क्या भारत को एक और हरित क्रांति की जरूरत है? ...

Likes  0  Dislikes

3 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिए हमारे देश के ना हरित क्रांति का श्रेय किसी व्यक्ति को जाता है तो CMS स्वामी नाथ जी को जाता है उनकी वजह से हमारे देश के हरित क्रांति हुई थी हरित क्रांति में सबसे ज्यादा कर उत्पादन हुआ था तू गेहूं का उत्पादन हुआ लेकिन जिस स्तर पर हमारे देश के अंदर पॉपुलेशन का पॉपुलेशन बढ़ रहे तो मुझे लगता है कि प्रोडक्शन उस पर पुलिस प्रमोशन में नहीं हो पा रहा है तो बिल्कुल मुझे लगता है कि हमारे देश के अंदर एक और हरित क्रांति की आवश्यकता आवश्यकता है ताकि जो भी खाद्य फसलें उनके उत्पादन को चोदना 6 गुना किया जा सके ताकि लोगों की जो भी आवश्यकता है वह पूरी की जा सके क्योंकि इस तरह से अगर पॉपुलेशन भर्ती रहेगा प्रोडक्शन कम होता रहेगा तो मुझे लगता है कि जो प्राइस सहित की समस्या जो हमारे जंगली हो जाती हमारी मार्केट के अंदर तो उससे निजात नहीं पाया जा सकता तो आपने बिल्कुल सही कहा कि हरित क्रांति की आवश्यकता है मुझे भी लगता है बिल्कुल होनी चाहिए ताकि उत्पादन बढ़ जाए खाद्य फसलों का और लोगों की जो आवश्यकता है उनका पूरा किया जा सकेDekhie Hamare Desh Ke Na Harit Kranti Ka Shrey Kisi Vyakti Ko Jata Hai To CMS Swami Nath Ji Ko Jata Hai Unki Wajah Se Hamare Desh Ke Harit Kranti Hui Thi Harit Kranti Mein Sabse Jyada Kar Utpadan Hua Tha Tu Gehun Ka Utpadan Hua Lekin Jis Sthar Par Hamare Desh Ke Andar Population Ka Population Badh Rahe To Mujhe Lagta Hai Ki Production Us Par Police Promotion Mein Nahi Ho Pa Raha Hai To Bilkul Mujhe Lagta Hai Ki Hamare Desh Ke Andar Ek Aur Harit Kranti Ki Avashyakta Avashyakta Hai Taki Jo Bhi Khadya Faslen Unke Utpadan Ko Chodana 6 Guna Kiya Ja Sake Taki Logon Ki Jo Bhi Avashyakta Hai Wah Puri Ki Ja Sake Kyonki Is Tarah Se Agar Population Bharti Rahega Production Kum Hota Rahega To Mujhe Lagta Hai Ki Jo Price Sahit Ki Samasya Jo Hamare Jangalee Ho Jati Hamari Market Ke Andar To Usse Nijat Nahi Paya Ja Sakta To Aapne Bilkul Sahi Kaha Ki Harit Kranti Ki Avashyakta Hai Mujhe Bhi Lagta Hai Bilkul Honi Chahiye Taki Utpadan Badh Jaye Khadya Fasalon Ka Aur Logon Ki Jo Avashyakta Hai Unka Pura Kiya Ja Sake
Likes  6  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखी हरित क्रांति की तो आवश्यकता है लेकिन मुझे लगता हरित क्रांति लाने से पहले हम ने जो किसान वर्ग है जो पहले से ही बहुत ज्यादा परेशान है उस वर्क को पहले थोड़ा सा ऊपर लाने की कोशिश करनी चाहिए तबीयत करेंसी इफ़ेक्ट हो पाएगी क्योंकि हरित क्रांति में आप पैदावार ज्यादा करेंगे तो उसमें कोई परेशानी नहीं है मार्केट काफी बड़ा है जनसंख्या भी काफी बड़ी है हम लोग दूसरे देशों से जो इंपोर्ट एक्सपोर्ट है वह भी खुला हुआ जब लास्ट इसलिए रिटर्न थी में नहीं था ऐसा प्लीज कॉल मी थी तो मुझे लगता है उसका दिया उससे पहले किसानों को ऊपर उठाया जाए किसानों की जो आए हैं वह काफी कम है क्योंकि किसान करने से क्या प्रश्न जनता किसानों पर डिपेंडेंट है तो पहले रोजगार बढ़ाना चाहिए वहां के लोगों को स्विच करके यहां पर लाना चाहिए मैन्युफैक्चरिंग सर्विस फील्ड में और वहां पर जो लोग लिमिटेड बच्चे किसान में वह लिमिट किसानों से फिर हरित क्रांति की उम्मीद की जानी चाहिए वह सक्सेसफुल क्रांति के लिए थैंक यूDekhi Harit Kranti Ki To Avashyakta Hai Lekin Mujhe Lagta Harit