search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

क्या आपको लगता है की भारत एक जातिवाद देश है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस बात में कोई भी दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और यहां पर बहुत ज्यादा जातिवाद होता है, पॉलिटिकल जो पार्टी है वह जातिवाद को पूरी तरीके से एक्स्प्लओइट करती हैं l हर ब्यूरोक्रेटिक ऑपरेटिंग सिस्टम में और हर सिस्टम में जो है जातिवाद का बोलबाला है l यह बहुत दुर्भाग्य की बात है और जातिवाद को पॉलिटिशियन जो है प्रमोट करते हैं, प्रमोट करके अपना फायदा उठाते हैं, और इस देश को डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी के तहत जातिवाद को हमेशा प्रोत्साहन देते रहते हैं l तो इस बात से कोई दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और पॉलिटिशंस को चाहिए, नेताओं को चाहिए कि वह इस जाति के जो हमारा जो कुचक्र है, और जाती है जो भावनाएं हैं उसको कम करें और हमें भारतीय बनाएं जातिवाद के ऊपर पहुंचाएं l लेकिन दुर्भाग्य से कोई भी नेता ऐसा करना नहीं चाहता कि वोट का हासिल करने का सबसे आसान तरीका होता है कि, एक जाति को दूसरी जाति के खिलाफ लड़ाई धर्म को दूसरे धर्म के खिलाफ में लड़ाया जाए और उसे सबसे तेजी से वोट मिलते हैं l इसलिए यह पॉलिटिक्स जो है वह जातिवाद को कभी खत्म नहीं होने देगा और जातिवाद जो है इस देश में बना रहेगा l
Romanized Version
इस बात में कोई भी दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और यहां पर बहुत ज्यादा जातिवाद होता है, पॉलिटिकल जो पार्टी है वह जातिवाद को पूरी तरीके से एक्स्प्लओइट करती हैं l हर ब्यूरोक्रेटिक ऑपरेटिंग सिस्टम में और हर सिस्टम में जो है जातिवाद का बोलबाला है l यह बहुत दुर्भाग्य की बात है और जातिवाद को पॉलिटिशियन जो है प्रमोट करते हैं, प्रमोट करके अपना फायदा उठाते हैं, और इस देश को डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी के तहत जातिवाद को हमेशा प्रोत्साहन देते रहते हैं l तो इस बात से कोई दो राय नहीं कि भारत एक जातिवाद देश है, और पॉलिटिशंस को चाहिए, नेताओं को चाहिए कि वह इस जाति के जो हमारा जो कुचक्र है, और जाती है जो भावनाएं हैं उसको कम करें और हमें भारतीय बनाएं जातिवाद के ऊपर पहुंचाएं l लेकिन दुर्भाग्य से कोई भी नेता ऐसा करना नहीं चाहता कि वोट का हासिल करने का सबसे आसान तरीका होता है कि, एक जाति को दूसरी जाति के खिलाफ लड़ाई धर्म को दूसरे धर्म के खिलाफ में लड़ाया जाए और उसे सबसे तेजी से वोट मिलते हैं l इसलिए यह पॉलिटिक्स जो है वह जातिवाद को कभी खत्म नहीं होने देगा और जातिवाद जो है इस देश में बना रहेगा lIs Baat Mein Koi Bhi Do Raya Nahi Ki Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Aur Yahan Par Bahut Zyada Jaatiwad Hota Hai Political Jo Party Hai Wah Jaatiwad Ko Puri Tarike Se Eksplaoit Karti Hain L Har Bureaucratic Operating System Mein Aur Har System Mein Jo Hai Jaatiwad Ka Bolbala Hai L Yeh Bahut Durbhagya Ki Baat Hai Aur Jaatiwad Ko Politician Jo Hai Promote Karte Hain Promote Karke Apna Fayda Uthaatey Hain Aur Is Desh Ko Divide End Rule Ki Policy Ke Tahat Jaatiwad Ko Hamesha Protsahan Dete Rehte Hain L To Is Baat Se Koi Do Raya Nahi Ki Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Aur Politicians Ko Chahiye Netaon Ko Chahiye Ki Wah Is Jati Ke Jo Hamara Jo Kuchakr Hai Aur Jati Hai Jo Bhavanae Hain Usko Kam Karen Aur Hume Bharatiya Banaye Jaatiwad Ke Upar Paunchaye L Lekin Durbhagya Se Koi Bhi Neta Aisa Karna Nahi Chahta Ki Vote Ka Hasil Karne Ka Sabse Aasan Tarika Hota Hai Ki Ek Jati Ko Dusri Jati Ke Khilaf Ladai Dharm Ko Dusre Dharm Ke Khilaf Mein Ladaya Jaye Aur Use Sabse Teji Se Vote Milte Hain L Isliye Yeh Politics Jo Hai Wah Jaatiwad Ko Kabhi Khatam Nahi Hone Dega Aur Jaatiwad Jo Hai Is Desh Mein Bana Rahega L
Likes  730  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि आज भी जातिवाद के नाम से लोग वोट मांगते हैं और नकली का लाभ उठाते हैं
Romanized Version
हां भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि आज भी जातिवाद के नाम से लोग वोट मांगते हैं और नकली का लाभ उठाते हैंHaan Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Kyonki Aaj Bhi Jaatiwad Ke Naam Se Log Vote Mangate Hain Aur Nakli Ka Labh Uthate Hain
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद है जो आपने सवाल में बहुत अच्छा पूछा है लेकिन इसका जवाब जो 1 मिनट में जो गाना बजता है जो 4 वर्ड में हमारा जातिवाद बटा हुआ है उसमें नहीं कहना चाहता हूं कि चाहे कोई भी चारा किसी भी जाति में है अगर उसको विचलित वीडियो में देखा जाता है तो उसको भी अपनी जाति से बहुत प्रेम है तो कहां से जातिवाद में पड़ जाएगा जब तक हमें अपने मन से हटा देंगे हम अगर आप अपना ठाकुर क्या हो या बैठे हो या सुधर कहो अगर किसी ने भी आप जाओगे सुधीर 6706 जिसमें किसी भी स्थिति में कोई भी है उसे अपनी जाति से बहुत प्रेम से प्रेम जातिवाद मिटने वाला नहीं है
जातिवाद है जो आपने सवाल में बहुत अच्छा पूछा है लेकिन इसका जवाब जो 1 मिनट में जो गाना बजता है जो 4 वर्ड में हमारा जातिवाद बटा हुआ है उसमें नहीं कहना चाहता हूं कि चाहे कोई भी चारा किसी भी जाति में है अगर उसको विचलित वीडियो में देखा जाता है तो उसको भी अपनी जाति से बहुत प्रेम है तो कहां से जातिवाद में पड़ जाएगा जब तक हमें अपने मन से हटा देंगे हम अगर आप अपना ठाकुर क्या हो या बैठे हो या सुधर कहो अगर किसी ने भी आप जाओगे सुधीर 6706 जिसमें किसी भी स्थिति में कोई भी है उसे अपनी जाति से बहुत प्रेम से प्रेम जातिवाद मिटने वाला नहीं है
Likes  121  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीके भारत बहुत बड़ी जो पृथ्वी पर से ठीक है दुनिया की अधिष्ठात्री बड़ी ही देश है और भारत पूरी जातिवाद बिल्कुल नहीं है पर देखा जाएगा तो जो लोग रहते हैं कोई कोई पॉकेट में जो लोग रहते क्योंकि ब्लॉक ज्यादा चलाते हैं आपको लगता कि भारत जातिवादी है भारत बिल्कुल जातिवादी नहीं है यहां पर एक ही गली में आज ईद या फिर दिवाली सेलिब्रेट होती है लगता है पूरी गली की दिवाली है या पूरी गली की ईद है तो यह सबसे बेहतरीन बात है भारत की औद्योगिक क्षेत्र क्रिसमस क्यों लगता नहीं है कि फिर भी क्रिश्चन स्काउट फेस्टिवल है यह सब लोग एक साथ मिलकर सेलिब्रेट करते हैं और हमारी जो जो यूथ है इसमें बहुत इंपॉर्टेंट पार्ट प्ले करती है कि हम सब लोग एक दूसरे की खुशी में शरीक होते हैं और एक दूसरे को अब हम आगे बढ़ाते हैं पर जो छोटे-छोटे शहरों में या फिर गांव में लोगों को लगता है कि हम को आगे नहीं बढ़ना चाहिए तो वह लोग यह जातिवाद का सवाल लेकर आगे बढ़ते हैं और यह भी है कि जब 1015 लोग 12 लोगों को आगे ले और जातिवाद के मामले में उनको क्वेश्चन करें या फिर उनको मारे पिटे तो तो पूरे दूध पूरे देश को यह पूरी दुनिया को लगता है कि भारत जातिवादी है पर भारत बिल्कुल जातिवादी नहीं है मेरा भारत बिल्कुल बहुत ज्यादा महान है और हम लोग उसे महान बना रहे हैं और अगर आपको लगता है यह भारत जातिवादी है तो प्लीज नेक्स्ट टाइम किसी का कोई इलाज इन ट्यूसडे रही है और तुझे अब कुछ जान कर क्या करना है आप ही का काम पूछे जात नहीं
Romanized Version
डीके भारत बहुत बड़ी जो पृथ्वी पर से ठीक है दुनिया की अधिष्ठात्री बड़ी ही देश है और भारत पूरी जातिवाद बिल्कुल नहीं है पर देखा जाएगा तो जो लोग रहते हैं कोई कोई पॉकेट में जो लोग रहते क्योंकि ब्लॉक ज्यादा चलाते हैं आपको लगता कि भारत जातिवादी है भारत बिल्कुल जातिवादी नहीं है यहां पर एक ही गली में आज ईद या फिर दिवाली सेलिब्रेट होती है लगता है पूरी गली की दिवाली है या पूरी गली की ईद है तो यह सबसे बेहतरीन बात है भारत की औद्योगिक क्षेत्र क्रिसमस क्यों लगता नहीं है कि फिर भी क्रिश्चन स्काउट फेस्टिवल है यह सब लोग एक साथ मिलकर सेलिब्रेट करते हैं और हमारी जो जो यूथ है इसमें बहुत इंपॉर्टेंट पार्ट प्ले करती है कि हम सब लोग एक दूसरे की खुशी में शरीक होते हैं और एक दूसरे को अब हम आगे बढ़ाते हैं पर जो छोटे-छोटे शहरों में या फिर गांव में लोगों को लगता है कि हम को आगे नहीं बढ़ना चाहिए तो वह लोग यह जातिवाद का सवाल लेकर आगे बढ़ते हैं और यह भी है कि जब 1015 लोग 12 लोगों को आगे ले और जातिवाद के मामले में उनको क्वेश्चन करें या फिर उनको मारे पिटे तो तो पूरे दूध पूरे देश को यह पूरी दुनिया को लगता है कि भारत जातिवादी है पर भारत बिल्कुल जातिवादी नहीं है मेरा भारत बिल्कुल बहुत ज्यादा महान है और हम लोग उसे महान बना रहे हैं और अगर आपको लगता है यह भारत जातिवादी है तो प्लीज नेक्स्ट टाइम किसी का कोई इलाज इन ट्यूसडे रही है और तुझे अब कुछ जान कर क्या करना है आप ही का काम पूछे जात नहींDice Bharat Bahut Badi Jo Prithvi Par Se Theek Hai Duniya Ki Adhishthatri Badi Hi Desh Hai Aur Bharat Puri Jaatiwad Bilkul Nahi Hai Par Dekha Jayega To Jo Log Rehte Hain Koi Koi Pocket Mein Jo Log Rehte Kyonki Block Zyada Chalte Hain Aapko Lagta Ki Bharat Jativadi Hai Bharat Bilkul Jativadi Nahi Hai Yahan Par Ek Hi Gali Mein Aaj Eid Ya Phir Diwali Celebrate Hoti Hai Lagta Hai Puri Gali Ki Diwali Hai Ya Puri Gali Ki Eid Hai To Yeh Sabse Behtareen Baat Hai Bharat Ki Audhyogik Shetra Christmas Kyon Lagta Nahi Hai Ki Phir Bhi Krishchan Scout Festival Hai Yeh Sab Log Ek Saath Milkar Celebrate Karte Hain Aur Hamari Jo Jo Youth Hai Isme Bahut Important Part Play Karti Hai Ki Hum Sab Log Ek Dusre Ki Khushi Mein Sareeka Hote Hain Aur Ek Dusre Ko Ab Hum Aage Badhate Hain Par Jo Chote Chote Shaharon Mein Ya Phir Gav Mein Logon Ko Lagta Hai Ki Hum Ko Aage Nahi Badhana Chahiye To Wah Log Yeh Jaatiwad Ka Sawal Lekar Aage Badhte Hain Aur Yeh Bhi Hai Ki Jab 1015 Log 12 Logon Ko Aage Le Aur Jaatiwad Ke Mamle Mein Unko Question Karen Ya Phir Unko Maare Pite To To Poore Dudh Poore Desh Ko Yeh Puri Duniya Ko Lagta Hai Ki Bharat Jativadi Hai Par Bharat Bilkul Jativadi Nahi Hai Mera Bharat Bilkul Bahut Zyada Mahaan Hai Aur Hum Log Use Mahaan Bana Rahe Hain Aur Agar Aapko Lagta Hai Yeh Bharat Jativadi Hai To Please Next Time Kisi Ka Koi Ilaj In Tyusade Rahi Hai Aur Tujhe Ab Kuch Jaan Kar Kya Karna Hai Aap Hi Ka Kaam Puche Jaat Nahi
