क्या हिन्दुस्तानमें सिर्फ अमीरो बोलने का हक़ है या सिर्फ केवल नेताओ को ? ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
अगर ऐसा होता तो आज के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम आप नहीं जानते कन्हैया कुमार का अपना नाम नहीं जानते उमर खालिद का नाम नहीं जानते मैं बिल्कुल पॉलिटिक्स नहीं जाना चाहता हूं ना मैं यह बोल रहा हूं मेरे को सपोर्ट करता हूं मैं किसी को सपोर्ट नहीं करता मैं इनकी जो बातें हैं वह उनको तो बिल्कुल भी सपोर्ट नहीं करता हूं लेकिन मैं क्यों इतना दिखाना चाह रहा हूं की देश विरोधी बातें तो नहीं कि कुछ लोगों ने करूंगी तो चलिए वह बात अलग है लेकिन बोलने का हक सबको है पद्मावती के खिलाफ भी किरण करणी सेना बोल रही है कि वह भी बोल रहे हैं और इसके खिलाफ भी बॉलीवुड बोल रहा है और शांति प्रदर्शन कर रहा है तो वह भी बोल रहे हैं इसके अलावा मजदूर संगठन यह तो हमेशा बोलते ही हैं और उनके साथ हमेशा अच्छा व्यवहार होता है उनसे पैसे कम दिए जाते उसके खिलाफ बोलते हैं तो सही बात है सभी को बोलने का हक है बात यह है कि किसकी बोलने की चीज को ज्यादा प्रायोरिटी दी जा रही है बोलने का कि सबके पास है लेकिन जिसको मीडिया कवरेज ज्यादा मिलती है वह खबर में ज्यादा आता है सीधी सी बात है अगर आप की चीज में दम है वह समाज सेवा लायक अगर आप की चीज है यह आपको लगता है कि यह चीज मेरे अलावा 500 लोगों पर आप एक डाल रही है तो आपकी वह मीडिया कवरेज देगी लेकिन अगर आपको ऐसा लगता है अरे नहीं मेरा फोन खो गया है तो क्या कुछ भी निकलवाना ही पड़ेगा इसके लिए मैंने सुप्रीम कोर्ट में ही करूंगा तो दिन भर में न जाने कंट्री में कितनी फोन को होते होंगे यह चीज के लिए आप पिटीशन दायर करें कि फोन खो गया है तो उसके लिए उसको बचाने के क्या-क्या उपाय हैं इस तरह की चीज लेकर आप जाएं पीआईएल लगाएं समाज सेवा की चीजें करें तो आपकी आवाज जरूर सुनी जाएगी हो सकता को बाद में पुरस्कृत किया जाए लेकिन ऐसी चीज सूची है जो ऐसी आवाज बने आपकी जिसको 500 लोग सपोर्ट करें केवल अपने हित कारनी सर्व हित की बारे में बात करेंगे तो जरूर आपकी आवाज सुनी जाएगी थैंक यूAgar Aisa Hota To Aaj Ke Delhi Ke Mukhyamantri Arvind Kejriwal Ka Naam Aap Nahi Jante Kanhaiya Kumar Ka Apna Naam Nahi Jante Umar Khalid Ka Naam Nahi Jante Main Bilkul Politics Nahi Jana Chahta Hoon Na Main Yeh Bol Raha Hoon Mere Ko Support Karta Hoon Main Kisi Ko Support Nahi Karta Main Inki Jo Batein Hain Wah Unko To Bilkul Bhi Support Nahi Karta Hoon Lekin Main Kyun Itna Dikhana Chah Raha Hoon Ki Desh Virodhi Batein To Nahi Ki Kuch Logon Ne Karungi To Chaliye Wah Baat Alag Hai Lekin Bolne Ka Haq Sabko Hai Padmavati Ke Khilaf Bhi Kiran Karni Sena Bol Rahi Hai Ki Wah Bhi Bol Rahe Hain Aur Iske Khilaf Bhi Bollywood Bol Raha Hai Aur Shanti Pradarshan Kar Raha Hai To Wah Bhi Bol Rahe Hain Iske Alava Majdur Sangathan Yeh To Hamesha Bolte Hi Hain Aur Unke Saath Hamesha Accha Vyavhar Hota Hai Unse Paise Kum Diye Jaate Uske Khilaf Bolte Hain To Sahi Baat Hai Sabhi Ko Bolne Ka Haq Hai Baat Yeh Hai Ki Kiski Bolne Ki Cheez Ko Jyada Priority Di Ja Rahi Hai Bolne Ka Ki Sabke Paas Hai Lekin Jisko Media Coverage Jyada Milti Hai Wah Khabar Mein Jyada Aata Hai Sidhi Si Baat Hai Agar Aap Ki