Kranti Lane Se Pehle Hum Ne Jo Kisan Varg Hai Jo Pehle Se Hi Bahut Jyada Pareshan Hai Us Work Ko Pehle Thoda Sa Upar Lane Ki Koshish Karni Chahiye Tabiyat Currency Effect Ho Payegi Kyonki Harit Kranti Mein Aap Paidavar Jyada Karenge To Usamen Koi Pareshani Nahi Hai Market Kafi Bada Hai Jansankhya Bhi Kafi Badi Hai Hum Log Dusre Deshon Se Jo Import Export Hai Wah Bhi Khula Hua Jab Last Isliye Return Thi Mein Nahi Tha Aisa Please Call Me Thi To Mujhe Lagta Hai Uska Diya Usse Pehle Kisano Ko Upar Uthaya Jaye Kisano Ki Jo Aaye Hain Wah Kafi Kum Hai Kyonki Kisan Karne Se Kya Prashna Janta Kisano Par Dependent Hai To Pehle Rojgar Badhana Chahiye Wahan Ke Logon Ko Switch Karke Yahan Par Lana Chahiye Manufacturing Service Field Mein Aur Wahan Par Jo Log Limited Bacche Kisan Mein Wah Limit Kisano Se Phir Harit Kranti Ki Ummid Ki Jani Chahiye Wah Successful Kranti Ke Liye Thank You
Likes  4  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
भारत की बढ़ती हुई जनसंख्या को देखते हुए दूसरी हरित क्रांति को लाने के प्रयासों को तेज कर देना चाहिए खाद्यान्न का उत्पादन 200 से 400 MB करना अब देश का अगले 15 वर्षों में लक्ष्य होना चाहिए नार्मल बोला द्वारा विकसित उच्च उपज वाले गेहूं को पेश करते हुए भारत में 1963 में हरित क्रांति क्रांति का आगाज हुआ था 1967 में भारतीय किसानों ने इसे अपनाया और 1976 में रिकॉर्ड 130 एक मिलियन टन खाद्यान्न का उत्पादन हुआ हालांकि भारत बुनियादी खाद्यान्न गेहूं व चावल के मामले में हरित क्रांति के बाद आत्मनिर्भर हो चुका है परंतु हाल के वर्षों में भारत को दाल चीनी खाद्य तेल व प्याज की कमी का सामना करना पड़ रहा है बढ़ती हुई जनसंख्या जनसंख्या के दबाव से औद्योगिकरण से भूमि का सिकुड़ना तथा परिवार पित्त जलवायु सूखा बाढ़ इनसे संकट बढ़ जाते हैं खाद्यान्नों की कीमत बढ़ जाती है अब समय आ गया है कि देश को खाद्य सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक और हरित क्रांति शुरू की जाए इस दिशा में कृषि वैज्ञानिक को व संस्थानों को अपना ध्यान केंद्रित करने की जरूरत हैBharat Ki Badhti Hui Jansankhya Ko Dekhte Hue Dusri Harit Kranti Ko Lane Ke Prayaso Ko Tez Kar Dena Chahiye Khadyann Ka Utpadan 200 Se 400 MB Karna Ab Desh Ka Agle 15 Varshon Mein Lakshya Hona Chahiye Normal Bola Dwara Viksit Uccha Upaj Wale Gehun Ko Pesh Karte Hue Bharat Mein 1963 Mein Harit Kranti Kranti Ka "aagaj " Hua Tha 1967 Mein Bhartiya Kisano Ne Ise Apnaya Aur 1976 Mein Record 130 Ek Million Ton Khadyann Ka Utpadan Hua Halanki Bharat Buniyaadi Khadyann Gehun V Chawal Ke Mamle Mein Harit Kranti Ke Baad Aatmnirbhar Ho Chuka Hai Parantu Haal Ke Varshon Mein Bharat Ko Dal Chini Khadya Tel V Pyaj Ki Kami Ka Samana Karna Padh Raha Hai Badhti Hui Jansankhya Jansankhya Ke Dabaav Se Odyogikaran Se Bhoomi Ka Sikudana Tatha Parivar Pitt Jalvayu Sukha Baadh Inse Sankat Badh Jaate Hain Khadyano Ki Kimat Badh Jati Hai Ab Samay Aa Gaya Hai Ki Desh Ko Khadya Suraksha Pradan Karne Ke Liye Ek Aur Harit Kranti Shuru Ki Jaye Is Disha Mein Krishi Vaigyanik Ko V Sansthano Ko Apna Dhyan Kendrit Karne Ki Zaroorat Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Kya Bharat Ko Ek Aur Harit Kranti Ki Zaroorat Hai, हरित हारम





मन में है सवाल?