राष्ट्रगान का वास्तविक अर्थ क्या है और क्या इसे भारत में गाना चाहिए ? ...

Likes  0  Dislikes

2 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
राष्ट्रगान का अर्थ इस प्रकार है सभी लोगों के मासिक के शासक कला तुम हो भारत की किस्मत बनाने वाले यह पंक्ति भारत के नागरिकों को समर्पित है क्योंकि लोकतंत्र में नागरिक की ही वास्तविक स्वामी होता है अगली पंक्तियां भारत देश की भूमि को नमन करते हुए हैं तुम्हारा नाम पंजाब सिंध गुजरात और मराठों के दिलों के साथ ही बंगाल और ओडिशा और द्रविड़ को भी उत्तेजित करता है इसकी गूंज विद्या और हिमालय के पहाड़ों में सुनाई देती है गंगा और जमुना के संगीत में मिलती है और भारतीय समुद्र की लहरों द्वारा गुणगान किया जाता है वह तुम्हारे आशीर्वाद के लिए प्रार्थना करते हैं और तुम्हारी प्रशंसा के गीत गाते हैं अगली पंक्ति पंक्तियां देश के सैनिकों और किसानों को समर्पित है तुम ही समस्त प्राणियों को सुरक्षा एवं मंगल जीवन प्रदान करने वाले हो और तुम ही भारत के वास्तविक भाग मुझे विधाता हो जय हो जय हो जय हो तुम्हारी आप सभी से मिलकर यह राष्ट्र बना बना है अतः आप सब की जय जय जय है और यह मैं नाचू आज छम है और हमें इसलिए गाना चाहिए क्योंकि यह हमारा कल्चर ऑलमोस्ट थोड़ा बहुत हमारा हिस्ट्री और हमारा विजन का डिस्क्राइब करता है इसकी सुंदरता बोलता है कि हमारे कितने अलग अलग स्टेट से कितने अलग अलग माउंटेन से कितने अलग अलग रिवाज है वह और फिर कैसे हम लोग एक साथ जुड़कर रहते हैं और कैसे सैनिक हमारे जो भारत के सैनिक है कि ऐसे हमारे देश की रक्षा करते हैं और फॉर्मल जो है वह कैसे प्रोड्यूस करते हैं ताकि सब खा सकेंRashtragan Ka Arth Is Prakar Hai Sabhi Logon Ke Maasik Ke Shasak Kala Tum Ho Bharat Ki Kismat Banane Wale Yeh Pankti Bharat Ke Naagrikon Ko Samarpit Hai Kyonki Loktantra Mein Nagarik Ki Hi Vastavik Swami Hota Hai Agli Panktiyan Bharat Desh Ki Bhoomi Ko Naman Karte Hue Hain Tumhara Naam Punjab Sindh Gujarat Aur Marathoon Ke Dilon Ke Saath Hi Bengal Aur Odisha Aur Dravid Ko Bhi Uttejit Karta Hai Iski Goonj Vidya Aur Himalaya Ke Pahadon Mein Sunayi Deti Hai Ganga Aur Jamuna Ke Sangeet Mein Milti Hai Aur Bhartiya Samudra Ki Lehron Dwara Gunagan Kiya Jata Hai Wah Tumhare Ashirvaad Ke Liye Prarthana Karte Hain Aur Tumhari Prashansa Ke Geet Gaate Hain Agli Pankti Panktiyan Desh Ke Sainikon Aur Kisano Ko Samarpit Hai Tum Hi Samast Praaniyon Ko Suraksha Evam Mangal Jeevan Pradan Karne Wale Ho Aur Tum Hi Bharat Ke Vastavik Bhag Mujhe Vidhata Ho Jai Ho Jai Ho Jai Ho Tumhari Aap Sabhi Se Milkar Yeh Rashtra Bana Bana Hai Atah Aap Sab Ki Jai Jai Jai Hai Aur Yeh Main Nachu Aaj Cham Hai Aur Hume Isliye Gaana Chahiye Kyonki Yeh Hamara Culture Alamost Thoda Bahut Hamara History Aur Hamara Vision Ka Describe Karta Hai Iski Sundarata Bolta Hai Ki Hamare Kitne Alag Alag State Se Kitne Alag Alag Mountain Se Kitne Alag Alag Rivaaj Hai Wah Aur Phir Kaise Hum Log Ek Saath Judakar Rehte Hain Aur Kaise Sainik Hamare Jo Bharat Ke Sainik Hai Ki Aise Hamare Desh Ki Raksha Karte Hain Aur Formal Jo Hai Wah Kaise Produce Karte Hain Taki Sab Kha Saken
Likes  2  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जन गण मन यह भारत के राष्ट्रगान है और यह कवि रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा बंगाली में लिखा गया था 24 जनवरी 1950 को भारत के संविधान सभा में राष्ट्रपति गाना के रूप में अपना गीत भाग लिया था जबकि गया जाता है या खिलाया प्ले किया जाता है तो दर्शक ध्यान में खड़े होंगे राष्ट्रीय ध्वज की उड़ान के मामले में यह लोगों की अच्छी समझ के लिए छोड़ दिया क्या है कि वह अद्भुत गायन ना करें और गानों का प्ले ना करेंJan Gan Man Yeh Bharat Ke Rashtragan Hai Aur Yeh Kavi Ravindranath Tagore Dwara Bengali Mein Likha Gaya Tha 24 January 1950 Ko Bharat Ke Samvidhan Sabha Mein Rashtrapati Gaana Ke Roop Mein Apna Geet Bhag Liya Tha Jabki Gaya Jata Hai Ya Khilaya Play Kiya Jata Hai To Darshak Dhyan Mein Khade Honge Rashtriya Dhwaj Ki Uddan Ke Mamle Mein Yeh Logon Ki Acchi Samajh Ke Liye Chod Diya Kya Hai Ki Wah Adbhut Gaayan Na Karen Aur Gaano Ka Play Na Karen
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Rashtragan Ka Vastavik Arth Kya Hai Aur Kya Ise Bharat Mein Gaana Chahiye ?





मन में है सवाल?