अयोध्या में राम मंदिर बनवाने के लिए कब तक वोट की राजनीति चलती रहेगी ? ...

Likes  5  Dislikes

7 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देसी राजनीति का एक बहुत बड़ा पहलू होता है डिवाइड एंड रूल और यह जो राम मंदिर का मुद्दा है इससे जो भारतीय समाज है उसको डिवाइड किया गया है और यह हिंदू और मुसलमान के बीच में एक दरार पैदा करके वोट लेने का प्रयत्न है तू ही राम मंदिर की पॉलिटिक्स पहले से ही चलती रहेगी और जब तक राम मंदिर नहीं बनता तब तक तो बनेगा ही बनेगा राम मंदिर किसी तरीके से उसके बाद में राजनीति खत्म होने वाली है कृष्ण जन्म भूमि और ऐसे बहुत सारे मुद्दों को उठा सकते हैं इसकी विशेषताएं पॉलिटिक्स चलती होते हैं वह सब देश को सिर्फ डिवाइड करते हैं और उनको उस कमेटी को डिवाइड करके और उनके बीच नफरत फैला करके उनका काम होता है वोट लेने का और इसलिए यह सिलसिला चलता रहेगा अगर राम मंदिर बन जाता है तो कोई दूसरे मंदिर का मुद्दा उठाएगा और जब तक जो है पॉलिटिक्स है तब तक इस तरीके की पॉलिटिक्स चलती रहेDesi Rajneeti Ka Ek Bahut Bada Pahaloo Hota Hai Divide End Rule Aur Yeh Jo Ram Mandir Ka Mudda Hai Isse Jo Bharatiya Samaaj Hai Usko Divide Kiya Gaya Hai Aur Yeh Hindu Aur Musalman Ke Bich Mein Ek Daraar Paida Karke Vote Lene Ka Prayatn Hai Tu Hi Ram Mandir Ki Politics Pehle Se Hi Chalti Rahegi Aur Jab Tak Ram Mandir Nahi Banta Tab Tak To Banega Hi Banega Ram Mandir Kisi Tarike Se Uske Baad Mein Rajneeti Khatam Hone Wali Hai Krishan Janm Bhoomi Aur Aise Bahut Sare Muddon Ko Utha Sakte Hain Iski Visheshtayen Politics Chalti Hote Hain Wah Sab Desh Ko Sirf Divide Karte Hain Aur Unko Us Committee Ko Divide Karke Aur Unke Bich Nafrat Faila Karke Unka Kaam Hota Hai Vote Lene Ka Aur Isliye Yeh Silsila Chalta Rahega Agar Ram Mandir Ban Jata Hai To Koi Dusre Mandir Ka Mudda Uthayega Aur Jab Tak Jo Hai Politics Hai Tab Tak Is Tarike Ki Politics Chalti Rahe
Likes  39  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
अयोध्या में राम मंदिर बनवाने के लिए जिस प्रकार से वोट बैंक की राजनीति लगभग सभी राजनीतिक पार्टी करती है यह बहुत ही गलत बात है, इसकी मैं कठोर शब्दों में निंदा करता हूं l पिछले दो दशकों से जिस प्रकार से इस प्रकार की राजनीति हो रही है तथा भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी तथा अन्य राजनीतिक पार्टियां लगातार इस विषय में राजनीति कर रही हैंl उनके ऊपर कोर्ट की अवमानना का एक केस चलना चाहिए क्योंकि जब पहले से ही है मामला को सुप्रीम कोर्ट में लंबित है लगातार इस विषय में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है तो बार बार जनता को आवेश में लाकर तथा उनको बार-बार या अनुभव करा कर किस प्रकार से रामलला तिरपाल यानी टेंट के नीचे रह रहे हैं यह धार्मिक भावनाओं को के साथ खिलवाड़ करने के साथ साथ ही जनता तथा विशेषता हिंदू धर्म के जो लोग हैं उनकी भावनाओं को आहत करने का मामला है l मैं यह मानता हूं कि भारतीय जनता पार्टी ने भी इस विषय में बिल्कुल भी परिपक्वता नहीं दिखाई है तथा जिस प्रकार से कांग्रेस ने पिछले कुछ दशकों में इस विषय में बचकानी हरकतें करी हैं l तो जनता की भावनाओं को आहत करा है या उससे भी गलत है मुझे ऐसा लगता है कि आप से समझौते के बाद ही इस विषय को सुलझाया जा सकता है अथवा कोर्ट भी इस मामले को कभी निपटा नहीं पाएगी और अगर निपटाती है या कोशिश ऐसी होती है l तो एक बार फिर से धार्मिक उन्माद पहले का दंगे होंगे जो किसी भी वर्ग अथवा धर्म के लिए हितकर नहीं होंगे तो जनता को चाहिए कि इस विषय में बहुत ही विवेक बुद्धि धीरज व धैर्य के साथ कार्य करें तथा राजनीतिक पार्टियों के दबाव में वह उनकी बातों में ना आकर अपने विवेकानुसार इस मामले के बारे में सोचें इस मामले के बारे में विचार विमर्श करें तथा कोर्ट की जो फैसला है उसका इंतजार करते हुए एक विवेक हो धीरज बनाए रखें देखिए भगवान के घर क्योंकि देर होती है अंधेर नहीं होती ,जय श्री राम lAyodhya Mein Ram Mandir Banwane Ke Liye Jis Prakar Se Vote Bank Ki Rajneeti Lagbhag Sabhi Raajnitik Party Karti Hai Yeh Bahut Hi Galat Baat Hai Iski Main Kathor Shabdon Mein Ninda Karta Hoon L Pichhle Do Dashakon Se Jis Prakar Se Is Prakar Ki Rajneeti Ho Rahi Hai Tatha Bharatiya Janta Party Congress Samajwadi Party Tatha Anya Raajnitik Partyian Lagatar Is Vishay Mein Rajneeti Kar Rahi Hain Unke Upar Court Ki Awamaanana Ka Ek Case Chalna Chahiye Kyonki Jab Pehle Se Hi Hai Maamla Ko Supreme Court Mein Lambit Hai Lagatar Is Vishay Mein Supreme Court Mein Sunavai Chal Rahi Hai To Baar Baar Janta Ko Aavesh Mein Lakar Tatha Unko Baar Baar Ya Anubhav Kra Kar Kis Prakar Se Ramlala Tirapal Yani Tent Ke Neeche Rah Rahe Hain Yeh Dharmik Bhavnao Ko Ke Saath Khilwad Karne Ke Saath Saath Hi Janta Tatha Visheshata Hindu Dharm Ke Jo Log Hain Unki Bhavnao Ko Aahat Karne Ka Maamla Hai L Main Yeh Manata Hoon Ki Bharatiya Janta Party Ne Bhi Is Vishay Mein Bilkul Bhi Paripakvata Nahi Dikhai Hai Tatha Jis Prakar Se Congress Ne Pichhle Kuch Dashakon Mein Is