Likes  46  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छी भारत तो जातिवादी देसी है मैं तो मानता हूं क्योंकि सरकार है कि नहीं है सगाई हो तो जातिवाद के आधार कार्ड किस एरिया में जिसका वोटर ज्यादा होता है उसी का ट्रांसलेट के लोगों को ज्वाइन टिकट मिलता है तो सबसे बड़ा जातिवाद फैलाने वाले लोग हैं जो लोकतंत्र को मजबूत करने की बात करते मोटर दादा हूं उसी को टिकट मिलता है मिलेगा या नहीं मिलेगा इस मानसिकता से हमको काम करें हिंदू एक हो जाओ अच्छा साफ सुथरा एग्जाम दे रहे हैं अभी एक कटा हुआ एक ब्राह्मण और एक दलित के बीच में जो शादी हुई जब वोट लेना है तो कैसे हैं कि हिंदू एक हो जाओ एक दूजे से प्यार करने वालों एक हो जाओ और देश के काम करने वाले हैं उनको तो हम भी पी लेंगे किसी भी वो किसी भी धर्म की हो तो हमें इसका इशारा से ऊपर उठकर हमको सोचना पड़ेगा हमको सोचना पड़ेगा कि हमको भारतीयों को इकट्ठा करना है हमें जो है क्या करना है और मैं समझता हूं कि फिर वह तो लड़ाई शुरू होगी वह दुनिया में ऐसी लड़ाई होगी जो हमें सबसे आगे ले जाएंगे
बहुत अच्छी भारत तो जातिवादी देसी है मैं तो मानता हूं क्योंकि सरकार है कि नहीं है सगाई हो तो जातिवाद के आधार कार्ड किस एरिया में जिसका वोटर ज्यादा होता है उसी का ट्रांसलेट के लोगों को ज्वाइन टिकट मिलता है तो सबसे बड़ा जातिवाद फैलाने वाले लोग हैं जो लोकतंत्र को मजबूत करने की बात करते मोटर दादा हूं उसी को टिकट मिलता है मिलेगा या नहीं मिलेगा इस मानसिकता से हमको काम करें हिंदू एक हो जाओ अच्छा साफ सुथरा एग्जाम दे रहे हैं अभी एक कटा हुआ एक ब्राह्मण और एक दलित के बीच में जो शादी हुई जब वोट लेना है तो कैसे हैं कि हिंदू एक हो जाओ एक दूजे से प्यार करने वालों एक हो जाओ और देश के काम करने वाले हैं उनको तो हम भी पी लेंगे किसी भी वो किसी भी धर्म की हो तो हमें इसका इशारा से ऊपर उठकर हमको सोचना पड़ेगा हमको सोचना पड़ेगा कि हमको भारतीयों को इकट्ठा करना है हमें जो है क्या करना है और मैं समझता हूं कि फिर वह तो लड़ाई शुरू होगी वह दुनिया में ऐसी लड़ाई होगी जो हमें सबसे आगे ले जाएंगे
Likes  119  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद सा देश है जहां पर समुदाय के लोग नहीं रहते वीडियो पॉलिटिकल मुस्लिमों के साथ मोदी सरकार अन्याय कर रही है उनको अपने उम्मीदवार भी नहीं बनाई है जितनी बार बनाई है सबको बनाया है बीजेपी के मुस्लिम को दरकिनार कर रहे हैं मोदी सरकार इसलिए थी एक यह हवा उठ रही है कि इंडिया में हमारे कंट्री ने जातिवाद हो रही है
Romanized Version
जातिवाद सा देश है जहां पर समुदाय के लोग नहीं रहते वीडियो पॉलिटिकल मुस्लिमों के साथ मोदी सरकार अन्याय कर रही है उनको अपने उम्मीदवार भी नहीं बनाई है जितनी बार बनाई है सबको बनाया है बीजेपी के मुस्लिम को दरकिनार कर रहे हैं मोदी सरकार इसलिए थी एक यह हवा उठ रही है कि इंडिया में हमारे कंट्री ने जातिवाद हो रही हैJaatiwad Sa Desh Hai Jahan Par Samuday Ke Log Nahi Rehte Video Political Muslimo Ke Saath Modi Sarkar Anyay Kar Rahi Hai Unko Apne Ummidvar Bhi Nahi Banai Hai Jitni Baar Banai Hai Sabko Banaya Hai Bjp Ke Muslim Ko Darkinaar Kar Rahe Hain Modi Sarkar Isliye Thi Ek Yeh Hawa Uth Rahi Hai Ki India Mein Hamare Country Ne Jaatiwad Ho Rahi Hai
Likes  17  Dislikes      
WhatsApp_icon
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon
Likes  15  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा भी यह है कि अभी नहीं रही है तो बाकी बात बाकी बाद हम करते हैं ना यह रूलर एरिया से भी मैक्सिमम खत्म हो चुकी है कहीं दूर हो सकते हैं लेकिन जातिवाद पहले जितना नहीं रहा क्योंकि राजनीति हो जाता है कि नहीं बात करें सामाजिक दृष्टिकोण या कोई एमपी है उसका घर में सभी स्वागत करेंगे जनरल वाले उसे चारपाई पर बैठ आएंगे साइकिल आएंगे तब कुछ करेंगे और एक ऐसी है जो गरीब है पता है कि ऐसी है उसको कहानी का मतलब गरीबी का छुआछूत है यह जो जाती पाती है यह गरीबी की वजह से जात पात हो रही है यदि बंदा अमीर हो तो उसकी जांच कोई नहीं देखता
Romanized Version
मेरा भी यह है कि अभी नहीं रही है तो बाकी बात बाकी बाद हम करते हैं ना यह रूलर एरिया से भी मैक्सिमम खत्म हो चुकी है कहीं दूर हो सकते हैं लेकिन जातिवाद पहले जितना नहीं रहा क्योंकि राजनीति हो जाता है कि नहीं बात करें सामाजिक दृष्टिकोण या कोई एमपी है उसका घर में सभी स्वागत करेंगे जनरल वाले उसे चारपाई पर बैठ आएंगे साइकिल आएंगे तब कुछ करेंगे और एक ऐसी है जो गरीब है पता है कि ऐसी है उसको कहानी का मतलब गरीबी का छुआछूत है यह जो जाती पाती है यह गरीबी की वजह से जात पात हो रही है यदि बंदा अमीर हो तो उसकी जांच कोई नहीं देखताMera Bhi Yeh Hai Ki Abhi Nahi Rahi Hai Toh Baki Baat Baki Baad Hum Karte Hain Na Yeh Ruler Area Se Bhi Maximum Khatam Ho Chuki Hai Kahin Dur Ho Sakte Hain Lekin Jaatiwad Pehle Jitna Nahi Raha Kyonki Rajneeti Ho Jata Hai Ki Nahi Baat Karein Samajik Drishtikon Ya Koi Mp Hai Uska Ghar Mein Sabhi Swaagat Karenge General Wale Use Charapai Par Baith Aayenge Cycle Aayenge Tab Kuch Karenge Aur Ek Aisi Hai Jo Garib Hai Pata Hai Ki Aisi Hai Usko Kahani Ka Matlab Garibi Ka Chhuachhut Hai Yeh Jo Jati Pati Hai Yeh Garibi Ki Wajah Se Jaat Pat Ho Rahi Hai Yadi Banda Amir Ho Toh Uski Jaanch Koi Nahi Dekhta
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बात है तो इस कारण यह है कि कि अगर कोई पॉलिटिकल पार्टी आजकल पूरी करता है तो उसका पैसा लाने के लिए कुछ ना तो कुछ चाहिए तो भारत के जनता इतना बोला है कि दो समुदाय को बीच में एक आद बढ़ जाए उसको लड़ा दिया जाता है उसके नाम पर वोट ले लिया जाता है तो वह चलता रहा है और आगे अभी अभी तक हुआ नहीं है तो
Romanized Version
बात है तो इस कारण यह है कि कि अगर कोई पॉलिटिकल पार्टी आजकल पूरी करता है तो उसका पैसा लाने के लिए कुछ ना तो कुछ चाहिए तो भारत के जनता इतना बोला है कि दो समुदाय को बीच में एक आद बढ़ जाए उसको लड़ा दिया जाता है उसके नाम पर वोट ले लिया जाता है तो वह चलता रहा है और आगे अभी अभी तक हुआ नहीं है तोBaat Hai Toh Is Kaaran Yeh Hai Ki Ki Agar Koi Political Party Aajkal Puri Karta Hai Toh Uska Paisa Lane Ke Liye Kuch Na Toh Kuch Chahiye Toh Bharat Ke Janta Itna Bola Hai Ki Do Samuday Ko Beech Mein Ek Aadat Badh Jaye Usko Lada Diya Jata Hai Uske Naam Par Vote Le Liya Jata Hai Toh Wah Chalta Raha Hai Aur Aage Abhi Abhi Tak Hua Nahi Hai Toh
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon
मेरा मानना है कि भारत एक जातिवादी देश नहीं है क्योंकि इस देश में दहेज जाति और धर्म को संविधान में कभी भी ऊंचा दर्जा है और चित्र भी नहीं दी गई है देश के संविधान को सर्वोच्च स्तर पर देश के संविधान को ही एक तरीके से सबसे बड़ा माना गया है रही बात जातिवाद के लिए जातिवाद मुख्य तौर पर जो है राजनीतिक पार्टियों में या धार्मिक संगठनों ने एक तरफ से भारत मिला है तेरी रांझा दिमाग किस जो है राजनीति में भाग लेने दो भारत ने यह कहा कि राजनीतिक पॉलिटिकल पार्टियां है जो जातिवाद को तरजीह देते हैं ताकि उनका वोट बैंक बन सके नहीं तो भारत में संवैधानिक तौर पर भारत की जातिवादी देश हो ही नहीं सकता यदि हम धन्यवाद करते भारत 4 विषय धर्मों का देश है और इन सभी में जो है अलग-अलग जाते हैं खासकर हिंदुओं में हो या मुसलमानों में हो तो इस प्रकार से जो है बाहर को जातिवाद देश मेडिकल से नहीं कहा जाना चाहिए सबसे बड़ी बात यह है कि हमारे संविधान कर्ताओं ने मैंने कहा जिस प्रकार से संविधान जमाना था सभी जाति का कोई उत्तर ही नहीं दी गई थी इसीलिए हमें यह नहीं करना चाहिए भारत जातिवाद देश है जातिवादी देश है मेरे हिसाब से जो है भारत में संविधान ही सबसे बड़ा व्यक्ति के संविधान की सर्वोच्च है और कोई जाति या कोई धन 52 संविधान से आगे नहीं है धन्यवादMera Manana Hai Ki Bharat Ek Jativadi Desh Nahi Hai Kyonki Is Desh Mein Dahej Jati Aur Dharm Ko Samvidhan Mein Kabhi Bhi Uncha Darja Hai Aur Chitra Bhi Nahi Di Gayi Hai Desh Ke Samvidhan Ko Sarvoch Sthar Par Desh Ke Samvidhan Ko Hi Ek Tarike Se Sabse Bada Mana Gaya Hai Rahi Baat Jaatiwad Ke Liye Jaatiwad Mukhya Taur Par Jo Hai Raajnitik Partiyon Mein Ya Dharmik Sangathano Ne Ek Taraf Se Bharat Mila Hai Teri Ranjha Dimag Kis Jo Hai Rajneeti Mein Bhag Lene Do Bharat Ne Yeh Kaha Ki Raajnitik Political Partyian Hai Jo Jaatiwad Ko Tarajih Dete Hain Taki Unka Vote Bank Ban Sake Nahi To Bharat Mein Samvaidhanik Taur Par Bharat Ki Jativadi Desh Ho Hi Nahi Sakta Yadi Hum Dhanyavad Karte Bharat 4 Vishay Dharmon Ka Desh Hai Aur In Sabhi Mein Jo Hai Alag Alag Jaate Hain Khaskar Hinduon Mein Ho Ya Musalmano Mein Ho To Is Prakar Se Jo Hai Bahar Ko Jaatiwad Desh Medical Se Nahi Kaha Jana Chahiye Sabse Badi Baat Yeh Hai Ki Hamare Samvidhan Kartaon Ne Maine Kaha Jis Prakar Se Samvidhan Jamana Tha Sabhi Jati Ka Koi Uttar Hi Nahi Di Gayi Thi Isliye Hume Yeh Nahi Karna Chahiye Bharat Jaatiwad Desh Hai Jativadi Desh Hai Mere Hisab Se Jo Hai Bharat Mein Samvidhan Hi Sabse Bada Vyakti Ke Samvidhan Ki Sarvoch Hai Aur Koi Jati Ya Koi Dhan 52 Samvidhan Se Aage Nahi Hai Dhanyavad
