ब्रह्माण्ड में व्याप्त बुराइयों को खत्म करने के लिए क्या भगवान का अवतार हो सकता है कलियुग में ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
हिंदू धर्म की मान्यता के हिसाब से अभी जो भी है कि जैसे ही कलियुग का समय खत्म होगा तो दुनिया भी खत्म हो जाएगा और कलयुग में ही दुनिया खत्म हो गई और इसके बाद ही फिर से दूसरा जो सतयुग बोलना चाहता है वह फिर से रिपीट होगा तो अभी मान्यता यह है कि जो भगवान विष्णु का जो अवतार है वह कलयुग में एक भगवान विष्णु का दसवीं अवतार जब भगवान विष्णु ने अभी तक 9 अवतार ले चुके हैं और अभी दसवीं अवतार जाना और जिसका नाम कल्कि अवतार है तो भगवान विष्णु जब कल्कि अवतार लेकर आएंगे और वही दुनिया को सब जो जो भी होगा तो दुनिया खत्म हो जाएगीHindu Dharm Ki Manyata Ke Hisab Se Abhi Jo Bhi Hai Ki Jaise Hi Kaliyug Ka Samay Khatam Hoga To Duniya Bhi Khatam Ho Jayega Aur Kalyug Mein Hi Duniya Khatam Ho Gayi Aur Iske Baad Hi Phir Se Doosra Jo Satayug Bolna Chahta Hai Wah Phir Se Repeat Hoga To Abhi Manyata Yeh Hai Ki Jo Bhagwan Vishnu Ka Jo Avatar Hai Wah Kalyug Mein Ek Bhagwan Vishnu Ka Dasavi Avatar Jab Bhagwan Vishnu Ne Abhi Tak 9 Avatar Le Chuke Hain Aur Abhi Dasavi Avatar Jana Aur Jiska Naam Kalki Avatar Hai To Bhagwan Vishnu Jab Kalki Avatar Lekar Aayenge Aur Wahi Duniya Ko Sab Jo Jo Bhi Hoga To Duniya Khatam Ho Jayegi
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
दोस्त ऐसा है कि भगवान ना तो सतयुग में पैदा हुआ था ना त्रेता युग में और ना ही कलयुग में पैदा होगा और हिंदू धर्म के मुताबिक लोगों के मुताबिक अगर मान भी लिया जाए कि भगवान सतयुग में पैदा हुआ था तो समझ में नहीं आती कि भगवान जिसके पास अपार बुद्धि है वह सच में पैदा होगा भारत की सही ढंग से चल रही है तो वहां उसकी क्या जरूरत है वोटिंग महा छिड़की जाती है जहां मच्छर होता है तो मेरे कहने का मतलब यह है उसको कलयुग में पैदा होना चाहिए था लेकिन वह तो सेटिंग में पैदा हो गए तो यह तो बड़ी अजीब बात है ना तो सच में थाना कल युग विज्ञान आएगा वही हमारा बेड़ा पार लगाएDost Aisa Hai Ki Bhagwan Na To Satayug Mein Paida Hua Tha Na Treta Yug Mein Aur Na Hi Kalyug Mein Paida Hoga Aur Hindu Dharm Ke Mutabik Logon Ke Mutabik Agar Maan Bhi Liya Jaye Ki Bhagwan Satayug Mein Paida Hua Tha To Samajh Mein Nahi Aati Ki Bhagwan Jiske Paas Apaar Buddhi Hai Wah Sach Mein Paida Hoga Bharat Ki Sahi Dhang Se Chal Rahi Hai To Wahan Uski Kya Zaroorat Hai Voting Maha Chidki Jati Hai Jahan Machchar Hota Hai To Mere Kehne Ka Matlab Yeh Hai Usko Kalyug Mein Paida Hona Chahiye Tha Lekin Wah To Setting Mein Paida Ho Gaye To Yeh To Badi Ajib Baat Hai Na To Sach Mein Thana Kal Yug Vigyan Aayega Wahi Hamara Beda Par Lagaye
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Brahmand Mein Vyapt Buraiyon Ko Khatam Karne Ke Liye Kya Bhagwan Ka Avatar Ho Sakta Hai Kaliyug Mein





मन में है सवाल?