स्नोडेन आधार के विरुद्ध क्यों है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्नोडेन सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी के एक पूर्व कर्मचारी है उन्होंने कहा है कि आधार में कमियों को उजागर करने वाली पत्रकार को सजा नहीं अपितु इनाम मिलना चाहिए भारत सरकार अगर वाकई न्याय को लेकर चिंतित है त...जवाब पढ़िये
स्नोडेन सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी के एक पूर्व कर्मचारी है उन्होंने कहा है कि आधार में कमियों को उजागर करने वाली पत्रकार को सजा नहीं अपितु इनाम मिलना चाहिए भारत सरकार अगर वाकई न्याय को लेकर चिंतित है तो उन्हें इस नीति में सुधार करना ही चाहिए जिस नीति से एक अरब वासियों की निर्मलता नष्ट हो सकती है मोदी ने अमेरिका की जनता को भी सावधान करने की कोशिश की थी कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी लोगों की निजता का दुरुपयोग कर रही है लोडिंग का कहना है कि निजी जीवन की जानकारी की इच्छा रखना सरकारों की स्वाभाविक प्रवृत्ति है इतिहास से पता चलता है कि भले ही कानून बना हो लेकिन इनका दुरुपयोग होता ही है स्नोडेन पर जनता की निष्ठा के दुरुपयोग का विरोध कर रहे हैं उनका मानना है कि यह निजी है तो इसे सावधानी पूर्वक संभाल कर रखा जाना चाहिएSnowden Central Intelligence Agency Ke Ek Purv Karmchari Hai Unhone Kaha Hai Ki Aadhar Mein Kamiyon Ko Ujagar Karne Wali Patrakar Ko Saja Nahi Apitu Inam Milna Chahiye Bharat Sarkar Agar Vaakai Nyay Ko Lekar Chintit Hai To Unhen Is Niti Mein Sudhaar Karna Hi Chahiye Jis Niti Se Ek Arab Vasiyo Ki Nirmalata Nasht Ho Sakti Hai Modi Ne America Ki Janta Ko Bhi Savdhan Karne Ki Koshish Ki Thi Ki American Khufiya Agency Logon Ki Nijata Ka Durupyog Kar Rahi Hai Loading Ka Kehna Hai Ki Niji Jeevan Ki Jankari Ki Icha Rakhna Sarkaro Ki Svabhavik Pravritti Hai Itihas Se Pata Chalta Hai Ki Bhale Hi Kanoon Bana Ho Lekin Inka Durupyog Hota Hi Hai Snowden Par Janta Ki Nishtha Ke Durupyog Ka Virodh Kar Rahe Hain Unka Manana Hai Ki Yeh Niji Hai To Ise Savadhani Purvak Sambhaala Kar Rakha Jana Chahiye
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिकेट एडवर्ड स्नोडेन है उन्होंने रिसेंटली दबाया के अंदर अपना एक आर्टिकल जो है वह शेयर किया जो कि पूर्व रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के चीफ केसी वर्मा ने लिखा था जिन्होंने अपने एक्सप्रेस के बारे में बताए...जवाब पढ़िये
क्रिकेट एडवर्ड स्नोडेन है उन्होंने रिसेंटली दबाया के अंदर अपना एक आर्टिकल जो है वह शेयर किया जो कि पूर्व रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के चीफ केसी वर्मा ने लिखा था जिन्होंने अपने एक्सप्रेस के बारे में बताएं कि कितना मुश्किल हुआ उनको आधार को जोड़ना बाकी चीजों से 520 से तो जे एडवर्ड छोड़ने वह हमेशा से ही आधार के गेम्स चाहिए उनके रिकॉर्डिंग जो आधार इनफार्मेशन वह पर्सनल इंफॉर्मेशन है और की मांग को लेकर या फिर वैसे किस जगह पर देख कर उनको मिस यूज़ हो सकता है उन्होंने बोला कि आधार जो है बैंक में टेलीकॉम में ट्रांसपोर्ट में सबसे ज्यादा यूज़ हो रहा है पुलिस के अंदर नहीं लेकिन एक प्रॉक्सी क्रिएट करने के लिए डेंसिटी कि यानि कि अगर आपने अपने आधार नंबर नहीं दिया है बैंक वगैरह में और अगर उन्होंने वह नंबर ऐसे ही गलत तरीके से कोई और यूज कर लिया तो उनके पास सारी इनफार्मेशन चले जाएगी आपके आधार कार्ड कि आप की पर्सनल इन्फॉर्मेशन उन्होंने बोला कि आधार चूहे को तरसे थे अगर बैंक