एक स्कूल के प्रिंसिपल को एक छात्र ने गोली मार दी, क्या भारतीय अपनी नैतिकता धीरे धीरे खो रहे हैं? कैसे? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है मैं ऐसी सारी घटनाओं को अपवाद मानता हूं और यह जो है यह जो हमारा 125 करोड़ का देश है इस में अगर कुछ इस तरीके की घटनाएं होती हैं तो उसको भारतीय संस्कृति और भारतीय नैतिकता से जोड़ करके नहीं देखा जा...जवाब पढ़िये
ठीक है मैं ऐसी सारी घटनाओं को अपवाद मानता हूं और यह जो है यह जो हमारा 125 करोड़ का देश है इस में अगर कुछ इस तरीके की घटनाएं होती हैं तो उसको भारतीय संस्कृति और भारतीय नैतिकता से जोड़ करके नहीं देखा जाना चाहिए यह पहले भी होता रहा है उससे अगर आप पहले जाएंगे तब भी इस तरीके घटाएं होती थी और आगे भी होती रहेंगी और दुनिया का कोई भी ऐसा देश नहीं है जहां पर इस तरीके की घटनाएं नहीं होती हैं आपने देखा कि कुछ दिनों पहले ही जो है वह गुडगांव के अंदर जो है कैसी डेंट हुआ जिसमें की एक व्यक्ति लड़ लड़के ने जो अपने ही क्लास के छोटे बच्चे की हत्या कर दी और क्योंकि वह छुट्टी चाहता था और अभी अभी शिमला चीज है जो है लखनऊ के अंदर भी रिपीट हुई है जोकि स्थाई के काम करते हैं और उसको भारतीय नैतिकता से जोड़ करके देखना उचित नहीं हैTheek Hai Main Aisi Saree Ghatnaon Ko Apavad Manata Hoon Aur Yeh Jo Hai Yeh Jo Hamara 125 Crore Ka Desh Hai Is Mein Agar Kuch Is Tarike Ki Ghatnaye Hoti Hain To Usko Bhartiya Sanskriti Aur Bhartiya Naitikta Se Jod Karke Nahi Dekha Jana Chahiye Yeh Pehle Bhi Hota Raha Hai Usse Agar Aap Pehle Jaenge Tab Bhi Is Tarike Ghataye Hoti Thi Aur Aage Bhi Hoti Rahengi Aur Duniya Ka Koi Bhi Aisa Desh Nahi Hai Jahan Par Is Tarike Ki Ghatnaye Nahi Hoti Hain Aapne Dekha Ki Kuch Dinon Pehle Hi Jo Hai Wah Gudgaon Ke Andar Jo Hai Kaisi Dent Hua Jisme Ki Ek Vyakti Lad Ladke Ne Jo Apne Hi Class Ke Chote Bacche Ki Hatya Kar Di Aur Kyonki Wah Chutti Chahta Tha Aur Abhi Abhi Shimla Cheez Hai Jo Hai Lucknow Ke Andar Bhi Repeat Hui Hai Joki Sthai Ke Kaam Karte Hain Aur Usko Bhartiya Naitikta Se Jod Karke Dekhna Uchit Nahi Hai
Likes  10  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें जब यह न्यूज़ सामने आए थे कि एक स्कूल के प्रिंसिपल को एक छात्र ने गोली मार दे क्योंकि बहुत ही छोटी थी कोई गलती कर दी थी उस छात्र ने शायद वह प्रैक्टिकल देने से मना कर दिया को फोन लगाओ स्कूल में या...जवाब पढ़िये
देखें जब यह न्यूज़ सामने आए थे कि एक स्कूल के प्रिंसिपल को एक छात्र ने गोली मार दे क्योंकि बहुत ही छोटी थी कोई गलती कर दी थी उस छात्र ने शायद वह प्रैक्टिकल देने से मना कर दिया को फोन लगाओ स्कूल में या फिर कोई मेरे नसीब में नहीं है क्या सेंड किया उस छात्र ने तो प्रिंसिपल ने उस पर गुस्सा किया और उसे पनिशमेंट भी तो उस छात्र ने उसे गोली मार दी यह सब न्यूज़ आई थी मेरे सामने और हम सब ने पढ़ी थी तब यह सुनकर बहुत ज्यादा अजीब लगा कि आजकल के बच्चों को होगी क्या हो क्या गया है जो और आजकल देखा जाए तो एक SMS हमें बहुत ही ज्यादा आ रहे हैं मतलब पहले तो यह होता था कि क्राइम नो डाउट