पेट्रोल का दाम क्यों बढ़ रहा है? क्या सरकर इसे कम करने के लिए कुछ नहीं कर रही? ...

Likes  0  Dislikes

6 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
हमारे देश में एक बहुत ही बड़ी समस्या है पेट्रोल के दाम और पेट्रोल के दाम आए दिन बढ़ते जा रहे हैं लोगों लोगों में काफी गुस्सा बोल सकते हैं सरकार के प्रति की महंगाई हमारे आवाज में पहले से ही और पेट्रोल के दाम बढ़ने से जहां आदमी की जगह आसानी से जिंदगी में काफी प्रभाव पड़ता है कोलकाता इस कम हुआ था पेट्रोल का दाम कम हुआ है कि हमारी सरकार को सोचना चाहिए कच्चे तेल के बाद उसमें जो है उसके बाद लाने के बाद बंद करने के बाद अब बोल सकते हैं किस में टेक्स्ट लगते हैं स्टरलाइट लगते हैं अब बहुत ज्यादा हो जाता है जनता की पसंद आया तो पेट्रोल का प्राइस कम हो जाएगा और कोलकाता की तरक्की होHamare Desh Mein Ek Bahut Hea Badi Samasya Hai Petrol K Dama Aur Petrol K Dama Ae Din Badhate Ja Rahe Hain Logon Logon Mein Kaafi Gussa Bowl Sakte Hain Sarkar K Prati Ki Mehangai Hamare Awaz Mein Pehle Se Hea Aur Petrol K Dama Badhane Se Jhan Aadmi Ki Jagah Ashani Se Jindagi Mein Kaafi Prabhav Padata Hai Kolkata Is Come Hua Thaa Petrol Ka Dama Come Hua Hai Qi Hamari Sarkar Co Sochna Chahie Kacche Tell K Baad Usme Joe Hai Uske Baad Lane K Baad Band Karne K Baad Aba Bowl Sakte Hain Kiss Mein Text Lagate Hain Starlaait Lagate Hain Aba Bahut Jyada Ho Jaata Hai Janta Ki Pasad Yaya To Petrol Ka Price Come Ho Jaaegaa Aur Kolkata Ki Tarkkee Ho
Likes  7  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जो पेट्रोल के दाम है वह किस तरह बढ़ते हैं मैं यह आपको बताऊंगा पेट्रोल के दाम बढ़ते हैं जैसे ही अंतरराष्ट्रीय बाजार में जो अरब कंट्री धाम जहां से तेल लेते हैं वह जो देश में व पेट्रोल के बैरल के रेट बढ़ा देते हैं जैसे कि पेट्रोल के बारे रेल का रेट बढ़ा तो उसी से होता है कि पेट्रोल का प्राइस भी बढ़ता है क्योंकि पेट्रोल का प्राइस बढ़ चुका है तो हमें उसे थोड़े ज्यादा पैसों में खरीदा है खरीदना पड़ता है जिसमें जो भारतीय रुपया है भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले बहुत कमजोर है और जो पेट्रोल मिलता है वह डॉलर में मिलता है इसलिए हमें और ज्यादा पैसे देने पड़ते हैं और जो तीसरी चीज यहां पर आती है वह जो सा एंजल गवर्नमेंट एक्साइज ड्यूटी बोल के जो हमारे ऊपर टैक्स लगाती है वह टैक्स काफी ज्यादा होता है इसीलिए हमें पेट्रोल के प्राइस केडी इंटरनेशनल मार्केट में थोड़ा भी बढ़ता है तो भारत में पहुंचकर वह काफी ज्यादा बढ़ चुका होता है और अभी के हालात ऐसे थे कि काफी बार इंटरनेशनल मार्केट में पेट्रोल के दाम बढ़े हैंJoe Petrol K Dama Hai Wah Kiss Turha Badhate Hain Main Yeh Aapko Bataunga Petrol K Dama