राहुल गांधी जी कैसे नेता है इन की बातों को लोग मज़ाक मे क्यों लेते है ? ...

Likes  0  Dislikes

4 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
राहुल गांधी जी एक अपरिपक्व को देता है जिन्हें कांग्रेस पार्टी ने तब प्रजेंट किया जब जनता कांग्रेस से बहुत ज्यादा परेशान हो गई थी मुझे लगता है कि अगर उन्हें थोड़ा पहले रिजल्ट करती जनता के सामने चाय वाले की वह अपरिपक्व रहे थे उस समय भी लेकिन जब जनता का बहुत ज्यादा गुस्सा था कांग्रेस के प्रति तो राहुल गांधी को प्रजेंट करना और उनकी इस तरह की बातें और इन तरह की जो समाज से हटके हैं या जो समाज के बीच में अपनी जगह नहीं बना पा रही है अपनी बातें जैसे कुछ बातें बहुत लॉजिकल करते हैं या वह कभी विकास की बातें नहीं करते वही बातें करते जो 1974 में इंदिरा गांधी जी करती थी SIM बातों को भी दोहराते हैं तो इस तरह की बातें करने से क्या है कांग्रेस में उनकी छवि जो जिस तरह की होनी चाहिए तुझे सोनिया गांधी जब आई थी तो तुरंत के तुरंत सोनिया गांधी ने आते ही वह एक तरह से पूरा रूलिंग पार्टी संभाल ली थी और पूरे कपूर कांग्रेस पार्टी को वर्कर लिया था वैसे की इमेज राहुल जी की उम्मीद करते हैं राहुल गांधी सुधरेंगे क्योंकि एक मजबूत विपक्ष होना बहुत आवश्यक है प्रधानमंत्री मोदी जी की टक्कर में तो मुझे लगता नहीं है अभी कुछ है क्योंकि मोदी जी तो शायद अगले चुनाव में सन 2019 में बहुत आसानी से जीत जाएंगे क्योंकि अभी सामने कोई वक्त नहीं है सारे विपक्षी खत्म कर दिया है लेकिन मुझे लगता है कि विपक्ष अच्छा होना चाहिए मजबूत विपक्ष नहीं होगा तब तक सरकार है मनमाना कार्य करती रहेंगी चाहे वह कैसी भी सरकार हो और हमारे जो लोग हमें आजादी चलाते को शहीद हो गए और लोगों ने लोकतंत्र मांगा था लोकतंत्र में एक रूलिंग पार्टी हो तो एक अपोजीशन पार्टी भी हो हर चीज में पूछना करें लेकिन ऐट लीस्ट मनमानी चीजों में तो पूछ करना क्यों जरूरी है तो उम्मीद करेंगे राहुल गांधी ठीक थोड़ा सा मैच्योरिटी वाली बातें करें थोड़ा 2018 के लिए कल की बातें करें और उनकी बातों को मजाक बना लिए थे इस तरह की बातें करें थैंक्यूRahul Gandhi Ji Ek Ko Deta Hai Jinhen Congress Party Ne Tab Present Kiya Jab Janta Congress Se Bahut Jyada Pareshan Ho Gayi Thi Mujhe Lagta Hai Ki Agar Unhen Thoda Pehle Result Karti Janta Ke Samane Chai Wale Ki Wah Rahe The Us Samay Bhi Lekin Jab Janta Ka Bahut Jyada Gussa Tha Congress Ke Prati To Rahul Gandhi Ko Present Karna Aur Unki Is Tarah Ki Batein Aur In Tarah Ki Jo Samaaj Se Hatake Hain Ya Jo Samaaj Ke Bich Mein Apni Jagah Nahi Bana Pa Rahi Hai Apni Batein Jaise Kuch Batein Bahut Logical Karte Hain Ya Wah Kabhi Vikash Ki Batein Nahi Karte Wahi Batein Karte Jo 1974 Mein Indira Gandhi Ji Karti Thi SIM Baaton Ko Bhi Hain To Is Tarah Ki Batein Karne Se Kya Hai Congress Mein Unki Chawi Jo Jis Tarah Ki Honi Chahiye Tujhe Sonia Gandhi Jab Eye Thi To Turant Ke Turant Sonia Gandhi Ne Aate Hi Wah Ek Tarah Se Pura Party Sambhaal Lee Thi Aur Poore Kapur Congress Party