जब भारत का बंटवारा हुआ मुसलमानों को तो दो देश मिल गये हिंदूओ को कया मिला ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
मुस्लिम समुदाय को पाकिस्तान के रूप में एक नया देश मिला तथा हिंदुओं को उनका देश जो था वह पहले से ही उनके पास था जिसे भारत का या तो हिंदुस्तान आप कह सकते हैं l तो मुझे नहीं लगता कि इसके अलावा और किसी चीज की जरूरत थी l धार्मिक आधार पर किया गया जो बंटवारा था वह बहुत ही खेदजनक था, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण था l परंतु हिंदू पहले से ही इस देश में रहते थे उनके पास अगर पाने के लिए कुछ नहीं था तो खोने के लिए भी कुछ नहीं था l परंतु जब मुस्लिम समुदाय को उनका एक देश मिला तब उस समय भी वहां पर बहुत से हिंदू तथा अन्य धर्मों के लोग भी थे l परंतु धीरे-धीरे वह कम होते गए इसके कारण में पूरे विश्व में सभी लोगों को पता है l परंतु भारत ऐसा देश नहीं है, भारत एक धर्मनिरपेक्ष राज्य है जिसमें सभी धर्मों का सम्मान आदर किया है तथा अनेक वर्षों से सभी धर्मों के लोग यहां मिल बांट के, एकता पूर्ण तरीके से रहते आए हैं l तो मुझे नहीं लगता कि हिंदुओं को इसके अलावा और किसी चीज की जरूरत थी l हालांकि कुछ तरीके से कोई तरीके से देखा जाए तो यह बहुत ही विवादास्पद फैसला था तथा इसे किसी भी देश का किसी भी वर्ग धर्म सभा संप्रदाय का फायदा ना हुआ ना होगा l परंतु जो बंटवारे के बाद हिंदुओं को मिला वह कुछ विशेष नहीं था परंतु उनके पास क्योंकि उनका देश उनके संसाधन पहले से मौजूद थे इसलिए इसकी ज्यादा आकांक्षा भी नहीं की जा सकती l हालांकि मैं यह जरूर मानता हूं कि जो हमारे अल्पसंख्यक भाई यहाँ रह गए उनके साथ अन्याय नहीं हुआ है बहुत हद तक l परंतु हमारे जो हिंदू भाई थे जो कि पाकिस्तान से भारत है उनके साथ बहुत ही अन्याय पूर्ण तरीके से उनको चीजों का बंटवारा हुआ तथा उनको जो संसाधन उपलब्ध कराया गया वह शायद उतने नहीं थे जितने कि उनके पास उस समय था जब वह पाकिस्तान में रहते थे धन्यवाद lMuslim Samuday Ko Pakistan Ke Roop Mein Ek Naya Desh Mila Tatha Hinduon Ko Unka Desh Jo Tha Wah Pehle Se Hi Unke Paas Tha Jise Bharat Ka Ya To Hindustan Aap Keh Sakte Hain L To Mujhe Nahi Lagta Ki Iske Alava Aur Kisi Cheez Ki Zaroorat Thi L Dharmik Aadhar Par Kiya Gaya Jo Batwara Tha Wah Bahut Hi Khedajanak Tha Wah Bahut Hi Durbhagyaporn Tha L Parantu Hindu Pehle Se Hi Is Desh Mein Rehte The Unke Paas Agar Pane Ke Liye Kuch Nahi Tha To Khone Ke Liye Bhi Kuch Nahi Tha L Parantu Jab Muslim Samuday Ko Unka Ek Desh Mila Tab Us Samay Bhi Wahan Par Bahut Se Hindu Tatha Anya Dharmon Ke Log Bhi The L Parantu Dhire Dhire Wah Kum Hote Gaye Iske Kaaran Mein Poore Vishwa Mein Sabhi Logon Ko Pata Hai L Parantu Bharat Aisa Desh Nahi Hai Bharat Ek Dharmanirapeksh Rajya Hai Jisme Sabhi Dharmon Ka Samman Aadar Kiya Hai Tatha Anek Varshon Se Sabhi Dharmon Ke Log Yahan Mil Baant Ke Ekta Poorn Tarike Se Rehte Aaye Hain L To Mujhe Nahi Lagta Ki Hinduon Ko Iske Alava Aur Kisi Cheez Ki Zaroorat Thi L Halanki Kuch Tarike Se Koi Tarike Se Dekha Jaye To Yeh Bahut Hi Vivadaspad Faisla Tha Tatha Ise Kisi Bhi Desh Ka Kisi Bhi Varg Dharm Sabha Sampraday Ka Fayda Na Hua Na Hoga L Parantu Jo Bantavare Ke Baad Hinduon Ko Mila Wah Kuch Vishesh Nahi Tha Parantu Unke Paas Kyonki Unka Desh Unke Sansadhan Pehle Se Maujud The Isliye Iski Jyada Aakansha Bhi Nahi Ki Ja Sakti L Halanki Main Yeh Jarur Manata Hoon Ki Jo Hamare Alpsankhyak Bhai Yahan Rah Gaye Unke Saath Anyay Nahi Hua Hai Bahut Had Tak L Parantu Hamare Jo Hindu Bhai The Jo Ki Pakistan Se Bharat Hai Unke Saath Bahut Hi Anyay Poorn Tarike Se Unko Chijon Ka Batwara Hua Tatha Unko Jo Sansadhan Uplabdha Karaya Gaya Wah Shayad Utne Nahi The Jitne Ki Unke Paas Us Samay Tha Jab Wah Pakistan Mein Rehte The Dhanyavad L
