भारत कैसा होता अगर नेहरू राजनीति में शामिल नहीं हुए होते ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निखिल धुरंधर मेरे वलियों के लिए शामिल होते तो भारत कुछ गलत होता क्योंकि उनकी वजह से ही आधुनिक भारत का निर्माण हो रहा है आजाद भारत के पहले पंतप्रधान है मेरे ख्याल से जवाब नहीं लूट नहीं यह हो स्टार्टिंग...जवाब पढ़िये
निखिल धुरंधर मेरे वलियों के लिए शामिल होते तो भारत कुछ गलत होता क्योंकि उनकी वजह से ही आधुनिक भारत का निर्माण हो रहा है आजाद भारत के पहले पंतप्रधान है मेरे ख्याल से जवाब नहीं लूट नहीं यह हो स्टार्टिंग की कि भारत का निर्माण एक आधुनिक तरीके से है उन्होंने विज्ञान और प्रौद्योगिकी विकास के लिए उस की शुरुआत की और उसको हुए प्रोत्साहन दिया और अजीब सी बात कहे तो उन्हें वह 3 वर्ष पंचवार्षिक योजना अभी चालू कि तुम मेरे ख्याल से बहुत कुछ काम कर रहे हैं जो कि हमको ऐसा भारत देखने के लिए अभी नहीं हो रहा है और उनकी बात इंदिरा गांधी सनी लियोन का काम कब आ रहा है दिखा जा तू मेरी रानी जी के विचारों पर भी अमल किया है सच शांति नगर और वह बच्चों के लिए भी साहस अनृत तरीके से बने थे और अगर पैसों की नहीं देखा जाए तो जो हमारा अंतर्राष्ट्रीय जाता है वह उनकी वजह से ही बड़ा ही दुख आता तो आजाद भारत के बाद हमारे पास तो कुछ नहीं था विभाजन हो चुका था तुम नेहरु जी ने उसे बहुत कार्य किया है उसे ही मतलब ऐसे फॉरेन सेक्स पावर बढ़ाने के भारत की अर्थव्यवस्था विश्व में भारत का राजनीति में भी कुछ बदलाव लाए हैं जिससे एक भारत एक जो विकास कर रहा है अभी तू उसके साथ में थी और हम जानते हैं कि अगर हमारा मंदिर पावागढ़ सॉन्ग है तू ही कुछ बन सकता है तो वह देश के एक मूलभूत आधार पर वह घर नहीं सोने हुए होते तो वह कुछ नहीं हो जाता हैNikhil Dhurandhar Mere Valiyon Ke Liye Shamil Hote To Bharat Kuch Galat Hota Kyonki Unki Wajah Se Hi Aadhunik Bharat Ka Nirman Ho Raha Hai Azad Bharat Ke Pehle Pantapradhana Hai Mere Khayal Se Jawab Nahi Loot Nahi Yeh Ho Starting Ki Ki Bharat Ka Nirman Ek Aadhunik Tarike Se Hai Unhone Vigyan Aur Praudyogiki Vikash Ke Liye Us Ki Shuruvat Ki Aur Usko Hue Protsahan Diya Aur Ajib Si Baat Kahe To Unhen Wah 3 Varsh Panchavarshik Yojana Abhi Chalu Ki Tum Mere Khayal Se Bahut Kuch Kaam Kar Rahe Hain Jo Ki Hamko Aisa Bharat Dekhne Ke Liye Abhi Nahi Ho Raha Hai Aur Unki Baat Indira Gandhi Sunny Leon Ka Kaam Kab Aa Raha Hai Dikha Ja Tu Meri Rani Ji Ke Vicharon Par Bhi Amal Kiya Hai Sach Shanti Nagar Aur Wah Bacchon Ke Liye Bhi Sahas Anrit Tarike Se Bane The Aur Agar Paison Ki Nahi Dekha Jaye To Jo Hamara Antar Rashtriya Jata Hai Wah Unki Wajah Se Hi Bada Hi Dukh Aata To Azad Bharat Ke Baad Hamare Paas To Kuch Nahi Tha Vibhajan Ho Chuka Tha Tum Nehru Ji Ne Use Bahut Karya Kiya Hai Use Hi Matlab Aise Foreign Sex Power Badhane Ke Bharat Ki Arthavyavastha Vishwa Mein Bharat Ka Rajneeti Mein Bhi Kuch Badlav Laye Hain Jisse Ek Bharat Ek Jo Vikash Kar Raha Hai Abhi Tu Uske Saath Mein Thi Aur Hum Jante Hain Ki Agar Hamara Mandir Pavagadh Song Hai Tu Hi Kuch Ban Sakta Hai To Wah Desh Ke Ek Mulbhut Aadhar Par Wah Ghar Nahi Sone Hue Hote To Wah Kuch Nahi Ho Jata Hai