बढ़ रहा था इंडिया में पर लेकिन आजकल जो हो रहा है वह गेम बच्चों में बढ़ रहा है खेत में तेजस्विता पर आजकल तो छोटे-छोटे बच्चों में भी यह गुस्सा और यह चीजें यह गलत उठाने की हिम्मत अरे कहां से आ गई है यह शायद आ रहे हैं तो इन्हें देखकर यह जो न्यूज़ आती है ना सुनकर मैं कोई ऐसा बिल्कुल लगता है कि आज भारत है वह अपनी जो भारत में है जो भारत के लोग है मैं अपनी नैतिकता धीरज रखो ही रहे हैं क्योंकि और यह जो चिप आजकल उठा रहे हैं बच्चे यह कहां से सीख रहे हैं यह सिर्फ और सिर्फ लिख रहे हो ढंग से अब अब इंडिया का जो भारत है और उसका एनवायरनमेंट ही इस प्रकार का हो चुका है कि जो बच्चे देख रहे हैं वही सीख रहे हैं और वह भविष्य सपना रहे हैं तू हां बिल्कुल यह नैतिकता धीरे धीरे कहीं गुम हो रही हैDekhen Jab Yeh News Samane Aaye The Ki Ek School Ke Principal Ko Ek Chatra Ne Goli Maar De Kyonki Bahut Hi Choti Thi Koi Galti Kar Di Thi Us Chatra Ne Shayad Wah Practical Dene Se Mana Kar Diya Ko Phone Lagao School Mein Ya Phir Koi Mere Nasib Mein Nahi Hai Kya Send Kiya Us Chatra Ne To Principal Ne Us Par Gussa Kiya Aur Use Punishment Bhi To Us Chatra Ne Use Goli Maar Di Yeh Sab News Eye Thi Mere Samane Aur Hum Sab Ne Padhi Thi Tab Yeh Sunkar Bahut Jyada Ajib Laga Ki Aajkal Ke Bacchon Ko Hogi Kya Ho Kya Gaya Hai Jo Aur Aajkal Dekha Jaye To Ek SMS Hume Bahut Hi Jyada Aa Rahe Hain Matlab Pehle To Yeh Hota Tha Ki Crime No Doubt Badh Raha Tha India Mein Par Lekin Aajkal Jo Ho Raha Hai Wah Game Bacchon Mein Badh Raha Hai Khet Mein Tejaswita Par Aajkal To Chote Chote Bacchon Mein Bhi Yeh Gussa Aur Yeh Cheezen Yeh Galat Uthane Ki Himmat Arre Kahan Se Aa Gayi Hai Yeh Shayad Aa Rahe Hain To Inhen Dekhkar Yeh Jo News Aati Hai Na Sunkar Main Koi Aisa Bilkul Lagta Hai Ki Aaj Bharat Hai Wah Apni Jo Bharat Mein Hai Jo Bharat Ke Log Hai Main Apni Naitikta Dheeraj Rakho Hi Rahe Hain Kyonki Aur Yeh Jo Chip Aajkal Utha Rahe Hain Bacche Yeh Kahan Se Seekh Rahe Hain Yeh Sirf Aur Sirf Likh Rahe Ho Dhang Se Ab Ab India Ka Jo Bharat Hai Aur Uska Environment Hi Is Prakar Ka Ho Chuka Hai Ki Jo Bacche Dekh Rahe Hain Wahi Seekh Rahe Hain Aur Wah Bhavishya Sapna Rahe Hain Tu Haan Bilkul Yeh Naitikta Dhire Dhire Kahin Gum Ho Rahi Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां इस सब घटना का सुनकर तो हर किसी को ही एकदम से अचंभा ही हुआ था कि स्कूल के एक बच्चे ने अपने प्रिंसिपल को गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और यह बात सही है कि हमारा जो देश है उसमें जो बच्चे हैं वह नैति...जवाब पढ़िये