Badhate Hain Jaise Hea Antararashtriya Bazar Mein Joe Orb Country Dham Jhan Se Tell Lete Hain Wah Joe Desh Mein Va Petrol K Barrel K Rate Badha Dete Hain Jaise Qi Petrol K Baare Rail Ka Rate Badha To Ussi Se Hota Hai Qi Petrol Ka Price Bhi Badhata Hai Kyonki Petrol Ka Price Badh Chuka Hai To Human Usse Thode Jyada Paiso Mein Kharida Hai Kharidana Padata Hai Jisamein Joe Bhartiya Rupyaa Hai Bhartiya Rupyaa Dolor K Mukabale Bahut Kamjor Hai Aur Joe Petrol Milta Hai Wah Dolor Mein Milta Hai Eeslie Human Aur Jyada Paise Dane Padate Hain Aur Joe Tisri Chij Yahaan Per Auti Hai Wah Joe Sa Angel Govt Excise Duty Bowl K Joe Hamare Upar Tax Lagaati Hai Wah Tax Kaafi Jyada Hota Hai Isiliye Human Petrol K Price Kaidi International Market Mein Thoda Bhi Badhata Hai To Bharat Mein Pahunchakar Wah Kaafi Jyada Badh Chuka Hota Hai Aur Abhi K Haalaat Aise The Qi Kaafi Bar International Market Mein Petrol K Dama Badhe Hain
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
लिखे पेट्रोल इतना महंगा है इसलिए इसके पीछे दो कारण है कि जो ऊपर कनेक्शन जहां पर है जो परमिशन सब मेंबर है जो कंट्री जहां पर पेट्रोल होता है वह कंट्री पेट्रोल वहां से महंगा बेचारे प्रति बैरल पेट्रोल का दाम है वहां पर एक्स्ट्रा है ऊपर से जो हमारी गवर्नमेंट है वह अलग से यहां पर आकर बहुत सारे चार्जिंग लगा देती है जैसे कि जीएसटी और अलग-अलग तरह के चार्जेस लगाती है जिसके कारण जब पेट्रोल हमारे पास पहुंचता है तू बहुत महंगा हो जाता है इस में पेट्रोल पंप के मालिक रिज्यूम बहुत भारी मात्रा में पेट्रोल आयात करते हैं उनसे कोई प्रॉपर टाइट होता है इसमें जिसके कारण जो पेट्रोल यहां पहुंचते-पहुंचते कस्टमर तक पहुंचता है तो उसका जूस प्राइस होता है वह बहुत ज्यादा महंगा हो जाता हैLikhe Petrol Itna Mahanga Hai Eeslie Iske Pichhe Though Karan Hai Qi Joe Upar Connection Jhan Per Hai Joe Paramishan Sub Member Hai Joe Country Jhan Per Petrol Hota Hai Wah Country Petrol Vahan Se Mahanga Bechaare Prati Barrel Petrol Ka Dama Hai Vahan Per Extra Hai Upar Se Joe Hamari Govt Hai Wah Eluga Se Yahaan Per Aakar Bahut Saare Charging Laga Deti Hai Jaise Qi GST Aur Eluga Eluga Turha K Charges Lagaati Hai Jiske Karan Jab Petrol Hamare Pass Pahunchata Hai Tu Bahut Mahanga Ho Jaata Hai Is Mein Petrol Pump K Malik Resume Bahut Bhari Maatra Mein Petrol Ayaat Karte Hain Unse Koi Propre Tight Hota Hai Ismein Jiske Karan Joe Petrol Yahaan Pahunchate Pahunchate Customer Tak Pahunchata Hai To Uska Juice Price Hota Hai Wah Bahut Jyada Mahanga Ho Jaata Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