Ko Worker Liya Tha Waise Ki Image Rahul Ji Ki Ummid Karte Hain Rahul Gandhi Sudhrenge Kyonki Ek Mazboot Vipaksh Hona Bahut Aavashyak Hai Pradhanmantri Modi Ji Ki Takkar Mein To Mujhe Lagta Nahi Hai Abhi Kuch Hai Kyonki Modi Ji To Shayad Agle Chunav Mein Sun 2019 Mein Bahut Aasani Se Jeet Jaenge Kyonki Abhi Samane Koi Waqt Nahi Hai Sare Vipakshi Khatam Kar Diya Hai Lekin Mujhe Lagta Hai Ki Vipaksh Accha Hona Chahiye Mazboot Vipaksh Nahi Hoga Tab Tak Sarkar Hai Karya Karti Rahengi Chahe Wah Kaisi Bhi Sarkar Ho Aur Hamare Jo Log Hume Azadi Chalte Ko Shahid Ho Gaye Aur Logon Ne Loktantra Manga Tha Loktantra Mein Ek Party Ho To Ek Party Bhi Ho Har Cheez Mein Poochna Karen Lekin At Manmani Chijon Mein To Pooch Karna Kyon Zaroori Hai To Ummid Karenge Rahul Gandhi Theek Thoda Sa Wali Batein Karen Thoda 2018 Ke Liye Kal Ki Batein Karen Aur Unki Baaton Ko Mazak Bana Liye The Is Tarah Ki Batein Karen
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी की बातों को लोग मजाक में इसलिए लेते हैं और कैसे नेता है इस बारे में आपको मैं पहले यह बताना चाहूंगी कि पहले वहां के लोगों को लोगों की बातों को मजाक में क्यों लेते हैं उसका कारण यह है कि राहुल गांधी जी ने स्पीच देते समय बहुत बात कुछ ऐसी चीजें बोली है जो कि बहुत ही बेतुकी थी और एक कॉमन इंसान अपने कॉमन सेंस से भी उसका चीज को सही बोल सकता है लेकिन राहुल गांधी जी ने उनको बहुत ही गलत तरह से दर्शाया और बोला उसके अलावा कई बार ऐसा हुआ है जब राहुल गांधी जी ने एक बेसिक चीज है कि आलू पेड़ के ऊपर उठता है कि वह जमीन के अंदर उठता है ऐसी चीजें भी गलत बोली है क्योंकि उनको पता ही नहीं था कि उसको कैसे उगाया जाता है उसे कैसे करा जाता है उसकी फसल तू ऐसी चीज है जो वह बोलते थे तो लोगों ने उनकी इतना मजाक उड़ा गया है और उनकी बातों को इतना यहां फ्लाइट लेना शुरू कर दिया है कि कोई उनकी बातों को सीरियसली ले लेता ही नहीं है और अगर यह बात की सेटिंग कैसे लेता है तू जब तक की राजनीति में हमने जो देखा है वह यही देखा है कि राहुल गांधी जी ऑन एक्सपीरियंस टेंशन है उनको राजनीति के बारे में ज्यादा नॉलेज नहीं है और ठीक है वह पढ़े लिखे हैं और अच्छी-अच्छी यूनिवर्सिटी से उनकी पढ़ाई हुई है और वह काफी अच्छे हाइली क्वालिफाइड पर्सन है लेकिन क्वालिफिकेशन होना और एक्सपीरियंस होना बहुत ही अलग अलग चीज है उनको भारत की राजनीति का ज्यादा पता नहीं है और उनकी पढ़ाई भी देश से बाहर हुई है तू उनको भारत की स्थिति के बारे में भी ज्यादा नहीं पता है तो एक आम आदमी की जरूरत है होती है वह उसको नहीं जान पाते हैं जिसकी वजह से वह एक अच्छे नेता नहीं चला पाते हैं और काफी चीजें उनके अंदर जो नेता में होनी चाहिए वह नहीं है तो जिसकी वजह से लोगों को ज्यादा पसंद नहीं करते हैं और ना ही उनको वोट मिलते हैं ज्यादा जब और उनकी रिलीस भी होती है तो वहां पर सिर्फ कांग्रेस के लोग ही आपको देखने को मिलते हैं आम जनता बहुत ही कम आती है तो इसी वजह से लोग उनका मजाक उड़ाते हैं और उन्हें अच्छा