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निश्चित ही भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि भारत का समाज पर विभिन्न जातियों में बटा हुआ है हमारे यहां समाज चार वर्णों में बटा हुआ है जिसमें ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य और शूद्र यह सब जातियां हैं और इन वर्णों में अलग-अलग जातियां हैं और हमारे देश में आरक्षण की व्यवस्था है जो जाति विशेष रूप से जातिवाद को बढ़ावा दे रही है इसके साथ-साथ हमारे यहां की राजनीति जातिवाद को बढ़ावा दे रही है और समाज में अनेक तरह की कुरीतियां फैली हुई है जो जातिवाद को बढ़ावा दे रही है जैसे छुआछूत है ना तो यह इसमें कोई दो राय नहीं है कि हमारा देश जातिवाद में बटा हुआ है और कुछ ऐसे परिस्थितियां हैं देश में जैसे जातिवाद को बढ़ावा और मिल रहा है
Romanized Version
निश्चित ही भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि भारत का समाज पर विभिन्न जातियों में बटा हुआ है हमारे यहां समाज चार वर्णों में बटा हुआ है जिसमें ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य और शूद्र यह सब जातियां हैं और इन वर्णों में अलग-अलग जातियां हैं और हमारे देश में आरक्षण की व्यवस्था है जो जाति विशेष रूप से जातिवाद को बढ़ावा दे रही है इसके साथ-साथ हमारे यहां की राजनीति जातिवाद को बढ़ावा दे रही है और समाज में अनेक तरह की कुरीतियां फैली हुई है जो जातिवाद को बढ़ावा दे रही है जैसे छुआछूत है ना तो यह इसमें कोई दो राय नहीं है कि हमारा देश जातिवाद में बटा हुआ है और कुछ ऐसे परिस्थितियां हैं देश में जैसे जातिवाद को बढ़ावा और मिल रहा हैNishchit Hi Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Kyonki Bharat Ka Samaaj Par Vibhinn Jaatiyo Mein Bata Hua Hai Hamare Yahan Samaaj Char Varnon Mein Bata Hua Hai Jisme Brahman Kshatriy Vaiishay Aur Shudra Yeh Sab Jatiyaan Hain Aur In Varnon Mein Alag Alag Jatiyaan Hain Aur Hamare Desh Mein Aarakshan Ki Vyavastha Hai Jo Jati Vishesh Roop Se Jaatiwad Ko Badhawa De Rahi Hai Iske Saath Saath Hamare Yahan Ki Rajneeti Jaatiwad Ko Badhawa De Rahi Hai Aur Samaaj Mein Anek Tarah Ki Kuritiyan Faili Hui Hai Jo Jaatiwad Ko Badhawa De Rahi Hai Jaise Chhuachhut Hai Na To Yeh Isme Koi Do Raya Nahi Hai Ki Hamara Desh Jaatiwad Mein Bata Hua Hai Aur Kuch Aise Paristhiyaan Hain Desh Mein Jaise Jaatiwad Ko Badhawa Aur Mil Raha Hai
Likes  10  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भारत में जातिवाद देश है ऐसा हम कह सकते हैं क्योंकि आज के समाज में हम देखते हैं कि जाति के आधार पर पॉलिटिकल पार्टियां देश के नागरिकों को बढ़ती जा रही है और देश के नागरिक भी अपनी जाति को सपोर्ट करते हैं और दूसरी जातियों को सपोर्ट नहीं करते उन्हें लगता है कि यह दूसरी जाती है कि इनका सपोर्ट में क्यों करें और पॉलिटिकल पार्टियां इसी का फायदा उठाती है जाति को बांटने में सबसे ज्यादा हाथ पोलिटिकल पार्टीज का है उन्हें लगता है कि अगर हम जातियों को बांट कर रखेंगे तो हर जाति अपना फायदा देखेगी और दूसरे जाति का फायदा नहीं देखेगी तो इससे उनका वोट बैंक बनेगा उन्हें लगता है कि जिस इलाके में जो जाति ज्यादा है और जिस का दबदबा है उनको सपोर्ट करती है ताकि उन्हें उनसे वोट मिले उनका वोट बैंक भर है उनका मार्केट बना रहे हैं और उनकी सरकार चलती रहे जाति के नाम पर भ्रामक खबरें फैलाते हैं जातिगत पर चक्र चलाते हैं और लोगों को जातियों के नाम पर भड़काते हैं जाति के नाम पर भेदभाव भी बहुत ज्यादा होता है ऊंची जाति के लोग हैं उन नीची जाति वालों को महत्व नहीं देते हैं और नीचे आ जाती बालों को हमेशा पिछड़ेपन का आभास होता है और क्या इस कदर देश के अंदर घुस चुका है कि अब लगता है कि इसे हटाना बिल्कुल ही मुश्किल है और यह तभी हो सकता है जब पोलिटिकल पार्टीज इसमें अपना इंटरेस्ट दिखाएं और इसे हटाने के लिए सोचें लेकिन मुझे नहीं लगता कि पोलिटिकल पार्टी ऐसा सोचेगी क्योंकि जाति के नाम पर ही उनकी वोट बैंक की राजनीति चल रही है और अगर वह इसे हटा देंगे उनकी वोट बैंक की राजनीति खत्म हो जाएगी तो इस प्रकार हम कह सकते हैं कि भारत एक जातिवादी देश के रूप में है
Romanized Version
हां भारत में जातिवाद देश है ऐसा हम कह सकते हैं क्योंकि आज के समाज में हम देखते हैं कि जाति के आधार पर पॉलिटिकल पार्टियां देश के नागरिकों को बढ़ती जा रही है और देश के नागरिक भी अपनी जाति को सपोर्ट करते हैं और दूसरी जातियों को सपोर्ट नहीं करते उन्हें लगता है कि यह दूसरी जाती है कि इनका सपोर्ट में क्यों करें और पॉलिटिकल पार्टियां इसी का फायदा उठाती है जाति को बांटने में सबसे ज्यादा हाथ पोलिटिकल पार्टीज का है उन्हें लगता है कि अगर हम जातियों को बांट कर रखेंगे तो हर जाति अपना फायदा देखेगी और दूसरे जाति का फायदा नहीं देखेगी तो इससे उनका वोट बैंक बनेगा उन्हें लगता है कि जिस इलाके में जो जाति ज्यादा है और जिस का दबदबा है उनको सपोर्ट करती है ताकि उन्हें उनसे वोट मिले उनका वोट बैंक भर है उनका मार्केट बना रहे हैं और उनकी सरकार चलती रहे जाति के नाम पर भ्रामक खबरें फैलाते हैं जातिगत पर चक्र चलाते हैं और लोगों को जातियों के नाम पर भड़काते हैं जाति के नाम पर भेदभाव भी बहुत ज्यादा होता है ऊंची जाति के लोग हैं उन नीची जाति वालों को महत्व नहीं देते हैं और नीचे आ जाती बालों को हमेशा पिछड़ेपन का आभास होता है और क्या इस कदर देश के अंदर घुस चुका है कि अब लगता है कि इसे हटाना बिल्कुल ही मुश्किल है और यह तभी हो सकता है जब पोलिटिकल पार्टीज इसमें अपना इंटरेस्ट दिखाएं और इसे हटाने के लिए सोचें लेकिन मुझे नहीं लगता कि पोलिटिकल पार्टी ऐसा सोचेगी क्योंकि जाति के नाम पर ही उनकी वोट बैंक की राजनीति चल रही है और अगर वह इसे हटा देंगे उनकी वोट बैंक की राजनीति खत्म हो जाएगी तो इस प्रकार हम कह सकते हैं कि भारत एक जातिवादी देश के रूप में हैHaan Bharat Mein Jaatiwad Desh Hai Aisa Hum Keh Sakte Hain Kyonki Aaj Ke Samaaj Mein Hum Dekhte Hain Ki Jati Ke Aadhar Par Political Partyian Desh Ke Naagrikon Ko Badhti Ja Rahi Hai Aur Desh Ke Nagarik Bhi Apni Jati Ko Support Karte Hain Aur Dusri Jaatiyo Ko Support Nahi Karte Unhen Lagta Hai Ki Yeh Dusri Jati Hai Ki Inka Support Mein Kyon Karen Aur Political Partyian Isi Ka Fayda Uthaati Hai Jati Ko Bantane Mein Sabse Zyada Hath Political Parties Ka Hai Unhen Lagta Hai Ki Agar Hum Jaatiyo Ko Baant Kar Rakhenge To Har Jati Apna Fayda Dekhenge Aur Dusre Jati Ka Fayda Nahi Dekhenge To Isse Unka Vote Bank Banega Unhen Lagta Hai Ki Jis Ilake Mein Jo Jati Zyada Hai Aur Jis Ka Dabdaba Hai Unko Support Karti Hai Taki Unhen Unse Vote Mile Unka Vote Bank Bhar Hai Unka Market Bana Rahe Hain Aur Unki Sarkar Chalti Rahe Jati Ke Naam Par Bhramak Khabren Failate Hain Jaatigat Par Chakra Chalte Hain Aur Logon Ko Jaatiyo Ke Naam Par Bhadkate Hain Jati Ke Naam Par Bhedbhav Bhi Bahut Zyada Hota Hai Unchi Jati Ke Log Hain Un Nichi Jati Walon Ko Mahatva Nahi Dete Hain Aur Neeche Aa Jati Balon Ko Hamesha Pichadepan Ka Aabhas Hota Hai Aur Kya Is Kadar Desh Ke Andar Ghus Chuka Hai Ki Ab Lagta Hai Ki Ise Hatana Bilkul Hi Mushkil Hai Aur Yeh Tabhi Ho Sakta Hai Jab Political Parties Isme Apna Interest Dikhaen Aur Ise Hatane Ke Liye Sochen Lekin Mujhe Nahi Lagta Ki Political Party Aisa Sochegi Kyonki Jati Ke Naam Par Hi Unki Vote Bank Ki Rajneeti Chal Rahi Hai Aur Agar Wah Ise Hata Denge Unki Vote Bank Ki Rajneeti Khatam Ho Jayegi To Is Prakar Hum Keh Sakte Hain Ki Bharat Ek Jativadi Desh Ke Roop Mein Hai
Likes  5  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल भारत एक जातिवादी देश है क्योंकि यहां पर जातियों को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है जब भारत में लोकसभा विधानसभा के चुनाव होते हैं तो सभी राजनीतिक पार्टियां सभी जातियों को ध्यान में रखकर टिकट देते हैं और राजनेता जब अपनी चुनावी सभाएं करते हैं तो उन सभाओं में स्पष्ट रूप से दिखाई देता है कि वे जाति को कितना अधिक महत्व देते हैं मेरे विचार से यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा कि भारत एक जातिवादी देश है