के पेट्रोल के दाम पर जो है अभी सरकार का कोई नियंत्रण नहीं रहा है अभी सरकार ने अपना नियंत्रण हटा लिया है और तेल कंपनियों के ऊपर ही छोड़ दिया है कि इंटरनेशनल मार्केट में जो है जितना पर बारे में सबसे पेट्रोल का दाम चल रहा होगा वह उस हिसाब से डिसाइड करेंगे अगर ज्यादा होता है तो पहले लिए चाहिए इंडिया में उसका प्राइस जो है वह क्या और अगर इंटरनेशनल मार्केट में कम होता है तो उसके पहले इंडिया का जो प्राइस है वह कम होगा तो सरकार का इसमें कोई भी कंट्रोल नहीं है और तेल कंपनियां जो है अभी प्राइस घटा

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

के पेट्रोल के दाम पर जो है अभी सरकार का कोई नियंत्रण नहीं रहा है अभी सरकार ने अपना नियंत्रण हटा लिया है और तेल कंपनियों के ऊपर ही छोड़ दिया है कि इंटरनेशनल मार्केट में जो है जितना पर बारे में सबसे पेट्रोल का दाम चल रहा होगा वह उस हिसाब से डिसाइड करेंगे अगर ज्यादा होता है तो पहले लिए चाहिए इंडिया में उसका प्राइस जो है वह क्या और अगर इंटरनेशनल मार्केट में कम होता है तो उसके पहले इंडिया का जो प्राइस है वह कम होगा तो सरकार का इसमें कोई भी कंट्रोल नहीं है और तेल कंपनियां जो है अभी प्राइस घटाK Petrol K Dama Per Joe Hai Abhi Sarkar Ka Koi Niyatran Nahin Raha Hai Abhi Sarkar Ne Apna Niyatran Hata Liya Hai Aur Tell Kampniyo K Upar Hea Chod Diya Hai Qi International Market Mein Joe Hai Jitna Per Baare Mein Sabse Petrol Ka Dama Chal Raha Hoga Wah Oosh Hisaab Se Decide Karenge Agar Jyada Hota Hai To Pehle Lie Chahie India Mein Uska Price Joe Hai Wah Kya Aur Agar International Market Mein Come Hota Hai To Uske Pehle India Ka Joe Price Hai Wah Come Hoga To Sarkar Ka Ismein Koi Bhi Control Nahin Hai Aur Tell Kampaniyan Joe Hai Abhi Price Ghata
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

पेट्रोल कीमत इसलिए इतना बढ़ गया क्योंकि जो पिक कंट्रीस है जो जहां पर पेट्रोल मिलते हैं उन्होंने जो है पर बैरल पेट्रोल के दाम है वह बढ़ा दिया है पर बढ़े पेट्रोल के दाम बढ़ने के कारण दिया क्या आया जो पेट्रोल के दाम उसका पेट्रोल के दामों में हो रहा है

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

पेट्रोल कीमत इसलिए इतना बढ़ गया क्योंकि जो पिक कंट्रीस है जो जहां पर पेट्रोल मिलते हैं उन्होंने जो है पर बैरल पेट्रोल के दाम है वह बढ़ा दिया है पर बढ़े पेट्रोल के दाम बढ़ने के कारण दिया क्या आया जो पेट्रोल के दाम उसका पेट्रोल के दामों में हो रहा हैPetrol Kimat Eeslie Itna Badh Gaya Kyonki Joe Pack Kantris Hai Joe Jhan Per Petrol Milte Hain Unhonne Joe Hai Per Barrel Petrol K Dama Hai Wah Badha Diya Hai Per Badhe Petrol K Dama Badhane K Karan Diya Kya Yaya Joe Petrol K Dama Uska Petrol K Daamo Mein Ho Raha Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

देखिए जब से 2018 शुरू हुआ है तब से वह है पेट्रोल डीजल के भाव में जरुर बदलती देखी जा चुकी जागरण टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की बात करें तो बहुत दूर पर तक बढ़ चुके हो और डीजल के दाम + 3 घंटे तक पढ़ चुके हैं और यही मानना है कि आज के समय में जो है पेट्रोल के दाम बढ़ रहा है वहां अवश्य ही नहीं को दिखाओ यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस धर्मेंद्र प्रधान है और मैं इस चीज पर विचार कर रही हो प्रयत्न कर रही है कि वह पेट्रोल डीजल केरोसिन को चाहे वह जीएसटी में लाया जाए विश्व भर में अगर हम देखें तो विश्वभर में ऑयल की प्राइस जो है वह बढ़ रही है क्या करे जब से 2018 से हुआ था से बात करें तो इंटरनेशनल प्राइज जो है वो का नाका पर बड़ी है और इसमें जो है भारत की ओर मिनिस्ट्री जो है उन्होंने फाइनेंस मिनिस्ट्री को यह कहा है कि वह यूनियन बजट में जो है एक्साइज ड्यूटी पर थोड़ा सा आराम से को कम कर दे एक्साइज ड्यूटी को काट कर दें और जो कि उनके विचार लगता है ज्यादा पड़ रही है और उस पर इंटरनेशनल ऑयल प्राइस बीबर ड्रेस दो जिसके लिए जो है पेट्रोल के दाम बढ़ रहा है तो इस पर सरकार कितना कुछ नहीं कर सकती यहां सरकार जो है वह अस्थाई ड्यूटी को कम कर सकती है जोकि और केरोसिन या फिर पेट्रोल पर लगता है तो इसलिए है यही कारण है कि पेट्रोल के दाम जो वह पढ़ रहे हैं