Vishay Mein Bachkani Harakaten Kari Hain L To Janta Ki Bhavnao Ko Aahat Kra Hai Ya Usse Bhi Galat Hai Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Aap Se Samjhaute Ke Baad Hi Is Vishay Ko Sulajhaya Ja Sakta Hai Athwa Court Bhi Is Mamle Ko Kabhi Nipta Nahi Payegi Aur Agar Niptati Hai Ya Koshish Aisi Hoti Hai L To Ek Baar Phir Se Dharmik Unmaad Pehle Ka Denge Honge Jo Kisi Bhi Varg Athwa Dharm Ke Liye Hitkar Nahi Honge To Janta Ko Chahiye Ki Is Vishay Mein Bahut Hi Vivek Buddhi Dheeraj V Dhairya Ke Saath Karya Karen Tatha Raajnitik Partiyon Ke Dabaav Mein Wah Unki Baaton Mein Na Aakar Apne Vivekanusar Is Mamle Ke Bare Mein Sochen Is Mamle Ke Bare Mein Vichar Vimarsh Karen Tatha Court Ki Jo Faisla Hai Uska Intejar Karte Huye Ek Vivek Ho Dheeraj Banaye Rakhen Dekhie Bhagwan Ke Ghar Kyonki Der Hoti Hai Andher Nahi Hoti Jai Shri Ram L
Likes  19  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखी दोस्त बिल्कुल यह जो अयोध्या में राम मंदिर का जो मुद्दा है यह ऐसे ही चलता रहेगा यह जैसे काफी सालों तक चलता आ रहा है इसका कोई सलूशन नहीं निकलने वाला जब तक हमारे पॉलिटिकल लीडर्स अपने वोटबैंक भरने की सोचते रहेंगे अयोध्या में राम मंदिर बनवाने का इन्होंने एक ऐसा तरीका ढूंढा है जिससे वह अपने वोट वोट बैंक भर सकते हैं आज क्या काफी साल पहले ही इसका सलूशन निकल गया होता अगर दोनों समुदाय के लोग हिंदू और मुस्लिम आपस में बैठकर बात करते हैं उनके दो पॉलिटिकल लेकिन ऐसा नहीं हुआ इस पर सिर्फ पॉलिटिक्स खेली जा रही है काफी सालों से और अभी भी खेली जा रही है वैसे मैं एक बात बताऊं इतना बड़ा मुद्दा नहीं है जिसको जितना बड़ा यह बना दिया गया है इसका सलूशन निकल निकल सकता था आसानी से लेकिन इसको इतना बड़ा कर दिया कि पूछिए मत आज हमारे भारत में इतनी सारी परेशानियां है कि आप गिनती थक जाएंगे लेकिन फिर भी हमारे पोलिटिकल पार्टीज और हमारे जितने भी लोग हैं वह आज इसी मुद्दे पर अटके हुए काफी सालों से कि क्या अयोध्या में राम मंदिर बनेगा क्या आप बताइए कि अयोध्या में राम मंदिर बनना इतना इंपोर्टेंट है हमारी भारतीय इकनोमिक डेवलपमेंट से ज्यादा हमारे भारत में बेरोजगारी हो रही है इससे ज्यादा कोई इससे बात नहीं करता ना ही कोई पोलिटिकल पार्टीज यहां तक कि प्रधानमंत्री और BJP वाले या अदर पार्टी के कोई दो बड़ी बड़ी परेशानी है वूमेंस के ऊपर जो रेप हो रहे हैं बेरोजगारी काफी सारी जो लड़ाई हो रही जो हमारे कॉन्स्टिट्यूशन और लोकतंत्र का उल्लंघन हो रहा है आज ही देखी करणी सेना ने कई सारे तोड़फोड़ की सूची इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहा बस अयोध्या में राम मंदिर कब बनेगा कब बनेगा तो मैं चाहता हूं कि जो हमारी पोलिटिकल पार्टीज के लीडर्स बैठकर इसका सलूशन निकाल लेना कि सो पॉलिटिक्स खेले और जब तक पॉलिटिक्स खेली जाएगी तब तक मुझे नहीं लगता कि कभी सोनू से निकल पाएगा यह बस एक राजनीतिक मुद्दा ही रह जाएगा थैंक यूDekhi Dost Bilkul Yeh Jo Ayodhya Mein Ram Mandir Ka Jo Mudda Hai Yeh Aise Hi Chalta Rahega Yeh Jaise Kafi Salon Tak Chalta Aa Raha Hai Iska Koi Salution Nahi Nikalne Vala Jab Tak Hamare Political Leaders Apne Votbaink Bharne Ki Sochte Rahenge Ayodhya Mein Ram Mandir Banwane Ka Inhone Ek Aisa Tarika Dhundha Hai Jisse Wah Apne Vote Vote Bank Bhar Sakte Hain Aaj Kya Kafi Saal Pehle Hi Iska Salution Nikal Gaya Hota Agar Dono Samuday Ke Log Hindu Aur Muslim Aapas Mein Baithkar Baat Karte Hain Unke Do Political Lekin Aisa Nahi Hua Is Par Sirf Politics Kheli Ja Rahi Hai Kafi Salon Se Aur Abhi Bhi Kheli Ja Rahi Hai Waise Main Ek Baat Bataun Itna Bada Mudda Nahi Hai Jisko Jitna Bada Yeh Bana Diya Gaya Hai Iska Salution Nikal Nikal Sakta Tha Aasani Se Lekin Isko Itna Bada Kar Diya Ki Poochhie Mat Aaj Hamare Bharat Mein Itni Saree Pareshaniyan Hai Ki Aap Ginti Thak Jaenge Lekin Phir Bhi Hamare Political Parties Aur Hamare Jitne Bhi Log Hain Wah Aaj Isi Mudde Par Atake Huye Kafi Salon Se Ki Kya Ayodhya Mein Ram Mandir Banega Kya Aap Bataiye Ki Ayodhya Mein Ram Mandir Banana Itna Important Hai Hamari Bharatiya Economic Development Se Zyada Hamare Bharat Mein Berojgari Ho Rahi Hai Isse Zyada Koi Isse Baat Nahi Karta Na Hi Koi Political Parties Yahan Tak Ki Pradhanmantri Aur BJP Wali Ya Other Party Ke Koi Do Badi Badi Pareshani Hai Vumens Ke Upar Jo Rape Ho Rahe Hain Berojgari Kafi Saree Jo Ladai Ho Rahi Jo Hamare Constitution Aur Loktantra Ka Ullanghan Ho Raha Hai Aaj Hi Dekhi Karni Sena Ne Kai Sare Thorphor Ki Suchi Is Par Koi Dhyan Nahi De Raha Bus Ayodhya Mein Ram Mandir Kab Banega Kab Banega To Main Chahta Hoon Ki Jo Hamari Political Parties Ke Leaders Baithkar Iska Salution Nikal Lena Ki So Politics Khele Aur Jab Tak Politics Kheli Jayegi Tab Tak Mujhe Nahi Lagta Ki Kabhi Sonu Se Nikal Payega Yeh Bus Ek Raajnitik Mudda Hi Rah Jayega Thank You
Likes  7  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


