search_iconmic
leaderboard
notify
हिंदी
leaderboard
notify
हिंदी
जवाब दें

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को याचिकाकर्ताओं को लॉया की रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है, अब आगे क्या हो सकता है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को याचिकाकर्ताओं की Loha की रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि किस सीबीआई की विशेष जलाया की मौत किन परिस्थितियों में हुई है इसका सभी को पता होना चाहिए सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार दस्तावेज 7 दिन के अंदर पर हो जाना चाहिए अगर इन्हें उचित माना गया तो इसकी प्रतियां याचिकाकर्ता को दी जाएगी तथा अनुचित बेंच के समक्ष पेश किया जाएगा महाराष्ट्र सरकार ने एक तीली बंद लिफाफे में जज लोहिया की मेडिकल रिपोर्ट को में छुपी है जिनकी मौत 2014 में हो गई थी इसके बाद महाराष्ट्र के वकील ने कहा कि वरिष्ठ अधिवक्ता सालवी सहित हमारे वकीलों की टीम संबंधित विभागों की सहायता से इन दस्तावेजों को स्क्रीन वह सत्यापित करेगी इसके बाद ही इन्हें देने के बारे में फैसला लिया जाएगा इससे पहले पीठ ने महाराष्ट्र सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे से रिपोर्ट की प्रति पंजाबी का करता हूं कि देने के बारे में कहा था इस पर साल्वे ने कहा था कि याचिकाकर्ताओं द्वारा यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि रिपोर्ट सार्वजनिक ना हो इसका कहना है सभी लोगों को सभी चीजें मालूम होनी चाहिए आखिर इसमें गोपनीय क्या है pk सालवी से कहा है कि वह रिपोर्ट में उन बातों को चिन्हित करें जिन्हें सार्वजनिक नहीं करना है क्या करता हूं कि और के वकीलों ने पी को आश्वस्त किया है कि रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं होगी याचिकाओं में जस्ट लोहिया की मौत की निष्पक्ष जांच की गुहार लगाई गई है
Romanized Version
सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को याचिकाकर्ताओं की Loha की रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि किस सीबीआई की विशेष जलाया की मौत किन परिस्थितियों में हुई है इसका सभी को पता होना चाहिए सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार दस्तावेज 7 दिन के अंदर पर हो जाना चाहिए अगर इन्हें उचित माना गया तो इसकी प्रतियां याचिकाकर्ता को दी जाएगी तथा अनुचित बेंच के समक्ष पेश किया जाएगा महाराष्ट्र सरकार ने एक तीली बंद लिफाफे में जज लोहिया की मेडिकल रिपोर्ट को में छुपी है जिनकी मौत 2014 में हो गई थी इसके बाद महाराष्ट्र के वकील ने कहा कि वरिष्ठ अधिवक्ता सालवी सहित हमारे वकीलों की टीम संबंधित विभागों की सहायता से इन दस्तावेजों को स्क्रीन वह सत्यापित करेगी इसके बाद ही इन्हें देने के बारे में फैसला लिया जाएगा इससे पहले पीठ ने महाराष्ट्र सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे से रिपोर्ट की प्रति पंजाबी का करता हूं कि देने के बारे में कहा था इस पर साल्वे ने कहा था कि याचिकाकर्ताओं द्वारा यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि रिपोर्ट सार्वजनिक ना हो इसका कहना है सभी लोगों को सभी चीजें मालूम होनी चाहिए आखिर इसमें गोपनीय क्या है pk सालवी से कहा है कि वह रिपोर्ट में उन बातों को चिन्हित करें जिन्हें सार्वजनिक नहीं करना है क्या करता हूं कि और के वकीलों ने पी को आश्वस्त किया है कि रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं होगी याचिकाओं में जस्ट लोहिया की मौत की निष्पक्ष जांच की गुहार लगाई गई हैSupreme Court Ne Maharashtra Sarkar Ko Yaachikaakartaon Ki Loha Ki Report Dene Ka Nirdesh Diya Hai Supreme Court Ne Kaha Hai Ki Kis Cbi Ki Vishesh Jalaaya Ki Maut Kin Paristhitiyon Mein Hui Hai Iska Sabhi Ko Pata Hona Chahiye Supreme Court Ke Aadeshanusar Dastavej 7 Din Ke Andar Par Ho Jana Chahiye Agar Inhen Uchit Mana Gaya To Iski Pratiyan Yachikakarta Ko Di Jayegi Tatha Anuchit Bench Ke Samaksh Pesh Kiya Jayega Maharashtra Sarkar Ne Ek Tili Band Lifafe Mein Judge Lohiya Ki Medical Report Ko Mein Chhupee Hai Jinaki Maut 2014 Mein Ho Gayi Thi Iske Baad Maharashtra Ke Vakil Ne Kaha Ki Varishtha Adhivakta Salvi Sahit Hamare Vakilon Ki Team Sambandhit Vibhaago Ki Sahaayata Se In Dastawejon Ko Screen Wah Satyapit Karegi Iske Baad Hi Inhen Dene Ke Baare Mein Faisla Liya Jayega Isse Pehle Peeth Ne Maharashtra Sarkar Ki Oar Se Pesh Varishtha Vakil Harish Salwe Se Report Ki Prati Punjabi Ka Karta Hoon Ki Dene Ke Baare Mein Kaha Tha Is Par Salwe Ne Kaha Tha Ki Yaachikaakartaon Dwara Yeh Sunishchit Kiya Jana Chahiye Ki Report Sarvajanik Na Ho Iska Kehna Hai Sabhi Logon Ko Sabhi Cheezen Maloom Honi Chahiye Aakhir Isme Gopaniya Kya Hai Pk Salvi Se Kaha Hai Ki Wah Report Mein Un Baaton Ko Chinhit Karen Jinhen Sarvajanik Nahi Karna Hai Kya Karta Hoon Ki Aur Ke Vakilon Ne P Ko Aashvast Kiya Hai Ki Report Sarvajanik Nahi Hogi Yachikaon Mein Just Lohiya Ki Maut Ki Nishpaksh Janch Ki Guhar Lagai Gayi Hai
Likes  2  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिए😊

