भारत में बनी फिल्में ऑस्कर स्तर की क्यों नहीं होतीं? ...

Likes  0  Dislikes

5 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
देखिये यह प्रश्न बहुत ही आवश्यक है कि भारत में फिल्मों का स्तर उठ क्यों नहीं पा रहा है| परंतु मैं मानता हूं कि भारत में बनी बहुत सी फिल्में जो है ऑस्कर में नॉमिनेट होने वाली यानी ऑस्कर में जाने वाली तथा उसको जीतने वाली कई फिल्मों से बेहतर होती है| पश्चिमी देशों द्वारा विशेषकर ऑस्कर एकेडमी द्वारा जिस प्रकार से भारत की फिल्मों के साथ पिछले कुछ दशकों से भेदभाव होता रहा है| मुझे लगता है कि भारत की फिल्मों को आगे बढ़ने का तथा आगे आने का अंतर्राष्ट्रीय मंच पर इतना मौका नहीं मिल पाता जितना कि यूरोपियन देश की फिल्मों को या अमेरिकी फिल्मों को मिलता है| इसका एक कारण है कि अभी भी पक्षपात की भावना वह लोग रखते हैं| हालांकि मैं यह भी मानता हूं कि भारत में बनने वाली अधिकतर फिल्में औसत दर्जे की होती है| जिसमें एक चाहे छायांकन हो, चाहे निर्देशन हो बहुत ही औसत दर्जे का होता है| परंतु आज भी भारत में बहुत सी ऐसी फिल्में है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर की होती हैं तथा कुछ फिल्में तो अंतरराष्ट्रीय स्तर से भी ऊपर के स्तर की होती हैं| जिनको शायद उतनी तवज्जो, शायद उतना महत्व नहीं मिल पाता जितना की इन फिल्मों को मिलता है जो कि ऑस्कर के लिए या तो नोमिनेट होती है या उसका अवार्ड जीतती है| इसके लिए जो संस्थाएं व अन्य एजेंसियों जो इसके लिए जिम्मेदार है, जिनका यह दायित्व बनता है कि भारत में फिल्मों के स्तर को सुधारे वह आंतरिक राजनीति में लगी रहती है| अच्छे और काबिल जो निर्माता, निर्देशक और अभिनेता है उनको इतना तवज्जो नहीं दिया है| और हम भारत के लोग मसाला फिल्मों को ज्यादा तवज्जो देते हैं क्योंकि हमारी नजर में फिल्म जो है मनोरंजन का एक साधन होती है ना की कला का अथवा संस्कृति को दर्शाने का एक माध्यम, इस सोच को बदलना जरूरी है| तथा बहुत से ऐसे निर्माता निर्देशक अभिनेता पिछले कुछ दशकों में उभर कर आए हैं जो कि भारत को अंतरराष्ट्रीय मंच पर पहचान दिला सकते हैं, तो यह कुल विचारधारा में बदलाव लाने की आवश्यकता है हमें धन्यवाद|Dekhiye Yeh Prashna Bahut Hi Aavashyak Hai Ki Bharat Mein Filmo Ka Sthar Uth Kyun Nahi Pa Raha Hai Parantu Main Manata Hoon Ki Bharat Mein Bani Bahut Si Filme Jo Hai Oscar Mein Nominate Hone Wali Yani Oscar Mein Jaane Wali Tatha Usko Jitne Wali Kai Filmo Se Behtar Hoti Hai Pashchimi Deshon Dwara Visheshkar Oscar Academy Dwara Jis Prakar Se Bharat Ki Filmo Ke Saath Pichle Kuch Dashakon Se Bhedbhav Hota Raha Hai Mujhe Lagta Hai Ki Bharat Ki Filmo Ko Aage Badhne Ka Tatha Aage Aane Ka Antar Rashtriya Manch Par Itna Mauka Nahi Mil Pata Jitna Ki European Desh Ki Filmo Ko Ya American Filmo Ko Milta Hai Iska Ek Kaaran Hai Ki Abhi Bhi Pakshapat Ki Bhavna Wah Log Rakhate Hain Halanki Main Yeh Bhi Manata