राजनीति का सबसे पहला नियम यह होता है दोस्तों की जैसी प्रजा वैसा राजा राजनीति का यह नियम होता है हम लोग आपस में झगड़ते हम लोग आपस में लड़ते हैं तो लोग हमें उस आते हैं अगर हिंदू मुस्लिम दोनों मिलकर यह बात को सुलाकर के दोनों लोग आस-पास में कोई को पॉलिटिकल लीडर हो ना कोई हो हम दोनों मिलकर हिंदू मुसलमान मिलकर कभी यहां पर मंदिर के निर्माण कर दे तो विशेष कृपा हो जाए उनके मुंह पर तमाचा लग जाएगी लेकिन ऐसा होता नहीं क्यों नहीं होता लेकिन ऐसा होना ही चाहिए जिस दिन ऐसा हो गया उस दिन यह राजनीति की पॉलिटिक्स गाना चाहिए नहीं तो झगड़ा चलता ही रहेगा लेकिन विवादित ढांचा गिराया था उस दिन की बात सोची थी राजनीति करके आएंगे क्यों क्यों गिरा सकते तो भाग नहीं सकते थे क्या बना नहीं सकते थे क्या यह मुद्दा कोर्ट में जाना नहीं चाहिए और इसमें कुछ नहीं कर सकता यह मुद्दा कोट का ही हम दोनों जब मिल कर इस मुद्दे को उस दिन में एक बात ध्यान में रखने के लिए आपको मुस्लिम कि यह उनकी जिस दिन आपको साथ मिल गई उस दिन आप पॉलिटिक्स के मुंह पर बीजेपी हो या कांग्रेस हो दोनों वही काम करते हैं यह मुद्दा अपने का काम करते हैं यह हर एक मैटर पंजाबी रोजगार का बाकी बेरोजगारी है उसके बाद आपको महंगाई की बात है यह बातों को दागने के लिए दबाने के लिए दबाने के लिए यह राजनीति होती है इसलिए हम सब एक हो जाएं और मंदिर ही तो निर्माण करना है कोई बड़ी बात नहीं है जय हिंद

