भगवान राम के भाई भरत के बेटे जो है तक्ष ने किया था और यह जो तक्षशिला है वह बेसिकली प्राचीन भारत में गंधार देश की राजधानी हुआ कर...
जवाब पढ़िये
तक्षशिला की स्थापना ऐसे बोला जाता है कि तक्षशिला की जो स्थापना है वह राम भगवान राम के भाई भरत के बेटे जो है तक्ष ने किया था और यह जो तक्षशिला है वह बेसिकली प्राचीन भारत में गंधार देश की राजधानी हुआ करती थी और शिक्षा का एक प्रमुख केंद्र था यह | यहां की जो विश्वविद्यालय है सबसे विश्व की सबसे प्राचीनतम विश्वविद्यालय में से एक है| यहाँ पर हिंदू बौद्ध दोनों के लिए महत्व का केंद्र था| चाणक्य यहां पर आचार्य थे पहले सबसे पहले| 405 इसवी में यहां पर फरान आए थे ऐतिहासिक रूप से इसे 3 महान मार्गो का संगम यहां पर स्थित था जैसे कि उतरा पद जो की वर्तमान जो है ग्रांड ट्रंक रोड जो कि गंधार को मगध से जोड़ता था और उत्तर पश्चिमी मार्ग जो कि कपीस और पुष्कलावती यादी से होकर जाता था| सिंधु नदी मार्ग 21 सदी नगर मानसेहरा हरिपुर घाटी से होते हुए उत्तर में रेशम मार्ग और दक्षिण में हिंद महासागर तक जाता था तो यह जो है वर्तमान में प्रशासन तक्षशिला जो है वह पाकिस्तान में है पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में रावलपिंडी जिले में है में स्थित है जो कि एक पुरातात्विक स्थल है जो कि इस्लाम वालों रावलपिंडी से लगभग 32 किलोमीटर उत्तर पूर्व में स्थित है अभी भी|Aisa Takshashila Ki Sthapana Se Bola Jata Hai Ki Takshashila Ki Jo Sthapana Hai Wah Ram Bhagwan Ram Ke Bhai Bharat Ke Bete Hue Adhyaksh Ne Kiya Tha Aur Takshashila Hai Wah Paise Clea Prachin Bharat Mein Gandhar Desh Ki Rajdhani Hua Karti Thi Aur Hum Shiksha Ka Ek Pramukh Kendra Tha Yeh Yahan Ki Jo Vishwavidyalaya Hai Sabse Vishwa Ki Sabse Pracheentam Vishwavidyalaya Mein Se Ek Hindu Baudh Dono Ke Liye Mahatva Ka Kendra Tha Achanak Yahan Par Acharya The Pehle Sabse Pehle 405 Din Mein Yahan Par Phone Aaye The Aetihasik Roop Se 16 Mahaan Margo Ka Sangam Yahan Par Sthit Hai Tatha Ise Kyun Utara Pad Ki Vartaman Aayu Hai Grand Trunk Road Jo Ki Gandhar Ko Madad Se Jodtha Tha Aur Uttar Prashna Maang Jo Ki Kapis Aur Pushkalavati Yadi Se Hokar Jata Tha Sindhu Nadi Marg 21 Sadi Nagar Mansehra Haripur Ghati Se Ho Aate Hue Uttar Mein Resham Marg Aur Dakshin Mein Hind Mahasagar Tak Jata Tha To Yeh Jo Hai Vartaman Mein Barsat Samay Mein Takshashila Jo Hai Wah Pakistan Mein Hai Pakistan Ke Punjab Prant Mein Rawalpindi Jile Mein Hai Main Isi Se Dukhi Ek Puratatvik Sthal Hai Jo Ki Islam Walon Rawalpindi Se Lagbhag 32 Kilometre Uttar Purv Mein Sthit Hai Abhi Bhi
Likes  0  Dislikes    views  1330
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Takshashila Ki Sthapana Kab Aur Kisne Ki ?,When And What Was The Establishment Of Taxila?,तक्षशिला विश्वविद्यालय का संस्थापक कौन था, तक्षशिला विश्वविद्यालय के संस्थापक कौन है, तक्षशिला विश्वविद्यालय Kisne Banaya,


vokalandroid