Romanized Version
बिल्कुल भारत एक जातिवादी देश है क्योंकि यहां पर जातियों को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है जब भारत में लोकसभा विधानसभा के चुनाव होते हैं तो सभी राजनीतिक पार्टियां सभी जातियों को ध्यान में रखकर टिकट देते हैं और राजनेता जब अपनी चुनावी सभाएं करते हैं तो उन सभाओं में स्पष्ट रूप से दिखाई देता है कि वे जाति को कितना अधिक महत्व देते हैं मेरे विचार से यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा कि भारत एक जातिवादी देश हैBilkul Bharat Ek Jativadi Desh Hai Kyonki Yahan Par Jaatiyo Ko Bahut Adhik Mahatva Diya Jata Hai Jab Bharat Mein Lok Sabha Vidhan Sabha Ke Chunav Hote Hain Toh Sabhi Raajnitik Partyian Sabhi Jaatiyo Ko Dhyan Mein Rakhakar Ticket Dete Hain Aur Raajneta Jab Apni Chunavi Sabhaen Karte Hain Toh Un Sabhaon Mein Spasht Roop Se Dikhai Deta Hai Ki Ve Jati Ko Kitna Adhik Mahatva Dete Hain Mere Vichar Se Yeh Kehna Atishyokti Nahi Hoga Ki Bharat Ek Jativadi Desh Hai
Likes  14  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा भारत देश जातिवादी देख कर समाज एकता का देश को कुछ नेताओं ने और बड़े और विक्रम
Romanized Version
मेरा भारत देश जातिवादी देख कर समाज एकता का देश को कुछ नेताओं ने और बड़े और विक्रमMera Bharat Desh Jativadi Dekh Kar Samaaj Ekta Ka Desh Ko Kuch Netaon Ne Aur Bade Aur Vikram
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अभिषेक है और यह सवाल पूछा गया कि क्या भारत जातिवाद देश है और क्यों तुम्हें देना चाहूंगा कि भारत में जातिवाद देश तो है और यह पूरे इतिहास से चला आ रहा है कि हमको जाति धर्म के आधार पर बांटा जाता है और हम में भेदभाव किया जाता है जो बहुत गलत बात है ऐसा नहीं करना चाहिए इसकी वजह से जो हम कहते हैं प्लीज जो हम लेते हैं यह स्कूलों में पेश किया जाता है उसमें कहते हैं कि सब भाई बहन हैं और सब एक साथ रहेंगे रहेंगे जाति और धर्म प्रश्न में क्यों बैठा जा रहा है एक तरफ हम कहते हैं कि हम को एक साथ में चाहिए प्यार से एक दूसरे के साथ और जब हम किसी की मदद करते हैं या किसी कोई भी जात का आदमी है कुछ भी आदमी बंद कर दे तो कहते हैं कि यह नहीं चाहती का है तो उसे साथ क्यों रहता है कि उठता बैठता है तो यह बातें होती है फिर कोई बात है कि हमको सबकी मदद करनी चाहिए हमारा फर्ज है तुम मुझे तो यह नहीं समझ में आता है कि लोग कहना क्या चाहती और जहां तक मेरी राय है भारत कोई भी देश जातिवाद नहीं होता वहां के लोगों ने उसे मना किया है तो यह जातिवाद बहुत ही शराब चीज है और इसकी वजह से एक नकारात्मकता सैलेरी सोसाइटी में डिस्को में खत्म करना चाहिए क्योंकि कोई भी आदमी छोटा या बड़ा नहीं होता क्योंकि कम सामी छोटा और बड़ा होता है और सब के शरीर में वह सारे और गंज से हैं ब्लड वही है पुणो ऐसा कोई भगवान नहीं कोई हमको जातिवाद का मोहर लगाकर थोड़ी पैदा किया यहां पर आते ही हम किसी को नीचा किसी को ऊंचा समझने लगते हैं और उससे भेदभाव करते हैं यह तो बहुत गलत चीज है और कितने ब्लॉक हैं सुन रहे हैं उनसे यही गुजारिश करना चाहूंगा कि आप यह जातिवाद को खत्म करें और ऐसे कामों को बढ़ावा ना दें जय हिंद जय भारत
Romanized Version
हेलो नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अभिषेक है और यह सवाल पूछा गया कि क्या भारत जातिवाद देश है और क्यों तुम्हें देना चाहूंगा कि भारत में जातिवाद देश तो है और यह पूरे इतिहास से चला आ रहा है कि हमको जाति धर्म के आधार पर बांटा जाता है और हम में भेदभाव किया जाता है जो बहुत गलत बात है ऐसा नहीं करना चाहिए इसकी वजह से जो हम कहते हैं प्लीज जो हम लेते हैं यह स्कूलों में पेश किया जाता है उसमें कहते हैं कि सब भाई बहन हैं और सब एक साथ रहेंगे रहेंगे जाति और धर्म प्रश्न में क्यों बैठा जा रहा है एक तरफ हम कहते हैं कि हम को एक साथ में चाहिए प्यार से एक दूसरे के साथ और जब हम किसी की मदद करते हैं या किसी कोई भी जात का आदमी है कुछ भी आदमी बंद कर दे तो कहते हैं कि यह नहीं चाहती का है तो उसे साथ क्यों रहता है कि उठता बैठता है तो यह बातें होती है फिर कोई बात है कि हमको सबकी मदद करनी चाहिए हमारा फर्ज है तुम मुझे तो यह नहीं समझ में आता है कि लोग कहना क्या चाहती और जहां तक मेरी राय है भारत कोई भी देश जातिवाद नहीं होता वहां के लोगों ने उसे मना किया है तो यह जातिवाद बहुत ही शराब चीज है और इसकी वजह से एक नकारात्मकता सैलेरी सोसाइटी में डिस्को में खत्म करना चाहिए क्योंकि कोई भी आदमी छोटा या बड़ा नहीं होता क्योंकि कम सामी छोटा और बड़ा होता है और सब के शरीर में वह सारे और गंज से हैं ब्लड वही है पुणो ऐसा कोई भगवान नहीं कोई हमको जातिवाद का मोहर लगाकर थोड़ी पैदा किया यहां पर आते ही हम किसी को नीचा किसी को ऊंचा समझने लगते हैं और उससे भेदभाव करते हैं यह तो बहुत गलत चीज है और कितने ब्लॉक हैं सुन रहे हैं उनसे यही गुजारिश करना चाहूंगा कि आप यह जातिवाद को खत्म करें और ऐसे कामों को बढ़ावा ना दें जय हिंद जय भारतHello Namaskar Doston Mera Naam Abhishek Hai Aur Yeh Sawal Poocha Gaya Ki Kya Bharat Jaatiwad Desh Hai Aur Kyon Tumhein Dena Chahunga Ki Bharat Mein Jaatiwad Desh To Hai Aur Yeh Poore Itihas Se Chala Aa Raha Hai Ki Hamko Jati Dharm Ke Aadhar Par Banta Jata Hai Aur Hum Mein Bhedbhav Kiya Jata Hai Jo Bahut Galat Baat Hai Aisa Nahi Karna Chahiye Iski Wajah Se Jo Hum Kehte Hain Please Jo Hum Lete Hain Yeh Schoolon Mein Pesh Kiya Jata Hai Usamen Kehte Hain Ki Sab Bhai Behen Hain Aur Sab Ek Saath Rahenge Rahenge Jati Aur Dharm Prashna Mein Kyon Baitha Ja Raha Hai Ek Taraf Hum Kehte Hain Ki Hum Ko Ek Saath Mein Chahiye Pyar Se Ek Dusre Ke Saath Aur Jab Hum Kisi Ki Madad Karte Hain Ya Kisi Koi Bhi Jaat Ka Aadmi Hai Kuch Bhi Aadmi Band Kar De To Kehte Hain Ki Yeh Nahi Chahti Ka Hai To Use Saath Kyon Rehta Hai Ki Uthata Baithta Hai To Yeh Batein Hoti Hai Phir Koi Baat Hai Ki Hamko Sabaki Madad Karni Chahiye Hamara Farj Hai Tum Mujhe To Yeh Nahi Samajh Mein Aata Hai Ki Log Kehna Kya Chahti Aur Jahan Tak Meri Raya Hai Bharat Koi Bhi Desh Jaatiwad Nahi Hota Wahan Ke Logon Ne Use Mana Kiya Hai To Yeh Jaatiwad Bahut Hi Sharab Cheez Hai Aur Iski Wajah Se Ek Nakaratmakta Salary Society Mein Disco Mein Khatam Karna Chahiye Kyonki Koi Bhi Aadmi Chota Ya Bada Nahi Hota Kyonki Kam Shami Chota Aur Bada Hota Hai Aur Sab Ke Sharir Mein Wah Sare Aur Ganj Se Hain Blood Wahi Hai Puno Aisa Koi Bhagwan Nahi Koi Hamko Jaatiwad Ka Mohar Lagakar Thodi Paida Kiya Yahan Par Aate Hi Hum Kisi Ko Nicha Kisi Ko Uncha Samjhne Lagte Hain Aur Usse Bhedbhav Karte Hain Yeh To Bahut Galat Cheez Hai Aur Kitne Block Hain Sun Rahe Hain Unse Yahi Gujarish Karna Chahunga Ki Aap Yeh Jaatiwad Ko Khatam Karen Aur Aise Kamon Ko Badhawa Na Dein Jai Hind Jai Bharat
Likes  9  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बाद में बिल्कुल कोई शक नहीं है कि भारत एक जातिवाद देश है ठीक है हम हमारे जितने भी आते हैं जितने भी स्टेट हैं वहां पर किस चीज का एग्जांपल देख सकते हैं ठीक है उत्तर प्रदेश में जैसे जातिवाद है ठीक है यादव कॉमेडी अलग चलती है समय से बिहार में है और भी दूसरे स्टेट में जावर पॉलिटिशियन अलग अलग तरीके से डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी को फॉलो करते हैं जो कि जातिवाद से रिलेटेड होती है हमारे इंडियन सिटीजन भी जो भी है वह भी बहुत सारे लोग होते हैं जैसे इलेक्शंस वगैरह में ठीक है कि भाई अगर हम राजपूत घराने से बिलोंग करते तो हम राजपूत को वोट देंगे तो ब्राह्मण को वोट देंगे तो हर एक पहलू पर हर एक कदम पर यह जातिवाद हमको देखने को मिलता है आपने देखा होगा आपके कॉलेज में ठीक है बहुत सारी जातिवाद के किस चीज होते हैं कुछ टीचर होते हैं जो उनकी बॉडी बिल्डर कंपनी वाले लोग दूसरों को नहीं करते हैं ठीक है तू पैसे के लिए इन सब चीजों से आगे बढ़कर हमें काम करना चाहिए ठीक है इतने साल से हम इंडिपेंडेंट में होना चाहिए आगे चलकर जो जातिवाद जैसा चीजें हैं इन सब चीजों से दूर होना चाहिए और हम सभी को मिलकर काम करना चाहिए ताकि हमारी जो देश है उसमें डेवलपमेंट में हम काम कर सके और यही हमारे लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि सभी जाति के लोग मिल जुलकर एक काम करेंगे तो क्या होगा हमारी कंट्री का ज्यादा होगा
Romanized Version