ऐसे और सवाल

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

ques_icon

अधिक जवाब


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

PK 16 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को वह सारे डाक्यूमेंट्स रिजल्ट लोहा कि किससे संबंधित है यानी कि उनकी मेडिकल रिपोर्ट या बाकी सारे के सारे डाक्यूमेंट्स याचिकाकर्ता को देने की बात कही गई है सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जो याचिकाकर्ता है उनको पता होना चाहिए कि और सारी जो भी यह घटना यह किस प्रकार से घटी के जलचर के केस में जो जस्ट दीपावली है वह कह रही है कि नासिर ओल्ड थी लेकिन जब टीचर सैलरी आज का करता है वह यह कहते हैं कि उनकी हत्या कर दी गई क्योंकि वह शहाबुद्दीन फेक एनकाउंटर केस को जज कर रहे थे इसी को लेकर आओ यह जो है हियरिंग है यह चल रही है यह कहा गया है कि 1 हफ्ते के अंदर अंदर उस जाना लॉस को और कांग्रेस लीडर को जिन्होंने यह पिटीशन याचिका लगाई है उन्हें वह सारे रिपोर्ट दिए जाए सारे कॉन्पिटीशन मास्टर दिए जाए जो पोजीशन के पास से हर आंसू पोजीशन है इस पर ऐतराज विजेता है कि इसमें बहुत सारी कॉन्पिटिशन इंटरनेशनल जज ने बोला कि ऐसा क्या कॉन्फिडेंस है कि वह पोजीशन को ही ना दे सके तो उनको वो रिपोर्ट इन आंखों का कब होगा क्या यह रिपोर्ट मिलने के बाद या तो जो याचिकाकर्ता है वह शायद मान लेंगे कि सच में उनकी नेचुरल देती हो ऐसा कुछ नहीं था और अगर ऐसे नहीं तो फिर यह जो नेक्स्ट हियरिंग है उसमें शायद जो याचिकाकर्ता है वह कोई नए ₹1 कोई नए एविडेंस लेकर आए और जो भी रिपोर्ट ने दी जाएगी शायद उसमें कुछ सुराग छुपा हुआ मिल जाए और इस केस को कोई फैसला हो जाए
Romanized Version
PK 16 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को वह सारे डाक्यूमेंट्स रिजल्ट लोहा कि किससे संबंधित है यानी कि उनकी मेडिकल रिपोर्ट या बाकी सारे के सारे डाक्यूमेंट्स याचिकाकर्ता को देने की बात कही गई है सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जो याचिकाकर्ता है उनको पता होना चाहिए कि और सारी जो भी यह घटना यह किस प्रकार से घटी के जलचर के केस में जो जस्ट दीपावली है वह कह रही है कि नासिर ओल्ड थी लेकिन जब टीचर सैलरी आज का करता है वह यह कहते हैं कि उनकी हत्या कर दी गई क्योंकि वह शहाबुद्दीन फेक एनकाउंटर केस को जज कर रहे थे इसी को लेकर आओ यह जो है हियरिंग है यह चल रही है यह कहा गया है कि 1 हफ्ते के अंदर अंदर उस जाना लॉस को और कांग्रेस लीडर को जिन्होंने यह पिटीशन याचिका लगाई है उन्हें वह सारे रिपोर्ट दिए जाए सारे कॉन्पिटीशन मास्टर दिए जाए जो पोजीशन के पास