हमारे देश और दूसरे देश में क्या फर्क है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमारे देश और दूसरे अलग देशों में ज्यादा बड़ा सबसे बड़ा अंतर और आपको बताऊं सबसे बड़ा अंतर तो है कि भारत का संविधान सबसे बड़ा है क्या लोकतंत्र सबसे बड़ा सबसे बड़ा अंतर तो यही है और दूसरा कि संविधान सबसे बड़ा है यहां पर
देखिए हमारे देश और दूसरे अलग देशों में ज्यादा बड़ा सबसे बड़ा अंतर और आपको बताऊं सबसे बड़ा अंतर तो है कि भारत का संविधान सबसे बड़ा है क्या लोकतंत्र सबसे बड़ा सबसे बड़ा अंतर तो यही है और दूसरा कि संविधान सबसे बड़ा है यहां पर
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या हमारे देश के अलावा किसी दूसरे देश में इस तरह से जातिगत आरक्षण है ? ...

आज ही आपके क्वेश्चन है कि हमारे देश के अलावा किसी दूसरे देश में भी आ जातिगत आरक्षण है कि नहीं तो देखे बहुत सारी कंट्री है तो उसमें जो है जातिवाद के आरक्षण नहीं है बाकी जो आप जैसे की युवा ने आहूत किया जवाब पढ़िये
ques_icon

किसी भी देश में दो तरह के समस्या होती है बाहरी और अंदुरिने तो हमारे देश में सबसे ज़्यादा समस्या किससे है ? ...