जी बाद में बिल्कुल कोई शक नहीं है कि भारत एक जातिवाद देश है ठीक है हम हमारे जितने भी आते हैं जितने भी स्टेट हैं वहां पर किस चीज का एग्जांपल देख सकते हैं ठीक है उत्तर प्रदेश में जैसे जातिवाद है ठीक है यादव कॉमेडी अलग चलती है समय से बिहार में है और भी दूसरे स्टेट में जावर पॉलिटिशियन अलग अलग तरीके से डिवाइड एंड रूल की पॉलिसी को फॉलो करते हैं जो कि जातिवाद से रिलेटेड होती है हमारे इंडियन सिटीजन भी जो भी है वह भी बहुत सारे लोग होते हैं जैसे इलेक्शंस वगैरह में ठीक है कि भाई अगर हम राजपूत घराने से बिलोंग करते तो हम राजपूत को वोट देंगे तो ब्राह्मण को वोट देंगे तो हर एक पहलू पर हर एक कदम पर यह जातिवाद हमको देखने को मिलता है आपने देखा होगा आपके कॉलेज में ठीक है बहुत सारी जातिवाद के किस चीज होते हैं कुछ टीचर होते हैं जो उनकी बॉडी बिल्डर कंपनी वाले लोग दूसरों को नहीं करते हैं ठीक है तू पैसे के लिए इन सब चीजों से आगे बढ़कर हमें काम करना चाहिए ठीक है इतने साल से हम इंडिपेंडेंट में होना चाहिए आगे चलकर जो जातिवाद जैसा चीजें हैं इन सब चीजों से दूर होना चाहिए और हम सभी को मिलकर काम करना चाहिए ताकि हमारी जो देश है उसमें डेवलपमेंट में हम काम कर सके और यही हमारे लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि सभी जाति के लोग मिल जुलकर एक काम करेंगे तो क्या होगा हमारी कंट्री का ज्यादा होगाG Baad Mein Bilkul Koi Shaq Nahi Hai Ki Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Theek Hai Hum Hamare Jitne Bhi Aate Hain Jitne Bhi State Hain Wahan Par Kis Cheez Ka Example Dekh Sakte Hain Theek Hai Uttar Pradesh Mein Jaise Jaatiwad Hai Theek Hai Yadav Comedy Alag Chalti Hai Samay Se Bihar Mein Hai Aur Bhi Dusre State Mein Jaawar Politician Alag Alag Tarike Se Divide End Rule Ki Policy Ko Follow Karte Hain Jo Ki Jaatiwad Se Related Hoti Hai Hamare Indian Citizen Bhi Jo Bhi Hai Wah Bhi Bahut Sare Log Hote Hain Jaise Elections Vagairah Mein Theek Hai Ki Bhai Agar Hum Rajput Gharane Se Belong Karte To Hum Rajput Ko Vote Denge To Brahman Ko Vote Denge To Har Ek Pahaloo Par Har Ek Kadam Par Yeh Jaatiwad Hamko Dekhne Ko Milta Hai Aapne Dekha Hoga Aapke College Mein Theek Hai Bahut Saree Jaatiwad Ke Kis Cheez Hote Hain Kuch Teacher Hote Hain Jo Unki Body Builder Company Wali Log Dusron Ko Nahi Karte Hain Theek Hai Tu Paise Ke Liye In Sab Chijon Se Aage Badhkar Hume Kaam Karna Chahiye Theek Hai Itne Saal Se Hum Independent Mein Hona Chahiye Aage Chalkar Jo Jaatiwad Jaisa Cheezen Hain In Sab Chijon Se Dur Hona Chahiye Aur Hum Sabhi Ko Milkar Kaam Karna Chahiye Taki Hamari Jo Desh Hai Usamen Development Mein Hum Kaam Kar Sake Aur Yahi Hamare Liye Sabse Zyada Zaroori Hai Ki Sabhi Jati Ke Log Mil Julkar Ek Kaam Karenge To Kya Hoga Hamari Country Ka Zyada Hoga
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां भारत बहुत ही जातिवादी प्रदेश है क्योंकि हां पहले से ही शुरु होते ही चार वर्णों में ब्राह्मणों ने बांट दिया था इसी कारण शुरू से यह लगातार आ रहे हैं और यहां के राजनीतिक और प्रमोट कर रहे हैं अपने वोट बैंक की खातिर और यह कभी ना खत्म होने वाली यह जाति पद्धति है
Romanized Version
जी हां भारत बहुत ही जातिवादी प्रदेश है क्योंकि हां पहले से ही शुरु होते ही चार वर्णों में ब्राह्मणों ने बांट दिया था इसी कारण शुरू से यह लगातार आ रहे हैं और यहां के राजनीतिक और प्रमोट कर रहे हैं अपने वोट बैंक की खातिर और यह कभी ना खत्म होने वाली यह जाति पद्धति हैG Haan Bharat Bahut Hi Jativadi Pradesh Hai Kyonki Haan Pehle Se Hi Shuru Hote Hi Char Varnon Mein Brahmanon Ne Baant Diya Tha Isi Kaaran Shuru Se Yeh Lagatar Aa Rahe Hain Aur Yahan Ke Raajnitik Aur Promote Kar Rahe Hain Apne Vote Bank Ki Khatir Aur Yeh Kabhi Na Khatam Hone Wali Yeh Jati Paddhatee Hai
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon
हां जी आपका सवाल भी अच्छा है और मैं जवाब ही अच्छा होगा हमारा भारत एक जो जातिवाद देश है इसमें तो कोई दो राय नहीं है लेकिन इस जातिवाद होने के पीछे भी एक बड़ा कारण है आरक्षण जो एक संस्कृति और एक समाज और एक देश में अलग-अलग स्टेट में अलग-अलग जगह अलग-अलग तरीके से बांट रखा है आरक्षण सबसे बड़ा एक जातिवाद का सबसे बड़ा कारण है और राजनेता इसको अपने हिसाब से लेते हैं यह उनका फैक्टर देखते हैं किस क्षेत्र में किस बंदे का कितना फैक्ट्री है किस जाति का कितना फैक्ट्री है और वह उस हिसाब से यह वोट सेट करते हैं और इनका जो दायित्व है वह तो पूरा नहीं कर पाते लेकिन यह एक समाज के बीच में यह कुर्ती यह बहुत बड़ी कि जातिवाद के नाम पर वोट करो या वोट मांगो या 12 ऐसे कैंडिडेट को खड़ा करना ज्यादा भी उस जाति का ज्यादा फैक्ट्री है तो यह मानना भी गलत नहीं है कि भारत एक जातिवाद देश है और इसमें सबसे बड़ा हाथ जो अपना संविधान लिखा गया है उसमें चंद जी को होनी थी वह अभी तक नहीं में 10 साल की भी लागू किया था लेकिन बहुत ज्यादा आगे बढ़ चुका है मेरा तो यही मानना है यदि किसी को यह बात बुरी लगेगी या किसी को अच्छी लगे तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता हैHaan G Aapka Sawal Bhi Accha Hai Aur Main Jawab Hi Accha Hoga Hamara Bharat Ek Jo Jaatiwad Desh Hai Isme To Koi Do Raya Nahi Hai Lekin Is Jaatiwad Hone Ke Piche Bhi Ek Bada Kaaran Hai Aarakshan Jo Ek Sanskriti Aur Ek Samaaj Aur Ek Desh Mein Alag Alag State Mein Alag Alag Jagah Alag Alag Tarike Se Baant Rakha Hai Aarakshan Sabse Bada Ek Jaatiwad Ka Sabse Bada Kaaran Hai Aur Raajneta Isko Apne Hisab Se Lete Hain Yeh Unka Factor Dekhte Hain Kis Shetra Mein Kis Bande Ka Kitna Factory Hai Kis Jati Ka Kitna Factory Hai Aur Wah Us Hisab Se Yeh Vote Set Karte Hain Aur Inka Jo Dayitva Hai Wah To Pura Nahi Kar Paate Lekin Yeh Ek Samaaj Ke Bich Mein Yeh Kurtee Yeh Bahut Badi Ki Jaatiwad Ke Naam Par Vote Karo Ya Vote Mango Ya 12 Aise Candidate Ko Khada Karna Zyada Bhi Us Jati Ka Zyada Factory Hai To Yeh Manana Bhi Galat Nahi Hai Ki Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Aur Isme Sabse Bada Hath Jo Apna Samvidhan Likha Gaya Hai Usamen Chand G Ko Honi Thi Wah Abhi Tak Nahi Mein 10 Saal Ki Bhi Laagu Kiya Tha Lekin Bahut Zyada Aage Badh Chuka Hai Mera To Yahi Manana Hai Yadi Kisi Ko Yeh Baat Buri Lagegi Ya Kisi Ko Acchi Lage To Mujhe Koi Fark Nahi Padata Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय हिंद दोस्तों जहां तक मेरा मानना है कि भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि इसका जवाब यही है क्योंकि भारत में प्राचीन समय से ही जातियों का विभाजन होता रहा है तो देखा जाए तो कहीं ना कहीं है प्राचीन काल से ही चला आ रहा है लेकिन वर्तमान में जातिवाद का सबसे बड़ा कारण कहीं ना कहीं देखा जाए तो आरक्षण है क्योंकि अगर एक बार खिलाफ पा रहा है और एक वर्ग उस लाभ से वंचित है तो तुम दोनों वर्गों के बीच में खाई या बनती जा रही है मैं यह नहीं कहता हूं कि आरक्षण को पूरी तरह खत्म कर दिया है लेकिन अगर आरक्षण को आर्थिक आधार पर लागू किया जाता था यह कहेंगे बहुत अच्छा होता क्योंकि अगर देखा जाए तो आज अगर भारत में जो नई पीढ़ी अशिक्षित हो रही है यह कहीं ना कहीं वह जातिवाद से बाहर आ रही है लेकिन कहीं ना कहीं अगर उनको आरक्षण की वजह से किसी क्षेत्र में पीछे रहना पड़ रहा है तो उनके लिए अन्य जो दलित जातियां हैं जिन को आरक्षण मिला हुआ उनके लिए उनके मन में दुर्भावना आती जाए तू भारत में स्कोप खत्म तो नहीं किया जा सकता की भी जाति व्यवस्था जो है सब लोगों को एक विशिष्ट पहचान देती है लेकिन भारत में जाति व्यवस्था हो ना कि जातिवाद हो जातिवाद का सबसे बड़ा कारण आरक्षण है और इसे खत्म करना चाहिए अगर देना है तो इसे आर्थिक आधार पर दिया जाए
Romanized Version
जय हिंद दोस्तों जहां तक मेरा मानना है कि भारत एक जातिवाद देश है क्योंकि इसका जवाब यही है क्योंकि भारत में प्राचीन समय से ही जातियों का विभाजन होता रहा है तो देखा जाए तो कहीं ना कहीं है प्राचीन काल से ही चला आ रहा है लेकिन वर्तमान में जातिवाद का सबसे बड़ा कारण कहीं ना कहीं देखा जाए तो आरक्षण है क्योंकि अगर एक बार खिलाफ पा रहा है और एक वर्ग उस लाभ से वंचित है तो तुम दोनों वर्गों के बीच में खाई या बनती जा रही है मैं यह नहीं कहता हूं कि आरक्षण को पूरी तरह खत्म कर दिया है लेकिन अगर आरक्षण को आर्थिक आधार पर लागू किया जाता था यह कहेंगे बहुत अच्छा होता क्योंकि अगर देखा जाए तो आज अगर भारत में जो नई पीढ़ी अशिक्षित हो रही है यह कहीं ना कहीं वह जातिवाद से बाहर आ रही है लेकिन कहीं ना कहीं अगर उनको आरक्षण की वजह से किसी क्षेत्र में पीछे रहना पड़ रहा है तो उनके लिए अन्य जो दलित जातियां हैं जिन को आरक्षण मिला हुआ उनके लिए उनके मन में दुर्भावना आती जाए तू भारत में स्कोप खत्म तो नहीं किया जा सकता की भी जाति व्यवस्था जो है सब लोगों को एक विशिष्ट पहचान देती है लेकिन भारत में जाति व्यवस्था हो ना कि जातिवाद हो जातिवाद का सबसे बड़ा कारण आरक्षण है और इसे खत्म करना चाहिए अगर देना है तो इसे आर्थिक आधार पर दिया जाएJai Hind Doston Jahan Tak Mera Manana Hai Ki Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai Kyonki Iska Jawab Yahi Hai Kyonki Bharat Mein Prachin Samay Se Hi Jaatiyo Ka Vibhajan Hota Raha Hai To Dekha Jaye To Kahin Na Kahin Hai Prachin Kaal Se Hi Chala Aa Raha Hai Lekin Vartaman Mein Jaatiwad Ka Sabse Bada Kaaran Kahin Na Kahin Dekha Jaye To Aarakshan Hai Kyonki Agar Ek Baar Khilaf Pa Raha Hai Aur Ek Varg Us Labh Se Vanchit Hai To Tum Dono Vargon Ke Bich Mein Khai Ya Banti Ja Rahi Hai Main Yeh Nahi Kahata Hoon Ki Aarakshan Ko Puri Tarah Khatam Kar Diya Hai Lekin Agar Aarakshan Ko Aarthik Aadhar Par Laagu Kiya Jata Tha Yeh Kahenge Bahut Accha Hota Kyonki Agar Dekha Jaye To Aaj Agar Bharat Mein Jo Nayi Pidhi Ashikshit Ho Rahi Hai Yeh Kahin Na Kahin Wah Jaatiwad Se Bahar Aa Rahi Hai Lekin Kahin Na Kahin Agar Unko Aarakshan Ki Wajah Se Kisi Shetra Mein Piche Rehna Padh Raha Hai To Unke Liye Anya Jo Dalit Jatiyaan Hain Jin Ko Aarakshan Mila Hua Unke Liye Unke Man Mein Durbhavana Aati Jaye Tu Bharat Mein Scope Khatam To Nahi Kiya Ja Sakta Ki Bhi Jati Vyavastha Jo Hai Sab Logon Ko Ek Vishist Pehchaan Deti Hai Lekin Bharat Mein Jati Vyavastha Ho Na Ki Jaatiwad Ho Jaatiwad Ka Sabse Bada Kaaran Aarakshan Hai Aur Ise Khatam Karna Chahiye Agar Dena Hai To Ise Aarthik Aadhar Par Diya Jaye
