चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी नेगेटिविटी जो होती है वह इतनी बुरी नहीं होती है इसे बात करूं तो एक इलेक्ट्रिक परमिट्टीविटी आती है लेकिन कहीं व्यस्त रखने वाला व्यक्ति होता है उसको बताया जाए ताकि वह ड्यूटी पर कोई टीवी में शिफ्ट हो जाए बात करने की जरूरत है बार-बार उसके बारे में फिट हो जाता है
Romanized Version
विकी नेगेटिविटी जो होती है वह इतनी बुरी नहीं होती है इसे बात करूं तो एक इलेक्ट्रिक परमिट्टीविटी आती है लेकिन कहीं व्यस्त रखने वाला व्यक्ति होता है उसको बताया जाए ताकि वह ड्यूटी पर कोई टीवी में शिफ्ट हो जाए बात करने की जरूरत है बार-बार उसके बारे में फिट हो जाता हैVikee Negativity Jo Hoti Hai Wah Itni Buri Nahi Hoti Hai Ise Baat Karu Toh Ek Electric Paramittiviti Aati Hai Lekin Kahin Vyast Rakhne Vala Vyakti Hota Hai Usko Bataya Jaye Taki Wah Duty Par Koi TV Mein Shift Ho Jaye Baat Karne Ki Zaroorat Hai Baar Baar Uske Bare Mein Fit Ho Jata Hai
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

हमेशा नकारात्मक सोच ही दीमाग में रहता हैं । इस नकारात्मक सोच से बाहर कैसे निकलुँ ? ...

क्या आप नकारात्मक सोच से बाहर निकलना चाहते हैं तो आपको यह खुद करना होगा आपको हमेशा पॉजिटिव सोचना होगा पॉजिटिव थिंकिंग वाले लोगों के साथ रहना होगा आप नेगेटिव थिंकिंग वाले लोगों के साथ बिल्कुल नहीं रही जवाब पढ़िये
ques_icon

एक नकारात्मक सोचने वाले व्यक्ति की सोच को सकारात्मक कैसे कर सकते हैं? ...

हिंदू लड़की का भी दौरा नहीं कर सकता है सोचता है उसे को सेटिंग करने के लिए आपको उसे ढूंढने लगा उसे इन चीजों के बारे में समझाइए किस दिन का था नेगेटिविटी अपने देखेंगे भूतनी राधिका को भी होगी जुदाई की आपजवाब पढ़िये
ques_icon

मैं अपने दिमाग को नकारात्मक सोच और डर से कैसे बचाऊँ और अपने कम्युनिकेशन स्किल को कैसे सुधारूँ? ...

लिखे जो नेगेटिव बीटी होती है और जो नेगेटिव थॉट होती है वह इंसान की सबसे बड़ी दुश्मन होती है हम लोग नेगेटिव सोचते रहते हैं बिना कुछ जाने दूसरे के बाद सुनके या फिर कुछ देख कर हम लोग अपने अंदर नेगेटिव थॉजवाब पढ़िये
ques_icon

मेरे मन में बहुत ही निगेटिव विचार आते हैं इन निगेटिव विचारों को रोकने के लिए मैं क्या कर सकता हूं? ...

अपने फोन से नेगेटिव विचार है तो विचार जो है कि नहीं आपके माइंड स्टेट में होता है आप उसको दूर करके पैसे देखने का नजरिया बदलना पड़ेगा नजरिया गलत चेंज करते हैं तो मुझे विचार आ रहे हैं लेकिन कहीं कम हो जाजवाब पढ़िये
ques_icon

जब भी कुछ सोचते हैं तो सकारात्मक विचार से पहले नकारात्मक विचार दिमाग में क्यों आते हैं? ...