जी हां इस सब घटना का सुनकर तो हर किसी को ही एकदम से अचंभा ही हुआ था कि स्कूल के एक बच्चे ने अपने प्रिंसिपल को गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और यह बात सही है कि हमारा जो देश है उसमें जो बच्चे हैं वह नैतिकता बिल्कुल भूल रहे हैं और उनके जो हमारे देश के संस्कार हैं और हमारे देश का जो कल्चर है जो के जिसमें गुरु को भगवान के स्वरुप माना जाता है वह सब लोग भूल रहे हैं और उसकी वैल्यू खत्म होती जा रही है और इसका सबसे बड़ा रीजन है हमारे देश में बेस्ट कल चलाना या नहीं और वेस्ट की जो कंट्री से उनका कल्चर हमारे देश में आता जा रहा है और जो हमारे देश का कल्चर था वह बिल्कुल खत्म होता जा रहा है तो वह यह हमारे जो जो घर से संस्कार हमको मिलते हैं यह सब उन्हीं की बदौलत है कि बच्चा जो बिगड़ सकता है यह बच्चा बन सकता है तो मेरे हिसाब से बहुत ही गलत चीज जो उस बच्चे ने की यह बहुत ही गलत चीज थी आप अगर कोई भी बात है कोई भी दिक्कत है आपको प्रिंसिपल से तो आप अपने घर वालों को बता अगर आपको उन्होंने डांटा भी था तो आप वह भी बात अपने घरवालों से शेयर कर सकते थे आपको प्रिंसिपल को मार देना यह बहुत ही शर्मनाक चीज़ें किसी भी इंसान के लिए करना क्योंकि किसी भी इंसान को मारना हमारे देश में बहुत ही गलत क्राइम माना जाता है और उसके लिए सख्त से सख्त सजा होती हैं तो आपको ऐसा भी उस बच्चे को ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए था और हमारे देश में यह चीज की नैतिकता बिल्कुल खत्म होती जा रही है तो इस चीज का जो सबसे बड़ा श्रेय हमारे घर वालों को जाता है कि उन लोगों ने संस्कार देना बंद कर दिया है और वैश्वीकरण आते जा रहा है हमारे देश में तो इसी से बचने के लिए हमें अपने घरवालों से करीब रहना चाहिए और घरवालों को भी अपने बच्चों से करीब रखना चाहिए उनको उनसे बात करनी चाहिए उनसे चीजें डिस्कस करनी चाहिए ताकि अगर ऐसी कोई प्रॉब्लम है तो आप से बात कर सकेJi Haan Is Sab Ghatna Ka Sunkar To Har Kisi Ko Hi Ekdam Se Achanbha Hi Hua Tha Ki School Ke Ek Bacche Ne Apne Principal Ko Goli Marakar Unki Hatya Kar Di Aur Yeh Baat Sahi Hai Ki Hamara Jo Desh Hai Usamen Jo Bacche Hain Wah Naitikta Bilkul Bhul Rahe Hain Aur Unke Jo Hamare Desh Ke Sanskar Hain Aur Hamare Desh Ka Jo Culture Hai Jo Ke Jisme Guru Ko Bhagwan Ke Swarup Mana Jata Hai Wah Sab Log Bhul Rahe Hain Aur Uski Value Khatam Hoti Ja Rahi Hai Aur Iska Sabse Bada Reason Hai Hamare Desh Mein Best Kal Chalana Ya Nahi Aur West Ki Jo Country Se Unka Culture Hamare Desh Mein Aata Ja Raha Hai Aur Jo Hamare Desh Ka Culture Tha Wah Bilkul Khatam Hota Ja Raha Hai To Wah Yeh Hamare Jo Jo Ghar Se Sanskar Hamko Milte Hain Yeh Sab Unhin Ki Badaulat Hai Ki Baccha Jo Bigad Sakta Hai Yeh Baccha Ban Sakta Hai To Mere Hisab Se Bahut Hi Galat Cheez Jo Us Bacche Ne Ki Yeh Bahut Hi Galat Cheez Thi Aap Agar Koi Bhi Baat Hai Koi Bhi Dikkat Hai Aapko Principal Se To Aap Apne Ghar Walon Ko Bata Agar Aapko Unhone Danta Bhi Tha To Aap Wah Bhi Baat Apne Gharwaalon Se Share Kar Sakte The Aapko Principal Ko Maar Dena Yeh Bahut Hi Sharmnaak Chizen Kisi Bhi Insaan Ke Liye Karna Kyonki Kisi Bhi Insaan Ko Maarna Hamare Desh Mein Bahut Hi Galat Crime Mana Jata Hai Aur Uske Liye Sakht Se Sakht Saja Hoti Hain To Aapko Aisa Bhi Us Bacche Ko Aisa Bilkul Bhi Nahi Karna Chahiye Tha Aur Hamare Desh Mein Yeh Cheez Ki Naitikta Bilkul Khatam Hoti Ja Rahi