नेता नहीं मानतेCongress Adhyaksh Rahul Gandhi Ji Ki Baaton Ko Log Mazak Mein Isliye Lete Hain Aur Kaise Neta Hai Is Bare Mein Aapko Main Pehle Yeh Batana Ki Pehle Wahan Ke Logon Ko Logon Ki Baaton Ko Mazak Mein Kyon Lete Hain Uska Kaaran Yeh Hai Ki Rahul Gandhi Ji Ne Speech Dete Samay Bahut Baat Kuch Aisi Cheezen Boli Hai Jo Ki Bahut Hi Betuki Thi Aur Ek Common Insaan Apne Common Sense Se Bhi Uska Cheez Ko Sahi Bol Sakta Hai Lekin Rahul Gandhi Ji Ne Unko Bahut Hi Galat Tarah Se Darshaya Aur Bola Uske Alava Kai Bar Aisa Hua Hai Jab Rahul Gandhi Ji Ne Ek Basic Cheez Hai Ki Aalu Ped Ke Upar Uthata Hai Ki Wah Jameen Ke Andar Uthata Hai Aisi Cheezen Bhi Galat Boli Hai Kyonki Unko Pata Hi Nahi Tha Ki Usko Kaise Ugaya Jata Hai Use Kaise Kra Jata Hai Uski Phasal Tu Aisi Cheez Hai Jo Wah Bolte The To Logon Ne Unki Itna Mazak Uda Gaya Hai Aur Unki Baaton Ko Itna Yahan Flight Lena Shuru Kar Diya Hai Ki Koi Unki Baaton Ko Le Leta Hi Nahi Hai Aur Agar Yeh Baat Ki Setting Kaise Leta Hai Tu Jab Tak Ki Rajneeti Mein Humne Jo Dekha Hai Wah Yahi Dekha Hai Ki Rahul Gandhi Ji On Experience Tension Hai Unko Rajneeti Ke Bare Mein Jyada Knowledge Nahi Hai Aur Theek Hai Wah Padhe Likhe Hain Aur Acchi Acchi University Se Unki Padhai Hui Hai Aur Wah Kafi Acche Qualified Person Hai Lekin Qualification Hona Aur Experience Hona Bahut Hi Alag Alag Cheez Hai Unko Bharat Ki Rajneeti Ka Jyada Pata Nahi Hai Aur Unki Padhai Bhi Desh Se Bahar Hui Hai Tu Unko Bharat Ki Sthiti Ke Bare Mein Bhi Jyada Nahi Pata Hai To Ek Aam Aadmi Ki Zaroorat Hai Hoti Hai Wah Usko Nahi Jaan Paate Hain Jiski Wajah Se Wah Ek Acche Neta Nahi Chala Paate Hain Aur Kafi Cheezen Unke Andar Jo Neta Mein Honi Chahiye Wah Nahi Hai To Jiski Wajah Se Logon Ko Jyada Pasand Nahi Karte Hain Aur Na Hi Unko Vote Milte Hain Jyada Jab Aur Unki Rilis Bhi Hoti Hai To Wahan Par Sirf Congress Ke Log Hi Aapko Dekhne Ko Milte Hain Aam Janta Bahut Hi Kam Aati Hai To Isi Wajah Se Log Unka Mazak Udate Hain Aur Unhen Accha Neta Nahi Manate
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए राहुल गांधी जी कैसे लेता है इस बात पर मैं यही कहना चाहूंगी कि वह अभी अच्छे नेता बन रहे हैं क्योंकि गुजरात चुनाव में अगर हाल ही में देखे तो वह कौन थी कॉन्फ्रेंस दिखाई दिए गए लेकिन फिर भी आकर पूरी हिस्ट्री राहुल गांधी की देखी तो वह इतने स्ट्रांग नहीं है और डिसिशन मेकिंग नहीं है अच्छा और मेन बात तो यह है कि आजकल निडर वह सॉन्ग नहीं है लेकिन कभी कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया गया है बट फिर भी हम यह नहीं कह सकते कि वो कितने अच्छे से कांग्रेस को संभाल लेंगे हालांकि उनके पीछे बहुत बड़े-बड़े लोगों का हाथ है मिथुन की मां बन सकती है फिर भी रहे तुम्हारी वजह से किसी राहुल गांधी जी मैं तो भाषण भी कभी पढ़ कर सुनाते हैं ऐसा