Hoon Ki Bharat Mein Banane Wali Adhiktar Filme Ausat Darje Ki Hoti Hai Jisme Ek Chahe Chhayaankan Ho Chahe Nirdeshan Ho Bahut Hi Ausat Darje Ka Hota Hai Parantu Aaj Bhi Bharat Mein Bahut Si Aisi Filme Hai Jo Antararashtriya Sthar Ki Hoti Hain Tatha Kuch Filme To Antararashtriya Sthar Se Bhi Upar Ke Sthar Ki Hoti Hain Jinako Shayad Utani Tavajjo Shayad Utana Mahatva Nahi Mil Pata Jitna Ki In Filmo Ko Milta Hai Jo Ki Oscar Ke Liye Ya To Nominet Hoti Hai Ya Uska Award Jeetati Hai Iske Liye Jo Sansthae V Anya Agencyon Jo Iske Liye Zimmedar Hai Jinka Yeh Dayitva Banta Hai Ki Bharat Mein Filmo Ke Sthar Ko Sudhare Wah Aantarik Rajneeti Mein Lagi Rehti Hai Acche Aur Kaabil Jo Nirmaata Nirdeshak Aur Abhineta Hai Unko Itna Tavajjo Nahi Diya Hai Aur Hum Bharat Ke Log Masala Filmo Ko Jyada Tavajjo Dete Hain Kyonki Hamari Nazar Mein Film Jo Hai Manoranjan Ka Ek Sadhan Hoti Hai Na Ki Kala Ka Athwa Sanskriti Ko Darshane Ka Ek Maadhyam Is Soch Ko Badalna Zaroori Hai Tatha Bahut Se Aise Nirmaata Nirdeshak Abhineta Pichle Kuch Dashakon Mein Ubhar Kar Aaye Hain Jo Ki Bharat Ko Antararashtriya Manch Par Pehchaan Dila Sakte Hain To Yeh Kul Vichardhara Mein Badlav Lane Ki Avashyakta Hai Hume Dhanyavad
Likes  14  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
भारतीय मूवी का ऑस्कर के स्तर तक न जाने का सबसे बड़ा कारण इनोवेशन दूसरा उसके अलावा पैसा कमाना तीसरा हमें एक SIM चीज बड़ी 500 पर मूवी बनाना यह समझ के मूवीस के सी क्रीम यूज़ करना यह सारे कारण हैं मुझे लगता है कि इन सब कारणों के अलावा अगर आप उस तरह की सोच नहीं रखते जैसे की मूवी एंड स्टील अलाइव याद जो वहां पर जो मूवी बनाई जाती हैं वह इस तरह की सोच वाली मूवी बनाई जाती है ग्रेविटी है यह वहां की सुपर हीरो मूवी है तो उसमें ग्राफिक्स बहुत अच्छे हैं तो यह सब चीजों में खर्चा बहुत होता है तो यहां के लोग रिस्क लेने से डरते हैं लेकिन बाहुबली में रिस्क लिया क्या तो उसका आउटपुट भी बहुत अच्छा मिला सबसे बड़ी बात है कि हम उस लेवल का सोच ही नहीं सकते अगर आप उस दिन की सोच रखते हैं तो आपको इनवेस्टर नहीं मिलेंगे मैं कोई मिल जाएंगे आपको बड़े हीरो चाहिए बड़े-बड़े एक दृष्टांत काम नहीं करते हमारे कंट्री में वह अकेले अकेले Sholay फिल्म करना चाहते हैं जो हॉलीवुड बिल्कुल नहीं हॉलीवुड में 50 हेक्टर एक मुंह में काम करने का मुझे लगता है कि यह सारी सारी की सारी चीज है जो है वही बिकता दे रही है कहानी हमारे पास है नहीं हम वही sim लव स्टोरी और जब पहली मूवी बनी थी 1913 में उस तब से लेकर आज तक हर मूवी में वही चीज दिखाते जा रहे हैं तो यह सारी चीजें बदलने की जरूरत है पूरे सिस्टम को जरूरत है सबसे ज्यादा जरूरत है जनता को बदलने की जनता जब एक था टाइगर जैसी मूवी को नकार देती है लेकिन स्कैरी मूवी 200 करोड़ कमा कमा जाती है तो यह हमारी