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Romanized Version

देखिए जब से 2018 शुरू हुआ है तब से वह है पेट्रोल डीजल के भाव में जरुर बदलती देखी जा चुकी जागरण टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की बात करें तो बहुत दूर पर तक बढ़ चुके हो और डीजल के दाम + 3 घंटे तक पढ़ चुके हैं और यही मानना है कि आज के समय में जो है पेट्रोल के दाम बढ़ रहा है वहां अवश्य ही नहीं को दिखाओ यूनियन मिनिस्ट्री ऑफ पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस धर्मेंद्र प्रधान है और मैं इस चीज पर विचार कर रही हो प्रयत्न कर रही है कि वह पेट्रोल डीजल केरोसिन को चाहे वह जीएसटी में लाया जाए विश्व भर में अगर हम देखें तो विश्वभर में ऑयल की प्राइस जो है वह बढ़ रही है क्या करे जब से 2018 से हुआ था से बात करें तो इंटरनेशनल प्राइज जो है वो का नाका पर बड़ी है और इसमें जो है भारत की ओर मिनिस्ट्री जो है उन्होंने फाइनेंस मिनिस्ट्री को यह कहा है कि वह यूनियन बजट में जो है एक्साइज ड्यूटी पर थोड़ा सा आराम से को कम कर दे एक्साइज ड्यूटी को काट कर दें और जो कि उनके विचार लगता है ज्यादा पड़ रही है और उस पर इंटरनेशनल ऑयल प्राइस बीबर ड्रेस दो जिसके लिए जो है पेट्रोल के दाम बढ़ रहा है तो इस पर सरकार कितना कुछ नहीं कर सकती यहां सरकार जो है वह अस्थाई ड्यूटी को कम कर सकती है जोकि और केरोसिन या फिर पेट्रोल पर लगता है तो इसलिए है यही कारण है कि पेट्रोल के दाम जो वह पढ़ रहे हैंDekhiye Jab Se 2018 Shuru Hua Hai Taba Se Wah Hai Petrol Diesel K Bhaw Mein Jarur Badalati Dekhi Ja Chukii Jagran Times Of India Ki Report Ki Baat Karein To Bahut Dur Per Tak Badh Chuke Ho Aur Diesel K Dama + 3 Ghamte Tak Padh Chuke Hain Aur Yahi Manna Hai Qi Aj K Samay Mein Joe Hai Petrol K Dama Badh Raha Hai Vahan Awashya Hea Nahin Co Dikhaao Union Ministry Of PETROLEUM End Nechural Gas Dharmendra Pradhan Hai Aur Main Is Chij Per Vichaar Car Rahi Ho Prayatna Car Rahi Hai Qi Wah Petrol Diesel Kerosene Co Chahe Wah GST Mein Layaa Jae Vishwa Bhora Mein Agar Hum Dekhe To Vishwabhar Mein Oil Ki Price Joe Hai Wah Badh Rahi Hai Kya Kare Jab Se 2018 Se Hua Thaa Se Baat Karein To International Prize Joe Hai Vo Ka Naka Per Badi Hai Aur Ismein Joe Hai Bharat Ki Oar Ministry Joe Hai Unhonne Fainens Ministry Co Yeh Kaha Hai Qi Wah Union Budget Mein Joe Hai Excise Duty Per Thoda Sa Aroma Se Co Come Car They Excise Duty Co Kat Car Dein Aur Joe Qi Unke Vichaar Lagta Hai Jyada Pad Rahi Hai Aur Oosh Per International Oil Price Bibar Dress Though Jiske Lie Joe Hai Petrol K Dama Badh Raha Hai To Is Per Sarkar Kitna Kuch Nahin Car Sakti Yahaan Sarkar Joe Hai Wah Asthai Duty Co Come Car Sakti Hai Jokee Aur Kerosene Ya Phir Petrol Per Lagta Hai To Eeslie Hai Yahi Karan Hai Qi Petrol K Dama Joe Wah Padh Rahe Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Petrol Ka Dam Kyun Badh Raha Hai ?, Why Is The Price Of Petrol Rising? What Is Not Doing Anything To Reduce It?