दिल किसी देश में 2 तरीके की प्रॉब्लम होती है एक तो अंदरूनी आंतरिक बोल सकते हैं अंदर की प्रॉब्लम एक बार की प्रॉब्लम भारत की बात करें तो देखा जाए तो भारत में सबसे ज्यादा प्रॉब्लम अंदर कि हमारे देश के नेजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में अनेक धर्मों के लोग रहते हैं जिनका अलग-अलग कल्चर है तो हमारे देश में दूसरे देशों से वह भी अपनी एक पहचान बनाई हुई है और हमारे देश का संविधान सबसे बड़ा है हमारे देश में हर एक स्थिति के लिए कुछ ना कुछ आर्टिकल्स कुछ ना कुछ सिचुएशंस के लिए अलग-अलग आर्टिकल्स बनाए गए हैं इसलिए हमारा देश सब देशों से अलग है
हमारे देश में अनेक धर्मों के लोग रहते हैं जिनका अलग-अलग कल्चर है तो हमारे देश में दूसरे देशों से वह भी अपनी एक पहचान बनाई हुई है और हमारे देश का संविधान सबसे बड़ा है हमारे देश में हर एक स्थिति के लिए कुछ ना कुछ आर्टिकल्स कुछ ना कुछ सिचुएशंस के लिए अलग-अलग आर्टिकल्स बनाए गए हैं इसलिए हमारा देश सब देशों से अलग है
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश और दूसरे देशों में बहुत अंतर है हमारे देश आज तक हमारे नागरिक स्वतंत्रता का सही यूज शत्रुता का सही अर्थ नहीं समझ सके हम लोग स्वतंत्रता का मिस यूज करते हैं हम लोग सुनीता के सही अर्थ को आज तक नहीं पहचान पाए हैं नंबर 1 कल तक तो यह है क्योंकि स्वतंत्र होने का मतलब यह नहीं है कि आप नंगा नाच करें आप दूसरों की शुद्धता का को ओपन करें आप दूसरों के लिए बाधा बने आप दूसरों की हानि पहुंचाए या देश के विकास को रोके ईशा का अर्थ कदापि नहीं सुनता आपको दूसरों का आबाद करने में है होनी चाहिए यह मानव का एक मॉडल की है सत्यम शिवम सुंदरम की कल्पना भी हमको रखनी चाहिए तब हम एक संयोग नागरिक हैं लेकिन आप विदेशों में सो नहीं पाएंगे आप देखिए देश के बारे में कहना चाह रहा हूं अमेरिका इंग्लैंड जापान और जर्मनी इन 4 देशों के नागरिकों को मैंने यह देश भक्ति में हमारे देश के कई बातों पर पाया देखा है जिनके बारे में आप यह कहेंगे कि वहां के नागरिक को अपनी जान तो दे सकते हैं लेकिन अपने देश के लिए किसी प्रकार की कोई हानि सहन नहीं कर सकते हैं जबकि हमारे यहां आकर नागरिक आप यह देखते सुनते क्या सुनता के नाम पर दंगा हो रहा है लालच में डूबा हुआ है वह देश के लिए कितनी भी हानि पहुंचा सकता है असंतोष का लाभ पूरा हो
हमारे देश और दूसरे देशों में बहुत अंतर है हमारे देश आज तक हमारे नागरिक स्वतंत्रता का सही यूज शत्रुता का सही अर्थ नहीं समझ सके हम लोग स्वतंत्रता का मिस यूज करते हैं हम लोग सुनीता के सही अर्थ को आज तक नहीं पहचान पाए हैं नंबर 1 कल तक तो यह है क्योंकि स्वतंत्र होने का मतलब यह नहीं है कि आप नंगा नाच करें आप दूसरों की शुद्धता का को ओपन करें आप दूसरों के लिए बाधा बने आप दूसरों की हानि पहुंचाए या देश के विकास को रोके ईशा का अर्थ कदापि नहीं सुनता आपको दूसरों का आबाद करने में है होनी चाहिए यह मानव का एक मॉडल की है सत्यम शिवम सुंदरम की कल्पना भी हमको रखनी चाहिए तब हम एक संयोग नागरिक हैं लेकिन आप विदेशों में सो नहीं पाएंगे आप देखिए देश के बारे में कहना चाह रहा हूं अमेरिका इंग्लैंड जापान और जर्मनी इन 4 देशों के नागरिकों को मैंने यह देश भक्ति में हमारे देश के कई बातों पर पाया देखा है जिनके बारे में आप यह कहेंगे कि वहां के नागरिक को अपनी जान तो दे सकते हैं लेकिन अपने देश के लिए किसी प्रकार की कोई हानि सहन नहीं कर सकते हैं जबकि हमारे यहां आकर नागरिक आप यह देखते सुनते क्या सुनता के नाम पर दंगा हो रहा है लालच में डूबा हुआ है वह देश के लिए कितनी भी हानि पहुंचा सकता है असंतोष का लाभ पूरा हो
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा देश की राजनीतिक आर्थिक कारण हमारे देश के दोगले नेता है जो भी पार्टियां हैं ज्यादातर पार्टी झूठ बोलती है बड़े-बड़े वादे करते हैं और काम को नहीं करती आप देख रहे होंगे जो कि बीजेपी की सरकार आई है हर डिपार्टमेंट में सरकारी नौकरी बहुत ही ज्यादा निकलती थी लेकिन बीजेपी के हारने के बाद से सरकारी नौकरों की संख्या आधी रह गई है प्राइवेट सेक्टर को बढ़ावा मिल रहा है इसी कारण हमारे देश के लोग शिक्षित हैं लेकिन उसे नौकरी के अनुसार पढ़ाई नहीं मिलती हमारे देश का एजुकेशन सिस्टम बहुत ही खराब है पढ़ाने वाले टीचर नहीं होती इसी कारण हमारा देश पीछे में जनसंख्या वृद्धि हमारे देश में एक बच्चा पॉलिसी लागू होनी चाहिए इसलिए हमारे देश की जनसंख्या डीकंट्रोल होगी तो देश तरक्की कर सकता है
हमारा देश की राजनीतिक आर्थिक कारण हमारे देश के दोगले नेता है जो भी पार्टियां हैं ज्यादातर पार्टी झूठ बोलती है बड़े-बड़े वादे करते हैं और काम को नहीं करती आप देख रहे होंगे जो कि बीजेपी की सरकार आई है हर डिपार्टमेंट में सरकारी नौकरी बहुत ही ज्यादा निकलती थी लेकिन बीजेपी के हारने के बाद से सरकारी नौकरों की संख्या आधी रह गई है प्राइवेट सेक्टर को बढ़ावा मिल रहा है इसी कारण हमारे देश के लोग शिक्षित हैं लेकिन उसे नौकरी के अनुसार पढ़ाई नहीं मिलती हमारे देश का एजुकेशन सिस्टम बहुत ही खराब है पढ़ाने वाले टीचर नहीं होती इसी कारण हमारा देश पीछे में जनसंख्या वृद्धि हमारे देश में एक बच्चा पॉलिसी लागू होनी चाहिए इसलिए हमारे देश की जनसंख्या डीकंट्रोल होगी तो देश तरक्की कर सकता है
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश और दूसरे देश में यही फर्क है कि देखिए हमारा देश है उसका अलग कल्चर है अलग रणनीतियां है अलग सरकार है संविधान लगे दूसरे देशों का सब कार्यालय तरीके से चलता है लेकिन हॉल में सब कुछ होता है एक ही है लेकिन तरीके अलग-अलग होते हैं तो बस यही फर्क होता है बाकी कोई फर्क नहीं होता सब इंसान एक जैसे होते हैं उनकी भाषाएं अलग होती है दिल एक जैसा ही होता है लेकिन अब जो है सोच भी एक जैसी होती है लेकिन कौन उसको किस तरीके से इस्तेमाल करता है उस पर डिपेंड करता है तो यह सब चीज होती है छोटी-छोटी दिन में चेंज होता है बाकी सब कुछ सेम होता है कोई डिफरेंस नहीं होता कोई फर्क नहीं होता
हमारे देश और दूसरे देश में यही फर्क है कि देखिए हमारा देश है उसका अलग कल्चर है अलग रणनीतियां है अलग सरकार है संविधान लगे दूसरे देशों का सब कार्यालय तरीके से चलता है लेकिन हॉल में सब कुछ होता है एक ही है लेकिन तरीके अलग-अलग होते हैं तो बस यही फर्क होता है बाकी कोई फर्क नहीं होता सब इंसान एक जैसे होते हैं उनकी भाषाएं अलग होती है दिल एक जैसा ही होता है लेकिन अब जो है सोच भी एक जैसी होती है लेकिन कौन उसको किस तरीके से इस्तेमाल करता है उस पर डिपेंड करता है तो यह सब चीज होती है छोटी-छोटी दिन में चेंज होता है बाकी सब कुछ सेम होता है कोई डिफरेंस नहीं होता कोई फर्क नहीं होता
Likes  11  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Hamare Desh Aur Dusre Desh Mein Kya Fark Hai,What Is The Difference Between Our Country And Other Countries?,


vokalandroid