गलती है अब हमें खुद इस चीज का फुल करना होगा ब्लाइंड ली फैन फॉलोइंग जो डेवलप हो जाती है किसी हीरो की या किसी हीरोइन की वह गलत है अब मैं किसी को फॉलो नहीं कर सकते हॉलीवुड में ऐसा बिल्कुल नहीं अगर आप अच्छी एक्टिंग करते हैं या बिल्कुल आप में टैलेंट तो कोई उस का अर्थ अभी तक निकाला था तब जब तक आप की मूवी चल रही है अगर की मूवी नहीं चल रही है आपने चैटिंग की है तो उसका आपको एक्टिंग का अवार्ड जरूर मिलेगा लेकिन ऐसा कम ही होता है कि आप की एक्टिंग अच्छी है और मूवी ना चले कहानी तुम हार होगी तो जरूर चलेगी हमारे तो कहानियां भी सारी एक जैसी हैBhartiya Movie Ka Oscar Ke Sthar Tak N Jaane Ka Sabse Bada Kaaran Innovation Doosra Uske Alava Paisa Kamana Teesra Hume Ek SIM Cheez Badi 500 Par Movie Banana Yeh Samajh Ke Movies Ke Si Cream Use Karna Yeh Sare Kaaran Hain Mujhe Lagta Hai Ki In Sab Kaarno Ke Alava Agar Aap Us Tarah Ki Soch Nahi Rakhate Jaise Ki Movie End Steel Olive Yaad Jo Wahan Par Jo Movie Banai Jati Hain Wah Is Tarah Ki Soch Wali Movie Banai Jati Hai Gravity Hai Yeh Wahan Ki Super Hero Movie Hai To Usamen Graphics Bahut Acche Hain To Yeh Sab Chijon Mein Kharcha Bahut Hota Hai To Yahan Ke Log Risk Lene Se Darte Hain Lekin Bahubali Mein Risk Liya Kya To Uska Output Bhi Bahut Accha Mila Sabse Badi Baat Hai Ki Hum Us Level Ka Soch Hi Nahi Sakte Agar Aap Us Din Ki Soch Rakhate Hain To Aapko Investor Nahi Milenge Main Koi Mil Jaenge Aapko Bade Hero Chahiye Bade Bade Ek Drishtant Kaam Nahi Karte Hamare Country Mein Wah Akele Akele Sholay Film Karna Chahte Hain Jo Hollywood Bilkul Nahi Hollywood Mein 50 Hectar Ek Mooh Mein Kaam Karne Ka Mujhe Lagta Hai Ki Yeh Saree Saree Ki Saree Cheez Hai Jo Hai Wahi Bikataa De Rahi Hai Kahani Hamare Paas Hai Nahi Hum Wahi Sim Love Story Aur Jab Pehli Movie Bani Thi 1913 Mein Us Tab Se Lekar Aaj Tak Har Movie Mein Wahi Cheez Dikhate Ja Rahe Hain To Yeh Saree Cheezen Badalne Ki Zaroorat Hai Poore System Ko Zaroorat Hai Sabse Jyada Zaroorat Hai Janta Ko Badalne Ki Janta Jab Ek Tha Tiger Jaisi Movie Ko Nakar Deti Hai Lekin Skairi Movie 200 Crore Kama Kama Jati Hai To Yeh Hamari Galti Hai Ab Hume Khud Is Cheez Ka Full Karna Hoga Blind Lee Fan Following Jo Develop Ho Jati Hai Kisi Hero Ki Ya Kisi Heroine Ki Wah Galat Hai Ab Main Kisi Ko Follow Nahi Kar Sakte Hollywood Mein Aisa Bilkul Nahi Agar Aap Acchi Acting Karte Hain Ya Bilkul Aap Mein Talent To Koi Us Ka Arth Abhi Tak Nikaala Tha Tab Jab Tak Aap Ki Movie Chal Rahi Hai Agar Ki Movie Nahi Chal Rahi Hai Aapne Chatting Ki Hai To Uska Aapko Acting Ka Award Jarur Milega Lekin Aisa Kum Hi Hota Hai Ki Aap Ki Acting Acchi Hai Aur Movie Na Chale Kahani Tum Haar Hogi To Jarur Chalegi Hamare To Kahaniya Bhi Saree Ek Jaisi Hai