विकी बिल्कुल जब भी कोई सोचता है इंसान और बहुत बार सफल हो चुका होता है तू बिलकुल जो पॉजिटिव थॉट्स है उनसे पहले जो नेगेटिव थॉट्स माइंड में आते हैं तो उनको दूर करने का अच्छा तरीका यह करो कि 1 दिन में दूरजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें सवाल का जवाब दूंगी कि अब एक चीज होती है टेंपरामेंट टेंपरामेंट हम कहते हैं जो शायद मैं बड़ी हो जब हम बड़े हो रहे होते हैं आज तो तुम्हें एक तरीका खींचती हूं अपने आसपास के लोगों को देखकर कि मुझे लोगों के साथ कैसे डील करना है या कैसे बातचीत करनी है जैसे लोग ऐसे लोग मुझे प्रभावित करते हैं तो अगर अगर आपकी आपकी परवरिश एपिसोड ऐसे डिवेलप हुई है जहां पर शुरू से ही लोगों ने आप आप नेगेटिव कॉमेंट किए हैं आपको इस कार्य किया है और आपको नकारात्मक दिया है तो वह आप की एक आदत बन जाती है कि हां यह लो तो मेरे बारे में नेगेटिव ही सोचेंगे तो आपका भी तो नजरिया उन लोगों की तरफ होता है वह बिल्कुल ही नकारात्मक हो जाता है तो अगर कोई रियल लाइफ में अगर आपको कोई भी अगर आपको कोई पॉजिटिव कॉमेंट देता है आप फिर भी उसको नेगेटिव ही इंटरप्रेट करते हैं उनको नेगेटिव भी आप सोचते हैं उस बारे में क्योंकि आप की शुरू से ही सोच लेती हो चुकी है ऐसा नहीं है कि आपकी सोच बदली नहीं जा सकती जरूर बनी जा सकती है जिसके लिए हम एक बहुत ही फेमस फॉर चैरिटी और मैथ में हमारी योग मनोविज्ञान में जो हम अल्बर्ट एलिस की आरी बीटी कहते हैं बच्चे अभिवृत्ति जिसमें मैं आपकी सोच पर काम करूंगी कि आप लोगों के बारे में आम कि अगर आप लोगों के बारे में ऐसा सोच रहे हैं तो क्या सोच रहे हैं अगर मैं यह सोचती हूं कि हमेशा लोग मुझे कहते हैं कि आपको हमेशा अपना काम सही करना है तो अगर मैं किसी 30 साल की सोच के साथ काम करूंगी तो मैं हमेशा प्रेशर में रहूंगी तो इसी सोच को करना कि मैं मुझे काम करना है मैं कई दफा मेरा काम गलत भी हो सकता है तू रिंगटोन बॉक्स ऑफ द थॉट और कि आप लोगों के बारे में क्या सोचते हो और अगर नेगेटिव सोचते हो तो उसका फिर हमारी सोच कर ही करेंगे कि आपकी ऐसी पोस्ट डिवेलप क्यों हुई और उस नेगेटिव सोच हम पॉजिटिव सोच से उस पर नकारात्मक सोच को हम सकारात्मक सोच से रिप्लेस करते हैं हम बातचीत करके शॉपिंग करके
Romanized Version
हमें सवाल का जवाब दूंगी कि अब एक चीज होती है टेंपरामेंट टेंपरामेंट हम कहते हैं जो शायद मैं बड़ी हो जब हम बड़े हो रहे होते हैं आज तो तुम्हें एक तरीका खींचती हूं अपने आसपास के लोगों को देखकर कि मुझे लोगों के साथ कैसे डील करना है या कैसे बातचीत करनी है जैसे लोग ऐसे लोग मुझे प्रभावित करते हैं तो अगर अगर आपकी आपकी परवरिश एपिसोड ऐसे डिवेलप हुई है जहां पर शुरू से ही लोगों ने आप आप नेगेटिव कॉमेंट किए हैं आपको इस कार्य किया है और आपको नकारात्मक दिया है तो वह आप की एक आदत बन जाती है कि हां यह लो तो मेरे बारे में नेगेटिव ही सोचेंगे तो आपका भी तो नजरिया उन लोगों की तरफ होता है वह बिल्कुल ही नकारात्मक हो जाता है तो अगर कोई रियल लाइफ में अगर आपको कोई भी अगर आपको कोई पॉजिटिव कॉमेंट देता है आप फिर भी उसको नेगेटिव ही इंटरप्रेट करते हैं उनको नेगेटिव भी आप सोचते हैं उस बारे में क्योंकि आप की शुरू से ही सोच लेती हो चुकी है ऐसा नहीं है कि आपकी सोच बदली नहीं जा सकती