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भारत एक का जातिवाद देश है हां यह तो अच्छी अच्छी बात है अभी कॉलेज यहां पर हर तरह के हर जाति के लोग बसते हैं बट एक बुरी बात यह है कि हां पोलिटिकल पार्टीज इसका गलत इस्तेमाल करते हैं पोलिटिकल पार्टीज अपने वोट बैंक के लिए लोगों में हमेशा झगड़ा लगाते हैं और उसका फायदा उठाकर वह लोग लोगों में गलतफहमियां पैदा करते हैं तो उस बात से बहुत निराश होता है कि जातिवाद का सही सही तरह का इस्तेमाल नहीं हो रहा है
Romanized Version
हां भारत एक का जातिवाद देश है हां यह तो अच्छी अच्छी बात है अभी कॉलेज यहां पर हर तरह के हर जाति के लोग बसते हैं बट एक बुरी बात यह है कि हां पोलिटिकल पार्टीज इसका गलत इस्तेमाल करते हैं पोलिटिकल पार्टीज अपने वोट बैंक के लिए लोगों में हमेशा झगड़ा लगाते हैं और उसका फायदा उठाकर वह लोग लोगों में गलतफहमियां पैदा करते हैं तो उस बात से बहुत निराश होता है कि जातिवाद का सही सही तरह का इस्तेमाल नहीं हो रहा हैHaan Bharat Ek Ka Jaatiwad Desh Hai Haan Yeh To Acchi Acchi Baat Hai Abhi College Yahan Par Har Tarah Ke Har Jati Ke Log Basate Hain But Ek Buri Baat Yeh Hai Ki Haan Political Parties Iska Galat Istemal Karte Hain Political Parties Apne Vote Bank Ke Liye Logon Mein Hamesha Jhagda Lagate Hain Aur Uska Fayda Uthaakar Wah Log Logon Mein Galatafahamiyan Paida Karte Hain To Us Baat Se Bahut Nirash Hota Hai Ki Jaatiwad Ka Sahi Sahi Tarah Ka Istemal Nahi Ho Raha Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं जहां तक जानता हूं भारत जातिवाद देश नहीं है क्योंकि भारत कि आप संस्कृति देखिए आप हिस्ट्री पढ़िए तो आपको पता चलेगा कि यहां पर सभी धर्मों के लोग सभी जातिवादी के लोग हमेशा से मिलजुल कर रहे हैं और फिर हम पोस्ट इंडिपेंडेंस की बात करें तो हमारा संविधान भी हिसाब से लिखा गया है कि वहां पर अकबर का भी जिक्र है और क्या बोलते हैं आपके रामचंद्र जी का भी जिक्र है लेकिन हां एक बात जरूर मैं कहूंगा कि जातिवाद को यह हमारे जो राजनेता हैं नेता हैं इन्होंने एक बहुत बढ़िया टूल की तरह यूज किया है और हमेशा से सोसाइटी को डिवाइड एंड रूल का कांसेप्ट देकर अपनी रोटियां से की है तो भारत जातिवाद देश नहीं है लेकिन हां हम भारतीय जातिवाद का शिकार जरूर हुए हैं
Romanized Version
नहीं मैं जहां तक जानता हूं भारत जातिवाद देश नहीं है क्योंकि भारत कि आप संस्कृति देखिए आप हिस्ट्री पढ़िए तो आपको पता चलेगा कि यहां पर सभी धर्मों के लोग सभी जातिवादी के लोग हमेशा से मिलजुल कर रहे हैं और फिर हम पोस्ट इंडिपेंडेंस की बात करें तो हमारा संविधान भी हिसाब से लिखा गया है कि वहां पर अकबर का भी जिक्र है और क्या बोलते हैं आपके रामचंद्र जी का भी जिक्र है लेकिन हां एक बात जरूर मैं कहूंगा कि जातिवाद को यह हमारे जो राजनेता हैं नेता हैं इन्होंने एक बहुत बढ़िया टूल की तरह यूज किया है और हमेशा से सोसाइटी को डिवाइड एंड रूल का कांसेप्ट देकर अपनी रोटियां से की है तो भारत जातिवाद देश नहीं है लेकिन हां हम भारतीय जातिवाद का शिकार जरूर हुए हैंNahi Main Jahan Tak Jaanta Hoon Bharat Jaatiwad Desh Nahi Hai Kyonki Bharat Ki Aap Sanskriti Dekhie Aap History Padhie To Aapko Pata Chalega Ki Yahan Par Sabhi Dharmon Ke Log Sabhi Jativadi Ke Log Hamesha Se Miljul Kar Rahe Hain Aur Phir Hum Post Independence Ki Baat Karen To Hamara Samvidhan Bhi Hisab Se Likha Gaya Hai Ki Wahan Par Akbar Ka Bhi Jikarr Hai Aur Kya Bolte Hain Aapke Ramachandra G Ka Bhi Jikarr Hai Lekin Haan Ek Baat Jarur Main Kahunga Ki Jaatiwad Ko Yeh Hamare Jo Raajneta Hain Neta Hain Inhone Ek Bahut Badhiya Tool Ki Tarah Use Kiya Hai Aur Hamesha Se Society Ko Divide End Rule Ka Concept Dekar Apni Rotiyan Se Ki Hai To Bharat Jaatiwad Desh Nahi Hai Lekin Haan Hum Bharatiya Jaatiwad Ka Shikar Jarur Huye Hain
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon
जातिवाद स्क्रीन सबसे बड़ा एक आसान और सही जवाब होगा शिक्षा का होना जब तक हम शिक्षित नहीं होगा जैसे सोच नहीं पाता कि समाज के लिए हम कितना अपने ना हम कितना योगदान दे सकते हैं समाज के नेताओं ने सिल्वर में ठगा है जाति के नाम पर हम को बांटा है इसके अलावा और कुछ नहीं कर पाए कोई कुछ करने की इच्छा नहीं था आता भी है कुछ हिम्मत भी करता है वहीं के दबाव में नहीं कर पाता अकेला चना कैसे बढ़ पड़ेगा बस आराम तो सवाल शिक्षित हो जाओ जागरुक हो जाओगे खुद ब खुद जाते हाथी अब देख लो फॉरेन कंट्री में जॉब इतने इतने शिक्षित आदमी है जातिवाद का तो कोई नाम भी नहीं है नकली हिंदू जरूर है पर वह भी उन वहां के नेताओं की देन है कुछ जगह नचले पर ज्यादातर गर्म और पूरे वर्ल्ड में देखें पूरे संसार में सबसे बड़ी बात है शिक्षा का होना जरूरी जहां से चाहोगे वही भेदभाव खत्म हो जाएगा जातिवाद का कोई नामोनिशान खत्म हो जाएगा बिल्कुलJaatiwad Screen Sabse Bada Ek Aasan Aur Sahi Jawab Hoga Shiksha Ka Hona Jab Tak Hum Shikshit Nahi Hoga Jaise Soch Nahi Pata Ki Samaaj Ke Liye Hum Kitna Apne Na Hum Kitna Yogdan De Sakte Hain Samaaj Ke Netaon Ne Silver Mein Thaga Hai Jati Ke Naam Par Hum Ko Banta Hai Iske Alava Aur Kuch Nahi Kar Paye Koi Kuch Karne Ki Icha Nahi Tha Aata Bhi Hai Kuch Himmat Bhi Karta Hai Wahin Ke Dabaav Mein Nahi Kar Pata Akela Chana Kaise Badh Padega Bus Aaram To Sawal Shikshit Ho Jao Jagaruk Ho Jaoge Khud B Khud Jaate Haathi Ab Dekh Lo Foreign Country Mein Job Itne Itne Shikshit Aadmi Hai Jaatiwad Ka To Koi Naam Bhi Nahi Hai Nakli Hindu Jarur Hai Par Wah Bhi Un Wahan Ke Netaon Ki Then Hai Kuch Jagah Nachale Par Jyadatar Garam Aur Poore World Mein Dekhen Poore Sansar Mein Sabse Badi Baat Hai Shiksha Ka Hona Zaroori Jahan Se Chahoge Wahi Bhedbhav Khatam Ho Jayega Jaatiwad Ka Koi Naamonishaan Khatam Ho Jayega Bilkul
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक जातिवादी देश है इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन जातियां गलत कहते हैं समय के अनुसार जातियां परिवर्तित होती रहती है और नई जातियां बनती हैं पुरानी बिगड़ती रहती हैं जाति का उपयोग अपने देश के लिए करना यह गलत बात है जैसे पहले लोग एक जैसे काम करते थे तो एक साथ मिलकर संगठित रहें बुनकर हैं तो सभी बुनकर एक जगह रहते थे तो यह कह जाती हो गई यह जन्म से अभी भी जगह बहुत सारी जाती है जैसे जितने भी ट्रेड यूनियन है जाति का रूप है अब एक ही फैक्ट्री में काम करने वाले अलग-अलग वर्कर जो हैं 1 फुट बना लेते हैं यह भी एक तरह की जाती है जो पुरानी परंपरा परंपरागत जाति से अलग है एक नए प्रकार की जातिगत व्यवस्था है और इससे नई जातिगत व्यवस्था का फायदा वामपंथी संगठन उठाते उठाते रहे उनकी जातिवादी व्यवस्था चलते रहे इसलिए वह पुरानी जातिवादी व्यवस्था को कमजोर और गलत बताते हैं यहां कुछ ऐसा नहीं है बस समय के अनुसार जातियां बदली से सागर इंजीनियर इंजीनियर जो आपस में एक संगठन तैयार करते हैं एक नहीं जाती हो गई पहले जो है पहले का पैसा दिया कुछ अलग पहले का पैसा पैसा क्यों था उसका अनुसार जाती है वह अभी के जो पैसे हैं वह उनके अनुसार जो हैं जातियां होती हैं और अभी के जातियों को ट्रेड ऑनलाइन खाते हैं पहले विद्यार्थी संगठन अतिथि ताकि उनको अपने उस समय के फायदे होते थे वह उनको मिल सके और लोग संगठित होते हैं और फायदा उठाना चाहते हैं तो जाति व्यवस्था एक अर्थव्यवस्था पर आधारित मॉडल है और यह अर्थव्यवस्था पर आधारित मॉडल कहीं से भी गलत नहीं है
Romanized Version