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
ऐसा बात नहीं है कि भारत की फिल्में नहीं जाती है और वह है कि जीती बहुत कम है जो भारत में बनाया जाता है वह फौरन कैटेगरी में आती है और जो दूसरे वाला जो और सब जो भेजते हैं और और सारी कंट्री रिश्तेदार तक उन लोग जीते और इंडिया बहुत कम देता है तो इसके कई कारण हो सकते हैं एक दूसरे की फॉर सिलेक्शन कमिटी इंडिया की कॉमेडी शो भेजती है वह मूवी गलत चूस करती है जो ऑस्कर में भेजने के लिए और फिर और ज्यादा तक वह हाई-फाई वाले एंटरटेनमेंट वाले मूवीस भेजते हो ना कि जो जो रियालिटी वाले एलिमेंट रहने वाले रहते हैं जो जीतने के लायक है वह ज्यादा तक नहीं भेजा जाता है और फिर वह ऐसे ही होते कि बॉलीवुड मूवी Entertainment ज्यादा बनती है और ना कि कुछ रियालिटी के बेस्ट नहीं बनती है और आप अमेरिकन मूवी से साल तक जो आप देखो जो ऑस्कर विनिंग मूवीज है वह रियालिटी के बहुत ही कम मैं बनाई जाती है तेरा कि हमारी में बहुत सारे लोगों को रिझाने की और बीच स्टोरी लाइन है बहुत सारे हमारी हिंदी मूवीस प्लीज राइट ए कॉपी करे हुए हैं इंग्लिश में इंग्लिश मूवी सेक्स फ्री सोंग्स ज्यादा है तो वह भी एक कैंसिल हो गया कि किसी सारे उसके मूवीस में टाइम लिमिट होता है कि हमारे बॉलीवुड मूवीस में 45 का ध्यान में ज्यादा से ज्यादा है फोकस ज्यादा जाते हैं और मूवी के थीम या सब्सटेंस में कम जाता है दो कि ऑस्कर में उल्टा है उसे राय की अमेरिकन टेस्ट के हिसाब से हमारे मूवीस उसने सूट नहीं हैAisa Baat Nahi Hai Ki Bharat Ki Filme Nahi Jati Hai Aur Wah Hai Ki Jeeti Bahut Kum Hai Jo Bharat Mein Banaya Jata Hai Wah Phauran Category Mein Aati Hai Aur Jo Dusre Wala Jo Aur Sab Jo Bhejate Hain Aur Aur Saree Country Rishtedar Tak Un Log Jeete Aur India Bahut Kum Deta Hai To Iske Kai Kaaran Ho Sakte Hain Ek Dusre Ki For Selection Committee India Ki Comedy Show Bhejti Hai Wah Movie Galat Chus Karti Hai Jo Oscar Mein Bhejne Ke Liye Aur Phir Aur Jyada Tak Wah Hi Fai Wale Entertainment Wale Movies Bhejate Ho Na Ki Jo Jo Reality Wale Element Rehne Wale Rehte Hain Jo Jitne Ke Layak Hai Wah Jyada Tak Nahi Bheja Jata Hai Aur Phir Wah Aise Hi Hote Ki Bollywood Movie Entertainment Jyada Banti Hai Aur Na Ki Kuch Reality Ke Best Nahi Banti Hai Aur Aap American Movie Se Saal Tak Jo Aap Dekho Jo Oscar Winning Movies Hai Wah Reality Ke Bahut Hi Kum Main Banai Jati Hai Tera Ki Hamari Mein Bahut Sare Logon Ko Rijhane Ki Aur Beech Story Line Hai Bahut Sare Hamari Hindi Movies Please Right A Copy Kare Hue Hain English Mein English Movie Sex Free Songs Jyada Hai To Wah Bhi Ek Cancel Ho Gaya Ki Kisi Sare Uske Movies Mein Time Limit Hota Hai Ki Hamare Bollywood Movies Mein 45 Ka Dhyan Mein Jyada Se Jyada Hai Focus Jyada Jaate Hain Aur Movie Ke Theme Ya Sabsatens Mein Kum Jata Hai Do Ki Oscar Mein Ulta Hai Use Rai Ki American Test Ke Hisab Se Hamare Movies Usne Suit Nahi Hai
