भाषा कौशलों के विकास में ड्रामा, थियेटर एवं नाटक की भूमिका की चर्चा कीजिये। ...

Likes  0  Dislikes

1 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
आप किसी भी भाषा के आधार विशेषज्ञों की बात की जाए तो उनका एक ही लक्ष्य है कि उस भाषा का विकास विकास इस तरह से हो कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस भाषा में रुचि हो इस से इस भाषा के साहित्य को पढ़ने की इच्छा चाहे और इस भाषा का प्रयोग करना चाहिए शुरू करें तो विशेषज्ञों ने कई सारे तरीके ढूंढ भाषा को जो है सब तक पहुंचाने के लिए तो उसमें से जो है काफी अनोखे तरीके जो थे वह तेज ड्रामा और थिएटर और नाटक जैसे अलग-अलग जो है सुविधाएं और और एक में क्या सुविधा डालना चाहूंगा जो है के संगीत अगर किसी भाषा का भाषा के संगीत को अच्छी तरह से मिटाए जाए शुरु में तो उस भाषा के संगीत को गाने में भी लोगों का ही मजा आता है अभी उदाहरण में देना चाहूंगा पर भारत में जो है एक गाना जो है बहुत ज्यादा फेमस हो गया था वह था स्पेन प्रदेश के गाने का दूसरा नाम था डेस्पासितो अभी किसी को स्पेनिश नहीं आती थी लेकिन हो गाना इस तरह से बनाया गया था कि वह WhatsApp को पसंद आ गया अब भाषण थिएटर की बात की है तो चीटर में अगर भाषा का जो है प्रयोग नाटक के द्वारा किया जाए और वह नाटक अगर अच्छे से जो है निर्देशक उसका बहुत ही चतुर हो स्मार्ट हो और एक इंटरेस्टिंग तरीके से नाटक को जो है एक रुप दिया जाए तो वह नाटक काफी आनंद आनंद नहीं होता है जिसे जो है काफी हद तक जो है वो लोग इस भाषा को समझने की कोशिश करते क्यों क्यों नहीं नाटक के पसंद आ रहा है और अगर नाटक में कलाकार भी और ज्यादा अच्छे हो तो लोग उसे उसे बाहर उस नाटक की भाषा को अच्छी तरह से समझने की कोशिश करते और इस समझने के चक्कर में वह कुछ भाषा को सीख लेतेAap Kisi Bhi Bhasha Ke Aadhar Vishesagyon Ki Baat Ki Jaye To Unka Ek Hi Lakshya Hai Ki Us Bhasha Ka Vikash Vikash Is Tarah Se Ho Ki Jyada Se Jyada Logon Ko Is Bhasha Mein Ruchi Ho Is Se Is Bhasha Ke Sahitya Ko Padhne Ki Icha Chahe Aur Is Bhasha Ka Prayog Karna Chahiye Shuru Karen To Vishesagyon Ne Kai Sare Tarike Dhundh Bhasha Ko Jo Hai Sab Tak Pahunchane Ke Liye To Usamen Se Jo Hai Kafi Anokhe Tarike Jo The Wah Tez Drama Aur Theater Aur Natak Jaise Alag Alag Jo Hai Suvidhayen Aur Aur Ek Mein Kya Suvidha Daalna Chahunga Jo Hai Ke Sangeet Agar Kisi Bhasha Ka Bhasha Ke Sangeet Ko Acchi Tarah Se Mitae Jaye Shuru Mein To Us Bhasha Ke Sangeet Ko Gaane Mein Bhi Logon Ka Hi Maza Aata Hai Abhi Udaharan Mein Dena Chahunga Par Bharat Mein Jo Hai Ek Gaana Jo Hai Bahut Jyada Famous Ho Gaya Tha Wah Tha Spain Pradesh Ke Gaane Ka Doosra Naam Tha Despasito Abhi Kisi Ko Spanish Nahi Aati Thi Lekin Ho Gaana Is Tarah Se Banaya Gaya Tha Ki Wah WhatsApp Ko Pasand Aa Gaya Ab Bhashan Theater Ki Baat Ki Hai To Cheater Mein Agar Bhasha Ka Jo Hai Prayog Natak Ke Dwara Kiya Jaye Aur Wah Natak Agar Acche Se Jo Hai Nirdeshak Uska Bahut Hi Chatur Ho Smart Ho Aur Ek Interesting Tarike Se Natak Ko Jo Hai Ek Roop Diya Jaye To Wah Natak Kafi Anand Anand Nahi Hota Hai Jise Jo Hai Kafi Had Tak Jo Hai Vo Log Is Bhasha Ko Samjhne Ki Koshish Karte Kyun Kyun Nahi Natak Ke Pasand Aa Raha Hai Aur Agar Natak Mein Kalakar Bhi Aur Jyada Acche Ho To Log Use Use Bahar Us Natak Ki Bhasha Ko Acchi Tarah Se Samjhne Ki Koshish Karte Aur Is Samjhne Ke Chakkar Mein Wah Kuch Bhasha Ko Seekh Lete