भारत एक जातिवादी देश है इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन जातियां गलत कहते हैं समय के अनुसार जातियां परिवर्तित होती रहती है और नई जातियां बनती हैं पुरानी बिगड़ती रहती हैं जाति का उपयोग अपने देश के लिए करना यह गलत बात है जैसे पहले लोग एक जैसे काम करते थे तो एक साथ मिलकर संगठित रहें बुनकर हैं तो सभी बुनकर एक जगह रहते थे तो यह कह जाती हो गई यह जन्म से अभी भी जगह बहुत सारी जाती है जैसे जितने भी ट्रेड यूनियन है जाति का रूप है अब एक ही फैक्ट्री में काम करने वाले अलग-अलग वर्कर जो हैं 1 फुट बना लेते हैं यह भी एक तरह की जाती है जो पुरानी परंपरा परंपरागत जाति से अलग है एक नए प्रकार की जातिगत व्यवस्था है और इससे नई जातिगत व्यवस्था का फायदा वामपंथी संगठन उठाते उठाते रहे उनकी जातिवादी व्यवस्था चलते रहे इसलिए वह पुरानी जातिवादी व्यवस्था को कमजोर और गलत बताते हैं यहां कुछ ऐसा नहीं है बस समय के अनुसार जातियां बदली से सागर इंजीनियर इंजीनियर जो आपस में एक संगठन तैयार करते हैं एक नहीं जाती हो गई पहले जो है पहले का पैसा दिया कुछ अलग पहले का पैसा पैसा क्यों था उसका अनुसार जाती है वह अभी के जो पैसे हैं वह उनके अनुसार जो हैं जातियां होती हैं और अभी के जातियों को ट्रेड ऑनलाइन खाते हैं पहले विद्यार्थी संगठन अतिथि ताकि उनको अपने उस समय के फायदे होते थे वह उनको मिल सके और लोग संगठित होते हैं और फायदा उठाना चाहते हैं तो जाति व्यवस्था एक अर्थव्यवस्था पर आधारित मॉडल है और यह अर्थव्यवस्था पर आधारित मॉडल कहीं से भी गलत नहीं हैBharat Ek Jativadi Desh Hai Isme Koi Do Raya Nahi Hai Lekin Jatiyaan Galat Kehte Hain Samay Ke Anusar Jatiyaan Parivartit Hoti Rehti Hai Aur Nayi Jatiyaan Banti Hain Purani Bigadati Rehti Hain Jati Ka Upyog Apne Desh Ke Liye Karna Yeh Galat Baat Hai Jaise Pehle Log Ek Jaise Kaam Karte The To Ek Saath Milkar Sangathit Rahen Bunakar Hain To Sabhi Bunakar Ek Jagah Rehte The To Yeh Keh Jati Ho Gayi Yeh Janm Se Abhi Bhi Jagah Bahut Saree Jati Hai Jaise Jitne Bhi Trade Union Hai Jati Ka Roop Hai Ab Ek Hi Factory Mein Kaam Karne Wali Alag Alag Worker Jo Hain 1 Foot Bana Lete Hain Yeh Bhi Ek Tarah Ki Jati Hai Jo Purani Parampara Paramparagat Jati Se Alag Hai Ek Naye Prakar Ki Jaatigat Vyavastha Hai Aur Isse Nayi Jaatigat Vyavastha Ka Fayda Vampanthi Sangathan Uthaatey Uthaatey Rahe Unki Jativadi Vyavastha Chalte Rahe Isliye Wah Purani Jativadi Vyavastha Ko Kamjor Aur Galat Batatey Hain Yahan Kuch Aisa Nahi Hai Bus Samay Ke Anusar Jatiyaan Badli Se Sagar Engineer Engineer Jo Aapas Mein Ek Sangathan Taiyaar Karte Hain Ek Nahi Jati Ho Gayi Pehle Jo Hai Pehle Ka Paisa Diya Kuch Alag Pehle Ka Paisa Paisa Kyon Tha Uska Anusar Jati Hai Wah Abhi Ke Jo Paise Hain Wah Unke Anusar Jo Hain Jatiyaan Hoti Hain Aur Abhi Ke Jaatiyo Ko Trade Online Khate Hain Pehle Vidyarthi Sangathan Atithi Taki Unko Apne Us Samay Ke Fayde Hote The Wah Unko Mil Sake Aur Log Sangathit Hote Hain Aur Fayda Uthaana Chahte Hain To Jati Vyavastha Ek Arthavyavastha Par Aadharit Model Hai Aur Yeh Arthavyavastha Par Aadharit Model Kahin Se Bhi Galat Nahi Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सही है कि भारत जातिवाद से भरा हुआ देश है यहां की जो रहनेवाले नागरिक हैं यह बिल्कुल जातियों में बैठे हुए इस आधार पर हम कह सकते हैं कि जातिवाद भारत में है लेकिन इसके पीछे कारण क्या है जातिवाद क्यों जातिवाद का कारण भारत में जातियों का अस्तित्व है और इसके पीपीटी थोड़ा सा और जाएं हम तो इसका एक कारण और दिखता है हमें कि यह जाति यह मैसेज यह जाति से काम के आधार पर बैठे हुए हैं तो फिर इन में जो है पूछने का भाव कैसे आ जाता है तो मुझे मेरे समझ से जो लगता है वह जातियों के कारण या काम के आधार पर बैठे जो जातियां हैं इनके कारण ना तो जाति जातियों में भेदभाव है उच्च नीच का भेदभाव जातियों के अगले स्टेशन व्यवस्था वर्ण व्यवस्था में छोटा यह काम बड़ा इन कारणों से जो 1000 की बनाई गई और उन्हें राय की में कुछ काम करने वाले जातियों को डाल दिया गया उसका रन से जो भिन्नताएं भिन्नता के बावजूद जो ऊंच-नीच का भाव है वह सामने आया और वह एकदम जो हम बहुत ही बुरे स्तर तक पहुंच गया और अछूत अछूत मतलब भेजो ब्राह्मण क्षत्रिय शूद्र वैश्य की जो परंपरा है जिसमें कि शूद्र को अछूत बना दिया गया उनको मतलब बहिष्कृत कर दिया गया समाज से और जो चीजें हैं यह मुझे लगता है कि कुल मिलाकर भारत में जातिवाद है लेकिन इसका पूरा का पूरा दारोमदार वर्ण व्यवस्था धन्यवाद
Romanized Version
यह बात बिल्कुल सही है कि भारत जातिवाद से भरा हुआ देश है यहां की जो रहनेवाले नागरिक हैं यह बिल्कुल जातियों में बैठे हुए इस आधार पर हम कह सकते हैं कि जातिवाद भारत में है लेकिन इसके पीछे कारण क्या है जातिवाद क्यों जातिवाद का कारण भारत में जातियों का अस्तित्व है और इसके पीपीटी थोड़ा सा और जाएं हम तो इसका एक कारण और दिखता है हमें कि यह जाति यह मैसेज यह जाति से काम के आधार पर बैठे हुए हैं तो फिर इन में जो है पूछने का भाव कैसे आ जाता है तो मुझे मेरे समझ से जो लगता है वह जातियों के कारण या काम के आधार पर बैठे जो जातियां हैं इनके कारण ना तो जाति जातियों में भेदभाव है उच्च नीच का भेदभाव जातियों के अगले स्टेशन व्यवस्था वर्ण व्यवस्था में छोटा यह काम बड़ा इन कारणों से जो 1000 की बनाई गई और उन्हें राय की में कुछ काम करने वाले जातियों को डाल दिया गया उसका रन से जो भिन्नताएं भिन्नता के बावजूद जो ऊंच-नीच का भाव है वह सामने आया और वह एकदम जो हम बहुत ही बुरे स्तर तक पहुंच गया और अछूत अछूत मतलब भेजो ब्राह्मण क्षत्रिय शूद्र वैश्य की जो परंपरा है जिसमें कि शूद्र को अछूत बना दिया गया उनको मतलब बहिष्कृत कर दिया गया समाज से और जो चीजें हैं यह मुझे लगता है कि कुल मिलाकर भारत में जातिवाद है लेकिन इसका पूरा का पूरा दारोमदार वर्ण व्यवस्था धन्यवादYeh Baat Bilkul Sahi Hai Ki Bharat Jaatiwad Se Bhara Hua Desh Hai Yahan Ki Jo Rahanevaale Nagarik Hain Yeh Bilkul Jaatiyo Mein Baithey Huye Is Aadhar Par Hum Keh Sakte Hain Ki Jaatiwad Bharat Mein Hai Lekin Iske Piche Kaaran Kya Hai Jaatiwad Kyon Jaatiwad Ka Kaaran Bharat Mein Jaatiyo Ka Astitv Hai Aur Iske PPT Thoda Sa Aur Jayen Hum To Iska Ek Kaaran Aur Dikhta Hai Hume Ki Yeh Jati Yeh Massage Yeh Jati Se Kaam Ke Aadhar Par Baithey Huye Hain To Phir In Mein Jo Hai Poochne Ka Bhav Kaise Aa Jata Hai To Mujhe Mere Samajh Se Jo Lagta Hai Wah Jaatiyo Ke Kaaran Ya Kaam Ke Aadhar Par Baithey Jo Jatiyaan Hain Inke Kaaran Na To Jati Jaatiyo Mein Bhedbhav Hai Uccha Neech Ka Bhedbhav Jaatiyo Ke Agle Station Vyavastha Vern Vyavastha Mein Chota Yeh Kaam Bada In Kaarno Se Jo 1000 Ki Banai Gayi Aur Unhen Raya Ki Mein Kuch Kaam Karne Wali Jaatiyo Ko Dal Diya Gaya Uska Run Se Jo Bhinnataen Bhinnata Ke Bawajud Jo Unch Neech Ka Bhav Hai Wah Samane Aaya Aur Wah Ekdam Jo Hum Bahut Hi Bure Sthar Tak Pahunch Gaya Aur Achut Achut Matlab Bhejo Brahman Kshatriy Shudra Vaiishay Ki Jo Parampara Hai Jisme Ki Shudra Ko Achut Bana Diya Gaya Unko Matlab Bahishkrit Kar Diya Gaya Samaaj Se Aur Jo Cheezen Hain Yeh Mujhe Lagta Hai Ki Kul Milakar Bharat Mein Jaatiwad Hai Lekin Iska Pura Ka Pura Daromdar Vern Vyavastha Dhanyavad
Likes  4  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जातिवाद कोई नई बात इस देश के लिए नहीं है प्राचीन काल से ही हिंदू समाज में वर्ण व्यवस्था से व्यवस्था ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य और शूद्र यह बंटवारा कानून के आधार पर था भारत में उत्तर वैदिक काल आते हैं आते हैं यहां जन्म के आधार पर स्थापित हो गया और आज तक ऐसा ही चलता रहा है सवाल यह है कि आज के इस आधुनिक दौर में भारत में इतनी प्रगति कर ली हमारी आज़ादी को 70 साल हो गए संविधान में छुआछूत को हटाने की व्यवस्था कर दी गई सभी नेता जात-पात मिटाए जाने की बात करते हैं तो क्यों यह जातिवाद अब तक समाप्त नहीं हुआ इसका जवाब यही है कि आज भी लोगों ने खुद ही अपनी जाति को पकड़ के रखा है हम दूसरी जाति में शादी ब्याह नहीं करते हम अपनी जाति को श्रेष्ठ समझते हैं हम वोट देने वक्त जाति के नेता को वोट देते हैं तो फिर यह कैसे समाप्त होगा इसका एक कारण आरक्षण को भी माना जा सकता है आरक्षण एक ऐसा नासूर बन गया है इस देश के लिए है जिसका अब शायद ही इलाज संभव हो और इसके वजह से जातिवाद को बहुत बढ़ावा मिल रहा है और यह बढ़ता ही जा रहा है अब एक सवाल अपने एक अनुसूचित जाति के दोस्त के साथ हर चीज के लिए कंफर्टेबल है मगर जहां उसकी प्रतिभा को कम आंका जाएगा तो उसके मन में बैठ जरूर आएगा लोगों की इसी मानसिकता का फायदा उठाकर नेता
Romanized Version
