26 जनवरी क्यों मनाई जाती है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

26 जनवरी का इसलिए मनाई जाती क्योंकि उस दिन भारत का संविधान ना अमल हुआ था 1950 में और उसी की याद में हम मर जाने से मनाते हैं
Romanized Version
26 जनवरी का इसलिए मनाई जाती क्योंकि उस दिन भारत का संविधान ना अमल हुआ था 1950 में और उसी की याद में हम मर जाने से मनाते हैं26 January Ka Isliye Manai Jati Kyonki Us Din Bharat Ka Samvidhan Na Amal Hua Tha 1950 Mein Aur Ussi Ki Yaad Mein Hum Mar Jaane Se Manate Hain
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

जब भारतीय संविधान 26 नवंबर 1949 को बनकर तैयार हुआ तो फिर उसे 26 जनवरी 1950 को ही लागू क्यों किया गया? ...

किसी भी चीज को तुरंत नहीं किया जा सकता है सामान संविधान बताओ बंद हो गया था 26 नवंबर 1949 में लेकिन सभी कार्यालयों में दफ्तरों में इसे लागू कराने की जो विधि होती है बताना तथा सभी को समझाना कि संविधान हजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी तू सागर अपने मॉडर्न हिस्ट्री पड़ी होगी तो आपको पता होगा 19 दिसंबर 1929 को पूर्ण राज्य का संकल्प लिया गया पूर्ण स्वराज्य के संकुल में यह डिसाइड किया गया कि रावण की रावी नदी के तट पर गांधी जी के द्वारा और कांग्रेस के द्वारा तिरंगा फहराया जाएगा वहां पूर्ण स्वराज का संकल्प लेंगे और आने वाली 26 जनवरी से पूर्व स्वतंत्र दिवस मनाया जाएगा और 26 जनवरी से लगातार 9047 जब तक देश आजाद नहीं हुआ 26 जनवरी को संतोष मनाया गया कांग्रेस के द्वारा लेकिन हमारा देश 15 अगस्त को आजाद हुआ इस वजह से 26 सितंबर 1949 को संविधान को अंगीकृत किया गया अजीत गलत करने के बाद 26 जन 1950 को पूर्णता लागू कर दिया गया जिसमें से हम उसको रिपब्लिक बोलते हैं
Romanized Version
विकी तू सागर अपने मॉडर्न हिस्ट्री पड़ी होगी तो आपको पता होगा 19 दिसंबर 1929 को पूर्ण राज्य का संकल्प लिया गया पूर्ण स्वराज्य के संकुल में यह डिसाइड किया गया कि रावण की रावी नदी के तट पर गांधी जी के द्वारा और कांग्रेस के द्वारा तिरंगा फहराया जाएगा वहां पूर्ण स्वराज का संकल्प लेंगे और आने वाली 26 जनवरी से पूर्व स्वतंत्र दिवस मनाया जाएगा और 26 जनवरी से लगातार 9047 जब तक देश आजाद नहीं हुआ 26 जनवरी को संतोष मनाया गया कांग्रेस के द्वारा लेकिन हमारा देश 15 अगस्त को आजाद हुआ इस वजह से 26 सितंबर 1949 को संविधान को अंगीकृत किया गया अजीत गलत करने के बाद 26 जन 1950 को पूर्णता लागू कर दिया गया जिसमें से हम उसको रिपब्लिक बोलते हैंVikee Tu Sagar Apne Modern History Padi Hogi To Aapko Pata Hoga 19 December 1929 Ko Poorn Rajya Ka Sankalp Liya Gaya Poorn Swarajya Ke Sankul Mein Yeh Decide Kiya Gaya Ki Ravan Ki Raavi Nadi Ke Tat Par Gandhi Ji Ke Dwara Aur Congress Ke Dwara Tiranga Fahraya Jayega Wahan Poorn Swaraj Ka Sankalp Lenge Aur Aane Wali 26 January Se Purv Swatantra Divas Manaya Jayega Aur 26 January Se Lagatar 9047 Jab Tak Desh Azad Nahi Hua 26 January Ko Santosh Manaya Gaya Congress Ke Dwara Lekin Hamara Desh 15 August Ko Azad Hua Is Wajah Se 26 September 1949 Ko Samvidhan Ko Angikrit Kiya Gaya Ajit Galat Karne Ke Baad 26 Jan 1950 Ko Purnata Laagu Kar Diya Gaya Jisme Se Hum Usko Republic Bolte Hain
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:26 January Kyon Manai Jati Hai ?,Why Is January 26 Celebrated?,15 August Kyu Manate Hai, 26 January Kyu Manate Hai Hindi Me, Kyu Manayi Jati Hai,


vokalandroid