या फिर मकान वाले क्या हॉस्पिटल या स्कूल टेलीफोन कंपनी वाले या इंटरनेट कंपनी वाले अगर अलार्म कमीशन ना मांगे उन पर उनको स्ट्रिक्टली मना कर देती है पर ऐसा नहीं है जुनून गवर्नमेंट एंड सिटीज है जब प्राइवेट कंपनी से वह भी आपसे आधार कार्ड नंबर मांगती यहां पर किसी भी सर्विस के लिए क्योंकि बहुत ही डेंजरस है किसी भी इंसान के लिए उसकी पर्सनल इंफॉर्मेशन के लिए तो इसीलिए उनको कौन से निकली और विरोध कर रहे हैंCricket Edward Snowden Hai Unhone Recently Dabaya Ke Andar Apna Ek Article Jo Hai Wah Share Kiya Jo Ki Purv Research End Analysis Wing Ke Chief Kaise Verma Ne Likha Tha Jinhone Apne Express Ke Baare Mein Bataen Ki Kitna Mushkil Hua Unko Aadhar Ko Jodna Baki Chijon Se 520 Se To Je Edward Chodane Wah Hamesha Se Hi Aadhar Ke Games Chahiye Unke Recording Jo Aadhar Information Wah Personal Information Hai Aur Ki Maang Ko Lekar Ya Phir Waise Kis Jagah Par Dekh Kar Unko Miss Use Ho Sakta Hai Unhone Bola Ki Aadhar Jo Hai Bank Mein Telecom Mein Transport Mein Sabse Jyada Use Ho Raha Hai Police Ke Andar Nahi Lekin Ek Proxy Create Karne Ke Liye Density Ki Yani Ki Agar Aapne Apne Aadhar Number Nahi Diya Hai Bank Vagairah Mein Aur Agar Unhone Wah Number Aise Hi Galat Tarike Se Koi Aur Use Kar Liya To Unke Paas Saree Information Chale Jayegi Aapke Aadhar Card Ki Aap Ki Personal Information Unhone Bola Ki Aadhar Chuhe Ko Tarashe The Agar Bank Ya Phir Makan Wale Kya Hospital Ya School Telephone Company Wale Ya Internet Company Wale Agar Alarm Commision Na Mange Un Par Unko Striktali Mana Kar Deti Hai Par Aisa Nahi Hai Junuun Government End Cities Hai Jab Private Company Se Wah Bhi Aapse Aadhar Card Number Mangati Yahan Par Kisi Bhi Service Ke Liye Kyonki Bahut Hi Dangerous Hai Kisi Bhi Insaan Ke Liye Uski Personal Information Ke Liye To Isliye Unko Kaun Se Nikli Aur Virodh Kar Rahe Hain
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एडवर्ड जो सर्विस नूडल एक बहुत बड़ा नाम है अगर हम बात करेंगे अमेरिका की खुफिया एजेंसी में पहले काम करते थे वहां पर उन्हें आधार के लिए जो विरोध में जो बात कर रहे हैं जो सेट मॉडल उन्होंने SIM इसी तरह से ...जवाब पढ़िये
एडवर्ड जो सर्विस नूडल एक बहुत बड़ा नाम है अगर हम बात करेंगे अमेरिका की खुफिया एजेंसी में पहले काम करते थे वहां पर उन्हें आधार के लिए जो विरोध में जो बात कर रहे हैं जो सेट मॉडल उन्होंने SIM इसी तरह से बात उन्होंने उस समय की थी जब अमेरिका में खौफ एजेंसी में काम कर रहे थे वहां रहकर उन्होंने पता चला कि कु फैंसी में काम करते-करते उनसे गलत काम करवाए जा रहे हैं जैसे कि अमेरिकंस की प्राइवेसी में दखलअंदाजी की जा रही थी बहुत बुरी तरीके से इसके अलावा अफगानिस्तान बैठक किए थे तो उन्होंने आधार को लेकर भी एक बात कही उन्होंने कहा कि 130 करोड़ लोगों का आपने डाटा ऑनलाइन कर दिया है और बिना किसी परमिशन के के आयोजक इस तरह की परमिशन शेयर करना चाहता है बिना किसी नोटिफिकेशन के बगैर किसी और ठंडी किशन के बिना किसी परमिशन ली है आप पूरा का पूरा डाटा आप उस सामने वाली कंपनी को या थर्ड पार्टी को या गवर्नमेंट को दे देते हो यह गलत बात है हालांकि सरकार ने इस बारे में कहा था कि हम लोग जो डाटा देते हैं उसमें केवल घर का एड्रेस आपका नाम फादर्स नेम जाता है इसके अलावा आपका मोबाइल नंबर नहीं जाता लेकिन मोबाइल नंबर कई जगह पर लगा एक प्राइवेट कंपनी में