Hai To Is Cheez Ka Jo Sabse Bada Shrey Hamare Ghar Walon Ko Jata Hai Ki Un Logon Ne Sanskar Dena Band Kar Diya Hai Aur Vaishvikaran Aate Ja Raha Hai Hamare Desh Mein To Isi Se Bachane Ke Liye Hume Apne Gharwaalon Se Karib Rehna Chahiye Aur Gharwaalon Ko Bhi Apne Bacchon Se Karib Rakhna Chahiye Unko Unse Baat Karni Chahiye Unse Cheezen Discuss Karni Chahiye Taki Agar Aisi Koi Problem Hai To Aap Se Baat Kar Sake
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रमेश जी यकीन मानिए यह पढ़कर की एक स्कूली छात्र ने अपने प्रिंसिपल को गोली मार दी दो पल के लिए मैं भी बहुत हैरान थे अभी थोड़े दिन पहले ही पड़ा की एक साधे कक्षा की लड़की ने पहली कक्षा के लड़के के ऊपर चाक...जवाब पढ़िये
रमेश जी यकीन मानिए यह पढ़कर की एक स्कूली छात्र ने अपने प्रिंसिपल को गोली मार दी दो पल के लिए मैं भी बहुत हैरान थे अभी थोड़े दिन पहले ही पड़ा की एक साधे कक्षा की लड़की ने पहली कक्षा के लड़के के ऊपर चाकू से हमला किया 12वीं क्लास की लड़की ने एक तीसरी क्लास की लड़की के साथ रेप किया प्रिंसिपल को गोली मार दी बच्चों के अंदर इतना गुस्सा इतना जो यह क्वेश्चन नहीं प्रदूषण बढ़ता जा रहा है कहीं ना कहीं इसकी वजह से जो नैतिकता है वह तो हमको ही रहे हैं लेकिन बच्चे चोदने भगवान का रूप बोलते हैं वह इतनी ज्यादा इंग्लिश हो गए थे ज्यादा गुस्से में रहते हैं कि वह किसी पर गोली मार देते हैं क्योंकि प्रिंसिपल ने उसे प्रैक्टिकल देने से मना किया या फोन लगाने से मना किया हम बाहर कि अपने नैतिक मूल्यों की वजह से जाने जाते हैं अगर वह नैतिक मूल्य हम ऐसे ही खो देंगे तो हमारे भारत की पहचान ही क्या रह जाएगी और इसमें कसूर सिर्फ बच्चों का नहीं है जैसा उन्हें आसपास देखने को मिलता है जैसे माहौल में वह बड़े होते हैं जैसा वह दोस्तों से सीखते हैं उसकी वजह से और जो आज के लिए क्या चीज का जो इतना ज्यादा प्रयोग होता है उस सब से बच्चों का दिमाग है वह वैसा ही हो जाता है और वह सिकंदर झांक ले लेते हैंRamesh Ji Yakin Maaniye Yeh Padhakar Ki Ek Skuli Chatra Ne Apne Principal Ko Goli Maar Di Do Pal Ke Liye Main Bhi Bahut Hairan The Abhi Thode Din Pehle Hi Pada Ki Ek Saadhe Kaksha Ki Ladki Ne Pehli Kaksha Ke Ladke Ke Upar Chaku Se Hamla Kiya Vi Class Ki Ladki Ne Ek Teesri Class Ki Ladki Ke Saath Rape Kiya Principal Ko Goli Maar Di Bacchon Ke Andar Itna Gussa Itna Jo Yeh Question Nahi Pradushan Badhta Ja Raha Hai Kahin Na Kahin Iski Wajah Se Jo Naitikta Hai Wah To Hamko Hi Rahe Hain Lekin Bacche Chodane Bhagwan Ka Roop Bolte Hain Wah Itni Jyada English Ho Gaye The Jyada Gusse Mein Rehte Hain Ki Wah Kisi Par Goli Maar Dete Hain Kyonki Principal Ne Use Practical Dene Se Mana Kiya Ya Phone Lagane Se Mana Kiya Hum Bahar Ki Apne Naitik Mulyon Ki Wajah Se Jaane Jaate Hain Agar Wah Naitik Mulya Hum Aise Hi Kho Denge To Hamare Bharat Ki Pehchaan Hi Kya Rah Jayegi Aur Isme Kasoor Sirf Bacchon Ka Nahi Hai Jaisa Unhen Aaspass Dekhne Ko Milta Hai Jaise Maahaul Mein Wah Bade Hote Hain Jaisa Wah Doston Se Sikhate Hain Uski Wajah Se Aur Jo Aaj Ke Liye Kya Cheez Ka Jo Itna Jyada Prayog Hota Hai Us Sab Se Bacchon Ka Dimag Hai Wah Waisa Hi Ho Jata Hai Aur Wah Sikandar Jhank Le Lete Hain
