इफेक्ट ऑफ जीएसटी इन इंडिया ? ...

Likes  0  Dislikes

3 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
जीएसटी जॉय मोदी ऐतिहासिक फैसला लिया गया है जीएसटी से काफी सारे फायदे और नुकसान भी है CST से फायदा यह हो रहा है कि अलग-अलग डिपार्टमेंट जो अलग-अलग टैक्स इसकी लगती थी और जो उपचार बहुत सारा काम जो है मैन्युअल होता था वह सब कुछ अभी हट गया है तो वहां पर जो स्टाफ अटका हुआ था उसको बेहतर काम के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है रुखसाना भी आप यह कर सकते जीएसटी का जो काला कानून है वह काफी जो है कठिन है इसके लिए जो है आपको सेक्सी एक ही मदद लगेगी लगेगी तो यह के पास भी अचानक इतने सारे लोग को 1 लोगों के रिटर्न फाइलिंग वगैरा जाती है तो इसको किस कानून को बराबर समझ कर चाहिए जब तक रिटर्न फाइलिंग करता है कभी-कभी जो है नेटवर्क साथ देती है तो रिटर्न फाइलिंग जो इतनी लेट हो जाती तो क्लाइंट को मजबूरन पेनल्टी भरना पड़ रहा है एक ही तो है नेटवर्क इतने सारे लोगों की रिटर्न एक साथ फाइल होगी तुझे नेटवर्क खराब हो रहा है जिसकी वजह से जुड़े कानून को देखना है हमको जल्दी करना पड़ रहा है काम अनुसार जीएसटी से जो है आ गया अब देखेंगे गवर्नमेंट का काम थोड़ा आसान हो गया है एक ही टैक्स लगता है वह सीधा सेंट्रल गवर्नमेंट के पास जाता है चंडीगढ़ में बातें स्टेट स्टेट का हिसाब से मिलता हैGst Joy Modi Aetihasik Faisla Liya Gaya Hai Gst Se Kafi Sare Fayde Aur Nuksan Bhi Hai CST Se Fayda Yeh Ho Raha Hai Ki Alag Alag Department Jo Alag Alag Tax Iski Lagti Thi Aur Jo Upchaar Bahut Saara Kaam Jo Hai Manual Hota Tha Wah Sab Kuch Abhi Hut Gaya Hai To Wahan Par Jo Staff Ataka Hua Tha Usko Behtar Kaam Ke Liye Istemal Kiya Ja Sakta Hai Rukhsana Bhi Aap Yeh Kar Sakte Gst Ka Jo Kala Kanoon Hai Wah Kafi Jo Hai Kathin Hai Iske Liye Jo Hai Aapko Sexy Ek Hi Madad Lagegi Lagegi To Yeh Ke Paas Bhi Achanak Itne Sare Log Ko 1 Logon Ke Return Failing Vagaira Jati Hai To Isko Kis Kanoon Ko Barabar Samajh Kar Chahiye Jab Tak Return Failing Karta Hai Kabhi Kabhi Jo Hai Network Saath Deti Hai To Return Failing Jo Itni Let Ho Jati To Client Ko Majbooran Penalty Bharna Padh Raha Hai Ek Hi To Hai Network Itne Sare Logon Ki Return Ek Saath File Hogi Tujhe Network Kharab Ho Raha Hai Jiski Wajah Se Jude Kanoon Ko Dekhna Hai Hamko Jaldi Karna Padh Raha Hai Kaam Anusar Gst Se Jo Hai Aa Gaya Ab Dekhenge Government Ka Kaam Thoda Aasan Ho Gaya Hai Ek Hi Tax Lagta Hai Wah Sidhaa Central Government Ke Paas Jata Hai Chandigarh Mein Batein State State Ka Hisab Se Milta Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
अबे किस देश टीका जो भारत में इफेक्ट है वह बहुत ही बड़े पैमाने पर हुआ है और एक ही कई चीजों का दान जो है वह गया है कई चीजों का बढ़ गया है इसीलिए जो है कई लोग खुश हैं और कई लोग नाखुश है और आम आदमी को जो है थोड़ा बहुत पढ़ रहा है मेन चीज जो है वह लोगों का ही जो मैन्यूफैक्चर से होता क्योंकि उनको अब छोटी चीजों का अगर एक टॉफी भी खरीदते बेचते हैं तो हमको उसका हिसाब देना पडता है रिजल्ट और कोई भी स्टॉक अपने छुपा नहीं सकता और जो ऊपर ट्रिपल अटैक से वह गवर्नमेंट को पे करना होगा और एक अच्छी चीज हुई है कि इसे जो पूरा देश में है वह तू ऑउट द कंट्री एक ही इस्लाम में जो है और टैक्स लिया जाता है नहीं तो पहले अलग अलग सेट में अलग-अलग टैक्स होते तो उसे दिक्कत होता थाAbe Kis Desh Teeka Jo Bharat Mein Effect Hai Wah Bahut Hi Bade Paimane Par Hua Hai Aur Ek Hi Kai Chijon Ka Daan Jo Hai Wah Gaya Hai Kai Chijon Ka Badh Gaya Hai Isliye Jo Hai Kai Log Khush Hain Aur Kai Log Nakhush Hai Aur Aam Aadmi Ko Jo Hai Thoda Bahut Padh Raha Hai Main Cheez Jo Hai Wah Logon Ka Hi Jo Mainyufaikchar Se Hota Kyonki Unko Ab Choti Chijon Ka Agar Ek Toffee Bhi Kharidte Bechte Hain To Hamko Uska Hisab Dena Padata Hai Result Aur Koi Bhi Stock Apne Chhupa Nahi Sakta Aur Jo Upar Triple Attack Se Wah Government Ko Pe Karna Hoga Aur Ek Acchi Cheez Hui Hai Ki Ise Jo Pura Desh Mein Hai Wah Tu Aut D Country Ek Hi Islam Mein Jo Hai Aur Tax Liya Jata Hai Nahi To Pehle Alag Alag Set Mein Alag Alag Tax Hote To Use Dikkat Hota Tha