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

राजनीति का सबसे पहला नियम यह होता है दोस्तों की जैसी प्रजा वैसा राजा राजनीति का यह नियम होता है हम लोग आपस में झगड़ते हम लोग आपस में लड़ते हैं तो लोग हमें उस आते हैं अगर हिंदू मुस्लिम दोनों मिलकर यह बात को सुलाकर के दोनों लोग आस-पास में कोई को पॉलिटिकल लीडर हो ना कोई हो हम दोनों मिलकर हिंदू मुसलमान मिलकर कभी यहां पर मंदिर के निर्माण कर दे तो विशेष कृपा हो जाए उनके मुंह पर तमाचा लग जाएगी लेकिन ऐसा होता नहीं क्यों नहीं होता लेकिन ऐसा होना ही चाहिए जिस दिन ऐसा हो गया उस दिन यह राजनीति की पॉलिटिक्स गाना चाहिए नहीं तो झगड़ा चलता ही रहेगा लेकिन विवादित ढांचा गिराया था उस दिन की बात सोची थी राजनीति करके आएंगे क्यों क्यों गिरा सकते तो भाग नहीं सकते थे क्या बना नहीं सकते थे क्या यह मुद्दा कोर्ट में जाना नहीं चाहिए और इसमें कुछ नहीं कर सकता यह मुद्दा कोट का ही हम दोनों जब मिल कर इस मुद्दे को उस दिन में एक बात ध्यान में रखने के लिए आपको मुस्लिम कि यह उनकी जिस दिन आपको साथ मिल गई उस दिन आप पॉलिटिक्स के मुंह पर बीजेपी हो या कांग्रेस हो दोनों वही काम करते हैं यह मुद्दा अपने का काम करते हैं यह हर एक मैटर पंजाबी रोजगार का बाकी बेरोजगारी है उसके बाद आपको महंगाई की बात है यह बातों को दागने के लिए दबाने के लिए दबाने के लिए यह राजनीति होती है इसलिए हम सब एक हो जाएं और मंदिर ही तो निर्माण करना है कोई बड़ी बात नहीं है जय हिंदRajneeti Ka Sabse Pehla Niyam Yeh Hota Hai Doston Ki Jaisi Praja Waisa Raja Rajneeti Ka Yeh Niyam Hota Hai Hum Log Aapas Mein Jhagadate Hum Log Aapas Mein Ladtey Hain To Log Hume Us Aate Hain Agar Hindu Muslim Dono Milkar Yeh Baat Ko Sulakar Ke Dono Log Aas Paas Mein Koi Ko Political Leader Ho Na Koi Ho Hum Dono Milkar Hindu Musalman Milkar Kabhi Yahan Par Mandir Ke Nirmaan Kar De To Vishesh Kripa Ho Jaye Unke Mooh Par Tamacha Lag Jayegi Lekin Aisa Hota Nahi Kyon Nahi Hota Lekin Aisa Hona Hi Chahiye Jis Din Aisa Ho Gaya Us Din Yeh Rajneeti Ki Politics Gaana Chahiye Nahi To Jhagda Chalta Hi Rahega Lekin Vivaadit Dhancha Giraya Tha Us Din Ki Baat Sochi Thi Rajneeti Karke Aayenge Kyon Kyon Gira Sakte To Bhag Nahi Sakte The Kya Bana Nahi Sakte The Kya Yeh Mudda Court Mein Jana Nahi Chahiye Aur Isme Kuch Nahi Kar Sakta Yeh Mudda Coat Ka Hi Hum Dono Jab Mil Kar Is Mudde Ko Us Din Mein Ek Baat Dhyan Mein Rakhne Ke Liye Aapko Muslim Ki Yeh Unki Jis Din Aapko Saath Mil Gayi Us Din Aap Politics Ke Mooh Par Bjp Ho Ya Congress Ho Dono Wahi Kaam Karte Hain Yeh Mudda Apne Ka Kaam Karte Hain Yeh Har Ek Matter Punjabi Rojgar Ka Baki Berojgari Hai Uske Baad Aapko Mahangai Ki Baat Hai Yeh Baaton Ko Dagne Ke Liye Dabane Ke Liye Dabane Ke Liye Yeh Rajneeti Hoti Hai Isliye Hum Sab Ek Ho Jayen Aur Mandir Hi To Nirmaan Karna Hai Koi Badi Baat Nahi Hai Jai Hind
Likes  7  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

राम मंदिर की वोट की राजनीति 90 के दशक से अगर आज संपर्क करो तो जरूर आपको कम दिखाई दोगी मांगू पुराना मंदिर खाटू बीजेपी के मेनिफेस्टो में जो 90 के दशक में टॉप पर हुआ करता था उसको भी आज नहीं पता चला है और लोग अब डेवलपमेंट के मुद्दे पर बीजेपी को वोट दे रहे हैं और BJP यह बात समझ रही है इसीलिए आज उनके टॉप पर काम देना लोगों को सडके बनाना यह सारे मुद्दे हैं ना कि राम मंदिर राम मंदिर भी अभी भी शुभ है बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो अभी भी उन सब चीजों पर ज्यादा महत्व देते हैं हम पूरी तरह से तड़प आएंगे कंडोम का असली दिवाली पॉलिटिक्स इस बात को दूसरे को वोट देना बंद कर देंगे और पॉलिटिक्स ऑफ़ इंडिया का आज तक सारी पार्टियों को मिलते एक सलूशन निकालने की कोशिश जारी है मुस्लिम समाज के लोगों पॉलिटिकल पार्टी नहीं मानते हैं जब आप सब मिलकर एक दूसरे को विवाद ना बनाएं चाहे लीला चाहे टूट गया फ्रॉम सुल्तानपुरी कॉल करके मान