से हर आंसू पोजीशन है इस पर ऐतराज विजेता है कि इसमें बहुत सारी कॉन्पिटिशन इंटरनेशनल जज ने बोला कि ऐसा क्या कॉन्फिडेंस है कि वह पोजीशन को ही ना दे सके तो उनको वो रिपोर्ट इन आंखों का कब होगा क्या यह रिपोर्ट मिलने के बाद या तो जो याचिकाकर्ता है वह शायद मान लेंगे कि सच में उनकी नेचुरल देती हो ऐसा कुछ नहीं था और अगर ऐसे नहीं तो फिर यह जो नेक्स्ट हियरिंग है उसमें शायद जो याचिकाकर्ता है वह कोई नए ₹1 कोई नए एविडेंस लेकर आए और जो भी रिपोर्ट ने दी जाएगी शायद उसमें कुछ सुराग छुपा हुआ मिल जाए और इस केस को कोई फैसला हो जाएPK 16 January Ko Supreme Court Ne Maharashtra Sarkar Ko Wah Sare Documents Result Loha Ki Kisse Sambandhit Hai Yani Ki Unki Medical Report Ya Baki Sare Ke Sare Documents Yachikakarta Ko Dene Ki Baat Kahi Gayi Hai Supreme Court Ne Kaha Ki Jo Yachikakarta Hai Unko Pata Hona Chahiye Ki Aur Saree Jo Bhi Yeh Ghatna Yeh Kis Prakar Se Ghati Ke Jalchar Ke Case Mein Jo Just Deepawali Hai Wah Keh Rahi Hai Ki Nasir Old Thi Lekin Jab Teacher Salary Aaj Ka Karta Hai Wah Yeh Kehte Hain Ki Unki Hatya Kar Di Gayi Kyonki Wah Shahabuddin Fake Encounter Case Ko Judge Kar Rahe The Isi Ko Lekar Aao Yeh Jo Hai Hearing Hai Yeh Chal Rahi Hai Yeh Kaha Gaya Hai Ki 1 Hafte Ke Andar Andar Us Jana Loss Ko Aur Congress Leader Ko Jinhone Yeh Pitishan Yachikaa Lagai Hai Unhen Wah Sare Report Diye Jaye Sare Kampitishan Master Diye Jaye Jo Position Ke Paas Se Har Aansu Position Hai Is Par Aitraj Vijeta Hai Ki Isme Bahut Saree Competition International Judge Ne Bola Ki Aisa Kya Confidence Hai Ki Wah Position Ko Hi Na De Sake To Unko Vo Report In Aakhon Ka Kab Hoga Kya Yeh Report Milne Ke Baad Ya To Jo Yachikakarta Hai Wah Shayad Maan Lenge Ki Sach Mein Unki Natural Deti Ho Aisa Kuch Nahi Tha Aur Agar Aise Nahi To Phir Yeh Jo Next Hearing Hai Usamen Shayad Jo Yachikakarta Hai Wah Koi Naye ₹1 Koi Naye Evidens Lekar Aaye Aur Jo Bhi Report Ne Di Jayegi Shayad Usamen Kuch Surag Chhupa Hua Mil Jaye Aur Is Case Ko Koi Faisla Ho Jaye
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Supreme Court Ne Maharashtra Sarkar Ko Yaachikaakartaon Ko Lawyer Ki Report Dene Ka Nirdesh Diya Hai Ab Aage Kya Ho Sakta Hai,The Supreme Court Has Directed The Maharashtra Government To Report The Loyalty To The Petitioners, What Can Be Done Next?,


vokalandroid