Likes  26  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
मैं इस बात में थोड़ा सा संशोधन करना चाहूंगा कि भारत के बंटवारे में मुसलमानों को नहीं मुस्लिम लीग के कुछ सदस्यों को एक देश मिल गया क्योंकि जवाहरलाल नेहरू ने जब भी कमेटी बनाई आपको याद होगा 1946 में हमारी कैबिनेट मिशन जो बना था तो संविधान सभा का निर्माण हुआ संविधान सभा में जो रक्षा मंत्रालय होता है संचार मंत्रालय होता जितने भी इंपोर्टेंट मंत्रालय सब मुस्लिम लीग को दे दिए गए थे ताकि वह देश को बटवारे करने की कोशिश ना करें इसके बाद भी वह लोग नहीं माने और 3 जून को जो माउंटबेटन प्लान आया तब तक मैंने विरोध किया उस चीज का कई बार मीटिंग में छोड़ कर चले जाते थे तो यह सब उन लोगों को चाहिए तो आप मुस्लिम को नहीं चाहिए गा 1950 का दौरा 1940 का दौर इसी तरह का था पूरी दुनिया में धर्म के नाम पर बहुत परेशानी हो रही थी यूरोप में हमारे यहां से ज्यादा परेशानियां थी तो नेहरु जी ने जब कंट्री आजादी तो कहा था कि हमारे दिल से कर ले हमारे संविधान में भी लिखा है तो यह हिंदू शब्द को तो अगर 1960 10 मिनट में बात कर रहे हो कि तुम्हें बोलता जरूर कि हमारे देश को हिंदुओं को भारत मिल गया लेकिन आज के समय में कहना बिल्कुल गलत है हम यह कह सकते हैं कि भारतीयों को भारत में गया और अन्य लोगों को बांग्लादेश तथा पाकिस्तान मिल गया शायद सबसे सही शब्दों में मैं इसको एक्सप्लेन यही कर सकता हूं बहुत-बहुत धन्यवादMain Is Baat Mein Thoda Sa Sanshodhan Karna Chahunga Ki Bharat Ke Bantavare Mein Musalmano Ko Nahi Muslim League Ke Kuch Sadasyon Ko Ek Desh Mil Gaya Kyonki Jawaharlal Nehru Ne Jab Bhi Committee Banai Aapko Yaad Hoga 1946 Mein Hamari Cabinet Mission Jo Bana Tha To Samvidhan Sabha Ka Nirman Hua Samvidhan Sabha Mein Jo Raksha Mantralay Hota Hai Sanchar Mantralay Hota Jitne Bhi Important Mantralay Sab Muslim League Ko De Diye Gaye The Taki Wah Desh Ko Batware Karne Ki Koshish Na Karen Iske Baad Bhi Wah Log Nahi Mane Aur 3 June Ko Jo Mountbatten Plan Aaya Tab Tak Maine Virodh Kiya Us Cheez Ka Kai Baar Meeting Mein Chod Kar Chale Jaate The To Yeh Sab Un Logon Ko Chahiye To Aap Muslim Ko Nahi Chahiye Ga 1950 Ka Daura 1940 Ka Daur Isi Tarah Ka Tha Puri Duniya Mein Dharm Ke Naam Par Bahut Pareshani Ho Rahi Thi Europe Mein Hamare Yahan Se Jyada Pareshaniyan Thi To Nehru Ji Ne Jab Country Azadi To Kaha Tha Ki Hamare Dil Se Kar Le Hamare Samvidhan Mein Bhi Likha Hai To Yeh Hindu Shabdh Ko To Agar 1960 10 Minute Mein Baat Kar Rahe Ho Ki Tumhein Bolta Jarur Ki Hamare Desh Ko Hinduon Ko Bharat Mil Gaya Lekin Aaj Ke Samay Mein Kehna Bilkul Galat Hai Hum Yeh Keh Sakte Hain Ki Bharatiyon Ko Bharat Mein Gaya Aur Anya Logon Ko Bangladesh Tatha Pakistan Mil Gaya Shayad Sabse Sahi Shabdon Mein Main Isko Explain Yahi Kar Sakta Hoon Bahut Bahut Dhanyavad
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Jab Bharat Ka Batwara Hua Musalmano Ko To Do Desh Mil Gaye Hinduo Ko Kaya Mila





मन में है सवाल?