क्यों मोबाइल नंबर की जरूरत होती तो वहां पर भी पूरा डाटा जाता है तो अब इस तरह की चीजें सुप्रीम कोर्ट ने जब कहीं तो सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब तक आधार को आप अच्छी तरह से और डिजाइन नहीं कर लेते मतलब आधार के लिए भी एक होना चाहिए ना कि जब आपसे कोई आधार कार्ड मांगे तो आपसे पूछा कि आपको कौन सी जानकारी दो मैं क्योंकि यह चीज इंपोर्टेंट है अगर आप के नाम पर सिम ली जा रही तो आपका नाम भी तो जरूरी है आपका डेट ऑफ बर्थ जरूरी है इसके अलावा आपको जानकारी देना आवश्यक नहीं है आपके एड्रेस देना जरूरी है लेकिन अब जब तक ऐसे ही फैसिलिटी उत्पन्न नहीं हो जाती है यह फैसिलिटी है बहुत ज्यादा खर्चा आएगा गवर्नर बहुत बड़ा बनाने वाला है अगर वह सारी चीजें चालू कर देगी तो तो अभी तक तो चमके तब तक वह दौड़ विरोध कर रही है और दूसरों को कहना बिल्कुल सही है कि आधार अभी तो सही नहीं है जब तक उसके लिए अच्छे से डेवलपमेंट नहीं किया जाता तब तक थैंक यूEdward Jo Service Noodle Ek Bahut Bada Naam Hai Agar Hum Baat Karenge America Ki Khufiya Agency Mein Pehle Kaam Karte The Wahan Par Unhen Aadhar Ke Liye Jo Virodh Mein Jo Baat Kar Rahe Hain Jo Set Model Unhone SIM Isi Tarah Se Baat Unhone Us Samay Ki Thi Jab America Mein Khauf Agency Mein Kaam Kar Rahe The Wahan Rahkar Unhone Pata Chala Ki Ku Fainsi Mein Kaam Karte Karte Unse Galat Kaam Karvaye Ja Rahe Hain Jaise Ki Amerikans Ki Privacy Mein Dakhalandaji Ki Ja Rahi Thi Bahut Buri Tarike Se Iske Alava Afghanistan Baithak Kiye The To Unhone Aadhar Ko Lekar Bhi Ek Baat Kahi Unhone Kaha Ki 130 Crore Logon Ka Aapne Data Online Kar Diya Hai Aur Bina Kisi Permission Ke Ke Ayojak Is Tarah Ki Permission Share Karna Chahta Hai Bina Kisi Notification Ke Bagair Kisi Aur Thandi Kishan Ke Bina Kisi Permission Lee Hai Aap Pura Ka Pura Data Aap Us Samane Wali Company Ko Ya Third Party Ko Ya Government Ko De Dete Ho Yeh Galat Baat Hai Halanki Sarkar Ne Is Baare Mein Kaha Tha Ki Hum Log Jo Data Dete Hain Usamen Kewal Ghar Ka Address Aapka Naam Fathers Name Jata Hai Iske Alava Aapka Mobile Number Nahi Jata Lekin Mobile Number Kai Jagah Par Laga Ek Private Company Mein Kyun Mobile Number Ki Zaroorat Hoti To Wahan Par Bhi Pura Data Jata Hai To Ab Is Tarah Ki Cheezen Supreme Court Ne Jab Kahin To Supreme Court Ne Kaha Ki Jab Tak Aadhar Ko Aap Acchi Tarah Se Aur Design Nahi Kar Lete Matlab Aadhar Ke Liye Bhi Ek Hona Chahiye Na Ki Jab Aapse Koi Aadhar Card Mange To Aapse Poocha Ki Aapko Kaun Si Jankari Do Main Kyonki Yeh Cheez Important Hai Agar Aap Ke Naam Par Sim Lee Ja Rahi To Aapka Naam Bhi To Zaroori Hai Aapka Date Of Birth Zaroori Hai Iske Alava Aapko Jankari Dena Aavashyak Nahi Hai Aapke Address Dena Zaroori Hai Lekin Ab Jab Tak Aise Hi Facility Utpann Nahi Ho Jati Hai Yeh Facility Hai Bahut Jyada Kharcha Aayega Governor Bahut Bada Banane Wala Hai Agar Wah Saree Cheezen Chalu Kar Degi To To Abhi Tak To Chamake Tab Tak Wah Daudh Virodh Kar Rahi Hai Aur Dusron Ko Kehna Bilkul Sahi Hai Ki Aadhar Abhi To Sahi Nahi Hai Jab Tak Uske Liye Acche Se Development Nahi Kiya Jata Tab Tak Thank You
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Snowden Aadhaar Ke Viruddh Kyon Hai, Why Is Snowden Against The Base?

vokalandroid