जरूर बनी जा सकती है जिसके लिए हम एक बहुत ही फेमस फॉर चैरिटी और मैथ में हमारी योग मनोविज्ञान में जो हम अल्बर्ट एलिस की आरी बीटी कहते हैं बच्चे अभिवृत्ति जिसमें मैं आपकी सोच पर काम करूंगी कि आप लोगों के बारे में आम कि अगर आप लोगों के बारे में ऐसा सोच रहे हैं तो क्या सोच रहे हैं अगर मैं यह सोचती हूं कि हमेशा लोग मुझे कहते हैं कि आपको हमेशा अपना काम सही करना है तो अगर मैं किसी 30 साल की सोच के साथ काम करूंगी तो मैं हमेशा प्रेशर में रहूंगी तो इसी सोच को करना कि मैं मुझे काम करना है मैं कई दफा मेरा काम गलत भी हो सकता है तू रिंगटोन बॉक्स ऑफ द थॉट और कि आप लोगों के बारे में क्या सोचते हो और अगर नेगेटिव सोचते हो तो उसका फिर हमारी सोच कर ही करेंगे कि आपकी ऐसी पोस्ट डिवेलप क्यों हुई और उस नेगेटिव सोच हम पॉजिटिव सोच से उस पर नकारात्मक सोच को हम सकारात्मक सोच से रिप्लेस करते हैं हम बातचीत करके शॉपिंग करकेHumein Sawal Ka Jawab Dungi Ki Ab Ek Cheez Hoti Hai Temparament Temparament Hum Kehte Hain Jo Shayad Main Badi Ho Jab Hum Bade Ho Rahe Hote Hain Aaj Toh Tumhe Ek Tarika Khinchati Hoon Apne Aaspass Ke Logon Ko Dekhkar Ki Mujhe Logon Ke Saath Kaise Deal Karna Hai Ya Kaise Batchit Karni Hai Jaise Log Aise Log Mujhe Prabhavit Karte Hain Toh Agar Agar Aapki Aapki Parvarish Episode Aise Develop Hui Hai Jahan Par Shuru Se Hi Logon Ne Aap Aap Negative Comment Kiye Hain Aapko Is Karya Kiya Hai Aur Aapko Nakaratmak Diya Hai Toh Wah Aap Ki Ek Aadat Ban Jati Hai Ki Haan Yeh Lo Toh Mere Bare Mein Negative Hi Sochenge Toh Aapka Bhi Toh Najariya Un Logon Ki Taraf Hota Hai Wah Bilkul Hi Nakaratmak Ho Jata Hai Toh Agar Koi Real Life Mein Agar Aapko Koi Bhi Agar Aapko Koi Positive Comment Deta Hai Aap Phir Bhi Usko Negative Hi Interpret Karte Hain Unko Negative Bhi Aap Sochte Hain Us Bare Mein Kyonki Aap Ki Shuru Se Hi Soch Leti Ho Chuki Hai Aisa Nahi Hai Ki Aapki Soch Badli Nahi Ja Sakti Zaroor Bani Ja Sakti Hai Jiske Liye Hum Ek Bahut Hi Famous For Charity Aur Math Mein Hamari Yog Manovigyan Mein Jo Hum Albert Alice Ki Aari Biti Kehte Hain Bacche Abhivratti Jisme Main Aapki Soch Par Kaam Karungi Ki Aap Logon Ke Bare Mein Aam Ki Agar Aap Logon Ke Bare Mein Aisa Soch Rahe Hain Toh Kya Soch Rahe Hain Agar Main Yeh Sochti Hoon Ki Hamesha Log Mujhe Kehte Hain Ki Aapko Hamesha Apna Kaam Sahi Karna Hai Toh Agar Main Kisi 30 Saal Ki Soch Ke Saath Kaam Karungi Toh Main Hamesha Pressure Mein Rahungi Toh Isi Soch Ko Karna Ki Main Mujhe Kaam Karna Hai Main Kai Dafa Mera Kaam Galat Bhi Ho Sakta Hai Tu Ringtone Box Of The Thought Aur Ki Aap Logon Ke Bare Mein Kya Sochte Ho Aur Agar Negative Sochte Ho Toh Uska Phir Hamari Soch Kar Hi Karenge Ki Aapki Aisi Post Develop Kyon Hui Aur Us Negative Soch Hum Positive Soch Se Us Par Nakaratmak Soch Ko Hum Sakaratmak Soch Se Replace Karte Hain Hum Batchit Karke Shopping Karke
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:


vokalandroid