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


अच्छा क्वेश्चन पूछा है आपने और मुझे ऐसा लगता है कि आप के कोई मायने नहीं है मैं ठीक नहीं है डिसाइड करने का कौन सी मूवी अच्छी है कौन सी मूवी खराब है क्योंकि कई बार बहुत अच्छी मूवीस देर हो जाती है और यहां तक कि यह सवाल है कि इंडियन मूवीस क्यों नहीं लिख पाती हो अगर तुम मुझे लगता है कि वहां की जो ऑडियो भेजो हॉलीवुड मूवीस के ऑडियो होती है बॉलीवुड मूवीस जंगली लोग देखते हैं वह ज्यादातर एजुकेटेड होते हो समझ में आती है जंगली मसाला ढूंढती है मूवी में आइटम सोंग्स बनते हैं सिर्फ वह इसलिए क्योंकि लोगों ने ज्यादा पसंद करते हैं पुरानी स्टोरी लाइन उठा कर के उसे वापस से बना दिया जाता है थोड़ी बात सॉन्ग डाल कर के इसके कारण लेंथ भी बढ़ जाती है मूवी की और हमारे यहां की जो भी हो करीब दो ढाई घंटे की होती है और बाहर की मूवी 1 घंटे की होती है कुछ कारणों को ध्यान में रखते हुए की जाती है बाहर के लोगों को उनके जैसी मूवीस पसंद आती है जो लोग वहां पर और किस-किस के लिए पूरा होता है मराठी मूवीस नहीं देती हो आजकल तो यहां पर हमारी फोटो को देखते हुए रखा जाता है कि अच्छी होती है बहुत ज्यादा लव स्टोरी सौरव को हटा दिया जाए

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

अच्छा क्वेश्चन पूछा है आपने और मुझे ऐसा लगता है कि आप के कोई मायने नहीं है मैं ठीक नहीं है डिसाइड करने का कौन सी मूवी अच्छी है कौन सी मूवी खराब है क्योंकि कई बार बहुत अच्छी मूवीस देर हो जाती है और यहां तक कि यह सवाल है कि इंडियन मूवीस क्यों नहीं लिख पाती हो अगर तुम मुझे लगता है कि वहां की जो ऑडियो भेजो हॉलीवुड मूवीस के ऑडियो होती है बॉलीवुड मूवीस जंगली लोग देखते हैं वह ज्यादातर एजुकेटेड होते हो समझ में आती है जंगली मसाला ढूंढती है मूवी में आइटम सोंग्स बनते हैं सिर्फ वह इसलिए क्योंकि लोगों ने ज्यादा पसंद करते हैं पुरानी स्टोरी लाइन उठा कर के उसे वापस से बना दिया जाता है थोड़ी बात सॉन्ग डाल कर के इसके कारण लेंथ भी बढ़ जाती है मूवी की और हमारे यहां की जो भी हो करीब दो ढाई घंटे की होती है और बाहर की मूवी 1 घंटे की होती है कुछ कारणों को ध्यान में रखते हुए की जाती है बाहर के लोगों को उनके जैसी मूवीस पसंद आती है जो लोग वहां पर और किस-किस के लिए पूरा होता है मराठी मूवीस नहीं देती हो आजकल तो यहां पर हमारी फोटो को देखते हुए रखा जाता है कि अच्छी होती है बहुत ज्यादा लव स्टोरी सौरव को हटा दिया जाएAccha Question Poocha Hai Aapne Aur Mujhe Aisa Lagta Hai Ki Aap Ke Koi Maayne Nahi Hai Main Theek Nahi Hai Decide Karne Ka Kaun Si Movie Acchi Hai Kaun Si Movie Kharab Hai Kyonki Kai Baar Bahut Acchi Movies Der Ho Jati Hai Aur Yahan Tak Ki Yeh Sawal Hai Ki Indian Movies Kyun Nahi Likh Pati Ho Agar Tum