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

राम मंदिर की वोट की राजनीति 90 के दशक से अगर आज संपर्क करो तो जरूर आपको कम दिखाई दोगी मांगू पुराना मंदिर खाटू बीजेपी के मेनिफेस्टो में जो 90 के दशक में टॉप पर हुआ करता था उसको भी आज नहीं पता चला है और लोग अब डेवलपमेंट के मुद्दे पर बीजेपी को वोट दे रहे हैं और BJP यह बात समझ रही है इसीलिए आज उनके टॉप पर काम देना लोगों को सडके बनाना यह सारे मुद्दे हैं ना कि राम मंदिर राम मंदिर भी अभी भी शुभ है बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो अभी भी उन सब चीजों पर ज्यादा महत्व देते हैं हम पूरी तरह से तड़प आएंगे कंडोम का असली दिवाली पॉलिटिक्स इस बात को दूसरे को वोट देना बंद कर देंगे और पॉलिटिक्स ऑफ़ इंडिया का आज तक सारी पार्टियों को मिलते एक सलूशन निकालने की कोशिश जारी है मुस्लिम समाज के लोगों पॉलिटिकल पार्टी नहीं मानते हैं जब आप सब मिलकर एक दूसरे को विवाद ना बनाएं चाहे लीला चाहे टूट गया फ्रॉम सुल्तानपुरी कॉल करके मानRam Mandir Ki Vote Ki Rajneeti 90 Ke Dashak Se Agar Aaj Sampark Karo To Jarur Aapko Kam Dikhai Dogi Maangu Purana Mandir Khatoo Bjp Ke Menifesto Mein Jo 90 Ke Dashak Mein Top Par Hua Karta Tha Usko Bhi Aaj Nahi Pata Chala Hai Aur Log Ab Development Ke Mudde Par Bjp Ko Vote De Rahe Hain Aur BJP Yeh Baat Samajh Rahi Hai Isliye Aaj Unke Top Par Kaam Dena Logon Ko Sadke Banana Yeh Sare Mudde Hain Na Ki Ram Mandir Ram Mandir Bhi Abhi Bhi Shubha Hai Bahut Sare Log Aise Bhi Hain Jo Abhi Bhi Un Sab Chijon Par Zyada Mahatva Dete Hain Hum Puri Tarah Se Tadap Aayenge Condom Ka Asli Diwali Politics Is Baat Ko Dusre Ko Vote Dena Band Kar Denge Aur Politics Of India Ka Aaj Tak Saree Partiyon Ko Milte Ek Salution Nikalne Ki Koshish Jaari Hai Muslim Samaaj Ke Logon Political Party Nahi Manate Hain Jab Aap Sab Milkar Ek Dusre Ko Vivad Na Banaye Chahe Leela Chahe Toot Gaya From Sultanpuri Call Karke Maan
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

राम मंदिर पर राजनीति तब तक चलती रहेगी जब तक लोगों के बीच में अवेयरनेस नहीं पहनेगी जब तक लोगों के बीच में बैठने से पहले की की है सिर्फ एक पॉलीटिकल जुमला है जो मैंने कस्टमर डाल दिया जाता है कि राम मंदिर बनाएंगे मंदिर वहीं बनेगा लोगों ने दिए जाते हैं जो कि हिंदू समुदाय को अट्रैक्ट करते हैं तो हमारे को उस समुदाय में एक अवेयरनेस लानी होगी कि यह सब जो है पॉलीटिकल जुमला है हमारा जो देश है जो एक हमारा संविधान है जो सेक्यूलर संविधान है उसकी समझ लोगों को देनी होगी कि चाहे मंदिर बने या मस्जिद हमार को ऐड द एंड ऑफ द डे सबको साथ मिलकर रहना है चाहे हिंदू और मुस्लिम मुस्लिम हो सिख हो जान हो कोई भी हो हमार को सबको साथ मिलकर रहना है और पहले हम भारतीय हैं उसके बाद हम हिंदू या मुसलमान तुझे तो यह भारतीय होने की एकता की भावना नहीं आएगी जब तक लोग आपस में धर्म के नाम पर बैठे रहेंगे तब तक यह जो राम मंदिर के नाम पर बाबरी मस्जिद के नाम पर जो बंटवारा है चलता रहेगा और यह कैसी चीज है जो मुगलों के जमाने से चली आ रही है आपको पता होगा कि औरंगजेब में जो है हिंदुओं के खिलाफ काफी टेंपल्स वगैरह डिस्ट्रॉय कराए फिर उन्होंने डिवाइड एंड रूल करा कम्युनलिज्म का जो सीन है वह आज भी पनप रहा है क्योंकि हमारे अंदर एक लाख ऑफ सेंस ऑफ यूनिटी है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