जातिवाद कोई नई बात इस देश के लिए नहीं है प्राचीन काल से ही हिंदू समाज में वर्ण व्यवस्था से व्यवस्था ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य और शूद्र यह बंटवारा कानून के आधार पर था भारत में उत्तर वैदिक काल आते हैं आते हैं यहां जन्म के आधार पर स्थापित हो गया और आज तक ऐसा ही चलता रहा है सवाल यह है कि आज के इस आधुनिक दौर में भारत में इतनी प्रगति कर ली हमारी आज़ादी को 70 साल हो गए संविधान में छुआछूत को हटाने की व्यवस्था कर दी गई सभी नेता जात-पात मिटाए जाने की बात करते हैं तो क्यों यह जातिवाद अब तक समाप्त नहीं हुआ इसका जवाब यही है कि आज भी लोगों ने खुद ही अपनी जाति को पकड़ के रखा है हम दूसरी जाति में शादी ब्याह नहीं करते हम अपनी जाति को श्रेष्ठ समझते हैं हम वोट देने वक्त जाति के नेता को वोट देते हैं तो फिर यह कैसे समाप्त होगा इसका एक कारण आरक्षण को भी माना जा सकता है आरक्षण एक ऐसा नासूर बन गया है इस देश के लिए है जिसका अब शायद ही इलाज संभव हो और इसके वजह से जातिवाद को बहुत बढ़ावा मिल रहा है और यह बढ़ता ही जा रहा है अब एक सवाल अपने एक अनुसूचित जाति के दोस्त के साथ हर चीज के लिए कंफर्टेबल है मगर जहां उसकी प्रतिभा को कम आंका जाएगा तो उसके मन में बैठ जरूर आएगा लोगों की इसी मानसिकता का फायदा उठाकर नेताJaatiwad Koi Nayi Baat Is Desh Ke Liye Nahi Hai Prachin Kaal Se Hi Hindu Samaaj Mein Vern Vyavastha Se Vyavastha Brahman Kshatriy Vaiishay Aur Shudra Yeh Batwara Kanoon Ke Aadhar Par Tha Bharat Mein Uttar Vaidik Kaal Aate Hain Aate Hain Yahan Janm Ke Aadhar Par Sthapit Ho Gaya Aur Aaj Tak Aisa Hi Chalta Raha Hai Sawal Yeh Hai Ki Aaj Ke Is Aadhunik Daur Mein Bharat Mein Itni Pragati Kar Lee Hamari Aazadi Ko 70 Saal Ho Gaye Samvidhan Mein Chhuachhut Ko Hatane Ki Vyavastha Kar Di Gayi Sabhi Neta Jaat Pat Mitae Jaane Ki Baat Karte Hain To Kyon Yeh Jaatiwad Ab Tak Samapt Nahi Hua Iska Jawab Yahi Hai Ki Aaj Bhi Logon Ne Khud Hi Apni Jati Ko Pakad Ke Rakha Hai Hum Dusri Jati Mein Shadi Byaah Nahi Karte Hum Apni Jati Ko Shreshtha Samajhte Hain Hum Vote Dene Waqt Jati Ke Neta Ko Vote Dete Hain To Phir Yeh Kaise Samapt Hoga Iska Ek Kaaran Aarakshan Ko Bhi Mana Ja Sakta Hai Aarakshan Ek Aisa Nasur Ban Gaya Hai Is Desh Ke Liye Hai Jiska Ab Shayad Hi Ilaj Sambhav Ho Aur Iske Wajah Se Jaatiwad Ko Bahut Badhawa Mil Raha Hai Aur Yeh Badhta Hi Ja Raha Hai Ab Ek Sawal Apne Ek Anusuchit Jati Ke Dost Ke Saath Har Cheez Ke Liye Comfortable Hai Magar Jahan Uski Pratibha Ko Kam Aanka Jayega To Uske Man Mein Baith Jarur Aaega Logon Ki Isi Mansikta Ka Fayda Uthaakar Neta
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल भारत तक जातिवाद देश हो गया है क्योंकि नेताओं ने इसकी जरा इतनी गहरी जमा दी योगी हमारे समाज से जाने वाली नहीं है और जब तक यह सोच यह समाज शादी वाचन पर नहीं उठेगा तब तक किसी का विकास होने वाला नहीं है लेकिन नेता लोग जो है ना यह सब कुछ छोड़ कर के आपस में दूर करके अपनी रोटियां सेकना चाहते हैं और पब्लिक जो है उनके पीछे झंडा लेकर जयकारा लगाती है आज से नहीं है अंग्रेजों का बोया हुआ बीज है जो कि पिछले कुछ सरकारों ने उसको और पनपने दिया गुप्ता ने दिया को पानी दिया क्षेत्रीय पार्टियां जो है वह भी काफी पानी देकर किसी करके और इसको इतना मजबूत कर दी है इसको तोरणा इतना आसान नहीं है
Romanized Version
बिल्कुल भारत तक जातिवाद देश हो गया है क्योंकि नेताओं ने इसकी जरा इतनी गहरी जमा दी योगी हमारे समाज से जाने वाली नहीं है और जब तक यह सोच यह समाज शादी वाचन पर नहीं उठेगा तब तक किसी का विकास होने वाला नहीं है लेकिन नेता लोग जो है ना यह सब कुछ छोड़ कर के आपस में दूर करके अपनी रोटियां सेकना चाहते हैं और पब्लिक जो है उनके पीछे झंडा लेकर जयकारा लगाती है आज से नहीं है अंग्रेजों का बोया हुआ बीज है जो कि पिछले कुछ सरकारों ने उसको और पनपने दिया गुप्ता ने दिया को पानी दिया क्षेत्रीय पार्टियां जो है वह भी काफी पानी देकर किसी करके और इसको इतना मजबूत कर दी है इसको तोरणा इतना आसान नहीं हैBilkul Bharat Tak Jaatiwad Desh Ho Gaya Hai Kyonki Netaon Ne Iski Jara Itni Gehri Jama Di Yogi Hamare Samaaj Se Jaane Wali Nahi Hai Aur Jab Tak Yeh Soch Yeh Samaaj Shadi Vachan Par Nahi Uthega Tab Tak Kisi Ka Vikash Hone Vala Nahi Hai Lekin Neta Log Jo Hai Na Yeh Sab Kuch Chod Kar Ke Aapas Mein Dur Karke Apni Rotiyan Sekna Chahte Hain Aur Public Jo Hai Unke Piche Jhanda Lekar Jaykara Lagati Hai Aaj Se Nahi Hai Angrejo Ka Boya Hua Beej Hai Jo Ki Pichhle Kuch Sarkaro Ne Usko Aur Panpane Diya Gupta Ne Diya Ko Pani Diya Kshetriya Partyian Jo Hai Wah Bhi Kafi Pani Dekar Kisi Karke Aur Isko Itna Mazboot Kar Di Hai Isko Torana Itna Aasan Nahi Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेता बनने के लिए जरूरी है कि किसी समूह को अपडेट करें और ऐसा होता कर पूरे भारत को एक करना है आपको बोलना पाकिस्तान और चाइना की तरफ इशारा करना पड़ेगा हिंदुओं को एक करना है तो मुस्लिम की तरफ इशारा कर उक्त नेता क्या करता छोटे छोटे समूह बना लेते पटेल इधर आ जाओ राजपूत इधर आ जाओ इधर आ जाओ चलो युद्ध करें कसम आ गया इसी का फायदा उठाते हैं कि इससे आगे बढ़ेगा और कितनी बड़ी मूर्खता है कि कोई इंसान कोर्ट में खड़ा उससे भी पहले धर्म और जाति पूछी जाती है आपको फोन में भी जाति और धर्म करना पड़ता है हमारे धर्म के नाम पर अलग-अलग कानून भारत जातिवाद देश और जब तक युद्ध प्रेमिका रहेगी मनुष्य के अंदर अहंकार के कारण पर कामचोर भी है इसलिए आप किसी काम के लिए एक नहीं कर सकते पर किसी व्यक्ति के खिलाफ खड़ा करके एक कर सकते हैं और नेता तो अपनापन छोड़ेगा नहीं इसलिए वह चाहेगा कि आप अलग ही रहे और किसी के खिलाफ
Romanized Version
नेता बनने के लिए जरूरी है कि किसी समूह को अपडेट करें और ऐसा होता कर पूरे भारत को एक करना है आपको बोलना पाकिस्तान और चाइना की तरफ इशारा करना पड़ेगा हिंदुओं को एक करना है तो मुस्लिम की तरफ इशारा कर उक्त नेता क्या करता छोटे छोटे समूह बना लेते पटेल इधर आ जाओ राजपूत इधर आ जाओ इधर आ जाओ चलो युद्ध करें कसम आ गया इसी का फायदा उठाते हैं कि इससे आगे बढ़ेगा और कितनी बड़ी मूर्खता है कि कोई इंसान कोर्ट में खड़ा उससे भी पहले धर्म और जाति पूछी जाती है आपको फोन में भी जाति और धर्म करना पड़ता है हमारे धर्म के नाम पर अलग-अलग कानून भारत जातिवाद देश और जब तक युद्ध प्रेमिका रहेगी मनुष्य के अंदर अहंकार के कारण पर कामचोर भी है इसलिए आप किसी काम के लिए एक नहीं कर सकते पर किसी व्यक्ति के खिलाफ खड़ा करके एक कर सकते हैं और नेता तो अपनापन छोड़ेगा नहीं इसलिए वह चाहेगा कि आप अलग ही रहे और किसी के खिलाफNeta Banne Ke Liye Zaroori Hai Ki Kisi Samuh Ko Update Karen Aur Aisa Hota Kar Poore Bharat Ko Ek Karna Hai Aapko Bolna Pakistan Aur China Ki Taraf Ishaaraa Karna Padega Hinduon Ko Ek Karna Hai To Muslim Ki Taraf Ishaaraa Kar Ukth Neta Kya Karta Chote Chote Samuh Bana Lete Patel Idhar Aa Jao Rajput Idhar Aa Jao Idhar Aa Jao Chalo Yudh Karen Kasam Aa Gaya Isi Ka Fayda Uthaatey Hain Ki Isse Aage Badhega Aur Kitni Badi Murkhta Hai Ki Koi Insaan Court Mein Khada Usse Bhi Pehle Dharm Aur Jati Pucchi Jati Hai Aapko Phone Mein Bhi Jati Aur Dharm Karna Padata Hai Hamare Dharm Ke Naam Par Alag Alag Kanoon Bharat Jaatiwad Desh Aur Jab Tak Yudh Premika Rahegi Manushya Ke Andar Ahankar Ke Kaaran Par Kaamchor Bhi Hai Isliye Aap Kisi Kaam Ke Liye Ek Nahi Kar Sakte Par Kisi Vyakti Ke Khilaf Khada Karke Ek Kar Sakte Hain Aur Neta To Apnapan Chhodega Nahi Isliye Wah Chahega Ki Aap Alag Hi Rahe Aur Kisi Ke Khilaf
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैडम आपको मैं बता दूं हमारे भारत में मुस्लिम भाई में जातिवाद नहीं है केवल जातिवाद है तो हमारे हिंदू भाई में और दूसरी बात है यह लोकतंत्र की जो राजनीति चलती है इसी से हमारे देश में सब अपना शासन राज्य तंत्र की तरह चलाना चाहते हैं इसीलिए हमारे देश में जातिवाद ज्यादातर करके एक दूसरे से टकराव कराना नेताओं की भूमिका है और आगे का मन में बता दूंगा
Romanized Version
मैडम आपको मैं बता दूं हमारे भारत में मुस्लिम भाई में जातिवाद नहीं है केवल जातिवाद है तो हमारे हिंदू भाई में और दूसरी बात है यह लोकतंत्र की जो राजनीति चलती है इसी से हमारे देश में सब अपना शासन राज्य तंत्र की तरह चलाना चाहते हैं इसीलिए हमारे देश में जातिवाद ज्यादातर करके एक दूसरे से टकराव कराना नेताओं की भूमिका है और आगे का मन में बता दूंगाMadame Aapko Main Bata Doon Hamare Bharat Mein Muslim Bhai Mein Jaatiwad Nahi Hai Kewal Jaatiwad Hai To Hamare Hindu Bhai Mein Aur Dusri Baat Hai Yeh Loktantra Ki Jo Rajneeti Chalti Hai Isi Se Hamare Desh Mein Sab Apna Shasan Rajya Tantra Ki Tarah Chalana Chahte Hain Isliye Hamare Desh Mein Jaatiwad Jyadatar Karke Ek Dusre Se Takraav Krana Netaon Ki Bhumika Hai Aur Aage Ka Man Mein Bata Dunga
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक जातिवादी देश है लेकिन जब देश की अस्मिता पर खतरा हो उसके अस्तित्व पर खतरा हो तो पुराने रीति परंपराओं को छोड़कर ने सोच को अपनाना चाहिए और जातिवाद को खत्म करना चाहिए जनसंख्या में जब अकेले हो सर्वे हो तो उसमें जातिवाद का कॉलम ही खत्म कर देना चाहिए ताकि धीरे-धीरे जातिवाद का दंश समाप्त हो जाए और लोग अपने व्यवहार के अनुरूप कार्य कर सकें
Romanized Version
भारत एक जातिवादी देश है लेकिन जब देश की अस्मिता पर खतरा हो उसके अस्तित्व पर खतरा हो तो पुराने रीति परंपराओं को छोड़कर ने सोच को अपनाना चाहिए और जातिवाद को खत्म करना चाहिए जनसंख्या में जब अकेले हो सर्वे हो तो उसमें जातिवाद का कॉलम ही खत्म कर देना चाहिए ताकि धीरे-धीरे जातिवाद का दंश समाप्त हो जाए और लोग अपने व्यवहार के अनुरूप कार्य कर सकेंBharat Ek Jativadi Desh Hai Lekin Jab Desh Ki Asmita Par Khatra Ho Uske Astitv Par Khatra Ho To Purane Riti Paramparaon Ko Chodkar Ne Soch Ko Apnana Chahiye Aur Jaatiwad Ko Khatam Karna Chahiye Jansankhya Mein Jab Akele Ho Survey Ho To Usamen Jaatiwad Ka Column Hi Khatam Kar Dena Chahiye Taki Dhire Dhire Jaatiwad Ka Dansh Samapt Ho Jaye Aur Log Apne Vyavhar Ke Anurup Karya Kar Saken
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Aapko Lagta Hai Ki Bharat Ek Jaatiwad Desh Hai,Do You Think India Is A Racist Country?,


vokalandroid