Mujhe Lagta Hai Ki Wahan Ki Jo Audio Bhejo Hollywood Movies Ke Audio Hoti Hai Bollywood Movies Jangalee Log Dekhte Hain Wah Jyadatar Educated Hote Ho Samajh Mein Aati Hai Jangalee Masala Dhundhati Hai Movie Mein Item Songs Bante Hain Sirf Wah Isliye Kyonki Logon Ne Jyada Pasand Karte Hain Purani Story Line Utha Kar Ke Use Wapas Se Bana Diya Jata Hai Thodi Baat Song Dal Kar Ke Iske Kaaran Length Bhi Badh Jati Hai Movie Ki Aur Hamare Yahan Ki Jo Bhi Ho Karib Do Dhai Ghante Ki Hoti Hai Aur Bahar Ki Movie 1 Ghante Ki Hoti Hai Kuch Kaarno Ko Dhyan Mein Rakhate Hue Ki Jati Hai Bahar Ke Logon Ko Unke Jaisi Movies Pasand Aati Hai Jo Log Wahan Par Aur Kis Kis Ke Liye Pura Hota Hai Marathi Movies Nahi Deti Ho Aajkal To Yahan Par Hamari Photo Ko Dekhte Hue Rakha Jata Hai Ki Acchi Hoti Hai Bahut Jyada Love Story Saurav Ko Hata Diya Jaye
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

आपने बहुत अच्छा सवाल किया कि भारत की फिल्में ऑस्कर स्तर पर क्यों नहीं जाती हैं देखिए ऐसा भी नहीं है कि बिल्कुल नहीं जाती है सरवर डॉग मिलेनियर गई थी न्यूटन गई थी हाल ही में लेकिन हां इसमें कोई दो राय नहीं है कि उस स्तर पर नहीं जाती उत्तर की नहीं बनती है देखिए भारत में जो एक घंटा लेट है वह केवल पैसा कमाने की है तो जो भी पिक्चर है बनाई जाती हैं वह केवल एक ट्रेंड को फॉलो करते हुए जिससे अच्छी बॉक्स ऑफिस पर कमाई हो सके एक नया आजकल चल गई है किसी भी पिक्चर को जज करने के लिए बॉक्स ऑफिस पर कितनी कमाई की किस क्लब में शामिल हुई 100 करोड़ 200 करोड़ 300 कर तू केवल कमाई के स्तर के लिए बनाई जाती है यानी कि ऑडियंस को जो चीज बाहर ही है उस समय उस के मद्देनजर ऑस्कर के लिए कई चीजों की लाइट एरिया चाहिए अच्छी स्टोरी अच्छा एक्शन मिल रहा है जाएंगी और केवल पैसा कमाने के उद्देश्य बॉक्स ऑफिस पर जिससे कई करोड़ के क्लब में शामिल हो सके उस तरह से बनाई जाए तो नहीं चलेगी

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

आपने बहुत अच्छा सवाल किया कि भारत की फिल्में ऑस्कर स्तर पर क्यों नहीं जाती हैं देखिए ऐसा भी नहीं है कि बिल्कुल नहीं जाती है सरवर डॉग मिलेनियर गई थी न्यूटन गई थी हाल ही में लेकिन हां इसमें कोई दो राय नहीं है कि उस स्तर पर नहीं जाती उत्तर की नहीं बनती है देखिए भारत में जो एक घंटा लेट है वह केवल पैसा कमाने की है तो जो भी पिक्चर है बनाई जाती हैं वह केवल एक ट्रेंड को फॉलो करते हुए जिससे अच्छी बॉक्स ऑफिस पर कमाई हो सके एक नया आजकल चल गई है किसी भी पिक्चर को जज करने के लिए बॉक्स ऑफिस पर कितनी कमाई की किस क्लब में शामिल हुई 100 करोड़ 200 करोड़ 300 कर तू केवल कमाई के स्तर के लिए बनाई जाती है यानी कि ऑडियंस को जो चीज बाहर ही है उस समय उस के मद्देनजर ऑस्कर के लिए कई चीजों की लाइट एरिया चाहिए अच्छी स्टोरी अच्छा एक्शन मिल रहा है जाएंगी और केवल पैसा कमाने के उद्देश्य बॉक्स ऑफिस