राम मंदिर पर राजनीति तब तक चलती रहेगी जब तक लोगों के बीच में अवेयरनेस नहीं पहनेगी जब तक लोगों के बीच में बैठने से पहले की की है सिर्फ एक पॉलीटिकल जुमला है जो मैंने कस्टमर डाल दिया जाता है कि राम मंदिर बनाएंगे मंदिर वहीं बनेगा लोगों ने दिए जाते हैं जो कि हिंदू समुदाय को अट्रैक्ट करते हैं तो हमारे को उस समुदाय में एक अवेयरनेस लानी होगी कि यह सब जो है पॉलीटिकल जुमला है हमारा जो देश है जो एक हमारा संविधान है जो सेक्यूलर संविधान है उसकी समझ लोगों को देनी होगी कि चाहे मंदिर बने या मस्जिद हमार को ऐड द एंड ऑफ द डे सबको साथ मिलकर रहना है चाहे हिंदू और मुस्लिम मुस्लिम हो सिख हो जान हो कोई भी हो हमार को सबको साथ मिलकर रहना है और पहले हम भारतीय हैं उसके बाद हम हिंदू या मुसलमान तुझे तो यह भारतीय होने की एकता की भावना नहीं आएगी जब तक लोग आपस में धर्म के नाम पर बैठे रहेंगे तब तक यह जो राम मंदिर के नाम पर बाबरी मस्जिद के नाम पर जो बंटवारा है चलता रहेगा और यह कैसी चीज है जो मुगलों के जमाने से चली आ रही है आपको पता होगा कि औरंगजेब में जो है हिंदुओं के खिलाफ काफी टेंपल्स वगैरह डिस्ट्रॉय कराए फिर उन्होंने डिवाइड एंड रूल करा कम्युनलिज्म का जो सीन है वह आज भी पनप रहा है क्योंकि हमारे अंदर एक लाख ऑफ सेंस ऑफ यूनिटी हैRam Mandir Par Rajneeti Tab Tak Chalti Rahegi Jab Tak Logon Ke Bich Mein Awareness Nahi Pahnegi Jab Tak Logon Ke Bich Mein Baithne Se Pehle Ki Ki Hai Sirf Ek Political Jumla Hai Jo Maine Customer Dal Diya Jata Hai Ki Ram Mandir Banayenge Mandir Wahin Banega Logon Ne Diye Jaate Hain Jo Ki Hindu Samuday Ko Attract Karte Hain To Hamare Ko Us Samuday Mein Ek Awareness Lani Hogi Ki Yeh Sab Jo Hai Political Jumla Hai Hamara Jo Desh Hai Jo Ek Hamara Samvidhan Hai Jo Secular Samvidhan Hai Uski Samajh Logon Ko Deni Hogi Ki Chahe Mandir Bane Ya Masjid Humaar Ko Aid The End Of The Day Sabko Saath Milkar Rehna Hai Chahe Hindu Aur Muslim Muslim Ho Sikh Ho Jaan Ho Koi Bhi Ho Humaar Ko Sabko Saath Milkar Rehna Hai Aur Pehle Hum Bharatiya Hain Uske Baad Hum Hindu Ya Musalman Tujhe To Yeh Bharatiya Hone Ki Ekta Ki Bhavna Nahi Aaegi Jab Tak Log Aapas Mein Dharm Ke Naam Par Baithey Rahenge Tab Tak Yeh Jo Ram Mandir Ke Naam Par Babari Masjid Ke Naam Par Jo Batwara Hai Chalta Rahega Aur Yeh Kaisi Cheez Hai Jo Mugalon Ke Jamaane Se Chali Aa Rahi Hai Aapko Pata Hoga Ki Aurangzeb Mein Jo Hai Hinduon Ke Khilaf Kafi Temples Vagairah Destroy Karae Phir Unhone Divide End Rule Kra Kamyunalijm Ka Jo Seen Hai Wah Aaj Bhi Panap Raha Hai Kyonki Hamare Andar Ek Lakh Of Sense Of Unity Hai
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

आज से कि हम सब जानते हैं क्या अयोध्या में राम मंदिर बनवाने की राजनीति बहुत सालों से चली आ रही है और हरिनाथ राजनीतिक पार्टियां कुछ ना कुछ इस पर अपनी टिप्पणी करते हैं या अपने कैंपेन या फिर अपनी जो चीजें होती हैं उनमें इस तरह का दिखाते हैं कि हम राम मंदिर बनवाएंगे या फिर हम बाबरी मस्जिद बनाएंगे और आप हमें वोट दीजिए और हमारे जो भोले-भाले लोग हैं जो वोट दें और जो ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं है तो वह लोग यही सोचते हैं कि हां चाहिए पार्टी कह रही है वह यह काम जरूर करेगी और हिंदुत्व को बढ़ावा देकर और राम मंदिर बनवाएंगे तो जिसकी वजह से वह वोट देते हैं उनको और आगे चलकर जब पता चलता है तो कुछ भी नहीं होता क्योंकि हम सभी जानते हैं कि जो राम मंदिर बनवाना ना बनवाना किसी पार्टी के हाथ में बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि यह जो फैसला है यह सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है और जो भी जजमेंट होगा वह सुप्रीम कोर्ट के जज देंगे ना कि कोई पॉलिटिकल पार्टी और जो पोलिटिकल पार्टीज होती है वह अपना सुप्रीम कोर्ट पर अपना कोई भी जजमेंट देने के लिए फोर्स नहीं कर सकती है सिर्फ ग्रुप दिखा सकती है कुछ चीजें बता सकती है बाकी हर कोई जजमेंट सुप्रीम कोर्ट का ही रहेगा तो इसमें जो राजनीति चल रही है वह सिर्फ उन्हीं लोगों के ऊपर चल पाती है जो लोग पढ़े-लिखे नहीं है और यह मेरे सबसे तब तक चलती रहेगी जब तक हमारे देश में पढ़ा लिखा हर इंसान नहीं हो पाएगा क्योंकि लोगों को पता ही नहीं है कि इसमें पोलिटिकल पार्टीज कुछ नहीं कर सकती है सिर्फ सुप्रीम कोर्ट कर सकता है और उसी का जजमेंट फाइनल बाइंडिंग होगा कि वहां पर राम मंदिर बनेगा या नहीं बनेगा तो जो पोलिटिकल पार्टीज करती है वोट लेने के लिए और जो लोगों को मुझसे हिंदू मुसलमान के नाम पर विभाजित कर देती है वोट मांगती हैं विभूति गलत है और यह बहुत दिनों से चला आ रहा है और जब तक राम मंदिर में कोई फैसला नहीं आ जाएगा यह चलता ही रहेगा