नहीं सुनता है ना आप अगर पूरे देश को संभालने वाले हैं जनता को संभालने वाली उसके लीडर JCB पेपर का पाकेट में हो तो वह फोन नहीं है वह काफी है जगह पर थूकते हैं काफी जगह पर फोन को उनके जो मतलब अभी वह एक बड़े नेता है जिसके हम कहते हैं कि अगर कोई बड़ा सेलिब्रिटी हो तो ऐसा ही क्यों ना हो ना उनको मतलब बाहर पब्लिक प्लेस में 4:00 बजे टाइम इन को सिक्योरिटी रखनी पड़ती है कि राहुल गांधी जी है उनको बाकी लोगों को लखत क्या अर्थ के बारे में सूचना चाहिए कुछ बोल थोड़ी ना अपनी प्रदूषण को लेकर कैसे बर्ताव करना चाहिए उन्हें मालूम होना चाहिए तू इसलिए लोग उनका वाला मजाक उड़ाते हैं हलाकि अभी बहुत सिंसियर हो रहे हैं यह बात सच हैDekhie Rahul Gandhi Ji Kaise Leta Hai Is Baat Par Main Yahi Kehna Ki Wah Abhi Acche Neta Ban Rahe Hain Kyonki Gujarat Chunav Mein Agar Haal Hi Mein Dekhe To Wah Kaun Thi Conference Dikhai Diye Gaye Lekin Phir Bhi Aakar Puri History Rahul Gandhi Ki Dekhi To Wah Itne Strong Nahi Hai Aur Decision Making Nahi Hai Accha Aur Main Baat To Yeh Hai Ki Aajkal Nidar Wah Song Nahi Hai Lekin Kabhi Congress Ka Adhyaksh Bana Diya Gaya Hai But Phir Bhi Hum Yeh Nahi Keh Sakte Ki Vo Kitne Acche Se Congress Ko Sambhaal Lenge Halanki Unke Piche Bahut Bade Bade Logon Ka Hath Hai Mithun Ki Maa Ban Sakti Hai Phir Bhi Rahe Tumhari Wajah Se Kisi Rahul Gandhi Ji Main To Bhashan Bhi Kabhi Padh Kar Hain Aisa Nahi Sunta Hai Na Aap Agar Poore Desh Ko Sambhalne Wale Hain Janta Ko Sambhalne Wali Uske Leader JCB Paper Ka Mein Ho To Wah Phone Nahi Hai Wah Kafi Hai Jagah Par Thookte Hain Kafi Jagah Par Phone Ko Unke Jo Matlab Abhi Wah Ek Bade Neta Hai Jiske Hum Kehte Hain Ki Agar Koi Bada Celebrity Ho To Aisa Hi Kyon Na Ho Na Unko Matlab Bahar Public Place Mein 4:00 Baje Time In Ko Security Rakhni Padhti Hai Ki Rahul Gandhi Ji Hai Unko Baki Logon Ko Kya Arth Ke Bare Mein Soochna Chahiye Kuch Bol Thodi Na Apni Pradushan Ko Lekar Kaise Bartaav Karna Chahiye Unhen Maloom Hona Chahiye Tu Isliye Log Unka Wala Mazak Udate Hain Abhi Bahut Ho Rahe Hain Yeh Baat Sach Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


राहुल गांधी की बातों को मजाक में क्यों नहीं आता क्या कुछ तो ऐसी बातें हैं जो कि वहां से उस पर बातें करते हैं तो लोग उसका मजाक उड़ाते हैं या फिर मजाक में उसकी बातों को लेते हैं लेकिन सिर्फ और सिर्फ उसी के वजह से आज हमारे समाज में हुए सामान में राहुल गांधी का मजाक कर रहा है ऐसी बात नहीं है कहना कि वह जितनी सच्चाई वहां से संवाद जितना सब बोलते हैं अगर वह 10% बोलते हैं तो उसका 10 गुना करके हमारे समाज में प्रस्तुत क्या होता है रूप प्रस्तुत करने वाले और कोई नहीं बल्कि हम आप और बाकी सब जितने भी समाज के लोग हैं सभी लोग हैं वह कैसे करते हैं इस Facebook को WhatsApp पर फोटो को शेयर करें फॉरवर्ड करते हैं दूसरे को तरस से कोई अगर बड़े लोग चार बड़े लोग राहुल गांधी की बातों को बोल रहे हैं