पर जिससे कई करोड़ के क्लब में शामिल हो सके उस तरह से बनाई जाए तो नहीं चलेगीAapne Bahut Accha Sawal Kiya Ki Bharat Ki Filme Oscar Sthar Par Kyun Nahi Jati Hain Dekhie Aisa Bhi Nahi Hai Ki Bilkul Nahi Jati Hai Sarwar Dog Mileniyar Gayi Thi Newton Gayi Thi Haal Hi Mein Lekin Haan Isme Koi Do Rai Nahi Hai Ki Us Sthar Par Nahi Jati Uttar Ki Nahi Banti Hai Dekhie Bharat Mein Jo Ek Ghanta Let Hai Wah Kewal Paisa Kamane Ki Hai To Jo Bhi Picture Hai Banai Jati Hain Wah Kewal Ek Trend Ko Follow Karte Hue Jisse Acchi Box Office Par Kamai Ho Sake Ek Naya Aajkal Chal Gayi Hai Kisi Bhi Picture Ko Judge Karne Ke Liye Box Office Par Kitni Kamai Ki Kis Club Mein Shamil Hui 100 Crore 200 Crore 300 Kar Tu Kewal Kamai Ke Sthar Ke Liye Banai Jati Hai Yani Ki Adiyans Ko Jo Cheez Bahar Hi Hai Us Samay Us Ke Maddenajar Oscar Ke Liye Kai Chijon Ki Light Area Chahiye Acchi Story Accha Action Mil Raha Hai Jaengi Aur Kewal Paisa Kamane Ke Uddeshya Box Office Par Jisse Kai Crore Ke Club Mein Shamil Ho Sake Us Tarah Se Banai Jaye To Nahi Chalegi
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

मोदी की भारत की बनी फिल्मों के हॉट स्तर पर नहीं होती है इसके कई सारी पुरानी परंपरा का रन देकर दो प्रकार की भारत की जनता है ग्राम देखिए बॉलीवुड जो है फिल्म के सकते हैं भारत में फिल्में बनाते हो जब तक पानी की छोटी-छोटी कि भारत की जनता से कोई भी मूवी में गाने पसंद है रोमांटिक सीन पसंद है क्या पसंद है तो कैसे ठिक मसाला मूवी और लोगों को बहुत पसंद है और अभी तक चलते फिल्म करते हैं ताकि इससे लोग मनोरंजन मिले और लोगों को मनोरंजन मिल रहा है इसलिए तो बोल पा रहा है इसलिए जो है भारत माता की ट्रेन की बात करें तो वह बहुत ही सीरियस लिंग होती है या गुस्से का मसाला नहीं होता है वह एक गहरा ही टॉपिक पर होती है कि रे डॉक्टर होती है या फिर टॉपिक के बारे में पूरी दुनिया चर्चे तो करता है औरत एकदम अच्छे से बताना तो मेरे हिसाब से भारत के लोगों को मैसेज नहीं आती है अभी किसका युवा जनरेशन जो है या युवा लोगों ने कभी भी हमारे देश में सारे लोग हॉलीवुड जैसलमेर ग्राम हॉलीवुड पिक्चरों की बात करें तो वह लगभग अवश्य के सारे देशों में लगाई जाती है लिखना बॉलीवुड पिक्चर की बात करें तो कहां खोई खोई सी होती कमलेश अंग्रेजों पर देखी जाएगी सुबह ही नहीं अगर हम बात करें तो इसलिए 26037 लेने बनते आ रही है जो कि भारत को ऑस्कर एंट्री दीपावली कि मुझसे ज्यादा नहीं पड़ता है का न्यू टेंशन की बात करें तो वह भी ऑफ करें नीचे तक पहुंचाई जा चुकी थी कि भारत की बनी होती है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