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

आज से कि हम सब जानते हैं क्या अयोध्या में राम मंदिर बनवाने की राजनीति बहुत सालों से चली आ रही है और हरिनाथ राजनीतिक पार्टियां कुछ ना कुछ इस पर अपनी टिप्पणी करते हैं या अपने कैंपेन या फिर अपनी जो चीजें होती हैं उनमें इस तरह का दिखाते हैं कि हम राम मंदिर बनवाएंगे या फिर हम बाबरी मस्जिद बनाएंगे और आप हमें वोट दीजिए और हमारे जो भोले-भाले लोग हैं जो वोट दें और जो ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं है तो वह लोग यही सोचते हैं कि हां चाहिए पार्टी कह रही है वह यह काम जरूर करेगी और हिंदुत्व को बढ़ावा देकर और राम मंदिर बनवाएंगे तो जिसकी वजह से वह वोट देते हैं उनको और आगे चलकर जब पता चलता है तो कुछ भी नहीं होता क्योंकि हम सभी जानते हैं कि जो राम मंदिर बनवाना ना बनवाना किसी पार्टी के हाथ में बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि यह जो फैसला है यह सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है और जो भी जजमेंट होगा वह सुप्रीम कोर्ट के जज देंगे ना कि कोई पॉलिटिकल पार्टी और जो पोलिटिकल पार्टीज होती है वह अपना सुप्रीम कोर्ट पर अपना कोई भी जजमेंट देने के लिए फोर्स नहीं कर सकती है सिर्फ ग्रुप दिखा सकती है कुछ चीजें बता सकती है बाकी हर कोई जजमेंट सुप्रीम कोर्ट का ही रहेगा तो इसमें जो राजनीति चल रही है वह सिर्फ उन्हीं लोगों के ऊपर चल पाती है जो लोग पढ़े-लिखे नहीं है और यह मेरे सबसे तब तक चलती रहेगी जब तक हमारे देश में पढ़ा लिखा हर इंसान नहीं हो पाएगा क्योंकि लोगों को पता ही नहीं है कि इसमें पोलिटिकल पार्टीज कुछ नहीं कर सकती है सिर्फ सुप्रीम कोर्ट कर सकता है और उसी का जजमेंट फाइनल बाइंडिंग होगा कि वहां पर राम मंदिर बनेगा या नहीं बनेगा तो जो पोलिटिकल पार्टीज करती है वोट लेने के लिए और जो लोगों को मुझसे हिंदू मुसलमान के नाम पर विभाजित कर देती है वोट मांगती हैं विभूति गलत है और यह बहुत दिनों से चला आ रहा है और जब तक राम मंदिर में कोई फैसला नहीं आ जाएगा यह चलता ही रहेगाAaj Se Ki Hum Sab Jante Hain Kya Ayodhya Mein Ram Mandir Banwane Ki Rajneeti Bahut Salon Se Chali Aa Rahi Hai Aur Harinath Raajnitik Partyian Kuch Na Kuch Is Par Apni Tippani Karte Hain Ya Apne Campaign Ya Phir Apni Jo Cheezen Hoti Hain Unmen Is Tarah Ka Dikhate Hain Ki Hum Ram Mandir Banvaye Ya Phir Hum Babari Masjid Banayenge Aur Aap Hume Vote Dijiye Aur Hamare Jo Bhole Bhale Log Hain Jo Vote Dein Aur Jo Zyada Padhe Likhe Nahi Hai To Wah Log Yahi Sochte Hain Ki Haan Chahiye Party Keh Rahi Hai Wah Yeh Kaam Jarur Karegi Aur Hindutva Ko Badhawa Dekar Aur Ram Mandir Banvaye To Jiski Wajah Se Wah Vote Dete Hain Unko Aur Aage Chalkar Jab Pata Chalta Hai To Kuch Bhi Nahi Hota Kyonki Hum Sabhi Jante Hain Ki Jo Ram Mandir Banwana Na Banwana Kisi Party Ke Hath Mein Bilkul Bhi Nahi Hai Kyonki Yeh Jo Faisla Hai Yeh Supreme Court Mein Chal Raha Hai Aur Jo Bhi Judgement Hoga Wah Supreme Court Ke Judge Denge Na Ki Koi Political Party Aur Jo Political Parties Hoti Hai Wah Apna Supreme Court Par Apna Koi Bhi Judgement Dene Ke Liye Force Nahi Kar Sakti Hai Sirf Group Dikha Sakti Hai Kuch Cheezen Bata Sakti Hai Baki Har Koi Judgement Supreme Court Ka Hi Rahega To Isme Jo Rajneeti Chal Rahi Hai Wah Sirf Unhin Logon Ke Upar Chal Pati Hai Jo Log Padhe Likhe Nahi Hai Aur Yeh Mere Sabse Tab Tak Chalti Rahegi Jab Tak Hamare Desh Mein Padha Likha Har Insaan Nahi Ho Payega Kyonki Logon Ko Pata Hi Nahi Hai Ki Isme Political Parties Kuch Nahi Kar Sakti Hai Sirf Supreme Court Kar Sakta Hai Aur Ussi Ka Judgement Final Binding Hoga Ki Wahan Par Ram Mandir Banega Ya Nahi Banega To Jo Political Parties Karti Hai Vote Lene Ke Liye Aur Jo Logon Ko Mujhse Hindu Musalman Ke Naam Par Vibhajit Kar Deti Hai Vote Mangati Hain Vibhooti Galat Hai Aur Yeh Bahut Dinon Se Chala Aa Raha Hai Aur Jab Tak Ram Mandir Mein Koi Faisla Nahi Aa Jayega Yeh Chalta Hi Rahega
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

