महाराष्ट्र में जो हिंसा हुई क्या वो सोची समझी साजिस थी। ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस बात का भी कोई भी परिणाम नहीं आया है कि महाराष्ट्र में जो हिंसा हुई थी वह सोची सोची समझी साजिश थी या फिर रवि को इंसिडेंट था कि लोग यहां पर इकट्ठा हुए और उनके बीच थोड़ी बहुत तो कहासुनी हुई और एकदम से...जवाब पढ़िये
इस बात का भी कोई भी परिणाम नहीं आया है कि महाराष्ट्र में जो हिंसा हुई थी वह सोची सोची समझी साजिश थी या फिर रवि को इंसिडेंट था कि लोग यहां पर इकट्ठा हुए और उनके बीच थोड़ी बहुत तो कहासुनी हुई और एकदम से लड़ाई शुरू हो गई और दंगा हो गया आगे चलकर तो मेरे हिसाब से जो हुआ था वहां पर वह यह था कि काफी सारे दलित एकदम से इतनी सारी मात्रा में एक जगह इकट्ठे हुए थे हां यह बात जरूर है कि हर साल बोलूंगा इकट्ठा होते हैं लेकिन इस साल उनकी जो लोगों की संख्या थी वह बहुत ज्यादा थी और उसके अलावा जो दूसरे से शिवसेना के लोग थे जो कि उनके अगेंस्ट ब्लू की भी संख्या एकदम से बहुत ज्यादा लोगों में आ रहा पर आ गए थे तो यह मुझे काफी हद तक पर एक सोची समझी साजिश की लग रही है प्लीज किसी भी जगह पर एकदम से इतने सारे लोगों का इतनी संख्या में एक साथ आ जाना कोई को इंसिडेंट हो सकता वह जरूरी पहले से सोचा हुआ चीज होती है कि हम लोग वहां जाएंगे और यह सब करेंगे हां यह बात जरूर है कि नाके पर चाय को दंगे बन जाएंगे यह बात शायद लोगों ने नहीं सोची होगी लेकिन यह जो महाराष्ट्र में हिंसा हुई थी वह काफी हद तक सोची समझी साजिश की थी लोगों कीIs Baat Ka Bhi Koi Bhi Parinam Nahi Aaya Hai Ki Maharashtra Mein Jo Hinsa Hui Thi Wah Sochi Sochi Samjhi Sajish Thi Ya Phir Ravi Ko Incident Tha Ki Log Yahan Par Ikattha Hue Aur Unke Beech Thodi Bahut To Kahasuni Hui Aur Ekdam Se Ladai Shuru Ho Gayi Aur Danga Ho Gaya Aage Chalkar To Mere Hisab Se Jo Hua Tha Wahan Par Wah Yeh Tha Ki Kafi Sare Dalit Ekdam Se Itni Saree Matra Mein Ek Jagah Ikatthe Hue The Haan Yeh Baat Jarur Hai Ki Har Saal Bolunga Ikattha Hote Hain Lekin Is Saal Unki Jo Logon Ki Sankhya Thi Wah Bahut Jyada Thi Aur Uske Alava Jo Dusre Se Shivsena Ke Log The Jo Ki Unke Against Blue Ki Bhi Sankhya Ekdam Se Bahut Jyada Logon Mein Aa Raha Par Aa Gaye The To Yeh Mujhe Kafi Had Tak Par Ek Sochi Samjhi Sajish Ki Lag Rahi Hai Please Kisi Bhi Jagah Par Ekdam Se Itne Sare Logon Ka Itni Sankhya Mein Ek Saath Aa Jana Koi Ko Incident Ho Sakta Wah Zaroori Pehle Se Socha Hua Cheez Hoti Hai Ki Hum Log Wahan Jaenge Aur Yeh Sab Karenge Haan Yeh Baat Jarur Hai Ki Naake Par Chai Ko Denge Ban Jaenge Yeh Baat Shayad Logon Ne Nahi Sochi Hogi Lekin Yeh Jo Maharashtra Mein Hinsa Hui Thi Wah Kafi Had Tak Sochi Samjhi Sajish Ki Thi Logon Ki