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
किसी भी भाषा के अगर विशेषज्ञों को बात की जाए तो भाषा का जो विशेषता है वह ड्रामा थिएटर एवं नाटक की भूमिका जो है इसे बहुत ही चर्चित है क्योंकि हर एक अच्छा जरिया है अगर किसी भिजवा लाइफ में या फिर कोई भी चीज जो है जैसी एक्टिंग करके और या फिर नाटक करके अगर हम कर सकते हैं या फिर दिखा सकते हैं उसे भाषा जो है बहुत ही ज्यादा इंटरेस्टिंग हो जाता है और अफ्रीका दुनिया के जो लोग हैं वह देखने में पसंद भी करते हैं तो यह एक बहुत ही अच्छा जरिया है जिसमें भाषा जो है ड्रामा के ऊपर या फिर थिएटर के ऊपर या फिर आप कह सकते हैं नाटक के ऊपर जो वह है जो भूमिका की रचाई गई है यह बहुत ही अच्छी है और यह सफलता भी हुआ है इसी की वजह से आज ड्रामा थिएटर नाटक मूवीस यह सभी जो है वह बहुत ही अहमियत रखता है और हर एक भाषा में इसलिए नहीं पाली जाती है इसका मतलब मूवी थिएटर जो भी है और हमारे जो मतलब संस्कृति है वह दूसरे लोगों तक भी पहुंचाने के लिए यह बहुत ही अहम भूमिका जो है करती है अपने लाइफ में या फिर अपने पूरे वर्ल्ड में अपनी संस्कृति को फेमस करने में तो मुझे लगता है कि यह बहुत ही अच्छा तरीका है और इसी तरीके से जुड़े सभी को जो है सोचना है और और एक जो तरीका है जो सबसे अच्छा तरीका है वही संगीत विकी संगीत जो है हमारे मन में बहुत ही इजी ली मदहोश चाहती है तो हम जब भी भी संगीत को एक साथ से मतलब एक ही साथ में हम अगर उसे अपने ह्रदय में बसा लेते हैं तो हम उसे बहुत ही सीधी चुने जाते हैं तो संगीत भी बहुत ही अहमियत रखता है ड्रामा थिएटर एवं नाटक के अलावाKisi Bhi Bhasha Ke Agar Vishesagyon Ko Baat Ki Jaye To Bhasha Ka Jo Visheshata Hai Wah Drama Theater Evam Natak Ki Bhumika Jo Hai Ise Bahut Hi Charchit Hai Kyonki Har Ek Accha Jariya Hai Agar Kisi Bhijva Life Mein Ya Phir Koi Bhi Cheez Jo Hai Jaisi Acting Karke Aur Ya Phir Natak Karke Agar Hum Kar Sakte Hain Ya Phir Dikha Sakte Hain Use Bhasha Jo Hai Bahut Hi Jyada Interesting Ho Jata Hai Aur Africa Duniya Ke Jo Log Hain Wah Dekhne Mein Pasand Bhi Karte Hain To Yeh Ek Bahut Hi Accha Jariya Hai Jisme Bhasha Jo Hai Drama Ke Upar Ya Phir Theater Ke Upar Ya Phir Aap Keh Sakte Hain Natak Ke Upar Jo Wah Hai Jo Bhumika Ki Ruchai Gayi Hai Yeh Bahut Hi Acchi Hai Aur Yeh Safalta Bhi Hua Hai Isi Ki Wajah Se Aaj Drama Theater Natak Movies Yeh Sabhi Jo Hai Wah Bahut Hi Ahamiyat Rakhta Hai Aur Har Ek Bhasha Mein Isliye Nahi Paali Jati Hai Iska Matlab Movie Theater Jo Bhi Hai Aur Hamare Jo Matlab Sanskriti Hai Wah Dusre Logon Tak Bhi Pahunchane Ke Liye Yeh Bahut Hi Aham Bhumika Jo Hai Karti Hai Apne Life Mein Ya Phir Apne Poore World Mein Apni Sanskriti Ko Famous Karne Mein To Mujhe Lagta Hai Ki Yeh Bahut Hi Accha Tarika Hai Aur Isi Tarike Se Jude Sabhi Ko Jo Hai Sochna Hai Aur Aur Ek Jo Tarika Hai Jo Sabse Accha Tarika Hai Wahi Sangeet Vikee Sangeet Jo Hai Hamare Man Mein Bahut Hi Easy Lee Madhosh Chahti Hai To Hum Jab Bhi Bhi Sangeet Ko Ek Saath Se Matlab Ek Hi Saath Mein Hum Agar Use Apne Hriday Mein Basa Lete Hain To Hum Use Bahut Hi Sidhi Chune Jaate Hain To Sangeet Bhi Bahut Hi Ahamiyat Rakhta Hai Drama Theater Evam Natak Ke Alava
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bhasha Kaushalo Ke Vikash Mein Drama Theater Evam Natak Ki Bhumika Ki Charcha Kijiye, Natak Ke Gane





मन में है सवाल?