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बात अगर नैतिकता तक होती तो कोई परेशानी नहीं थी लेकिन इसके पीछे वजह देखिए उस बच्चे ने उनको गोली इसलिए मारी ताकि उन्हें छुट्टी मिल सके मत सो सकती है बच्चों के ऊपर कितना मेंटली प्रेशर क्रिएट किया जा चुका...जवाब पढ़िये
बात अगर नैतिकता तक होती तो कोई परेशानी नहीं थी लेकिन इसके पीछे वजह देखिए उस बच्चे ने उनको गोली इसलिए मारी ताकि उन्हें छुट्टी मिल सके मत सो सकती है बच्चों के ऊपर कितना मेंटली प्रेशर क्रिएट किया जा चुका है परिवार द्वारा समाज द्वारा टीचर द्वारा कि अगर उन्हें छुट्टी की आवश्यकता भी होती है अगर उन्हें किसी दिन स्कूल जाने का मन नहीं है तो उन्हें इस तरह का काम करना पड़ रहा है आप सोच सकते हैं कि हम लोगों ने अपने बच्चों को इस तरह के निवारण में पाला-पोसा बड़ा किया है कि उन्हें हम 1 दिन भी फ्री नहीं जुड़ सकते हम उन्हें ना हो बी के नाम पर कुछ कराते हैं ना हम उन्हें घर में रूकने देते हैं हम चाहते हैं कि स्कूल में जाएं सबसे ज्यादा नंबर लेकर आए हर डिपार्टमेंट में फर्स्ट नंबर पर है यह संभव है बच्चों पर ही कैसे क्रिएट होता है इस साइकोलॉजिकल चीज में होती है जिसके कारण बच्चों ने इस तरह कदम उठाया मुझे लगता है बच्चे को जो सुधारक में भेजा गया है वह जल्दी ठीक होकर वापस आएगा और इस तरह के कारण अगर बढ़ते गए तो काफी परेशानी आएगी हमारी समाज में क्योंकि भारत का समाज ऐसा नहीं है नैतिकता नहीं हो रहा है लेकिन हमें यह समझने की जरूरत है कि हम बच्चों पर ऐसी जिम्मेदारी ना दें जिसके लायक अभी वह हुए नहीं है हमें की बात सुननी चाहिए समझना चाहिए कि बच्चे क्या चाहते हैं और उनकी हर चीज में मदद करनी चाहिए बच्चों को हर बात डिस्कस करने के लिए बोलना चाहिए क्यों नहीं किस चीज में परेशानी है थैंक यूBaat Agar Naitikta Tak Hoti To Koi Pareshani Nahi Thi Lekin Iske Piche Wajah Dekhie Us Bacche Ne Unko Goli Isliye Mari Taki Unhen Chutti Mil Sake Mat So Sakti Hai Bacchon Ke Upar Kitna Mentally Pressure Create Kiya Ja Chuka Hai Parivar Dwara Samaaj Dwara Teacher Dwara Ki Agar Unhen Chutti Ki Avashyakta Bhi Hoti Hai Agar Unhen Kisi Din School Jaane Ka Man Nahi Hai To Unhen Is Tarah Ka Kaam Karna Padh Raha Hai Aap Soch Sakte Hain Ki Hum Logon Ne Apne Bacchon Ko Is Tarah Ke Nivaran Mein Pala Posa Bada Kiya Hai Ki Unhen Hum 1 Din Bhi Free Nahi Jud Sakte Hum Unhen Na Ho Be Ke Naam Par Kuch Karate Hain Na Hum Unhen Ghar Mein Rukne Dete Hain Hum Chahte Hain Ki School Mein Jayen Sabse Jyada Number Lekar Aaye Har Department Mein First Number Par Hai Yeh Sambhav Hai Bacchon Par Hi Kaise Create Hota Hai Is Saikolajikal Cheez Mein Hoti Hai Jiske Kaaran Bacchon Ne Is Tarah Kadam Uthaya Mujhe Lagta Hai Bacche Ko Jo Sudharak Mein Bheja Gaya Hai Wah Jaldi Theek Hokar Wapas Aayega Aur Is Tarah Ke Kaaran