Cheez Mein Dum Hai Wah Samaaj Seva Layak Agar Aap Ki Cheez Hai Yeh Aapko Lagta Hai Ki Yeh Cheez Mere Alava 500 Logon Par Aap Ek Dal Rahi Hai To Aapki Wah Media Coverage Degi Lekin Agar Aapko Aisa Lagta Hai Arre Nahi Mera Phone Kho Gaya Hai To Kya Kuch Bhi Nikalavana Hi Padega Iske Liye Maine Supreme Court Mein Hi Karunga To Din Bhar Mein N Jaane Country Mein Kitni Phone Ko Hote Honge Yeh Cheez Ke Liye Aap Pitishan Dayar Karen Ki Phone Kho Gaya Hai To Uske Liye Usko Bachane Ke Kya Kya Upay Hain Is Tarah Ki Cheez Lekar Aap Jayen Pil Lagaen Samaaj Seva Ki Cheezen Karen To Aapki Aawaj Jarur Suni Jayegi Ho Sakta Ko Baad Mein Puraskrit Kiya Jaye Lekin Aisi Cheez Suchi Hai Jo Aisi Aawaj Bane Aapki Jisko 500 Log Support Karen Kewal Apne Hit Karni Surve Hit Ki Baare Mein Baat Karenge To Jarur Aapki Aawaj Suni Jayegi Thank You
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जी नहीं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि हिंदुस्तान में सिर्फ अमीरों को और नेताओं को ही बोलने का क्योंकि हम सभी जानते हैं कि हमारा जो भारत राष्ट्रीय हैं कोई गैर लोकतंत्र राष्ट्र है और जहां पर वह एक साथ एकदम से जो बड़े लोग करेंगे वही नहीं हो जाता है बल्कि हर चीज के लिए कब प्रोसीजर होता है जिस को फॉलो करना पड़ता है उसके बाद ही कोई चीज पास हो पाती है और लॉस बन पाते हैं हमारे देश में तू और जो प्रोसीजर है वह यह है कि हर इंसान जो वोट देता है और हमारे देश में हर किसी को वोटिंग राइट्स मिले हुए हैं और जो इंसान ना वोट करके किसी नज़र को चुनते हैं किसी मिनिस्टर को चुनते हैं उसके बाद वह मिनिस्टर जाकर लॉस बनाते हैं और इंसान की अच्छी-अच्छी के लिए कार्य करते हैं और जो कि हर तरह से इंसान की ही हाथ में है कि वह जिसको छूने का और वही उनके लीडर बनेंगे और कोई भी पुरुष बली नहीं बन सकता है और बात रही अमीरों की है तो हां मैं मानती हूं अमीरों के पास बहुत ज्यादा पैसा होता है खतरे की लग्जरी और बाकी सब चीज अपने पास रख सकते हैं लेकिन हमारे देश में उनको भी एक समान ही माना जाता है चाहे वह कोई अमीर हो या फिर कोई गरीब उन सबको एक ही तरह से माना जाता है और उनको वोटिंग का भी सिर्फ एक ही अधिकार है और कि एक वह जो एक अमीर है जो और एक गरीब है उन दोनों को सिर्फ एक ही वोट देने का अधिकार है तो आप कैसे कह सकते हैं कि अमीरों को ही बोलने का हक है और गरीबों को नहीं या फिर सिर्फ नेताओं को ही बोलने का हक है क्योंकि अगर आपको कोई दिक्कत है तो आप अपना आवाज उठा सकते हैं आप अपनी इच्छा जाहिर कर सकते हैं देश के सामने और रबड़ी मिनिस्टर तक पहुंचा सकते हैं एवं आप अपने या राज्य सरकार या फिर केंद्र सरकार तक भी हेल्पलाइन के तक पहुंचा सकते हैं प्लीज इस समस्या और अमीरों और गरीबों का इसमें कोई भी फर्क नहीं है क्योंकि हमारे कॉन्स्टिट्यूशन में हर किसी को समानता के अधिकार से देखा गया हैJi Nahi Aisa Bilkul Bhi Nahi Hai Ki Hindustan Mein Sirf Amiron Ko Aur Netaon Ko Hi Bolne Ka Kyonki Hum Sabhi Jante Hain Ki Hamara Jo Bharat Rashtriya Hain Koi Gair Loktantra Rashtra Hai Aur Jahan Par Wah Ek Saath Ekdam Se Jo Bade Log Karenge Wahi Nahi Ho Jata Hai Balki Har Cheez Ke Liye Kab Procedure Hota Hai Jis Ko Follow Karna Padata Hai Uske Baad Hi Koi Cheez