अयोध्या में राम मंदिर बनवाने के लिए कोई भी राजनीति नहीं हो रही है अगर आप लोग यह कहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी अयोध्या मंदिर के लिए भगवान राम मंदिर के भगवान राम के मंदिर के लिए राजनीति कर रही थी करती है तो यह गलत बात है क्योंकि यही बाबर के द्वारा जो विवादित ढांचा बनाया गया था भगवान श्री राम के मंदिर के ऊपर तोड़कर यही भारतीय जनता पार्टी है कल्याण सिंह के शासनकाल में सन 1992 में इस विवादित ढांचे को गिराया गया उसके बाद कल्याण सिंह ने इस्तीफा दिया उसके बाद यही हिंदू हैं जिन्होंने उनको वोट नहीं दिया हिंदुत्व की बात थी उस समय क्या होता है और क्या चाहिए था हिंदुओं को पूर्ण बहुमत से उनको जीत आना चाहिए था यही भारतीय जनता पार्टी है जिसने इतनी बड़ी कुर्बानी दी है हमारे हिंदुत्व के लिए अगर आप लोग कह रहे हैं कि मोदी जी आप भारतीय जनता पार्टी राजनीति कर रही है तो राजनीति भारतीय जनता पार्टी नहीं कर रही है घबराने की जरूरत नहीं है राम मंदिर बनेगा जैसे हम लोग बाबर के द्वारा बनाया हुआ विवादित ढांचा गिरा दिए वैसे ही राम मंदिर भी बनेगा और बिना बताए बनेगा बिना फैसले के बनेगा सुप्रीम कोर्ट के लेकिन बनेगा थोड़े से थोड़ी सी शब्द की जरूरत है सभी लोग थोड़ा सा सब्र करें और मंदिर भी बनाएंगे प्रधानमंत्री मोदी जी धन्यवाद
अयोध्या में राम मंदिर बनवाने के लिए कोई भी राजनीति नहीं हो रही है अगर आप लोग यह कहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी अयोध्या मंदिर के लिए भगवान राम मंदिर के भगवान राम के मंदिर के लिए राजनीति कर रही थी करती है तो यह गलत बात है क्योंकि यही बाबर के द्वारा जो विवादित ढांचा बनाया गया था भगवान श्री राम के मंदिर के ऊपर तोड़कर यही भारतीय जनता पार्टी है कल्याण सिंह के शासनकाल में सन 1992 में इस विवादित ढांचे को गिराया गया उसके बाद कल्याण सिंह ने इस्तीफा दिया उसके बाद यही हिंदू हैं जिन्होंने उनको वोट नहीं दिया हिंदुत्व की बात थी उस समय क्या होता है और क्या चाहिए था हिंदुओं को पूर्ण बहुमत से उनको जीत आना चाहिए था यही भारतीय जनता पार्टी है जिसने इतनी बड़ी कुर्बानी दी है हमारे हिंदुत्व के लिए अगर आप लोग कह रहे हैं कि मोदी जी आप भारतीय जनता पार्टी राजनीति कर रही है तो राजनीति भारतीय जनता पार्टी नहीं कर रही है घबराने की जरूरत नहीं है राम मंदिर बनेगा जैसे हम लोग बाबर के द्वारा बनाया हुआ विवादित ढांचा गिरा दिए वैसे ही राम मंदिर भी बनेगा और बिना बताए बनेगा बिना फैसले के बनेगा सुप्रीम कोर्ट के लेकिन बनेगा थोड़े से थोड़ी सी शब्द की जरूरत है सभी लोग थोड़ा सा सब्र करें और मंदिर भी बनाएंगे प्रधानमंत्री मोदी जी धन्यवाद
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

राम मंदिर इश्यू भारत का ऐसा मुद्दा है जो राजनीति मामलों करवा देता है राम मंदिर मस्जिद और लोगों की आस पूरे हिंदुस्तान बिहार के लोग जुड़े हुए मस्जिद बनी पर जो राजनीतिक दल है जबकि रोटियां सेकते हिंदू-मुस्लिम को बड़वानी की सुन मेरी अपनी एक निजी राय है मंदिर मध्य भारत में बहुत है हर जगह है क्या भारत में विदेश की तरफ से हॉस्पिटल में या विदेश की तर्ज पर स्कूल अगर अयोध्या में राम मंदिर की जगह लड़का सब वर्ल्ड की संसार की सबसे अच्छी यूनिवर्सिटी बन जाए और क्या गलत की जगह पर संसार का सबसे अच्छा हॉस्पिटल हो जाए तो क्या गलत है यह चीज एक ऐसी हैं की दुआ तू ही दुआ में मंदिर मस्जिद भारत में हर जगह पर लोगों की आस्था भी मंदिर मस्जिद मंदिर मस्जिद नहीं है पर क्या विवाद है वह विवाह ऐसा कर दिया जाए श्रीनिवास भारत और भारत और मजबूत होती है
राम मंदिर इश्यू भारत का ऐसा मुद्दा है जो राजनीति मामलों करवा देता है राम मंदिर मस्जिद और लोगों की आस पूरे हिंदुस्तान बिहार के लोग जुड़े हुए मस्जिद बनी पर जो राजनीतिक दल है जबकि रोटियां सेकते हिंदू-मुस्लिम को बड़वानी की सुन मेरी अपनी एक निजी राय है मंदिर मध्य भारत में बहुत है हर जगह है क्या भारत में विदेश की तरफ से हॉस्पिटल में या विदेश की तर्ज पर स्कूल अगर अयोध्या में राम मंदिर की जगह लड़का सब वर्ल्ड की संसार की सबसे अच्छी यूनिवर्सिटी बन जाए और क्या गलत की जगह पर संसार का सबसे अच्छा हॉस्पिटल हो जाए तो क्या गलत है यह चीज एक ऐसी हैं की दुआ तू ही दुआ में मंदिर मस्जिद भारत में हर जगह पर लोगों की आस्था भी मंदिर मस्जिद मंदिर मस्जिद नहीं है पर क्या विवाद है वह विवाह ऐसा कर दिया जाए श्रीनिवास भारत और भारत और मजबूत होती है
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Ayodhya Mein Ram Mandir Banwane Ke Liye Kab Tak Vote Ki Rajneeti Chalti Rahegi ?





मन में है सवाल?