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अचानक महाराष्ट्र हिंसा व जातीय तनाव की आग में झुलस गया वह हर एक के लिए चिंता का विषय है जिस तरह अहिंसा शिकारपुर बाबल गांव से शुरू होकर पूरे प्रदेश में फैल गई उसे पता चलता है कि राजनीति व जाति व्यवस्था...जवाब पढ़िये
अचानक महाराष्ट्र हिंसा व जातीय तनाव की आग में झुलस गया वह हर एक के लिए चिंता का विषय है जिस तरह अहिंसा शिकारपुर बाबल गांव से शुरू होकर पूरे प्रदेश में फैल गई उसे पता चलता है कि राजनीति व जाति व्यवस्था की सतह के नीचे भारी दबाव और तनाव है अंग्रेजों ने कोरेगांव में अपनी जीत की याद में जय स्तंभ बनवाया था प्रतिवर्ष हजारों की संख्या में दलित समुदाय के लोग जय स्तंभ पर आकर श्रद्धांजलि देते हैं वर्तमान समय में म्हारो किया दलितों के साथ प्राचीन समय में सामान्य सवाल नहीं होता है परंतु भेदभाव का अंत अभी नहीं हुआ है वहां जो भाषण होते हैं उनकी भाषा तीखी होती है जातीय तनाव की आशंका हमेशा बनी रहती है जातीय सद्भावना यहां बहुत जरूरी है लेकिन यह कार्य करेगा मराठा समुदाय को पहल करके दलितों के साथ स्वयं ही इस दिवस में भाग लेकर पश्चाताप प्रकट करना चाहिए शायद इस देश का अंत हो सके यह कोई साजिश थी मुझे ऐसा बिल्कुल नहीं लगता है जहां भी ऐसे कार्यक्रम होते हैं वहां अप्रिय तनाव अहिंसा के कारण सोते ही निकल उग्र रूप धारण कर लेते हैंAchanak Maharashtra Hinsa V Jatiye Tanaav Ki Aag Mein Jhulas Gaya Wah Har Ek Ke Liye Chinta Ka Vishay Hai Jis Tarah Ahinsha Shikarpur Babal Gav Se Shuru Hokar Poore Pradesh Mein Fail Gayi Use Pata Chalta Hai Ki Rajneeti V Jati Vyavastha Ki Satah Ke Neeche Bhari Dabaav Aur Tanaav Hai Angrejo Ne Koregaon Mein Apni Jeet Ki Yaad Mein Jai Stambh Banwaya Tha Prativarsh Hajaron Ki Sankhya Mein Dalit Samuday Ke Log Jai Stambh Par Aakar Shraddhaanjali Dete Hain Vartaman Samay Mein Mharo Kiya Dalito Ke Saath Prachin Samay Mein Samanya Sawal Nahi Hota Hai Parantu Bhedbhav Ka Ant Abhi Nahi Hua Hai Wahan Jo Bhashan Hote Hain Unki Bhasha Teekhi Hoti Hai Jatiye Tanaav Ki Ashanka Hamesha Bani Rehti Hai Jatiye Sadbhaavana Yahan Bahut Zaroori Hai Lekin Yeh Karya Karega Maratha Samuday Ko Pahal Karke Dalito Ke Saath Swayam Hi Is Divas Mein Bhag Lekar Pashchatap Prakat Karna Chahiye Shayad Is Desh Ka Ant Ho Sake Yeh Koi Sajish Thi Mujhe Aisa Bilkul Nahi Lagta Hai Jahan Bhi Aise Karyakram Hote Hain Wahan Apriya Tanaav Ahinsha Ke Kaaran Sote Hi Nikal Ugra Roop Dharan Kar Lete Hain
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऐसा हो सकता है कि वह सोची समझी साजिश है बेटा फिर भी अगर कोई भी लोग हमारे यहां पर उकसाना और भड़कानेवाला विधान करें या कुछ भी अन्य कृति करें तो ऐसा हो ही जाता है और मुझे लगता है कि ऐसा और लोगों को...जवाब पढ़िये