Likes  20  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जफर आगा ने कहा है कि नेहरू के बिना अधूरी है, स्वतंत्र और आधुनिक भारत की कल्पना| 1947 में आजादी के बाद नेहरू जी ने देश को धर्मनिरपेक्ष देश की निति वह एक सेक्युलर, उदार और आधुनिक भारत के साथ गंगा जमुना ...जवाब पढ़िये
जफर आगा ने कहा है कि नेहरू के बिना अधूरी है, स्वतंत्र और आधुनिक भारत की कल्पना| 1947 में आजादी के बाद नेहरू जी ने देश को धर्मनिरपेक्ष देश की निति वह एक सेक्युलर, उदार और आधुनिक भारत के साथ गंगा जमुना सभ्यता के नायक भी थे| उनके शब्दों में भारत विभिन्न धर्मों, विभिन्न भाषाओं और विभिन्न संस्कृतियों का एक अलग आयाम है| वह विविधता में एकता के अनुयाई थे| आर्थिक उदारीकरण और बाजार अर्थव्यवस्था के वैश्विक प्रभुत्व के बाद, भारत में दक्षिणपंथी ताकतों को बल मिला| यह वर्ग नेहरू के मिश्रित अर्थव्यवस्था के मॉडल का विरोधी था| नेहरू एक विशाल व्यक्तित्व वाले इंसान थे| नेहरू ने स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस का पूरा विस्तार किया, अपनी लोकतांत्रिक सरकार की पूर्ण शक्ति उन्होंने एक मॉडल पर अमल करने के लिए झोक दी| बड़े बांध सिंचाई योजनाएं, अधिक अन्न उपजाओ, वन महोत्सव, सामुदायिक विकास, राष्ट्रीय विस्तार कार्यक्रम, पंचवर्षीय योजना, भारी उद्योग, लोहे बिजली व खाद के कारखाने, नए स्कूल व अवसर लाखों सरकारी नौकरियां, समाजवादी सामाजिक संरचना यह सारा सिलसिला जवाहरलाल नेहरु की अत्व्य उर्जा से शुरू हुआ| अगर नेहरू ने यह नीव नहीं रखी होती तो 80 के दशक के राजीव युगीन समृद्धि यह देश नहीं देख पाता और भारत को आत्मनिर्भर समृद्धि के इस बिंदु पर नहीं पहुंचा सकता| आधुनिक भारत की कल्पना नेहरू जी ने की थी, उन्हें इस का जनक कहा जाता है|Jafar Aaga Ne Kaha Hai Ki Nehru Ke Bina Adhuri Hai Swatantra Aur Aadhunik Bharat Ki Kalpana 1947 Mein Azadi Ke Baad Nehru Ji Ne Desh Ko Dharmanirapeksh Desh Ki Niti Wah Ek Secular Udaar Aur Aadhunik Bharat Ke Saath Ganga Jamuna Sabhyata Ke Nayak Bhi The Unke Shabdon Mein Bharat Vibhinn Dharmon Vibhinn Bhashaon Aur Vibhinn Sanskritiyo Ka Ek Alag Aayam Hai Wah Vividhata Mein Ekta Ke Anuyai The Aarthik Udarikaran Aur Bazar Arthavyavastha Ke Vaishvik Parbhutwa Ke Baad Bharat Mein Dakshinapanthi Takaton Ko Bal Mila Yeh Varg Nehru Ke Mishrit Arthavyavastha Ke Model Ka Virodhi Tha Nehru Ek Vishal Vyaktitva Wale Insaan The Nehru Ne Swatantrata Ke Baad Congress Ka Pura Vistar Kiya Apni Loktantrik Sarkar Ki Poorn Shakti Unhone Ek Model Par Amal Karne Ke Liye Jhoke Di Bade Bandh Sinchai Yojanaye Adhik Ann Upajao Van Mahotsav Samudayik Vikash Rashtriya Vistar Karyakram Panchavarsheey Yojana Bhari Udyog Lohe Bijli V Khad Ke Karkhane Naye School V Avsar Laakhon Sarkari Naukriyan Samajwadi Samajik Sanrachna Yeh Saara Silsila Jawaharlal Nehru Ki Atwya Urja Se Shuru Hua Agar Nehru Ne Yeh Niv Nahi Rakhi Hoti To 80 Ke Dashak Ke Rajeev Yugin Samridhi Yeh Desh Nahi Dekh Pata Aur Bharat Ko Aatmnirbhar Samridhi Ke Is Bindu Par Nahi Pahuncha Sakta Aadhunik Bharat Ki Kalpana Nehru Ji Ne Ki Thi Unhen Is Ka Janak Kaha Jata Hai
Likes  3  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Kaisa Hota Agar Nehru Rajneeti Mein Shaamil Nahi Hue Hote ?, How Would India Be If Nehru Did Not Join Politics?

vokalandroid