आजकल बातों को क्या हमारे आस पास के बच्चे 911 जो भी है सब सुनते हैं दूसरे को पलटकर नहीं बात बताते हैं दूसरे को अपने दोस्तों को से पार्टियों को इससे क्या होता है हमारे पूरे समाज में यह बातें फैल जाती है कल वही बच्चे बड़े होंगे उसके मन में यह शहर में बैठ चुका है कि राहुल गांधी कॉमेडियन है बात करते हैं तो क्या यह फोटो तो जाते हुए उसके मन में बैठ चुका है तू यह राहुल गांधी की हकीकत को 10 गुना बढ़ा चढ़ाकर करते हैं बात को तो इसी कारण से राहुल गांधी की बातों को मजाक हिंदी आता है ऐसे नहीं ऐसी बात नहीं है कि सिर्फ और सिर्फ मुझे बोलते हैं इसी वजह से मजाक बन चुके हैं ऐसी बात नहीं है हमारा समाज उसे मजाक बना चुका है परेशानी होना चाहिए अमित करते हैं वह लाल मंदिर बेहतर नेता बने हुए युवा है और हमारे देश को युवा नेता की जरूरत है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

राहुल गांधी की बातों को मजाक में क्यों नहीं आता क्या कुछ तो ऐसी बातें हैं जो कि वहां से उस पर बातें करते हैं तो लोग उसका मजाक उड़ाते हैं या फिर मजाक में उसकी बातों को लेते हैं लेकिन सिर्फ और सिर्फ उसी के वजह से आज हमारे समाज में हुए सामान में राहुल गांधी का मजाक कर रहा है ऐसी बात नहीं है कहना कि वह जितनी सच्चाई वहां से संवाद जितना सब बोलते हैं अगर वह 10% बोलते हैं तो उसका 10 गुना करके हमारे समाज में प्रस्तुत क्या होता है रूप प्रस्तुत करने वाले और कोई नहीं बल्कि हम आप और बाकी सब जितने भी समाज के लोग हैं सभी लोग हैं वह कैसे करते हैं इस Facebook को WhatsApp पर फोटो को शेयर करें फॉरवर्ड करते हैं दूसरे को तरस से कोई अगर बड़े लोग चार बड़े लोग राहुल गांधी की बातों को बोल रहे हैं आजकल बातों को क्या हमारे आस पास के बच्चे 911 जो भी है सब सुनते हैं दूसरे को पलटकर नहीं बात बताते हैं दूसरे को अपने दोस्तों को से पार्टियों को इससे क्या होता है हमारे पूरे समाज में यह बातें फैल जाती है कल वही बच्चे बड़े होंगे उसके मन में यह शहर में बैठ चुका है कि राहुल गांधी कॉमेडियन है बात करते हैं तो क्या यह फोटो तो जाते हुए उसके मन में बैठ चुका है तू यह राहुल गांधी की हकीकत को 10 गुना बढ़ा चढ़ाकर करते हैं बात को तो इसी कारण से राहुल गांधी की बातों को मजाक हिंदी आता है ऐसे नहीं ऐसी बात नहीं है कि सिर्फ और सिर्फ मुझे बोलते हैं इसी वजह से मजाक बन चुके हैं ऐसी बात नहीं है हमारा समाज उसे मजाक बना चुका है परेशानी होना चाहिए अमित करते हैं वह लाल मंदिर बेहतर नेता बने हुए युवा है और हमारे देश को युवा नेता की जरूरत हैRahul Gandhi Ki Baaton Ko Mazak Mein Kyon Nahi Aata Kya Kuch To Aisi Batein Hain Jo Ki Wahan Se Us Par Batein Karte Hain To Log Uska Mazak Udate Hain Ya Phir Mazak Mein Uski Baaton Ko Lete Hain Lekin Sirf Aur Sirf Ussi Ke Wajah Se Aaj Hamare Samaaj Mein Huye Saamaan Mein Rahul Gandhi Ka Mazak Kar Raha Hai Aisi Baat Nahi Hai Kehna Ki Wah Jitni Sacchai Wahan Se Sanvaad Jitna Sab Bolte Hain Agar Wah 10% Bolte Hain To Uska 10 Guna Karke Hamare Samaaj Mein Prastut Kya Hota Hai Roop Prastut Karne Wale Aur Koi Nahi