मोदी की भारत की बनी फिल्मों के हॉट स्तर पर नहीं होती है इसके कई सारी पुरानी परंपरा का रन देकर दो प्रकार की भारत की जनता है ग्राम देखिए बॉलीवुड जो है फिल्म के सकते हैं भारत में फिल्में बनाते हो जब तक पानी की छोटी-छोटी कि भारत की जनता से कोई भी मूवी में गाने पसंद है रोमांटिक सीन पसंद है क्या पसंद है तो कैसे ठिक मसाला मूवी और लोगों को बहुत पसंद है और अभी तक चलते फिल्म करते हैं ताकि इससे लोग मनोरंजन मिले और लोगों को मनोरंजन मिल रहा है इसलिए तो बोल पा रहा है इसलिए जो है भारत माता की ट्रेन की बात करें तो वह बहुत ही सीरियस लिंग होती है या गुस्से का मसाला नहीं होता है वह एक गहरा ही टॉपिक पर होती है कि रे डॉक्टर होती है या फिर टॉपिक के बारे में पूरी दुनिया चर्चे तो करता है औरत एकदम अच्छे से बताना तो मेरे हिसाब से भारत के लोगों को मैसेज नहीं आती है अभी किसका युवा जनरेशन जो है या युवा लोगों ने कभी भी हमारे देश में सारे लोग हॉलीवुड जैसलमेर ग्राम हॉलीवुड पिक्चरों की बात करें तो वह लगभग अवश्य के सारे देशों में लगाई जाती है लिखना बॉलीवुड पिक्चर की बात करें तो कहां खोई खोई सी होती कमलेश अंग्रेजों पर देखी जाएगी सुबह ही नहीं अगर हम बात करें तो इसलिए 26037 लेने बनते आ रही है जो कि भारत को ऑस्कर एंट्री दीपावली कि मुझसे ज्यादा नहीं पड़ता है का न्यू टेंशन की बात करें तो वह भी ऑफ करें नीचे तक पहुंचाई जा चुकी थी कि भारत की बनी होती हैModi Ki Bharat Ki Bani Filmo Ke Hot Sthar Par Nahi Hoti Hai Iske Kai Saree Purani Parampara Ka Run Dekar Do Prakar Ki Bharat Ki Janta Hai Gram Dekhie Bollywood Jo Hai Film Ke Sakte Hain Bharat Mein Filme Banate Ho Jab Tak Pani Ki Choti Choti Ki Bharat Ki Janta Se Koi Bhi Movie Mein Gaane Pasand Hai Romantic Seen Pasand Hai Kya Pasand Hai To Kaise Thik Masala Movie Aur Logon Ko Bahut Pasand Hai Aur Abhi Tak Chalte Film Karte Hain Taki Isse Log Manoranjan Mile Aur Logon Ko Manoranjan Mil Raha Hai Isliye To Bol Pa Raha Hai Isliye Jo Hai Bharat Mata Ki Train Ki Baat Karen To Wah Bahut Hi Serious Ling Hoti Hai Ya Gusse Ka Masala Nahi Hota Hai Wah Ek Gehra Hi Topic Par Hoti Hai Ki Ray Doctor Hoti Hai Ya Phir Topic Ke Baare Mein Puri Duniya Charche To Karta Hai Aurat Ekdam Acche Se Batana To Mere Hisab Se Bharat Ke Logon Ko Massage Nahi Aati Hai Abhi Kiska Yuva Generation Jo Hai Ya Yuva Logon Ne Kabhi Bhi Hamare Desh Mein Sare Log Hollywood Jaisalmer Gram Hollywood Pikcharon Ki Baat Karen To Wah Lagbhag Avashya Ke Sare Deshon Mein Lagai Jati Hai Likhna Bollywood Picture Ki Baat Karen To Kahan Khoi Khoi Si Hoti Kamlesh Angrejo Par Dekhi Jayegi Subah Hi Nahi Agar Hum Baat Karen To Isliye 26037 Lene Bante Aa Rahi Hai Jo Ki Bharat Ko Oscar Entry Deepawali Ki Mujhse Jyada Nahi Padata Hai Ka New Tension Ki Baat Karen To Wah Bhi Of Karen Neeche Tak Pahunchai Ja Chuki Thi Ki Bharat Ki Bani Hoti Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Mein Bani Filme Oscar Sthar Ki Kyun Nahi Hotin , बाहुबली हिंदी मूवीस





मन में है सवाल?