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
अजीज का मतलब गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स होता है यह एक ऐतिहासिक फैसला है जिसकी वजह से सारे देश दे और जो हर स्टेट में अलग-अलग टैक्स लगता था तो अब सारे देश में सेंड टेक्स्ट का CM लेट हो चुका है लेकिन फिर भी मेरे हिसाब से एक बात मुझे थोड़ा सही नहीं लगता कि क्योंकि जीएसटी के वजह से एक नॉर्मल सा इंसान जिसके खुद के पास उसके अपना रोज का पर्सनल लॉ खर्चे के लिए उसके पास पैसे नहीं है उसको खाना पर भी जीएसटी देना पड़ रहा है उसको आप पर गुस्सा हो उसका बाज़ार में कोई कपड़े अच्छा लग जाता है तो उसका फल पर भी हो जीएसटी देता है उसको अपने हिसाब से पैसे लेकर जाता है कि मैं इतने पैसे में यह करूंगा वह करूंगा और जब जाता है तो दिल देता है रो के बाद और ब्लू उसको ज्यादा भी दिखाया जाता है उसको लगाओ पूछते कि ऐसा क्यों भाई तो वह लोग बोलते हैं जीएसटी अब यह भी बात तो सही है नहीं है ना कि एक को कोई भी ऑफिस शॉपिंग की दुकान में है वहां पर सिस्टम में लगा कर रख लेते हम देखना भी नहीं चाहते कि उसमें क्या हो रहा है क्या नहीं हो रहा है जो एक कारण नॉर्मल चार्ज है वह कोई सामान का उसके सर्च तो हम तेरे लेकिन हम नॉर्मल इंसान से जीएसटी के नाम पर जो एक्स्ट्रा पैसे जो लोग मेरे यह भी हमें मालूम नहीं क्यों सरकार को जा रहा है या वह लोग खुद रख रहे जीएसटी अपना करने के लिए भी कोई एक लिमिट होना चाहिए कि कोई इंसान जो इतना नहीं कर रहा है जो इतना का गुड खरीद रहा है उसके ऊपर उठना जीएसटी लगना चाहिए ऐसा नहीं कि एक नॉर्मल था इंसान जिस को खुद के पास भी अपना खर्चे के लिए पैसे ना हो उसके ऊपर भी जीएसटी लगा रहा है एक स्टूडेंट के ऊपर भी जीएसटी लगा लगा रहा है यहां तक जगह देखा जाए तो इस जहां पर हम फीस भर्ती यूज़ होता है उसके ऊपर भीAzeez Ka Matlab Goods End Services Tax Hota Hai Yeh Ek Aetihasik Faisla Hai Jiski Wajah Se Sare Desh De Aur Jo Har State Mein Alag Alag Tax Lagta Tha To Ab Sare Desh Mein Send Text Ka CM Let Ho Chuka Hai Lekin Phir Bhi Mere Hisab Se Ek Baat Mujhe Thoda Sahi Nahi Lagta Ki Kyonki Gst Ke Wajah Se Ek Normal Sa Insaan Jiske Khud Ke Paas Uske Apna Roj Ka Personal Law Kharche Ke Liye Uske Paas Paise Nahi Hai Usko Khana Par Bhi Gst Dena Padh Raha Hai Usko Aap Par Gussa Ho Uska Bajaar Mein Koi Kapde Accha Lag Jata Hai To Uska Fal Par Bhi Ho Gst Deta Hai Usko Apne Hisab Se Paise Lekar Jata Hai Ki Main Itne Paise Mein Yeh Karunga Wah Karunga Aur Jab Jata Hai To Dil Deta Hai Ro Ke Baad Aur Blue Usko Jyada Bhi Dikhaya Jata Hai Usko Lagao Poochte Ki Aisa Kyun Bhai To Wah Log Bolte Hain Gst Ab Yeh Bhi Baat To Sahi Hai Nahi Hai Na Ki Ek Ko Koi Bhi Office Shopping Ki Dukan Mein Hai Wahan Par System Mein Laga Kar Rakh Lete Hum Dekhna Bhi Nahi Chahte Ki Usamen Kya Ho Raha Hai Kya Nahi Ho Raha Hai Jo Ek Kaaran Normal Charge Hai Wah Koi Saamaan Ka Uske Search To Hum Tere Lekin Hum Normal Insaan Se Gst Ke Naam Par Jo Extra Paise Jo Log Mere Yeh Bhi Hume Maloom Nahi Kyun Sarkar Ko Ja Raha Hai Ya Wah Log Khud Rakh Rahe Gst Apna Karne Ke Liye Bhi Koi Ek Limit Hona Chahiye Ki Koi Insaan Jo Itna Nahi Kar Raha Hai Jo Itna Ka Good Kharid Raha Hai Uske Upar Uthana Gst Lagna Chahiye Aisa Nahi Ki Ek Normal Tha Insaan Jis Ko Khud Ke Paas Bhi Apna Kharche Ke Liye Paise Na Ho Uske Upar Bhi Gst Laga Raha Hai Ek Student Ke Upar Bhi Gst Laga Laga Raha Hai Yahan Tak Jagah Dekha Jaye To Is Jahan Par Hum Fees Bharti Use Hota Hai Uske Upar Bhi
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Effect Of Gst In India ?





मन में है सवाल?