Balki Hum Aap Aur Baki Sab Jitne Bhi Samaaj Ke Log Hain Sabhi Log Hain Wah Kaise Karte Hain Is Facebook Ko WhatsApp Par Photo Ko Share Karen Forward Karte Hain Dusre Ko Taras Se Koi Agar Bade Log Char Bade Log Rahul Gandhi Ki Baaton Ko Bol Rahe Hain Aajkal Baaton Ko Kya Hamare Aas Paas Ke Bacche 911 Jo Bhi Hai Sab Sunte Hain Dusre Ko Nahi Baat Batatey Hain Dusre Ko Apne Doston Ko Se Partiyon Ko Isse Kya Hota Hai Hamare Poore Samaaj Mein Yeh Batein Fail Jati Hai Kal Wahi Bacche Bade Honge Uske Man Mein Yeh Sheher Mein Baith Chuka Hai Ki Rahul Gandhi Comedian Hai Baat Karte Hain To Kya Yeh Photo To Jaate Huye Uske Man Mein Baith Chuka Hai Tu Yeh Rahul Gandhi Ki Haqiqat Ko 10 Guna Badha Karte Hain Baat Ko To Isi Kaaran Se Rahul Gandhi Ki Baaton Ko Mazak Hindi Aata Hai Aise Nahi Aisi Baat Nahi Hai Ki Sirf Aur Sirf Mujhe Bolte Hain Isi Wajah Se Mazak Ban Chuke Hain Aisi Baat Nahi Hai Hamara Samaaj Use Mazak Bana Chuka Hai Pareshani Hona Chahiye Amit Karte Hain Wah Lal Mandir Behtar Neta Bane Huye Yuva Hai Aur Hamare Desh Ko Yuva Neta Ki Zaroorat Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

राहुल गांधी जी जो कांग्रेस के अध्यक्ष बन गए हैं उनका लो अक्षर मजाक उड़ाते हैं WhatsApp Facebook सोशल मीडिया पर देख लीजिए उनकी निर्मित होते हैं जो होते हैं उन्हें पप्पू कहा जाता है कि इसमें कोई शक नहीं है कि राहुल गांधी जी जो है वह अपनी उम्र के हिसाब से अपने जोक राष्ट्रीय कब है जो एक्सपीरियंस इस फैमिली को ब्लॉक करते हैं उसके हिसाब से उन्हें तजुर्बा उनकी पर्सनालिटी उनका कार्यशैली काफी क्वेश्चन एबल है वह जिस परिवार को ब्लॉक करते हैं जहां पीढ़ियों से राजनेता प्रधानमंत्री वगैरा रहे हैं लेकिन इसके अलावा यदि आप असलियत अभी की समझे तो उन्हें लगातार इंप्रूवमेंट हो रहा है अब जबकि वह अध्यक्ष बन गए हैं गुजरात के चुनाव जब लड़े थे उनका जो रवैया था बिल्कुल एक अलग था उनकी जो कार्यशैली थी बिल्कुल अलग थी उनकी स्पीचेस बिल्कुल अलग थी काफी इंप्रूवमेंट काफी मैच्योरिटी उनके भाषणों में देखी गई थी वास्तव में होना चाहिए था राहुल गांधी परिवार से आते हैं आतंकी कांग्रेस के लिए और देश के लिए देश के लिए इसलिए क्योंकि अपोजीशन जब तक स्ट्रांग नहीं होगा तब तक देश की जो केंद्र सरकार है और वह भी काम करने में भ्रष्टाचार करने में गलत काम करने में कोताही बरती तो इसीलिए प्रश्न जितना पोजीशन स्ट्रांग होगा उन्हें डर लगेगा कि दूसरी पार्टी के अंदर में आ सकती है सरकार बन सकती है इसलिए राहुल गांधी का मजाक अक्षर बनाया जाता अभी भी बनता है लेकिन उनकी तबियत सुधर रहेंगे मैच्योरिटी लेवल बढ़ाया देश के लिए फायदेमंद है कांग्रेस के लिए मुख्य तौर पर फायदेमंद है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