Agar Badhte Gaye To Kafi Pareshani Aayegi Hamari Samaaj Mein Kyonki Bharat Ka Samaaj Aisa Nahi Hai Naitikta Nahi Ho Raha Hai Lekin Hume Yeh Samjhne Ki Zaroorat Hai Ki Hum Bacchon Par Aisi Jimmedari Na Dein Jiske Layak Abhi Wah Hue Nahi Hai Hume Ki Baat Sunnani Chahiye Samajhna Chahiye Ki Bacche Kya Chahte Hain Aur Unki Har Cheez Mein Madad Karni Chahiye Bacchon Ko Har Baat Discuss Karne Ke Liye Bolna Chahiye Kyun Nahi Kis Cheez Mein Pareshani Hai Thank You
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल नहीं मेरा मानना है कि इस तरह का घटना अमान्य है मैं इस घटना की निंदा करता हूं और ऐसी जो छात्र है जो प्रिंसिपल को गोली मारकर हत्या कर दो छात्र को कानून की तरफ से करेगी कड़ी सजा दिया जाए और उसे...जवाब पढ़िये
बिल्कुल नहीं मेरा मानना है कि इस तरह का घटना अमान्य है मैं इस घटना की निंदा करता हूं और ऐसी जो छात्र है जो प्रिंसिपल को गोली मारकर हत्या कर दो छात्र को कानून की तरफ से करेगी कड़ी सजा दिया जाए और उसे करें सजा आने अभी जो छात्र हैं रीसेंट में उसे लगे कि हां किसी को मारने का क्या सजा मिलता है सब गोल्ड रेट ऑफ सऊदी अरब के कानून दिल्ली से सऊदी अरब में ज्यादा क्राइम क्यों नहीं होता इंटरनेशनल ब्यूरो ऑफ क्राइम है इंटरनेशनल लेवल का क्राइम में उस में सबसे ज्यादा सूची जो है हम लोग के उत्तर भारत में ही आता है एशिया में ही जाता है इसलिए मैं आपसे यह कहना चाहता हूं कि जिस लड़के ने प्रिंसिपल साहब को गोली मारी है उस लड़के को ऐसी सजा दिया जाए जो अभी रीसेंट के स्कूल में बच्चे हैं वह उसे सबक सीख लें इसके बाद ऑटोमेटिकली जो है कोई भी छात्र कोई फर्क नहीं उठाएगा यह बहुत है यह से जो है ना अपने नेता धीरे-धीरे सही में खो देंगे जब तक कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया धन्यवादBilkul Nahi Mera Manana Hai Ki Is Tarah Ka Ghatna Amanya Hai Main Is Ghatna Ki Ninda Karta Hoon Aur Aisi Jo Chatra Hai Jo Principal Ko Goli Marakar Hatya Kar Do Chatra Ko Kanoon Ki Taraf Se Karegi Kadi Saja Diya Jaye Aur Use Karen Saja Aane Abhi Jo Chatra Hain Recent Mein Use Lage Ki Haan Kisi Ko Maarne Ka Kya Saja Milta Hai Sab Gold Rate Of Saudi Arab Ke Kanoon Delhi Se Saudi Arab Mein Jyada Crime Kyun Nahi Hota International Bureau Of Crime Hai International Level Ka Crime Mein Us Mein Sabse Jyada Suchi Jo Hai Hum Log Ke Uttar Bharat Mein Hi Aata Hai Asia Mein Hi Jata Hai Isliye Main Aapse Yeh Kehna Chahta Hoon Ki Jis Ladke Ne Principal Sahab Ko Goli Mari Hai Us Ladke Ko Aisi Saja Diya Jaye Jo Abhi Recent Ke School Mein Bacche Hain Wah Use Sabak Seekh Lein Iske Baad Atometikli Jo Hai Koi Bhi Chatra Koi Fark Nahi Uthayega Yeh Bahut Hai Yeh Se Jo Hai Na Apne Neta Dhire Dhire Sahi Mein Kho Denge Jab Tak Koi Sakht Kadam Nahi Uthaya Gaya Dhanyavad
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Ek School Ke Principal Ko Ek Chatra Ne Goli Maar Di Kya Bharatiya Apni Naitikta Dhire Dhire Kho Rahe Hain Kaise

vokalandroid