Paas Ho Pati Hai Aur Loss Ban Paate Hain Hamare Desh Mein Tu Aur Jo Procedure Hai Wah Yeh Hai Ki Har Insaan Jo Vote Deta Hai Aur Hamare Desh Mein Har Kisi Ko Voting Rights Mile Hue Hain Aur Jo Insaan Na Vote Karke Kisi Nazar Ko Chunate Hain Kisi Minister Ko Chunate Hain Uske Baad Wah Minister Jaakar Loss Banate Hain Aur Insaan Ki Acchi Acchi Ke Liye Karya Karte Hain Aur Jo Ki Har Tarah Se Insaan Ki Hi Hath Mein Hai Ki Wah Jisko Chhune Ka Aur Wahi Unke Leader Banenge Aur Koi Bhi Purush Bulee Nahi Ban Sakta Hai Aur Baat Rahi Amiron Ki Hai To Haan Main Maanati Hoon Amiron Ke Paas Bahut Jyada Paisa Hota Hai Khatre Ki Luxury Aur Baki Sab Cheez Apne Paas Rakh Sakte Hain Lekin Hamare Desh Mein Unko Bhi Ek Saman Hi Mana Jata Hai Chahe Wah Koi Amir Ho Ya Phir Koi Garib Un Sabko Ek Hi Tarah Se Mana Jata Hai Aur Unko Voting Ka Bhi Sirf Ek Hi Adhikaar Hai Aur Ki Ek Wah Jo Ek Amir Hai Jo Aur Ek Garib Hai Un Dono Ko Sirf Ek Hi Vote Dene Ka Adhikaar Hai To Aap Kaise Keh Sakte Hain Ki Amiron Ko Hi Bolne Ka Haq Hai Aur Garibon Ko Nahi Ya Phir Sirf Netaon Ko Hi Bolne Ka Haq Hai Kyonki Agar Aapko Koi Dikkat Hai To Aap Apna Aawaj Utha Sakte Hain Aap Apni Icha Jaahir Kar Sakte Hain Desh Ke Samane Aur Rabadi Minister Tak Pahuncha Sakte Hain Evam Aap Apne Ya Rajya Sarkar Ya Phir Kendra Sarkar Tak Bhi Helpline Ke Tak Pahuncha Sakte Hain Please Is Samasya Aur Amiron Aur Garibon Ka Isme Koi Bhi Fark Nahi Hai Kyonki Hamare Constitution Mein Har Kisi Ko Samanata Ke Adhikaar Se Dekha Gaya Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए ऐसा कुछ भी नहीं है हमारे संविधान में जो है अमीरों के साथ-साथ नेताओं के साथ-साथ गरीबों को भी जो है बोलने का हक भी है लेकिन बहुत बार ऐसा होता है कि हम लोग ही जो है हमारे हाथ भूल जाते हैं और ऐसे ही चुप बैठे रहते हो रहते 4 साल के थे थे यह पूरी तरह से गलत है और वह मैं तो यहां तक भी पढ़ चुका हूं लेकिन जो लोग अत्याचार करते हैं हम से भी बदतर या फिर बुरे हो लोग होते हैं या फिर गलत फॉलो करते हो जो अत्याचार को सहन करते हैं तो आपको तो यही खड़ा होना पड़ेगा आप संविधान में हमारे सभी गाने सभी को सम्मान आपका देना है तो हमें जोड़े खड़ा रहना होगा हम सब के खिलाफ आवाज उठानी होगीDekhie Aisa Kuch Bhi Nahi Hai Hamare Samvidhan Mein Jo Hai Amiron Ke Saath Saath Netaon Ke Saath Saath Garibon Ko Bhi Jo Hai Bolne Ka Haq Bhi Hai Lekin Bahut Baar Aisa Hota Hai Ki Hum Log Hi Jo Hai Hamare Hath Bhul Jaate Hain Aur Aise Hi Chup Baithey Rehte Ho Rehte 4 Saal Ke The The Yeh Puri Tarah Se Galat Hai Aur Wah Main To Yahan Tak Bhi Padh Chuka Hoon Lekin Jo Log Atyachar Karte Hain Hum Se Bhi Badataar Ya Phir Bure Ho Log Hote Hain Ya Phir Galat Follow Karte Ho Jo Atyachar Ko Sahan Karte Hain To Aapko To Yahi Khada Hona Padega Aap Samvidhan Mein Hamare Sabhi Gaane Sabhi Ko Samman Aapka Dena Hai To Hume Jode Khada Rehna Hoga Hum Sab Ke Khilaf Aawaj Uthani Hogi
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Hindustanme Sirf Amiro Bolne Ka Haq Hai Ya Sirf Kewal Netao Ko ?





मन में है सवाल?