राहुल गांधी जी जो कांग्रेस के अध्यक्ष बन गए हैं उनका लो अक्षर मजाक उड़ाते हैं WhatsApp Facebook सोशल मीडिया पर देख लीजिए उनकी निर्मित होते हैं जो होते हैं उन्हें पप्पू कहा जाता है कि इसमें कोई शक नहीं है कि राहुल गांधी जी जो है वह अपनी उम्र के हिसाब से अपने जोक राष्ट्रीय कब है जो एक्सपीरियंस इस फैमिली को ब्लॉक करते हैं उसके हिसाब से उन्हें तजुर्बा उनकी पर्सनालिटी उनका कार्यशैली काफी क्वेश्चन एबल है वह जिस परिवार को ब्लॉक करते हैं जहां पीढ़ियों से राजनेता प्रधानमंत्री वगैरा रहे हैं लेकिन इसके अलावा यदि आप असलियत अभी की समझे तो उन्हें लगातार इंप्रूवमेंट हो रहा है अब जबकि वह अध्यक्ष बन गए हैं गुजरात के चुनाव जब लड़े थे उनका जो रवैया था बिल्कुल एक अलग था उनकी जो कार्यशैली थी बिल्कुल अलग थी उनकी स्पीचेस बिल्कुल अलग थी काफी इंप्रूवमेंट काफी मैच्योरिटी उनके भाषणों में देखी गई थी वास्तव में होना चाहिए था राहुल गांधी परिवार से आते हैं आतंकी कांग्रेस के लिए और देश के लिए देश के लिए इसलिए क्योंकि अपोजीशन जब तक स्ट्रांग नहीं होगा तब तक देश की जो केंद्र सरकार है और वह भी काम करने में भ्रष्टाचार करने में गलत काम करने में कोताही बरती तो इसीलिए प्रश्न जितना पोजीशन स्ट्रांग होगा उन्हें डर लगेगा कि दूसरी पार्टी के अंदर में आ सकती है सरकार बन सकती है इसलिए राहुल गांधी का मजाक अक्षर बनाया जाता अभी भी बनता है लेकिन उनकी तबियत सुधर रहेंगे मैच्योरिटी लेवल बढ़ाया देश के लिए फायदेमंद है कांग्रेस के लिए मुख्य तौर पर फायदेमंद हैRahul Gandhi Ji Jo Congress Ke Adhyaksh Ban Gaye Hain Unka Lo Akshar Mazak Udate Hain WhatsApp Facebook Social Media Par Dekh Lijiye Unki Nirmit Hote Hain Jo Hote Hain Unhen Pappu Kaha Jata Hai Ki Isme Koi Shaq Nahi Hai Ki Rahul Gandhi Ji Jo Hai Wah Apni Umar Ke Hisab Se Apne Joke Rashtriya Kab Hai Jo Experience Is Family Ko Block Karte Hain Uske Hisab Se Unhen Unki Personality Unka Karyashaili Kafi Question Abal Hai Wah Jis Parivar Ko Block Karte Hain Jahan Peedhiyon Se Rajneta Pradhanmantri Vagaira Rahe Hain Lekin Iske Alava Yadi Aap Asliyat Abhi Ki Samjhe To Unhen Lagatar Improvement Ho Raha Hai Ab Jabki Wah Adhyaksh Ban Gaye Hain Gujarat Ke Chunav Jab Lade The Unka Jo Ravaiya Tha Bilkul Ek Alag Tha Unki Jo Karyashaili Thi Bilkul Alag Thi Unki Bilkul Alag Thi Kafi Improvement Kafi Unke Bhashano Mein Dekhi Gayi Thi Vaastav Mein Hona Chahiye Tha Rahul Gandhi Parivar Se Aate Hain Aatanki Congress Ke Liye Aur Desh Ke Liye Desh Ke Liye Isliye Kyonki Jab Tak Strong Nahi Hoga Tab Tak Desh Ki Jo Kendra Sarkar Hai Aur Wah Bhi Kaam Karne Mein Bhrashtachar Karne Mein Galat Kaam Karne Mein Barti To Isliye Prashna Jitna Position Strong Hoga Unhen Dar Lagega Ki Dusri Party Ke Andar Mein Aa Sakti Hai Sarkar Ban Sakti Hai Isliye Rahul Gandhi Ka Mazak Akshar Banaya Jata Abhi Bhi Banta Hai Lekin Unki Tabiyat Sudhar Rahenge Level Badhaya Desh Ke Liye Faydemand Hai Congress Ke Liye Mukhya Taur Par Faydemand Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Rahul Gandhi Ji Kaise Neta Hai In Ki Baaton Ko Log Majak Me Kyun Lete Hai ?





मन में है सवाल?