देखिए ऐसा हो सकता है कि वह सोची समझी साजिश है बेटा फिर भी अगर कोई भी लोग हमारे यहां पर उकसाना और भड़कानेवाला विधान करें या कुछ भी अन्य कृति करें तो ऐसा हो ही जाता है और मुझे लगता है कि ऐसा और लोगों को मालूम होगा कि वहां पर जो भीमा कोरेगाव में हुआ कि वहां पर एक्टिव 200 साल का जो उत्सव मनाया जा रहा था तो वहां पर बहुत सारी भीड़ जमा हुई थी बहुत सारे लोग जमा है और वहां पर अगर ऐसा कुछ हुआ तो फिर चिंता होगी मुझे मालूम होगा उन लोगों को जिन्होंने न्यू स्टार्ट किया और मेरे ख्याल से उसके बजे से है वह यहां हिंसा हुई है हालांकि मुझे जो हिंसा हुई है वह बहुत ही दर्दनाक और बिल्कुल भी अच्छी नहीं थी क्योंकि मतलब 2 दिन का महाराष्ट्र बंद भोपाल आ गया उसके मतलब बहुत सारी फसल फोड़ दी लोगों ने हमारे यहां पर यह है है कि मतलब अगर दो लोगों में दोस्ती धर्मों में अगर कोई उठाने वाला करें तो उन्होंने दंगे होते हैं लोग मतलब मारने पर उतर जाते हैं बहुत ज्यादा तोड़फोड़ करते हैं तो क्या बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं है और हां मुझे लगता है कि वह एक सोची समझी साजिश थी इतना सारा कुछ हुआ महाराष्ट्र बंद होना मतलब यह कोई छोटी बात नहीं है तू यह होने के लिए पीछे किसका हाथ रहता है कि नहीं हमें आप करवाना है तो ऐसा मुझे लगता है क्या सोची समझी साजिश ही होगीDekhie Aisa Ho Sakta Hai Ki Wah Sochi Samjhi Sajish Hai Beta Phir Bhi Agar Koi Bhi Log Hamare Yahan Par Ukasana Aur Bhadakanevala Vidhan Karen Ya Kuch Bhi Anya Kriti Karen To Aisa Ho Hi Jata Hai Aur Mujhe Lagta Hai Ki Aisa Aur Logon Ko Maloom Hoga Ki Wahan Par Jo Bhima Koregaon Mein Hua Ki Wahan Par Active 200 Saal Ka Jo Utsav Manaya Ja Raha Tha To Wahan Par Bahut Saree Bheed Jama Hui Thi Bahut Sare Log Jama Hai Aur Wahan Par Agar Aisa Kuch Hua To Phir Chinta Hogi Mujhe Maloom Hoga Un Logon Ko Jinhone New Start Kiya Aur Mere Khayal Se Uske Baje Se Hai Wah Yahan Hinsa Hui Hai Halanki Mujhe Jo Hinsa Hui Hai Wah Bahut Hi Dardnak Aur Bilkul Bhi Acchi Nahi Thi Kyonki Matlab 2 Din Ka Maharashtra Band Bhopal Aa Gaya Uske Matlab Bahut Saree Fasal Fod Di Logon Ne Hamare Yahan Par Yeh Hai Hai Ki Matlab Agar Do Logon Mein Dosti Dharmon Mein Agar Koi Uthane Wala Karen To Unhone Denge Hote Hain Log Matlab Maarne Par Utar Jaate Hain Bahut Jyada Todfod Karte Hain To Kya Bilkul Bhi Acchi Baat Nahi Hai Aur Haan Mujhe Lagta Hai Ki Wah Ek Sochi Samjhi Sajish Thi Itna Saara Kuch Hua Maharashtra Band Hona Matlab Yeh Koi Choti Baat Nahi Hai Tu Yeh Hone Ke Liye Piche Kiska Hath Rehta Hai Ki Nahi Hume Aap Karwana Hai To Aisa Mujhe Lagta Hai Kya Sochi Samjhi Sajish Hi Hogi
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Maharashtra Mein Jo Hinsa Hui Kya Vo Sochi Samjhi Sajis Thi, Whatever Violence Took Place In Maharashtra, It Was Thought To Be A Conspiracy.

vokalandroid